मंगलवार, 1 मार्च 2022

'महाशिवरात्रि' पर्व पर मंदिरो में भीड़, रुद्राभिषेक

'महाशिवरात्रि' पर्व पर मंदिरो में भीड़, रुद्राभिषेक         

सुशील केसरवानी       
कौशाम्बी। महाशिवरात्रि पर्व की महिमा अपरंपार है और महाशिवरात्रि पर्व पर प्रत्येक शिव मंदिरों में भक्तों ने पूजा-अर्चना एवं जलाभिषेक किया है। महाशिवरात्रि के पर्व पर भक्तों ने शिव मंदिरों में पूजा-अर्चना एवं जलाभिषेक कर देश के कल्याण की कामना की है। 
जिले के गंगा नदी के किनारे पल्हना घाट स्थित पंचमुखी महादेव और कड़ा स्थिति कालेश्वर महादेव मंदिर में मुगल आक्रांताओ द्वारा खंडित शिवलिंग की पूजा बड़ी श्रद्धा भक्ति के साथ भक्तों द्वारा लगातार की जाती है। महाशिवरात्रि के पर्व पर दोनों मंदिरों में महिला पुरुष भक्तों की भारी भीड़ पूजन में लगी रही सुबह से ही मंदिर में भक्तों द्वारा भगवान शिव का जलाभिषेक किया गया है और पूजन सामग्री समर्पित कर हवन यज्ञ पूजन भक्तों द्वारा किया गया है।
चायल तहसील क्षेत्र के गंगा नदी के किनारे पल्हाना घाट स्थित पंचमुखी शिवलिंग मंदिर की महिमा अपरंपार है।पूरे वर्ष यहां शिव भक्तों का मेला लगा रहता है। गंगा स्नान करने पहुंचने वाले भक्त बिना शिव मंदिर में दर्शन पूजन के वापस नहीं लौटते हैं। गंगा नदी किनारे 50 फीट ऊंचे एक टीले में स्थापित पंचमुखी शिवलिंग को मुगल आक्रांताओं ने मंदिर के सोने-चांदी के खजाने को लूटने के बाद पंचमुखी शिवलिंग को खंडित कर दिया था। मुगल आक्रांताओ द्वारा पंचमुखी शिवलिंग को खंडित किया जाने के बाद भी खंडित शिवलिंग की पूजा भक्तों द्वारा की जाती है।
मान्यता है कि पंचमुखी महादेव भक्तों की हर मनोकामना पूर्ण करते हैं। बताया जाता है कि पंचमुखी महादेव शिव मंदिर की स्थापना हजारों वर्ष पूर्व भक्तों ने की थी। इस मंदिर में प्रतिदिन भक्तों की भीड़ लगती है। महाशिवरात्रि के महापर्व पर भक्तों ने दूध जल शहद से पंचमुखी महादेव को जलाभिषेक कराया और बेलपत्थर, धतूरा, भांग, पुष्प, बैर, आम का बौर, मदार का फूल, चना, जौ की बाली आदि सामग्री भोलेनाथ को अर्पित कर पूजा-अर्चना की और देश के कल्याण की कामना भक्तों ने भोलेनाथ से की।
सिराथू तहसील के कड़ा कस्बे के गंगा तट पर कालेश्वर महादेव शिव मंदिर में भी महाशिवरात्रि के पर्व पर भक्तों की भारी भीड़ लगी रही। इस मंदिर को भी मुगल आक्रांताओं ने खंडित कर दिया है। बताया जाता है कि महाभारत काल में धर्मराज युधिष्ठिर ने अपने अज्ञातवास काल में स्थापित कर शिव स्तुति की थी। मध्य काल में मुस्लिम आक्रांताओं ने मंदिर की धन सम्पदा लूटने के चलते शिव लिंग पर आक्रमण कर उसे खंडित कर दिया। जिसके बाद से कालेश्वर महादेव के इस मंदिर मे खंडित शिवलिंग की पूजा की जाती है। महा शिवरात्री के मौके पर मंगलवार को शिवभक्तों ने गंगा स्नान कर अपने मनोरथ के अनुसार भगवान शंकर को जल, दूध, शहद आदि के अभिषेक कर पूजा की। देर रात्रि भगवान शंकर और माता पार्वती का विवाह कराया जाएगा। महाशिवरात्रि के दिन सैकड़ों की संख्या में भक्त महिला पुरुष शिव के मंदिर में आकार दर्शन करते हैं।

गाजियाबाद: मैक्सिलोफेशियल केयर यूनिट का उद्घाटन

गाजियाबाद: मैक्सिलोफेशियल केयर यूनिट का उद्घाटन 

अश्वनी उपाध्याय        
गाजियाबाद। यशोदा हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, नेहरू नगर, गाजियाबाद में महाशिवरात्रि के अवसर पर महादेव की पुजा अर्चना के साथ अत्याधुनिक डेंटल और मैक्सिलोफेशियल केयर यूनिट का उद्घाटन किया गया। पूजा समारोह में समूह निदेशक, डॉ शशि अरोड़ा और डॉ रजत अरोड़ा के साथ चिकित्सा निदेशक, डॉ पी.एल. करिहोलु भी शामिल थे। इसके बाद डॉ मधु रायकवार, उप महानिदेशक, डीजीएचएस और नरेंद्र कुमार, आईएएस (सेवानिवृत्त) द्वारा दीप प्रज्ज्वलन समारोह किया गया। नवसृजित दंत चिकित्सा विभाग के पास सभी नई और आधुनिक दंत चिकित्सा मशीनें हैं जो दांत व मसूड़ों से संबन्धित सभी प्रकार की बीमारियों का इलाज करने में सक्षम हैं। यहाँ तैनात सभी दंत चिकित्सक अनुभवी हैं और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञता रखते हैं और सभी दंत-सौंदर्य और दर्द-रहित ऑपरेशन तथा इलाज करने में सक्षम हैं।
दंत शल्य चिकित्सा प्रक्रियाएँ...
दंत चिकित्सा विभाग के एचओडी डॉ अभिषेक सिंह (ऑर्थोडोन्टिस्ट) ने बताया कि दंत चिकित्सा विभाग में अब सभी सुविधाएँ हैं और बुनियादी से लेकर प्रीमियम तक सभी तरह की दंत प्रक्रियाएँ की जा रही हैं। दीप प्रज्ज्वलित समारोह के बाद डॉ रजत अरोड़ा, समूह निदेशक, यशोदा अस्पताल ने विभिन्न दंत प्रक्रियाओं में रियायतों के साथ पूर्ण नि:शुल्क दंत जाँच शिविर का आयोजन किया जो 1 मार्च से 7 मार्च तक एक सप्ताह तक चलेगा। उन्होंने कहा कि इस शिविर का प्राथमिक उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों को सस्ती कीमत पर प्रीमियम दंत चिकित्सा सेवाएँ प्रदान करना और वितरित करना है। 
उन्होंने यह भी बताया कि उनका शिविर भारत के प्रत्येक नागरिक को सुलभ और जवाबदेह स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने की सख्त जरूरत के चलते हमारी ओर से एक छोटी-सी पहल है। हमारा लक्ष्य भविष्य में और व्यापक पैमाने पर ऐसे कई और शिविर आयोजित करना है, जिसमें देश भर में अधिक लोगों और स्थानों को शामिल किया जाए। यूनिट में डॉ अभिषेक सिंह समेत 3 और अनुभवी डेंटिस्ट्स डॉ चंद्रशेखर, डॉ वैभव भाटी एवं डॉ दीप्ति कोटनाला शामिल हैं।

'दिव्य सहस्त्र चंडी महायज्ञ' का आयोजन 9 तक होगा

'दिव्य सहस्त्र चंडी महायज्ञ' का आयोजन 9 तक होगा   

नीरज जैन        
झांसी। महाकाल के कुछ विचित्र भजनों से मंगलवार को महानगर गूंज उठा। 1008 श्री महाकाली विद्या पीठ मंदिर लक्ष्मी गेट के भव्य प्राचीन प्रांगण में दिव्य सहस्त्र चंडी महायज्ञ का विशाल आयोजन 42 वर्ष पश्चात 9 मार्च तक किया जाएगा। इस महायज्ञ की विशाल कलश शोभा यात्रा महानगर में धूमधाम से निकाली गई। महाकाली मंदिर लक्ष्मी गेट से महाकाली की भव्य आरती के साथ प्रारंभ होकर बड़ा बाजार, गांधी रोड, सुभाष गंज,रानी महल, सिंधी चौराहा, कोतवाली से होते हुए पंचकुइयां मंदिर पहुंची। 
मां शीतला को पोशाक चढ़ाकर वापस सराफा बाजार होते हुए वापस महाकाली मंदिर आ गई। शोभायात्रा में भगवान के स्वरूप महाकाली, शिव शंकर, गणेश जी आदि शामिल रहे। तो वही बैंड बाजे और डीजे भक्ति में धुन बजाते हुए आगे चल रहे थे। महिलाएं सिर पर कलश लेकर चल रही थी। मंदिर के प्रधान पुजारी पंडित विजय त्रिवेदी ने बताया कि महाकाली मंदिर पर प्रतिदिन सुबह 5 बजे से बनारस से आए हुए ब्राह्मणों द्वारा वैदिक स्वर में मां का अभिषेक होगा। 7:30 से 10:00 तक वैदिक पाठ प्रारंभ होगा। सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक महायज्ञ होगा। 
पूर्णाहुति 9 मार्च को प्रातः 10 बजे होगी। उसके पश्चात विशाल भंडारे का आयोजन होगा। यह यज्ञ बहुमुखी प्रतिभा के धनी तंत्र के साधक मां काली की सिद्धि प्राप्त गुरुदेव जी के आशीर्वाद से इस दिव्य श्री शक्ति सहस्त्र चंडी महायज्ञ का आयोजन, उनके ब्रह्मलीन होने के बाद लगभग 40 वर्ष पश्चात मां के दरबार में हो रहा है। इस यज्ञ का धैर्य संपूर्ण भारतवर्ष ही नहीं अपितु विश्व में फैली महामारी से बचाव तथा विश्व कल्याण होता है। इस दौरान विधायक राजीव सिंह पारीछा, आचार्य अनुज कृष्ण शास्त्री, बृजेंद्र यादव भोजला, अर्जुन सिंह यादव, मुकेश मिश्रा ओमशांति नगर, पंडित गोपाल त्रिवेदी, अमित रावत, भूपेंद्र रायकवार, अभिषेक गुप्ता, हरीश भटनागर, बीडी शर्मा, रुद्र नारायण तिवारी, राघवेंद्र अवस्थी आदि उपस्थित रहे। अंत में आभार चरण सेवक पंडित पियूष रावत ने व्यक्त किया।

