गुरुवार, 3 मार्च 2022

यूपी: 10 जिलें, 57 सीट, 54.12 प्रतिशत मतदान

यूपी: 10 जिलें, 57 सीट, 54.12 प्रतिशत मतदान     

संदीप मिश्र      
लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए छठे चरण में प्रदेश के 10 जिलों की 57 विधानसभा सीटों पर 3 मार्च यानी गुरुवार को मतदान हुआ हैं। इस बीच रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने पूर्वांचल में जारी मतदान को लेकर वोटर्स से अधिक से अधिक मतदान करने की अपील की है। जयंत ने बिना नाम लिए बीजेपी का घेराव करते हुए कहा कि इतनी वोट डालो के किसान विरोधियों के छक्के छूट जाएं। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का छठा दौर आज खत्म हो गया। चुनाव आयोग के मुताबिक प्रदेश के 10 जिलों की 57 सीटों पर गुरुवार को औसतन 54.12 प्रतिशत मतदान हुआ। अब प्रदेश में मतदान का सिर्फ सातवां और आखिरी दौर बचा है, जो 7 मार्च को होगा।
जिन 10 जिलों में चुनाव हुआ है। उनमें गोरखपुर के अलावा अम्बेडकरनगर, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संत कबीर नगर, महराजगंज, कुशीनगर, देवरिया और बलिया शामिल हैं। कुल 676 प्रत्याशी मैदान में हैं। इस चरण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर सदर से, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह (बांसी), बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी (इटवा), पूर्व श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (फाजिलनगर) और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (तमकुही राज) से चुनाव मैदान में हैं।

झांसी: देखभाल केंद्र पर 'कार्यशाला' का आयोजन

झांसी: देखभाल केंद्र पर 'कार्यशाला' का आयोजन    

नीरज जैन        
झांसी। वर्ल्ड वाइल्डलाइफ डे, (विश्व वन्यजीव दिवस) के अवसर पर वाइल्डलाइफ एसओएस ने उत्तर प्रदेश वन विभाग के साथ, गोरखपुर चिड़ियाघर (शहीद अशफाक उल्लाह खान प्राणि उद्यान) के ज़ूकीपर्स और पशु चिकित्सा अधिकारियों के लिए 'कैप्टिव एनिमल्स के कल्याण और प्रबंधन' पर आगरा भालू संरक्षण केंद्र और मथुरा स्थित हाथी संरक्षण एवं देखभाल केंद्र पर कार्यशाला का आयोजन किया।
दो दिवसीय कार्यशाला को तीन बैचों में विभाजित किया गया है। जिनमें से पहला बैच 2-3 मार्च को गोरखपुर चिड़ियाघर के ज़ूकीपर्स, पशु चिकित्सकों और अधिकारियों सहित 10 प्रतिभागियों के लिए आयोजित किया गया है। कार्यशाला का आयोजन कैप्टिव एनिमल्स के संरक्षण और मानवीय प्रबंधन तकनीकों में सुधार के उद्देश्य से किया गया है।
कार्यशाला का पहला दिन आगरा भालू संरक्षण केंद्र में हुआ जहां जंगली जानवरों के बचाव, उनके पुनर्वास और स्वास्थ्य प्रबंधन जैसे विषयों पर वाइल्डलाइफ एसओएस के एक्सपर्ट्स द्वारा ज्ञान सांझा किया गया। बैजूराज एम.वी, डायरेक्टर कंज़रवेशन प्रोजेक्ट्स, वाइल्डलाइफ एसओएस ने 'जंगली जानवरों के कल्याण, बचाव और पुनर्वास के महत्व' पर बात की और डॉ. एस, इलियाराजा, उप निदेशक-पशु-चिकित्सा सेवाओं ने 'बचाए गए वन्यजीवों के स्वास्थ्य प्रबंधन' पर बात कर सुझाव दिए। इसके बाद फील्ड डीमोंसट्रेशन सेशन हुआ जिसमे केंद्र में रह रहे भालुओं का मानवीय प्रबंधन तकनीकों के इस्तमाल से कैसे स्वास्थ प्रबंधन किया जा सकता है, इस पर चर्चा की गई।
कार्यशाला का दूसरा दिन मथुरा में हाथी संरक्षण और देखभाल केंद्र में हुआ। जिसकी भारत के पहले और एकमात्र हाथी अस्पताल के दौरे के साथ शुरुवात हुई। वैज्ञानिक और मानवीय हाथी प्रबंधन तकनीक जैसे पॉजिटिव कंडीशनिंग, टारगेट ट्रेनिंग, पैरों की देखभाल आदि की सहायता से हाथी प्रबंधन, कार्यशाला के कुछ प्रमुख पहलू रहे।
कार्यशाला दो और बैचों में आयोजित की जाएगी, जो 7-8 मार्च और 11-12 मार्च को होगी। वाइल्डलाइफ एसओएस के सह-संस्थापक और सीईओ, कार्तिक सत्यनारायण ने कहा, “ऐसी कार्यशालाएं कैप्टिविटी में रह रहे वन्यजीवों के प्रबंधन कौशल और तकनीकी विशेषज्ञता को बेहतर बनाने में बड़े पैमाने पर योगदान देंगी। वाइल्डलाइफ एसओएस जानवरों के मानवीय प्रबंधन के लिए मॉडल मानक हैं और हम पूरे भारत में समान सुविधाएं बनाने के लिए अपना ज्ञान-साझाकरण उपयोग करने के लिए हमेशा खुश हैं।
नेशनल चंबल सैंक्चुअरी प्रोजेक्ट के उप वन संरक्षक, दिवाकर श्रीवास्तव ने कहा, “जब कैप्टिव केयर में जंगली जानवरों के कल्याण और उचित प्रबंधन की बात आती है, तो वाइल्डलाइफ एसओएस से बेहतर सुविधाएं कहीं और नहीं है। 
यह केवल मानवीय प्रबंधन तकनीकों के कारण है, जो वे अपनी देखरेख में रह रहे पुनर्वासित जानवरों के कल्याण के लिए उपयोग करते हैं। ” बैजूराज एम.वी, डायरेक्टर कंज़रवेशन प्रोजेक्ट्स, वाइल्डलाइफ एसओएस ने कहा*, “हम गोरखपुर चिड़ियाघर के प्रतिभागियों के साथ अपने ज्ञान और विशेषज्ञता को साझा करके बेहद खुश हैं। ऐसी कार्यशालाएं अतीत में भी फायदेमंद साबित हुई हैं।" गोरखपुर चिड़ियाघर के निदेशक डॉ. एच. राजामोहन ने कहा, “हम इस कार्यशाला का हिस्सा बनकर बेहद खुश हैं। कार्यशाला से प्राप्त ज्ञान न केवल हमारे जानवरों के बेहतर कल्याण में हमारी सहायता करेगा। बल्कि चिड़ियाघर के पूर्ण प्रबंधन में हमारे पशु चिकित्सा अधिकारियों और चिड़ियाघर के रखवालों की भी मदद करेगा।

पुतिन को मारने के लिए 10 लाख डॉलर का इनाम

पुतिन को मारने के लिए 10 लाख डॉलर का इनाम  

सुनील श्रीवास्तव         

मास्को/कीव। यूक्रेन के ऊपर रूस की ओर से किए गए हमले को लेकर आठवें दिन रूसी कारोबारी की ओर से अपने ही देश के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को गिरफ्तार करने या मारने के लिए 10 लाख डॉलर का इनाम रखा गया है। कारोबारी ने यह खुला ऑफर मिलिट्री अधिकारियों को दिया है। बृहस्पतिवार को कारोबारी एवं पूर्व बैंकर एलेक्स कोन्याखिन की ओर से सोशल मीडिया पर की गई पोस्ट के माध्यम से रूसी सेना के यूक्रेन पर आक्रमण से गुस्साकर राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन को गिरफ्तार या मारने के लिए 10 लाख डॉलर देने की यह घोषणा की गई है। 

रूसी कारोबारी मौजूदा समय में अमेरिका में है। पश्चिमी देशों की सरकारों एवं कंपनियों ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को आर्थिक रूप से दंडित करने की मांग करके रूसी आक्रमण का जवाब दिया है। अब रूसी कारोबारी की ओर से राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन को गिरफ्तार या मारने के लिए 10 लाख डॉलर देने का यह प्रस्ताव इस विरोध को और अधिक तेज करता है।

गाजियाबाद की सीवर समस्या, अधिकारियों की बैठक

गाजियाबाद की सीवर समस्या, अधिकारियों की बैठक   

अश्वनी उपाध्याय        

गाज़ियाबाद। जिला नगर निगम की महापौर आशा शर्मा को लंबे समय के बाद गाज़ियाबाद की जनता की याद आ ही गई। उन्होंने गुरुवार को नगर निगम कार्यालय में अधिकारियों और कर्मचारियों से मिलकर शहर का हाल जाना। शहर में सीवर समस्या के समाधान को लेकर महापौर को स्वास्थ्य विभाग एवं जलकल विभाग के अधिकारियों के हुई बैठक में सीवर जाम की समस्या का पता चला, तो उन्होंने जिम्मेदार ठेकेदार को सख्त कार्रवाई की धमकी देने की औपचारिकता भी पूरी की।दरअसल, मेयर आशा शर्मा ने जीएम जल आनंद त्रिपाठी, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथलेश, अधिशासी अभियंता जैदी, डॉ अनुज सिंह, नगर निगम के सफाई इंसपेक्टर एवं जलकल विभाग के अवर अभियंता एवं वाबाग कम्पनी के डिरेक्टर विजय, प्रोजेक्ट हेड रजनीश के साथ गुरूवार को शहर की सीवर समस्या को लेकर बैठक की। 

