मंगलवार, 12 जुलाई 2022

कनौजिया को महानगर चेयरमैन मनोनीत किया

कनौजिया को महानगर चेयरमैन मनोनीत किया

बृजेश केसरवानी
प्रयागराज। प्रयागराज आए मदर टेरेसा फाउंडेशन के संयोजक अरशद खान ने महानगर चेयरमैन सैय्यद मोहम्मद अस्करी की संस्तुति पर डॉ. अभिषेक कनौजिया को मदर टेरेसा फाउंडेशन में डाक्टर विंग का महानगर चेयरमैन मनोनीत किया। मदर टेरेसा फाउंडेशन के राष्ट्रीय चेयरमैन डॉ. मो. नासिर खान की हस्ताक्षर से मनोनयन-पत्र एक सादे समारोह मे डॉ. अभिषेक कनौजिया को सौंपा गया।
फूल माला पहना कर स्वागत करने के साथ एक माह मे डाक्टर विंग की 21 सदस्यों की कमेटी बना कर प्रदेश व राष्ट्रीय नेत्रित्व को प्रेक्षित करने की बात संयोजक अरशद खान ने कही। बधाई देने वालों मे प्रदेश सचिव महबूब उसमानी ,महानगर चेयरमैन सैय्यद मोहम्मद अस्करी, अधिवक्ता विंग महानगर चेयरमैन अधिवक्ता राकेश यादव, नगर महासचिव ग़ुफरान खान, नगर सचिव मो. समद खान, महिला विंग प्रदेश सचिव इन्दू यादव, निर्मला यादव, रंजीत आदि शामिल रहे।

शराब माफिया की 35 लाख की संपत्ति को कुर्क किया

शराब माफिया की 35 लाख की संपत्ति को कुर्क किया

संदीप मिश्र 
देवरिया। उत्तर-प्रदेश में देवरिया जिले के रूद्रपुर क्षेत्र में मंगलवार को गैगेंस्टर एक्ट के तहत शराब माफिया की करीब 35 लाख रूपये की संपत्ति को जिला प्रशासन ने कुर्क कर लिया।
पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने यहां देर शाम बताया कि देवरिया जिले के शराब माफिया व टॉप-10 चिन्हित आरोपित गुड्डू यादव रूद्रपुर क्षेत्र के ग्राम भरोहिया निवासी की संपत्ति को गिरोह बन्द अधिनियम की धारा 14 (1) के तहत जिला मजिस्ट्रेट जितेन्द्र प्रताप सिंह के आदेश के तहत कार्रवाई करते हुए उसकी कुल 35 लाख रूपये की संपत्ति कुर्क कर ली गयी है।
उन्होंने बताया कि कुर्क की गयी संपत्ति में 17 लाख रूपये की कीमत वाली 0.048 हेक्टेयर जमीन पर 18 लाख रूपये की कीमत का निर्मित भवन शामिल है। इस संपत्ति में भवन एवं जमीन का कस्टोडियन तहसीलदार रूद्रपुर जनपद देवरिया काे बनाया गया है। इस कुख्यात माफिया के विरूद्ध शराब तस्करी आदि गंभीर अपराध के कुल 16 अभियोग पंजीकृत हैं।

विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार सिन्हा को वोट देंगी, रालोद

विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार सिन्हा को वोट देंगी, रालोद 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में समाजवादी गठबंधन के सदस्य 18 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव पर अपने रुख को लेकर अलग-अलग दिशाओं में बढ़ रहे हैं। राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) ने घोषणा की है, कि वह विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को वोट देंगी। वहीं, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया प्रमुख शिवपाल यादव ने घोषणा की है कि वह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट देंगे।
इनके अलावा, अपना दल (कामेरावाड़ी) पल्लवी पटेल ने संकेत दिए हैं कि वह सपा के साथ जाएंगी, लेकिन उन्होंने अपने अंतिम निर्णय की घोषणा नहीं की है।
अपना दल की पल्लवी पटेल और शिवपाल यादव दोनों ने सपा के टिकट पर जसवंत नगर और सिराथू सीट से चुनाव लड़ा था और जीत भी दर्ज की।
वहीं, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) ने अभी कोई फैसला नहीं लिया है।
एसबीएसपी नेताओं ने 8 जुलाई को द्रौपदी मुर्मू के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा आयोजित रात्रिभोज में भाग लिया, लेकिन राजभर का दावा है कि वह राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बाद में फैसला लेंगे।
शिवपाल यादव ने 8 जुलाई को एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के समर्थन में मुख्यमंत्री द्वारा आयोजित बैठक में भाग लिया था।
बता दें, रालोद के आठ विधायक हैं, जबकि एसबीएसपी के छह विधायक हैं (साथ ही उसके एक सदस्य ने सपा के टिकट पर चुनाव जीता है), और पीएसपीएल के शिवपाल अपनी पार्टी में अकेले विधायक हैं। इनके अलावा, अपना दल (कामेरावाड़ी) से पल्लवी पटेल अकेली विधायक हैं।

जनपद का नाम 'गजप्रस्थ' किए जाने की मांग उठाई

जनपद का नाम 'गजप्रस्थ' किए जाने की मांग उठाई 

अश्वनी उपाध्याय 
गाजियाबाद। प्राचीन और ऐतिहासिक दूधेश्वरनाथ मंदिर के महंत ने गाजियाबाद का नाम बदले जाने की मांग को हवाला देते हुए जनपद का नाम गाजियाबाद के स्थान पर 'गजप्रस्थ' किए जाने की मांग उठाई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विचार करके गाजियाबाद का नाम बदलने के मामलें पर उचित कार्रवाई करने का भरोसा दिया है। 
गाजियाबाद का नाम बदलने की मांग उस समय पूरी तरह से जोर पकड़ गई, जब महानगर के प्राचीन एवं ऐतिहासिक दूधेश्वर नाथ मंदिर के महंत नारायण गिरी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर गाजियाबाद का नाम गजप्रस्थ किए जाने की मांग उठाई। मंदिर के श्री महंत ने दूधेश्वर महादेव मंदिर का पुनर्निर्माण करके उसे कॉरिडोर का रूप दिए जाने की मांग भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने उठाई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रीमंहत की मांगों पर विचार करके उचित कार्रवाई का भरोसा दिया है।

