गुरुवार, 2 जून 2022

फिल्म 'सम्राट पृथ्वीराज' को टैक्स फ्री करने की घोषणा

फिल्म 'सम्राट पृथ्वीराज' को टैक्स फ्री करने की घोषणा

हरिओम उपाध्याय/पंकज कपूर

लखनऊ/देहरादून। हिंदी फिल्म सम्राट पृथ्वीराज 3 जून को सिनेमा घरों में रिलीज होने जा रही है। बृहस्पतिवार को लखनऊ में फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग की गई। जहां यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ सहित कई बीजेपी नेताओं ने फिल्म देखा। इस दौरान सीएम योगी ने फिल्म की जमकर तारीफ और यूपी में मूवी को टैक्स फ्री करने की घोषणा की। वहीं, अब उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी भी सम्राट पृथ्वीराज को टैक्स फिल्म करने का ऐलान किया है। सीएम धामी ने कहा कि “सम्राट पृथ्वीराज सिंह चौहान पर बनी फिल्म सभी लोगों को देखनी चाहिए।

आने वाली पीढ़ियों को भी उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए, इसलिए हमने निर्णय लिया है कि उत्तराखंड में ये फिल्म टैक्स फ्री रहेगी। बता दें कि अभिनेता अक्षय कुमार, संजय दत्त और सोनू सूद स्टारर फिल्म सम्राट पृथ्वीराज चौहान को यूपी सरकार ने टैक्स फ्री कर दिया है। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन में सम्राट पृथ्वीराज देखी।

घोटाला: सीबीआई को जांच सौंप सकती हैं, सरकार

घोटाला: सीबीआई को जांच सौंप सकती हैं, सरकार 

अश्वनी उपाध्याय/हरिओम उपाध्याय 
गाजियाबाद/लखनऊ। योगी सरकार बहुचर्चित 400 करोड़ के बैंक लोन घोटाले को लेकर सीबीआई को जांच सौंप सकती है। इसको लेकर शासन ने गाजियाबाद जिला प्रशासन से रिपोर्ट तलब की है। ज्ञात हो कि गाजियाबाद में 400 करोड़ रुपए से अधिक के बैंक घोटाले का मामला साल 2020 में सामने आया था। बीते दिनों से यह मामला फिर चर्चाओं में है। गाजियाबाद पुलिस की ओर से मामले में लक्ष्य तंवर को मुख्य आरोपी बनाते हुए प्रकरण में जनपद के कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। इस मामले में लक्ष्य तंवर समेत कई लोगों को पुलिस के द्वारा गिरफ्तार भी किया गया है। इन पर धोखाधड़ी और जालसाजी के लगभग 39 मामले दर्ज हैं।

2020 में सामने आया था घोटाला...

यह घोटाला अगस्त 2020 में सामने आया था। उस समय शिवम नाम के युवक के द्वारा लक्ष्य उनकी पत्नी प्रियंका तंवर, पीएनबी प्रबंधक कुमार, उप प्रबंधक प्रियदर्शनी व अन्य कर्मचारियों के खिलाफ जीटी रोड कोतवाली थाना क्षेत्र में शिकायत दर्ज करवाई गई थी। इस शिकायत में उन्होंने आरोप लगाया था कि तंवर ने उनके ही नाम पर 1.33 करोड़ की दो संपत्तियां खरीदी और बैंक से 4 करोड़ का कर्ज लिया।
माना जा रहा है कि इस मामले में यूपी सरकार सीबीआई जांच की सिफारिश कर सकती है। गाजियाबाद पुलिस ने मामले की जांच के दौरान पाया था कि शिवम और उसके पिता सुनील कुमार के तंवर से काफी अच्छे संबंध थे। पुलिस ने भी कहा कि शिवम ने खुद को और अपने पिता को बचाने के लिए यह शिकायत दर्ज करवाई थी। इसका कारण था कि लोन राशि की वसूली के लिए उन्हें नोटिस भेजना शुरू कर दिया गया था। पुलिस की तफ्तीश में कई और चीजें सामने आई थी। पता चला था कि 2012 में आरोपी लक्ष्य तंवर ने कई बैंकों के मैनेजर और कर्मचारियों से सांठगांठ कर फर्जी कागजों पर 400 करोड़ रुपए से अधिक का लोन लिया। इश मामले में एक दर्जन से अधिक आरोपी बनाए गए। मामले में करीब एक करोड़ से अधिक की प्रापर्टी जब्त हो चुकी है।

