बुधवार, 20 नवंबर 2019

असुविधा: राम भरोसे चल रहा अस्पताल

राम भरोसे चल रहा है स्वास्थ्य उपकेंद्र


कौशांबी। चायल तहसील अंतर्गत स्वास्थ्य उपकेंद्र नटका राम भरोसे चल रहा है। यहां पर ना ही कोई एनम, ना ही कोई आंगनबाड़ी कार्यकत्री व ना ही कोई आशा दिख रही है। ग्राम व क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यहां पर ना ही किसी प्रकार की व्यवस्था दिखाई पड़ रही है और यह स्वास्थ्य उप केंद्र बंद पड़ा रहता है। ना ही कोई इसकी जांच की जा रही है, इतनी बड़ी समस्या की,कोई आला अधिकारी इस पर कोई कार्रवाई नही कर रहे हैं। गर्भवती महिलाओं के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यहां पर इतना स्टाफ होने के बावजूद कोई मौजूद नहीं रहता, योगी सरकार की मानसिकता को पलीता लगा रहे, कर्मचारी व जिले के अधिकारी सभी मनमाफिक काम कर रहे हैं। किसी को किसी भी प्रकार की कोई डर नहीं है। जब मन चाहा चले आए और जब मन चाहा चले गए। इसी तरह चल रहा है स्वास्थ्य उप केंद्र नटका थाना चरवा तहसील चायल जनपद कौशांबी।


गणेश साहू


भ्रष्टाचार के मामले में 'यूपी' देश में अव्वल

भ्रष्टाचार के मामले में यूपी ने बनाया एक रिकॉर्डपीडीएस में भ्रष्टाचार के मामले में यूपी अव्वल है


नई दिल्ली। भ्रष्टाचार के मामले में उत्तर प्रदेश ने एक अनूठा रिकॉर्ड कायम किया है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) में भ्रष्टाचार के मामले में उत्तर प्रदेश सबसे आगे है। इस साल 31 अक्टूबर 2019 तक पीडीएस में भ्रष्टाचार की कुल 807 शिकायतें मिली हैं जिनमें सबसे अधिक 328 शिकायतें यूपी से आई हैं।


केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री रावसाहेब पाटिल दानवे ने मंगलवार को लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित जवाब में यह जानकारी दी है. गौरतलब है कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली में घोटाले के लिए उत्तर प्रदेश पहले भी कई बार सुर्खियों में रहा है। न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, प्रदेश में करोड़ों रुपये के खाद्यान्न घोटाले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने 2014 में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को प्रदेश के तत्कालीन कैबिनेट मंत्री रघुराज प्रताप सिंह ऊर्फ राजा भैया की भूमिका की जांच करने का निर्देश दिया था।


रवि किशन ने पूछा था सवाल


उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से सांसद रवि किशन और आगरा से सांसद डॉ. रामशंकर कठेरिया ने अतारांकित प्रश्न पूछकर केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री से जानना चाहा कि क्या खाद्य वितरण के मामले में आई शिकायतों में उत्तर प्रदेश भी शामिल है।सांसदों ने इन शिकायतों के ब्योरे के साथ-साथ इस पर लगाम लगाने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी मांगी। साथ ही, उन्होंने सरकार द्वारा इसके स्थायी समाधान के लिए लाई गई योजना के बारे में भी जानकारी मांगी।


संसद: सजायाफ्ता कैदियों की रिहाई का मुद्दा

सांसद ने सदन में उठाया सजा याफता कैदियो को रिहा करने का मुददा


कौशाम्बी जनपद की स्वास्थ्य शिक्षा सडक सिचाई आम जन समस्यायें सांसद की नजर में गौण


कौशाम्बी। देश की सबसे बडी जन पंचायत लोकसभा जहॉ केवल कानून ही नही बनाये जाते है बल्कि खेत खलिहान मजदूर किसान व्यापारी आम जन के जीवन स्तर को ऊपर उठाने एवं जन समस्याओ के निस्तारण के लिए बहस एवं निर्णय लिए जाते है लेकिन देश की सबसे बडी पंचायत में भी नुमाइदो को जन समस्यायें उतनी याद नही आती है जितनी दागदार सजा याफ्ता आदमी के बचाव की बात उनके मन मस्तिक में तैरती रहती है।


 बुधवार को लोकसभा में प्रश्न काल के दौरान कौशाम्बी सांसद विनोद सोनकर ने विभिन्न जेलो में आजीवन कारावास की सजा काट रहे सजा याफता कैदियो के बारे में प्रश्न उठाते हुए कहा कि क्या भारत सरकार के पास एैसी कोई योजना है जिसमें शारीरिक रूप से कमजोर वृद्ध और अपराध की जिनसे आशा नही की जा सकती है इस तरह के सजा याफ्ता कैदी को रिहा किया जायेगा। 


 प्रदेश सहित कौशाम्बी जिले के तमाम गांव में स्वास्थ्य सुविधायें चौपट है आम जन को सस्ता और सुलभ इलाज उपलब्ध कराना सरकार के लिए चुनौती है अस्पतालो में डाक्टर नही मिलते है सरकारी स्कूलो में शिक्षण कार्य में सुधार नही हो पा रहा है। परिषदीय विद्यालय की शिक्षा चौपट है तमाम दूर दराज गांव में सडक सिचाई के संसाधान पीने के पानी आम जन को सुरक्षित वातावरण उपलब्ध कराने की चुनौती सरकार के सामने है
लेकिन यह मुददे कौशाम्बी सांसद को गौण लग रहे है। 


 आश्चर्य तो उस समय हुआ जब न जाने किसकी ओर इशारा करते हुए कौशाम्बी सांसद विनोद सोनकर ने सरकार से मांग किया है कि सजा याफता कैदी जो बूढे और बीमार है उन्हे रिहा किया जा सकता है। सांसद में किसी साहित्यकार की समस्या किसी पत्रकार की समस्या देश की  सीमा पर शहीद होने वाले जवानों के परिवारो की समस्या आम जन मानस के रोजी रोटी उद्योग धन्धो कल कारखानो खेतो में सिचाई का मुददा यदि कौशाम्बी सांसद ने सदन में उठाया होता तो शायद कौशाम्बी सांसद का यश और बढता साथ ही लोकसभा की गरिमा भी बढ जाती है। लेकिन लगता है कि आने वाले दिनो में देश की सबसे बडी पंचायत संसद में भी सियासत की बू आयेगी और जन समस्याओ से जुडे तमाम सवाल शायद ही संसद में उठाये जाये।


सुशील केशरवानी


'विद्यार्थी जीवन' के मार्गदर्शन में सहयोग

आनन्द वर्मा


बीएसए खीरी ने बिजुआ ब्लाक के समस्त न्याय पंचायत के बच्चों द्वारा परेड की सलामी ली


लखीमपुर खीरी। बिजुआ ब्लॉक मे आज बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित ब्लॉक स्तरीय खेलकूद व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की  प्रतियोगिता का आयोजन उच्च प्राथमिक विद्यालय भानपुर के प्रांगण में धूमधाम से सम्पन्न हुआ, छोटे छोटे बच्चों द्वारा प्रस्तुत किया गया मनमोहक  सांस्कृतिक कार्यक्रम। बच्चों ने कबड्डी ,लंबी कूद, 100,200 400 मीटर दौड़, ऊँची कूद,खोखो ,गोला फेंक,सामान्य ज्ञान,सुलेख  प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया।


आज आयोजित कार्यक्रम में अतिथियों ने बच्चो द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम व खेलकूद प्रतियोगिता का आनन्द लिया ,जिसने उन्हें तालियाँ बजाने पर मजबूर कर दिया। विजयी बालक- बालिकाओं को  खण्डशिक्षा अधिकारी -बिजुआ डॉ ब्रजेश त्रिपाठी व एबीआरसी राजेन्द्र पुष्कर ने मेडल व शील्ड देकर सम्मानित किया।


कार्यक्रम के अंत में खण्ड शिक्षा अधिकारी बिजुआ डॉ. ब्रजेश त्रिपाठी ने सफल आयोजन के लिए सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं की सराहना की व आये हुए सभी अतिथियों को धन्यवाद दिया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए बीएसए खीरी ने जिला स्तरीय रैली में पूरी तैयारी से सम्मिलित होने को कहा।इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य कश्मीर सिंह, खंड शिक्षा अधिकारी-फूलबेहड़ संजय राय ,खंड शिक्षा अधिकारी-पलिया ओमकार सिंह ,शैक्षिक महासंघ ब्लाक अध्यक्ष कुलभूषण त्रिवेदी,अगम त्रिपाठी,प्रभाकर शर्मा , उत्साह विजय शुक्ल,हरिशंकर शुक्ला,कम्प्यूटर ऑपरेटर इरशाद अहमद,मृदुला शुक्ला,कस्तूरबा स्कूल की वार्डन पूर्णिमा मिश्रा, मीरा सिंह,सुबोध मिश्रा,शकुंतला देवी इंटर कॉलेज के प्रबंधक सतीश मौर्य,राहुल नयन मिश्रा व समस्त ब्लाक के अध्यापकगण,सम्मानित अभिवावक,छात्र -छात्राएं मौजूद रहे।


रफ्तार के जलवे ने मनाया अपना जन्मदिन

हैपी बर्थडे मिल्खा सिंह: मुश्किलों में रहे, जेल काटी, फिर चैंपियन बने 'द फ्लाइंग सिख


नई दिल्ली। भारतीय दिग्गज धावक मिल्खा सिंह ने अपना 90वां जन्मदिन मनाया। एशियन गेम्स में 4 गोल्ड मेडल और कॉमनवेल्थ गेम्स में एक गोल्ड जीतने वाले मिल्खा सिंह की रफ्तार की दीवानी दुनिया थी। 'दफ्लाइंग सिख' के नाम से मशहूर इस दिग्गज को भारत ही नहीं, बल्कि पड़ोसी देश पाकिस्तान समेत हर कोने से प्यार और समर्थन मिला।


