शनिवार, 20 नवंबर 2021

गंदे पानी से मच्छर और आपदा फैल सकती हैं

गंदे पानी से मच्छर और आपदा फैल सकती हैं
संदीप मिश्र          
बाराबंकी। स्थानीय जनता ने मुख्यमंत्री सहित प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग से इस गंभीर मुद्दे को तत्काल जांच कराकर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही करने व बजट के दुरुपयोग की रिकवरी की मांग की है।
लोक निर्माण खंड तीन बाराबंकी के अभियंताओं ने जनता के दर्द को नजरअंदाज कर मोहारी पुरवा से दशहराबाग तक नाला निर्माण, सैंमवेल निर्माण , मानक के विपरीत कार्य को कराकर अपनी कमाई का जरिया बनाकर उच्च अधिकारियों को गुमराह करते हुए बहाने बनाकर बजट से अपनी जेबे भरने का काम किया और कराएंं जा रहे काम को एन, क्रेन, प्रकरेण, अनुभवहीनता, लेबर एवं साधन विहीनता का परिचय देते हुए निर्माण कार्य को लटका कर अपना बजट बढ़ाते रहें।
जहां एक और अभियंताओं ने भी खुलकर साथ दिया और निर्माण कार्य पूर्ण करने का समय पर समय बढ़ा कर उच्च अधिकारियों को गुमराह कर बजट से खेल खेला जाता रहा। वहीं दूसरी ओर दिखावे के लिए कार्य चलता रहा। 
जिसका खामियाजा बारिश होने पर कई मोहल्लों के निवासियों को घर के अंदर पानी भर जाने से लाखों का नुकसान उठाकर संतोष करना पड़ा ,जो आज भी जारी है। जिसका मुख्य कारण मोहारीपुरवा से नाला निर्माण के सभी बंघे खोल दिए गए आगे आखरी में नाला निर्माण पर बंघा लगाकर पानी रोकने दिया गया।
इतना ही नहीं नगर पालिका परिषद द्वारा पानी निकालने के कार्य में भी अभियंता व ठेकेदारों ने अपना सहयोग नहीं दिया। जिससे आज भी पानी भरा है।
ठंड को देखते हुए गंदे पानी से मच्छर एवं दैवी आपदा फैल सकती है।
अभियंताओं ने अगर इस ओर ध्यान न दिया तो कभी भी कोई आपदा से इनकार नहीं किया जा सकता।
गाजियाबाद: हिंडन एयर बेस का भ्रमण कराया
अश्वनी उपाध्याय         
गाजियाबाद। नेह नीड फाउंडेशन माधव कुंज शताब्दी नगर मेरठ द्वारा बच्चों को गाजियाबाद पुलिस द्वारा भारतीय वायु सेना के हिंडन एयर बेस का भ्रमण कराया गया। जहां उनको वायु सेना के बारे में बताया गया।ग्लोबमास्टर जैसे प्लेन एवं हेलीकॉप्टर एवं अनेक प्रकार के वायुयान दिखाए गए उसके उपरांत सभी बच्चों के साथ गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर थाने में बच्चों को भोजन कराया गया। 
बच्चों के साथ चर्चा की गई।फाउंडेशन की फाउंडर रीमा ने बताया कि वह सरस्वती विद्या मंदिर शताब्दी नगर परतापुर मेरठ में अनाथ बच्चों को पढ़ाती है एवं समय-समय पर उनको पुलिस ब्लॉक एवं अन्य स्थानों पर भ्रमण के लिए भ्रमण कर आती है।रीमा ने बताया कि पढ़ाई के साथ साथ सर्वागीण विकास की हमारी कल्पना है। बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ सामाजिक ज्ञान कराना ही हमारा उद्देश है। रीमा ने बताया कि गाजियाबाद पुलिस अधीक्षक देहात से उन्होंने वार्ता की एवं एसपी द्वारा बच्चों को भारतीय वायुसेना के अंदर एयरवेज का भ्रमण कराया गया। 
लोनी बॉर्डर थाने में एसपी, ग्रामीण, क्षेत्राधिकारी लोनी रजनीश उपाध्याय, लोनी बॉर्डर निरीक्षण प्रभारी सचिन कुमार, लोनी थाना प्रभारी अजय चौधरी, टोनिका सिटी थाना प्रभारी रविंद्र पंत एवं वरिष्ठ उप निरीक्षक प्रदीप शर्मा, उप निरीक्षक ब्रजकिशोर गौतम, राघवेंद्र तोमर आदि पुलिस के अधिकारी बच्चों के साथ-साथ रहे। बच्चों के साथ चर्चा की बच्चों ने बताया कि उनको बहुत अच्छा लगा।