पहले टेस्ट मैच के साथ नए 'युग' में प्रवेश करेगा क्रिकेट

पहले टेस्ट मैच के साथ नए 'युग' में प्रवेश करेगा क्रिकेट  

मोमीन मलिक       

नई दिल्ली/कोलंबो। श्रीलंका के खिलाफ दो मैचों की घरेलू टेस्ट सीरीज के चार मार्च से मोहाली में शुरू हो रहे पहले टेस्ट मैच के साथ भारतीय क्रिकेट एक नए युग में प्रवेश करेगा। 34 साल के रोहित शर्मा पहली बार टेस्ट कप्तान के रूप में खेलते नजर आएंगे तो 33 साल के पूर्व कप्तान विराट कोहली सात साल से ज्यादा समय के बाद सिर्फ बतौर बल्लेबाज किसी टेस्ट मैच में उतरेंगे। इस तरह से यह टेस्ट मैच रोहित के लिए तो यादगार होगा, साथ ही विराट के लिए भी यह खास है, क्योंकि यह विराट के करियर का 100वां टेस्ट मैच होगा। ऐसे में विराट मोहाली में शतक जड़कर अपने 100वें टेस्ट को यादगार बनाना चाहेंगे।

विराट ने अपना पिछला अंतरराष्ट्रीय शतक नवंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता में खेले गए डे-नाइट टेस्ट में बनाया था। उसके बाद से विराट ने 15 टेस्ट की 27 पारियां खेली हैं। लेकिन उनके बल्ले से कोई शतक नहीं निकला। इस दौरान उन्होंने सिर्फ छह अर्धशतक जड़े हैं और उनका सर्वाधिक स्कोर 79 रन रहा है। इस दौरान उनकी बल्लेबाजी औसत भी सिर्फ 28.14 का रहा है। वहीं यदि तीनों प्रारूपों की बात की जाए तो पिछले शतक के बाद से विराट ने कुल 61 मैचों की 70 पारियां खेली हैं, जिनमें उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 94 रन रहा है। इस दौरान उन्होंने 24 अर्धशतक जड़े और उनकी औसत 38.04 की रही।

सांसदों को लोगों की सूचना साझा करने का आदेश

सांसदों को लोगों की सूचना साझा करने का आदेश 

अखिलेश पांडेय     

कीव/मास्को/नई दिल्ली। यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद वहां फंसे भारतीय नागरिकों के परिवारों की ओर से कई सांसदों को फोन कॉल मिलने के बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सांसदों से ऐसी किसी भी ‘चिंता’ को लेकर उनके कार्यालय से सीधे सम्पर्क करने और ऐसे लोगों की सूचना साझा करने का आदेश दिया है। विदेश मंत्री ने सोमवार को सभी सांसदों को भेजे पत्र में कहा कि, कृपया आश्चस्त रहें कि हम सभी तरह की पूछताछ और जानकारी को लेकर संज्ञान ले रहे हैं। इन सभी पर एमईए टीम के प्रतिनिधि सतत संज्ञान ले रहे हैं। उन्होंने संसदों को ई मेल आईडी और व्हाट्सएप नंबर भी साझा किया जिस पर वे ब्यौरा भेज सकते हैं।

गौरतलब है कि भारत ने युद्धग्रस्त यूक्रेन से भारतीयों को वापस निकालने के लिये ”अपरेशन गंगा” अभियान शुरू किया है। यूक्रेन से अपने नागरिकों को वापस लाने के लिये सरकार सभी पक्षों के सम्पर्क में हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच देशों से अभियान में समन्वय एवं देखरेख के लिये चार वरिष्ठ मंत्रियों को दायित्व सौंपा हैं। इसके तहत, केंद्रीय मंत्री वी के सिंह पोलैंड में, किरेन रिजिजू स्लोवाकिया में, हरदीप पुरी हंगरी में जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया रोमानिया और माल्डोवा में निकासी अभियान में समन्वय करेंगे।

आपत्तिजनक सामग्री प्रसारित नहीं करने का निर्देश

आपत्तिजनक सामग्री प्रसारित नहीं करने का निर्देश   

अकांशु उपाध्याय        

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने एफएम रेडियो चैनलों को अश्लील एवं आपत्तिजनक सामग्री प्रसारित नहीं करने का निर्देश देते हुए कहा कि नियमों का पालन नहीं करने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मंत्रालय ने कहा कि इस तरह की सामग्री को प्रसारित करना ‘ग्रांट ऑफ परमिशन एग्रीमेंट’ (जीओपीए) का घोर उल्लंघन है। मंत्रालय ने हाल ही में जारी किए एक परामर्श में कहा कि, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने पाया है कि कई एफएम रेडियो चैनल पर अकसर अश्लील एवं आपत्तिजनक सामग्री प्रसारित की जाती है। यह भी पाया गया कि कई प्रस्तोता (रेडियो जॉकी) द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा अशोभनीय, दोहरे अर्थ वाली और आपत्तिजनक होती है। वे अकसर मानहानिकारक और अपमानजनक टिप्पणी करते हैं, जो सही नहीं लगती।

मंत्रालय ने बयान में कहा कि ग्रांट ऑफ परमिशन एग्रीमेंट (जीओपीए) की धारा 7.6 में प्रावधान है कि ग्रांट पाने वाला यह सुनिश्चित करेगा कि उसके प्रसारण चैनल पर प्रसारित कोई भी सामग्री, संदेश, विज्ञापन या संवाद भारत के कानूनों के तहत आपत्तिजनक, अश्लील, अनधिकृत या असंगत ना हो। बयान में कहा गया कि ऐसी किसी भी सामग्री को प्रसारित करना जीओपीए का घोर उल्लंघन है। इसमें यह भी प्रावधान है कि अनुमति प्राप्त करने वाला उसी कार्यक्रम एवं विज्ञापन नियम का पालन करेगा जिसका आकाशवाणी (ऑल इंडिया रेडियो  एआईआर) अनुसरण करता है।

मंत्रालय ने कहा कि, मंत्रालय, जीओपीए से प्राप्त अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए सभी एफएम रेडियो चैनल को सलाह देता है कि वे निर्धारित नियमों एवं शर्तों का सख्ती से पालन करें और इसका उल्लंघन करने वाली किसी भी सामग्री को प्रसारित न करें। सभी चैनल ऐसी सामग्री के प्रसारण में अपने विवेक का इस्तेमाल करें। बयान में कहा गया कि, सभी एफएम रेडियो चैनल उपरोक्त निर्देश का सख्ती से पालन सुनिश्चित करें। किसी भी उल्लंघन पर जीओपीए के निर्धारित नियमों एवं शर्तों के अनुसार दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

देश लौटने के बाद छात्रों ने अपने अनुभव साझा किए

देश लौटने के बाद छात्रों ने अपने अनुभव साझा किए    

अकांशु उपाध्याय    

नई दिल्ली। रूस के आक्रमण के बाद यूक्रेन के पश्चिमी हिस्सों में फंसें भारतीय छात्रों ने देश लौटने के बाद अपने अनुभव साझा किए और पूर्वी यूक्रेन में फंसे छात्रों की मदद की गुहार लगाई। इनमें से एक निशी मल्कानी ने मुंबई हवाई अड्डे पर पत्रकारों से कहा कि वह पश्चिम यूक्रेन स्थित एक विश्वविद्यालय की छात्रा हैं। जहां स्थिति तुलनात्मक रूप से बेहतर है।

