बुधवार, 6 अप्रैल 2022

जलवायु-परिवर्तन 'संपादकीय'

जलवायु-परिवर्तन      'संपादकीय'      

शुद्ध-शाकाहारी जीवन सनातन सभ्यता का उद्बोधन हैं। शाकाहार सनातन संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह केवल सनातन संस्कृति की प्रवृति के अनुसार ही लागू होता है‌। यदि, कोई भी व्यक्ति शाकाहार जीवन यापन करने की प्रक्रिया में भागीदारी कर ले, तो संपूर्ण मानव जाति जलवायु-परिवर्तन से निपटने की दिशा में महत्वपूर्ण सहयोग कर सकते हैं। इस निर्णय में राष्ट्र एवं व्यक्तिगत संबंधों से किसी प्रकार का कोई संबंध नहीं होना चाहिए। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उत्पन्न एक समस्या से संबंधित विषय है। यह विषय प्रत्येक धरतीवासी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। जलवायु-परिवर्तन से निपटने की दिशा में एक और वैश्विक पहल आगे कदम बढ़ा रही थी।  
दरअसल, वैश्विक स्तर पर उद्योगों को कार्बन मुक्त करने के एक कार्यक्रम की सालाना बैठक से पहले, भारत में इस कार्यक्रम की प्रारम्भिक सभा का आयोजन हो रहा है। क्लीन एनेर्जी मिनिस्टीरियल (CEM) का इंडस्ट्रियल डीप डीकार्बोनाइजेशन इनिशिएटिव (IDDI) सार्वजनिक और निजी संगठनों का एक वैश्विक गठबंधन है। जो उद्योगों में कम कार्बन सामग्री की मांग को प्रोत्साहित करने के लिए काम करता है। देश की राजधानी, नई दिल्ली, में IDDI की महत्वपूर्ण बैठकों का दौर जारी है। भारत में हो रही यह बैठक सितंबर में अमेरिका के पिट्सबर्ग, में आयोजित होने वाले सीईएम13 बैठक के लिए एक प्रारंभिक सभा है, जहां सरकारें उद्योगों को कार्बन मुक्त करने की अपनी महत्वाकांक्षाओं की घोषणा करेंगी। इनमें हरित सार्वजनिक खरीद नीति प्रतिबद्धताएं और खरीद लक्ष्य निर्धारित करना शामिल है। जो प्रमुख उद्योगों द्वारा तेजी से प्रतिक्रिया देने में मदद कर सकते हैं। 
वैश्विक स्तर पर कुल ग्रीनहाउस गैस (GHG) एमिशन का लगभग तीन-चौथाई बिजली क्षेत्र से आता है। भारी उद्योग से कार्बन एमिशन लगभग 20 से 25 फीसद होता है। विज्ञान कहता है कि जलवायु-परिवर्तन के सबसे बुरे प्रभावों से बचने के लिए, हमें 2030 तक नेट ज़ीरो एमिशन तक पहुंचना होगा। इसके लिए उद्योग सहित सभी क्षेत्रों से गहन डीकार्बोनाइजेशन की आवश्यकता होती है। IDDI की यह बैठक इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (आईपीसीसी) की उस मिटिगेशन रिपोर्ट के ठीक बाद आती है। जिसमें उद्योगों के लिए डीकार्बोनाइजेशन की दिशा में तेजी से कदम उठाने की आवश्यकता को रेखांकित किया।   
उदाहरण के लिए, स्टील उद्योग को तेजी से डीकार्बोनाइज करने की जरूरत है। अगर हमें ग्लोबल वार्मिंग को 1.5 डिग्री सेल्सियस से नीचे रखना है। वार्षिक वैश्विक इस्पात उत्पादन लगभग 2बीएमटी है और कुल जीएचजी में 7 प्रतिशत से अधिक का योगदान देता है। स्टील क्षेत्र के उत्सर्जन में 2030 तक कम से कम 50% और 2050 तक 95% तक 2030 के स्तर पर गिरने की आवश्यकता है। ताकि 1.5 डिग्री ग्लोबल वार्मिंग मार्ग के साथ संरेखित किया जा सके। हालांकि, वर्तमान भविष्यवाणियां बताती हैं कि उभरती अर्थव्यवस्थाओं में उस वृद्धि के बहुमत के साथ 2050 तक स्टील की मांग सालाना 2.5 बीएमटी से अधिक हो जाएगी। ध्यान रहे कि भारत जैसे देशों में, विकास की जरूरतें अत्यंत महत्वपूर्ण हैं और इनसे समझौता नहीं किया जा सकता है। 
भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक है और भारत में उत्पादित अधिकांश इस्पात का उपयोग घरेलू स्तर पर किया जाता है। आईईए के अनुसार, 2050 तक विश्व स्तर पर उत्पादित स्टील का लगभग पांचवां हिस्सा भारत से आने की उम्मीद है, जबकि आज यह लगभग 5% है। भारत के लगभग 80 प्रतिशत बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जाना बाकी है, जिसका अर्थ है कि स्टील जैसे कठिन क्षेत्रों को डीकार्बोनाइजेशन लक्ष्य निर्धारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ताकि भारत को अपने 2030 और न्यूजीलैंड के लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिल सके। भारत पहले से ही दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक देश है और उम्मीद है कि 2019 में यूरोपीय संघ के कुल उत्पादन के दोगुने के बराबर राशि से 2050 तक अपने वार्षिक उत्पादन की मात्रा में वृद्धि होगी। कोविड -19 संकट देश के इस्पात उद्योग को प्रभावित कर रहा है।  
चूंकि इस्पात निर्माण, मोटर वाहन और यहां तक कि नवीकरणीय क्षेत्रों के लिए रीढ़ की हड्डी है, इसलिए उद्योग को कार्बन मुक्त करना उत्सर्जन को कम करने की कुंजी है। भारत यह सुनिश्चित करने में मदद कर सकता है कि उसका स्टील उद्योग एक स्थायी भविष्य के लिए ट्रैक पर है। जो भारत को आईडीडीआई के तहत स्टील सार्वजनिक खरीद लक्ष्यों को 30-50% तक कम करके अपने शुद्ध शून्य लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करता है। 
महिंद्रा ग्रुप के चीफ सस्टेनेबिलिटी ऑफिसर, अनिर्बान घोष कहते हैं, “अगर हमें नेट जीरो लक्ष्यों को पूरा करना है तो स्टील डीकार्बोनाइजेशन के लिए एक मार्ग को सुरक्षित करने की जरूरत है। ऑटो उद्योग के लिए, ग्रीन स्टील भारत के लिए शून्य कार्बन गतिशीलता समाधान बनाने में उत्प्रेरक हो सकता है। हम नेट ज़ीरो भविष्य बनाने के लिए भारत सरकार की प्रतिबद्धता का स्वागत करते हैं और हमें विश्वास है कि CEM-IDDI में भारत का नेतृत्व हमें प्रतिबद्धता का सम्मान करने में मदद करेगा।” 
यूरोपीय संघ के कार्बन सीमा समायोजन तंत्र (सीबीएएम) जैसे वैश्विक व्यापार नियम यूरोपीय बाजार में कार्बन सघन स्टील को और अधिक महंगा बना देंगे। इसी तरह, अमेरिका के प्रेसिडेंट बाइडेन की बाय क्लीन टास्क फोर्स यह सुनिश्चित करेगी कि अमेरिकी बाजार में ग्रीन स्टील अधिक प्रतिस्पर्धी हो और इसके परिणामस्वरूप भारतीय स्टील कम प्रतिस्पर्धी हो। 
इस क्रम में प्रार्थना बोरा, निदेशक, सीडीपी-इंडिया, ने कहा, “इस क्षेत्र को डीकार्बोनाइज़ करने के लिए तकनीकी व्यवहार्यता और समाधानों के संदर्भ में चुनौतियाँ ज़रूर हैं और उनके बारे में स्टील कंपनियां भी अवगत हैं। लेकिन भारतीय स्टील कंपनियों को अब एक साथ काम करना शुरू करना चाहिए और बेस्ट प्रेक्टिसेज़ को साझा करना चाहिए। क्योंकि, अब यह समय की मांग है।"

चंद्रमौलेश्वर शिवांशु 'निर्भयपुत्र' 

