गुरुवार, 12 अक्तूबर 2023

प्रदूषण: खराब श्रेणी में पहुंची वायु गुणवत्ता

प्रदूषण: खराब श्रेणी में पहुंची वायु गुणवत्ता 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर इलाके की आबोहवा अभी से ही लोगों का दम घोंटने लगी है। प्रदूषण की वजह से वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में पहुंच गई है। जिसके चलते न्यूनतम तापमान अभी तक के सबसे निचले स्तर पर दर्ज किया गया है। बृहस्पतिवार को दिल्ली में वायु प्रदूषण की वजह से हवा की गुणवत्ता खराब होने से लोगों की चिंताओं में इजाफा हो गया है। 
वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में पहुंचने के साथ-साथ राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान अभी तक के सबसे निचले स्तर 16.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।  हवा की दिशा में बदलाव के एक दिन बाद ही तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया है। बृहस्पतिवार को केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक सवेरे के समय तकरीबन 9.00 बजे प्रति घंटा वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी एक्यूआई 204 था जो खराब श्रेणी के निचले स्तर पर था। इससे पहले बुधवार को औसत 24 घंटे का एक यूआई मध्यम श्रेणी के उच्च अंत में 193 था।

बुलडोजर ने तीन मंजिला भवन को ध्वस्त किया

बुलडोजर ने तीन मंजिला भवन को ध्वस्त किया 

संदीप मिश्र 
जौनपुर। ईसाई मिशनरी के प्रार्थना केंद्र जीवन ज्योति के प्रकाश को खत्म करते हुए बाबा के बुलडोजर ने तीन मंजिला भवन को ध्वस्त कर दिया है। सरकारी जमीन पर बना यह प्रार्थना स्थल अवैध रूप से निर्मित कराया गया था। बृहस्पतिवार को चंदवक थाना क्षेत्र के भुलनडीह गांव में प्रशासन की ओर से की गई एक बड़ी कार्यवाही के अंर्तगत जीवन ज्योति ईसाई धर्म प्रार्थना केंद्र को बुलडोजर की सहायता से ध्वस्त कर दिया गया है। 
कार्यवाही को अंजाम देने से पहले प्रशासनिक अफसरों द्वारा प्रार्थना सभा की तरफ जाने वाले सभी रास्तों पर पुलिस फोर्स तैनात करते हुए सील कर दिया गया था। अवैध निर्माण को गिराने के लिए एसडीएम नेहा मिश्रा, एडिशनल एसपी बृजेश कुमार, सीओ गौरव शर्मा, नायब तहसीलदार हुसैन अहमद एवं थाना अध्यक्ष महेश कुमार सिंह भारी पुलिस फोर्स एवं दमकल विभाग की गाड़ियों के काफिले के साथ गांव में पहुंचे और इलाके की घेराबंदी करते हुए सभी रास्तों को सील कर दिया। आधा दर्जन जेसीबी की मदद से प्रार्थना स्थल के अवैध निर्माण को बुलडोजरों ने जब गिराना शुरू किया तो पूरा इलाका धूल के गुब्बार से पट गया। चारों तरफ बनी बाउंड्री वाल को गिराने के बाद बुलडोजर ने हाल एवं कमरों के अलावा अन्य निर्माण को भी जमीदोंज कर दिया। प्रार्थना स्थल को ध्वस्त करने की कार्रवाई काफी समय तक चलती रही।
एसडीएम नेहा मिश्रा ने बताया है कि अवैध निर्माण के चलते ध्वस्तीकरण की कार्रवाई चल रही है। जो भी अवैध निर्माण है, उसे जमींदोज किया जाएगा। 
उल्लेखनीय है कि धर्म परिवर्तन कराने की शिकायतों के बाद 29 सितंबर को गांव में बने जीवन ज्योति ईसाई धर्म प्रार्थना केंद्र की पैमाईश करने के बाद जब नायब तहसीलदार हुसैन अहमद की अगवाई में राजस्व टीम वापस लौट रही थी तो रास्ते में दो दर्जन से अधिक नकाबपोश बाईकों पर सवार लड़को ने उनके ऊपर पथराव कर दिया था। इसमें दो लेखपाल एवं चालक घायल हो गए थे। इस पथराव की चपेट में आकर सरकारी गाड़ी का शीशा भी टूट गया था।