उन्होंने कहा कि, हम कई दिन तक अपने छात्रावास में छुपे थे और फिर पश्चिमी सीमा पर पहुंचे। यूक्रेन के पूर्वी हिस्सों में शैक्षणिक संस्थानों में हजारों छात्रों को गंभीर स्थिति का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि वहां से सड़क पर निकलना बेहद मुश्किल है। उन्होंने कहा कि, उन छात्रों की सुरक्षित वापसी के लिए और प्रयास किए जाने चाहिए। यूक्रेन में पिछले कुछ दिनों का अनुभव पूछने पर उन्होंने कहा कि, मैंने कभी नहीं सोचा था कि जीवन में कभी ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ेगा। विश्वविद्यालय प्रशासन ने हमसे चार दिन तक छात्रावास में रहने को कहा था। मल्कानी ने कहा कि, हम पश्चिमी सीमा के करीब थे। इसलिए पड़ोसी देश रोमानिया पहुंच पाए। भारतीय दूतावास अधिकारियों ने बाकी मदद की और हम घर वापस लौट पाए। उन्होंने दावा किया कि पिछले कुछ दिनों से उनके विश्वविद्यालय परिसर में ”कुछ आतंकवादी” थे, लेकिन उन्होंने छात्रों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया। यूक्रेन से मंगलवार को लौटी एक अन्य छात्रा पूर्वा पाटिल ने सुरक्षित वापसी के बाद भगवान का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि वह पश्चिमी यूक्रेन के एक संस्थान में पढ़ाई कर रही थीं।

उन्होंने कहा कि, मैं बहुत डर गई थी, भगवान की दया से मैं सुरक्षित घर लौट पाई। यह मेरे लिए बड़ी बात है। उन्होंने बताया कि सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने में भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने उनकी काफी मदद की। पाटिल ने कहा कि, पहले हमें छात्रावास में रहने को कहा गया फिर बंकर में हमने पनाह ली। वहां काफी ठंड थी तापमान दो डिग्री सेल्सियस के आसपास था। रोमानिया सीमा तक पहुंचने के लिए हमें लगभग 10 किलोमीटर पैदल चलना पड़ा। केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री नारायण राणे ने मुंबई हवाई अड्डे पर छात्रों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि, 182 छात्र आज मुंबई लौटे हैं। केन्द्र सरकार के ‘ऑपरेशन गंगा’ के तहत संचालित यह पांचवीं उड़ान थी। रूस के यूक्रेन पर हमला करने के बाद भारत युद्धग्रस्त देश में फंसे अपने नागरिकों को 27 फरवरी से रोमानिया और हंगरी के रास्ते स्वदेश ला रहा है। रोमानिया और हंगरी यूक्रेन के पड़ोसी देश हैं।

नए दोपहिया मॉडल 'हीरो एडी' का अनावरण किया

नए दोपहिया मॉडल 'हीरो एडी' का अनावरण किया    

अकांशु उपाध्याय    

नई दिल्ली। हीरो इलेक्ट्रिक ने मंगलवार को घरेलू बाजार के लिए एक नए दोपहिया मॉडल हीरो एडी का अनावरण किया। कंपनी ने एक बयान में कहा कि इलेक्ट्रिक स्कूटर का इस्तेमाल करना आसान है और यह कम दूरी की यात्रा के लिए आदर्श है। हीरो एडी फाइंड माई बाइक, बड़े बूट स्पेस और रिवर्स मोड जैसी सुविधाओं से लैस है। इलेक्ट्रिक स्कूटर की पेशकश दो रंगों – पीला और हल्का नीला, में की गई है और इसके लिए किसी लाइसेंस या पंजीकरण की जरूरत नहीं होगी।

हीरो इलेक्ट्रिक इस गाड़ी को अगली तिमाही में पेश करने की योजना बना रही है। हीरो इलेक्ट्रिक के प्रबंध निदेशक नवीन मुंजाल ने कहा कि, हम हीरो में अपने आगामी उत्पाद हीरो एडी की घोषणा करते हुए रोमांचित हैं। कंपनी को विश्वास है कि हीरो एडी एक आदर्श वैकल्पिक गतिशीलता विकल्प बनेगी।

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतें अपडेट की

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतें अपडेट की    

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। भारतीय तेल कंपनियों ने प्रतिदिन की तरह मार्च महीने के पहले दिन, (मंगलवार) यानी 01 मार्च को पेट्रोल और डीजल की कीमतें अपडेट कर दी हैं। आज भी कीमतों में किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है। तीन महीने से ज्यादा का समय हो गया है तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतें स्थिर रखी हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में इजाफा होने के बाद भी राष्ट्रीय स्तर पर वाहन ईंधन पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार स्थिर हैं। 
पेट्रोल की कीमतों में 60 फीसदी हिस्सा सेंट्रल एक्साइज और राज्यों के टैक्स का होता है, जबकि डीजल में ये 54 फीसदी होता है। पेट्रोल पर सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी 32.90 रुपये प्रति लीटर है, जबकि डीजल पर 31.80 रुपये प्रति लीटर है। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आमतौर पर रोज बदलाव होता है, ये कीमतें बेंचमार्क अंतरराष्ट्रीय क्रूड कीमतों और फॉरेन एक्सचेंज रेट के आधार पर तय होती हैं।

मुंबई: 2023 में रिलीज होगी फिल्म 'आदिपुरुष'

मुंबई: 2023 में रिलीज होगी फिल्म 'आदिपुरुष'   

कविता गर्ग   
मुंबई। अपकमिंग स्टारर फिल्म आदिपुरुष को लेकर कुछ बड़े अनाउंसमेंट कर दिए गए है। मेकर्स ने बड़े अनाउंसमेंट करते हुए फिल्म की रिलीज डेट बता दी गई है। ओम राउट द्वारा निर्देशित ये फिल्म इस साल नहीं, बल्कि अगले साल (2023) में रिलीज होगी। इस फिल्म में प्रभास, सैफ अली खान, कीर्ति सेनन और सन्नी सिंह नजर आने वाले हैं।
बता दें कि यह फिल्म 12 जनवरी 2023 में रिलीज होगी। प्रभास ने फिल्म का पोस्टर शेयर किया है। पोस्टर शेयर करते हुए लिखा कि आदिपुरुष वर्ल्डवाइड रिलीज 12 जनवरी। इस फिल्म को 3डी में रिलीज किया जाएगा। इससे पहले एक खबर आई थी की भूषण कुमार और उनकी टीम प्रभास और ओम राउत से बात करके फिल्म की डेट फाइनल कर रहे हैं और सब सोचने के बाद ये फाइनल किया जा रहा है कि फिल्म को संक्रांति के मौके पर रिलीज किया जाए।

अपील, ईवीएम स्ट्रांग रूम की सुरक्षा बढ़ाए: अखिलेश

अपील, ईवीएम स्ट्रांग रूम की सुरक्षा बढ़ाए: अखिलेश  

संदीप मिश्र       

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी व गठबंधन के सभी प्रत्याशियों, पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वो ईवीएम स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को बढ़ा दें। जिससे किसी तरह की कोई गड़बड़ी न होने पाए। रमाबाई अंबेडकर मैदान में बने मतगणना स्थल पर बने स्ट्रांग रूम परिसर में सोमवार को उस वक्त हंगामा मच गया। जब मध्य विधानसभा सीट के रिटर्निंग अफसर गोविंद मौर्या की सरकारी गाड़ी में हथौड़ी, छेनी, ताले, प्लायर निकल आए। इस पर समाजवादी पार्टी व अन्य राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं ने ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए दो घंटे तक धरना-प्रदर्शन किया।

घटना की सूचना पर मध्य सीट से सपा प्रत्याशी रविदास मेहरोत्रा भी पहुंच गए। डीएम व जिला निर्वाचन अधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है। संबंधित अधिकारी को चेतावनी देने के साथ स्पष्टीकरण मांगा गया है। यह भी बताया कि प्रत्याशियों को स्ट्रांग रूम परिसर का निरीक्षण करा दिया गया है। सभी अंदर की पूरी तरह से सुरक्षा व्यवस्था से संतुष्ट हैं।इस पर अखिलेश यादव ने ट्वीट किया कि लखनऊ में सभी के लिए प्रतिबंधित ईवीएम स्ट्रांग रूम में एक सरकारी अधिकारी के घुसने का प्रयास बेहद गंभीर मामला है। समाजवादी पार्टी-गठबंधन के सभी प्रत्याशियों, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से अपील है कि वो सभी जगह ईवीएम स्ट्रांग रूम की निगरानी बढ़ा दें। जब तक गिनवाई नहीं-तब तक ढिलाई नहीं होनी चाहिए सभी पदाधिकारी बड़ी मुस्तैदी के साथ निगरानी करें।

स्पुतनिक के यूट्यूब चैनलों को अवरुद्ध किया: गूगल

स्पुतनिक के यूट्यूब चैनलों को अवरुद्ध किया: गूगल     

सुनील श्रीवास्तव       

नई दिल्ली/मास्को/कीव। रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे संघर्ष के बीच गूगल ने बड़ी कार्रवाई की है। गूगल ने मंगलवार को घोषणा की, कि उसने रूसी राज्य मीडिया आउटलेट आरटी और स्पुतनिक के यूट्यूब चैनलों को अवरुद्ध कर दिया है। गूगल ने ट्वीट कर लिखा कि “यूक्रेन में चल रहे युद्ध के कारण, हम आरटी और स्पुतनिक से जुड़े यूट्यूब चैनलों को पूरे यूरोप में तुरंत प्रभावी रूप से अवरुद्ध कर रहे हैं। हमारे सिस्टम को पूरी तरह से ठीक होने में समय लगेगा।