गाजियाबाद: ईडी ने सीए के फ्लैट पर छापेमारी की

गाजियाबाद: ईडी ने सीए के फ्लैट पर छापेमारी की    

अश्वनी उपाध्याय         
गाजियाबाद। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को गाजियाबाद में एक चार्टेड अकाउंटेंट (सीए) के फ्लैट पर छापेमारी की है। यह फ्लैट इंदिरापुरम थाना क्षेत्र की शिप्रा रिगलिया हाइट्स में आठवें फ्लोर पर है। ईडी के पहुंचने से पहले ही इस फ्लैट पर ताला लगा हुआ है। फ्लैट मालिक संजय त्रेहान हैं, जिनका एक बेटा कनाडा में है और दूसरा बेटा समर त्रेहान सीए है। 
जानकारी के अनुसार, समर त्रेहान इसी फ्लैट से अपना सारा काम संभालते हैं। उनके पास कई धनाढय लोगों और बड़ी फर्मों के खाते हैं। सूत्रों के अनुसार, ईडी को जांच में एक ऐसी फर्म मिली, जिसने अपना करोड़ों रुपया ब्लैक से व्हाइट किया था और जांच पड़ताल करने पर सीए समर त्रेहान का नाम सामने आया। जिसके बाद ईडी की एक टीम बुधवार सवेरे गाजियाबाद में समर त्रेहान के फ्लैट पर पहुंची है। बताया जा रहा है कि ईडी को फ्लैट पर ताला लगा हुआ मिला है। 
ऐसी आशंका जताई जा रही है कि सीए और उसके परिवार को ईडी टीम के आने की भनक पहले ही लग गई थी। फिलहाल ईडी टीम मौके पर है। ऐसा भी हो सकता है कि फ्लैट का ताला तोड़कर छानबीन शुरू की जाए। स्थानीय लोगों ने बताया कि दो दिन पहले तक समर त्रेहान को इसी फ्लैट पर देखा गया था। फिलहाल इस पूरे मामले में ईडी ने कोई अधिकारिक बयान अभी तक जारी नहीं किया है।

लाइसेेस-पंजीकरण कराने हेतु सभागार में बैठक

लाइसेेस-पंजीकरण कराने हेतु सभागार में बैठक    

संदीप मिश्र         

कुशीनगर। बुधवार को अपर जिलाधिकारी देवी दयाल वर्मा की अध्यक्षता में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग तथा जिला बेसिक शिक्षा विभाग के बीच खाद्य सुरक्षा के दृष्टिगत विद्यालय में दिये जाने वाले मध्यान्ह् भोजन (एम.डी.एम.) के लाइसेेस/पंजीकरण कराने हेतु कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक की गई। सहायक जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में कुल-2845 विद्यालय संचालित है परिषदीय विद्यालय-2628, समाज कल्याण विद्यालय-26, इण्टर कालेज, 55, वित्त पोषित-54 मदरसा-25 जनपद में संचालित है, जिसमें मिड डे मील. कार्यक्रम के अन्तर्गत भोजन का वितरण किया जाता है। उक्त विद्यालयों का खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम के अन्तर्गत पंजीकरण किया जाना अनिवार्य है।

बैठक में यह बात प्रकाश में आई कि अभी तक कुल-149 विद्यालय पंजीकरण से आच्छादित है। उक्त पंजीकरण की कमजोर प्रगति को अपर जिलाधिकारी महोदय द्वारा खेद जनक बताया गया। एवं यह निर्देशित किया गया कि दिनांक 07.04.2022 एवं दिनांक 12.04.2022 विकास खण्डों पर स्थित ब्लाक संसाधन केन्द्र पर कैम्प आयोजित कर उक्त पंजीकरण कार्य को युद्ध स्तर पर संचालित किया जाय ताकि पंजीकरण कार्यक्रम दिनांक 25.04.2022 तक शत्प्रतिशत सम्पन्न किया जा सकें।

रायबरेली: 'भाजयुमो' के ब्लॉक कार्यालय का उद्घाटन

रायबरेली: 'भाजयुमो' के ब्लॉक कार्यालय का उद्घाटन 


संदीप मिश्र            

रायबरेली। भारतीय जनता पार्टी के 42वें स्थापना दिवस के अवसर पर कस्बे के शिवगढ़ रोड पर भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के ब्लॉक कार्यालय का उद्घाटन किया गया। उद्घाटन में युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष निखिल पांडेय एवं हरचंदपुर ब्लॉक प्रमुख पियूष प्रताप सिंह के द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।

आपको बता दें कि, बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए निखिल पांडेय ने कहा कि, चुनावों के दौरान उत्तर प्रदेश की जनता ने फिर एक बार भाजपा पर अपना विश्वास जताया है। मोदी एवं योगी के नेतृत्व को जनता ने भरपूर योगदान दिया है। इसलिए अब पार्टी के युवाओं की विशेष जिम्मेदारी बनती है कि, वह जनमानस की आकांक्षाओं पर खरे उतरे और भविष्य के लिए एक मजबूत नीव तैयार करें।

ब्लाक प्रमुख पियूष प्रताप सिंह ने कहा कि, मौजूदा समय में जहां कई देश भुखमरी की कगार पर है। लोग एक एक 1 किलो चावल के लिए तरस रहे हैं‌। वही भारत एक ऐसा देश है, जो अपने यहां के निवासियों के लिए मुफ्त में अनाज दे रहा है। हमारे प्रधानमंत्री मोदी का यह प्रयास है कि, विकास की रोशनी गांव के उस व्यक्ति तक पहुंचे, जो आखिरी पायदान पर बैठा हुआ है। उनका सपना तभी पूरा होगा, जब युवा आम जनमानस के बीच में जाएगा, और सरकार की उपलब्धियों से उन्हें अवगत कराने के साथ-साथ उनकी समस्याओं का निराकरण कराएगा।

पेयजल एवं स्वच्छता मिशन के सम्बन्ध में बैठक

पेयजल एवं स्वच्छता मिशन के सम्बन्ध में बैठक      

भानु प्रताप उपाध्याय           

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह की अध्यक्षता में जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत पेयजल एवं स्वच्छता मिशन के सम्बन्ध में क्लैक्ट्रेट स्थित लोकवाणी सभागार में एक बैठक आयोजित की गयी।उक्त बैठक में जल निगम के अधिशासी अभियन्ता प्रवीण कुट्टी द्वारा जनपद की समस्त ग्राम पंचायतों में पानी की टंकी के निर्माण एवं निर्मित पानी की टंकी को सुचारु कराये जाने हेतु समस्त कंपनी द्वारा किये जा रहे कार्याे का विवरण जिलाधिकारी के समक्ष रखते हुए समीक्षा की गयी।

अधिशासी अभियन्ता द्वारा कंपनियों के समक्ष आ रही परेशानियों को जिलाधिकारी  के समक्ष रखा जिसका तत्काल रुप से निस्तारण करते हुए जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन एवं समस्त उपजिलाधिकारी को निर्देशित किया कि जल जीवन मिशन प्रधानमंत्री की महत्वकांक्षी योजना है। जिसकी प्रधानमंत्री द्वारा स्वंय समीक्षा की जाती है। अतः उक्त योजना पर विशेष ध्यान रखतें हुए समस्त क्षेत्रों में टंकी निर्माण हेतु जमीनों की व्यवस्था की जाये तथा डीपीआर जल्द से जल्द तैयार कर कार्य आरम्भ किया जायें। साथ ही कंपनी के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी दिये गये क्षेत्रों में कार्य आरम्भ करें तथा निर्धारित समय पर कार्य पूर्ण करें एवं बिना किसी दबाव के कार्य करें तथा सभी सामान अच्छी गुणवत्ता का उपयोग किया जाये। जिसकी जांच जल निगत के अधिकारियों से करायी जायेगी। साथ ही प्रशिक्षण कंपनीयों को निर्देशित किया कि स्वच्छ जल के संबंध में जल्द से जल्द कार्यक्रम की रुपरेखा तैयार कर प्रशिक्षण आरम्भ किया जायें उक्त बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र बहादूर सिंह सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहें।

9.53 करोड़ की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश

9.53 करोड़ की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश  

संदीप मिश्र         

मैनपुरी। यूपी के मैनपुरी जेल में बंद हत्यारोपी बसपा नेता अनुपम दुबे की 9.53 करोड़ रुपये की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश दिया गया है। दरअसल, राजस्व विभाग ने अनुपम दुबे, उसके भाई अनुराग दुबे और दो अन्य सहयोगियों की कुल 19 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति चिन्हित की है। जिसके बाद जिलाधिकारी ने चरों की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश दिया है। बता दें कि अनुपम दुबे के खिलाफ पुलिस के एक इंस्पेक्टर की हत्या समेत 46 मुक़दमे दर्ज हैं।

