बुधवार, 12 जून 2024

कुवैत: इमारत में लगी आग, 40 भारतीयों की मौत

कुवैत: इमारत में लगी आग, 40 भारतीयों की मौत

अखिलेश पांडेय 
कुवैत सिटी। कुवैत में दक्षिणी इलाके की एक इमारत में लगी आग में 40 भारतीयों की मौत हो गई है। यह भीषण हादसा बुधवार को स्थानीय समयानुसार, तड़के 4 बजे के करीब हुआ। आग जिस इमारत में लगी थी, उसमें बड़ी संख्या में भारतीय मजदूर रह रहे थे। अधिकारियों का कहना है कि मरने वाले लोगों की संख्या में इजाफा हो सकता है। यह आग अल-मंगफ नाम की इमारत में लगी, जहां मजदूर रहते थे। कुवैती मीडिया का कहना है कि कुछ लोगों की मौत आग में जलकर हुई है। वहीं बड़ी संख्या में लोगों की मौत धुंए के चलते दम घुटने से हुई। 
इस हादसे पर पीएम नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने दुख जताया है। हादसे में मृतकों की संख्या इसलिए भी अधिक हो गई क्योंकि आग तड़के 4 बजे लगी, जिस दौरान लोग सो रहे थे। ऐसे में लोगों को बचने का मौका नहीं मिला और उनका नींद में रहने के दौरान ही दम घुट गया। इस बिल्डिंग को NBTC ग्रुप नाम की एक कंपनी ने ले रखा था और इसमें 195 मजदूर रह रहे थे। इनमें से ज्यादातर लोग भारत के केरल, तमिलनाडु और कुछ उत्तर भारत के राज्यों के थे। इस हादसे पर विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि कुवैत में आग लगने की घटना से हम दुखी हैं। अब तक जानकारी मिली है कि 40 लोगों की मौत हुई है और 50 लोगों को अस्पताल में एडमिट कराया गया है। पूरे मामले की जानकारी रखने वाले लोग भी बता रहे हैं कि 40 भारतीय मारे गए हैं। फिलहाल, मृतकों की पहचान पता लगाई जा रही है। इसके अलावा दूतावास ने भी घटनास्थल पर संपर्क किया है और घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है। विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि भारतीय राजूत आदर्श स्वैका भी मौके पर पहुंचे हैं और पूरी जानकारी जुटा रहे हैं। इसके अलावा यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि तेजी से बचाव कार्य चले। विदेश मंत्री ने कहा कि कुवैत में जान खोने वाले भारतीय लोगों के परिजनों के साथ हमारी संवेदनाएं हैं। हम उनकी मदद के लिए तत्पर हैं। घटनास्थल के अलावा भारतीय राजदूत ने तीन अस्पतालों का भी दौरा किया है, जहां पीड़ितों को एडमिट कराया गया है। भारतीय दूतावास का कहना है कि हम कुवैती फायर सर्विस और हेल्थ अथॉरिटीज के संपर्क में हैं। हर जरूरी कार्रवाई की जा रही है। सोशल मीडिया पर जो फुटेज आ रही हैं, उसमें देखा जा रहा है कि कैसे इमारत आग की चपेट में आ गई है और उसे बुझाने के प्रयास किए जा रहे हैं। 
इस बीच कुवैत के होम मिनिस्टर शेख फहाद अल-युसूफ ने पुलिस को आदेश दिया है कि इमारत के मालिक को अरेस्ट कर लिया जाए। 
इसके अलावा उस कंपनी के मालिक को भी गिरफ्तार करने के आदेश दिए गए हैं, जिसके कर्मचारी यहां रह रहे थे। रिपोर्ट के मुताबिक, एक अधिकारी ने कहा कि यह पूरी तरह से लापरवाही का नतीजा है। कंपनी और इमारत के मालिकों के लालच के चलते ऐसा हुआ है। ऐसे लोगों पर तत्काल सख्त एक्शन लिया जाएगा।

