बुधवार, 4 मार्च 2020

मंगल की सतह जैसी 'भारतीय झील'

भारती साहू


बुलढाना। महाराष्ट्र  के बुलढाना जिले की रहस्यमयी लोनार झील नासा से लेकर दुनिया भर की तमाम एजेंसियां इस झील के रहस्यों को जानने में बरसों से जुटी हुई है लेकिन अब तक यह झील वैज्ञानिकों के लिए जिज्ञासा और शोध का विषय है।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
अब हाल ही में रहस्यमयी लोनार झील पर हुए शोध में यह सामने आया है कि यह लगभग 5 लाख 70 हजार साल पुरानी झील है। यानी कि यह झील रामायण और महाभारत काल में भी मौजूद थी।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
वैज्ञानिकों का मानना है कि उल्का पिंड के पृथ्वी से टकराने के कारण यह झील बनी थी, लेकिन उल्का पिंड कहां गया  इसका कोई पता अभी तक नहीं चला है।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
वहीं, सत्तर के दशक में कुछ वैज्ञानिकों ने यह दावा किया था कि यह झील ज्वालामुखी के मुंह के कारण बनी होगी। लेकिन बाद में यह गलत साबित हुआ, क्योंकि यदि झील ज्वालामुखी से बनी होती, तो 150 मीटर गहरी नहीं होती।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
2010 से पहले माना जाता था कि यह झील 52 हजार साल पुरानी है, लेकिन हालिया शोध में पता चला कि यह करीब 5 लाख 70 हजार साल पुरानी है।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
वहीं, नासा के वैज्ञानिकों ने कुछ साल पहले इस झील को बेसाल्टिक चट्टानों से बनी झील बताया था.। साथ ही यह कहा था कि इस तरह की झील मंगल की सतह पर पाई जाती है। क्योंकि इसके पानी के रासायनिक गुण भी वहां की झीलों के रासायनिक गुणों से मेल खाते हैं।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
इस झील को लेकर कई पौराणिक ग्रंथों में भी जिक्र मिलता है। जानकार बताते हैं कि झील का जिक्र ऋग्वेद और स्कंद पुराण में भी मिलता है। इसके अलावा पद्म पुराण और आईन-ए-अकबरी में भी इसका जिक्र है।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
हालांकि, इस झील को पहचान 1823 में तब मिली, जब ब्रिटिश अधिकारी जेई अलेक्जेंडर यहां पहुंचे। जब उन्होंने लोनार झील को देखा तो दंग रह गए। इसके बाद इस झील को लेकर वैज्ञानिकों ने दिलचस्पी भी दिखाई। इस झील की एक ख़ास बात यह भी है कि यहां कई प्राचीन मंदिरों के भी अवशेष हैं। इनमें दैत्यासुदन मंदिर भी शामिल है। यह भगवान विष्णु, दुर्गा, सूर्य और नरसिम्हा को समर्पित है। इनकी बनावट खजुराहो के मंदिरों जैसी है।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
इसके अलावा यहां प्राचीन लोनारधर मंदिर, कमलजा मंदिर, मोठा मारुति मंदिर भी हैं। ऐसा कहा जाता है कि इनका निर्माण करीब 1000 साल पहले यादव वंश के राजाओं ने कराया था। इस झील से जुड़ा हैरान करने वाला एक वाकया यहां के ग्रामीण भी बताते हैं। वो कहते हैं कि 2006 में यह झील सूख गई थी उस वक्त गांव वालों ने पानी की जगह झील में नमक देखा था साथ ही अन्य खनिजों के छोटे-बड़े चमकते हुए टुकड़े देखे लेकिन कुछ ही समय बाद यहां बारिश हुई और झील फिर से भर गई।


भारत की इस झील के पीछे पड़े दुनिया भर के वैज्ञानिक, मंगल जैसी सतह
झील के आकार की बात करें तो इसका ऊपरी व्यास करीब 7 किलोमीटर है। जबकि यह झील करीब 150 मीटर गहरी है। अनुमान है कि पृथ्वी से जो उल्का पिंड टकराया होगा, वह करीब 10 लाख टन का रहा होगा जिसकी वजह से झील बनी थीं।


शिवसेना के नाम पर फर्जी संगठन

प्रदेश में शिव सेना के नाम पर फर्जी संगठनों पर कानूनी लड़ाई लड़ेंगे:-दीपक शर्म


सुरक्षा लेने के लिए एक समुदाय को फर्जी संगठन बनाते है निशाना


पंजाब का माहौल खराब कर रहे है शिव सेना के नाम पर चल रहे फर्जी संगठन


अनिल वर्मा


जालंधर। शिव सेना 'बाल ठाकरे' की एक बैठक कोट मोहल्ला बस्ती शेख में पंजाब प्रमुख योगराज शर्मा के दिशा-निर्देशों पर जिला प्रभारी दीपक शर्मा की अगुवाई में हुई। जिसमें जिला प्रभारी दीपक शर्मा ने कहा कि प्रदेश में फर्जी शिव सेना के नाम पर अपना गोरख धंधा चला रहे 18 ग्रुप भले ही लोगो को गुमराह कर किसी विशेष धर्म के विरोध बयान जारी कर सुरक्षा की मांग कर पंजाब सरकार और पुलिस प्रशासन की आँखों मे धूल झोंक रहे है। उन्होंने कहा कि इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पंजाब प्रमुख योगराज शर्मा डी जी पी पंजाब से विशेष मुलाकात भी की है।


जिला प्रमुख ओर पार्टी प्रवक्ता सुभाष गोरिया ने कहा कि शिव सेना के नाम पर चल रहे इन संगठन रजि नही है। अगर कोई व्यक्ति किसी समुदाय के खिलाफ सोशल मीडिया पर गलत बोलते है तो धर्म का निरादर को भी बर्दाश नही करता इसी वजह से पंजाब में वारदाते होती है। गोरिया ने कहा कि शिव सेना के नाम पर पंजाब में चल रहे फर्जी संगठनों के खिलाफ शिव सेना (बाल ठाकरे) पंजाब ओर हरयाणा हाई कोर्ट में एक दायर कर कर इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई आरंभ कर रही है। बैठक में शहरी अध्यक्ष मुकेश स्याल,जिला यूथ अध्यक्ष बलबीर गोरिया,जिला यूथ प्रभारी नवीन तलवाड़,जिला उप अध्यक्ष दिनेश भगत,सतीश कुमार,संगठन मंत्री दीपक धवन,महा सचिव लखविंदर सिंह, यूथ सचिव ध्रुव शर्मा,डी एस बग्गा,जसबीर सिंह बराड़, आदि भी मैजूद थे।


डॉक्टरों को हड़ताल का हक नहीं

डॉक्टरों को किसी भी स्थिति में हड़ताल करने का अधिकार नहीं : मद्रास हाईकोर्ट


मद्रास। हाईकोर्ट ने कहा है कि डॉक्टरों को किसी भी परिस्थिति में हड़ताल करने का अधिकार नहीं है। न्यायमूर्ति एन आनंद वेंकटेश ने मेडिकल शिक्षा और मेडिकल एवं ग्रामीण स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशकों द्वारा डॉक्टरों को जारी चार्ज, ट्रांसफ़र और पोस्टिंग मेमो को दी गई चुनौती पर सुनवाई के दौरान यह कहा। अदालत को इस प्रश्न का निर्णय करना था कि अपनी मांगों के समर्थन में डॉक्टरों को हड़ताल करने का अधिकार है कि नहीं। अदालत ने कई फ़ैसलों का संदर्भ देते हुए कहा कि हड़ताल करने का कोई क़ानूनी या नैतिक अधिकार की अनुपस्थिति में यह स्वाभाविक है कि कोई भी हड़ताल आवश्यक रूप से ग़ैरक़ानूनी है और इसका कोई क़ानूनी और नैतिक औचित्य नहीं है। अदालत ने कहा, "इस बात में कोई संदेह नहीं हो सकता कि हड़ताल पर जाकर डॉक्टर इस चिकित्सकीय कहावत का उल्लंघन करते हैं कि "पहले, कोई नुक़सान नहीं करें।" हड़ताल के कारण मरीज़ों का जो नुक़सान होता है उसकी कल्पना नहीं की जा सकती। वकीलों की तरह डॉक्टरों का अपने मुद्दों को हल करने के लिए हड़ताल का उपयोग नैतिक मूल्यों और मानवीय परिणामों का ध्यान रखे बिना मरीज़ों की गरिमा को भूलना और उन्हें मुश्किल में डालना है। मरीज़ किसी मुद्दे को हासिल करने का ज़रिया नहीं हो सकते। हड़ताल के माध्यम से कोई अन्य लक्ष्य प्राप्त करने के लिए उनके जीवन के साथ खिलवाड़ करते हुए उन्हें खिलौने के तरह प्रयोग नहीं किया जा सकता।" डॉक्टर हड़ताल नहीं कर सकते या किसी भी स्थिति में बॉयकॉट नहीं कर सकते क्योंकि उनका वास्ता सीधे लोगों के जीवन से है और डॉक्टरों की मांग और मरीज़ों के जीवन के बीच, जान का महत्व किसी भी बात से अधिक है। डॉक्टरों की ड्यूटी की प्रकृति ऐसी है अगर एक मिनट भी डॉक्टर उपलब्ध नहीं रहता है तो किसी की जान जा सकती है। हालांकि, पीठ ने कहा कि डॉक्टरों को जो ट्रांसफ़र और चार्ज का मेमो जारी किया गया है वह दुर्भावनापूर्ण है और यह सिर्फ़ इसलिए जारी किया गया है ताकि उन लोगों को दंडित किया जा सके जो हड़ताल में शामिल थे। अदालत ने यह भी कहा कि वह चाहता है कि सरकार डॉक्टरों की लंबित मांग को सुलझाए। कंबर रामायण को उद्धृत करते हुए जज ने कहा कि भगवान राम ने सुग्रीव को सलाह दी थी, "न्यायपूर्वक शासन करो ताकि तुम्हारी प्रजा तुमको राजा नहीं बल्कि अपने बच्चे का ख़याल रखनेवाली मां समझे। प्राचीन काल का आदर्श यह था कि राजा और भगवान को एक ऐसी माँ के रूप में माना जाता था जो अपने बच्चों का ख़याल रखती है।" यह अदालत सरकार से आग्रह करती है कि वह सरकारी डॉक्टरों की मांग पर शीघ्र ग़ौर करे और इसका समाधान ढूंढे। यह जितना लंबा खिंचेगा, सरकारी डॉक्टरों का उत्साह उतना ही ज़्यादा प्रभावित होगा। इस मुक़दमे में कोई भी पक्ष विजेता नहीं है और इसलिए इसका फ़ैसला आम हित में होना चाहिए। ऐसा तभी हो सकता है जब दोनों ही पक्ष साथ आएं और इन लंबित मामलों का जल्दी समाधान ढूंढें।