गौरतलब है कि फतेहपुर के कासरट्टा मोहल्ला निवासी अनुपम दुबे ने 14 मई 1996 को ट्रेन में पुलिस इंस्पेक्टर रामनिवास यादव की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके अलावा अनुपम दुबे के खिलाफ 46 मुक़दमे दर्ज है। इसी तरह भाई अनुराग दुबे के खिलाफ 10, सहयोगी अभिषेक रस्तोगी और पंकज रस्तोगी के खिलाफ भी दो-दो मुक़दमे दर्ज है। दरअसल, प्रभारी निरीक्षक मऊदरवाजा ने चारों के खिलाफ गिरोहबंद एवं समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम के अंतर्गत अवैध रूप से अर्जित की गयी और उनके परिजनों की चल अचल संपत्ति के जब्तीकरण के बारे में जिला मजिस्ट्रेट को रिपोर्ट दी थी। जिसके बाद जिलाधिकारी की ओर से सभी की संपत्तियों की कुर्की के किए गए हैं।

राजस्व विभाग के मुताबिक बसपा नेता अनुपम दुबे के पास 9 करोड़ 53 लाख 27 हजार 930 रुपये, बसपा नेता के भाई अनुराग दुबे उर्फ डब्बन के पास 9 करोड़ 43 लाख 12 हजार 91 रुपये, अभिषेक रस्तोगी उर्फ सोनू और पंकज रस्तोगी की संपत्ति 50 लाख 82 हजार 600 रुपये आंकी गई है। जिलाधिकारी के आदेश के बाद जल्द ही चरों की 19 करोड़ से ज्यादा की चल-अचल संपत्ति कुर्क की जाएगी।

मासूमों की जान लेने से कोई समाधान नहीं: मंत्री

मासूमों की जान लेने से कोई समाधान नहीं: मंत्री   

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। विदेश मंत्री ने कहा कि बूचा में आम नागरिकों की हत्या एक निंदनीय अपराध है। यह एक गंभीर मसला है। इसकी स्वतंत्र एजेंसी द्वारा जांच होनी चाहिए। उन्हाेंने कहा कि यूक्रेन संघर्ष का वैश्विक और भारत की अर्थव्यवस्था पर काफी प्रभाव पड़ा है। रूस-यूक्रेन युद्ध और बूचा नरसंहार पर बुधवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर ने लोकसभा में बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि हम पहले दिन से संघर्ष के खिलाफ हैं। हमारा मानना है कि खून बहाकर और मासूमों की जान लेने से कोई समाधान नहीं निकलता है। कूटनीति ही किसी भी विवाद का सही हल है। हम यूक्रेन की हर संभव मदद कर रहे हैं। यूक्रेन में भारत किसकी वकालत कर रहा है, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि भारत अपने हितों को देखते हुए  फैसला ले रहा है। 
विदेश मंत्री ने कहा कि बूचा में आम नागरिकों की हत्या एक निंदनीय अपराध है। यह एक गंभीर मसला है। इसकी स्वतंत्र एजेंसी द्वारा जांच होनी चाहिए। उन्हाेंने कहा कि यूक्रेन संघर्ष का वैश्विक और भारत की अर्थव्यवस्था पर काफी प्रभाव पड़ा है। ऐसे में हर देश अपनी नीतियां बदल रहा है और इस युद्ध के परिणामों का आंकलन कर रहा है। हम भी तय कर रहे हैं कि हमारे लिए राष्ट्रीय हित में सबसे अच्छा क्या है। उन्होंने कहा कि, ऐसे समय में जब ऊर्जा की लागत बढ़ रही है। हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि, भारत में आम नागरिकों पर ज्यादा बोझ न पड़े। 
भारत की ओर से बार-बार एडवाइजरी जारी करते रहने पर विदेश मंत्री ने कहा कि, जब युद्ध की आशंका गहरा रही थी। हम यूक्रेन में भारतीयों के लिए लगातार एडवाइजरी जारी कर रहे थे। अगर हमारी एडवाइजरी अप्रभावी थे, तो युद्ध शुरू होने से पहले चार हजार लोग भारत क्यों लौट आए। हमने जिस तरह से 20 हजार लोगों को यूक्रेन से निकाला है, ऐसा कोई भी देश नहीं कर पाया। हम दूसरों के लिए प्रेरणा बनें। उन्होंने कहा कि, छात्रों की मानसिकता को समझने की जरूरत है। जब हम एडवाइजरी जारी कर रहे थे तब सरकारों और विश्वविद्यालयों को भरोसा था कि स्थितियां सुधर जाएंगी। लोग भी यही सोच रहे थे। छात्र अपने मित्रों से बात कर रहे थे कि, जब मैं नहीं जा रहा तो वह क्यों जा रहे हैं। 

पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने मनाया 'स्थापना दिवस'

पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने मनाया 'स्थापना दिवस'  

संदीप मिश्र             

कुशीनगर। बुधवार को भाजपा का स्थापना दिवस धूमधाम से पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने मनाया। इस अवसर पर कुशीनगर विधानसभा के पार्टी कार्यालय में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।साथ ही एलईडी लगाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन को सुना गया। इस अवसर पर भाजपा नेताओं ने अपने-अपने घरों पर पार्टी का झंडा भी लगाया। 42 वें स्थापना दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल माध्यमों से कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। कुशीनगर विधानसभा के सभी मंडलों में भाजपा कार्यकर्ताओं ने बूथ स्तर तक एलईडी लगाकर संबोधन को सुना। अपने घरों पर झंडे लगाए। 

पार्टी कार्यालय में भी सभी कार्यकर्ताओं ने भाजपा का ध्वज फहराया। इसके पश्चात बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाकर कार्यक्रम आयोजित किया गया। कुशीनगर विधानसभा 333 के पार्टी कार्यालय में भारत माता, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अनिल प्रताप राव ने किया। लाइव प्रसारण के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं के कारण ही भाजपा आज दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन सकी है। साथ ही डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान की शक्ति का भी उल्लेख किया गया। प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद पार्टी नेताओं ने कार्यकर्ताओं को भाजपा के 42 वर्ष पूरे होने पर बधाई दी‌।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के1,086 नए मामलेें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के1,086 नए मामलेें    


अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। देश में जानलेवा कोरोना वायरस महामारी के नए मामलों में बुधवार को बढ़ोतरी दर्ज की गई है‌। देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 1,086 नए मामलें सामने आए हैं और 71 लोगों की मौत हो गई। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, कल देश में 1 हजार 198 लोग ठीक हुए, जिसके बाद अब एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 11 हजार 871 हो गई है‌।

वहीं, इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 5 लाख 21 हजार 487 हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक, अभी तक 4 करोड़ 24 लाख 97 हजार 567 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोरोना वायरस रोधी टीकों की 185 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, स्वास्थ्यकर्मियों, कोरोना योद्धाओं और 60 साल से ज्यादा आयु वाले अन्य बीमारियों से ग्रस्त लोगों को 2 करोड़ से ज्यादा (2,37,72,909) एहतियाती टीके लगाए गए है। देश में कोविड रोधी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी, 2021 से शुरू हुआ और पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया‌। वहीं, कोरोना योद्धाओं के लिए टीकाकरण अभियान दो फरवरी से शुरू हुआ था।

'नवरात्रि' का छठवां दिन, माता कात्यायनी की पूजा

'नवरात्रि' का छठवां दिन, माता कात्यायनी की पूजा   

सरस्वती उपाध्याय        
बृहस्पतिवार को चैत्र नवरात्रि का छठवां दिन है। नवरात्रि के छठवें दिन मां दुर्गा के स्वरूप, माता कात्यायनी की पूजा की जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दिन मां कात्यायनी की विधिवत पूजा करने से मनोकामना पूरी होती है। इसके साथ ही विवाह में आने वाली बाधाओं से मुक्ति मिलती है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, मां कात्यायनी ने महिषापुर का वध किया था। असुर महिषासुर का वध करने के कारण इन्हें दानवों, असुरों और पापियों का नाश करने वाली देवी कहा जाता है। आइए जानते हैं, मां कात्यायनी की पूजा-विधि, मंत्र, आरती और भोग।

मां कात्यायनी का स्वरूप...

मां कात्यायनी आकर्षक स्वरूप की हैं। मां का शरीर सोने की तरह चमकीला है। मां की चार भुजाएं हैं। मां की सवारी सिंह यानी शेर है। मां के एक हाथ में तलवार और दूसरे हाथ में कमल का पुष्प सुशोभित है। मां के दूसरे दोनों हाथ वर और अभयमुद्रा में हैं।

मां कात्यायनी का भोग...

मां कात्यायनी को भोग में शहद अर्पित करना चाहिए। मान्यता है कि मां को शहद अतिप्रिय है।

मां कात्यायनी प्रिय पुष्प व रंग...

