गुरुवार, 30 अप्रैल 2020

रूस में 11 मई तक बढ़ा लॉकडाउन

मास्को। रूस में कोरोना वायरस के 7,099 नए मामले सामने आने के साथ ही देश में इस बीमारी के मरीजों की संख्या एक लाख से अधिक हो गई। रूस में इस बीमारी के कारण एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं। इस बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने लॉकडाउन को 11 मई तक बढ़ा दिया है। रूस में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या एक लाख से अधिक हुई, हजारों लोगों की हुई मौत।


बता दे कि रूस में हालात ऐसे हैं कि इस देश में संक्रमित लोगों की संख्या और अधिक हो सकती है, क्योंकि हर किसी की जांच नहीं कराई जा रही है और कई मरीजों में इस रोग के लक्षण नहीं दिख रहे हैं। कोरोना की लड़ाई में बच्चों के लिए आगे आईं ग्रेटा थनबर्ग, पुरस्कार में मिले एक लाख डालर कर दिए दान। रूस के स्वास्थ्य अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि 7,099 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामलों की संख्या 106,498 हो गई। संक्रमित लोगों की संख्या और अधिक हो सकती है, क्योंकि हर किसी की जांच नहीं कराई जा रही है और कई मरीजों में इस रोग के लक्षण नहीं दिख रहे हैं। कोरोना वायरस की वैक्सीन का उत्पादन करेगी ये दवा कंपनी, नहीं कमाएगी कोई लाभ


रूस के बड़े हिस्से में मार्च के अंत से लॉकडाउन लागू है और लोगों को घरों पर रहने का आदेश दिया गया है. इस बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने लॉकडाउन को 11 मई तक बढ़ा दिया है।


अमेरिकी नौसेना के 64 सैनिक संक्रमित

अमेरिकी नौसेना के 64 सैनिक संक्रमित


वाशिंगटन/ सैक्रामेण्टो। कैलिफोर्निया में सैन डिएगो नौसेना अड्डे में लड़ाकू जहाज यूएसएस किड पर तैनात 64 सैनिक संक्रमित मिले हैं। शिप पर क्रू मेंबर्स समेत करीब 300 लोग हैं।मंगलवार को 63%लोगों का परीक्षण किया गया था। शिप को सैन डिएगो में डिसइन्फेक्ट किया जा रहा है। क्रू मेंबर्स को आइसोलेट कर दिया गया है। अमेरिका का यह दूसरा लड़ाकू जहाज हैजो वायरस से प्रभावित हुआ है। विमान वाहक युद्ध पोत यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट समुद्र में तैनात है।


मृतक संख्या-1075 संक्रमित 33610

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1823 नए मामले सामने आए हैं और 67 लोगों की जान गई है। देशभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 33610 हो गई है, जिसमें से 8373 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है और देश में 24162 कोरोना के एक्टिव केस हैं। अभी तक देशभर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1075 हो गई है। वहीं, राजस्थान में आज कोरोना वायरस (COVID-19) के 118 मामले सामने आए हैं। जोधपुर में 83, जयपुर में 21, अजमेर में 4, चित्तौड़गढ़ में 3, कोटा और टोंक में 2, अलवर, बारां और धौलपुर में एक-एक मामले सामने आए हैं और 3 लोगों की मौत हो गई है। राज्य में मरीजों की संख्या 2556 हो गई है और अब तक 58 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 836 लोग ठीक हो गए हैं।


इमरान ने की अमेरिका की निंदा

पाकिस्तान: ईरान पर प्रतिबंधों में ढील न देने पर इमरान ने की अमेरिका की निंदा


इस्लामाबाद। पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान ने ईरान पर लगे प्रतिबंध न हटाने की वजह से अमेरिका की निंदा की है। उन्होंने कहा कि वह वाशिंगटन के अवैध प्रतिबंधों की वजह से तेहरान का समर्थन करने के लिए बाध्य हैं। बुधवार को टेलीफोन पर बातचीत में ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी और पाकिस्तान के प्रधान मंत्री ने कोरोनोवायरस प्रकोप के मद्देनजर दो देशों के बीच व्यापार आदान-प्रदान को फिर से शुरू करने के प्रयासों का आह्वान किया।


पाकिस्तान में सिंध प्रांत के हिंदू विधायक राणा हमीर सिंह भी कोरोनावायरस की चपेट में आ गए हैं। पाकिस्तान में संक्रमण के कुल 15 हजार 508 मामले सामने आ चुके हैं और 343 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके साथ ही 3425 लोग ठीक भी हो चुके हैं।


मोटरसाइकिल आपस में टकराई, मौत

अतुल त्यागी, रिंकू सैनी 


मोटरसाइकिल आपस में टकराने पर चली गोली एक की मौत 


हापुड़। जनपद हापुड़ के थाना गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र के ग्राम बदरखा में दो व्यक्तियों की मोटरसाइकिल आपस में टकराने पर एक ने दूसरे को गोली मारी जिसमें एक व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गई थाना बदरखा के रहने वाले अजमत व शाहरुख की मोटरसाइकिल आपस में टकरा गई जिसमें दोनों आपस में भिड़ गए इसी बीच गांव के आलम वहां पहुंच गए शाहरुख आलम का भांजा है बात इतनी बिगड़ गई की अजमत ने आलम को गोली मार दी गोली लगने पर आलम को तत्काल मोटरसाइकिल पर बैठाकर थाना गढ़मुक्तेश्वर ले जाया गया जहां से पुलिस ने उसको तत्काल हॉस्पिटल भेज दिया जहां पर डॉक्टर ने उसको मृत्यु घोषित कर दिया पुलिस द्वारा अजमत को गिरफ्तार कर लिया गया है तथा उसका एक साथी हसमत फरार चल रहा जिसको जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। अपर पुलिस अधीक्षक सर्वेश मिश्रा ने बताया कि आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा तथा और उपयोग खिलाफ प्राथमिक दर्ज करली गई हैं तथा उसके  विरुद्ध उचित कार्रवाई की जाएगी।


स्वीडन में लॉकडाउन लागू नहीं

स्वीडन: लॉकडाउन लागू नहीं,


स्टॉकहोम। स्वीडन में महामारी के बीच जहां सभी देशों में लॉकडाउन लगा है, वहीं स्वीडन में सरकार ने कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है। यहां लोग खुद ही नियमों का पालन कर रहे हैं। यहां बिना किसी आदेश के ही लोग सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियम का पालन कर रहे हैं। साथ ही अपने हाथ धो रहे हैं। स्वीडन काफी हद तक अन्य कुछ देशों के जैसे संक्रमण को काबू में करने में सफल रहा है। यहां अब तक 20 हजार 302 संक्रमित हैं, जबकि 2462 की मौत हो चुकी है।


स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम के एक पार्क में बैठे लोग। यहां लोग अपनी इच्छा से ही नियमों का पालन कर रहे।


फ्रांस में 23 हजार 660 मौतें हुई

फ्रांस: 23,660 मौतें


पेरिस। फ्रांस में अब तक 23 हजार 660 मौतें हो चुकी हैं। 24 घंटे में संक्रमण के दो हजार से ज्यादा केस सामने आए हैं, जबकि 367 की जान गई है। संक्रमितों की संख्या एक लाख 65 हजार 911 हो चुकी है। प्रधानमंत्री एडोर्ड फिलीप ने मंगलवार को संसद में लॉकडाउन से बाहर निकलने के उपायों की रूपरेखा प्रस्तुत की। कहा कि लॉकडाउन लागू करने के बाद एक महीने में करीब 62 हजार जिंदगियां बचाई गईं हैं। लेकिन अर्थव्यवस्था को ध्वस्त होने से बचाने के लिए लॉकडाउन के कुछ नियमों में ढील देने का समय आ गया है। यहां 11 मई से लॉकडाउन के नियमों में कुछ ढील देने की घोषणा की गई।


फ्रांस के सिबौर पोर्ट पर मास्क पहनकर मछली खरीदती महिला। प्रधानमंत्री ने मंगलवार को कहा-नए मामले 3 हजार से कम नहीं हुए तो 11 मई से लॉकडाउन में छूट नहीं दी जाएगी।


सीएम ने दलों के साथ किया आभार व्यक्त

राणा ओबराय


सीएम मनोहर लाल ने कोरोना मामले में विपक्षी दलों का साथ देने पर किया आभार व्यक्त

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कोरोना वायरस से लडऩे के लिए अपने सभी लागू किए गए और भविष्य के कदमों में हरियाणा सरकार के साथ पूर्ण एकजुटता व्यक्त करने हेतू राज्य के वरिष्ठ राजनीतिक नेताओं का धन्यवाद किया। आज यहां लगभग दो घंटे चली वीडियो कॉन्फ्रेंस बैठक में उनकी अध्यक्षता में पूर्व मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, उप-मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला, स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज और विधायक श्री अभय सिंह चौटाला ने भाग लिया।


बैठक में बताया गया कि गेहूं और सरसों की खरीद जोरों पर है। कल तक लगभग 30 लाख मीट्रिक टन गेहूं और 2.90 लाख मीट्रिक टन से अधिक सरसों की खरीद की जा चुकी है और 52,645 किसानों के खातों में सरसों के लिए लगभग 591 करोड़ रुपये का भुगतान पहले ही किया जा चुका है। इसके अलावा, गेहूं के लिए 700 करोड़ रुपये की राशि भुगतान के लिए आज जारी की जा रही है जो अगले 3-4 दिनों में किसानों के खाते में पहुंच जाएगी। बैठक मे झज्जर, सोनीपत, गुरुग्राम और फरीदाबाद की सीमाओं पर दैनिक यात्रा पर कड़े प्रतिबंध लगाने के हाल के निर्णय के लिए पूरा समर्थन मिला। खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले विभाग, कुरुक्षेत्र के एक इंस्पेक्टर की आत्महत्या मामले की जांच को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपने का भी निर्णय लिया गया। भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने कहा कि राजकोषीय संकट के तहत कर्ज लेने में सरकार को कोई संकोच नहीं करना चाहिए।श्री दुष्यंत चौटाला ने सभी से आग्रह किया कि वे छोटे किसानों की चिंताओं को कम करने हेतू मंडियों में गेहूं देरी से लाने के लिए बड़े किसानों को प्रेरित करें, साथ ही उन्होंने 15 मई, 2020 तक 100 प्रतिशत खरीद का आश्वासन दिया। स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने उम्मीद जताई कि अंतर-राज्य आवागमन पर अंकुश लगाने से हरियाणा जल्द ही कोरोना मुक्त हो जाएगा। बैठक में मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनंद अरोड़ा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव श्री वी. उमाशंकर, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री धनपत सिंह, गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल,खाद्य,नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पी.के. दास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टी.वी.एस.एन. प्रसाद, चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री आलोक निगम और राज्य सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


अवैध शराब बरामद, तीन गिरफ्तार

अतुल त्यागी, रिंकू सैनी 


अवैध शराब के साथ 3 लोग गिरफ्तार,अवैध शराब बरामद


हापुड़। जनपद की थाना बाबूगढ़ का अपराधियों के विरुद्ध धरपकड़ अभियान जारी है। इसी क्रम में पुलिस ने तीन लोगों को अवैध अंग्रेजी शराब के साथ गिरफ्तार करने का दावा किया है। जहां पूरे भारत में चल रहे लाॅकडाउन को लेकर लोग दैनिक जीवन यापन करने में परेशानियों का सामना कर रहे हैं। वही अवैध शराब की स्मगलिंग करने वाले लोग ऐसी आपातकालीन स्थिति में भी बाज नहीं आ रहे। बाबूगढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक उत्तम सिंह राठौर व उनकी टीम मुदाफरा चौकी प्रभारी आशीष पुंडीर ने अवैध शराब बेचने वाले अभियुक्त देवेंद्र पुत्र विशन सिंह,बिल्लू पुत्र ब्रह्म सिंह निवासी ग्राम छतनोरा थाना बाबूगढ़ व रविंद्र उर्फ चुन्नू पुत्र मुखिया निवासी ग्राम मतनोरा थाना बाबूगढ़ जनपद हापुड़ को 110 अंग्रेजी रोमियो व्हिस्की के साथ गिरफ्तार किया है पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि अभियुक्तों के खिलाफ संबंधी धाराओं में मुकदमा दर्ज करके माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया है।


