शुक्रवार, 23 सितंबर 2022

गुप्ता ने गौवंशों को 4 कुंटल से अधिक चारा खिलाया

गुप्ता ने गौवंशों को 4 कुंटल से अधिक चारा खिलाया


सारथी वेलफेयर फाउंडेशन ने गौ वंश को चारा खिलाया

संस्था की सामाजिक कार्यों के प्रति दिन रात मेहनत जारी 

भानु प्रताप उपाध्याय 

बागपत। अपने समाजिक कार्यों से प्रसिद्ध सारथी वेलफेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष वन्दना गुप्ता ने शुक्रवार को बावली रोड स्थित नगर पालिका आधीन गौशाला में जाकर गौवंशों को लगभग 4 कुंटल से अधिक हरा चारा खिलाया। सारथी वेलफेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष वन्दना गुप्ता ने बताया कि वह समय समय पर अनेकों सामाजिक कार्य करती है। बताया की पिछले 3 वर्षों से उन्होंने वृक्ष रोपण, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ,बालिकाओं को निशुल्क सैनेट्री पैड बाट कर जागरूक, गौ वंशों की सेवा व अन्य सामाजिक कार्यों द्वारा लोगो की सेवा की है।

इस मौके पर सारथी वेलफेयर फाउंडेशन के सदस्य रेशु जैन के पिता वीरेन्द्र कुमार जैन की पुण्य तिथि उन्हे श्रद्धांजलि भी दी। बताया कि उनके द्वारा किए गए कार्यों में सारथी वेलफेयर फाउंडेशन के साथियों जनप्रतिनिधियों के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों का सहयोग रहा है। इस मौके पर सारथी वेलफेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष वन्दना गुप्ता,देविकोर, हिमांशु अग्रवाल, अनिल अरोरा,शिवम राणा,नेहा जैन रेशु जैन नीलू जैन आदि का सहयोग रहा।

तिवारी द्वारा दायर याचिका पर 10 अक्टूबर को सुनवाई

तिवारी द्वारा दायर याचिका पर 10 अक्टूबर को सुनवाई

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने राजधानी दिल्ली में प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए एक जनवरी, 2023 तक सभी प्रकार के पटाखों के भंडारण, बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगाने के दिल्ली सरकार के फैसले के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद मनोज तिवारी द्वारा दायर एक याचिका पर 10 अक्टूबर को सुनवाई करने पर शुक्रवार को सहमति व्यक्त की। तिवारी ने कहा है कि जीने के अधिकार के बहाने धर्म की स्वतंत्रता को नहीं छीना जा सकता। उन्होंने इसके साथ ही यह भी अनुरोध किया है कि सभी राज्यों को यह निर्देश दिया जाए कि वे दीपावली जैसे आगामी त्योहारों के दौरान अनुमेय मात्रा में पटाखों की बिक्री या उसका इस्तेमाल करते पाये जाने वाले आम लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने जैसा कोई दंडात्मक कार्रवाई ना करें। याचिका प्रधान न्यायाधीश उदय उमेश ललित के नेतृत्व वाली पीठ के समक्ष तत्काल सुनवाई के लिए सूचीबद्ध हुई। पीठ ने कहा कि वह याचिका पर 10 अक्टूबर को सुनवाई करेगी।

शीर्ष अदालत ने पिछले साल स्पष्ट किया था कि पटाखों के इस्तेमाल पर कोई पूर्ण प्रतिबंध नहीं है और केवल बेरियम लवण वाले पटाखों की आतिशबाजी पर ही प्रतिबंध है। शीर्ष अदालत ने किसी भी चूक के लिए विभिन्न स्तरों पर शीर्ष अधिकारियों को ‘‘व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार ठहराये जाने’’ की चेतावनी देते हुए कहा था कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उसके निर्देशों के बावजूद खुलेआम उल्लंघन हो रहा है।तिवारी ने अधिवक्ता अश्विनी कुमार दुबे के माध्यम से दायर अपनी याचिका में कहा है कि कई राज्य सरकारों और उच्च न्यायालयों ने 2021 में शीर्ष अदालत के रुख के विपरीत आदेश पारित किए और पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया। याचिका में कहा गया है, ‘‘कई अलग-अलग आदेशों, निर्देशों और विचारों के साथ, लोगों के लिए यह समझना मुश्किल भरा है कि पटाखों की अनुमति दी गई है या नहीं जबकि इस अदालत ने इस पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने से इनकार दिया था।’’