युवक की चाकू मारकर हत्या, 1 घायल, 2 गिरफ्तार

युवक की चाकू मारकर हत्या, 1 घायल, 2 गिरफ्तार 

दुष्यंत टीकम 

बिलासपुर। सरकंडा थाना क्षेत्र में आरोपियों ने एक युवक की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। जबकि एक अन्य युवक इस हमले में घायल हो गया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी आपस में सगे भाई हैं।अशोक नगर मुरुम खदान के पास रहने वाला पवन वस्त्रकार (25 साल) हलवाई का काम करता था। मोहल्ले के ही लड़की से उसकी गर्लफ्रेंड थी। पड़ोस में ही रहने वाला मिथिलेश निर्मलकर (24) उसकी गर्लफ्रेंड को छेड़ता था और उसके घर के सामने आकर गाली-गलौज करता था। लड़की ने इसकी जानकारी पवन को दी। रविवार की रात करीब 10 बजे इसी विवाद में पवन ने मिथिलेश की डंडे से पिटाई कर दी। मिथिलेश वहां से भागते हुए अपने घर गया। 

फिर चाकू लेकर अपने छोटे भाई दीपक निर्मलकर के साथ वहां आया। पहले पवन वस्त्रकार पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया, चाकू से हमला करते देख छोटू उर्फ देवानंद व अन्य ने भी बीच-बचाव किया, तब मिथिलेश ने उसे भी चाकू मार दिया, जिससे छोटू भी बुरी तरह जख्मी हो गया। पवन वस्त्रकार खून से लथपथ होकर बेहोश होकर गिर गया। वारदात के बाद मिथिलेश वहां से भाग निकला। छोटू ने इस घटना की जानकारी परिजन को दी। मौके पर पहुंचे परिजनों ने पवन को इलाज के लिए सिम्स अस्पताल पहुंचाया, जहां देर रात उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं छोटू को इलाज चल रहा है। पुलिस ने देर रात मिथिलेश और उसके भाई को गिरफ्तार कर लिया। दोनों भाइयों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है।

किसान चौक पर अंडरपास बनाने की मंजूरी दी

किसान चौक पर अंडरपास बनाने की मंजूरी दी 

अकांशु उपाध्याय/विजय भाटी 
नई दिल्ली/गौतमबुद्ध नगर। दिल्ली-नोएडा से ग्रेटर नोएडा होते हुए ग्रेनो वेस्ट की ओर जाने वालों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है। अब जल्द ही इस रूट से होकर जाने वाले वाहन चालकों को किसान चौक पर लगने वाले ट्रैफिक जाम से छुटकारा मिल जाएगा। अभी कुछ मिनटों के सफर में एक-एक घंटा लग जाता है। जाम से छुटकारा दिलाने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने किसान चौक पर अंडरपास बनाने की मंजूरी दे दी है। जानकारों के मुताबिक इस अंडरपास की लागत 60 करोड़ रुपये आएगी।पर्थला गोल चक्कर   पर तो फ्लाई ओवर बन रहा है। लेकिन किसान चौक  पर जाम की परेशानी अभी तक दूर नहीं हो पाई है। हालांकि कुछ अस्थाई इंतजाम किए गए थे, लेकिन उससे भी हल नहीं निकला।
अंडरपास बनते ही बढ़ जाएगी वाहनों की संख्या
ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने किसान चौक पर अंडरपास की जरूरत को देखते हुए यहां एक सर्वे कराया था। सर्वे करने वाली संस्था राइट्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि अभी किसान चौक से करीब 25 हजार वाहन जाम में फंसते हुए यहां से गुजरते हैं। लेकिन अंडरपास बनते ही वाहनों की संख्या 25 से 35 हजार तक हो जाएगी। जानकारों की मानें तो अंडरपास किसान चौक पर सूरजुपर से तिगरी जाने वाले 60 मीटर रोड पर बनाया जाएगा। इतना ही नहीं अंडरपास की डिजाइन और डिटेल प्राजेक्ट रिपोर्ट भी तैयार हो चुकी है।
किसान चौक पर अभी ऐसे चल रहा है ट्रैफिक
जब किसान चौक पर ट्रैफिक दबाव ज्यादा बढ़ने लगा तो ट्रैफिक पुलिस ने अस्थाई रूप से फौरी व्यवस्था करते हुए चौराहे के दोनों तरफ 130 मीटर रोड पर दो यूटर्न बना दिए। यूटर्न बनने से हुआ यह कि किसान चौक की तरफ से सूरजपुर और नोएडा की ओर जाने वाले वाहन 130 मीटर रोड पर बने यूटर्न से होकर गुजरने लगे। इसी तरह से 130 मीटर रोड या सूरजपुर की तरफ से गौड़ सिटी और प्रताप विहार को जाने वाले वाहन नोएडा की तरफ बने यूटर्न से होकर जाने लगे।
2 महीने तक पर्थला गोलचक्कर पर रहेगा ट्रैफिक रूट डायवर्जन, जानें प्लान
यहां रैंप बनने से भी गौड़ सिटी पर कम होगा ट्रैफिक
नोएडा अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो नोएडा सेक्टर-115 के पास सोरखा गांव के पास वाले कट से बिसरख रोड की ओर एफएनजी से जोड़ने के लिए एक रैंप बनाई जा रही है। इस रैंप के बन जाने से ट्रैफिक आसानी से एफएनजी पर चला जाएगा। इसके बाद दिल्ली-नोएडा की ओर आने वाले वाहन फर्राटा भरते हुए बिना गौड़ सिटी चौक, किसान चौक और पर्थला गोल चक्कर आ-जा सकेंगे। इस नए रास्ते के खुल जाने से ग्रेटर नोएडा, वेस्ट और गाजियाबाद की ओर जाना दिल्ली-नोएडा वालों के लिए आसान हो जाएगा।
वहीं, नोएडा एक्सटेंशन वालों को भी गौड़ सिटी चौक, किसान चौक और पर्थला गोलचक्कर होते हुए दिल्ली की ओर नहीं आना पड़ेगा। इस रैंप की लागत करीब 12 करोड़ रुपये बताई जा रही है। माना जा रहा है कि इसी साल जून तक काम पूरा हो जाएगा और जुलाई से इस रैंप को जनता के लिए खोल दिया जाएगा।