यूरोप गूगल ने लिखा कि हमारी टीमें तेजी से कार्रवाई करने के लिए चौबीसों घंटे स्थिति की निगरानी कर रही है। इसके अलावा, मेटा (पूर्व में फेसबुक) ने पूरे यूरोपीय संघ में आरटी और स्पुतनिक पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। आईआरटी और स्पुतनिक पेज अब यूरोपीय संघ में फेसबुक और इंस्टाग्राम पर दिखाई नहीं देते हैं। मेटा में वैश्विक मामलों के अध्यक्ष निक क्लेग ने ट्विटर पर कहा, “हमें रूसी राज्य नियंत्रित मीडिया के संबंध में और कदम उठाने के लिए कई सरकारों और यूरोपीय संघ से अनुरोध प्राप्त हुए हैं।

“मौजूदा स्थिति की असाधारण प्रकृति को देखते हुए, हम इस समय पूरे यूरोपीय संघ में आरटी और स्पुतनिक तक पहुंच प्रतिबंधित कर देंगे,” उन्होंने सोमवार देर रात पोस्ट किया। सोशल नेटवर्क ने रूसी राज्य मीडिया को भी मंच पर विज्ञापन देने से रोक दिया है। इससे पहले, कंपनी ने यूक्रेन में कई रूसी राज्य-नियंत्रित खातों तक पहुंच को अवरुद्ध कर दिया था। सोशल नेटवर्क ने कहा कि वह अपने देशों में इन खातों तक पहुंच को प्रतिबंधित करने के लिए अन्य सरकारों के अनुरोधों की भी समीक्षा कर रहा है।

852 सीट में से 743 पर मतगणना पूरी, जीत हासिल

852 सीट में से 743 पर मतगणना पूरी, जीत हासिल   

भुवनेश्वर। ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) ने जिला परिषद की उन 829 सीट में से 743 सीट पर जीत हासिल कर ली है। जिनके परिणाम की घोषणा कर दी गई है। राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अभी तक घोषित परिणाम के अनुसार, बीजद ने जिला परिषद की 87.20 प्रतिशत सीट पर कब्जा कर लिया है। आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि एसईसी ने जिला परिषद की कुल 852 सीट में से 743 पर मतगणना पूरी कर ली है।जबकि शेष सीट पर मतगणना जारी है और दिन में सभी परिणामों की घोषणा कर दिए जाने की संभावना है। बीजद ने 743 सीट जीती हैं, वहीं उसकी प्रतिद्वंद्वी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) केवल 42 सीट हासिल करने में सफल रही, जबकि कांग्रेस मात्र 37 सीट जीत पाई। निर्दलीय उम्मीदवारों ने तीन सीट पर जीत हासिल की जबकि अन्य को चार सीट मिलीं।

अभी तक के घोषित परिणाम के अनुसार, बीजद ने इससे पहले 2017 में हुए पंचायत चुनाव में अपने प्रदर्शन की तुलना में 267 अधिक सीट जीती हैं, जबकि भाजपा ने पिछले चुनाव के मुकाबले 2022 में 255 सीट गंवाई। भगवा दल ने 2017 में 297 सीट जीती थीं और इस बार पार्टी अबतक मात्र 42 सीट ही जीत पाई। कांग्रेस ने 2017 में जिला परिषद की 60 सीट अपने नाम की थीं, लेकिन इस बार वह फिलहाल केवल 37 सीट तक सिमट कर रह गई। निर्दलीय उम्मीदवारों और अन्य ने 2017 में 17 सीट जीतीं थीं, लेकिन इस बार वे सात सीट पर ही जीत हासिल कर पाए। इस शानदार जीत के साथ राज्य में सत्तारूढ़ दल ओडिशा के सभी 30 जिलों में परिषद बनाने के लिए तैयार है। पिछली बार भाजपा ने आठ जिलों में परिषद बनाई थी। राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा 10 जिलों में कोई जिला परिषद सीट नहीं जीत पाई, तो कांग्रेस 18 जिलों में खाता नहीं खोल पाई।

भाजपा भद्रक, देवगढ़, जगतसिंहपुर, जाजपुर, झारसुगुड़ा, कोरापुट, मलकानगिरी, मयूरभंज, नबरंगपुर और रायगढ़ जिलों में जिला परिषद की कोई भी सीट नहीं जीत सकी। कांग्रेस अंगुल, बरगढ़, भद्रक, बौद्ध, कटक, देवगढ़, ढेंकनाल, गंजम, जाजपुर, झारसुगुड़ा, केंद्रपाड़ा, क्योंझर, खुर्दा, मयूरभंज, नयागढ़, पुरी, संबलपुर और सुंदरगढ़ में कोई सीट नहीं जीत पाई।ओडिशा में पंचायत चुनाव के लिए पांच चरणों में 16 फरवरी, 18 फरवरी, 20 फरवरी, 22 फरवरी और 24 फरवरी को मतदान हुआ था और मतगणना 26 फरवरी, 27 फरवरी और 28 फरवरी को की गई। आयोग के अधिकारी ने बताया कि कुछ स्थानों पर फिर से मतगणना होने के कारण वहां वोट की गिनती अभी जारी है।

सरकार के 4 साल पूरे, 8 को त्रिपुरा आएंगे गृहमंत्री

सरकार के 4 साल पूरे, 8 को त्रिपुरा आएंगे गृहमंत्री    

इकबाल अंसारी     

अगरतला। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), इंडिजीनस पीपल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आठ मार्च को त्रिपुरा आएंगे। अमित शाह पश्चिम त्रिपुरा जिले के जरुलबचाई इलाके में राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय (एनएफएसयू) परिसर की आधारशिला भी रखेंगे।

एनएफएसयू को वर्तमान में अगरतला के मध्य में स्थित बुद्ध मंदिर के निकट बेसिक ट्रेनिंग कॉलेज के पुराने भवन से संचालित किया जा रहा है। शाह भाजपा-आईपीएफटी सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर एक रैली में भी शामिल होंगे। सरकार के चार साल नौ मार्च को पूरे होंगे, लेकिन कार्यक्रम एक दिन पहले आयोजित किया जाएगा। इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री राज्य सरकार की दो कल्याणकारी योजनाओं का भी लोकार्पण करेंगे। शाह आठ मार्च की सुबह त्रिपुरा पहुंचेंगे और शाम को पूर्वोत्तर राज्य से रवाना होंगे।

भाजपा की प्रदेश इकाई के उपाध्यक्ष राजीव भट्टाचार्जी ने बताया कि मुख्यमंत्री बिप्लब देब विवेकानंद मैदान में होने वाली रैली की योजना बनाने के लिए उपमुख्यमंत्री जिष्णु देव वर्मा, शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ और भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष डॉ माणिक साहा के साथ प्रदेश पार्टी मुख्यालय में पहले ही बैठक कर चुके हैं। मुख्यमंत्री के सचिव प्रशांत कुमार गोयल ने मंगलवार को बताया कि, केंद्रीय गृह मंत्री पश्चिम त्रिपुरा जिले में डुकली ब्लॉक के जरुलबचाई इलाके में एनएफएसयू की आधारशिला रखेंगे। राज्य सरकार ने उनसे त्रिपुरेश्वरी मंदिर में पर्यटन से संबंधित परियोजना ‘प्रसाद’ कार्यक्रम का लोकार्पण करने का भी अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि शाह के दौरे संबंधी विस्तृत कार्यक्रम अभी तय किया जाना है। अंतरराष्ट्रीय महत्व के संस्थान माने जाने वाले एनएफएसयू के ढांचागत विकास के लिए केंद्र पहले ही 100 करोड़ रुपये मंजूर कर चुका है। राज्य सरकार ने जरुलबचाई क्षेत्र में एनएफएसयू परिसर बनाने के लिए 50 एकड़ जमीन आवंटित की है।

प्रयागराज: 6 घाटों पर स्नान, भक्तों का सैलाब उमड़ा

प्रयागराज: 6 घाटों पर स्नान, भक्तों का सैलाब उमड़ा    

बृजेश केसरवानी     

प्रयागराज। महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर आज संगम में फिर से श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। हर किसी में स्नान करने की होड़ मची हुई थी। क्योंकि यह माघ मेले का अंतिम स्नान है और आज के बाद से माघ मेले की समाप्ति हो जाएगी। मंगलवार की सुबह से ही बने 6 घाटों पर स्नान करने वालों भक्तों का सैलाब उमड़ा रहा। संगम तट पर स्नान करने के बाद शिव मंदिरों में भगवान शिव की आराधना करने के लिए भारी भीड़ रही। दर्शन कराने को मंदिरों में लम्बी लाइनें लगी रही। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं।

सभी शिव मंदिर ओम नमः शिवाय के जाप से गुंजायमान हो उठे। शिवालयों में भगवान शंकर का अभिषेक, पूजन चल रहा है। ऐसी मान्यता है कि महाशिवरात्रि पर सच्चे हृदय से व्रत रखकर संगम में डुबकी लगाकर शिव स्तुति करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। शिव मंदिरों में भक्तों ने शिव की आराधना करने के दौरान ‘ओम नमः शिवाय’ मंत्र का जाप किया और शिव को खुश करने के लिए दूध, बेल पत्ती, मदार, धतूरा, भांग, भस्म, कनेर का पुष्प आदि चढ़ाया। इसके साथ ही शिव भक्तों ने शिव चालीसा, शिव तांडव, शिव पुराण आदि का पाठ भी किया। इस दौरान भारी संख्या में उपस्थित शिवभक्तों ने मंदिर में भजन कीर्तन शुरू किया। शहर के तमाम शिव मंदिरों में सुबह से भक्तों का आवागमन जारी है।