याचिका में कहा गया है कि शीर्ष अदालत के स्पष्ट आदेशों के बावजूद कई राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों ने दीपावली त्योहार मनाये जाने के लिए उचित व्यवस्था सुनिश्चित नहीं की और प्राथमिकी दर्ज की और कर्फ्यू लगा दिये। इसमें कहा गया है, ‘‘मुख्य सचिवों, पुलिस आयुक्तों, पुलिस जिला अधीक्षकों, थाना प्रभारियों और अन्य लोगों ने अपने-अपने राज्य सरकारों के आदेशों का पालन करने के लिए उन आम लोगों के खिलाफ कार्रवाई की, जिन्हें पटाखा खरीदते समय पटाखों की सामग्री के बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं थी।’’ याचिका में कहा गया है, ‘‘दीपावली जैसे त्योहारों के मौसम में इस तरह की गिरफ्तारी और प्राथमिकी की वजह से न केवल बड़े पैमाने पर समाज में एक बहुत बुरा संदेश गया है, बल्कि अनावश्यक रूप से लोगों में भय और गुस्सा पैदा हुआ है।’’

भ्रष्टाचार-परिवारवाद में शत-प्रतिशत अंक मिलने चाहिए

भ्रष्टाचार-परिवारवाद में शत-प्रतिशत अंक मिलने चाहिए

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) को भ्रष्टाचार और परिवारवाद में शत-प्रतिशत अंक मिलने चाहिए। महाराष्ट्र के पुणे में बारामती लोकसभा क्षेत्र में राकांपा पर तीखा हमला करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि इस पार्टी को परिवारवाद और भ्रष्टाचार में शत-प्रतिशत अंक मिलना चाहिए।

उन्होंने कहा कि बारामती में बेहतर काम और विकास किया जा सकता है जिससे यह क्षेत्र अभी तक दूर है। चुनाव में ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल शुरू होने के बाद से सभी कुछ ठीक चल रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्तााअ का पहला उद्देश्य यहां होने वाले फर्जी मतदान पर लगाम कसना होना चाहिए। यह छत्रपति शिवाजी महाराज की भूमि है और यहां किसी को कोई डर नहीं होना चाहिए। सीतारमण ने कहा “ मैं यहां अपनी पार्टी के लिए काम करने आयी हूं। हमारा उद्देश्य बारामती में भाजपा को मजबूत करना है। मैं केवल चुनाव के लिए बारामती में वादे नहीं कर रही हूं, बल्कि मेरे वादे 2024 से भी आगे के लिए हैं।”

'वसुधैव कुटुंबकम' की बात करता है, भारत: भागवत 

'वसुधैव कुटुंबकम' की बात करता है, भारत: भागवत 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने शुक्रवार को कहा कि वैश्विक बाजार की बात तो सब लोग करते हैं‌। लेकिन केवल भारत ही है, जो वैश्विक परिवार यानी वसुधैव कुटुंबकम की बात करता है और इसके लिए हम कार्य भी करते हैं। डॉ. भागवत ने संकल्प फाउंडेशन और पूर्व सिविल सेवा अधिकारी मंच द्वारा डॉ. अम्बेडकर अंतरराष्ट्रीय केन्द्र में आयोजित व्याख्यानमाला को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्राचीनकाल से ही हमारा देश विविधता का देश रहा है। हमारी भूमि ऐसी है वो सबको देती है, भूमि अन्न, जल तो देती ही है, साथ ही संस्कार भी देती है। इसलिए भारत माता कहते हैं। हम इस भूमि के मालिक नहीं है, हम इसके पुत्र हैं। ये हमारी पुण्यभूमि है, कर्मभूमि है। हमारी एकता का सूत्र है संस्कृति और हम इसका प्रत्यक्ष आचरण करते हैं। हमें एक नहीं होना है, हम एक हैं। हमारे पूर्वजों ने ये सिखाया, बताया है। संस्कृति की सुरक्षा के लिए हमारे पूर्वजों ने बलिदान दिया है, लड़ाईयां लड़ी हैं। और हमारी पहचान ही भारत, पूर्वज, संस्कृति से हैं। हम इसे छोड़ेंगे नहीं। सभी पूजा, भाषा वाले लोगों में यह तीनों बातें होती हैं। पाश्चात्य देशों में नेशन का विकास और हमारे देश में राष्ट्र का विकास इसका क्रम एकदम अलग है। हमारा नेशनलिज्म नहीं है, न ही राष्ट्रवाद है। हमारी तो राष्ट्रीयता है।