फिल्म शमशेरा, डायरेक्टर ने वाणी कपूर की तारीफ की

फिल्म शमशेरा, डायरेक्टर ने वाणी कपूर की तारीफ की 

कविता गर्ग
मुंबई। बॉलीवुड शमशेरा इस साल की मोस्ट अवेटेड फिल्मों में से एक है। रणबीर कपूर, संजय दत्त और वाणी कपूर जैसे सितारों से सजी यह फिल्म 22 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है। फिल्म को लेकर दर्शक काफी एक्साइटेड हैं। फिल्म के रिलीज से पहले ये सभी सितारे इसके प्रमोशन में काफी बिजी चल रहे हैं। वहीं, इस फिल्म के डायरेक्टर करण मल्होत्रा भी इन दिनों इसके प्रमोशन के बहाने फिल्म से जुड़े सभी कास्ट के बारे में दिलचस्प खुलासा कर खबरों में बने हुए हैं। रणबीर-संजय दत्त की तारीफ के बाद अब डायरेक्टर ने वाणी कपूर की तारीफ की और कहा कि वाणी हिंदी सिनेमा की ‘बेजोड़ एक्ट्रेस’ बन सकती हैं।
आपको बता दें कि ‘शमशेरा’ में पहली बार रणबीर कपूर  डबल रोल में देखे जाएंगे। वह फिल्म में शमशेरा और बल्ली के किरदार में हैं। वहीं संजय दत्त फिल्म में क्रूर जनरल शुद्ध सिंह की भूमिका नजर आएंगे। इसके अलावा एक्ट्रेस वाणी कपूर डांसर सोना के किरदार से अपने डांस टैंलेंट को दिखाकर लोगों का दिल जीतने वाली हैं।
वाणी कपूर का किरदार काफी महत्वपूर्ण है।
वाणी के किरदार को लेकर डायरेक्टर करण मल्होत्रा  का कहना है कि रणबीर कपूर औऱ संजय दत्त के किरदार के अलावा एक्ट्रेस वाणी कपूर का किरदार भी काफी महत्वपूर्ण है। उन्होंने वाणी के किरदार को अभिन्न बताते हुए ईटाइम्स को बताया, “वाणी फिल्म में सोना नाम की लड़की का रोल प्ले कर रही हैं, जो एक ट्रेवल परफ़ॉर्मर है। वह आई कैंडी नहीं है। वह गाने और डांस के लिए फिल्म में नहीं है।
वाणी का किरदार फिल्म में बेहद सुंदर है।
करण ने खुलासा किया कि वाणी का किरदार रणबीर की शमशेरा वाले रोल में और अधिक भावना जोड़ने में मदद करेगा। डायरेक्टर के अनुसार, वाणी का किरदार फिल्म में बेहद लाजवाब और एक अमिट छाप है जो शमशेरा के रोल के पीछे एक मजबूत ताकत बन जाती है। वाणी की यात्रा काफी दिलचस्प है। आप उन्हें शमशेरा में विभिन्न रंगों में देखेंगे।
सर्वोत्कृष्ट नायिका बन सकती है। बातचीत में करण ने यह भी स्वीकार किया कि वह अपनी पहली फिल्म ‘शुद्ध देसी रोमांस’ के बाद से ही वाणी के फैन हैं। उन्होंने आगे कहा, “वाणी को कास्ट करने के पीछे का कारण यह था कि मैं उन्हें उनकी पहली फिल्म से ही उनसे काफी प्रभावित रहा हूं। वह पर्दे पर काफी मजबूत तरीके से अपनी मौजूदगी फील कराती है। मुझे हमेशा से लगता था कि वाणी हिंदी फिल्म की बेजोड़ एक्ट्रेस बन सकती है जो किसी भी भावना को आसानी से संभाल सकती है। वह खुद को उसमें ढाल सकती हैं।

नई परियोजनाओं से पूर्वी भारत का विकास होगा: पीएम

नई परियोजनाओं से पूर्वी भारत का विकास होगा: पीएम 

अकांशु उपाध्याय/गीता गोवंडके 
नई दिल्ली/देवघर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को झारखंडके लिए देवघर में हवाई अड्डे सहित कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास करते हुए कहा कि इन नई परियोजनाओं से पूर्वी भारत का विकास होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि क्षेत्र में रेल, सड़क, हवाई मार्ग के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने का प्रयास पिछले आठ वर्ष से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नए हवाई अड्डे से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘ हम काफी समय से देवघर हवाई अड्डे का सपना देख रहे थे।
इससे रोजगार को बढ़ावा मिलेगा और नए अवसर भी पैदा होंगे। मैं झारखंड के लोगों को बधाई देता हूं। इन नई परियोजनाओं से बिहार और पश्चिम बंगाल को भी फायदा होगा।’’ प्रधानमंत्री मोदी ने दिन में झारखंड में करीब 16,800 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि इन नई परियोजनाओं से सम्पर्क बढ़ेगा और लोगों का जीवन भी आसान होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि बोकारो-अंगुल गैस लाइन की शुरुआत से झारखंड और ओडिशा के 11 जिलों को फायदा होगा।