हम एक बच्चे को नहीं मार सकते: एससी

हम एक बच्चे को नहीं मार सकते: एससी 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने दो बच्चों की मां को 26-सप्ताह के गर्भ को समाप्त करने की अनुमति देने वाले अपने आदेश को वापस लेने की केंद्र की याचिका पर सुनवाई करते हुए बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘हम एक बच्चे को नहीं मार सकते है।
शीर्ष अदालत ने स्पष्ट किया कि शीर्ष अदालत को एक अजन्मे बच्चे जो कि ‘जीवित और सामान्य रूप से विकसित भ्रूण’ है, उसके अधिकारों को उसकी मां के निर्णय लेने की स्वायत्तता के अधिकार के साथ संतुलित करना होगा। 
इसके साथ ही, प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ ने केंद्र और महिला के वकील को उससे (याचिकाकर्ता से) गर्भावस्था को कुछ और हफ्तों तक बरकरार रखने की संभावना पर बात करने को कहा। न्यायालय ने याचिकाकर्ता के वकील से पूछा, ‘‘क्या आप चाहते हैं कि हम एम्स के चिकित्सकों को भ्रूण की धड़कन रोकने के लिए कहें?’’ 
पीठ में न्यायमूर्ति जे. बी. पारदीवाला और न्यायमूर्ति मनोज मिश्रा भी शामिल थे। जब वकील ने ‘नहीं’ में जवाब दिया, तो पीठ ने कहा कि जब महिला ने 24 सप्ताह से अधिक समय तक इंतजार किया है, तो क्या वह कुछ और हफ्तों तक भ्रूण को बरकरार नहीं रख सकती, ताकि एक स्वस्थ बच्चे के जन्म की संभावना हो।
पीठ ने मामले की सुनवाई शुक्रवार सुबह 10:30 बजे तय की है। यह मामला न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ की अगुवाई वाली पीठ के समक्ष उस वक्त आया जब बुधवार को दो न्यायाधीशों की पीठ ने महिला को 26-सप्ताह के गर्भ को समाप्त करने की अनुमति देने के अपने नौ अक्टूबर के आदेश को वापस लेने की केंद्र की याचिका पर खंडित फैसला सुनाया।
शीर्ष अदालत ने नौ अक्टूबर को महिला को यह ध्यान में रखते हुए गर्भ को चिकित्सीय रूप से समाप्त करने की अनुमति दी थी कि वह अवसाद से पीड़ित है और ‘भावनात्मक, आर्थिक और मानसिक रूप से’ तीसरे बच्चे को पालने की स्थिति में नहीं है।

