गुरुवार, 6 मई 2021

चीनी रॉकेट के मलबे पर टिप्पणी से इनकार किया

बीजिंग। चीन ने अपने ‘लांग मार्च 5बी’ रॉकेट के मलबों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। जो इस हफ्ते पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करने वाला है और इस तरह की चिंता जताई जा रही है, कि अगर यह बस्ती वाले इलाकों में गिरता है, इससे काफी नुकसान हो सकता है। पिछले हफ्ते इस रॉकेट को देश के अंतरिक्ष स्टेशन से प्रक्षेपित किया गया था। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने इस सवालों के जवाब नहीं दिए, कि इस तरह की खबरें हैं, कि अमेरिका का रक्षा विभाग गिरते रॉकेट के मलबे पर नजर बनाए हुए हैं। वहीं सरकारी मीडिया ने चीन के विशेषज्ञों के हवाले से कहा है, कि विखंडित रॉकेट के कुछ हिस्से समुद्र में गिरेंगे। पेंटागन ने मंगलवार को कहा कि वह चीन के बड़े रॉकट पर नजर बनाए हुए हैं। जो नियंत्रण से बाहर हो गया है और इस सप्ताहांत में पृथ्वी के वायुमंडल में फिर से प्रवेश करने वाला है।

लॉकडाउन: 8 मई की सुबह से 16 मई तक लागू

तिरुवनंतपुरम। केरल सरकार ने बृहस्पतिवार को कहा कि महामारी की दूसरी लहर में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने के कारण आठ मई से राज्य में पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि नौ दिवसीय लॉकडाउन आठ मई की सुबह से 16 मई तक लागू रहेगा। संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को रोकने के लिए केरल में पिनराई विजयन के नेतृत्व वाली सरकार विभिन्न गतिविधियों पर पहले ही पाबंदी लगा चुकी है। केरल में बुधवार को कोरोना वायरस के अब तक के सर्वाधिक 41,953 मामले आए।

तीसरी लहर की आशंका, तैयारी शुरू करने की सलाह

अकांशु उपाध्याय               

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने देश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंका के कारण केंद्र सरकार को अभी से तैयारी शुरू कर देने की गुरुवार को सलाह दी। न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने ऑक्सीजन की आपूर्त्ति को लेकर हो रही सुनवाई के दौरान कहा, कि लोगों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर कोई दहशत न फैलें। इसके लिए जरूरी है, कि तीसरी लहर के आने से पहले ऑक्सीजन का बफर स्टॉक बनाया जाएं। न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने तीसरी लहर की आशंका को लेकर चिंता जताते हुए केंद्र सरकार से कहा कि तीसरी लहर के तौर पर कोरोना की भयावह स्थिति से निपटने के लिए देश स्तर पर एक योजना बनायी जाएं। न्यायालय ने कहा, “तीसरी लहर से निपटने के लिए आज ही तैयारी शुरू कर दीजिए। उस वक्त बच्चे भी संक्रमित हो सकते हैं, वैसी स्थिति में आप क्या करेंगे ? बच्चों के टीकाकरण की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएं। न्यायालय ने तीसरी लहर से निपटने के लिए बुनियादी संरचना दुरुस्त करने के साथ-साथ राष्ट्रीय प्रवेश सह पात्रता परीक्षा (नीट) की तैयारी कर रहे छात्रों और नर्सों को लगाने की भी सलाह दी है।

गाजियाबाद: 24 घंटें में 953 नए संक्रमितों की पहचान

अश्वनी उपाध्याय            
गाजियाबाद। राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दैनिक बुलेटिन के अनुसार, पिछले 24 घंटों की अवधि में जिलें में 953 नए संक्रमितों की पहचान हुई है और 715 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। जिलें में 15 रोगियों की मृत्यु के बाद अब 6915 सक्रिय संक्रमित हैं। जिलें में अब कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 46026 हो गई है। इनमें से 38808 मरीज ठीक हो चुके हैं। जबकि, अब तक मरने वालों की कुल संख्या 303 है।
गौतम बुद्ध नगर में 1227 नए संक्रमित मिले। जबकि 1027 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। 13 मरीजों की मृत्यु के बाद अब यहाँ सक्रिय संक्रमितों की संख्या 8525 हो गई है।

सरूरपुर में स्थापित कोविड अस्पताल का भ्रमण किया

गोपीचंद            
बागपत। कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर को दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी राजकमल यादव ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरूरपुर में स्थापित कोविड- अस्पताल का भ्रमण किया और अस्पताल में मरीजों को उपचार दे रहे चिकित्सकों से कोरोना संक्रमण के बचाव से संबंधित आवश्यक दिशा-निर्देश दिएं। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि प्रत्येक मरीज के आसपास अस्पताल में साफ-सफाई अच्छे से अच्छी होनी चाहिए। मरीज की बेडशीट समय से परिवर्तित कर दी जाएं। उन्हें खाना पीना अच्छा दिया जाए मरीज किसी भी तरह की अस्पताल में कोई समस्या महसूस ना करें। सभी का उपचार करना सबसे बड़ा सेवा भाव है। उन्होंने कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों से भी वार्ता की और उनका कुशल क्षेम जाना जिलाधिकारी द्वारा प्रतिदिन अपने कार्यालय से भी वीडियो कॉलिंग के माध्यम से प्रतिदिन अवश्य दो बार कोरोना मरीजों से वार्ता की जाती है और स्वास्थ्य विभाग की सेवा का फीडबैक लिया जाता है। जहां कहीं कमी महसूस होती है। उन्हें तत्काल दुरुस्त कराया जाता है। जिलाधिकारी ने लुहारी गांव में स्वास्थ्य सेवाओं संबंधित चल रहे अभियान का औचक निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने आम जनमानस के घर के दरवाजे पर पहुंच पहुंच कर आशा द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी ली गांव के नागरिकों ने बताया कि आशा गांव में भ्रमण करती हैं। जिसे बुखार खांसी जुखाम नजर आता है। वह किसी तरह के लक्षण प्रतीत होते हैं तो मौके पर मेडिसन किट दी जाती है और उनका किस प्रकार उपयोग करना है। यह भी  बताया जाता है और कोविड संक्रमण से बचाव रखने के उपायों के बारे में बहुत ही सरल जानकारी दी जाती। साथ उनके द्वारा ऑक्सीजन व थर्मल मीटर से तापमान भी मापने का कार्य किया जाता है। आशा के कार्यों की ग्राम वासियों ने प्रशंसा की।
जिलाधिकारी ने  कहा कि किसी भी तरह की कॉविड संबंधित कोई समस्या है तो 0121--2220027 पर काल करे।
जिलाधिकारी राजकमल यादव ने किसान सेवा सहकारी समिति लिमिटेड सरूरपुर कला में पहुंचकर गेहूं क्रय केंद्र का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने सभी व्यवस्थाएं देखी मापी यंत्र मौके पर मिला। जिलाधिकारी ने कहा मानक के अनुरूप कॉल होनी चाहिए। किसान को अनावश्यक रूप से परेशान ना किया जाए किसान हमारे लिए सर्वोपरि है। किसान का भुगतान समय से उसके खाते में पहुंच जाना चाहिए पीने के लिए पानी अवश्य हो और सभी के मुंह पर मास्क अवश्य लगा रहना चाहिए।जिलाधिकारी ने संबंधित प्रभारी अधिकारी को आवश्यक निर्देश भी दिए।