मेयर ने सख्त निर्देश दिए कि अगर जल्द ही सीवर समस्या का समाधान नही किया गया तो कंपनी के खिलाफ ही कार्रवाई की जाएगी। क्योंकि शहर में सबसे ज्यादा सीवर की समस्या है। मेयर ने शहर में जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर को लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को निर्देश दिए कि शहर में कूड़े की समस्या का भी निस्तारण नहीं किया जा रहा है। जबकि, महापौर आशा शर्मा को भली भांति ज्ञात है कि राजनैतिक दखलंदाजी के चलते गाज़ियाबाद में कूड़ा डालने के लिए स्थायी ठिकाना ही नहीं मिल पा रहा है। 

'भांग मसाला' मिल्क बनाने की रेसिपी, जानिए

'भांग मसाला' मिल्क बनाने की रेसिपी, जानिए      

सरस्वती उपाध्याय        
मार्च के माह में आने वाली होली का त्यौहार बहुत मनाया जाने वाला है। ये रंगों और मस्ती से भरा त्यौहार है। इसमें लोग एक दूसरे को रंग लगाते हैं और स्वादिष्ठ खाने से मेहमानों का स्वागत करते हैं। ऐसे में गुरुवार को हम आपके लिए घर पर भांग मसाला मिल्क बनाने की आसान रेसिपी लेकर आए हैं। वैसे तो होली के त्यौहार में भांग पीने का रिवाज है। लेकिन भांग आपकी और बच्चों की सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है।
इसलिए भांग मसाला मिल्क की ये आसान रेसिपी।आपके लिए होली सेलिब्रेसन के दौरान बेहतरीन साबित हो सकती है। इस ड्रिंक से आपके मुंह का स्वाद भी अच्छा बना रहता है और आप पूरे समय ताजगी से भरा महसूस भी करेंगे, तो चलिए जानते हैं। 
भांग मसाला मिल्क बनाने की रेसिपी।
भांग मसाला मिल्क बनाने की सामग्री...
20 ग्राम काजू।
20 ग्राम बादाम।
20 ग्राम पिस्ता।
1 चम्मच इलायची पाउडर।
2 चम्मच भांग पाउडर।
50 ग्राम चीनी।
1/8 चम्मच केसर।
1 लीटर दूध।
रेसिपी...
इसको बनाने के लिए आप सबसे पहले एक ब्लेंडर में काजू, बादाम, पिस्ता और इलायची पाउडर डालें।
इसके साथ ही आप इसमें एक चम्मच चीनी, 1/8 चम्मच केसर और भांग पाउडर को अच्छी तरह से पीसकर एक स्मूद पेस्ट बना लें। 
फिर आप एक बर्तन में दूध को अच्छी तरह उबाल लें।
इसके बाद इसमें काजू, पिस्ता, भांग और इलायची का पेस्ट को अच्छे से मिला लें।
फिर आप इसमें लगभग 50 ग्राम चीनी डालें और अच्छी तरह मिला दें।
इसके बाद जब दूध में उबाल आ जाए तो आप इसको कम आंच पर कुछ मिनट पकाकर गैस बंद कर दें।
फिर आप इसको एक सर्विंग गिलास में डालें और बादाम के टुकड़ों से गार्निश करके सर्व करें।

यूके: 24 घंटे में कोरोना के 33 नए मामलें मिलें

यूके: 24 घंटे में कोरोना के 33 नए मामलें मिलें        

पंकज कपूर       

देहरादून। उत्तराखंड में वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण का प्रकोप थमने लगा है। राज्य में कोरोना वायरस मामलों में निरंतर कमी आ रही है लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के सभी 13 जनपदों में कोरोना वायरस के कुल 33 नये मामले सामने आए है। वहीं, दो कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत भी हुई है। 

गुरुवार को उत्तराखंड स्टेट कंट्रोल रूम देहरादून द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के कुल 33 नए मामले सामने आए है। जबकि राज्य में 117 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। वही दैनिक पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो 0.64 फ़ीसदी पर पहुंच गई है। वहीं, विभिन्न अस्पतालों में भर्ती दो कोरोना मरीजों की मौत हुई है।

दूसरे देशों के सामान का बाजार बनें भारत, अस्वीकार

दूसरे देशों के सामान का बाजार बनें भारत, अस्वीकार   

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत में विनिर्माण उद्योग को प्रोत्साहित करने पर बल दिए जाने के महत्व को गुरुवार को रेखांकित करते हुए कहा, “यह भारत केवल दूसरे देशों के सामान का बाजार बन कर रह जाए, यह स्वीकार नहीं किया जा सकता। ” उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में अभी विनिर्माण कारोबार का योगदान कम है लेकिन संभावनाएं विशाल हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि युवा और प्रतिभाशाली आबादी के जनसांख्यिकीय लाभांश, लोकतांत्रिक व्यवस्था, प्राकृतिक संसाधनों जैसे सकारात्मक कारकों के बल पर हमें दृढ़ संकल्प के साथ मेक इन इंडिया की ओर बढ़ने के लिए प्रोत्साहित होना चाहिए। नरेंद्र मोदी उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) द्वारा बजट 2022-23 के प्रावधानों पर केंद्रित आन लाइन राष्ट्रीय संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। यह प्रधानमंत्री द्वारा संबोधित आठवां बजट-उपरांत वेबिनार है। इस संगोष्ठी का विषय था 'मेक इन इंडिया फॉर द वर्ल्ड' (दुनिया के लिए करें भारत में विनिर्माण)।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस बार के बजट में आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया के लिए कई महत्वपूर्ण प्रावधान हैं। उन्होंने कहा, “ यह स्वीकार्य नहीं है कि भारत जैसा देश केवल एक बाजार बनकर रह जाए। ” उन्होंने महामारी और अन्य अनिश्चितताओं के दौरान आपूर्ति श्रृंखला में व्यवधान की ओर इशारा करते हुए कहा कि इससे मेक इन इंडिया का महत्व और भी बढ़ गया है। प्रधानमंत्री ने कहा,“ युवा और प्रतिभाशाली आबादी के जनसांख्यिकीय लाभांश, लोकतांत्रिक व्यवस्था, प्राकृतिक संसाधनों जैसे सकारात्मक कारकों के बल पर हमें दृढ़ संकल्प के साथ मेक इन इंडिया की ओर बढ़ने के लिए प्रोत्साहित होना चाहिए। ”
उन्होंने जीरो डिफेक्ट-जीरो इफेक्ट (त्रुटि और प्रदूषण से मुक्त) विनिर्माण के अपने आह्वान का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, “अगर हम राष्ट्रीय सुरक्षा के परिदृश्य में देखें तो आत्मनिर्भर भारत और भी महत्वपूर्ण है। ”
उन्होंने कहा कि भारत में विनिर्माण क्षेत्र का हिस्सा सकल घरेलू उत्पाद का 15 प्रतिशत है,लेकिन मेक इन इंडिया से पहले अनंत संभावनाएं हैं और हमें भारत में एक मजबूत विनिर्माण आधार बनाने के लिए पूरी ताकत से काम करना चाहिए। नरेंद्र मोदी ने सेमी-कंडक्टर और इलेक्ट्रिक वाहन जैसे क्षेत्रों में नई मांग और अवसरों का उदाहरण दिया, जहां निर्माताओं को विदेशी स्रोतों पर निर्भरता को दूर करने की भावना के साथ आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसी तरह, स्टील और चिकित्सा उपकरणों जैसे क्षेत्रों में भी स्वदेशी विनिर्माण के लिए ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री ने बाजार में उत्पाद की उपलब्धता और उसकी तुलना में भारत में बने उत्पाद की उपलब्धता के बीच अंतर के बारे में चर्चा की। उन्होंने अपनी निराशा को दोहराते हुए कहा कि भारत के विभिन्न त्योहारों के दौरान विदेशी प्रदाताओं द्वारा सामग्रियों की आपूर्ति की जाती है, जबकि वे स्थानीय निर्माताओं द्वारा आसानी से प्रदान की जा सकती हैं। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि 'वोकल फॉर लोकल' का दायरा दिवाली पर 'दीया' खरीदने से कहीं आगे जाता है।

प्रधानमंत्री ने स्थानीय उत्पादों के लिए नए गंतव्य खोजने की आवश्यकता पर बल डाला। उन्होंने निजी क्षेत्र को अनुसंधान एवं विकास पर खर्च बढ़ाने और अपने उत्पाद पोर्टफोलियो में विविधता लाने और अपग्रेड करने का आह्वान किया। 2023 को अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष घोषित करने के बारे में, प्रधानमंत्री ने कहा, “ दुनिया में बाजरा की मांग बढ़ रही है। विश्व बाजारों का अध्ययन करके, हमें अपनी मिलों को अधिकतम उत्पादन और पैकेजिंग के लिए पहले से तैयार करना चाहिए उन्होंने कहा, “आपको वैश्विक मानकों को बनाए रखना होगा और आपको विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धा में आगे भी निकलना होगा। 