आंध्र प्रदेश: नायडू ने 'सीएम' पद की शपथ ली

आंध्र प्रदेश: नायडू ने 'सीएम' पद की शपथ ली

इकबाल अंसारी 
अमरावती। तेलुगु देशम पार्टी चीफ चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। वह चौथे बार राज्य के सीएम बने हैं। उन्हें विजयवाड़ा के गन्नावरम हवाई अड्डे के पास केसरपल्ली आईटी पार्क में आयोजित एक सार्वजनिक समारोह में राज्यपाल एस अब्दुल नजीर ने मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई।
वहीं, पवन कल्याण ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। इसके अलावा टीडीपी के राष्ट्रीय महासचिव नारा लोकेश और केए नायडू ने भी मंत्री पद की शपथ ली है। शपथ समारोह देश की कई हस्तियां शमिल हुईं। इनमें पीएम मोदी भी शामिल हैं। शपथ लेने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नायडू से गले लगाया और उन्हें बधाई दी।
समारोह में शामिल हुए कई नेता
इसके अलावा समारोह में शामिल होने के लिए केंद्रीय मंत्री चिराग पासवान और राम मोहन नायडू भी केसरपल्ली आईटी पार्क पहुंचे। वहीं, एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने भी नायडू के शपथ समारोह में भाग लिया। केंद्रीय मंत्री अमित शाह, जेपी नड्डा, जी किशन रेड्डी और पूर्व उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू भी प्रोग्राम में शामिल हुए।

चिरंजीवी भी प्रोग्राम में हुए शामिल

समारोह में फिल्म अभिनेता और पद्म विभूषण से सम्मानित कोनिडेला चिरंजीवी और अभिनेता रजनीकांत, नंदमुरी बालकृष्ण और तमिलनाडु के पूर्व सीएम ओ पन्नीरसेल्वम भी मौजूद रहे। इससे पहले मंगलवार को चंद्रबाबू नायडू को एनडीए विधायक दल नेता चुना गया था।

लोकसभा चुनाव में टीडीपी का शानदार प्रदर्शन

बता दें कि हाल ही में संपन्न हुए आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनावों में एनडीए गठबंधन ने शानदार प्रदर्शन करते हुए राज्य की 175 में से 164 सीटों पर जीत दर्ज की थी। गठबंधन में शामिल टीडीपी ने सबसे ज्यादा 135 सीटें जीती थीं, जबकि जनसेना ने 21 और बीजेपी ने आठ सीट पर जीत हासिल की थी।

सांसद ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया

सांसद ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे अखिलेश यादव के साथ-साथ अयोध्या के सांसद बने अवधेश पासी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। बुधवार को उत्तर प्रदेश की कन्नौज लोकसभा सीट से लोकसभा चुनाव- 2024 के अंतर्गत सांसद निर्वाचित हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे अखिलेश यादव ने राज्य की करहल विधानसभा सीट से इस्तीफा दे दिया है। 
समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव के अलावा अयोध्या की फैजाबाद संसदीय सीट से सांसद चुने गए अवधेश पासी ने भी उत्तर प्रदेश विधानसभा से इस्तीफा दे दिया है। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा से इस्तीफा देने वाले समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव तथा अवधेश पासी 18 वीं विधानसभा के गठन के लिए वर्ष 2022 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की क्रमशः करहल और मिल्कीपुर विधानसभा सीट से निर्वाचित हुए थे। दोनों ने आज अपनी-अपनी विधानसभा सीटों से इस्तीफा दे दिया है।

1526 खाली पदों पर बंपर वैकेंसी निकाली

1526 खाली पदों पर बंपर वैकेंसी निकाली

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए सुनहरा मौका है। जहां बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) ने 1526 खाली पदों पर बंपर वैकेंसी निकाली है। इसका एक नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। 
नोटिफिकेशन के मुताबिक, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPFs) में असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर (स्टेनोग्राफर/कॉम्बैटेंट स्टेनोग्राफर) और हेड कांस्टेबल (मंत्रिस्तरीय/कॉम्बैटेंट मंत्रिस्तरीय) तथा असम राइफल परीक्षा-2024 में वारंट अधिकारी (निजी सहायक) और हवलदार (क्लर्क) के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू हो गई है। इच्छुक उम्मीद्वार आधिकारिक वेबसाइट rectt.bsf.gov.in पर जाकर 8 जुलाई, 2024 (रात 11.59 बजे तक) तक परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

वैकेंसी डिटेल

इस भर्ती अभियान का लक्ष्य कुल 1526 पदों को भरना है, जिनमें से हेड कांस्टेबल (मंत्रालयिक) पदों के लिए 1283 रिक्तियां और एएसआई (स्टेनोग्राफर) पदों के लिए 243 रिक्तियां शामिल हैं।

एप्लीकेशन फीस

आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को 100 रुपये का भुगतान करना होगा। महिला उम्मीदवारों और अनुसूचित जाति (एससी), अनुसूचित जनजाति (एसटी) और रिजर्वेशन के लिए पात्र भूतपूर्व सैनिकों के उम्मीदवारों को फीस के भुगतान से छूट दी गई है। सभी उम्मीदवारों (छूट प्राप्त उम्मीदवारों सहित) को लागू सर्विस चार्ज का भुगतान करना जरूरी है।