देश में 'अघोषित आपातकाल' जैसा माहौल बनाया

देश में 'अघोषित आपातकाल' जैसा माहौल बनाया 

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी  
नई दिल्ली/पुड्डुचेरी। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के पोलित ब्यूरो सदस्य रामकृष्णन ने मंगलवार को केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत सरकार ने देश में 'अघोषित आपातकाल' जैसा माहौल बना दिया है। श्री रामकृष्णन ने यहां पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि भाजपा विपक्षी पार्टियों द्वारा शासित राज्यों में भी एकल पार्टी शासन के लिए ‘निरंकुश’ रवैया अपना रही है।
भाजपा ने कथित तौर पर मध्य प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र में सरकारों को गिरा दिया है और अपनी सरकारें बनाई है। उन्होंने आरोप लगाया कि पुड्डुचेरी में भाजपा उपराज्यपाल डॉ. तमिलिसाई सौंदरराजन के साथ मिलकर समानांतर राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में भले ही एन आर कांग्रेस-भाजपा गठबंधन सरकार सत्ता में है, लेकिन भाजपा की मनमानी काफी बढ़ गई है। श्री रामकृष्णन ने आरोप लगाया कि हैजा के प्रकोप के साथ कोरोना महामारी के कारण लागू मेडिकल इमरजेंसी के बाद कराईकल में स्वास्थ्य विभाग पर उचित ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि कोविड प्रबंधन में सरकार की ओर से ढिलाई स्पष्ट रूप से साबित करती है कि यह एक ‘अक्षम’ सरकार है। श्री रामकृष्णन ने कहा कि मुफ्त राशन का चावल बंद कर दिया गया और चावल के स्थान पर नकदी की घोषणा की गयी, लेकिन अब तो न चावल मिल रहा है और न ही नकदी। राशन की दुकानें बंद पड़ी हैं। माकपा नेता ने कहा कि छात्रों को यूनिफॉर्म, पाठ्य पुस्तकें और बस की सुविधा नहीं दी गई है। साथ ही अनुसूचित जाति के छात्रों को छात्रवृत्ति भी नहीं दी गई है।
उन्होंने कहा कि सरकार के इस रवैये की निंदा करने के लिए पार्टी आगामी 14 जुलाई को शिक्षा विभाग के सामने आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि मुफ्त राशन का चावल उपलब्ध नहीं कराने और अन्य मुद्दों को लेकर माकपा 20 जुलाई को यहां मुख्य सचिवालय का घेराव करेगी।

लोकतंत्र के सशक्तीकरण के आधार हैं, ग्रामीण व चुनाव

लोकतंत्र के सशक्तीकरण के आधार हैं, ग्रामीण व चुनाव

मनोज सिंह ठाकुर
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि ग्रामीण और नगर निकाय के चुनाव लोकतंत्र के सशक्तीकरण के आधार हैं। पंचायत चुनावों में पार्टी के समर्थित उम्मीदवारों को जनता का आशीर्वाद प्रचंड बहुमत के रूप में मिला है। शर्मा ने मंगलवार को मीडिया से चर्चा करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि निकाय चुनाव के पहले और दूसरे चरण में भी पार्टी प्रत्याशियों को जनता का समर्थन मिलेगा।
पार्टी को मिलने वाली जीत का आधार हैं हमारे कार्यकर्ताओं तथा संगठन की मेहनत, पार्टी नेतृत्व के प्रति प्रदेश की जनता का विश्वास और भाजपा सरकार द्वारा किए जा रहे गरीब कल्याण के काम है।
शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का लोकतंत्र पर विश्वास नहीं है, इसलिए स्वयं मतदान करने में यकीन नहीं करते, लेकिन हार के डर से झूठ बोलने का काम जरूर कर रहे हैं। जनता झूठ बोलने से नहीं, बल्कि काम करने पर वोट देती है। शर्मा ने कहा कि इस बार चुनाव में वोटर लिस्ट में अनेक कमियां पाई गईं हैं।
इसके अलावा पहले चुनाव आयोग द्वारा मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जाता था, वो भी इस बार नहीं चलाया गया। चुनावी ड्यूटी वाले कर्मचारियों को पोस्टल बैलेट नहीं दिये गए। इन सब बातों से मतदान प्रभावित हुआ है। इसके बावजूद पार्टी के बूथ कार्यकर्ताओं द्वारा मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास किया गया।

विधानसभा चुनाव के लिए पर्यवेक्षक की घोषणा: कांग्रेस

विधानसभा चुनाव के लिए पर्यवेक्षक की घोषणा: कांग्रेस 

अकांशु उपाध्याय/श्रीराम मौर्य/इकबाल अंसारी
नई दिल्ली/शिमला/गांधीनगर। हिमाचल प्रदेश और गुजरात में इस साल विधानसभा चुनाव हैं। ऐसे में कांग्रेस ने इन चुनावों को लेकर तैयारी शुरू कर दी है। बता दें हिमाचल प्रदेश और गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने पर्यवेक्षक की घोषणा कर दी है। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुजरात में वरिष्ठ पर्यवेक्षक राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को बनाया है।
वहीं उनके साथ दो पर्यवेक्षक भी नियुक्त किए गए हैं। इनमें छत्तीसगढ़ के मंत्री टीएस सिंह देव और महाराष्ट्र के नेता मिलिंद देवड़ा का नाम है। वहीं हिमाचल प्रदेश में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है। उनके साथ राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और पंजाब के वरिष्ठ नेता प्रताप सिंह बाजवा को पर्यवेक्षक बनाया गया है।

सरकारी खजाने में 62 करोड़ से अधिक का योगदान

सरकारी खजाने में 62 करोड़ से अधिक का योगदान

इकबाल अंसारी
बेंगलुरू। केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने मंगलवार को कहा कि प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग ने कबाड़ बेचकर सरकारी खजाने में 62 करोड़ रुपये से अधिक का योगदान किया है। जिसमें अधिकतर इलेक्ट्रानिक्स कबाड़ शामिल था। उन्होंने कहा कि यह स्टार्टअप के लिए एक नया क्षेत्र हो सकता है। कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन राज्य मंत्री यहां दो दिवसीय क्षेत्रीय सम्मेलन ‘‘नागरिकों, उद्यमियों और सरकार को सुशासन के करीब लाने’’ के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे।
सिंह ने कहा, ‘‘प्रशासनिक सुधार विभाग ने न केवल शासन सुधारों को उपदेश देने तक ही सीमित रखा है, हमने ‘स्वच्छता’ की पहल की है। हमने केवल कबाड़ बेचकर 62 करोड़ रुपये कमाये हैं।’’ उन्होंने कहा कि यह एक नया स्टार्टअप क्षेत्र है और उम्मीद जतायी कि अगली बार जब स्वच्छता अभियान शुरू होगा तो ऐसे उद्यम होंगे जो आगे आएंगे। उन्होंने कहा, ‘‘…हमने कमोबेश ये 62 करोड़ रुपये इलेक्ट्रॉनिक्स कबाड़ से कमाये हैं और यह सरकारी खजाने में दिया गया।
यह कामकाज में एकीकृत दृष्टिकोण के कारण संभव हुआ।’’ इस कार्यक्रम में कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर, मुख्य सचिव वंदिता शर्मा, वरिष्ठ अधिकारी और नौकरशाह मौजूद थे। मंत्री ने कहा कि नौकरशाही के पास नागरिकों के साथ साझेदारी करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