हापुड़: लोगों को सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया

अतुल त्यागी             
हापुड़। जनपद में प्रशासन द्वारा गढ़ रोड स्थित मनोहर हेरिटेज को "ऑक्सीजन उपलब्धता केंद्र" बनाए जाने पर गुरुवार को पूर्व कांग्रेस विधायक गजराज सिंह ने प्रशंसा की है। गजराज सिंह ने कहां है कि प्रशासन द्वारा जनपद हापुड़ के लोगों को कोरोना महामारी में ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध कराने के लिए जो केंद्र बनाया गया हैं।प्रशासन के इस सहयोग से जनपद के लोगों को अब दर-दर भटकना नहीं पड़ेगा। वही, शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अभिषेक गोयल ने भी कोरोना महामारी के दौरान प्रशासन द्वारा शहर के लोगों को सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया हैं। शहर अध्यक्ष अभिषेक गोयल ने प्रशासन से निवेदन किया हैं, कि हापुड़ शहर में जिन मरीजों को कोविड संबंधित ज्यादा समस्या है या जिनका ऑक्सीजन लेवल कम है। ऐसे मरीजों को तुरंत अस्पतालों में भर्ती कर जनका उपचार कराया जाएं।इसके साथ ही शहर के अस्पतालों में वेंटिलेटर की संख्या बढ़ाई जाएं। शहर अध्यक्ष अभिषेक गोयल ने कहा हैं, कि प्रायः शहर में इस तरह की शिकायतें आ रही हैं, कि लोग अस्पतालों में अपने परिजनों को भर्ती कराने के लिए कहते हैं तो अस्पताल वाले गेट के बाहर ही यह कहकर परिजनों को ये कहकर लौटा देते है, कि अस्पताल में बेड उपलब्ध नहीं है। जबकि वास्तव में होता यह है, कि अस्पताल वाले ज्यादा पैसों के लालच में कुछ बेड रिजर्व करके रख लेते हैं। ऐसे में वे लोग जरूरतमंद लोगों को देने से आनाकानी कर देते हैं। अभिषेक गोयल ने कहा है, कि ऐसे लोगों पर तुरंत अंकुश लगाया जाए और जरूरतमंद लोगों का तुरंत अस्पताल में उपचार कराया जाएं। पूर्व विधायक गजराज सिंह ने कहा है, कि शहर में रामा हॉस्पिटल,जीएस हॉस्पिटल, सरस्वती हॉस्पिटल आरोग्य हॉस्पिटल आदि ऐसे अस्पताल हैं। जहां कोविड संबंधित मरीजों का उपचार किया जा रहा है। लेकिन उन्हें सुविधा मात्र की दी जा रही है। ऐसे अस्पतालों को प्रशासन अपने हाथ में लें और अपनी देखरेख में मरीजों का उपचार कराएं।

अपराध का सफल अनावरण, अभियुक्त किए अरेस्ट

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी          
हापुड़। पुलिस द्वारा जनपद में अपराध की रोकथाम एवं शातिर/वांछित अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के अंतर्गत थाना सिम्भावली पुलिस ने थाने के मु.अ.सं 130/21 धारा 379 भादवि व मु.अ.सं 185/21 धारा 457,380,411 भादवि का सफल अनावरण करते हुए 3 अभियुक्तों को किया गिरफ्तार। जिनके कब्जे/निशानदेही पर चोरी किया हुआ सामान एक एलईडी, एक ग्राइंडर मशीन, एक आधार कार्ड, 03 बैटरे, 02 इन्वर्टर व 2500/-रूपये की नगदी बरामद।

अपर डीएम नगर के द्वारा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा

बृजेश केसरवानी            
प्रयागराज। भाजपा महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी के नेतृत्व में अपर जिलाधिकारी नगर के द्वारा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने राष्ट्रपति से मांग करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में हो रही भाजपा कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या और उनके साथ हो रही लूटपाट आगजनी रोका जाएं। ममता सरकार के संरक्षण में चल रहे हिंसात्मक कार्य को समाप्त कराकर दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का कार्य किया जाएं। ज्ञापन सौंपने वालों में मुख्य रूप से अवधेश चंद्र गुप्ता, शशि वार्ष्णेय, रणजीत सिंह, कुंज बिहारी मिश्रा, देवेश सिंह, राजेश केसरवानी, टी एन  दीक्षित रवि केसरवानी, रमेश पासी, विवेक अग्रवाल, बृजेश मिश्रा, गिरजेश मिश्रा, राघवेंद्र सिंह, विवेक मिश्रा,  संजीव पांडे, प्रकाश शुक्ला आदि रहे।

कोरोना प्रोटोकॉल, पुलिस ने चलाया चेकिंग अभियान

बृजेश केसरवानी      
प्रयागराज। थाना घूरपुर अंतर्गत कर्मा पुलिस चौकी के तेजतर्रार जाने माने एसआई जितेंद्र कुमार राजपूत ने चेकिंग अभियान चलाया। वहीं, सहयोगी साथी माननीय बेचू प्रसाद यादव के साथ पुलिसकर्मियों ने कोरोना महामारी में ग्रामीनवासियो को संदेश देते हुए अपना कर्तव्य निभाया। 
वहीं, सभी पुलिसकर्मियों ने पैदल चलकर मार्केट और गाँव में जाकर सभी को सुरक्षित रहने और अपने परिवार को सुरक्षित रहने का नसीहत देते हुए सभी ब्यापारियों, किसानों, मजदुरो, महिलाओं, राहियों को नियमों के बारे में अवगत करवाया और जबरजस्ती बिना मास लगाने वाले या लॉक डाउन का पालन न करने वालो का चालान काटकर अपना फर्ज निभाते रहे सभी पुलिस।

पहलवान सुशील की तलाश में जगह-जगह छापेमारी

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में मंगलवार को पहलवान के दो गुटों में झगड़े में एक पहलवान की मौत हो गई। अब मामले में दिल्ली पुलिस भारत के लिए ओलंपिक मैडल जीतने वाले पहलवान सुशील कुमार की तलाश में जगह- जगह छापेमारी कर रही है। 
सुशील कुमार पर आरोप लग रहे हैं कि वह इस हत्या में शामिल थे, जिसमें 23 साल के पहलवान को इतनी बुरी तरह मारा कि उसकी मौत हो गयी। इस पूरे मामले पर एडिशनल डीसीपी डॉ गुरिकबाल सिंह ने जानकारी दी है कि हम उनकी तलाश में लगातार छापेमारी कर रहे हैं। हम उनके साथियों की भी तलाश कर रहे है जिनमें से कुछ लोगों को पकड़ लिया गया है। इस मामले को पीसीआर कॉल के आधार पर दर्ज किया गया। शुरुआती जांच में सुशील कुमार और उनके साथियों को दोषी पाया गया है।