व्याख्यानमाला के प्रथम सत्र की अध्यक्षता कर रहे प्रधानमंत्री के पूर्व प्रमुख सचिव और श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष श्री नृपेन्द्र मिश्र ने कहा कि 36 वर्ष से संकल्प होनहार तथा जो विद्यार्थी साधन संपन्न नहीं हैं, उन्हें प्रोत्साहित कर रहा है। उनके कार्य के लिए साधुवाद। संकल्प व्यवसायिक नहीं, सेवाभाव से कार्य कर रही है।उन्होंने कहा कि संघ से प्रेरणा और जानकारी मिली है कि सामाजिक जीवन में भिन्न-भिन्न रूप से योगदान दे रहे लोग अलग-अलग कार्यं से जुड़कर देश के लिए काम कर सकते हैं। व्याख्यानमाला के द्वितीय सत्र में पंजाब केन्द्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. जगबीर सिंह विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। दूसरे सत्र में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बारे में चर्चा हुई।

इस अवसर पर डॉ. मोहन भागवत ने दोनों विषयों पर उपस्थित श्रोताओं की जिज्ञासाओं का समाधान भी किया। संकल्प और पूर्व सिविल सेवा अधिकारी मंच द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले इस विचार मंथन कार्यक्रम का यह आठवां संस्करण था। संकल्प फाउंडेशन के अध्यक्ष संतोष कुमार तनेजा ने व्याख्यानमाला की विस्तृत भूमिका रखी। पूर्व सिविल सेवा अधिकारी मंच के संयोजक पूर्व आईएएस डॉ. जी प्रसन्न कुमार ने आभार ज्ञापन प्रस्तुत किया और मंच संचालन केन्द्रीय हिंदी शिक्षण मंडल के उपाध्यक्ष अनिल शर्मा जोशी ने किया। व्याख्यानमाला के दौरान डॉ. भागवत ने संकल्प द्वारा संकलित पुस्तक भारतीय परिप्रेक्ष्य के अंग्रेजी संस्करण ‘इंडियन पर्सपेक्टिव’ का भी लोकार्पण किया।

इस पुस्तक में पूर्व के वर्षों में आयोजित व्याख्यानमाला में पधारे वक्ताओं के व्याख्यानों का संकलन किया गया, जिनमें डॉ. कृष्ण गोपाल, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, गृह मंत्री अमित शाह, स्वर्गीय सुषमा स्वराज, स्वर्गीय अनिल माधव दवे सहित 12 प्रमुख वक्ताओं के व्याख्यान शामिल हैं। पुस्तक का संपादन केन्द्रीय हिंदी शिक्षण मंडल के उपाध्यक्ष अनिल शर्मा जोशी और समाजसेवी राजेन्द्र आर्य ने किया है। पुस्तक को प्रभात प्रकाशन द्वारा प्रकाशित किया गया है।

मस्जिद के पास धमाका, 4 लोगों की मौंत, 10 घायल

मस्जिद के पास धमाका, 4 लोगों की मौंत, 10 घायल

डॉक्टर सुभाषचंद्र गहलोत 

काबुल। जुमे की नवाज के बाद शुक्रवार को राजधानी काबुल में वज़ीर मोहम्मद अकबर खान ग्रैंड मस्जिद के पास एक बड़ा धमाका हुआ, इससे 4 लोगों की मौंत हो गई। जबकि 10 लोग घायल हैं। इस विस्‍फोट के कारण चारों तरफ धुआं और धूल छा गई और कुछ पलों के लिए लोगों को समझ नहीं आया कि धमाका किस तरफ हुआ है। काबुल पुलिस प्रमुख के प्रवक्ता खालिद ज़ादरान ने कहा कि इस धमाके के कारण कुछ लोगों की मौत और कई लोग घायल हुए हैं।

इधर, गृह मंत्री के प्रवक्ता अब्दुल नफी ताकोर ने कहा कि विस्फोट मस्जिद के पास की मेन रोड पर हुआ है। उन्होंने कहा कि कारणों की जांच की जा रही है। प्रवक्ता अब्दुल नफी ने कहा कि पुलिस की टीमें घटनास्थल पर हैं और मामले की जांच की जा रही है।