3 बार के ओलिंपियन मिल्खा का जन्म अविभाजित भारत के गोविंदपुरा (वर्तमान पाकिस्तान) में हुआ, लेकिन वह आजादी के बाद हिंदुस्तान आ गए। मिल्खा की प्रतिभा और रफ्तार का यह जलवा था कि उन्हें पाकिस्तानी प्रधानमंत्री फील्ड मार्शल अयूब खान ने ही 'द फ्लाइंग सिख' का नाम दिया था।


मिल्खा के जीवन पर बनी फिल्म में भी इस घटना को दिखाया गया है जब पाकिस्तान के स्टेडियम में मिल्खा-मिल्खा नाम गूंजने लगा था। लाहौर में उन्होंने पाकिस्तान के चोटी के धावक अब्दुल खालिक को हराया था। उन दिनों के तनावपूर्ण माहौल में भी स्टेडियम मिल्खा की जीत में झूमने लगा। दौड़ के बाद मिल्खा सिंह को पदक पहनाते हुए अयूब खान ने कंधा थपथपाकर कहा, 'आज मिल्खा दौड़ नहीं उड़ रहे थे इसलिए हम उन्हें फ्लाइंग सिख के खिताब का नजराना देते हैं।


जब भी मिल्खा सिंह का जिक्र होता है रोम ओलिंपिक में उनके पदक से चूकने का जिक्र जरूर होता है। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा, 'मेरी आदत थी कि मैं हर दौड़ में एक दफा पीछे मुड़कर देखता था। रोम ओलिंपिक में दौड़ बहुत नजदीकी थी और मैंने जबरदस्त ढंग से शुरुआत की। हालांकि, मैंने एक दफा पीछे मुड़कर देखा और शायद यहीं मैं चूक गया। इस दौड़ में कांस्य पदक विजेता का समय 45.5 था और मिल्खा ने 45.6 सेकेंड में दौड़ पूरी की थी।


शादी में एक तोला 'सोना' देगी सरकार

असम। सरकार ने प्रदेश की बेटियों को तोहफा देने की तैयारी कर रही है। सरकार ने अरुंधति योजना के तहत अब बेटियों को शादी मव 1 तोला देने का फैसला लिया है। बताया जा रहा है कि सरकार ने ऐसा बाल विवाह को रोकने के लिए फैसला लिया है। खैर जो भी सरकार की यह पहल गरीब और पिछड़े लोगों को राहत देने वाली साबित हो सकती है।


असम सरकार के मंत्री एचबी सरमा ने बताया कि सरकार अरुंधति योजना के तहत प्रति वर्ष 800 करोड़ रुपए खर्च करने की योजना बना रही है, जिसमें असम की प्रत्येक दुल्हन को 1 तोला सोना मुफ्त दिया जाएगा। इस योजना का उद्देश्य बाल विवाह को कम करना है। क्योंकि इसमें विवाह के लिए पंजीयन कराना होगा।


अनाधिकृत कालोनियों को वैध करेगी सरकार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने दिल्ली के अवैध कॉलोनियों को मंजूरी दे दी है। दिल्ली के उपराज्यपाल ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। कैबिनेट ने इस मामले में फैसला लिया है। इसके तहत धारा 81 के तहत सभी दर्ज मामले वापस लिए जाएंगे। जिन लोगों पर धारा 81 के तहत केस दर्ज हैं, उन्हें बड़ी राहत मिलेगी! साथ ही दिल्ली में 79 गांवों का शहरीकरण होगा! दिल्ली में विधानसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान किया भी किया था! केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने ऐलान किया था कि दिल्ली में अवैध कॉलोनियों को नियमित किया जाएगा! दिल्ली सरकार के मुताबिक दिल्ली में कुल 1,797 अनधिकृत कॉलोनियां हैं! इन सभी कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को केंद्र सरकार के इस पहल का लाभ मिलेगा. केंद्र की मंजूरी मिलने के बाद इन अवैध कॉलोनियों को वैधता मिल गई है! केंद्र की अंतिम मंजूरी के बाद अनधिकृत कॉलोनियों में रह रहे लोगों को अपने घरों के पंजीकरण की इजाजत दी जाएगी!


अखिलेश का प्रयागराज आकलन कार्यक्रम

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का प्रयागराज का आकलन कार्यक्रम।


प्रयागराज। पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव २१ नवम्बर ब्रहस्पतवार को लखनऊ स्थित अमौसी एयरपोर्ट से १०:३० पूर्वान्ह प्रस्थान कर ११:१० पूर्वान्ह इलाहाबाद एयरपोर्ट पहुँचेगे।११:२०पूर्वान्ह वहाँ से प्रस्थान कर ११:४५ पूर्वान्ह के पी इन्टर कालेज में श्रीमती विजमा यादव पूर्व विधायका की सुपुत्रि ज्योती यादव के शुभ विवाह मे आर्शिवाद प्रदान करने के साथ समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं से भी मुलाक़ात करेंगे। समाजवादी पार्टी के निर्वतमान महानगर मीडिया प्रभारी सै०मो०अस्करी ने बताया की श्री अखिलेश यादव के इलाहाबाद आगमन पर निर्वतमान ज़िलाध्यक्ष कृष्णमुर्ति सिंह यादव व निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन सहित सांसद पूर्व सांसद,विधायक पूर्व विधायक व सभी वरिष्ठ नेतागण समाजवादी पार्टी के राष्टरीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के स्वागत व अगुवानी को एयरपोर्ट पर उपस्थित रहेंगे।अस्करी ने जारी विज्ञप्ति के माध्यम से यह भी बताया की मान्नीय अखिलेश यादव विवाह स्थल के पी कालेज से अप्रान्ह ३:०० बजे इलाहाबाद एयरपोर्ट के लिए प्रस्थान कर अप्रान्ह ३:२५ बजे इलाहाबाद एयरपोर्ट पहुँचेंगे और अप्रान्ह ३:३५ पर प्राईवेट वायुयान से लखनऊ के लिए उड़ान भरेंगे। अप्रान्ह ४:१५ बजे लखनऊ अमौसी एयरपोर्ट पर उन्का प्राईवेट वायुयान लैण्ड करेगा।


रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


यूपी में 'विधायक हेल्प डेस्क' की शुरुआत

अविनाश श्रीवास्तव


गाजियाबाद। लोनी के वरिष्ठ पत्रकार कमल ढाका को विधायक नंदकिशोर गुर्जर द्वारा लोनी में प्रारंभ हुई विधायक सहायता डेस्क का प्रभारी नियुक्त किया गया है। विधायक को लग रहा है। कि क्षेत्र में अपराधिक गतिविधियां  अनियंत्रित है। जिसकी ठीक-ठीक जानकारी की व्यवस्था  उनका कर्तव्य है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए विधायक सहायता डेस्क का संचालन प्रारंभ किया गया है। विधायक सहायता डेस्क का प्रभारी बनने पर कमल ढाका ने बताया कि उनके द्वारा लोनी क्षेत्र की जनता की समस्याओं पर अधिकारियों द्वारा संज्ञान लिए जाने, वह अवगत कराए जाने की प्रथा लोनी में प्रथम बार शुरू हुई है। इस डेस्क के माध्यम से गरीब, पीड़ित और शोषित जनता की समस्याओं को अधिकारियों तक पहुंचाना, जिनकी आवाज नहीं पहुंचा पाती है। वह हमारे द्वारा अपनी बातों को लिखित में अधिकारियों को देकर अवगत कराएगी। जिसका 3 दिनों के अंदर दोबारा से फीडबैक लेकर, निस्तारण ना होने पर मामले को अधिकारी का नाम-नंबर समेत विधायक से अवगत कराकर हल कराया जाएगा।


