मंगलवार, 9 जून 2020

अनलॉक में संक्रमण 'संपादकीय'

अनलॉक में संक्रमण    'संपादकीय'

देश में कोरोना वायरस कोविड-19 का संक्रमण बहुत अधिक तेजी से बढ़ रहा है। विश्व में हमारा देश पांचवे नंबर पर पहुंच गया है। देश में 2, 65000 से अधिक संक्रमित है और संक्रमण की गति तेजी से बढ़ रही है। ऐसी स्थिति में देश में अनलॉक प्रक्रिया स्थापित कर दी है। जिन जनपदों और शहरों में वायरस का संक्रमण शिथिल हो गया है। वहां अनलॉक को लागू करना पूरी तरह ठीक है। लेकिन कई जनपद ऐसे हैं जिनमें संक्रमण रुक नहीं रहा है। जिसमें अकेले गाजियाबाद जनपद में 502 से अधिक संक्रमित हैं। जिनका चिकित्सा विभाग के द्वारा उपचार और रख-रखाव किया जा रहा है। ऐसी स्थिति में जनपद वासियों को चिंता मुक्त नहीं रहना चाहिए। साधारण लापरवाही जीवन को संकट में डाल सकती हैं। संक्रमण से संबंधित महामारी ने कुछ समय के लिए सब कुछ स्थिर कर दिया था। परिणाम स्वरूप संक्रमण पर एक हद तक नियंत्रण पा लिया गया है। परंतु थोड़ी-सी जो छूट मिली है। इसमें कड़े नियम और निर्देशों का समावेश बेहद जरूरी है। भ्रम और अनर्गल बातें-विचारों का त्याग कर देना चाहिए। एक संक्रमित व्यक्ति से उत्पन्न होने वाली विकराल समस्या का आकलन करना कठिन है। एक ही दिन में जनपद में 10 से अधिक संक्रमित का मिलना जनसाधारण को सचेत रहने का संकेत है। सघन आबादी वाले क्षेत्रों में संक्रमण अपने पैर जमा चुका है। हो सकता है कुछ लोगों के सामने विपरीत स्थितियां बनी हुई है। लेकिन जिस प्रकार से परिस्थितियों के विपरीत जीने का प्रयास किया है कुछ और समय तक जूझना अपना भाग्य मान लेना चाहिए। अपनी इच्छाशक्ति को अधिक प्रबल बनाने की जरूरत है। ताकि भविष्य बाहें फैलाकर नवीन युग में आपका स्वागत करें।

 

मायूस चेहरे, ड़बड़बाई नजरों में तकरार है।

नहीं चलता है 'बस, बेबस अब गुनहगार है।

कटघरे में खड़ी है सत्ता, मन में हाहाकार है। 

 

राधेश्याम 'निर्भयपुत्र'

कोरोना वायरस से मुक्त हुआ न्यूजीलैंड

वेलिंगटन। पूरी दुनिया के लिए संकट बने कोरोना वायरस को लेकर न्यूजीलैंड से एक अच्छी खबर आई है। यहां इस जानलेवा महामारी से संक्रमित अंतिम मरीज भी स्वस्थ हो गया है। अब देश में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या शून्य हो गई है। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने सोमवार को कहा कि उन्हें विश्वास है कि अंतिम मरीज के स्वस्थ होने के बाद देश ने संक्रमण के प्रसार को रोक लिया है।


न्यूजीलैंड में संक्रमण का अंतिम मामला 17 दिन पहले आया था और फरवरी के अंतिम सप्ताह के बाद से अब सोमवार ऐसा दिन बन गया है जब देश में किसी भी संक्रमित व्यक्ति का उपचार नहीं चल रहा है। अर्डर्न ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि न्यूजीलैंड ने पिछले 17 दिनों में 40,000 लोगों की जांच की है और पिछले 12 दिन से कोई अस्पताल में भी नहीं है। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल ने मध्यरात्रि से देश को खोलने के दूसरे चरण को लेकर सहमति दे दी है। उन्होंने कहा, ‘हमें विश्वास है कि फिलहाल के लिए हमने न्यूजीलैंड में वायरस के प्रसार को पूरी तरह से रोक लिया है और इसका मतलब यह नहीं है कि अब हम रुक जाएंगे, इस दिशा में हमारी कोशिशें चलती रहेंगी।’


उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से दोबारा मामले सामने आएंगे लेकिन यह विफलता की निशानी नहीं होगी, यह इस वायरस की वास्तविकता है। लेकिन हमें पूरी तैयारी रखनी है। बता दें कि न्यूजीलैंड में यह जानलेवा महामारी खतरनाक स्तर पर नहीं फैली थी। यहां इससे सिर्फ 1,500 लोग संक्रमित हुए जिनमें से 22 की मौत हो गई। विशेषज्ञों का कहना है कि 50 लाख की आबादी वाले इस देश से संक्रमण खत्म होने के पीछे कई वजहे हैं। दक्षिण प्रशांत में स्थित होने की वजह से इस देश को यह देखने का मौका मिला कि दूसरे देशों में यह संक्रमण कैसे फैला और अर्डर्न ने तेजी से कदम उठाते हुए देश में संक्रमण की शुरुआत में ही बंद के कड़े नियम लागू किए और देश की सीमाओं को भी बंद कर दिया।


संक्रमित संख्या-2,65000, मृतक-7466

पिछले 24 घंटे में 9987 मामले


नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या मंगलवार सुबह दो लाख 65 हजार के पार पहुंच गई। पिछले 24 घंटे में 9,987 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी 2,66,598 कोरोना के मरीज हैं। इसके अलावा 7466 लोगों की मौत हो चुकी है।महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली आदि कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। महाराष्ट्र में अब तक 88,528 कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें से 44384 सक्रिय केस हैं। 40975 लोग ठीक हो चुके हैं और 3169 लोगों की मौत हुई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी कोरोना के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। ताजा आंकड़ों के अनुसार, इस समय राजधानी में 29943 कोरोना के मरीज हैं, जिसमें से 874 लोगों की मौत हो चुकी है।तमिलनाडु में कोरोना वायरस के मामले 33229 पहुंच गए हैं। इसमें से 15416 सक्रिय मामले हैं, जबकि 286 लोगों की मौत हो चुकी है। राजस्थान में कोरोना के मरीज दस हजार से ज्यादा हो चुके हैं। 10763 लोग संक्रमण से संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 10947 पहुंच गई है, जिसमें से 283 लोगों की मौत हुई है।
मुंबई में कोरोना के केस 50 हजार के पार पहुंचे
मुंबई में कोरोना वायरस मामलों की संख्या सोमवार को 50,000 से अधिक हो गई। नगर में संक्रमण के 1,311 नए मामले सामने आए। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने यह जानकारी दी और बताया कि यहां संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 50,085 तक पहुंच गई है। मृतकों की संख्या 1,702 हो गई है। उधर, पूरे महाराष्ट्र में सोमवार को कोविड-19 के 2553 नए मामले सामने आए और 109 लोगों की मौत हो गई, जिससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर 88,528 और मरने वालों की संख्या 3169 हो गई। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दिन में 1661 रोगियों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई।


स्विट्जरलैंड में 7 लाख का आंकड़ा पार

स्विट्जरलैंड। दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। सोमवार को इस महामारी से संक्रमण का आंकड़ा 7 लाख के पार हो गया। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने दुनियां को चेतवानी देते हुए कहा है कि अब ये महामारी और बदतर होती जा रही है। डब्लूएचओ ने कहा है कि वायरस से दुनिया भर में हालात दिन पर दिन बिगड़ रहे हैं।


डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस एदनहोम गेब्रेयासिस ने कहा,“हालांकि यूरोप में हालात सुधर रहे हैं, लेकिन वैश्विक तौर पर ये खराब हो रहे हैं। पिछले 10 दिनों में से 9 दिन रोजाना 1 लाख से ज्यादा केस रिपोर्ट किए गए। रविवार को दुनियाभर में कोरोना वायरस के 136,000 नए केस रिपोर्ट किए गए। ये दुनियाभर में एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा है।” उन्होंने आगे कहा कि इसमें से 75% केस 10 देशों में सामने आए हैं, जिनमें से अधिकतर देश अमेरिका और दक्षिण एशिया में हैं।उन्होंने कहा, “इन देशों में अब सबसे बड़ा ख़तरा यह है कि यह अपनी उपलब्धि को लेकर आत्मसंतुष्ट हैं। शोध से आए परिणामों में पाया गया है कि विश्व में अभी भी अधिकांश लोग संक्रमण के दायरे में हैं।”


महामारी के बीच अमेरिका में हो रहे हैं प्रदर्शन


अमेरिका में अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद से महामारी के बीच लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं। डॉ टेड्रोस ने लोगों से सावधानी के साथ प्रदर्शन की अपील की है। उन्होंने कहा कि WHO पूरी तरह से समानता और नस्लवाद के खिलाफ वैश्विक आंदोलन का समर्थन करता है।


उन्होंने कहा, “हम किसी भी प्रकार के भेदभाव को अस्वीकार करते हैं। हम दुनियाभर में विरोध कर रहे सभी लोगों को सुरक्षित रूप से ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। जितना संभव हो, दूसरों से कम से कम एक मीटर की दूरी पर रहें, अपने हाथों को साफ करें, खांसी आने पर फेस कवर करें और अगर आप प्रदर्शन करते हैं तो मास्क ज़रूर पहनें. लेकिन अगर आप बीमार हैं, तो प्लीज़ घर पर ही रहें।”


यूरोप के बाद अब अमेरिका बना गया है कोरोना वायरस का एपिसेंटर


WHO ने कहा कि पहले इस महामारी का एपिसेंटर यूरोप था, लेकिन अब अमेरिका कोरोना वायरस का एपिसेंटर बन गया है। सबसे ज्यादा केसों के मामले में दूसरे नंबर पर लैटिन अमेरिका का देश ब्राजील है, जहां कोरोना के सात लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इसके बाद रूस, यूके और भारत हैं। रूस में कोरोना साढ़े चार लाख से ज्यादा केस हैं। वहीं यूनाइडेट किंगडन में कोरोना के 2.88 लाख और भारत में 2.56 लाख पार कर गए हैं।


ओपीडी सुविधा को शुरू करने की तैयारी

ऋषिकेश। कोविड-19 के विश्वव्यापी प्रकोप के चलते हुए लाॅकडाउन के कारण अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स ऋषिकेश) में बीते मार्च माह में स्थगित की गई ओपीडी सुविधा को जल्द शुरू करने की तैयारी है। इसके लिए एम्स प्रशासन सभी जरुरी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुट गया है। सबकुछ ठीकठाक रहा तो इसी माह अंतिम सप्ताह में एम्स अस्पताल में जनरल ओपीडी सेवाएं सुचारू हो जाएंगी।


गौरतलब है कि दुनियाभर में कोरोना वायरस के दुष्प्रभाव के चलते सार्वजनिक स्थानों पर भीड़भाड़ को कम करने के लिहाज से देशभर में बीती 24 मार्च को लाॅकडाउन व्यवस्था लागू कर दी गई थी, जिसके मद्देनजर एम्स ऋषिकेश में वाह्य रोगी विभाग (जनरल ओपीडी) सेवाओं को भी स्थगित कर दिया गया था। जबकि इस बीच संस्थान में गंभीर रोगियों के लिए ट्रॉमा व इमरजेंसी सेवाएं, दूरदराज रहने वाले मरीजों के चिकित्सकीय परामर्श के लिए टेलीमेडिसीन, वर्चुअल ओपीडी व कोविड स्क्रीनिंग ओपीडी आदि सेवाएं संचालित की जाती रहीं जो कि अभी भी जारी हैं।


एम्स प्रशासन अब सामान्य मरीजों के लिए शीघ्र ही जनरल ओपीडी सेवाएं फिर से शुरू करने की तैयारी में जुट गया है। जिसके लिए सभी आवश्यक तैयारियों को अंतिमरूप दिया जा रहा है। एम्स के डीन (हॉस्पिटल अफेयर्स) प्रो. यूबी मिश्रा का कहना है कि इसके लिए सभी विभागों से जुड़े विशेषज्ञों से आवश्यक विचार विमर्श कर लिया गया है।