'हमर बेटी-हमर मान’ अभियान शुरू करने का फैसला

'हमर बेटी-हमर मान’ अभियान शुरू करने का फैसला 

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में बेटियों की सुरक्षा के लिए ’हमर बेटी-हमर मान’ अभियान शुरू करने का फैसला किया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसकी जानकारी दी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को अपने ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट कर बताया कि छत्तीसगढ़़ सरकार राज्य में बेटियों की सुरक्षा के लिए ‘हमर बेटी, हमर मान : हमारी बेटी, हमारा सम्मानः अभियान शुरू करने जा रही है।’

बघेल ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘जिस समाज में बेटियां सुरक्षित और सशक्त हों, वह समाज निरंतर प्रगति के पथ पर अग्रसर होता है। आपके साथ साझा करना चाहूंगा कि बेटियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ‘हमर बेटी- हमर मान‘ अभियान प्रारंभ करने जा रही है।‘ मुख्यमंत्री ने बताया, ‘राज्य की पुलिस की महिला अधिकारी एवं कर्मचारी राज्य के सभी ज़िलों में स्कूल/कॉलेजों में जाकर बेटियों को उनके क़ानूनी अधिकार, गुड टच, बैड टच, छेड़खानी, यौन शोषण, साइबर क्राइम, सोशल मीडिया क्राइम से बचाव और अधिकार जैसी बातों पर मार्गदर्शन और संवाद करेंगी।

उन्होंने बताया कि गर्ल्स स्कूल, कॉलेजों तथा महिलाओं/युवतियों की उपस्थिति वाली प्रमुख जगहों पर पुलिस की स्पेशल महिला पेट्रोलिंग लगाई जाएगी। ‘हमर बेटी- हमर मान‘ हेल्पलाइन के लिए एक मोबाइल नंबर भी जारी किया जाएगा, जिस पर शिकायत करने से प्राथमिकता पर कार्रवाई होगी।‘ उन्होंने बताया, ‘हमने यह भी तय किया है कि महिला संबंधी अपराधों की विवेचना प्राथमिकता के आधार पर महिला विवेचकों से ही कराई जाएगी, साथ ही ऐसे अपराधों की विवेचना निर्धारित समय में पूरी होकर चालान पेश हो जाए, यह सुनिश्चित करने का दायित्व संबंधित पुलिस महानिरीक्षक का होगा।’

परमाणु तबाही को रोकने के लिए आगे आना चाहिए

परमाणु तबाही को रोकने के लिए आगे आना चाहिए

अखिलेश पांडेय 
मॉस्को/कीव। रूस का कहना है कि यूक्रेन की परमाणु तबाही को रोकने के लिए यूरोपीयन को आगे आना चाहिए। रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा है कि अगर उनको परमाणु त्रासदी की चिंता है तो फिर यूक्रेन को वापस सही रास्ते पर लाने के लिए प्रयास करने चाहिए। मारिया ज़ाख़ारोवा कहती हैं कि ज़ोपोरिज़िया परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर यूक्रेन द्वारा हमले को रोकने के लिए अमरीका के साथ मिलकर यूरोप को भी प्रयास करने चाहिए। यूक्रेन के परमाणु ऊर्जा संयंत्र के बारे में रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता के इस बयान से पहले रूस एटम के प्रमुख एलेक्सी लीख़ाचेफ भी कह चुके हैं कि अन्तर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेन्सी आईएईए भी इस मुद्दे का राजनीतिकरण कर रही है।
आईएईए के महासचिव ने सितंबर के आरंभ में यूक्रेन में ज़ोपोरिज़िया परमाणु ऊर्जा संयंत्र का निरीक्षण किया था।  उन्होंने इस क्षेत्र की विशेष सुरक्षा की भी बात कही थी।
याद रहे कि यूक्रेन में स्थित ज़ोपोरिज़िया परमाणु ऊर्जा संयंत्र, यूरोप का सबसे बड़ा परमाणु बिजलीघर है।  यूक्रेन पर रूस के हमले के दौरान यह रूस के क़ब्ज़े में चला गया।  बताया जाता है कि इस परमाणु संयंत्र में किसी भी प्रकार की दुर्घटना और उसका आरोप रूस पर मढ़ने के उद्देश्य से यूक्रेनी सेना कई बार वहां पर हमले कर चुकी है।

