सोमवार, 30 नवंबर 2020

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन की हड्डी टूटी

वॉशिंगटन डीसी। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडेन अपने कुत्‍ते के साथ खेलते समय दुर्घटना के शिकार हो गए। बताया जा रहा है कि उनके दाहिनी पैर की हड्डी में हल्‍का सा क्रैक आ गया है और आने वाले कई सप्‍ताह तक बिना सहारे के नहीं चल पाएंगे। घटना के समय बाइडेन अपने जर्मन शेफर्ड कुत्‍ते 'मेजर' के साथ खेल रहे थे। जो बाइडेन के पास ऐसे दो कुत्‍ते हैं। उधर, इस हादसे के बाद राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने बाइडेन के जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की है।             


भारतीय सीमा के नजदीक दिखा पाक का प्लेन

भारतीय सीमा के नजदीक देखा गया पाकिस्तान का फाइटर प्लेन हाई अलर्ट जारी


नई दिल्ली/इस्लामाबाद। पड़ोसी देश पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। सोमवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान का एक लड़ाकू विमान नजर आया है। विमान दिखते ही सुरक्षाबल पूरी तरह से सतर्क हो गए हैं। और किसी भी तरह के हालात का सामना करने को तैयार हैं। इससे पहले भी नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी ड्रोन देखा गया था। खबर आगरा से जहां पुलिस ने छापा मारकर देह व्यापार पकड़ा यहांं पर दो युवती और तीन ग्राहक मिले उन्हें पकड़ लिया गया। वहीं देह व्यापार का संचालक परिवार के साथ फरार हो गया। इस पर मकान पर सील लगा दी गई। ताजगंज के बसई खुर्द में एक मकान में देह व्यापार की सूचना मिली थी। इस पर थाना ताजगंज महिला थाना और मानव तस्करी निरोधक शाखा थाना की टीम के साथ छापा मारा गया था। पुलिस के पहुंचने पर मकान के पिछले गेट से 4-5 लोग निकलकर भाग गए। पुलिस पीछे गई लेकिन आरोपी पकड़े नहीं जा सके।               


चीन का उत्पादन 3 सालों में सबसे तेज हुआ

बीजिंग। चीन ने ऐसा लगता है कि कोरोना को पूरी तरह से मात दे दी है। चीन का कारखाना उत्पादन तीन साल में सबसे तेज गति से बढ़ा है। नवंबर महीने में चीन का मैन्युफैक्चरिंग परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स बढ़कर 52.1 तक पहुंच चुका है। यह सितंबर 2017 के बाद सबसे ज्यादा है। इन आंकड़ों से यह लगता है कि चीन दुनिया की ऐसी पहली बड़ी अर्थव्यवस्था है जो कोरोना संकट से बाहर हो गयी है। मैन्युफैक्चरिंग परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स 50 से ऊपर रहने का मतलब कारखाना उत्पादन में बढ़त होना है, 50 से कम रहने का मतलब कारखाना उत्पादन में कमी आना है। चीन सरकार के नेशनल ब्यूरो ऑफ स्टेटिस्टिक्स ने सोमवार को इसके आंकड़े जारी किये हैं।               


भारत से ऑस्ट्रेलिया को लगा बड़ा झटका

नई दिल्ली/ सिडनी। भारत के खिलाफ दो वनडे मैचों में जीत दर्ज करने वाली ऑस्ट्रेलिया को बड़ा झटका लगा है। चोटिल सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर सीमित ओवरों के मैचों से बाहर हो गए हैं। वॉर्नर अब तीसरे और आखिरी वनडे के अलावा तीन मैचों की टी20 सीरीज में भी नहीं खेलेंगे। पहले टेस्ट मैच से पहले वॉर्नर के पास फिट होने के लिए अब 18 दिनों का समय होगा। ऐसे में उनके टेस्ट सीरीज़ में भी खलने पर सस्पेंस बना हुआ है। वॉर्नर भारत के खिलाफ सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में फील्डिंग करते समय घायल हो गए थे।जिसके बाद उन्हें स्कैन के लिए हॉस्पिटल ले जाया गया थे।डेविड वॉर्नर के साथ ये हादसा दूसरे वनडे मैच में भारतीय पारी के चौथे ओवर में हुआ। शिखर धवन का एक शॉट रोकने के चक्कर में वॉर्नर ने मिड ऑफ में डाइव लगाई, लेकिन इसस दौरान उनके बाएं पैर में मोच आ गई। वॉर्नर इसके बाद काफी दर्द में नजर आएं। सीरीज़ के अगर बाकी बचे मैचों से वॉर्नर बाहर होते हैं तो फिर ऑस्ट्रेलिया के लिए ये बड़ा झटका होगा।डेविड वॉर्नर ने दूसरे वनडे मैच में 77 गेंदों में 83 रनों की शानदार पारी खेली। इससे पहले इसी मैदान पर खेले गए पहले वनडे में भी वॉर्नर ने 76 गेंदों में 69 रन की पारी खेली थी |                 


 

रूसः 24 घंटे में कुल 26,683 नए मामले

मॉस्को। रूस में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोनावायरस जांच रिपोर्ट में 26,683 नए मामले सामने आए। जिसके बाद कुल मामलों की संख्या 2,269,316 हो गई। यह जानकारी रूस के स्वास्थ्य अधिकारियों ने दी। देश में इस दौरान कोरोनावायरस से 459 लोगों की मौत हो गई, जिससे देश में वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 39,527 हो गई है। अभी तक यहां 1,761,457 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं। रूस की राजधानी मॉस्को में वायरस के 6,798 नए मामले सामने आए, जिसके बाद शहर में कुल मामलों की संख्या 599,213 हो गई। मॉस्को इस वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है।             


अवैध बालू खनन पर नहीं कसा गया शिकंजा

अवैध तरीके से हो रहे बालू खनन पर नहीं लगी रोक


कौशाम्बी। यमुना नदी से अवैध बालू खनन कर हरदर मऊ की बाग में भी बड़ी तादाद में डंप किया गया है। यमुना नदी से अवैध बालू निकासी कर गधा खच्चर ट्रैक्टर के सहारे बाहर परिवहन किया जा रहा है। बालू के अवैध खनन में खनन विभाग के साथ-साथ स्थानीय पुलिस की भूमिका सवालों के घेरे में है। लेकिन बार-बार अवैध खनन पर जानकारी उपलब्ध कराए जाने के बाद भी खनन पर रोक नहीं लग रही है, जबकि यमुना नदी के बीच जलधारा से बालू खनन का किसी प्रकार का शासनादेश नहीं है। लेकिन खनन में लगे लोगों पर खनन विभाग द्वारा कार्यवाही ना किया जाना तमाम सवाल उत्पन्न कर रही है।


अजीत कुशवाहा


सड़़क हादसे में पत्नी की मौत, पति गंभीर

सड़क हादसे में पत्नी की मौत, पति गंभीर 


कौशांबी। इलाहाबाद शहर के कालिंदीपुरम ओपीएस कॉलोनी के रहने वाले अमरनाथ अपनी पत्नी सुशीला देवी के साथ बाइक से अपनी ससुराल फतेहपुर जनपद के खागा क्षेत्र के अफोही जा रहे थे। जैसे ही बाइक सवार दंपत्ति कोखराज थाना क्षेत्र के कल्यानपुर हाईवे के पास पहुंचे थे, कि तेज गति वाहन ने उनकी बाइक में टक्कर मार दिया। जिससे पति-पत्नी सड़क पर गिर पड़े और गंभीर घायल होकर तड़पने लगे इस हादसे में महिला की मौके पर मौत हो गई है और पति गंभीर रूप से घायल है। घायल को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है और मृतक महिला के लाश को कब्जे में लेकर थाना पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हादसे की जानकारी मिलते ही मृतक के परिजन और ससुराली जन घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। घटनाक्रम के मुताबिक प्रयागराज के कालिंदीपुरम ओपीयस कॉलोनी के रहने वाले अमरनाथ की ससुराल फतेहपुर जनपद के खागा थाना क्षेत्र के अफोही कस्बे में है अमरनाथ के ससुराल में सगाई कार्यक्रम है। जिससे अमरनाथ अपनी पत्नी सुशीला देवी को लेकर बाइक से अपनी ससुराल जा रहे थे बाइक सवार दंपत्ति जैसे ही कोखराज थाना क्षेत्र के कल्यानपुर हाईवे पर पहुंचे सड़क चौड़ीकरण के चलते वन वे सड़क कर दी गई है। जिससे सड़कों पर एक हिस्से से ही सभी वाहन गुजरते हैं।ष बाइक सवार जा रहे थे। इसी बीच तेज गति वाहन ने उन्हें पीछे से टक्कर मार दिया है। जिससे बाइक सवार पति पत्नी सड़क पर गिर पड़े हैं। गंभीर हालत में घायल पति-पत्नी तड़प रहे थे और देखते-देखते कुछ देर में मौके पर उनकी पत्नी सुशीला देवी उम्र 45 वर्ष की मौत हो गई है। हादसे में बाइक चालक अमरनाथ गंभीर रूप से घायल हैं। घायल अमरनाथ को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनकी हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने उन्हें रेफर कर दिया है। हादसे की जानकारी मिलते ही मौके पर आसपास के लोग पहुंचे और हादसे की सूचना पुलिस को दी गई है। पुलिस भी मौके पर पहुंची है और मृतक महिला की लाश को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हादसे की जानकारी परिजनों और ससुरालीजनों को दे दी गई है। दोनो परिवार के लोग भी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं।


नथन पटेल 


आंदोलन की सफलता सरकार की असफलता

राणा ओबराय


किसानों का दिल्ली कूच सफल होना, क्या केन्द्र व हरियाणा सरकार की नाकामयाबी का है परिणाम


चंडीगढ। जिस दिन से केंद्र सरकार ने कृषि कानून को लेकर तीन अध्यादेश जारी किए हैं। उसी दिन से किसानों और सरकार के बीच में संघर्ष शुरू हो गया है। इसी कानूनों का विरोध करते हुए केंद्र सरकार में मंत्री पद पर आसीन हरसिमरत कौर ने इस्तीफा भी दे दिया था। इसी तरह पंजाब, हरियाणा, यूपी के किसानों ने कृषि बिलों का विरोध करना जारी रखा। हम यह मान सकते हैं, कि हरियाणा के बड़ौदा में हुए विधानसभा उपचुनाव में किसानों के विरोध के कारण ही सत्तारूढ़ भाजपा पार्टी के उम्मीदवार को हार का मुंह देखना पड़ा था। परंतु फिर भी हरियाणा सरकार नहीं जागी! पहले से ही जब किसानों ने घोषणा कर रखी थी कि वह 26 नवंबर को दिल्ली कूच करेंगे। उन्होंने दिल्ली पहुंचने के लिए हर तरह का साधन व राशन तथा पानी अपने साथ मोहिया करा लिया है। परंतु किसानों को सरकार का विरोध करना देखना पड़ेगा ऐसा किसानों ने सोचा भी नहीं था। हरियाणा सरकार ने दिल्ली जा रहे किसानों को रोकने के लिए भरपूर प्रयास किए परंतु आखिरकार किसान दिल्ली पहुंच ही गया। प्रदेश के बुद्धिजीवी लोग यह कर रहे हैं की हरियाणा की खट्टर सरकार ने किसानों को रोकने के लिए सड़कों में गड्ढे बड़े-बड़े पत्थर आदि क्यों लगवाए। क्या किसान शांति पूर्वक मार्च नहीं कर रहे थे। यदि सरकार ने सोच ही लिया था कि किसानों को दिल्ली नहीं जाने देना तो उसके लिए और भी कई तरीके सरकार के पास थे। पहले तो सरकार को किसानों से धैर्य पूर्वक बात करनी चाहिए थी। जो कि सरकार की कार्यप्रणाली का एक हिस्सा है। परंतु सरकार ने कूटनीति का प्रयोग ना करके बल नीति का प्रयोग किया जिसका पूरे उत्तर भारत में विरोध देखने को मिल रहा है। बुद्धिजीवियों का कहना है कि केंद्र औऱ हरियाणा सरकार किसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए हर मोर्चे पर फेल हुई है। क्योंकि सरकार की सीआइडी मतलब खुफिया तंत्र ने सरकार को किसानों के मंसूबे की पहले से सही जानकारी क्यों नही दी तांकि सरकार जानकारी के हिसाब से तैयारी करती! इसका सीधा अर्थ है की सरकार औऱ उसका तंत्र पूरी तरह से नाकामयाब रहा है? लोग तो यह भी कह रहे हैं की केंद्र सरकार के आदेश पर हरियाणा सीएम खट्टर तो कोरोना बीमारी का बहाना बना कर किसानों को रोकना चाहते थे?बहरहाल किसी न किसी तरीके से यूपी, पंजाब व हरियाणा का किसान दिल्ली पहुच चुका है। अब केन्द्र सरकार को चाहिए कि वह तुरंत प्रभाव से किसानों से बातचीत करें किसानों को उनके नही छीने जायेगे ऐसा आश्वासन दे। क्योकि सर्दी में यदि हजारों लोग सड़कों पर समूह के रूप में रहेंगे तो कोरोना जैसी वैश्विक महामारी व अन्य किसी बीमारी का शिकार हो सकते हैं।                         


