गुरुवार, 24 अगस्त 2023

रात में पिता-पुत्र पर कुल्हाड़ी, लाठियों से हमला

रात में पिता-पुत्र पर कुल्हाड़ी, लाठियों से हमला 

मनजीत सिंह
कौशाम्बी। सराय अकिल थाना क्षेत्र के बैर गांव में सोते समय पिता पुत्र पर कुल्हाड़ी लाठियां से हमला किया गया है जिससे दोनों को गंभीर चोटे आई हैं। घायल अवस्था में दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है मामले की सूचना पुलिस को दी गई है।
घटनाक्रम के मुताबिक सराय अकिल थाना क्षेत्र के बैर गांव निवासी मानसिंह पुत्र सोतीलाल वा उनका बेटा गोलू पुत्र मानसिंह बुधवार की रात्रि घर के बाहर टीन शेड के नीचे सो रहे थे। 
आधी रात को गांव के सियाराम बृजलाल वा तोता लाठी डंडा कुल्हाड़ी लेकर पहुंचे और सोते समय मानसिंह वा उसके बेटे गोलू पर लाठी कुल्हाड़ी से हमला कर दिया जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। चीख पुकार की आवाज सुनकर परिवार वा आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और हमलावरों को ललकारा ग्रामीणों के ललकारने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए घायल अवस्था में पिता पुत्र दोनों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना की सूचना मोहनलाल ने थाना पुलिस को दी है मामले में पुलिस जांच और कार्यवाही कर रही है।

दिव्यांगों के लिए बनाए गए रैंप पर चढ़ाई कार

दिव्यांगों के लिए बनाए गए रैंप पर चढ़ाई कार    

संदीप मिश्र      
लखनऊ। यूपी सरकार में मंत्री धर्मपाल सिंह को लखनऊ से पंजाब मेल से बरेली जाना था। उन्हें देर हो रही थी, इसलिए उनकी फॉर्च्यूनर कार को दिव्यांगों के लिए बनाए गए रैंप से चढ़ाकर ट्रेन पकड़ने के लिए अंदर घुसा दिया गया। जब तक वह हावड़ा-अमृतसर मेल में बैठकर रवाना नहीं हो गए, उनकी कार प्लेटफार्म पर ही रही। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसे लेकर टिप्पणी की है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि अच्छा हुआ ये बुलडोज़र से स्टेशन नहीं गये थे।
उत्तर प्रदेश के पशुधन मंत्री को लखनऊ से बरेली हावड़ा-अमृतसर मेल से जाना था। यह ट्रेन प्लेटफार्म चार पर पहुंचती है। मंत्री धर्मपाल सिंह को यहां तक पहुंचने के लिए उनकी कार को सीधे प्लेटफार्म नंबर एक से सटे एस्केलेटर तक ले जाया गया, जो रेलवे न्यायालय के सामने दिव्यांगों के लिए बनाया गया था। वह पंजाब मेल में बैठकर जब तक रवाना नहीं हो गए तक उनकी कार को प्लेटफार्म पर ही रोके रखा गया।
नियमों के अनुसार, रैंप से होते हुए एस्केलेटर का उपयोग केवल पैदल यात्री कर सकते हैं। जबकि मंत्री जी के लिए सभी नियमों को अनदेखा कर दिया गया।

1 किलो अफीम के दूध के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार

1 किलो अफीम के दूध के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार

नरेश राघानी   
चूरू। अवैध मादक पदार्थो के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए तस्करों को गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई चुरू के सादुलपुर में की गयी है। जहां पर थानाधिकारी सुभाष चंद्र के नेतृत्व में पुलिस टीम ने कार्रवाई करते हुए एक कार को रूकवाय और पुछताछ की। पुछताछ के दौरान कार में मौजूद दो युवक संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। जिस पर पुलिस टीम ने कार की तलाशी ली। 
तलाशी के दौरान कार से एक किलो अफीम का दूध मिला। जिस पर पुलिस टीम ने दोनो को गिरफ्तार कर एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। तस्करों के पास मिले अफीम के दूध की बाजार में कीमत दो लाख रूपए बतायी जा रही है। पुलिस आरोपियों से नशीले पदार्थ की खरीद फरोख्त के सम्बंध में पुछताछ कर रही है।