एयर इंडिया अधिग्रहण को लेकर बड़ा ऐलान

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने एयर इंडिया के अधिग्रहण को लेकर बड़ा ऐलान किया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि एयर इंडिया का पूरा-पूरा अधिग्रहण (100 फीसदी) नॉन रेसिडेंट इंडियन भी कर सकते हैं। पहले एनआरआई के लिए यह सीमा 49 फीसदी थी।


एयर इंडिया को 2018 में बेचने की पहली कोशिश असफल रहने के बाद केंद्र सरकार ने इस बार अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचने का निर्णय किया है। वर्ष 2018 में सरकार ने एयरलाइन में 76 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने का निर्णय किया था। बता दें कि एयर इंडिया के लिए बोली जमा करने की आखिरी तारीख 17 मार्च तक है। इसमें रुचि रखने वाले बोली दाताओं का नेटवर्थ 3,500 करोड़ रुपये होना चाहिए। बोली जमा होने के बाद आगे की प्रक्रिया अपनाई जाएगी। हाल ही में अश्विनी लोहानी की जगह वरिष्ठ आईएएस अधिकारी राजीव बंसल को एयर इंडिया का नया चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त किया गया है। एयर इंडिया पर करीब 80 हजार करोड़ का कर्ज है। वित्त वर्ष 2018-19 में एयर इंडिया को 8,556 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। 7 जनवरी को गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में बने एक मंत्री समूह (ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स) ने निजीकरण से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस में 100 पर्सेंट शेयर सरकार के पास ही हैं।


बृजेश्वरी माता का गर्भ ग्रह चांदी से सजाया

कांगड़ा। जिला कांगड़ा के प्रसिद्ध शक्तिपीठ श्री बज्रेश्वरी देवी माता के मंदिर का गर्भ गृह चैत्र मेलों के दौरान चांदी से सजाया जाएगा। इसके लिए टेंडर आमंत्रित किए जाएंगे। इसके अलावा मंदिर परिसर की सुंदरता को बढ़ाने के लिए परिसर में फव्वारे स्थापित किए जाएंगे। यह निर्णय बुधवार को एसडीएम जतिन लाल की अध्यक्षता में चैत्र मेलों की तैयारियों को लेकर बज्रेश्वरी देवी मंदिर ट्रस्ट की बैठक में लिया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि मंदिर मार्ग और साथ लगते क्षेत्रों में घटिया खाद्य सामग्री बेचने वालों पर भी अंकुश लगाया जाएगा और यह मामला स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के समक्ष रखा जाएगा।  बैठक में कोरोना वायरस बारे पुजारी वर्ग और श्रद्धालुओं को अवगत करवाने बारे भी चर्चा की गई।


बैठक में आगामी 25 मार्च से 3 अप्रैल तक होने वाले चैत्र मेलों में आने वाले यात्रियों को आवासीय सुविधा प्रदान करने, पार्किंग, सुचारू विद्युत व्यवस्था, सुरक्षा-व्यवस्था, अतिरिक्त कर्मचारी रखे जाने बारे, लंगर व्यवस्था, गुल्लक की गणना, मंदिर परिसर में पूजा पाठ हवन यज्ञ करवाने, पेयजल आपूर्ति, मुद्रिका बस चलाने संबंधी व मेलों के दौरान उप समितियों का गठन करने बारे भी विचार-विमर्श किया गया। बैठक में उपस्थित पुलिस उपाधीक्षक एवं थाना प्रभारी ने मंदिर ट्रस्ट को बताया कि मेलों के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के लिए 50 अतिरिक्त होमगार्ड के जवान कांगड़ा में तैनात किए जाएंगे। मंदिर उपायुक्त जतिन लाल ने मंदिर के जेई को स्पष्ट निर्देश दिए कि नवरात्र मेलों से पहले कांगड़ा नगर के तमाम मार्गों पर मंदिर को जाने वाले रास्तों पर साइन बोर्ड लगवाए जाएं, ताकि दूरदराज एवं अन्य राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर में पहुंचने के लिए किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना ना करना पड़े।


टिकटोक स्टार,पटेल आरोप में गिरफ्तार

सूरत। गुजरात की चर्चित टिकटॉक स्टार कीर्ति पटेल को हत्या की कोशिश के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यह मामला दो गुटों में झड़प का बताया जा रहा है।


सूरत की रहने वाली कीर्ति पटेल खुद का टिक टॉक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड करने लगी जिससे वो पूरे गुजरात में लोकप्रिय हो गई। लेकिन कहते हैं ना कि शोहरत मिलना और उसे पचा लेना सब के बस की बात नहीं होती है। ऐसा ही कीर्ति पटेल के साथ भी हुआ। दरअसल एक टिकटॉक वीडियो बनाने के दौरान कीर्ति पटेल के एक साथी ने भरवाड़ समाज को लेकर गलत शब्दों का इस्तेमाल किया था जिसको लेकर कीर्ति पटेल और भरवाड़ समाज के जय हो ग्रुप के बीच अनबन शुरू हो गई थी और एक-दूसरे को मारने पीटने की धमकियां देने लगे। दोनों ग्रुप टिकटॉक वीडियो बनाकर एक-दूसरे के खिलाफ हमला बोल रहे थे, जिससे तनाव और बढ़ गया। सोमवार की शाम को विवाद के निपटारे के लिए टिकटॉक स्टार कीर्ति अपने साथियों के साथ भरवाड़ समाज के लोगों से मीटिंग कर रही थी, तभी दोनों पक्षों में किसी बात को लेकर मारपीट शुरू हो गई। मारपीट के दौरान ही कीर्ति पटेल की तरफ से आए कनु भरवाड़ ने रघु भरवाड़ के सिर पर वार कर दिया था, जिससे वो गंभीर रूप से घायल हो गया था। इसी मामले की शिकायत रघु भरवाड़ ने सूरत के पूनागाम पुलिस थाने में टिकटॉक स्टार कीर्ति पटेल और उसके साथियों के खिलाफ दर्ज करवाई थी। शिकायत के आधार पर पुलिस ने हत्या की कोशिश के आरोप में कीर्ति पटेल को गिरफ्तार कर लिया।


दिल्ली हिंसा,हेट-स्पीच के मामले की सुनवाई

नई दिल्ली। दिल्ली हिंसा और हेट स्पीच के मामले की सुनवाई दिल्ली हाई कोर्ट शुक्रवार को करें। यह आदेश सुप्रीम कोर्ट ने आज यानी बुधवार को जारी किया। चीफ जस्टिस एसए बोवड़े ने कहा कि हम दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस से शुक्रवार को सुनवाई करने की अपील करते हैं।


दिल्ली हाई कोर्ट से चीफ जस्टिस एसए बोवड़ ने कहा कि हम अनुरोध करेंगे कि आप इन मामलों की सुनवाई करें। हम यह नहीं कह रहे हैं कि सुनवाई को टालना उचित नहीं था, लेकिन इसने समस्याओं को जन्म दिया है। हाई कोर्ट ने इस मामले में 13 अप्रैल को सुनवाई की तारीख तय की थी।


क्या है सुप्रीम कोर्ट का आदेश


अपने आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमने याचिकाकर्ता के वकील कॉलिन गोंसाल्वेस और केंद्र सरकार के वकील सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता को सुना है। इस मामले को सुनकर हमने याचिका को दिल्ली हाई कोर्ट के पास भेजने का फैसला किया है। इस मामले की सुनवाई शुक्रवार से होगी। इस याचिका के विषय से जुड़े अन्य सभी मामले की सुनवाई एक साथ की जा सकती है। हाई कोर्ट से अनुरोध है कि इन मामलों को यथाशीघ्र निपटाया जाए।


रिटायर जस्टिस को भेजने का सुझाव


सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील कॉलिन गोंसाल्विस ने सुझाव दिया कि हिंसाग्रस्त इलाकों में रिटायर जस्टिस पटनायक को भेजा जा सकता है। इस पर चीफ जस्टिस एसए बोवड़े ने कहा कि हम राजनीतिक नेताओं के बारे में बात कर रहे हैं।


कोर्ट बोला- हम राजनीतिक नेता चाहते हैं


चीफ जस्टिस एसए बोवड़े ने कहा कि हम ऐसे राजनीतिक नेता चाहते हैं, जो उन लोगों से बात कर सकें जिन्हें विरोधी माना जाता है। इस पर गोंसाल्विस ने कहा कि हिंसा पीड़ित राजनीतिक नेता के बारे में कैसे सुझाव दे सकते हैं। इस पर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि सरकार यह पहले से ही कर रही है।


नेताओं का नाम देने का निर्देश


चीफ जस्टिस एसए बोवड़े ने कहा कि हम मध्यस्थता का आदेश नहीं दे रहे हैं। हम देखना चाहते हैं कि क्या शांति संभव है। क्या पुलिस शांति ला सकती है? सरकार दि हाई कोर्ट को बताएं कि क्या आपके पास ऐसे नेताओं के नाम हैं जो बातचीत में मदद कर सकते हैं। हाई कोर्ट इन विवादों के शांतिपूर्ण समाधान की संभावना पर गौर कर सकता है।


वियना से यात्रा करके लौटा वायरस संक्रमित

नई दिल्ली।  दिल्ली में एक व्यक्ति कोरोना वायरस के संक्रमण से ग्रस्त पाया गया है। यह व्यक्ति हाल ही में वियना की यात्रा करके भारत लौटा था। भारत लौटने के बाद अब तक यह व्यक्ति 88 अन्य व्यक्तियों के संपर्क में आ चुका है। दिल्ली सरकार के मुताबिक इस व्यक्ति के संपर्क में आए सभी व्यक्तियों की मेडिकल जांच की जा रही है। हालांकि अभी तक इस व्यक्ति के अलावा किसी अन्य व्यक्ति में कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं पाया गया है।


वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यहां मीडिया से कहा, “कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने एक राज्यस्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया है। इस टास्क फोर्स की अध्यक्षता मैं कर रहा हूं।” मुख्यमंत्री के अलावा इस टास्क फोर्स ने तीनों नगर निगमों, एनडीएमसी, दिल्ली पुलिस और दिल्ली सरकार के विभिन्न विभागों को शामिल किया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को इस टास्क फोर्स की पहली बैठक की।


केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली के तीनों नगर निगम और एनडीएमसी के अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में स्थित होटलों में जाकर कोरोनावायरस के संक्रमण की जांच कर रहे हैं। इन होटलों में ऐसे लोगों से संपर्क किया जा रहा है, जो हाल ही में उन देशों से लौटे हैं, जहां कोरोनावायरस फैल चुका है। विदेशों से आए और दिल्ली के होटलों में ठहरे इन सभी लोगों की स्क्रीनिंग व जांच करवाई जा रही है।”


मुख्यमंत्री ने कहा, “कोरोना वायरस की जांच के लिए दिल्ली में फिलहाल दो लैब बनाई गई है। इनमें से एक एम्स और दूसरी एनसीडीसी में स्थित है। दोनों लैब में प्रतिदिन 250-250 नमूनों की जांच की जा सकती है।” मुख्यमंत्री ने कहा, “फिलहाल के लिए एम्स और एनसीडीसी की प्रयोगशालाएं पर्याप्त हैं। बावजूद इसके लेडी हार्डिग में भी बुधवार शाम से एक और प्रयोगशाला काम करना शुरू कर देगी। इसके अलावा आवश्यकता पड़ने पर लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में भी कोरोनावायरस के नमूनों की जांच के लिए एक और प्रयोगशाला शुरू की जा सकती है।”