500 लीटर/मिनट की दर से ऑक्सीजन उत्पादन

उमेश भारद्वाज   
मंडी। भारत सरकार के डीआरडीओ द्वारा जोनल अस्पताल मंडी में जिला का सबसे बड़ा आॅक्सीजन प्लांट दस दिनों के भीतर स्थापित करके उसे शुरू कर दिया जाएगा। इसको लेकर डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर के निदेर्शों पर एनएचएआई और स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने जोनल अस्पताल का दौरा किया और प्लांट के लिए जगह चिन्हित की। एनएचएआई 10 दिनों के भीतर आॅक्सीजन प्लांट के लिए ढांचा तैयार करके देगी जिसमें बिजली की सुविधा भी होगी।
जबकि इसके बाद डीआरडीओ इसमें आॅक्सीजन प्लांट की सारी मशीनरी स्थापित करके इसे सुचारू रूप से चलाकर जोनल अस्पताल प्रबंधन के हवाले कर देगा। सीएमओ मंडी डा. देवेंद्र शर्मा ने बताया कि यह प्लांट एक हजार लीटर प्रति मिनट की दर से आॅक्सीजन का उत्पादन करेगा और इससे अस्पताल में उपचाराधीन मरीजों को बहुत ज्यादा लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि प्रशासन के निदेर्शों पर तुरंत कार्रवाई करते हुए एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर नवीन मिश्रा और जोनल अस्पताल के एमएस डा. डीएस वर्मा के साथ उन्होंने खुद संयुक्त दौरा करके जगह का चयन कर लिया है।
बता दें कि मंडी जिला के नेरचौक स्थित मेडिकल कॉलेज में 500 लीटर प्रति मिनट की दर से आॅक्जसीन का उत्पादन करने वाला प्लांट पीएम केयर्स की तरफ से हाल ही में स्थापित किया गया है। जबकि अब जोनल अस्पताल में एक हजार लीटर वाला प्लांट लगने वाला है। यह सरकारी क्षेत्र का जिला का सबसे बड़ा प्लांट होगा। सीएमओ मंडी डा. देवेंद्र शर्मा ने बताया कि भारत सरकार के डीआरडीओ की तरफ से प्रदेश के लिए 6 आॅक्सीजन प्लांट मंजूर किए गए हैं जिनमें से एक जोनल अस्पताल में लगने जा रहा है।बता दें कि अभी तक 90 बिस्तरों वाले जोनल अस्पताल मंडी में सिलेंडरों के माध्यम से आॅक्जसीन की सप्लाई की जाती है। जबकि 100 बिस्तरों वाला एमसीएच भी बहुत जल्द सुचारू होने वाला है। इसके बाद अस्पताल में बिस्तरों की संख्या बढ़कर 200 तक पहुंचने वाली है। वहीं कोरोना के मौजूदा समय और भविष्य में यह प्लांट काफी ज्यादा मददगार साबित होने वाला है।

24 घंटे में 4,12,373 नए मामलें दर्ज: वायरस

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। देश में लगातार कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। हर दिन कोरोना के मामलों में बढ़ातरी हो रही है। एक बार फिर देश में एक साथ 4 लाख से अधिक कोरोना वायरस के मामले सामने आया है। यह सभी मामले पिछले 24 घंटों में रिकॉर्ड किए गए है। इन मामलों के बीच देश में एक दिन रिकॉर्ड तोड़ 4 हजार के करीब लोगों ने कोरोना के कारण मौत हुई है। वहीं देश में कोरोना को हराने के लिए वैक्सीनेशन का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है।कोविड-19 इंडिया ओआरजी वेबसाइट के मुताबिक, भारत में एक दिन में कोविड-19 के 4,12,373 नये मामले दर्ज किए गए हैं और एक दिन में 3 हजार 979 लोगों की मौत हुई है। अब देश में कुल संक्रमितों की संख्या 2,10,70,852 हो गई है। जबकि इस खतरनाक वायरस से मरने वालों की संख्या देश में 2,30,151 हो गई है। वहीं 1,72,69,076 लोग कोरोना वायरस को मात देकर घर लौट चुके हैं। जबिक अभी देश में 35,62,715 एक्टिव केस हैं। इनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज जारी है।

सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में 3 आतंकी ढेर 1 जिंदा पकड़ा

शोपियां। जम्मू कश्मीर के शोपियां में एक बार फिर से सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया है। वहीं एक को जिंदा पकडा हुआ है। मुठभेड़ में जिंदा पकड़े गए आतंकी की पहचान हो गई है। आतंकी का नाम तौसीफ अहमद हैं। ये उन तीन आतंकियों का साथी है और ये चारों आतंकी संगठन अल-बद्र के सदस्य हैं।
सुरक्षाबल के जवानो ने मुठभेड़ के बाद इलाके में सर्च आॅपरेशन शुरू कर दिया है सुरक्षाबलों को सूचना मिली की कुछ आतंकी शोपियां के इलाके कनिगम में छिपे होने के गुप्त सूचना मिली हुई थी। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने अपना अभियान शुरू किया का बड़ी सफलता हाथ लगी हुई है। आॅपरेशन के दौरान पहले तो जवानों ने उन्हें आत्म समर्पण को कहा लेकिन वो नहीं मानें और जवानों पर गोलीबारी करनी शुरू कर दी। इसके बाद दोनों तरफ से हुई गोलीबारी में तीन आतंकी मारे गए। अपने साथियों को मरता देखकर एक आतंकी ने खुद को सरेंडर कर दिया। जिसके बाद उसकी पूछताछ की जा रही है।

इस्राईल की बर्बरता के खिलाफ घरों में रहकर विरोध

माहे रमज़ान के आखरी जुमा पर यौमे क़ुद्स दिवस पर होगा बैतुल मुक़द्दस की आज़ादी और इस्राईली आतंकवाद का ऑनलाईन विरोध
बृजेश केसरवानी  
प्रयागराज। माहे रमज़ान के आखरी जुमा जुमम्तुल विदा को प्रत्येक वर्षों की भांति इस वर्ष भी विश्व क़ुद्स दिवस के मौक़े पर कोरोना संक्रमण को देखते हुए बाद नमाज़ ए जुमा अपने अपने घरों से इस्राईल की बर्बरता के खिलाफ और बैतुल मुक़द्दस की आज़ादी के लिए ओलमाओं ने घरों मे रहकर विरोध दर्ज कराने की अपील की है।मदरसा अनवारुल उलूम के प्रधानाचार्य व शिया धर्म गुरु मौलाना जवादुल हैदर रिज़वी ने 7 मई शुक्रवार को जुमत्तुल विदा के मौक़े पर अन्तराष्ट्रीय क़ुद्स दिवस पर मरजईयत की आवाज़ पर लब्बैक कहते हुए अपनी दीनी व समाजिक फरीज़े को कोरोना संक्रमण को दृष्टि मे रखते हुए अपने अपने घरों से विरोध स्वरुप बाँहों मे काली पट्टी बाँध कर विरोध दर्ज कराने की अपील की।कहा विरोध की फोटो और वीडियो को सोशल साईट पर अपलोड कर इस्राइली आतंकवाद का विरोध और बैतुल मुक़द्दस की आज़ादी को संयुक्त राष्ट्र कार्यालय तक पहोँचा कर ज़िन्दा और अमन पसन्द होने का सबूत पेश करें।उम्मुल बनीन सोसाईटी के महासचिव सै०मो०अस्करी,मस्जिद क़ाज़ी साहब के मुतावल्ली शाहरुक़ क़ाज़ी,मस्जिदे खदीजा करैली के हसन आमिर,शिया करबला कमेटी के नायब सद्र शाहिद अब्बास रिज़वी,अन्जुमन नक़विया रजिस्टर्ड के रौनक़ सफीपुरी,हसन नक़वी,मस्जिद गदा हुसैन के नायब मुतावल्ली शाहरुक़ हुसैनी आदि ने भी अहले इसलाम से मज़हबे इसलाम का पहला क़िबला बैतुल मुक़द्दस की आज़ादी व इस्राइली आतंकवाद का विरोध घरों मे रहकर विभिन्न तरीक़े से करने और  वैश्विक शक्तियों को इसका ऐहसास कराने को जुम्मतुल विदा के दिन अन्तराष्ट्रीय यौमे क़ुद्स पर शान्तिपूर्वक विरोध करने की अपील की।