6 बच्चों की मां को भतीजे से प्यार हुआ

6 बच्चों की मां को भतीजे से प्यार हुआ    

आदर्श श्रीवास्तव   
हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में एक 6 बच्चों की मां अपनी से आधी उम्र के भतीजे के साथ फरार हो गई। हालांकि परिजनों ने दोनों को दिल्ली से पकड़ कर कोतवाली लेकर आए और आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया। कई घंटे तक कोतवाली में हंगामा काटा फिर समझने के बाद फिर परिजन महिला को घर लेकर गए।
पूरा मामला जनपद महोबा के पनवाड़ी थाना क्षेत्र अंतर्गत बुडेरा गांव का है। जहां एक 45 वर्षीय महिला का बहपुर गांव के रहने वाले पारिवारिक भतीजे से इश्क हो गया। दोनों के बीच बातें शुरू हुई और यह बातचीत प्यार में तब्दील हो गई। इसके बाद दोनों इलाज कराने के बहाने दिल्ली भाग गए। दोनों रिश्ते में बुआ भतीजा लगते हैं।
परिजनों ने तलाश किया और 2 दिन पहले दिल्ली जाकर दोनों को घर लेकर पहुंचे। जहां पर जन्म और रिश्तेदारों ने दोनों को काफी समझाया, लेकिन प्रेमी प्रेमिका ने किसी की एक न सुनी। इसके बाद मामला थाने तक पहुंच गया।
भतीजे को परिजनों ने पुलिस के हवाले कर दिया। जिसका महिला ने कहा फिर विरोध किया, जिसको लेकर थाने में काफी देर तक हंगामा होता रहा। हालांकि कई घंटे के बाद महिला परिजनों के समझाने पर घर जाने को राजी हुई।

नेपाल में 6 भारतीय श्रद्धालुओं की मौत हुई

नेपाल में 6 भारतीय श्रद्धालुओं की मौत हुई   

सुनील श्रीवास्तव    
जनकपुर। नेपाल के जनकपुर के पास श्रद्धालुओं से भरी बस गहरी खाई में गिर गई। हादसे में राजस्थान के गंगापुर सिटी की 4 महिलाओं सहित 6 लोगों की मौत हो गई। मरने वालाें में पति-पत्नी शामिल हैं। 9 साल की बच्ची सहित 12 यात्री घायल हो गए। हादसा बुधवार देर रात 2 बजे मधेश प्रांत के बारा जिले में हुआ। बस काठमांडू से जनकपुर जा रही थी। जानकारी के अनुसार गंगापुर के पास महू कला से तीर्थ यात्रा के लिए करीब 25 लोगों का दल 20 अगस्त को ट्रेन से रवाना हुआ था। दल के सभी सदस्य दिल्ली पहुंचने के बाद हवाई मार्ग से नेपाल के काठमांडू पहुंचे थे। इसके बाद सभी बस से नेपाल में पशुपतिनाथ सहित अन्य तीर्थ स्थलों के दर्शन के लिए रवाना हुए थे। 
नेपाल के काठमांडू से जनकपुर जाते समय श्रद्धालुओं से भरी बस मधेश प्रांत के बारा जिले में चुरियामई के पास पलटकर सड़क से करीब 50 मीटर नीचे गहरी खाई में गिर गई। हादसे में वैजयंती देवी पत्नी सुरेश चंद चतुर्वेदी, बहादुर, उसकी पत्नी मीरा देवी, सत्यवती, राजेंद्र कुमार और उसकी पत्नी श्रीकांता चतुर्वेदी की मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा सुरेश चंद्र चतुर्वेदी, रामकुमार चतुर्वेदी, श्याम लाल माली, चौथी देवी, तारा देवी, अनिल चतुर्वेदी, माया देवी, घनश्याम चतुर्वेदी, राम प्रसाद सैनी और गर्मता देवी घायल हो गए। हादसे में 9 वर्षीय बच्ची कृतिका भी घायल हो गई।