नवरात्रि के छठवें दिन मां दुर्गा को लाल रंग का पुष्प अर्पित करना चाहिए। मां को खासकर लाल गुलाब बहुत प्रिय है। ऐसे में पूजा के दौरान लाल पुष्प अर्पित करना चाहिए।  

मां कात्यायनी प्रिय पुष्प व रंग...

नवरात्रि के छठवें दिन मां दुर्गा को लाल रंग का पुष्प अर्पित करना चाहिए। मां को खासकर लाल गुलाब बहुत प्रिय है। ऐसे में पूजा के दौरान लाल पुष्प अर्पित करना चाहिए।

मां कात्यायनी पूजा-विधि...

सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं और फिर साफ- स्वच्छ वस्त्र धारण कर लें।
मां की प्रतिमा को शुद्ध जल या गंगाजल से स्नान कराएं।
मां को पीले रंग के वस्त्र अर्पित करें।
मां को स्नान कराने के बाद पुष्प अर्पित करें।
मां को रोली कुमकुम लगाएं। 
मां को पांच प्रकार के फल और मिष्ठान का भोग लगाएं।
मां कात्यायनी को शहद का भोग अवश्य लगाएं।
मां कात्यायनी का अधिक से अधिक ध्यान करें।
मां की आरती भी करें।

मां कात्यायनी मंत्र...

या देवी सर्वभूतेषु मा कात्यायनी रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:॥

मां कात्यायनी की आरती...

जय-जय अम्बे जय कात्यायनी,
जय जगमाता जग की महारानी।
बैजनाथ स्थान तुम्हारा,
वहा वरदाती नाम पुकारा।
कई नाम है, कई धाम है,
यह स्थान भी तो सुखधाम है।
हर मंदिर में ज्योत तुम्हारी,
कही योगेश्वरी महिमा न्यारी।
हर जगह उत्सव होते रहते,
हर मंदिर में भगत हैं कहते।
कत्यानी रक्षक काया की,
ग्रंथि काटे मोह माया की।
झूठे मोह से छुडाने वाली,
अपना नाम जपाने वाली।
बृहस्‍पतिवार को पूजा करिए,
ध्यान कात्यायनी का धरिए।
हर संकट को दूर करेगी,
भंडारे भरपूर करेगी।
जो भी मां को 'चमन' पुकारे,
कात्यायनी सब कष्ट निवारे।।

2 भाईयों की हिरासत अवधि 11 अप्रैल तक बढ़ाईं

2 भाईयों की हिरासत अवधि 11 अप्रैल तक बढ़ाईं   

कविता गर्ग               
मुंबई। यहां की एक विशेष धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) अदालत ने बुधवार को नागपुर के वकील सतीश ऊके और उनके भाई प्रदीप की हिरासत अवधि 11 अप्रैल तक बढ़ा दी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इन दोनों को धनशोधन मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किया था। नागपुर के पार्वती नगर इलाके में वकील के आवास पर छापेमारी के बाद पिछले हफ्ते पीएमएलए के तहत दोनों भाईयों को गिरफ्तार किया गया था।
आरोपियों को बुधवार को उनकी प्रारंभिक रिमांड अवधि समाप्त होने पर विशेष न्यायाधीश एम. जी. देशपांडे के समक्ष पेश किया गया। मामले की आगे की जांच के लिए दोनों की हिरासत 11 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने दावा किया है कि इन दोनों के खिलाफ धनशोधन का मामला नागपुर में लगभग 1.5 एकड़ जमीन की खरीद से जुड़ा है और जमीन की खरीद के लिए इस्तेमाल किए गए दस्तावेज कथित तौर पर जाली थे।
ईडी ने दावा किया है कि खरीदी गई जमीन भाइयों के नाम पर थी। वकील ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं विशेषकर देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ अदालतों में कई याचिकाएं दायर की हैं। अपने एक आवेदन में, ऊके ने अपने चुनावी हलफनामे में आपराधिक मामलों का ‘‘खुलासा नहीं करने’’ के लिए फडणवीस के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही का अनुरोध किया था।
वकील ने बंबई उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ में याचिका दायर कर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के न्यायाधीश बी. एच. लोया की संदिग्ध परिस्थितियों में और असमय मृत्यु की पुलिस जांच का आदेश देने का भी आग्रह किया था। न्यायाधीश लोया, 2014 के सोहराबुद्दीन शेख कथित फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे। 
ऊके, कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के प्रमुख नाना पटोले के भी वकील हैं, जिन्होंने (कांग्रेस नेता ने) कथित तौर पर अवैध रूप से अपना फोन टैप किये जाने को लेकर यहां एक दीवानी अदालत में भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी एवं राज्य खुफिया विभाग की पूर्व प्रमुख रश्मि शुक्ला एवं अन्य के खिलाफ 500 करोड़ रुपये का मानहानि का मुकदमा दायर किया था।

प्रवर्तक की जमानत याचिका पर 7 अप्रैल को फैसला

प्रवर्तक की जमानत याचिका पर 7 अप्रैल को फैसला  

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। उच्च न्यायालय ने बुधवार को कहा कि वह कुछ व्यक्तियों को विमानन कंपनी के शेयर के हस्तांतरण में कथित तौर पर की गई धोखाधड़ी के मामलें में स्पाइसजेट के प्रवर्तक अजय सिंह की अग्रिम जमानत याचिका पर सात अप्रैल को फैसला सुनाएगा। न्यायमूर्ति अनूप कुमार मेंदीरत्ता ने सिंह का पक्ष रख रहे वकील, शिकायतकर्ता और दिल्ली पुलिस की दलीलें सुनने के बाद अग्रिम जमानत याचिका पर आदेश सुरक्षित रख लिया।
उन्होंने कहा कि यह देखा जाना चाहिए कि आपराधिक इरादा बनता है या नहीं। हम याचिका पर फैसला बृहस्पतिवार तक के लिए सुरक्षित रखते हैं। निचली अदालत ने बीते महीने सिंह की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। अदालत ने कहा था कि मामले के तथ्यों और परिस्थितियों के अलावा अपराध की गंभीरता को देखते हुए उसे सिंह को राहत देने के लिए पर्याप्त आधार नहीं मिला। सिंह के वकील सिद्धार्थ लूथरा ने उच्च न्यायालय के समक्ष दलील दी है कि स्पाइसजेट के प्रवर्तक को हिरासत में लेकर पूछताछ करने की जरूरत नहीं है।
उन्होंने कहा कि सिंह भागने वाले नहीं हैं और वह जांच में पूर्ण सहयोग कर रहे हैं। लूथरा ने यह भी कहा कि सिंह ने 10 लाख रुपये की राशि भी वापस कर दी है, जो शिकायतकर्ता द्वारा उन्हें शेयरों के हस्तांतरण के लिए दी गई थी। उन्होंने बताया कि एक मध्यस्थता न्यायाधिकरण के समक्ष अलग से लंबित विवाद के कारण शेयर हस्तांतरण पर अमल नहीं हो सका और वह जांच के दायरे में आए शेयर को ‘अलग एवं सुरक्षित’ रखने के लिए तैयार हैं। वहीं, शिकायतकर्ता की ओर से पेश वकील विकास पाहवा ने सिंह की अग्रिम जमानत याचिका का विरोध किया।
उन्होंने कहा कि मौजूदा मामला बेहद ‘गंभीर’ है और सिंह उसी दिन फरार हो गए थे, जब निचली अदालत ने उनकी अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी थी। इस पर, लूथरा ने कहा कि सिंह किसी जरूरी काम के सिलसिले में विदेश गए थे और वह वापस आने का इरादा रखते हैं। दिल्ली पुलिस ने भी सिंह की अग्रिम जमानत याचिका का यह कहते हुए विरोध किया कि उनके खिलाफ अन्य आपराधिक मामले भी लंबित हैं और मौजूदा केस में उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया गया है।मौजूदा मामले में दिल्ली के एक व्यवसायी और उसके परिजनों ने आरोप लगाया है कि उनके और आरोपी के बीच एक शेयर-खरीद समझौता था और उन्होंने स्पाइसजेट के 10 लाख शेयर के लिए आरोपी को 10 लाख रुपये का भुगतान किया था। व्यवसायी ने कहा कि हालांकि, इन शेयर को स्थानांतरित नहीं किया गया, जिसके कारण सिंह के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई।