निजी अस्पतालों में सिजेरियन डिलीवरी की सुविधा बंद

निजी अस्पतालों में सिजेरियन डिलीवरी की सुविधा बंद

अकांशु उपाध्याय/पंकज कपूर 

नई दिल्ली/देहरादून। केंद्र सरकार की ओर से आयुष्मान कार्ड योजना के अंतर्गत चलाई जा रही 500000 रूपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा के अंतर्गत निजी अस्पतालों में सिजेरियन डिलीवरी की सुविधा बंद कर दी गई है। आयुष्मान पैकेज से इसे बाहर कर दिए जाने से अब लोगों को सरकारी अस्पतालों में डिलीवरी कराने को मजबूर होना पड़ रहा है। दरअसल केंद्र सरकार की ओर से संचालित की जा रही आयुष्मान कार्ड योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 500000 रूपये तक का मुफ्त इलाज कराने की सुविधा प्रदान की जा रही है। लेकिन अब केंद्र सरकार की ओर से आयुष्मान योजना के कार्ड पर निजी अस्पतालों के भीतर सिजेरियन डिलीवरी की सुविधा को बंद कर दिया गया है।

केंद्र सरकार की ओर से आयुष्मान योजना के पैकेज से सिजेरियन डिलीवरी को बाहर किए जाने के बाद अब सरकारी अस्पतालों में ही गर्भवती महिलाओं को मुफ्त सिजेरियन डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। केंद्र सरकार की ओर से आयुष्मान योजना से सिजेरियन डिलीवरी को हटाने की बाबत राज्य सरकारों को दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। केंद्र सरकार के आदेश पर उत्तराखंड स्वास्थ्य प्राधिकरण ने भी अब सूचीबद्ध अस्पतालों को इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

लापरवाही को लेकर प्रभारी समेत 4 पुलिस निलंबित 

लापरवाही को लेकर प्रभारी समेत 4 पुलिस निलंबित 

संदीप मिश्र 

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में आपराधिक घटनाओं पर प्रभावी तरीके अंकुश नहीं लगाने एवं आवश्यक निषेधात्मक कार्रवाई किए जाने में लापरवाही बरतने को लेकर चौकी प्रभारी समेत चार पुलिसकर्मी निलंबित कर दिए गए हैं। जिले के पुलिस प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल ने ठाकुर द्वारा सर्किल के भगतपुर थाने की इस्लामनगर चौकी के प्रभारी विनोद कुमार, आरक्षी सुनील, आरक्षी आदित्य कुमार तथा आरक्षी नरेश कुमार के खिलाफ विभागीय जांच का आदेश देते हुए पांचों को निलंबित कर दिया है।

उन्होंने बताया कि इस्लाम नगर पुलिस चौकी क्षेत्र में गुरुवार को गोवंश अवशेष मिलने के बाद गोकशी रोकने में शिथिलता बरतने के आरोप में उक्त पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है। गौरतलब है कि भगतपुर थाना क्षेत्र की इस्लाम नगर पुलिस चौकी इलाके में किशोरी से तथाकथित सामूहिक दुष्कर्म की झूठी घटना की आड़ मे पीड़िता के नजदीकी रिश्तेदार फूफा द्वारा राजनीतिक प्रतिद्वंदिता के चलते रिपोर्ट दर्ज करायी थी। निलंबित पुलिसकर्मियों को घटना की तह तक नहीं जाने और सही तथ्यों तक पहुंचने में विफल रहने से महकमे की किरकिरी का जिम्मेदार माना जा रहा है।

5 लाख की रिश्वत, मुख्य महाप्रबंधक को पकड़ा

5 लाख की रिश्वत, मुख्य महाप्रबंधक को पकड़ा

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को कथित रूप से पांच लाख रुपये की रिश्वत लेने के मामलें में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के मुख्य महाप्रबंधक को पकड़ा। अधिकारियों ने बताया कि पटना क्षेत्रीय कार्यालय में पदस्थ साद्रे आलम को एक निजी कंपनी के दो कर्मचारियों से रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया। उन्होंने बताया कि अधिकारी के ठिकानों पर तलाशी में 60 लाख रुपये नकद मिले।