उन्होंने कहा कि इस बजट में ऋण सुविधा और प्रौद्योगिकी उन्नयन के माध्यम से एमएसएमई को अत्यधिक महत्व दिया गया है। सरकार ने एमएसएमई के लिए 6,000 करोड़ रुपये के कार्यक्रम की भी घोषणा की है। बजट में बड़े उद्योगों और एमएसएमई के लिए किसानों के लिए नए रेलवे लॉजिस्टिक्स उत्पादों को विकसित करने पर भी ध्यान केंद्रित किया गया है। डाक और रेलवे नेटवर्क के एकीकरण से छोटे उद्यमों और दूरदराज के क्षेत्रों में कनेक्टिविटी की समस्याओं का समाधान होगा। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए घोषित पीएम डिवाइन के मॉडल का उपयोग करके क्षेत्रीय विनिर्माण परिवेश को मजबूत किया जा सकता है। इसी तरह, विशेष आर्थिक क्षेत्र अधिनियम में सुधार से निर्यात को बढ़ावा मिलेगा।

श्री मोदी ने सुधारों के प्रभाव के बारे में भी विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि पीएलआई में बड़े पैमाने पर इलेक्ट्रॉनिक्स निर्माण के लिए दिसंबर 2021 में 1 लाख करोड़ रुपये के उत्पादन का लक्ष्य हासिल किया गया है। कई अन्य पीएलआई योजनाएं कार्यान्वयन के महत्वपूर्ण चरणों में हैं।
प्रधानमंत्री ने 25 हजार अनुपालनों को हटाने और लाइसेंसों के स्वत: नवीनीकरण के बारे में चर्चा की, जिससे अनुपालन संबंधी बोझ में उल्लेखनीय कमी आई है। इसी तरह,डिजिटलीकरण नियामक ढांचे में गति और पारदर्शिता लाता है। उन्होंने कहा, ‘कॉमन स्पाइस फॉर्म से लेकर राष्ट्रीय एकल खिड़की प्रणाली से लेकर कंपनी स्थापित करने तक, अब आप हर कदम पर हमारे विकास के अनुकूल दृष्टिकोण को महसूस कर रहे हैं।

कांग्रेस के पक्ष में आमसभा को संबोधित किया: सीएम

कांग्रेस के पक्ष में आमसभा को संबोधित किया: सीएम   

दुष्यंत टीकम     

रायपुर। सीएम भूपेश बघेल ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिला में चुनार विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी सीमा देवी के पक्ष में आमसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि एक तरफ भाजपा का गुजरात मॉडल है जिसमें देश की सारी संपत्ति बिक रही हैं, आपके जेब से पैसा निकाला जा रहा है। किसानों को दाम नहीं मिल रहा है, नौजवानों से नौकरी छीनी जा रही है। 

दूसरी तरफ कांग्रेस का छत्तीसगढ़ मॉडल, जिसमें जनता से जो वादा किया गया उसे पूरा किया गया। अब आपको तय करना है कि आपको कौन सा मॉडल चाहिए। भूपेश बघेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास के नाम पर सिर्फ जनता को ठगने का काम किया गया है। यही कारण है कि आज घर के लोग भी बगावत पर उतर आए हैं। उन्होने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले छह चरणों में प्रदेश से भाजपा का सूफड़ा साफ है।

ऑस्ट्रेलिया: सड़क पर दिखा 'एलियन जैसा जीव'

ऑस्ट्रेलिया: सड़क पर दिखा 'एलियन जैसा जीव'     

अखिलेश पांडेय      

सिडनी। धरती पर एलियन की मौजूदगी को लेकर कई शोध हो रहे हैं। कई वैज्ञानिक एलियन के अस्तित्व को मानते हैं तो कई इसे खारिज कर देते हैं। एलियंस को लेकर कई फिल्में भी बन चुकी हैं। अब सड़क पर एक एलियन जैसा जीव देखा गया है।
ऑस्ट्रेलिया में सिडनी के मैरिकविले में सड़क पर एक अजीब दिखने वाला जीव मिला है। कुछ लोग इसे एलियन बता रहे हैं तो कुछ लोगों का मानना है कि यह किसी किसी समुद्री जीव का भ्रूण हो सकता है। वैज्ञानिकों के अनुसार इससे पहले उन्होंने कभी ऐसा जीव नहीं देखा है।

बताया जा रहा है कि मैरिकविले में हैरी हेस नाम के शख्स सुबह टहल रहे थे। इसी दौरान हैरी का पैरा उससे टकराया। शहर में हाल के दिनों में भारी बारिश हुई है, लेकिन विचित्र दिखने वाला जीव बाढ़ क्षेत्र में नहीं पाया गया। शुरू में उसे किसी प्रकार का भ्रूण समझ में आया लेकिन कोविड, युद्ध और बाढ़ की स्थिति में यह उसे दूसरी जगह का प्राणी समझने लगे।जीवविज्ञानी, शिक्षाविद और सोशल मीडिया यूजर्स के लिए यह जीव हैरान करने वाला है। हैरी ने एक वीडियो इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया, जहां से यह वायरल हो गया। वीडियो फुटेज में दिखाया गया है कि वह प्राणी को छड़ी से मारता है, लेकिन वह स्थिर रहता है। एक जीवविज्ञानी ने इसकी पहचान करने में लोगों से मदद मांगी है। लैडबिल ने सिडनी विश्वविद्यालय और न्यू साउथ वेल्स विश्वविद्यालय से जीव की पहचान करने के लिए संपर्क किया है।

शिल्पा ने फिल्म 'सुखी' का पहला पोस्टर शेयर किया

शिल्पा ने फिल्म 'सुखी' का पहला पोस्टर शेयर किया   

कविता गर्ग          

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी ने अपनी आने वाली फिल्म सुखी का पहला पोस्टर सोशल मीडिया पर शेयर किया है। शिल्पा शेट्टी जल्द ही फिल्म सुखी में नजर आएंगी। शिल्पा ने अपनी नई फिल्म 'सुखी' का पहला पोस्टर शेयर किया है। जिसमें वह एक अलग अवतार में नजर आ रही हैं। शिल्पा शेट्टी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर फिल्म 'सुखी' का पोस्टर शेयर किया है। जिसमें वह हाथों में कई सारे घरेलू समान लिए हुए दिख रही हैं और इसी के साथ वह खुद को कई अलग-अलग अवतारों में इमेजिन करती हुयी दिन में सपने देखते हुए नजर आ रही हैं।

पोस्टर में शिल्पा सिंपल लुक में खूबसूरत लग रही हैं। पोस्ट शेयर करते हुए शिल्पा ने कैप्शन में लिखा, "थोड़ी बेधड़क सी हूं मैं, मेरी जिंदगी है खुली किताब, दुनिया बेशर्म कहती है तो क्या, किसी से कम नहीं है मेरे ख्वाब!" फिल्म सुखी का निर्देशन सोनल जोशी ने किया है।अबुंदंतिया एंटरटेनमेंट और टी-सीरीज फिल्म के निर्माता हैं।

मुंबई: वेबसीरीज 'अनामिका' का ट्रेलर रिलीज हुआ

मुंबई: वेबसीरीज 'अनामिका' का ट्रेलर रिलीज हुआ    

कविता गर्ग      

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी की वेबसीरीज अनामिका का ट्रेलर रिलीज हो गया है। सनी लियोनी ने एमएक्स प्लेयर की वेब सीरीज अनामिका में शीर्षक किरदार निभाया है। यह स्पाई-थ्रिलर वेब सीरीज है, जिसमें सनी का किरदार एक बागी स्पाई एजेंट का है, जिसे एजेंसी ढूंढ रही हैं। इस सीरीज का निर्देशन विक्रम भट्ट ने किया है और सीरीज 10 मार्च को एमएक्स प्लेयर पर स्ट्रीम होगी। सीरीज का ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है।अनामिका वेब सीरीज में कुल 8 एपिसोड्स हैं। समीर सोनी, सोनाली सहगल, राहुल देव, शहजाद शेख और अयाज खान ने भी महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई हैं।

सनी लियोनी ने कहा, "एक्शन एक ऐसा जॉनर है, जिसमें मैंने पहले कभी हाथ नहीं आजमाया और जब मैंने अनामिका की स्क्रिप्ट पढ़ी, तो मैं बेहद टैलेंटेड विक्रम भट्ट के मार्गदर्शन में इस दमदार किरदार को निभाने को लेकर बेहद उत्साहित थी। जिस तरह से मुझे अपने किरदार के लिए ट्रेनिंग दी गई और सभी कलाकारों के बीच एक तालमेल रहा है, यह बहुत बढ़िया अनुभव था। अब मुझे दर्शकों की प्रतिक्रिया का इंतजार है।" अनामिका हिंदी के साथ मराठी, बंगाली, तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ में भी डब की जा रही है।

