सोमवार, 4 सितंबर 2023

मेरठ: आज थानों की संख्या 32 से बढ़कर 33 हुईं

मेरठ: आज थानों की संख्या 32 से बढ़कर 33 हुईं 

सत्येंद्र पंवार 

मेरठ। मेरठ जनपद में आज रात 12 बजे से अब थानों की संख्या 32 से बढ़कर 33 हो गई। नया थाना लोहियानगर रात 12 बजे से पोर्टल पर आ गया। फिलहाल, इस थाने को सेंट फ्रांसिस वर्ल्ड स्कूल के पीछे अस्थाई रूप से बनाया गया है, स्थाई थाना बजौट में बन रहा है। एसएसपी ने सोमवार को थाने में पुलिस कर्मियों की तैनाती कर दी है। रात से काम शुरू हो गया। थाने में कार्य किया जा रहा है।

लोहियानगर थाने में मौहल्ला मोबीननगर, पहलवान नगर, नूरगार्डन, रोशनी कॉलोनी, मलिक नगर, बिस्मिल्लाह कालोनी, जामिया रेजीडेन्सी, अल्बीनगर, सैफनगर, ताज गार्डन, फातिमा गार्डन, न्यू इस्लामनगर, अलीबाग कालोनी शामिल हुई।

इसके अतिरिक्त जाकिर कालोनी, जाकिर कालोनी कच्ची, जाकिर कालोनी चौकी, मौ० आशियाना कालोनी, मौ० उमर नगर, अहमद नगर, रशीद अहमद इकबालनगर, चमड़ापैठ (सभी गली), हुमांयूनगर, सम्पूर्ण पुलिस चौकी बिजली बम्बा क्षेत्र, चौकी बिजली बम्बा क्षेत्र से ग्राम घोसीपुर चन्दौड़ी, हाजीपुर, काजीपुर जाहिदपुर 44वीं पीएसी, पीटीएस, रसूलनगर, जमुनानगर भी इसी थाने के अंतर्गत आए।

चौकी एल ब्लॉक क्षेत्र से मौहल्ले नाले से पश्चिम दिशा की ओर सेल टेक्स कॉलोनी, एल ब्लॉक, भूतनाथ चौराहा, सपना कालोनी और चौकी बिजलीबम्बा के क्षेत्र से ग्राम अल्लीपुर, नरहेडा, सलेमपुर थाना खरखौदा के क्षेत्र से ग्राम पीपलीखेडा, फफूडा, थाना परतापुर के क्षेत्र से ग्राम जैनपुर, बिजोट, जुर्रानपुर, चांदसारा, मौहम्मदपुरगुमी ततीना इस थानाक्षेत्र में शामिल हैं।

3 बच्चों को छोड़कर, 5वें प्रेमी के साथ भागी महिला

3 बच्चों को छोड़कर, 5वें प्रेमी के साथ भागी महिला     

संदीप मिश्र 

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां एक शख्स अपने 3 बच्चों को लेकर इस समय थानों के चक्कर काट रहा है और इंसाफ की गुहार लगा रहा है। इस शख्स की आपबीती सुन पुलिस भी हैरान है, क्योंकि युवक की पत्नी अपने पांचवे प्रेमी के साथ भाग गई है। पति का कहना है कि पत्नी लोगों को झांसा देकर शादी करती है, फिर कुछ दिन साथ रहने के बाद फरार हो जाती है।

दरअसल, यह पूरा मामला अहरौला थाना क्षेत्र के चकब्राभानी गांव का है, जहां का रहने वाला अनिल राजभर चंडीगढ़ में काम करता था। वहां उसकी मुलाकात रीना नाम की युवती से हुई, जिसके बाद दोनों की मुलाकात धीरे-धीरे प्यार में बदली और मामला आगे बढ़ा। पीड़ित पति के मुताबिक, रीना उसके साथ शादी के लिए तैयार हो गई। इसके बाद दोनों ने मंदिर में जाकर शादी कर ली।