देवरिया: डीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक की

देवरिया: डीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक की

हरिशंकर त्रिपाठी 
देवरिया। जिलाधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में आईजीआरएस के गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्ध निस्तारण के संबंध में समस्त जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि आईजीआरएस प्रकरण डिफॉल्टर होने पर संबंधित विभाग के जवाबदेह अधिकारी का वेतन किसी भी दशा में जारी नहीं होगा तथा दंडात्मक कार्रवाई भी की जाएगी। आइजीआरएस प्रकरण का शासन की मंशानुरूप गुणवत्तापूर्ण निस्तारण होना चाहिए।
जिलाधिकारी ने कहा कि प्रायः यह देखा जा रहा है कि कानून व्यवस्था एवं भूमि विवाद जैसे कुछ संवेदनशील प्रकरणों में निचले स्तर के कार्मिकों द्वारा बिना स्थलीय निरीक्षण किये तथा बगैर फोटोग्राफ एवं संबंधित पक्ष के बयान लिए सरसरी तौर पर भ्रामक तथ्यों के साथ निस्तारण किया जा रहा जो किसी भी दशा में स्वीकार्य नहीं है। जिम्मेदार अधिकारी प्रत्येक आईजीआरएस आख्या का अवलोकन गंभीरतापूर्वक स्वयं करें। संवेदनशील प्रकरणों में आवेदनकर्ता से बात भी करें एवं तथ्यों के विषय भलीभांति जानकारी प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि अधिकारी निचले स्तर के कर्मचारियों के भरोसे न बैठे।
जिलाधिकारी ने कहा कि प्रायः यह भी देखा जा रहा है कि आइजीआरएस प्रकरण के निस्तारण 30 दिन की निर्धारित समयावधि में अंतिम समय पर किया जा रहा है, जिससे कई बार अंतरण की संभावना समाप्त हो जाती है और प्रकरण डिफॉल्ट हो जाता है। पोर्टल पर प्रकरण प्राप्त होते ही उसकी ट्रैकिंग शुरू की जाए।
जिलाधिकारी ने गुणवत्तापूर्ण समाधान पर विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि आवेदनपत्र का निस्तारण करते समय आवेदक को वस्तु स्थिति से अवगत कराया जाए। जिस विभाग में सी श्रेणी के प्रकरण अधिक होंगे उनका भी उत्तरदायित्व तय किया जाएगा।
जिलाधिकारी ने कहा कि जनसुनवाई पोर्टल पर प्राप्त मुख्यमंत्री संदर्भ, सीएम हेल्पलाइन, ऑनलाइन सन्दर्भ, मंडलायुक्त संदर्भ, पीजी पोर्टल भारत सरकार एवं संपूर्ण समाधान दिवस तथा जिलाधिकारी जन सुनावाई में प्राप्त शिकायतों के निस्तारण समीक्षा में यह तथ्य सामने आया कि अधिकारियों द्वारा बार-बार निर्देश दिए जाने के बावजूद जन समस्याओं के निस्तारण में लापरवाही बरती जा रही है। डीएम ने समस्त अधिकारियों को चेताते हुए कहा कि जनसुनवाई से जुड़े प्रकरण का निस्तारण समयबद्धता एवं गुणवत्ता के साथ करें। इसमें कोताही मिलने पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। समीक्षा बैठक में सीडीओ प्रत्यूष पांडेय, सीएमओ डॉ राजेश झा, एडीएम प्रशासन गौरव श्रीवास्तव, एएसपी डॉ राजेश सोनकर सहित समस्त एसडीएमगण एवं जनपद स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

रैपिडेक्स का उद्घाटन, सीएम ने निरीक्षण किया

रैपिडेक्स का उद्घाटन, सीएम ने निरीक्षण किया

मुख्यमंत्री ने परखी पीएम मोदी के कार्यक्रमों की तैयारियां

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गाजियाबाद में करेंगे देश के पहले रैपिडेक्स (रैपिड रेल) का उद्घाटन

पीएम के कार्यक्रम और जनसभा की तैयारियों का मुख्यमंत्री ने लिया जायजा, अधिकारियों को दिये दिशानिर्देश

