गुरुवार, 7 अप्रैल 2022

आईपीएस के 6 अधिकारियों का पदस्थापन किया

आईपीएस के 6 अधिकारियों का पदस्थापन किया    

रांची। झारखंड सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा के छ: अधिकारियों का स्थानांतरण और पदस्थापन किया हैं। इस संबंध में गृह विभाग ने बृहस्पतिवार को अधिसूचना जारी कर दी। गृह विभाग से जारी अधिसूचना के अनुसार जैप-1 के समादेष्टा अनीश गुप्ता को प्रोन्नति देते हुए रांची प्रक्षेत्र के डीआईजी बनाया गया है। जबकि प्रतीक्षारत अजय लिंडा को प्रोन्नति देते हुए डीआईजी कोल्हान चाईबासा के पद पर पदस्थापित किया गया है। प्रतीक्षारत दीपक कुमार सिन्हा को भी प्रोन्नति देते हुए डीआईजी गृह रक्षा वाहिनी और शम्ब तबरेज को डीआईजी बजट के पद पर पदस्थापित किया गया है। एसडीपीओ मेदिनीनगर सदर के. विजय शंकर को सिटी एसपी जमशेदपुर और सहायक पुलिस अधीक्षक कोतवाली रांची मुकेश कुमार लुणायत को ग्रामीण एसपी जमशेदपुर बनाया गया है।

प्रतीक्षारत दीपक कुमार सिन्हा को भी प्रोन्नति देते हुए डीआईजी गृह रक्षा वाहिनी और शम्ब तबरेज को डीआईजी बजट के पद पर पदस्थापित किया गया है।एसडीपीओ मेदिनीनगर सदर के. विजय शंकर को सिटी एसपी जमशेदपुर और सहायक पुलिस अधीक्षक कोतवाली रांची मुकेश कुमार लुणायत को ग्रामीण एसपी जमशेदपुर बनाया गया है।

'जल संरक्षण' को जन अंदोलन बनाने की तैयारी

'जल संरक्षण' को जन अंदोलन बनाने की तैयारी   

संदीप मिश्र      

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने स्वच्छता मिशन की तर्ज पर जल संरक्षण को जन अंदोलन बनाने की तैयारी कर ली है। इस कार्य में जनसहभागिता को बढ़ाने के लिए कई अनूठे कदम उठाने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से गुरुवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार राज्य की योगी सरकार ने अटल भूजल योजना के तहत प्रदेश में चयनित 10 जनपदों के 26 विकासखंडों की 550 ग्राम पंचायतों में बैठकें और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश जारी किये हैं।

सरकार ने एक बार फिर भूजल संरक्षण की योजनाओं को तेजी से प्रदेश में विस्तार देने की तैयारी की है। नमामि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। तय किया गया है कि युद्ध स्तर पर गांव-गांव जल संरक्षण की योजनाओं को पूरा कराने और लोगों को जागरूक करने के लिए कार्यक्रमों में तेजी लाई जाएगी। भूजल को बचाना और दोबार उसे उपयोग में लाये जाने के तरीकों के बारे में भी लोगों को जागरूक किया जाएगा। प्रदेश सरकार विभिन्न जिलों में जल संरक्षण के साथ शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करा रही है। खेत ताल योजना के तहत खेत का पानी खेत में और छत का पानी धरती में वापस जा सके, उस पर भी तेजी से काम किया जा रहा है।

बता दें कि पिछले कार्यकाल में सरकार के प्रयासों और जल जीवन मिशन की योजनओं से गांव-गांव में चल रहे प्रयास रंग लाने लगे हैं। स्वच्छता मिशन की तरह जल संरक्षण को जन आंदोलन बनाने की तैयारी की जा रही है। गांव-गांव में जल संरक्षण की योजनाओं का काम तेजी से पूरा कराया जा रहा है। जल समितियों का गठन और पाइपलाइनों से लीक होने वाले पानी के संरक्षण और रेन वॉटर हारवेस्टिंग पिट के निर्माण को भी युद्ध स्तर पर किये जाने की तैयारी है। जिससे बारिश के पानी का संरक्षण हो सके और संरक्षित पानी का दोबारा इस्तेमाल किया जा सके।

डीएम की उपस्थिति में 'अभियान' का आयोजन

डीएम की उपस्थिति में 'अभियान' का आयोजन  

संदीप मिश्र               
सीतापुर। जिला कम्पोजिट विद्यालय रामकोट विकास खण्ड खैराबाद (सीतापुर) में आदरणीय जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज की उपस्थिति में स्कूल चलो अभियान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नव प्रवेशी छात्रों का स्वागत जिलाधिकारी द्वारा किया गया। जिलाधिकारी महोदय ने माला पहनाकर, लड्डू खिलाकर तथा उपहार देकर नये बच्चों का स्वागत किया। इस अवसर पर बीते सत्र में संकुल के विभिन्न विद्यालयों के सर्वाेच्च अंक पाने वाले विद्यार्थियों का सम्मान किया गया। 
साथ ही सर्वाधिक उपस्थिति देने वाले बच्चों को भी जिलाधिकारी महोदय द्वारा सम्मानित किया गया। कोरोना महामारी के दौरान स्वयंसेवी प्रयासों से शैक्षिक सहयोग देने वाले प्रेरणा साथियों को भी जिलाधिकारी महोदय द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गए। कार्यक्रम में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अजीत कुमार ने समस्त शिक्षकों से शत प्रतिशत नामांकन करने की अपील की। जिलाधिकारी महोदय ने मेधावी छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत करते हुए कहा कि इस सम्मान को प्राप्त करने वालो में अधिकतर बालिकाएं हैं। जो बालिका शिक्षा में हो रही प्रगति की परिचायक हैं। इस अवसर पर जिलाधिकारी महोदय ने बच्चों के साथ में बैठकर भोजन भी ग्रहण किया। 
खंड शिक्षा अधिकारी खैराबाद श्री अशोक कुमार यादव जी के द्वारा सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया गया। संचालन योगेन्द्र कुमार पांडेय के द्वारा किया गया।
कार्यक्रम में खंड विकास अधिकारी खैराबाद, टी.एन. सिंह यूनिट हेड डालमिया चीनी मिल जवाहरपुर, ए.आर.पी.टीम खैराबाद, ग्राम प्रधान, शिक्षक-शिक्षिकाएं, अभिभावक आदि उपस्थित रहे।

'नवरात्रि' का सातवां दिन, माता कालरात्रि की पूजा

'नवरात्रि' का सातवां दिन, माता कालरात्रि की पूजा   

सरस्वती उपाध्याय          
हिंदू धर्म में नवरात्रि के नौ दिनों का विशेष महत्व होता है। चैत्र नवरात्रि का पावन पर्व चल रहा है। 8 अप्रैल 2022, शुक्रवार को चैत्र नवरात्रि का सातवां दिन है। नवरात्रि के सातवें दिन मां के सप्तम स्वरूप माता कालरात्रि की पूजा-अर्चना की जाती है। माता कालरात्रि का शरीर अंधकार की तरह काला है। मां के बाल लंबे और बिखरे हुए हैं। मां के गले में माला है, जो बिजली की तरह चमकते रहती है। मां कालरात्रि के चार हाथ हैं। मां के हाथों में खड्ग, लौह शस्त्र, वरमुद्रा और अभय मुद्रा है।
सप्तमी तिथि शुक्रवार रात 11 बजकर 5 मिनट तक रहेगी। उसके बाद अष्टमी तिथि लग जाएगी। नवरात्र के दौरान पड़ने वाली सप्तमी को महासप्तमी के नाम से जाना जाता है। 
जब माता पार्वती ने शुंभ-निशुंभ का वध करने के लिए अपने स्वर्णिम वर्ण को त्याग दिया था, तब उन्हें कालरात्रि के नाम से जाना गया।

मां कालरात्रि पूजा विधि...