पुलिस और प्रशासन की व्यवस्था भी चाक-चौबंद है घाटों और मंदिरों पर पुलिस के जवान तैनात हैं। भीड़ के मद्देनजर रूट डायवर्जन कर दिया गया है। वाहनों के लिए स्टैण्ड बनाये गये हैं। प्रयागराज का सिद्ध पीठ मनकामेश्वर मंदिर पर भी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है और लोग संगम स्नान बाद भगवान शिव की पूजा अर्चना करने मंदिर पहुंच रहे हैं।पंडित देवकी नंदन मिश्र के अनुसार महाशिवरात्रि फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि वाले दिन यानि पहली मार्च की सुबह 03:16 से शुरू हो रही है, जो देर रात एक बजे तक है। ऐसे में महाशिवरात्रि के दिन दो शुभ योग बन रहे हैं। एक महाशिवरात्रि को परिघ योग है जो 11 बजकर 18 मिनट तक रहने वाला है।सनातन धर्म के पंचांग के अनुसार, हर साल फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को धूमधाम के साथ महाशिवरात्रि मनाई जाती है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष महाशिवरात्रि के दिन पंचग्रही योग भी बन रहा है। ऐसे में इस खास दिन मकर राशि में मंगल, शनि, चंद्रमा, शुक्र और बुध ग्रह एक साथ उपस्थित होकर पंचग्रही योग का निर्माण करने वाले हैं।

पीएम ने 'महाशिवरात्रि' के अवसर पर शुभकामनाएं दी

पीएम ने 'महाशिवरात्रि' के अवसर पर शुभकामनाएं दी   

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाशिवरात्रि के अवसर पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए सभी के मंगल की कामना की है। गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत मोदी सरकार के कई केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा के दिग्गज नेताओं ने भी सभी को महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं दी हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं देते हुए कहा, " महाशिवरात्रि के पावन-पुनीत अवसर पर आप सभी को मंगलकामनाएं। देवों के देव महादेव सबका कल्याण करें। ओम नम: शिवाय।"
गृह मंत्री अमित शाह ने देश की खुशहाली और समृद्धि के लिए प्रार्थना करते हुए ट्वीट कर कहा , "समस्त देशवासियों को महाशिवरात्रि के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं। देवाधिदेव महादेव से सभी के कल्याण और देश की खुशहाली व समृद्धि के लिए प्रार्थना करता हूँ। ओम नम: शिवाय। 
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने महाशिवरात्रि के अवसर पर सभी के मंगल की कामना करते हुए ट्वीट कर कहा, "महाशिवरात्रि के पावन पर्व की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं। महादेव आपके जीवन में नई ऊर्जा और चेतना का संचार करें, यही मंगलकामना है। हर हर महादेव। 

सीएम योगी ने 'महाशिवरात्रि' पर्व की शुभकामनाएं दी

सीएम योगी ने 'महाशिवरात्रि' पर्व की शुभकामनाएं दी    

संदीप मिश्र      
लखनऊ। देशभर में मंगलवार को भगवान शिव को प्रिय महाशिवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। आज सुबह से ही मंदिरों में भोलेनाथ का जलाभिषेक करने के लिए भक्तों की लंबी कतार नजर आ रही है। महाशिवरात्रि के त्योहार पर मंदिरों को भी काफी सुंदर तरीके से सजाया गया है। 
वहीं, श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए मंदिरों में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम के साथ ही कोविड-19 प्रोटोकॉल के पालन का भी ध्यान रखा जा रहा है। गौरतलब है कि इस पावन पर्व पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी।

करदाताओं को बड़ा झटका देने की तैयारी में सरकार

करदाताओं को बड़ा झटका देने की तैयारी में सरकार  

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। लगातार बढ़ रही महंगाई को देखते हुए सरकार करदाताओं को बड़ा झटका देने की तैयारी में है। पुरानी टैक्स व्यवस्था को खत्म किया जा सकता है।जिसमें 70 तरह की छूट मिलती है। रेवेन्यू सेक्रेटरी तरुण बजाज का कहना है कि इनकम टैक्स की पुरानी व्यवस्था के प्रति करदाताओं का आकर्षण घटाने की जरूरत है। इसे ज्यादा लोग इनकम टैक्स की नई व्यवस्था को अपनाने के लिए प्रोत्साहित होंगे। इनकम टैक्स की नई व्यवस्था 2020 में शुरू हुई थी। इसमें टैक्स की दर भले ही कम है, लेकिन डिडक्शन की सुविधा नहीं मिलती है। छूट नहीं मिलने की वजह से नई टैक्स व्यवस्था के प्रति करदाताओं ने दिलचस्पी नहीं दिखाई है। ज्यादातर करदाता पुरानी टैक्स व्यवस्था के साथ ही अपना इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते हैं।

सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 के बजट में टैक्स की नई व्यवस्था पेश की थी। कहा था कि टैक्स की यह व्यवस्था काफी आसान है। इंडिविजुअल करदाताओं के लिए इसमें टैक्स रेट कम है। लेकिन, उन्हें स्टैंडर्ड डिडक्शन और सेक्शन 80सी की सुविधा नहीं मिलती है। स्टैंडर्ड डिडक्शन और सेक्शन 80सी की सुविधा से टैक्स का बोझ कम हो जाता है। नई व्यवस्था में 5 से 7.5 लाख रुपये सालाना इनकम वाले करदाताओं को 10 फीसदी टैक्स देना पड़ता है। पुरानी व्यवस्था में इतनी इनकम पर 20 फीसदी टैक्स देना पड़ता है। हालांकि, सेक्शन 87ए के तहत मिलने वाली रिबेट के चलते सालाना 5 लाख रुपये तक की इनकम वाले लोगों को नई या पुरानी व्यवस्था में कोई टैक्स नहीं देना पड़ता है।

बजाज ने कहा कि सरकार ने पर्सनल इनकम टैक्स में कमी लाने के लिए नई व्यवस्था पेश की थी। लेकिन, बहुत कम लोगों ने इसमें दिलचस्पी दिखाई है। इसकी वजह यह है कि लोगों को लगता है कि किसी व्यवस्था में वह 50 रुपये भी कम टैक्स चुकाएंगे तो वे उसी व्यवस्था का इस्तेमाल करना चाहते हैं। देश में 80सी और स्टैंडर्ड डिडक्शन का इस्तेमाल करने वाले 8-8.5 लाख सालाना इनकम वाले लोगों को कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ता है।उन्होंने कहा कि यही वजह है कि लोग नई व्यवस्था का इस्तेमाल नहीं करना चाहते। इसलिए जब तक हम पुरानी व्यवस्था का आकर्षण नहीं घटाएंगे, लोग नई व्यवस्था को अपनाने के लिए आने नहीं आएंगे। जब तक हम ऐसा नहीं करेंगे, हम अपने टैक्स रेट को आसान नहीं बना सकेंगे।

सभी भारतीय नागरिकों को कीव छोड़ने का आदेश

सभी भारतीय नागरिकों को कीव छोड़ने का आदेश      

अखिलेश पांडेय     

कीव/मास्को/नई दिल्ली। यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने मंगलवार को सभी भारतीय नागरिकों और छात्र-छात्राओं को जल्द से जल्द राजधानी कीव छोड़ने का आदेश दिया। भारतीय दूतावास ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट में लिखा है, "यूक्रेन की राजधानी कीव में रह रहे भारतीयों काे तुरंत वहां से निकलने की सलाह दी। दूतावास ने आज विद्यार्थियों सहित सभी भारतीय नागरिकों को तत्काल कीव छोड़ने के लिए कहा जा रहा है। उन्हें ट्रेन या यातायात के अन्य साधनों से यहां से निकलने की सलाह दी गयी है।"

उल्लेखनीय है कि यूक्रेन और रूस के हमलों के बीच हजारों की संख्या में भारतीय फंसे वहां फंसे हुए हैं। गत 24 फरवरी को यूक्रेन पर रूसी सेना द्वारा आक्रमण शुरू करने के बाद पड़ोसी देशों से भारतीय नागरिकों को निकाला जा रहा है।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 6,915 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 6,915 नए मामलें       

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 6,915 नए मामलें सामने आए। 16,864 रिकवरी और 180 लोगों की कोरोना से मौत हुई।
चीन के वुहान में ही हुई थी कोविड-19 की उत्पत्ति
दो नए अध्ययनों से यह संकेत मिलते हैं कि कोविड-19 का कारक सार्स-सीओवी-2 वायरस  की उत्पत्ति वुहान के हुआनान सीफूड मार्केट में जानवरों  में हुई और 2019 के अंत में इसका प्रसार इंसानों में हुआ। पहले अध्ययन में यह दिखाने के लिए स्थानिक विश्लेषण का उपयोग किया गया कि दिसंबर 2019 में सबसे शुरू में कोविड-19 के जिन मामलों का उपचार किया गया वे वुहान के बाजार पर केंद्रित थे। शोधकर्ताओं ने पाया कि वायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण करने वाले पर्यावरणीय नमूने जीवित जानवरों को बेचने वाले विक्रेताओं से दृढ़ता से जुड़े थे।
अमेरिका स्थित एरिजोना विश्वविद्यालय में एक प्रोफेसर माइकल वोरोबे ने ट्वीट किया, "हमने दिसंबर 2019 में लक्षण की शुरुआत के साथ वुहान से अधिकांश ज्ञात कोविड-19 मामलों के लिए अक्षांश और देशांतर निकालने के लिए सार्स-सीओवी-2 की उत्पत्ति पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) मिशन की रिपोर्ट में मानचित्रों का उपयोग किया।