डीएम ने क्षेत्रीय मंडी का निरीक्षण किया

डीएम ने क्षेत्र का निरीक्षण किया  


अकाशुं उपाध्याय  
गाजियाबाद। लोनी तहसील स्थित सब्जी मंडी का निरीक्षण किया गया। प्रशासनिक व्यवस्था को दुरुस्त रखने के प्रयास 
नगर पालिका परिषद विधानसभा लोनी मे कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला अधिकारी के द्वारा निरीक्षण किया गया। बता दें लोनी प्रदेश की सबसे बड़ी नगर पालिका है। जहां अनुमान से ज्यादा आबादी निवास करती हैं। दिल्ली के निकट होने के कारण यह क्षेत्र सघन आबादी में तब्दील हो चुका है। राजधानी के नजदीक होने के कारण ही यहां का व्यवसाय दूर-दूर तक लगाव रखता है। जिस की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए नोडल अधिकारी प्रमुख सचिव सुधीर गर्ग ने जिलाधिकारी गाजियाबाद अजय शंकर पांडेय एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के साथ लोनी क्षेत्र स्थित लालबाग सब्जी मंडी की सघन चेकिंग की। इस दौरान लोनी विधानसभा क्षेत्र के विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने भी सब्जी मंडी का भ्रमण किया एवं स्थिति का जायजा लिया।


हापुड़ः प्रदेश प्रभारी बने मनोज रूहेला

अतुल त्यागी 


पत्रकार एकता महासंघ के प्रदेश प्रभारी बने मनोज रुहेला


हापुड़। जनपद हापुड़ अपना अधिकार पत्रकार एकता महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष विकार खान ने हापुड़ के पत्रकार मनोज रोहिल्ला सरदार जी को संघ के प्रति निष्ठा वे लगन और कर्म कर्मठता को देखते हुए अपना अधिकार पत्रकार एकता महासंघ का दिल्ली व उत्तर प्रदेश प्रभारी नियुक्त किए हैं। इस अवसर पर पत्रकार मनोज रुहेला ने कहा कि संघ द्वारा जो पद मुझे सौंपा गया है. उनकी गरिमा बनाए रखते हुए वह अपना दायित्व पूरी लगन व निष्ठा से निभाएंगे इस मौके पर जनपद में खुशी की लहर है। अतः उनकी कार्य शैली को देखते हुए सभी पत्रकारों ने लॉक डाउन का पालन करते हुए फोन के माध्यम द्वारा बधाई देते हुए हर्ष व्यक्त किया अन्य जनपद मैं भी खुशी की लहर है। इस मौके पर जनपद के पत्रकारों ने हर्ष व्यक्त करते हुए लॉक डाउन का पालन करते हुए मनोज रुहेला को बधाई देते हुए उज्जवल भविष्य की मनोकामना करते हुए इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अध्यक्ष शक्ति ठाकुर तेजिंदर सिंह नवीन गौतम पुष्पेंद्र गौतम राजेंद्र सिंह अतुल शर्मा अमित कुमार गुर्जर सुमित सिसोदिया दीपक कश्यप पुष्पेंद्र गौतम रिंकू सैनी अतुल त्यागी प्रवीण कुमार अनुज चौधरी राहुल गौतम मुनेंद्र सिद्धू सत्यनारायण चौहान विनय ठाकुर अनिल कुमार रवि मित्तल जितेंद्र राणा  आदि ने शुभकामनाएं दी।


तुर्की में 3000 से ज्यादा की जान गई

तुर्की: 3 हजार से ज्यादा मौतें


अंकारा। तुर्की में अब तक तीन हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 24 घंटे में 2936 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 89 लोगों की मौत हुई है। देश में संक्रमितों की संख्या एक लाख 17 हजार 589 हो गई है। संक्रमण के बढ़ रहे मामलों के कारण तुर्की की राष्ट्रीय विमान सेवा कंपनी टर्किश एयरलाइंस ने 28 मई तक के लिए अपनी सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को स्थगित करने की घोषणा की है। यहां देश तुर्की राजधानी संक्रमण का पहला मामला 11 मार्च को सामने आया था, और फिर उसके बाद कोरोना वायरस से संक्रमण मामले बहुत ज्यादा सामने आ रहे है, इतनी उम्मीद नहीं थी कि जितना आ रहे हैं संक्रमण मामले में बिन अली यलदरम आप सभी लोगों से निवेदन करता हू, कि स्वस्थ रहे, सुरक्षित रहें।


रेप पीड़िता की लाश कुऐं से बरामद

बलात्कार की शिकार युवती की लाश कुएं से बरामद ।


फतेहपुर। जनपद फतेहपुर थाना असोथर के कुसुंभी गांव के रहने वाले दिनेश सिंह ने एक 17 वर्षीय लड़की को अपने प्रेम जाल में फंसा कर कई माह तक लगातार उसके साथ बलात्कार करता रहा है। लेकिन जब उक्त युवती ने उक्त व्यक्ति से शादी के लिए कहा तो पहले उसने टाल मटोल किया लेकिन जब ज्यादा दबाव बनाया गया तो उक्त व्यक्ति ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और उसकी लाश गांव के एक कुएं में डाल दी। जो आज सुबह स्थानीय लोगों द्वारा अपने खेतों की तरफ जाने पर कुए में जाकर देखा तो युवती की लाश मिली। जिसकी सूचना स्थानीय थाना प्रभारी को दी गई है।


जर्मनी में संक्रमितो की संख्या-539

जर्मनी: संक्रमण के मामले बढ़े


बर्लिन। जर्मनी में मरने वालों की संख्या 6467 हो गई है। यहां देश जर्मनी राजधानी बर्लिन में 153 मौत हुई थी, जबकि 1627 केस सामने आए थे। यहां लगातार चौथे दिन संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। बुधवार को 1627 केस मिले हैं। एक दिन पहले यहां 1154 मरीज मिले थें। यहां अब संक्रमितों की संख्या एक लाख 61 हजार 539 हो गई है। जर्मनी में पिछले हफ्ते लॉकडाउन में ढील दी गई थी।


जर्मनी के कोलोग्न शहर में सोशल डिस्टेंसिंग के आदेश के बावजूद 27 अप्रैल को लोग एक साथ बैठे नजर आए।


इटलीः अब तक मृतक संख्या-27682

इटली: 27,682 मौतें


रोम। इटली में 27 हजार 682 लोगों की मौत हो गई है। संक्रमण का आंकड़ा दो लाख से ज्यादा हो गया है। अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा मौतें यही देश इटली राजधानी रोम में हुई हैं। 24 घंटों के दौरान 323 लोगों की मौत हुई है। मंगलवार की तुलना में बुधवार को मृतकों की संख्या में कमी आई है। देश में 10 मार्च से लागू लॉकडाउन तीन मई तक बढ़ा दिया गया है। इस बीच कुछ जरूरी चीजों की दुकानों को खोलने की छूट दी गई है। इटली में 21 फरवरी को पहला मामला सामने आया था।इटली चार मई से लॉकडाउन में ढील देने की योजना बना रहा है।


वेटिकन शहर में फोर स्टार होटल को डिसइन्फेक्ट करता सफाईकर्मी।


बेल्जियम में मृतको की संख्या-7594

बेल्जियम: 7500 से ज्यादा मौत


ब्रूसेल्स। बेल्जियम में 170 लोगों की मौत हो गई हैं। यहां अब तक मरने वालों का आंकड़ा 7594 हो गया है। वहीं, संक्रमण के अब तक 48 हजार 519 मामले सामने आ चुके हैं। प्रधानमंत्री सोल्फी विल्नेस ने बुधवार को कहा कि लॉकडाउन में 4 मई से थोड़ी ढील दी जाएगी। कंपनियां इस दिन से अपना ऑफिस खोल सकती हैं। साइकिल चलाने और टहलने की भी अनुमति रहेगी। हालांकि, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाता रहेगा।


और देश बेल्जियम राजधानी ब्रुसेल्स सुरक्षित रहेगा, अगर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया तो, देश बेल्जियम में ऐसे ही लोग मरते रहेगे, इसीलिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।


24 घंटे में संक्रमण के 106 नए केस

इजराइल: 15834 संक्रमित


जेरूसलम। इजराइल में 24 घंटे में संक्रमण के 106 नए मामले सामने आए हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़कर 15,834 हो गई है। यहां देश इजराइल की राजधानी में एक दिन में संक्रमण से पांच लोगों की मौत हुई है। अब तक कुल 215 लोगों की जान जा चुकी है। इजराइल में तीन मई से चरणबद्ध तरीके से राष्ट्रीय शिक्षा प्रणाली को शुरू किया जाने का आदेश। पहले चरण में किंडरगार्टन और तीसरी कक्षा के विद्यार्थियों के लिए स्कूली कक्षाओं को शुरू कर दिया जाएगा। कक्षाएं छोटे-छोटे समूहों में आयोजित की जाएंगी। इस दौरान साफ-सफाई के अलावा बच्चों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान भी दिया जाएगा।


बेहाल बिल्लियों के लिए फिडिंग पाइप

रियाद। सऊदी अरब में लॉकडाउन की वजह से भूख से बेहाल बिल्लियों के लिए अब फीडिंग पाइप लगाए जा रहे हैं। यहां के शहर अल-खोबर की नगरपालिका ने तट पर रहने वाली बिल्लियों के भोजन के लिए विशेष रूप से 'फीडिंग पाइप' की व्यवस्था की है, जिसमें बिल्लियों के लिए सूखा भोजन और पानी की एक बोतल रखी जाती हैं। 'उर्दू न्‍यूज 'की खबर के मुताबिक यहां कई जगहों पर 60 फीडिंग पाइप लगाए गए हैं।


इससे पहले यहां धर्मस्थल के बाहर कबूतरों के लिए दाने की व्‍यवस्‍था भी यहां धर्मस्थल की देखरेख करने वालों ने की थी। दरअसल, यहां मौजूद कबूतरों को तीर्थयात्रा पर आने वाले लोग दाना डालते थे, मगर जब से मक्का में कोरोना महामारी की वजह से कर्फ्यू लगाया गया है, तब से इनके लिए यह व्‍यवस्‍था करनी पड़ी। वेब न्यूज 'अखबार 24' ने अल-खबर के किनारों पर बिल्लियों के लिए फीडिंग पाइप की व्यवस्था किए जाने के बारे में कहा है कि जैसे ही नगरपालिका के कर्मचारियों ने बिल्लियों के लिए लगाए गए इन फीडिंग पाइपों में उनके लिए सूखा भोजन डाला, बड़ी संख्या में बिल्लियां यहां पहुंच गईं और इसे खाने लगीं।


दक्षिण कोरियाः 24 घंटें में 4 नए केस

दक्षिण कोरिया: 10,765 संक्रमित


सियोल। दक्षिण कोरिया में 24 घंटे में चार नए मामले दर्ज किए गए हैं। संक्रमितों की संख्या10,765 है, जबकि 247 लोगों की जान जा चुकी है। देश दक्षिण कोरिया राजधानी सियोल में 12 दिन से संक्रमितों का एक दिन का आंकड़ा 10 से कम रहा है। सभी नए मामले विदेशों से आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (केसीडीसी) ने गुरुवार को बताया कि देशभर में 9,059 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। देश में छह लाख लोगों की जांच की जा चुकी है।


महामारी के बीच सियोल के चोगेस्सा मंदिर में बुद्ध जयंती मनाने के लिए जुटे लोग। देश में संक्रमण के मामले काफी कम हो गए हैं।


रूस में 26 हजार से ज्यादा मौतें

मास्को। दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 32 लाख 32 हजार 993 लोग संक्रमित हैं। दो लाख 28 हजार 520 की मौत हो चुकी है, जबकि 10 लाख लाख 7 हजार 653 ठीक हो चुके हैं। रूस में गुरुवार को 7099 नए मामलों की पुष्टि हुई। देश में संक्रमितों की संख्या एक लाख छह हजार 498 हो गए हैं। यह एक दिन में रिकॉर्ड किया गयासबसे ज्यादा केस है। संक्रमण के मामले में रूस अब आठवां सबसे ज्यादा प्रभावित देश है। इसने इस हफ्ते चीन और ईरान को पीछे छोड़ दिया है। वहीं, ब्रिटेन मौतों के मामले में तीसरे नंबर पर आ गया है। यहां अब तक 26 हजार से ज्यादा जान जा चुकी है।