मां कालरात्रि की पूजा सुबह के समय करना शुभ माना जाता है। मां की पूजा के लिए लाल रंग के कपड़े पहनने चाहिए। मकर और कुंभ राशि के जातको को कालरात्रि की पूजा जरूर करनी चाहिए। परेशानी में हो तो सात या नौ नींबू की माला देवी को चढ़ाएं। सप्तमी की रात्रि तिल या सरसों के तेल की अखंड ज्योति जलाएं। सिद्धकुंजिका स्तोत्र, अर्गला स्तोत्रम, काली चालीसा, काली पुराण का पाठ करना चाहिए। यथासंभव इस रात्रि संपूर्ण दुर्गा सप्तशती का पाठ करें।

मां कालरात्रि की आरती...

कालरात्रि जय जय महाकाली,
काल के मुंह से बचाने वाली।
दुष्ट संहारिणी नाम तुम्हारा,
महा चंडी तेरा अवतारा।
पृथ्वी और आकाश पर सारा,
महाकाली है तेरा पसारा।
खंडा खप्पर रखने वाली,
दुष्टों का लहू चखने वाली।
कलकत्ता स्थान तुम्हारा,
सब जगह देखूं तेरा नजारा।
सभी देवता सब नर नारी,
गावे स्तुति सभी तुम्हारी।
रक्तदंता और अन्नपूर्णा,
कृपा करे तो कोई भी दु:ख ना।
ना कोई चिंता रहे ना बीमारी,
ना कोई गम ना संकट भारी।
उस पर कभी कष्ट ना आवे,
महाकाली मां जिसे बचावे।
तू भी 'भक्त' प्रेम से कह,
कालरात्रि मां तेरी जय।

9 को होगा विधान परिषद की 36 सीट पर मतदान

9 को होगा विधान परिषद की 36 सीट पर मतदान  


हरिओम उपाध्याय           

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में चुनावों का दौर जारी है। विधानसभा चुनाव के बाद अब विधान परिषद की 36 सीट पर मतदान की तैयारी है। इन चुनावों में जनता से कोई खास मतलब नहीं है, लेकिन उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी तथा समाजवादी पार्टी के बीच एक बार फिर जोरदार मुकाबला तय है। 9 अप्रैल को मतदान, सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक होगा।उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने नौ अप्रैल को होने वाले चुनाव की पूरी तैयारी कर ली है। विधान परिषद में स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र की 36 सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं। इनमें से भी नौ सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों के खिलाफ कोई प्रत्याशी नहीं है। इसी कारण इन सभी का तो निर्वाचन तय है।

इसके बाद भी शेष 27 सीटों के लिए मतदान नौ अप्रैल शनिवार को होगा। इसको लेकर चुनाव आयोग ने मतदान की सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। एमएलसी चुनाव में सत्तारूढ़ भारतीय जनता तथा समाजवादी पार्टी के बीच में 27 सीट पर सीधा मुकाबला है। विधान परिषद के नौ को चुनाव के बाद 12 को मतगणना होगी।

एपी: 24 मंत्रियों ने सीएम को सौंपा इस्तीफा

एपी: 24 मंत्रियों ने सीएम को सौंपा इस्तीफा    

इकबाल अंसारी       

अमरावती। आंध्र प्रदेश के सभी 24 मंत्रियों ने कैबिनेट की एक बैठक में मुख्यमंत्री वाई. एस जगनमोहन रेड्डी को इस्तीफा सौंप दिया है। सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। दरअसल, जगन मोहन रेड्डी अपने मंत्रिमंडल का पुनर्गठन करने वाले हैं। नए मंत्रिपरिषद का गठन 11 अप्रैल को किया जा सकता है। इसी सिलसिले में मुख्यमंत्री ने बुधवार की रात को राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन के साथ एक बैठक की थी, जिसमें मंत्रिपरिषद के पुनर्गठन पर चर्चा की गई।

मंत्रिमंडल में नए चेहरों को शामिल किया जाएगा, मौजूदा मंत्रियों में से कम से कम चार को फिर से मौका मिल सकता है। नए मंत्रिमंडल के गठन में जाति मानदंड की अहम भूमिका होने की संभावना है। रेड्डी ने जब 30 मई, 2019 को मुख्यमंत्री के रूप में पदभार संभाला था, तब ही घोषणा की थी कि वह ढाई साल बाद अपने मंत्रिमंडल को पूरी तरह बदल देंगे और नए लोगों को मौका देंगे। वर्तमान मंत्रिमंडल ने आठ जून, 2019 को शपथ ली थी और इन मंत्रियों को आठ दिसंबर, 2021 तक पद पर रहना था। कोविड-19 वैश्विक महामारी सहित कई कारणों के चलते कैबिनेट पुनर्गठन को टाल दिया गया था।