लेटस्ट न्यूज़ के लिए जुड़िये हमारें व्हाट्सएप्प ग्रुप से
Join Now


उन्होंने बताया कि अस्पताल में करीब 15 दिनों में जनरल ओपीडी सेवाएं शुरू कर दी जाएंगी। इसके लिए विभिन्न विभागों के चिकित्सकों की बैठने के स्थान, मरीजों और तीमारदारों के लिए उचित व्यवस्था के साथ साथ सेनेटाईजर, मास्क आदि सभी जरुरी इंतजामात किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि जनरल ओपीडी में आने वाले मरीजों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा।


समुद्री चक्रवात खड़ी करेगा समस्या

मनोहर
अरब सागर से उठे निसर्ग तूफान के असर से तरबतर होने के बाद प्रदेश में अब बंगाल की खाड़ी में बनने जा रहे सिस्टम से अच्छी बरसात होने की संभावना है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक चार दिन बाद जबलपुर, भोपाल, इंदौर और उज्जैन संभाग के जिलों में 10 या 11 जून से तेज बौछारें पड़ने का दौर शुरू होगा। इस दौरान कहीं-कहीं भारी वर्षा भी हो सकती है। 15 जून के आसपास प्रदेश में मानसून भी दस्तक दे सकता है। उधर विगत दो दिनों पहले रायसेन, भोपाल में बौछारें पड़ीं, राजगढ़ में बूंदाबांदी हुई।
वर्तमान में हवा का रुख दक्षिण-पश्चिमी बना हुआ है। इस वजह से अरब सागर से बड़े पैमाने पर नमी आ रही है। इससे प्रदेश के कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ रही हैं। सोमवार को बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। यह शक्तिशाली होकर उड़ीसा, छत्तीसगढ़ होते हुए मप्र में प्रवेश करेगा। इसके असर से 10 जून के बाद प्रदेश में अच्छी बरसात का दौर शुरू हो जाएगा। विशेषकर जबलपुर, भोपाल, इंदौर और उज्जैन संभाग के जिलों में इस सिस्टम से अच्छी बरसात होगी।
बारिश का सिलसिला 2-3 दिन तक जारी रह सकता है। इस दौरान कहीं-कहीं भारी बरसात भी हो सकती है। अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में चल रही मानसूनी हलचल मानसून को आगे बढ़ाने के लिए अनुकूल हैं। इसे देखते हुए मानसून के 15 जून के आसपास दस्तक देने की संभावना भी बन रही है।


जवान-बुजुर्ग ही नहीं, बच्चे भी प्रभावित

नई दिल्ली (एजेंसी)। डिप्रेशन किसी भी आयु वर्ग के आदमी को प्रभावित करता है, जवान और बुजुर्ग ही नहीं बल्कि बच्‍चे भी इससे प्रभावित होते हैं। अगर आपका बच्‍चा लगातार उदास रहता है, लोगों से बात नहीं कर एकांत में चला जाता है। वह स्‍कूल का होम वर्क नहीं करता और परिवार के लोगों से बात करने में हिचकता है,तब बच्चे में यह डिप्रेशन के लक्षण हो सकते हैं। डिप्रेशन अपने तरह की गंभीर बीमारी है, जो शरीर में और भी कई तरह की बीमारियों को लगा देती है, लेकिन इसका इलाज उपलब्‍ध है। बच्चों को स्‍कूल में दूसरे बच्‍चों द्वारा बहुत ज्‍यादा तंग करने पर डिप्रेशन हो सकता है।स्‍कूल में बच्‍चे को बुली करने पर आत्‍म-सम्‍मान को झटका लगता है। इससे भी बच्चे डिप्रेशन में चले जाते हैं। लगातार तनाव में रहने की वजह से भी बच्चे डिप्रेशन की स्थिति में पहुंच जाते हैं। बार-बार पड़ने वाले किसी दबाव के कारण भी बच्‍चे इस स्थिति में पहुंच जाते हैं। पढ़ाई का अधिक प्रेसर होने के कारण भी डिप्रेशन बढ़ता है। जिन बच्‍चों के परिवार में कोई सदस्‍य डिप्रेशन का शिकार हो या हो चुका हो उस घर के बच्‍चों के डिप्रेशन में जाने का खतरा ज्‍यादा रहता है। वहीं ऐसा जरूरी नहीं है कि जिन बच्‍चों की अवसाद की फैमिली हिस्‍ट्री न हो, उन्‍हें डिप्रेशन नहीं हो सकता। अगर आपको लग रहा है कि आपके बच्‍चे में अवसाद का खतरा है तो उस परिवार के साथ रखें और खुश रखने का प्रयास करें।
वयस्‍कों की तरह बच्‍चे बदलावों को जल्दी स्‍वीकार नहीं कर पाते हैं। नए घर या स्‍कूल में जाना, पैरेंट्स का तलाक देखना या भाई-बहन या दादा-दादी का बिछड़ना, ये सभी चीजें बच्‍चे के दिमाग पर नकारात्‍मक असर डालती हैं। अगर आपको लग रहा है कि इन चीजों की वजह से आपका बच्‍चा प्रभावित हो रहा है तो जितना जल्‍दी हो सके, उससे इस बारे में बात करें। यदि किसी हादसे के बाद बच्‍चे के व्‍यवहार में बदलाव दिख रहा है तो आपको तुरंत डिप्रेशन की पहचान कर उसका इलाज कराना चाहिए। कुछ बच्‍चों में शरीर के अंदर रसायनों के असंतुलन के कारण अवसाद हो जाता है। हार्मोनल बदलाव और विकास होने के कारण ये असंतुलन हो सकता है, लेकिन ऐसा अपर्याप्‍त पोषण या शारीरक गतिविधियां कम करने की वजह से भी हो सकता है। बच्‍चे का विकास ठीक तरह से हो रहा है या नहीं, इसकी जांच के लिए नियमित चेकअप करवाते रहें।


मुफ्त-अच्छी चिकित्सा का अधिकार नहीं

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह मंगलवार को पश्चिम बंगाल के लिए ‘डिजिटल रैली’ कर रहे हैं। उन्होंने ममता बनर्जी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि ममता जी, क्या बंगाल के गरीब लोगों को मुफ्त और अच्छी वाली चिकित्सा सहायता प्राप्त करने का कोई अधिकार नहीं है? आयुष्मान भारत योजना को यहां अनुमति क्यों नहीं है? ममता जी, गरीबों के अधिकारों पर राजनीति करना बंद करें। आप कई अन्य मुद्दों पर राजनीति कर सकती हैं। अमित शाह ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं कि बीजेपी सिर्फ आंदोलन करने के लिए बंगाल के मैदान में नहीं आई है। बीजेपी सिर्फ राजनीतिक दल के विस्तार लिए नहीं आई है,बीजेपी बंगाल के अंदर हमारी संगठन नीव को मज़बूत तो करना चाहती ही है लेकिन बीजेपी फिर से बंगाल को संस्कारिक बंगाल बनाना चाहती है।उन्होंने कहा कि मैं बंगाल की जनता को ये कहना चाहता हूं कि भले ही भाजपा को 303 सीटें देश भर से मिली है। लेकिन मेरे जैसे कार्यकर्ता के लिए सबसे महत्वपूर्ण सीटे हैं। बंगाल की 18 सीटों पर बीजेपी जीतेंगी।


उन्होंने कहा कि 2014 से पश्चिम बंगाल में 100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं ने यहां राजनीतिक लड़ाई में अपनी जान गंवा दी। मैं उनके परिवारों को सम्मान देता हूं क्योंकि उन्होंने सोनार बांग्ला के विकास में योगदान दिया है। मैं उन लोगों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करना चाहता हूं, जिन्होंने कोरोना महामारी और अम्फान के कारण अपनी जान गंवाई है। अमित शाह ने कहा कि देश भर ने आयुष्मान भारत योजना को स्वीकार लिया। अंत में केजरीवाल जी ने भी आयुष्मान भारत योजना को स्वीकार कर लिया। लेकिन मामता दीदी आप क्यों नहीं स्वीकार कर रही हो ये बंगाल की जनता आपसे पूछना चाहती है। उन्होंने कहा कि यूपीए ने 10 साल में एक बार 3.5 करोड़ किसानों का 60 हज़ार करोड़ रुपए का ऋण माफ किया,लेकिन आंकड़े कुछ और है।


पीएम मोदी ने 9.5 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में 72 हज़ार करोड़ रुपए पहुंचाने का काम किया है और हर साल किसान को 6 हज़ार रुपया पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने कहा ममता दी आप हमारा हिसाब मांगती हो, मैं तो हिसाब लेकर आया हूं। आप कल एक प्रेस कांफ्रेंस करके अपने 10 साल का हिसाब दीजिएगा और ध्यान से दीजिएगा कहीं बम धमाकों या बंद हुई फैक्टरियों की संख्या मत बता दीजिएगा। उन्होंने कहा कि बीजेपी के मार दिए कार्यकर्ताओं की संख्या मत बता दीजिएगा।


नए सितारो के बारे में जांच-पड़ताल

लंदन (एजेंसी)। शेफ़ील्ड स्टडी ग्रुप के वैज्ञानिकों ने ब्रह्माण्ड में तारा बनाने वाले क्षेत्रों की विशिष्टता का अध्ययन करने के लिए मिल्की वे में बने नए सितारों के बारे में जांच-पड़ताल की। अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने नए सितारों अध्ययन के दौरान मैग्मा ओशन प्लॉनेट के बारे में पता लगाया है जिससे अंतरिक्ष में नए सितारों और ग्रहों के बनने की गुत्थी सुलझ सकती है। इतना ही नहीं, वैज्ञानिकों ने यह भी दावा किया है कि स्टेलर नर्सरीज जहां गैस और धूलकणों के मिलने से नए तारों का निर्माण होता है वहां सूर्य से बड़े और तारे भी मौजूद हैं। इस दौरान उन्होंने पाया कि मैग्मा ओशन प्लॉनेट में से एक ग्रह बेबी अर्थ के समान है। इस शोध से अंतरिक्ष में तारे और ग्रह बनने की प्रक्रिया को समझने में मदद मिल सकती है। उन्होंने कहा कि ये मैग्मा ओशन प्लॉनेट सूर्य जैसे अन्य तारों का पता लगाने में भी काम आ सकती हैं। उन्होंने यह भी कहा कि ये ग्रह इतनी गर्मी उत्सर्जित करते हैं कि हम नेक्स्ट जेनरेशन की इन्फ्रा-रेड टेलिस्कोप का उपयोग करके उनसे चमक देख पाएंगे। जिन स्थानों पर हमें ये ग्रह मिले रहे हैं उन तारों की उम्र 100 मिलियन वर्ष से कम है। ऐसे तारों को युवा श्रेणी में रखा जाता है।शेफ़ील्ड विश्वविद्यालय के खगोलविद रिचर्ड पार्कर ने कहा कि मैग्मा ओशन प्लॉनेट चट्टानों और छोटे ग्रहों की क्रमिक टक्कर से बनते हैं। जिसके प्रभाव से उनकी सतह इतनी गर्म हो जाती है कि वह पिघली हुई चट्टान बन जाती है, जिससे उन्हें खोजने में मदद मिलती है।


'कम्युनिटी स्प्रैड' केंद्र कर सकेगा ऐलान


  • केंद्र और दिल्ली के बीच तकरार बढ़ी

  • सत्येंद्र जैन बोले- कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड केंद्र ही कर सकती है ऐलान


नई दिल्ली । दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों और तीखी होती राजनीति के बीच कम्युनिटी स्प्रेड को लेकर चर्चा तेज हो गई है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को ऐलान किया कि एम्स डायरेक्टर ने दिल्ली में कोरोना वायरस के कम्युनिटी स्प्रेड को मान लिया है, लेकिन केंद्र ही इसका ऐलान कर सकता है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को कहा कि राज्य सरकार ने जो दिल्ली के अस्पतालों को लेकर फैसला किया था, उसे LG साहब ने खत्म कर दिया है ऐसे में अब दिल्ली वालों का इलाज कहां होगा। दिल्ली में पूरी दुनिया से फ्लाइट यहां आई हैं, ऐसे में यहां केस बढ़ रहे हैं। सत्येंद्र जैन ने फैसले पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि अब अगर दिल्ली में बाहर से लोग आएंगे तो राज्य के लोगों का इलाज कहां होगा। केंद्र सरकार के जो 10 हजार बेड हैं, उनमें इलाज करवा लें। केंद्र ने हमारी मांग नहीं मानी कि फ्लाइट बंद की जाए, दिल्ली के अंदर बाहर के लोगों को आने से रोका नहीं गया, जिससे केस बढ़ गए।