अमेरिका में एपल मैप पर कोरोना की जानकारीः कोरोना संकट के दौर में अमेरिकी टेक कंपनी एपल ने अपने मैप में जांच केंद्रों की जानकारी जोड़ी है। एपल मैप पर अमेरिका के सभी 50 राज्यों और प्यूटो रिको में टिस्टिंग सेंटर, अस्पताल, इमरजेंसी सर्विस और दवाइयों की दुकानों की जानकारी उपलब्ध है। एपल के ग्राहक डेडिकेटेड कोविड टेस्टिंग साइट्स की जानकारी भी हासिल कर सकेंगे। एपल ने मोबिलिटी ट्रेंड्स वेबसाइट भी शुरू की है, जो कोरोनाकाल में शहरों और राज्यों में लोगों की आवाजाही के तरीकों के बारे की जानकारी देती है। खास बात ये है कि एपल मैप में प्राइवेसी सेटिंग पहले ही मौजूद है, जिससे यह लोगों की निजी जानकारी इकठ्ठा नहीं करता है।


लॉक डाउन का उल्लंघन, की कार्रवाई

 लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों हुई पर कार्यवाही


टेढ़ीमोड कौशाम्बी। बार बार निर्देश के बाद भी लोगो के ना सुधरने पर आधा दर्जन लोगों पर चौकी पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दिया है कोरोना वायरस की वजह से पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है उसके बावजूद भी लोग लॉक डाउन का उलंघन कर रहे है शहजादपुर क्षेत्र में लॉक डाउन का उल्लघंन कर बेवज़ह घूमने वालो पर स्थानीय पुलिस सख्त कार्यवाही कर रही है।


कोखराज थाना क्षेत्र के शहजादपुर चौकी प्रभारी राजीव नारायण सिंह अपनी टीम के हमराहियों के साथ क्षेत्र में भ्रमण करते हुए टेगाई चौराहा पहुंचे तो वहां देखा कि दर्जनों लोग बिना किसी आवश्यक काम के एक जगह खड़े है।जिसपर चौकी इंचार्ज ने एक एक कर सबसे पूछताछ किया किन्तु उन्हें संतोषजनक जवाब नही मिला जिस पर अनावश्यक घर से बाहर चौराहे पर घूमने पर निधियावां निवासी राम बहादुर तथा टेगाई निवासी मुन्ना लाल, रतिराम, ज्ञानचंद, विजय, बड़ेलाल व जयचंद मलाक रेजमा निवासी धर्मेंद कुमार, बम्हरौली निवासी विजय तिवारी, दुःखीलाल के विरुद्ध लॉक डाउन के उल्लंघन की धारा 188 व 269 के तहत कार्यवाई कर दिया है।


धर्मेन्द्र सोनकर


पुलिसकर्मियों को बॉडीवार्न कैमरे लगाएं

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। कोरोना वायरस के दृष्टिगत रखते हुए लॉकडाउन के सफल क्रियान्वयन हेतु एसएसपी कलानिधि नैथानी के कुशल निर्देशन में जनपद के विभिन्न थानाक्षेत्रों में लाॅकडाउन का उल्लंघन करने वाले दुपहिया और चौपाइयां वाहन चालकों के विरुद्ध चैकिंग अभियान चलाया गया हैं। वहीं, एसएसपी द्वारा जनपद के मुख्य स्थानों पर चैकिंग में लगे सभी उपनिरीक्षक और ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को बॉडीवार्न कैमरे उपलब्ध कराए गए हैं। गौरतलब है कि जनपद के विभिन्न थानाक्षेत्रों में पुलिसकर्मियों द्वारा बैरियर लगाकर रोड पर आने-जाने वाले वाहनों और उनके चालकों आदि कि सघन चैकिंग की जा रही है।


दरअसल, एसएसपी कलानिधि नैथानी द्वारा सभी क्षेत्राधिकारी एवम् थाना प्रभारी समेत ड्यूटी में लगे सभी पुलिसकर्मियों को लाॅकडाउन और सोशल डिस्टैंसिंग का पूर्णरूपेण अनुपालन करवाने एवं लाॅकडाउन का अनुपालन न करने वाले/उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों व बिना मास्क लगाए विचरण करने वाले व्यक्तियों और एक दुपहिया वाहनों पर एक से अधिक व्यक्ति व चौपाइयां वाहनों पर दो से अधिक व्यक्ति होने पर उनके विरुद्ध सख्त से सख्त वैधानिक कार्यवाही करने हेतु निर्देश दिए गए हैं।


अवैध शराब का जखीरा, 6 अरेस्ट किए

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। पुलिस की बड़ी कार्यवाही गोपनीय सूचना के आधार पर भारी मात्रा में अवैध शराब , 04 बङी गाङियाँ बरामद व 06 अभियुक्त गिरफ्तार।


श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री कलानिधि नैथानी के कुशल निर्देशन में जनपद गाजियाबाद मे COVID-19  महामारी के दृष्टिगत लॉकडाउन के दौरान नारकोटिक्स /शराब/ नशे के अवैध कारोबार के विरुद्ध चलाए जा रहे विभिन्न अभियानों के अंतर्गत आज थाना कवि नगर पुलिस को उस समय  बड़ी सफलता प्राप्त हुई जब गोपनीय सूचना के आधार पर *कविनगर पुलिस* ने छापा मारकर करीब 98 पेटी अवैध अंग्रेजी शराब BLUE MOOD मार्का व 36 बोतल अवैध अंग्रेजी शराब विभिन्न ब्रांड की चार वाहन  ( एक जीप कंपास, एक टाटा सफारी, एक मारुति स्विफ्ट डिजायर व एक ट्रक ) व 6 नफर अभियुक्त गिरफ्तार किये गये हैं। 
1-रोहित बैसला आरक्षी पुलिस लाइन मुनगर
2-नरेंद्र यादव निवासी पूठी मसूरी
3सतीश यादव उर्फ कालू पुत्र मांगेराम निवासी बम्हेटा कविनगर
4-फैक्टरी मालिक --सलीम मिर्जा पुर
5-चौकीदार मुकेश अहिरवार पुत्र नेनुआ निवासी ग्राम छाँबिला बंडा जिला सागर
6- राजकुमार सरीन निवासी नेहरू नगर सिहानी गेट


 उक्त प्रकरण में थाना कविनगर पर धारा 60/63/72 आबकारी अधिनियम तथा महामारी अधिनियम व धारा 188/269/270/120 B IPC के तहत अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।


सीडीओ ने मास्क वितरित किए

भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। जनपद शामली मुख्य विकास अधिकारी शंभू नाथ तिवारी ने कोरोना वायरस से बचने के लिए समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित आवासीय वृद्ध आश्रम में पुरुषों व महिलाओं को मास्क वितरित किये तथा शेल्डर होम रायल पब्लिक स्कूल में व्यवस्था का जायजा लिया तथा क्वॉरेंटाइन व्यक्ति का हाल-चाल भी पूछा गया।उन्होंने गरीबों को हरसंभव मदद देने का भरोसा दिया उन्होंने गरीबों को साबुन से हाथ धुलाने के पश्चात सुरक्षा के तौर पर उन्हें मास्क वितरित किये तथा सभी को सामाजिक दूरी के साथ अपने आप को दिन में कई बार हाथों को साबुन से धोए।उन्होंने उपस्थित लोगों से सामाजिक दूरी बनाते हुए संपूर्ण लॉकडाउन का पालन करने की अपील की उन्होंने कहा सुरक्षा ही बचाव है।


गाजियाबादः 3 घंटे में मर्डर का खुलासा

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। थाना कोतवाली नगर पुलिस ने लाॅकडाउन के अंतर्गत हुई हत्या का मात्र 3 घंटों के भीतर खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी समेत तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इतना ही नहीं, पुलिस ने आरोपियों के पास से लोहे का एक सब्बल एवं खून से सने कपड़े भी बरामद कर लिए हैं।
आपको बताते चलें कि गत् 28 अप्रैल को थाना कोतवाली नगर के रेलवे कॉलोनी बजरिया निवासी एक सुरजीत नामक व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी और फिर उसके शव को एक खाली पड़े मकान में फेंक दिया गया था।
गौरतलब है कि सुरजीत की हत्या के संबंध में उसकी पत्नी रशिका ने थाना कोतवाली नगर में तहरीर देते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। जिसकी, जानकारी एसएसपी कलानिधि नैथानी को होते ही उन्होंने तत्काल एसपी सिटी मनीष कुमार मिश्रा और क्षेत्राधिकारी नगर प्रथम एवं थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक को उक्त हत्या का जल्द से जल्द खुलासा करने हेतु आवश्यक निर्देश दिए थे। इतना ही नहीं, उन्होंने एक टीम का भी तुरंत ही गठन कर दिया था।


आपको बता दें कि जिसका अनुपालन करते हुए थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक विष्णु कौशिक और उनकी टीम के निरीक्षक अपराध राजेश सिंह, उपनिरीक्षक जोगेंद्र कुमार, महिला उपनिरीक्षक मंजू सिंह, महिला सिपाही प्रियंका, सिपाही सुरेशपाल सिंह और सिपाही महिपाल सिंह ने मात्र 3 घंटों के भीतर सुरजीत की हत्या का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी समेत तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और उनके पास से हत्या में शामिल लोहे का एक सब्बल भी बरामद कर लिया। इतना ही नहीं, पुलिस ने खून में सने कपड़े भी बरामद कर लिए हैं।


दरअसल, पुलिस की जांच में हत्या करने वाला और कोई नहीं बल्कि मृतक की पत्नी वादीया रशिका और उसकी सांस रमादेवी समेत एक और अन्य आरोपी पाया गया हैं, जोकि मुख्य आरोपी हैं। बता दें कि सुरजीत की हत्या उसकी सांस के अवैध संबंध के चलते की गई है। जिसकी, जानकारी मृतक सुजीत को थी, तथा इस बात को लेकर मृतक का अपनी सांस से कई बार झगड़ा भी हो गया था। परंतु, मृतक की पत्नी हमेशा अपनी ही मां का समर्थन किया करती थी।


पूछताछ में, यह बात निकलकर आई है कि मृतक सुरजीत की सांस का देवेंद्र उर्फ कंसा पुत्र स्वर्गीय नंदलाल निवासी हाल थाना कोतवाली के साथ अवैध संबंध था। जिसको लेकर मृतक सुरजीत और उसकी सांस का आए-दिन झगड़ा होता रहता था। इतना ही नहीं, मृतक की पत्नी भी अपनी मां का ही समर्थन किया करती थी, और कई बार तो ऐसा भी हुआ करता था कि मृतक की पत्नी अपने 4 वर्षीय बच्चे को छोड़कर अपनी मां के यहां चली जाया करती थी। जिस बात को लेकर मृतक काफी चिंतित था और उसका आए-दिन अपनी सांस से इस बात को लेकर झगड़ा भी होता रहता था।


थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक विष्णु कोशिक ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतक सुरजीत और उसकी सांस का घर आस-पास में ही था। इसीलिए, मृतक सुरजीत को अपनी सांस के अवैध संबंध की जानकारी थी और वह इसी बात को लेकर अपनी सांस से लड़ता झगड़ता रहता था। इतना ही नहीं, उन्होंने बताया कि अभियुक्त गणों ने पूरी योजना के तहत मृतक सुरजीत को पहले तो जालसाजी से अपने घर(ससुराल) बुला लिया और फिर उसकी हत्या करके उसके शव को पड़ोस में खाली पड़े मकान में फेंक दिया था और फिर खुद ही उसकी हत्या की तहरीर लिखकर थाने में दे दी थी।


हालांकि, पुलिस ने मात्र 3 घंटों के भीतर सुरजीत की हत्या का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी समेत तीनों आरोपियों को मुखबिर की सूचना पर तत्काल गिरफ्तार कर लिया और उनके विरुद्ध कानूनी-कार्रवाई करके उनको जेल भी भेज दिया है। वहीं, एसएसपी कलानिधि नैथानी ने तत्काल हत्या का खुलासा करने वाली टीम को पुरस्कार देने की घोषणा की है।