आने वाले दिनों में बारिश के साथ भीषण सर्दी

राणा ओबराय


मौसम वैज्ञानिकों का दावा,आने वाले हफ्तों में बारिश होने से मैदानी इलाकों में पड़ेगी भीषण सर्दी


नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले दस वर्षों में इस वर्ष नवंबर में सबसे ज्यादा ठंड पड़ी है और इस वर्ष नवंबर के महीने में औसत न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा है। दिल्ली में वैसे नवंबर महीने का औसत न्यूनतम तापमान 12.9 डिग्री सेल्सियस होता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के अनुसार एक नवंबर से 29 नवंबर तक शहर में औसत न्यूनतम तापमान 10.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जो करीब एक दशक में सबसे कम तापमान है। मौसम विभाग का अनुमान है कि आने वाले हफ्ते में बारिश के साथ पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी भी देखने को मिलेगी। दक्षिणी राज्यों में एक दिसंबर से भारी बारिश शुरू होने का अनुमान है। मैदानी इलाकों में लोगों को भीषण सर्दी का सामना करना पड़ सकता है। रविवार सुबह उत्तर भारत में तेज शीत लहर चल रही थीं। दरअसल जिस तरह अक्तूबर और नवंबर की शुरुआत ठंड के साथ हुई। उसी तरह दिसंबर की शुरुआत भी कड़ाके की सर्दी के साथ होने वाली है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि आने वाले हफ्तों में होने वाली बारिश से मैदानी इलाकों में भीषण सर्दी पड़ने वाली है।                                       


गन्ने से भरे ओवरलोड ट्रकों का रोड पर तांडव

हापुड़ में ओवरलोड गन्ने से भरे ट्रकों का जबरदस्त तांडव सड़क पर चलने वाले वाहनों को भी रहता है खतरा


अतुल त्यागी


हापुड़। मामला जनपद की पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र के नेशनल हाईवे 9 का है। जहां ओवरलोड गन्ने से भरा ट्रक अनियंत्रित होकर साइड में पलट गया। गनीमत रही रोड पूरी तरह बिजी चल रहे हैं। कोई हादसा नहीं हुआ वरना हो सकता था और वाहन स्वामियों को भी बड़ा हादसा। बार-बार समाचार प्रकाशित करने पर भी ऐसे ओवरलोड गन्ने से भरे ट्रक और ट्रॉली पर क्यों कार्रवाई नहीं हो रही जो जरा सी लापरवाही से दूसरे वाहन स्वामियों को पहुंचा सकते हैं। बड़ा नुकसान फिलहाल गन्ने का ट्रक साइड में पलटा हुआ है। दूसरे ट्रक में गन्ने भरने का कार्य शुरू कोई हताहत नहीं।                                                                              


अवैध कब्ज की एसडीएम से शिकायत की

हंसराज शर्मा

बलरामपुर। उतरौला थाना कोतवाली उतरौला अंतर्गत विद्युत उप केंद्र उतरौला में तैनात संविदा कर्मी लाइनमैन की पत्नी अनीता मोनू मिश्रा ने कोतवाली, उप जिलाधिकारी उतरौला को लिखित शिकायती पत्र देकर एवं राज्य महिला आयोग अध्यक्ष को पत्र भेजकर पीड़ित के मकान पर किए गए अवैध कब्जा को खाली करा कर विधिक कार्यवाही किए जाने की मांग की है।

आरोप है कि पीड़िता ने नगर के मोहल्ला पटेल नगर स्थित अपने मकान को उतरौला निवासी अशोक कुमार को किराए पर दिया था। पिछले तेइस अक्टूबर को किराएदार से मकान खाली करा लिया गया और चौबीस अक्टूबर को पीड़िता ने दैनिक घरेलू उपयोगी वस्तुओं को मकान में रखकर ताला लगा दिया। 
चौबीस अक्टूबर को ही रात लगभग 11:30 बजे उतरौला निवासी संतोष कुमार, धर्मवीर, कुनक्के, प्रेम शंकर चौरसिया, राजेंद्र ने दबंगई व गुंडई के बल पर जबरन पीड़िता के मकान का ताला तोड़ घर का सामान निकाल ले गए तथा संतोष कुमार पुत्र लक्ष्मी प्रसाद ने अवैध रूप से मकान पर अपना कब्जा जमा लिया।शिकायत का संज्ञान लेते हुए उप जिलाधिकारी उतरौला अरुण कुमार गौड़ ने एसएचओ उतरौला को जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।                            

भाजपा प्रत्याशियों के लिए मांगा समर्थन

 अतुल त्यागी


हापुड़। विधानसभा क्षेत्र हापुड देहात मंडल के गाव असौडा व वझीलपुर खड़खड़ी में विधान परिषद शिक्षक व स्नातक चुनाव के संबंध में जनसंपर्क अभियान किया। जिसमें हापुड़ सदर विधायक विजय पाल आढती व भाजपा जिलाध्यक्ष उमेश राणा व देहात मंडलअध्यक्ष दिनेश त्यागी ने(MLC) शिक्षित चुनाव हेतु भाजपा प्रत्याशी श्रीचंद शर्मा व श्री दिनेश गोयल  के लिए समर्थन मांगा व भाजपा प्रत्याशियों के नाम के आगे एक लिखकर 1 दिसंबर को वोट डालने के लिए कहा । इस अवसर पर सुधीर अग्रवाल (असोडा), जिला उपाध्यक्ष राकेश त्यागी,  दुष्यंत त्यागी (असोडा), पूर्व जिला अध्यक्ष मुनेश त्यागी, पूर्व महामंत्री प्रमोद जिंदल , महेश शर्मा, अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला अध्यक्ष ताहिर त्यागी,  पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिला अध्यक्ष हेमंत सैनी ,नामित सभासद अजय भास्कर, वैभव त्यागी भाजपा नेता आदि भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता उपस्थित रहे।
                         


गाजियाबाद में किसानों का प्रदर्शन जारी रहा

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। दिल्ली बार्डर पर प्रदर्शन कर रहे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों का कहना है कि अगर केंद्र सरकार उनकी मांगे नहीं मानती है तो वे दिल्ली जाने वाले सभी हाइवे बंद कर दिल्ली में खाद्य पदार्थों की आपूर्ति बंद कर देंगे। यूपी गेट पर इस समय पश्चिमी उत्तर प्रदेश के साथ-साथ उत्तराखंड के किसानों का भी जत्था पहुँच चुका है।


किसानों की प्रमुख माँगो में फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) निर्धारित शामिल है। साथ ही किसान चाहते हैं कि कानून में न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम दाम पर ख़रीदारी करने वालों के खिलाफ सजा का प्रावधान हो। यूपी गेट पर आज सुबह से अब तक दो बार किसानों और पुलिस के जवानों के बीच टकराव की स्थिति बन चुकी है। किसानों ने बैरिकेड को हटाकर दिल्ली में प्रवेश करने का प्रयास किया। हालांकि किसान बाद में वापस धरना स्थल पर बैठ गए। किसानों का ऐसा करने का मकसद सिर्फ सरकार को यह बताना था कि वह शांत नहीं बैठेंगे। प्रदर्शन स्थल पर “जय जवान-जय किसान” के नारे लग रहे हैं।


वाहनों को किया गया है डायवर्ट किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए गाज़ियाबाद पुलिस ने बार्डर पर ट्रैफिक डायवर्जन लागू कर दिया है। लिंक रोड से दिल्ली की ओर जाने वाले वाहनों को डाबर तिराहे से डायवर्ट कर आनंद विहार की ओर निकाला जा रहा है। दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे के वाहनों यूपी गेट फ्लाईओवर के ऊपर से निकाला जा रहा है। फ्लाईओवर के नीचे के सभी रास्ते बंद हैं।                                  


नवविवाहिता की संदिग्ध परिस्थिति में मौत

नवविवाहिता की मौत ससुराल पक्ष लगा रहा है हत्या का आरोप


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। मऊआइमा थाना क्षेत्र के मऊआइमा कस्बा निवासी खलील अहमद अपने लड़के नफीस उद्दीन की शादी कल 29 नवंबर को सोरांव थाना अंतर्गत सेवाईथा गांव में नुजहत के साथ की थी। बारात कल गई थी और लड़की पक्ष अपनी हैसियत के हिसाब से दान दहेज दिया था और लड़की शाम को विदा होकर अपनी ससुराल मऊआइमा पहुंची। सुबह ससुराल पक्ष के लोगों ने मायके पक्ष के लोगों को फोन करके लड़की के बीमार होने की बात बताई। लड़की पक्ष जब घर पहुंचा तो लड़की की मृत्यु हो चुकी थी। मायका पक्ष मऊआइमा थाने जाकर के लड़के पक्ष के खिलाफ हत्या की आशंका की रिपोर्ट दर्ज कराई मऊैमा पुलिस मौके पर पहुंचकर लाश का पंचनामा भरकर लास पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। फिलहाल मौत का कारण कुछ पता नहीं चल पाया है। मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा कि लड़की की मृत्यु क्यों हुई अगल-बगल पड़ोसियों से पूछताछ में यह बात सामने आई कि लड़की की मौत 2:00 बजे रात में ही हो गई थी जो लड़का पक्ष ने छुपाए रखा। सच्चाई का पता नहीं चल सका अभी तक हत्या है या नहीं।                             