हैरतअंगेज: एक बच्चे के मुंह से 50 दांत निकाले

हैरतअंगेज: एक बच्चे के मुंह से 50 दांत निकाले    

मनोज सिंह ठाकुर      
भोपाल। मध्य प्रदेश के इंदौर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां पर एक बच्चे के मुंह से 50 दांत निकाले गए। उस बच्चे को दांतों में दर्द की शिकायत थी, जिसके बाद डॉक्टरों ने उसकी जांच की तो पता चला कि वो एक दुर्लभ बीमारी से ग्रसित है।
मेडिकल की दुनिया में इस बीमारी को ओडोनटोमा कहते हैं। एक लाख में तो सिर्फ एक या दो मामले, इस बीमारी के निकलते हैं।
इस केस की बात करें तो 10 साल के बच्चे के मुंह में काफी सूजन थी। उसे लंबे समय से दांतों में दर्द की भी शिकायत थी। ऐसे में बच्चे का तुरंत ऑपरेशन करना जरूरी हो गया था।
डॉक्टर सचिन ठाकुर के मुताबिक अगर समय रहते इस बीमारी का इलाज नहीं किया गया तो इसके गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं। बच्चे को भी ये दिक्कत थी कि उसके ये अतिरिक्त दांत उसके स्वस्थ्य दांतों पर भी असर डालने लगे थे। अभी के लिए एक तीन डॉक्टरों की टीम ने उस बच्चे का सफल ऑपरेशन किया है।
ऑपरेशन के दौरान बच्चे के तीस दांत निकाल दिए गए हैं। वहीं बताया जा रहा है कि 18 साल की उम्र तक बच्चे के तीस दांत वापस आ जाएंगे।
जानकारी दी गई है कि ये ऑपरेशन काफी कठिन था और इसको करने में पूरे ढ़ाई घंटे लग गए। अब बच्चे की तबीयत ठीक बताई जा रही है और उसकी सेहत में भी सुधार हो रहा है।

मांस की खुली बिक्री, इजाजत नहीं देने का निर्देश

मांस की खुली बिक्री, इजाजत नहीं देने का निर्देश    

इकबाल अंसारी     

अगरतला। त्रिपुरा हाईकोर्ट ने अगरतला नगर निगम को सड़कों या सार्वजनिक स्थानों पर मांस की खुली बिक्री की इजाजत नहीं देने का निर्देश दिया है। हाईकोर्ट ने नगर निगम से यह भी कहा है कि राज्य में बूचड़खाने की स्थापना की जाए और इसकी स्थापना के लिए एक योजना भी तैयार की जाए। मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महंती और न्यायमूर्ति एसजी चट्टोपाध्याय की अगुवाई वाली हाईकोर्ट की बेंच अधिवक्ता अंकन तिलक पॉल द्वारा दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी।

निगम के आयुक्त ने बेंच को सूचित किया कि बूचड़खाने के निर्माण के लिए एक टेंडर जारी किया जा रहा है। बूचड़खाने का निर्माण टेंडर को अंतिम रूप देने के 18 महीने बाद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 139 व्यक्तियों को अब तक मांस बिक्री के लिए लाइसेंस दिए गए हैं। एचसी के आदेश में कहा गया है कि इस बात पर खास ध्यान दिया जाना चाहिए कि लाइसेंस प्राप्त परिसर के अंदर स्वच्छता को बनाए रखा जा रहा है या नहीं। कोर्ट ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों या गलियों-सड़कों पर मांस की बिक्री की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए।
अदालत ने अपने आदेश में कहा कि मांस को बूचड़खानों में बेचा जाना चाहिए। जब तक बूचड़खाने की स्थापना नहीं हो जाती।
तब तक नगरपालिका द्वारा उपलब्ध कराए गए स्थानों पर मीट बेचा जा सकता है। अदालत ने एएमसी को विलुप्त होती प्रजातियों की हत्या के मामले में वन विभाग को सूचना देने के लिए भी कहा है ताकि विभाग आवश्यक कानूनी कार्रवाई कर सके। एएमसी नगर आयुक्त डॉ. शैलेश कुमार यादव ने अदालत को बताया कि बूचड़खाने के निर्माण के लिए 21 फरवरी को टेंडर निकाला गया था। अगर टेंडर को अंतिम रूप दिया जाता है, तो बूचड़खाने का निर्माण 18 महीने के भीतर पूरा होने की उम्मीद है। 
इस बीच, कुल 139 लोगों को मांस बेचने के लिए एएमसी द्वारा ट्रेड लाइसेंस दिए गए थे। हाईकोर्ट ने एएमसी से कहा कि वह बूचड़खाने को स्थापित करने के लिए एक दीर्घकालिक योजना तैयार करे। जब तक योजना तैयार नहीं हो जाती तब तक जानवरों को मीट में तब्दील करने के लिए एक अलग स्थान उपलब्ध कराने पर विचार करे। अदालत ने एएमसी को मांस की गुणवत्ता प्रमाणित करने के लिए कुछ अधिकारियों को तैनात करने को भी कहा है। इस काम के लिए तैनात होने वाले अधिकारी राज्य के पशु चिकित्सा विभाग की सहायता ले सकते हैं।

182 भारतीयों को लेकर मुंबई पहुंचीं सातवीं फ्लाइट

182 भारतीयों को लेकर मुंबई पहुंचीं सातवीं फ्लाइट    

सुनील श्रीवास्तव  

कीव/मास्को। रूस-यूक्रेन संकट के बीच ऑपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन में फंसे छात्रों को निकालने के लिए कोशिशें और भी तेज कर दी गई हैं। अब तक कुल सात उड़ानें भारत पहुंच चुकी हैं। यूक्रेन में फंसे 182 भारतीय नागरिकों को लेकर सातवीं ऑपरेशन गंगा फ्लाइट भी बुखारेस्ट (रोमानिया) से मुंबई पहुंच गई है। केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने मुंबई हवाई अड्डे पर भारतीय छात्रों की अगवानी की।

वहीं, एक भारतीय छात्र ने जानकारी दी है कि ऑपरेशन गंगा की आठवीं उड़ान भी बुडापेस्ट से दिल्ली के लिए रवाना हो गई है। छात्र ने कहा कि यह एक सहज प्रक्रिया थी। हम यूक्रेन से हंगरी निकालने के लिए भारतीय दूतावास और सरकार को धन्यवाद देना चाहते हैं। वे हमें सकुशल घर वापस लाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट करते हुए कहा कि हम तब तक आराम नहीं करेंगे जब तक हमारे भारतीय नागरीक सुरक्षित नहीं हैं। इस बीच, यूक्रेन संकट पर सोमवार शाम को उच्च स्तरीय बैठक में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूरी सरकारी मशीनरी चौबीसों घंटे काम कर रही है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वहां सभी भारतीय सुरक्षित हैं।

यूक्रेन में मौजूदा स्थिति पर दिन के दौरान प्रधान मंत्री की अध्यक्षता में यह दूसरी उच्च स्तरीय बैठक थी। इस बैठक में यह फैसला लिया गया कि केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, किरेन रिजिजू और जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह सहित विशेष दूत क्रेन में चल रहे रूसी सैन्य अभियानों के बीच फंसे भारतीयों की निकासी के समन्वय के लिए यूक्रेन के पड़ोसी देशों की यात्रा करेंगे।

2 साल की मासूम को 16 करोड़ का इंजेक्शन लगाया

2 साल की मासूम को 16 करोड़ का इंजेक्शन लगाया   

दुष्यंत टीकम    

रायपुर। छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक 2 साल की मासूम को 16 करोड़ रुपये का कीमती इंजेक्शन लगाया गया है। एसईसीएल कर्मी की बेटी सृष्टि रानी को दिल्ली के एम्स के डॉक्टर ने इंजेक्शन लगाया है। दुर्लभ बीमारी से जूझ रही मासूम सृष्टि रानी को आखिकार दिल्ली के एम्स अस्पताल में विदेश से मंगाई गई 16 करोड़ रुपये कीमती जोलगेजमा इंजेक्शन लग गई। इससे परिवार वालो के साथ ही मासूम सृष्टि की जिंदगी बचाने के मुहिम में जुटे तमाम लोगो ने भी राहत की सांस ली। दिल्ली एम्स अस्पताल में सफलतापूर्वक सृष्टि रानी को विदेश से मंगाई गई इंजेक्शन इंजेक्ट किया गया।