हॉटस्पॉट में प्रशासन पर पुष्प वर्षा

झाँसी। थाना कोतवाली के एक छेत्र से कोरोना के 4 मरीज मिलने से हड़कंप मचा हुआ है तो वही दूसरी और हॉट स्पॉट इलाके में जांच करने पहुँची स्वास्थ विभाग की टीम पर स्थानिय लोगो ने अपने घरों से फूल बरसाए और तालिया बज कर टीम का अभिनंदन किया। इस दौरान स्वास्थ विभाग की टीम जहाँ से भी निकली लोगो ने इन कोरोना वॉरियर्स पर फूल बरसा कर इनका हौसला भड़ाया। मेडिकल टीम ने ओरछा गेट से होते हुए कपूर टेकरी तक जांच की।


दुनिया भर में 226141 लोगों की मौतें

नई दिल्ली। दुनियाभर में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है और इससे विश्वभर में अब तक 226143 लोगों की मौत हो चुकी है तथा 3144393 लोग संक्रमित हुए हैं।


भारत में भी कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से गुरुवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक देश के 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इस संक्रमण से अब तक 33050 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 1074 लोगों की मौत हुई है। देश में अब तक 8325 लोग इसके संक्रमण से पूरी तरह ठीक भी हो चुके हैं।


अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी किए गये आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में कोरोना वायरस से दुनिया में सर्वाधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा यहां सबसे अधिक मौतें भी हुई हैं। विश्व की महाशक्ति माने-जाने वाले अमेरिका में इस जानलेवा विषाणु से अब तक 10.38 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 60876 लोगों की मौत हो चुकी है।


यूरोप में सबसे गंभीर रूप से प्रभावित देश इटली में इस महामारी के कारण अब तक 27682 लोगों की मौत हुई है और अब तक 203591 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। स्पेन कोविड-19 के संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित होने वाले देशों की सूची में अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर है। यहां अब तक 212917 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं और 24275 लोगों की इसके कारण मृत्यु हो चुकी है। इस वैश्विक महामारी के केंद्र चीन में अब तक 82862 लोग संक्रमित हुए हैं और 4633 लोगों की मृत्यु हुई है। इस वायरस को लेकर तैयार की गयी एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन में हुई मौत के 80 प्रतिशत मामले 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के थे। इस बीच, कोरोना वायरस से संक्रमण और मौत के मामले में यूरोपीय देश फ्रांस और जर्मनी में भी हालात काफी खराब बदतर हैं। फ्रांस में अब तक 166543 लोग संक्रमित हुए हैं और 24087 लाेगों की मौत हो चुकी है। जर्मनी में कोरोना वायरस से 157641 लोग संक्रमित हुए हैं और 6115 लोगों की मौत हुई है।


इसके अलावा ब्रिटेन में भी हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं। यहां अब तक इस महामारी से 161145 लोग प्रभावित हुए हैं और अब तक 26097 लोगों की इसके कारण मौत हो चुकी है। तुर्की में कोरोना संक्रमितों की संख्या 114653 हो गयी है तथा इससे अब तक 2992 लोगों की मौत हुई है। कोरोना वायरस से गंभीर रूप से प्रभावित खाड़ी देश ईरान में 93657 लोग इससे संक्रमित हुए हैं जबकि 5957 लोगों की इसके कारण मौत हुई है। अन्य देशों की भांति रूस में भी कोविड-19 का प्रकोप लगातार तेजी से बढ़ रहा है।


रूस में कोरोना संक्रमण के मामले एक लाख के करीब पहुंच गये हैं। वहां अब तक 99399 मामलों की पुष्टि हो चुकी है जबकि 972 लोगों की इस महामारी के कारण मौत हुई है।



  • कोरोना से बेल्जियम में 7501, नीदरलैंड में 4711, ब्राजील में 5017, कनाडा में 2904, स्वीडन में 2462, स्विट्जरलैंड में 1699, मैक्सिको में 1732, आयरलैंड में 1159 और पुर्तगाल में 973 लोगों की मौत हो गयी है। इसके अलावा पड़ोसी देश पाकिस्तान में कोराेना वायरस के अब तक 15289 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और इसके कारण 335 लोगाें की मौत हुई है।


बरकरार रह पाएगी उद्धव की कुर्सी ?

मुंबई। महाराष्ट्र विधान परिषद में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की सदस्यता को लेकर पेंच फंसा हुआ है। महाराष्ट्र सरकार के गठन के बाद पांच महीने का समय बीत गया है, लेकिन उद्धव ठाकरे अभी तक विधानसभा या विधान परिषद में नहीं पहुंच सके हैं। महा विकास आघाडी सरकार का उद्धव को विधान परिषद भेजने का प्रयास काफी तेजी से चल रहा है। वरिष्ठ मंत्रियों का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने और उद्धव ठाकरे को विधान परिषद सदस्य मनोनीत करने का प्रस्ताव लेकर राजभवन पहुंचा, लेकिन राज्यपाल ने अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं लिया है। ऐसे में उद्धव ठाकरे की मुख्यमंत्री की कुर्सी पर खतरा मंडराने लगा है।


अगर राज्यपाल उद्धव ठाकरे को मनोनीत नहीं करते हैं, तो उन्हें इस्तीफा देकर अपना सीएम पद छोड़ना पड़ सकता है। ऐसे में हमने संविधान विशेषज्ञ राकेश द्विवेदी और सुब्रमण्यम स्वामी से बातचीत की। आइए, जानते हैं कि संविधान के जानकारों का इस विषय पर क्या कहना है-


1. महाराष्ट्र के गवर्नर, कैबिनेट की सिफारिश मानने के लिए बाध्य हैं।


2. गवर्नर विशेष परिस्थिति में कुछ और डिटेल्स मांग सकते हैं, लेकिन कैबिनेट से दोबारा सिफारिश किए जाने पर गवर्नर को मानना ही होगा।


3. छह महीने के भीतर किसी सदन का सदस्य नहीं बन पाने की वजह से जयललिता को मुख्यमंत्री पद छोड़ना पड़ा था। सुब्रह्मण्यम स्वामी की याचिका पर कोर्ट ने साफ किया था कि छह महीने की मोहलत एक बार इस्तेमाल करने के लिए है।


4. क्या नॉमिनेटेड मेंबर के तौर पर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठ सकते हैं? तो इसके जवाब में सबका मानना है कि कानूनी तौर पर इसकी मनाही नही है, नैतिकता की बात अलग है।


5. संविधान के अनुच्छेद 171 (3) (E) के तहत राज्यपाल, विधान परिषद में कुछ सदस्यों को मनोनीत करते हैं। अनुच्छेद 171 (5) के मुताबिक उन लोगों को राज्यपाल मनोनीत करता है, जिन्होंने लिट्रेचर, साइंस, आर्ट, को-ऑपरेटिव मूवमेंट और सोशल सर्विस के क्षेत्र में कोई विशेष कार्य किया हो।


चीन छोड़ कर आना चाहती है कंपनियां

नोएडा। कोरोना महामारी के बाद मल्टीनेशनल कंपनियों का मोह चीन से भंग होने लगा है। अब वह अपने आगे का कारोबार चीन में रहकर नहीं करना चाहती हैं। यही वजह है कि उन्‍होंने अब भारत में अपनी कंपनियों के लिए अवसर खोजना शुरू कर दिया है। वहीं, इन कंपनियों की चाहत को भांपते हुए उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार ने अपनी तरह से एक पहल की है। इस पहल के तहत, यूपी सरकार ने चीन छोड़कर आने वाली कंपनियों को उत्‍तर प्रदेश में निवेश करने का आमंत्रण दिया है। वहीं, सूबे के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इन कंपनियों को भरोसा दिलाया है कि उन्‍हें उत्‍तर प्रदेश में व्‍यापार के समुचित माहौल के साथ हर संभव सुविधा और सहूलियतें दी जाएंगी। योगी सरकार की इस पहल का अब सकारात्‍मक असर भी दिखने लगा है।


दो कंपनियों ने यमुना अथॉरिटी को भेजा आवेदन
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के आमंत्रण की खबर लगते ही चीन छोड़ कर जाने को तैयार कंपनियों को मुंह मांगी मुराद मिल गई है। हाल में, ऐसी दो कंपनियां सामने आई हैं, जो चीन से अपना व्‍यापार खत्‍म कर उत्‍तर प्रदेश में अपनी कारखाने लगाना चाहती है। हुआके और हुंसान नामक इन दोनों कंपनियों ने यमुना अथॉरिटी को अपने आवेदन भेज दिए हैं। वहीं, यमुना अथॉरिटी ने भी इन दोनों कंपनियों के आवेदन स्‍वीकार कर लिए हैं। यमुना अथॉरिटी के एक वरिष्‍ठ अधिकारी की माने तो उत्‍तर प्रदेश में अपना भविष्‍य तलाशने वाली कंपनियों में कई अन्‍य कंपनियां भी शामिल है। इन कंपनियों ने भले ही अभी तक औपचारिकतौर पर अपना आवदेन नहीं दिया हो, लेकिन बीते कई दिनों से अथॉरिटी के अधिकारियों के संपर्क में हैं। जल्‍द ये कंपि‍नयां भी उत्‍तर प्रदेश में निवेश का फैसला कर सकती है।


जल्‍द शुरू होगी आवंटन की ऑनलाइन प्रक्रिया यमुना अथॉरिटी के सीईओ अरुणवीर सिंह ने बातचीत में बताया कि हुआके और हुंसान नामक दो कंपनियों के आवेदन स्‍वीकार किए गए हैं। अगले सप्‍ताह से आवंटन की प्रक्रिया को ऑनलाइन पूरा किया जाएगा। उन्‍होंने बताया कि हुआके कैमरे के ऐसेसिरिज बनाने वाली कंपनी है। वहीं हुंसान इलेकट्रॉनिक कंपोनेंट तैयार करती है। उन्‍होंने बताया कि चीन छोड़कर भारत आने वाली कंपनियों के लिए निवेश का बेहतर वातावरण यूपी में मौजूद है, जिसको देखते हुए वीवो या ओपो जैसी मोबाइल कंपनियों के कंपोनेंट तैयार करने वाली कंपनियां उत्‍तर प्रदेश में निवेश के अवसर खोज रही हैं। वहीं, नोएडा और गाजियाबाद में विशेष रूप से तैयार किए गए इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग जोन भी विदेशी कंपनियों को आकर्षित कर रहा है। जल्‍द ही, भारत में अपना भविष्‍य तलाशती विदेशी कंपनियां इन्‍हीं क्षेत्रों में निवेश करती नजर आएंगी।


विदेशी कंपनियों को यूपी में मिलेगी विशेष छूट
यमुना अथॉरिटी के सीईओ अरुणवीर सिंह ने बातचीत में बताया कि यूपी सरकार ने अपनी औद्योगिक नीति के तहत विदेश से आकर निवेश करने वाली कंपनियों को कई तरह की रियायतें दी गई हैं, जिनमें विदेश से आकर निवेश करने वाली कंपनियों को 25 फीसदी की लैंड सब्सिडी भी शामिल है। इसके अलावा, इन कंपनियों को स्‍टैंप ड्यूटी और इलेक्ट्रिसिटी रेट में भी छूट दी जा रही है। सरकार ने इन कंपनियों को रिसर्च एण्‍ड डेवलपमेंट के लिए अलग राशि का प्रावधान किया है। इतना ही नहीं, कपंनियों को दस साल तक राज्‍य सरकार की जीएसटी के रीइंबर्समेंट का प्रावधान भी शामिल है। इन कंपनियों के लिए रियायती दरों पर बैंक लोन भी उपलब्‍ध कराया गया है। सीईओ अरुणवीर सिंह के अनुसार, विदेश से आकर यूपी में निवेश करने वाली सभी कंपनियों को यह छूट दी जा रही है।


बैक डोर की राजनीति में रुचि नहीं

मुंबई। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे की कुर्सी पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं, ऐसे में राज्य मंत्रिमंडल ने उद्धव ठाकरे को विधान परीषद में मनोनीत करने की दूसरी बार सिफारिश की थी और इसी सिलसिले में महाराष्ट्र विकास अघाड़ी के सदस्य मंगलवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से भी मिले थे, जिसके बाद महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक बड़ा बयान दिया है, फडणवीस ने कहा कि भाजपा पीछे के दरवाजे से घुसकर राजनीति करने में कोई रुचि नहीं रखती है।