स्वास्थ्य मंत्री बोले कि हम लगातार बेड बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं, AIIMS के डायरेक्टर ने कम्युनिटी स्प्रेड को मान लिया है लेकिन केंद्र सरकार इसको नहीं मान रही है। दिल्ली में बहुत से ऐसे केस हैं, जिनका कोई सोर्स नहीं है। कम्युनिटी स्प्रेड है या नहीं, वो केंद्र मानेगी तभी होगा।


दिल्ली के अस्पतालों का हाल.. सरकारी आंकड़ा


गौरतलब है कि दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के बीच इन दिनों कोरोना संकट को लेकर आर-पार की लड़ाई छिड़ गई है। पहले दिल्ली सरकार ने फैसला लिया था कि अब दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ राज्य के निवासी का इलाज होगा, लेकिन उपराज्यपाल ने इस फैसले को तुरंत बदल दिया। जिसके बाद से दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल आमने-सामने है।


बता दें कि दिल्ली में पिछले एक हफ्ते से रोज़ ही एक हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं, ऐसे में चिंता बढ़ती जा रही है। दिल्ली में मंगलवार सुबह तक कुल कोरोना वायरस के मामले 29943 हैं, जबकि 874 लोगों की मौत हो चुकी है।


हिमाचल में कम नहीं हो रहा संक्रमण

नाहन। हिमाचल प्रदेश के कोरोना वायरस के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। मंगलवार सुबह सिरमौर जिले से कोरोना के आठ नए मामले सामने आए हैं। ये सभी औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब स्थित ओरिसन फार्मा इकाई में काम करते हैं। इनमें मालिक दंपति व उनका बेटा भी शामिल है, जो इस समय पंचकूला में रह रहे हैं। प्रशासन ने पहले ही इस फार्मा कंपनी (Pharma Company) को सील करने के आदेश दे दिए थे।


इसी फार्मा इकाई में काम करता था पशोग निवासी संक्रमित


जानकारी के अनुसार सिरमौर जिला से सोमवार को जांच के लिए भेजे गए 41 सैंपलों में से 33 नेगेटिव और आठ की रिपोर्ट पॉजिटिव (Report positive) आई है। सभी संक्रमित उसी फार्मा इकाई में कार्यरत थे जिसमें गांव बाग पशोग का निवासी कार्यरत था और बाद में पॉजिटिव पाया गया था। व्यक्ति फिलहाल सराहां के कोविड हेल्थ सेंटर में भर्ती है। आठ संक्रमितों में से सात लोग फिलहाल हरियाणा में ही हैं, जिनमें कंपनी का मालिक, उसकी बीवी और बेटा पंचकूला में और इकाई का सीईओ यमुनानगर में, दो लोग साढौरा में और एक व्यक्ति नारायणगढ़ में हैं। इसके अलावा एक व्यक्ति को त्रिलोकपुर स्थित कोविड केयर सेंटर में शिफ्ट कर दिया गया है। डीसी सिरमौर डॉ. आरके परुर्थी ने इसकी पुष्टि की है। इसी के साथ सिरमौर में कुल संक्रमितों की संख्या 20 हो गई है, जबकि सक्रिय मामलें 16 हैं और चार ठीक हुए हैं। वहीं, हिमाचल प्रदेश में अब तक कुल 429 मरीज आ चुके हैं। एक्टिव केस एक्टिव 197 हैं। अब तक 227 लोग ठीक हुए हैं वहीं पांच की मौत हुई है।


लगातार तेज रफ्तार का 'कहर' जारी

अतुल त्यागी(मेरठ मंडल प्रभारी)

हापुड़। जनपद हापुड़ में तेज रफ्तार का कहर लगातार जारी लोगों की जान पर पड़ रहा है भारी रोज हो रही है है कहीं ना कहीं दुर्घटना। मामला जनपद हापुड़ के थाना गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र के  अल्लाबख्शपुर नेशनल हाईवे 9 का है जहां रॉयल इनफील्ड पर जा रहा युवक अज्ञात वाहन से टकराया और हुई मौत।

सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे पुलिस फोर्स के साथ चौकी इंचार्ज सतपाल सिंह मृतक युवक को लिया अपने कब्जे में पीएम के लिए भेजा मृतक युवक अमरोहा के थाना हसनपुर क्षेत्र का बताया जा रहा है।

फिलहाल पुलिस युवक के परिजनों से संपर्क साधने की कोशिश कर रही है और अज्ञात वाहन की तलाश की जा रही है तेज रफ्तार वाहनों को कंट्रोल में करने के लिए परिवहन विभाग को उठाना होगा बड़ा कदम तभी रुकेंगे घटनाएं।

कोरोना लक्ष्ण दिखने के बाद भर्ती कराऐंं

नई दिल्ली। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद भाजपा नेता संबित पात्रा ने ट्वीट कर कहा है कि अब वह घर आ चुके हैं, लेकिन उनको ठीक होने में अभी वक्त लगेगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस मुश्किल समय में पार्टी ने उनकी का ध्यान रखा और पार्टी का नेतृत्व परछाई बनकर उनके पीछे खड़ी रहा है। ऐसे में वह यही कहना चाहते हैं कि पार्टी ही उनका परिवार है।


ध्यान रहे संबित पात्रा को अस्पताल से रविवार देर रात ही डिस्चार्ज कर दिया गया था। उनमें कोरोना के लक्षण दिखने के बाद गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन दोबारा जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। डॉक्टरों ने उन्हें अभी उन्हें कुछ दिन होम कवरेन्टीन रहने की हिदायत दी है। गौरतलब है कि पात्रा को कोरोना के लक्षण मिलने पर 28 मई को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।


हादसा होने से बचा, चालक की बची जान

अतुल त्यागी, प्रवीण कुमार (रिपोर्टर पिलखुआ)

 

धौलाना में ट्रक पलटने से हादसा होने से बचा गनीमत रही ट्रक ही पलटा कोई अनहोनी नहीं हुई चालक ने कूदकर बचाई जान।

 

हापुड़। स्लग- हापुड़ के कस्बा धौलाना वशिष्ठ चोक पर नाला नहीं बनने की वजह से दूसरी गाड़ी को बचाने के चक्कर में दादरी से मुजफ्फरनगर सीमेंट की चादरों से भरा ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया गनीमत रही ट्रक के चपेट में कोई आया नही वरना हो सकता था कोई बड़ा हादसा ट्रक चालक आरिफ ने बचाई किसी तरह कूदकर जान।

 

जानकारी के अनुसार लोगों ने बताया काफी समय से नाला बनने की शिकायत हो रही है। लेकिन नाला नहीं बन पा रहा पानी भरे रहने की वजह से गड्ढे दिखाई नहीं देते जिनकी वजह से लोग गड्ढों की चपेट में आ जाते हैं। जिसका खामियाजा गाड़ी वालों को भुगतना पड़ता है। अगर यही हादसा सड़क चलते वक्त दिन में हो जाता तो लोगों की जान पर भारी पड़ सकता था।

प्रवासियों के लिए विशेष ट्रेनों की मांग की

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने अन्य राज्यों से संबंध रखने वाले प्रवासी श्रमिकों को वापस भेजने के लिए अधिक श्रमिक विशेष ट्रेनों की मांग की है। ईंट भट्टों में कार्यरत श्रमिकों की एक बड़ी संख्या अब अपने राज्यों में वापस जाना चाहती है, जिसमें खास तौर पर बिहार, छत्तीसगढ़ और ओडिशा के हैं।


गृह विभाग के अधिकारियों ने ईंट भट्ठा संचालकों के साथ बैठक की और सभी जिलों में जिला मजिस्ट्रेट और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे ऐसे श्रमिकों का डेटा एकत्र करें। साथ ही यह सुनिश्चित करें कि अपने घर लौटने से पहले ईंट भट्ठा मालिकों से अपनी बकाया राशि पा सकें। अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने कहा कि राज्य में लगभग 12 हजार ईंट भट्टे क्रियाशील हैं लेकिन मानसून के साथ-साथ यह बंद हो जाएंगे। इन ईंट भट्टों पर काम करने वाले श्रमिक घर लौटना चाहते हैं।


उन्होंने कहा, “ईंट भट्टे लॉकडाउन के दौरान काम कर रहे हैं, लेकिन अब मानसून आ रहा है, इससे वे बंद हो जाएंगे। मालिकों और सभी जिला मजिस्ट्रेटों के साथ एक बैठक आयोजित की गई है। जिसमें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि श्रमिकों को घर भेजे जाने से पहले उन्हें सभी बकाया राशि का भुगतान किया जाए।” उत्तर प्रदेश सरकार ने भट्ठा मजदूरों को उनके घर भेजने के लिए केंद्र से अधिक श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की मांग की है। अवस्थी ने कहा कि सरकार तब तक मुफ्त ट्रेन और बस सेवाओं का संचालन करती रहेगी, जब तक कि उत्तर प्रदेश के लोग जो दूसरे राज्यों में अटके हुए थे वे वापस नहीं आ जाते। वहीं राज्य के लोग जो दूसरे राज्यों के हैं वे संबंधित राज्यों में नहीं पहुंच जाते।


सरकार ने एक बार फिर से उन लोगों से अपील की है कि जो वापस लौटने की इच्छा रखते हैं वे विशेष राज्य के लिए प्रतिनियुक्त नोडल अधिकारी से संपर्क करें। बस-ट्रेन से अब तक 31 लाख से अधिक लोगों को उत्तर प्रदेश में वापस लाया गया है। वहीं कई अपने दम पर यात्रा कर यहां वापस आ चुके हैं। इस बीच, राज्य के मुख्य सचिव आर.के. तिवारी ने सोमवार से नोएडा प्रशासन को नोएडा-दिल्ली सीमा पर भीड़ को कम करने पर ध्यान केंद्रित करने का निर्देश दिया है क्योंकि दिल्ली ने सोमवार से दोनों राज्यों के बीच मुक्त आवाजाही करने की अनुमति दे दी है। उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग को अगले दो दिनों के भीतर पास के लिए एक उचित तंत्र लगाने के लिए कहा है।


नैनीताल को 'रेड जोन' से हटाया गया

हल्द्वानी। जिलाधिकारी सविन बंसल ने बताया कि केन्द्र सरकार की गाईडलाइन व उत्तराखण्ड शासन के निर्देशानुसार जोन निर्धारण की व्यवस्था को समाप्त करते हुए जनपद नैनीताल को रेड जोन से हटा दिया गया है।


अब जनपद में बाजार प्रातः 07 बजें से सांय 07 बजें तक खोली जायेगी,तथा जनपद में सभी प्रकार का पब्लिक ट्रान्सपोर्ट गाईडलाइन के प्रतिबन्धों के अनुसार 50 प्रतिशत सवारी के साथ अनुमन्य होगा। जिलाधिकारी श्री बंसल ने बताया है कि मुख्य सचिव के प्राप्त आदेशों के क्रम मे जनपद नैनीताल में होटल, रेस्तरां तथा धार्मिक स्थल शासन द्वारा जारी गाईडलाइन के अनुसार खोले दिये गये हैे। उन्होने बताया कि राज्य आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण ने केन्द्र के दिशा निर्देशों के अनुसार जनपद के सभी होटल, सेवा क्षेत्र, रैस्टोरेंट, शापिंग माॅल, धार्मिक स्थल और पूजा घरों को खोलने की गाईडलाइन जारी की है। उन्होने बताया कि सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों मे थर्मल स्केनिंग, सेनिटाइजेशन अनिवार्य रूप से किया जाये, स्टाफ व ग्राहक सभी अनिवार्य रूप से मास्क लगायेंगे। जनपद में जिम,बार, सिनेमाहाल, कोचिंग सेन्टर, मनोरंजन पार्क, विद्यालय एवं शैक्षणिक संस्थायें पूर्णतया बन्द रहेंगे।