जमानत अर्जी, 18 अगस्त को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध

जमानत अर्जी, 18 अगस्त को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने कथित चीनी वीजा घोटाले के मामले में मंगलवार को कांग्रेस सांसद कार्ति पी चिदंबरम की अग्रिम जमानत अर्जी को 18 अगस्त को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया। न्यायमूर्ति पूनम ए बंबा ने मंगलवार को इस अर्जी पर सुनवाई तब टाल दी जब मामले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के वकील ने अदालत से कहा कि अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एस वी राजू उपलब्ध नहीं हैं।
जांच एजेंसी (ईडी) ने मौखिक रूप से यह भी कहा कि कार्ति के विरूद्ध दंडात्मक कार्रवाई न करने को लेकर उसने जो आश्वासन दिया था, उसपर वह अगली तारीख तक कायम रहेगी। कार्ति ने अग्रिम जमानत के लिए उच्च न्यायालय का रूख किया था, क्योंकि उससे पहले तीन जून को उनकी एवं दो अन्य की अग्रिम जमानत याचिका निचली अदालत ने इस आधार पर खारिज कर दी थी कि अपराध गंभीर किस्म का है।
ईडी ने इस कथित घोटाले के सिलसिले में कार्ति एवं अन्य के विरूद्ध धनशोधन का मामला दर्ज किया था। यह कथित घोटाला 2011 में 263 चीनी नागरिकों को वीजा जारी करने से जुड़ा है जब कार्ति के पिता पी चिदम्बरम गृहमंत्री थे। ईडी ने कहा है कि इस मामले में शोधित कालेधन की मात्रा का अभी जांच में निर्धारण किया जाना बाकी है तथा सीबीआई मामले में उल्लेखित 50 लाख रुपये की रिश्वत को इस मामले का आधार नहीं माना/समझा जा सकता है।
उसने इस मामले में सीबीआई की प्राथमिकी का संज्ञान लेते हुए धनशोधन निवारण अधिनियम के प्रावधानों के तहत अपना मामला दर्ज किया है। पिछले महीने छुट्टियों के दौरान जब इस मामले की सुनवाई चल रही थी। तब ईडी ने यह कहते हुए अग्रिम जमानत का विरोध किया था कि कार्ति महज उस कल्पना पर आवेदन नहीं दे सकते जिसमें उनकी गिरफ्तारी की कोई असली आशंका दिखती भी नहीं है। ईडी ने कहा था कि आवेदन जल्दबाजी में दिया गया है। क्योंकि मामले की अबतक जांच भी शुरू नहीं हुई है और कार्ति को अबतक समन भी नहीं भेजा गया है।

'कुछ कुछ होता है' का रीमेक बनाना चाहतें हैं, जौहर

'कुछ कुछ होता है' का रीमेक बनाना चाहतें हैं, जौहर

कविता गर्ग
मुंबई। बॉलीवुड फिल्मकार करण जौहर अपनी सुपरहिट फिल्म 'कुछ कुछ होता है' का रीमेक बनाना चाहतें हैं। करण जौहर ने वर्ष 1998 में 'कुछ कुछ होता है' बनायी थी। इस फिल्म में शाहरुख खान, काजोल और रानी मुखर्जी ने मुख्य भूमिका निभायी थी, जबकि सलमान खान ने कैमियो भूमिका निभायी थी। करण जौहर ने बतौर निर्देशक 'कुछ कुछ होता है' से बतौर निर्देशक बॉलीवुड में अपनी शुरूआत की थी। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुयी थी। करण जौहर अब 'कुछ कुछ होता है' का रीमेक बनाना चाहते हैं। करण जौहर ने फिल्म की कास्ट भी सोच ली है।
करण जहर ने बताया कि मैं रणवीर सिंह को शाहरुख खान के रोल में, आलिया भट्ट को काजोल के रोल में और जाह्नवी कपूर को रानी मुखर्जी के रोल में देखना चाहता हूं। जाह्नवी बेस्ट करेंगी, क्योंकि वह उस तरह से कॉलेज गर्ल और एक हॉट लड़की का रोल सही ढंग से प्ले कर पाएंगी।

दुनिया की सबसे ऊंची सुनसान इमारत है, गगनचुंबी

दुनिया की सबसे ऊंची सुनसान इमारत है, गगनचुंबी 

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। दुनिया में कई ऐसी जगहें हैं, जहां इंसान और जानवर भी जाने से डरते हैं। जिन्हें भूतिया या डरावना माना जाता है। आज हम आपको एक ऐसी गगनचुंबी इमारत के बारे में बताने जा रहे हैं, जो इस समय दुनिया की सबसे ऊंची सुनसान इमारत है। इस इमारत का नाम सुनते ही लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। उत्तर कोरिया में एक होटल की इमारत को भूतिया जगह माना जाता है। इसे 'शापित' और 'भूतिया' कहा जाता है। पिरामिड जैसी आकृति और नुकीले सिरे वाली इस गगनचुंबी इमारत का निर्माण कार्य पिछले 33 साल से पूरा नहीं हो रहा है, क्योंकि यहां जाकर लोग चीखते-चिल्लाते हैं।

