रविवार, 24 दिसंबर 2023

अमृतसर: साल में पहली बार कोरोना का केस मिला

अमृतसर: साल में पहली बार कोरोना का केस मिला 

अमित शर्मा 
अमृतसर। पंजाब के अमृतसर में इस साल कोरोना का पहला मामला सामने आया है। यह मामला लंदन से आई महिला का है, जो कि शादी में शामिल होने के लिए आई थी। महिला ने प्राइवेट लैब से टेस्ट करवाया था और प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती है। वहीं, कोरोना का केस सामने आने के बाद हेल्थ डिपार्टमेंट जांच में जुट गया है।
जानकारी के मुताबिक 60 साल की महिला लंदन से आई थी और एक होटल में रुकी थी। जहां तकरीबन 3 दिन पहले उसे बुखार और सांस लेने में तकलीफ आ रही थी। जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां पहले एक्स-रे कराया गया, जिसमें निमोनिया और अन्य वायरस की पुष्टि हुई। उसके बाद प्राइवेट लैब से RTPCR टेस्ट किया गया, जिसमें पॉजिटिव पाई गई।
हालांकि सेहत विभाग की ओर से इस मामले की पुष्टि नहीं की जा रही है। विभाग के PRO डॉक्टर अमरदीप सिंह का कहना है कि उन्हें भी इस बात की जानकारी मिली है। वो भी महिला को अप्रोच करने की कोशिश कर रहे हैं। जैसे ही मामला स्पष्ट हो जाएगा, उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।
इससे पहले पिछले दिन ही सेहत विभाग की ओर से कोरोना को लेकर गाइडलाइंस जारी की गई थी, जिसमें कहा गया था कि सिर्फ सरकारी लैब से की गई टेस्टिंग को ही पॉजिटिव माना जाएगा। उसके बाद इस महिला का प्राइवेट से आया पॉजिटिव टेस्ट भी अब शक के दायरे में है। हालांकि, सेहत विभाग पूरी तरह से अलर्ट है। जल्द ही जांच भी शुरू कर दी जाएगी। अभी जिनमें लक्षण दिखाई देते हैं, उन्हीं के टेस्ट किए जा रहे हैं।

उपराष्ट्रपति की मिमिक्री, मुकदमा कायम कराया

उपराष्ट्रपति की मिमिक्री, मुकदमा कायम कराया 

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। अखिल उत्तर प्रदेश जाट महासभा के पदाधिकारियों ने थाना सिविल लाइन पहुंचकर तृणमूल कांग्रेस के सांसद के खिलाफ तहरीर देते हुए उपराष्ट्रपति की मिमिक्री किए जाने पर रोष जताते हुए मुकदमा कायम कराया है। रविवार को अखिल उत्तर प्रदेश जाट महासभा के पदाधिकारी इकट्ठा होकर शहर के थाना सिविल लाइन पहुंचे और कोतवाल को तहरीर देकर तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बनर्जी पर मिमिक्री करते हुए उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ का अपमान करने का आरोप लगाया। 
तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बनर्जी के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराते हुए जाट महासभा की ओर से कहा गया है कि जिस तरह से सदन के बाहर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ की तृणमूल कांग्रेस सांसद कल्याण बनर्जी द्वारा मिमिक्री करते हुए उनका अपमान किया गया है, उसके लिए हम चाहते हैं कि ऐसे सांसद के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाये। जाट महासभा के पदाधिकारियों ने बताया कि उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ की तृणमूल कांग्रेस के सांसद द्वारा मिमिक्री किए जाने से जाट समाज के लोगों में भारी रोष व्याप्त है। पुलिस जाट महासभा से तहरीर लेकर मामला दर्ज करते हुए कार्यवाही में जुट गई है।

पेपर कप में चाय पीना बेहद नुकसानदायक

पेपर कप में चाय पीना बेहद नुकसानदायक 

सरस्वती उपाध्याय 
अगर आप भी पेपर कप में चाय पीते है, तो तुरंत ही पेपर कप में चाय पीना बंद कर दें।
पेपर कप सेहत को नुक्सान पंहुचा सकता है। प्लास्टिक कप के नुक्सान से बचने के लिए लोग अक्सर पेपर के कप में चाय पीना पसंद करते है।
लोग सड़क के किनारे चाय की टपरी से चाय पीते है। टी-स्टाल पर चाय देने के लिए पेपर कप का इस्तेमाल किया जाता है। ज्यादातर लोग इन पेपर कप से चाय पीते है। लेकिन बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि पेपर कप सेहत को कितना नुक्सान पहुंचते है। ऐसे में चलिए जानते है कि पेपर कप आपकी सेहत को क्या-क्या नुक्सान पंहुचा सकते है ?