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया, “अब एयरपोर्ट पर आने वाले प्रत्येक यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग शुरू कर दी गई है।” गौरतलब है कि इससे पहले केवल चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, थाईलैंड, सिंगापुर आदि देशों से आ रहे यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही थी। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली एयरपोर्ट पर 1,16,579 यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई है।” मुख्यमंत्री के मुताबिक, 5,769 लोगों को संदेह के आधार पर कोरोना वायरस की जांच की गई थी। यह सभी दिल्ली के निवासी वे लोग हैं जो उन देशों की यात्रा करके भारत लौटे हैं, जहां कोरोनावायरस का खतरा ज्यादा है।


मुख्यमंत्री ने कहा, “भारत लौटने पर हुई जांच में इनमें से कोई भी कोरोनावायरस से ग्रसित नहीं पाया गया। लेकिन जैसा कि हम जानते हैं कई बार कोरोनावायरस 14 दिन के बाद सक्रिय होता है, ऐसे में इन सभी यात्रियों में से 4,445 व्यक्तियों की पुन: जांच जांच की गई। इनमें भी कोई भी व्यक्ति कोरोनावायरस से ग्रसित नहीं है। वहीं 1,324 व्यक्ति ऐसे हैं जिनसे फिलहाल संपर्क नहीं हो सका है।” अब दिल्ली सरकार इन सभी 1,324 व्यक्तियों से संपर्क करके उनकी पुन: जांच का प्रयास करेगी।


दो प्रेमिकाओं से विवाह की अनूठा वाक्या

प्रयागराज में युवक की दो प्रेमिकाओं से एक साथ विवाह की अनूठा वाक्या


प्रयागराज। एक अनोखी शादी का मामला प्रयागराज में सामने आया है। जिसमें एक युवक ने अपनी दो प्रेमिका के साथ मंदिर में शादी की है। शादी के दौरान मौजूद लोगों ने वीडियो भी बनाकर सोशल साइट्स पर वायरल किया है जो खूब वायरल भी हो रहा है।


बताया जा रहा है कि शादी से पूर्व युवक की प्रेमिका ने धमकाया था कि अगर उसने शादी नहीं की थी वह जहर खाकर जान दे देगी। पूरा मामला कर्नलगंज थाने के ढरहरिया इलाके का है जहां पुलिस ने कुछ दिन पहले ही युवक को उसकी प्रेमिका को थप्पड़ मारने के आरोप में गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि युवक अपने इलाके की एक लड़की से प्रेम करता था। कई साल से उसकी कहानी चल रही थी 4 दिन पहले उसकी पहली प्रेमिका ने उसे दूसरे के साथ देख लिया तो हंगामा करने लगी। मामला इतना बढ़ा की पूर्व प्रेमिका को थप्पड़ जड़ दिया इस पर उसने पुलिस से शिकायत की, पुलिस ने मारपीट के आरोप में गिरफ्तार कर शांति भंग में चालान कर दिया। जमानत पर रिहा होने के बाद उसने सोमवार की देर शाम नई प्रेमिका से शादी करने की बात की तो पूर्व प्रेमिका भी वहां पहुंच गई। जिससे वहां हंगामा मच गया। इसके बाद घऱ के पास ही एक मंदिर में सबके सामने युवक ने अपनी दोंनो प्रेमिका के साथ शादी क़ी औऱ मंगलसूत्र भी पहनाया।
जिसके बाद दोंनो कों वह अपने साथ घर ले जाने की बात जरूर कह कर निकला। लेकिन बताया जा रहा है क़ी युवक को उसके घर वालों ने उसे घर में जगह नहीं दी। जिससे युवक कहीं और चला गया जिसके बाद से शादी का वीडियो सोशल साइट पर वायरल है और आसपास में इस अनोखी शादी चर्चा का विषय बनी हुई है।    


बृजेश केसरवानी


आंधी-तूफान से क्षेत्र में पेड़ धराशायी

रायपुर। बदलते मौसम के साथ ही तेज अंधड़ के बीच बारिश होने के कारण कुछ ही मिनटों के आंधी तूफान से उरला क्षेत्र के गया नगर में दर्जनभर पेड़ धराशायी हो गए। पेड़ गिरने से तार टूट गए और कुछ इलाकों में अंधेरा छा गया। अकस्मात हुई बारिश किसानों की बची-खुची फसल को भी नुकसान पहुंचाया है। बीती शाम मौसम में अचानक बदलाव आने से तेज हवा के साथ ही बारिश भी होने लगी। दुर्ग-भिलाई सहित जिले के कुछ इलाकों में भी बारिश होने की जानकारी मिली है। कुछ मिनटों की आंधी से गया नगर-उरला वार्ड में दर्जनभर पेड़ धराशयी हो गए। गया नगर मुक्तिधाम में सागोन सहित आधा दर्जन पेड़ बिजली के तार पर गिर गए। इस कारण गया नगर सहित आसपास के क्षेत्रों में अंधेरा छा गया। इसके अलावा शहर के कुछ और इलाकों में भी बिजली बंद रही। गयानगर-इंदिरानगर बघेरा मुख्य मार्ग के बीचों बीच पेड़ गिर गया था।


सीएजी की टीम को 101 के बड़े अंतर से हराया

नई दिल्ली। चोट से वापसी करने वाले भारतीय हरफनमौला हार्दिक पंड्या की 39 गेंदों में 105 रनों की आतिशी पारी के बाद पांच विकेट भी चटकाए। पंड्या के इस शानदार प्रदर्शन से रिलायंस वन ने डीवाई पाटिल टी20 कप में मंगलवार को नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) की टीम को 101 रनों के बड़े अंतर से हराया।


पिछले सप्ताह इस टूर्नामेंट से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी करने वाले पंड्या ने ग्रुप सी के इस मैच में 10 छक्के और आठ चौके लगाए, जिससे उनकी टीम ने पांच विकेट पर 252 रन बनाने के बाद सीएजी की पारी को 151 रनों पर समेट दिया। पंड्या ने गेंद से भी कमाल दिखाते हुए पांच विकेट चटकाए। इस मैच को देखने के लिए चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद भी स्टेडियम में मौजूद थे।


पंड्या को पांच महीने पहले कमर में चोट लगी थी, जिसके बाद लंदन में उनकी सर्जरी हुई थी। यह 26 वर्षीय खिलाड़ी टूर्नामेंट से पहले बेंगलुरू की राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में रिहैबिलिटेशन से गुजर रहा था।


आतिशी पारी के बाद पंड्या ने ऐसा कहा-
इस पारी के बाद हार्दिक ने कहा कि वह जिस तरह से वापसी कर रहे हैं उससे काफी खुश हैं। डीवाई पाटिल स्पोर्ट्स एकेडमी के फेसबुक पेज पर हार्दिक ने कहा, ‘यह मेरे जैसे खिलाड़ियों के लिए शानदार मंच है।


मैं छह महीनों से बाहर हूं। लंबे समय बाद यह मैं दूसरा मैच खेल रहा था। मेरे लिए यह शानदार मंच है। जहां मैं देख सकता हूं कि मैं और मेरा शरीर इस समय कैसी स्थिति में है। जिस तरह से चीजें हो रही हैं मैं उससे खुश हूं।’


पंड्या ने पोस्ट की बढ़े हुए वजन की तस्वीर-
दक्षिण अफ्रीका सीरीज में वापसी की कोशिश में लगे भारत के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पंड्या ने मंगलवार को एक फोटो साझा की है, जिसमें उन्होंने अपने पिछले तीन महीनों में बढ़े वजन का हवाला दिया है। पंड्या ने इंस्टाग्राम पर लिखा, “68 किलो से 75 किलो तक, तीन महीनों में। बिना रूके प्रयास, कोई शॉर्टकट नहीं।


सदन नेता के घर घुसे बदमाश, ले गए फाइल

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस के सदन नेता अधीर रंजन चौधरी के दिल्ली में हुमायूँ रोड स्थित घर में आज शाम साढ़े 5 बजे बदमाशों की भीड़ घुस गई। उनके स्टाफ को मारा, उनके कागजात फाड़े और कई फाइलें साथ ले गए।इस हमले में घर पर मौजूद स्टॉफ को भी चोट आई है। स्टॉफ का आरोप है कि हमलावर घर में घुस आए और तोड़फोड़ करने लगे। जब उन्होंने इसका विरोध किया तो हमलावरों ने उनकी पिटाई कर दी।
अब तक मिली जानकारी के अनुसार हमले के समय उनकी बेटी घर पर थी। सेंट्रल दिल्ली में संसद सत्र के दौरान इस तरह का हमला पुलिस की बडी असफलता है। जानकारी मिली है कि अधीर रंजन द्वारा संसद में दिल्ली दंगों का मामला उठाने से बदमाश खफा थे। यह बेहद भयावह हालात है। लोकतंत्र के भारतीय अतीत में दिल्ली में किसी सांसद के घर पर इस तरह हमला पहली बार हुआ है। सरकार परस्त टीवी मीडिया ने इस खबर को ही गायब कर दिया।


भाईचारा और अमन चैन की मांगी गई दुआ

मंसूर अली पार्क मे एक बार फिर से पेश की गई सदभाव की मिसाल धरनारत महिलाओं के साथ साधू सन्तो ने बाबा की मज़ार पर की चादर पोशी हिन्दू मुस्लिम सदभाव मंच के तत्वाधान में कीडगंज स्थित दादा मियाँ के आसताने पर हाज़री लगा कर देश मे सदभाव भाईचारा और अमन चैन की मांगी गई दूआ।


मंसूर अली पार्क में ५३ वें दिन भी धरना जारी रहा महिलाएँ काले क़ानून के खिलाफ मुखर हो कर इन्क़ेलाबी नारे लगा कर लोगों में जोश भरती रहीं। सीएए एनपीआर और एनआरसी  से आज़ादी देश में अमन चैन और सदभाव के लिए दादा मियाँ के ३७३ वें उर्स के मौक़े पर धरनारत महिलाओं के साथ हिन्दू मुस्लिम सदभाव मंच ने मखमल की चादर को बड़ी संख्या में उपस्थित लोगों की मौजूदगी में गुलपोशी और अक़ीदत का इज़हार करते हुए कीडगंज स्थित दादा मियाँ की मज़ार पर जा कर चढ़ाया और अमन और आपसी सदभाव की दूआ व प्रार्थना की।चादर पोशी जुलूस की शक्ल में मंच के अध्यक्ष इरशाद उल्ला,संतोशानन्द महाराज,आचार्य भार्गव,उपाध्याय जी,लाल बाबा,परवेज़ पाशा,शोएब अन्सारी,मो०शहाब,अकिलुर्रहमान,सै०मो०अस्करी,अतिकुर्रहमान,अफसर महमूद,इफ्तेखार अहमद मंदर आदि की ज़ेरे सरपरसती में मंसूर पार्क से रवाना किया गया।धरने की अगुवाई करने वाली सायरा अहमद,निशू,अब्दुल्ला तेहामी,ज़ीशान रहमानी,फराज़ उसमानी आदि ने चादर पर पुष्प चढ़ा कर सरकार की सदबुद्धग,देश में सदभाव,काले क़ानून से मुल्क ए हिन्द को आज़ादी की दूआ मांगी।चादर को बड़े एहतेराम के साथ दादा मियाँ की मज़ार चढ़ा गया। 