अधिकारियों के अनुसार गिरफ्तारी संबंधी औपचारिकताएं चल रही है। आरोप है कि आलम नासिक की एक निजी कंपनी के बिलों का भुगतान कराने के एवज में रिश्वत मांग रहा था। सीबीआई ने एक बयान में कहा, ‘‘आठ विभिन्न जगहों पर तलाशी चल रही है। एनएचएआई के कथित सीजीएम के परिसरों से करीब 60 लाख रुपये नकद मिले। तलाशी जारी है।’

भारतीय नागरिकों व छात्रों के लिए एडवाइजरी जारी 

भारतीय नागरिकों व छात्रों के लिए एडवाइजरी जारी 

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/ओटावा। कनाडा में रह रहे भारतीय नागरिकों एवं छात्रों के लिए भारत सरकार ने एडवाइजरी जारी की है। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया है, ‘कनाडा में हेट क्राइम, सेक्टेरियन वायलेंस और भारत विरोधी गतिविधियों की घटनाओं में तेज वृद्धि हुई है। विदेश मंत्रालय और कनाडा में हमारे उच्चायोग वाणिज्य दूतावास ने इन घटनाओं को कनाडा के अधिकारियों के साथ उठाया है और उनसे उक्त अपराधों की जांच करने और उचित कार्रवाई करने का अनुरोध किया है, इन अपराधों के अपराधियों को कनाडा में अब तक न्याय के कठघरे में नहीं लाया गया है।’

गवर्नमेंट ऑफ इंडिया की एडवाइजरी में आगे कहा गया है, ‘ऊपर वर्णित अपराधों की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए, भारतीय नागरिकों और कनाडा में भारत के छात्रों, यात्रा/शिक्षा के लिए कनाडा जाने वाले भारतीयों को सलाह दी जाती है कि वे उचित सावधानी बरतें और सतर्क रहें। कनाडा में रहने वाले भारतीय नागरिक और छात्र ओटावा में भारतीय उच्चायोग या टोरंटो व वैंकूवर में भारत के महावाणिज्य दूतावास के साथ उनकी संबंधित वेबसाइटों या मदद पोर्टल madad.gov.in के माध्यम से पंजीकरण कर सकते हैं। पंजीकरण किसी भी आवश्यकता या आपात स्थिति में कनाडा में अपने नागरिकों के साथ बेहतर ढंग से जुड़ने के लिए भारतीय उच्चायोग और महावाणिज्य दूतावास को सक्षम करेगा।’

भारत के खिलाफ कनाडा में अलगाववादी गतिविधियों पर अब तक की अपनी तीखी टिप्पणियों में से एक में, विदेश कार्यालय ने कल कहा था कि उसे यह ‘बेहद आपत्तिजनक’ लगता है कि चरमपंथी तत्वों द्वारा राजनीति से प्रेरित अभ्यास को एक मित्र देश में होने की अनुमति है। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने गुरुवार को कनाडा में तथाकथित खालिस्तान जनमत संग्रह को ‘चरमपंथियों और कट्टरपंथी तत्वों द्वारा आयोजित एक हास्यास्पद अभ्यास’ के रूप में वर्णित करते हुए कहा, ‘आप सभी इस संबंध में हिंसा के इतिहास से अवगत हैं।’ MEA की प्रतिक्रिया साउथ ब्लॉक के 3 राजनयिक संदेशों के बाद आई, जिसमें 19 सितंबर को कनाडा के ब्रैम्पटन में तथाकथित ‘जनमत संग्रह’ को रोकने के लिए ओंटारियो द्वारा बहुत कम कार्रवाई देखी गई, जिसमें पूछा गया था कि क्या भारतीय पंजाब को एक अलग देश नहीं होना चाहिए ?

कनाडा ने कथित तौर पर कहा था कि उसके नागरिकों को इकट्ठा होने और शांतिपूर्वक और कानूनी रूप से अपने विचार व्यक्त करने का अधिकार है। कनाडा की सरकार ने यह भी कहा है कि वह भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करती है और वह तथाकथित जनमत संग्रह को मान्यता नहीं देगी। भारतीय विदेश मंत्रालय ने तथाकथित खालिस्तानी जनमत संग्रह को लेकर कनाडा की इस प्रतिक्रिया पर असंतुष्टी जाहिर की। एमईए प्रवक्ता अरिंदम बागची ने गुरुवार को कहा कि भारत सरकार इस मामले में कार्रवाई के लिए कनाडा सरकार पर दबाव बनाना जारी रखेगी।

