सोमवार, 27 मई 2024

'आईसीएफ' ने 1010 पदों के लिए भर्ती खोली

'आईसीएफ' ने 1010 पदों के लिए भर्ती खोली 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। अगर आप भारतीय रेलवे में नौकरी पाना चाहते हैं तो आपके लिए एक सुनहरा अवसर है। दरअसल, इंडियन रेलवेज़ इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) ने 1010 अप्रेंटिस पदों के लिए भर्ती खोल दी है। इसके लिए ICF ने ऑनलाइन आवेदन मंगाए हैं। वहीं योग्य उम्मीदवार ICF चेन्नई के रिक्रूटमेंट पोर्टल pb.icf.gov.in पर जाकर इसके लिए अपना ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जानकारी के अनुसार इन पदों पर आवेदन करने की आखिरी तारीख 21 जून 2024 है।

जानें, इसकी पूरी डिटेल

दरअसल ICF ने दो कैटेगरी में ट्रेड अप्रेंटिस की भर्तियां निकाली हैं: फ्रेशर्स और एक्स आईटीआई। जिसमें फ्रेशर्स की बात करें तो इसमें 330 वैकेंसी हैं, जिनमें आवेदन करने के लिए उम्मीदवार को 10वीं में कम से कम 50 फीसदी अंकों के साथ पास होना जरूरी है। इसके अलावा, 12वीं में साइंस/मैथ्स विषय पढ़ा होना भी अनिवार्य है।
वहीं, आईटीआई कैटेगरी की बात की जाए तो इसमें कुल 680 वैकेंसी निकली गई हैं, जिनमें एलिजिबिलिटी देखि जाए तो कैंडिडेट्स को हाईस्कूल 50 फीसदी अंकों के साथ पास होना और संबंधित ट्रेड में आईटीआई सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है।

NTPC रिक्रूटमेंट 2024

आवेदन की प्रक्रिया
जानकारी दे दें कि इच्छुक और योग्य उम्मीदवार ICF के आधिकारिक पोर्टल pb.icf.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने की आखिरी तारीख 21 जून 2024 है, इसलिए समय रहते अपना आवेदन जरूर जमा करें। आवेदन प्रक्रिया में उम्मीदवारों को अपनी शैक्षिक योग्यताओं, अनुभव और अन्य आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।

स्टाइपेंड की जानकारी

वहीं, आपको बता दें कि ICF द्वारा चुने गए अप्रेंटिस को प्रशिक्षण के दौरान स्टाइपेंड दिया जाएगा। फ्रेशर्स- स्कूल पास आउट (10वीं क्लास) के लिए 6000 रुपये प्रति माह, फ्रेशर्स- स्कूल पास आउट (12वीं क्लास) के लिए 7000 रुपये प्रति माह, और एक्स आईटीआई- नेशनल या स्टेट सर्टिफिकेट होल्डर के लिए 7000 रुपये प्रति माह का स्टाइपेंड दिया जाएगा।

मारपीट केस, विभव की जमानत याचिका खारिज की

मारपीट केस, विभव की जमानत याचिका खारिज की

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। स्वाति मालीवाल के साथ कथित मारपीट के मामलें में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पीए विभव कुमार की जमानत याचिका खारिज कर दी गई है। उन्होंने तीस हजारी कोर्ट में याचिका दायर की थी, लेकिन एडिशनल सेशन जज सुशील अनुज त्यागी ने उन्हें राहत देने से इनकार कर दिया। विभव कुमार पर 13 मई को दिल्ली में मुख्यमंत्री आवास पर स्वाति मालीवाल पर हमला करने का आरोप है। दिल्ली पुलिस ने बाद में उन्हें गिरफ्तार किया था और कोर्ट के एक आदेश बाद उन्हें 24 मई को चार दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। वह 28 मई तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे।

स्वाति मालीवाल ने क्या कहा ? 

स्वाति मालीवाल ने कहा कि मुझे बुरी तरह मारा गया है, मैंने शिकायत की। पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बोला है कि मैं बीजेपी की एजेंट हूं। जिनके घर में मुझे मारा गया, वो आरोपी को लेकर कभी लखनऊ तो कभी कहीं और लेकर जा रहे हैं। इनके पास बहुत बड़ी मशीनरी है। ट्रोल्स की मशीनरी है। इन्होने पूरी मशीनरी मेरे पीछे झोंक दी है। मालीवाल ने कहा कि ये मामूली पीए नहीं है, इसे जो फैसिलिटीज मिलती है, वो मंत्रियों को भी नहीं मिलती। इनके पास ट्रोल्स की बड़ी मशीनरी है। पार्टी के सभी नेताओं को मेरा साथ नहीं देने की चेतावनी दी गई है। ताकि मैं अपनी शिकायत वापस ले सकूं। मैं और मेरा परिवार ट्रॉमा में जी रहे हैं। ये आदमी सामान्य नही है। अगर बाहर विभव आता है, तो मुझे और मेरे परिवार को जान का खतरा है।

कोर्ट में रो पड़ीं स्वाति मालीवाल

विभव के वकील अपने मुवक्किल के बचाव में कोर्ट के समक्ष दलील पेश कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कौरवों और द्रौपदी का भी जिक्र किया। इस बीच स्वाति मालीवाल कोर्ट के समक्ष ही रो पड़ीं।