सैकड़ों लोगों ने सपा की सदस्यता ग्रहण की

सुल्तानपुर-सैकडों लोगों ने ली समाजवादी पार्टी की सदस्यता


सैकडों लोगों ने ली समाजवादी पार्टी की सदस्यता
सुल्तानपुर। इसौली विधायक अबरार अहमद के नेतृत्व में बसपा नेता संतोष शुक्ल उर्फ पिंटू निवासी बरसावा,बल्दीराय ने अपने सैकड़ों साथियों के साथ समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली।विधायक ने संतोष शुक्ला व उनके साथियों को विश्वास दिलाया कि समाजवादी पार्टी उनके समाज सहित सभी समाज के लिए हर स्तर पर उनके मान सम्मान की रक्षा करती रहेगी। जरूरत पड़ने पर उनके समाज सहित सभी समाज के लोगों की रक्षा करने के लिए समाजवादी पार्टी सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष करेगी।इस मौके पर जिला महासचिव मोहम्मद सलाउद्दीन, बल्दीराय ब्लाक अध्यक्ष शिवम श्रीवास्तव, विनोद कुमार जायसवाल,हाजी वसीम अहमद, मोहम्मद हकीम,श्यामलाल मौर्य,लाल मोहम्मद,रमजान मिर्जा,इम्तियाज, कुलदीप शुक्ला,विपुल शुक्ला, विकास यादव,रोशन पाठक,दीपक पाठक,मुकेश शुक्ला,देवी मौर्य आदि लोग मौजूद रहे।                                               


1 और किसान की दिल का दौरा पडने से मौत

किसान आंदोलन में शामिल एक और किसान की हुई मौत, पड़ा दिल का दौरा


मोमिन मलिक


नई दिल्ली। कृषि कानून के विरोध प्रदर्शन में शामिल एक किसान की और मौत हो गई। बतया दा रहा है। कि गज्जन सिंह नामक किसान की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। किसान बहादुरगढ बाईपास पर न्यू बस स्टैंड था। जिस वक्त उसे दौरा पड़ा।
जानकारी के अनुसार मृतक गज्जन सिंह लुधियाना समराला के खटरा भगवानपुरा गांव का रहने वाला था। मृतक किसान की उम्र करीबन 50 साल है। किसान के पार्थिव शरीर को नागरिक अस्पताल में रखवाया गया है। आपको बता दें कि कल एक किसान की गाड़ी के अंदर आग लगने से मौत हो गई थी।                               


प्रेमिका को चाकू से गोदा, 1 को नदी में फेंका

एकतरफा प्यार में डबल मर्डर, विवाहित प्रेमिका को चाकू से गोदा, प्रेमी को पीटकर नदी में फेंका


अविनाश श्रीवास्तव


मधुबनी। बिहार के मधुबनी में कथित प्रेम प्रसंग के चलते डबल मर्डर का मामला सामने आया है। यहां पर एक युवक ने घर में घुसकर विवाहिता की चाकू गोदकर हत्या कर दी। इसके बाद ग्रामीणों ने आरोपी युवक को पकड़ लिया और उसको पीटकर नदी में फेंक दिया।
जानकारी के मुताबिक मधुबनी जिले के मधेपुर थाना इलाके में भीठ भगवानपुर गांव में 28 वर्षीय महिला अपने घर में बच्चों को खाना खिला रही थी। तभी अरुण कुमार नामक शख्स घर में घुस गया और उसने विवाहिता पर चाकू से वार कर दिया जिससे विवाहिता की मौत हो गई।
इस सनसनीखेज घटना के बाद गुस्साए परिजनों और ग्रामीणों ने युवक की जमकर पिटाई करने के बाद उसे बेहोशी की हालत में कमला बलान नदी में फेंक दिया। पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद नदी से युवक की लाश बरामद हुई।
मृतका भारती देवी की शादी दरभंगा जिले के घनश्यामपुर थाना क्षेत्र स्थित पाली गांव निवासी कृष्ण कुमार कामत से हुई थी। मृतका का पति दिल्ली में नौकरी करता है। और उसके 2 बच्चे भी हैं। इन दिनों वो अपने दोनों बच्चों के साथ मधेपुर थाना क्षेत्र स्थित भीठ भगवानपुर गांव में अपने मायके आई हुई थी, जहां उसकी हत्या कर दी गई।
बताया जा रहा है कि आरोपी युवक भारती देवी से एकतरफा प्रेम करता था। ये भी बताया जा रहा है। कि कई बार वो भारती देवी से मिलने उसके ससुराल भी पहुंचा था।
ग्रामीणों का कहना है। कि किसी न किसी बहाने ये युवक शादीशुदा भारती देवी से बातचीत की कोशिश करता रहता था। रविवार को भी वो भारती देवी से मिलने उसके मायके पहुंच गया था। बताया जा रहा है। कि महिला ने जब बातचीत से मना कर दिया तो सनकी प्रेमी ने चाकू से हमला कर उसकी जान ले ली।                             


पेड़ पर लटकी मिली युवक की लाश, जांच

अमेठी- गांव में पेड़ से लटकी मिली युवक की लाश,छानबीन में जुटी पुलिस


अमेठी। पीपरपुर थाना क्षेत्र के रामचंद्रपुर पटखौली गांव में पेड़ से लटकी हुई मिली युवक की लाश,महेंद्र यादव उम्र करीब 21 वर्ष पुत्र रामपाल यादव निवासी पटखौली की बताई जा रही है। लाश,मिली जानकारी के मुताबिक मृतक युवक ट्रक ड्राइवरी का करता था। काम हाल में ही परदेस से आया था। युवक, सुबह ग्रामीणों ने पेड़ से लटकी लाश देखी तो दी घटना की सूचना, मौके पर पहुंची पुलिस थानाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह ने बताया प्रथमदृष्ट्या आत्महत्या का दिख रहा मामला,फिलहाल घटना से जुड़े सभी पहलुओं पर की जा रही जांच।                                          


डीएम ने महिला अस्पताल की व्यवस्था परखी

सुलतानपुर-डीएम ने जिला महिला अस्पताल की चिकित्सा व्यवस्था की देखी हकीकत,सीएमएस को दी हिदायत।


सुलतानपुर। जिला महिला अस्पताल की चिकित्सा व्यवस्था की निगरानी करने पहुंचे जिलाधिकारी रवीश गुप्ता। भर्ती वार्ड, चिकित्सा उपकरण एवं डॉक्टरों की मौजूदगी की पड़ताल के बाद इलाज में सजगता बरतने के दिए निर्देश। कुछ मरीजों से की वार्ता समस्याओं के समाधान की सीएमएस को हिदायत।                                    


समर्थनः 5 मिनट में जुटाया 5 लाख का चंदा

दिल्ली कूच पर निकले किसानों के लिए पांच मिनट में जुटाया पांच लाख का चंदा, इन तरीकों से लोग कर रहे मदद


जींद। कृषि कानून के विरोध में दिल्ली कूच पर निकले किसानों को लगातार लोगों का समर्थन और सहयोग मिल रहा है। जहां से भी ये किसान निकल रहे हैं। लोग मदद को आगे आ रहे हैं। इन किसानों का  हरियाणा के ग्रामीण भी पूरा सहयोग दे रहे हैं। दिल्ली जा रहे किसानों ने शुक्रवार को जींद के गांव पोली के पास डेरा डाला। इस दौरान गांव के लोग भी किसानों को सहयोग देने आगे आए। गांववासियों ने मुनादी करवाकर क्षेत्र में रुके किसानों के लिए भोजन की व्यवस्था की।
देखते ही देखते ग्रामीणों ने क्षेत्र में रुके करीब 30 हजार किसानों के लिए भोजन की व्यवस्था कर दी। वहीं किसानों ने पांच मिनट में गांव से पांच लाख रुपये चंदा भी एकत्रित किया। इधर, गांव के बस स्टैंड पर युवाओं ने भंडारा लगा दिया। युवाओं ने कहा कि जब तक किसान यहां से गुजरते रहेंगे, भंडारा चलता रहेगा।
इस दौरान पटियाला निवासी बुजुर्ग महिला सन्नो देवी ने कहा कि गांव में मिले मान-सम्मान को वह कभी भूल नहीं पाएंगे। युवा नेता रोहित दलाल के नेतृत्व में युवाओं ने किसानों को हजार लीटर दूध और केले वितरित किए। वहीं एक अध्यापक ने अपने साथियों के साथ मिलकर पांच क्विंटल मूंगफली किसानों को वितरित की।
दिल्ली कूच पर निकले किसानों के लिए पांच मिनट में जुटाया पांच लाख का चंदा, इन तरीकों से लोग कर रहे मदद
कृषि कानून के विरोध में दिल्ली कूच पर निकले किसानों को लगातार लोगों का समर्थन और सहयोग मिल रहा है। जहां से भी ये किसान निकल रहे हैं। लोग मदद को आगे आ रहे हैं। इन किसानों का  हरियाणा के ग्रामीण भी पूरा सहयोग दे रहे हैं। दिल्ली जा रहे किसानों ने शुक्रवार को जींद के गांव पोली के पास डेरा डाला। इस दौरान गांव के लोग भी किसानों को सहयोग देने आगे आए। गांववासियों ने मुनादी करवाकर क्षेत्र में रुके किसानों के लिए भोजन की व्यवस्था की
देखते ही देखते ग्रामीणों ने क्षेत्र में रुके करीब 30 हजार किसानों के लिए भोजन की व्यवस्था कर दी। वहीं किसानों ने पांच मिनट में गांव से पांच लाख रुपये चंदा भी एकत्रित किया। इधर, गांव के बस स्टैंड पर युवाओं ने भंडारा लगा दिया। युवाओं ने कहा कि जब तक किसान यहां से गुजरते रहेंगे, भंडारा चलता रहेगा।
इस दौरान पटियाला निवासी बुजुर्ग महिला सन्नो देवी ने कहा कि गांव में मिले मान-सम्मान को वह कभी भूल नहीं पाएंगे। युवा नेता रोहित दलाल के नेतृत्व में युवाओं ने किसानों को हजार लीटर दूध और केले वितरित किए। वहीं एक अध्यापक ने अपने साथियों के साथ मिलकर पांच क्विंटल मूंगफली किसानों को वितरित की।                              