गृहमंत्री शाह ने ‘जन भावना महासभा’ में हिस्सा लिया

गृहमंत्री शाह ने ‘जन भावना महासभा’ में हिस्सा लिया

अकांशु उपाध्याय/अविनाश श्रीवास्तव 

नई दिल्ली/पूर्णिया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में ‘जन भावना महासभा’ में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। अमित शाह ने कहा कि मैं यहां आया हूं तब लालू और नीतीश की जोड़ी को पेट में दर्द हो रहा है। वो कह रहे हैं कि बिहार में झगड़ा लगाने आए हैं, कुछ करके जाएंगे। झगड़ा लगाने के लिए मेरी जरूरत नहीं है लालू जी, आप झगड़ा लगाने के लिए पर्याप्त हो, आपने पूरा जीवन यही काम किया है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तीखा हमला करते हुए दावा किया कि जनता दल (यूनाइटेड) के प्रमुख ने 2024 में प्रधानमंत्री बनने का लक्ष्य रखते हुए “लालू प्रसाद यादव की गोद में बैठने” के लिए भाजपा को धोखा दिया। अमित शाह ने कहा कि ये जोड़ी एक्सपोज हो गई है और बिहार का विकास नहीं कर सकती। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम स्वार्थ और सत्ता की राजनीति की जगह सेवा और विकास की राजनीति के पक्षधर हैं। प्रधानमंत्री बनने के लिए नीतीश बाबू ने जिस एंटी कांग्रेस राजनीति से जन्म लिया था उसी के पीठ में छुरा घोंपकर राजद और कांग्रेस की गोदी में बैठने का काम किया।

जब लालू जी सरकार में जुड़ गए हैं और नीतीश जी लालू की गोद में बैठे हैं। अब यहां डर का माहौल बन गया है। मैं आपको कहने आया हूं कि ये सीमावर्ती ज़िले भारत का हिस्सा हैं। किसी को डरने की जरूरत नहीं है। यहां पर नरेंद्र मोदी सरकार है।

दिल्ली: कर्तव्य पथ के लिए पृथक थाना स्थापित किया

दिल्ली: कर्तव्य पथ के लिए पृथक थाना स्थापित किया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में हाल में ही उद्घाटित कर्तव्य पथ के लिए पृथक थाना स्थापित किया गया है। एक सरकारी अधिसूचना में यह जानकारी दी गयी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस माह के प्रांरभ में राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक के सड़क खंड ‘कर्तव्य पथ’ का उद्घाटन किया था। यह पहले राजपथ के नाम से जाना जाता था।

कर्तव्य पथ थाना ‘उन स्थानीय क्षेत्रों की चौकसी करेगा, जिन्हें निकटतम तीन थानों–तिलक मार्ग, साउथ एवेन्यू और संसद मार्ग के क्षेत्राधिकार से अलग करके इसमें शामिल किया गया है।’ सौंदर्यीकरण के बाद नये स्वरूप में सामने आया यह सड़क खंड नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना’ का हिस्सा है। इसके अंतर्गत एक नया त्रिकोणीय संसद भवन, एक आम केंद्रीय सचिवालय, एक नया प्रधानमंत्री निवास और कार्यालय और एक नए उपराष्ट्रपति एन्क्लेव की भी परिकल्पना की गई है।

निचली अदालत के फैसले को चुनौती, एचसी का रुख 

निचली अदालत के फैसले को चुनौती, एचसी का रुख 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के नेता एवं दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन ने उनके खिलाफ धनशोधन का मामला अन्य न्यायाधीश को स्थानांतरित करने संबंधी निचली अदालत के फैसले को चुनौती देते हुए शुक्रवार को दिल्ली उच्च न्यायालय का रुख किया। निचली अदालत के आदेश के कुछ घंटे बाद, मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा और न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद की पीठ के समक्ष तत्काल सुनवाई के लिए याचिका का उल्लेख किया गया, जिसने इसे सोमवार को सूचीबद्ध करने की अनुमति दी।

जैन की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता राहुल मेहरा ने कहा कि वह मामले को किसी अन्य न्यायाधीश को भेजे जाने को चुनौती दे रहे हैं क्योंकि यह अवैध है। मेहरा ने कहा, ‘‘(मामले का) स्थानांतरण अवैध है।’’ जब मुख्य न्यायाधीश ने यह जानना चाहा कि इसकी तत्काल सुनवाई की जरूरत क्यों है, इस पर वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा कि निचली अदालत ने इस पर शुक्रवार को सुनवाई की तारीख तय की है और मामले में हर दिन सुनवाई की जाएगी।