कौशाम्बी: क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया

कौशाम्बी: क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया

हिनौता गांव में क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन

कौशाम्बी। मंझनपुर तहसील के हिनौता गांव में क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ मंझनपुर नगर पालिका अध्यक्ष ने किया। इस दौरान कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि क्रिकेट प्रतियोगिताओ से युवाओ का शारीरिक विकास होता है। ऐसी प्रतियोगिताओ के आयोजन में सभी लोगों को भाग लेना चाहिए, और युवाओ का उत्साह बढाने का काम करना चाहिए। जिससे जिले के साथ-साथ गैर जनपदों व प्रांतों में भी युवा कौशाम्बी का नाम रौशन कर सके। इस दौरान १५ ओवर का मैच आयोजित किया गया। जिसमें सोनू यादव ने अच्छा प्रदर्शन किया, और जम कर लोगों से वाह वाही लूटी, न्यू प्रेस क्लब अध्यक्ष द्वारा सोनू यादव को पांच सौं रूपया का पुरस्कार दिया गया, और नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन करने वालों को ५१ सौ रूपया की सहायता राशि दिया।
हिनौता गांव में हिनौती प्रिमियर लीग टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है। जिसका शुभारंभ रविवार को किया गया। इस दौरान कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में नगर पालिक मंझनपुर के अध्यक्ष वीरेन्द्र फौजी व विश्ष्टि अतिथि के रूप में न्यू प्रेस क्लब अध्यक्ष बिमलेश शुक्ल  रहे। इस दौरान मां सरस्वती की विधि विधान से पूजा अर्चना कर क्रिकेट प्रतियोगिता का फीता काट कर उद्घाटन किया गया। इस दौरान क्रिकेट खेलने वाले खिलाड़ियों से सभी अतिथियों ने परिचय करते हुए उनका उत्साह वर्धन किए। इस दौरान कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए नगर पालिका अध्यक्ष वीरेन्द्र फौजी ने कहा कि क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन करने वाली टीम ने यह सराहनीय कार्य किया है। उन्होने कहा कि क्रिकेट प्रतियोगिताओ से युवाओ का शारीरिक विकास होता है। नगर पालिका अध्यक्ष ने कहा कि आज ये युवा गांव की प्रतियोगिताओ में भाग ले रहे है, आगे यह युवा जिले व मण्डल के साथ-साथ गैर जनपदों व प्रांतों की क्रिकेट प्रतियोगिताओ में भी भाग लेगे। इस दौरान कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए न्यू प्रेस क्लब अध्यक्ष बिमलेश शुक्ल ने कहा कि क्रिकेट प्रतियोगिताओ के आयोजन से युवाओ का उत्साह वर्धन हो रहा है। क्रिकेट खेल एक ऐसा खेल है, जिसमें आगे बढने के लिए खिलाडियों को बहुत अधिक मेहनत नहीं करनी पडेगी। क्यों कि वह जिस प्रकार से गांव में आयोजित खेलों में मेहनत करते है, गैर जनपदों व प्रांतों में खेलने के लिए उनको तमाम सुविधाएं भी मिलेगी। इस लिए वह मेहनत करते जाय, और आगे बढते रहे। उन्होने कहा कि क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन करने वाली टीम की वह हर सम्भव मद्दत करेगे। इस १५ ओवर का क्रिकेट का आयोजन किया गया। जिसमें सोनू यादव ने छक्का चौवा की बौछार कर दिया। सोनू यादव का यह खेल देख कर लोगों ने जम कर सराहना किया। इस दौरान नगर पालिका अध्यक्ष वीरेन्द्र फौजी ने क्रिकेट का आयोजन करने वाले राजेश कुमार ग्राम को ५१ सौं रूपया की सहयता राशि दिए। इस मौके पर विजय तिवारी, अंशुल केसरवानी सभासद निरंजन चौधरी आर्यवीर सभासद् सुनील कुमार उर्फ गुड्डू अतुल त्रिपाठी पंकज यादव राहुल सोनकर गोकुल प्रसाद ज्ञानेन्द्र तिवारी आदि मौजूद रहे।
अनिल कुमार