रिपोर्ट- बृजेश केसरवानी


भाईचारे के लिए विभिन्न इलाकों में बैठक

होली को भाईचारा क़ायम करने को विभिन्न इलाक़ो में सपा ने की बैठक


प्रयागराज। समाजवादीपार्टी ने होली के त्यौहार को आपसी सौहार्द एवं भाई चारे के साथ मनाने की अपील की है l सपा नेताओं ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में, विभिन्न समुदाय के संभ्रांत नागरिकों के साथ बैठकें कर होली पर आपसी सौहार्द को बनाए रखने एवं किसी तरह की अफवाहों से बचने के लिए अपील की है l सपा के निवर्त मान महानगर अध्यक्ष सैयद इफ्तिखार हुसैन ने कहा है कि होली का त्योहार हमे आपसी भाईचारा एवं सौहार्द का संदेश देता है l देश के वर्तमान हालात को देखते हुए हम समाजवादियों का दायित्व है कि आगामी पर्वों पर शांति व्यवस्था के साथ आपसी भाईचारा कायम करें l
सपा के जिला प्रवक्ता नेता दान बहादुर सिंह मधुर ने रंगों के इस त्योहार पर केमिकल से बचने और प्राकृतिक रंगों के साथ होली मनाने की अपील की है l सैयद मो. अस्करी ने प्रशासन से होली के त्योहार पर समुचित पेयजल एवं चौबीस घंटे विद्युत आपूर्ति की मांग की है l
सपा नेताओं ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जगह जगह बैठकें कर लोंगो को सद्भाव का संदेश दिया है l
इस दौरान सर्व श्री सैयद इफ्तिखार हुसैन, दानबहादुर सिंह मधुर, मो. अस्करी, संतलाल वर्मा, दिनेश यादव, आर. एन. यादव, राकेश यादव एडवोकेट, रतन सिंह, अब्बास नकवी, किताब अली, बच्चा पासी, औन जैदी, मो जैद, बंटी सिंह, रवींद्र यादव, युवराज सिंह, अखिलेश पाण्डेय, जय सिंह यादव, आदि मौजूद रहे।


रिपोर्ट- बृजेश केशवानी


भाभी, भाभी की मां को उतारा मौत के घाट

आगरा। रिश्‍तों के कत्‍ल की वारदात एक बार फिर सामने आई है। मंगलवार को अपनी मां के साथ ससुराल गई विवाहिता की रात के किसी पहर में उसी के देवर ने हत्‍या कर दी। साथ में विवाहिता की मां को भी मौत के घाट उतार दिया। हत्‍या के बाद देवर घर से भागा नहीं बल्कि घर में ही छुपकर बैठा रहा। सूचना मिलते ही जब मौके पर पुलिस पहुंची तो घर की छानबीन के दौरान देवर हत्‍थे चढ़ गया। पुलिस के सामने उसने जुर्म भी कबूल लिया।


मामले के अनुसार कन्नौज के छिबरामऊ निवासी अंजू पुत्री रामकिशोर का विवाह डेढ़ साल पहले मैनपुरी के थाना बिछवा के गांव हैमपुरा निवासी सैनिक विपिन कुमार के साथ हुआ था। विवाह के बाद पति.पत्नी के बीच विवाद हो होने लगा। ससुरालियों ने अंजू को घर से निकाल दिया। पति विपिन अपनी तैनाती पर चला गया। वह लगातार ससुरालियों से समझौता करने का प्रयास कर रही थी। एक सप्ताह पहले वह अपनी मां के साथ ससुराल पहुंची तो ससुरालियों ने उसे घर में नहीं घुसने दिया। विवाद की सूचना पर पुलिस पहुंच गई। अंजू को थाने ले आई। पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता कराया लेकिन अंजू भय के कारण अकेले ससुराल जाने के लिए तैयार नहीं थी। उसने पुलिसकर्मियों से साथ चलने का आग्रह किया था। लेकिन पुलिसकर्मी साथ नहीं गए तो वह थाने पर जमी रही। मंगलवार को थाना पुलिस उसे उसकी मां के साथ ससुराल छोड़ने के लिए गई थी। रात में अंजू अपनी मां सुखदेवी के साथ घर में सो रही थी तभी देवर कुलदीप ने चाकू से हमला कर दोनों की हत्या कर दी। हत्‍या के बाद कुलदीप घर में ही रहा। सूचना पर पहुंची पुलिस ने उसे हिरासत में लिया। पकड़े गए कुलदीप ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। उसने बताया कि आए दिन के हंगामे से परेशान होकर उसने अंजू और उसकी मां की हत्या की है। इस घटना में पुलिस की लापरवाही भी सामने आई है। पुलिस अधीक्षक अजय कुमार और अपर परीक्षक ओमप्रकाश सिंह मौके पर पहुंच गए हैं। सूचना पर मृतका के मायके वाले भी आ गए हैं। उन्होंने जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग शुरू कर दी है।


बाड़े में गिरा युवक, बाघिन ने बनाया निवाला

रांची। राजधानी रांची के ओरमांझी में स्थित बिरसा जैविक उद्यान में एक बड़ा हादसा हुआ है। जहां बाघिन के बाड़े में एक युवक गिर गया। बाघिन ने युवक को अपना निवाला बना लिया। इस घटना के बाद चिड़ियांघर में अफरा-तफरी मच गई।


घटना की जानकारी मिलने के बाद चिड़ियांघर के अधिकारी, कर्मचारी और वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे. फिलहाल चिड़ियांघर को सील कर दिया गया है। सभी सैलानियों को जैविक उद्यान से बाहर निकाल दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार युवक पहले एक पेड़ पर चढ़ गया और फिर बाघिन के बाड़े में छलांग लगा दी। जिसके बाद उसने बाघिन को नमस्‍ते करने की कोशिश की। जिसके बाद बाघिन ने उसपर हमला कर दिया। जिससे मौके पर ही युवक की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार युवक ने जिस तरह से हरकत की, उससे उनकी मा‍नसिक स्‍थति सामान्‍य नहीं लग रही थी। मगर इस संबंध में कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं। वहीं घटना के संबंध में उद्यान के कोई भी अधिकारी कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।


दिल्ली हिंसा में 49 की मौत, सैकड़ों लापता

परवेज़ आंसारी, सुनीता


नई दिल्ली। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 49 लोगों की जानें जा चुकी हैं। सैकड़ों लापता हैं। आशंका है कि मौतों की संख्या का आंकड़ा अभी और बढ़ेगा। हालांकि, अब हालात सामान्य हैं, लेकिन दिलों में दशहत इस कदर है कि लोग इस उलझन में हैं कि वे अपने घरों के बुझे चिरागों का मातम मनाएं या अपनी सुरक्षा करें। इसी पर ‘नवोदय टाइम्स’ संवाददाता ने अब तक मारे गए करीब 20 लोगों के परिजनों से बात की और ये समझा कि कैसे वे मौत का शिकार हो गए और क्या हुआ था उनके साथ जिसके चलते उनके घरों के चिराग बुझ गए। उनकी हम आपबीती बता रहे हैं आपको…


चाय पीने निकला तो कभी नहीं लौटा मेहताब
शाम 4 बजे मेहताब अक्सर चाय की जिद करता था, दुकान नीचे ही थी, इसलिए उसे कहा गया कि घर में दूध नहीं है, जिस पर मेहताब ने कहा कि वह दूध लेकर आता है, मां अकबरी ने उसे रोकने के लिए नीचे उतरी, लेकिन तब तक वह अपनी गली से बाहर जा चुका था। इसी बीच ब्रजपुरी की गली न. 3 का गेट सुलेमान ने बंद कर दिया, क्योंकि अचानक एक पेट्रोल बम आकर गली में गिरा। मां और बहन सलमा गली का गेट खोलने को पहुंची, लेकिन तब तक उपद्रवी मेहताब को अपनी तरफ खींच चुके थे। उसे सरेआम पीटा जाने लगा और फिर वह भीड़ में गायब हो गया। सुलेमान ने मां और उसकी बहन को गेट से खींच लिया और अपने घर ले गए। सुलेमान ने बताया हमारे साथ कुछ लोगों ने एकजुट होकर उसे बचाने के लिए गेट खोलने की कोशिश की, लेकिन उपद्रवियों की संख्याओं को देख वे डर गए, क्योंकि वे लोग पत्थर के साथ पेट्रोल बम फेंक रहे थे, हाथों में तलवारें थीं। मेहताब का शव उन्हें जली हालत में 29 फरवरी को जीटीबी अस्पताल में मिला। सुलेमान के मुताबिक उसे सीआरपीएफ ने अस्पताल में भर्ती कराया था। 2 मार्च को उसे दफन किया गया है।


जिंदा जल गई अकबरी अम्मा… 
गामड़ी गांव में ङ्क्षहसा का तांडव तेज हो चुका था, यहां पर अधिकांश घरों में उपद्रवियों ने आग लगा दी थी और सामानों को लूट रहे थे। अकबरी अपने परिवार के साथ घर में ही थीं, चूंकि वे परिवार में सबसे बड़ी थीं, इसलिए दोनों बेटों और बहुओं समेत बच्चों को उन्होंने घर की छत पर भेज दिया। उपद्रवी उनके घर में सिलेंडर बलास्ट कर चुके थे और पेट्रोल बब भी फेंक रहे थे। अकबरी के घर में मजदूर भी काम कर रहे थे, उनसे सिर्फ ये कहा, मैं तो जी ली, अब तुम सब परिवार और अपने को बचाओ। इसी बीच आग ने उन्हें अपने आगोश में ले लिया और वे उसी घर में जिंदा जल गईं। परिजनों ने पड़ोसियों की मदद से अपनी जान बचाई। मेरठ जिले से आने वाली अकबरी के पति की मौत करीब 40 साल पहले हो गई थी। उन्होंने मजदूरी करके अपने सात बच्चों को पाला था।


दंगा देखने निकले राहुल को लगी सीने में गोली…
भजनपुरा में 25 फरवरी को हालात खराब हो चुके थे, राहुल अपने घर में खाना खा रहे थे जब उन्होंने बाहर गोली चलने और पथराव की आवाजें सुनी। वो उस मंजर को देखने के लिए बाहर निकले ही थे तभी उनके सीने पर दो गोलियां लगीं और वे गश खाकर गिर पड़े। परिजनों ने उन्हें अंदर खींचा और एबूलेंस को फोन किया, जब एबूलेंस नहीं आई तो बाइक पर उन्हें असप्ताल ले गए, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। राहुल सिविल सॢवस की तैयारी कर रहा था।