मैं बस यह कहना चाहूंगा कि राज्यपाल जो भी फैसला लेंगे वो संवैधानिक नियमों के अनुरूप और उचित होगा, उद्धव ठाकरे को परिषद में मनोनीत करने और सीएम के रूप में जारी रखने के लिए भाजपा बहुत खुश होगी क्योंकि बीजेपी राज्य में अस्थिरता नहीं चाहती है। मालूम हो कि ऐसी खबर है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद मांगी है, दरअसल उद्धव ठाकरे के विधान परिषद में राज्यपाल नामित सदस्य के तौर पर नियुक्ति का निर्णय फिलहाल राजभवन में लंबित है, ठाकरे ने पीएम मोदी से इस बारे में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से बात कर अपना रास्ता साफ कराने का आग्रह किया है।


‘राज्य में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने की कोशिशें की जा रही है’


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी से फोन पर बात कर उन्हें बताया कि राज्य में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने की कोशिशें की जा रही है। कोरोना संकट के चलते राज्य में विधानसभा या विधान परिषद का उप-चुनाव अभी संभव नहीं है। ऐसे में राज्य मंत्रिमंडल ने राज्यपाल से आग्रह किया है कि वह अपने कोटे से मुख्यमंत्री को विधान परिषद के लिए मनोनीत करें, दरअसल राज्यपाल के पास विधान परिषद में दो सदस्यों करने को मनोनीत करने का अधिकार है। हालांकि, राज्यपाल ने अभी तक इस बारे में कोई निर्णय नहीं लिया है। अगर राज्यपाल एक महीने के भीतर ठाकरे को विधान परिषद का सदस्य मनोनीत नहीं करते हैं, तो उनका मुख्यमंत्री बने रहना संभव नहीं होगा और इस्तीफा देना पड़ सकता है। बताया जा रहा है कि उद्धव की बातें सुनकर पीएम मोदी ने उन्हें मामले को जल्द देखने की बात कही है।


अंतिम संस्कार में 24 लोग हुए शामिल

मुंबई। अभिनेता ऋषि कपूर ने 67 की उम्र में गुरुवार की सुबह आखिरी सांसे लीं। बुधवार (29 अप्रैल) को उनकी तबीयत अचानक से बिगड़ गई। उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही है, जब परिवार ने एच एन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया था। ऋषि कपूर ने निधन की खबर सुनते ही रिश्तेदार और करीबी उनके अंतिम दर्शन के लिए यहां पहुंच रहे हैं। नीतू कपूर भी आदर जैन के साथ पहुंची हैं।


आलिया भट्ट, करीना कपूर, सैफ अली खान, आदर जैन समेत कपूर खानदान के कई सदस्य अस्पताल पहुंच चुके हैं। जहां करीना कपूर की तस्वीर सामने आई है, आलिया भट्ट को कार में स्पॉट किया गया है। बता दें, आलिया और रणबीर एक दूसरे को डेट कर रहे हैं और आलिया कपूर परिवार के काफी करीब है। लिहाजा, इस दुख के समय में वो परिवार के साथ हैं। ऋषि कपूर के निधन की जानकारी शेयर करते हुए नीतू कपूर ने लिखा- इस क्षति के मौके पर, हम महसूस करते हैं कि दुनिया एक संकट के समय से गुजर रहा है। लॉकडाउन है और लोग एकत्रित नहीं हो सकते। हम सभी फैंस और चाहने वालों से विनती करते हैं कि नियमों का उल्लंघन ना करें।


यूपी के सभी जोनों में छूट की तैयारी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संक्रमण से अब तक अछूते या कम प्रभावित जिलों में कुछ गतिविधियां शुरू करने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि ग्रीन जोन तथा ओरेंज जोन में छूट वाली गतिविधियों के लिए एक कार्य योजना बनाई जाए। उन्होंने कहा है कोरोना संक्रमण की प्रत्येक चेन को तोड़ना है। मुख्यमंत्री ने यह बात टीम 11 के अधिकारियों के साथ लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने कहा कि 3 मई के पश्चात औद्योगिक इकाइयों को किस प्रकार शुरू किया जाए, इसके लिए एक कार्य योजना तैयार की जाए। प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने की कार्य योजना बनायी जाए।


जोनवार जिलों की श्रेणी–


रेड जोन के जिले ( 20 से ज्यादा मरीज वाले जिले) : – आगरा, लखनऊ, गाजियाबाद, नोएडा, कानपुर, मुरादाबाद, वाराणसी, शामली, मेरठ, बुलंदशहर, बस्ती, हापुड़, फिरोजाबाद, सहारनपुर, रायबरेली, बिजनौर, सीतापुर, रामपुर, अमरोहा, संतकबीरनगर, अलीगढ़।


आरेंज जोन :- ( जहां पिछले 14 दिनों में कोई नया केस नहीं आया ):श्रावस्ती, बहराइच,बागपत, बरेली, गाजीपुर, आजमगढ़, हरदोई, प्रतापगढ़, शाहजहांपुर, बांदा, महाराजगंज, हाथरस, मिर्जापुर, औरैया, बाराबंकी, कौशांबी, प्रयागराज, मथुरा, बदायूं, मुजफ्फरनगर, भदोही, कासगंज, इटावा, संभल, उन्नाव, कन्नौज, मैनपुरी, गोंडा, मऊ, लखीमपुर, पीलीभीत, एटा, सुलतानपुर बलरामपुर, अयोध्या, जालौन, गोरखपुर व झांसी…।


ग्रीन जोन:- अंबेडकरनगर, अमेठी, बलिया, देवरिया, चित्रकूट, फर्रुखाबाद, कानपुर देहात, सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, कुशीनगर, ललितपुर, महोबा, फतेहपुर, चंदौली और सोनभद्र। ( सभी ऐसे जिले जहां अभी तक कोई कोरोना संक्रमण का केस नहीं है। रेड जोन का जिला भी ग्रीन जोन में जा सकता है, जहां 28 दिनों में कोई नया केस नहीं आया है


कोविड अस्पतालों का डीएम व सीएमओ करें निरीक्षण


मुख्यमंत्री ने कहा,शेल्टर होम में 14 दिन की संस्थागत क्वारंटीन पूरा करने वालों का चिकित्सीय परीक्षण कराके होम क्वारंटीन के लिए घर भेजा जाए। मेडिकल टेस्टिंग के लिए पूल टेस्टिंग व रैण्डम टेस्टिंग का उपयोग किया जाए। जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्साधिकारी एल-1, एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालयों, शेल्टर होम व क्वारंटीन सेन्टर का निरीक्षण करें। उन्होंने कहा है कि शेल्टर होम को जियो टैग किया जाए।


कोविड अस्पताल में प्लाज्मा थेरेपी को दें बढ़ावा
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एल-1, एल-2 अस्पतालों में आक्सीजन की सुचारु व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाए। एल-1 श्रेणी के कोविड अस्पतालों की संख्या में वृद्धि की जाए। एल-3 कोविड अस्पतालों में बेड्स बढ़ाये जाएं। सभी चिकित्सालयों में पीपीई किट तथा एन-95 मास्क की सुचारु उपलब्धता की जाए। कोविड-19 के रोगियों के उपचार के लिए प्लाज्मा थेरेपी को बढ़ावा दिया जाए। टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि की जाए। सभी टेस्टिंग लैब्स में पूल टेस्टिंग की व्यवस्था उपलब्ध करायी जाए। टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि के मद्देनजर वैश्विक स्तर पर टेक्नोलाजी प्राप्त करने पर विचार किया जाए।


स्वास्थ्य कर्मियों को करें प्रशिक्षितः मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण की प्रत्येक चेन को तोड़ना है। मेडिकल इन्फेक्शन को रोकने के लिए सभी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित किया जाए। उन्होंने बायो-मेडिकल वेस्ट का उचित निस्तारण सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये। मुख्य चिकित्सा अधिकारी नर्सिंग होम के संचालकों तथा अन्य डाक्टरों के साथ बैठक करते हुए टेलीमेडिसिन के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श उपलब्ध कराने वाले डाक्टरों की व्यवस्था करें।


भूसा बैंक बनाने के निर्देशः मुख्यमंत्री ने कहा कि निराश्रित गोवंश के लिए गोवंश आश्रय स्थलों पर भूसा बैंक स्थापित किया जाए। उन्होंने कहा कि निराश्रित व्यक्ति की मृत्यु होने पर शासन द्वारा अनुमन्य राशि से दिवंगत का अन्तिम संस्कार कराया जाए।


संवाददाता-कैलाश नाथ राना की रिपोर्ट…


शराब की दुकानें खोलने की मांग

नई दिल्ली। लॉकडाउन के बाद देश में सभी शराब की दुकानें बंद पड़े हैं। पिछले कई दिनों से इन दुकानों को खोलने पर बातचीत हो रही है। केरल, महाराष्ट्र, पंजाब, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में इन दुकानों को खोलने पर चर्चाएं भी हुई। इसके बावजूद कामयाबी नहीं मिली। लेकिन अब एक संगठन सामने आया है जिसने देश के 10 राज्यों में शराब की दुकानों को खोलने की मांग की है। संगठन से कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बीच एक नायाब आइडिया भी सरकार को दिया है।


CIABC आया सामने
शराब निर्माता कंपनियों के संगठन दि कंफेडरेशन ऑफ इंडियन अल्कोहल बेवरेज कंपनीज (CIABC) सामने आया है। संगठन ने दस राज्यों में शराब की दुकान खोलने की मांग की है। संगठन से सुझाया है कि इन राज्यों में कई ऐसी जगह है जहां कोरोना वायरस का कोई मामला सामने नहीं आया है। राज्यों से अनुरोध किया गया है कि इन स्थानों की निशानदेही कर यहां शराब की दुकानें दोबारा खोलने की इजाजत देनी चाहिए।


दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश समेत 10 राज्यों से की मांग
संगठन के एक अधिकारी ने बताया कि हमने राजधानी दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और कर्णाटक के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा है। हमने राज्यों से कहा है कि इन राज्यों के कई जिलों में कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आया है। ऐसे में इन जिलों में सुरक्षा के सभी उपायों के साथ शराब की दुकान खोलने की इजाजत मिलनी चाहिए। अधिकारी ने बताया कि फिलहाल राज्यों ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।


हो रहा है करोड़ों का नुकसान
मामले से जुड़े जानकारों का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से शराब निर्माता कंपनियों को करोड़ों का नुकसान हो रहा है। देश में सभी शराब की दुकानें बंद हैं। ऐसे में कंपनियों के प्रोडक्ट नहीं बिक रहे हैं। इसी वजह से राज्यों को भी राजस्व का भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है। संगठन को उम्मीद है कि जल्द सरकार इस मामले में कदम उठाएगी और शराब की दुकानों को दोबारा खोलने की इजाजत दे देगी।


पंजाबः 23 श्रद्धालुओं में मिला संक्रमण

अमृतसर। पंजाब में कोरोना के पाजीटिव मामले सामने रहे हैं। गुरुद्वारा श्री हजूर साहिब नांदेड़ साहिब से श्रद्धालुओं का पंजाब आना लगातार जारी है। हालांकि सरकार की तरफ से सभी श्रद्धालुओं को आते ही उन्हें चेक करने और उन्हें क्वॉरेंटाइन करने के पूरे इंतजाम किए गए हैं लेकिन श्रद्धालुओं ने पंजाब के लिए बड़ा खतरा पैदा कर दिया है। आज पंजाब में 52 श्रद्धालुओं की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जिनमें से 23 श्रद्धालु अमृतसर जिले में है। तरनतारन में 7 श्रद्धालु पाजीटिव पाए गए हैं। तरनतारन में अब कुल संख्या 15 हो गई है। जालंधर से भी एक श्रद्धालु पाजीटिव पाया गया है। पंजाब में अब तक 87 श्रद्धालु कोरोना पाजीटिव पाए गए हैं। वहीं प्रदेश में पाजीटिव केसों की संफ्या 400 हो गई है। इसमें एक और भी बड़ी बात सामने आ रही है कि ज्यादातर पाजीटिव पाए गए श्रद्धालुओं में कोरोना के कोई भी लक्षण नहीं पाए गए हैं जो एक बड़ी चिंताजनक बात है। जालन्धर में भी एक श्रद्धालु की रिपोर्ट पाजीटिव आई है। ज्यादातर श्रद्धालु वो पाजीटिव आए है जो कि निजी वाहनों से वापस आए है।