अनिल राजभर शादी करने के बाद पत्नी रीना को लेकर अपने गांव आ गया। लगभग 9 साल साथ रहने के दौरान उसके 3 बच्चे भी हुए। पीड़ित पति के मुताबिक, जिंदगी सही चल रही थी और परिवार में सब सही था। मगर अब जो उसके साथ होने वाला था, शायद ही अनिल ने कभी सपने में वो सोचा होगा. अब पीड़ित पति अनिल का कहना है कि उसकी पत्नी रीना लोगों को झांसा देकर शादी करती है और फिर कुछ साल रहने के बाद वह फरार हो जाती है। पति के मुताबिक, उसके चक्कर में आकर ना जाने कितने युवकों की जिंदगी बर्बाद हो गई है।

आधी आबादी के विश्वास को जीतने में सफल: योगी

आधी आबादी के विश्वास को जीतने में सफल: योगी   

संदीप मिश्र 

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले साढ़े छह वर्ष में उत्तर प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ। आज प्रदेश में सुरक्षा का माहौल है। एनसीआरबी के आंकड़े इस बात के गवाह हैं कि उत्तर प्रदेश में हर प्रकृति के अपराध में कमी आई है। उन्होंने कहा कि 2022 में हम कानून व्यवस्था को आधार बनाकर चुनाव के मैदान के गए थे और यह बहुत बड़ी बात है कि कानून व्यवस्था के मामले पर कोई सरकार दो तिहाई बहुमत के साथ रिपीट हो जाए। इसमें बड़ी भूमिका आधी आबादी ने निभाई, जिन्हें सुरक्षा का बेहतर वातावरण मिला। आज महिलाएं प्रदेश में कहीं भी बिना भय के अकेले यात्रा कर सकती हैं। हमारी सरकार आधी आबादी के विश्वास को जीतने में सफल रही।

सीएम योगी सोमवार को होटल ताज में आयोजित एक समाचार पत्र के कार्यक्रम ‘यूपी राइजिंग 10 साल 10 बदलाव’ को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले उत्तर प्रदेश को लेकर लोगों का परसेप्शन था कि यूपी का कुछ नहीं हो सकता, यूपी नहीं सुधर सकता, यूपी एक बीमारू राज्य है जो देश को बीमार कर रहा है। पिछले साढ़े छह वर्षों में हमारी सरकार देश और दुनिया में उत्तर प्रदेश के प्रति व्याप्त इस धारणा को बदलने में सफल रही। आज उत्तर प्रदेश को लेकर लोगों में नकारात्मक सोच नहीं है। आज उत्तर प्रदेश सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ रहा है और यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वजह से संभव हो पाया, जिन्होंने एक प्रकाश पुंज के रूप में उत्तर प्रदेश को नई दृष्टि दी।

पानी के साथ-साथ आग से नहाया शख्स, वायरल

पानी के साथ-साथ आग से नहाया शख्स, वायरल     

सरस्वती उपाध्याय 

सोशल मीडिया पर आए दिन चौंकाने वाले वीडियो वायरल होते रहते हैं। कुछ वीडियो तो ऐसे होते हैं, जिन्हें देखकर हम सोचने पर मजबूर हो जाते हैं कि आखिर ऐसा कैसे हो सकता है? एक ऐसा ही चौंकाने वाला वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसे देखकर हर कोई हैरान है। इस वीडियो में एक शख्स प्रकृति के नियमों की अवहेलना करता हुआ नजर आ रहा है।

इस वीडियो में आप खुद देख सकते हैं कि एक शख्स कैसे आग को खिलौना समझने की गलती कर रहा है। इस वीडियो से प्रकृति के नियमों के उल्लंघन की बात इसलिए उठ रही है, क्योंकि नहाने के लिए हर कोई पानी का इस्तेमाल करता है। पानी के अलावा ऐसी कोई भी चीज नहीं है, जिसके जरिए शरीर को साफ किया जा सके। लेकिन वीडियो में दिख रहे शख्स ने नहाने के लिए पानी के साथ-साथ आग का भी इस्तेमाल किया है। 