इस होटल का आधिकारिक नाम रयुगयोंग है। इमारत को यू-क्यूंग के नाम से भी जाना जाता है। उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयोंग शहर में स्थित इस होटल की ऊंचाई 330 मीटर है और इसमें 105 कमरे हैं। यह होटल बाहर से दिखने में बहुत ही भव्य और आलीशान है। लेकिन उत्तर कोरिया के लोग इसे 'भूतिया इमारत' कहते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोरियाई सरकार ने होटल के निर्माण में काफी पैसा खर्च किया है। इसके बाद भी यह तैयार नहीं हो रहा है। इस होटल पर सरकार ने करीब 55 लाख करोड़ रुपये खर्च किए। आज दुनिया इसे 'पृथ्वी की सबसे ऊंची सुनसान इमारत' के नाम से जानती है। इसी विशेषता के कारण इसका नाम 'गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' में भी दर्ज है।

आज अगर यह होटल पूरी तरह बनकर तैयार हो जाता तो यह दुनिया की सातवीं सबसे ऊंची इमारत होती। इतना ही नहीं इसे दुनिया के सबसे ऊंचे और आलीशान होटल के रूप में जाना जाता है। इसका निर्माण कार्य 1987 में शुरू हुआ था। इसे पूरा करने के लिए दो साल का समय रखा गया था। जब इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ तो इसमें कई तरह की दिक्कतें आने लगीं। इसके बाद साल 1992 में इसका काम बंद कर दिया गया। हालांकि इसे बनाने का काम फिर से साल 2008 में शुरू हुआ। इस बार सरकार ने 11 अरब रुपये अतिरिक्त खर्च किए। लेकिन उसके बाद भी होटल का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो सका।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई खास बदलाव नहीं

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई खास बदलाव नहीं 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। उत्तर-प्रदेश में (पेट्रोल-डीजल) की कीमतों में मंगलवार को भी कोई खास बदलाव नहीं किया गया है। केंद्र सरकार द्वारा एक्साइज ड्यूटी में कमी करने के बाद इसके दामों में बढ़ोतरी नहीं देखी जा रही है। पिछले कुछ समय में घरेलू गैस के दाम जरूर बढ़े हैं लेकिन पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिर हैं। पिछले 51 दिनों से पेट्रोल डीजल के दाम में कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है।बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भी कच्चे तेल के दाम में गिरावट आ रही है। माना जा रहा है कि इसकी वजह से इसके दाम में कमी की जाएगी।
यूपी में 22 मई के बाद से पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है।लखनऊ में आज पेट्रोल 96.57 रुपये और डीजल 89.76 रुपये प्रति लीटर है। यूपी के अन्य शहरों की बात करें तो आगरा में पेट्रोल 96.35 रुपए और डीजल 89.52 रुपए प्रति लीटर है। गोरखपुर- पेट्रोल 96.89 रुपए और डीजल 90.07 रुपए प्रति लीटर है। गाजियाबाद में पेट्रोल 96.58 रुपए और डीजल 89.75 रुपए प्रति लीटर है।
नोएडा में पेट्रोल 97 रुपए और डीजल 90.14 रुपए प्रति लीटर है। मेरठ में पेट्रोल 96.23 रुपए और डीजल 89.42 रुपए प्रति लीटर है। मथुरा में पेट्रोल 96.28 रुपए और डीजल 89.44 रुपए प्रति लीटर है। कानपुर में पेट्रोल 96.45 रुपए और डीजल 89.63 रुपए प्रति लीटर है। वाराणसी में पेट्रोल 96.79 रुपए और डीजल 89.98 रुपए प्रति लीटर है। बता दें कि हर दिन सुबह 6 बजे पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी किए जाते हैं।

शामली: राशन डीलरों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की

शामली: राशन डीलरों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की 

भानु प्रताप उपाध्याय 
शामली। शामली के कलेक्ट्रेट में पहुंचकर राशन डीलरों ने एकजुट होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। समस्त राशन डीलरों ने 2013 के बाद अपना कमीशन ना बढ़ाने का आरोप लगाया है। वहीं, आज जिलाधिकारी को प्रधानमंत्री के नाम अपनी मांगों को लेकर एक ज्ञापन सौंपा।
राशन डीलरों ने इकट्ठा होकर कलक्ट्रेट में अपने कमीशन बढ़ाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया। उन्होंने प्रधानमंत्री के नाम जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा है। राशन डीलर के जिलाध्यक्ष श्याम सिंह ठाकुर का कहना है कि हम लोग आज प्रधानमंत्री के नाम जिलाधिकारी को प्रत्येक मुख्यालय पर ज्ञापन सौंप रहे हैं।
18 तारीख को प्रदेश के मुख्यमंत्री के यहां धरना प्रदर्शन करेंगे और 2 अगस्त को प्रधानमंत्री जी के यहां धरना प्रदर्शन होगा। अब अगर आगे हमारी मांग पूरी न हुई तो उक्त मामले में उग्र आंदोलन भी होगा। 2013 से लेकर आज तक हमारा कोई भी मानदेय नहीं बढ़ाया गया है। जबकि प्रदेश में केंद्र सरकार हर 6 महीने में किसी न किसी तरीके से महंगाई को बढ़ावा दे रही है, और कल टैक्स लगाकर आम जनमानस पर उसका महंगाई का जोर पढ़ रहा है।