संचारी रोगों की रोकथाम, नियंत्रण पर सख्त

सन्दीप मिश्रा


रायबरेली। जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने जनपद में डेगू व संचारी रोगों की रोकथाम बचाव एवं प्रभावी नियंत्रण के लिए विगत 16 नवम्बर से 30 नवम्बर तक चलाये जाने वाले विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान को प्रभावी तरीके से चलाने के निर्देश सीएमओ, सीएमएस, डीआईओएस , बीएसए , ईओ, डीडीओ , डीपीआरओ , डीपीओ , कृषि अधिकारी , खण्ड विकास अधिकारियों आदि अधिकारियों को निर्देश दिये हैं । उन्होंने कहा है कि विभिन्न विभागों के अधिकारी अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन भली – भांति करो उन्होंने कहा कि एक्शन प्लान के अनुरूप कार्यवाही करे जिन व्यक्ति की डेगू होने की पुष्टी होने की दशा में उनके घरों के आस – पास व 100 मीटर की दूरी पर सघन फॉगिंग और एंटी लार्वा का छिडकाव सीएमओ , डीपीआरओ , बीडीओ , ईओ आदि अधिकारी कराये । ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में प्रभावी ठोस एवं तरल कचरे के साथ ही जल भराव को भी हटवाया जाये । वेक्टर जनित रोगों के बचाव , रोकथाम , निंदान एवं उपचार की जानकारी मीडिया को भी सीएमओ , ईओ आदि उपलब्ध कराये के साथ ही चिकित्सालयों में प्लेटलेट्स तथा सभी ब्लडग्रुप के ब्लड की उपलब्धता को भी बनाये रखे । उन्होंने कहा कि 25 नवम्बर से एमडीए फाइलेरिया कार्यक्रम घर – घर जाकर फाईलेरिया रोकथाम के लिए चलाया जाना है जिसके लिए बेहतर माईक्रो प्लान तैयार कर अभियान को सफल बनाया जाये । डेंगू वेक्टरजनित रोग व संचारी रोगों के बचाव के उपाये जन – जन को बताये । 
जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कहा कि प्रत्येक चिकित्सालयों में स्पेशल डेंगू वार्ड की स्थापना के साथ ही विद्यालय जाने वालो बच्चों को पूरे हाथ और पैर ढंके हुए कपड़ों को स्कूल जाने के लिए कहा जाये । घर से बाहर दस्तक घर में निवारक कार्यो पर लोगों को संवेदनशील बनाने के लिए और साथ ही उन लोगों पर जुर्माना लगाया जाय जो प्रतिबंधात्मक कार्यवाहिया नहीं करते है उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने स्वस्थ रहने की पहली शर्त स्वच्छता को जहां बताया है । वही प्रदेश में चलाये गये स्वच्छता अभियान में विषाणुओं से होने वाले अनेक रोगों से नियंत्रण पाया गया है । घर एवं कार्यो के आस – पास नियमित साफ – सफाई रखकर मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम हम सभी अपने महती भूमिका निभा सकते हैं । जिलाधिकारी ने कहा कि डेंगू के बचाव के लिए उपाय जानना जरूरी है पानी के सभी बरतनों को पूरी तरह से ढक कर रखे , पुराने टायर , डिस्पोजल , कप कबाड़ इत्यादि में पानी जमा न होने दें डेंगू एवं चिकनगुनिया फैलाने वाले मच्छर रूके हुए साफ पानी में पनपते है और दिन के समय कांटते हैं । यदि तेज बुखार के साथ सिरर्दद आंखों के पीछे दर्द जोड़ो और मासपेशियों में दर्द , त्वचा पर लाल चकत्ते और थकान हो तो तत्काल नजदीकी अस्पताल स्वास्थ्य में जाकर सम्पर्क करना चाहिए ।


रायबरेली पुलिस ने 128 को किया निरुद्ध

सन्दीप मिश्रा


रायबरेली। रायबरेली पुलिस अधीक्षक ने अपने आगमन पर जिस तरह अपराधियों को उधर जाने की मोहलत दी थी । आज उसका एक उदाहरण पुलिस अधीक्षक और उनके मातहतों ने दिया। जिले पुलिस ने 24 घंटे के ऑपरेशन दस्तक के अंतर्गत वंचित वारंटी जिला बदर वा पुरस्कार घोषित अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु सघन अभियान चलाया । जिसमें सभी थाना प्रभारियों द्वारा टीमों का गठन किया गया जिसकी ब्रीफिंग समस्त क्षेत्राधिकारियों के द्वार कराई गई। जिसके परिणाम स्वरूप जनपद में कुल 21 वांछित अभियुक्त ,99 वारंटी, पांच जिला बदर और तीन पुरस्कार घोषित अपराधी पुलिस की गिरफ्त में आ गए। पुरस्कार घोषित अपराधियों में अमित सिंह पुत्र वीरेंद्र बहादुर सिंह निवासी कहिंजर थाना सरेनी जनपद रायबरेली जिनके ऊपर 20000 का इनाम तथा चोरी धोखाधड़ी बलवा आदि सहित अट्ठारह मुकदमा पंजीकृत हैं। वहीं हलीम पुत्र रहीम बक्स निवासी रज्जीपुर छिवलहा थाना हथगाव जनपद फतेहपुर पर 15 हजार रुपए का इनाम घोषित था। फरमान पुत्र साहिबान निवासी बहराना थाना कोतवाली नगर पर हत्या के प्रयास सहित तीन मुकदमे व गैंगस्टर का मामला पंजीकृत था। इस पर 15000 का पुलिस ने इनाम भी रखा था। पुलिस ने इन्हें भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं जिला बदर अपराधियों में सूरज पुत्र अरविंद सिंह निवासी पुरे चिंता मजरे मधुर पुर थाना सरेनी रायबरेली जिन्हें जिला अधिकारी द्वारा 31 सितंबर 2019 को 6 माह के लिए जिला बदर किया गया था परंतु शर्तों के उल्लंघन पर इन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया विपात्ति पुत्र बैजनाथ निवासी उफरा पुर थाना बछरावां , मोहन पुत्र बैजनाथ निवासी उफरापुर बछरावां ,पंकज पुत्र शिवकुमार निवासी नया पुरवा मजरे तौली थाना शिवगढ़ रायबरेली,सुनील कुमार पुत्र बैजनाथ निवासी पारा कला थाना शिवगढ़ को जिला बदर किया गया था । परंतु उन्होंने जिले में ही अपनी आमद बनाए रखी। जिन्हें संबंधित थानों की पुलिस ने मौके से गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेज दिया । इस तरह एक दिन की कार्यवाही में कुल 128 अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस कार्यवाही की रूपरेखा कई दिनों से चल रही थी और अवश्य ही इस कार्यवाही से अपराध जगत में दहशत और अपराधियों में भय का माहौल व्याप्त होगा । जिसके बाद ही इन अपराधियों में कानून नाम के डर की चीज उत्पन्न हो सकेगी।


पूजा करने गए 'दांपत्य' में एक की मौत

सन्दीप मिश्रा


रायबरेली। मंदिर-दर्शन करने जा रहे दम्पति की तांगा से भिड़त होने पर पति की मौत जबकि पत्नी बेहोश हो गई है। सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव
को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के मोहद्दीनपुर गांव निवासी रामसुमेर (27) पुत्र मोतीलाल मुम्बई में प्राइवेट जॉब करता था। वह कार्तिक पूर्णिमा पर घर आया हुआ था। सोमवार की सुबह रामसुमेर अपनी पत्नी पूजा के साथ उन्नाव मंदिर जाने के लिये घर से निकले हुये थे तभी जहांगीराबाद गांव के पास सामने से आ रहे तांगा से भिड़त हो गई। तांगा का बांस मृतक के सीने में लग गया। जिससे रामसुमेर की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई। जबकि पत्नी दहशत से बेहोश हो गई। राहगीरों की सूचना पर पहुंची 108 एम्बुलेंस द्वारा दोनों को सीएचसी डलमऊ लाई। जहां पति को मृत घोषित कर दिया गया। मौत की सूचना परिजनों को दी गई तो परिजनों पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिये भेज दिया गया है। मृतक का विवाह कुछ महीने पहले ही हुआ था।


छत्तीसगढ़ में भी 'छात्र-आंदोलन' की तैयारी

छत्तीसगढ़। शिक्षा का अधिकार सब को है। लेकिन शिक्षा के नाम पर लूट को बढ़ावा दिए जाने के कारण दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में आंदोलन हो रहा है। अब इस आग की लपटें छत्तीसगढ़ में भी असर दिखा सकती हैं। सूत्रों का दावा है। कि हर विश्वविद्यालय के छात्र अब अपने अधिकार को मांगने एक जंग की शुरुआत करने वाले हैं। वही जानकारी मिली है। कि एक दो दिन में कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के बाहर खड़े होकर अपने अधिकार की लड़ाई लड़ने वाले छात्रों की टोली आ रही है। एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता तुषार गुहा ने जानकारी देते हुए कहा कि कुछ वरिष्ठ लोग भी इस आंदोलन को सफल बनाने शामिल होकर जेएनयू में जितनी फीस है, उसका विरोध करने वाले हैं। एकजुट होकर छात्र हित में संघर्ष की बात कही जा रही है।


दिसपुर सड़क हादसे में 8 लोगों की मौत

दिसपूर। असम के उदलगुरी जिले के ओरंग इलाके में दिलदहला देने वाला हादसा हुआ। यहां  राष्ट्रीय राजमार्ग-15 (एनएच-15) पर  एक सड़क दुर्घटना में आठ लोगों की मौत हो गई!


घटना उदलगुरी जिले के ओरंग इलाके में राष्ट्रीय राजमार्ग-15 (एनएच-15) पर हुई!  टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि कार के परखच्चे उड़ गए! प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि मंगलदे से तेजपुर की तरफ आर्टिगा गाड़ी तेजी से आ रही थी। रास्ते में एक ट्रक खड़ा था! आर्टिगा कार चालक की जैसे ही नजर पड़ी तो वह नियंत्रण खो बैठा और कार खड़े ट्रक में जा घुसी!


आर्टिगा कार में आठ लोग सवार थे, जिन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया! बताया जा रहा है!  कि 8 युवक दोस्त की शादी से लौट रहे थे तभी हादसा हो गया! एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कार पर सवार लोग एक दोस्त की शादी से लौट रहे थे! अधिकारी ने बताया कि इस हादसे की वजह से जेलाबिल में राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात रुका था!


पुलिस अधिकारी ने बताया कि हादसे का शिकार बने लोग दूल्हे के दोस्त थे! कार बैहाटा से तेजपुर लौट रही थी! तभी हादसा हुआ! मृतकों की पहचान दिगंता सैकिया, पर्थ कुरी, नारायण दास, रिंकू सैकिया, रंजीत डेका, परिमा कुरी के रूप में हुई है!