आज चुनावी सभा को संबोधित करेंगे 'सीएम' योगी

आज चुनावी सभा को संबोधित करेंगे 'सीएम' योगी 

बृजेश केसरवानी 
मिर्जापुर। मिर्जापुर संसदीय सीट से अपना दल-भाजपा गठबंधन प्रत्याशी अनुप्रिया पटेल के समर्थन में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 28 मई को महाशक्ति इंटर कॉलेज बिहसड़ा, छानबे ब्लाक में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे।
मुख्यमंत्री योगी का हेलीकॉप्टर दोपहर 12.50 बजे जनसभा स्थल के पास बने हेलीपैड पर उतरेगा। उसके बाद वह दोपहर 12.55 बजे कार से जनसभा स्थल पहुंचेंगे। यहां वह एक से दोपहर डेढ़ बजे तक जनसभा को संबोधित करेंगे। उसके बाद वह पार्टी पदाधिकारियों से मुलाकात करेंगे। वाराणसी के लिए यहां से दोपहर 2.10 बजे रवाना हो जाएंगे।
मुख्यमंत्री की जनसभा के मद्देनजर जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने सोमवार दोपहर एक बजे कालेज के खोल मैदान में प्रस्तावित सभा स्थत का निरीक्षण किया। इस दौरान पुलिस व प्रशासनिक महकमे के अधिकारियों को सभी आवश्यक दिशा निर्देश दिए। सभास्थल के पास ही हेलीपैड का निर्माण कार्य कराया जा रहा है।
पीडब्ल्यूडी के अधिशाषी अभियंता सुनील दत्त ने बताया कि शाम तक हेलीपैड निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। उधर, वन विभाग की टीम आसपास के पेड़ों पर मधुमक्खियों के छत्तों की खोजबीन में जुटी हुई है। वन दरोगा अनुपम पांडेय ने बताया कि हेलीकाप्टर उतरने के दौरान हवा के झोंकों से उड़कर कहीं मधुमक्खियाँ भीड़ पर हमला न कर दें। इसी आशंका को देखते हुए आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं। समय रहते छत्तों को हटा दिया जाएगा। भाजपा व अपना दल के कार्यकर्ता मंच व टेंट पंडाल लगवाने में जुटे हुए हैं।

'इंडिया ब्लॉक' बैठक में शामिल नहीं होगी ममता

'इंडिया ब्लॉक' बैठक में शामिल नहीं होगी ममता 

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी 1 जून को होने वाली इंडिया ब्लॉक बैठक में शामिल नहीं होगी। चक्रवात प्रभावित क्षेत्र में राहत कार्यों के कारण और लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान के कारण ममता इस बैठक में हिस्सा नहीं ले पाएंगी। इस पर उन्होंने कहा, “मैं बैठक में भाग लेने के लिए भले ही वहां नहीं रहूंगी लेकिन मेरा दिल वहां रहेगा।” इसी दिन टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी लोकसभा चुनाव में मतदान करेंगे। कोलकाता दक्षिण और कोलकाता उत्तर सहित नौ सीटों पर मतदान होगा। जो टीएमसी के लिए महत्वपूर्ण है। राज्य में 1 जून को मतदान वाले अन्य लोकसभा क्षेत्रों में भी जादवपुर, दमदम, बारासात, बशीरहाट, जयनगर, मथुरापुर और डायमंड हार्बर भी शामिल हैं। सूत्रों की मानें तो पार्टी ने अब तक विपक्षी ब्लॉक की सभी बैठकों में भाग लिया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रोड शो किया। पश्चिम बंगाल में सत्ता में काबिज पार्टी का अपने गृह राज्य में कांग्रेस या किसी अन्य इंडिया ब्लॉक पार्टी के साथ सीटों के बंटवारे पर कोई समझौता नहीं है, वहीं उत्तर प्रदेश के भदोही में टीएमसी उम्मीदवार ललितेशपति त्रिपाठी को सहयोगी समाजवादी पार्टी ने समर्थन दिया है। बता दें, इंडी ब्लॉक बनाने के लिए 28 विपक्षी दल एक साथ आए हैं। हालांकि, नीतीश कुमार की जनता दल (यूनाइटेड) और राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी) जैसी कुछ पार्टियां बाद में एनडीए में शामिल हो गईं। टीएमसी इंडी गठबंधन की सभी बैठकों और रैलियों का हिस्सा रही है। 31 मार्च को दिल्ली में हुई रैली में टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने घोषणा की थी कि वे इंडिया ब्लॉक का हिस्सा बने रहेंगे। इंडी गठबंधन ब्लॉक की पहली बैठक पिछले साल 23 जून को पटना में हुई थी। इसके बाद 17-18 जुलाई, 2023 को बेंगलुरु में और फिर 31 अगस्त से 1 सितंबर के बीच मुंबई में बैठक हुई। यहीं पर सभी विपक्षी दलों ने एकजुट होकर लोकसभा चुनाव लड़ने का संकल्प लिया।