छत्तीसगढ़: कोरोना संक्रमितो की संख्या 8 लाख पार

सोम देवांगन   
रायपुर। प्रदेश में कोरोना का ग्राफ कम होने का नाम नहीं ले रहा है। इसके साथ मौतों में भी कर्मी नहीं आई है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार जो धीमी पकड़ी दिख रही थी, उसने फिर रफ्तार पकड़ ली है। अब लगातार 15 हजार से अधिक मरीजों की पुष्टि हो रही है।बुधवार को 15,157 मरीजों के रिपोर्ट होते ही संक्रमितों का आंकड़ा 8 लाख पार जा पहुंचा है। जिसका कोई अनुमान नहीं लगाया गया था। बुधवार को सबसे ज्यादा 1279 मरीज कोरबा में तो वहीं लगातार बिलासपुर, रायगढ़ और जांजगीर चांपा जैसे छोटे जिलों में हजार से अधिक मरीज मिल रहे हैं, जो सरकार की परेशानियां बढ़ा रहा है। क्योंकि इन जिलों में संसाधनों की भारी कमी है।उधर, प्रदेश में मौतों का आंकड़ा भी कम होने का नाम नहीं ले रहा है। हर दिन 250 से अधिक मौतें रिपोर्ट ही रही हैं। बुधवार को 253 मौतें हुईं, जिनमें 145 मरीज सिर्फ कोरोना संक्रमित थे। अब तक यह बीमारी 9738 मरीजों को निगल चुकी है।
बीते 24 घंटे में सर्वाधिक 64 मौतें रायपुर में रिपोर्ट हुईं। आंध्रप्रदेश में कोरोना का नया स्ट्रेन मिला है, जिसके चलते छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। सीमाओं पर कोरोना जांच के आदेश दिए गए हैं।प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 129211 जा पहुंची है, जो समूचे कोरोना काल में सर्वाधिक है। इससे पहले 19 अप्रैल को सर्वाधिक आंकड़ा 129000 पहुंचा था, और वह लुढ़कता हुआ 1.18 पर जा पहुंचा था। मगर, इसमें भी से बढ़ोत्तरी देखी जा रही है।

इन जिलों में कोरोना ज्यादा केस

आज रायपुर में 916 कोरोना केस सामने आए है. दुर्ग में 604, राजनांदगांव में 577, बिलासपुर में 1193, कोरबा में 1279, बेमेतरा में 338, कवर्धा में 327, धमतरी में 471, बालौदाबाजार में 661, महासमुंद में 517, गरियाबंद में 298, सरगुजा में 720, रायगढ़ में 1142, जांजगीर में 1006 कोरोना मरीज मिले हैं।

 कई जिलों में कोरोना से अधिक मौतें

रायपुर में कोरोना वायरस से 64 लोगों की मौत हुई है। बिलासपुर में 29, दुर्ग में 17, राजनांदगांव में 8, बालोद में 3, धमतरी में 10, कोरबा में 13, रायगढ़ में 38, कवर्धा में 8, जांजगीर में 18 मरीज की कोरोना से मौत हुई है। प्रदेश में मौतों का कहर जारी है।

पश्चिम बंगाल सरकार पर विवादित टिप्पणी: प्रज्ञा

भोपाल। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की जीत को लेकर मध्यप्रदेश में भी सियासत शुरू हो गई है। भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने पश्चिम बंगाल सरकार पर विवादित टिप्पणी की है। उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। उन्होंने पश्चिम बंगाल को मुमताज का लोकतंत्र बताते हुए हिंदू कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या, बलात्कार की घटनाओं पर नाराजगी जाहिर की और लिखा- अब टिट फॉर टैट करना ही होगा यानी जैसे को तैसा।

उन्होंने कहा कि अब लोगों को असम में शरण लेना पड़ रही है। इसके लिए एकमात्र उपाय राष्ट्रपति शासन और NRC ही है। संतों और वीरों की भूमि पर ताड़का का शासन हो गया।

हालांकि उनकी पोस्ट के बाद लोगों ने प्रतिक्रिया दी है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर बहस भी शुरू हो गई है। किसी ने इसे कश्मीर बनने की शुरुआत बताया, तो किसी ने इसे भाजपा की हार की खीज बताया। लोगों ने इसके लिए भाजपा को भी घेरा है।

दिग्विजय सिंह को हराया था

प्रज्ञा ठाकुर ने पिछले चुनाव में भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को हराया था। इसके बाद से वे कई मुद्दों पर विवादित टिप्पणी कर चुकी हैं। इसके बाद भाजपा को किनारा करना पड़ा। ताजा मामले में इसी तरह की टिप्पणी कंगना रनौत कर चुकी हैं, जिनका ट्वीटर हैंडल सस्पेंड किया गया।

भारत से आवागमन पर पूरी तरह रोक की घोषणा

कोलंबो। श्रीलंका ने कोविड-19 के मामलों में तेज बढ़ोतरी के कारण भारत से यात्रियों के आगमन पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने की बृहस्पतिवार को घोषणा की। ब्रिटेन, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका समेत कई देश भारत से आने वाले यात्रियों पर पहले ही पाबंदी लगा चुके हैं।नागर विमानन प्राधिकरण ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारत के यात्रियों को श्रीलंका आने की अनुमति नहीं होगी। भारत में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ रहे मामलों के कारण यह कदम उठाया गया है। नागर विमानन महानिदेशक ने राष्ट्रीय विमान कंपनी श्रीलंका एयरलाइन्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) को इस संबंध में एक पत्र लिखा है।
उन्होंने पत्र में लिखा है, ‘‘कोविड-19 महामारी की स्थिति को लेकर श्रीलंका के स्वास्थ्य प्राधिकारों से मिले निर्देशों के अनुरूप यह निर्देश दिया जाता है कि तत्काल प्रभाव से भारत से आने वाले यात्रियों को श्रीलंका आने की अनुमति नहीं होगी।’’

पर्यटन मंत्री प्रसन्ना राणातुंगा ने कहा कि राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे श्रीलंकाई प्रवासी कामगारों को देश लौटने की इजाजत देने का निर्देश दिया है। श्रीलंका में भी संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। पिछले पांच दिनों से रोज 2,000 से ज्यादा मामले आ रहे हैं जबकि मध्य अप्रैल तक रोजाना औसतन 200 मामले आ रहे थे।

जरूरी सेवाओं के साथ शराब ठेको को छूट: पंजाब

अमित शर्मा   

चंडीगढ़। पूरे देश में कोरोना का कोहराम मचा हुआ है। संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। इस लॉकडाउन के अवधि में कुछ
रियायतों के साथ जरूरी सेवाएं संचालित करने की छूट दी गई है। वहीं शराब ठेके को भी छूट दी गई है। पंजाब सरकार ने अल्कोहल को एसेंशियल की लिस्ट में रखा है। सरकार के इस फैसले के बाद मिनी लॉकडाउन के दौरान शराब के ठेके खोले जाएंगे।

पंजाब सरकार ने इस संबंध में मंगलवार दोपहर को ही नोटिफेकेशन जारी कर दिया था। हालांकि नोटिफिकेशन में देरी के कारण एक दिन बाद से ठेके खुलने लगे। बता दें कि पंजाब सरकार ने कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए 15 मई तक के लिए लॉकडाउन की घोषणा की थी। लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाओं को इससे छूट दी गई थी।पंजाब सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा 2 मई को की थी। इस दौरान बताया था कि जरूरी वस्तुओं की दुकानें जैसे- दवा, दूध, सब्जी, मीट आदि की ही खोलने के आदेश थे। उस दौरान शराब के ठेकों सहित अन्य गैर-जरूरी दुकानों खोलने की अनुमति नहीं दी गई थी। लॉकडाउन के दौरान शादी समारोह और अंतिम संस्कार में केवल 10 लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई थी। सराकर के इस एलान के बाद शराब ठेकेदारों की ओर से शराब के ठेके खोलने की लगातार मांग उठाई जा रही थी। सरकार के इस आदेश के बाद राज्य में बंद सभी ठेके खोल दिए जाएंगे।