बलिया के 3 पत्रकारों को रिहा किए जाने की मांग

बलिया के 3 पत्रकारों को रिहा किए जाने की मांग  

संदीप मिश्र      
बलिया। माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षाओं के आउट हुए संस्कृत एवं अंग्रेजी विषय के पेपर के संबंध में नकल एवं शिक्षा माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की बजाय, तीन पत्रकारों को जेल भेजे जाने से अन्य पत्रकारों में बुरी तरह से उबाल आ गया है। बलिया के तीन पत्रकारों को जेल भेजे जाने से नाराज पत्रकारों ने बृहस्पतिवार को राजधानी में जोरदार जुलूस निकालकर जिला प्रशासन के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 15 सूत्रीय ज्ञापन भेजकर जेल भेजे गए पत्रकारों को बिना शर्त रिहा किए जाने की मांग की है।
बृहस्पतिवार को वर्किंग जर्नलिस्ट आफ इंडिया के बैनर तले हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर इकट्ठा हुए पत्रकार पैदल मार्च निकालते हुए प्रेस क्लब पहुंचे और वहां से परिवर्तन चौक तक जोरदार जलूस निकाला। इस दौरान तकरीबन 2 घंटे तक पत्रकारों द्वारा जोरदार धरना प्रदर्शन किया गया। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष पवन श्रीवास्तव ने कहा कि पत्रकारों का उत्पीड़न बर्दास्त नही होगा।
प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि अगर तीन दिनों के भीतर बलिया जिले के निर्दाेष पत्रकार साथियों को नही छोड़ा गया और व भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्यवाही नही की गई तो प्रदेश भर में विशाल धरना प्रदर्शन किया जाएगा।
धरना प्रदर्शन को वरिष्ठ पत्रकार हेमन्त कृष्णा, नीरज उपाध्याय, तनवीर अहमद सिद्दीकी, सुशील दुबे ने संबोधित करते हुए पत्रकारों पर हो रहे जुल्म पर पवन श्रीवास्तव के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने का भरोसा दिलाया।
पत्रकारों की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम संबोधित एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा गया जिसमें बताया गया है कि उत्तर प्रदेश बोर्ड प्रश्न पत्र लीक मामले में बलिया जनपद के 3 निर्दाेष पत्रकार अजीत ओझा (अमर उजाला) दिग्विजय सिंह ( अमर उजाला ) वाह मनोज गुप्ता (राष्ट्रीय सहारा) को जेल भेजा गया है। जिला प्रशासन व शिक्षा विभाग ने अपनी नाकामयाबी छुपाने के लिए यह कार्यवाही की है। बलिया में यूपी बोर्ड परीक्षा के प्रश्नपत्र लगातार आउट हो रहे थे, इसकी जानकारी जिला प्रशासन को थी। यहां पर यही भी बताना जरूरी है कि हाई स्कूल संस्कृत विषय की परीक्षा शुरू होने के पहले ही उसकी हल कापी सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों पर वायरल होने की जानकारी जिला अधिकारी व जिला विद्यालय निरीक्षक को थी।
फिर भी प्रश्न पत्र पर परीक्षा कराई गई। संस्कृत का प्रश्न पत्र आउट होने की खबर को सभी प्रमुख समाचार पत्रों आदि ने प्रकाशित व प्रसारित किया था। इसी बीच 29 मार्च 2022 को इंटर के अंग्रेजी विषय का प्रश्नपत्र आउट हो गया था, जिसकी परीक्षा 30 मार्च 2022 को दूसरी पाली में होनी थी। 30 मार्च 2022 को ही अमर उजाला ने आउट प्रश्न पत्र के चित्र के साथ समाचार प्रकाशित कर दिया था। समाचार प्रकाशित होने पर शासन ने संज्ञान लिया और 24 जिलों में परीक्षा रद्द कर दी गई । प्रश्न पत्र आउट मामले को लेकर बलिया जिला प्रशासन से सवाल जवाब करने को लेकर दोपहर तकरीबन 12.00 बजे अमर उजाला बलिया कार्यालय से शिक्षा विभाग की बीट देखने वाले वरिष्ठ पत्रकार अजीत ओझा को पुलिस ने जबरदस्ती गिरफ्तार कर लिया और शाम को मुकदमा दर्ज करके जेल भी भेज दिया। अगले दिन अमर उजाला अखबार से जुड़े नगर के रिपोर्टर दिग्विजय सिंह और राष्ट्रीय सहारा अखबार के मनोज गुप्ता को भी पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। इस विषय पर जिला प्रशासन अभी तक भी पत्रकारों की गिरफ्तारी को लेकर उनका दोष नहीं बता पाया है।
ज्ञापन में पीएम से मांग की गई है कि निर्दाेष पत्रकार अजीत ओझा, दिग्विजय सिंह और मनोज गुप्ता को तत्काल रिहा किया जाये, निर्दाेष पत्रकारों पर दर्ज मुक़दमे वापस लिया जाये, लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ को दमन किये जाने की नियत से की गयी कार्यवाही के लिए दोषी अधिकारीयों पर सख्त कार्यवाही हो, पेपर आउट होने के मामले में उच्च स्तरीय जाँच करा कर दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो, ताकि आगे से कोई भी युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करने की हिम्मत न जुटा सके, पत्रकार सुरक्षा कानून बनाया जाए, मीडिया आयोग का गठन किया जाए, पत्रकारों का नेशनल रजिस्टर बनाया जाए, गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिये उन्हें आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जाए, 60 साल से ऊपर के पत्रकारों को 20 हज़ार रुपये की मासिक पेंशन दी जाए, देश मे ई-पेपर को मान्यता दी जाए, पत्रकारो को रियायती दरों पर भूखंड आबंटित किये जायें, जिला स्तर पर प्रेस कल्ब व मीडिया सेन्टर बनाये जाए, महिला पत्रकारो के लिये होस्टल बनाये जाए, पत्रकार की आकस्मिक मृत्यु होने पर उसके परिवार को आर्थिक सहायता दी जाए, मीडिया से जुड़े कानूनी मामलों के जल्द निपटारे के लिए आयोग बनाया जाए।
धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन देने वाले पत्रकरों में सुशील दुबे, अजय वर्मा,हेमन्त कृष्णा,हरिराम त्रिपाठी,मोहम्मद कामरान,ममता सिंह, प्रिया भट्टाचार्य, संजय आज़ाद,शेखर पंडित, नीरज उपाध्याय, अनिल सैनी,तनवीर अहमद ,कृष्णा मिश्रा, अनुराग, ऋषि,सैय्यद ,गिरीश खरे,शोभित शुक्ला,अम्बरीष शुक्ला सहित सैकड़ों पत्रकार उपस्थित रहे।

जम्मू-कश्मीर की घाटी के कई क्षेत्रों में दबिश: एजेंसी

 जम्मू-कश्मीर की घाटी के कई क्षेत्रों में दबिश: एजेंसी 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने बृहस्पतिवार को जम्मू-कश्मीर की घाटी के कई क्षेत्रों में दबिश दी। एनआईए ने टेरर फंडिंग को लेकर कश्मीर में छापेमारी कर कार्यवाही कर रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एनआईए की टीम ने केंद्रीय सुरक्षा बल के साथ मिलकर श्रीनगर, बडगाम और घाटी के कई क्षेत्रों में छापेमारी की है।

एनआईए ने अरसलान फिरोज निवासी जालदगर के आवास पर भी छापा मारा। अरसलान पहले की एनआईए की हिरासत में हैं। वहीं श्रीनगर के बाहरी इलाके में एजाज अहमद डार के घर पर भी छापामारी की गई। इसी तरह से समीर अहमद गनई निवासी बोनापोरा नौगाम के घर पर रेड की गई। गनई पेशे से सेल्समैन हैं। टीम ने पूर्व सरकारी अधिकारी मोहम्मद मकबूल निवासी चनपोरा के घर पर भी रेड की।

गर्मी के मौसम में नुकसानदायक हैं 'गुड़ का सेवन'

गर्मी के मौसम में नुकसानदायक हैं 'गुड़ का सेवन'   

सरस्वती उपाध्याय         
गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है। इस बढ़ती गर्मी में अपनी सेहत का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। हेल्दी बॉडी के लिए गर्मी के अनुसार दिनचर्या में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव करने का सुझाव दिया जाता है। यानी पिछले मौसम में जो फूड्स आपके लिए जरूरी थी, अब उन्हें छोड़ देने का समय आ गया है। आयुर्वेद के अनुसार कुछ खास आहार का सेवन केवल उससे संबंधित मौसम में ही करना चाहिए। जैसे गुड़, अमूमन सर्दी में गुड़ के सेवन की सलाह दी जाती है। लेकिन, वही गुड़ जब आप गर्मी में खातें हैं, तो आपको कुछ स्वास्थ्स समस्याएं हो सकती हैं। 
आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में, जो गर्मी में गुड़ के सेवन से आपको हो सकते हैं। 
हर मौसम में हेल्दी डाइट लेना बहुत जरूरी है। यह हमारी इम्युनिटी को मजबूत बनाए रखने में मदद करता है। इस मौसम में भी अपनी डाइट में उन सुपरफूड्स (supper food) को शामिल करें, जो आपके शरीर को इस मौसम के लिए तैयार कर सके। 
 यह गर्म मौसम है और आयुर्वेद के अनुसार इस समय खीरा, ककड़ी और कई अन्य तरह के फलों का सेवन किया जाता है। ठीक उसी तरह कुछ ऐसे फ़ूडस भी हैं, जिनसे गर्मियों के मौसम में परहेज रखना बहुत जरूरी है। उनमे से एक है, गुड़ (jaggery)। गर्मी के मौसम में कम से कम गुड़ का सेवन करने की सलाह दी जाती है। गुड की तासीर गर्म होती हैै, इसीलिए गर्मियों में गुड़ का सेवन आपकी शरीर में गर्मी को बढ़ा देता है, जिसके कारण आपको कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

गर्मियों में फायदेमंद है हाई प्रोटीन डाइट...