एम्स अस्पताल की डॉक्टर शेफाली के साथ सदस्यीय डॉक्टरों की टीम ने इस प्रक्रिया में अपना योगदान दिया।एसईसीएल के दीपका परियोजना में ओवर मेन के पद पर कार्यरत सतीश कुमार रवि की दो वर्ष की बेटी सृष्टि रानी दुर्लभ स्पाइनल मस्कुलर एट्राफी टाइप वन नामक गंभीर बीमारी से पीड़ित है।उसे बचाने के लिए 16 करोड़ रुपये कीमती इंजेक्शन की जरूरत थी। जेबीसीसीआई की बैठक में सृष्टि के इलाज का खर्च उठाने की मांग कोल इंडिया से रखी गई। कोल इंडिया प्रबंधन ने इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए सृष्टि के इलाज के लिए 16 करोड़ की राशि उपलब्ध कराने के मांग को मजूरी दी।

एलपीजी गैस-सिलेंडर के दाम में ₹105 और बढ़ाए

एलपीजी गैस-सिलेंडर के दाम में ₹105 और बढ़ाए    

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। एलपीजी गैस महंगा हो गया है। सरकारी तेल कंपनियों ने एक मार्च से 19 किलो वाणिज्यिक रसोई गैस-सिलेंडर रिफिलिंग के दाम में 105 रुपये और बढ़ा दिए हैं। दिल्ली में कमर्शियल रसोई गैस 105 रुपये और कोलकाता में 108 रुपये महंगा हो गया है। इतना ही नहीं 5 किलो वाले वाणिज्यिक रसोई गैस सिलेंडर की कीमत भी 27 रुपये बढ़ा दी गई है। हालांकि घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है, नई दरें आज से प्रभावी हैं।

इस बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में कमर्शियल एलपीजी गैस सिलेंडर की नई कीमत 2,012 रुपये हो गई है।साथ ही पांच किलो के सिलेंडर छोटू में भी 27 रुपये की बढ़ोतरी की गई है। दिल्ली में इसकी कीमत अब 569 रुपये हो गई है,ऑयल मार्केटिंग कंपनियां हर महीने एलपीजी सिलेंडर की कीमतों की समीक्षा करती हैं।एक फरवरी को 19 किलो वाले कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमत में 91.50 रुपये की कटौती की गई थी, लेकिन हाल के दिनों में कच्चे तेल के दामों में जबरदस्त इजाफे के चलते दिल्ली में इसकी कीमत अब 1907 रुपये से बढ़कर 2012 रुपये हो गई है।कोलकाता में इसकी कीमत 1987 रुपये के बजाय 2095 रुपये हो गई है, मुंबई में कमर्शियल एलपीजी गैस सिलेंडर की नई कीमत अब 1857 से बढ़कर 1963 रुपये हो गई है।

सरकारी तेल कंपनियों ने कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर के दाम तो बढ़ा दिए लेकिन घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दामों में कोई बदलाव नहीं किया है।छह अक्टूबर 2021 के बाद से घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दामों में पांच राज्यों में विधानसभा के मद्देनजर कोई बदलाव नहीं किया गया है। जबकि इस दौरान कच्चे तेल की कीमतें 100 डॉलर प्रति बैरल के पार जा चुकी है,माना जा रहा है कि पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों के बाद पेट्रोल डीजल के समान घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमत में भारी तेजी आ सकती है। 19 किलो के कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमत बढ़ने से होटल रेस्टोरेंट में खाना पीना महंगा हो सकता है,वहीं छोटू सिलेंडर की कीमत बढ़ने से छात्रों और मजदूरों के लिए खाना बनाना महंगा हो जाएगा।

तत्काल कीव छोड़ने की सलाह, सरकार पर निशाना

तत्काल कीव छोड़ने की सलाह, सरकार पर निशाना   

अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्‍ली। कांग्रेस ने यूक्रेन स्थित भारत के दूतावास द्वारा भारतीय नागरिकों को तत्काल कीव छोड़ने की सलाह दिए जाने के बाद मंगलवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। पार्टी ने कहा कि युद्धग्रस्त देश में फंसे हजारों भारतीय नागरिकों की मदद करने के बजाय उन्हें ‘आत्मनिर्भर’ बनने की सलाह दी जा रही है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘जिंदगी और मौत के बीच हज़ारों भारतीयों को, उनकी ‘सहायता’ करने के बजाय केवल ‘आत्मनिर्भर बनने की सलाह’? बीते 5 दिनों से मोदी सरकार यूक्रेन में हज़ारों बच्चों को बस यहां से वहां भगा रही है? 
तबाही के मंज़र में भला बाहर कैसे निकलें, दूरी कैसे तय करें और कहां जायें।बच्चों की ज़िन्दगी से खिलवाड़ कब तक। बता दें कि यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने मंगलवार को छात्रों सहित सभी भारतीय नागरिकों को उपलब्ध ट्रेन या किसी अन्य माध्यम से तत्काल कीव छोड़ने का सुझाव दिया है। दूतावास ने ट्वीट किया, ‘‘ कीव में भारतीयों के लिये परामर्श…छात्रों सहित सभी भारतीयों को सलाह दी जाती है कि वे आज तत्काल कीव छोड़ दें। उपलब्ध ट्रेन या किसी अन्य उपलब्ध माध्यम के जरिये।” यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद युद्धग्रस्त देश का हवाई क्षेत्र बंद ।होने के कारण भारत वहां फंसे अपने नागरिकों को रोमानिया, हंगरी, पोलैंड और स्लोवाकिया से लगी उसकी (यू्क्रेन की) सीमा चौकियों के जरिए वहां से बाहर निकाल रहा है।

खारकीव में हवाई हमले से भारतीय छात्र की मौंत

खारकीव में हवाई हमले से भारतीय छात्र की मौंत     

सुनील श्रीवास्तव     

कीव/ मास्को। यूक्रेन में रूसी हमलों से हालात अब बद से बदतर होते जा रहे हैं। ऐसे ही एक हवाई हमले से खारकीव में भारतीय छात्र की मौत हो गई है। यह जानकारी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने दी है। मंगलवार को रूस ने यूक्रेन के सभी बड़े शहरों में हमले तेज कर दिए हैं। कीव की तरफ रूसी सेना का बड़ा काफिला तेजी से बढ़ रहा है। अरिंदम बागची ने कहा कि यह बताते हुए मुझे बड़ा दुख है कि खारकीव में जो हवाई हमले हो रहे हैं। उसमें एक भारतीय छात्र की मौत हो गई है। फिलहाल मंत्रालय छात्र के परिवार के साथ संपर्क में है। परिवार के साथ हमारी संवेदनाएं हैं।

एरीनडम बागची ने आगे जानकारी दी है कि भारतीय विदेश सचिव रूस और यूक्रेन के राजदूतों से संपर्क में हैं। इसमें यह मांग उठाई गई है कि भारतीय छात्रों और नागरिकों को निकलने के लिए सुरक्षित रास्ता दिया जाए क्योंकि कई छात्र अभी खारकीव और अन्य शहरों में फंसे हुए हैं। यूक्रेन की राजधानी कीव में बिगड़ती स्थिति के बीच आज ही भारतीय दूतावास ने सख्त एडवाइजरी जारी की थी। इसमें कहा गया था कि सभी भारतीय नागरिक और छात्र कीव को जल्द से जल्द छोड़ दें। एडवाइजरी में लिखा था कि कीव छोड़ने के लिए जो साधन उनको मिले उसे तुरंत पकड़कर वे निकल लें। इसमें ट्रेन, बस आदि से ट्रैवल करने की सलाह दी गई थी।

गुजरात: 3.4 तीव्रता का भूकंप, झटकेें महसूस कियें

गुजरात: 3.4 तीव्रता का भूकंप, झटकेें महसूस कियें   

इकबाल अंसारी       

अहमदाबाद। गुजरात के कच्छ जिले में मंगलवार को 3.4 तीव्रता के भूकंप के झटकें महसूस कियें गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। जिला प्रशासन ने बताया कि इससे किसी के हताहत होने या संपत्ति को नुकसान की कोई खबर नहीं है। गांधीनगर स्थित भूकंप अनुसंधान संस्थान (आईएसआर) ने बताया कि भूकंप के झटके सुबह सात बजकर 50 मिनट पर दर्ज किया गया और इसका केंद्र जिले में रापड़ से 19 किलोमीटर पश्चिम दक्षिण – पश्चिम में था।

आईएसआर के मुताबिक, भूकंप सतह से 21.7 किलोमीटर की गहराई पर आया। उल्लेखनीय है कि गत दो सप्ताह में भूकंप के 3.4 तीव्रता के तीन झटके जिले में महसूस किए जा चुके हैं। कच्छ जिला भूकंप के लिहाज से ‘अति संवेदनशील’ जोन में आता है। जनवरी 2001 में आए भूकंप से जिले में भारी तबाही मची थी और करीब 13,800 लोगों की मौत हुई थी जबकि 1.67 लाख लोग घायल हुए थे।