कोविड-19 की स्थिति पर व्यापक समीक्षा बैठक की

अकांशु उपाध्याय  
 नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में कोविड-19 की स्थिति पर गुरुवार को व्यापक समीक्षा बैठक की। इस दौरान उनके साथ रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन, पीयूष गोयल समेत अन्य मंत्री और शीर्ष अधिकारी मौजूद थे। बैठक के दौरान देश के विभिन्न राज्यों और जिलों में कोरोना से बिगड़े हालत की तस्वीर पीएम मोदी के सामने पेश की गई.प्रधानमंत्री को समीक्षा बैठक के दौरान बताया गया कि देश में इस वक्त करीब 12 राज्य ऐसे हैं। जहां पर 1 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं। इसके साथ ही, पीएम ने उन जिलों के बारे में भी जाना जहां पर सबसे ज्यादा एक्टिव कोरोना संक्रमण के केस हैं।
बैठक के दौरान प्रधानमंत्री को यह बताया गया कि कैसे राज्यों की तरफ से हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को तेजी से बढ़ाने पर काम किया जा रहा है। पीएम मोदी ने निर्देश दिए कि राज्यों को हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने के लिए मदद और उन्हें सुझाव दिया जाए। इस उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक के दौरान पीएम ने दवाईयों का उपलब्धता पर भी समीक्षा की। उन्होंने यह बताया गया कि किस तरह से रेमडेसिविर समेत अन्य दवाईंयों का उत्पादन बढ़ाया जा रहा है।
इसके साथ ही, पीएम मोदी ने अगले कुछ महीनों में किए जाने वाले वैक्सीनेशन के स्वरूप और इस दिशा में किए जा रहे काम का जायजा लिया। उन्हें बताया कि करीब 17 करोड़ 7 लाख वैक्सीन राज्यों को सप्लाई की जा चुकी है। इसके साथ ही, पीएम मोदी ने राज्यवार वैक्सीन की बर्बादी पर भी समीक्षा की।

आरएलडी प्रमुख-पूर्व केंद्रीय मंत्री अजित का निधन

हरिओम उपाध्याय   

नई दिल्ली। राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के मुखिया और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह का निधन हो गया है। दिग्गज राजनेता अजित सिंह संक्रमण की वजह से बीते दिनों गुरुग्राम के अल्ट्रा मैक्स अस्पताल में भर्ती थे, जहां उन्होंने 86 साल की उम्र में आखिरी सांस ली। उनके निधन से देशभर में शोक की लहर दौर गई है। उनकी गिनती बड़े जाट नेताओं में होती थी। 

रालोद सुप्रीमो चौधरी अजित सिंह  और उनकी पोती 24 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। हालत खराब होने पर उन्हें गुरुग्राम के अल्ट्रा मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत में सुधार नहीं होने पर वे पिछले चार-पांच दिन से वेंटिलेटर पर थे। मगर गुरुवार की सुबह उनका निधन हो गया। राष्ट्रीय लोक दल के नेता अजित सिंह का जन्म 12 फरवरी 1939 को मेरठ में हुआ था। इनके निधन पर समाजवादी पार्टी समेत कई नेताओं ने शोक व्यक्त किया है।

समाजवादी पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा- ‘राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष, पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजीत सिंह जी का निधन, अत्यंत दुखद! आपका यूं अचानक चले जाना किसानों के संघर्ष और भारतीय राजनीति में कभी ना भरने वाली जगह छोड़ गया है। शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना! दिवंगत आत्मा को शांति दे भगवान।’

होम्योपैथिक कफ सिरप पीने से 8 लोगों की मौत

बिलासपुर। सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के कोरमी के ग्रामीणों ने होमियोपैथी कप सिरप पीने वाले ग्रामीणों में मृतकों की संख्या आठ हो गई है। इस घटना से पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ गई है। यहां शराब की जगह नशीली सिरप पीने वाले ग्रामीणों की जांच कर अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। दो ग्रामीणों की हालत अभी गंभीर बताई जा रही है।

कोरमी में रहने वाले कमलेश धुरी पिता बल्दूप्रसाद (32 वर्ष), अक्षय धुरी पिता पुन्न्ूलाल (21 वर्ष), राजेश धुरी पिता दशरथ (21 वर्ष), समारू धुरी पिता गजानंद (25 वर्ष), खेमचंद धुरी पिता रामलाल (40 वर्ष) व कैलाश धुरी पिता उमाशंकर (50 वर्ष) सहित अन्य ग्रामीणों को सर्दी-जुकाम व खासी की शिकायत थी। इस दौरान ग्रामीणों ने गांव के ही होम्योपैथिक डाक्टर को दिखाया। दरअसल, सर्दी-जुकाम व खांसी आने पर ग्रामीणों को कोरोना महामारी का खतरा हुआ।

इसके चलते उन्होंने स्थानीय होमियोपैथी क्लीनिक में उपचार कराना शुरू कर दिया। इस दौरान डाक्टर ने उन्हें ड्रोसेरा कप सिरप दवाई दी, जिसे ग्रामीणों को गुनगुने पानी में मिलाकर पीना था। इस दौरान ग्रामीणों ने इसे नशे के रूप में बिना पानी मिलाए ही पीना शुरू कर दिया। बीमार ग्रामीणों की देखादेखी अन्य ग्रामीणों ने भी ड्रोसेरा सिरप खरीद कर पीना शुरू कर दिया। इधर, बुधवार को सिरप पीने वाले ग्रामीणों की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें उल्टी होने लगी। इस दौरान ग्रामीण युवकों ने स्वजनों को दवा पीने की जानकारी दी। उल्टी होने के कारण परिवार वालों ने भी नजरअंदाज कर दिया।

इस बीच कमलेश और राजेश की मौत हो गई। इससे घबराए परिवार के लोगों को कोरोना से मौत की आशंका हुई और आनन-फानन में उनकी अंत्येष्टि भी कर दी। इधर, बुधवार दोपहर अक्षय और समारू की भी मौत हो गई। उन्हें भी कोरोना होने का संदेह हुआ और उनकी भी अंत्येष्टि कर दी गई। एक ही दिन में गांव में चार युवकों की मौत से हड़कंप मच गया। इसकी सूचना ग्रामीण ने सिरगिट्टी पुलिस की दी। खबर मिलते ही बुधवार की देर शाम थाना प्रभारी फैजूल शाह गांव पहुंचे। उन्होंने मृतक के परिवार वालों से इस संबंध में पूछताछ की। इसमें युवकों के कफ सीरप पीने की जानकारी मिली।

700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन देने पर आभार व्यक्त

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर पहली बार 700 मीट्रिक टन से ज्यादा ऑक्सीजन दिल्ली को देने पर आभार व्यक्त किया है। इसके साथ ही केजरीवाल ने कहा कि कम से कम इतनी ऑक्सीजन दिल्ली को रोजाना जरूर दिलवाई जाए। 