मनमानी के चलते एसडीएम निलंबित किया

कुरुक्षेत्र में एसडीएम को किया सस्पेंड, जानिए क्या है मामला 


कुरुक्षेत्र। हरियाणा के कुरूक्षेत्र जिले में एसडीएम को सस्पेंड किया गया है। दरअसल एसडीएम पर आरोप है। कि वह ओवरलोडिग गाड़ियां के बचाव में संलिप्त है। ओवरलोडिग गाड़ियां चलाने वाले वाहन मालिकों को लालच देकर सड़क पर चेकिग की जानकारी देने के मामले में फंसे लाडवा के तत्कालीन एसडीएम अनिल यादव के रीडर व चपड़ासी के साथ अब एसडीएम भी घेरे में हैं। इसी मामले में पहले एसडीएम का तबादला लाडवा से किया गया था। मगर अब उन्हें इसी मामले में निलंबित कर दिया गया है।
इस मामले में पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार किया हुआ है। जबकि एक आरोपित ने उच्च न्यायालय में जमानत याचिका लगाई हुई है। मामले की जांच डीएसपी रविद्र तोमर कर रहे हैं। सीएम फ्लाइंग के स्क्वायड के एसआई दिनेश कुमार ने दो नवंबर को सदर थाना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। इस शिकायत में ओवरलोडिग गाड़ियों को चलाने वाले वाहन मालिक व दलालों को कुछ युवा सड़क पर चेकिग कर रहे आरटीए एसडीएम व सेल्स टैक्स के वाहनों की सही लोकेशन के बारे में जानकारी देते थे। जिससे ओवर लोड वाहन आसानी से निकल जाते थे।
यह काम वाट्सएप के जरिए प्रत्येक जिले में एडमिन की ओर से किया जा रहा है। गाड़ी मालिकों से अधिकारियों की रैकी व अधिकारियों से सैटिंग करने की ऐवज में सुविधा शुल्क ले रहे थे। यह ग्रुप एडमिन सुविधा लेने वालों से एक हजार से दो हजार रुपये प्रति माह अपने बैंक खाते में डलवाते थे। सूचना देने वाले ने बताया कि अमरजीत नाम का युवक जिले में इस तरह का नेटवर्क चला रहा था। वह वेतन पर रखे लड़कों के माध्यम से चेकिग अधिकारियों की रैकी कराता था। यह भी कहता था। कि कई अधिकारियों या उनके स्टाफ से उसकी सैटिंग है। अगर किसी की गाड़ी पकड़ी जाए तो वह उस गाड़ी को बिना जुर्माने के छुड़वाने में सक्षम है। जसप्रीत नाम का लड़का आरोपित अमरजीत के लिए अपनी मोटरसाइकिल पर रैकी करता है।
सीएम फ्लाइंज के स्क्वायड के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर एसआई सुरेंद्र के नेतृत्व में एसआई दयानंद, एसआई अनिश मलिक, एएसआई राजबीर, एएसआइ गुरचरण व मुख्य सिपाही प्रवेश कुमार की टीम गठित की। रेडिग पार्टी को सचिवालय में खड़ा कर दिया और जैसे ही आरटीए कुरुक्षेत्र की गाड़ी कार्यालय से निकली तो एक व्यक्ति मोटरसाइकिल पर पीछे-पीछे चल दिया। एसआई भी अपनी टीम के साथ पीछे-पीछे चल पड़े। मोटरसाइकिल चालक आरटीए की गाड़ी का पीछा करते-करते फोन पर बात करता चल रहा था। वह उमरी चौक के पास खड़ी एक आई-20 कार के पास रुक कर गाड़ी के चालक से बात करने लगा।
डीएसपी रविद्र तोमर ने बताया कि मामले में चार आरोपितों को गिरफ्तार कर पूछताछ कर ली गई है। पांचवें आरोपित ने उच्च न्यायालय में जमानत याचिका लगाई हुई है। एसडीएस के साथ संबंध के बारे में लगाए आरोपों के बारे में आरोपित मंजीत से खुलासा होगा।                                


नक्सली हमले में 1 अफसर शहीद, 9 घायल

कोबरा अफसर नक्सली हमले में शहीद 9 कमांडो भी घायल


सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों द्वारा किए गए आईईडी बम विस्फोट में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल ( सीआरपीएफ) के एक कोबरा असिस्टेंट कमांडेंट नितिन भालेराव शहीद हो गए। नक्सलियों के आईईडी धमाके में 9 जवान घायल हो गए हैं। जिसमें से कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है।
बताया जा रहा है। कि चिंतागुफा और चिंतलनार थाना क्षेत्र से कोबरा एसटीएफ और डीआरजी की टुकड़ियां बीती रात एंटी नक्सल ऑपरेशन में निकली थीं। इसी बीच नक्सलियों ने आईईडी धमाका करके कोबरा 206 बटालियन के जवानों को निशाना बनाया। ऑपरेशन के दौरान रात करीब 8.30 बजे चिंतागुफा थाना क्षेत्र के अरबराज मेट्टा पहाड़ी के पास आईईडी विस्फोट की घटना हुई।
एसपी ने बताया कि घटनास्थल थाना चिंतागुफा के उत्तर-पश्चिम में 09 किलोमीटर और बुर्कापाल बेस कैंप से 06 किलोमीटर पश्चिम में है। आईईडी ब्लास्ट में कोबरा 206 के सेकेंड इन कमांड दिनेश सिंह और असिस्टेंट कमांडेंट नितिन भालेराव समेत 206 कोबरा के दस जवान घायल हो गए।                                 


आंदोलनः 5 हाईवे रोकने की तैयारी में किसान

किसान आंदोलन- पांच नेशनल हाईवे रोकने की तैयारी में किसान


अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली कूच कर रहे पंजाब के किसानों को रोकने के बाद से वह नेशनल हाईवे 44 के सिंघु बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं। किसानों ने अब दिल्ली से जुड़े पांच नेशनल हाईवे से मोर्चाबंदी की तैयारी शुरू कर दी है। अगर सरकार से जल्द बात नहीं होती है। तो सिंघु व टिकरी बॉर्डर के बाद जयपुर, मथुरा बरेली हाईवे को रोकने का फैसला लिया गया है। किसानों का नेशनल हाईवे रोकने का फैसला केवल यहां तक ही सीमित नहीं रहेगा, बल्कि इनके बाद भी किसानों की मांगों को लेकर कोई सकारात्मक बात नहीं होती है। तो अन्य हाईवे को बाधित कर दिया जाएगा।
जहां पहले सरकार ने उनको रोकने के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी। वहीं अब किसानों को दिल्ली में जाने के लिए कहा जा रहा है। तो वह नेशनल हाईवे 44 से हटने के लिए तैयार नहीं है। पंजाब के किसानों के जत्थे लगातार आ रहे हैं। तो हरियाणा, यूपी, उत्तराखंड तक के किसानों का साथ उनको मिलना शुरू हो गया है। अभी तक कुछ संगठन निजी तौर पर आंदोलन की रणनीति बना रहे थे। वहीं अब ऐसा नहीं होगा।
किसी एक संगठन का फैसला निजी होगा और उसे किसानों का फैसला नहीं माना जाएगा। इसलिए पंजाब के 30 संगठनों ने बनाई कमेटी का फैसला माना जाएगा तो हरियाणा के 18 संगठन भी उनके साथ खड़े हुए हैं। किसान संगठनों की कमेटी रोजाना रणनीति बनाएगी और उसके आधार पर आंदोलन को चलाया जाएगा।
किसानों ने सिंघु व टिकरी बॉर्डर के बाद दिल्ली-जयपुर नेशनल हाईवे संख्या 8, दिल्ली-मथुरा-आगरा नेशनल हाईवे संख्या 2 व दिल्ली-मुरादाबाद-बरेली नेशनल हाईवे नंबर 24 पर डेरा डालने की तैयारी कर ली है। इनमें बरेली हाईवे पर हापुड़ तो अन्य दोनों हाईवे पर दिल्ली बॉर्डर पर डेरा डालने की चेतावनी किसान संगठनों ने दी है।
भाकियू हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि सरकार अब देर कर चुकी है। और किसान किसी मैदान में नहीं जाएगा, बल्कि नेशनल हाईवे पर ही रहेंगे। सरकार ने मांग जल्द ही नहीं मानी तो अन्य नेशनल हाईवे भी बंद कर देंगे। हरियाणा का किसान व किसान संगठन एक साथ है। और पंजाब के किसान संगठन भी एक साथ हो गए हैं। संयुक्त मोर्चा के बैनर तले कमेटी बनाकर आंदोलन चल रहा है। किसान आंदोलन से जुड़ा कोई भी फैसला मिलकर लिया जाएगा।
भाकियू अंबावत के राष्ट्रीय महासचिव शमशेर दहिया ने कहा कि सरकार पहले पंजाब के किसानों को अकेले समझ रही थी। लेकिन पंजाब के साथ हरियाणा, यूपी समेत अन्य राज्यों के किसान हैं। पंजाब के किसान अभी लगातार आ रहे हैं। और हरियाणा के 18 किसान संगठन साथ खड़े हैं। जिस तरह का फैसला पंजाब के किसान लेंगे वह हरियाणा के किसानों को मान्य होगा। यह आंदोलन बढ़ता जा रहा है। और सरकार सभी मांगों को पूरा करेगी तो उसके बाद ही आंदोलन खत्म होगा।                                  


1 साल में 23 बच्चों का बाप बना युवक

एक साल में 23 बच्चों का बाप बन गया यह युवक जानकर हो जाएंगे हैरान


ऑस्ट्रेलिया। एक साल में 23 बच्चों का बाप बनना सुनकर आपको भी अजीब लग रहा होगा। लेकिन यह सच है। एक युवक एक ही साल में 23 बच्चों का जैविक पिता बन गया। असल में शुरू-शुरू में उसने शौकिया स्पर्म डोनेट किया लेकिन बाद में उसने इसे फुल टाइम जॉब बना लिया।
मामला ऑस्ट्रेलिया का है। एलन फान नाम का शख्स देश में स्पर्म डोनेट करने के लिए काफी चर्चित हो चुका है। युवक का कहना है। कि महिलाएं उसकी नस्ल और स्पर्म के हेल्दी होने की वजह से उसे पसंद करती हैं। उसने प्राइवेट तौर से स्पर्म डोनेट करके करीब 23 बच्चे पैदा किए हैं। वह रजिस्टर्ड फर्टिलिटी सेंटर में भी स्पर्म डोनेट करता है।
ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन में रहने वाले 40 साल के एलन की अब जांच की जा रही है। कुछ फर्टिलिटी क्लिनिक ने ही एलन के बारे में शिकायत की थी। एलन पर आरोप है। कि उसने वैध क्लिनिक से हटकर स्पर्म डोनेट किए और तय सीमा से अधिक बच्चे पैदा किए।
दरअसल ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया के कानून के तहत एक पुरुष सिर्फ 10 परिवार बना सकता है। वहीं, एलन का कहना है। कि महिलाओं को मना करना उसके लिए काफी मुश्किल भरा काम है। इसी वजह से उन्होंने एक दिन में तीन महिलाओं को स्पर्म डोनेट किया। फिलहाल एलन की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। उसके खिलाफ जांच के आदेश हैं।                                   


राजस्थानः पूर्व मंत्री किरण का निधन हुआ

जयपुर। राजस्थान की पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री एवं राजसमंद की विधायक किरण माहेश्वरी का निधन हो गया है। विधायक माहेश्वरी का रात साढ़े 12 बजे गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया। वह राजसमंद से तीन बार विधायक, उदयपुर नगर परिषद की सभापति और उदयपुर की सांसद रह चुकी हैं। किरण माहेश्वरी को भाजपा ने कोटा नगर निगम चुनाव का प्रभारी नियुक्त किया था। कोटा में वे कोरोना संक्रमित होकर उदयपुर लौटी थीं। उन्हें करीब पांच दिन होम आइसोलेशन रखा गया। उसके बाद सांस लेने में तकलीफ होने पर गीतांजलि हॉस्पिटल भर्ती कराया गया। तबीयत में सुधार नहीं होने पर उन्हें उदयपुर से एयर एम्बुलेंस से उन्हें मेदांता हॉस्पिटल ले जाया गया। करीब 25 दिन से वे मेदांता में भर्ती थीं। बताया जा रहा है कि किरण माहेश्वरी का पार्थिव देह आज उदयपुर लाया जाएगा तथा कोविड़ प्रोटोकॉल से अंतिम संस्कार किया जाएगा।                     


जम्मू-कश्मीरः अभ्यार्थियों की नियुक्ति रोक दी

श्रीनगर। बेसिक शिक्षा विभाग ने 69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती में जम्मू-कश्मीर के कॉलेजों से बीएड करने वाले चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति रोक दी है। स्कूल शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद ने बताया कि शासन ने विधि एवं न्याय विभाग से इस संबंध में राय मांगी है।
आपको बता दें स्कूलों में नियुक्ति देने से पहले दस्तावेजों की जांच में अधिकतर जिलों में कुछ चयनित अभ्यर्थियों के पास जम्मू-कश्मीर के कॉलेजों से प्राप्त बीएड की डिग्री मिली। संबंधित कॉलेजों को राष्ट्रीय शिक्षक परिषद (एनटीसी) से मान्यता न होने से बेसिक शिक्षा अधिकारियों ने उन्हें नियुक्ति देने से इनकार कर दिया।               