'सपना' के संतरी-डांस ने ढहाया कमाल

नई दिल्ली। सपना चौधरी का एक डांस वीडियो ने शेयर होते ही धूम मचा दी है। इस वीडियो में उनका देसी अंदाज देखने को मिल रहा है। सपना चौधरी ने इस वीडियो में हरियाणवी सॉन्ग पर जमकर ठुमके लगा रही हैं। सपना चौधरी का यह डांस वीडियो भी जमकर धमाल मचा रहा है। लोगों को हरियाणवी छोरी का यह देसी अंदाज खूब पसंद आ रहा है। भोजपुरी सिनेमा, पंजाबी और हरियाणवी फिल्मों में धूम मचाने वाली सपना चौधरी  का यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है। यह वीडियो उनके फैन पेज से शेयर किया गया है। सपना चौधरी का यह वीडियो कुछ ही घंटे पहले इंस्टाग्राम पर शेयर किया गया है। इस वीडियो में वो 'ऑरेंज सूट' में तहलका मचा रही है! सपना चौधरी ने इस खूबसूरत अंदाज में डांस किया है कि उनके फैन्स क्रेजी हो जाते हैं। वैसे भी इन दिनों वो देश के कोने-कोने में परफॉर्म कर रही हैं। सपना चौधरी का यह धमाकेदार डांस वीडियो उनके फैनपेज से इंस्टाग्राम पर शेयर किया गया है। इस वीडियो में उनके 'डांस स्टेप्स' और उनकी 'अदाएं' देखते ही बन रही हैं।


विजेता को सम्मानित करते 'अतिथिगण'

बिजेता टीम को साईकिल की चभी पुरस्कार देते अतिथिगण व उप बिजेता को एल सी डी 
प्रतियोगिता में जोर आजमाईस करती टीम मंसाछापर /कुशीनगर 
विकास खण्ड विशुनपुरा के नेहरू इण्टर कालेज मंसाछापर के खेल मैदान में मंगलवार को स्व० पं० अनिरूद्ध शुक्ल की पूण्य: तिथि पर आयोजित रस्साकसी प्रतियोगिता में प्रथम बिजेता हिरनही बनी।
             प्रतियोगिता में हिरनही की टीम व मंसाछापर  के टीम के बीच रस्साकसी हुई जिसमें  हिरनही की टीम बिजयी हो गयी।रस्साकसी प्रतियोगिता का उदघाट्‌न हनुमान इण्टर कालेज पड़रौना के प्रधानाचार्य शैलेंद्र दत्त शुक्ला व मदनमोहन पाण्डेय प्रधानाचार्य नेहरू इण्टर कालेज मंसाछापर नें संयुक्त रूप से फिता काटकर किया।  नेहरू इण्टर कालेज मंसाछापर के प्रधानाचार्य ने विद्यालय में आये सभी अतिथियों का आभार ब्यक्त किया। कार्यक्रम के बिशिष्ठ अतिथि डा० आर पी सिंह,अनवर हााााा पूर्व प्रधान ,संजीव उपाध्याय,दिनेश चौधरी,सुनील यादव ,मौलाना नासीर हूसेन रहे। रस्साकसी प्रतियोगिता के निर्णायक फारूक सिद्‌दीकी रहे तथा कार्यक्रम आयोजक सज्जन यादव,पंकज यादव,चन्दन यादव,धीरज यादव,बेजनाथ गुप्ता,अजय यादव,रंगेश मित्र,लालबाबु चौहान,अंजनी दूवे,अमजद अंसारी,प्रमोद यादव आदी रहे।


'यूपी-पुलिस' की नाक के नीचे 'अतिक्रमण'

फजलगंज थाने की नाक के नीचे चल रही है अतिक्रमण की बाजारे


थाना प्रभारी की आवा भगत कर दुकानदारों के हौसले बुलंद
पैदल राहगीर अति व्यस्त सड़क पर चलने के लिए मजबूर सड़क पर चलने के लिए मजबूर


कानपुर। व्यवसाय की दृष्टि से अति महत्वपूर्ण बन चुके फजलगंज थाने की नाक के नीचे, फुटपाथो पर भी अवैध कब्जों की चर्चा का विषय बना हुआ है। आलम यह है कि स्थानीय दुकानदारों ने समूचे के समूचे फुटपाथ पर अपनी दुकानें सजा रखी है। जिससे पैदल चलने वाले राहगीरों को जीटी रोड जैसी व्यस्त सड़क पर जान जोखिम में डाल कर  गुजरना पड़ रहा है। स्थानीय लोगों की मानें तो समूचा का समूचा थाने का स्टाफ यहीं पर चाय,पकौड़े आदि मुफ्त में खाता-पीता है। जिससे दुकानदार के हौसले बुलंद हैं। अभी पूर्व में ही प्रकाश-पर्व के जुलूस के दौरान सिख-समुदाय ने कब्जों पर जमकर विरोध किया था। इसके बावजूद भी थाना प्रभारी अनुराग मिश्रा ने इस मामले को नजर अंदाज कर दिया। जबकि सुरक्षा की दृष्टि से आने के ही चर्चित मस्जिद आस-पास मन्दिर भी हैं।


शासन-प्रशासन संवाद की प्राथमिकता:योगी

अखिलेश्वर तिवारी
बलरामपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा अपने जनपद बलरामपुर के दो दिवसीय भ्रमण के दूसरे दिन पुलिस लाइन बलरामपुर मे गोंडा तथा बलरामपुर जिले की जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ विकास कार्यों व कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक की गई। इस दौरान जनपद के प्रभारी मंत्री चेतन चैहान व कैबिनेट मंत्री रमापति शास्त्री के अलावा गोंडा व बलरामपुर के विधायक भी मौजूद रहे। 


जिला सूचना कार्यालय द्वारा मिली जानकारी के अनुसार  बैठक के दौरान जिलाधिकारी, बलरामपुर कृष्णा करुणेश व जिलाधिकारी गोण्डा द्वारा जनपद में चल रही, योजनाओं की प्रगति के बारे में जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री द्वारा निराश्रित गोवंश, चिकित्सा सुविधा, आयुष्मान भारत, धान खरीद, गन्ना मूल्य भुगतान, स्वच्छ भारत मिशन, एनआरएलएम, पेयजल योजना, गड्डा मुक्ति, नई सड़कों का निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, पेंशन योजना, शिक्षा व्यवस्था, विद्युत आपूर्ति, किसान सम्मान निधि, फसल बीमा योजना, उर्वरक, बीज की उपलब्धता आदि की गहन समीक्षा की गयी। सीएम योगी द्वारा जनपद बलरामपुर का नीति आयोग के महत्वाकांक्षी जनपदों के लिए तय किये गये विकास के मानको पर समीक्षा की गयी। समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री द्वारा रामजनम भूमि फैसले के दौरान शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए सराहना करते हुये कहा कि शांति व्यवस्था बनाये रखने में प्रत्येक विभाग द्वारा अच्छा कार्य किया गया।  उन्होंने कहा की सबसे बड़ी ताकत जनसंवाद हैै । प्रशासन व जनप्रतिनिधियों में संवाद कायम रहना चाहिए। मुख्यमंत्री द्वारा जनसुनवाई पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया गया। उन्होंने समस्त जनपद स्तरीय अधिकारियों को अपने कार्यालयों में प्रत्येक दिन प्रातः 09ः30 बजे से जनता की शिकायतों को सुनने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने जनपद स्तरीय अधिकारियों को फील्ड में जाने व शासन की योजनाओं की समीक्षा किये जाने का निर्देश दिया। मा0 मुख्यमंत्री जी ने आइजीआरएस व सीएम हेल्पलाइन पर आने वाली शिकायतों का निस्तारण समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण किये जाने का निर्देश दिया। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनपद के पुराने काजी हाउस व गौशालाओं को जनसहभागिता के माध्यम से पुर्नजीवित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोआश्रय स्थल पर गोवंश हेतु चारे व पानी की व्यवस्था होनी चाहिए, इसके लिए मुख्य पशु चिकित्साधिकारी जिम्मेदार होंगे ।उन्होंने निराश्रित गोवंश को किसानों को देने की व्यवस्था किये जाने हेतु निर्देशित किया कि सरकार द्वारा प्रति गोवंश 30 रुपये सहायता राशि दिया जा रहा है। 