20 तक चलेगा, अन्त्योदय आयुष्मान पखवाड़ा अभियान

20 तक चलेगा, अन्त्योदय आयुष्मान पखवाड़ा अभियान 

भानु प्रताप उपाध्याय
शामली। शासन के निर्देश पर अन्त्योदय लाभार्थियों का आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए विशेष अभियान अन्त्योदय आयुष्मान पखवाड़ा शुरू हो चुका है। यह 20 जुलाई तक चलेगा। पखवाड़े के तहत शत प्रतिशत अन्त्योदय लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाने के निर्देश शासन की ओर से जारी किए गए हैं।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा. संजय अग्रवाल ने बताया, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को पत्र भेजा है। सीएमओ डा. संजय अग्रवाल का कहना है कि पत्र के अनुपालन में अन्त्योदय आयुष्मान पखवाड़ा के दौरान सभी अन्त्योदय कार्ड धारकों के आयुष्मान कार्ड बनाने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व नोडल अधिकारी डा. अश्विनी शर्मा ने बताया जनपद में लगभग 14757 अंत्योदय कार्ड धारक आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी हैं। इनमें से करीब 8263 (56 प्रतिशत) लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं। जिले में अब 122554 लोगों के आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके है। जिसमें 14559 लोग योजना का लाभ ले चुके है। जनपद में 14 प्राइवेट व सात सरकारी अस्पताल योजना से आबद्ध हैं।
उन्होंने बताया कि आयुष्मान कार्ड बनाने के मामले में शामली जनपद राज्य में दूसरे स्थान पर है जबकि इलाज मुहैया कराने में प्रथम स्थान पर है। डिस्ट्रिक्ट ग्रीवांस मैनेजर वैभव गुप्ता ने बताया, अन्त्योदय आयुष्मान पखवाड़ा के तहत राशन दुकानों सहित विभिन्न स्थानों पर शिविर लगाए जा रहे है। इसके लिए माइक्रो प्लान तैयार किया गया है। राशन डीलर (कोटेदार) को प्रेरित कर उनकी सहभागिता सुनिश्चित की जा रही है ताकि ज्यादा से ज्यादा अन्त्योदय आयुष्मान कार्ड बनाए जा सके।
शिविर की निर्धारित तिथि से पूर्व संबंधित आशा कार्यकर्ता द्वारा गांव और वार्ड के चिन्हित लाभार्थी परिवारों को शिविर स्थल एवं राशन कार्ड शिविर में अवश्य लेकर जाएं। इसके साथ ही जिला आपूर्ति अधिकारी से समन्वय स्थापित कर लक्षित लाभार्थियों की ग्राम वार-वार्ड वार सूची सरकारी राशन की दुकानों (कोटेदारों) को उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने बताया, आयुष्मान भारत योजना के तहत निशुल्क उपचार प्राप्त करने के लिए लाभार्थी परिवार के हर सदस्य को आयुष्मान कार्ड बनवाना जरूरी है। एक आयुष्मान कार्ड बनवाने पर आशा कार्यकर्ता को पांच रुपए और एक परिवार के दो या उससे अधिक सदस्यों के कार्ड बनवाने पर 10 रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

कई राज्यों में बाढ़-भूस्खलन की स्थिति पैदा हुई

कई राज्यों में बाढ़-भूस्खलन की स्थिति पैदा हुई 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में भारी बारिश के बाद बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति पैदा हो गई है। इन राज्यों में सैकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र, गुजरात में हालात बद से बदतर हो गए। देश के कई राज्यों में भारी बारिश (Heavy Rain) और बाढ़ (Flood) से लोगों का बुरा हाल है। गुजरात, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक में मौसम विभाग (IMD) ने आज भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। महाराष्ट्र का सबसे बुरा हाल है।
जहां पर अब तक 83 लोगों की मौत हो चुकी है, तो वहीं 6 जिलों में मौसम का रेड अलर्ट (Red Alert) है। शहर-शहर आफत बरस रही है। नदियां उफान पर हैं। अगले 72 घंटे लोगों पर भारी हैं, तो वहीं गुजरात में अब तक 63 लोगों की मौत हो चुकी है।
महाराष्ट्र में 1 जून से लेकर अब तक भारी बारिश के कारण 83 लोगों की मौत हुई हैं जबकि 64 लोग घायल हुए हैं। इन दुर्घटनाओं में बाढ़, भूस्खलन, इमारत गिरने, घर गिरने, समुद्र में डूबने, पानी में डूबने, बिजली गिरने और शॉर्ट सर्किट की घटना शामिल हैं। इस भारी बारिश में अब तक 164 जानवरों की भी मौत हुई है। साथ ही अब तक 5873 लोगों को बचाया जा चुका है यानी उन्हें सुरक्षित जगह भेजा गया है।
वलसाड़ समेत 5 जिलों में रेड अलर्ट कर दिया गया है‌‌। जबकि 8 जिलों में ऑरेंज अलर्ट है। महाराष्ट्र में भी कुदरत का रौद्र रूप देखने को मिल रहा है। तानसा नदी उफनती लहरे हर किसी को डरा रही हैं।

असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव इंजीनियर के पदों पर भर्ती

असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव इंजीनियर के पदों पर भर्ती 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। अगर आप दिल्ली में सरकारी नौकरी करना चाहते हैं, तो ये आपके लिए एक बेहतरीन मौका हो सकता है। दरअसल दिल्ली डेवलपमेंट अथॉरिटी ने असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव इंजीनियर के पदों पर भर्ती के लिए नया नोटिफिकेशन जारी किया है। इच्छुक और योग्य उम्मीदवार ऑफिशयल वेबसाइट dda.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। बता दें इन पदों पर आवेदन की प्रक्रिया 9 जुलाई 2022 से शुरू हो चुकी है। इन पदों पर आवेदन करने की अंतिम तिथि 8 अगस्त 2022 है। असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव इंजीनियर पदों पर भर्ती के लिए उम्मीदवार के पास मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से सिविल इंजीनियरिंग में बैचलर्स डिग्री होनी चाहिए।
इन पदों पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों की न्युनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 30 वर्ष तय की गई है। वहीं सरकारी नियमों के अनुसार आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में छूट दी जाएगी। विस्तृत जानकारी के लिए आधिकारिक नोटिफिकेशन चेक कर सकते हैं।
बता दें इन पदों पर भर्ती के लिए उम्मीदवारों को GATE 2021 में प्राप्त अंकों के आधार पर शॉर्टलिस्ट किया जाएगा और फिर इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा। उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट dda.gov.in पर 8 अगस्त 2022 तक या उससे पहले ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