चौधरी को पुनः प्रदेश सचिव की जिम्मेदारी मिलीं

चौधरी को पुनः प्रदेश सचिव की जिम्मेदारी मिलीं 

संदीप मिश्र       
बस्ती। जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश सचिव प्रवीण कुमार चौधरी को नई कार्यकारिणी में पुनः प्रदेश सचिव की जिम्मेदारी मिली है। लखनऊ के दारूलशफा में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। यह जानकारी देते हुये प्रवीण कुमार चौधरी ने बताया कि नई कार्यकारिणी में अनूप सिंह पटेल को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है जिनके नेतृत्व में पार्टी ने आगामी चुनावों के मद्देनजर तैयारियां शुरू कर दिया है।
नई कार्यकारिणी में 01 अध्यक्ष, 04 उपाध्यक्ष, 01 प्रमुख महासचिव, 11 महासचिव, 02 प्रवक्ता, 01 मीडिया प्रभारी, 01 कोषाध्यक्ष, 17 सचिव, 24 कार्यकारिणी सदस्य, 01 कार्यालय प्रभारी सहित 5 प्रकोष्ठों के अध्यक्ष बनाये गये हैं। नई कार्यकारिणी में जातीय, क्षेत्रीय एवं सामाजिक संतुलन का ध्यान रखा गया है। प्रवीण कुमार चौधरी ने बताया कि आगामी नगर निकाय चुनाव पार्टी पूरे दमखम से लड़ेगी। उन्होने पार्टी के लोगों का आवाह्न किया वे अपने स्तर से जनसंपर्क शुरू कर दें। पार्टी नेतृत्व का निर्देश मिलते ही जमीनी स्तर पर प्रचार प्रसार अभियान तेज किये जायेंगे।

महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर, चर्चा की

महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर, चर्चा की 

दुष्यंत टीकम  
कोरबा। वीरों की भूमि राजस्थान में 482 वर्ष पहले जन्मे वीर योद्धा और पराक्रमी राजा महाराणा प्रताप, उनकी जयंती के अवसर पर कोरबा में याद किया गया। राजपूत क्षत्रिय समाज के द्वारा महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के साथ देश के लिए किए गए कार्यों पर चर्चा की गई। इस अवसर पर यहां काफी संख्या में नागरिकों ने उपस्थिति दर्ज कराई।
अपने अद्भुत शौर्य और पराक्रम से दुश्मनों के दांत खट्टे करने वाले परम प्रतापी महाराणा प्रताप की शौर्य गाथा सैकड़ों वर्षो के बाद भी हर तरफ सुनी जा रही है।
भारत भूमि में हर तरफ उनके रण कौशल की चर्चा जारी है। कोरबा में महाराणा प्रताप के 482 वे जन्मदिवस पर राजपूत क्षत्रिय समाज सहित अन्य वर्ग के लोगों ने अपने सरोकार दिखाएं और उनका जय जयकार किया। बताया गया कि महाराणा प्रताप अपने अपने समय में जो योगदान दिया, वह चिरस्थायी है। महापुरुषों का स्मरण वर्ष के 2 दिन ही करने की परंपरा विभिन्न क्षेत्रों में बनी हुई है। जरूरत इस बात की है कि महापुरुषों के बताए हुए रास्ते पर चलने के साथ उनसे कुछ सीखने का काम भी किया जाए।

वायु गुणवत्ता, मेरठ की स्थिति अत्यधिक खराब मानी गई

वायु गुणवत्ता, मेरठ की स्थिति अत्यधिक खराब मानी गई

सत्येंद्र पंवार
मेरठ। वायु गुणवत्ता के मामलें में एनसीआर क्षेत्र में मेरठ शहर की स्थिति अत्यधिक खराब मानी गई है। वाहनों के प्रदूषण, कचरे के पहाड़ और उड़ती धूल से यहां का वायु गुणवत्ता सूचकांक अक्सर खराब की श्रेणी में रहता है। ठंड के मौसम में तो देश के सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में मेरठ की गणना होती है। इसके बाद भी वायु गुणवत्ता सुधार के लिए दिए जा रहे बजट में मेरठ की उपेक्षा की जा रही है।
कुछ दिन पहले सात महानगरों को जारी हुई पहली किस्त में सबसे कम धनराशि मेरठ को मिली है। 15 वें वित्त आयोग की संस्तुति के अंतर्गत प्रदेश के सात महानगरों को कुल 169.25 करोड़ रुपये प्रथम किस्त के रूप में जारी किए गए हैं। सात महानगरों में लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर, मेरठ, वाराणसी, गाजियाबाद और आगरा शामिल हैं। सबसे अधिक धनराशि 56.25 करोड़ रुपये कानपुर को और सबसे कम धनराशि मेरठ को सिर्फ नौ करोड़ दिए गए हैं। नगर निगम को इस धनराशि से शहर के खुले स्थानों पर ग्रीन बेल्ट विकसित करने, पानी छिड़काव की स्प्रिंकलर मशीन और धूल की सफाई के लिए रोड स्वीपिंग मशीन आदि संसाधन जुटाने हैं।