गुड़ के स्वास्थ्य लाभ के बारे में तो आप सभी को पता होगा, परंतु इससे होने वाले साइड इफेक्ट के बारे में शायद ही कोई जानता हो। गुड़ आपकी सेहत के लिए हेल्दी होता है, परंतु इसका अत्यधिक सेवन आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। वहीं गर्मी में इसके सेवन से कई तरह के स्वास्थ्य जोखिमों का सामना करना पड़ सकता है। 

जानिए आपको क्यों नहीं करना चाहिए गर्मियों में गुड़ का सेवन...

आयुर्वेद के अनुसार हर आहार के लिए एक निश्चित मौसम होता है। इसमें गुड़ की तासीर के अनुसार उसे सर्दी में खाने की सलाह दी गई है। गर्मियों के मौसम  में बिना विशेषज्ञ परामर्श के गुड़ का सेवन करना आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है। इस गर्म मौसम में संतुलित शरीर के लिए ठंडी तासीर वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने की जरुरत है। जबकि गुड़ की तासीर गर्म होती है, इसलिए गर्मियों में इसके सेवन से आपके शरीर की गर्मी बढ़ जाती है। जिसके कारण आपको नाक से खून आना, अपच, गैस, जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
गुड़ के अधिक सेवन से बॉडी में ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। सभी गुड़ पूरी तरह शुद्ध नहीं होते। इनमें सुक्रोज की मात्रा पाई जाती है। सुक्रोज शरीर में ओमेगा 3 फैटी एसिड को बनने से रोकता है, जिसकी वजह से सूजन और जलन जैसी समस्या हो सकती है। 
इसीलिए गर्मी में गठिया पीड़ितों को गुड़ से परहेज रखना जरूरी है। वहीं गुड़ (jaggery) में अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। ऐसे में मोटापे की समस्या से ग्रसित लोगों को इसके सेवन से दूर रहने की सलाह है। खासकर तुरंत के बने ताजे गुड़ को खाने से कब्ज, अपच और गैस जैसी परेशानिया हो सकती हैं। 

गर्मियों में गुड़ के सेवन से सेहत को हो सकते हैं ये नुकसान...

पब मेड द्वारा किये गए एक अध्ययन में देखा गया कि गुड़ चीनी से ज्यादा फायदेमंद होता है। गुड में बनाए गए पदार्थ चीनी में बनाए गए पदार्थों की तुलना में शरीर के लिए अधिक फायदेमंद होते हैं। परंतु गर्मियों में गुड़ का सेवन चीनी के सेवन से ज्यादा हानिकारक हो सकता है। गुड उन पदार्थों में से एक है। जिनकी तासीर बहुत गर्म होती है। ऐसे में इस गर्म मौसम में गुड़ के सेवन से जितना हो सके उतना परहेज रखने की जरूरत है। पोषक तत्वों से भरपूर यह गुड़ सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। परंतु हर चीज के सेवन का एक सही समय और मौसम होता है। इस समय गुड़ का सेवन आपकी स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। जानते है गुड़ से होने वाली कुछ स्वास्थ्य समस्यायों के बारे में।
पब मेड की रिसर्च में देखा गया कि कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी से भरपूर गुड़ का अधिक सेवन आपको मोटापे की समस्या से ग्रसित कर सकता है। आपका बढ़ता वजन कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण हो सकता है। इसीलिए सीमित मात्रा में गुड़ का सेवन करें। जो लोग मोटापे की समस्या से परेशान है, उन्हें गुड से पूरी तरह परहेज रखने की जरूरत है। 
गुड़ का अधिक सेवन डायबिटीज के मरीजों के लिए नुकसानदेह हो सकता है। किये गए अध्ययन के अनुसार गुड का ग्लाइसेमिक लेवल शरीर में ब्लड शुगर लेवल को तेजी से बढ़ाता है। इसीलिए इसके अधिक सेवन से डायबिटीज की समस्या और ज्यादा बढ़ सकती है।
असल में गुड़ (jaggery) में सुक्रोज की मात्रा पाई जाती है, जो शरीर में बनने वाले ओमेगा 3 फैटी एसिड की गति धीमी कर देता है। जिसकी वजह से जलन और सूजन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसीलिए गठिया मरीजों (arthritis) को गुड़ के सेवन से पूरी तरह परहेज रखने की जरूरत है। क्योंकि यह उनकी समस्या को और ज्यादा बढ़ा सकता है।
अधिक मात्रा में गुड़ के सेवन से पेट संबंधी कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। आयुर्वेद के अनुसार तुरंत के बने ताजे गुड़ को खाने से कब्ज, अपच और गैस जैसी समस्याएं परेशान कर सकती। हमेशा गुड़ शुद्ध तरीके से नहीं बनाया जाता, कई बार इसकी अशुद्धियां हमारे पेट के इंफेक्शन का कारण बन जाती है।
गुड के अधिक सेवन से कई तरह के संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है। कई बार गुड़ का सेवन एलर्जीक रिएक्शन का कारण बन सकता है। सर्दी खासी, उल्टी, चक्कर, सिर दर्द और खुजली जैसी समस्याएं हो सकती है।

नाक से खून आने की समस्या...

आयुर्वेद के अनुसार गुड़ की तासीर काफी गर्म होती है। इसीलिए गर्मी में गुड़ के अधिक सेवन से शरीर में गर्मी बढ़ जाती है। जिसकी वजह से नाक से खून आने लगता है। ऐसे में कम से कम और जरूरत पड़ने पर ही गुड़ का सेवन करने की कोशिश करें। 
हालांकि आप शरबत के रूप में सीमित मात्रा में गुड़ का सेवन कर सकती हैं। पानी के साथ मिक्स होने पर इसकी गर्म तासीर बदल सकती है।

