सोमवार, 22 जनवरी 2024

आचार्य कुणाल ने सोने का तीर-धनुष भेंट में दिया

आचार्य कुणाल ने सोने का तीर-धनुष भेंट में दिया

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। पटना के महावीर मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेन्द्र मिश्र को सोमवार को दो करोड़ रुपये की अंतिम किश्त और प्रभु रामलला के लिए सोने का तीर-धनुष भेंट में दिया। श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या स्थित नवनिर्मित मंदिर में प्रभु रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से ठीक एक दिन पहले रविवार को पटना महावीर मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य कुणाल ने श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेन्द्र मिश्र को दो करोड़ रुपये की अंतिम किश्त का चेक सौंपा। इसके साथ ही उन्होंने राम मन्दिर निर्माण में 10 करोड़ के योगदान का अपना वचन भी पूरा किया। श्री कुणाल ने प्रभु रामलला को सोने का तीर-धनुष भी भेंट किया। भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के पूर्व अधिकारी आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि 09 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्मभूमि के पक्ष में सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आते ही महावीर मन्दिर की ओर से राम मन्दिर निर्माण में 10 करोड़ रुपये की सहयोग राशि देने की घोषणा की थी। उन्होंने बताया कि 02 अप्रैल 2020 को जिस दिन श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का खाता खुला था, उसी दिन महावीर मन्दिर की ओर से दो करोड़ रुपये की पहली किश्त दी गयी थी। वर्ष 2021, 2022 और 2023 में लगातार इतनी राशि दी जाती रही। अब अंतिम किश्त के रूप में 2 करोड़ रुपये की सहयोग राशि दी गयी। Also Read - माहौल बिगड़ने की कोशिश- राम मंदिर की तस्वीर पर लहराया पाकिस्तानी झंडा आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि किसी एक संस्था के द्वारा अयोध्या में रामलला के मन्दिर निर्माण में सहयोग के तौर पर 10 करोड़ रुपये देने वाला महावीर मन्दिर देश का पहला संस्थान है। इसके साथ ही अमावा राम मन्दिर ट्रस्ट के अध्यक्ष के. परासरन की ओर से उनके पौत्र विष्णु परासरन और सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने स्वर्ण जड़ित तीर-धनुष भेंट किया। Also Read - हनीट्रैप में फंसाकर ब्लैकमेल करने वाली महिला के साथ 5 साथी अरेस्ट अमावा राम मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम का धनुष जिसे कोदंड के नाम से जाना जाता है, उसे चेन्नई में बनवाया गया है। 2.5 किलो वजन का यह तीर-धनुष तांबे के बेस पर स्वर्ण जड़ित है। उन्होंने बताया कि अमावा राम मन्दिर के शिखर के लिए स्वर्ण जड़ित कलश बनवाया गया। इसके लिए भारत सरकार के उपक्रम एमएमटीसी से सोना खरीदा गया था। उसमें से कलश निर्माण के बाद शेष बचे सोने से स्वर्ण जड़ित कोदंड तैयार किया गया है। आचार्य कुणाल ने बताया कि अयोध्या के अमावा राम मन्दिर परिसर में 1 दिसंबर 2019 को विवाह पंचमी के दिन से चल रही राम रसोई 22 जनवरी, सोमवार से दोनों पहर चलने लगेगी । रामलला के दर्शनार्थियों के लिए यह राम रसोई पटना के महावीर मन्दिर द्वारा संचालित की जा रही है। यहाँ राम भक्तों को निःशुल्क नौ प्रकार के शाकाहारी शुद्ध व्यंजन परोसे जाते हैं । महावीर मन्दिर की आय से यह राम रसोई संचालित की जा रही है।