इस वजह से नुकसानदायक है पेपर कप से चाय पीना

हर कोई प्लास्टिक कप से होने वाले नुक्सान के बारे में जानता है। लेकिन प्लास्टिक कप जितना नुक्सानदायक होता है सेहत के लिए पेपर कप भी बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। पेपर कप जब बनता है तो उसमें प्लास्टिक या मोम से कोटिंग क जाती है।
ताकि पेपर कप में गरम चीज़ डाली जा सके। ऐसे में जब आप पेपर कप में चाय या कोई भी गरम चीज़ पीते है तो इसमें मौजूद केमिकल्स पदार्थ उसके साथ मिल जाते है। जो सीधा आपके शरीर में जाते है। जिससे स्वास्थ्य को नुक्सान हो सकता है।

पेपर कप के नुकसान
पेपर कप में चाय या कोई भी गरम चीज़ पीने से कप के केमिकल सीधा पेट के अंदर जा सकते है। जिससे व्यक्ति को अपच और डायरिया जैसी समस्याएं देखने को मिल सकती है।
पेपर कप में मौजूद केमिकल्स शरीर में टॉक्सिन के जमा होने का भी कारण हो सकते है। जो बाद में शरीर में स्लो पाइजन का काम करते है।
पेपर कप में चाय पीने से पाचन तंत्र और किडनी पर काफी प्रभाव पड़ता है।
पेपर कप में मौजूद केमिकल्स हार्मोन असंतुलन कर सकते है। साथ ही मानसिक स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है।

सीएम ने अधिकारियों को नियुक्ति-पत्र प्रदान किए

सीएम ने अधिकारियों को नियुक्ति-पत्र प्रदान किए 

पंकज कपूर 
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित, मुख्य सेवक सदन में उत्तराखण्ड चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड द्वारा चयनित नर्सिंग अधिकारियों को नियुक्ति-पत्र प्रदान किए। कार्यक्रम के दौरान चयनित 1376 अभ्यर्थियों में से 200 अभ्यर्थियों को मुख्यमंत्री द्वारा नियुक्ति पत्र प्रदान किये। शेष सभी अभ्यर्थियों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियुक्ति पत्र प्रदान किये गये हैं।
मुख्यमंत्री ने नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले नर्सिंग अधिकारियों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने आशा व्यक्त की कि चयनित सभी नर्सिंग अधिकारी लगन व कड़ी मेहनत के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे और राज्य के विकास व जनसेवा के लिए हमेशा तत्पर रहेंगे। उन्होंने कहा कि नर्सिंग अधिकारी का दायित्व बहुत महत्वपूर्ण है। ग्राउंड लेवल पर समाज में स्वास्थ्य जागरूकता बढ़ाने और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के मुद्दों पर जनता को शिक्षित करने का दायित्व भी नर्सिंग अधिकारियों पर है। आपातकालीन स्थितियों में आपकी तत्परता और उत्कृष्टता लोगों के लिए जीवन रक्षा का कार्य करती है।
उन्होंने कहा कि हमारी डबल इंजन की सरकार ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में अनेक कार्य किए हैं।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में ’आयुष्मान भारत योजना’ प्रदेशवासियों के लिए वरदान साबित हुई है। राज्य में सभी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिले,इसके लिए राज्य सरकार द्वारा उत्तराखण्ड अटल आयुष्मान योजना से लोगों को लाभान्वित किया जा रहा है। ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन सेवाएं सुदूर क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए अत्यंत लाभकारी सिद्ध हुई हैं। सरकार जच्चा-बच्चा की सुरक्षा के लिए कई योजनाएं चला रही है। गर्भवती महिलाओं के लिए ’’जननी सुरक्षा योजना’’ संचालित की जा रही है, जिसके अंतर्गत संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देते हुए मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के लिए लगातार प्रयास किये जा रहे है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा भारत को क्षय मुक्त बनाने के लिए 2025 का लक्ष्य के सापेक्ष राज्य सरकार द्वारा 2024 तक उत्तराखण्ड को क्षय मुक्त राज्य बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें भी नर्सिंग अधिकारियों को अहम भूमिका होगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने दो-दो वैक्सीनों द्वारा देश की जनता की ही नहीं बल्कि अन्य देशों की भी मदद की। हमें अभी भी कोरोना के प्रति सावधानी रखनी है और लोगों को इसके प्रति जागरूक बनाए रखने हेतु कार्य करना है।स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को 13 वर्ष के उपरांत 1376 नर्सिंग अधिकारी मिले हैं।
उन्होंने कहा कि सभी चयनित नर्सिंग अधिकारियों के पहले पांच साल राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में सेवायें देनी होगी, जिससे दूरस्थ क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूती मिलेगी। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र मेंउत्तराखण्ड को जेआरडी टाटा मेमोरियल अवार्ड से नवाजा गया है। यह अवार्ड 42 स्वास्थ्य सूचकांकों में बेहतर प्रदर्शन पर राज्य को मिला। उन्होंने कहा कि टाटा रिसर्च सेंटर के सर्वे के अनुसार उत्तराखण्ड में क्रिटिकल मरीजों के लिए हवाई सेवा उपलब्ध कराने, अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना, 276 प्रकार की निःशुल्क जांच और 90 प्रतिशत से अधिक संस्थागत प्रसव कराने का सराहनीय प्रयास किया गया है।
इस अवसर पर राज्यसभा सांसद श्री नरेश बंसल, विधायक श्री विनोद चमोली, श्री उमेश शर्मा काऊ, श्री खजानदास, श्रीमती सविता कपूर, श्री राजकुमार पोरी, ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के उपाध्यक्ष श्री सुरेश भट्ट, सचिव स्वास्थ्य डॉ. आर. राजेश कुमार, कुलपति उत्तराखण्ड चिकित्सा विश्वविद्यालय प्रो. हेमचन्द्र, महानिदेशक स्वास्थ्य, डॉ. विनीता शाह एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