डीसीपी के बने ढाल..15 महिलाओं को बचाया
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक हेड कांस्टेबल रतन लाल दूसरे व्यक्ति थे, जो दंगों की भेट चढ़ चुके थे। उनके सिर पर तीन पत्थर और शरीर में एक गोली लगी थी। बाबरपुर-मौजपुर चौक पर जिस समय दंगे की शुरुआत हुई, उस दौरान डीसीपी अमित कुमार समेत करीब 30 पुलिसकर्मी दोनों तरफ से घिर चुके थे। डीसीपी के सिर पर भी एक पत्थर लग चुका था और तीन पुलिसकर्मी सड़क पर गिर चुके थे, इसी बीच हेड कांस्टेबल रतन लाल ने अपने शरीर को आगे करते हुए डीसीपी को भीड़ के बीच से निकाला और कार की तरफ ढकेला। इसके बाद वे फिर उसी भीड़ में घुस गए और महिलाओं को निकालने लगे, लेकिन उपद्रवियों ने पकड़ लिया और उन पर पथराव कर दिया, वे लहूलुहान हो गए। बाद में उन्हें एक गोली लगी और उनकी मौत हो गई।


योगी ने 160 को पार्षद नियुक्त किया

कमलेश कुमार चौधरी


लखनऊ । उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने 16 नगर निगमों में 160 व्यक्तियों को पार्षद के रूप में नामित किया है। ये पार्षद नगर निगम चुनाव के करीब सवा दो साल बाद नामित किए गए हैं। ऐसे में इन्हें अधिकतम पौने तीन साल का ही कार्यकाल मिलेगा। नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों में पार्षदों का मनोनयन जल्द किया जाएगा। शाहजहांपुर नगर निगम में फिलहाल तकनीकी कारणों से पार्षद नामित नहीं किए गए हैं।


उत्तर प्रदेश सरकार नगर निगमों में 10, नगर पालिका परिषद में पांच और नगर पंचायतों में तीन पार्षद नामित कर सकती है। उत्तर प्रदेश नगर निगम अधिनियम में दी गई व्यवस्था के आधार पर राज्य सरकार जब चाहे नामित पार्षदों का कार्यकाल खत्म कर सकती है। नगर विकास विभाग ने मंगलवार को गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद, सहारनपुर, अलीगढ़, मथुरा, फीरोजाबाद, बरेली, आगरा, कानपुर नगर, झांसी, लखनऊ, अयोध्या, वाराणसी, प्रयागराज और गोरखपुर में पार्षद नामित किए हैं। नामित पार्षदों को मेयर एक कार्यक्रम आयोजित कर शपथ दिलाएंगे। यूपी के नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन ने बताया कि इन पार्षदों के नामित होने से नगर निगमों का प्रजातांत्रिक स्वरूप अपेक्षाकृत और अधिक मजबूत होगा। उन्होंने बताया कि जल्द ही नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों में भी सदस्य नामित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि लखनऊ नगर निगम में अनुराग मिश्रा ‘अन्नू’, पद्मिनी चैधरी, कैलाश गुप्ता, राकेश मिश्रा, संतोष तेवतिया, शिव कुमार यादव, सुभाष शुक्ला, सर्वजीत सिंह, केके जायसवाल तथा प्रियंक आर्य को पार्षद के रूप में नामित किया गया है।


दर्जनों संगठनो का एक दिवसीय धरना

अम्बेडकरनगर। बुनकर क्रांति मोर्चा के बैनर पर लगभग एक दर्जन संगठनों ने बुधवार को टाण्डा में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर 17 सूत्रीय ज्ञापन उप जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को भेजा।


बहुजन क्रान्ती मोर्चा के तहसील संयोजक श्याम नारायण राजभर के नेतृत्व में लगभग एक दर्जन संगठनों के पदाधिकारियों ने बुधवार को टाण्डा कोतवाली के सामने धरना प्रदर्शन कर एनआरसी, सीएए व एनपीआर का खुल कर विरोध किया। घंटों चले धरना प्रदर्शन के उपरांत राष्ट्रपति को सम्बोधित 17 सूत्रीय ज्ञापन उप जिलाधिकारी के माध्यम से भेजा। ज्ञापन में मुख्य रूप से एनपीआर सीएए, एनआरसी व ईवीएम के खिलाफ विरोध दर्ज कराया गया है हालांकि डीएनए आधारित एनआरसी के समर्थन में बात लिखी गई है। 17 सूत्रीय ज्ञापन में ओबीसी की जाति आधारित गिनती ना करने, पदौन्नति में आरक्षण समाप्त करने के खिलाफ, सरकारी कम्पनियों के निजी कारण करने के खिलाफ, आदिवासियों को हिन्दू बनाने के षड्यंत्र का आरोप लगाया गया है। एक दिवसीय धृणाप्रदर्शन में मुख्य रूप से बहुजन मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष लालजी गौतम, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के तहसील प्रभारी गुलशन कुमार, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मॉर्कगा के जिला प्रभारी गुरु प्रसाद वर्मा, राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा जिला प्रभारी जावेद अहमद सिद्दीकी, भारतीय युवा मोर्चा के तहसील प्रभारी राकेश प्रसाद, पंचशील चैरिटेबल ट्रस्ट के संस्थापक अजय नारायण बौद्ध, भारतीय बेरोजगार मोर्चा के तहसील प्रभारी अविनाश यादव, राष्ट्रीय मूल निवासी संघ के तहसील अध्यक्ष रामराज, भारत मुक्ति मोर्चा के जिलाउपाध्यक्ष अवधेश प्रजापति आदि शामिल रहे।


नक्सलियों ने गुप्त सैनिक की हत्या की

सुकमा। जिले के तोंगपाल इलाके में नक्सलियों ने एक गोपनीय सैनिक की हत्या कर दी है। बताया जा रहा है मृतक मेला घूमने गया था, वहीं से ही नक्सलियों ने उसका मौका देखकर उसकी हत्या कर दी। फिलहाल मामले में पुलिस कार्रवाई कर रही है। घटना की पुष्टि एसपी शलभ सिन्हा ने की है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार गुप्त सैनिक जैमर गांव निवासी मुचाकी हिड़मा पालेम में आयोजित मेला देखने गया था। इस बात की जानकारी नक्सलियों को पहले ही थी। यहां ताक में बैठे नक्सलियों ने मौके का फायदा उठा कर उसकी हत्या कर दी। बताया गया कि मुचाकी हिड़मा आत्मसमर्पण के बाद पुलिस के गुप्त सैनिक के रूप में काम कर रहा था, यही बात नक्सलियों को नागवार गुजरी और मुचाकी हिड़मा की हत्या कर दी।


पति-पत्नी के शव से फैली सनसनी

नई दिल्ली। दक्षिणी दिल्ली के कोटला मुबारकपुर इलाके में पति-पत्नी के शव लटके मिलने से सनसनी फैल गई। परिवार वालों के विरोध के बावजूद 5 महीने पहले ही दोनों ने प्रेम विवाह किया था। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। हालांकि, पुलिस जांच आत्महत्या के ही दष्टिकोण से कर रही है। दक्षिणी जिलांतर्गत कोटला मुबारकपुर थाने में तैनात एक इंस्पेक्टर ने मीडिया से घटना की पुष्टि की है। इंस्पेक्टर के मुताबिक, “मरने वालों का नाम तेपेंद्र उर्फ बंटी (20) और बिसना (19) है। दोनों नेपाल के मूल निवासी थे। कोटला मुबारकपुर में दोनों किराये के मकान में रह रहे थे। दंपति पांच महीने पहले ही दिल्ली आये थे।”
पुलिस के अनुसार, “तेपेंद्र मकान मालिक के दफ्तर में ही साफ-सफाई का काम करते थे। जबकि पत्नी बिसना घरों में काम करके पेट पाल रही थी। घटना के बाद से अभी तक पुलिस का परिजनों से संपर्क नहीं हो पाया है। हालांकि पता चला है कि, बंटी का भाई और मामा करोल बाग में ही रहते हैं।”


हादसे की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को सील करके सफदरजंग अस्पताल की मोच्यरी में रखवा दिया है। मामले की जांच पुलिस के साथ साथ एसडीएम डिफेंस कालोनी के हवाले की गयी ही। क्योंकि दोनो की शादी को अभी 5 महीने ही हुए थे। घटना मंगलवार सुबह के वक्त की है। जानकारी के मुताबिक मंगलवार को सुबह रोजाना की तरह बंटी पहली मंजिल पर रहने वाले मकान मालिक से उनके दफ्तर की चाबी लेने गया था। उसने ग्राउंड फ्लोर पर मौजूद ऑफिस खोला। उसके बाद वो चाबी लेकर अपने कमरे पर चला गया।


करीब 10 बजे के आसपास मकान मालिक को आफिस बंद मिला। तब उन्होंने एक अन्य कर्मचारी को तीसरी मंजिल पर रह रहे बंटी को बुलाने के लिए भेजा। कर्मचारी को कमरे में बंटी का शव लटका मिला। जबकि पत्नी बिसना कमरे पर नहीं थी। बिसना मौके पर पहुंची तो वो बेहद घबरा गई।


पुलिस के मुताबिक, मौका पाकर पति की मौत से बेहाल बिसना ने भी फांसी लगा ली। जिससे उसकी भी मौत हो गई। अभी तक इन मौतों की वजह नहीं पता चल सकी है।


15 वर्षीय नाबालिग से 30 बार दुष्कर्म

रांची। झारखंड के खूंटी जिले में 15 वर्षीय एक नाबालिग लड़की के साथ तीस बार से अधिक सामूहिक दुष्कर्म की घटना के मामले में अब सभी आरोपियों की गिरफ्तारी और कठोर कार्रवाई की आस लोगों में जगी है। इस मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने खूंटी जिला प्रशासन को पीड़िता का काउंसलिंग कराने के निर्देश दिए हैं।


पीड़िता का आरोप है कि 10-12 लड़कों ने तीन महीने में 25-30 बार दुष्कर्म किया है। 24 फरवरी को जिला विधिक सेवा प्राधिकार की पारा लीगल वलेंटियर खुशबू खातून ने पीड़िता को चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के सामने पेश किया, जिसके बाद यह मामला प्रकाश में आया।


खूंटी के चाइल्ड वेलफेयर कमिटी (सीडबल्यूसी) दिए बयान के मुताबिक, घटना की तारीख उसे याद नहीं है। पीड़िता जब खूंटी बाजार गई थी, तभी बगडू के रहने वाले बजरंग नाम के लड़के से बातचीत हुई और फिर दोनों में दोस्ती हो गई। उसके साथ उसका मित्र सूरज भी था। बातचीत के बाद दोनों उसे बाइक पर बिठाकर सिंबुकेल गांव लेकर गए और दोनों ने हड़िया (एक प्रकार का नशीला पेय पदार्थ) पी और उसका मोबाइल ले लिया। बाद में उसे बाजार लाकर छोड़ दिया।