नोएडा: मेट्रो के अंदर पार्टी करने का सुनहरा मौका

नोएडा: मेट्रो के अंदर पार्टी करने का सुनहरा मौका 

विजय भाटी      
गौतमबुद्ध नगर। अब आप अपने परिवार या अपने दोस्तों के साथ मेट्रो में पार्टी कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको जेब ढीली करनी पड़ेगी। नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन एक अधिकारी ने बताया कि अब एनएमआरसी (nmrc) ने मेट्रो के अंदर पार्टी करने का सुनहरा मौका दिया है। कोई भी जन्मदिन या शादी की सालगिरह या किसी अन्य पार्टी का आयोजन कर सकता है। हालांकि इसकी शुरुआत साल 2020 में हुई थी, लेकिन कोरोना माहमारी के चलते उनकी इस पहल का किसी ने फायदा नहीं उठाया।
अब जबकि कोरोना संक्रमण चला गया है, एनएमआरसी (nmrc) ने इसे फिर से शुरू कर दिया है। अधिकारी ने कहा चार ऐसे कोच बनाये जा रहे है, जिसमें कोई भी व्यक्ति अपने परिवार या दोस्तों के साथ कोई भी कार्यक्रम कर सकता है। इसके लिए आपको सिर्फ एक कोच या स्टेशन बुक करना होगा। जिसके बाद आप नोएडा मेट्रो एक्वा लाइन पर पार्टी कर सकते हैं। फिलहाल इस खास सुविधा के लिए लोगों की भर्ती की जा रही है। जो पूरे प्रबंधन की देखभाल करेगा।
अगर आप नॉर्मल कोच बुक करते हैं तो आपको 8 हजार रुपए देने होंगे, लेकिन यह रनिंग कोच बिना डेकोरेट किए होगा। वही आप बिना रनिंग कोच और बिना डेकोरेटेड कोच को 5 हजार रुपये में बुक कर सकते हैं। इसके अलावा 10 हजार रुपये में आपको डेकोरेटेड रनिंग कोच मिलेगा। जबकि आप 7 हजार में बिना रनिंग कोच डेकोरेट के साथ बुक कर सकते है।

रूस के साथ गठबंधन, भारत को कीमत चुकानी पड़ेेगी

रूस के साथ गठबंधन, भारत को कीमत चुकानी पड़ेेगी  

अखिलेश पांडेय        
नई दिल्ली/मास्को/वाशिंगटन डीसी। रूस और यूक्रेन के बीच जारी घमासान युद्ध के बीच भारत की तटस्थता की नीति अमेरिका का रास नहीं आ रही है और वह कई बार इस मुद्दे को लेकर भारत पर दबाव बना चुका है। परोक्ष रूप से दबाव बनाने की नाकाम कोशिश के बाद अब अमेरिका खुली धमकी देने पर उतारू हो गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के शीर्ष आर्थिक सलाहकार ब्रायन डीज ने कहा है कि रूस के साथ गठबंधन की भारत को भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। डीज ने यह भी कहा कि रूस यूक्रेन मुद्दे पर चीन और भारत द्वारा लिए गए फैसलों ने पश्चिमी देशों को निराश किया है। इसी बीच यूक्रेन पर हमले के लिए रूस को संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद से निलंबित करने के के लिए अमेरिका संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में एक प्रस्ताव लेकर आया है, जिस पर आज मतदान होगा। वहीं इस प्रस्ताव पर रूस ने भी खुली धमकी देते हुए कहा है कि अगर किसी भी देश ने इस प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।
पत्रकारों से बात करते हुए डिज ने कहा कि यूक्रेन संकट पर भारत और चीन द्वारा दिखाई गई तटस्थता से अमेरिका बहुत निराश है और इसके दीर्घकालिक संबंध प्रभावित हो सकते हैं। अमेरिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और जापान सहित कई देशों ने रूस पर आर्थिक प्रतिबंध लगा रखे हैं तो दूसरी तरफ भारत ने इन प्रतिबंधों को मानने से इनकार कर दिया है और उससे तेल आयात करने की तैयारी कर रहा है। ससे पहले भी अमेरिका भारत पर दबाव बनाने की लगातार कोशिश कर रहा है। कुछ दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार दलीप सिंह ने अपनी भारत यात्रा के दौरान चेताया था कि अगर चीन एलएसी का उल्लंघन करता है तो भारत को यह उम्मीद नहीं करनी चाहिए कि रूस भारत को बचाने के लिए आएगा।

नवरात्रि के अवसर पर 'खांडवी' बनाने की रेसिपी

नवरात्रि के अवसर पर 'खांडवी' बनाने की रेसिपी       

सरस्वती उपाध्याय         

नवरात्रि के 9 दिनों में कुछ लोग सम्पूर्ण व्रत का पालन करते हैं, ऐसे में हम आपको यहाँ व्रत के दौरान खाई जाने वाली चीजों की रेसिपी शेयर कर रहें हैं।

खांडवी...
सामग्री।

1- सिंघाडा का आटा -1 कप।
2- छाछ – 4 कप‌।
3- अदरक-हरी मिर्च पेस्ट – ¼ छोटा चम्मच।
4- सेंधा नमक – 2 छोटे चम्मच।
5- हल्दी पाउडर – ¼ चम्मच।
6- सरसों – 1 चम्मच।
7- हींग – एक चुटकी।
8- तेल – 2 बड़े चम्मच‌।
9- हरी धनिया – 10 नग।
10- छीना हुआ नारियल – सजावट के लिए।

खांडवी बनाने की विधि...
सिंघाडा के आटे को एक बाउल में छाने। आटा के साथ अदरक-हरी मिर्च पेस्ट मिलाएं। नमक, हल्दी पाउडर और छाछ डाल दीजिये और जब तक कोई गांठ न रहे तब तक मिलाए। एक मोटे तलेवाली पैन में इस मिश्रण को 8 से 10 मिनट मध्यम आँच पर पकाएँ। जब तक यह गाढा और चिकना हो जाए तब तक हिलाये।

इस मिश्रण को थाली में या संगमरमर तालिका पर जल्द से जल्द फैलाए, संभवतः गर्म है तब तक फैलाना अच्छा है। एक बार जब यह ठंडा हो जाए दो इंच चौडी पट्टी में काटे और उन्हें कसकर रोल बनाये और हर टुकड़े को थाली में रखे।

एक छोटा पैन लें, तेल डालें और गर्म कीजिये, एक चुटकी हींग और सरसों के बीज डालें और तलतलाहट होने दें। जब तलतलाहट हो जाए खांडवी के टुकड़े पर तेल डालिए। छीना हुआ नारियल और बारिक कटा हुआ हरा धनिया से सजाये।

पेट्रोल-डीजल के दामों को स्थिर रखने के लिए कोशिश

पेट्रोल-डीजल के दामों को स्थिर रखने के लिए कोशिश  

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। भारत में पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार इजाफा हो रहा है। 17 दिनों में 14 बार इनकी कीमतों में इजाफा किया जा चुका है। लेकिन अब आम जनता को पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से राहत मिल सकती है। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार पेट्रोल-डीजल के दामों को स्थिर रखने के लिए कोशिश कर रही है। सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार दामों को स्थिर रखने के लिए बड़ी योजना तैयार कर रही है।
सूत्रों के मुताबिक, सरकार की ओर से देश की प्रमुख तेल विपणन कंपनियों को इस तरह के दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इसके अलावा ऐसी भी संभावना है कि अगर कच्चे तेल की कीमतों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कमी नहीं आती और दाम इसी तरह बढ़ते रहते हैं तो फिर सरकार पेट्रोल-डीजल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी में भी कटौती का कदम उठा सकती है। ताकि आम जनता के बोझ को कम किया जा सके। रिपोर्ट की मानें तो सरकार ने राज्यों को भी कहा है कि वे पेट्रोल-डीजल पर वसूले जाने वाले वैट में कटौती करें।
बता दें कि बीते दिनों भी विपक्ष ने जब तेल की कीमतों को लेकर सरकार पर निशाना साधा था तो पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सरकार का बचाव करते हुए कहा था कि ऐसा अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतों में बढ़ोतरी के कारण हुआ है। हालांकि, उन्होंने आश्वासन दिया कि देश की जनता को सस्ती कीमतों पर ईंधन उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे हैं।