सशस्त्र सीमा बल के 1522 कांस्टेबल भर्ती

सशस्त्र सीमा बल 1522 पदों में कांस्टेबल भर्ती 2020 एसएसबी कॉन्स्टेबल रिक्वायरमेंट 2020


लखनऊ। नौकरी की तलाश कर रहे ऐसे बेरोजगार युवा जो देश की सेवा करने के लिए भारतीय सेना में जाना चाहते है। उनके पास भारतीय सेना  इंडियन आर्मी में नौकरी करने का सुनहरा अवसर है। क्योंकि अभी हाल ही विभाग द्वारा भारतीय सेना के अंतर्गत विभिन्न पदों में भर्ती हेतु तत्काल विभागीय नोटिफिकेशन जारी किये है। 
यदि आप इंडियन आर्मी के अंतर्गत उन पदों में नौकरी हेतु जाने के इच्छुक है। तो कृपया नीचे दिए गए भर्ती प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी को अच्छे से पढ़ने के बाद अवश्य आवेदन करें। यदि आप सरकारी नौकरी की तलाश में है। और नौकरी करने के इच्छुक है। तो कृपया इस पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़ें क्योंकि इस पोस्ट में वर्तमान में भरे जा रहे अन्य विभागों में  सरकारी नौकरी भर्ती की जानकारी भी देख पाएंगे। इंडियन आर्मी के अतिरिक्त अन्य विभागों               


ओपन विश्वविद्यालय में प्रवेश शुरू, करें आवेदन

ओपन विश्व विद्यालय में कल से प्रवेश , घर बैठे करें आवेदन


अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विश्वविद्यालय प्रशासन ने शिक्षण सत्र जनवरी - दिसंबर 2021 में प्रवेश के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिए है। छात्र, छात्राएं , नौकरी पेशा, गृहणी एवं निजी कंपनी में कार्यरत सभी एक दिसंबर 2020 से ऑनलाइन आवेदन जमा कर सकेंगे। कोरोना महामारी को देखते हुए इस वर्ष पोर्टल शुल्क नहीं देना पड़ेगा। 
विश्वविद्यालय प्रशासन ने वेबसाइट पर विस्तृत निर्देश जारी कर दिया है। जिसे आप नीचे दिए लिंक से डायरेक्ट डाउनलोड कर सकते है। 
दिशा निर्देश - 
नए सत्र में स्नातक के पांच , स्नातकोत्तर के नौ एवं 15 डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश मिलेगा। स्नातक  वर्ग में बीए, बीकॉम, बीएससी गणित व जीवविज्ञान , बीबीए , बीलिब सहित स्नातकोत्तर के एमए अंग्रेजी,हिंदी,संस्कृत,समाज शास्त्र , राजनीती शास्त्र, एमएससी गणित एमए शिक्षा तथा एमएसडब्ल्यू व एमकॉम में दाखिला ले सकेंगे। पीजी डिप्लोमा कोर्स में प्रमुख रूप से पर्यटन , जीएसटी सायबर लॉ, पत्रकारिता , सायकोलॉजी, योग साइंस सहित 12 वीं पास छात्रों के लिए डीसीए एवं रामचरित मानस पर प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते है। फार्म जमा करने की अंतिम तिथि 28 फरवरी 2021 निर्धारित है।                         


चक्रवर्ती तूफान से खतरा, करेगा नुकसान

मौसम विभाग ने ट्विटर पे ट्वीट करके किया अलर्ट ‘निवार के बाद नए चक्रवाती तूफान का खतरा हो सकता है नुकसान


चैन्नई। तमिलनाडु में पिछले हफ्ते चक्रवाती तूफान निवार ने अच्छी-खासी तबाही मचाई लेकिन अब यहां एक और तूफान पैदा होता दिख रहा है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव माधवन राजीवन ने सोमवार को एक ट्वीट कर बताया कि तमिलनाडु और केरल की तरफ एक और चक्रवाती तूफान बढ़ रहा है।
उन्होंने बताया कि सैटेलाइट और शिप के ताजा पर्यवेक्षण दिखाते हैं। कि बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व और आसपास के क्षेत्र के कम दबाव वाले क्षेत्र में डिप्रेशन की स्थिति बन गई है। यह दबाव 30 नवंबर की सुबह 5.30 पर बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व में श्रीलंका के त्रिंकोमाली के पूर्व-दक्षिणी पूर्व से लगभग 750 किमी दूर और भारत के कन्याकुमारी से पूर्व-दक्षिणी पूर्व से लगभग 1150 किमी दूर स्थित है।
अगले 24 घंटों में इस डिप्रेशन के और गहन होने की आशंका है। आशंका है। कि यह आगे चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। 2 दिसंबर की शाम तक इसके श्रीलंकाई तट के पश्चिम-उत्तरी पश्चिम की ओर बढ़ने की आशंका है। मौजूदा हालात के आकलन के मुताबिक, यह 3 दिसंबर की सुबह तक पश्चिम की ओर बढ़कर कोमोरिन इलाके में सामने आ सकता है।
राजीवन ने बताया कि हालिया अनुमानों के मुताबिक, यह चक्रवात निवार जितना भयंकर नहीं होगा, लेकिन फिर भी उन्होंने लोगों से सावधानी रखने को कहा है। बता दें कि पिछले हफ्ते तमिलनाडु और पुडुचेरी के कई क्षेत्रों में निवार के चलते भारी बारिश हुई थी। जिससे गहरे जल-जमाव की स्थिति बन गई थी। यहां तक कि पुडुचेरी से करीब 30 किलोमीटर दूर मरक्कनम शहर में भारी भूस्खलन भी हुआ था। चक्रवाती तूफान जनित इस हादसे ने तीन लोगों की जान ले ली थी।                   


अलर्टः कई जिलों में बारिश से पारा गिरेगा

यूपी के इन जिलों में भारी बारिश की आशंका, अगले 24 घंटे में पारा गिरने से पड़ेगी कड़ाके की ठंड


लखनऊ। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक यूपी के ज्यादातर जिलों में अगले चार दिनों में पारा और गिर सकता है। इससे कड़ाके की ठंड पड़ेगी।  वहीं मौसम विभाग ने अगले चार दिनों में तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना जताई है।लखनऊ, कानपुर, झांसी,ललितपुर सहित कई इलाकों में बारिश की संभावना जताई है।
इससे पहले रविवार को भी राजधानी लखनऊ सहित कई जिलों में बारिश हुई थी। इससकी वजह से तापमान में गिरावट आई थी।तेज बारिश के साथ कई जगह ओले गिरने से ठंड बढ़ गई है।                              


हरिद्वार की सीमाएं सील, लौटाएं हजारों लोग

हरिद्वार की सीमाएं सील, बॉर्डर से लौटाए हजारों लोग। पुलिस से झड़प, जानिए क्या है मामला


हरिद्वार। कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार की सख्ती के बाद अब अब जिला प्रशासन भी सख्त हो गया है। सोमबार को कार्तिक पूर्णिमा है, लिहाज गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं के उमड़ने की चिंता के चलते सीमाएं सील कर दीं और स्नान पर रोक लगा दी। हर की पैड़ी पर बैरिकेडिंग की गई है। इधर, भारी संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं को बॉर्डर पर ही रोक दिया। जिस पर श्रद्धालुओं और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई। अंततः हजारों लोगों को बॉर्डर से ही लौटना पड़ा।
एसएसपी सेंथिल अबुदई ने बताया कि श्रद्धालुओं की आवाजाही पूरी तरह बंद है। आवश्यक सेवाएं ही आ जा सकती हैं। जरूरी काम से आने वालों को जांच परख कर ही प्रवेश दिया जा रहा है। उन्होंने लोगों से सहयोग की अपील की है।           


फेसबुक पर दोस्ती, 3 बार सामूहिक दुष्कर्म

फेसबुक फ्रेंड ने लड़की से दोस्ती कर मिलने बुलाया फिर दोस्तो के साथ मिलकर किया 3 बार सामूहिक दुष्कर्म


कानपुर। नाबालिग लड़की की दोस्ती फेसबुक पर लड़के से हुई। दोस्ती के कुछ दिन बाद ही लड़के ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर नाबालिग लड़की से तीन बार गैंगरेप किया। पहले तो लड़की ने डर के चलते घर पर नहीं बताया लेकिन अगले दिन उसने पूरी घटना परिजनों को बताई। घर वालों ने पुलिस के पास जानकर रिपोर्ट दर्ज कराई है। दरअसल मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर के चकेरी इलाके का है। प्रेमी और उसके 3 दोस्तों ने कुछ ही घंटों में एक नाबालिग लड़की के साथ कथित तौरपर 3 बार सामूहिक दुष्कर्म किया। यह घटना शनिवार को हुई थी। लेकिन घटना के बारे जानकारी तक मिली जब लड़की घर लौटी और उसने अगले दिन अपने माता-पिता को अपनी आपबीती सुनाई। पुलिस ने 2 आरोपियों राहुल सोनकर और मिथुन सोनकर को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बाकी 2 आरोपी अभी फरार चल रहे हैं।
पुलिस ने बताया कि चकेरी इलाके की रहने वाली लड़की ने फेसबुक के जरिए साहिल नाम के लड़के से दोस्ती की। शनिवार को साहिल ने अपने दोस्तों राहुल और मिथुन को अपनी प्रेमिका को त्रिमूर्ति मंदिर के पास मोटरसाइकिल पर लाने के लिए कहा। जब वे लड़की को लेकर आए तो साहिल वी.के. राजपूत नाम के लड़के के साथ उन्हें एक कार में मिला। उन्होंने लड़की को कुछ खाने के लिए दिया। जब लड़की बेहोश हो गई तो वे चारों उसे एकांत स्थान पर ले गए और कार में उसके साथ दुष्कर्म किया। फिर वे उसे एक खाली प्लॉट में ले गए और फिर से उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद आरोपी उसे एक दूकान की छत पर ले गये और तीसरी बार उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।                             


सीएम योगी ने रात रात की बड़ी कार्रवाई

यूपी के मुख्यमंत्री योगी ने रातों-रात की बड़ी कार्यवाही, सीएम के इस कार्यवाही से प्रदेश में मचा हड़कंप


संदीप मिश्र


लखनऊ। सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश में काम करने वाले कई कर्मचारियों और प्रभारी पर बड़ी कारवाई की हैं। जिससे उत्तर प्रदेश में हड़कंप मच गया हैं। साथ ही साथ भष्ट अधिकारियों में सीएम योगी का खौफ भी दिखाई दे रहा हैं। मिली जानकारी के मुताबिक धान खरीद में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ कारवाई की गई हैं। साथ ही साथ इन्हे बर्खास्त भी किया गया हैं। बता दें की उत्तर प्रदेश में 24 केंद्र प्रभारियों व सचिव को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही साथ 74 प्रभारियों को चेतावनी भी दी गई हैं। सीएम योगी ने साफ कर दिया है की धान खरीद में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
अगर कोई अधिकारी ऐसा करता हैं। उन्हें तुरंत बर्खास्त किया जायेगा। साथ ही साथ उनकी सेवा भी समाप्त की जाएगी। सीएम योगी के इस आदेश से सभी केंद्र प्रभारियों की टेंशन बढ़ गई हैं। आपको बता दें की सीएम योगी ने साफ-साफ कहा है। की धान क्रय केंद्रों पर किसानों को किसी प्रकार की कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। साथ ही साथ राज्य के सभी किसानों को उचित मूल्य दिया जाना चाहिए।                                