अभियान में मोदी सरकार ने नहीं की सहायता: कांग्रेस

अभियान में मोदी सरकार ने नहीं की सहायता: कांग्रेस   

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। कांग्रेस ने चंद्रयान-3 की सफलता के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ( इसरो) के वैज्ञानिकों को बधाई दी लेकिन कहा कि प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी इसका श्रेय लेने की दौड़ में सबसे आगे रहे जबकि हकीकत यह है कि उन्होंने इस टीम से जुड़े वैज्ञानिकों की अनदेखी की और उन्हें 17 महीने से वेतन नहीं मिल रहा है।
कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने गुरुवार को यहां जारी एक बयान में कहा कि जैसे ही चंद्रयान-3 चांद की सतह पर उतरा मोदी उससे पहले ही टीवी स्क्रीन पर आ धमके और इस टीम से जुड़े वैज्ञानिकों को मदद करने में अपनी विफलता पर पछताने की बजाए वैज्ञानिकों की मेहनत की सफलता का श्रेय लेने लगे।
उन्होंने कहा, “चंद्रयान-3 की लैंडिंग का उत्साह और गर्व लंबे समय तक हमारे साथ रहेगा। इसरो ने अध्यक्ष डॉ. सोमनाथ के नेतृत्व ने वास्तव में इतिहास रचा और इसके लिए वह और उनकी टीम को हार्दिक बधाई।
” वेणुगोपाल ने कहा,‘‘इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस तरह से सामने आए और जिस तरह का पाखंड उन्होंने किया उसके लिए उन्हें जवाब देना चाहिए। आपको स्क्रीन पर आने और लैंडिंग के बाद श्रेय लेने की जल्दी थी लेकिन आपकी सरकार वैज्ञानिकों और इसरो की मदद करने में बुरी तरह विफल क्यों रही।
कांग्रेस महासचिव ने कहा, “चंद्रयान-3 पर काम करने वाले एचईसी इंजीनियरों को पिछले 17 महीनों से वेतन क्यों नहीं मिला और आपने इतने महत्वपूर्ण मिशनों के लिए बजट में 32 प्रतिशत की कटौती क्यों की। ये हमारे देश के हीरो हैं, ये विश्वस्तरीय अंतरिक्ष अनुसंधान कार्यक्रम चलाते हैं लेकिन आपको इनकी प्रतिभा और मेहनत की कोई कद्र नहीं है। जले पर नमक छिड़कने के लिए आप तब सुर्खियों में आए जब वह क्षण वैज्ञानिकों की उपलब्धियों का जश्न मनाने के बारे में था।

देश से भागे हुए लोगों को नहीं पकड़ेगी 'ईडी'

देश से भागे हुए लोगों को नहीं पकड़ेगी 'ईडी' 

दुष्यंत टीकम   
रायपुर। मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने माना एयरपोर्ट में पत्रकारों से कहा कि अगर ईडी को किसी को पकड़ना ही था तो देश के बाहर के लोगों को पकड़ना चाहिए था लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। आपने सिर्फ राजनीतिक एंगल देखा और अधिकारी किस में फंस सकते हैं, आने वाले दिनों में ईडी और भी कार्यकर्ताओं के यहां जाकर उन्हें परेशान करेगी ताकि वे काम ना कर पाएं।
आगे सीएम बघेल ने कहा, ईडी को शराब घोटाले का हिसाब बता देना चाहिए। 
कोयला घोटाले का हिसाब बता देना चाहिए। रमन सिंह को जवाब चिटफंड और पनामा पर देना चाहिए। आगे उन्होंने कहा, बीते चुनाव में भी विनोद वर्मा को घेरे थे। मुझे भी गिरफ्तार किया गया था। भाजपा सीधा चुनाव नहीं लड़ पा रही है। ईडी की कार्रवाई को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा, राज्य सरकार ने पहले भी महादेव एप पर कार्रवाई की है। कई लोग जेल में है कि बेल में है, यदि ईडी को पकड़ना था तो जो बाहर है उसे लाना था। केवल अधिकारियों को पॉलिटिकल एंगल से ही देखा। अधिकारी का चुनाव में कैसे उपयोग कर सके, केवल यही देखा गया। 
भाजपा मान चुकी है कि पाटन में विजय बघेल की दाल नहीं गलने वाली है, इसलिए परिवर्तन निदेशालय भेजा गया। अब और भी कार्यकर्ताओं के यहां जायेंगे।