खास: पीएम ने राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात की

खास: पीएम ने राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात की     

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की और उन्हें यूक्रेन और रूस के बीच जारी जंग से पैदा हुई वैश्विक स्थिति के साथ ही यूक्रेन से भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए चलाए जा रहे अभियान की विस्तृत जानकारी दी। यह जानकारी सूत्रों ने दी। सूत्रों ने बताया, ”प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की और उन्हें यूक्रेन सहित विभिन्न मुद्दों पर जानकारी दी।” ज्ञात हो कि यूक्रेन से भारतीयों को वापस लाने के लिए सरकार की ओर से ”ऑपरेशन गंगा” चलाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा था कि यूक्रेन में सभी भारतीयों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरा सरकारी तंत्र चौबीस घंटे काम कर रहा है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत पड़ोसी तथा विकासशील देशों के उन लोगों की भी मदद करेगा जो पूर्वी यूरोप के युद्धग्रस्त देश में फंसे हैं। गौरतलब है कि 24 फरवरी को रूस द्वारा हमला करने के बाद यूक्रेन का हवाई क्षेत्र बंद होने के कारण भारत वहां फंसे अपने नागरिकों को रोमानिया, हंगरी, पोलैंड और स्लोवाकिया से लगी उसकी (यू्क्रेन की) सीमा चौकियों के जरिए वहां से बाहर निकाल रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने चार केंद्रीय मंत्रियों को यूक्रेन के पड़ोसी देशों में पहुंच कर भारतीयों को सुरक्षित एवं सुगम तरीके से निकालने में समन्वय करने की जिम्मेदारी दी है। इसके तहत, केंद्रीय मंत्री वी के सिंह पोलैंड में, किरेन रिजिजू स्लोवाकिया में, हरदीप पुरी हंगरी में जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया रोमानिया और माल्डोवा में समन्वय करेंगे।

'गोवर्धन ब्रांड' के दूध में ₹2 प्रति लीटर की बढ़ोतरी

'गोवर्धन ब्रांड' के दूध में ₹2 प्रति लीटर की बढ़ोतरी     

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। अमूल के बाद गोवर्धन का दूध भी महंगा कर दिया गया है। डेयरी फर्म पराग मिल्क फूड्स लिमिटेड ने मंगलवार को कहा कि उसने एक मार्च से गोवर्धन ब्रांड के गाय के दूध की कीमत में दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की है। इससे पहले अमूल ब्रांड के तहत दूध और दूध उत्पादों का विपणन करने वाले गुजरात सहकारी दूध विपणन महासंघ (जीसीएमएमएफ) ने सोमवार को कहा था कि दूध की कीमतों में मंगलवार से दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी की जाएगी।

पराग मिल्क ने एक बयान में कहा कि कीमतों में बढ़ोतरी के साथ गोवर्धन गोल्ड दूध की कीमत अब 48 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 50 रुपये हो जाएगी। गोवर्धन फ्रेश, जो टोंड दूध है, की कीमत अब 46 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 48 रुपये होगी। पराग मिल्क फूड्स के अध्यक्ष देवेंद्र शाह ने कहा कि बिजली, पैकेजिंग, रसद और पशु चारा की लागत में वृद्धि के कारण दाम बढ़ाए गए हैं। वहीं मदर डेयरी ने भी कीमत बढ़ाने के संकेत दिए हैं।

'थर्मोबारिक मल्टिपल' रॉकेट से हमला करेंगा रूस

'थर्मोबारिक मल्टिपल' रॉकेट से हमला करेंगा रूस    

सुनील श्रीवास्तव       

कीव/ मास्को। यूक्रेन और रूस के बीच जंग का मंगलवार को छटा दिन है। यूक्रेन का दावा है कि अब रूस उस पर खतरनाक हथियारों से हमला कर रहा है। बीती रात यूक्रेन ने बताया कि रूस ने रिहाशी इलाकों में फादर आफ बम यानी की वैक्यूम बम से हमला किया है। यह बम नुक्लियल बम के बाद दूसरा सबसे खतरनाक बम बताया जाता है।

वैक्यूम बम को आधिकारिक तौर पर थर्मोबारिक मल्टिपल रॉकेट भी कहा जाता है। ये दुनिया के सबसे खतरनाक हथियारों में से एक हैं। इनके अंदर एक्‍सप्‍लोसिव फ्यूल और केमिकल भरा होता है। जो विस्‍फोट होने पर सुपरसोनिक तरंगें पैदा करता है। एक बार अगर ये फटता है तो विस्‍फोट होने पर इसके रास्‍ते में जो भी आता है वह सब कुछ तबाह हो जाता है। रूस यूक्रेन पर हमले लगातार तेज करता जा रहा है और तेजी से आगे बढ़ रहा है। इस दौरान रूस ने यूक्रेन के कई महत्वपूर्ण स्थानों पर हमला करके उन्हें तबाह कर दिया है। इसी बीच रिहायशी इलाकों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। भले ही रूस की ताकत बहुत ज्यादा है, बावजूद इसके यूक्रेन हार मानने को तैयार नहीं है और रूस को रोकने की हर मुमकिन कोशिश कर रहा है। अब रूस को टक्कर देने के लिए यूक्रेन के आम नगरिकों ने भी हथियार उठा लिए हैं।

न्यूक्लियर बम के हमले की धमकी पर पलटवार किया

न्यूक्लियर बम के हमले की धमकी पर पलटवार किया   

अखिलेश पांडेय        

मास्को/वाशिंगटन डीसी। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की ओर से न्यूक्लियर बम के हमले की धमकी पर अमेरिका ने पलटवार किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने न्‍यूक्लियर वेपन को हाई अलर्ट पर लगा दिया है। साथ ही न्‍यूक्लियर कमांड को भी हाई अलर्ट पर रखा है। व्हाइट हाउस ने कहा कि हम यूरोप की पूरी तरह रक्षा करेंगे।

बाइडेन ने अमेरिकी नागरिकों से कहा कि न्‍यूक्लियर वॉर से डरने की जरूरत नहीं है और हर हमले का जवाब अमेरिका दे सकता है। बाइडेन ने पेंटागन को अलर्ट पर रहने को कहा है। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने मित्र राष्ट्रों और भागीदारों से यूक्रेन पर रूस के अकारण युद्ध पर चर्चा करने के लिए बात की। साथ ही कहा कि हम यूक्रेन के लोगों के लिए अपना समर्थन जारी रख रहे हैं, क्योंकि वो अपने देश की रक्षा कर रहे हैं।

जब तक गिनवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं: अखिलेश

जब तक गिनवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं: अखिलेश  

संदीप मिश्र      

लखनऊ। सपा प्रमुख एवं यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने अपने प्रत्याशियों, पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि जब तक गिनवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं। अखिलेश यादव ने कहा कि लखनऊ में सभी के लिए प्रतिबंधित ईवीएम स्ट्रांग रूम में एक सरकारी अधिकारी के घुसने का प्रयास बेहद गंभीर मामला है। 

सपा-गठबंधन के सभी प्रत्याशियों, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से अपील है कि वो सभी जगह ईवीएम स्ट्रांग रूम की निगरानी बढ़ा दें। अंत में उन्होंने कहा कि जब तक गिनवाई नहीं-तब तक ढिलाई नहीं। लखनऊ में सभी के लिए प्रतिबंधित ईवीएम स्ट्रांग रूम में एक सरकारी अधिकारी के घुसने का प्रयास बेहद गंभीर मामला है।  सपा-गठबंधन के सभी प्रत्याशियों, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से अपील है कि वो सभी जगह ईवीएम स्ट्रांग रूम की निगरानी बढ़ा दें। 

युद्ध: विवाह करने के पश्चात कपल ने हथियार उठाएं

युद्ध: विवाह करने के पश्चात कपल ने हथियार उठाएं    

सुनील श्रीवास्तव       

कीव/मास्को। रूस और यूक्रेन के बीच काफी दिनों से युद्ध चल रहा है। रूस ने यूक्रेन ने कई इलाकों में हमला भी किया है। जिसके बाद यूक्रेन लोग भी रूस के विरूद्ध जंग में उतर चुकी है। एक यूक्रेन के कपल शादी करने के बाद रूस के विरूद्ध जंग लड़ने के लिये मैदान में उतर चुके हैं। मिली जानकारी के अनुसार यूक्रेन के कीव निवासी 24 वर्षीय स्वियातोस्लेव फुरसिन और 21 वर्ष की यारिना एरिवा का विवाह तकरीबन एक साल पूर्व तय हो गया था। कोरोना महामारी को देखते हुए उन्होंने इस कार्यक्रम को केंसिल कर दिया था। इस महामारी के बाद उन्होंने शादी करने का निर्णय लिया था। महामारी के बाद अब दोनों ने शादी करने का फैसला लिया। इस दौरान रूसी सेना ने उनके देश पर हमला कर दिया। शादी करने के बाद दोनों ने रूस के सैनिकों से जंग लड़ने फैसला लिया।

22 फरवरी को विवाह करने के पश्चात कपल ने अपने हाथों में हथियार उठा लिये। बताया जा रहा है कि दोनों ने करीब दो साल पहले एक-दूसरे से मिले थे, जिसके बाद उनकी दोस्ती प्यार में तब्दील हो गई थी। इसके बाद दोनों ने शादी करने का फैसला ले लिया था। अब दोनों शादी करने के बाद रूस के विरूद्ध जंग में उतर चुके हैं।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-144, (वर्ष-05)
2. बुधवार, मार्च 2, 2022
3. शक-1984, फाल्गुन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अमावस्या, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 13 डी.सै., अधिकतम-22+ डी सै.। बर्फबारी, उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न    सुशील केसरवानी         कौशाम्बी। मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी की अध्यक्षता में उद...