सोने-चांदी के दाम में तेजी के चलते, रौनक देखी गई

सोने-चांदी के दाम में तेजी के चलते, रौनक देखी गई

अंकुर कुमार 
नई दिल्ली। सोने और चांदी के दाम में बृहस्पतिवार को हल्की तेजी के साथ कारोबार हो रहा है और ग्लोबल बाजारों में डॉलर की तेजी थम रही है। सोने और चांदी के दाम में तेजी के चलते सर्राफा बाजार में रौनक देखी जा रही हैं। सोना और चांदी के दाम तेज होने से रिटेल बाजार में खरीदारी के लिए ज्यादा तेजी नहीं देखी जा रही है।

एमसीएक्स पर सोने के दाम...
एमसीएक्स यानी मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर सोना 104 रुपये या 0.20 फीसदी की मामूली तेजी के बाद 50,892 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा है। सोने का ये भाव जून वायदा के लिए है। बृहस्पतिवार को एमसीएक्स पर चांदी लगभग सपाट ट्रेड दिखा रही है और कल के भाव के मुकाबले केवल 10 रुपये प्रति किलो ज्यादा रेट पर है।
चांदी में 10 रुपये ऊपर 61590 रुपये प्रति किलो के रेट पर कारोबार हो रहा है। चांदी का ये भाव जुलाई वायदा के लिए है।
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज सोने के रिटेल दाम 100 रुपये की तेजी के साथ बने हुए हैं। 22 कैरेट सोने के दाम आज 100 रुपये की मामूली तेजी के साथ 47600 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं।इसके अलावा 24 कैरेट सोने के दाम आज 110 रुपये की तेजी के साथ 51930 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बने हुए है। मुंबई में 22 कैरेट सोने के दाम बृहस्पतिवार को 100 रुपये की मामूली तेजी के साथ 47600 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। इसके अलावा 24 कैरेट सोने के दाम आज 110 रुपये की तेजी के साथ 51930 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बने हुए है।

गैंगस्टर की 50 लाख रुपये की संपत्ति जब्त, एफआईआर

गैंगस्टर की 50 लाख रुपये की संपत्ति जब्त, एफआईआर 

सत्येंद्र पंवार 
मेरठ। मेरठ में वाहन चोरों पर पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। गुरुवार को पुलिस ने गैंगस्टर की 50 लाख रुपये की संपत्ति जब्त कर ली। इस दौरान परिवार ने विरोध भी किया था, लेकिन फोर्स के आगे उनकी एक नहीं चली। इसके पहले पुलिस हाजी गल्‍ला सहित कई अन्‍य की संपत्ति जब्त कर ली थी। इसके लिए मुनादी भी कराई गई थी। एएसपी ब्रह्मपुरी विवेक यादव ने बताया कि लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के सुहेल गार्डन निवासी शान मोहम्मद के खिलाफ परतापुर थाने में गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज है। उसकी संपत्ति की जांच की जा रही थी। सुहेल गार्डन में 50 लाख रुपये के मकान की जानकारी मिली थी। मकान जब्ती करण के बारे में गैंगस्टर के परिवार को पहले ही बता दिया गया था।
गुरुवार को फोर्स के साथ घर पर सील लगा दी गई। इस दौरान मामूली विरोध भी हुआ था। वहीं, गैंगस्टर की पत्नी इमराना की तबीयत खराब हो गई थी। परिवार वालों ने उसे नर्सिंग होम में भर्ती कराया। उनका कहना था कि पुलिस ने गलत कार्रवाई की है। शान मोहम्मद ने मेहनत की कमाई से मकान बनाया है।
जमानत पर छूटे कबाड़ियों की घेराबंदी
मेरठ जमानत पर छूटे कबाड़ियों की पुलिस ने घेराबंदी शुरू कर दी है। इकबाल और उसके बेटों पर गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज करने के बाद अब गल्ला पर नजर है। पुराने मुकदमों की जानकारी जुटाई जा रही है। वहीं, जेल में बंद मन्नू कबाड़ी का बुधवार को पुलिस ने रिमांड बनवाया। वाहनों के अवैध कटान के मामले में बदनाम सोतीगंज अब बीती बात हो चुका है, लेकिन यहां के बड़े कबाड़ियों पर पुलिस का शिकंजा बना हुआ है। कई पर गैंगस्टर की कार्रवाई कर करोड़ों रुपये की संपत्ति जब्त की जा चुकी है।