 मुख्यमंत्री द्वारा आयुष्मान भारत योजना में गोल्डन कार्ड वितरण में कम प्रगति पर नराजगी जताते हुये योजना में तेजी लाने हेतु निर्देश दिया गया। उन्होंने कहा कि अपेक्षित प्रगति न होने पर दोनों जनपदों के सीएमओ के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी। शिक्षा व्यवस्था की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री   ने स्वेटर होने पर नाराजगी जताते हुये 30 नवम्बर तक हर हाल में स्वेटर वितरण हेतु निर्देश दिया। गन्ना बकाया मूल्य भुगतान की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि गन्ना मिलों के प्रबन्धक को चेतावानी दी जाए तथा निर्धारित समय पर किसानों को बकाया भुगतान न करने पर एफआरआई दर्ज कर कार्यवाही की जाए। स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा के दौरान मा0 मुख्यमंत्री जी ने जनपद में प्लास्टिक का प्रयोग पूर्णतयः बैन किये जाने का निर्देश दिया व एकल उपयोग प्लास्टिक प्रयोग पर कार्यवाही हेतु निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने पराली जलाने की घटनाओं पर कड़ा रुख अपनाते हुये जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि पराली जलाने की घटनाओं पर जबावदेही व कार्यवाही तय करें। कृषि विभाग द्वारा किसानों को गोष्ठी के माध्यम से किसानों को पराली से होने वाले नुकसान से बचाया जाए। धान खरीद की समीक्षा के दौरान धान खरीद में तेजी लायी जाए।  मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि धान क्रय केन्द्र में आने वाले किसानों को विज्ञप्ति व गोष्ठी करके क्रय केन्द्र पर धान सुखाकर लाने हेतु जागरूक किया जाए, जिससे कि कोई भी किसान धान क्रय केन्द्र से वापस न लौटे। मुख्यमंत्री द्वारा थारु जनजाति गांव को प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना व अन्य योजनाओं से संतृप्ति किये जाने हेतु निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि प्रधानमंत्री आवास योजना व मुख्यमंत्री आवास योजना में जो धनराशि लाभार्थी के खाते में दी जा रही उसका लाभार्थी द्वारा अन्य कार्यों में प्रयोग न किया जाए उसके लिए नोडल अधिकारी तैनात किया जाए। एनआरएलएम की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने स्वयं सहायता समूह को बकरी पालन, मुर्गी पालन, सिलाई, कढ़ाई, डेरी उद्योगों से जोड़े जाने का निर्देश दिया। पेयजल योजना की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने  कार्यदाई संस्थाओं के कार्यों पर निगरानी किए जाने का निर्देश दिया। सड़कों की गड्ढा  मुक्त की समीक्षा के दौरान माननीय मुख्यमंत्री जी ने 30 नवंबर तक सड़कों को गड्ढा मुक्त की जाने का निर्देश दिया। सामूहिक विवाह योजना की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी हाल में अपात्र योजना का लाभ न लेने पाए। पेंशन योजना की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कैंप लगाकर गांवों में पात्र लाभार्थियों को योजना का लाभ दिए जाने का निर्देश दिया, । मुख्यमंत्री  ने निर्देश दिया कि किसी भी हाल में आवेदन लंबित नहीं रहना चाहिए। मा0 मुख्यमंत्री जी ने सरकारी कार्यालयों में साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था रखने का निर्देश दिया। सरयू नहर परियोजना की समीक्षा के दौरान किसानों को सही समय पर मुआवजा देने का निर्देश दिया उन्होंने कहा कि परियोजना का कार्य बाधित नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 50 लाख से ज्यादा के कार्यों की समीक्षा जिलाधिकारियों  द्वारा प्रत्येक 15 दिन पर किया जाए। यह परियोजनाएं मानक के अनुरूप समयबद्ध तरीके से पूर्ण हो। जिलाधिकारी द्वारा सुनिश्चित किया जाए।  मुख्यमंत्री ने अवैध खनन पर अंकुश लगाने व खनन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने का निर्देश दिया।  उन्होंने नगर निकायों में ओपन जिम बनाए व ग्रामीण क्षेत्रों में खेल मैदान आरक्षित किए जाने के भी निर्देश दिये गये। मा0 मुख्यमंत्री जी ने जीएसटी रजि0 में तेजी लाने व लक्ष्य निर्धारित किये जाने का निर्देश दिया व प्रत्येक जनपदों की स्वयं की जीडीपी निर्धारित किये जाने का निर्देश दिया।  मुख्यमंत्री ने कहा कि बलरामपुर के0जी0एम0यू0 का सैटेलाइन सेन्टर इसी वित्तीय वर्ष में प्रारंभ हो जायेगा। उन्होंने बताया कि जनपद गोण्डा में मेडिकल कालेज खोलने के निर्देश दिये गये है। उन्होंने आइजीआरएस के अन्र्तगत शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण समय से किये जाने का निर्देश देते हुये कहा कि डीएम संबन्धित विभागों की जबावदेही तय करना सुनिश्चित करें। उन्होंने शराब की दुकानों की रैण्डम चेकिंग करने का निर्देश देते हुये कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि शराब की दुकानों पर अवैध शराब न बिकने पाये। इसके साथ ही इन दुकानों पर अधिक मूल्य पर शराब बिक्री न होने पाये। उन्होंने प्रत्येक दशा में अवैध शराब निर्माण पर अंकुश लगाने के निर्देश दिये, ताकि कोई जन हानि न होने पाये। भू-माफियाओं पर प्रभावी कार्यवाही किया जाए तथा अवैध कब्जों से मुक्त कराने हेतु अभियान संचालित हो एवं भू-माफियाओं को चिन्हित करते हुये उनके विरुद्ध कार्यवाही के साथ ही संपत्ति की नीलामी हो। सर्दियों में कोई भी निराश्रित व्यक्ति खुले में न सोये, बल्कि रैन बसेरे में निवासित हो। जरुरत मंदों को खादी ग्रामोद्योग व जैम पोर्टल के माध्यम से अच्छे कम्बल खरीद कर वितरित किया जाए। जनपद के सीमावर्ती क्षेत्रों में अच्छे व दक्ष लोगों की तैनाती की जाये तथा पास्को मामले में समयबद्ध कार्यवाही हेतु जिलाजज, जिलाधिकारी, एसपी, प्रत्येक माह बैठक करें।


'पिता' ने 'किडनैप' कर दिया 8 बच्चों को जन्म

ओकलाहोमा। वह लड़की सिर्फ 11 साल की थी जब सौतेले पिता ने ही उसे किडनैप कर लिया और फिर सालों उसे कैद में रखा। इन सालों में सौतेले पिता ने बेटी को मजबूर किया कि वह उसके बच्चों जन्म दे।


कैद से भागने के 3 साल बाद अब लड़की ने अपनी कहानी सार्वजनिक करने का फैसला किया है। अमेरिकी से प्रसारित होने वाले एक टीवी शो में लड़की का इंटरव्यू दिखाया जा रहा है। द सन की रिपोर्ट के मुताबिक, पीडि़ता की मां को तकलीफ पहुंचाने के मकसद से सौतेले पिता ने 1997 में उसे किडनैप किया था। अमेरिका के ओकलाहोमा में रहने वाली लड़की को किडनैप करके मेक्सिको ले जाया गया। सालों कैद में रही सौतेली बेटी, पिता के ही 8 बच्चों को मां बनी। मेक्सिको में सौतेले पिता ने जबरन लड़की से शादी कर ली, फिर उससे संबंध बनाए और 8 बच्चे पैदा किए। इस दौरान उसे एक टेंट में रखा गया था ताकि अधिकारियों की नजर से बच सकें। 2016 में लड़की अपने बच्चों के साथ भागकर अमेरिकी एम्बैसी पहुंच गई थी। भागने के दौरान कुछ अजनबियों ने उसकी मदद की। इसी साल सौतेले पिता को किडनैपिंग के लिए कोर्ट ने दोषी करार दिया है। रेप के मामला अभी भी कोर्ट में चल रहा है। ऐसा ही एक मामला ऑस्ट्रिया से भी सामने आया था, जहां एक शख्स ने अपनी ही बेटी को लंबे वक्त तक कैद कर रखा था। 24 साल के दौरान उसने 7 बच्चों को भी जन्म दिया था।


वैष्णो देवी पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा-सुविधा

नई दिल्‍ली/जम्‍मू । मां वैष्णो देवी (Maa Vaishno Devi) के दर्शन को आने वाले श्रद्धालुओं को अब ना तो ओवरचार्जिंग से जूझना पड़ेगा और ना ही उनकी सुरक्षा को लेकर किसी भी तरह की परेशानी होगी। भवन मार्ग पर चलने वाली बैटरी कार सेवा (Vaishno Devi Battery Car Service) श्रद्धालुओं के लिए पूरी तरह से सुरक्षित हो, इसके लिए श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड द्वारा सभी बैटरी कारों में अत्याधुनिक जीपीएस सिस्टम लगाया गया है। 24 घंटे बैटरी कारों पर निगरानी रखने के लिए भवन के साथ ही अर्धकुंवारी (Ardhkuwari) में कंट्रोल रूम स्थापित किया है, जिससे एक और जहां श्रद्धालुओं को ओवरलोडिंग से निजात मिलेगी तो वहीं बैटरी कार चालक नियमित गति में ही बैटरी कार मार्ग पर चला सकेंगे। वहीं बैटरी कार चालक श्रद्धालुओं से ओवर चार्जिंग नहीं कर सकेंगे और ना ही बीच रास्ते में अपने मर्जी से किसी अन्य को बिठा सकेंगे।


दरअसल, इस बाबत श्रद्धालुओं को हो शिकायतें हो रही थीं और कई तरह की शिकायतें श्राइन बोर्ड को प्राप्त हो रही थीं। इसको लेकर साइन बोर्ड ने इन सभी बैटरी कारों में अत्याधुनिक जीपीएस सिस्टम तैनात कर दिया है। 


बढ़ाया गया है बैटरी कार चलाने का समय
श्रद्धालुओं को अधिक से अधिक समय के लिए बैटरी कार सेवा भवन मार्ग पर उपलब्ध हो इसके प्रयास श्राइन बोर्ड द्वारा लगातार किए जा रहे हैं। हालांकि बीते माह श्रद्धालुओं को सुबह 7:30 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक बैटरी कार सेवा उपलब्ध होती थी। पर अब श्राइन बोर्ड ने इसका समय बढ़ाकर रात 10:00 बजे तक कर दिया है, ताकि अधिक से अधिक श्रद्धालु इस सेवा का लाभ उठा सकें। अब श्रद्धालुओं को करीब 7 चरणों में बैटरी कार सेवा उपलब्ध होती है। इनमें सुबह 7:30 बजे तक, उसके बाद सुबह 10 बजे तक. फिर दोपहर 1 बजे तक इसके उपरांत बाद दोपहर 3:30 बजे तक तथा शाम 6 बजे और उसके बाद रात्रि 8 बजे तथा अंतिम में रात्रि 10 बजे तक यह बैटरी कार सेवा श्रद्धालुओं के लिए वर्तमान में उपलब्ध है।


अभी 25 बैटरी कारें दे रही हैं श्रद्धालुओं को अपनी सेवा
मां वैष्णो देवी के मार्ग पर करीब 25 बैटरी कारें वर्तमान में श्रद्धालुओं को अपनी सेवा दे रही हैंं। प्रत्येक बैटरी कार में 7 श्रद्धालु सवार हो सकते हैंं। अगर कहीं भी ओवरलोडिंग की शिकायत पाई जाती है तो तुरंत श्राइन बोर्ड द्वारा कार्रवाई की जाती हैै। श्रद्धालुओं को इस सेवा का लाभ लेने के लिए किराया अदा करना पड़ता है। अगर श्रद्धालु बैटरी कार द्वारा अर्धकुंवारी से लेकर भवन की ओर जाता है तो श्रद्धालु को प्रत्येक सवारी ₹354 अदा करना पड़ेंगे। अगर श्रद्धालु भवन से अर्धकुंवारी की ओर वापस आता है तो उसे प्रति सवारी ₹236 अदा करना पड़ेंगे। हालांकि इस बैटरी कार सेवा में दिव्यांग के साथ ही बुजुर्ग महिला तथा बच्चों को प्राथमिकता दी जाती है, लेकिन अन्य श्रद्धालु भी इस सेवा का भरपूर लाभ उठा रहे हैंं।