आयु सीमा

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPFs)में निकली इन भर्तियों के लिए अभ्‍यर्थी की उम्र न्यूनतम 18 वर्ष और अधिकतम 25 वर्ष होना आवश्यक है। साथ ही आरक्षित वर्ग के उम्‍मीदवारों को आयुसीमा में छूट दी जाएगी।

शैक्षणिक योग्‍यता

इन सभी में नौकरी के लिए अभ्‍यर्थी का 12वीं पास होना जरूरी है। इसके अलावा स्टेनोग्राफर स्किल भी आनी चाहिए। बीएसएफ समेत इन सुरक्षा बलों में हेड कॉन्स्टेबल बनने के लिए भी उम्‍मीदवारों को 12वीं पास होना चाहिए।

ऐसे करें आवेदन

सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट rectt.bsf.gov.in पर जाना होगा। इसके बाद “यहां आवेदन करें” पर क्लिक करें। फिर डिटेल भरें, जरूरी डाक्यूमेंट अपलोड करें और फीस का भुगतान करें। अब फ़ॉर्म सबमिट करें। अंत में इसे डाउनलोड करें और भविष्य के लिए प्रिंटआउट निकाल कर रख लें।

एक बार फिर अरुणाचल के सीएम बनेंगे खांडू

एक बार फिर अरुणाचल के सीएम बनेंगे खांडू

इकबाल अंसारी 
ईटानगर। पेमा खांडू एक बार फिर अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे। बुधवार को यहां हुई बैठक में खांडू को भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया। बैठक में भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षक रवि शंकर प्रसाद और तरुण चुघ भी शामिल हुए। सूत्रों ने बताया कि खांडू आज ही सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।
सूत्रों के मुताबिक, बीएलपी के नए नेता राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) केटी परनाइक के समक्ष राज्य में अगली सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। नए मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह ईटानगर में राजभवन के दरबार हॉल में आयोजित किया जाएगा। भाजपा के एक नेता ने बुधवार को बताया कि नए मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिपरिषद गुरूवार सुबह 11 बजे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष की मौजूदगी में शपथ लेंगे।

भाजपा लगातार तीसरी बार अरुणाचल प्रदेश की सत्ता में लौटी 

हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में शानदार जीत हासिल करके भाजपा लगातार तीसरी बार अरुणाचल प्रदेश की सत्ता में लौटी है, जिसने 60 सदस्यीय सदन में 46 सीटें हासिल की हैं। 2019 के चुनावों में चार सीटें जीतने वाली विपक्षी कांग्रेस 2024 में 19 सीटों पर चुनाव लड़ी थी, जिसमें से उसे सिर्फ एक सीट ही मिल पाई। भाजपा के नेतृत्व वाली एनईडीए की घटक नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) को पांच सीटें मिलीं, जबकि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए) को क्रमश: तीन और दो सीटें मिलीं। 19 अप्रैल को हुए चुनावों में तीन निर्दलीय उम्मीदवार भी विजयी हुए, जिसके नतीजे 2 जून को घोषित किए गए।

विश्व बाल श्रम निषेध दिवस, गोष्ठी का आयोजन

विश्व बाल श्रम निषेध दिवस, गोष्ठी का आयोजन 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। 'विश्व बाल श्रम निषेध' दिवस के अवसर पर बुधवार को सहायक श्रमायुक्त, प्रयागराज की ओर से एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें विभिन्न स्टेक होल्डर्स, सरकारी तथा गैर सरकारी संगठन, एन्टी हयूमन ट्रैफिकिंग यूनिट, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि एवं श्रम प्रवर्तन अधिकारी उपस्थित रहे। गोष्ठी में बाल श्रम को रोकने के लिए प्रभावी कार्यवाही पर चर्चा की गई।
उक्त गोष्ठी में विभिन्न व्यापारिक प्रतिष्ठानों, ईंट भट्ठों पर बाल श्रम की रोकथाम के लिए जागरूकता अभियान चलाये जाने का निर्देश दिया गया। सहायक श्रम आयुक्त, प्रयागराज ने बताया गया कि जून माह में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग, नई दिल्ली के निर्देशन में वृहद स्तर पर अभियान चलाकर बाल श्रमिकों के शैक्षिक एवं आर्थिक पुनर्वासन के लिए अन्य आनुशांगिक कार्यवाही की जा रही है। चिन्हित बाल श्रमिकों के शैक्षिक एवं आर्थिक पुनर्वासन के लिए अन्य आनुशांगिक कार्यवाही की जा रही है।
चिन्हित बाल श्रमिकों के शैक्षिक एवं आर्थिक पुर्नवासन के लिए अन्य आनुशंगिक कार्यवाही की जा रही है। चिन्हित बाल श्रमिकों एवं परिवारों को विभाग द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं जैसै बाल श्रमिक विद्या योजना से आच्छादित कर उनको शिक्षा से मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। सहायक श्रमायुक्त, प्रयागराज ने यह भी  बताया कि 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों का खतरनाक व्यवसाय में कार्य करना पूरी तरह निषेध है और 14 से 18 आयु वर्ग के किशोर को उनकी विद्यालय जाने की अवधि के बाद कतिपय शर्तों के साथ कार्य कराया जा सकता है।