अंतरराष्ट्रीय सीनियर टेनिस टूर्नामेंट का समापन किया

अंतरराष्ट्रीय सीनियर टेनिस टूर्नामेंट का समापन किया  

भानु प्रताप उपाध्याय       
मुजफ्फरनगर। डॉ. सुरेंद्र प्रकाश, मेमोरियल अंतरराष्ट्रीय सीनियर टेनिस टूर्नामेंट का समापन सर्विस क्लब के ग्रास कोर्ट पर अभिषेक यादव वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा ट्रॉफी व पुरस्कार देकर किया गया। इस टूर्नामेंट में वीएम रंजीत जोकि इंडिया की तरफ से डेविस कप खेल चुके हैं‌। दूसरी तरफ जिले के विजय वर्मा ने 50 वर्ष आयु में डबल्स एवं मिक्स डबल्स में फाइनल में अपने मुकाबले हार गये।
अभिषेक यादव वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने वहां उपस्थित सभी खिलाड़ियों का तहे दिल से शुक्रिया किया कि वे लोग हिंदुस्तान के विभिन्न राज्यों से यहां पर खेलने आए और उपस्थित सभी आयोजक अमित प्रकाश, विजय वर्मा डॉक्टर देवेंद्र मलिक, डॉ मनोज काबरा, डॉ पंकज सिंह, डॉ अनिल सिंह, डॉ हेमंत कुमार, डॉ जे एस तोमर, आशु अरोरा एवं आयुष मित्तल का तहे दिल से प्रशंसा की और भविष्य में इस तरह के टूर्नामेंट को और अधिक उच्च स्तरीय बनाकर कराने के लिए प्रेरित भी किया। 
 मुजफ्फरनगर में पहली बार मिक्स जबल इवेंट का भी आयोजन किया गया‌। जोकि जिले के लिए एक आकर्षण बिंदु था बाहर से आए खिलाड़ी राकेश कोहली, अमित संगल, सतीश सिंगला, विक्रम कपूर, मनीष अग्रवाल, अवनीश रस्तोगी, यशपाल अरोरा ,कर्नल नेहरू, सुनील लुल्ला, यती गुजराती आदि ने टूर्नामेंट की भरपूर प्रशंसा की और जिले के ग्रास कोर्ट के बारे में भी बताया कि पूरे हिंदुस्तान में मुजफ्फरनगर के ग्रास कोर्ट सबसे अच्छे कोर्ट में से एक है।
बृहस्पतिवार के स्कोर इस प्रकार रहे।
 35 वर्ष आयु में रंजीत ने यानिक को 6-0 6-3 6-2 से हराया, डबल्स में रंजीत दिलीप की जोड़ी ने डोडी रमजान शेक को 6-0 6-1 से हराया। मिक्स डबल्स में सिमी शर्मा दिलीप ने विजय कुमार प्रियंका मेहता को 6-3 6-2 से हराया। 45 वर्ष आयु में डबल्स में मानव अरोरा सुनील लुल्ला ने यती गुजराती कुंवर अविनाश को 6-3 6-3 से हराया। 50 वर्ष आयु में नरेंद्र कंकरिया ने तुलेश्वर को 6-3 6-4 से हराया। डबल्स में नरेंद्र कंकरिया तुलेश्वर की जोड़ी ने विजय कुमार अमिताभ चतुर्वेदी को 6-2 6-1 से हराया। 55 वर्ष आयु में आलोक भटनागर ने अमित संगल को 6-3 6-2 से हराया डबल्स में संजय कुमार आशीष सेन ने अरुण अग्रवाल सुधीर  को 6-3 6-3 से हराया, 60 वर्ष आयु में अजीत भारद्वाज ने पवन जैन को 6-0 7-6 से हराया। डबल्स में अजीत भारद्वाज राकेश कोली ने प्रवीण चौधरी पवन जैन को 7-5 6-3 से हराया।

अंग्रेजी विभाग द्वारा 'गेस्ट लेक्चर' का आयोजन

अंग्रेजी विभाग द्वारा 'गेस्ट लेक्चर' का आयोजन   

भानु प्रताप उपाध्याय                
मुजफ्फरनगर। डी. ए. वी. कॉलेज मुजफ्फरनगर के अंग्रेजी विभाग द्वारा गेस्ट लेक्चर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ प्राचार्य डॉ. ललित कुमार, अतिथि डॉ. अलका बंसल, विभागाध्यक्ष प्रो. विपिन कुमार जैन द्वारा माँ सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया गया।
अतिथि डॉ. अलका बंसल, विभागाध्यक्षा अंग्रेजी विभाग, एस.डी. कॉलेज, मुजफ्फरनगर द्वारा अंग्रेजी के शब्दों के उच्चारण को सही तरीके से उच्चारित करने के बारे में छात्र-छात्राओं को अवगत कराया। प्राचार्य डा० ललित कुमार ने छात्र-छात्राओं का उत्साहवर्धन किया।
कार्यक्रम आयोजन डा० रुचिता गोयल एवं डा० अनीता ढ़ल के मार्गदर्शन में किया गया। मंच का संचालन एम०ए० द्वितीय सेमेस्टर की छात्राओं साक्षी एवं शिवानी द्वारा किया गया।
कार्यक्रम में डॉ. अंशु बंसल, डॉ. सलेहा, डॉ. अर्चना, डॉ. रुही जावेद एवं महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने प्रतिभागिता किया।

पंजाब: सिद्धू व प्रेसिडेंट बरिंदर के बीच तकरार हुआ

पंजाब: सिद्धू व प्रेसिडेंट बरिंदर के बीच तकरार हुआ  

अमित शर्मा          
चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस में आपसी कलह खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा। ऐसा ही एक नया मामला, चंडीगढ़ में देखने को मिला, जहां नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब यूथ कांग्रेस के प्रेसिडेंट बरिंदर ढिल्लों के बीच तकरार हो गया। चंडीगढ़ में बढ़ती हुई महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन किया जा रहा है। इस प्रदर्शन में दौरान सिद्धू और बरिंदर ढिल्लों दोनों ही शामिल हैं। इस दौरान ही दोनों में बहस हो गई।  
वहीं ईमानदारी को लेकर इन दोनों नेताओं में तकरार हुई। मिली जानकारी के अनुसार नवजोत सिद्धू ने प्रदर्शन के दौरान कहा कि मैं ईमानदार हूं पर कुछ लोग बेईमान हैं। इस बात पर बरिंदर ढिल्लों भड़क गए और सिद्धू से सवाल किया कि जो भी बेईमान है उसका नाम लिया जाए अगर नाम नहीं ले सकते, तो इस मुद्दे पर बात न की जाए। जिसके बाद नवजोत सिद्धू अपना भाषण बीच में ही रोक कर चले गए। गौरतलब है कि कांग्रेस में कलह काफी समय से जारी है, इसी कलह के चलते पार्टी को विधानसभा चुनाव में भी करारी हार का सामना करना पड़ा था।