  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने पत्र में लिखा है 'दिल्ली की खपत 700 टन प्रतिदिन है। हम लगातार केंद्र सरकार से प्रार्थना कर रहे थे कि इतनी ऑक्‍सीजन हमें दी जाए। कल पहली बार दिल्ली को 730 टन ऑक्‍सीजन मिली है'' उन्‍होंने लिखा, 'मैं दिल्ली के लोगों की तरफ़ से दिल से आपका आभार व्यक्त करता हूं। आपसे निवेदन है कि कम से कम इतनी ऑक्‍सीजन दिल्ली को रोज़ ज़रूर दिलवाई जाए और इसमें कोई कटौती न की जाए।पूरी दिल्ली इसके लिए आपकी आभारी रहेगी।' 
 उल्लेखनीय है दिल्ली में ऑक्सीजन की मांग लगातार बढ़ती जा रही है । यही वजह है कि दिल्ली सरकार लगातार केंद्र सरकार से राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन के कोटे को बढ़ाने के लिए निवेदन करती रही है। 

कांग्रेस नेता ने 21 लोगों का अंतिम संस्कार कराया

तिरुपति। वाईएसआर कांग्रेस के नेता और तिरुपति के विधायक भुमना करुणाकर रेड्डी ने मंगलवार को COVID-19 के कारण मारे गए 21 लोगों का अंतिम संस्कार किया। ये 21 शव तिरुपति के रुया अस्पताल की मोर्चरी में लावारिस पड़े थे। रेड्डी ने इन शवों को पारंपरिक तरीके से सरकारी गाड़ियों से लेजाकर जमीन में दफन करवाया।

इन शवों पर दुःख व्यक्त करते हुए रेड्डी ने कहा, "COVID महामारी के इन मरीजों के पॉजिटिव आ जाने के कारण परिजन द्वारा अंतिम संस्कार नहीं किया जा सका। उन्होंने कहा कि अंतिम संस्कार ना करने का कारण कोई वित्तीय समस्या नहीं है बल्कि लोगों को डर है कि अगर वो शवों की अंतिम क्रिया करते हैं तो उन्हे भी कोविड हो जाएगा।

विधायक ने की जेएसी की सराहना

वहीं तिरुपति के विधायक ने मुस्लिम जेएसी की सराहना की, JAC एक स्वयंसेवी संगठन है जिसने COVID ​​की पहली लहर के बाद से 501 शवों का अंतिम संस्कार किया। रेड्डी ने कहा कि वह COVID से डरते नहीं हैं उन्हें पहले भी दो बार दो बार कोरोना हो चुका था।

उन्होंने कहा "60 साल की उम्र और एक जिम्मेदार विधायक होने के नाते मुझे अपने कर्तव्यों का पालन करना है, गलत धारणाओं के खिलाफ आवाज उठानी है।" शवों के दाह के समय विधायक ने व्यक्तिगत रूप से अंतिम संस्कार कार्यक्रम में भाग लिया था। उन्होंने मुस्लिम JAC के स्वयंसेवकों को पीपीई किट भी दिए।

कोरोना के मामले 4 लाख पार

वहीं दूसरी तरफ देशभर में कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। बुधवार को देश में कोरोना संक्रमण के कुल 4,12,784 मामले सामने आए। ये अब तक का सबसे अधिक आंकड़ा है। इससे पहले 30 अप्रैल को 4,02,351 मामले सामने आए थे। वहीं बुधवार को सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में महाराष्ट्र में 920, यूपी में 357, कर्नाटक में 346, पंजाब में 186, हरियाणा में 181, तमिलनाडु में 167 मौतें हुईं।

4 लाख की आर्थिक सहायता की मांग, लिखा पत्र

टीकम चंद  

भोपाल। मध्यप्रदेश प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। हर दिन संक्रमितों की संख्या बढ़ने के साथ-साथ मौत का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। मौत के बढ़ते आंकड़ों पर चिंता जताते हुए पूर्व सीएम कमलनाथ ने कोरोना से मौत को आपदा मानकर 4 लाख की आर्थिक सहायता देने की मांग की है।

इसे लेकर कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। पत्र के जरिए कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश के हालात भयावाह हो गए हैं। हर दिन संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब तक 6 लाख से अधिक लोग कोरोना की चपेट में आ गए हैं।परिवार के कमाने वाले सदस्यों की मृत्यु से कई परिवार बेहद दर्द झेल रहे हैं। इन हालातों को देखते हुए सरकार को जल्द से जल्द आर्थिक सहायता की घोषणा करना चाहिए।

कर्फ्यू के दौरान और सख्ती का आदेश जारी किया

टीकम चंद  

ग्वालियर। अब न तो गली-मोहल्ले की किराना दुकानें खुलेंगी न घर में 20 लोगों की मौजूदगी में शादी हो सकेंगी। सुबह 9 बजे तक सिर्फ दूध, ब्रेड, फल और सब्जी ही मिल सकेंगी। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने बुधवार शाम कोरोना कर्फ्यू के दौरान और सख्ती का आदेश जारी किया।

यह आदेश पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और फिर बुधवार को ग्वालियर आए प्रभारी सचिव अशोक शाह की आपत्ति के बाद निकाला गया है। मुख्यमंत्री व प्रभारी सचिव ने ग्वालियर में कोरोना कर्फ्यू के दौरान ढील पर आपत्ति दर्ज करायी थी। प्रभारी सचिव श्री शाह ने जब शहर का भ्रमण किया तो उन्हें दुकानें खुली मिलीं और सड़कों पर भारी संख्या में वाहन दौड़ते नजर आए थे।

कलेक्टर ने 29 अप्रैल को जारी 7 दिन के कोरोना कर्फ्यू के आदेश को बुधवार रात 7 मई तक के लिए संशोधित किया। इसमें उन्होंने शादियों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। अभी दोनों पक्षों के 20 लोगों के साथ घर में ही शादी समारोह आयोजित करने की छूट थी। कलेक्टर के इस आदेश के बाद शादी वाले परिवारों की परेशानी और बढ़ जाएंगी। अब उनके सामने शादी किसी दूसरे शहर में करने या फिर आयोजन निरस्त करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं रह गया है। ऐसे ही अंतिम संस्कार, गंगभोज व उठावनी में भी अब सिर्फ पांच लोग शामिल हो सकेंगे।

गुरुवार से और भी रहेंगे प्रतिबंध

  • किराना दुकानें नहीं खुलेंगी, सिर्फ होम डिलेवरी हो सकेगी। बड़ी-बड़ी कंपनियों सहित स्थानीय संस्थान अब खानपान की सामग्री की होम डिलेवरी नहीं कर सकेंगे।
  • ऑटो-ई रिक्शा अब नहीं चलेंगे। अभी तक दो सवारी की मंजूरी थी। अब सिर्फ सिर्फ प्राइवेट वाहन (कार) में बहुत जरूरी होने पर आना जाना होगा।
  • उपार्जन केंद्र, सरकारी राशन दुकानें व बैंक खुल सकेंगी पर यहां पर सोशल डिस्टेंस के लिए घेरे बनाने होंगे। व्यवस्था बनाने का जिम्मा इंसीडेंट कमांडर का होगा।
  • निर्माण कार्य सिर्फ वहीं पर चल सकेंगे जहां पर मजदूरों के रहने की व्यवस्था होगी। अन्य क्षेत्रों में निर्माण व मजदूरों के परिवहन की मंजूरी नहीं होगी।