वायरल हो रहे इस वीडियो में शख्स को आग से नहाते हुए साफ देखा जा सकता है। वीडियो में ये शख्स पानी के पाइप के नीचे बैठा हुआ नजर आ रहा है। पाइप के भीतर से आग और पानी दोनों ही निकल रहे हैं। उसके नीचे बैठा शख्स बड़े आराम से नहा रहा है। शख्स आग वाले पानी से न सिर्फ अपना सिर धो रहा है, बल्कि वह पूरे शरीर पर भी उसे गिरा रहा है। वहीं उसके पीछे दो व्यक्ति भी खड़े हैं। पाइप के भीतर से आग की लपटें सीधे निकल रही हैं, जबकि पानी नीचे की ओर गिर रहा है।  

बता दें Creepy.org नाम के हैंडल से सोशल मीडिया पर इस वीडियो को शेयर किया गया है। वीडियो के कैप्शन में लिखा गया है, 'नेचुरल गैस+आग+पानी'। ये इस बात की ओर इशारा करता है, कहीं न कहीं इस पानी में किसी तरह की गैस है, जिसे जला दिया गया है। हालांकि पानी की मौजूदगी के बाद भी आग बड़ी आसानी से जल रही है। 

इस वीडियो पर लोगों के कई तरह के कमेंट आए हैं। एक शख्स ने लिखा कि ये व्यक्ति लावा बाथ ले रहा है। एक यूजर ने कमेंट किया कि यहां से नहाने के बाद अगर इस व्यक्ति ने सिगरेट जलाई, तो वह धमाके में उड़ सकता है। वहीं कुछ लोगों ने आग के पानी में नहाने की वजह से शख्स के स्वास्थ्य पर सवाल उठाया है। लोगों का कहना है कि ऐसा करना खतरनाक हो सकता है।

भूतिया हॉस्पिटल, अपने आप होते हैं दरवाजे बंद

भूतिया हॉस्पिटल, अपने आप होते हैं दरवाजे बंद   

इकबाल अंसारी 

बैंकॉक। वैसे तो दुनियाभर में कई ऐसी डरावनी जगह हैं, जिनके बारे में आपने पढ़ा या सुना होगा। कई ऐसे अस्पताल भी हैं जिन्हें भूतिया माना जाता है। ऐसा ही एक भूतिया अस्पताल थाईलैंड में राजधानी बैंकॉक में है। सालों से बंद पड़े उस अस्पताल का नाम नवानाकोर्न हॉस्पिटल है। बता दें इसे धरती पर सबसे भूतिया जगह करार दिया गया है। इसके बारे में कहा जाता है कि इस अस्पताल में ऑपरेटिंग रूम के दरवाजे अपने आप बंद हो जाते हैं। ऐसे ही कई अन्य डरावनी बातें इस अस्पताल के बारे में सामने आ चुकी हैं। 

रिपोर्ट के अनुसार, डैक्स वार्ड नाम के एक एक्सप्लोरर ने हाल में इस अस्पताल का दौरा किया। डैक्स वार्ड जब इस सुनसान हॉस्पिटल में पहुंचे तो उनके शरीर में सिहरन दौड़ गई। उनकी मुलाकात अस्पताल के मालिक से हुई, जिसने उन्हें दो घंटे तक वह भयावह दिखने वाली जगह दिखाई। डैक्स वार्ड बताते हैं कि, ‘जब मैं ऑपरेशन थिएटर में तस्वीरें खींच रहा था, तो मुझे एक झटका लगा तो मैंने देखा दौरान एक दरवाजा किसी तरह अपने आप बंद हो गया।’ वह आगे कहते हैं, ‘मेरे दोस्त के ऑन, जो मलेशिया में एक पैरानॉर्मल इन्विस्टेगर हैं, को भी उसी कमरे में ऐसा ही अनुभव हुआ, जब वह लगभग आधी रात को लाइव स्ट्रीमिंग कर रहा था, तब ऑपरेशन थिएटर का दरवाजा ऐसी ही बंद हो गया था।’