जल्द ही अधिक सवारियों वाली बैटरी कार होंगी उपलब्ध
हालांकि वर्तमान में जो बैटरी कारें श्रद्धालुओं को सेवाएं दे रही हैं, उसमें प्रति बैटरी कार में केवल 7 श्रद्धालु ही सवार हो सकते हैं। पर जल्द ही श्राइन बोर्ड करीब 10 सवारी की क्षमता वाली बैटरी कार भवन मार्ग पर लगाने जा रहा है। इसकी तैयारियां जोर-शोर से जारी हैं, ताकि अधिक से अधिक श्रद्धालु इस बैटरी कार सेवा का लाभ उठा सकेंं। वैष्णो देवी भवन तथा धार्मिक स्थल अर्धकुंवारी में बनेगी अत्याधुनिक मल्टी लेयर कार पार्किंग हालांकि श्रद्धालु चाहते हैं कि उन्हें यह बैटरी कार सेवा 24 घंटे यानी दिन-रात उपलब्ध ।
वर्तमान में 25 बैटरी कारें अपनी सेवाएं दे रही हैं....
इसके प्रयास श्राइन बोर्ड लगातार कर रहा है, लेकिन अर्धकुंवारी के साथ ही वैष्णो देवी भवन (Vaishno Devi Bhavan) पर उचित कार पार्किंग ना होने के कारण श्राइन बोर्ड इस सेवा का विस्तार नहीं कर पा रहा है, जबकि  वर्तमान में 25 कारें अपनी सेवाएं दे रही हैं पर इन कारों को मार्ग पर ही पार्क करना पड़ रहा है, जिसको लेकर आने जाने में श्रद्धालुओं को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैै। श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड अपनी महत्वपूर्ण योजना पर लगातार कार्य जारी रखे हुए हैं। उम्मीद है कि जल्द ही श्राइन बोर्ड अर्धकुंवारी के साथ ही वैष्णो देवी भवन पर अत्याधुनिक मल्टी लेयर कार पार्किंग स्थापित करेगा, ताकि एक और जहां श्रद्धालुओं को आने-जाने में हो रही परेशानियों से निजात मिल सके तो दूसरी तरफ बैटरी कारों में भी इजाफा संभव होगा।
जल्द ही बनाई जाएंगी अत्याधुनिक मल्टी लेयर कार पार्किंग
श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड (Shri Mata Vaishno Devi Shrine Board) के सीईओ सिमरनदीप सिंह ने कहा कि भवन पर जारी बैटरी कार सेवा के रखरखाव के साथ ही पार्किंग के लिए वैष्णो देवी भवन व अर्धकुंवारी में जल्द ही अत्याधुनिक मल्टी लेयर कार पार्किंग स्थापित की जाएगीी। इस महत्वपूर्ण योजना पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। तो वहीं अधिक से अधिक श्रद्धालु इस सेवा का लाभ उठा सकें, इसके लिए 9 से 10 सवारियों की क्षमता वाली अत्याधुनिक बैटरी कार जल्द ही सेवा में लाई जाएंगी। इस बात की कोशिश की जाएगी कि जल्द से जल्द श्रद्धालुओं को दिन-रात यानी 24 घंटे बैटरी कार सेवा उपलब्ध हो सके।


उल्‍लेखनीय है कि विश्व प्रसिद्ध माता वैष्णो देवी यात्रा को लेकर श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड द्वारा समय-समय पर कई तरह की सुविधाएं उपलब्ध करवाई है, जिनमें बैटरी कार सेवा भी प्रमुख है। श्रद्धालु वैष्णो देवी यात्रा के दौरान भवन मार्ग पर चलने वाली बैटरी कार सेवा का सहारा लेते हैं। यह बैटरी कार अर्धकुंवारी से मां वैष्णो देवी भवन के नई 5.50 किलोमीटर लंबे मार्ग पर चलती हैं। यह बैटरी कार सभी श्रद्धालुओं के लिए विशेषकर दिव्यांग, बुजुर्ग, महिलाओं तथा बच्चों के लिए बेहद सहायक होती हैं, क्‍योंकि वे बिना किसी परेशानी के वैष्णो देवी यात्रा करते हैं। 
बैटरी कार हैं श्रद्धालुओं के लिए प्रमुख सहारा
विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल वैष्णो देवी भवन पर बीते कुछ वर्ष पहले पहुंचने के लिए एकमात्र पारंपरिक मार्ग होता था। करीब 13 किलोमीटर लंबा यह पारंपरिक मार्ग श्रद्धालुओं के लिए किसी चुनौती से कम नहीं एक और कठिन चढ़ाई तो दूसरी और कहीं ना कहीं समय की बर्बादी। हालांकि पारंपरिक मार्ग पर श्रद्धालुओं को घोड़ा- पिट्ठू के अलावा पालकी आदि की भी सुविधा उपलब्ध है। वहीं श्रद्धालुओं की वैष्णो देवी यात्रा आसान करने के लिए वर्ष 2000 में श्राइन बोर्ड द्वारा अर्धकुंवारी से लेकर भवन तक 5.50 किलोमीटर लंबा सुगम मार्ग बनाया गया और साथ ही श्रद्धालुओं के लिए बैटरी कार सेवा शुरू की गई। जो वर्तमान में भी निरंतर जारी हैै। विशेषकर यह बैटरी कार सेवा दिव्यांग, बुजुर्ग, महिलाओं तथा बच्चों के लिए वरदान साबित हो रही हैै।


आकलन करने के बाद हटाई सुरक्षा: नड्डा

नई दिल्ली। गृह मंत्रालय की ओर वीवीआईपी सुरक्षा में कटौती किए जाने के बाद कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी बुधवार को बिना एसपीजी सुरक्षा के संसद पहुंचीं। कांग्रेस ने राज्यसभा में गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने के मुद्दे को उठाया। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि नेताओं की सुरक्षा का मुद्दा पक्षपात और राजनीति से ऊपर होना चाहिए। 
इस पर जेपी नड्डा ने कहा कि खतरे का आकलन करने के बाद ही गृह मंत्रालय ने यह फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि यह फैसला किसी राजनीतिक पार्टी या नेता का नहीं है, बल्कि गृह मंत्रालय का है। भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि सुरक्षा नहीं हटाई गई है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय का पैटर्न और प्रोटोकॉल तय है, किसी नेता नहीं गृह मंत्रालय के द्वारा खतरे का आकलन कर सुरक्षा दी या हटाई जाती है। 


मालूम हो कि गृह मंत्रालय द्वारा समीक्षा के बाद गांधी परिवार की सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा की एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली गई है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सुरक्षा से भी एसपीजी कवर हटा लिया गया है। इन नेताओं को सीआरपीएफ की जेड-प्लस सुरक्षा दी गई है। सीआरपीएफ के अनुसार, गांधी परिवार को एडवांस सिक्यॉरिटी लायजन (एएसएल) प्रोटोकॉल के तहत सुरक्षा दी गई है। सीआरपीएफ इसके लिए नई बटालियन बनाएगी। 


लोकसभा में भी उठाया था मुद्दा, कांग्रेस ने किया था हंगामा
गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा वापस लिए जाने के विरोध में कांग्रेस सदस्यों ने मंगलवार को लोकसभा में भी हंगामा किया था। शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए थे, जिसके बाद डीएमके के सदस्यों ने भी कांग्रेस का समर्थन किया था। कांग्रेस और डीएमके के सदस्यों ने 'बदले की राजनीति बंद करो', 'एसपीजी के साथ राजनीति करना बंद करो' और 'वी वांट जस्टिस' के नारे लगाए थे।


'जहर' की एक बूंद कर सकती है 'शहर' तबाह

सिडनी। समुद्र के किनारे लहरों का मजा लेना हर कोई पसंद करता है, लेकिन यह कितना जोखिम भरा हो सकता है, इसका अनुमान नहीं लगाया जा सकता। पत्थरों के बीच मछली की शक्ल में मौत से भी सामना हो सकता है। समंदर में कई तरह के जीव-जंतु पाए जाते हैं। इनमें से कई ऐसे भी हैं जो इतने जहरीले होते हैं कि  जान ले सकते हैं। ऐसे ही जहरीले जीव में शुमार है स्टोन फिश नामक मछली। दुनिया में पाई जाने वाली तमाम मछलियों से यह बिलकुल अलग है। दिखने में ये मछलियों जैसी नहीं दिखती बल्कि पत्थर जैसी दिखती है। सभी मछलियों का शरीर बेहद कोमल होता है तो वहीं इसका शरीर पत्थर के समान होता है। इसका ऊपरी खोल एकदम पत्थर के जैसे सख्त होता है। मछली के ऊपर यह पत्थर का खोल कुछ-कुछ इंसानी चेहरे के जैसा नजर आता है।
स्टोन फिश ज्यादातर मकर रेखा के आसपास समुंद्र में पाई जाती है। पत्थर की तरह दिखती इस मछली को ज्यादातर लोग पहचान नहीं पाते और इसका शिकार हो जाते हैं। अगर गलती से भी इस मछली पर किसी का पैर पड़ जाए तो ये अपने ऊपर पड़ने वाले वजन की मात्रा में जहर निकालती है। यह जहर इतना खतरनाक होता है कि किसी ने भी इस पर पैर रख दिया तो पैर काटना ही पड़ेगा और जरा सी लापरवाही मौत का कारण भी बन सकती है। पैर रखते ही यह फिश 0.5 सेकेंड की तेजी से अपना जहर छोड़ती है। मछली का जहर इतना खतरनाक है कि इसकी एक बूंद अगर किसी शहर के पानी में मिला दी जाए तो शहर के हर इंसान की मौत हो सकती है।