आरोप है कि जब भी पीड़िता बजरंग को फोनकर अपना मोबाइल वापस मांगती, तो वह उसे बुलाकर किसी सुनसान जगह पर ले जाता और दुष्कर्म करता। हर बार उसके साथ कई और लड़के रहते थे। विरोध करने पर वे जान से मारने की धमकी देते थे। यह सिलसिला तीन महीने तक चलता रहा।


खशबू की मदद से पीड़िता को आश्रय गृह ‘सहयोग विलेज’ में रखा गया है। इधर, इस मामले के प्रकाश में आने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सोमवार को ट्वीट कर पारा लीगल वलेंटियर खुशबू को धन्यवाद देते हुए लिखा, “इस बेटी की मदद करने के लिए धन्यवाद खुशबू जी। उपायुक्त, खूंटी उचित कार्रवाई कर बिटिया को मेडिकल, काउंसलिंग तथा न्यायिक मदद पहुंचवाकर सूचित करें। खूंटी पुलिस कठोर कार्रवाई के लिए बचे हुए आरोपियों की शीघ्र धरपकड़ कर सूचित करें।”


इधर, खूंटी जिला प्रशासन ने मुख्यमंत्री के ट्वीट के जवाब में ट्वीट कर लिखा, “मेडिकल और कउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश के द्वारा भी इस केस को ‘स्पीडी ट्रायल’ के अंतर्गत सुना जाएगा। साथ ही साथ, ‘विक्टिम कंपनसेशन’ के तहत लाभ पहुंचाने की भी कार्यवाही शुरू कर दी गई है।”


इस बीच, खूंटी के पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर ने बताया कि एक मार्च को छह आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली गई है तथा अन्य को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी चल रही है। उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि एक से दो दिन में वह भी गिरफ्तार कर लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पीड़िता की चिकित्सकीय जांच कराया गया है। खूंटी सीडबल्यूसी के सदस्य बैजनाथ कुमार ने बताया कि पीड़िता आगे पढ़ने की इच्छा जताई है। इसे जल्द ही स्कूल में दाखिला करवाया जाएगा और पूरी व्यवस्था कराई जाएगी।


उल्लेखनीय है कि इन दिनों सोरेन ने ट्विटर को शासन करने का साधन बना दिया है। 29 दिसंबर को मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद से उन्होंने अधिकारियों को सतर्क रखते हुए शासन से संबंधित कई ट्वीट किए हैं। लोग अब मुख्यमंत्री के ट्विटर हैंडल नियमित रूप से शिकायतों को आगे बढ़ाने के लिए टैग कर रहे हैं। इसकी चर्चा भी खूब हो रही है।


पर्यावरण की शुद्धि से मिलता है पुण्य

यज्ञ स्थल की परिक्रमा से पर्यावरण की शुद्धि के साथ  मिलता है पुण्य लाभ- परमानंद दास


हटवा अब्बासपुर में कई दिनों से हो रहा है लक्ष्मी नारायण यज्ञ


कौशांबी। हटवा अब्बासपुर कटरी स्थित भैरव बाबा स्थल पर हो रहे लक्ष्मी नारायण महायज्ञ में प्रवचन करते हुए श्री श्री 108 श्री महंत परमानंद दास जी महाराज ने कहा कि यज्ञ से जहां पर्यावरण और समाज में शुद्धि आती है वहीं यज्ञ स्थल के परिक्रमा से पुण्य लाभ मिलता है। 28 फरवरी से शुरू हुए इस महायज्ञ में आसपास के दर्जनों गांव से हजारों दर्शनार्थी भक्तों का जमावड़ा प्रतिदिन होता है।


भैरव बाबा के पुण्य स्थल में 28 फरवरी से लक्ष्मी नारायण यज्ञ चल रहा है जहां मंगलवार को शिव पार्वती विवाह की कथा सुनाई गई इस मौके पर बोलते हुए कथावाचक महंत जी ने बताया कि सती ने अपने पति को प्राप्त करने के लिए भारी तप किया। तप की महत्ता के चलते भगवान शिव को भी उन्हें अपनी अर्धांगिनी के रूप में स्वीकार करना पड़ा इससे यह साबित होता है कि भक्ति की शक्ति के आगे भगवान भी झुकता है। इस मौके पर जजमान के रूप में शिक्षाविद् श्यामसुंदर द्विवेदी अपने परिवार के साथ यज्ञ की पूजा करा रहे हैं। कटरी रायपुर के बीच मे स्थापित बहुत पुराने भैरव बाबा के स्थान में 
रानीपुर, हटवा अब्बासपुर, भरतपुर, भवनसूरी
 कटरी, डेढ़ावल, रायपुर,  सहित दर्जनों गांव से सैकड़ों लोग कथा सुनने के लिए पूजा यज्ञ स्थल पर पहुंच रहे हैं। यज्ञ के आयोजन में क्षेत्र के। 
उमेश पांडे, कौशलेश द्विवेदी, सोनू शुक्ला, अनमोल सिंह, धारा सिंह श्रवण कुमार त्रिपाठी,  राम मगन मिश्रा सहित सैकड़ों ग्रामीण यज्ञ स्थल पर पूजा आहुति के लिए मौजूद रहे।


 ज़ैगम अब्बास


काड़े से बढ़ाएं रोग अवरोधक शक्ति

कोरोना वायरस अब भारत मे भी दस्तक दिया। सावधानी जरूर बरते


गिलोय, तुलसी, काली मिर्च वाली काढ़ा कम से कम सुबह-शाम पीना प्रारम्भ कर दें, ताकि शरीर का प्रतिरोधक क्षमता ठीक रहें।।


1- मांसाहारी भोजन से बचे।।
2 - भीड़ -भाड़ जगहों पर जाने से बचे।।
3 - मास्क का प्रयोग करें।।
4 - बार-बार साबुन से हाथ धोएं।।
5 - सेनेटाइजर का प्रयोग करें ।।
6 - जुखाम,खाँसी या तेज बुखार वाले  से कम से कम 2 से 3 मीटर की दूरी बरते तथा मास्क का प्रयोग करें एवं शीघ्र डॉक्टर से परामर्श लेने का सलाह दें।।
7- जुखाम, खाँसी, या तेज बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।।
8 - गिलोय, तुलसी, काली मिर्च वाली काढ़ा कम से कम सुबह-शाम पीना प्रारम्भ कर दें, ताकि शरीर का प्रतिरोधक क्षमता ठीक रहें।।
9 - प्रत्येक दिन साबुन से अच्छे तरीका से स्नान करें तथा साफ कपड़ा पहने तथा घर के सभी सदस्यों को ऐसा करने के लिय परामर्श दें तथा कराएं।।
10 - मोबाइल हर जगह न रखें, सिंगल हैंडेड प्रयोग अनिवार्य है।।
11 - संभव हो तो घर मे लग रहे पोछा के पानी मे 2 प्रतिशत IPA डाल कर पोछा लगाएं।।
12 - बिना हाथ धोय, हाथ यानी उंगली को मुह के अंदर न डालें।।
13 - प्लास्टिक सतह पर इस वायरस की लाइफ 7 से 8 दिन होती है, हो सके तो प्लास्टिक हटाने लायक हो तो घरों से हटा दें।
14 - बाहर के कोई भी पके सामग्री को खाने से बचे।।
15 - साग, सब्जी को सही ढंग से धोने के बाद ही प्रयोग करें।।
16 -  जैसे-जैसे तापमान बढ़ेगा, यह वायरस असुरक्षित होता जाएगा, 35 डिग्री सेंटीग्रेट के ऊपर इसकी serviving दर काफी तेजी से गिरता  जाता है।।


यह सिर्फ सावधानियां है, जिससे बचा जा सकता है, उपरोक्त लक्षण मिलने पर शीघ्र शिक्षित डॉक्टर से संपर्क करें। लापरवाही बिल्कुन न करें।।


उपरोक्क्त कुछ महत्वपूर्ण अंश मेदांता अस्पताल के चेयरमैन डॉ०नरेश त्रेहान के साक्षात्कार से प्राप्त किया तथा कुछ अनुभव का अंश साझा किया।


यशोदा हॉस्पिटल में निशुल्क स्क्रीनिंग कैंप

7 मार्च को यशोदा अस्पताल नेहरू नगर गाजियाबाद में लगेगा निशुल्क बेरिएट्रिक सर्जरी स्क्रीनिंग कैम्प 
-पैथोलॉजी व रेडियोलॉजी जांच पर मरीजों की मिलेगी छूट अविनाश श्रीवास्तव
गाजियाबाद। महानगर के नेहरुमार्ग स्थित यशोदा सुपर स्पेशिलि टी हॉस्पिटल में 7 मार्च को मोटापे से छुटकारा दिलाने के लिए एक स्क्रीनिंग कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। कैम्प में सुप्रसिद्ध सर्जन डॉ आशीष गौतम मोटापे से ग्रसित लोगों को परामर्श देंगे। कैम्प के विषय में डॉ आशीष गौतम ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में हाई ब्लड प्रेशर, शुगर, हाइपरटेंशन व ह्रदय रोगों का मुख्य कारण मोटापा है और मनुष्य में बढ़ते मोटापे की वजह असंतुलित खानपान व बिगड़ी हुई जीवन शैली है। इसके साथ ही डॉ आशीष कहते हैं कि अधिक मोटापे के साथ जीना मतलब खुद को खतरे में डालना है। मोटापे से निजात पाने के लिए वेटलेस बेरिएट्रिक सर्जरी एक कारगर उपाय है। इस सर्जरी के बाद डाइबिटीज व उच्च रक्तचाप जैसे रोगों पर नियंत्रण पाया जा सकता है। अत्याधुनिक दूरबीन की तकनीक से की जाने वाली यह सर्जरी के बेहतर परिणाम भी सामने आ चुके हैं। यशोदा अस्पताल में आगामी 7 मार्च  को लगने वाले कैम्प में पैथोलॉजी व रेडियोलॉजी की जांच पर मरीजों को 30 प्रतिशत की छूट भी दी जाएगी। 



नोट-: इलाज़ के इच्छुक व्यक्ति अग्रिम पंजीकरण व अन्य जानकारी के लिए सम्पर्क करें--
0120-4182000, Ext- 246
09205209254


चार अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरफ्तार

प्रयागराज अंतरराज्यीय वाहन चोरों का शंकरगढ़ पुलिस ने किया भंडाफोड़
चार पहिया वाहन सहित चार लोगों को किया गिरफ्तार