'एनएलएफबी' के 6 उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण किया

'एनएलएफबी' के 6 उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण किया   

इकबाल अंसारी          
दिसपुर। असम के सोनितपुर जिले में नेशनल लिबरेशन फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनएलएफबी) के छ: उग्रवादियों ने बुधवार को आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस ने यह जानकारी दी। अधिकारियों के मुताबिक, असम-अरुणाचल प्रदेश सीमा पर चारीदुआर इलाके में करीब 12 उग्रवादियों के एक समूह के छिपे होने की सूचना प्राप्त हुई थी।
उन्होंने बताया कि पुलिस की टीम ने एक अप्रैल को भालुकपोंग कस्बे के 12 माइल इलाके में छापा मारा था और इस दौरान हुई मुठभेड़ में दो उग्रवादी घायल हो गए थे। अधिकारियों के अनुसार, जैसे ही इलाके में अभियान तेज किया गया, छह उग्रवादियों ने पुलिस की ओर से आश्वासन मिलने पर अपने हथियारों और गोला-बारूद के साथ आत्मसमर्पण कर दिया। जनवरी 2020 में बोडो समझौते पर हस्ताक्षर के बाद बड़ी संख्या में एनडीएफबी उग्रवादियों ने आत्मसमर्पण किया है, जबकि कुछ ने एनएलएफबी का गठन कर लिया है।

एक्ट्रेस उर्फी ने साड़ी में अपना नया लुक शेयर किया

एक्ट्रेस उर्फी ने साड़ी में अपना नया लुक शेयर किया   

कविता गर्ग            
मुंबई। एक्ट्रेस उर्फी जावेद सोशल मीडिया पर टॉक ऑफ़ द टाउन बन चुकी हैं। उर्फी जावेद रोजाना अपने नए और अतरंगी फैशन स्टाइल के साथ दर्शकों के सामने पेश होती हैं। मीडिया उनके अजीबोगरीब स्टाइल की दीवानी हो चुकी है। करके फैंस को खास ट्रीट दे दी है। उर्फी ने साड़ी में अपना नया लुक फैंस के साथ शेयर किया है। वीडियो में उर्फी अपनी दिलकश अदाओं से फैंस के दिलों को जीत रही हैं। फैंस भी उर्फी के इस अंदाज पर फिदा हो रहे हैं। उर्फी जावेद नए वीडियो में व्हाइट प्रिंटेड साड़ी में नजर आ रही हैं। व्हाइट साड़ी को एक्ट्रेस ने पिंक ब्लाउज के साथ कैरी किया है। ब्रालेट स्टाइल में उर्फी का ब्लाउज काफी स्टाइलिश है, जो उनकी साड़ी को ग्लैमरस टच दे रहा है।
उर्फी वीडियो में अपनी साड़ी का पल्लू हवा में लहराती हुई अपने जलवे बिखेरते हुए नजर आ रही हैं। एक्ट्रेस की मिलियन डॉलर स्माइल उनकी खूबसूरती में चार चांद लगा रही है। फैंस को भी उर्फी का ये लुक पसंद आ रहा है।
उर्फी ने साड़ी के साथ अपने ब्लाउज के कलर की मैचिंग लाइट पिंक लिपस्टिक लगाई है। एक्ट्रेस ने ट्रेंडी ईयररिंग्स और ओपन कर्ली हेयर के साथ अपने लुक को कंप्लीट किया है।
उर्फी के वीडिय को कुछ ही घंटों में हजारों लोग लाइक कर चुके हैं और गिनती लगातार बढ़ रही है। फैंस उर्फी के साड़ी लुक पर फिदा हो रहे हैं और जमकर एक्ट्रेस की तारीफें कर रहे हैं।  एक यूजर ने कमेंट किया, आखिरकार कुछ तमीज वाला पहना दीदी ने। एक दूसरे यूजर ने लिखा- किलर लेडी। 
ज्यादातर बोल्ड और रिवीलिंग आउटफिट्स में दिखने वाली उर्फी जावेद को साड़ी में देखकर उनके कई फैंस खुश नजर आ रहे हैं और उनके लुक की तारीफ भी कर रहे हैं।‌ वैसे एक बात तो है उर्फी जावेद कुछ भी पहन लें, एक्ट्रेस अपने हर लुक से चर्चा बटोर लेती हैं।

वैज्ञानिकों ने इंसानों के शरीर में ब्रैंड न्यू अंग को खोजा

वैज्ञानिकों ने इंसानों के शरीर में ब्रैंड न्यू अंग को खोजा  

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। वैज्ञानिकों ने इंसानों के शरीर में एक ब्रैंड न्यू अंग को खोजा है। असल में हैं, ये कोशिकाएं, लेकिन काम पूरे अंग की तरह करते हैं। ये इंसानी फेफड़ों के अंदर मौजूद पतली और बेहद नाजुक शाखाओं में पाई जाती हैं। इनका मुख्य काम है, श्वसन प्रणाली को दुरुस्त रखना। वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि इसकी मदद से वो धूम्रपान संबंधी बीमारियों से लोगों को बचा पाएंगे या ठीक कर पाएंगे।
इस नए अंग यानी कोशिका को बेहर रोचक नाम दिया गया है। इसका नाम है रेस्पिरेटरी एयरवे सेक्रेटरी यह फेफड़ों के अंदर मौजूद नसों की शाखा ब्रॉन्किओल्स  में मौजूद रहते हैं। इनका संबंध एल्वियोली  के साथ भी रहता है। ये वहीं अंग है जो खून के अंदर ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड का आदान-प्रदान करते हैं।
RAS कोशिकाएं किसी स्टेम सेल्स  की तरह होती हैं। इन्हें ब्लैंक कैनवास  कोशिकाएं कहते हैं, क्योंकि ये शरीर के अंदर किसी भी तरह के नए अंग या कोशिकाओं की पहचान करते हैं। ये क्षतिग्रस्त एल्वियोली को सुधारती हैं। नए एल्वियोली कोशिकाओं का निर्माण करती है। ताकि खून में गैसों का बहाव सही बना रहे।
शोधकर्ताओं ने देखा कि RAS कोशिकाएं फेफड़ों पर निर्भर रहने से फ्रस्टेट होने लगती हैं। क्योंकि उनका पूरा काम फेफड़ों से संबंधित प्रणालियों से ही चलता है। लेकिन बदले में उन्हें कुछ नहीं मिलता।‌ असल में इन सभी सवालों के जवाब पाने के लिए वैज्ञानिकों ने एक स्वस्थ इंसान के फेफड़ों का टिश्यू यानी ऊतक लिया। इसके बाद हर कोशिका के अंदर मौजूद जीन्स का विश्लेषण किया, तब RAS कोशिकाओं का पता चला।
यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया के पेरेलमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन के प्रोफेसर एडवर्ड मॉरिसे ने कहा कि यह बात तो पहले से पता था कि इंसानी फेफड़ों की शाखाएं यानी हवाओं के आने-जाने का मार्ग चूहों के फेफड़ों से अलग होते हैं। नई तकनीकों के विकसित होने से हमें यह फायदा हुआ कि हम इस नई कोशिका को खोज पाए। हम उसके सैंपल की जांच कर पाए।
प्रो. एडवर्ड मॉरिसे और उनकी टीम को फेरेट्स  के फेफड़ों में भी RAS कोशिकाएं मिली हैं, जो इंसानी कोशिकाओं से मिलती-जुलती हैं। इसके बात वैज्ञानिक इस नतीजे पर पहुंचे कि ज्यादातर स्तनधारी जीवों में चाहे वह छोटे हों या बड़े। उन सभी के फेफड़ो में RAS कोशिकाएं होती हैं।
RAS कोशिका का दो ही मुख्य काम है- पहला ये ऐसे कणों का रिसाव करते हैं, जो ब्रॉन्किओल्स में बहने वाले तरल पदार्थों के लिए लाइनिंग बनाने का काम करते हैं। ताकि पहले एयर सैक खराब न हों। साथ ही फेफड़ों की क्षमता बढ़ जाए। दूसरा काम ये करते हैं कि ये प्रोजेनिटर कोशिकाओं की तरह यानी एल्वियोलर टाइप-2 (AT2) कोशिकाओं जैसे काम करते हैं। यह खास तरह की कोशिका होती है जो क्षतिग्रस्त एल्वियोली को ठीक करने के लिए रसायन निकालती है।
प्रो. एडवर्ड ने कहा कि RAS कोशिकाएं फेफड़ों के अंदर मौजूद फैकल्टेटिव प्रोजेनिटर्स हैं। ये फेफड़ों को सुरक्षित भी रखती हैं, साथ ही कई तरह के काम भी करती हैं। ये कोशिकाएं धूम्रपान यानी स्मोकिंग संबंधी कई बीमारियों के इलाज में काम आ सकती हैं। भविष्य में क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीस (COPD) को रोकने में मदद कर सकती हैं। COPD स्मोकिंग से या फिर वायु प्रदूषण से होता है।
COPD में फेफड़ों के अंदर पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का निर्माण नहीं हो पाता। एयरसैक्स सूज जाती हैं। इसके लक्षण दमा की तरह होते हैं। इसके अलावा यह एम्फीसेमा क्रोनिक ब्रॉन्काइटिस जैसी बीमारियों को भी जन्म देती हैं। इसमें लंबे समय तक खांसी आती रहती है। हर साल दुनिया में करीब 30 लाक लोग COPD की वजह से मारे जाते हैं।
प्रो. एडवर्ड मॉरिसे ने कहा कि भविष्य में RAS कोशिकाएं COPD के इलाज में मदद कर सकती हैं। हालांकि इसके बारे में अभी सिर्फ अंदाजा लगा रहे हैं। क्योंकि इन कोशिकाओं का काम ही ऐसा है। लेकिन अगर ये भविष्य में अपने काम से इस तरह की बीमारी को ठीक कर सकती हैं, या फिर इंसान को बचा सकती है, तो लाखों लोगों का जान समय से पहले नहीं जाएगी। यह स्टडी हाल ही में Nature जर्नल में प्रकाशित हुई है।