जंगल में प्रेमी नहीं पहुंचा, तो शिकायत दर्ज की
हरिओम उपाध्याय       
कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के घाटमपुर के कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में शनिवार को प्रेम-प्रसंग का अनोखा मामला सामने आया है। जिसमें प्रेमिका पूरी रातभर जंगल में प्रेमी का इंतजार करती रही। लेकिन जब नहीं पहुंचा तो प्रेमिका ने थाने का रूख किया और सुबह थाने पहुंची और पुलिस से शिकायत की। जिसके बाद प्रेमी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। फिलहाल, ये मामले पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है। क्योंकि रात में जंगल में अकेले थी और वहां पर कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था।
जानकारी के मुताबिक लड़की ने अपने प्रेमी के बारे में पुलिस से शिकायत की है और कहा कि वह उससे शादी करना चाहती है। यमुना किनारे स्थित एक गांव निवासी युवती ने बताया कि उसका दो साल से गांव के ही एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था और उसका प्रेमी दूसरे राज्य में प्राइवेट नौकरी करता है और दिवाली के त्योहार के दौरान घर आया था। इस दौरान उसकी मुलाकात हुई और दोनों ने शादी करने का फैसला किया। प्रेमी ने 11 नवंबर की रात 11 बजे उसे फोन किया और उससे तय जगह पर पहुंचने के लिए कहा. इसके बाद लड़की उस जगह पर पहुंच गई और प्रेमी उसे यमुना के किनारे जंगल में ले गया और कुछ देर बाद आने को कहा,  लेकिन उसके बाद नहीं आया। लड़की का कहना है कि वह पूरी रात तक बैठी रही लेकिन प्रेमी वापस नहीं लौटा और वह सुबह सुबह नौ बजे तक उसका इंतजार करती रही।  
इसके बाद लापता लड़की की तलाश करते हुए रिश्तेदार जंगल पहुंचे तो लड़की के बारे में पता चला। लड़की ने जब अपने घरवालों को आपबीती सुनाई। इसके बाद शनिवार को वह पिता के साथ कोतवाली पहुंची और पुलिस से शिकायत की। लड़की ने इस बात से इनकार किया कि उसने प्रेमी पर कुछ भी गलत किया है और कहा कि वह उससे शादी करना चाहती है। इंस्पेक्टर रामऔतार ने बताया कि युवक की तलाश जारी है। ताकि दोनों के बीच बातचीत हो सके।  
गाजियाबाद को पूरे भारत में 18वां स्थान मिला

अश्वनी उपाध्याय          गाजियाबाद। आश्चर्यजनक रूप से स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में गाज़ियाबाद शहर को पूरे भारत में 18वां तथा यूपी में दूसरा स्थान मिला है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की उपस्थिति में आज विज्ञान भवन नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 के परिणामों की घोषणा की गई। इस समारोह में गाजियाबाद से महापौर आशा शर्मा, नगरआयुक्त महेंद्र सिंह तंवर, अपर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार और नगर स्वास्थ्य अधिकारी उपस्थित रहें। इसके अलावा गाजियाबाद शहर को बेस्ट बिग सिटी इन इनोवेशन एंड बेस्ट प्रैक्टिस (10 लाख से 40 लाख) पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया है। इसके साथ ही गाजियाबाद को गार्बेज फ्री सिटी में 3 स्टार रेटिंग भी प्राप्त हुई।

आपको बता दें कि वर्ष 2019-2020 में भारत में 19वां स्थान तथा उत्तर प्रदेश में तीसरा स्थान। गाजियाबाद को स्वस्थ सर्वेक्षण में प्राप्त हुआ था। गार्बेज फ्री सिटी में पिछले साल 1 स्टार रैंकिंग मिली थी। इस अवसर पर नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर की ओर से शहर को और अधिक बेहतर बनाने तथा अगले साल बेहतर रैंकिंग लाने के लिए करने के लिए अभी से कमर कसने के निर्देश देते हुए अधिकारियों तथा सफाई कर्मचारियों को शुभकामनाएं भी प्रेषित की गई।