अकाउंट्स ट्रेनी व एग्रीकल्चर ग्रेजुएट के पदों पर भर्ती

अकाउंट्स ट्रेनी व एग्रीकल्चर ग्रेजुएट के पदों पर भर्ती 

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। इफ्को ने अकाउंट्स ट्रेनी और एग्रीकल्चर ग्रेजुएट ट्रेनी के पदों पर भर्ती करने का फैसला किया है। कैंडिडेट्स वेबसाइट iffco.in या iffcoyuva.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इन पदों के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 15 अप्रैल तय की गई है।
अकाउंट्स ट्रेनी: कैंडिडेट्स को सीए इंटर पास और कम से कम 60 फीसदी अंकों के साथ कॉमर्स में ग्रेजुएट होना चाहिए।
एग्रीकल्चर ग्रेजुएट ट्रेनी: कैंडिडेट्स के पास बीएससी एग्रीकल्चर फुल टाइम रेगुलर डिग्री होना जरूरी है। सामान्य और ओबीसी कैटेगरी के कैंडिडेट्स को 60 फीसदी अंक व एससी/एसटी कैटेगरी के उम्मीदवारों को 55 फीसदी अंकों से पास होना चाहिए।
अकाउंट्स ट्रेनी: कैंडिडेट्स को एक वर्ष तक ट्रेनिंग लेनी होगी। इस दौरान उन्हें 36 हजार रुपये सैलरी मिलेगी। इसके बाद 40 हजार -75 हजार प्रति माह सैलरी प्रदान की जाएगी।
एग्रीकल्चर ग्रेजुएट ट्रेनी: इस पद पर ट्रेनिंग के दौरान प्रति माह 33 हजार रुपये दिए जाएंगे। इसके बाद 37 हजार-70 हजार के बीच हर माह सैलरी दी जाएगी।
इन पदों के लिए अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष तय की गई है। एससी और एसटी वर्ग के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में 5 वर्ष और ओबीसी को तीन वर्ष की छूट दी जाएगी।
शॉर्टलिस्ट किए गए कैंडिडेट्स को कंप्यूटर बेस्ड ऑनलाइन टेस्ट देना होगा जो देश के विभिन्न शहरों में आयोजित किया जाएगा।
कैंडिडेट्स ऑफिशियल वेबसाइट पर क्लिक करें।
यहां जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
इसके बाद लॉग इन कर एप्लीकेशन फॉर्म भरें।
एप्लीकेशन फॉर्म में फोटो, साइन और अन्य डॉक्यूमेंट्स अपलोड करें।
प्रोसेस पूरी होने के बाद आप एप्लीकेशन का प्रिंट ले सकते हैं।

रूसी मछुआरों ने कार्टिलाजिनस मछली को पकड़ा

रूसी मछुआरों ने कार्टिलाजिनस मछली को पकड़ा  

सुनील श्रीवास्तव       
मास्को। बृहस्पतिवार को रूसी मछुआरों ने समुद्र की गहराई में एक ऐसे जीव को ढूंढ निकाला, जो अजीबो-गरीब दिखाई देता है। जब यह तस्वीर इंटरनेट पर वायरल हुई तो नेटिजन्स ने इसे ‘बेबी ड्रैगन’ का नाम दिया। 39 वर्षीय रोमन फेडोर्ट्सोव अपने साथी मैकेरल के साथ नॉर्वेयिन सागर में मछली पकड़ने गए थे, तब उन्होंने विचित्र दिखने वाले इस जीव को पकड़ा।
मरमंस्क स्थित मछुआरे विभिन्न प्रकार के विचित्र दिखने वाले समुद्री जीवों के बीच घूमते हैं, लेकिन इस अनोखे जीव ने उन्हें हैरत में डाल दिया। क्योंकि यह नए हैच वाले बेबी ड्रैगन जैसा लग रहा था। हालांकि, जीव की पहचान अब कोई रहस्य नहीं है। रोमन ने एक काइमेरा को पकड़ा, जो एक कार्टिलाजिनस मछली है। जिसे ‘घोस्ट शार्क’ भी कहा जाता है।
रोमन ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर जीव की एक तस्वीर पोस्ट की। मछली की आंखें बड़ी हैं और एक लंबी पूंछ भी है, और यह हल्के गुलाबी रंग की दिखाई दे रही है। इस जीव पर पंख भी दिखाई दे रहे हैं। रोमन ने लिखा, ‘बस एक कहावत- नामहीन चीज का पीछा करना एक बात है, लेकिन इसे खोजना बिल्कुल दूसरी चीज है। 
शेयर किए जाने के बाद से, फोटो को इंस्टाग्रामर्स से 22,000 से अधिक लाइक्स और कुछ दिलचस्प कमेंट्स मिल चुके हैं। ज्यादातर यूजर्स इस फोटो को देखकर दंग रह गए।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 1,033 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 1,033 नए मामलें   

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। देश में जानलेवा कोरोना वायरस महामारी के नए मामलों में बृहस्पतिवार को बढ़ोतरी दर्ज की गई है। देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 1,033 नए मामलें सामने आए हैं और 43 लोगों की मौत हो गई। कल कोरोना के 1086 केस दर्ज किए गए थे और 71 लोगों की मौत हुई थी। जानिए देश में कोरोना की ताजा स्थिति क्या है।
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, अब एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 11 हजार 639 हो गई है। वहीं, इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 5 लाख 21 हजार 530 हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक, अभी तक 4 करोड़ 24 लाख 97 हजार 567 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। देश में अबतक कोरोना से 4 करोड़ 30 लाख 31 हजार 958 लोग संक्रमित हो चुके हैं।
राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोरोना वायरस रोधी टीकों  की 185 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी हैं। कल 15 लाख 37 हजार 314 डोज़ दी गईं, जिसके बाद अबतक वैक्सीन की 185 करोड़ 20 लाख 72 हजार 469 डोज़ दी जा चुकी हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, स्वास्थ्यकर्मियों, कोरोना योद्धाओं और 60 साल से ज्यादा आयु वाले अन्य बीमारियों से ग्रस्त लोगों को 2 करोड़ से ज्यादा (2,39,02,927) एहतियाती टीके लगाए गए हैं। देश में कोविड रोधी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी, 2021 से शुरू हुआ और पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। वहीं, कोरोना योद्धाओं के लिए टीकाकरण अभियान दो फरवरी से शुरू हुआ था।

ट्रैक्टर-ट्राली से टकराईं बाइक, 2 लोगों की मौंत

ट्रैक्टर-ट्राली से टकराईं बाइक, 2 लोगों की मौंत  


मनोज सिंह ठाकुर        

दमोह। मध्यप्रदेश के दमोह जिले के बटियागढ़ थाना अंतर्गत चैनपुरा गांव के समीप बृहस्पतिवार तड़के सड़क पर खड़े ट्रैक्टर-ट्राली से एक मोटरसाइकिल के टकरा जाने से बाइक सवार दो लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

बटियागढ़ पुलिस थाना प्रभारी मनीष मिश्रा ने बताया कि यह हादसा बृहस्पतिवार की रात्रि करीब दो बजे बटियागढ़-नरसिंहगढ़ मार्ग पर हुआ। उन्होंने कहा कि मृतकों की पहचान आशीष राठौर (35) और महेंद्र पटेल (35) के रूप में की गई है। मिश्रा ने बताया कि हादसे के वक्त ये छतरपुर की ओर से दमोह अपने घर लौट रहे थे।