एक बार चार्ज होने पर 7 दिन तक चलेगा 'स्मार्टफोन'

एक बार चार्ज होने पर 7 दिन तक चलेगा 'स्मार्टफोन'

अखिलेश पांडेय 
नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी।स्मार्टफोन की दुनिया में Oukitel WP33 Pro नामक एक नया हैंडसेट आया है, जिसने लोगों को हैरान कर दिया है। इस नए स्मार्टफोन ने दिखाया है कि बड़ी बैटरी और शानदार फीचर्स के साथ आधुनिकता में कोई कमी नहीं है। इसमें एक 22000mAh बैटरी और 24जीबी रैम है, और बताया जा रहा है कि एक बार चार्ज होने पर यह 7 दिन तक चल सकता है। इसमें 136dB का लाउडस्पीकर और मिलिट्री स्टैंडर्ड बिल्ड क्वॉलिटी भी है, जो इसे अन्य स्मार्टफोन्स से अलग बनाते हैं।
फीचर्स और स्पेसिफिकेशन्स:
इस फोन में 2408×1080 पिक्सल रेजॉल्यूशन और 6.6 इंच का डिस्प्ले है, जो गोरिल्ला ग्लास प्रोटेक्शन के साथ आता है। फोन का डिजाइन रोबस्ट है और पानी और धूल से बचाता है। इसमें 8जीबी रैम और 16जीबी तक की वर्चुअल रैम है, जिससे इसकी टोटल रैम 24जीबी तक हो जाती है। फोन का इंटरनल स्टोरेज 256जीबी है और मीडियाटेक डाइमेंसिटी 6100+ चिपसेट से चलता है।
फोन में 64 मेगापिक्सल का मेन कैमरा और 20 मेगापिक्सल का नाइट विजन कैमरा है। इसकी बैटरी 22000mAh है, जो बिना डिस्चार्ज हुए 7 दिन तक चल सकती है, और इसे 33 वॉट की चार्जिंग स्पीड से चार्ज किया जा सकता है। फोन का साउंड सिस्टम 136dB के मैक्सिमम वॉल्यूम के साथ है और इसका पावर आउटपुट 5 वॉट का है।
इस फोन की कीमत 240 डॉलर (करीब 20,000 रुपये) है और यह 8 जनवरी को ऑफिशियली लॉन्च होगा। यह एक धांसू विकल्प हो सकता है। जो उन लोगों के लिए अच्छा होगा। जो बढ़िया बैटरी और स्टेन्डबाय टाइम चाहते हैं।