जिलाधिकारी श्री बंसल ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना के बीच अब धीरे-धीरे जनजीवन पटरी पर लौटने लगा है इसको दृष्टिगत रखते हुये धार्मिक स्थलोें मे पूजा अर्चना के लिए छूट दे दी गई है। उन्होने बताया कि पूजा स्थलों को अनिवार्य रूप से सेनिटाइज किया जाए तथा भक्तों एवं दर्शनार्थियों को धार्मिक स्थलोें मे समूह मे प्रवेश ना कराकर कम से कम लोगों को सोशल डिस्टैसिंग के आधार पर प्रवेश कराया जाए।धार्मिक स्थलों मे आने वाले सभी लोगोें को सामाजिक दूरी के नियम का भी अनुपालन कराया जाए, इसी प्रकार सभी रेस्टोरेंट एवं माॅल मे यह व्यवस्था बनाई जाए।



दलगत नीति से हटकर राष्ट्रहित की सोचेंं

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने चीन और नेपाल सीमा विवाद को लेकर भाजपा और कांग्रेस के चल रहे आरोप-प्रत्यारोप पर निशाना साधा। उन्होंने सभी राजनीतिक पार्टियों को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देशहित में ही सोचने की सलाह दी है।


मायावती ने मंगलवार को ट्विटर के माध्यम से लिखा, “चीन के साथ ही दूसरे पड़ोसी देश नेपाल के साथ भी सीमा विवाद अब काफी गंभीर रूप धारण करता जा रहा है। ऐसे में देश की सभी राजीतिक पार्टियों को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देशहित में ही सोचना चाहिए। साथ ही, ऐसे मामलों में यदि केन्द्र सरकार सबको विश्वास में लेकर चले तो यह बेहतर होगा।”


उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा,”यह बड़े दुर्भाग्य की बात है कि कोरोना महामारी के चलते जब देश की जनता में त्राहि-त्राहि मची हुई है तब भी खासकर बीजेपी व कांग्रेस इसकी आड़ में घिनौनी राजनीति कर रहीं हैं तथा अब चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर भी इनमें आरोप-प्रत्यारोप जारी है, जो देशहित में उचित नहीं है।”गौरतलब है कि कोरोना वायरस संकट के दौर में सरकार और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी है। इसे लेकर सियासत हर रोज आगे बढ़ रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर हैं और जवाब में सरकार व भाजपा नेताओं की तरफ से राहुल पर निशाना साधा जा रहा है।


शायरी छोड़े, वास्तविकता बताए रक्षा मंत्री

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बीच ट्विटर पर शायरी के माध्यम से जारी हमले के बीच राहुल गांधी ने मंगलवार को तीखा तंज करते हुए पूछा कि शायरी खत्म हो गयी हो तो रक्षा मंत्री देश को बताएं कि क्या चीनी ने भारतीय क्षेत्र में कब्ज़ा कर लिया है।


राहुल गांधी ने भारत-चीन सीमा पर विवाद को लेकर राजनाथ सिंह से पूछा , “हाथ निशान पर रक्षा मंत्री की टिप्पणी पूरी हो, तो क्या वह बता सकते हैं कि लद्दाख में चीन ने क्या भारतीय क्षेत्र पर कब्जा किया है।” कांग्रेस नेता के इस तंज से पहले राजनाथ सिंह ने कांग्रेस के हाथ चिह्न को निशाना बनाते हुए ट्वीट किया “हाथ’ में दर्द हो तो दवा कीजै, ‘हाथ’ ही जब दर्द हो तो क्या कीजै।”


राजनाथ सिंह ने राहुल गांधी के आठ जून को किए ट्वीट का शायरी में यह जवाब दिया है। राहुल गांधी ने कल अपने ट्वीट में कहा था “सब को मालूम है ‘सीमा’ की हक़ीक़त लेकिन, दिल को ख़ुश रखने को, ‘शाह-यद’ ये ख़्याल अच्छा है।”


एलएसी पर चीन के हेलीकॉप्टर नजर आए

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं में जारी तनाव को कम करने के लिए कूटनीतिक और सैन्य स्तर पर बातचीत की जा रही है। लेकिन, दोनों सेनाओं के कमांडरों के बीच बातचीत के महज दो दिन बाद सोमवार को ही लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के पास चीन के हेलिकॉप्टर नजर आए। यह घटना दोनों देशों के सैन्य कमांडरों की 6 जून को हुई मुलाकात के मजह दो दिन बाद हुई है। सैन्य कमांडरों ने पूर्वी लद्दाख में जारी तनाव को कम करने के लिए बातचीत की थी।


सूत्रों के अनुसार बीते 7-8 दिनों में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के हवाई बेड़े की गतिविधियां ज्यादा बढ़ गई हैं और उसके हेलिकॉप्टर लगातार नजर आ रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि हो सकता है कि सीमा के करीब कई इलाकों में तैनात चीन के सैनिकों को मदद पहुंचाने के लिए ये हेलिकॉप्टर उड़ान भर रहे हों। पूर्वी लद्दाख में दोनों सेनाओं के बीच टकराव और तनाव की स्थिति के बीच चीन के हेलिकॉप्टर कई बार भारतीय इलाकों में भी नजर आए। ये गलवान घाटी में भारतीय कंस्ट्रक्शन साइट के ऊपर भी उड़ान भरते देखे गए थे।


चीन लगातार अंतरराष्ट्रीय एविएशन नियमों का उल्लंघन कर रहा है और वह भारतीय इलाकों में चॉपर्स के जरिए निगरानी रख रहा है। मई के शुरुआती दिनों में भी चीन के हेलिकॉप्टरों की ऐसी गतिवििधयों के बाद भारतीय एयरफोर्स ने अपने फाइटर जेट्स बोले थे। तब चीन के विमान एलएसी के काफी करीब उड़ान भर रहे थे। यह घटना तब हुई थी, जब दोनों देशों की सेनाओं के जवान सीमा पर आमने-सामने आ गए थे। चीन का सरकारी मीडिया भी लगातार भारत पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है। ग्लोबल टाइम्स ने रविवार को हजारों सैनिकों के युद्धाभ्यास का वीडियो शेयर किया।


इसके जरिए चीन का मीडिया यह दिखाने की कोशिश कर रहा है कि सीमा पर चीन किसी भी समय अपने सैनिक और हथियार इकट्ठा कर सकता है। भारतीय एक्सपर्ट ने कहा कि यह चीन की पुरानी आदत है। वक्त आ गया है कि हमें भी उसके दिमाग से खेलना चाहिए। मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने दावा किया कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने चीन के उत्तर-पश्चिम में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर युद्धाभ्यास किया है। इसमें हजारों पैराट्रूपर्स और बख्तरबंद गाड़ियां शामिल हैं।


भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) की लंबाई 3488 किलोमीटर की है। इसी पर दोनों देशों में विवाद है। चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा बताता है। इसके साथ ही कई जगहों पर सीमा विवाद है। भारत और चीन के सैनिकों के बीच मई में तीन बार झड़प हो चुकी है। इन घटनाओं पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि भारतीय सैनिक अपनी सीमा में ही गतिविधियों को अंजाम देते हैं। भारतीय सेना की लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के पार एक्टिविटीज की बातें सही नहीं हैं। वास्तव में यह चीन की हरकतें हैं, जिनकी वजह से हमारी रेगुलर पेट्रोलिंग में रुकावट आती है।


सीएम ने जिलो की स्थिति का जायजा लिया

लखनऊ। करीब दो महीने से लखनऊ से ही कोरोना की स्थिति का जायजा लेने और अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करने के बाद उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वास्तविक स्थिति का जायजा लेने के लिए जिलों का दौरा किया। मुख्यमंत्री ने रविवार को बस्ती और गोरखपुर का दौरा किया और फिर सोमवार को आजमगढ़ और वाराणसी गए।


अपने दौरे के दौरान उन्होंने न सिर्फ इन जिलों में विकासात्मक परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की, बल्कि स्थानीय अस्पतालों में उपचार की स्थिति की भी जांच की और मरीजों से बातचीत कर उनका हाल जाना। वहीं वाराणसी में योगी आदित्यनाथ ने सोमवार की देर शाम काशी विश्वनाथ मंदिर (केवीटी) में ई-रुद्राभिषेक की सुविधा का शुभारंभ किया और प्रार्थना की।


केवीटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिंह ने कहा कि यह अनुष्ठान आठ पुजारियों के एक समूह द्वारा टैबलेट की मदद से किया जाएगा, जिन्हें ई-रुद्राभिषेक करने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर प्रोजेक्ट के विकास की भी समीक्षा की। उन्होंने वाराणसी में एसपीजी डिवीजन अस्पताल और आजमगढ़ में जिला अस्पताल सहित गैर-कोविड -19 अस्पतालों में कोविड -19 परीक्षण के लिए ट्रीनेट मशीनों का उद्घाटन किया। योगी आदित्यनाथ ने इन सभी जिलों में भाजपा नेताओं के साथ एक छोटी बैठक की और सरकार द्वारा कोविड-19 संकट के दौरान किए गए कार्यों का फीडबैक लिया। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के अनुसार, कुछ जिलों में चिकित्सा सुविधाओं को लेकर मिल रहीं शिकायतों के बाद मुख्यमंत्री ने जिले में वास्तविकता की जांच करने का निर्णय लिया। सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री आने वाले दिनों में इस तरह के और दौरे कर सकते हैं, ताकि चिकित्सा और स्वास्थ्य क्षेत्रों सहित सड़कों और अन्य विकास परियोजनाओं की स्थिति का सही आकलन किया जा सके। प्रवक्ता ने आगे कहा, “वह विभिन्न जिलों में प्रवासी मजदूरों को दी जा रही नौकरियों की भी समीक्षा करेंगे।”


एक समुदाय के दो पक्षों में खूनी संघर्ष

अतुल त्यागी(मेरठ मंडल प्रभारी)

प्रवीण कुमार(रिपोर्टर पिलखुवा)

हापुड। रास्ते से निकलने को  लेकर एक ही समुदाय के दो पक्षों में खूनी संघर्ष। दोनों पक्षों में जमकर चले लाठी-डंडे व धारदार हथियार । दोनों पक्षों के करीब तीन लोग घायल। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को धौलाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कराया भर्ती। एक पक्ष ने पुलिस पर लगाया कार्यवाही न करने का आरोप। थाना धौलाना क्षेत्र के सपनावत गांव की घटना।

सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली

श्रीनगर (एजेंसी)। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। यहां के शोपियां जिले में बीते 24 घंटे के अंदर आतंकियों के खिलाफ सेना ने जबरदस्त कार्यवाही करते हुए 9 आतंकियों को मार गिराया है। शोपियां के पिंजूरा इलाके में सोमवार सुबह एक मुठभेड़ में 4 आतंकी ढेर किए गए हैं। इससे पहले रविवार को भी यहां पर पांच आतंकियों को मार गिराया गया था। जम्मू-कश्मीर पुलिस के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, पुलिस को कुछ वक्त पहले पिंजूरा में आतंकियों की मूवमेंट की खबर मिली थी। इस सूचना पर शनिवार शाम से ही यहां पर बड़े पैमाने पर सेना के जवान, सीआरपीएफ और एसओजी तलाशी अभियान चला रहे थे। सोमवार को आतंकियों ने घेराबंदी के बीच जंगली इलाके में भागने का प्रयास किया। जवानों ने जब उन्हें ललकारा तो इन सभी ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। इसके बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों ने मोर्चा संभाल लिया। दोनों तरफ से हुई कार्रवाई के दौरान सेना ने 3 घंटे के ऑपरेशन के बाद 4 आतंकियों को मौके पर मार गिराया। इसके अलावा इस कार्रवाई में सेना के कुछ जवान घायल भी हुए हैं।
इससे पहले रविवार को शोपियां के रेबन गांव में जवानों ने हिज्बुल के एक टॉप कमांडर समेत पांच आतंकियों को मार गिराया था। इस ऑपरेशन में सेना की 1 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ की 178 बटालियन और एसओजी के जवान शामिल हुए थे। बारामूला जिले में शनिवार को आतंकवादियों ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने अश्फाक अहमद नजर (25) के उत्तरी कश्मीर के बोमई इलाके के आदिपुरा में स्थित घर पर रात करीब 9 बजकर 30 मिनट पर हमला किया। उन्होंने कहा कि हमले में नजर घायल हो गया। उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी। पुलिस ने मामला दर्ज कर हत्यारों की तलाश कर रही है।