सीएम योगी ने बूथ संख्या-249 में जाकर वोट डाला

सीएम योगी ने बूथ संख्या-249 में जाकर वोट डाला   

संदीप मिश्र    
गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर स्थित प्राथमिक कन्या पाठशाला में बूथ संख्या-249 में कतार में लग कर मतदान किया। उत्तर प्रदेश में गुरुवार को छठे चरण का मतदान शुरू हो चुका है। 
इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुबह सवेरे ही अपने बूथ संख्या-249 में जाकर अपना वोट डाला। 
अपना वोट डालने के बाद सीएम योगी ने अपने ट्विटर हैंडल पर अपना विक्टरी बनाते हुए ट्वीट किया 'नए उत्तर प्रदेश' की अविराम विकास यात्रा के लिए मतदान अवश्य करें।

यूक्रेन से भारतीय छात्रों को निकालने में मदद: रूस

यूक्रेन से भारतीय छात्रों को निकालने में मदद: रूस   

सुनील श्रीवास्तव     

कीव/ मास्को/नई दिल्ली। पीएम मोदी और पुतिन की बातचीत के बाद गुरुवार को रूसी रक्षा मंत्रालय की ओर से एक बयान जारी किया गया है। रूसी रक्षा मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि हमारी सेना कीव और खारकीव से भारतीय छात्रों को निकालने में पूरी मदद कर रही है, लेकिन यूक्रेन ने भारतीय छात्रों को बंधक बना लिया है। रूस ने दावा किया है कि यूक्रेन अब भारतीय छात्रों को ढाल बना रहा है, वहां भारतीय छात्रों को रोक लिया गया है। रूस ने कहा कि भारतीयों को खारकीव से निकालने की कोशिश की जा रही है।

इस बीच रूसी दावे के बाद यूक्रेन की ओर से भी बड़ा बयान सामने आया है, यूक्रेन के विदेश मंत्रालय की ओर से ट्वीट कर भारत समेत उन देशों से आह्वान किया है कि वे अपने छात्रों को निकालने के लिए एक कॉरिडोर बनाने को लेकर रूस से बात करें। यूक्रेन ने भारत, पाकिस्तान, चीन से आह्वान किया है कि वे रूसी आक्रमण के कारण खारकीव और सूमी समेत अन्य शहरों में फंसे अपने छात्रों को निकालने के लिए मानवीय कॉरिडोर बनाने को लेकर रूस से बात करें।

गौरतलब है कि भारत की ओर से रूस से ये मांग की गई थी कि वे भारतीय छात्रों को यूक्रेन से सुरक्षित निकालने में मदद करें, वहीं रूस ने इस मामले में यूक्रेन पर गंभीर आरोप लगा दिए, रूस की ओर से कहा गया कि जो टैंक रोके जा रहे हैं, उसमें भारतीय छात्रों को ही ढाल बनाया जा रहा है। वहीं, बेलारूस के राजदूत ने यूएन में दावा किया कि पोलैंड में बॉर्डर गार्ड्स ने करीब 100 भारतीय छात्रों से मारपीट की और उन्हें वापस यूक्रेन की ओर भेज दिया गया, भारतीय विदेश मंत्रालय ने दावा किया है कि यूक्रेन से अब तक 17 हजार से अधिक भारतीय छात्रों को सुरक्षित निकाला जा चुका है। बता दें कि खारकीव में फंसे भारतीय छात्रों को लेकर पीएम मोदी ने बुधवार रात को पुतिन से बात की है, क्योंकि अभी भी खारकीव में भारतीय छात्र फंसे हुए हैं। जंग के दौरान पहली बार जब पीएम मोदी ने पुतिन से बात की थी तो उन्होंने यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को सुरक्षित निकालने पर जोर दिया था। इस बार भी पीएम मोदी ने उनसे बात की है।

चीन, पाक एवं रूस के करीब आने का मुद्दा: राहुल

चीन, पाक एवं रूस के करीब आने का मुद्दा: राहुल    

दुष्यंत टीकम    

रायपुर। यूक्रेन मामले पर गुरुवार को विदेश मामलों की सलाहकार समिति की बैठक हुई। इसमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चीन और पाकिस्तान के रूस के करीब आने का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि अभी प्राथमिकता यूक्रेन से छात्रों को निकालना है। विदेश मंत्रालय ने यह स्पष्ट किया कि यूक्रेन से बाहर न‍िकाले जा रहे छात्रों को उनकी शैक्षणिक स्थिति के बारे में संदेह था।

जहां यूक्रेन सरकार स्थिति पर आश्वासन दे रही थी।विदेश मंत्री एस जयशंकर ने नागर‍िकों को बाहर न‍िकालने और वर्तमान स्थिति पर बैठक में प्रेजेंटेशन दी। उन्‍होंने बताया कि कांग्रेस नेताओं ने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा पर‍िषद में मतदान से दूर रहने के सरकार के रुख का समर्थन किया।

'पेट्रोल पंप डीलर' बनने का सुनहरा मौका, पेशकश

'पेट्रोल पंप डीलर' बनने का सुनहरा मौका, पेशकश    

अकांशु उपाध्याय    

नई दिल्ली। अगर आप पेट्रोल पंप डीलर बनना चाहते हैं तो आपके पास सुनहरा मौका है। जियो-बीपी आपको रिटेल आउटलेट डीलर बनने की पेशकश कर रहे हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और बीपी के बीच का जॉइंट वेंचर ‘रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड’  ब्रांड नेम के तहत ऑपरेट करता है। जीओ-बीपी ने अपने पहला मोबिलिटी स्टेशन अक्टूबर 2021 में शुरू किया था। जियो-बीपी रिटेल आउटलेट पर ग्राहकों को एक्टिव टेक्नोलॉजी के साथ फ्यूल, सीएनजी, ईवी चार्जिंग, बैटरी स्वैप सॉल्युशंस, कन्वीनिएंस स्टोर्स और कैफे, एक्सप्रेस ऑयल चेंज की सुविधा मिलती है। जियो-बीपी ग्रोथ एंटरप्रेन्योर्स की तलाश में है।

विशेष रूप से उन व्यक्तियों की जिनके पास म्यूनिसिपल लिमिट्स/शहरी इलाकों, नेशनल/स्टेट हाइवेज के आसपास खुद की जमीन है।खुद की जमीन (शहरी 1200 वर्ग मीटर, नेशनल/स्टेट हाइवे- 3000 वर्ग मीटर व अन्य रोड के आसपास 2000 वर्ग मीटर) अनुमानित निवेश 2 करोड़ रुपये से ज्यादा (निवेश में जमीन की कीमत शामिल नहीं है। साथ ही यह लोकेशन के आधार पर अलग-अलग हो सकती है।

3 से 5 मार्च तक हल्की बारिश की संभावना जताईं

3 से 5 मार्च तक हल्की बारिश की संभावना जताईं    

अकांशु उपाध्याय     

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारत के राज्यों में मौसम एक बार फिर करवट लेते दिख रहा है। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली में गुरुवार से अगले दो दिन तक गरज के साथ हल्की बारिश हो सकती है। वहीं, पश्चिमी विक्षोभ यानी वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर दिल्ली, पंजाब, हिरयाणा में देखने को मिलेगा। राज्यों में बूंदाबांदी से लेकर मध्यम बारिश होते दिख सकती है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार दिल्ली में आज मौसम साफ रहेगा लेकिन बादल छाए रहेंगे और बारिश की संभावना है। वहीं, 5 मार्च तक तेज हवाएं चलेंगी। हवा की रफ्तार 20 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की हो सकती है। तापमान की अगर बात करें तो आज अधिकतम तापमान 27 डिग्री तो न्यूनतम तापमान 14 डिग्री रह सकता है। 

राजस्थान के कई हिस्सों में हुई बारिश के बाद मौसम सर्द हो गया है। वहीं तेज हवाएं चलने की वजह से भी ठंड महसूस की जा रही है। हालांकि भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार अब मौसम साफ रहेगा और धूप निकलेगी। इस पूरे सप्ताह मौसम ऐसा ही रहने की संभावना है. वहीं आज राज्य के अधिकतर जिलों में अधिकतम तापमान 29 डिग्री तक रह सकता है तो वहीं न्यूनतम तापमान 15 डिग्री तक दर्ज होगा। बिहार में एक तरफ राजधानी पटना का पारा सामान्य से दो डिग्री चढ़ा है तो वहीं दूसरी ओर कुछ क्षेत्रों में बादल छाए रहेंगे। बंगाल की खाड़ी से आ रही नमी युक्त पछुआ हवा का प्रवाह निरंतर बना हुआ है जो सतह से 1.5 किमी ऊपर स्थित होने के साथ 10-12 किमी प्रतिघंटा है। इसके कारण मौसम में बदलाव दिख रहा है। राज्य के अधिकतर जिलों में आज अधिकतम तापमान 29 डिग्री तक दर्ज किया जा सकता है। वहीं न्यूनतम तापमान 14-15 डिग्री तक रह सकता है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार गुुुरुवार को प्रदेश के कई जिलों में बादल छाए रहेंगे। आज पंजाब में गरज के साथ बारिश के आसार हैं। 5 और 6 मार्च को भी बादल छाए रहेंगे। इस बीच पिछले दिनों हुई बारिश की वजह से पंजाब में सर्दी लौट आई है। राज्य के अधिकतरों हिस्सों में आज अधिकतम तापमान 21 डिग्री रह सकता है वहीं न्यूनतम तापमान 12 डिग्री के रहने की संभावना है। जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से लगातार मौसम में बदलाव हो रहा है और रुक-रुककर बारिश के साथ-साथ बर्फबारी भी जारी है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार आज भी कई जगहों पर बारिश की संभावना है। श्रीनगर में आज अधिकतम तापमान 7 और न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। जम्मू में आज अधिकतम तापमान 19 और न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