ओडिशा: माझी ने 'सीएम' के रूप में शपथ ली

ओडिशा: माझी ने 'सीएम' के रूप में शपथ ली

इकबाल अंसारी 
भुवनेश्वर। आदिवासी नेता एवं चार बार के विधायक मोहन चरण माझी ने बुधवार को यहां एक समारोह में ओडिशा के पहले भाजपा मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। शपथग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, कई केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री शामिल हुए। वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पटनागढ़ से विधायक केवी सिंह देव तथा निमापारा विधानसभा क्षेत्र से पहली बार विधायक बनीं प्रभाती परिदा ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली।
पिछली विधानसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक रहे माझी हाल में हुए विधानसभा चुनाव में चौथी बार विधानसभा के लिए चुने गए। उन्होंने क्योंझर विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज की। जनता मैदान में राज्यपाल रबघुबर दास ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। यह पहली बार है कि जब ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार बनी है। 
समारोह में मोदी के अलावा भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, भूपेन्द्र यादव, धर्मेंद्र प्रधान, जुएल ओराम, अश्विनी वैष्णव और अन्य शामिल हुए। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश, गोवा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, असम, गुजरात, छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड सहित भाजपा शासित राज्यों के कई मुख्यमंत्री भी उपस्थित थे। समारोह में ओडिशा के निवर्तमान मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी शामिल हुए। 
भाजपा को पहली बार ओडिशा में स्पष्ट जनादेश मिला। जिससे बीजू जनता दल (बीजद) का 24 साल पुराना शासन खत्म हो गया। राज्य की 147 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा 78 सीट हासिल करके सत्ता में आई, जबकि पटनायक के नेतृत्व वाली बीजद को 51, कांग्रेस को 14, माकपा को एक सीट मिली तथा तीन सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी रहे।

जनसभा: राहुल ने 'पीएम' मोदी पर निशाना साधा

जनसभा: राहुल ने 'पीएम' मोदी पर निशाना साधा 

इकबाल अंसारी 
मलप्पुरम। केरल के मलप्पुरम में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जनता ने प्रधानमंत्री को दिखा दिया है कि संविधान हमारी आवाज है और उन्हें इसे नहीं छूना चाहिए।
वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा, ‘केरल, उत्तर प्रदेश और अन्य सभी राज्यों के लोगों ने प्रधानमंत्री को दिखा दिया है कि वह भारत के लोगों को यह नहीं बता सकते कि वे क्या चाहते हैं ? भारत के लोगों ने प्रधानमंत्री को यह भी बताया कि संविधान हमारी आवाज है, इसे मत छुओ।’

अयोध्या के लोगों ने दिया संदेश

उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि इस देश का इतिहास और परंपरा हमारे संविधान ने संरक्षित कर रखी है। सच्चाई यह है कि प्रधानमंत्री वाराणसी में हारने से बाल-बाल बचे। अयोध्या में भी भाजपा की हार हुई और वे (पीएम मोदी) खुद भी वाराणसी में हार गए होते। अयोध्या के लोगों ने संदेश दिया है कि हम नफरत और हिंसा को बढ़ावा नहीं देते।
उन्होंने आगे कहा कि चुनाव से पहले आपने देखा कि बीजेपी के नेता कह रहे थे कि वे संविधान को फाड़ देंगे। चुनाव के बाद आपने देखा कि प्रधानमंत्री संविधान को ऐसा करते देखा।

लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार केरल पहुंचे राहुल गांधी

बता दें कि लगातार दूसरी बार वायनाड लोकसभा सीट पर भारी अंतर से जीत हासिल करने वाले राहुल गांधी ने बुधवार को उत्तरी केरल पहुंचे, जहां उन्होंनो एक रोड शो किया लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद यह राहुल गांधी का राज्य का पहला दौरा है।
इस रोड शो के दौरान हजारों की संख्या में यूडीएफ कार्यकर्ता और समर्थक एकत्र हुए‌। इससे पहले कोझिकोड हवाई अड्डे पर पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी का भव्य स्वागत किया।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-236, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. बृहस्पतिवार, जून 13, 2024

3. शक-1945, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 44 डी.सै., अधिकतम- 27+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...