जैन ने जिला न्यायाधीश के आदेश को चुनौती दी है जिन्होंने दिन के दौरान जैन के खिलाफ धन शोधन मामले को दूसरे न्यायाधीश को स्थानांतरित करने के अनुरोध वाली प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की एक याचिका को मंजूरी दी है। विशेष न्यायाधीश गीतांजलि गोयल द्वारा सुनवाई के दौरान कुछ निश्चित विवादों का जिक्र किए जाने के बाद एजेंसी ने मामला किसी और न्यायाधीश को भेजने का अनुरोध किया था। प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश विनय कुमार गुप्ता ने कहा कि मामले में अब विशेष न्यायाधीश विकास ढुल सुनवाई करेंगे।

इससे पहले 19 सितंबर को प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने विशेष न्यायाधीश गोयल के समक्ष निचली अदालत की कार्यवाही पर रोक लगा दी थी और 30 सितंबर को मामले की सुनवाई तारीख तय की थी। अदालत ने मामला अन्य न्यायाधीश को स्थानांतरित करने संबंधी ईडी की याचिका पर जैन एवं सह-आरोपी को नोटिस जारी किया था। अदालत के आदेश को चुनौती देते हुए जैन ने उच्चतम न्यायालय का रुख किया था जिसने बुधवार को जिला न्यायाधीश को 22 सितंबर तक मामला स्थानांतरित करने संबंधी एजेंसी की याचिका पर तुरंत फैसला करने का निर्देश दिया था।

बृहस्पतिवार को अदालत ने दोनों पक्षों की लंबी बहस के बाद ईडी की याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रखा था। गौरतलब है कि ईडी ने भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनयम के तहत 2017 में ‘आप’ के नेता के खिलाफ दर्ज केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की एक प्राथमिकी के आधार पर जैन और अन्य दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। जैन पर उनसे संबद्ध चार कंपनियों के जरिए धन शोधन करने का आरोप है।

शामली: 27 सितंबर को महापंचायत करने की घोषणा

शामली: 27 सितंबर को महापंचायत करने की घोषणा

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। बुटराड़ा में दिल्ली देहरादून इकोनॉमिक कॉरिडोर हाईवे निर्माण में अधिग्रहित भूमि के एक प्रोजेक्ट एक रेट की मांग को लेकर चल रहा किसानों का धरना जारी रहा। धरना स्थल पर 27 सितंबर को महापंचायत करने की घोषणा की गई। शामली जिले के 22 गांवों के किसान बुटराड़ा करौदा हाथी स्टैंड के संघर्ष समिति के तत्वावधान में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं। धरना स्थल पर बृहस्पतिवार को नई किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष देशपाल मलिक करौदा हाथी ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि एक प्रोजेक्ट एक मुआवजा की मांग जब तक पूरी नहीं होगी, तब तक किसान बरसात, गर्मी व सर्दी की परवाह किए बिना धरना स्थल पर डटे रहेंगे।

समिति के अध्यक्ष देशपाल मलिक ने धरने पर मौजूद किसानों को संबोधित करते हुए कहा की 27 सितंबर को धरना स्थल पर ही भाकियू अराजनैतिक के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेंद्र मलिक लिसाढ़ तथा प्रवक्ता राष्ट्रीय प्रवक्ता धर्मेंद्र मलिक के नेतृत्व में महापंचायत का आयोजन किया जाएगा। महापंचायत में अन्य जिलों से भी बड़ी संख्या में किसान पहुंचेंगे। उन्होंने किसानों से गांव-गांव जाकर महापंचायत के प्रचार प्रसार करने का आह्वान किया। इस अवसर पर सुभाष, राजकुमार, रविंद्र, सुनील, ओमपाल, मैनपाल, बिलेंद्र, सुखबीर, लोकेंद्र आदि मौजूद रहे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-349, (वर्ष-05)

2. शनिवार, सितंबर 24, 2022

3. शक-1944, आश्विन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः 06:20, सूर्यास्त: 06:25। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 21 डी.सै., अधिकतम-33+ डी.सै., उत्तर भारत में भारी बरसात की संभावना है।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

 (सर्वाधिकार सुरक्षित)

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया महाप्रबन्धक श्री सतीश कुमार ने किया निरंजन पुल का निरीक्षण अधिकारियों के ...