'कौन बनेगा करोड़पति' के नए सीजन को होस्ट करेंगे

'कौन बनेगा करोड़पति' के नए सीजन को होस्ट करेंगे  

कविता गर्ग         
मुंबई। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन एक बार फिर से आपके घरों में दस्तक देने आ रहे हैं। दरअसल, अमिताभ बच्चन टीवी के सबसे बड़े क्वीज शो 'कौन बनेगा करोड़पति' के नए सीजन को होस्ट करते हुए नजर आएंगे। केबीसी 14 के लिए रजिस्ट्रेशन की डेट भी अनाउंस कर दी गई है। शो के एक प्रोमो में बताया गया है कि शो के रजिस्ट्रेशन 9 अप्रैल से रात 9 बजे शुरू हो रहे हैं।
आप भी अगर करोड़पति बनने का सपना देख रहे हैं, तो इस सपने को सच करने का अब वक्त आ गया है। कौन बनेगा करोड़पति 14 शो में शामिल होने के लिए आप 9 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ अमिताभ बच्चन द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब देना होगा। बिग बी रात 9 बजे सवाल पूछेंगे, जिसका जवाब आप अगले दिन रात 9 बजे तक दे सकेंगे। जिन लोगों के ज्यादातर सवालों के जवाब सही होंगे, उन्हें अगले राउंड में शामिल होने का मौका मिलेगा।

पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में बढ़ोतरी, निशाना साधा

पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में बढ़ोतरी, निशाना साधा  

कविता गर्ग         
मुंबई। कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत केन्द्र सरकार पर निशाना साधा और उस पर गरीबों को लूटने का आरोप लगाया। पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों में एक बार फिर बुधवार को 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई। बीते 16 दिनों में कुल दस रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की जा चुकी है।
कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने ट्वीट कर लिखा कि ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी के जरिए मोदी सरकार गरीबों को लगातार लूट रही है। पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में आज एक और बार 80 पैसे की बढ़ोतरी हुई, दो सप्ताह में कुल दस रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की जा चुकी है।
पटोले ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार को ‘‘जेबकतरा’’ बताया। राकांपा के प्रवक्ता क्लाईड क्रास्टो ने भी भाजपा पर निशाना साधा और उसे ‘‘लूटजीवी’’ करार दिया। क्रास्टो ने ट्विटर पर एक कार्टून साझा किया, जिसमें उन्होंने पार्टी की तुलना एक ‘काउब्वॉय’ से की, जिसने दोनों हाथों में ईंधन पंप को बंदूक की तरह एक आम आदमी की ओर तान रखा है, वहीं आम आदमी ने हाथ खड़े किए हुए हैं। कार्टून में ‘काउब्वॉय’ पर भाजपा का चुनाव चिह्न दिख रहा है। इस पर ‘‘लूट जीवी’’ भी लिखा है। कार्टून साझा करते हुए क्रास्टो ने लिखा कि बहुत हो चुकी पेट्रोल-डीज़ल के दाम में बढ़ोतरी। राकांपा और कांग्रेस महाराष्ट्र में शिवसेना नीत गठबंधन सरकार का हिस्सा हैं।

स्किन की समस्याओं के लिए इस्तेमाल करें 'नीम'

स्किन की समस्याओं के लिए इस्तेमाल करें 'नीम'   

सरस्वती उपाध्याय                  
स्किन की केयर करने के लिए अगर आप महंगे-महंगे तरीके का इस्तेमाल करके थक चुकें हैं, तो अब कुछ प्राचीन, लेकिन असरकारी तरीकों को आजमाएं। आपके आसपास ऐसे कई प्लांट्स आसानी से अवेलेबल होते हैं, जो स्किन की कई समस्याओं को चुटकियों में हल कर देते हैं। 
इन्हीं में से एक है नीम। 
इसमें एंटीसेप्टिक, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-एजिंग गुण होते हैं। आमतौर पर, लोग अपनी बॉडी को डिटॉक्सिफाई करने के लिए नीम का जूस पीते हैं, लेकिन यह स्किन की समस्याओं से भी उतना ही बेहतरीन तरीके से निपटता है। बस आप इससे घर पर फेस मास्क बनाएं और उसे अपनी स्किन पर लगाएं।
अगर आपकी स्किन ऑयली है तो आप एक्ने व अन्य स्किन प्रॉब्लम्स को दूर करने के लिए नीम का इस्तेमाल कर सकतें हैं। ऑयली स्किन के लिए नीम व नींबू की मदद से फेस पैक बनाया जा सकता है।
इसके लिए आप सबसे पहले एक बाउल दो चम्मच नीम का पाउडर लें। अब इसमें थोड़ा गुलाब जल व आधे नींबू का रस डालकर व मिक्स करके एक पेस्ट तैयार करें। अब इसे अपनी क्लीन स्किन पर अप्लाई करें और 10 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। अंत में पानी की मदद से अपनी स्किन को साफ करें और फिर मॉइश्चराइजर लगाएं।
रूखी स्किन पर भी नीम का इस्तेमाल करने से लाभ होता है। आप इसे हल्दी व अन्य मॉइश्चराइजिंग इंग्रीडिएंट्स को मिक्स करके एक फेस पैक बना सकते हैं। इसके लिए नीम के पत्तों के पाउडर में थोड़ी सी हल्दी मिक्स करें। अब इसमें नारियल तेल व थोड़ा सा गुलाब जल डालकर मिक्स करें। अब आप अपनी स्किन को क्लीन करके इस पेस्ट को अपनी स्किन पर अप्लाई करें।
करीबन 10-15 मिनट के बाद फेस को वॉश करें। अंत में, स्किन को मॉइश्चराइज करें।एजिंग स्किन की महिलाएं अपनी स्किन को पोषित करने और उसे अधिक यंगर बनाने के लिए नीम का फेस पैक बना सकती हैं।
आप इसे ओटमील के साथ मिक्स करके यूज कर सकते हैं। इसके लिए आप एक बाउल में आधा कप ओटमील, एक चम्मच दूध, एक चम्मच शहद व दो चम्मच नीम के पत्तों का पेस्ट बनाकर मिश्रण तैयार करें।
अब आप इसे अपनी क्लीन स्किन पर लगाएं। अब इसे स्किन पर लगाएं और सूखने तक ऐसे ही छोड़ दें। अंत में, अपनी स्किन को हल्का स्क्रब करते हुए अपनी स्किन को धोकर क्लीन करें। अब अपनी स्किन को मॉइश्चराइज करें।

42 साल पूरे होने पर भाजपा को बधाई: सांसद

42 साल पूरे होने पर भाजपा को बधाई: सांसद  

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। भाजपा को 42 साल पूरे होने पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने बधाई दी है। उन्होंने अपने अंदाज में भाजपा को बधाई देते हुए उसके संविधान के पहले पन्ने की तस्वीर भी ट्विटर पर साझा की। इसके साथ ही शशि थरूर ने भाजपा पर सवाल उठाते हुए कहा कि आप जो काम करते हैं या जिन पर भरोसा करते हैं, वह इस संविधान के मुताबिक नहीं हैं। आपके संविधान के पहले पेज पर ऐसा कुछ भी नहीं है, जिस पर यकीन करते हैं या फिर जो काम आप करते हैं। थरूर ने तंज कसते हुए कहा कि आपका यह संविधान भी आपके लिए एक जुमला ही है।
शशि थरूर ने ट्वीट कर भाजपा को बधाई देते हुए कहा कि आज भाजपा 42 साल के हो गए। क्या यह वह समय नहीं है, जब आपको अपने संविधान के मुताबिक काम करना शुरू करना चाहिए? ऐसा लगता है कि आपके संविधान के पहले पेज पर ऐसा कुछ नहीं है, जैसा आप करते हैं या जैसा आपका विश्वास है। या फिर आपका यह दस्तावेज भी तमाम जुमलों में से ही एक है। शशि थरूर ने भाजपा के संविधान की जो तस्वीर शेयर की थी, उसमें लिखा था कि पार्टी का मकसद भारत को मजबूत एवं समृद्ध बनाना है। इसके अलावा गांधीवादी समाजवादी विचारधारा के आधार पर आर्थिक नीतियां अपनाने की बात कही गई है।

