सम-समायिक लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
सम-समायिक लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 24 अप्रैल 2022

टेंपरेचर 40 डिग्री सेल्सियस पार, नो वर्कआउट

टेंपरेचर 40 डिग्री सेल्सियस पार, नो वर्कआउट 
सरस्वती उपाध्याय 
 40-42 डिग्री टेंपरेचर में यदि आपको रनिंग और साइकिलिंग का शौक है तो अलर्ट हो जाएं। तेज गर्मी में रनिंग और साइकिलिंग करने से बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है। अधिक पसीने से बॉडी में इलेक्ट्रोलाइट्स बैलेंस नहीं रहता। तेजी से सोडियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम का लेवल गिरता जाता है। जबकि ये इलेक्ट्रोलाइट्स हार्ट और दूसरे महत्वपूर्ण अंगों के ठीक से काम करने के लिए बहुत जरूरी है। डॉक्टरों का कहना है कि जब आपके शरीर में फ्लूड की कमी होती है तो खून का गाढ़ापन बढ़ जाता है। यानी ब्लड क्लॉट बनने की भी आशंका रहती है। वहीं तेज धूप में हीट स्ट्रोक भी होता है। सामान्य रूप से यदि बॉडी का टेंपरेचर 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच जाए और ये कूल न हो तब ऐसी स्थिति खतरनाक होती है। बेहोश होना, नाक से खून आना, हार्ट बीट बढ़ जाना इसके परिणाम हो सकते हैं।
रांची में साइकिलिंग का एक पॉपुलर ग्रुप है साइक्लोपीडिया। इस ग्रुप के आठ सदस्यों में से एक चंद्रशेखर किंगर बताते हैं कि हाल ही में उनकी टीम ने खरसीदाग से रेमटा लेक तक साइकिलिंग का टारगेट रखा। ये टारगेट पूरा भी किया। सभी सदस्य सुबह 8:00 बजे पहुंच गए। वहां से पास में ही दशम फॉल है। चंद्रशेखर किंगर कहते हैं, “हमने तय किया कि दशम चलेंगे। दशम तक फिर से साइकिलिंग की। वहां कुछ देर रहने के बाद जब रांची के लिए निकले तो हम सबकी हालत खराब हो गई। दशम फॉल से रांची की ओर बढ़ने पर काफी चढ़ाई है। जैसे-जैसे हम आगे बढ़े वैसे-वैसे हमारा शरीर जवाब देते गया। टेंपरेचर 41 डिग्री से ऊपर था। हर आधे घंटे पर हम रुक कर पानी पीते, आराम करते और तब आगे बढ़ते। हमारे पूरे शरीर में नमक और पानी की कमी हो रही थी। बड़ी मुश्किल से हम लोग दिन के 1 बजे रांची पहुंच सके।” चंद्रशेखर बताते हैं कि गर्मी के दिनों में यह न दिखाएं कि हमें अपना बेस्ट देना है, टारगेट को पूरा करना है, बल्कि जितना आपका शरीर बर्दाश्त करता है उतनी है साइकिलिंग करें।
फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. देवेंद्र कुमार बताते हैं कि सुबह 8 से 9 बजे तक रनिंग या साइकिलिंग खत्म कर लेना चाहिए। जब भी बाहर निकलें, पहले उसका शेड्यूल बनाएं। पर्याप्त मात्रा में ओआरएस का घोल लें। साथ में फ्रूट जूस भी पीना चाहिए। आजकल साइकिलिस्ट या रनर अपनी पीठ पर वाटर बैग रखते हैं। साइकिलिस्ट तो वाटर बैग में 10 लीटर पानी तक रखते हैं। इस वाटर बैग से एक पाइप लगा होता है। इस पाइप के जरिए थोड़ा-थोड़ा करके मुंह में पानी ले सकते हैं। यही नहीं, साइकिलिंग करने के बाद वार्मअप करें। स्ट्रैचिंग और थोड़ा बहुत एक्सरसाइज करने से शरीर को थकावट नहीं होगी।
दिल्ली के शादीपुर स्थित आरएलकेसी मेट्रो हॉस्पिटल के पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ. राकेश कुमार यादव कहते हैं, “इस मौसम में लंबी दूरी की रनिंग करने से बचें। साइकिलिंग के लिए उतार-चढ़ाव वाले इलाके में न जाएं। तेज गर्मी की वजह से शरीर डिहाइड्रेट होगा ही। साथ में लंग्स पर भी बुरा असर पड़ेगा।
इलेक्ट्रोलाइट्स शरीर के बेहतर ढंग से फंक्शन करने के लिए जरूरी है। फल और सब्जियां इलेक्ट्रोलाइट्स के सबसे अच्छे सोर्स हैं। कुछ कॉमन इलेक्ट्रोलाइट्स हैं जैसे सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम और बाइकार्बोनेट। शरीर में यदि इलेक्ट्रोलाइट्स असंतुलित है तो इसके कारण शरीर में ऐंठन, बेहोशी, दौरा पड़ना या दिल की धड़कन बढ़ सकती है। बुजुर्गों में इलेक्ट्रोलाइट्स असंतुलन का रिस्क अधिक होता है। इलेक्ट्रोलाइट्स ऐसे केमिकल होते हैं जो पानी में घुलने के बाद मांसपेशियों को रेगुलेट करते हैं। बॉडी को हाइड्रेट करना, ब्लड एसिडिटी और प्रेशर को बैलेंस रखना भी इसका काम है।