मददः 65 हजार करोड़ की जरूरत

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर और जानेमाने अर्थशास्त्री रघुराम राजन ने लॉकडाउन के बाद आर्थिक गतिविधियां जल्द खोलने की पैरवी करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से निपटने के साथ ही लोगों की आजीविका की सुरक्षा करनी होगी। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से किए गए संवाद के दौरान उन्होंने कहा कि देश के गरीबों, मजदूरों और किसानों की प्रत्यक्ष अंतरण के माध्यम से वित्तीय मदद करनी होगी जिसमें 65 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे।


गरीबों की मदद जरूरी
गांधी के एक प्रश्न के उत्तर में राजन ने कहा कि सामाजिक सौहार्द में लोगों की भलाई है और इस चुनौतीपूर्ण समय में हम विभाजित रहने का जोखिम नहीं उठा सकते। राजन ने कहा, ‘हमारी अर्थव्यवस्था 200 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की है और हम 65 हजार करोड़ रुपये वहन कर सकते हैं।’ उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को जल्द खोलना होगा और साथ ही कोरोना वायरस से निपटने के कदम भी उठाते रहने होंगे।


रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर ने भारत में कोरोना की जांच की संख्या के मुद्दे पर कहा कि अमेरिका में रोजाना औसतन 1,50,000 जांच हो रही हैं। बहुत सारे विशेषज्ञ कह रहे हैं कि पांच लाख लोगों की जांच करनी चाहिए। भारत में हम रोजाना 20-25 हजार जांच कर रहे हैं। ऐसे हमें बड़े पैमाने पर जांच करनी होगी। वैश्विक स्तर पर अर्थव्यवस्था को लेकर रघुराम राजन ने कहा कि मुझे लगता है कि ग्लोबल आर्थिक सिस्टम में कुछ गलत तो है, लोगों के पास नौकरी नहीं हैं, जिनके पास नौकरी है उनको आगे की चिंता है, आय का असमान वितरण हो रहा है अवसरों का सही वितरण करना होगा।


लॉक डाउन: जारी होगी नई गाइडलाइन

नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) से निपटने की रणनीति के तहत वह नए दिशा निर्देश जारी करेगी जो कि चार मई से लागू होंगे और उनमें अनेक जिलों को कई छूट दी जाएंगी।


केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आज ट्वीट कर कहा कि कोरोना के खिलाफ अभियान के तहत लॉकडाउन के संबंध में नए दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे जो कि चार मई से लागू होंगे। इनमें अनेक जिलों को कई प्रकार की छूट दी जाएगी। मंत्रालय जल्द ही इन दिशा निर्देश की घोषणा करेगा। मंत्रालय ने देश भर में कोरोना महामारी के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के कारण उत्पन्न स्थिति की आज व्यापक समीक्षा की। समीक्षा में यह बात सामने आई कि लॉकडाउन के कारण स्थिति में काफी सुधार हुआ है और यह निर्णय लिया गया कि सुधार की इस स्थिति को बनाये रखने और इससे अधिक फायदे के लिए लॉकडाउन को तीन मई तक सख्ती से लागू करना जरूरी है। मंत्रालय की आज की घोषणा को इस संकेत के रूप में देखा जा रहा है कि अनेक छूटों के साथ लॉकडाउन की अवधि को तीन मई से आगे बढ़ाया जा सकता है।


गृह मंत्रालय ने देश भर में अलग-अलग जगहों पर फंसे हुए लोगों को राहत देते हुए आज ही राज्यों के बीच आवागमन को खोलने की अनुमति दी थी। उल्लेखनीय है कि देश भर में तीन मई तक लॉकडाउन लागू है और सरकार को इसके बाद कि रणनीति तय करनी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गत सोमवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस संबंध में बैठक भी की थी। इससे पूर्व आज सरकार ने घोषणा की थी कि कोरोना महामारी के कारण विभिन्न जगहों पर पूर्णबंदी के कारण फंसे प्रवासी मजदूरों,श्रद्धालुओं, श्रमिकों, पर्यटकों , छात्रों और अन्य लोगों को सड़क मार्ग से उनके गृह राज्यों में जाने की अनुमति देते हुए देश में अंतर्राज्यीय आवागमन की मंजूरी दे दी है।


केन्द्रीय गृह सचिव ने सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को आज पत्र लिखकर इन लोगों के एक राज्य से दूसरे राज्य में आवागमन की सुविधा करने को कहा है। इससे पहले दोनों संबंधित राज्यों को इस बारे में सलाह मश्विरा कर आम सहमति बनानी होगी। सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से इसके लिए नोडल अधिकारी की निुयक्ति के साथ साथ फंसे हुए लोगों के राज्यों में आने और उन्हें भेजने के लिए मानक प्रोटोकोल बनाने को कहा गया है।


नोडल अधिकारी अपने यहां फंसे लोगों का पंजीकरण भी करेंगे। किसी भी व्यक्ति के आवागमन से पहले उसकी मेडिकल जांच की जायेगी और उसमें बीमारी के लक्षण नहीं होने पर उसे जाने की अनुमति दी जायेगी। गंतव्य पर भी स्थानीय स्तर पर उनकी जांच की जायेगी और उन्हें घर में ही रहने को कहा जायेगा। उनके स्वास्थ्य पर निरंतर नजर भी रखी जायेगी।आदेश में राज्यों से यह भी कहा गया है कि वे इन लोगों को अपने फोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए भी प्रोत्साहित करें।


सहारनपुर से दिखी हिमालय की चोटी

नई दिल्ली/सहारनपुर। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 24 मार्च के बाद से ही पूरे देश में लॉकडाउन जारी है। भारत की पूरी आबादी इस वक्त अपने घरों में कैद है और कल-कारखानों पर भी ताला लगा है। इस लॉकडाउन की वजह से प्रदूषण के स्तर में भी भारी कमी आई है और प्रकृति अपने पूराने स्वरूप में लौट आई है। लॉकडाउन में लोगों ने पहली बार प्रकृति को इतनी नजदीक से देखा व उससे जुड़ाव महसूस किया है। वाहन-फैक्ट्री सब बंद होने से हवा साफ व धूल-धुंए से मुक्त हो गईं है और प्रकृति के नजारे आम हो गए हैं। जी हां, नीले आसमान में दृश्यता का आलम यह है कि सहारनपुर से अपर हिमालयन रेंज की बर्फीली पहाड़ियां तक आसानी से देखी जा रही हैं। ऐसे ही कुछ खुशनुमा पल इनकम टैक्स अधिकारी दुष्यंत कुमार सिंह ने अपने कैमरे में कैद किए है। दुष्यंत सिंह के अनुसार, रविवार शाम बारिश के बाद नजारा देखकर वह भी एक बारी चौक गए थे। चकराता से ऊपर की ओर गंगोत्री यमुनोत्री पर्वत श्रंखला की बंदरपूंछ आदि की पहाड़ियां साफ दिखाई दे रही थी जिन्हें उन्होंने अपने कैमरे में कैद किया हैं। सिंह की अध्यापक पत्नी निधि बताती हैं कि यह पहाड़ियां करीब 200 किलोमीटर दूर है।


खास है कि अभी तक वायुमंडल में पसरे घने प्रदूषण के चलते देहरादून-मसूरी की पहाड़ियां भी कभी-कभार बारिश के बाद मुश्किल से दिखाई दे पाती थीं लेकिन आज अपर हिमालयन रेंज की पर्वत श्रृंखलाएं सहारनपुर से दिखाई दे रही हैं तो मतलब साफ है। हवाओं को साफ व प्रदूषण मुक्त बनाने का जो काम पूरी सरकारी मशीनरी न कर पाई हो, उसे लॉकडाउन ने कर दिखाया हैं। लॉक डाउन के चलते वाहन फैक्ट्री सब बंद होने से धूल धुंए के साथ हवा में हानिकारक गैसें आदि का प्रभाव खत्म हो गया और लोगों ने पहली बार प्रकृति को इतनी नजदीक से देखा और उसकी अप्रतिम सुंदरता का अहसास किया है।प्रदूषण विभाग के भी अनुसार, लॉक डाउन के चलते हवाओं की गुणवत्ता में करीब 35% तक सुधार है। जिले का एयर क्वालिटी इंडेक्स यानी एक्यूआई लेवल 70 पर आ गया है। जो दिवाली के आसपास 300 पार पहुंच जाया करता था और 120-125 से कम तो कभी आता ही नहीं था।


सहायक वैज्ञानिक अधिकारी गीतेश चंद्र कहते हैं कि लाक डाउन में वाहन फैक्ट्री आदि सब बंद है। बारिश में धूल-धुंआ आदि सब धुल गया है तो आसमान साफ दिखेगा ही। बता दें कि बीते 24 मार्च से देशभर में लॉकडाउन जारी है और इसकी वजह से गंगा नदी का जल भी काफी साफ हो गया है। इतना ही नहीं, वायु प्रदूषण में भी काफी कमी देखने को मिली है।


प्रयागराज-जौनपुर बॉर्डर का निरीक्षण

मण्डलायुक्त व आईजी ने प्रयागराज-जौनपुर बार्डर का किया निरीक्षण
बाहर से आने वाले लोगो की थर्मल स्कैनिंग करने के पश्चात ही उनको जाने की दे अनुमति-मण्डलायुक्त
आईजी ने पुलिस कर्मियों को लाॅकडाउन का कड़ाई से पालन कराने के दिए निर्देश


बृजेश केसरवानी
 प्रयागराज।मण्डलायुक्त प्रयागराज श्री आर0 रमेश कुमार व आईजी के0पी0 सिंह ने फूलपुर तहसील स्थित प्रयागराज-जौनपुर बार्डर का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि लोगो की एवं माल वाहक गाड़ियों की बिना चेकिंग आने-जाने की अनुमति नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि यहां पर एक डाॅक्टर्स की टीम लगाये, जो कि बाहर से आने वाले लोगो की थर्मल स्कैनिंग करें, उसके पश्चात ही उनको जाने की अनुमति दी जाये। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित किया कि आने वाले लोगांे का एक रजिस्टर तैयार करें, जिसमें इनका पूरा विवरण साथ ही इनकी यात्रा का डिटेल अंकित किया जाये। उन्होंने विशेष तौर पर बाहर से आने वाले लोगो को क्वारंटीन सेंटर में 14 दिन के लिए क्वारंटीन करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बार्डर पर किसी स्कूल को क्वारंटीन सेंटर के रूप में विकसित करें, जिससे वहां पर लोगो को क्वारंटीन किया जा सके।
तत्पश्चात मण्डलायुक्त फूलपुर तहसील स्थित उ0प्र0 राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन कार्यालय पहुंचे। उन्होंने कार्यालय में साफ-सफाई, सैनीटाइजेशन इत्यादि कार्यों का जायजा लिया एवं इसे और बेहतर करने के निर्देश दिए। मण्डलायुक्त ने ग्राम पंचायत कनेहटी स्थित कान्हा गौशाला, गो-वंश आश्रय स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने वहां कर्मचारियों से गायों को दिया जाने वाला चारा, पानी एवं अन्य सुविधाओं की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली एवं इनकी देखभाल प्राथमिकता के साथ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कान्हा गौशाला में साफ-सफाई एवं जानवरों की देखभाल हेतु पशुचिकित्सकों की लगायी गयी ड्यूटी के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने गौशाला कार्यरत कर्मचारियों का रजिस्टर देखा एवं उनके ड्यूटी चार्ट के बारे में भी पूछा।
पुलिस महानिरीक्षक श्री कवीन्द्र प्रताप सिंह ने बार्डर पर चेकिंग के दौरान पुलिस अधिकारियों को अपनी ड्यूटी कड़ाई से करने, किसी भी व्यक्ति को बिना जांच किए एवं उनका पूरा विवरण लिए बिना अंदर प्रवेश न करने देने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि बार्डर एरिया पर अन्य साइड मार्गो की चेकिंग पूरी मुस्तैदी के साथ करें, जिससे कि जिले की सीमा पर कोविड-19 की बिना जांच कराये कोई भी व्यक्ति जिले में प्रवेश न कर सके। उन्होंने कहा कि अनाउंसमेंट सिस्टम एवं पम्फलेट के माध्यम से कोविड-19 की जानकारी आम लोगो तक पहुंचाये।
निरीक्षण के दौरान मण्डलायुक्त ने शास्त्रीपुल पर आने-जाने वाले लोगो को रोककर उनसे पूछताछ की एवं लाॅकडाउन का पालन करने के निर्देश दिए। इसके साथ बाहर से आने वालों को क्वारंटाइन करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान अपर आयुक्त प्रथम-श्री भगवान शरण, संयुक्त विकास आयुक्त-श्री शिव कुमार पाण्डेय सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।