इंदौर को 5वीं बार 'स्वच्छ' शहर घोषित किया

विजय भाटी           इंदौर। इंदौर शहर को लगातार 5वीं बार देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ ने दिल्ली में आज स्वच्छ पुरस्कार दिए। आपको बता दें कि मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले इंदौर शहर से हर दिन 1200 टन कचरा निकलता है। इसके बावजूद भी नगरपालिका और नागरिकों के सहयोग से मिली इस उपलब्धि के लिए इंदौर के सभी नागरिक बधाई के पात्र हैं।

पहली बार वर्ष 2017 में इंदौर को देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया था। उसके बाद से लगातार इंदौर ने पहले स्थान पर कब्जा जमाया हुआ है। इस बार इंदौर को सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में सर्वश्रेष्ठ शहर घोषित किया गया है। इसमें स्वच्छता मिशन के कार्यक्रम के तहत न केवल स्वच्छता का काम किया जाता है बल्कि इसके माध्यम से लोगों को रोजगार भी उपलब्ध कराया जा रहा है। इंदौर को डस्ट फ्री शहर माना गया है। यहां नदी नालों के गंदे पानी को पुनः उपयोग करने लायक बनाने का काम भी किया जाता है। सर्वेक्षण ने नतीजे अभी वैबसाइट पर अपलोड नहीं किए गए हैं। इसलिए अभी गाज़ियाबाद की रैंकिंग के बारे में कुछ भी कहना संभव नहीं है।

प्रयागराज: खुदकुशी मामलें में चार्जशीट दाखिल
बृजेश केसरवानी           
प्रयागराज। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं बाघंबरी मठ के महंत नरेंद्र गिरि के कथित खुदकुशी मामलें में शनिवार को सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। सीबीआई की चार्जशीट आनंद गिरी समेत आध्या तिवारी संदीप तिवारी के खिलाफ है। नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में आनंद गिरि समेत अन्य आरोपी नैनी जेल में बंद हैं। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष  महंद नरेंद्र गिरि का शव 20 सितंबर को प्रयागराज उनके आश्रम से मिला था। उस समय कहा गया था कि नरेंद्र गिरि ने खुदकुशी की है और उनकी मौत पर कई दावे किए गए थे। बाद में जांच सीबीआई ने जांच पड़ताल शुरू की। सीबीआई ने मुख्य आरोपी आनंद गिरि समेत अन्य के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है।

नरेंद्र गिरि की मौत मामले में सीबीआई ने आनंद गिरि के अलावा संदीप तिवारी और उसके बेटे के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। सीबीआई ने दो महीने तक चली लंबी सुनवाई के बाद शनिवार को प्रयागराज सीजेएम कोर्ट में आनंद गिरि समेत तीनों आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की। कोर्ट ने चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए 25 नवंबर की तारीख तय की है।
सीजेएम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल होने के बाद तीनों आरोपियों की मुश्किलें बढ़ने वाली है। कुछ दिन पहले कोर्ट ने आरोपी आनंद गिरि की जमानत अर्जी खारिज कर दी थी। 
नरेंद्र गिरि की मौत मामले में सीबीआई ने बाघंबरी गद्दी से जुड़े तमाम कर्मचारियों और मठ के साधु-संतों के बयान दर्ज किए है। इस मामले में एफआईआर की तहरीर देने वाले अमर गिरि, महंत नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी बलबीर गिरि समेत नरेंद्र गिरि के वसीयत को तैयार करने वाले वकील, नरेंद्र गिरि के डॉक्टर्स, प्रॉपर्टी डीलर्स के बयान दर्ज किए हैं।

समाधान दिवस पर जनसमस्याएं सुनीं: कौशाम्बी
विजय कुमार         कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार एवं राधेश्याम विश्वकर्मा ने सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर तहसील चायल में जनसमस्याएं सुनीं एवं सम्बन्धित अधिकारियों को समयान्तर्गत व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। 
सम्पूर्ण समाधान दिवस में कुल 82 शिकायतें प्राप्त हुई। जिसमें से 09 शिकायतों का निस्तारण मौके पर ही कर दिया गया। समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतें-भूमि विवाद, अवैध कब्जा, विद्युत, कृषि एवं पैमाइश आदि से संबंधित थी। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी राम दरस राम चायल क्षेत्राधिकारी श्यामा कांत, तहसीलदार दीपिका सिंह, नायब तहसीलदार मोहिब अहमद
 सहित तहसील स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...