गुरुवार, 10 मार्च 2022

साहस, हथेली पर जहरीले सांप को पानी पिलाया

साहस, हथेली पर जहरीले सांप को पानी पिलाया
कविता देवी   
गर्मी शुरू हो रही है। इस मौसम में पानी को अमृत माना जाता है। जब मनुष्य को प्यास लगती है तो कैसे भी अपनी प्यास बुझा लेता है, लेकिन मूक पशु-पक्षी और जानवर गर्मी में प्यास से तड़पते रहते हैं। कुछ लोग गर्मी में अपने घर के बाहर और छतों पर पशु-पक्षियों के लिए पानी रखते हैं। सोशल मीडिया पर एक हैरान कर देने वाला वीडियो सामने आया है। इस वीडियो को देखकर आपका दिल खुश हो जाएगा।
प्यास से तड़प रहा था सांप!
वायरल वीडियो एक सांप से जुड़ा है, जो गर्मी में प्यास से तड़प रहा होता है। इस दौरान एक शख्स अपनी हथेली में पानी लेकर सांप की प्यास बुझाता दिख रहा है। वीडियो देखकर सोशल मीडिया यूजर्स दंग रह गए हैं। लोगों को अपनी आंखों पर भरोसा नहीं हो रहा है कि सांप ऐसे पानी पी सकता है। वीडियो जिसने भी देखा उसे अपनी आंखों पर भरोसा नहीं हुआ।
वीडियो में देखा जा सकता है कि एक सांप पेड़ पर लटके हुए प्यास से तड़प रहा था। भीषण गर्मी में सांप को पीने के लिए कहीं पानी नहीं मिलता है। इसी बीच एक शख्स वहां आता है और बोतल से अपने हथेली में पानी डालकर सांप को पिलाने लगता है। सबसे हैरान करने वाली बात अब होती है। जैसे ही शख्स हथेली में बोतल से पानी डालता है, वैसे ही सांप भी गट-गटकर पानी पीने लगता है‌। सांप को ऐसा पानी पीते देखना काफी हैरान करने वाला है। देखें हैरान करने वाला वीडियो।
49 सेकंड के इस वीडियो को IFS ऑफिसर सुशांत नंदा ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से शेयर किया है। वीडियो शेयर करते हुए उन्होंने कैप्शन में लिखा, ‘गर्मी आ रही है। आपकी कुछ बूंदे किसी की जान बचा सकती है। अपने बगीचे में एक कंटेनर में कुछ पानी छोड़ दें क्योंकि यह कई जानवरों के लिए जीवन और मृत्यु के बीच एक विकल्प हो सकता है। पोस्ट को अब तक हजारों लोगों ने लाइक किया है।

जूसर से चिलचिलाती धूप से राहत मिल सकेगी

जूसर से चिलचिलाती धूप से राहत मिल सकेगी  
सरस्वती उपाध्याय   
गर्मियों की शुरुआत हो चुकी है। ऐसे में, हम आपके लिए 500 रुपये से कम की एक ऐसी डिवाइस के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आप जहां चाहें वहां चुटकियों में गर्मी से राहत पा सकेंगे गर्मियों के मौसम की शुरुआत हो चुकी है और इस बबात का ख्याल भी परेशान कर देता है कि चिलचिलाती धूप से राहत कैसे मिल सकेगी। अगर आपके दिमाग में भी ये ख्याल आता है तो हमारे पास आपके लिए एक 500 रुपये के एक ऐसे डिवाइस की जानकारी है, जिससे आप कहीं भी, कभी भी गर्मी से छुटकारा पा सकते हैं‌। आइए इसके बारे में जानते हैं’।
हम आज हूक्चालेंगे प्लास्टिक हैंड उसब जूसर की बात कर रहे हैं, जिसकी मदद से आप जब चाहें तब चुटकियों में जूस बना सकते हैं। 999 रुपये की कीमत वाले इस जूसर को फ्लिपकार्ट पर 50% के डिस्काउंट पर बेचा जा रहा है। डिस्काउंट के बाद इस पोर्टेबल जूसर की कीमत 499 रुपये हो गई है।
आपको बता दें कि  हूक्चालेंगे प्लास्टिक हैंड उस जूसर को खरीदते समय आप एक बैंक ऑफर के तहत एडिश्नल छूट पा सकते हैं। इस जूसर को खरीदते समय अगर आप फ्लिपकार्ट एक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो आपको 5% का अनलिमिटेड कैशबैक मिलेगा। जिससे जूसर की कीमत 499 रुपये से कम होकर 474 रुपये हो जाएगी। हूक्चालेंगे प्लास्टिक हैंड उसब जूसर एक नहीं बल्कि कई सारे फायदों के साथ आता है। इस पोर्टेबल प्लास्टिक जूसर में स्टेनलेस स्टील के छह ब्लेड्स, एलईडी इन्डिकेटर, ऑन/ऑफ बटन, इन-बिल्टी स्ट्रेनर और चार्जिंग के लिए माइक्रो यूएसबी पोर्ट मिलता है। इस जूसर में 2,200mAh की बैटरी दी गई है और इसे आप पावर बैंक, कार, लैपटॉप या चार्जिंग अडैप्टर, किसी से भी चार्ज कर सकते हैं। इस जूसर को डिशवॉशर में भी धोया जा सकता है। इससे आप न केवल जूस और प्रोटीन शेक बना सकते हैं, बल्कि इससे आप बच्चों का खाना, स्मूदी और फेशियल के लिए पेस्ट भी बना सकते हैं।

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...