विशेष ट्रेनों के संचालन की मांग की

जालोर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा श्रमिकों एवं प्रवासियों के अन्तराज्यीय आवागमन के संबंध में बुधवार को जारी किए गए आदेश का स्वागत किया है। प्रवासियों को सकुशल उनके घर पहुंचाने के लिए राजस्थान सरकार ने एक व्यवस्थित एवं सुगम प्रक्रिया के तहत ऑनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था की है जिसमें बुधवार रात तक करीब 6 लाख 35 हजार श्रमिकों एवं प्रवासियों ने अपना पंजीयन कराया है।
आने वाले समय में और भी श्रमिक अपना पंजीयन करा सकते हैं। ऐसे में कामगारों की इतनी बड़ी संख्या तथा लंबी दूरी को देखते हुए विशेष ट्रेनों का संचालन किया जाना  कामगारों के सुरक्षित घर लौटने का व्यावहारिक समाधान होगा। प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि इन लाखों प्रवासियों एवं श्रमिकों के सुरक्षित आवागमन के लिए भारत सरकार को बिना किसी देरी के विशेष ट्रेनों का संचालन प्रारंभ करना चाहिए।
राजस्थान सरकार द्वारा लगातार की जा रही मांग के बाद केन्द्र सरकार द्वारा श्रमिकों एवं प्रवासियों को उनके गृह स्थान पहुंचाने के लिए जारी आदेश का स्वागत है। बड़ी संख्या में राजस्थान के प्रवासी विभिन्न राज्यों में फंसे हुए थे। साथ ही अन्य राज्यों के लोग भी यहां अटके हुए थे। दोनों ही संकट की इस घड़ी में अपने परिवारजनों के पास पहुंचना चाहते थे। राज्य सरकार ने उनकी भावनाओं को समझा और इस दिशा में लगातार सकारात्मक प्रयास किए, जिससे उनकी घर लौटने की राह खुल सकी।
विभिन्न पत्रों एवं प्रधानमंत्री के साथ समय-समय पर हुई वीडियो कांफ्रेंस में प्रवासियों एवं श्रमिकों की इस समस्या की ओर ध्यान आकर्षित किया था। साथ ही प्रवासी राजस्थानियों की सहायता एवं उनकी समस्याओं के समाधान के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को संबंधित राज्य सरकारों के साथ समन्वय की जिम्मेदारी दी गई थी। पत्र में कहा कि काफी समय से घर से दूर रहने की पीड़ा झेल रहे इन श्रमिकों एवं प्रवासियों की इस समस्या को दूर करने के लिए हमें व्यावहारिक मार्ग अपनाना होगा।


रोजेदारों को वितरण की खाद सामग्री

मनरेगा मजदूर यूनियन रमजान के पाक महीने में कर रही है रोजेदारों की मदद


वाराणसी। एक तरफ कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से देश ही नहीं पूरा विश्व संकट के दौर से गुजर रहा है। ऐसे में काशी की गंगा जमुनी तहजीब लोगों में जिंदा रखने के लिए मनरेगा मजदूर यूनियन ने पहल किया है। यूनियन के संयोजक सुरेश राठौड़ का कहना है कि विभिन्न राजनीतिक दल, धर्म, मजहब और जाति के नाम पर अपनी राजनीति करते हैं लेकिन वाराणसी में हमारी संगठन रमजान के पाक महीने में रोजेदारों की निस्वार्थ भाव से सेवा करने में जुटी हुई है। इस नेक काम मे पूर्वांचल किसान यूनियन भी पूरी शिद्दत के साथ सहयोग कर रहा है। कोरोना महामारी में मजदूर बुनकर लॉक डाउन होने की वजह से  आर्थिक संकट में हैं और भुखमरी के कगार पर आ गया है प्रशासन तो खूब दावे कर रही है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ भी नहीं है। मनरेगा मजदूर यूनियन संगठन गरीब बुनकरों के बीच जाकर उनकी सेवा में लगी हुई है। गुरुवार को आराजी लाइन ब्लॉक के परमंदापुर गांव में लगभग 15 गरीब वंचित बेसहारा परिवारों को खाद्य सामग्री और रोजे का खाघ सामान पैकेट संगठन के द्वारा वितरित किया गया गौरतलब हो कि जब से लॉक डाउन है तब से मनरेगा मजदूर यूनियन की तरफ से अबतक 350 से अधिक परिवारों को राहत सामग्री वितरित किया जा चुका है। आशा ट्रस्ट, साझा संस्कृति मंच के सहयोग से ऐसे  मुस्लिम परिवारों को रमजान के महीने में मुस्लिम बस्तियों में जाकर खाद्य सामग्री और रोजे का सामान बांटा जा रहा है। और इसी तरह आगे भी मदद जारी रहेगा जिनके पास इस रमजान में खाने का सामान नही है।
इस कार्यक्रम में मनरेगा मजदूर यूनियन के सुरेश राठौर, महेंद्र राठौर, ओमप्रकाश पटेल, मनोज कुमार, पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष योगीराज सिंह पटेल आदि लोग उपस्थित थे।


रिपोर्ट राजकुमार गुप्ता वाराणसी


योगी सख्त, दोषियों पर गैंगस्टर लगाएं

लखनऊ। कानपुर में पुलिसकर्मियों के साथ हुई हिंसा पर बेहद नाराज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो टूक कहा है कि कोरोना योद्धाओं पर हमले जैसा कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं है। उन्होंने हमले के दोषियों पर डिजास्टर मैनेजमेंट, एपिडेमिक एक्ट, राष्ट्रीय सुरक्षा कानून, गैंगस्टर और आइपीसी की धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।मुख्‍यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ ने कानपुर में मेडिकल टीम और पुलिस टीम पर हमला करने वालों पर सख्‍त कार्रवाई करने के आदेश द‍िए है।


सीएम ने कहा, कानपुर में हमलावरों को तत्काल चिन्हित किया जाए और क‍िसी भी दोषी को क‍िसी भी कीमत पर बख्शा न जाये। सभी दोषियों पर गैंगस्टर और NSA के तहत कार्रवाई की जाए।कानपुर की घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को एक वीडियो संदेश में कहा कि पूरा प्रदेश मिलकर कोरोना के विरुद्ध लड़ाई लड़ रहा है। ऐसे समय में इस कृत्य को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि मामले की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए हमने एपिडेमिक एक्ट में व्यापक संशोधन की कार्रवाई को आगे बढ़ाया है और इसके तहत सुरक्षाकर्मी, स्वच्छता कर्मी और कोरोना वॉरियर्स पर अगर कोई भी व्यक्ति हमला करता है तो उसे सात वर्ष की सजा और पांच लाख रुपये तक का जुर्माना भुगतना होगा। योगी ने कहा कि कानपुर में कुछ लोगों ने दुस्साहस किया है। इसके पीछे जो भी लोग हैं, सबके ऊपर सख्त कार्रवाई के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिए गए हैं।


इस साल अगस्त से शुरू होंगे कॉलेज

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और लॉकडाऊन के कारण सभी स्कूल व कॉलेज बंद हैं जिससे छात्रों को पढ़ाई का नुकसान हो रहा है। लेकिन अब कॉलेज और विश्वविद्यालय से जुड़े छात्रों के लिए एक बड़ी खबर सामने आई है। जी हां… विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने अब कॉलेजों के खुलने की तारीखों का ऐलान कर दिया है। बता दें कि इस मामले में एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया था जो कि मामले में सुझाव दे सके। यूजीसी ने अब इस समिति की सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है। यूजीसी ने बुधवार को बताया है कि वर्तमान छात्रों के लिए कॉलेज का नया सत्र अगस्त में शुरू होगा और नए छात्रों का नया सत्र सितंबर में शुरू होगा। नए छात्रों का मतलब, जो इस बार कॉलेज में एडमिशन लेंगे। क्लास में दाखिले की प्रक्रिया 01 अगस्त से 31 अगस्त तक चल सकती है। पहले और दूसरे साल के छात्रों के लिए कक्षा की शुरुआत 01 अगस्त से हो सकती है। पहले सेमेस्टर की कक्षा 01 सितंबर से शुरू की जा सकती हैं। परीक्षा का आयोजन अगले साल 01 जनवरी से 25 जनवरी के बीच किया जा सकता है। इसके बाद 27 जनवरी से अगले सेमेस्टर की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। जो कि अगले साल 25 मई तक चलेंगी। इसके बाद परीक्षा का आयोजन 26 मई 2021 से 25 जून 2021 के बीच किया जाएगा। फिलहाल सत्र 2019-20 के लिए शिक्षकों को 31 मई तक ऑनलाइन टीचिंग के लिए कहा गया है. कोर्स का सिलेबस और इंटरनल एसेसमेंट पूरा करने केलिए 01 जून से 15 जून तक का समय तय किया गया है। यूजीसी के मुताबिक इसके बाद टर्मिनल सेमेस्टर/सालाना परीक्षा 01 जुलाई से 15 जुलाई के बीच आयोजित की जाएगी। जिसके नतीजे 31 जुलाई तक दिए जाएंगे। इंटरमीडिएट सेमेस्टर /ईयर परीक्षा का आयोजन 16 जुलाई से 31 जुलाई के बीच किया जाएगा और उसका रिजल्ट 14 अगस्त तक दिया जा सकता है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 24 मार्च को 21 दिनों के लिए देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान किया था। इसके बाद 14 अप्रैल को पीएम मोदी ने लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा कर दी।


प्रतिभा के पावर हाउस का निधन

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह प्रतिभा के पावरहाउस थे। मोदी ने कहा कि इस दुखद समाचार से उन्हें बहुत पीड़ा हुई है।


प्रधानमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा, “ऋषि कपूर जी बहुआयामी, सभी के प्रिय और खुशमिजाज थे। वह प्रतिभा के पावरहाउस थे। मैं हमेशा सोशल मीडिया पर उनके साथ हुई बातचीत को याद करूंगा। वह फिल्मों और भारत की प्रगति के बारे में जुनूनी थे। उनके निधन से दुखी हूं। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ऊं शांति।” ऋषि कपूर का कैंसर की लंबी जंग के बाद आज सुबह निधन हो गया।ऋषि कपूर के निधन से दुखी, प्रतिभा के पावरहाउस थे।


पंचायती राज व्यवस्था भी शिथिल

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने देश के समग्र विकास के लिए जिस पंचायती राज व्यवस्था की शुरुआत की, वह जबरदस्त असरदार साबित हुई लेकिन दुर्भाग्य से आज हम उस व्यवस्था से भटक गये हैं। राहुल गांधी ने गुरुवार को रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के साथ चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा “राजीव गांधी जी जिस पंचायती राज को लेकर आए थे उसका समाज पर जबरदस्त असर हुआ लेकिन अफसोस के साथ कहना पड़ेगा कि यह अब कम हो रहा है। पंचायती राज के मोर्चे पर जितना आगे बढ़ने का काम हुआ था, हम उससे पीछे लौट रहे हैं और जिलाधिकारी आधारित व्यवस्था में जा रहे हैं।”


उन्होंने कहा कि देश के उत्तरी राज्यों की तुलना में पंचायती राज व्यवस्था पर दक्षिण के राज्यों में ज्यादा बेहतर काम हुआ है। उन्होंने कहा “अगर आप दक्षिण भारतीय राज्य देखें, तो वहां इस मोर्चे पर अच्छा काम हो रहा है, व्यवस्थाओं का विकेंद्रीकरण हो रहा है लेकिन उत्तर भारतीय राज्यों में सत्ता का केंद्रीकरण हो रहा है। पंचायतों तथा जमीन से जुड़े संगठनों की शक्तियां कम हो रही हैं।”


राहुल गांधी ने कहा कि इस दौर में अधिकारवाद का एक नया मॉडल सामने आया है जो ‘सत्तावादी मॉडल’ है और यह उदार मॉडल पर सवाल उठा रहा है। उन्होंने कहा कि यह एक अलग तरीका निकाला गया है जो बहुत तेजी से फलता-फूलता नजर आ रहा है। राजन ने भी इस व्यवस्था पर चिंता जताई और कहा “अधिकारवादी व्यक्तित्व अपने आप में एक ऐसी धारणा बना लेता है कि ‘मैं ही जनशक्ति हूं’ इसलिए मैं जो कुछ भी कहूंगा, वह सही होगा। सब कुछ मेरे सामने से होते हुए गुजरना चाहिए। इतिहास उठाकर देखें तो पता चलेगा कि जब-जब इस हद तक केंद्रीकरण हुआ है, व्यवस्थाएं धराशायी हो गई हैं।”