तिवारी की पत्नी की जांच निगेटिव आई

नई दिल्ली। यह कहते हुए कि उन्हें अपनी पत्नी को कोविड-19 के लिए परीक्षण करने के लिए “स्वर्ग और पृथ्वी” एक करना पड़ा, मंगलवार को कांग्रेस सांसद और प्रवक्ता मनीष तिवारी ने राष्ट्रीय राजधानी की आप सरकार की स्वास्थ्य प्रणाली पर हमला किया। तिवारी की पत्नी का परीक्षण निगेटिव आया है।


सांसद ने ट्वीट किया, “मेरी पत्नी को डॉक्टरों की लिखित सलाह पर कोविड-19 परीक्षण कराना था। अस्पताल परिसर में बड़े होने और हर चिकित्सा पेशेवर को जानने के बावजूद, मुझे स्वर्ग और धरती सब एक करना पडा ताकि किसी तरह उसकी जांच हो सके। दिल्ली की स्वास्थ्य प्रणालियां चरमरा गई हैं।”आम आदमी पार्टी द्वारा संचालित दिल्ली की सरकार जब से लोगों की आंखों में चुभ रही है, जब से उसने कहा है कि किसी भी बाहरी व्यक्ति को राजधानी में कोविड उपचार देने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जबकि यहां मामलों की संख्या 29,943 तक पहुंच गई है।


सोमवार को केंद्र के साथ रस्साकशी फिर से स्पष्ट हो गई है क्योंकि एलजी अनिल बैजल ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार के ‘बाहरी व्यक्ति नहीं’ के फैसले को पलट दिया है। बता दें कि केजरीवाल ने घोषणा की थी कि दिल्ली सरकार के अस्पताल शहर के निवासियों के लिए ही उपलब्ध होंगे, जबकि केंद्र सरकार द्वारा संचालित अस्पताल सभी के लिए खुले रहेंगे।


छूटः डीएम को दिए गए अधिकार

नई दिल्ली (एजेंसी)। लंबे लॉकडाउन के बाद भी देश में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। लेकिन अब सरकार ने सोमवार से लॉकडाउन में ढील देना शुरू कर दिया है। छूट के तहत दिल्ली समेत देश के ज्यादातर हिस्सों में धार्मिक स्थल, शॉपिंग मॉल, रेस्तरां आदि खोले जा रहे हैं। महाराष्ट्र में ना तो मॉल खुलेंगे और ना ही धार्मिक स्थल।दफ्तर 10 फीसदी स्टॉफ के साथ खुलेंगे, लेकिन पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद रहेगा। वहीं राजस्थान मंे धार्मिक स्थल नहीं खोले जा रहे हैं, लेकिन होटल रेस्त्रां और मॉल खोल दिया गया है। यूपी के गाजिय़ाबाद में फिलहाल मॉल नहीं खुलेंगे। काशी विश्वनाथ मंदिर को भी नहीं खोलने का फैसला किया गया है। वहीं कई मंदिर और अन्य धार्मिक स्थल ऐसे भी हैं जिन्हें अभी नहीं खोला जाना है। ये वे मंदिर हैं जिनमें भारी भीड़ उमड़ती है और संक्रमण का खतरा अधिक है। मथुरा जिला प्रशासन ने वृंदावन स्थित बांके बिहारी समेत सभी मंदिरों को 30 जून तक बंद रखने का फैसला किया है। पंचकूला का प्रसिद्ध मनसा देवी मंदिर भी आज नहीं खुलेगा। मंदिर को 9 जून से खोलने का फैसला किया गया है। मिर्जापुर का मां विंध्यवासिनी धाम, लखनऊ की आसिफी मस्जिद शमिल हैं। बाराबंकी में देवा शरीफ मजार भी 24 जून से पहले नहीं खुलेगी। वहीं वाराणसी का काशी विश्वनाथ मंदिर मंगलवार से खुलेगा। दिल्ली में मरघट वाले हनुमान मंदिर को भी आज श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोला जाएगा। जम्मू-कश्मीर में भी वैष्णो देवी समेत धार्मिल स्थल नहीं खोले जा रहे हैं। उज्जैन का महाकाल मंदिर खोल दिया गया है। हरिद्वार में श्रद्धालु हर की पैड़ी में स्नान कर सकेंगे।
साथ ही सरकारी दफ्तर भी पूरी तरह खुल जाएंगे। हालांकि अधिक कंटेनमेंट जोन वाले शहरों व जिलों में फिलहाल इन्हें खोले जाने पर अंतिम निर्णय नहीं हो सका है। प्रदेश सरकार ने वहां के जिलाधिकारियों को इस संबंध में निर्णय लेने का अधिकार दे दिया है।


टेलीग्राम ने जोड़े नए फीचर्स, जीआईएफ

नई दिल्ली (एजेंसी)। सोशल एप टेलिग्राम पर अब यूजर्स विडियो एडिट करने के साथ ही, टू-स्टेप वेरिफिकेशन और जीआईएफ सर्च करने की सुविधा भी पा सकते हैं। हाल ही में टेलिग्राम ने वॉट्सऐप को टक्कर देते हुए कई धांसू फीचर्स जोड़े हैं। टेलिग्राम यूजर्स को इन फीचर का इस्तेमाल करने के लिए ऐप अपडेट करना होगा। वॉट्सऐप में यह फीचर पहले से आता है। इस फीचर को यूजर्स की सिक्यॉरिटी ध्यान में रखकर लाया गया है। टू स्टेप वेरी‎फेकेशन के जरिए यूजर्स के अकाउंट का इस्तेमाल कोई और व्यक्ति नहीं कर पाएगा। यहां आपको एक पिन सेट करना पड़ता है। यह पिन आपसे कभी भी मांगा जा सकता है। इसके जरिए यूजर्स टेलिग्राम ऐप पर ही विडियो को एडिट कर पाएंगे। उदाहरण के तौर पर आप विडियो की ब्राइटनेस और सैचरेशन को अपने हिसाब से अजस्ट कर सकते हैं। इसके अलावा तस्वीरों और विडियो में ऐनिमेटेड स्टिकर्स भी जोड़े जा सकते हैं। अब टेलिग्राम में आप इमोजी के हिसाब से जीआईएफ सर्च कर पाएंगे। उदाहरण के तौर पर आप लॉफ इमोजी के जरिए हंसने वाली जीआईएफ सर्च कर सकते हैं और इसे आगे भेज सकते हैं। इसके अलावा अब आप चैट को किसी भी फोल्डर से हटा या जोड़ सकते हैं। बता दें कि टेलिग्राम देश के सबसे पॉप्युलर इंस्टेंट मेसेजिंग ऐप्स में से एक है। वॉट्सऐप को सीधा टक्कर देने वाले इस ऐप के 50 करोड़ से ज्यादा डाउनलोड्स हैं।


हर्बल पौधों से होगा कोरोना का इलाज

नई दिल्ली। कोरोना को लेकर भारतीय वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि कुछ हर्बल पौधों में ऐसे कम्पाउंड पाए हैं जिनसे कोरोना वायरस का इलाज किया जा सकता है। हिसार के नैशनल रिसर्च सेंटर ऑन इक्वॉइन्स (एनआरसीई) के वैज्ञानिकों ने यह दावा ‎किया है। आईसीएआर ने इस रिसर्च की फाइंडिग्स पर फॉर्मल नोट जारी किया। इससे वैज्ञानिकों के लिए कोविड-19 मरीजों के इलाज का कोई रास्ता निकल सकता है। एनआरसीई के डेप्युटी डायरेक्टर जनरल (एनिमल साइंस) बीएन त्रिपाठी ने बताया कि यह ऐसी लीड है जिसने एनआरसीई के साइंटिस्ट्स को कई वायरस के खिलाफ अच्छे नतीजे दिए हैं। हालांकि उन्होंने उन पौधों के बारे में इस वक्त बताने से मना कर दिया। त्रिपाठी ने कहा, ‘इस वक्त मैं यही बता सकता हूं कि वे हर्बल प्लांट्स फिलहाल देश में कई आयुर्वेदिक दवाएं बनाने में इस्तेमाल हो रहे हैं।’ नोट में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी के समय आपात स्थिति को देखते हुए आईसीएआर-एनआरसीई हिसार के वैज्ञानिकों ने कुछ नैचरल प्रॉडक्ट्स के असर का आंकलन किया। ये प्रॉडक्ट्स इंसानी इस्तेमाल के लिए सुरक्षित हैं और आमतौर पर खांसी-बुखार ठीक करने में यूज होते हैं। साइंटिस्ट्स ने चिकन कोरोना वायरस के इन्फेक्शन मॉडल का स्टडी में इस्तेमाल किया ताकि कुछ हर्बल पौधों के एंटीवायरल इफेक्ट को जांचा जा सके। चिकन कोरोना वायरस वो पहला कोरोना वायरस था जिसे 1930 में पहचाना गया। यह पॉउल्ट्री में गंभीर इन्फेक्शन पैदा करता है। आईसीएआर का नोट कहता है, ‘प्रीलिम्नरी स्टडी में एक नैचरल प्रॉडक्ट (वीटीसी-एएनटीआईसी1) ने आईबीवी कोरोना वायरस के खिलाफ अच्छे नतीजे दिए हैं।’ इसमें कहा गया कि गंभीर आईबीवी इन्फेक्शन से मुर्गियों के भ्रूण को बचाने में वह दवा सफल रही। इस प्रॉडक्ट ने कुछ अन्य आरएन और डीएनए वायरस के खिलाफ भी असर दिखाया है। आईसीएआरने इसी के आधार पर दावा किया है कि वीटीसी-एएनटीआईसी1 में कोरोना वायरस का इलाज करने की क्षमता है।वायरस की अपने आप में तेजी से और लगातार परिवर्तन करने की अपनी क्षमता ऐसी दवाओं को बेअसर कर देती है। परंपरागत रूप से एंटी वायरल दवाओं को विकसित करते समय वायरस के किसी एक प्रोटीन को टारगेट किया जाता है।मालूम हो ‎कि कोरोना को कंट्रोल करने के लिए फिलहाल न तो कोई दवा और न ही कोई टीका उपलब्ध है।


अमेरिका में कोरोना और प्राकृतिक आपदा

न्यू ऑर्लीन्स। कोरोना से जूझ रहे अमेरिका में अब प्राकृतिक आपदाओं का साया भी परेशान कर रहा है। रविवार दोपहर एक असंतुलित उष्णकटिबंधीय तूफान ‘क्रिस्टोबल’ लुसियाना के तट पर पहुंचा लेकिन इसका खतरनाक मौसमी असर यहां से बहुत दूर पूर्व में देखने को मिला जहां मिसिसिपी समुद्र तटों पर ऊंची-ऊंची लहरें उठने से अल्बामा द्वीप नगर के कई हिस्से जलमग्न हो गए और फ्लोरिडा में इसके चलते बवंडर उठा। क्रिस्टोबल ने मिसिसिपी नदी के मुख और लुसियाना के ग्रांड आइल नगर के बीच दस्तक दी। तूफान में हवाओं की गति 85 किलोमीटर प्रति घंटे थी। मूसलाधार बारिश के साथ ही, तूफान के उत्तरी खाड़ी तट को सोमवार को भी जलमग्न करते रहने का अनुमान है। न्यू ऑर्लीन्स में, प्रश्न यह है कि कितनी बारिश होगी और वहां की सड़कों को बाढ़ के पानी से मुक्त रखने के लिए उसका पंपिंग सिस्टम काम कर पाएगा या नहीं। तटीय मिसिसिपी के खबरिया संगठनों ने बताया कि बाढ़ का पानी राजमार्गों और तट से ऊपर तक आ जाने के कारण गाड़ियां एवं ट्रक फंस गए।
सिटी ऑफ बिलॉक्सी फेसबुक पेज पर, अधिकारियों ने कहा कि आपात सेवा कर्मियों ने कई मोटर चालकों को बाढ़ के पानी से बाहर निकालने में मदद की। अल्बामा में, मुख्य भूमि को डॉफिन द्वीप से जोड़ने वाला पुल रविवार को अधिकतर समय बंद रहा। तूफान और बारिश के बीच-बीच में थमने पर पुलिस एवं राज्य परिवहन विभाग वाहनों ने मोटर वाहनों के काफिलों की अगुवाई करते हुए उन्हें द्वीप से आने-जाने में मदद की। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि कुछ इलाकों में 30 सेंटीमीटर तक बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि बारिश से मध्य खाड़ी तट और मिसिसिपी घाटी के भीतर तक बाढ़ आ सकती है। क्रिस्टोबल सोमवार दोपहर तक कुछ कमजोर पड़ सकता है लेकिन इसके चलते कई दिनों तक बारिश होने की आशंका है।