कार्यक्रम का आयोजन, डीएम ने भाग लिया

कार्यक्रम का आयोजन, डीएम ने भाग लिया 

भानु प्रताप उपाध्याय 
शामली। अयोध्या में हो रही राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के उपलक्ष में हनुमान धाम पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य जजमान के रूप में जिलाधिकारी ने भाग लिया और कार्यक्रम संपन्न होने के बाद भगवान श्री राम की आरती कर शुभाशीष किया। वही कार्यक्रम के दौरान राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम भी एलईडी के माध्यम से लाइव दिखाया।
शहर के सिद्ध पीठ हनुमान धाम पर रामलाल की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहाँ कार्यक्रम में जिलाधिकारी रविंद्र कुमार मुख्य जजमान के तौर पर उपस्थित रहे। जहाँ राम भक्तों ने भगवान राम की भक्ति में भाव विभोर होकर भगवान राम के भजन गए। इस दौरान हनुमान धाम जय श्री राम व जय हनुमान के नारों से गूंज उठा।
मंदिर के प्रबंधक सलिल द्विवेदी ने बताया कि हनुमान धाम पर राम मंदिर में हो रही प्राण प्रतिष्ठा को लेकर पिछले कई दिनों से धार्मिक आयोजन किया जा रहे हैं। जहां आज भी एक कार्यक्रम का आयोजन श्री राम भगवान दरबार में किया गया था। जहां जिलाधिकारी ने मुख्य जजमान की भूमिका निभाते हुए कार्यक्रम को संपन्न कराया। उन्होंने कहा कि प्राण प्रतिष्ठा को लेकर राम भक्तों में भारी उत्साह है। कार्यक्रम के उपरांत जिलाधिकारी ने सभी लोगों के साथ मिलकर भगवान राम की आरती करते हुए उनका आशीर्वाद लिया। इस दौरान मंदिर में सैकड़ो की संख्या में भक्तगण मौजूद रहे।

आज रामलला के साथ भारत का गर्व लौटकर आया

आज रामलला के साथ भारत का गर्व लौटकर आया

संदीप मिश्र 
अयोध्या। रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा, ‘आज अयोध्या में रामलला के साथ भारत का गर्व लौटकर आया है। संपूर्ण विश्व को त्रासदी से राहत देने वाला भारत खड़ा होगा। जोश की बातों में होश की बात करने का काम मुझे ही दिया जाता है। आज हमने सुना कि प्रधानमंत्री ने यहां आने से पहले कठोर तप रखा। जितना कठोर तप रखा जाना चाहिए था, उससे ज्यादा कठिन तप रखा। मेरा उनसे पुराना परिचय है। मैं जानता हूं, वे तपस्वी हैं ही। परंतु, वे अकेले तप कर रहे हैं, हम क्या करेंगे?’
आरएसएस प्रमुख ने कहा ‘अयोध्या में रामलला आए। अयोध्या से बाहर क्यों गए थे? रामायणकाल में ऐसा क्यों हुआ था। अयोध्या में कलह हुआ था। अयोध्या में उस पुरी का नाम है, जिसमें कोई द्वंद्व, कलह और दुविधा नहीं। फिर भी भगवान राम 14 वर्ष वनवास में गए। दुनिया के कलह को मिटाकर वापस आए।’ मोहन भागवत ने कहा ‘आज रामलला वापस फिर से आए हैं, पांच सौ वर्ष के बाद। जिनके त्याग, तपस्या, प्रयासों से आज हम यह स्वर्ण दिवस देख रहे हैं, उनका स्मरण प्राण-प्रतिष्ठा के संकल्प में हमने किया। उनके प्रयासों को कोटि बार नमन है।

श्रीराम उत्सव 2024 का आयोजन: कौशाम्बी

श्रीराम उत्सव 2024 का आयोजन: कौशाम्बी 

अयोध्या चरवा में प्रभु श्रीराम ने किया था विश्राम, चरवा में आयोजित हुए कार्यक्रम

कौशाम्बी। नगर पंचायत चरवा में श्रीराम उत्सव 2024 का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं व राम मंदिर आंदोलन से जुड़े कार सेवकों को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में प्रख्यात भजन गायक मिश्रा बन्धु द्वारा संगीतमय सुंदरकांड पाठ प्रस्तुति करण किया गया, तत्पश्चात देश के कोने कोने से आए कवियों ने अपनी कविता के माध्यम से भगवान राम के जीवन चरित्र पर प्रकाश डाला।
बतौर मुख्य अतिथि सांसद विनोद सोनकर ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि आज का क्षण बहुत ही भावुक करने वाला पल है। सोमवार को 500 वर्षों का इंतजार खत्म हुआ और अयोध्या में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा संपन्न हुई इस खुशी की पराकाष्ठा राम भक्तों में देखी जा सकती है। अयोध्या से लेकर देश के कोने-कोने गांव- गाँव में गजब का उत्साह है। जिधर देखो उधर राम धुन में लोग थिरक रहे हैं। शोभा यात्रा, कार्यक्रम के दौरान एसपी बृजेश कुमार श्रीवास्तव, डीएम सुजीत कुमार, नगर पंचायत अध्यक्ष जग नारायन पासी, और तमाम बीजेपी नेता इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे। श्री राम विश्राम स्थल और राम लीला मैदान में कार्यक्रम आयोजित किया गया। भगवान श्री राम, माता सीता, और लक्ष्मण हनुमान की झांकी प्रस्तुत की गई। समस्त लोगो को माला पहनाकर स्वागत किया है।
रजनीश कुमार