सीएम धामी ने विभिन्न व्यवस्थाओं की समीक्षा की

सीएम धामी ने विभिन्न व्यवस्थाओं की समीक्षा की

पंकज कपूर 
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को सचिवालय में चारधाम यात्रा, मानसखण्ड मदिंर माला मिशन, कैंचीधाम और पूर्णागिरी में विभिन्न व्यवस्थाओं की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि चारधाम यात्रा में हर साल श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि चारों धामों की धारण क्षमता के अलावा यात्रा मार्ग के अन्य स्थलों पर भी श्रद्धालुओं और वाहनों की धारण क्षमता का आंकलन करना जरूरी है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि चारधाम यात्रा मार्गों और राज्य के तीर्थाटन और पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थलों पर पार्किंग और मूलभूत आवश्यकताओं से संबंधित प्रस्ताव आवास विभाग को भेजे जाएं। चारधाम यात्रा के चरम सीमा वाली अवधि में हर साल के लिए विशेष प्लान बनाया जाएं। उन्होंने कहा कि ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल सेवा शुरू होने से पहले रेल मार्गों पर और कर्णप्रयाग एवं उसके आस-पास के क्षेत्रों में पार्किंग एवं अन्य मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए पूरी कार्ययोजना के साथ कार्य किए जाएं।
चारधाम यात्रा सुचारू रूप से चलने पर मुख्यमंत्री ने संतोष व्यक्त किया। उन्होंने शासन और प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिये कि इसी मनोयोग के साथ चारधाम यात्रा को आगे भी सुव्यवस्थित रखना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 31 मई तक ऑफलाईन रजिस्ट्रेशन बंद रखे जाए। उन्होंने कहा कि यात्रा के अनुरूप ऑफलाईन रजिस्ट्रेशन पर आगे निर्णय लिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने गढ़वाल और कुमांऊ कमिश्नर को निर्देश दिए कि चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिगत रूट डायवर्ट प्लान पर भी कार्य किया जाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कैंची धाम और पूर्णागिरी में भी श्रद्धालुओं की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि कैंची धाम में मूलभूत सुविधाओं के साथ पर्याप्त पार्किंग व्यवस्था रखी जाएं। कैंची धाम जाने वाले मार्गों में भी पर्याप्त पार्किंग की व्यवस्था की जाएं। कैंची धाम के लिए शटल बस सेवा शुरू की जाय। कैंचीधाम के लिए बाईपास भी प्रस्तावित है। पूर्णागिरी में श्रद्धालुओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि मानसखण्ड मंदिर माला मिशन के तहत कार्यों में तेजी लाई जाय। श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिगत इन्फ्रास्ट्रक्चर और कनेक्टिविटी के साथ ही मूलभूत सुविधाओं पर तेजी से कार्य किये जाएं। उन्होंने कहा कि गढ़वाल और कुमांऊ की कनेक्टिविटी को और मजबूत करने और पर्यटन तथा तीर्थाटन की दृष्टि से दोनों मण्डलों को श्रद्धालुओं से जोड़ने लिए रानीखेत और चौखुटिया क्षेत्र में होम स्टे और अन्य सुविधाओं को विस्तार देने पर कार्य किया जाए।
चारधाम यात्रा को सुगम और बेहतर बनाने के लिए ‘यात्रा समाधान’ मोबाइल एप्लीकेशन का प्रस्तुतीकरण भी किया गया। इस मोबाइल एप्लीकेशन का मुख्य उद्देश्य श्रद्धालुओं को सभी सुविधाएं एक ही प्लेटफार्म पर देना है। इस एप्लीकेशन के माध्यम से चारों धामों के निकटवर्ती पुलिस स्टेशन, हॉस्पिटल, पार्किंग और अन्य सुविधाएं मिलेंगी। इस मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से यात्रा से जुड़े सभी पक्षकार बीकेटीसी, मंदिर प्रशासन, होटल, टूर ऑपरेटर्स, ट्रांसपोर्टस आपस में जुड़ सकेंगे। मुख्यमंत्री ने आईटीडीए और पर्यटन विभाग को निर्देश दिये कि इस मोबाइल एप्लीकेशन को और बेहतर बनाने के लिए कार्य किए जाए।
बैठक में मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव आर.के सुधांशु, डीजीपी अभिनव कुमार, सचिव आर. मीनाक्षी सुंदरम, शैलेश बगोली, अरविन्द सिंह ह्यांकी, सचिन कुर्वे, दिलीप जावलकर, सचिव एवं गढ़वाल कमिश्नर विनय शंकर पाण्डेय, सचिव एस.एन. पाण्डेय, डॉ. आर. राजेश कुमार, विशेष सचिव डॉ. पराग मधुकर धकाते, एडीजी ए.पी. अंशुमन, अपर सचिव रणवीर सिंह चौहान, नितिन भदौरिया, उपाध्यक्ष एमडीडीए बंशीधर तिवारी, जिलाधिकारी देहरादून श्रीमती सोनिका, एसएसपी अजय सिंह वर्चुअल माध्यम से अपर मुख्य सचिव आनंद बर्द्धन, कुमांऊ कमिश्नर दीपक रावत, जिलाधिकारी हरिद्वार धीराज गर्ब्याल, जिलाधिकारी नैनीताल वंदना उपस्थित थे।

दो-तीन साल में समाप्त हो जाएगा 'नक्सलवाद'

दो-तीन साल में समाप्त हो जाएगा 'नक्सलवाद' 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि देश में नक्सलवाद की समस्या अगले दो-तीन साल में समाप्त हो जाएगी। उन्होंने दावा किया कि छत्तीसगढ़ के एक छोटे से क्षेत्र को छोड़कर समूचा देश इस खतरे से मुक्त हो चुका है। शाह ने एक साक्षात्कार में यह भी कहा कि पशुपतिनाथ से तिरुपति तक तथाकथित नक्सल गलियारे में माओवादियों की कोई मौजूदगी नहीं है।
उन्होंने कहा, ‘‘देश से नक्सलवाद समाप्त हो रहा है। कभी पशुपतिनाथ से तिरुपति तक के नक्सल कॉरिडोर के बारे में कुछ लोग कहा करते थे। अब झारखंड नक्सलियों से पूरी तरह मुक्त हो गया है। बिहार पूरा मुक्त हो गया। ओडिशा, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश भी पूरे मुक्त हो गए हैं। महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश भी पूरे मुक्त हो गए हैं।’’