'डब्ल्यूएफआई' के अध्यक्ष सिंह को निलंबित किया

'डब्ल्यूएफआई' के अध्यक्ष सिंह को निलंबित किया 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। केंद्रीय खेल मंत्रालय ने भारतीय कुश्ती महासंघ की नई संस्था की मान्यता रद्द कर दी है। मंत्रालय ने डब्ल्यूएफआई के नवनियुक्त अध्यक्ष संजय सिंह को भी निलंबित कर दिया है।
नए अध्यक्ष संजय सिंह ने घोषणा कर दी थी कि अंडर 15 और अंडर 19 के मुकाबले गोंडा में होंगे, जबकि इसके लिए नियमों का पालन नही किया गया। इस वजह से खेल मंत्रालय ने यह कार्रवाई की। खेल मंत्रालय ने नवनियुक्त अध्यक्ष संजय सिंह द्वारा लिए गए सभी फैसलों को भी निरस्त करने का फैसला किया है।
खेल मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘नए निकाय ने डब्ल्यूएफआई संविधान का पालन नहीं किया। हमने महासंघ को बर्खास्त नहीं किया है, बल्कि अगले आदेश तक निलंबित किया है। उन्हें बस उचित प्रक्रिया और नियमों का पालन करने की जरूरत है।”
सूत्र ने निलंबन के कारणों के बारे में बताते हुए कहा, ‘‘डब्ल्यूएफआई के नवनिर्वाचित अध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने 21 दिसंबर 2023 को अध्यक्ष चुने जाने के दिन ही घोषणा की कि कुश्ती के लिए अंडर-15 और अंडर-20 राष्ट्रीय चैंपियनशिप साल खत्म होने से पहले ही उत्तर प्रदेश के गोंडा के नंदिनी नगर में होगी।”
उन्होंने कहा, ‘‘यह घोषणा जल्दबाजी में की गई है। उन पहलवानों को पर्याप्त सूचना दिए बिना जिन्हें उक्त राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेना है। डब्ल्यूएफआई के संविधान के प्रावधानों का पालन भी नहीं किया गया।”
मंत्रालय के सूत्र ने कहा, ‘‘डब्ल्यूएफआई के संविधान की प्रस्तावना के नियम 3 (ई) के अनुसार, डब्ल्यूएफआई का उद्देश्य अन्य बातों के अलावा कार्यकारी समिति द्वारा चयनित स्थानों पर यूडब्ल्यूडब्ल्यू (यूनाईटेड वर्ल्ड रेस्लिंग) के नियमों के अनुसार सीनियर, जूनियर और सब जूनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप आयोजित करने की व्यवस्था करना है।” 
बता दें कि, गुरुवार को डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष चुने गए संजय सिंह को पूर्व WFI अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह का करीबी माना जाता है। संजय सिंह को अध्यक्ष चुने जाने के बाद पहलवानों ने इस पर आपत्ति जताई थी। 
पहलवानों का कहना था कि वह बृजभूषण शरण सिंह के करीबी हैं और ऐसे में डब्ल्यूएफआई में किसी भी तरह के सुधार की उम्मीद नजर नहीं आती। सिंह के अध्यक्ष बनने के तुरंत बाद रियो ओलंपिक में पदक जीतने वाली रेसलर साक्षी मलिक ने खेल से संन्यास लेने की घोषणा कर दी थी। वहीं, बजरंग पुनिया ने अपना पद्म श्री भी लौटा दिया था।

कोरोना से गले की आवाज तक जा सकती है

कोरोना से गले की आवाज तक जा सकती है

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। कोरोना वायरस का नया वेरिएंट जेएन- 1 विदेशों में ही नहीं बल्कि भारत के कई राज्यों में अपना विस्तार करते हुए लोगों को तेज़ी के साथ संक्रमित कर रहा है। तेजी के साथ बढ़ रहे कोरोना के नए मरीजों के बीच की गई एक नई रिसर्च ने अब सभी को बुरी तरह से चौंका दिया है। जानकारी मिल रही है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से न केवल स्वाद और गंध बल्कि गले की आवाज तक जा सकती है। 
देश के केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गोवा के अलावा उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट जे एन 1 ने लोगों को तेजी के साथ अपनी चपेट में लेकर संक्रमित किया है।कोरोना का नया वेरिएंट चीन और सिंगापुर में ही नहीं बल्कि भारत के भी कई हिस्सों में अपना संक्रमण फैलते हुए लोगों को बीमार कर रहा है। उधर जानकारों का कहना है कि कोरोना के नए वेरिएंट से मौत के मामले और अस्पतालों में भर्ती लोगों की संख्या में उतनी बढ़ोतरी नहीं हुई है, जो डेल्टा वेरिएंट के समय पर हुई थी।लेकिन मौजूदा समय में कोरोना कर लेकर की गई सबसे नई रिसर्च के परिणामों ने सभी को चौंका दिया है। किये गए परिक्षण में पता चला है कि कोरोना के नए वेरिएंट जे एन 1 के खतरनाक वायरस से न केवल संक्रमित के स्वाद और गंध बल्कि गले को भी बेहद नुकसान हो सकता है। एक मामले में 15 साल की लड़की ने कोरोना से संक्रमित होने के बाद अपनी आवाज गवा दी है।
जनरल पेडियाट्रिक में दी गई जानकारी के मुताबिक कोरोना का संक्रमण गले को भी संक्रमित करता है। इतना ही नहीं इसके संक्रमण से गले की आवाज तक जा सकती है। एक्सपर्ट के मुताबिक इसे वोकल कॉर्ड पैरालिसिस कहा जाता है, इसमें मरीज के स्वर हिस्से प्रभावित होते हैं और संक्रमण की स्थिति में मेरी धीरे-धीरे बोलने की क्षमता खो देता है। यह बेहद ही खतरनाक है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-65, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. सोमवार, दिसंबर 25, 2023

3. शक-1945, माघ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:36, सूर्यास्त: 05:18।

5. न्‍यूनतम तापमान- 12 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...