विश्वविद्यालय: 'सीयूसीईटी' के माध्यम से होंगे दाखिले

विश्वविद्यालय: 'सीयूसीईटी' के माध्यम से होंगे दाखिले  

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अंबेडकर विश्वविद्यालय ने बृहस्पतिवार को घोषणा की, कि संस्थान में सभी स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए अब ‘संयुक्त विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा’ (सीयूसीईटी) के माध्यम से दाखिले होंगे। कुलपति अनु सिंह लाठेर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि विश्वविद्यालय में प्रवेश सीयूसीईटी के माध्यम से होगा।
उन्होंने कहा कि सभी अभ्यर्थियों के लिए सीयूसीईटी, 2022 में उपस्थित होना अनिवार्य है, जिसमें वे अभ्यर्थी भी शामिल हैं जो अतिरिक्त सीट पर दाखिला चाहते हैं। पात्रता मानदंड, सीयूसीईटी में प्राप्त अंकों के आधार पर तय किए जाएंगे। अंबेडकर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर कार्तिक दवे (डीन प्लानिंग) ने कहा कि अभ्यर्थी सीयूसीईटी में केवल उन्हीं विषयों के सवालों के जवाब दे सकेंगे, जो उन्होंने 12वीं कक्षा में पढ़े थे। किसी भी विषय के छात्रों के साथ कोई भेदभाव नहीं होगा।
छात्र सेवाओं के डीन सुरेश प्रभु ने कहा कि सीयूसीईटी छात्रों को एक समान अवसर प्रदान करेगा। कुलपति अनु सिंह लाठेर ने शैक्षणिक सत्र 2022-23 में शुरू होने वाले नए पाठ्यक्रमों की भी घोषणा की। ये क्रिमिनोलॉजी और फिलॉसफी में ‘मास्टर ऑफ आर्ट्स’ और पॉलिटिकल साइंस में ‘बैचलर ऑफ आर्ट्स’ हैं।

महंगाई: सीएनजी की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी

महंगाई: सीएनजी की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी   

अकांशु उपाध्याय                 

नई दिल्ली। इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड की ओर से लगातार की जा रही सीएनजी की कीमतों में बढ़ोतरी से इसके दाम डीजल-पेट्रोल के आसपास पहुंचते जा रहे हैं। लगातार दूसरे दिन यानी केवल 24 घंटे के अंतराल पर आईजीएल द्वारा सीएनजी की कीमतों में 2 रूपये 50 पैसे प्रति किलोग्राम का इजाफा कर दिया गया है। सीएनजी की बढ़ाई गई कीमतें आज से ही लागू कर दी गई है। जिसके चलते राजधानी दिल्ली में अब सीएनजी के दाम 69 रुपए 11 पैसे प्रति किलोग्राम पर पहुंच गए हैं।

बृहस्पतिवार को एक बार फिर से सीएनजी की कीमतों में बढ़ोतरी कर दी गई है। इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड की ओर से उपलब्ध कराई गई जानकारी के मुताबिक दिल्ली से सटे नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में सीएनजी की नई कीमत 71.67 रुपये प्रति किलोग्राम, मुजफ्फरनगर, मेरठ और शामली में सीएनजी की नई कीमत 76.34 रुपये प्रति किलोग्राम और गुड़गांव में 77.44 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई है। इसके अलावा आज सुबह 6 बजे से रेवाड़ी में सीएनजी 79.57 रुपये प्रति किलोग्राम और करनाल तथा कैथल में सीएनजी 77.77 रुपये प्रति किलोग्राम की कीमत पर उपभोक्ताओं को मिल रहा है। दिल्ली और एनसीआर अलावा जिन अन्य शहरों में इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड द्वारा सीएनजी की सप्लाई की जाती है, वहां भी इसकी कीमत में बढ़ोतरी कर दी गई है। आज की बढ़ोतरी के बाद कानपुर, हमीरपुर और फतेहपुर में सीएनजी 80.90 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रहा है, जबकि अजमेर, पाली और राजसमंद में सीएनजी की कीमत बढ़कर 79.38 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई है।

अप्रैल के शुरुआती 7 दिनों में सीएनजी की कीमत में अभी तक 4 बार बढ़ोतरी की जा चुकी है। वही पिछले महीने की शुरुआत से अभी तक की ये नौवीं बढ़ोतरी है। मौजूदा महीने में 1 अप्रैल को सीएनजी की कीमत में प्रति किलोग्राम 80 पैसे की बढ़ोतरी की गई थी। इसके बाद 4 अप्रैल को सीएनजी की कीमत में प्रति किलोग्राम 2.50 रुपये की बढ़ोतरी की गई। इसके बाद कल 6 अप्रैल को और आज 7 अप्रैल को सीएनजी की कीमत में प्रति किलोग्राम 2.50 रुपये की बढ़ोतरी की गई है। इस तरह से राजधानी दिल्ली में अप्रैल के महीने में ही अभी तक सीएनजी की कीमत में प्रति किलोग्राम 8.30 रुपये की बढ़ोतरी की जा चुकी है।

दुकान एवं प्रतिष्ठानों के लिए मराठी साइनबोर्ड अनिवार्य

दुकान एवं प्रतिष्ठानों के लिए मराठी साइनबोर्ड अनिवार्य    

कविता गर्ग                        
मुंबई। महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) की तानाशाही जारी है। दरअसल, बीएमसी ने एक आदेश जारी कर कहा है कि मुंबई में अब दुकानों और प्रतिष्ठानों के लिए मराठी साइनबोर्ड लगाना अनिवार्य होगा। साथ ही सर्कुलर के अनुसार, शराब की दुकानों और बार का नाम किलों, गणमान्य व्यक्तियों और मूर्तियों के नाम पर नहीं रखना है। आदेश का उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। नगर निकाय ने कहा कि इन नियमों के उल्लंघन के मामले में संबंधित दुकान और प्रतिष्ठान मालिकों के खिलाफ महाराष्ट्र दुकान और प्रतिष्ठान अधिनियम के तहत मुकदमा चलाया जाएगा। गौरतलब है कि राज्य सरकार ने 17 मार्च, 2022 को मराठी नेमप्लेट के लिए महाराष्ट्र दुकान और प्रतिष्ठान अधिनियम में संशोधन किया था। बीएमसी ने उसी के संबंध में एक परिपत्र प्रकाशित किया है। बीएमसी के अधिकारी ने इस बात की जानकारी दी है। बीएमसी की रिकॉर्ड के अनुसार, मुंबई में कुल 5,08,897 दुकानें और प्रतिष्ठान हैं। 
पुराने दुकान और प्रतिष्ठान अधिनियम के तहत भी मराठी नेम प्लेट लगाना अनिवार्य था। लेकिन 2017 में, राज्य सरकार ने कानून में संशोधन किया, जिसके तहत नौ से कम कर्मचारियों वाली दुकानों और प्रतिष्ठानों को मराठी नेमप्लेट प्रकाशित करने की आवश्यकता नहीं थी। अब, नए संशोधन के अनुसार, सभी दुकानों और प्रतिष्ठानों, कर्मचारियों की संख्या के बावजूद, दुकान का नाम मराठी में अनिवार्य रूप से प्रदर्शित करना होगा।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-181, (वर्ष-05)
2. शुक्रवार, अप्रैल 8, 2022
3. शक-1984, चैत्र, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2078।     
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 24 डी.सै., अधिकतम-39+ डी सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम 

सेंट्रल पीस कमेटी की बैठक का आयोजन: डीएम  हरिशंकर त्रिपाठी  देवरिया। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में दशहरा, ईद...