सत्ता संभालते ही छग को नक्सलमुक्त करने का काम तेज 

शाह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में यह पूरा मुक्त नहीं हो पाया है और वहां के कुछ हिस्सों में अब भी नक्सली सक्रिय हैं क्योंकि पिछले पांच साल से राज्य में कांग्रेस की सरकार थी। उन्होंने कहा कि पांच महीने पहले जब से राज्य में भाजपा सरकार ने सत्ता संभाली है, तब से छत्तीसगढ़ को नक्सलियों से मुक्त कराने का काम शुरू हो गया है।

छग में मारे गए सवा सौ नक्सली 

उन्होंने कहा, ‘‘जब से हमारी सरकार (छत्तीसगढ़ में) बनी है, तब से करीब 125 नक्सली मारे गए, 352 से अधिक को गिरफ्तार किया गया और करीब 175 ने आत्मसमर्पण किया। अगर आप आज के आंकड़े को भी गिन लें तो करीब पौने दो सौ ने आत्मसर्मपण किया है। यहां मैं सिर्फ पिछले पांच महीनों के आंकड़ों की बात कर रहा हूं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगले 2 साल के अंदर या 3 साल के अंदर देश नक्सल समस्या से मुक्त हो जाएगा।’’
छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में 16 अप्रैल को सुरक्षाकर्मियों ने 29 नक्सलियों को मार गिराया था। इसमें नक्सलियों के कुछ वरिष्ठ कैडर भी शामिल थे। वामपंथी उग्रवाद के खिलाफ राज्य की लड़ाई के इतिहास में एक ही मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की यह सबसे अधिक संख्या थी।

सुरक्षा बल में मौतों की संख्या घटी

केंद्रीय गृह मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, वामपंथी चरमपंथ की घटनाएं 2004-14 के दशक में 14,862 से घटकर 2014-23 में 7,128 हो गई हैं। वामपंथी उग्रवाद के कारण सुरक्षा बलों की मौतों की संख्या 2004-14 में 1750 से 72 प्रतिशत घटकर 2014-23 के दौरान 485 हो गई है और उक्त अवधि में नागरिकों की मौत की संख्या 4285 से 68 प्रतिशत घटकर 1383 हो गई है।
साल 2010 में हिंसा वाले जिलों की संख्या 96 थी, जो 2022 में 53 प्रतिशत घटकर 45 हो गई। इसके साथ ही, हिंसा की रिपोर्ट करने वाले पुलिस स्टेशनों की संख्या 2010 में 465 से घटकर 2022 में 176 हो गई।

नक्सल प्रभावित इलाकों में सुविधाएं हुईं शुरू 

पिछले पांच वर्षों में 90 जिलों में 5,000 से अधिक डाकघर स्थापित किए गए हैं, जहां माओवादियों की उपस्थिति है या जहां अतीत में चरमपंथियों की उपस्थिति थी।अधिकारियों ने बताया कि सर्वाधिक प्रभावित 30 जिलों में 1,298 बैंक शाखाएं खोली गईं और 1,348 एटीएम चालू किए गए हैं।
नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में 2,690 करोड़ रुपये की लागत से कुल 4,885 मोबाइल टावरों का निर्माण किया गया और 10,718 करोड़ रुपये की लागत से 9,356 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया।
नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में 121 एकलव्य आवासीय विद्यालय, 43 आईटीआई और 38 कौशल विकास केंद्र स्थापित कर स्थानीय युवाओं को रोजगार दिया जा रहा है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-220, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. मंगलवार, मई 28, 2024

3. शक-1945, ज्येष्ठ, कृष्ण-पक्ष, तिथि-पंचमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 39 डी.सै., अधिकतम- 17+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

15 मिनट में बनाएं 'चॉकलेट' पेड़ा, जानिए रेसिपी

15 मिनट में बनाएं 'चॉकलेट' पेड़ा, जानिए रेसिपी 

सरस्वती उपाध्याय 
चॉकलेट का नाम सुनते ही बच्चों के मुंह में पानी आने लगता है। भले ही आज बाजार में कितनी ही मीठे चीजे उपलब्ध हो, लेकिन चॉकलेट की बात ही कुछ और है। इसे खिलाकर किसी भी रूठे हुए बच्चे को मनाया जा सकता है। अब सोचिए, जब चॉकलेट में इतना असर है तो चॉकलेट पेड़ा कितना कमाल कर देगा। यह मिठाई बच्चों के साथ बड़ों का दिल जीत लेगी। इसे खाकर सबको मजा आ जाएगा। किसी खास अवसर पर इस स्पेशल स्वीट डिश का मजा मेजबान और मेहमान दोनों ले सकते, तो चलिए जानते हैं सिर्फ 15 मिनट में बनने वाली चॉकलेट मिठाई की रेसीपी।

सामग्री...

खोया- 1 कप कद्दूकस किया हुआ
चीनी-1/4 कप
कोको पाउडर-2 टेबल स्पून
सजावट के लिए कटा हुआ पिस्ता और बादाम

विधि...