वहीं डैक्स वार्ड बताते हैं कि, ‘यहां तक कि दिन के उजाले में भी उस जगह पर एक बेचैनी महसूस हो रही थी।’ वहीं एक अन्य एक्सप्लोरर ने भी इस अस्पताल के बारे में डरा देने वाली बातें बताईं। उसने बताया कि यह अस्पताल इतना डरावना है कि कई डरावनी फिल्मों के मेकर्स का इसने अपनी ओर ध्यान खींचा है। कई सालों से खाली पड़े इस अस्पताल में अब भी मेडिकल उपकरणों को इधर-उधर पड़े हुए देखा जा सकता है। जिनमें व्हीलचेयर, बेड्स और उपकरण मुख्य तौर से शामिल हैं। 

इस अस्पताल के बारे में ये बताया जाता है कि एक समय में ये अस्पताल काफी फेमस था। लेकिन फंडिंग नहीं मिलने के चलते इसे मरीजों का इलाज बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा। तब से ये अस्पताल बंद पड़ा हुआ है। इसके बाद खाली पड़े इस अस्पताल को धरती पर सबसे भूतिया जगह करार दिया गया है। एक्सप्लोरर्स का दावा है कि उन्होंने इस अस्पताल में गुड़ियों को बात करते सुना है और लाल चमकती आंखें भी देखी हैं।

एलियन जैसे बच्चे को दिया जन्म, हैरतअंगेज

एलियन जैसे बच्चे को दिया जन्म, हैरतअंगेज  

अविनाश श्रीवास्तव 

पूर्णिया। बिहार के पूर्णिया से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। अमर प्रखंड में एक ऐसे बच्चे का जन्म हुआ है, जो बिल्कुल असामान्य है। बता दें देखने में ये एलियन की तरह है। डॉक्टर और नर्स इसे लेकर कह रहे हैं कि यह बच्चा एक खास बीमारी से ग्रसित है जो दो से तीन लाख बच्चों में एक बच्चे ही ऐसे जन्म लेते हैं। इस बच्चे का जन्म अमौर प्रखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में नॉर्मल डिलीवरी से हुआ है। लेकिन ये बच्चा देखने में बिल्कुल एलियन जैसा है। 

जैसे ही इसके बार में पता चला आसपास से हजारों लोग उसे देखने पहुंचने लगे। बच्चे की जो स्थिति है बच्चे का रंग बिल्कुल साफ उजला है। शरीर के चमड़े कई जगह से फटे हुए हैं और आंख बड़ी-बड़ी हैं। मुंह भी अन्य बच्चों की अपेक्षा बड़ा है। बता दें बच्चे 2 दिन पहले शनिवार को जन्म बच्चे का जन्म हुआ है।

इस मामले को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की नर्स अभिलाषा ने बताया 2 सितंबर शनिवार को चौका गांव के रहने वाले अशफाक अपनी पत्नी रुबेदा को लेकर अस्पताल में आए। रात के करीब 1:30 बजे बच्चे का जन्म हुआ । बच्चे का जन्म होते ही सभी लोग डर गए। बच्चे के मुंह से अजीब तरह की आवाज भी निकल रही थी। बच्चे की स्थिति नाजुक देखते हुए डॉक्टरों ने उसे रेफर कर दिया। वहीं इस मामले में सिविल सर्जन डॉक्टर अभय प्रकाश चौधरी ने कहा कि यह कंजेटाईनल एनोमौली नामक बीमारी है। यह जन्मजात होती है और यह क्यों होती है इसकी स्थिति अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाई है। ऐसे बच्चे अधिकतर मानसिक रूप से अस्वस्थ तो होते ही हैं दो से तीन लाख बच्चों में एक ऐसे बच्चे पैदा लेते हैं।

उधर बच्चों के पिता अशफाक और उनके घर वाले परेशान हैं कि बच्चे का इलाज कैसे कराएं। हम लोग तो गरीब हैं। घर का गुजारा भी बहुत मुश्किल से हो पता है। हम लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि हम लोग अब क्या करें।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-322, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. मंगलवार, सितंबर 5, 2023

3. शक-1944, भाद्रपद, कृष्ण-पक्ष, तिथि-पंचमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:06।

5. न्‍यूनतम तापमान- 23 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...