शंकरगढ़(प्रयागराज)। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज के निर्देशन में जनपद में अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत व पुलिस अधीक्षक जमुनापार व क्षेत्राधिकारी बारा के कुशल नेतृत्व में आज नए थानाध्यक्ष शंकरगढ़ वेद प्रकाश पांडे  को मुखबिर द्वारा सूचना मिली की कुछ व्यक्ति नारीबारी क्षेत्र में हैं और प्रतीत हो रहा है कि यह लोग वाहन चोर हैं जिस की बातों को सच मानते हुए थानाध्यक्ष शंकरगढ़ अपने हमराहियो के साथ बताए हुए उक्त स्थान पर पहुंचे तो कुछ लोग संदिग्ध अवस्था में खड़े हुए थे। पुलिस ने उक्त स्थान की घेराबंदी कर उक्त व्यक्तियों को धरपकड़ की वह कड़ाई से पूछताछ करने पर अपना नाम रमेश चंद्र दुबे पुत्र स्वर्गीय राम मणि दुबे निवासी खजूरी थाना कोराव, राहुल कुमार पुत्र जगदीश बिन्द निवासी छनौरा थाना दुर्गागंज जनपद भदोही ,भानू प्रकाश बिन्द पुत्र स्वर्गीय बिंदेश्वरी प्रसाद निवासी अर्जुन पुर थाना उपरोक्त व शिवकुमार उर्फ लकी पुत्र शिव नरेश धोबी निवासी वार्ड नंबर 7मोटियान टोला थाना शंकरगढ़ ने अपना नाम बताया। जिसकी निशानदेही पर चार बोलेरो चार पहिया वाहन, वह एक मोबाइल उन्नीस सौ रुपए बरामद किया गया कड़ाई से पूछताछ करने पर अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि इनका चार पहिया वाहन चोरों का एक सक्रिय गैंग है ।जो आसपास के जिलों से वाहन चोरी कर उनका नंबर प्लेट बदलकर सस्ते दामों में बेच देते हैं तथा जो अच्छे वाहन हैं ।उनको स्वयं इस्तेमाल करते हैं गैंग का सरगना चंद्र प्रकाश उर्फ सीपी बिंद निवासी अर्जुनपुर थाना दुर्गागंज जनपद भदोही है ।जोअभी भी पुलिस के पकड़ से बाहर है। बात करने पर थाना अध्यक्ष शंकरगढ़ वेद प्रकाश पांडे ने बताया कि ये एक शातिर अपराधी हैं जिसमें रमेश चंद दुबे के विरुद्ध जिला प्रयागराज सहित मिर्जापुर में लगभग एक दर्जन अभियोग पंजीकृत है ।वह शिवकुमार उर्फ लक्की के विरुद्ध मानिकपुर सहित शंकरगढ़ थाने में लगभग आधा दर्जन मामला पंजीकृत है।वा राहुल कुमार के विरुद्ध भी दो मामले पंजीकृत हैं। फिलहाल आज शंकरगढ़ पुलिस ने अंतरराज्यीय चार पहिया वाहन चोरों का भंडा फोड़ा है। यह काबिले तारीफ है गिरफ्तारी टीम में वेद प्रकाश पांडे थानाध्यक्ष शंकरगढ़, नारीबारी चौकी इंचार्ज जगनारायण, उपनिरीक्षक उमाशंकर, हेड कांस्टेबल धर्मवीर सिंह, विश्वनाथ तिवारी, आलोक जीत सिंह, अतुल सिंह, आशीष मिश्रा, निशा पटेल, आदी पुलिस कर्मी  मौजूद रहे।
बृजेश केसरवानी जिला संवाददाता


भाजपा के सीएए विरोधी दो नेता निलंबित

महाराष्ट्र : भाजपा ने सीएए का विरोध करने वाले दो नेता निलंबित किए।



मुंबई। महाराष्ट्र भाजपा ने नए नागरिकता कानून (सीएए) का विरोध करने वाले अपने दो नेताओं को निलंबित कर दिया है। पार्टी प्रवक्ता केशव उपाध्याय ने बुधवार को अपने एक ट्वीट के जरिये यह जानकारी दी। उन्होंने इन नेताओं के निलंबन पत्र भी साझा किए हैं। इनके मुताबिक परभनी जिले में स्थित सेलू नगर परिषद के चेयरपर्सन विनोद बरोड़े और पालम नगर परिषद के उपप्रमुख बालासाहेब रोकड़े को भाजपा से निलंबित कर दिया गया है।
निलंबन के इन पत्रों पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के दस्तखत हैं. इसमें कहा गया है कि दोनों पार्टी नेताओं ने संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ मतदान करके अनुशासनहीनता का परिचय दिया है। हालांकि वे कितने समय तक निलंबित रहेंगे, इसका कोई जिक्र नहीं है।


सीएए का देशव्यापी विरोध हो रहा है। इस कानून के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आने वाले गैरमुस्लिमों को आसानी से भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है। विपक्ष का कहना है कि यह संविधान की आत्मा पर हमला है। बीते दिसंबर में इस मुद्दे को लेकर असम और उत्तर प्रदेश में व्यापक हिंसा हुई जिसमें 20 से ज्यादा लोग मारे गए. बीते हफ्ते ही इसे लेकर दिल्ली में भी दंगे भड़क उठे जिनमें 45 लोगों की मौत हो गई। उधर, सरकार ने साफ कर दिया है कि वह इस कानून से कदम पीछे नहीं खींचेगी।


रिपोर्ट त्रिलोकी नाथ


यूपी पुलिस का सराहनीय काम

प्रदीप कुमार तिवारी


उन्नाव। पुलिस की अक्सर अमानवीय व्यवहार तथा अन्य तमाम प्रकार के आरोप लगाया जाता है लेकिन पुलिस ने अपनी जान की न परवाह करते हुए एक बडा़ ही सराहनीय कार्य किया। अजगैन थाना क्षेत्र ग्राम मैता अजगैन थाने मे तैनात निरीक्षक अभिमन्यु मल आरक्षी दिनेश कटियार आरक्षी प्रदीप वर्मा व आरक्षी देवेंद्र कुमार मौजूद थे। एक सूचना मीली कि एक कुएं में 6 वर्षीय बच्चा अंश पुत्र हरिश्चंद्र गिर गया है एवं डूब रहा है। पुलिस बल द्वारा तुरंत गाड़ी से रस्सा निकालकर कुए में रस्सी के सहारे एक व्यक्ति को उतारा गया एवं बच्चे को सकुशल जीवित दशा में बाहर निकालकर अस्पताल भेजा गया । जहां से उपचार के बाद स्वस्थ होने के उपरांत बच्चा अपने परिजनों के साथ घर भेज दिया गया ।मौके पर मौजूद ग्रामवासियों एवं क्षेत्रीय जनता द्वारा पुलिस के इस कार्य तथा बडी सूझबूझ भरे एवं सफल बचाव कार्य की भूरि भूरि प्रशंसा की गई।


दिल्ली हिंसा में बच्चे और पत्नी लापता

दिल्ली हिंसा:लापता बच्चे और पत्नी की तलाश, सीवर के पास जिंदगी गुजारने को मजबूर मोइनुद्दीन…


रवि चौहान


नई दिल्ली। दिल्ली में भड़की हिंसा के बाद कई लोग बेघर हो गए। कईयों की दुकानों, गाड़ियों, घरों में आग लगा दी गई। कई लोगों बेघर हो गए। कई के परिवार उन से अलग हो गए। इस हिंसा ने लोगों से उनके अपने छीन लिए। ऐसा ही कुछ न्यू मुस्तफाबाद इलाके के रिक्शा चालक मोइनुद्दीन के साथ भी हुआ। अपनी पत्नी और चार बच्चों की तलाश में मोइनुद्दीन सड़क किनारे बैठ हर आने-जाने वाले से उनके बारे में पूछता है। इलाके में भड़की हिंसा में दंगाइयों ने उसके घर और रिक्शा को आग लगा दी।


इस हिंसा में उनकी पत्नी और चार बच्चे लापता हो गए। घर को आग के हवाले कर दिया गया। जिस रिक्शे की मदद से वो अपना पेट पालता था उसे भी दंगाईयों ने आग में झोंक दिया।


डबडबाई आंखों से रास्ते से गुजरने वाले लोगों की ओर निहारता मोइनुद्दीन इस आस से गली की ओर देखता है कि शायद उसका परिवार लौट आए। मोइनुद्दीन ने कहा कि वो वो अपनी कहानी पुलिस को भी बता चुका है, लेकिन किसी ने मदद नहीं की। हर कोई बस कहता है कि स्थिति सामान्य होने के बाद वो देखेंगे कि क्या किया जा सकता है। उसने कहा कि जिस दिन इलाके में हिंसा भड़की थी उसी दिन में घर में 2,000 रुपए का राशन लाया था, अब सब कुछ खत्म हो गया। आज खाने तक के लिए मोहताज है। घर से बेघर सड़क किनारे रात गुजारने को मजबूर मोइनुद्दीन कहता है कि उसे उम्मीद है कि उसे उसका परिवार मिल जाएगा। वहीं उसकी मदद के लिए आगे आए एक दुकानदार ने कहा कि वो 2013 से उसे जानते हैं और उसकी मदद करेंगे। वो उसकी दुकान के बाहर सोता है। हम उसकी देखभाल करेंगे। आपको बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हिंसा में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।वहीं जिनके घर और दुकाने जाल दी गई उसे 5 लाख रुपए देने का वादा किया है।


दो डीएम पर सीएम योगी हुए नाराज

दो घण्टे चली सीएम योगी की वीडियो कांफ्रेंसिंग


कानपुर और बिजनौर के जिलाधिकारी पर हुए नाराज 


लखनऊ। कोरोना के लेकर यूपी के डीएम और स्वास्थ विभाग के अधिकारियों को सतर्कता बरतने व अलर्ट रहने का दिया आदेश। 2 घंटे की वीसी में मेरठ में स्वाइन फ्लू की सीएमओ की रिपोर्ट पर सख्त हुए सीएम सभी जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षकों को जिलों में कानून व्यवस्था को ठीक करने का दिया निर्देश। होली में कोई बवाल हुआ तो जिले के एसपी-डीएम होंगे जिम्मेदार, प्रधानी के चुनाव से पहले होली में विशेष सतर्कता बरतने के दिये निर्देश। सभी एडीजी जोन-आईजी रेंज को जिलों में कैम्प करके स्थानीय विवाद में लिखित में बवाल न करने के लिए किया जाए पांबन्द। प्रधान के चुनाव से पहले दुश्मनी को लेकर अक्सर होती हैं घटनाएं इसलिए प्रधान के कैंडिडेट पर रखा जाए नज़र..।


बाल विकास घोटाले की कार्रवाई अधूरी

लखनऊ। बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग में जितने घोटाले हुए। उतनी जांच समितियों का हुआ गठन पर  एक भी जांच न तो पूरी हुई और न ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई। मसलन बाबुओं के प्रमोशन, पदोन्नति में अनियमितता, फर्जी लेटर पैड पर कर्मचारियों के तबादले और गुणवत्ता की जांच के बिना ही पोषाहार आपूर्ति जैसे  घोटाले और नियमो की हुई अनदेखी। सभी मामलों में जांच समिति तो गठित हुई, पर एक भी मामले की जांच पूरी नहीं हो पाई है। कई मामले शासन स्तर पर तो कई मामले निदेशालय स्तर पर दबे पड़े हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय के निर्देश पर  जांच कमेटी हुई थी गठित ।