आरबीआई ने डिजिटल लेनदेन की सीमा बढ़ाई

आरबीआई ने डिजिटल लेनदेन की सीमा बढ़ाई   

अकाशुं उपाध्याय   
नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गुरुवार को ऑफ़लाइन किए जाने वाले छोटे मूल्य के डिजिटल भुगतान के लिए लेनदेन की सीमा पहले के 200 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये प्रति कर दी है। केंद्रीय बैंक द्वारा जारी एक अधिसूचना में कहा गया है, यह निर्देश तत्काल प्रभाव से लागू होगा।
इसमें आगे कहा गया है कि छोटे मूल्य के डिजिटल भुगतान से संबंधित अन्य सभी निर्देश पूर्ववत रहेंगे। आरबीआई ने 10 अगस्त को मौद्रिक नीति समिति के संबोधन में लेनदेन की सीमा बढ़ाने का प्रस्ताव किया था।
इसने स्पष्ट किया था कि जहां प्रति लेनदेन सीमा को 500 रुपये तक बढ़ाया जा रहा है, वहीं दो-कारक प्रमाणीकरण की छूट से जुड़े जोखिमों को रोकने के लिए कुल सीमा पहले की तरह 2,000 रुपये पर बरकरार रखी जाएगी।

'सशक्त बहना उत्सव योजना' का किया शुभारंभ

'सशक्त बहना उत्सव योजना' का किया शुभारंभ

श्रीराम मौर्य 
देहरादून। प्रदेश में महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए सरकार ने मुख्यमंत्री सशक्त बहना उत्सव योजना की शुरूआत की है। सीएम धामी ने इस योजना का गुरुवार को सचिवालय में स्वयं सहायता समूहों द्वारा निर्मित राखियों के एक ऐसे ही स्टॉल पर पहुंचकर मुख्यमंत्री ने योजना का शुभारंभ किया।
महिलाओं ने किया सीएम धामी का आभार व्यक्त
कार्यक्रम के दौरान महिलाओं ने मुख्यमंत्री पुष्करल सिंह धामी का आभार जताते हुए उन्हें राखी बांधी। इस दौरान ग्राम्य विकास मंत्री गणेश जोशी और मुख्यमंत्री की पत्नी गीता धामी भी मौजूद रही।
सीएम धामी ने कहा कि प्रदेश में आज से “मुख्यमंत्री सशक्त बहना उत्सव योजना” का शुभारंभ किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत महिला स्वयं सहायता समूहों व एकल उद्यमी बहनों द्वारा निर्मित हस्त शिल्प उत्पादों के विपणन हेतु प्रत्येक जनपद में ब्लॉक स्तर पर चिन्हित विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शनी के माध्यम से व्यापक बाजार उपलब्ध कराया जा रहा है।
सभी से की इस योजना के तहत बने सामान को खरीदने की अपील
सीएम धामी ने सभी से अपील की “आत्मनिर्भर उत्तराखण्ड एवं महिला सशक्तिकरण” के लक्ष्य को और अधिक मजबूती प्रदान करने के लिए आप सभी अपने जनपद में चिन्हित स्थानों पर पहुंचकर हस्त निर्मित सामानों को अवश्य खरीदें। जिससे उत्तराखण्ड के स्थानीय उत्पादों को एक नई पहचान मिल सके।