दिल्लीः 12.6 दिन में कोरोना केस डबल

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की चपेट में बुरी तरह आ चुकी दिल्ली की भविष्य की तस्वीर और भयानक होने वाली है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के मुताबिक, दिल्ली में 31 जुलाई तक साढ़े पांच लाख केस हो सकते हैं। फिलहाल दिल्ली में 12.6 दिन में कोरोना केस डबल हो रहे हैं।
सिसोदिया ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार मानती है फिलहाल दिल्ली में कम्यूनिटी  है।। जबकि दिल्ली सरकार को लगता है कि ऐसा शुरू हो चुका है। सिसोदिया ने यह बात एसडीएमए (स्टेट डिजॉस्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी) की बैठक के बाद कही। इसमें उपराज्यपाल अनिल बैजल भी शामिल थे


12-13 दिन है डबलिंग रेटः दिल्ली सरकार की तरफ से मनीष सिसोदिया ने बताया कि फिलहाल 12 से 13 दिन के अंदर कोरोना केस दोगुने हो रहे हैं। इसे देखते हुए तैयारी तेज करनी होगी।


दिल्ली में 15 जून तक कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या 44 हजार तक पहुंच जाएगी। 31 जुलाई तक दिल्ली में कोरोना वायरस के साढ़े पांच लाख मामले आएंगे। इतने लोगों का उपचार करने के लिए हमें अस्पतालों में 80 हजार बेड की जरूरत है।
मनीष सिसोदिया


बेड पड़ेंगे कम, उपराज्यपाल ने फैसले पर पुनर्विचार से किया इनकार
मनीष सिसोदिया ने कहा कि 15 जून तक दिल्ली में कोरोना के कुल केस 44 हजार तक पहुंच सकते हैं। आंकड़ा 30 जून तक बढ़कर एक लाख तक पहुंच सकता है। वहीं 15 जुलाई तक कोरोना केस सवा लेख होंगे और 31 जुलाई तक मरीजों की संख्या साढ़े 5 लाख तक पहुंच सकती है। उस वक्त इलाज के लिए 80 हजार बेड की जरूरत होगी।


मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली सरकार ने जो दिल्ली में सिर्फ दिल्ली के लोगों के इलाज का फैसला लिया था उसका पलटा जाना ठीक नहीं है, इससे दिल्लीवालों के लिए संकट पैदा हो गया है। सिसोदिया ने कहा कि मीटिंग में उपराज्यपाल अनिल बैजल से इसपर फिर से विचार करने को कहा गया लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया।


केंद्र सरकार ने कहा कम्यूनिटी स्प्रेड नहीं है: सिसोदिया
दिल्ली में जिस स्पीड से केस बढ़ रहे हैं उससे कम्यूनिटी स्प्रेड का खतरा लग रहा है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने साफ तौर पर कहा भी कि दिल्ली में कम्यूनिटी स्प्रेड शुरू हो चुका है। लेकिन फिलहाल केंद्र सरकार के प्रतिनिधियों ने आज की बैठक में इसे मानने से इनकार कर दिया। मीटिंग के बाद भी जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार साफ कह रही है कि कम्यूनिटी स्प्रेड है लेकिन इसे घोषित करने का अधिकार केंद्र सरकार के ही पास है।


राजस्थान में 144 नए केस सामने आए

जयपुर में 61 नए पॉजिटिव, भरतपुर में 30 और अलवर में 11 संक्रमित मिले; 5 लोगों की मौत


राजस्थान में मंगलवार सुबह कोरोना के 144 नए केस सामने आए


 


जयपुर। राजस्थान में मंगलवार सुबह कोरोना के 144 नए केस सामने आए। इनमें जयपुर में 61, भरतपुर में 30, अलवर में 11, जोधपुर में 8, चूरू में 7, कोटा में 6, सीकर में 5, बाड़मेर में 4, दौसा में 3, जालौर और झालावाड़ में 2-2, बीकानेर, डूंगरपुर, गंगानगर, सवाई माधोपुर में 1-1 संक्रमित मिला। वही, दूसरे राज्य से आया 1 व्यक्ति भी पॉजिटिव मिला। जिसके बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा 11020 पहुंच गया। वहीं, 5 लोगों की मौत हो गई। इनमें जयपुर में 2, अजमेर, जोधपुर और दूसरे राज्य से आए 1-1 व्यक्ति की मौत रिकॉर्ड की गई। जिसके बाद मौतों का कुल आंकड़ा 251 पहुंच गया। इससे पहले राजस्थान में सोमवार को 277 नए कोरोना केस सामने आए। इनमें अलवर में 67, भरतपुर में 60, जोधपुर में 36, जयपुर में 34, कोटा में 12, पाली में 11, सिरोही में 10, सीकर में 7, भीलवाड़ा और डूंगरपुर में 6-6, सवाई माधोपुर में 4, चित्तौड़गढ़ अजमेर और बांसवाड़ा में 3-3, झुंझुनू, बीकानेर, झालावाड़ और बूंदी में 2-2, जालौर, श्रीगंगानगर और बारां में 1-1 संक्रमित मिला। राज्य के बाहर से आए 4 भी संक्रमित मिले। वहीं, 6 लोगों की मौत हो गई। इनमें जयपुर में 3, जोधपुर में 2 और भरतपुर में 1 की मौत हुई।


2587 एक्टिव केसः राज्य में अब तक कुल 5 लाख 18 हजार से ज्यादा सैंपल जांचे गए हैं। इनमें अब तक कुल 11020 पॉजिटव मिले हैं। वहीं, 8182 लोग रिकवर हो चुके। जिसमें से 7779 को डिस्चार्ज किया जा चुका है। अब राज्य में कुल 2587 एक्टिव केस ही बचे हैं। 


राजस्थान: सभी 33 जिलों तक पहुंचा संक्रमण


प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 2323 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 1934 (इनमें 47 ईरान से आए), भरतपुर में 762, पाली में 602, उदयपुर में 587, कोटा में 530, नागौर में 503, डूंगरपुर में 381, अजमेर में 368, झालावाड़ में 331, सीकर में 296, चित्तौड़गढ़ में 198, सिरोही में 210, टोंक में 175, जालौर में 172, भीलवाड़ा में 176, राजसमंद में 162, झुंझुनूं में 163, चूरू में 161, बीकानेर में 113, जैसलमेर में 88 (इनमें 14 ईरान से आए), बांसवाड़ा में 89, बाड़मेर में 110, मरीज मिले हैं। उधर, अलवर में 161, धौलपुर में 69, दौसा में 72, बारां में 60 सवाई माधोपुर में 45, हनुमानगढ़ में 30, प्रतापगढ़ में 14, करौली में 29 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। श्रीगंगानगर में 10, बूंदी में 7 पॉजिटिव मिला। जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 39 लोग पॉजिटिव मिले। राजस्थान में कोरोना से अब तक 251 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 117 की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 24, कोटा में 18, अजमेर में 10, भरतपुर में 9, नागौर में 8, पाली में 7, सवाई माधोपुर और सीकर में 5-5, बीकानेर और चित्तौड़गढ़ में 4-4, भीलवाड़ा, बारां, सिरोही और करौली में 3-3, बांसवाड़ा, जालौर और अलवर में 2-2, धौलपुर, झुंझुनू, दौसा, राजसमंद, उदयपुर, चूरू, प्रतापगढ़ और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्य से आए 13 व्यक्ति की भी मौत हुई है।


7 थाना इलाके में 11 जगह कर्फ्यू, 3 जगह से हटायाः कोरोना वायरस के नए संक्रमित मिलने के कारण सोमवार को जयपुर कमिश्नरेट के 7 थाना इलाके में 11 जगह पर आंशिक कर्फ्यू लगाया गया है। विद्याधर नगर में जगदम्बा कॉलोनी व अम्बाबाड़ी रोड स्थित कौशल किशोर मार्ग व बगरू इलाके में नंदलालपुरा गांव से कर्फ्यू हटा दिया गया है। अब 47 थाना इलाके में 182 जगह पर कर्फ्यू चल रहा है।  56 दिन बाद ईएसआई मॉडल अस्पताल में ओपीडी शुरू
प्रदेश के बीमित कर्मचारियों के लिए राहत वाली खबर है। सरकार की ओर से सोडाला स्थित ईएसआई मॉडल अस्पताल में 56 दिन बाद सोमवार से मरीजों को ओपीडी व जांच सुविधा मिलने लगी है। पहले से वेटिंग में चल रहे 50 मरीजों और आने वाले नए मरीजों के हिसाब से होने वाली मेजर सर्जरी के लिए दो-तीन माह का इंतजार करना पड़ेगा। हालांकि अस्पताल प्रशासन का दावा है कि कल्चर रिपोर्ट आने के बाद ही सर्जरी प्रारंभ कर दी जाएगी। कोविड फ्री करने के बाद बीमारी को फैलने से रोकने के लिए अस्पताल में आने वाले मरीजों की थर्मल स्केनर से जांच, सोशल डिस्टेसिंग और मास्क लगाने के लिए सख्ती से नियमों का पालन करते नजर आए। ये ही नहीं आने वालों का हैंड सेनिटाइजर के बाद में ही प्रवेश मिला।


निगम कार्यकारिणी में सपा के उम्मीदवार

पार्षद मो०आज़म और अजय यादव नगर निगम कार्यकारीणी मे सपा के होंगे उम्मीदवार

 

प्रयागराज। समाजवादी पार्टी ने 12 जून को नगर निगम कार्यकारीणी के चूनाव में वार्ड न० 22 चकिया से पार्षद मो०आज़म और वार्ड न०53 कटरा से अजय यादव को पार्टी की ओर से कार्यकारीणी चूनाव में प्रत्याशी घोषित किया।महानगर मीडिया प्रभारी सै०मो०अस्करी ने बताया की नगर निगम के पार्षद कक्ष में निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन निर्वतमान महानगर महासचिव योगेश चन्द्र यादव की मौजूदगी में वरिष्ठ पार्षद व नेता विरोधी दल अतहर रज़ा लाडले के साथ अन्य पार्षद व समाजवादी पार्टी के नेताओं ने सर्वसम्मति से मो०आज़म व अजय यादव को पार्टी की ओर से अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया।बैठक में शहर उत्तरी विधान सभा अध्यक्ष रविन्द्र यादव रवि,अधिवक्ता किताब अली,अधिवक्ता फरीद राईन,छात्र सभा के कार्यवाहक महानगर अध्यक्ष आक़िब जावेद खान,वरिष्ठ पार्षद गण नेम यादव,ज़फर अहमद डव्वा,रमीज़ अहसन,वरिष्ठ सपा नेता मुजफ्फर बाग़ी समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।

 

रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी

उपाध्यक्ष पद के लिए सत्येंद्र घोषित किए

नगर निगम उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा प्रत्याशी सत्येंद्र चोपड़ा जी घोषित किए गए

 

प्रयागराज। आज नगर निगम कार्यकारिणी चुनाव के संबंध में एक महत्वपूर्ण बैठक महानगर अध्यक्ष श्री गणेश केसरवानी जी की अध्यक्षता में प्रयागराज की महापौर श्रीमती अभिलाषा गुप्ता जी के कार्यालय में हुई।  जिसमें नगर निगम कार्यकारिणी के लिए 12 जून को होने वाले चुनाव में आम सहमति बनाते हुए भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पार्षद श्री सतेंद्र चोपड़ा जी को नगर निगम उपाध्यक्ष पद का प्रत्याशी घोषित किया गया  और कार्यकारिणी सदस्य के लिए श्री अखिलेश सिंह, कमलेश तिवारी ,जगमोहन गुप्ता ,नंदलाल  हेला, और अमरजीत सिंह का नाम सर्वसम्मति से घोषित किया गया इस अवसर पर महानगर अध्यक्ष श्री  गणेश केसरवानी जी एवं महापौर अभिलाषा गुप्ता  जी  ने उपस्थित पार्षदों से घोषित प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान करने की बात करते हुए उन्हें विजई बनाने की अपील की और इस चुनाव के लिए भाजपा महानगर के द्वारा श्री देवेश सिंह तथा वरुण केसरवानी को पर्यवेक्षक के रूप में नियुक्त किया गया।