राष्ट्रपति ने व्यक्त की गहरी संवेदनाएं

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को बॉलीवुड के सदाबहार अभिनेता ऋषि कपूर के असामयिक निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है।कोविंद ने ट्वीट कर कहा है, “ऋषि कपूर के असामयिक निधन से गहरा दुःख हुआ है। उनके सदाबहार और प्रसन्नचित्त व्यक्तित्व तथा ऊर्जा के कारण यह विश्वास करना मुश्किल हो रहा है कि वह नहीं रहे।”


उन्होंने आगे लिखा है, “उनका निधन सिने जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। उनके परिवार, शुभचिंतकों और प्रशंसकों के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं।”



रिपोर्ट मिलते ही संक्रमित ने तोड़ा दम

मुरादाबाद। कोरोना ने एक और मरीज को अपना शिकार बना लिया। इस बार एक वृद्ध महिला ने कोरोना संक्रमित होने के कारण दम तोड़ दिया। महिला का शव अब परिजनों के सुपुर्द कर दिया जाएगा। मुरादाबाद के पाकबड़ा स्थित टीएमयू में इस महिला का इलाज चल रहा था।


अमरोहा की नई बस्ती की रहने वाली इस बुजुर्ग महिला की तबियत बिगड़ने पर उसे रविवार को टीएमयू में भर्ती कराया गया था। यहां उसका इलाज शुरू हुआ पर, तबियत में सुधार नहीं हुआ। महिला की कोरोना जांच के लिए सैम्पल भेजा गया, जिसकी रिपोर्ट बुधवार की शाम को आई। महिला संक्रमित थी, जिससे स्वास्थ्य महलमे में भी खलबली तेज हो गई। रिपोर्ट आने के बाद दूसरे दिन गुरुवार की सुबह महिला ने दम तोड़ दी। महिला की मौत से जहां अफसरों में हड़कंप की स्थिति है तो वहीं परिवार में कोहराम मच गया है। महिला के परिवार में दो मासूम सही 22 लोग बताए जा रहे हैं, जिनकी भी कोरोना जांच होगी। अब तक जिले में इलाज के दौरान संक्रमितो की मौत की संख्या 7 हो चुकी है। जिसमें 4 मुरादाबाद, टांडा और सम्भल के 1-1 भी शामिल है।


ऋषि कपूर भी हारे जिंदगी की जंग

कल इरफान खान के निधन के बाद आज बॉलीबुड को लगा एक और झटका दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर हारे ज़िन्दगी की बाज़ी 67 वर्ष की उम्र में हुआ निधन
शेख़ नसीम 


मुंबई। बेहतरीन एक्टर इरफान खान के आकस्मिक निधन की खबर से अभी बॉलीबुड उभरा भी नही था की आज एक और बुरी खबर ने बॉलीबुड को झकझोर के रख दिया मशहूर और दिग्गज अभिनेता आज मुंबई के अस्पताल में कैंसर की बीमारी के चलते ज़िन्दगी की बाज़ी हार गए उनके बड़े भाई रणधीर कपूर ने बताया की ऋषि को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी पिछले कुछ दिनों से वो मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती थे आज उनका निधन हो गया हैं सबसे पहले अमिताभ बच्चन ने ट्वीट करके ऋषि कपूर के निधन की खबर दी। भारतीय सिने जगत के साथ ही ऋषि कपूर के फैन्स भी उनके निधन से स्तब्ध हैं पूरे बॉलीबुड में इस समय शोक की ऐसी लहर उठी हैं जो अभी थमने का नाम नही ले रही हैं ऋषि कपूर की आयु 67 वर्ष की थी।


ऋषि कपूर विगत कई महीनों से कैंसर से पीड़ित थे और अभी इंग्लैंड से कैंसर का इलाज कराकर लौटे थे। आज सांस लेने की तकलीफ की वजह से ऋषि कपूर ने मुंबई के अस्पताल में अंतिम सांस ली।


ऋषि कपूर ने बॉलीबुड में ऐसे समय इंट्री की जब सुपर स्टार राजेश खन्ना का बॉलीबुड पर राज था उसके बाद सुपर स्टार अमिताभ बच्चन के राज में भी ऋषि कपूर अपनी जगह बनाने में सफल रहे। 1970 में मेरा नाम जोकर से बतौर बाल कलाकार के रूप में ऋषि कपूर ने अपनी फिल्मी यात्रा शुरू की ये फ़िल्म उनके पिताजी राजकपूर ने बनाई थी जो खुद उस फिल्म के हीरो थे। 1973 में उनके पिताजी राजकपूर ने बतौर नायक ऋषि कपूर को लेकर बॉबी फ़िल्म बनाई जो एक लव-स्टोरी फ़िल्म थी इस फ़िल्म से डिंपल कपाड़िया को ऋषि कपूर के साथ लॉन्च किया गया था बॉबी ने ताबड़तोड़ कमाई करके 1973 की सुपरहिट फिल्मों की फेहरिस्त में अपना नाम दर्ज करवाया इस फ़िल्म के लिए ऋषि कपूर को सर्वश्रेष्ठ नायक का फ़िल्म फेयर अवार्ड मिला था इसके बाद ऋषि कपूर ने एक के बाद एक सफल फिल्मों में काम करके अपने अभिनय का लोहा मनवाया।


*ऋषि कपूर की कुछ बेहतरीन और यादगार फिल्में।* बॉबी,अमर अकबर एंथोनी,बदलते रिश्ते,कुली,नसीब,कभी-कभी,प्रेमरोग,तवायफ,नगीना,चाँदनी, दामिनी,बोल राधा बोल,ज़हरीला इंसान,एक चादर मैली सी,खेल खेल में,घर-घर की कहानी,खोज,घराना,दीवाना जैसी फिल्मों में यादगार भूमिकाए निभाकर इन फिल्मों पर अपने अभिनय की गहरी छाप छोड़ी। करण जौहर की फ़िल्म अग्निपथ में ऋषि कपूर ने खलनायक का चरित्र निभाकर दर्शकों की खूब वाहवाही बटोरी। बहरहाल ऋषि कपूर अब हमारे बीच नही हैं लेकिन वो अपनी फिल्मों के ज़रिए भारतीय सिने प्रेमियों के दिलो में हमेशा ज़िंदा रहेंगे।
ऋषि कपूर के साथ ही अभिनेता इरफान खान को एक भावभीनी श्रद्धाजंलि,ऊपर वाला दोनों की आत्मा को शांति प्रदान करे।


चेयरमैन से दुर्व्यवहार, इंस्पेक्टर निलंबित

इंस्पेक्टर को चेयरमैन से दुर्व्यवहार करना पड़ा महंगा, एसपी ने किया लाइन हाजिर


पीलीभीत। एक तरफ लॉक डाउन के दौरान जिस तरह से डॉक्टरों व पुलिस पुलिस की छवि काफी तेजी से उबर रही थी वहीं दूसरी तरफ पुलिस प्रशासन काफी अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए दिखाई दे रहे थे पुलिस प्रशासन की अब की बार पीएम मोदी जी ने भी काफी प्रशांत करते हुए दिखाई दे रहे थे यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल होते हुए दिखाई दे रहा है इन दिनों इस वीडियो का खूब चर्चा हो रहा है यह वीडियो के बारे में बताया जा रहा है यह वीडियो जहानाबाद क्षेत्र का है वीडियो मैं भी कुछ पुलिसकर्मी भी दिखाई दे रहे हैं जो लगातार घर के बाहर खड़े होकर अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए दिखाई दे रहे हैं इस वीडियो में पीछे से एक महिला समेत कुछ अन्य आवाज भी सुनने को मिल रही हैं बताया जा रहा है कि यह वीडियो जहानाबाद चेयरमैन आवास के पास का है यह मामला पुलिस अधीक्षक तक पहुंचा तो उन्होंने इस वायरल वीडियो को लेकर एक जांच बैठा दी थी इसी के मद्देनजर पुलिस अधीक्षक ने जहानाबाद इंस्पेक्टर को दोषी मानते हुए उनको देर रात लाइन हाजिर कर दिया ।
इस संबंध में पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित ने बताया कि पुलिस की छवि को धूमिल करने वाले कोतवाल जहानाबाद मनीराम सिंह को तत्काल प्रभाव से जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव के अनुमोदन पर लाइन हाजिर कर दिया गया है पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच में है वीडियो संज्ञान में ले लिया गया है जिसे लेकर राजपत्रित अधिकारी से जांच कराई जा रही है जांच आते हैं उच्च कार्रवाई की जाएगी आपको बताते चलें 27 अप्रैल की रात का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा तो जिले में हड़कम्प मच गया । वीडियो में जहानाबाद कोतवाली प्रभारी मनीराम सिंह अपने दलबल के साथ महिला चेयरमैन ममता के घर पर पहुंचे और जमकर गाली गलौज किया । चेयरमैन का आरोप था कि पुलिस उनके घर में घुस कर तोड़फोड़ की और नकदी भी उठा ले गए मामला संज्ञान में आते ही पुलिस अधीक्षक ने जांच बैठा दी थी।


रिपोर्टर-इफ्तिखार अहमद


अर्थव्यवस्था संकट से कैसे उबरे ?

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन से चर्चा करेंगे। कोरोना संकट के बीच अर्थव्यवस्था के सामने जिस तरह की चुनौतियां हैं, उसको लेकर ये बातचीत होगी। कोरोना वायरस के संकट काल में पिछले करीब एक महीने से लॉकडाउन लागू है। देश में सबकुछ बंद पड़ा है, लोग घरों में हैं, फैक्ट्रियों में ताले लटके हैं। जिसका असर अर्थव्यवस्था पर पड़ा है और जीडीपी की गति पूरी तरह से थम गई है। अर्थव्यवस्था के सामने आ रही इन्हीं चुनौतियों को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी गुरुवार को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन से चर्चा करेंगे।


कांग्रेस के सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर होने वाली इस चर्चा में अर्थव्यवस्था, नौकरियां, कोरोना संकट काल के बाद किस तरह उबरा जाए और सरकार को क्या कदम उठाने होंगे, ऐसे मुद्दों पर चर्चा होगी। रघुराम राजन 2013 से 2016 तक रिजर्व बैंक के गवर्नर रह चुके हैं, कई मौकों पर वह मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना करते भी नज़र आए हैं। कांग्रेस पार्टी की ओर से एक सीरीज़ की शुरुआत की जा रही है, जिसमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी अलग-अलग क्षेत्रों के एक्सपर्ट्स से बात करेंगे और इस वक्त जो संकट देश के सामने आया हुआ है, उसपर चर्चा करेंगे। गौरतलब है कि आर्थिक चुनौतियों के बीच दुनियाभर की एजेंसियों ने इस बात का अंदाजा लगाया है कि इस बार भारत की जीडीपी 0 से 1 फीसदी के बीच में रह सकती है, जबकि कोरोना संकट काल खत्म होने के बाद ही कोई राहत देखने को मिल सकती है। जबकि इसका असर नौकरियों पर भी पड़ रहा है और हजारों-लाखों लोगों की नौकरी पर बात आ गई है।


कोरोना पर पहले भी की थी बात
बता दें कि इससे पहले भी बीते दिनों राहुल गांधी ने कोरोना संकट काल के बीच पत्रकारों से बात की थी। राहुल गांधी ने तब कोरोना वायरस को लेकर मुद्दा उठाया था, देश में टेस्टिंग की संख्या पर जोर देने की बात कही थी। बकौल राहुल गांधी, लॉकडाउन सिर्फ एक पॉज़ बटन है जो कि आगे की लड़ाई के लिए तैयारी करने का मौका दे रहा है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


अप्रैल 31, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-264 (साल-01)
2. शुक्रवार, अप्रैल 31, 2020
3. शक-1943, वैशाख, शुक्ल-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 06:00,सूर्यास्त 06:54।


5. न्‍यूनतम तापमान 23+ डी.सै.,अधिकतम-35+ डी.सै., तेज हवाएं चलने की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


 


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...