मस्तिष्क गतिविधियों को शब्दों में बदलना संभव

मस्तिष्क गतिविधियों को शब्दों में बदलना संभव 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा उपकरण विकसित किया है, जो लकवाग्रस्त लोगों के मस्तिष्क के संकेतों को पहले की तुलना में तेज गति से शब्दों में बदल सकता है। यह गंभीर रूप से लकवाग्रस्त लोगों के बीच संचार बहाल करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। शोधकर्ताओं ने कहा कि ‘ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफेस’ (बीसीआई) मस्तिष्क की गतिविधि को तेजी से और अधिक सटीक रूप से शब्दों में बदलने तथा मौजूदा तकनीकों की तुलना में व्यापक शब्दावली को शामिल करने में सक्षम है। 
मस्तिष्क आघात या ‘एमियोट्रोफिक लेटरल स्क्लेरोसिस’ सहित मस्तिष्क विकारों वाले लोगों को अक्सर मांसपेशियों के पक्षाघात के कारण बोलने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। पिछले अध्ययनों से पता चलता है कि लकवा पीड़ित व्यक्ति की मस्तिष्क गतिविधियों को शब्दों में बदलना संभव है, लेकिन केवल लिखित रूप में और सीमित गति, सटीकता और शब्दावली के साथ ऐसा किया जा सकता है। 
‘नेचर’ पत्रिका में प्रकाशित हालिया अध्ययन से पता चला है कि ‘बीसीआई’ जो मस्तिष्क में डाले गए बारीक इलेक्ट्रोड की एक श्रृंखला के जरिये एकल कोशिकाओं की तंत्रिका गतिविधि को एकत्र करता है, और इसे स्वरों में बदलने के लिए एक कृत्रिम तंत्रिका नेटवर्क को प्रशिक्षित करता है।
 इस उपकरण की मदद से, ‘एमियोट्रोफिक लेटरल स्क्लेरोसिस’ से पीड़ित एक मरीज औसतन 62 शब्द प्रति मिनट की दर से संवाद करने में सक्षम हुआ, जो कि इसी तरह के उपकरण के पिछले रिकॉर्ड से 3.4 गुना तेज है। बीसीआई ने 50 शब्दों की शब्दावली पर 9.1 प्रतिशत शब्द त्रुटि दर हासिल की, जो 2021 से पिछले अत्याधुनिक बीसीआई की तुलना में 2.7 गुना कम त्रुटियां हैं।

भूस्खलन के साथ कनिष्ठ अभियंता बह गया

भूस्खलन के साथ कनिष्ठ अभियंता बह गया 

पंकज कपूर 
कांगड़ा। हिमाचल में भारी बारिश से बिगड़े हालातों का विभागो के बड़े अधिकारी भी फिल्ड में उतर कर जायजा ले रहे हैं। इसी तरह का जायजा ले रहे जल शक्ति विभाग के कनिष्ठ अभियंता के खड्ड में बहने की सूचना मिली है।  मामला सूबे के जिला कांगड़ा से सामने आया है, जहां जल शक्ति विभाग के एक कनिष्ठ अभियंता राजेश चौधरी पेयजल योजना का जायजा लेते समय खड्ड में बह गए। बताया जा रहा है कि हादसे के समय उनके साथ अन्य तीन कर्मचारी भी साथ में थे।
कांगड़ा के दौलतपुर से सामने आया मामला
मिल रही जानकारी के अनुसार जिला कांगड़ा के तहत आते दौलतपुर के पास जलाड़ी गांव में एक दर्दनाक हादसा सामने आया है। यहां जल शक्ति विभाग के कनिष्ठ अभियंता राजेश चौधरी अपने अन्य तीन कर्मचारियों के साथ पेयजल दुरुस्ती व नुक्सान के आंकलन का कार्य कर रहे थे।
लैंडस्लाइड से घबराए खड्ड में गिरे कनिष्ठ अभियंता
इस बीच जब कनिष्ठ अभियंता राजेश चौधरी नुक्सान की रिपोर्ट अपनी डायरी पर लिख रहे थे उस समय अचानक उनके पास में लैंडस्लाइड हुआ। अपने काम में व्यस्त कनिष्ठ अभियंता लैंडस्लाइड से हुई आवाज से हड़बड़ा गए। इसी हड़बड़ाहट के चलते वो अपना संतुलन खो बैठे और साथ बह रही बनेर खड्ड में बह गए।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-311, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शुक्रवार, अगस्त 25, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-नवमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:06।

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...