नाबालिक की आंख निकाली,एक कान काटा

मुरैना। मध्य प्रदेश के मुरैना से एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है। जहां डोंडरी गांव के पास खेतों में लापता नाबालिग का शव मिलने से हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि शव का गला घोंटा गया था और एक कान भी कटा हुआ था। गांव वाले इसे नरबलि का मामला मान रहे हैं क्योंकि शव के पास तंत्र-मंत्र का सामान, पूजा सामग्री, नारियल आदि पड़ा हुआ था। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।


मुरैना के डोंडरी गांव का रहने वाला एक युवक सोमवार की सुबह अपने दोस्तों के साथ दौड़ लगाने घर से निकला था। लेकिन पूरा दिन बीत जाने के बाद भी वह वापस नहीं लौटा। पुलिस और गांववालों ने जब नाबालिग की तलाश शुरू की तो मंगलवार को उसका शव खेतों में एक पेड़ के पास पाया गया। उसका गला घोंट दिया गया था। उसका दाहिना कान भी कटा हुआ था। दोनों आंखे गायब थी और उनसे खून बह रहा था। इस निर्दयता से की गई हत्या के बाद गांव में तनाव की स्थिति बन गई।


परिजनों ने दोस्त व तांत्रिक पर जाता हत्या का आशंका:-इस हत्या के पीछे परिजनों ने उसके दोस्तों और एक तांत्रिक पर शक जताया है। जिसके बाद पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। नाबलिग के शव के पास तंत्र-मंत्र का सामान, पूजा सामग्री और नारियल पाए जाने से नरबलि से इनकार नहीं किया जा सकता है।


निर्मम हत्या से गांव में तनाव का माहौल:-फिलहाल नाबालिग की निर्मम से गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए एमपी पुलिस ने अतिरिक्त फोर्स को तैनात कर दिया गया है। साथ ही पुलिस ने संदिग्धों से पूछताछ कर केस का खुलासा जल्द करने की बात कही है। बता दें कि ऐसा ही एक मामला जून 2019 में सामने आया था जब एक व्यक्ति ने अपने 12 वर्षीय भतीजे को अच्छी फसल के लिए देवताओं को खुश करने के लिए मौत के घाट उतार दिया था। इसके अलावा जुलाई में, असम में एक परिवार ने घर में तीन साल के बच्चे की बलि देने की कोशिश की थी। हालांकि पड़ोसियों और पुलिस की सतर्कता से वो बच गया था।


आतंकी गठजोड़, दुनिया के लिए खतरा

न्यूयार्क । संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने कहा है कि लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्मद और इस्लामिक स्टेट जैसे आतंकवादी संगठनों और अपराधी गिरोहों के बीच गठजोड़ है। यह गठजोड़ पूरी दुनिया के लिए खतरा है। उन्होंने यह बात बुधवार को संयुक्त राष्ट्र और शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के बीच सहयोग संवाद के लिए आयोजित सम्मलेन में कही।


सैयद अकबरूद्दीन ने कहा, अपराधी गिरोह अपनी असामाजिक गतिविधियों से आतंकवादी संगठनों को धन मुहैया कराते हैं। नशीले पदार्थों की तस्करी, हथियारों की अवैध खरीद फरोख्त, मानव तस्करी, यौन शोषण और कलाकृतियों के कारोबार के जरिये भारी धनराशि का लेनदेन करते हैं। आतंकवादी संगठन और अपराधी गिरोह साथ मिलकर काम करते हैं और कभी-कभी आतंकवादी और अपराधी में भेद कर पाना भी मुश्किल हो जाता है।


उन्होंने कहा, यह संगठन विभिन्न देशों में मजहबी कट्टरता फैलाने के लिए रंगरूटों की भर्ती करते हैं। इसके लिए साइबर माध्यम और सोशल मीडिया का उपयोग किया जाता है। उल्लेखनीय है कि रूस और चीन के प्रभाव वाले संगठन एससीओ में भारत और पाकिस्तान दोनों शामिल हैं। इस संगठन में द्विपक्षीय मामले नहीं उठाए जा सकते इसलिए भारतीय प्रतिनिधि ने आतंकवादी खतरे के संबंध में पाकिस्तान का नाम नहीं लिया लेकिन उनका संकेत साफ था।


संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने संयुक्त राष्ट्र के धनशोधन निरोधक कार्रवाई दल (एफएटीएफ) को अधिक कारगर बनाने और एससीओ देशों की आतंकवाद विरोधी प्रणाली को और सक्रिय करने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि देशों की सीमाओं के आर-पार आतंकवादियों और अपराधियों की गतिविधियों पर काबू पाने के लिए मजबूत अंतरराष्ट्रीय सहयोग जरूरी है। दुर्भाग्य से इस संबंध में विश्व समुदाय का रवैया लचर है।


उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद जैसे विश्व संगठनों से आतंकवादियों और उनके सगठनों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करने का आग्रह किया। साथ ही, आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए व्यापक अंतरराष्ट्रीय समझौता किये जाने पर जोर दिया। अकबरूद्दीन ने कहा कि आतंकवादियों और अपराधियों की मंशा और उनका शक्ति स्रोत एक जैसा है। दोनों मिलकर विकास, प्रशासन और समाज जीवन को तहस-नहस करने की कोशिश करते हैं।


छात्रों पर लाठीचार्ज, पूजा ने विरोध किया

मुंबई। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रों का विरोध प्रदर्शन हर तरफ चर्चा का विषय बना हुआ है। जेएनयू के छात्र बढ़ी हुई हॉस्टल फीस के विरोध में हैं। हालांकि विरोध के बाद फीस बढ़ोत्तरी को आंशिक रूप से वापस लेने का फैसला लिया है। नए नियमों के विरोध में छात्रो का आक्रोश देखने को मिला। छात्रों में मार्च निकाल कर पूरे दिन बवाल मचाया। छात्रों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इसमें कई छात्र घायल हो गए। ऐसे में इस पूरे घटनाक्रम पर एक्ट्रेस पूजा भट्ट का गुस्सा फूटा है। पूजा भट्ट ने जेएनयू छात्रों का सपोर्ट किया और दिल्ली पुलिस पर निशाना साधा। पूजा ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि शिक्षा कोई विशेषाधिकार नहीं है, इस पर सबका उतना ही अधिकार है, जितना साफ हवा में सांस लेना। जेएनयू के छात्रों के साथ पुलिस को ऐसा बर्बरता से बर्ताव करना बेहद परेशान करने वाला है। क्या वह भूल जाते हैं कि उनका प्राथमिक कर्तव्य सेवा और सुरक्षा करना है, हिंसा का सहारा क्यों? छात्रों के खिलाफ? पूजा के इस ट्वीट पर लोगों की जमकर प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कुछ लोग पूजा के सपोर्ट में ट्वीट कर रहे हैं तो कुछ पूजा को विपक्ष में ट्वीट कर रहे हैं। 


इससे पहले स्वरा भास्कर ने कहा था कि एक टैक्सपेयर होने के नाते मुझे कोई दिक्कत नहीं है कि मैं मेहनत से कमाया हुआ पैसा सब्सिडाइज्ड एजुकेशन के लिए दूं। फिर भी मुझे लगता है कि हमारा देश ऐसा देश है जहां गरीबी है। जहां आज भी अनेकों परिवार गरीबी रेखा के नीचे आते हैं। पब्लिक फंडिंग से शिक्षा और उच्च शिक्षा के लिए अधिक से अधिक लोग अपने हिसाब से शिक्षा ले पाएंगे। उच्च शिक्षा के लिए पब्लिक फंडिंग जरूर होना चाहिए। लोगों का संवैधानिक अधिकार है शिक्षा। स्वरा ने कहा है कि जेएनयू के प्रोफेसर्स को घेरना हिंसा है। वहां के छात्र अपने प्रदर्शन के लिए हमेशा के लिए जिम्मेदार रहे हैं। मैंने भी कई प्रदर्शन में हिस्सा लिया है। शांति से प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर दिल्ली पुलिस का लाठीचार्ज करना गलत हैं।


भारतीय फुटबॉल टीम विश्वकप से बाहर

नई दिल्ली। फीफा वर्ल्ड कप 2020 के क्वालिफाइंग मुकाबले में ओमान ने भारतीय फुटबॉल टीम को 1-0 से हरा दिया। इस हार के बाद भारतीय फुटबॉल टीम 2020 विश्व कप के क्वालिफाइंग चरण में लगभग बाहर हो गई। ओमान के लिए सबसे अहम गोल 33वें मिनट में मोहसिन अल घसानी ने किया। ओमान ने दूसरी बार भारत को हराया है। उसने गुवाहाटी में सितंबर में पहले चरण में भारत को 2-1 से हराया था। पांच मैचों से मिले महज तीन अंकों के साथ भारत अब भी ग्रुप ई में चौथे स्थान पर है। कतर 13 अंकों के साथ शीर्ष पायदान पर है जबकि ओमान 12 अंकों के साथ दूसरे पायदान पर है। ग्रुप टेबल में दूसरे नंबर की टीम ओमान से नौ अंकों के अंतर के साथ भारत के लिए अब विश्व कप की राह लगभग खत्म हो गई है। उसके पास क्वालिफायर के तीसरे चरण में केवल तीन मैच बचे हैं, जिनमें अधिकतम नौ अंक हासिल किए जा सकते हैं।