उत्तराखंड के अधिकतर जिलों में आज दिन भर बदल छाए रहेंगे साथ ही बारिश के साथ कई इलाकों में बर्फबारी का अनुमान है। राज्य के अधिकतर हिस्सों में आज न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस रह सकता है।हिमाचल प्रदेश में बीते दिन बर्फबारी और बारिश के चलते कई न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज हुई है। आज भी अधिकतर हिस्सों में बारिश होने से मौसम ठंडा बना रहेगा। राज्य के जिलों में अधिकतम तापमान 8 डिग्री तो वहीं न्यूनतम तापमान 1 डिग्री रह सकता है।


19 उड़ानें संचालित करेंगे भारतीय वाहक: सिंधिया

19 उड़ानें संचालित करेंगे भारतीय वाहक: सिंधिया   

मनोज सिंह ठाकुर       

भोपाल। उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि आईएएफ और भारतीय वाहक, यूक्रेन के पड़ोसी देशों से 3,726 भारतीयों को भारत वापस लाने के लिए गुरुवार को 19 उड़ानें संचालित करेंगे। ऑपरेशन गंगा के तहत, भारतीय वायुसेना, एयर इंडिया और इंडिगो की आठ उड़ानें गुरुवार को रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट से भारत के लिए संचालित होंगी, उन्होंने ट्विटर पर कहा।भारतीय वायु सेना इस निकासी अभियान के लिए अपने सी-17 सैन्य परिवहन विमान का उपयोग कर रही है। भारत यूक्रेन के पश्चिमी पड़ोसियों जैसे रोमानिया, हंगरी और पोलैंड से विशेष उड़ानों के माध्यम से अपने नागरिकों को निकाल रहा है क्योंकि 24 फरवरी से यूक्रेनी हवाई क्षेत्र रूसी सैन्य हमले के कारण बंद है।

सिंधिया ने कहा कि इंडिगो की दो उड़ानें रोमानियाई शहर सुसेवा से और स्पाइसजेट की एक उड़ान गुरुवार को स्लोवाकिया के शहर कोसिसे से रवाना होगी। आईएएफ, गो फर्स्ट और एयर इंडिया गुरुवार को हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट से भारत के लिए पांच उड़ानें संचालित करेंगे, उन्होंने कहा, इंडिगो उसी दिन पोलिश शहर रेज़ज़ो से भारत के लिए दो उड़ानें संचालित करेगा। सभी हाथों से डेक पर और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी के निर्देश के साथ, हम आज अपने 3,726 लोगों को घर वापस लाएंगे। जय हिंद सिंधिया ने ट्वीट किया।

बदसलूकी: भारतीय नागरिकों को ट्रेन में चढ़ने से रोका

बदसलूकी: भारतीय नागरिकों को ट्रेन में चढ़ने से रोका  

सुनील श्रीवास्तव         
कीव/ मास्को। रूस ने यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव पर हमला बोल दिया है। इस बीच एक तस्वीर सामने आयी है। जिसमें भारतीय छात्रों/नागरिकों को ट्रेन में चढ़ने से रोका जा रहा है। खारकीव के एक स्टेशन की है, जहां ट्रेन में चढ़ने के लिए लोगों की भीड़ दिखाई दे रही है। लोग धक्का-मुक्की कर किसी तरह ट्रेन में चढ़ना चाहते हैं। वहीं, ट्रेन के दरवाजे पर खड़ा एक शख्स जब चढ़ने की कोशिश करता है तो उसे रोक दिया जाता है।

उसे पीछे धकेल कर ट्रेन के दरवाजे से दूर हटा दिया जाता हैं। जानकारी के मुताबिक, ये शख्स भारतीय छात्र है, जो खुद की जान बचाने के लिए ट्रेन में चढ़कर सुरक्षित स्थान पहुंचना चाहता है। ये पूरा घटनाक्रम कैमरे में कैद हो गया जो यूक्रेन से भारत लौटे उन छात्रों के दावों को सही ठहराता है। जिनका कहना है कि वहां के नागरिक भारतीय लोगों के साथ सही व्यवहार नहीं कर रहे।

यूक्रेन से भारतीय छात्रों को निकालने में मदद मांगी

यूक्रेन से भारतीय छात्रों को निकालने में मदद मांगी  

अकांशु उपाध्याय     

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने अटॉर्नी जनरल के. के वेणुगोपाल से रोमानिया की सीमा के पास यूक्रेन में फंसे कुछ भारतीय छात्रों को निकालने में मदद करने के लिए बृहस्पतिवार को कहा। प्रधान न्यायाधीश एन वी रमण, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति हिमा कोहली की पीठ ने एक वकील की उन अर्जियों पर गौर किया।जिसमें कहा गया था कि रोमानिया की सीमा पर जमा देने वाली ठंड के बीच बड़ी संख्या में छात्र फंसे हैं और सरकार रोमानिया से उड़ानें संचालित नहीं कर रही है।

वकील ने पीठ को बताया कि, उड़ाने पोलैंड और हंगरी से संचालित हो रही हैं, रोमानिया से नहीं। बड़ी संख्या में लड़कियों सहित छात्र बिना किसी सुविधा के वहां फंसे हुए हैं। इस पर पीठ ने कहा कि,’हम सबको उनसे सहानुभूति है। लेकिन इसमें अदालत क्या कर सकती है। पीठ ने शीर्ष विधि अधिकारी से फंसे हुए छात्रों की मदद करने पर विचार के लिये कहा। कीव से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार रूस ने यूक्रेन पर हमले तेज कर दिए हैं।

रेलवे में नौकरी करने का अवसर, अधिसूचना जारी

रेलवे में नौकरी करने का अवसर, अधिसूचना जारी     

कविता गर्ग      

मुंबई। अगर आप रेलवे में नौकरी करने का सपना देख रहे हैं तो यह आपके लिए बेहद ही शानदार अवसर है। दरअसल, मध्य रेलवे बोर्ड ने जूनियर तकनीकी सहयोगी के पद के लिए 20 खाली पदों पर भर्ती करने के लिए अधिसूचना जारी की है। इच्छुक अभ्यर्थी आधिकारिक साइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। बता दें इन पदों पर आवेदन करने की अंतिम तारीख 14 मार्च रखी गई है। इस जॉब के लिए अनारक्षित श्रेणी के लिए उम्मीदवार की आयु सीमा 18 से 33 वर्ष, ओबीसी श्रेणी के लिए 18 से 36 वर्ष और अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आयु सीमा 18 से 38 वर्ष होना जरूरी है।

इस जॉब में अप्लाई करने के लिए उम्मीदवार के पास सिविल इंजीनियरिंग में चार साल की स्नातक की डिग्री या किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / संस्थान से सिविल इंजीनियरिंग में तीन साल का डिप्लोमा या तीन साल की अवधि के सिविल इंजीनियरिंग में बीएससी का संयोजन की आवश्यकता है। बता दें उम्मीदवारों का चयन उनकी योग्यता, अनुभव और व्यक्तित्व के आधार पर चयन किया जाएगा। वहीं अगर वेतन की बात करें तो 25,000 से 30,000 रुपये के बीच में रहने की उम्मीद है। वहीं एससी/एसटी/ओबीसी/महिला/अल्पसंख्यक/ईडब्ल्यूएस के उम्मीदवारों के लिए आवेदन शुल्क 250 रुपये है। बाकि सभी केटेगरी के उम्मीदवारों के लिए आवेदन शुल्क 500 रुपये निर्धारित किया गया है।

इच्छुक उम्मीदवार मध्य रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर होम पेज पर “अनुबंध के आधार पर जूनियर तकनीकी सहयोगी (कार्य) की भर्तियों का चयन करें। बता दें, अधिसूचना में आवेदन पत्र भी शामिल है। उसको विस्तार से पढ़ें और आवेदन-पत्र भरकर उप मुख्य कार्मिक अधिकारी (निर्माण), कार्यालय मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण), नया प्रशासनिक भवन, अंजुमन इस्लाम स्कूल के सामने छठी मंजिल , डीएन रोड, मध्य रेलवे, मुंबई सीएसएमटी, महाराष्ट्र – 400 001 को भेजें।