पीएम ने अपने आवास पर 'दीपोत्सव' मनाया

पीएम ने अपने आवास पर 'दीपोत्सव' मनाया

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। राम मंदिर ‘प्राण प्रतिष्ठा’ समारोह के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने आवास पर दीपोत्सव मनाया।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में अयोध्या में राम मंदिर के गर्भगृह में सोमवार को श्री रामलला के नवीन विग्रह की प्राण-प्रतिष्ठा संपन्न हुई। देश-विदेश में लाखों रामभक्त इसके साक्षी बने। प्राण-प्रतिष्ठा के दौरान सेना के हेलीकॉप्टरों ने नवनिर्मित रामजन्मभूमि मंदिर पर पुष्प वर्षा की। प्राण-प्रतिष्ठा अनुष्ठान संपन्न होने के बाद पीएम मोदी ने रामलला को दंडवत प्रणाम किया। फिर इसके बाद अपने संबोधन में कहा कि राम भारत की आस्था हैं, राम भारत का आधार हैं, राम भारत का विचार हैं, राम भारत का विधान हैं। पीएम मोदी ने प्राण-प्रतिष्ठा के बाद करीब 35 मिनट का संबोधन दिया। जिसमें उन्होंने राम के महात्म के साथ-साथ अयोध्या में राम मंदिर की स्थापना से जुड़े संघर्ष को याद किया।
प्राण-प्रतिष्ठा समारोह संपन्न होने के बाद पीएम मोदी कुबेर टीला पहुंचे। जहां उन्होंने भगवान शिव की भी पूजा की। साथ ही राम मंदिर बनाने वाले श्रमजीवियों पर फूल बरसाए। इसका वीडियो भी सामने आया है। जिसमें पीएम मोदी हाथों में फूलों से भरी टोकड़ी लिए मंदिर परिसर में बैठे श्रमजीवियों पर फूलों की बारिश करते नजर आ रहे हैं।
मालूम हो कि इससे पहले भी पीएम मोदी ने श्रमजीवियों को सम्मानित करने का काम कई बार किया है. नए संसद भवन के निर्माण, सेंट्रल विस्ट्रा प्रोजेक्ट के साथ-साथ देश में हुए अन्य प्रोजेक्ट में पीएम मोदी ने श्रमजीवियों को सम्मानित किया है। कर्तव्य पथ के निर्माण के बाद हुए परेड में श्रमजीवियों से सबसे आगे बिठाया गया था।

राम-लक्ष्मण, माता सीता की शोभा यात्रा निकाली

राम-लक्ष्मण, माता सीता की शोभा यात्रा निकाली

भगवा रंग में नजर आया अषाढा चौराहा

कौशाम्बी। प्रभु श्री राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी कार्यक्रम के तत्वाधान में भव्य शोभा यात्रा अषाढा चौराहा से चल कर फैजीपुर से होते हुए भव्यरथ श्री राम-लक्ष्मण और माता सीता की शोभा यात्रा निकाली गई। जिसमें क्षेत्रवासी एवं  ग्रामवासी ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। कही लंगर तो कहीं भंडारे का भी हुआ आयोजन। नव दुर्गा पूजा कमेटी के तत्वाधान में यह कार्यक्रम भव्य शोभा यात्रा संपन्न हुई। शोभा यात्रा में किसी तरह की कोई व्यवधान ना आए इसके लिए चौकीइंचार्ज अषाढ़ा मनीष कुमार पाल अपने हम रहियो के साथ मोर्चा संभाल रखा था। जिसमें चौराहे के समस्त व्यापारी प्रमुख रूप से विजय केसरवानी, आशीष केसरवानी, शिवराम मौर्य, शैलेंद्र मौर्य, अनिल कुमार वर्मा, विकास केसरवानी, टिंकू केसरवानी, गोपाल वर्मा, जगदीश मौर्य, राजन मौर्य, संजय मौर्य, राजीव यादव, सोनू अग्रहरी, शिवम बबलू मौर्य, कमल, गणेश सहित सैकड़ो लोग शामिल है।
शैलेंद्र मौर्य