हॉलीवुड फिल्म की शूटिंग कर सकती हैं अभिनेत्री

हॉलीवुड फिल्म की शूटिंग कर सकती हैं अभिनेत्री  

कविता गर्ग       
मुंबई। बॉलीवुड की जानी-मानी अभिनेत्री आलिया भट्ट मई 2022 में अपनी पहली हॉलीवुड फिल्म की शूटिंग कर सकती है।
आलिया भट्ट की फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी हाल ही में प्रदर्शित हुईं है, जिसमें उनके अभिनय को बेहद पसंद किया गया है। आलिया अब हॉलीवुड सिनेमा में डेब्यू करने जा रही है। आलिया अभिनेत्री गैल गैडोट और जेमी डोर्नन के साथ स्क्रीन स्पेस शेयर करने वाली हैं।
बताया जा रहा है कि आलिया भट्ट कथित तौर पर अप्रैल में रणबीर कपूर से शादी करेंगी। शादी के बाद आलिया अपनी पहली हॉलीवुड फिल्म की शूटिंग के लिए यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका (यूएसए) के लिए उड़ान भरेगी।

'भाजपा' के 42वें स्थापना दिवस की बधाई: सीएम

'भाजपा' के 42वें स्थापना दिवस की बधाई: सीएम   

संदीप मिश्र         
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 42वें स्थापना दिवस की पार्टी कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए कहा है कि इस माैके पर शुरु किये जा रहे सामाजिक न्याय पखवाड़े से समाज के वंचित और शोषित वर्गों को मजबूत करने की भाजपा की प्रतिबद्धता को नयी ऊर्जा मिलेगी। योगी ने भाजपा के 42वें स्थापना दिवस पर बुधवार को अपने संदेश में कहा, “उदात्त लोकतांत्रिक व राष्ट्रीय मूल्यों के प्रति सदैव आबद्ध, विश्व के विशालतम राजनीतिक संगठन भारतीय जनता पार्टी के स्थापना दिवस की सभी प्रतिबद्ध एवं समर्पित कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई व ढेरों शुभकामनाएं।
उन्हाेंने सोशल मीडिया पर अपने संदेश में कहा, “अंत्योदय से राष्ट्रोदय के सुपथ पर गतिशील भारतीय जनता पार्टी द्वारा 07 से 20 अप्रैल, 2022 तक पूरे देश में ‘सामाजिक न्याय पखवाड़ा’ मनाने का निर्णय अभिनंदनीय है। निःसंदेह, यह निर्धन, वंचित, शोषित, दलित व पिछड़े वर्ग के सशक्तिकरण हेतु भाजपा की प्रतिबद्धता को नई ऊर्जा प्रदान करेगा।
मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा, “आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व व मा. राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री
जेपी नड्डा जी के निर्देशन में भाजपा द्वारा मनाया जा रहा 'सामाजिक न्याय पखवाड़ा' समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने में सहायक सिद्ध होगा, ऐसा मुझे विश्वास है।
गौरतलब है कि भाजपा के स्थापना दिवस पर पार्टी के यहां स्थित प्रदेश मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में आज सुबह नौ बजे योगी ध्वजारोहण करेंगे। इस दाैरान प्रदेश के दाेनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एवं ब्रजेश पाठक, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन मंत्री सुनील बंसल समेत सभी वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे। इस अवसर पर सुबह दस बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन को डिजिटल माध्यम से सभी नेता एवं कार्यकर्ता सुनेंगे।

सहारनपुर पुलिस लाइन में समारोह का आयोजन

सहारनपुर पुलिस लाइन में समारोह का आयोजन   

सत्येंद्र पंवार         
मेरठ/सहारनपुर। मेरठ जोन की 25वीं अन्तर जनपदीय पुलिस एथलेटिक्स कलस्टर (एथलेटिक्स, खो-खो, साइकिलिंग) प्रतियोगिता-2022 का बुधवार को सहारनपुर पुलिस लाइन में समापन समारोह का आयोजन किया गया। मेरठ जोन मेरठ की 25वीं अन्तर जनपदीय पुलिस एथलेटिक्स कलस्टर (एथलेटिक्स, खो-खो, साइकिलिंग) प्रतियोगिता-2022 के समापन के अवसर पर मुख्य अतिथि प्रीतिन्दर सिंह (IPS) पुलिस महानिरीक्षक, सहारनपुर परिक्षेत्र सहारनपुर द्वारा टीमों का मान प्रणाम स्वीकार करते हुए पदक विजेताओ को पुरूस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया तथा आकाश तोमर (IPS) आयोजन सचिव/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, सहारनपुर द्वारा पुलिस महानिरीक्षक, सहारनपुर परिक्षेत्र, सहारनपुर को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।
इस अवसर पर राजेश कुमार सिहं, पुलिस अधीक्षक नगर, अतुल शर्मा, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, सुश्री प्रीति यादव सहायक पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी लाइन्स, अजेन्द्र यादव, क्षेत्राधिकारी सदर, चन्द्रपाल सिंह क्षेत्राधिकारी गंगोह, मो0 रिजवान क्षेत्राधिकारी यातायात, भूदेव सिंह (प्रभारी प्रतिसार निरीक्षक) एवं अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।
इस प्रतियोगिता में एथलेटिक कोच योगेन्द्र सिंह (एनआईएस प्रशिक्षक, उ0प्र0 पुलिस), यशपाल सिंह पुण्डीर, राकेश कुमार सैनी, लाल धमेन्द्र प्रताप सिहं, एस0के0 रणधावा, शेखर राणा, मनीष कुमार, ईश्वरपाल सिहं, कु0 सोनम राजपूत, कु0 शीतल एवं खो-खो कोच श्रीमती नीतू सैनी, श्रीमती नैना कश्यप, निशान्त, मनीष कुमार, राघव तथा साइकिलिंग कोच बाबूराम सैनी, रामशरण, अनिल सिंह सैनी, अमित चैधरी, सतीश कुमार, जसविन्दर सिंह, मो0 अकरम, मो0 अहसान, आशीष कुमार, अमरीक सिंह आदि निर्णायक गण द्वारा अपना सक्रिय सहयोग प्रदान किया गया। प्रतियोगिता का संचालन राकेश शर्मा, सहारनपुर द्वारा किया गया।