बैठक में मुख्य रूप से श्री देवेश सिंह, कुंज बिहारी मिश्रा, वरुण केसरवानी जी रमेश पासी पार्षद दल के उप नेता सतेंद्र चोपड़ा पार्षद श्रीमती किरन जायसवाल दीपक कुशवाहा ,गिरिजेश मिश्रा राजेश केसरवानी आदि उपस्थित रहे

 

बृजेश केसरवानी

राजस्थान में बड़ी सियासी सरगर्मियां

गुजरात के बाद राजस्थान में भी सियासी सरगर्मी बढ़ी वरिष्ठ भाजपा नेता का एक ऑडियो हो रहा वायरल


जयपुर। कांग्रेस और उनके समर्थित विधायकों की नजर प्रदेश में होने वाली राजनीतिक नियुक्तियों पर भी है। जिन्हें सरकार में हिस्सेदारी नहीं मिली, उन्हें उम्मीद है कि उसमें तरजीह मिलेगी या अगले कैबिनेट विस्तार में जगह मिलेगी। गुजरात में कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे के बाद अब राजस्थान में भी राज्यसभा चुनाव से ठीक पहले सियासी हलचल तेज हो गई है। एक तरफ गुजरात के 22 विधायकों की राजस्थान में बाड़ाबंदी हो रही है, वहीं दूसरी ओर प्रदेश में कांग्रेस व इसके समर्थित निर्दलीय 10 से 12 विधायकों ने सीएम अशोक गहलोत से शिकायत की है कि दिल्ली से भाजपा के बड़े नेता उन्हें फोन कर रहे हैं। भाजपा में शामिल होने के लिए उन्हें सभी तरह के लालच दिए जा रहे हैं।


हाल में एक वरिष्ठ भाजपा नेता का एक ऑडियो भी वायरल हुआ। हालांकि, अब तक राजस्थान में किसी कांग्रेस समर्थित निर्दलीय विधायक ने खुलकर भाजपा में जाने के संकेत नहीं दिए हैं। राजस्थान का सियासी गणित देखें तो कांग्रेस को कोई खतरा नहीं है। लेकिन भाजपा की नजर राजस्थान में गहलोत विरोधी उस गुट पर है जो लगातार सरकार के खिलाफ मुखर होता रहता है। भाजपा इसे ही साधने में जुटी है।


मप्र में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट के 22 विधायकों का भविष्य जिस तरह अधर में है, उसे देखते हुए राजस्थान में कांग्रेस का असंतुष्ट खेमा भी सीधे तौर पर सियासी जोखिम लेने की स्थिति में नहीं है। इसके अलावा सीएम अशोक गहलोत का सियासी कद भी विधायकों को एकजुट रखने की बड़ी वजह है।


पीएम मोदी खुद कोरोना मैनेजमेंट को लेकर गहलोत की तारीफ कर चुके हैं। भीलवाड़ा मॉडल को पूरे देश ने सराहा। साथ ही, कोरोना से निपटने के मामले में भी गहलोत जिस तरह सभी विधायकों को साथ लेकर चले, उसे देखते हुए कोई उलटफेर आसान नहीं।


हालांकि, कांग्रेस के एक गुट में अंतर्विरोध देखते हुए ही भाजपा ने राज्यसभा चुनाव में दो प्रत्याशी उतारे हैं। जबकि उसके पास सिर्फ एक को जिताने लायक ही विधायक हैं। लेकिन कांग्रेस में कई विधायक मंत्री न बनने से नाराज चल रहे है। ऐसे ही नाराज विधायकों के दमखम पर भाजपा ने वोटों की गणित में कमजोर हुए भी दो प्रत्याशी मैदान में उतारे।


कांग्रेस के पास अपने 107 विधायक हैं। 13 निर्दलीय विधायक भी उसी के समर्थन में हैं। आरएलडी सरकार में पहले ही शामिल है। इसके अलावा बीटीपी, लेफ्ट का झुकाव भी सरकार की तरफ ही है। वहीं, भाजपा गठबंधन के पास कुल 75 विधायक ही हैं। मप्र में ज्योतिरादित्य व उनके समर्थक 22 विधायकों को उपचुनावों में टिकट बंटवारे को लेकर अंतर्विरोध चरम पर है। जिन सीटों पर ये विधायक उपचुनाव लड़ना चाहते हैं वहां से भाजपा के कई वरिष्ठ नेता भी दावेदार हैं। नतीजतन कैबिनेट री-शफल अटका हुआ है। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए विधायक खाली हाथ हैं।


डीसीपी के खिलाफ की बड़ी कार्रवाई

पटना। बिहार के एक डीएसपी पर कार्रवाई की गई है। पटना नगर के पुलिस उपाधीक्षक कैलाश प्रसाद जो वर्तमान में बिहार सैन्य पुलिस 3 में पदस्थापित हैं उनके खिलाफ गृह विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है।


पटना के होटल पनास के मामले में आरोपी डीएसपी कैलाश प्रसाद पर विभागीय कार्यवाही संचालित की गई थी. संचालन पदाधिकारी द्वारा प्रमाणित किए गए आरोपों में अनुशासनिक प्राधिकार द्वारा तीन वेतन वृद्धि संचयी प्रभाव से अवरुद्ध करने का निर्णय लिया गया है. इस दंड को बिहार लोक सेवा आयोग ने भी सहमति दे दी है। बता दें कि 26 अप्रैल 2016 को पटना गांधी मैदान थाना क्षेत्र के होटल पनास में शराब को लेकर छापेमारी की गई थी. छापेमारी में तत्कालीन नगर पुलिस उपाधीक्षक कैलाश प्रसाद स्तर से लापरवाही बरती गई थी। नगर पुलिस उपाधीक्षक की तरफ से पूरे मामले में गंभीर लापरवाही बरती गई और शऱाबियों की मदद पहुंचाने की कोशिश की । मामला सामने आने के बाद गृह विभाग ने कार्रवाई शुरू की और 8 बिंदुओं पर आरोप प्रमाणित पाया।इसके बाद गृह विभाग ने आरोपी डीएसपी कैलाश प्रसाद का तीन वेतन वृद्धि काटने का निर्णय लिया है।


तेज हुई पाक सेना की नापाक हरकतें

नई दिल्ली। लद्दाख सरहद पर चीन के साथ तनातनी के बीच लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर पाकिस्तानी सेना की नापाक हरकतें भी तेज हो गई हैं। पुंछ जिले के मनकोटे सेक्टर में मंगलवार तड़के सीजफायर का उल्लंघन किया गया है। इससे पहले केरन और रामपुर सेक्टर के बाद उरी में भी पाकिस्तान ने बेतहाशा गोलाबारी की। पाकिस्तान की ओर से पुंछ जिले के मनकोटे सेक्टर में मंगलवार सुबह 6 बजकर 30 मिनट पर जबरदस्त गोलाबारी की गई। सीजफायर का उल्लंघन करते हुए पाकिस्तान ने मोर्टार और छोटे हथियारों से फायरिंग की। इस फायरिंग का भारतीय सेना ने जबरदस्त जवाब दिया। बीते दिनों में पाकिस्तान ने कई बार सीजफायर तोड़ा है।


इससे पहले एलओसी के नजदीक बसा उरी एक बार फिर दहल उठा. एलओसी के उस पार से पाकिस्तानी सेना भारत के इस गांव पर अंधाधुंध गोलाबारी कर रही है. उन्हीं अनगिनत बारूदी गोलों में से एक जिंदा शेल मकान के पास गिर गया. सेना की बम डिस्पोसल स्क्वाड ने मौके पर पहुंचकर इस शेल को खाली जगह पर सुरक्षित तरीके से उड़ा दिया.


उरी सेक्टर के रिहायशी इलाकों में पाकिस्तानी फौज की गोलाबारी अरसे बाद देखी जा रही है. एलओसी के उस पार से फायरिंग तो पहले भी होती थी, लेकिन इस बार पाकिस्तानी फौजें बेहद ताकतवर हथियारों का इस्तेमाल कर रही हैं. भारत की ओर से इसका माकूल जवाब भी दिया जा रहा है, लेकिन इलाके के लोग बेहद दहशत में हैं.


उरी के अलावा केरन और रामपुर सेक्टर भी पाकिस्तानी फौज लगातार सीजफायर तोड़ रही है। इधर घाटी में भी आतंकी वारदातों ने एक बार फिर से जोर पकड़ लिया है, उधर लद्दाख सरहद पर चीन की हलचल भी लगातार बढ़ रही है। ऐसे माहौल में एलओसी पर पाकिस्तानी सेना की बेवजह गोलाबारी किसी बड़ी साजिश से ध्यान हटाने का शक पैदा कर रही है।


स्वयं संघ के कार्यकर्ता कर रहे हैं रक्तदान

रुड़की। राष्ट्रीय स्वयं संघ द्वारा रक्तदान शिविर नर सेवा नारायण सेवा नरेंद्र जिला प्रचारक सिविल अस्पताल रुड़की में थैलेसीमिया के करीबन 52 मरीजों को 100 यूनिट रक्त प्रतिमाह चढ़ाया जाता है। रुड़की तथा उसके आसपास के गांव से भी रक्त लेने सिविल अस्पताल पहुंचते हैं किंतुकोरोना काल में रक्तदान करने वाले नहीं पहुंच रहे हैं ।ब्लड बैंक प्रभारी डॉ रितु खेतान की नरेंद्र जिला प्रचारक  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से वार्ता पर संघ के स्वयंसेवकों द्वारा रक्तदान किया जा रहा है। प्रतिदिन 10 स्वयंसेवक रक्तदान कर रहे हैं। अभी तक 50   स्वयंसेवकों द्वारा रक्तदान कर प्रमाण पत्र प्राप्त किया है जिला प्रचारक द्वारा कहा गया की नर सेवा नारायण सेवा  को सार्थक करते हुए संघ के स्वयंसेवकों द्वारा करोना काल में राशन सामग्री किट एवं भोजन पैकेट, प्रवासी लोगों के लिए नारसन बॉडर पर भोजनालय चलाया गया व अब रक्तदान करने वाले स्वयं सेवकों की सूची तैयार की गई है जिससे कोरोना काल में ब्लड बैंक को स्वयंसेवक रक्तदान करते रहेंगे। अभी तक रक्तदान  करने वालों में अतुल  ,गुरु वचन ,नवीन ,सिद्धार्थ जितेंद्र  समर सिंह किशनपाल, इंद्रेश, अक्षय ,राजीव ,शशि, पंकज सहित 50 स्वयंसेवक को द्वारा रक्तदान कर प्रमाण पत्र प्राप्त किए गए।


सिंधिया की मां में वायरस के लक्षण मिले

नई दिल्ली। भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां का स्वास्थ्य खराब होने पर दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स हास्पिटल में भर्ती कराया गया है। उनमें कोविड 19 जैसे लक्षण मिले हैं। दोनों लोगों की हालत सामान्य बताई जाती है। अभी उनकी कोविड 19 की रिपोर्ट नहीं आई है।


ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी लोगों ने बताया कि गले में खराश और बुखार की चपेट में वह और उनकी मां आ गईं। जिसके बाद सोमवार को ही साकेत स्थित अस्पताल में डॉक्टरों के कहने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां भर्ती हो गईं। आज दूसरे दिन उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है। हालांकि अभी कोविड-19 की टेस्टिंग रिपोर्ट नहीं आई है। जिससे यह कन्फर्म नहीं हो सका है कि उन्हें कोरोना वायरस है या नहीं।


चार्जशीट में कपिल मिश्रा का नाम नहीं

दिल्ली दंगो की चार्जशीट में जामिया और नागरिकता बिल का विरोध कर रहे लोगो को आरोपी बनाया, भाजपा नेता कपिल मिश्रा का चार्जशीट में ज़िक्र ही नही

श़ेख़ नसीम 

नई दिल्ली। देश के बहुचर्चित दिल्ली दंगा कांड में पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी। पुलिस की जांच के बाद जो चार्जशीट बनाई गई हैं उसमें जामिया और नागरिकता बिल का विरोध कर रहे लोगो को ही आरोपी बनाया गया हैं और भाजपा नेता कपिल मिश्रा का कही भी ज़रा सा ज़िक्र तक नही हैं।