अश्वनी उपाध्याय 
गाजियाबाद। प्रधानमंत्री के कर कमलों से होने वाले देश के पहले रैपिडेक्स (रैपिड रेल) के उद्घाटन एवं जनसभा को सम्बोधित करने वाले स्थान का गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निरीक्षण किया। उन्होंने इस दौरान अधिकारियों को सभी कार्य समय पर पूरा करने के लिए निर्देशित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीआईएसएफ पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों, पार्टी पदाधिकारियों एवं अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान सुरक्षा व्यवस्था सहित अन्य तैयारियों को ससमय पूर्ण कराने के निर्देश दिये। इसके बाद मुख्यमंत्री का काफिला वसुन्धरा सेक्टर-8 जनसभा स्थल पहुंचा। जहां उन्होंने जनसभा स्थल का पैदल ही सूक्ष्म निरीक्षण किया।
मुख्यमंत्री जनसभा से पैदल ही रेपिडेक्स (रैपिड रेल) स्टेशन, साहिबाबाद पहुंचे। वहां उन्होंने स्टेशन का निरीक्षण करते हुए तैयारियों का जायजा लिया। मुख्यमंत्री को रेपिडेक्स स्टेशन पर अधिकारियों द्वारा रैपिड रेल की वीडियो प्रेजेंटेशन दिखाई गयी और बहुत ही बारिकी से उन्हें इससे सम्बंधित सभी बिन्दुओं की जानकारी दी गयी। मुख्यमंत्री ने कहा कि गाजियाबाद जिला वासियों के लिए यह बहुत ही खुशी व गर्व की बात है कि भारत की प्रथम रैपिड रेल का जनपद गाजियाबाद से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कर कमलों से उद्घाटन किया जाएगा।
इस अवसर पर केन्द्रीय राज्यमन्त्री एवं स्थानीय सांसद डॉ. विजय कुमार सिंह, राज्यसभा सांसद डॉ. अनिल अग्रवाल, महापौर सुनीता दयाल, विधायक अतुल गर्ग, विधायक सुनील कुमार शर्मा, विधायक नन्द किशोर गुर्जर, विधायक अजीत पाल त्यागी, भाजपा महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश सिंघल सहित मेरठ मंडल की मंडलायुक्त सेल्वा कुमारी जे., पुलिस कमिश्नर गाजियाबाद अजय कुमार मिश्र, जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

भारतीय वित्तमंत्री ने ब्राजील के मंत्री से मुलाकात की

भारतीय वित्तमंत्री ने ब्राजील के मंत्री से मुलाकात की

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 
नई दिल्ली/ब्रासीलिया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ब्राजील के अर्थव्यवस्था मामलों के मंत्री फर्नांडो हद्दाद से बृहस्पतिवार को मुलाकात की और बहुपक्षीय विकास बैंकों (एमडीबी) को मजबूत करने सहित आपसी हित के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने ब्रिटेन के वित्त मंत्री जेरेमी हंट से भी मुलाकात की और अन्य मुद्दों के अलावा द्विपक्षीय निवेश संधि पर चर्चा की। 
वित्त मंत्रालय ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर लिखा, ‘‘ निर्मला सीतारण ने जी20 की भारत की अध्यक्षता खासकर ‘फ्रेमवर्क वर्किंग ग्रुप’ की सह-अध्यक्षता में ब्रिटेन के मजबूत तथा निरंतर समर्थन के लिए जेरेमी हंट का शुक्रिया अदा किया।’’ मोरक्को के मराकेश में जी-20 वित्त मंत्रियों तथा केंद्रीय बैंकों के गवर्नर (एफएमसीबीजी) की चौथी बैठक और मुद्राकोष-विश्व बैंक की वार्षिक बैठक के दौरान अलग से बैठकें की गईं।
ब्राजील एक दिसंबर से जी-20 की अध्यक्षता संभालेगा और 2024 में अगली जी-20 बैठक की मेजबानी करेगा। अभी जी-20 की अध्यक्षता भारत के पास है। सीतारमण ने ब्राजील की सफलता की कामना की और पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया। वित्त मंत्रालय के बयान के अनुसार, ‘‘दोनों मंत्रियों ने पारस्परिक हित के मुद्दों पर चर्चा की। इसमें एमडीबी को मजबूत करना, जलवायु परिवर्तन के लिए वित्त जुटाना, क्रिप्टो संपत्तियां, वित्तीय समावेश को आगे बढ़ाना, ब्रिक्स का विस्तार आदि शामिल हैं। ’’ 
ब्राजील के 2024 में जी-20 की अध्यक्षता संभालने और उसके बाद दक्षिण अफ्रीका के पास इसकी अध्यक्षता जाने पर सीतारमण ने कहा, ‘‘यह वैश्विक दक्षिण (ग्लोबल साउथ) के मुद्दों को सकारात्मक गति तथा ऊंचाई प्रदान करने का एक उत्कृष्ट अवसर है। जैसा कि वैश्विक दक्षिण के हितों को आगे बढ़ाने के लिए जी-20 फाइनेंस ट्रैक ने भारत की अध्यक्षता में किया था।’’ वैश्विक दक्षिण से आशय विकासशील, कम विकसित या अल्पविकसित देशों से है।