अरुणाचल के यूक्रेन में फंसे 6 छात्र नई दिल्ली पहुंचें

अरुणाचल के यूक्रेन में फंसे 6 छात्र नई दिल्ली पहुंचें   

इकबाल अंसारी      
ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने बृहस्पतिवार को कहा कि युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे राज्य के छ: छात्र निकासी अभियान के तहत नई दिल्ली पहुंच गए हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के अधिकारी राष्ट्रीय राजधानी में हवाई अड्डे पर उन्हें लेने पहुंचे। खांडू ने ट्वीट किया कि यूक्रेन में फंसे अरुणाचल प्रदेश के छह छात्र नयी दिल्ली में हवाई अड्डे पर पहुंच गए हैं। राज्य सरकार के अधिकारियों ने हवाई अड्डे पर गर्मजोशी से उनका स्वागत किया।

ये सभी छात्र पूर्वी यूरोपीय राष्ट्र के विभिन्न विश्वविद्यालयों में पढ़ाई कर रहे थे। इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि घर लौटने तक छात्र राष्ट्रीय राजधानी में अरुणाचल भवन में रहेंगे और उन्हें राज्य वापस लाने की व्यवस्था की जा रही है। खांडू ने कहा कि केन्द्र यूक्रेन से भारतीयों को निकालने के लिए अथक प्रयास कर रहा है और दिल्ली में रेजिडेंट कमिश्नर कार्यालय युद्धग्रस्त देश में फंसे छात्रों तक पहुंच बना रहा है। यूक्रेन से फंसे छात्रों को निकालने के लिए राज्य सरकार विदेश मंत्रालय के साथ समन्वय कायम कर रही है। प्रशासन ने युद्ध प्रभावित देश में फंसे लोगों के लिए एक वेब लिंक के साथ-साथ व्हाट्सऐप नंबर और ईमेल आईडी भी जारी की है, ताकि वे अधिकारियों से संपर्क कर सकें।

अधिकारी ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश के कम से कम चार और छात्र अभी यूक्रेन में फंसे हैं।” रूस के यूक्रेन पर हमला करने के बाद से भारत युद्धग्रस्त देश में फंसे अपने नागरिकों को रोमानिया, हंगरी और पोलैंड जैसे देशों के रास्ते स्वदेश ला रहा है। वहीं, विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि भारतीय वायुसेना, भारतीय विमानन कंपनियों की कुल 19 उड़ानें बृहस्पतिवार को 3,726 भारतीयों को स्वदेश लाएंगी।

दिल्ली के 215 लोगों को यूक्रेन से वापस लाया गया

दिल्ली के 215 लोगों को यूक्रेन से वापस लाया गया   

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने बृहस्पतिवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के कम से कम 650 लोग यूक्रेन में फंसे हुए हैं और यहां के 215 लोगों को अब तक वापस लाया जा चुका है। अधिकारियों ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा दी गई सूची के अनुसार यूक्रेन में दिल्ली के कम से कम 870 लोग थे। उन्होंने कहा कि बुधवार रात तक जिलाधिकारी, उपमंडल अधिकारी सहित विभिन्न अधिकारी 550 से अधिक छात्रों के घर गए जिन्हें या तो निकाला जा चुका है या अभी भी वे यूक्रेन में फंसे हैं। अधिकारियों ने कहा कि 600 से अधिक छात्रों के परिवारों से फोन पर संपर्क किया गया है और उन्हें आवश्यक मदद की पेशकश की गई है।

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बृहस्पतिवार को ट्वीट किया,”दिल्ली सरकार यूक्रेन में फंसे लोगों के परिवारों के साथ लगातार संपर्क में है। दिल्ली सरकार हिंडन अथवा इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आने वाले राष्ट्रीय राजधानी के लोगों को उनके घरों तक पहुंचाने संबंधी यात्रा सुनिश्चित करेगी।” दिल्ली सरकार ने अधिकारियों से कहा है कि वे युद्ध प्रभावित यूक्रेन से निकाले गए छात्रों से तथा जो अभी भी वहां फंसे हुए हैं उनके परिवारों से संपर्क करें और उन्हें जानकारी दें कि छात्रों के कल्याण के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। दक्षिण जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा कि, हम यूक्रेन में फंसे लोगों के परिवारों के साथ लगातार संपर्क में हैं। हम उन्हें हरसंभव मदद मुहैया करा रहे हैं।हमने उन्हें वापस लाने की प्रक्रिया में लगे अन्य उच्च अधिकारियों के संपर्क में रखा है और उन्हें हेल्पलाइन नंबर भी उपलब्ध करा रहे हैं। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को केन्द्र सरकार से यूक्रेन में फंसे लोगों को शीघ्र वापस लाने और उन्हें मदद देने का अनुरोध किया था।


यूक्रेन से हिमाचल के 198 लोगों को सुरक्षित निकाला

यूक्रेन से हिमाचल के 198 लोगों को सुरक्षित निकाला  

श्रीराम मौर्य      

शिमला। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बृहस्पतिवार को विधानसभा को बताया कि युद्धग्रस्त यूक्रेन से अब तक राज्य के 198 लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश के 249 छात्र यूक्रेन के पड़ोसी देशों में पहुंच चुके हैं। मुख्यमंत्री ने बजट सत्र के दौरान कहा कि राज्य के 53 छात्र अभी भी यूक्रेन के खारकीव शहर में फंसे हुए हैं।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यूक्रेन में फंसे हुए ज्यादातर छात्रों के लगातार संपर्क में है, जबकि शेष छात्रों से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने विधानसभा में कहा कि खारकीव, कीव और अन्य क्षेत्रों में फंसे हुए छात्रों को निकालने के प्रयास किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि छात्रों को यूक्रेन की सीमा पार करने के लिए परामर्श जारी किया गया है, लेकिन उनके लिए बसों की या कोई अन्य वैकल्पिक व्यवस्था की जानी चाहिए क्योंकि उन्हें गोलाबारी और भारी बर्फबारी की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राप्त जानकारी के अनुसार, मौजूदा समय में हिमाचल प्रदेश का कोई भी छात्र यूक्रेन की राजधानी कीव में नहीं है, क्योंकि उन सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया है। ठाकुर ने उम्मीद जताई कि जल्द ही सब कुछ ठीक हो जाएगा क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दोनों देशों के प्रमुखों से भारत के छात्रों की निकासी के प्रयासों में मदद के लिए बात की थी।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 6,561 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 6,561 नए मामलें     

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 6 हजार, 561 नए मामले सामने आए है। वहीं 14 हजार 947 लोग कोरोना से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 6 हजार 561 नए मामले आए है। वहीं 14 हजार 947 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए है। पिछले 24 घंटे में कोरोना से 142 लोगों की मौत हुई है। अब तक कुल 5 लाख 14 हजार 388 लोग कोरोना से जान गंवा चुके है। वहीं एक्टिव मामलों की संख्या 77 हजार 152 है।

पिछले 24 घंटे में 14 हजार 947 स्वस्थ होने के बाद इस महामारी से ठीक होने वाले लोगों की संख्या 4 करोड़ 23 लाख 53 हजार 620 हो गई है। देश में वैक्सीन की अब तक 178 करोड़ 02 लाख 63 हजार 222 डोज दी जा चुकी है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार कोरोना के 77 करोड़ 50 हजार 5 सैंपलों की जांच की जा चुकी है। जिनमें से 8 लाख 82 हज़ार 953 सैंपलों की जांच पिछले 24 घंटों में हुई है।

एडमिन ने अपराधिक प्रक्रिया को रद्द करने की मांग की


बृजेश केसरवानी    
प्रयागराज। व्हाट्सएप्प ग्रुप के एक सदस्य ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रूपान्तरित फोटो ग्रुप में डाल दिया था, इसे लेकर आईटीएक्ट की धारा 66 के तहत केस दर्ज हुआ। याची ग्रुप एडमिन ने इस अपराधिक प्रक्रिया को रद्द करने की मांग करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। वहीं इलाहाबाद हाईकोर्ट ने व्हाट्सएप्प ग्रुप के एडमिन के खिलाफ दर्ज आपराधिक केस में हस्तक्षेप से इन्कार करते हुए याचिका खारिज कर दी है।

हाईकोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि वह ग्रुप एडमिन है, ऐसे में ग्रुप में किए गए पोस्ट से वह खुद को अलग नहीं कर सकता है। जस्टिस मोहम्मद आलम ने याचिकाकर्ता मोहम्मद इमरान मलिक की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया है। याची का कहना था कि वह ग्रुप एडमिन है। उसने प्रधानमंत्री का रूपान्तरित फोटो ग्रुप में नहीं डाला है। यह फोटो ग्रुप के एक सदस्य निज़ाम आलम ने डाला है, इसके लिए उसे जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। याची ने कहा कि ग्रुप एडमिन होने के नाते वह सदस्य के गलत कृत्य के लिए दोषी नहीं हो सकता और उसके खिलाफ आईटीएक्ट के अन्तर्गत दर्ज केस रद्द किया जाय। 

कोर्ट में पेश सरकारी वकील ने कहा कि याची ग्रुप एडमिन है। वह एडमिन होने के नाते ग्रुप का सह- व्यापक (को- एक्सटेंसिव) सदस्य है। इस कारण यह नहीं कहा जा सकता कि याची ने धारा 66 आई टी एक्ट के अन्तर्गत अपराध नहीं किया है। कोर्ट ने कहा कि याची ग्रुप एडमिन है, वह भी गलत संदेश के लिए जिम्मेदार है। यह कहते हुए कोर्ट ने याची को राहत देने से इंकार कर दिया।