मोदी सरकार के नागरिकता कानून बिल के खिलाफ दिल्ली में विरोध प्रदर्शन चल रहा था उसी दौरान भाजपा के नेता कपिल मिश्रा ने भड़काऊ भाषण देते हुए कहा था रास्ता तो हम खाली करवा कर रहेंगे। उसके बाद से ही दिल्ली में दंगे हुए थे। पुलिस ने अपनी जांच में कपिल मिश्रा को तो छोड़ दिया लेकिन चार्जशीट में जामिया और नागरिकता बिल का विरोध कर रहे लोगो को आरोपी बना दिया और कहा इन्ही लोगो की वजह से दिल्ली में दंगा हुआ था दिल्ली पुलिस की ये एकतरफा कार्यवाही शक के दायरे में हैं। दिल्ली पुलिस को भाजपा नेता कपिल मिश्रा का न भड़काऊ बयान सुनाई दिया और न ही कपिल मिश्रा का इसमे कोई रोल नज़र आया।

हाईटेक पुलिस की उड़ रही है खिल्लियां

यूपी की हाईटेक पुलिस की सोशल मीडिया पर जमकर उड़ रही खिल्लियां

यूपी पुलिस को हाईटेक करने की कोशिश प्रदेश सरकार समय-समय पर करती रहती है, लेकिन हाईटेक करने के साथ-साथ पुलिस अपने पुराने ढर्रे पर ही चलती नजर आ रही है। एक तरफ देश में मेट्रो, बुलेट ट्रेन चलने की बात की जाती है, तो वहीं दूसरी तरफ अपराध रोकने वाली पुलिस अब गाड़ियों को धक्का मारते नजर आती है। 

कौशांबी पुलिस की खिल्ली उड़ाने वाली कुछ ऐसी ही तस्वीरें सामने आई हैं, जहां मुलजिम को पकड़ने वाली कौशांबी पुलिस खुद अपनी सरकारी गाड़ी में धक्का लगाती हुई नजर आ रही हैं। अब सोचने वाली बात यह है कि अगर अपराधियों की सूचना मिलती है तो क्या पुलिस इन गाड़ियों से समय पर पहुंच पाएगी.?

 

पुलिस की खिल्ली उड़ाती इन तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि किस तरीके से पुलिस अपनी गाड़ियों में धक्का लगाती नजर आ रही है। इसका साफ कारण यही है कि पुलिस को मिलने वाली गाड़ियों का अच्छे से रख रखाव नहीं किया जाता। जिस कारण वह समय-समय पर खराब हो जाती हैं और मुलजिम की सूचना या किसी घटना की सूचना आने पर पुलिस मौके पर पहुंचने में असमर्थ होती है। सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो की पड़ताल की गई तो पता चला यह गाड़ी कोखराज थाना इलाके के रिपोर्टिंग पुलिस चौकी भरवारी की है। बताया जाता है कि मुल्जिमो को लेकर चौकी प्रभारी जिला कारागार गए थे। वापस लौटते समय ओसा चौराहे के पास उनकी सरकारी गाड़ी ने धोखा दे दिया। जिसके बाद हमराही पुलिस लोगो की मदद से गाड़ी की धक्का लगाते हुए दिखे है।

ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि प्रदेश सरकार यूपी पुलिस को हाईटेक बनाने के साथ-साथ बजट गाड़ियों को सुधारने के लिए आता तो है लेकिन वो धन कहाँ चला जाता है, जो पुलिस को ड्यूटी के दौरान धक्का मारने पर मजबूर करता है.?

डीएस यादव

लापरवाही नहीं की जाएगी बर्दाश्तः त्रिवेंद्र

कार्य के प्रति लापरवाही नहीं की जायेगी बर्दाश्त : मुख्यमंत्री


जल जीवन मिशन के तहत होने वाले कार्यों के लिए केन्द्र को प्रस्ताव भेजें


डोईवाला विधानसभा क्षेत्र में सीएम की 70 प्रतिशत घोषणाएं पूर्ण


देहरादून। प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रदेश में मुख्यमंत्री घोषणाओं को निर्धारित समयावधि में पूर्ण किया जाये। कार्य के प्रति किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जल जीवन मिशन के तहत होने वाले कार्यों के लिए केन्द्र को प्रस्ताव बनाकर भेजें। केन्द्र सरकार द्वारा विभिन्न जन कल्याण योजनाओं के लिए राज्य सरकार को भरपूर सहयोग मिल रहा है।


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने सोमवार को सचिवालय में डोईवाला विधानसभा की घोषणाओं के सबंध में बैठक ली। ज्ञातव्य है कि पिछली बैठकों में अन्य विधानसभाओं की समीक्षा हो गई थी। डोईवाला विधानसभा में मुख्यमंत्री की 132 घोषणाओं में से 93 घोषणाएं पूर्ण हो चुकी हैं। लोक निर्माण विभाग की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने रेलवे ओवर ब्रिज से भानियावला तक डबल लेन के निर्माण एवं बाईपास के किनारे फुटपाथ निर्माण तथा सौन्दर्यीकरण के कार्य में विलम्ब पर नारजगी व्यक्त की। उन्होंने 30 जून तक इसका इस्टीमेट शासन को भेजने के निर्देश दिये। नागल ज्वालापुर से डोईवाला के मध्य सड़क चौड़ीकरण का कार्य, डोईवाला विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत अन्य सड़कों का निर्माण एवं चौड़ीकरण के अवशेष कार्यों को जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिये। राजकीय इण्टर कॉलेज रानीपोखरी में स्व. राजेन्द्र सिंह शाह की मूर्ति जल्द स्थापित करने के निर्देश दिये। वहीं पेयजल विभाग की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि जौलीग्रान्ट पेयजल योजना के सुदृढ़ीकरण का कार्य चल रहा है। डोईवाला नगरीय पेयजल योजना का कार्य भी प्रगति पर हैं वैभव विहार नवादा में जलाशय  एवं डोईवाला विधानसभा के विभिन्न वार्डों के मौहल्लों में पाईप लाईन बिछाने के कार्य के लिए एस्टीमेट बनाया जा रहा है। सौडा सरोली, बड़ासी ग्रान्टएवं थानों चकताई पेयजल योजना के सुदृढ़ीकरण का कार्य जल जीवन मिशन के तहत किया जायेगा।


सिंचाई विभाग की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई की इन्दरपुर में नवादा नाले की जल निकासी एवं माजरी नहर के दोनों ओर वाकिंग ट्रेक तथा शैडेड सिटिंग एरिया निर्माण का कार्य गतिमान है। डोईवाला में बस अड्डे के निर्माण के लिए रेशम विभाग की भूमि चिन्हित की गई है, इसके लिए अभी विभाग की सहमति नहीं मिली है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए विभाग से बात की जाये। उनको अन्य स्थान पर भूमि की व्यवस्था भी जाये। विद्यालयी शिक्षा की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि राजकीय इण्टर कॉलेज इठारना के लिए नवीन भवन, राजकीय इण्टर कॉलेज दूधली में बहुद्देशीय हॉल एवं राजकीय इण्टर कॉलेज रानीपोखरी के कक्षा कक्षों के जीर्णोद्धार की कार्यवाही जल्द पूर्ण की जाये।


युवा कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि मिनी स्टेडियम के लिए अठूरवाला में जमीन चिन्हित की गई है। दुधली, भानियावाला, लालतप्पड़ व थानों में छोटे छोटे खेल मैदानों की स्थापना की कार्यवाही गतिमान है। राज्य स्तरीय शहीद स्मारक का निर्माण कार्य शहरी विकास विभाग द्वारा किया जायेगा। इसके लिए सहस्त्रधारा रोड पर भूमि चिन्हित की गई है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इठारना में सौन्दर्यीकरण का कार्य किया गया है। डोईवाला में एक फायर यूनिट स्थापित की गई, फायर स्टेशन की कार्यवाही गतिमान है। डोईवाला सुगरमिल के आधुनिकीकरण का कार्य प्रगति पर है।


बैठक में अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी धीरेन्द्र सिंह पंवार, सचिव आर.के सुधांशु, आर.मीनाक्षी सुंदरम, शैलेष बगोली, दिलीप जावलकर, बृजेश कुमार संत एवं सबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।


छत्तीसगढ़ से केंद्र को मिले 2230 करोड़

जीएसटी व योजनाओं से मिले 2230 करोड़ रुपये
रायपुर। केंद्र सरकार के 20 लाख करोड़ के आत्मनिर्भर भारत पैकेज से छत्तीसगढ़ के लोगों को सीधे कोई लाभ नहीं हुआ, लेकिन इस बीच जीएसटी और अन्य योजनाओं के जरिए मिले 2230 करोड़ रुपए ने कोरोना संकट के दौर में बड़ी भूमिका निभाई है। जीएसटी के अंतर्गत ही 1117 करोड़ मिले हैं। इस राशि से राज्य सरकार ने शहरों को कोरोना की रोकथाम के लिए जरूरी मदद दी है। केंद्र सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि में 432 करोड़, पीएम जन धन योजना में 393 करोड़, पेंशन की एनएसएपी योजना में 43 करोड़, ईपीएफ विड्राल में 17 करोड़, स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फंड में 216 करोड़, 24 प्रतिशत ईपीएफ में 12 करोड़ दिए हैं। इसी तरह पहली किस्त के रूप में सेंट्रल टैक्स व ड्यूटी का वर्ष 2020-21 का 1574 करोड़ दिया गया है। पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना, मास्क, पीपीई किट, टेबलेट, सरकारी व निजी लैब को भी मंजूरी दी गई है। इस बीच केंद्र सरकार ने जीएसटी का 36400 करोड़ रुपए जारी किया है। इसमें से राज्यों का हिस्सा उन्हें भेजा जा रहा है। छत्तीसगढ़ के हिस्से में करीब 1600 करोड़ रुपए मिल सकते हैं। ये दिसंबर से फरवरी तक का आबंटन है। इसके पहले की राशि दी जा चुकी है।कर्मकार मंडल में 400 करोड़ रुपए जमा हैं। इसे केंद्र ने मजदूरों को बांटने कहा था। इस संबंध में केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री संतोष गंगवार ने राज्यों को पत्र लिखकर पंजीकृत श्रमिकों के खातों में बिल्डिंग एंड अदर्स कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर का पैसा जमा करने का आग्रह किया था। प्रदेश के लगभग 15 लाख संगठित कुशल मजदूरों को इसका फायदा होगा। दरअसल प्रदेश का सन्निर्माण कर्मकार मंडल पूर्व में इन पैसों से मजदूरों को सिलाई मशीन, साइकिल, टिफिन आदि बांटता रहा है। मजदूरों के घर बनाने व बच्चों की पढ़ाई में खर्च किया जाता है। ईएसआई अस्पताल भी बनाए जाते हैं। दरअसल हर राज्य में कंस्ट्रक्शन वर्क पर दो फीसदी श्रमिक कल्याण उपकर लिया जाता है। यह सड़क, भवन आदि निर्माण करने वाले ठेकेदारों से वसूला जाता है। यह केंद्र सरकार के पास जमा होता है। राज्य में श्रममंत्री इस मंडल के अध्यक्ष हैं। उन्हीं के ओएसडी मंडल के सचिव है। पूर्व में श्रम विभाग के उच्च पदाधिकारी इस मंडल के सचिव नियुक्त होते थे। केंद्रीय श्रम मंत्री ने इस पत्र के माध्यम से राज्य सरकार से आग्रह किया है कि बीओसीडब्लू वेलफेयर फंड में जमा राशि का उपयोग पंजीकृत श्रमिकों के खातों में आर्थिक सहायता के रूप में जमा किया जाए।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


 जून 10, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-302 (साल-01)
2. बुधवार, जूूून 10, 2020
3. शक-1943, अषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि- पंचमी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:39,सूर्यास्त 07:24।


5. न्‍यूनतम तापमान 22+ डी.सै.,अधिकतम-41+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


80 वर्षीय पेले को चिकित्सा कक्ष में भर्ती किया

ब्रासीलिया। ब्राजील के दिग्गज फुटबॉलर पेले की आंत से ट्यूमर निकालने के लिये किये आपरेशन के बाद स्थिति सामान्य बनी हुई है और उनकी बेटी केली न...