लोकतंत्र की दुश्मन हैं, परिवारवादी राजनीति: पीएम

लोकतंत्र की दुश्मन हैं, परिवारवादी राजनीति: पीएम 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परिवारवादी राजनीति की आलोचना करते हुए कहा है कि परिवारवादी राजनीति, लोकतंत्र की दुश्मन है और इसे बढ़ावा देने वाले दलों ने हमेशा वोट बैंक की राजनीति की है। मोदी ने बुधवार को आभासी माध्यम से यहाँ भाजपा के स्थापना दिवस के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं, मंत्रियों, सांसदों और पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि देश में दशकों तक कुछ राजनीतिक दलों ने सिर्फ वोटबैंक की राजनीति की। कुछ लोगों को ही वायदे करो, ज्यादातर लोगों को तरसाकर रखो, भेदभाव-भ्रष्टाचार ये सब वोटबैंक की राजनीति का 'साइड इफेक्ट' था।
उन्होंने कहा कि भाजपा ने इस वोटबैंक की राजनीति को ना सिर्फ टक्कर दी है, बल्कि देशवासियों को इसके बारे में सतर्क करके इसके नुकसान को समझाने में भी सफल रही है।
उन्‍होंने कहा कि तीन-चार पीढ़ियों ने खुद को खपाकर भाजपा को यशस्‍वी पार्टी बनाया है। भाजपा एक भारत, श्रेष्‍ठ भारत के मंत्र पर चल रही है। 4 राज्‍यों में भाजपा की डबल इंजन सरकार लौटी है।
  मोदी ने कहा कि इस बार का भाजपा स्‍थापना दिवस तीन कारणों से अहम है। पहला कारण इस समय हम देश की आजादी का अमृत महोत्‍सव मना रहे हैं। दूसरा कारण तेजी से बदलती हुई वैश्विक परिस्थितियां भी हैं। तीसरा भारत के लिए नए अवसर लगातार आ रहे हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार की जनकल्‍याण योजनाएं लाभार्थी तक पहुंच रही हैं। कोरोना काल में देश ने बड़ा लक्ष्‍य हासिल किया है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार का प्रयासभेदभाव की सारी गुंजाइश को खत्म करना, तुष्टिकरण की आशंकाओं को समाप्त करना, स्वार्थ के आधार पर लाभ पहुंचाने की प्रवृत्ति को खत्म करना और समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े आखिरी व्यक्ति तक सरकारी लाभ पहुंचे, ये सुनिश्चित करना है।
उन्होंने कहा “ हमारी सरकार राष्ट्रीय हितों को सर्वोपरि रखते हुए काम कर रही है। आज देश के पास नीतियाँ भी हैं, नियत भी है। देश के पास निर्णयशक्ति भी है, और निश्चयशक्ति भी है। आज दुनिया के सामने एक ऐसा भारत है जो बिना किसी डर या दबाव के, अपने हितों के लिए अडिग रहता है। जब पूरी दुनिया दो विरोधी ध्रुवों में बंटी हो, तब भारत को ऐसे देश के रूप में देखा जा रहा है, जो दृढ़ता के साथ मानवता की बात कर सकता।
 मोदी ने कहा कि वैश्विक दृष्टिकोण से देखें या राष्ट्रीय दृष्टिकोण से, भाजपा और इसके प्रत्येक कार्यकर्ता का दायित्व लगातार बढ़ रहा है। इसलिए भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता, देश के सपनों का प्रतिनिधि है, देश के संकल्पों का प्रतिनिधि है। इस अमृत काल में भारत की सोच आत्मनिर्भरता की है, लोकल को ग्लोबल बनाने की है, सामाजिक न्याय और समरसता की है। इन्हीं संकल्पों को लेकर एक विचारबीज के रूप में पार्टी की स्थापना हुई थी। इसलिए ये अमृत काल भाजपा के हर कार्यकर्ता के लिए कर्तव्य काल है।
उल्लेखनीय है कि भाजपा की स्थापना छह अप्रैल, 1980 को हुई थी। इस बार पार्टी अपने स्थापना दिवस से लेकर 14 दिनों तक सामाजिक न्याय पखवाड़ा मना रही है। पार्टी ने इस दौरान कई कार्यक्रमों के आयोजन का फैसला किया है। सात अप्रैल से 20 अप्रैल तक देश भर में सामाजिक न्याय के मुद्दे पर कार्यक्रम कई आयोजित करेगी। इस अभियान के दौरान पार्टी कार्यकर्ता भाजपा के नेतृत्व की सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में जागरूकता फैलाएंगे।

सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान 1 आतंकी मारा

सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान 1 आतंकी मारा 

इकबाल अंसारी         
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा में सुरक्षाबलों ने बुधवार को मुठभेड़ के दौरान एक अज्ञात आतंकवादी को मार गिराया।
अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण कश्मीर में अवंतीपोरा उप-जिले के त्राल इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी के बार में सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने संयुक्त रूप से घेराबंदी तथा तलाश अभियान शुरू किया। एक सुरक्षा अधिकारी ने कहा, "जैसे ही घेराबंदी की जा रही थी, आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों के जवानों पर गोलीबारी शुरू कर दी। अब तक दो आतंकवादी मारे गये हैं।
पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया कि मारे गए आतंकवादियों की पहचान अंसार गजवत-उल-हिंद (एजीयूएच) के सफत मुजफ्फर सोफी उर्फ मुआविया और लश्कर-ए-तैयबा के उमर तेली उर्फ तल्हा के रूप में हुयी है।
उन्होंने ट्वीट कर कहा, "त्राल क्षेत्र में स्थानांतरित होने से पहले दोनों आतंकवादियों श्रीनगर शहर में कई आतंकवादी अपराधों में शामिल थे, जिसमें खानमोह श्रीनगर में सरपंच (समीर अहमद) की हाल ही हुयी हत्या का मामला भी शामिल है।
उल्लेखनीय है कि सरपंच समीर अहमद भट की नौ मार्च को श्रीनगर जिले के खोनमोह में हत्या कर दी गई थी। कुछ दिनों बाद पुलिस ने कहा था कि 16 मार्च को श्रीनगर के बाहरी इलाके नौगाम में एक मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकवादी श्री समीर की हत्या में शामिल थे।

सरकार का पतन, मुद्रास्फीति को मुख्य वजह बताया

सरकार का पतन, मुद्रास्फीति को मुख्य वजह बताया  

अखिलेश पांडेय        
इस्लामाबाद/वाशिंगटन डीसी। पाकिस्तान में हुए एक सर्वेक्षण में यह साफ हुआ है कि 64 प्रतिशत पाकिस्तानी इस बात को सही नहीं मानते हैं कि इमरान सरकार को हटाने में अमेरिका का हाथ है।
इमरान खान उनकी सरकार के खिलाफ नेशनल एसेंबली में अविश्वास प्रस्ताव लाये जाने के बाद से लगातार इसके पीछे अमेरिकी साजिश होने का आरोप लगा रहे हैं। लेकिन इस सर्वेक्षण में लोगों ने सरकार की इस कहानी को खारिज कर दिया है और इमरान सरकार के पतन के लिए मुद्रास्फीति को मुख्य वजह बताया है।
पाकिस्तानी अखबार डॉन ने बुधवार को अपनी रिपोर्ट में बताया कि गैलप पाकिस्तान सर्वे में हालांकि मात्र 36 प्रतिशत लोगों ने माना है कि सरकार को गिराने के विपक्ष के प्रयास के पीछे अमेरिकी साजिश है। इस टेलीफोनिक सर्वेक्षण ने 03 से 04 अप्रैल तक 800 परिवारों की राय ली गयी। सर्वे में जिन लोगों ने यह माना कि महंगाई सरकार को हटाने के लिए अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए विपक्ष की प्रेरणा स्रोत है, उनमें से 74 प्रतिशत सिंध से, 62 प्रतिशत पंजाब से और 59 प्रतिशत पाकिस्तान के कब्जेवाले कश्मीर के लोग शामिल हैं।
एक अन्य सर्वेक्षण के लगभग 54 प्रतिशत लोगों ने पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) सरकार के साढ़े तीन साल के प्रदर्शन पर निराशा व्यक्त की, जबकि 46 प्रतिशत लोगों ने संतोष जाहिर किया। सर्वे के मुताबिक 68 प्रतिशत लोगों ने नए चुनावों के लिए इमरान खान की कार्रवाई की सराहना की। सर्वे में 72 फीसदी लोगों ने अमेरिका को पाकिस्तान का दुश्मन और 28 फीसदी लोगों ने दोस्त बताया। वहीं, साढ़े तीन साल की अवधि के दौरान पीटीआई सरकार के कामकाज के सवाल पर 54 प्रतिशत लोगों ने इमरान खान के शासन के प्रति निराशा व्यक्त की, जबकि 46 प्रतिशत ने कुछ हद तक संतोष व्यक्त किया।
इमरान सरकार के प्रदर्शन से उच्च स्तर की संतुष्टि व्यक्त करने वालों में से 60 प्रतिशत पाकिस्तान के कब्जेवाले कश्मीर के लोग शामिल है, जबकि उसी प्रांत के 40 प्रतिशत लोगों ने इमरान सरकार के प्रदर्शन पर निराशा व्यक्त की।वहीं, सिंध में 43 प्रतिशत लोगों ने इमरान खान के प्रदर्शन पर संतोष व्यक्त किया, लेकिन 57 प्रतिशत लोगों ने निराशा व्यक्त की।
पंजाब के मामले में इमरान सरकार के कामकाज को 45 प्रतिशत लोगें ने सही माना, लेकिन 55 प्रतिशत लोगों ने उनके प्रदर्शन पर निराशा व्यक्त की। सरकार के पतन और राष्ट्रीय चुनावों के आह्वान पर 68 प्रतिशत लोगों ने सहमति व्यक्त की, जबकि 32 प्रतिशत ने इसे खारिज कर दिया।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-180, (वर्ष-05)
2. बृहस्पतिवार, अप्रैल 7, 2022
3. शक-1984, चैत्र, शुक्ल-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2078।            
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 24 डी.सै., अधिकतम-39+ डी सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...