सीएम ने वार्षिक कैलेंडर का विमोचन किया

सीएम ने वार्षिक कैलेंडर का विमोचन किया 

पंकज कपूर 
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को शासकीय आवास में सूचना विभाग के वार्षिक कैलेंडर ‘‘सशक्त नेतृत्व, समृद्ध उत्तराखण्ड’’ का विमोचन किया। इस कैलेंडर में प्रदेश के सभी 13 जिलों के प्रमुख धार्मिक व पर्यटक स्थलों, स्थानीय उत्पादों तथा प्राकृतिक सौन्दर्य को दर्शाया गया है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  द्वारा दिए गये 9 संकल्पों पर प्रदेश स्तर पर तेजी से कार्य किए जाएं। जल संरक्षण एवं डिजिटल लेन-देन के लिए भी लोगों को जागरूक किया जाए व नियमित स्वच्छता अभियान चलाया जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में वोकल फॉर लोकल को तेजी से बढ़ावा दिया जाए। स्वदेशी उत्पादों के अधिकतम इस्तेमाल करने के लिए भी लोगों को प्रेरित किया जाए। मुख्यमंत्री ने राज्य में पर्यटन और ऑर्गेनिक खेती को भी प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, सचिव आर.मीनाक्षी सुंदरम, शैलेश बगोली,  विनय शंकर पाण्डेय, विशेष सचिव डॉ. पराग मधुकर धकाते, एडीजी  ए.पी. अंशुमन और महानिदेशक सूचना  बंशीधर तिवारी उपस्थित थे।

पीएम ने प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान पूरा किया

पीएम ने प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान पूरा किया

संदीप मिश्र 
अयोध्या। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नवनिर्मित राम मंदिर की सीढ़ियों पर चढ़े और 84 सेकंड के अभिजीत मुहूर्त के भीतर संकल्प लेकर प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान पूरा किया। इसके बाद वह शेष अनुष्ठानों को पूरा करने के लिए मंत्रोच्चार के बीच ‘गर्भ गृह’ में चले गए। पांच साल पुरानी रामलला की भव्य पांच फीट ऊंची प्रतिमा का आखिरकार दुनिया के सामने अनावरण किया गया मंदिर के गर्भगृह में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे।
यह समारोह शंखनाद और हेलीकॉप्टर द्वारा मंदिर पर फूलों की वर्षा के बीच पूरा हुआ। राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा पूरी हो गई और 500 साल का सपना आखिरकार साकार हो गया। आरती के समय होगी पुष्पवर्षा आरती के समय पुष्पवर्षा भी होगी। इसके लिए सेना के जवानों को चुना गया है। ये चुनिंदा जवान हेलीकॉप्टर में बैठकर आसमान से अयोध्या में पुष्प वर्षा करेंगे।
भारतीय वाद्ययंत्रों की गूंजेगी ध्वनियां श्रीरामलला की आरती को ऐतिहासिक क्षण बनाने के लिए अलग-अलग भारतीय वाद्ययंत्रों के वादन की तैयारियां भी हैं। वाद्ययंत्र बजाने वाले कलाकार मंदिर परिसर के भीतर ही मौजूद होंगे। इस दौरान 30 कलाकार अलग-अलग भारतीय वाद्यों का वादन करते रहेंगे। एक समय ऐसा भी होगा, जब सभी कलाकार अपने-अपने वाद्ययंत्रों का एक साथ वादन करेंगे।
पीएम ने प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान पूरा किया
संदीप मिश्र 
अयोध्या। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नवनिर्मित राम मंदिर की सीढ़ियों पर चढ़े और 84 सेकंड के अभिजीत मुहूर्त के भीतर संकल्प लेकर प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान पूरा किया। इसके बाद वह शेष अनुष्ठानों को पूरा करने के लिए मंत्रोच्चार के बीच ‘गर्भ गृह’ में चले गए। पांच साल पुरानी रामलला की भव्य पांच फीट ऊंची प्रतिमा का आखिरकार दुनिया के सामने अनावरण किया गया मंदिर के गर्भगृह में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे।
यह समारोह शंखनाद और हेलीकॉप्टर द्वारा मंदिर पर फूलों की वर्षा के बीच पूरा हुआ। राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा पूरी हो गई और 500 साल का सपना आखिरकार साकार हो गया। आरती के समय होगी पुष्पवर्षा आरती के समय पुष्पवर्षा भी होगी। इसके लिए सेना के जवानों को चुना गया है। ये चुनिंदा जवान हेलीकॉप्टर में बैठकर आसमान से अयोध्या में पुष्प वर्षा करेंगे।
भारतीय वाद्ययंत्रों की गूंजेगी ध्वनियां श्रीरामलला की आरती को ऐतिहासिक क्षण बनाने के लिए अलग-अलग भारतीय वाद्ययंत्रों के वादन की तैयारियां भी हैं। वाद्ययंत्र बजाने वाले कलाकार मंदिर परिसर के भीतर ही मौजूद होंगे। इस दौरान 30 कलाकार अलग-अलग भारतीय वाद्यों का वादन करते रहेंगे। एक समय ऐसा भी होगा, जब सभी कलाकार अपने-अपने वाद्ययंत्रों का एक साथ वादन करेंगे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-94, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. मंगलवार, जनवरी 23, 2024

3. शक-1945, पौष, शुक्ल-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 07:13, सूर्यास्त: 06:52।

5. न्‍यूनतम तापमान- 9 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...