बिहार: शराब बंदी का छेद बंद करने की तैयारी

शराबबंदी का छेद बंद करने की तैयारी में नीतीश, जिन्होंने शराब से पैसा बनाया वो नपेंगे


अविनाश श्रीवास्तव


पटना। बिहार में शराबबंदी कानून को लागू हुए भले ही 5 साल पूरे होने को है। लेकिन राज्य के अंदर इस कानून की हकीकत सबको पता है। शराब की उपलब्धता और होम डिलीवरी सिस्टम को लेकर लगातार सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़े होते रहते हैं। खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछले दिनों चुनाव के दौरान शराबबंदी को लेकर जमीनी हकीकत से जुड़े कड़वे सवालों का सामना किया है। ऐसे में अब नीतीश हर कीमत पर शराबबंदी को कड़ाई से लागू करने की तैयारी में हैं। शराब बंदी लागू होने के बाद बिहार में माफिया ने जो समानांतर सिस्टम खड़ा किया उसे कैसे ध्वस्त किया जाए इसे लेकर कार्ययोजना बनाई जा रही है। 
सरकार यह भली-भांति समझ रही है। कि शराब माफिया के साथ मिलकर शासन और प्रशासन में बैठे अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ-साथ पुलिस कर्मियों ने किस कदर पैसा बनाया है। कैसे वह इस अवैध सिस्टम का हिस्सा बन चुके हैं। कैसे माफिया के साथ मिलकर अवैध उगाही की जा रही है। इस सब पर नकेल कसने के लिए अब सरकार ने नजर टेढ़ी कर दी है।
शराबबंदी कानून को सफल बनाया जाए इसके लिए मुख्य सचिव ने सभी जिलों के डीएम एसपी को दिशा निर्देश जारी किया है। मुख्य सचिव की तरफ से सभी जिलों के डीएम और एसपी को एक पत्र भेजा गया है। जिसमें कहा गया है। कि वैसे अधिकारियों, सरकारी सेवकों और पुलिसकर्मियों की पहचान की जाए. जिनके जिम्मे शराबबंदी कानून को सख्ती से लागू करने का काम है। और उसके बावजूद यह नहीं हो पा रहा। शराब के काले कारोबार में शामिल अफसरों, कर्मचारियों पर नकेल कसी जाए और इसके लिए खुफिया निगरानी की जाए।
बिहार में शराबबंदी के बाद जिस किसी ने इस अवैध कारोबार से अकूत संपत्ति बनाई है। जिसकी संपत्ति में इजाफा हुआ है। वैसे अधिकारी जो शराबबंदी रोकने के लिए जवाब दे हैं। और उसके बावजूद उनके इलाके में शराबबंदी फेल नजर आ रही है। खासतौर पर ऐसे अधिकारी जिनकी संपत्ति लगातार बढ़ रही है। उस सब की खुफिया निगरानी करते हुए जिले के एसपी और डीएम इसकी रिपोर्ट ऊपर के अधिकारियों को देंगे। इस रिपोर्ट के आधार पर ऐसे पुलिसकर्मियों, अधिकारियों और कर्मचारियों पर सरकार एक्शन लेने की तैयारी में है। मुख्य सचिव दीपक कुमार ने स्पष्ट तौर पर कहा है। कि नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई तय है। चाहे वह सरकारी अधिकारी हो या फिर कर्मचारी। शराब बंदी कानून के खिलाफ जाने वाले अफसरों पर कार्रवाई करेगी। सरकार एक ऐसा सिस्टम खड़ा करने जा रही है। जिसके तहत सरकारी अफसरों, कर्मचारियों और पुलिस पदाधिकारियों के साथ-साथ निचले स्तर के पुलिसकर्मियों तक के बारे में शिकायत मिलने पर उसकी सत्यता की जांच की जा सके और तत्काल एक्शन भी हो सके। यह भी तय किया जा रहा है। कि बड़े से बड़ा अधिकारी अगर दोषी है। तो वह इस मामले में बच नहीं पाए। दोषी अधिकारियों को निलंबित किए जाने से लेकर विभागीय कार्यवाही तक किए जाने की तैयारी है। सेंट्रल टीम गुप्त सूचना के आधार पर भी एक्शन लेगी।           


गुरु नानक जयंती पर दिग्गजों ने दी बधाई

गुरु नानक जयंती आज, पीएम नरेंद्र मोदी समेत दिग्गजों ने दी बधाई


पालूराम


नई दिल्ली। देशभर में आज गुरु नानक जयंती मनाई जा रही है। हर साल कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को गुरु नानक जयंती मनाई जाती है। गुरु नानक देव सिख धर्म के संस्थापक और सिखों के पहले गुरु माने जाते हैं। कहा जाता है। कि बचपन से ही गुरु नानक देव का आध्यात्मिकता की तरफ काफी रुझान था। और वह सत्संग और चिंतन में लगे रहते थे।
30 साल की उम्र तक गुरु नानक देव का ज्ञान परिपक्व हो चुका था। और परम ज्ञान हासिल होने के बाद उन्होंने अपना पूरा जीवन सत्य का प्रचार किया। गुरु नानक देव की जयंती को सिख धर्म के लोग बड़े ही धूमधाम और श्रद्धा से प्रकाश पर्व या गुरु पर्व के तौर पर मनाते हैं। कहा जाता है। कि ईश्वर की तलाश की खातिर गुरु नानक ने 8 साल की उम्र में ही स्कूल छोड़ दिया था।
गुरु नानक देव का झुकाव बचपन से ही आध्यात्म की तरफ होने के कारण उन्होंने सांसारिक कामों से दूरी बना ली थी। वे लगातार ईश्वर और सत्संग की तरफ रुचि लेने लगे थे। ईश्वर के प्रति गुरु नानक का समर्पण काफी ज्यादा था। जिसके कारण लोग उन्हें दिव्य पुरुष मानने लगे। गुरु नानक जयंती यानी प्रकाश पर्व के मौके पर गुरुद्वारों में शब्द-कीर्तन का आयोजन किया जाता है। इसके साथ ही अलग-अलग जगहों पर लंगर भी लगाए जाते हैं।                                     


केबीसी के दौरान 5 लाख का ईनाम जीता

बरेली के इस गांव के बेटे ने केबीसी में पाया बड़ा मुकाम, जीते 50 लाख, 2 दिसंबर को होगा प्रसारण


बरेली। जिले की तहसील बहेड़ी के छोटे से गांव वसुधरन जागीर निवासी किसान के बेटे तेज बहादुर ने कौन बनेगा करोड़पति में 50 लाख रुपए जीतकर क्षेत्र का नाम रोशन किया है। 1 करोड़ के सवाल का जवाब पता न होने पर तेज बहादुर ने खेल को क्विट कर दिया। क्षे़त्र के गांव वसुधरन निवासी लघु किसान चरन सिंह का बेटा तेज बहादुर बरेली राजकीय पाॅलिटेक्निक में सिविल से जीटीआई कर रहा है। उसने प्राथमिक शिक्षा गांव के ही सरकारी स्कूल से प्राप्त की थी। कड़ी मेहनत और परिश्रम के बाद तेज बहादुर कौन बनेगा करोड़पति में पहुंच गया। उसने महानायक अमिताभ बच्चन के साथ केबीसी खेलते हुए 50 लाख रुपए की राशि जीत ली और एक करोड़ के सवाल का सही जवाब पता न होने पर खेल को क्विट कर दिया। उसके केबीसी में 50 लाख रुपए जीतने पर परिजनो और रिश्तेदारों में खुशी की लहर दौड़ गई है। तेज बहादुर का केबीसी में 50 लाख रुपए जीतने का एपिसोड 2 दिसम्बर को सोनी टेलीविजन पर प्रसारित किया जाएगा। वह आईएएस बनकर देश सेवा में भागीदार बनना चाहता है।           


आरएलडी नेता ने भाजपा पर लगाए आरोप

आरएलडी नेता जयंत चौधरी ने बीजेपी पर लगाए आरोप, कहा- चुनाव प्रचार के कारण किसान नहीं हैं प्राथमिकता


हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। राष्ट्रीय लोक दल ( आरएलडी) ने रविवार को आरोप लगाया कि बीजेपी हैदराबाद नगर निकाय चुनाव में व्यस्त है। और इसलिए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों से बातचीत की तारीख दिसंबर में तय की गई तथा उस पार्टी के लिए किसान प्राथमिकता में नहीं हैं।
रालोद नेता जयंत चौधरी ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार किसानों की आवाज को बलपूर्वक दबाना चाहती है। रविवार को किसानों ने केंद्र सरकार की बातचीत की पेशकश को ठुकराते हुए चेतावनी दी है। कि वे राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश के सभी रास्तों को बंद कर देंगे।
किसान विरोधी बीजेपी जयंत चौधरी
चौधरी ने एक बयान में कहा देश के किसान मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन लोकतंत्र में बातचीत करने के बदले केंद्र सरकार किसानों की आवाज को बल पूर्वक दबाना चाहती है। उन्होंने दावा किया कि लाठी चार्ज, पानी की बौछार और आंसू गैस के गोले दागकर बीजेपी सरकार ने एक बार फिर किसान विरोधी मानसिकता का परिचय दिया है। 
कृषि कानून का हो रहा विरोध
बता दें कि पंजाब और हरियाणा के किसान नए कृषि कानून का विरोध कर रहे हैं। जिसके चलते बीते कुछ दिनों से किसान हरियाणा और दिल्ली सीमा पर बैठे हुए हैं। इस दौरान किसानों के आंदोलन के उग्र होने पर पुलिस ने भीड़ को कंट्रोल करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। इसके साथ ही किसानों को हाने के लिए पानी की बौछार भी की गई।                                   


नीतीश कैबिनेट के विस्तार पर टिकी नजर

नीतीश कैबिनेट के विस्तार पर टिकी सबकी नजर, पटना से दिल्ली तक हो रही लॉबिंग


अविनाश श्रीवास्तव


पटना। 17वीं विधानसभा का पहला सत्र खत्म होने के बाद अब सबकी नजरें नीतीश कैबिनेट के विस्तार पर जा टिकी   है। दिसंबर के पहले या फिर दूसरे हफ्ते में इसका विस्तार हो जाएगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जब चुनाव के बाद शपथ ली तो उनके साथ चंद चेहरों को ही कैबिनेट में जगह मिली और अब सबको कैबिनेट विस्तार का इंतजार है।
कैबिनेट विस्तार को लेकर लगातार सियासी गलियारे में लॉबिंग का दौर जारी है। जेडीयू खेमे से कैबिनेट में जगह पाने के लिए दावेदार लगातार नेताओं के जनसंपर्क कर रहे हैं। और पार्टी के शीर्ष नेतृत्व तक अपनी उपयोगिता साबित करने में जुटे हुए हैं। जबकि भारतीय जनता पार्टी खेमे से दावेदारों की लॉबिंग पटना से लेकर दिल्ली तक जारी है। विधानसभा सत्र खत्म होने के बाद कई नेता दिल्ली कूच कर चुके हैं। उन्हें उम्मीद है। कि दिल्ली में बैठे पार्टी के कुछ बड़े नेताओं से संपर्क साध है। वह कैबिनेट में जगह पा सकते हैं. कई बड़े चेहरों को उम्मीद है। कि पार्टी उन्हें एक बार फिर से कैबिनेट में जगह दे सकती है। जबकि बीजेपी के कई नए चेहरे इंतजार में बैठे हैं। कि कहीं उनकी किस्मत का ताला खोला जाए।
सबकी नजरें इस बात पर टिकी है। कि क्या भारतीय जनता पार्टी में जिस तरह पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी को बिहार की राजनीति से केंद्र की राजनीति में ले जाने का फैसला किया उसी तर्ज पर सुशील मोदी के साथ कैबिनेट में रह चुके नंदकिशोर यादव और प्रेम कुमार को भूमिका भी दी जाएगी क्या बीजेपी कुछ अन्य नए चेहरों को कैबिनेट में जगह दे सकती है। जबकि जेडीयू कोटे से जिन नामों की चर्चा है। उनमें श्रवण कुमार के साथ-साथ दामोदर रावत महेश्वर हजारी, संजय झा और सुनील कुमार के नाम सबसे आगे चल रहे हैं।माना जा रहा है। कि जेडीयू महिला कोटे से एक और मंत्री बना सकती है। लेसी सिंह इन दावेदारों में सबसे आगे चल रही हैं.
 हालांकि जिन नामों की चर्चा हो रही है। वह केवल सियासी गलियारे में लग रहे कयास से ज्यादा कुछ भी नहीं है। कैबिनेट विस्तार में जिन्हें जगह दी जाएगी उनका आधिकारिक ऐलान होने के बाद ही तस्वीर साफ हो पाएगी।                               