1- सबसे पहले एक कड़ाही या पैन को गरम होने के लिए गैस पर चढ़ा दें।हल्का गरम होने पर इसमें खोया और चीन डाल दें। गैस की आंच को मध्यम पर रखें।
2-खोया और चीन गरम होने पर पिघलने लगेगा।इसे 6 से 7 मिनट तक लगातार चलाते रहें, ताकी यह नीचे न लगे।जब यह गाढ़ा होने लगे तो इसमें कोको पाउडर डालें। पाउडर कहीं कम या ज्यादा न हो जाए, इसलिए इसे अच्छे से मिक्स करें।
3-अब गैस को भी अब बंद कर दें। इस मिश्रण को किसी प्लेट में निकाल लें और ठंडा होने दें। जब यह ठंडा हो जाए, तो इसे बराबर हिस्सों में बांट लें और मनचाहे आकार में पेड़े बना लें। सारे पेड़े बन जाएं तो इसे बादाम और पिस्ता की कतरन से सजाएं। तैयार है चॉकलेट पेड़ा।

'ग्रैंड प्रिक्स' अवॉर्ड जीतने की उपलब्धि पर गर्व

'ग्रैंड प्रिक्स' अवॉर्ड जीतने की उपलब्धि पर गर्व

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। डायरेक्टर पायल कपाड़िया इन दिनों सातवे आसमान पर है। इस खुशी का कारण हैं उनकी फिल्म ‘ऑल वी इमेजिन एज लाइट’ को कान्स फिल्म फेस्टिवल 2024 में अवॉर्ड से नवाजा गया है। ऑल वी इमेजिन एज ने कान्स का इस फिल्म फेस्टिवल का दूसरा सबसे बड़ा अवॉर्ड अपने नाम किया है। ऐसे में सोशल मीडिया पर उन्हें ढेरों बधाइयां मिल रही हैं। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी डायरेक्टर और उनकी पूरी टीम का बधाई दी हैं।

पीएम मोदी ने दी बधाई

पायल कपाड़िया ने कान्स में अपना परचम लहराया और इस फिल्म फेस्टिवल का दूसरा सबसे बड़ा अवॉर्ड अपने नाम किया। ऐसे में रविवार 26 मई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने एक्स अकाउंट पर पूरी टीम का बधाई देते हुए लिखा, ”भारत को पायल कपाड़िया पर उनके काम ‘ऑल वी इमेजिन एज लाइट’ के लिए 77वें कान्स फिल्म फेस्टिवल में ग्रैंड प्रिक्स जीतने की ऐतिहासिक उपलब्धि पर गर्व है। 
एफटीआईआई की पूर्व छात्रा, उनकी उल्लेखनीय प्रतिभा वैश्विक मंच पर चमकती रहती है, जो भारत में समृद्ध रचनात्मकता की झलक देती है। यह प्रतिष्ठित सम्मान न केवल उनके असाधारण कौशल का सम्मान करता है। बल्कि भारतीय फिल्म निर्माताओं की नई पीढ़ी को भी प्रेरित करता है।

8 मिनट तक मिला था स्टैंडिंग अवेशन

बता दें, कान्स फिल्म फेस्टिवल में ‘ऑल वी इमेजिन एज लाइट’ इसका प्रीमियर 23 मई को हुआ था, जिसे देखकर लोगों ने इसे स्टैंडिंग ओवेशन मिला। मूवी खत्म होने के बाद 8 मिनट तक लोगों ने खड़े होकर इसके लिए तालियां बजाई थी। ये नजारा देख स्टार कास्ट बेहद इमोशनल होती दिखाई दी थी।

क्या है फिल्म की कहानी ?

‘ऑल वी इमेजिन ऐज लाइट’ की कहानी एक नर्स प्रभा के इर्द-गिर्द घूमती है, जिसे लंबे समय के बाद उसके पति से तोहफा मिलता है। इसमें प्रभा के अपने पति के साथ संबंध काफी समय से खराब हैं। वहीं, उसकी रूममेट अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ वक्त गुजारने के लिए प्राइवेट रूम देखती हैं। फिर एक दिन दोनों रोड ट्रिप पर जाती हैं, जहां उनकी लाइफ में नया मोड़ आता है।

फिल्म की स्टार कास्ट

पायल कपाड़िया फिल्म में कनी कुश्रुति, ऋधु हरूण, दिव्या प्रभा, छाया कदम और अजीस जैसे स्टार्स ने काम किया है।

3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया

3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया

पंकज कपूर 
देहरादून। मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी करते हुए 3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी किया है। मौसम विभाग ने उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, चंपावत, टिहरी एवं पौड़ी जनपदों में कहीं-कहीं गरजन के साथ आकाशीय बिजली गिरने और वर्षा के तीव्र दौर और जोरदार हवाएं चलने की संभावना जताई है। 
मौसम विभाग का कहना है कि कहीं-कहीं बिजली गिरने से जान माल की हानि हो सकती है तथा झौकेदार हवाएं से पेड़ों के जड़ से उखाड़ने की भी संभावना है। इस दौरान मौसम विभाग ने लोगों को सचेत रहने की भी चेतावनी दी है। इसके अलावा मौसम विभाग में कहीं-कहीं बहुत हल्की से हल्की वर्षा होने की भी संभावना जताई है।