सीआईएसएफ के जवान ने खुद को गोली मारीं, हत्या

सीआईएसएफ के जवान ने खुद को गोली मारीं, हत्या   

इकबाल अंसारी             
चेन्नई। सीआईएसएफ के जवान ने गुरुवार को चेन्नई अंतरराष्ट्रीय टर्मिनल के शौचालय में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने बताया कि मृतक यशपाल राजस्थान का रहने वाला था। जवान ने आत्महत्या क्यों की है। इसकी जानकारी अभी नहीं मिली है। जांच की जा रही है। 
यशपाल ने अपने माथे पर गोली मारने के लिए अपनी सेल्फ लोडिंग राइफल (एसएलआर) का इस्तेमाल किया है। गोली लगने से यशपाल की मौके पर ही मौत हो गई। यशपाल डिप्रेचर टर्मिनल पर ड्यूटी पर थे। एयरपोर्ट पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कहीं उन्होंने कोई सुसाइड नोट तो नहीं छोड़ा है। यशपाल साल 2017 में सीआईएसएफ में शामिल हुए थे।

4 मार्च को चांद से टकरा सकता हैं चीनी रॉकेट, संदेह

4 मार्च को चांद से टकरा सकता हैं चीनी रॉकेट, संदेह  

अखिलेश पांडेय             
वाशिंगटन डीसी/बीजिंग। शुक्रवार (4 मार्च) को एक रॉकेट चांद से टकराने वाला है। करीब 9300 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से टकराने की वजह से चांद की सतह पर इससे करीब 60 फीट का गहरा गड्‌ढा बन सकता है।
दरअसल, अंतरिक्ष में एक रॉकेट का लगभग 3 टन तैर रहा है। यह कचरा चांद की सतह पर गिरने वाला है। बताया जा रहा है कि इस रॉकेट को चीन ने एक दशक पहले अंतरिक्ष में छोड़ा था। 
हालांकि, चीन ने इस रॉकेट के चीनी होने पर संदेह जताया है। यह रॉकेट मौसम पर नजर रखने वाले सैटेलाइट को लेकर गया था। लेकिन दिशा भटककर चांद की ओर मुड़ गया। रॉकेट का कचरा जब चांद से टकराएगा, तब उसकी रफ्तार करीब 9300 किलोमीटर प्रति घंटा होगी। गणितज्ञ और एक भौतिकशास्त्री बिल ग्रे ने जनवरी में इस रॉकेट के चांद से टकराने के मार्ग का पता लगाया था। इससे पहले 2009 में अमेरिका का लूनर क्रेटर ऑब्जरवेशन एंड सेंसिंग सैटेलाइट चांद के दक्षिणी ध्रुव पर 9000 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से टकराया था। 
इसके टक्कर से निकले गुबार से वैज्ञानिकों को बर्फीले पानी का पता चला था। चांद पर वायुमंडल नहीं होने की वजह से वह उल्कापिंडों और क्षुद्रग्रहों से अपना बचाव नहीं कर पाता है। चांद पर कोई मौसम भी नहीं है, जिसके कारण से उसकी सतह का घिसाव नहीं हो पाता और गड्ढे हमेशा के लिए रह जाते हैं।

फिल्म 'फाइटर' के लिए स्टंटमैन से ट्रेनिंग लेंगे ऋतिक

फिल्म 'फाइटर' के लिए स्टंटमैन से ट्रेनिंग लेंगे ऋतिक   

कविता गर्ग      

मुंबई। बॉलीवुड के माचो हीरो ऋतिक रौशन अपनी आने वाली फिल्म फाइटर के लिए हॉलीवुड के स्टंटमैन से ट्रेनिंग लेंगे। ऋतिक रौशन इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म फाइटर को लेकर चर्चा में बने हुए हैं। इस फिल्म में दीपिका पादुकोण की भी अहम भूमिका होगी। बताया जा रहा है कि ऋतिक रोशन और दीपिका पादुकोण के हाई-ऑक्टेन एक्शन सीन्स के लिए हॉलीवुड स्टंटमैन उन्हें ट्रेंड करेंगे। फिल्म में एक्शन सीन्स को हॉलीवुड के स्टंटमैन कोरियोग्राफ करेंगे और इसके लिए दोनों की कड़ी ट्रेनिंग भी होगी।इस फिल्म की शूटिंग जून, 2022 से शुरू हो सकती है।

गौरतलब है कि फाइटर भारत की पहली एरियल एक्शन फ्रैंचाइजी फिल्म है। इस फिल्म में ऋतिक रौशन और एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण लीड किरदार में नजर आने वाले हैं। फिल्म में ऋतिक रौशन और दीपिका पादुकोण के अलावा अनिल कपूर भी अहम किरदार में नजर आने वाले हैं। मार्फ्लिक्स पिक्चर्स के बैनर तले बन रही इस फिल्म का निर्देशन सिद्धार्थ आनंद कर रहे हैं।

आक्रमण: यूक्रेन की राजधानी कीव में 4 विस्फोट हुए

आक्रमण: यूक्रेन की राजधानी कीव में 4 विस्फोट हुए   

अखिलेश पांडेय            

कीव/मास्को। यूक्रेन में रूसी आक्रमण के आठवें दिन राजधानी कीव में चार विस्फोट हुए। रिपोर्ट के अनुसार, कीव के केंद्र में दो जोरदार धमाकों की आवाज सुनी गई। तीसरे और चौथे धमाकों की आवाज कीव के द्रुज्बी नारोदिव मेट्रो स्टेशन के पास सुनी गई। इस बीच, यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर ज़ेलेंस्की ने फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट में कहा कि एक सप्ताह में 9,000 रूसी मारे गए हैं। राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने कहा,"हमसब मिलकर अधिक से अधिक रूसी सैनिकों को वापस भगा रहे हैं। मैं आपके स्वास्थ्य की कामना करता हूं।'

उन्होंने कहा,"हम वह देश हैं, जिसने एक हफ्ते में दुश्मन की योजनाओं को तोड़ दिया। योजनाएं जो नफरत के साथ वर्षों से बनाई गई हैं, हमारे देश, हमारे लोगों के लिए, उन सभी लोगों के लिए जिनके पास दो चीजें हैं। स्वतंत्रता और एक दिल। हमने उन्हें रोका और हराया।' राष्ट्रपति ने कहा, "हमारी सेना, हमारे सीमा रक्षक, हमारी क्षेत्रीय रक्षा, यहां तक ​​​​कि सामान्य किसान भी हर दिन रूसी सेना का मुकाबला कर रहे हैं।" सड़कों को अवरुद्ध करने या रूसी सेना और उनके वाहनों के सामने खड़े होने के लिए यूक्रेनियों की बहादुरी की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा, "सड़कों को अवरुद्ध करते हुए, लोग दुश्मन के वाहनों के सामने आ रहे हैं, यह बेहद खतरनाक है, लेकिन कितना साहसी है।" राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा कि उनकी सेना दुश्मन को तोड़ने के लिए सब कुछ कर रही है।


भाजपा सरकार में सिर्फ मार्च तक मुफ्त राशन: सपा

भाजपा सरकार में सिर्फ मार्च तक मुफ्त राशन: सपा   

संदीप मिश्र      

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 18वीं विधानसभा के गठन के लिए हो रहे चुनाव में उतरे राजनीतिक दलों ने मतदाताओं के लिए मुफ्त सुविधाओं की झड़ी लगा दी है। समाजवादी पार्टी की ओर से अब ऐलान किया गया है कि प्रदेश में उसकी सरकार बनने पर लोगों को दूध, चीनी, तेल और घी के साथ पूरे साल भर का मुफ्त राशन दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश में 18 वीं विधानसभा के गठन के लिए हो रहे चुनाव में मजबूती के साथ उतर रहे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी की मौजूदा सरकार में लोगों को केवल मार्च महीने तक ही मुफ्त राशन देने का ऐलान किया गया है।

लेकिन समाजवादी पार्टी की सत्ता आने पर लोगों को पूरे साल भर के लिए 1 किलो तेल, घी और दूध पाउडर के साथ मुफ्त राशन दिया जाएगा।उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि सपा की बढ़ती लोकप्रियता को देखकर योगी आदित्यनाथ बेचैन हो गए हैं। उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए 300 यूनिट बिजली और चिकित्सा उपचार भी मुफ्त होगा। सपा प्रमुख ने कहा कि जब योगी आदित्यनाथ अपने घर को पटरी पर नहीं ला पा रहे हैं तो वह दूसरों के घरों को कैसे बेहतर बना सकते हैं।