केंद्रीय मंत्री वी. मुरलीधरन के काफिले पर हमला

मीनाक्षी लोधी   
कोलकाता। इस वक्त एक बड़ी खबर पश्चिम बंगाल से सामने आ रही है। पश्चिम बंगाल में केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन के काफिले पर हमला हुआ है। इस जानलेवा हमले में मंत्री वी मुरलीधरन की गाड़ी के शीशे चकनाचूर हो गए हैं। सुरक्षाकर्मियों पर भी हमले की बात सामने आ रही है। मंत्री ने खुद ट्वीट कर टीएमसी के ऊपर हमले का आरोप लगाया है।
घटना पश्चिम बंगाल के मेदिनापुर की है, जहां केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन के काफिले पर हमला किया गया। इस घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसे खुद केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने ट्वीट किया है। वीडियो में कुछ लोग मंत्री वी मुरलीधरन की गाड़ी पर बांस-बल्ले से हमला करते दिख रहे हैं। पत्थर बरसाए जा रहे हैं। मुरलीधरन ने हमले का आरोप तृणमूल कार्यकर्ताओं पर लगाया है। बवाल बढ़ने और तोड़फोड़ होने पर मंत्री वहां से अपना काफिला लेकर वापस लौट आए। मुरलीधरन ने कहा कि जैसे ही वह इलाके में पहुंचे। लोगों के एक समूह ने उनके काफिले पर लाठियों और पत्थरों से हमला कर दिया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जिस वाहन में वह यात्रा कर रहे थे उसकी खिड़कियां तोड़ दी गईं। उनके साथ आई पुलिस की गाड़ी में तोड़-फोड़ की गई और चालक घायल हो गया।

यात्रा स्थगित, धामों में कपाट खोल पूजा-अर्चना होगी

कपाट खोलने की ब्यवस्थायें जुटायेगा दल

-कोरोना महामारी के कारण मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के दिशानिर्देश से फिलहाल यात्रा स्थगित धामों में कपाट खुलेंगे, पूजा अर्चना चलती रहेगी:सतपाल महाराज

-कोरोना महामारी को देखते हुए सांकेतिक रूप से खुलेंगे कपाट,यात्रियों को अनुमति नहीं : रविनाथ रमन

पंकज कपूर 

उखीमठ/ रूद्रप्रयाग/ देहरादून। श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की ब्यवस्थाओं हेतु देवस्थानम् बोर्ड का 12 सदस्यीय दल आज प्रात: श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ से प्रात: 8.30 बजे केदारनाथ हेतु रवाना हुआ। 
दल की अगवाई देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी. डी. सिंह कर रहे है।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा है कि कोविड-19 को देखते हुए माननीय मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के दिशा निर्देश में फिलहाल चारधाम यात्रा पर रोक लगायी गयी है केवल कपाट खुलेंगे नियमित पूजाअर्चना चलती रहेगी। स्थितियां सामान्य होने पर चारधाम यात्रा को चरणबद्ध रूप से शुरू किया जायेगा।

देवस्थानम बोर्ड का अग्रिम दल केदारनाथ मन्दिर में पेयजल, विद्युत, बर्फ हटाने का कार्य को, साफ सफाई, सेनिटाईजेशन, रावल/पुजारी आवास निर्माण प्रगति के कार्यों का अवलोकन करेगा। गढ़वाल आयुक्त/उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने कहा है कि सरकार के निर्देश पर कोरोना महामारी को देखते हुए चारधाम यात्रा पूर्णत:स्थगित है केवल सांकेतिक रूप से धामों के कपाट खोले जाने हैं। कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए केवल रावल पुजारी एवं संबंधित हकहकूकधारियों के चुनिंदा प्रतिनिधि धामों में जायेंगे। देवस्थानम बोर्ड के कार्याधिकारी एनपी जमलोकी ने बताया कि अग्रिम दल में सहायक अभियंता गिरीश देवली, भंडार प्रभारी उमेश शुक्ला, अवर अभियंता विपिन कुमार सहित विद्युत कर्मी, पलंबर और सात स्वयंसेवक शामिल है।

इस अवसर पर वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी राजकुमार नौटियाल, प्रबंधक अरविंद शुक्ला, पुष्कर रावत, प्रेमसिंह रावत, पुजारी शिवशंकर लिंग, विदेश शैव भी मौजूद रहे। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ के कपाट इस यात्रा वर्ष 17 मई प्रात: पांच बजे खुल रहे है जबकि यमुनोत्री धाम के 14 मई, गंगोत्री के 15 मई तथा श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 18 मई को खुल रहे है किसी भी धाम में फिलहाल यात्रियों को जाने की अनुमति नहीं है।

बिहार में बरसात की संभावना, येलो अलर्ट जारी

अविनाश श्रीवास्तव   
पटना। बिहार में मौसम का मिजाज बदला हुआ है। पश्चिम चंपारण के कुछ भागों में तेज हवा के साथ बारिश हुई है। जिसे देखते हुए मौसम विज्ञान केंद्र राज्य के सभी जिलों के येलो अलर्ट जारी कर सात मई तक सचेत रहने को कहा है। साथ ही मौसम विज्ञान केंद्र पटना के फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के माध्यम से भी मौसम खराब होने की स्थिति में विभिन्न जिलों के लिए अलर्ट जारी किया जा रहा है।
आपकों बता दें कि कालवैशाखी की सक्रियता से बिहार में मौसम का मिजाज इन दिनों बदला हुआ है। तेज आंधी-पानी के साथ आकाशीय बिजली गिरने की घटनाएं बढ़ी हैं। सूबे में कई जगहों पर ओले गिरने की भी सूचना है। हवा की रफ्तार अधिकतम 30 से 40 किमी प्रतिघंटे रहने की वजह से जनजीवन पर इसका असर पड़ा है। पिछले 24 घंटों में उत्तर बिहार में विभिन्न जगहों पर आंधी पानी की तीव्रता थोड़ी अधिक रही। गौनाहा में 30 मिमी, त्रिवेणी में 20 मिमी, माधोपुर, फारबिसगंज और बगहा में 10 मिमी बारिश हुई। पश्चिमी चंपारण के कुछ भागों में भी तेज हवा के साथ बारिश हुई। जिसे देखते हुए मौसम विज्ञान केंद्र पटना ने अलर्ट जारी किया है।

9 मई को विधायकों के साथ वर्चुअल मीटिंग: लालू

 अविनाश श्रीवास्तव  
पटना। बिहार की राजनीतिक गलियारों से बड़ी खबर सामने आ रही है। जेल से जमानत मिलने के बाद अब आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव एक्शन मोड में आ गये हैं। लालू यादव अब 9 मई को आरजेडी विधायकों के साथ वर्चुअल मीटिंग करेंगे। इस बैठक में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी मौजूद रहेंगे। 9 मई (रविवार) को दोपहर 2 बजे आरजेडी के सभी विधायक और विधानसभा चुनाव में पराजित हुए सभी राजद प्रत्याशी इस वर्चुअल मीटिंग में शामिल होंगे। आरजेडी के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने इस बात की जानकारी दी है।ऐसे में लंबे समय से बिहार की राजनीति से गायब हुए लालू यादव अब पार्टी के विधायकों और विधानसभा प्रत्याशियों के साथ बातचीत करेंगे। 
बिहार में बिगड़ते कोरोना के हालात पर लालू यादव चर्चा करेंगे। लालू के साथ इस वर्चुअल मीटिंग में तेजस्वी यादव भी मौजूद रहेंगे जो बिहार के विभिन्न इलाकों में कोरोना से जुझ रहे लोगों को मिल रही स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेंगे। तेजस्वी समेत आरजेडी की तरफ से पहले ही विधायकों को यह निर्देश दिया गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्र के लोगों की हर संभव मदद करें। इसे लेकर तेजस्वी समेत पार्टी के कई विधायकों ने अपने इलाकों में स्वास्थ्य सुविधाओं बेहतर इंतजामात के लिए विधायक फंड से अनुशंसा भी की है लेकिन अब लालू इसकी कमान खुद संभालने वाले हैं। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव ने पार्टी के विधायकों और आरजेडी प्रत्याशियों के साथ वर्चुअल मीटिंग करने का फैसला लिया है। आरजेडी की तरफ से 9 मई की तारीख निर्धारित की गयी है। वर्चुअल मीटिंग के जरीय लालू यादव आरजेडी के विधायकों को संबोधित करेंगे। 