कोलकाता ने हैदराबाद को 8 विकेट से हराया

कोलकाता ने हैदराबाद को 8 विकेट से हराया 

इकबाल अंसारी 
चेन्नई। केकेआर टीम की कमान श्रेयस अय्यर के हाथों में थी। जिसकी वजह से कोलकाता ने रविवार को हैदराबाद को हराकर आईपीएल 2024 की ट्रॉफी जीत ली। 
जबकि, पैट कमिंस हैदराबाद टीम की कप्तानी संभाल रहे हैं। दोनों ही टीमों के बीच पिछली टक्कर क्वालिफायर-1 में हुई थी। यह मैच कोलकाता ने 8 विकेट से 38 गेंद बाकी रहते ही जीत लिया था। बता दें कि KKR ने इससे पहले 2012 और 2014 IPL सीजन के फाइनल में एंट्री की थी और दोनों ही बार गौतम गंभीर की कप्तानी में खिताब जीता था। इसके बाद 2021 सीजन में ओएन मोर्गन की कप्तानी में फाइनल में पहुंचे थे, तब चेन्नई सुपर किंग्स के हाथों हार मिली थी। अब चौथी बार फाइनल में एंट्री की है। यदि केकेआर जीतती है, तो यह उसका तीसरा खिताब होगा। दूसरी ओर सनराइजर्स हैदराबाद है, जिसने अब तक एक ही बार खिताब जीता है। उसने डेविड वॉर्नर की कप्तानी में 2016 सीजन जीता था, तब फाइनल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को हराया था। 2009 में भी हैदराबाद टीम ने खिताब जीता था, लेकिन तब उसका नाम डेक्कन चार्जर्स था और फ्रेंचाइजी के मालिक (गायत्री रेड्डी) भी अलग ही थे। हैदराबाद के खिलाफ कोलकाता टीम का पलड़ा हमेशा ही भारी रहा है। दोनों टीमों के बीच अब तक 27 मुकाबले खेले गए, जिसमें से केकेआर ने 18 मैच अपने नाम किए। जबकि 9 में हैदराबाद को जीत मिली है। पिछले 5 मुकाबलों (यह मैच छोड़कर) में भी केकेआर का दबदबा दिखा है। उसने 3 मैच जीते और 2 हारे हैं। 

मैच में ये है कोलकाता-हैदराबाद की प्लेइंग-11 कोलकाता नाइट राइडर्स: रहमनुल्लाह गुरबाज (विकेटकीपर), सुनील नरेन, वेंकटेश अय्यर, श्रेयस अय्यर (कप्तान), रिंकू सिंह, आंद्रे रसेल, रमनदीप सिंह, मिचेल स्टार्क, वैभव अरोड़ा, हर्षित राणा और वरुण चक्रवर्ती।

इम्पैक्ट सब: अनुकूल रॉय, मनीष पांडे, नीतीश राणा, केएस भरत, शेरफेन रदरफोर्ड. सनराइजर्स हैदराबाद: ट्रेविस हेड, अभिषेक शर्मा, राहुल त्रिपाठी, नीतीश रेड्डी, एडेन मार्करम, हेनरिक क्लासेन (विकेटकीपर), शाहबाज अहमद, पैट कमिंस (कप्तान), भुवनेश्वर कुमार, जयदेव उनादकट और टी. नटराजन. इम्पैक्ट सब: उमरान मलिक, ग्लेन फिलिप्स, मयंक मार्कंडे, अब्दुल समद, वॉशिंगटन सुंदर।

मतदान का प्रतिशत कम होने पर चिंता जताई

मतदान का प्रतिशत कम होने पर चिंता जताई

इकबाल अंसारी 
गाजियाबाद। सुरक्षा समाज पार्टी (एसएसपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष विपिन श्रीवास्तव ने मतदान का प्रतिशत कम होने पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक पार्टी हो या कोई सियासी दल, हम सभी मतदाताओं को पूरी तरह से बूथ तक ले जाने में सफल नहीं रहे। खासकर हिन्दी भाषी राज्यों में तो मतदाता वोटिंग को लेकर जैसे नीरस हो गए हैं। इसका क्या कारण है, इस पर सुरक्षा समाज पार्टी चुनाव बाद पूरी तरह से मंथन करेगी। साथ ही पार्टी के संगठनात्मक ढांचे में फेरबदल किया जाएगा।
राष्ट्रीय अध्यक्ष विपिन श्रीवास्तव एक दिन के दौरे पर मीरजापुर से गाजियाबाद पहुंचे थे। प्रताप विहार विजयनगर में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) विजय कुमार श्रीवास्तव, राष्ट्रीय महासचिव जितेन्द्र बच्चन और गौतमबुद्ध नगर के जिलाध्यक्ष अशोक कुमार श्रीवास्तव ने उनका स्वागत किया। पदाधिकारियों के साथ एक बैठक कर विपिन श्रीवास्तव ने कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद पार्टी के संगठन का पुनर्गठन किया जाएगा। साथ ही एसएसपी का एक राष्ट्रीय नेता चुना जाएगा, जिसके मार्गदर्शन में पार्टी अपने आगे के सभी कार्यक्रम तय करेगी।
सुरक्षा समाज पार्टी ने आज की बैठक में रितेश श्रीवास्तव को बस्ती का जिलाध्यक्ष मनोनीत किया है। राष्ट्रीय अध्यक्ष विपिन श्रीवास्तव ने रितेश श्रीवास्तव को यह बड़ी जिम्मेदारी देते हुए उम्मीद जताई है कि वह पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को और मजबूत करेंगे। बैठक को राष्ट्रीय महासचिव जितेन्द्र बच्चन और विजय श्रीवास्तव ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर सुनील श्रीवास्तव, विजय प्रकाश श्रीवास्तव, श्रीमती किरन श्रीवास्तव, रितेश श्रीवास्तव, लकी श्रीवास्तव, मनोज श्रीवास्तव, विनय श्रीवास्तव एडवोकेट, मनोज श्रीवास्तव, चन्दन श्रीवास्तव, दीपिका श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