कार्तिक पूर्णिमा पर साल का अंतिम 'चंद्रग्रहण'

कार्तिक पूर्णिमा पर साल का अंतिम चंन्द्रग्रहण


कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा पर साल का अंतिम चन्द्रग्रहण लगेगा। ये चन्द्रग्रहण वृष राशि और रोहिणी नक्षत्र में लगेगा। चन्द्र ग्रहण दोपहर 1बजकर 2 मिनट से शुरू होगा और शाम 5बजकर 23 मिनट पर समाप्त होगा। ये साल का आखिरी चन्द्रग्रहण होगा।इससे पूर्व दो चन्द्रग्रहण लग चुके है।इस साल 6 ग्रहण एक दिसंबर को लगेगा इस साल कुल 6 ग्रहण लगे इनमें 3 चन्द्रग्रहण पड़े और 2 सूर्य ग्रहण हैसाल की शुरूआत 10 जनवरी;को पहला चन्द्रग्रहण लगा;फिर 5 जून को दूसरा चन्द्रग्रहण और 30नवंबर को अब आखिरी चन्द्रग्रहण लगने जा रहा है। वहीं 21 जून को सूर्य ग्रहण हुआ तो अब साल का अंतिम सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर को लगेगा।जिसमे ये चन्द्रग्रहण एक उपच्छाया ग्रहण है। ऐसे मे सूतक मान्य नही होगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जिस ग्रहण का कोई सूतक काल नही होता वह ज्यादा प्रभावशाली नही होता ऐसे मे इस ग्रहण का प्रभाव राशियों को अधिक प्रभावित नही करेगा। ये चन्द्रग्रहण देश के केवल पुर्वोत्तर भागों मे दिखाई देगा।पश्चिमी राज्यों में दिखाई नही देगा। बुजुर्ग सरोजनी त्रिपाठी के अनुसार इस दिन श्री निबांर्काचार्य जयंती;देवदिवाली;कार्तिक स्नान;भीष्म पंचक ब्रत पूर्ण आदि उत्सव रहेंगे।               


इंटरलॉकिंग में घटिया सामग्री का उपयोग

बेहटा इंटरलॉकिंग में हो रहा घटिया सामग्री से निर्माण मानक हवा हवाई


बेहटा। सीतापुर प्राप्त जानकारी के अनुसार  जनपद के विकासखंड बेहटा इलाके की ग्राम पंचायत नरना पकौड़ी में इंटरलॉकिंग में घटिया सामग्री  इस्तेमाल की जा रही ग्रामीणों ने इसे लेकर जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र भेजकर जांच कराने की मांग की है। आरोप है, कि इंटरलॉकिंग में पीला ईटा का इस्तेमाल किया जा रहा है। उसके साथ ही चुनाई में घटिया सामग्री को प्रयोग में लाई जा रही विरोध करने पर ठेकेदार ग्राम कठूरा के द्वारा धमकाया जा रहा ठेकेदार से जब बात की गई की किस योजना के अंतर्गत इंटरलॉकिंग का कार्य निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने बताया प्रमुख की निधि से कार्य कराया जा रहा है। ग्रामीण सिपाही लाल राकेश कुमार पट्टू गुड्डू यादव आदि ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र भेजकर मामले की जांच व कार्रवाई की मांग की है।                     


तेज रफ्तार का कहर, 1 की मौत 2 घायल

सड़क दुर्घटना में एक बच्ची की मौत, दो घायल


अविनाश श्रीवास्तव


भागलपुर। तेज रफ्तार बोलेरो की चपेट में आने से एक बच्ची की मौत हो गयी तथा दो अन्य घायल हो गयी। भागलपुर बिहार में भागलपुर जिले के कजरैली थाना क्षेत्र में सड़क दुर्घटना में दो बच्ची की मौत हो गयी तथा दो अन्य घायल हो गयी। पुलिस सूत्रों ने सोमवार को यहां बताया कि लक्ष्मिनियां गांव के समीप रविवार की रात तेज रफ्तार बोलेरो की चपेट में तीन बच्चियां आ गयी। इस दुर्घटना में एक बच्ची की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि दो अन्य घायल हो गयी। मृतक बच्ची की पहचान निरंजन यादव की पुत्री सोनाक्षी कुमारी के रूप में की गयी है। IPS पर 25 हजार का ईनाम घोषित सूत्रों ने बताया कि घायल दो बच्चियों को ग्रामीणों के सहयोग से भागलपुर के जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना से आक्रोशित लोगों ने बोलेरो के चालक लालू मंडल को पकड़ लिया और उसकी पिटाई करने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया। मृतक बच्ची के परिजनों को पर्याप्त मुआवजा और गाड़ियों के तेज रफ्तार पर रोक लगाने की मांगों को लेकर घटनास्थल के निकट आगजनी कर देर रात तक घंटों सड़क जाम रखा गया। मामले की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर जाम समाप्त कराया। शव को पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया गया है।                              


देश के स्टेशनों पर मिलेगी कुल्हड़ वाली चाय

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि अब देश के हर रेलवे स्टेशन पर इको फ्रेंडली कुल्हड़ों में चाय बेची जाएगी। रेल मंत्री ने राजस्थान के अलवर जिले में ढीगवाड़ा रेलवे स्टेशन में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करने के दौरान ये ऐलान किया। रेल मंत्री ने बताया कि अभी देश के लगभग 400 रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ में चाय दी जा रही है। भविष्य में रेलवे की योजना है कि देश के सभी रेलवे स्टेशनों पर केवल कुल्हड़ में ही चाय बेची जाए।

रेल मंत्री ने कहा कि उनका मंत्रालय प्लास्टिक मुक्त भारत की दिशा में गंभीरता से काम कर रहा है। इस दिशा में रेलवे अपना हरसंभव योगदान देगी। एक ओर जहां कुल्हड़ से पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। वहीं दूसरी ओर इससे लाखों लोगों को रोजगार मिलता है। रेलवे स्वदेशी और कुटीर उद्योग को बढ़ावा देने में अपना पूरा योगदान करेगी। बेहद जल्द देश के सभी रेलवे स्टेशन पर सिर्फ कुल्हड़ में ही चाय मिलेगी।                             

रणबीर की बिल्डिंग में आलिया ने घर खरीदा

रणबीर कपूर की बिल्डिंग में आलिया भट्ट ने खरीदा 32 करोड़ का घर


कविता गर्ग


मुंबई। बॉलीवुड जोड़ी आलिया भट्ट और रणबीर कपूर के रिलेशनशिप की चर्चा सोशल मीडिया पर खूब होती है।  मुंबई बॉलीवुड जोड़ी आलिया भट्ट और रणबीर कपूर के रिलेशनशिप की चर्चा सोशल मीडिया पर खूब होती है। दीपिका पादुकोण और कैटरीना कैफ को डेट करने के बाद आलिया भट्ट संग रणबीर रिलेशन में हैं। आलिया भट्ट ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में फिल्म 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' से कदम रखा था। कोरोनावायरस लॉकडाउन में भी खबरों के मुताबिक, आलिया, रणबीर संग उनके अपार्टमेंट में रह रही थीं। लेटेस्ट रिपोर्ट के अनुसार, एक्ट्रेस ने 32 करोड़ का घर खरीदा है जो रणबीर कपूर के टावर में है। यह अपार्टमेंट 2460 स्वायर फीट है। बांद्रा स्थित वास्तु अपार्टमेंट में आलिया का यह घर है। रणबीर कपूर इस बिल्डिंग में सातवी मंजिल पर रहते हैं। वहीं, आलिया ने पांचवी मंजिल पर अपार्टमेंट खरीदा है। 12 मंजिला यह बिल्डिंग कृष्णा राज बंगले के पास है। इस समय आलिया के घर में काम चल रहा है, जिसकी वजह से वह बहन शाहीन भट्ट संग जूहु में रह रही हैं। पिंकविला के मुताबिक, आलिया के घर का इंटीरियर शाहरुख खान की पत्नी गौरी खान कर रही हैं।                                            


किसानों की आवाज को दबाया नहीं जा सकता

किसानो की आवाज़ को दबाया नही जा सकता: राहुल- प्रियंका


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। मोदी सरकार किसानों का शोषण कर रही है, उनकी आवाज दबाने में लगी लेकिन उसे समझ लेना चाहिए कि उसकी आवाज़ की अनुगूंज को दबाया नहीं जा सकता है।  नई दिल्ली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार किसानों का शोषण कर रही है और उनकी आवाज दबाने में लगी लेकिन उसे समझ लेना चाहिए कि उसकी आवाज़ की अनुगूंज को दबाया नहीं जा सकता है। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि यह सरकार जबरन किसानों की आवाज को कुचलने में लगी हुई है लेकिन वह भूल रही है कि किसान की आवाज को दबाया नहीं जा सकता और जब वह गूंजती है तो उसके स्वर पूरे देश में सुनाई देते है। किसान नहीं अडानी- अम्बानी की आय बढ़ा रही है सरकार: राहुल राहुल गांधी ने कहा, "मोदी सरकार ने किसान पर अत्याचार किए- पहले काले क़ानून फिर चलाए डंडे लेकिन वो भूल गए कि जब किसान आवाज़ उठाता है तो उसकी आवाज़ पूरे देश में गूंजती है। किसान भाई-बहनों के साथ हो रहे शोषण के ख़िलाफ़ आप भी स्पीक अप फ़ॉर फार्मर्स कंपैन के माध्यम से जुड़िए।" प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, "नाम किसान कानून लेकिन सारा फायदा अरबपति मित्रों का किसान कानून बिना किसानों से बात किए कैसे बन सकते हैं। उनमें किसानों के हितों की अनदेखी कैसे की जा सकती है। सरकार को किसानों की बात सुननी होगी। आइए मिलकर किसानों के समर्थन में आवाज उठाए।"                            


एमएलसी कांति का चक्रव्यूह तोड़ेंगे 'अजय'

एमएलसी कांति सिंह का चक्रव्यूह तोड़ेंगे स्नातक उम्मीदवार अजय श्रीवास्तव


शाहाबाद (हरदोई)। इस बार पूरी तैयारी से लखनऊ खण्ड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के निर्दलीय उम्मीदवार अजय कुमार श्रीवास्तव ,एम एल सी कांति सिंह का चक्रव्यूह तोड़ेंगे।हालांकि उन्हें भाजपा,सपा और कांग्रेस प्रत्याशियों की चुनौती का भी सामना करना पड़ रहा है।लखनऊ के प्रमुख शिक्षाविद् अजय कुमार श्रीवास्तव ने जब युवाओं के अधिकारों को आवाज उठाई तो उन्होंने राजधानी के युवाओं को साथ लेकर बड़ा अभियान शुरू किया।ताकि सदन में युवाओं की आवाज बन सकें।