'रोबोट' समस्या सुनेगा और निपटाएगा

विशाखापत्तनम। शिकायतों में भाग लेने में दक्षता में सुधार करने के लिए, विशाखापत्तनम पुलिस ने CYBIRA सायबीरा नामक एक साइबर सुरक्षा इंटरैक्टिव रोबोट एजेंट की शुरुआत की है। रोबोट कपलर टेक्नोसोल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा विकसित, CYBIRA एक विशेष रूप से सुसज्जित पुलिस रोबोट है जो ऑडियो संदेशों को ऑडियो संदेशों में रिकॉर्ड करता है।सोमवार को इस वर्चुअल असिस्टेंट रोबोट को विशाखापत्तनम के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार मीणा (IPS) ने महारानीपेटा स्टेशन पर लॉन्च किया। मीडिया से बात करते हुए, पुलिस आयुक्त ने कहा कि जनता रोबोट के सामने खड़ी हो सकती है और मौखिक रूप से अपनी शिकायतें दर्ज कर सकती है। उन्होंने आगे कहा कि जो लोग खुद से लिखित शिकायत दर्ज कराना चाहते हैं, वह CYBIRA से जुड़ी टैबलेट के माध्यम से कर सकते हैं।


एक बार शिकायत दर्ज होने के बाद, शिकायतकर्ता, साथ ही संबंधित पुलिस अधिकारी, लिखित प्रारूप में शिकायत की एक प्रति प्राप्त करेगा। कथित तौर पर, संबंधित अधिकारी को शिकायत प्राप्त होने के एक दिन के भीतर जांच शुरू करनी होगी। अन्यथा, रोबोट स्वचालित रूप से वरिष्ठ अधिकारियों को शिकायत की स्थिति को अग्रेषित करेगा। इसके अलावा, CYBIRA शिकायतकर्ता को शिकायत की स्थिति की जाँच करने की सुविधा प्रदान करेगा।इससे पहले, तिरुवनंतपुरम और हैदराबाद में पुलिस रोबोट के समान मॉडल तैनात किए गए थे। शिकायतों को प्राप्त करने के अलावा, इन रोबोटों को बमों का पता लगाने, और संदिग्धों की पहचान करने के लिए डिज़ाइन किया गया था।


सरकारी संस्थाएं बेचने पर उतरी सरकार

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने केंद्र सरकार पर देश के कई अहम संस्थानों को बेचने और निजी हाथों में देने के मुद्दे को लेकर आज बुधवार को हमला बोला है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि जहां डाल-डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा, वो भारत देश है मेरा। हमारे संस्थान हमारी शान हैं। ये ही हमारी 'सोने की चिड़िया' हैं। भाजपा ने वादा तो देश बनाने का किया था लेकिन काम भारत के बेहतरीन संस्थानों को खोखला कर उन्हें बेचने का कर रही है। दुखद।”  प्रियंका गांधी ने ये ट्वीट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बयान को दिया है, जिसमें वित्त मंत्री ने कहा था कि केन्द्र सरकार चाहती है मार्च तक एयर इंडिया और भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड की बिक्री की प्रक्रिया पूरी कर ली जाए।


पाकिस्तान में छात्रा का अनोखा प्रदर्शन

लाहौर। भारत में देश की सबसे प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी में एक जेएनयू इन दिनों फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर खबरों में है तो पाकिस्तान के लाहौर में हिंदुस्तानी शायर बिस्मिल अजीमाबादी की चंद पक्तियों के साथ एक छात्रा का अनोखा प्रदर्शन का वीडियो वायरल हो गया है। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद ट्रोल आर्मी भी सक्रिय हो गयी और उसे निशाना बनाते हुए विरोध करना शुरू कर दिया।


एक तरफ छात्रा की तारीफ हो रही है तो दूसरे सवाल करने वालों ने पूछा, “क्या पाकिस्तान में शायरों की कमी पड़ गई थी?” किसी ने छात्रा की इस हरकत को स्टंटबाजी करार दिया। तो किसी ने उसकी नीयत पर शक करते हुए एनजीओ की फंडिंग बताया। दरअसल छात्रा ने लोगों को 'स्टूडेंट्स मार्च' में निमंत्रण देने का अनोखा तरीका अपनाया था। जिस पर लोगों ने आपत्ति जताते हुए कहा, “विरोध का ये कैसा तरीका ?”


विरोध में शामिल होने के लिए निमंत्रण का ये कैसा तरीका ?


वीडियो में नजर आनेवाली छात्रा का नाम उरुज औरंगजेब है. उरुज लाहौर में आयोजित 'फैज फेस्टिवल' में हिंदुस्तानी शायर बिस्मिल अजीमाबादी की 'सरफरोशी की तमन्ना वाली' चंद पक्तिंयां गा रही हैं। ऐसा करने के पीछे उरुज मकसद बताती हैं, “29 नवंबर को होनेवाले छात्रों के मार्च में शामिल होने के लिए लोगों को दावत देना था।”


उरुज थियेटर कलाकार भी हैं। अपनी आवाज को लोगों तक पहुंचाने के लिए उन्होंने बिस्मिल अजीमाबादी की पंक्तियों को चुना। इस पर उरुज कहती हैं, “ हक की बात करनेवालों को सरहद में कैद नहीं किया जा सकता।” उन्होंने कहा,” अगर जिंदगी आसान होती तो फिर हम क्यों निकलते ? ज्यादा से ज्याद लोग हमारी दावत को कबूल कर मार्च में आएं, यही हमारा मकसद है।” उरुज का कहना है कि पाकिस्तान में कोई औरत बोल पड़े तो ये विवाद बन जाता है जबकि ये कोई नहीं देखता उसने क्या बोला है।


पाकिस्तान में 29 नवंबर को मार्च के जरिए छात्र विरोध-प्रदर्शन करने करनेवाले हैं। इस दौरान छात्रों के एजेंडे में कई मुद्दे शामिल होंगे। जिसमें प्रमुख रूप से शिक्षण संस्थानों में भेदभाव खत्म करन, यूनियन के गठन की मंजूरी देना, कैंपस में शोषण पर रोक, छात्रों को सियासी गतिविधियों में शामिल होने की इजाजत देने पर विचार किया जाएगा।


सरकारी मदद के साथ करें 'अपना व्यापार'

नई दिल्ली। अगर आप लोगों की मदद के साथ खुद का कारोबार (Business) शुरू चलाना चाहते हैं तो आपके लिए यह बेहतरीन मौका है। आप केंद्र सरकार की मदद से जनऔषधि केंद्र (Janaushadhi kendra) खोल सकते हैं। इस बिजनेस की सबसे बड़ी खासियत है कि मोदी सरकार (Modi Government) इसे खोलने के लिए 2.50 लाख रुपए की मदद भी देती है। फिलहाल देश भर में अब तक 5500 से ज्यादा जनऔषधि केंद्र खुल चुके हैं।


कैसे होगा फायदा : जनऔषधि केंद्र से दवा बेचने वाले को 20 फीसदी मार्जिन के अलावा हर महीने की बिक्री पर अलग से 15 फीसदी इंसेंटिव भी दिया जाएगा। इंसेंटिव की अधिकतम सीमा 10 हजार रुपए प्रति माह होगी। सरकार की योजना के अनुसार, इंसेंटिव तब तक दिया जाए, जब तक कि 2.50 लाख रुपये पूरे न हो जाएं। जनऔषधि केंद्र खोलने में भी तकरीबन 2.50 लाख रुपए का खर्च आता है। इस तरह यह पूरा खर्च सरकार खुद उठा रही है।


कौन खोल सकता है जनऔषधि केंद्र : सरकार ने जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए 3 तरह की कैटेगरी बनाई है। पहली कैटेगरी के तहत कोई भी व्यक्ति, बेरोजगार फार्मासिस्ट, डॉक्टर, रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर केंद्र खोल सकता है। दूसरी कैटेगरी के तहत ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट हॉस्पिटल, सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप को जनऔषधि केंद्र खोलने का अवसर मिलेगा। तीसरी कैटेगरी में राज्य सरकारों की ओर से नॉमिनेट की गई एजेंसी होगी। प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए 120 वर्गफुट एरिया में दुकान होनी जरूरी है। केंद्र खोलने वालों को सरकार की ओर से 900 दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।


जाने कैसे होगी कमाई :जनऔषधि केंद्र के जरिए महीने में जितनी दवाओं की बिक्री होगी, उसका 20 फीसदी कमिशन के रूप में मिलेगा। इस लिहाज से अगर आपने महीने में 1 लाख रुपये की भी बिक्री की तो आपको उस महीने 20 हजार रुपये की इनकम हो जाएगी। ये भी पढ़ें: 50 हजार रुपये लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, मोदी सरकार दे रही कमाने का मौका।


आवेदन के लिए क्या है जरूरी? : जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए आपके पास रिटेल ड्रग सेल्स का लाइसेंस जन औषधि केंद्र के नाम से होना चाहिए। आवेदन करने के लिए आधार कार्ड एवं पैन कार्ड की जरूरत होगी। वहीं, संस्थान, एनजीओ, हॉस्पिटल, चैरिटेबल संस्था को आवेदन करने के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, पंजीयन प्रमाण पत्र देना होगा।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


नवंबर 21, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-107 (साल-01)
2. बृहस्पतिवार, नवंबर 21, 2019
3. शक-1941, मार्गशीर्ष-कृष्ण पक्ष, तिथि- दसमी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:40,सूर्यास्त 05:36
5. न्‍यूनतम तापमान -13 डी.सै.,अधिकतम-24+ डी.सै., छिटपुट बरसात की संभावना रहेगी।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित


 


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...