चीतों को बसाने का सबसे ज्यादा उपर्युक्त स्थान मिला

चीतों को बसाने का सबसे ज्यादा उपर्युक्त स्थान मिला

नरेश राघानी
जयपुर/काेटा। राजस्थान में पूर्व मंत्री एवं कोटा जिले की सांगोद विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक भरत सिंह कुंदनपुर नेे मुकुंदरा हिल्स अभयारण्य को चीता बसाने के दृष्टि से नामीबिया के विशेषज्ञों की टीम के उपर्युक्त पाए जाने की रिपोर्ट का स्वागत करते हुए कहा है कि यह राज्य सरकार के लिए दुर्लभ अवसर है और इसे गवां दिया, तो आने वाली पीढ़ियां कभी भी माफ नहीं करेगी। सिंह ने कहा कि यह रिपोर्ट न केवल वन-वन्य जीवों एवं पर्यावरण प्रेमियों के लिए, बल्कि राज्य सरकार के लिए भी अति प्रसन्नता का विषय है।
इस रिपोर्ट में संसाधनों की उपलब्धता के कारण हर दृष्टि से मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व के 80 वर्ग किलोमीटर के दर्रा क्लोजर को पूरी दुनिया में दुर्लभ होते जा रहे चीतों को बसाने के लिए सबसे ज्यादा उपर्युक्त स्थान पाया है और यह एक सुनहरा अवसर है। जब राज्य सरकार केंद्र से बातचीत करके चीतों के पुनर्वास के इस अवसर का लाभ उठाते हुए हाडोती अंचल में फिर से चीतों का आबाद करने की दिशा में सार्थक कदम उठा कर वन्यजीव प्रेमियों का सपना साकार करना चाहिए।
नामीबिया से आई वन्यजीव विशेषज्ञों की टीम ने मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क, गांधी सागर वाइल्ड लाइफ सेंचुरी सहित कोटा के मुकुंदरा हिल्स अभयारण्य का 12 से 21 जून के बीच अध्ययन करने के बाद अपनी रिपोर्ट में कोटा जिले में अभयारण्य के 80 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र को चीतों के पुनर्वास के लिए सबसे अधिक उपर्युक्त पाया था जहां दो मादा एवं एक नर चीते को बसाया जा सकता है।
नामीबिया के विशेषज्ञ की ओर से प्रस्तुत इस रिपोर्ट की प्रतिलिपि संलग्न कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जो राज्य वाइल्ड लाइफ बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं, को भेजे एक पत्र में बोर्ड के सदस्य सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार और वहां का वाइल्ड़ लाईफ़ बोर्ड़ कूनो नेशनल पार्क में चीते बसाने की संभावनाओं को देखते हुए केंद्र सरकार के स्तर पर लगातार बातचीत करते हुए नामीबिया से चीते लाकर मध्य प्रदेश के अभयारण्य में बसाने के लिए भरसक प्रयास कर रहे हैं और कई कदम आगे बढ़ भी चुके हैं।
इसके विपरीत राजस्थान का तो इस बारे में अभी रूख ही स्पष्ट नहीं है। सिंह ने अपने पत्र में आरोप लगाया कि वन्यजीवों के कुछ कथित विषय विशेषज्ञ अपने निजी स्वार्थ को लेकर अभयारण्य में चीते बसाने पर अड़ंगा लगा रहे हैं लेकिन प्रदेश के मुखिया होने के नाते कम से कम गहलोत तो यह समझे कि यदि ऐसे स्वार्थी लोगों की कोशिशें कामयाब हुई तो हाडोती के पर्यटन विकास को बहुत बड़ा झटका लगेगा। उन्होंने चेताया कि अब समय काफी कम बचा है और लगता है कि चीता बसाने के मामले में राजनीति हावी हो रही है लेकिन इस बात को अच्छे से समझ लेना चाहिए कि यदि यह मौका खो दिया तो इस गलती के लिए समय हमें कभी माफ नहीं करेगा।

शीर्ष संवैधानिक पद के लिए चुनाव में समर्थन मांगा: मुर्मू

शीर्ष संवैधानिक पद के लिए चुनाव में समर्थन मांगा: मुर्मू 

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल के सांसदों और विधायकों से मुलाकात की तथा शीर्ष संवैधानिक पद के लिए 18 जुलाई को होने जा रहे चुनाव में उनका समर्थन मांगा। एक होटल में लगभग घंटे भर चली बैठक में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के केंद्रीय नेताओं के साथ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार और पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी भी मौजूद थे।
भाजपा की बंगाल इकाई के सूत्रों के मुताबिक, बैठक में पार्टी के सांसदों और विधायकों ने मुर्मू को राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन देने का भरोसा दिलाया। सांसदों और विधायकों का समर्थन हासिल करने के लिए मुर्मू विभिन्न राज्यों का दौरा कर रही हैं। इससे पहले, दिन में वह उत्तरी कोलकाता में स्थित स्वामी विवेकानंद के पैतृक आवास पर पहुंचीं।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हाल ही में कहा था कि अगर भाजपा ने ओडिशा की आदिवासी नेता मुर्मू को चुनाव मैदान में उतारने से पहले विपक्षी दलों के साथ चर्चा की होती तो वह आम सहमति की उम्मीदवार हो सकती थीं। कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित देश के प्रमुख गैर-भाजपा दलों ने राष्ट्रपति चुनाव में यशवंत सिन्हा को विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार के तौर पर पेश किया है। मौजूदा समय में पश्चिम बंगाल में भाजपा के 17 लोकसभा सांसद हैं।
इनमें से एक अर्जुन सिंह तृणमूल में शामिल हो चुके हैं, लेकिन उन्होंने अभी तक सांसद पद से इस्तीफा नहीं दिया है। वहीं, 294 सदस्यीय पश्चिम बंगाल विधानसभा में भाजपा के 75 विधायक हैं। हालांकि, उनमें से पांच विधायक पद से इस्तीफा दिए बिना तृणमूल से जुड़े जुके हैं।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-277, (वर्ष-05)
2. बुधवार, जुलाई 13, 2022
3. शक-1944, आषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि-पूर्णिमा, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 27 डी.सै., अधिकतम-35+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन  अविनाश श्रीवास्तव  चक्की। प्रखंड की अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन किया गया। जि...