ज्ञातव्य हो कि


स्नातक क्षेत्र से विधान परिषद सदस्य के लखनऊ खंड का चुनाव अंतिम चरण में है। मतदान एक दिसंबर को होना है।पिछले तीन चुनावों से कभी एस पी सिंह तो कभी उनकी पत्नी कांति सिंह जीत हासिल कर रहे हैं। मैदान में इस बार 24 प्रत्याशी हैं, लेकिन हर कोई अपना मुकाबला कांती सिंह से ही मान रहा है। इसकी वाजिब वजह भी है। पिछले 18 वर्ष से इस सीट पर कांती सिंह और उनके पति एसपी सिंह काबिज रहे हैं। इस बार सीट जीतने के लिए भाजपा ने भी काफी जोर आजमाइश की है।कांती सिंह के मुकाबले भाजपा ने इंजीनियर अवनीश सिंह को मैदान में उतारा है।सपा ने राम सिंह राणा एवं कांग्रेस ने ब्रजेश कुमार सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है।उधर अजय कुमार श्रीवास्तव की युवाओं में मजबूत पकड़ है और राजधानी लखनऊ का प्रत्याशी होने के नाते भी उन्हें कांती सिंह के सामने सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा है।अजय कुमार श्रीवास्तव को जिताने की कवायद में कायस्थ समाज के जिलाध्यक्ष के अलावा अन्य संगठन के सभी पदाधिकारियों के साथ ही सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी लगे हैं। लखनऊ खंड के स्नातक क्षेत्र में सात जनपद आते हैं। इनमें हरदोई, लखनऊ, प्रतापगढ़, बाराबंकी, सीतापुर, रायबरेली और लखीमपुर शामिल हैं। लखनऊ खंड के स्नातक क्षेत्र से वर्ष 1996 में हुए चुनाव में भाजपा प्रत्याशी के रूप में पार्टी के वरिष्ठ नेता विंध्यवासिनी कुमार ने जीत दर्ज कराई थी। वर्ष 2002 के चुनाव में वह एसपी सिंह से हार गए थे। वर्ष 2008 में फिर से एसपी सिंह निर्वाचित हुए थे। वर्ष 2014 मेंहुए चुनाव में एसपी सिंह की पत्नी कांती सिंह निर्वाचित हुईं।समाजवादी पार्टी ने रामसिंह राणा को प्रत्याशी बनाया है। उनके समर्थन में एमएलसी और पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ सपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राजपाल कश्यप  जनपद में ताबड़तोड़ सभाएं कर चुके हैं। कांग्रेस ने ब्रजेश कुमार सिंह के पक्ष में सघन मतदाता संपर्क किया है। चित्रगुप्त धाम ट्रस्ट ने अजय कुमार श्रीवास्तव के पक्ष में आकर मतदाताओं को रिझाने का काम किया है।अब सभी की दृष्टि 01 दिसंबर को होने वाले चुनाव पर है।             


कोरोना संक्रमितो में लंग्स फाइब्रोसिस के लक्षण

 कोरोना से ठीक हुए लोगों में लंग्स फाईब्रोसिस के लक्षण 


अरविंद कुमार सैनी


सहारनपुर। कोरोना संक्रमित मरीजों में निमोनिया व फाइब्रोसिस के लक्षण पाये जाते हैं रोगियों के फेफड़ों में सिकुड़न व सूजन आने लगती है। कोविड -19 से संक्रमित हुए लोग जो ठीक हो चुके है उनमे से कुछ फीसदी लोगों में लंग्स फाइब्रोसिस की मौजूदगी डॉक्टरों द्वारा एक्सरे रिपोर्ट में देखी जा रही है। जिला अस्पताल में कार्यरत कोविड19 नोडल अधिकारी शिवांका गौड ने आज कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों में निमोनिया व फाइब्रोसिस के लक्षण पाये जाते हैं। रोगियों के फेफड़ों में सिकुड़न व सूजन आने लगती है और सांस लेने छोडने मे परेशानी होती है। ऑक्सीजन का स्तर ऐसे में कम हो जाता है। ऐसे स्थिति में यौगिक प्राणायाम व लंग्स को लचीला बनाने वाले आसन यदि किये जाए तो रोगी को आराम मिलता है। कोरोना पर पड़ी आस्था भारी योग गुरु गुलशन कुमार से इस विषय पर कहा कि जो लोग कोविड के संक्रमण से बच गये है उन मे से 20-30 फीसदी लोगो में शोर्टनैस आफ ब्रीदिग, आक्सीजन के स्तर में गिरावट, खांसी व शारीरिक थकान के लक्षण आ रहे है। कोरोना से ठीक होने के बाद लोगो में निमोनिया के लक्षण भी देखे जा रहे है जिससे दस बीस कदम चलने से या सीढियां चढने पर सांस फूलने की शिकायते आ रही है। रोगियों का आक्सीजन का स्तर 98 से घटकर 70-80 तक रह जाता है।                               


बीपी कंट्रोल करने के लिए फायदेमंद है नमक

ज़रूरत से ज़्यादा नमक खाना कई बीमारियों की वजह बन सकता है, लेकिन आपको जानकर बहुत हैरानी होगी कि आयुर्वेद में सेंधा नमक को बेहद फायदेमंद माना गया है। सेंधा नमक में पाए जाने वाले मिनरल्स हमें कई तरह की बीमारियों से बचाने का काम करते हैं। यह नमक पाचक रसों का निर्माण करता है, इसलिए यह पाचन को दुरुस्त रखने का काम भी करता है। आजकल सेंधा नमक का इस्तेमाल काफी कम लोग करते हैं। इसे ज़्यादातर लोग सिर्फ व्रत के समय खाते हैं। लेकिन नमक का ये फॉर्म हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। ये काफी शुद्ध नमक होता है जिसमें किसी तरह का केमिकल या दूसरा तत्व मौजूद नहीं होता है। इसमें कुदरती तौर पर कई खनिज तत्व मौजूद होते हैं।               


आईपीएस पर 25,000 का इनाम घोषित

IPS पर 25 हजार का ईनाम घोषित


 महोबा। पूर्व पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार और बर्खास्त सिपाही अरूण यादव पर 25, 25 हजार का इनाम घोषित किया गया है। महोबा उत्तर प्रदेश के महोबा के विस्फोटक के व्यावसाई इन्द्रेांत त्रिपाठी के खुदकुशी मामले में फरार चल रहे महोबा के पूर्व पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार और बर्खास्त सिपाही अरूण यादव पर 25, 25 हजार का इनाम घोषित किया गया है। पुलिस अधीक्षक अरूण कुमार श्रीवास्तव ने आज यहां कहा कि पाटीदार और यादव पर केस दर्ज है और दोनों फरार हैं। दोनों के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि तीन दिन पहले करबई थाने के पूर्व क्षेत्राधिकारी देवेन्द्र शुक्ला को भी गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में दो अन्य नामजद व्यापारी को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।                                       


दीवार गिरने से 3 बच्चे दबे, 1 की मौत हुईं

औरैया: अछल्दा के इटैली में दीवार गिरने से तीन बच्चे दबे, एक की मौत


अछल्दा। अछल्दा थाना क्षेत्र के ग्राम इटैली में शादी समारोह के दौरान छोटे-छोटे बच्चे दीवाल के पास खेल रहे थे तभी कच्ची मिट्टी की दीवार गिर गई जिससे बच्चे उसी मिट्टी के अंदर दब गए। आस पास के लोगो ने आनन फानन में तीनों बच्चो को मिट्टी हटाकर बाहर निकाला तीनो बच्चे घायल हो गए थे। इलाज के लिए उन्हें भरथना ले जाया गया एक बच्चे की हालत गंभीर होने पर उसे इटावा ले जाया गया वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। बच्चे की मौत से कोहराम मचा रहा।           


गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का धरना-प्रदर्शन

सिंघु और टिकरी बॉर्डर के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर भी किसानों का धरना प्रदर्शन


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली की बॉर्डर पर पंजाब और हरियाणा के किसानों का प्रदर्शन जारी है। किसानों ने सड़कों पर ट्रॉलियों को ही अपना घर बना लिया है। कृषि कानून के खिलाफ सड़कों पर उतरे किसान अब भी पीछे हटने का नाम नहीं ले रहे हैं और दिल्ली में घुसने के लिए अड़े हैं। किसानों का नया नारा अब ‘दिल्ली चलो’ नहीं बल्कि ‘दिल्ली घेरो’ है। पहले दिल्ली-हरियाणा के सिंधु बॉर्डर पर किसानों ने बड़ी संख्या में डेरा जमाया, पुलिस से संघर्ष किया। अब गाजीपुर बॉर्डर पर भी ऐसा ही हाल है और किसान यहां पर बैठ गए हैं, जिसके कारण दिल्ली-एनसीआर के लोगों को काफी परेशानी हो रही है। डॉक्टरों की अपील- प्रदर्शनकारियों का हो कोरोना टेस्ट... दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर जमा किसान प्रदर्शनकारियों को वॉलंटियर डॉक्टर मेडिकल सुविधाएं दे रहे हैं। एक डॉक्टर ने बताया, “हम सरकार से अपील करते हैं कि यहां जमा किसानों का कोरोना टेस्ट किया जाए। एक किसान को कोरोना होने से कई किसान उसकी चपेट में आ जाएंगे।”


आम लोगों की बढ़ रही परेशानी
‘सरकार बनाम किसान’ में आम लोगों की परेशानी बढ़ रही है। खास तौर पर प्रदर्शन स्थल पर दुकान चलाने वाले और इन रास्तों से सफर करने वाले लोगों को काफी मुश्किल हो रही है। प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना है कि हम आम लोगों की समस्या समझते हैं लेकिन हम भी परेशान होकर ही दिल्ली आए हैं। सरकार जल्द हमारी बात सुने।


किसानों ने दी अगले 4 महीने तक धरना देने की धमकी
किसान नेताओं का कहना है कि उनकी तैयारी पूरी है और अगर जरूरत पड़ी तो उनके पास अगले 4 महीने तक धरना देने का पूरा इंतजाम है। किसानों के ऐलान के बाद सरकार की टेंशन भी बढ़ गई है। जेपी नड्डा के घर हुई देर रात उच्च स्तरीय बैठक...
किसान आंदोलन से चिंतित भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की देर रात बैठक हुई जबकि किसान संगठनों ने बातचीत के लिए सरकार की किसी भी शर्त को मानने से मना कर दिया है।
अमित शाह ने किसान नेताओं को सड़क जाम समाप्त कर बुराड़ी मैदान में आकर लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन करने का प्रस्ताव दिया था और कहा था कि इस व्यवस्था के लागू होने पर अगले ही दिन किसानों के साथ बातचीत की जाएगी।किसान नेता योगेंद्र यादव ने कहा है कि किसान संगठन बातचीत के लिए सरकार की किसी भी शर्त को मानने के लिए तैयार नहीं हैं। कल किसान संगठनों की बैठक हुई जिसमें पंजाब के 20 से अधिक किसान संगठनों ने आंदोलन स्थल पर ही बातचीत करने पर जोर दिया।           


 


डीएम ने अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दियें

कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार ने सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालयों तथा परिसर का निरीक्षण कर सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्दे...