क्षेत्राधिकारी ने पीस कमेटी की मीटिंग आयोजित की

क्षेत्राधिकारी ने पीस कमेटी की मीटिंग आयोजित की

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। आगामी त्यौहारों को सकुशल सम्पन्न कराने तथा सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ रखने हेतु क्षेत्राधिकारी नगर द्वारा थाना कोतवाली नगर पर पीस कमेटी की मीटिंग आयोजित की गई। बैंठक में सभी से जनपद में कानून एंव शान्ति व्यवस्था बनाए रखने हेतु पुलिस प्रशासन का सहयोग करने की अपील की गयी।
क्षेत्राधिकारी नगर रामाशीष यादव द्वारा थाना कोतवाली नगर पर थानाक्षेत्र के सम्भ्रान्त व्यक्ति, धर्मगुरु, जनप्रतिनिधि/ग्राम प्रधान, समाजसेवी, वित्तीय संस्थान स्वामी/संचालक, रामलीला आयोजक आदि के साथ पीस कमेटी मीटिंग का आयोजन किया गया।

क्षेत्राधिकारी द्वारा रामलीला आयोजकों से उनकी समस्याओं के बारे में वार्ता करते हुए निर्देशित किया गया कि पुतलों की लम्बाई मानक के अनुसार ही रखें, आग बुझाने हेतु अग्निशमन यंत्र अवश्य रखें।
ग्राम प्रधानों से वार्ता करते हुए सभी को अपने-अपने ग्राम पंचायतों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने हेतु निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त वित्तीय संस्थान संचालकों/स्वामियों को अपने संस्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाने, कैश के आवागमन के दौरान पुलिस को सूचत करने सहित अन्य आवश्यक दिशा निर्देश दे गए।
इसके साथ ही मीटिंग में उपस्थित सभी से अपील की गयी कि सभी लोग एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करें, जनपद में शांति व्यवस्था बनाये रखें, साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाडने की कोशिश करने वालों/असामाजिक तत्वों/किसी भी प्रकार की आपराधिक अवंछित गतिविधियों दिखाई देने पर इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दें।

किसी प्रकार की अफवाह पर ध्यान न दें बल्कि अफवाह की पुष्टि उच्चाधिकारियों से करे तथा जिले में सौहार्दपूर्ण वातावरण का माहौल बनाये रखने में पुलिस व प्रशासन का सहयोग करें। साथ ही सोशल मीडिया पर ऐसी कोई भी पोस्ट शेयर न करें जिससे किसी की धार्मिक भावनाएं आहत हों।
किसी भी प्रकार की भडकाऊ/गलत/अशोभनीय पोस्ट शेयर न करें साथ ही किसी भी हिंसात्मक अथवा कानून विरोधी गतिविधि का हिस्सा ना बनें। मीटिंग के दौरान सम्बन्धित थाना प्रभारी सहित अन्य पुलिस अधिकारी/कर्मचारीगण उपस्थित रहे।
प्रभारी निरीक्षक छपार अमरपाल शर्मा द्वारा थाना छपार पर गोष्ठी आयोजित कर सभी को आवश्यक दिशा-निर्देशों से अवगत कराया गया।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  


1. अंक-326, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शुक्रवार, अक्टूबर 13, 2023

3. शक-1944, आश्विन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त: 06:13।

5. न्‍यूनतम तापमान- 16 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'  सरस्वती उपाध्याय  चिलचिलाती गर्मी के मौसम में सभी को ठंडा रहने के लिए शरीर को ठंडक ...