'अट्टहास कवि' सम्मेलन का आयोजन किया

'अट्टहास कवि' सम्मेलन का आयोजन किया

इकबाल अंसारी 
गाजियाबाद। कवि नगर रामलीला मैदान में कवि नगर रेजिडेंट फेडरेशन द्वारा गत वर्षो की बात इस वर्ष भी अट्टहास कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में पी एन अरोड़ा सी एम डी यशोदा हॉस्पिटल,दीप प्रज्वलन के पी गुप्ता अध्यक्ष के पी जी ग्रुप,राम अवतार जिंदल वरिष्ठ समाज सेवी रहे। जिनका स्वागत फ़ेडरेशन के अध्यक्ष दिनेश गोयल एम एल सी,वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजय जैन,महामंत्री लाल चन्द शर्मा,संरक्षक ललित जायसवाल आदि ने किया।
आमंत्रित कवियों व अतिथियों का स्वागत फ़ेडरेशन के पदाधिकारियों,सदस्यों के साथ साथ स्वागत अध्यक्ष रामअवतार जिंदल,के पी गुप्ता आदि ने किया। जिनमें डॉ॰हरिओम पंवार,डॉ॰विष्णु सक्सेना, विनीत चौहान,अनिल अग्रवंशी डॉ॰अर्जुन सिसोदिया,सुदीप भोला,चिराग जैन,श्रीमती अंजू जैन,डॉक्टर राजीव राज,गोविंद राठी,सुनहरी लाल तुरंत,पीके आजाद,सुमनेश सुमन,मोहित शौर्य, डॉ. प्रवीण शुक्ला के साथ साथ पूर्व विधायक के के शर्मा,कृष्ण वीर सिंह सिरोही,बाल किशन गुप्ता,पूर्व मंत्री राम किशोर अग्रवाल,कॉंग्रेस नेता बिजेन्द्र यादव समेत दर्जनों अतिथियों का स्वागत किया गया। अट्टहास कवि सम्मेलन के पूरी रात चलकर सुबह 5.30 पर समाप्त हुआ।श्रोताओं के बैठने के लिए कुर्सियों की व्यवस्था की गई। वहीं, पीछे वालों के लिए दो एलईडी लगवाई गई है। जिससे पीछे वाले पीछे से ही देख करके कवि सम्मेलन का आनंद ले सकें।
इस अवसर पर चारों तरफ फॉगिंग व पानी का छिड़काव समुचित मात्रा में करवाया गया। जिससे किसी दर्शक को कोई परेशानी नहीं हुई। दर्शकों ने भारी संख्या में पहुंच करके लगभग 42 वर्षों से हो रहे इस कवि सम्मेलन का भरपूर आनंद लिया।
इस अवसर पर कवियों ने अपने गीतों,वीर रस,श्रंगार रस,हास्य व व्यंग्य से समा बांध दिया और श्रोताओं की तालियॉ वाहवाही लूटी। ऑख खोली तो तुम रुक्मणी सी दिखीं।

बंद की आंख तो राधिका तुम लगीं, 
जब भी देखा तुम्हें शांत एकांत में मीराबाई सी इक साधिका तुम लगीं।

डॉ. विष्णु सक्सेना
चेहरे पे हंसी व दिल में खुशी होती है, 
सही मायने में यही जिंदगी होती है।
हंसना किसी इबादत से कम नहीं, 
किसी ओर को हंसा दो तो बंदगी होती है।

अनिल अग्रवंशी
तू ही मेरी एफ बी है, 
तू ही मेरी इंस्टा है।
साइट भी तू ही मेरी और मेरा नेट तू।

डॉ प्रवीण शुक्ल
अजब है माईने, 
इस दौर की गूंगी तरक्की के।
हंसी बेजान-सी लब पर बदन टूटे थकानों में। 

अंजू जैन 
युद्ध नहीं जिनके जीवन में, 
वे भी बड़े अभागे होंगें।
या तो प्रण को तोड़ा होगा या फिर रण से भागे होंगें।।

डॉ. अर्जुन सिसौदिया
बन गया मंदिर परमानेंट, 
बन गया मंदिर परमानैंट।
वहीं बना है जहां, 
लगा था राम लला का टेंट।
कारसेवकों ने दिखलाया था। जहां अपना टैलेंट सुदीप भोला,आदि ने पढ़ा।
इस अवसर पर अध्यक्ष दिनेश गोयल,महामंत्री लालचंद शर्मा,वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजय जैन एवं संरक्षक ललित जायसवाल,जय दीप गुप्ता,डी पी कौशिक,पम्मी जी,हिमांशु मित्तल,डी के जैन,अजय गुप्ता आदि का विशेष सहयोग रहा।

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। इस समय देश में सभी देशवासियों का गर्मी से हाल बेहाल है और अभी...