बिहार ग्राम पंचायत प्रशासनिक अधिकारी के हवाले

अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार में पंचायतें अब प्रशासनिक अधिकारियों के हवाले की जाएगी। कैबिनेट की मंजूरी के बाद इसे लागू किया जाएगा। 15 जून के बाद बिहार की त्रिस्तरीय पंचायतों का कामकाज जनप्रतिनिधियं के बजाए पूरी तरह अधिकारियों के हवाले होगा। 15 जून के बाद व्यवस्था में बदलाव किया जाएगा। वार्ड से लेकर ग्राम पंचायत, पंचायती समिति और जिला परिषद तक की विकास योजनाएं बनाने और मंजूर करने का अधिकार प्रखंड से लेकर जिलों के अफसरों को देने की तैयारी की जा रही है। विकास योजनाओं की तकनीकी और प्रशासनिक स्वीकृति का अधिकार बीडीओ, डीडीसी और डीएम को सौंपने की तैयारी पंचायती राज विभाग कर रहा है। कैबिनेट की मंजूरी के बाद इसे लागू कर दिया जाएगा।सरकार की तैयारियों को देख यह कहा जा सकता है कि 15 जून से पहले त्रिस्तरीय पंचायतों में चुनाव कराने के प्रस्ताव को राज्य निर्वाचन आयोग ने ठंडे बस्ते में डाल दिया है। पहले तो ईवीएम विवाद और फिर रही सही कसर को कोरोना ने पूरी कर दी। तेजी से बढ़ रहे संक्रमण ने आयोग की तैयारी पर पानी फेर दिया है। ऐसे में सरकार के पास अब विकल्प के रूप मेें पंचायती राज कानून-2006 में संशोधन ही बचा है। 2006 मेें पंचायती राज अधिनियम बनाने के दौरान विशेषज्ञों को यह अहसास भी नहीं था कि कभी चुनाव टालने की नौबत आएगी। ऐसे में पंचायती राज संस्थाओं के अधिकार दिए जाने के बारे में अधिनियम में कोई उल्लेख नहीं है। लिहाजा वैकल्पिक व्यवस्था करने के लिए सरकार को अध्यादेश लाना होगा। हालांकि विचार इसपर भी किया जा सकता है कि पंचायती संस्थाओं के कार्यकाल का विस्तार किया जाए। इस चुनाव को लेकर पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी का कहना है कि चुनाव कब होंगे, इसका फैसला आयोग करेगा। राज्य सरकार फंड और अन्य इंतजाम करती है। सरकार वह काम कर चुकी है, लेकिन वर्तमान परिवेश में चुनाव कराना संभव नहीं लग रहा है। कोरोना से स्थिति दिन पर दिन बिगड़ती जा रही है ऐसे में इस पर ग्रहण लगता नजर आ रहा है। 


जिसके तहत पंचायती राज विभाग कानून में संशोधन का मसौदा तैयार किया जा रहा है। चुनाव पर विचार करने के लिए आयोग ने 21 अप्रैल को 15 दिनों का समय लिया था। आयोग को उम्मीद थी कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम हो जाएगी लेकिन समय सीमा समाप्त होने के बाद कोरोना की रफ्तार कम होने के बदले बढ़ती जा रही है। ऐसे में यह तय है कि जून के पहले सप्ताह में मानसून का प्रवेश के कारण आयोग के लिए चुनाव करना संभव नहीं होगा।


जेल से कैदियों को रिहा करने के लिए सूची तैयार की

नैनी सेंट्रल जेल से कैदियों को रिहा करने के लिए सूची तैयार
बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद कैदियों को पैरोल पर छोड़ने की बन रही है सूची नैनी सेंट्रल जेल में करीब 150 सजायाफ्ता व विचाराधीन कैदी पैरोल पर होंगे रिहा 60 दिन के पैरोल पर कैदियों को किया जाएगा रिहा एक्टिंग चीफ जस्टिस के अध्यक्षता में गठित है हाई पावर कमिटी।
प्रयागराज नगर निगम के दरियाबाद भाग 1 पार्षद उप चुनाव में निर्दलीय प्रत्यासी फ़साहत हुसैन ने जीत दर्ज की।
किस प्रत्याशी को कितना वोट मिला

1- फसाहत हुसैन --------------959 
2- मोहद मुशरीब----------------721
3-सुशील निषाद----------------598
4-फरीद अब्बासी---------------426
5- ओसामा अंसारी -------------- 388
6- मोहम्मद जैद--------------- 225
7- सबी हसन---------------   125

हापुड़ः 2 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड 2 लाइन हाजिर

अतुल त्यागी (मेरठ मंडल प्रभारी)
मुकेश सैनी (जिला प्रभारी)
हापुड़ में पुलिस कप्तान का चला चाबुक
हापुड़। जनपद हापुड़ में आज एसपी  नीरज जादौन का डंडा चला 4 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करते हुए 2 को लाइन हाजिर तथा 2 को सस्पेंड कर दिया। हापुड़ में खाकी और शराब माफियाओं का गठजोड़ एक बार फिर उजागर हुआ पुलिस कप्तान नीरज जादौन ने सख्त कार्रवाई करते हुए उठाये कठोर कदम देहात व बाबूगढ़  थाना प्रभारी एक दरोगा के विरुद्ध उनकी भूमिका पर जांच बैठाई है। जिससे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया जानकारी के अनुसार जनपद में अवैध शराब की बिक्री को लेकर पुलिस कप्तान के निर्देश पर शराब माफियाओं के विरुद्ध अभियान चलाया हुआ है एक शराब तस्कर को दर्जनों मुकदमे में लाभ पहुंचाने की शिकायत कप्तान को मिली जिसकी जांच होने हापुड़ सीओ वैभव पांडे को सौपी थी  सीओ सिटी की जांच पर थाना हापुड़ देहात में तैनात दरोगा सुरेश कुमार व बाबूगढ़ थाने में तैनात दरोगा प्रमोद कुमार को निलंबित कर दिया इस मामले में एसपी ने बाबूगढ़ थाना प्रभारी व हापुड़ देहात थाना प्रभारी दरोगा ओमकार गंगवार के विरुद्ध जांच बैठा कर 7 दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा कप्तान ने कुचेसर रोड चौकी प्रभारी सुमित तोमर व दोमयी चौकी प्रभारी महेंद्र पाल शर्मा को निलंबित कर दिया। कप्तान की सख्त कार्रवाई से जनपद में 10 थाना क्षेत्रों में तैनात पुलिसकर्मी व अधिकारियों में हड़कंप मच गया है कप्तान नीरज जादौन ने पुलिस कर्मियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि गलत कार्यों में लिप्त पुलिस कर्मियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

 सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण    
1. अंक-264 (साल-02)
2. शुक्रवार, मई 7, 2021
3. शक-1984,बैसाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि- दसवीं, विक्रमी सवंत-2078। 
सहरी 04:09, इफ्तार 07:02। 24 रमजान, हिजरी 1442।
4. सूर्योदय प्रातः 06:05, सूर्यास्त 06:59।
5. न्‍यूनतम तापमान -15 डी.सै., अधिकतम-39+ डी.सै.।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...