उन्होंने एक बयान में कहा कि गोरखपुर में ड्रेनेज चैनल और सीवर नहीं बने है। मेट्रो में जाने के बजाय, लोग मानसून के दौरान नावों में यात्रा करते है। भाजपा की वादाखिलाफी के चलते अब लोगों ने इतिहास लिखने का मन बना लिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा नेता झूठे हैं। किसी किसान को दोहरी आय नहीं हुई और किसी को फसल का पूरा भुगतान भी नहीं मिला। उन्होंने 10 किलो राशन के बैग से 5 किलो चुरा लिया और सिलेंडर की कीमत 400 से 1,000 रुपये तक पहुंच गई। 24 घंटे बिजली देने का दावा करते हैं, लेकिन बिजली इकाइयां सपा सरकार द्वारा बनाई गई थीं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के दौरान भर्ती की कमी के कारण कई युवाओं को नुकसान उठाना पड़ा। हम सत्ता में आने पर सरकारी नौकरियों में युवाओं की आयु सीमा में ढील देंगे। सपा मुखिया अखिलेश यादव ने यह कहकर भाजपा का मजाक भी उड़ाया कि मिसाइल बनाने का दावा करने वाले माचिस की तीली भी नहीं बना पा रहे है।

राजमार्ग परियोजनाओं की मनमानी, अंकुश लगेगा

राजमार्ग परियोजनाओं की मनमानी, अंकुश लगेगा    

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने सभी प्रकार के राष्ट्रीय राजमार्गों, एक्सप्रेस-वे एवं पुल निर्माण की लागत को युक्तिसंगत बनाया है। सरकार के इस फैसले से राष्ट्रीय राजमार्गों की टोल टैक्स की दरें व उसे वसूली जाने की समयावधि कम हो जाएगी। इसका सीधा फायदा सड़क यात्रियों को होगा। वहीं, नए नियम से राजमार्ग परियोजनाओं की मनमानी लागत तय करने पर भी अंकुश लगेगा। सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय ने पिछले हफ्ते नए नियम जारी किए हैं। नए नियमों से कंसल्टेंट व अधिकारियों की मिलीभगत से डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) में सड़क परियोजनाओं की लागत ऊंची करने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगेगा।

इससे सरकारी खजाने की लूट-खसोट कम होगी। अधिकारी ने बताया कि दो लेन, चार लेन व छह लेन राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण के अलावा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे और पुल निर्माण की दरें विभाग ने तय कर दी है। उन्होंने बताया कि मंत्रालय द्वारा राजमार्ग निर्माण की लागत को युक्तिसंगत बनाने के बाद अब कंसल्टेंट डीपीआर में परियोजना की लागत में वृद्धि नहीं कर पाएंगे। हालांकि, पहाड़ी क्षेत्र और विशेष परिस्थितियों में इनकी लागत में बढ़ोतरी की जा सकेगी। लेकिन इसके लिए इंजीनियर परियोजना की समीक्षा करेंगे। इसके बाद ही लागत में वृद्धि पर फैसला किया जाएगा। अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना की लागत के अनुसार टोल टैक्स की दरें और वसूली करने की मियाद तय की जाती है।

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ग्रीनफील्ड दो लेन राष्ट्रीय राजमार्ग पेवशोल्डर युक्त (पांच किलोमीटर) निर्माण की लागत 21.400 करोड़ तय की गई है। नया राजमार्ग बनाने के लिए लागत में भूमि अधिग्रहण, अर्थ वर्क, तारकोल, बोल्डर, समतल जमीन से ऊंचाई आदि मानक को शामिल किया गया है।इस प्रकार नए राष्ट्रीय राजमार्ग प्रति किलोमीटर की लागत 4.280 करोड़ रुपये तय की गई है। इसी कड़ी में ग्रीनफील्ड फोर लेन राजमार्ग (5 किमी) निर्माण की लागत 40.975 करोड़ रुपये (8.195 करोड़ प्रति किमी) और छह लेन राजमार्ग (5 किमी) बनाने में 47.225 करोड़ रुपये (9.44 करोड़ प्रति किमी) खर्च आएगा। वर्तमान में दो लेन राजमार्ग के चौड़ीकरण में पांच से छह करोड़ रुपये प्रति किमी की लागत आती है। जबकि इसमें भूमि अधिग्रहण में मुआवजा नहीं देना होता है। इसी प्रकार चार लेन राजमार्ग बनाने में 9 से 10 करोड़ रुपये प्रति किमी और छह लेन के निर्माण पर 14 से 16 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर खर्च किया जा रहा है।

कंपनी हीरो इलेक्ट्रिक ने 'एडी' स्कूटर को लॉन्च किया

असल में हीरो ऐडी एक लो स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटर है जिसकी अधिकतम रफ्तार 25 किमी/घंटा है। कंपनी का कहना है कि छोटी दूरियां तय करने के हिसाब से इसे डिजाइन किया गया है। हीरो ऐडी के साथ कई सारे एडवांस फीचर्स दिए गए हैं जिनमें फाइंड माय बाइक, ई-लॉक, बड़ा बूट स्पेस, फॉलो मी हेडलैंप्स और रिवर्स मोड शामिल हैं। हीरो इलेक्ट्रिक की मानें तो ऐडी का इस्तेमाल बाजार से सामान लाने, जिम जाने बच्चों को स्कूल छोड़ने और कई सारे कामों के लिए किया जा सकता है।

हीरो इलेक्ट्रिक भारत की लीडिंग इलेक्ट्रिक दो-पहिया निर्माता है जिसका प्रोडक्शन प्लांट लुधियाना में बनाया गया है। कंपनी इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की व्यापक रेंज बेच रही है जिन्हें अनेक किस्म के ग्राहकों की जरूरतों के हिसाब से तैयार किया गया है। देशभर में हीरो इलेक्ट्रिक के 750 सेल्स और सर्विस पॉइंट हैं, इसके अलावा कंपनी ने व्यापक चार्जिंग व्यवस्था ग्राहकों को मुहैया कराई है और रोडसाइड असिस्टेंस के लिए ट्रेंड ईवी मैकेनिक भी बड़ी संख्या में काम कर रहे हैं। कंपनी पिछले 14 साल से काम कर रही है और अब तक 4.5 लाख इलेक्ट्रिक वाहन भारतीय बाजार में बेच चुकी है।

रूस-यूक्रेन के बीच जंग, क्वाड देशों की वर्चुअल बैठक

रूस-यूक्रेन के बीच जंग, क्वाड देशों की वर्चुअल बैठक  

अखिलेश पांडेय         

नई दिल्ली/कीव/ मास्को। 3 फरवरी को भी रूस और यूक्रेन के बीच जंग जारी है। जिसमें अब तक हजारों लोगों की जान गई। हालांकि, सभी देश दोनों को युद्ध रोकने के लिए समझाने की कोशिश कर रहे हैं। इस बीच गुरुवार को क्वाड्रीलैटरल सिक्योरिटी डायलॉग यानी क्वाड देशों की वर्चुअल बैठक हुईं। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिका राष्ट्रपति जो बाइडेन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने हिस्सा लिया। मामले में विदेश मंत्रालय ने कहा कि सितंबर 2021 में वाशिंगटन में क्वाड नेताओं ने बैठक की थी। 

जिसमें कई प्रमुख मुद्दों पर चर्चा हुई, उसी बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए गुरुवार को क्वाड की वर्चुअल बैठक बुलाई गई है। क्वाड लीडर इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में महत्वपूर्ण विकास के बारे में विचारों और आकलन का आदान-प्रदान किया। क्वाड लीडर्स क्वाड के समकालीन और सकारात्मक एजेंडे के हिस्से के रूप में घोषित लीडर्स की पहल को लागू करने के लिए चल रहे प्रयासों की भी समीक्षा करेंगे।

क्वाड क्या है?
क्वाड भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की साझेदारी वाला एक संगठन है। साल 2007 में जापान के तत्कालीन प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने इसका प्रस्ताव रखा था, लेकिन उस वक्त ऑस्ट्रेलिया चीन की दबाव में आ गया, जिस वजह से इसका गठन नहीं हो पाया। 2008 में ऑस्ट्रेलिया क्वाड से बाहर हुआ, लेकिन 2017 में उसकी वापसी हो गई। उस वक्त इसका नाम क्वाड 2.0 रखा गया था, लेकिन इसे अभी आमतौर पर क्वाड नाम से जाना जाता है। क्वाड के गठन का मूल उद्देश्य हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति-स्थिरता स्थापित करना और कानून का पालन सुनिश्चित करना है, लेकिन चीन का मानना है कि चारों देशों ने उसके खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए इसका गठन किया है। भारत हमपर कैसे भरोसा करेगा। अमेरिकी सीनेटर ने पाकिस्तान के नाम पर अपनी ही सरकार को खूब लताड़ा। भारत और ऑस्ट्रेलिया का संयुक्त ‘मिशन चीन’ कार्यक्रम शुरू, इसी महीने राष्ट्रपति बाइडेन से मिलेंगे। पीएम मोदी अमेरिका जैसे ‘दगाबाज दोस्त’ के साथ चीन को चुनौती दे पाएगा भारत। क्यों बढ़ गई मोदी सरकार की चिंता। अमेरिका में भारतीय विदेश मंत्री, चीन-वैक्सीन और व्यापार को लेकर बेहद महत्वपूर्ण समझौते।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-146, (वर्ष-05)
2. शुक्रवार, मार्च 4, 2022
3. शक-1984, फाल्गुन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 14 डी.सै., अधिकतम-26+ डी सै.। बर्फबारी, उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न    सुशील केसरवानी         कौशाम्बी। मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी की अध्यक्षता में उद...