वायरसः सामूहिक कार्यक्रमों से बचें

नई दिल्ली। दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस की दहशत के बाद धीरे-धीरे अब यह भारत में भी पैर पसारता जा रहा है। कोरोना की दहशत के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसको लेकर संदेश जारी किया। उन्होंने कहा कि वो इस साल किसी भी होली मिलन समारोह में शामिल नहीं होंगे।


प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को कहा कि दुनिया भर में विशेषज्ञों की सलाह है कि नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए सामूहिक कार्यक्रमों को कम करना चाहिए। इसलिए इस वर्ष मैंने किसी होली मिलन कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेने का निर्णय किया है। मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 नोवेल कोरोनावायरस से निपटने की तैयारी का जायजा लिया था। प्रधानमंत्री ने कहा था कि कोविड-19 नोवेल कोरोनावायरस के मद्देनजर तैयारी की गहन समीक्षा की। भारत आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग से लेकर तुरंत चिकित्सा प्रदान करने तक की समस्त गतिविधियों के लिए विभिन्न मंत्रालय मिलकर काम कर रहे हैं और घबराने की कोई जरूरत नहीं है।


दोषियों की याचिका पर सुनवाई से इनकार

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले में चारों दोषियों की मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य जांच कराने के लिए एनएचआरसी को निर्देश देने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया है। मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति सी. हरि शंकर की पीठ ने कहा कि याचिका सुनवाई योग्य नहीं है।


क्योंकि इसे सबसे पहले राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के समक्ष पेश किया जाना चाहिए। दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को एक दोषी की दया याचिका का निस्तारण लंबित होने की वजह से दोषियों की फांसी पर अगले आदेश तक रोक लगा दी थी। मामले में सभी दोषियों को एक साथ मंगलवार को फांसी दी जानी थी। इससे पहले सोमवार को चारों दोषियों की फांसी पर पटियाला हाउस कोर्ट ने अगले आदेश तक के लिए रोक लगा दी थी। पुराने डेथ वारंट के अनुसार सभी दोषियों को तीन मार्च।


क्रिप्टो करेंसी,बिटकॉइन से प्रतिबंध हटा

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को क्रिप्टोकरेंसी और बिटक्वाइन को पर लगे सभी प्रतिबंध हटा लिए हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने बैंकिंग लेनदेन में क्रिप्टोकरेंसी पर पूरी तरह रोक लगाने वाले भारतीय रिजर्व बैंक के सर्कुलर को निरस्त कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब सभी बैंक बिटक्वाइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी की लेन-देन शुरू कर सकते हैं।


न्यायमूर्ति रोहिंटन नरीमन की अध्यक्षता वाली पीठ ने यह निर्णय दिया और इसमें जस्टिस अनिरुद्ध बोस और वी रामसुब्रमण्यन भी शामिल थे। अब देश के सभी बैंक क्रिप्टोकरेंसी की लेन-देन शुरू कर सकते हैं।
बता दें कि आरबीआई ने साल 2018 में एक सर्कुलर जारी कर क्रिप्टोकरेंसी कारोबार को बैन दिया था। सुनवाई के दौरान आईएएमएआई ने कहा था कि केंद्रीय बैंक के इस कदम से क्रिप्टोकरेंसी में होने वाली वैध कारोबारी गतिविधियों पर प्रभावी रूप से पाबंदी लग गई है, जिसके जवाब में आरबीआई ने कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया गया। आरबीआई ने कहा कि उसने क्रिप्टोकरेंसी के माध्यम से मनी लाउंड्रिंग और टेरर फंडिंग के खतरे के मद्देनजर यह कदम उठाया है।


वायरस संक्रमित 18 मामले आए सामने

नई दिल्ली। चीन में पहले से हाहाकार मचा रहे कोरोना वायरस ने अब दूसरे देशों में पैठ बनानी शुरू कर दी है। कोरोना भारत समेत दुनिया के 70 देशों में फैल चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने बुधवार को कोरोना वायरस को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि देश में अब तक कुल 28 मामले सामने आ चुके हैं। इसमें से तीन मरीज ठीक हुए हैं।


डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कोरोना वायरस के लक्षणों के लिए जांच की जाएगी। इसे लेकर हमने पहले ही 15 लैब बनाए थे। अब 19 और लैब बना दिए गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा हमने दिल्ली में सभी अस्पतालों से अच्छी गुणवत्ता वाले आइसोलेशन वार्ड विकसित करने का अनुरोध किया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इटली से भारत घूमने आए एक ग्रुप के 16 लोग कोरोना से पीड़ित पाए गए हैं। इनके संपर्क में आने के कारण इनके साथ चल रहा एक भारतीय चालक भी कोरोना से पीड़ित हो गया है। इसके अलावा दिल्ली में एक शख्स, एक व्यक्ति हैदराबाद में और आगरा के 6 लोग कोरोना से पीड़ित हैं। दिल्ली वाले शख्स के संपर्क में आने से ही आगरा के उसके रिश्तेदार कोरोना से पीड़ित हुए हैं। उन्होंने बताया कि केरल के 3 मरीज पहले ही ठीक होकर घर जा चुके हैं।


कक्षा 8 तक के बच्चों की 2 माह छुट्टी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का कहर दुनिया के 70 देशों समेत भारत में भी अपना पांव पसार रहा है। अब तक कोरोनावायरस से 3,161 लोगों की मौत हो चुकी है। सोमवार को दिल्ली, तेलंगाना और जयपुर में इस वायरस से संक्रमित तीन नए मरीजों की पुष्टि के बाद मंगलवार को आगरा में कोरोना से संक्रमित एक ही परिवार के छह लोगों में लक्षण मिलने से हड़कंप मच गया है।


इसी बीच कोरोना के खौफ के चलते निर्वासित तिब्बत सरकार की ओर से संचालित तिब्बती चिल्ड्रन विलेज्स (टीसीवी) ने अपने देश भर में संचालित सभी स्कूलों में 8वीं कक्षा तक के बच्चों को दो माह की छुट्टी कर दी है। सर्दियों की दो माह की छुट्टियों के बाद मंगलवार को टीसीवी के स्कूल खुलने थे। निर्वासित तिब्बत सरकार के कल्याण अधिकारी कुंगा सेरिंग ने बताया कि इन छुट्टियों में बच्चे तिब्बत, भूटान, थाइलैंड समेत कई देशों में चले जाते हैं ऐसे में एहतियात के तौर पर उक्त निर्णय लिया गया है। हिमाचल में टीसीवी के पांच स्कूल हैं। चार कांगड़ा जिले और एक मंडी के चौंतड़ा में है।


तीन माह तक 12 ने किया गैंगरेप

नई दिल्ली। दोस्ती के नाम पर घिनौने दरिंदगी का मामला सामने आया है। पूरा मामला झारखंड के खूंटी जिले का है। यहां 15 वर्षीय एक नाबालिग लड़की के साथ तीस बार से अधिक सामूहिक दुष्कर्म की वारदात सामने आई है। मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने सभी आरोपियों की गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक पीड़िता खूंटी बाजार गई थी, तभी बगडू के रहने वाले बजरंग नाम के लड़के से बातचीत हुई और फिर दोनों में दोस्ती हो गई। उसके साथ उसका मित्र सूरज भी था।


बातचीत के बाद दोनों उसे बाइक पर बिठाकर सिंबुकेल गांव लेकर गए और दोनों ने हड़िया (एक प्रकार का नशीला पेय पदार्थ) पी और उसका मोबाइल ले लिया। बाद में उसे बाजार लाकर छोड़ दिया। आरोप है कि जब भी पीड़िता बजरंग को फोन कर अपना मोबाइल वापस मांगती, तो वह उसे बुलाकर किसी सुनसान जगह पर ले जाता और दुष्कर्म करता। हर बार उसके साथ कई और लड़के रहते थे। विरोध करने पर वे जान से मारने की धमकी देते थे। यह सिलसिला तीन महीने तक चलता रहा।


भाजपा पार्टी पर लगाया खतरनाक आरोप

भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बार फिर से सियासी बवाल शुरू हो गया है। आधी रात को कांग्रेस पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर 8 विधायकों को गुरुग्राम के एक लग्जरी होटल में बंधक बनाने का आरोप लगाया और कमलनाथ सरकार पर संकट मंडराने लगा। कांग्रेस ने बीजेपी पर कमलनाथ सरकार को गिराने की कोशिश करने और विधायकों की खरीद-फरोख्त करने का भी आरोप जड़ा। इसके बाद कांग्रेस हरकत में आई और आधी रात को विधायकों को गुरुग्राम के होटल से निकालकर राहत की सांस ली।


इससे पहले आजतक से बातचीत में मध्य प्रदेश के वित्तमंत्री तरुण भनोट ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने मध्य प्रदेश के 8 विधायकों को गुरुग्राम के आईटीसी ग्रैंड भारत होटल में बंधक बना रखा है। इनमें से 4 विधायक कांग्रेस पार्टी, 2 विधायक बहुजन समाज पार्टी और एक विधायक समाजवादी पार्टी से हैं, जबकि एक विधायक निर्दलीय है।


मध्य प्रदेश के वित्तमंत्री तरुण भनोट ने यह भी आरोप लगाया कि कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी और मंत्री जयवर्धन सिंह होटल पहुंच चुके हैं, लेकिन उनको विधायकों से मिलने नहीं दिया जा रहा है। होटल में रखे गए विधायकों की निगरानी के लिए हरियाणा पुलिस को लगाया गया है। इस घटना के बाद मध्य प्रदेश के वित्तमंत्री तरुण भनोट भी इन आठों विधायकों से मिलने के लिए गुरुग्राम के आईटीसी होटल के लिए निकल पड़े।


कमलनाथ के मंत्री बोले- बड़ी मुश्किल से विधायकों को होटल से निकाला


इसके बाद आधी रात को ही कांग्रेस पार्टी अलर्ट हो गई और विधायकों से संपर्क किया जाने लगा। कुछ देर बाद मध्य प्रदेश के मंत्री जयवर्धन सिंह और जीतू पटवारी बहुजन समाज पार्टी की निलंबित विधायक रमाबाई के साथ गुरुग्राम के आईटीसी ग्रैंड भारत होटल से बाहर निकले। इसके बाद जयवर्धन सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने हमारे विधायकों को बड़ी रकम का ऑफर देकर खरीद रही थी। हालांकि हमने अपने विधायकों को होटल से बाहर निकाल लिया है। अब मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर कोई खतरा नहीं है।


सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

होली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मार्च05, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-207 (साल-01)
2. बुधवार , मार्च 05, 2020
3. शक-1941,फाल्गुन - शुक्ल पक्ष, तिथि- एकादशी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:41,सूर्यास्त 06:15
5. न्‍यूनतम तापमान 16+ डी.सै.,अधिकतम-27+ डी.सै., आसमान साफ रहेगा।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


महिलाओं को भी मंदिर में पुजारी नियुक्त, ऐलान किया

चेन्नई। तमिलनाडु हिंदू धर्म व धर्माथ मंत्री पी के शेखर बाबू ने ऐलान किया है कि जरूरी प्रशिक्षण के बाद महिलाओं को भी मंदिर में पुजारी नियुक्त...