नया केस दर्ज किया जाएगा...
कई को जेल भेजा जा चुका है। पिछले दिनों इकबाल और सके बेटे जमानत पर छूटे थे तो उनके खिलाफ गैंगस्टर का नया मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। अब पुलिस की नजर बड़े कबाड़ी गल्ला पर है। थाना प्रभारी देव सिंह रावत ने बताया कि गल्ला के पुराने मुकदमों की जानकारी जुटाई जा रही है। इसके बाद गैंगस्टर का नया मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उधर, बुधवार को जेल में बंद मन्नू कबाड़ी की जमानत होनी थी। परवाना भी जेल में पहुंच गया था, लेकिन पुलिस ने उसका रिमांड बनवा लिया। इसके बाद मन्नू की पत्नी एसएसपी प्रभाकर चौधरी से मिली थी। उसका कहना था कि वह तो पति से लगातार गलत काम करने के लिए मना करती थी।

रेलवे फाटक नहीं खोलने पर केबिन मैन को पीटा

रेलवे फाटक नहीं खोलने पर केबिन मैन को पीटा

गोपीचंद
बागपत। बागपत में ट्रेन गुजरने से पहले कस्बा अग्रवाल मंडी टटीरी में रेलवे फाटक नहीं खोलने पर कार सवार दो युवकों ने केबिन मैन को बेरहमी से पीटा। केबिन में रखे सामान को तोड़फोड़ कर क्षतिग्रस्त किया। आरपीएफ ने आरोपित एक युवक को पकड़ा। वहीं इस मामले से अफसरों को भी अवगत करा दिया है।

यह है मामला...
कस्बे में बागपत-मेरठ हाईवे पर रेलवे फाटक है। गुरुवार सुबह करीब नौ बजे बागपत रोड स्टेशन से दो ट्रेनें गुजरने थी, इसलिए फाटक बंद किया गया था। इससे हाईवे पर वाहनों की लंबी कतार लग गई थी। तभी दो युवक अपनी कार में मरीज होना बताते हुए केबिन मैन विकास निवासी ग्राम मीतली पर फाटक खोलने का दबाव बनाने लगे।
केबिन मैन ने जल्द ट्रेन आने का हवाला देते हुए ट्रेन खोलने से इंकार कर दिया था। युवक वहां से चले गए। थोड़ी देर बाद दोबारा वहां पर पहुंचकर केबिन मैन विकास पर फाटक खोलने का दबाव बनाया। इसको लेकर उनके बीच कहासुनी हो गई। दोनों युवकों ने केबिन मैन विकास की लात, घुसों से बेरहमी से पिटाई कर दी। केबिन में रखे मोबाइल व अन्य सामान को तोड़फोड़ कर क्षतिग्रस्त किया। इससे हंगामा हो गया।

अफसरों को अवगत कराया...
कस्बा चौकी पुलिस और आरपीएफ ने मौके पर पहुंचकर जांच की। बाद में आरोपित एक युवक को पकड़कर आरपीएफ अपने साथ ले गई। स्टेशन अधीक्षक सतीश शर्मा का कहना है कि पूरे मामले से अफसरों को अवगत करा दिया गया है। इस मामले में कार्रवाई कराई जाएगी।

पुलिस ने युवती को बरामद किया...
वहीं बड़ौत के बाछौड़ के आरोपित युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर युवती को बरामद कर लिया है। पुलिस ने युवती को जिला न्यायालय में पेश किया, युवती ने न्यायालय में अपने बयान दर्ज कराए। तीन मई को बाछौड़ निवासी युवक युवती को बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया था, जिसके बाद युवती के स्वजन ने युवक प्रिंस के खिलाफ छपरौली थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

मां और बहनों ने निगल लिया था जहर...
24 मई को युवती को बरामद करने गई पुलिस के सामने ही प्रिंस की मां और दो बहनों ने जहर निगल लिया था। 24 मई को युवक की बड़ी बहन, 25 मई की रात छोटी बहन 26 मई की तड़के मां की मौत हो गई थी। लापरवाही के मामले में एसपी ने दबिश देने वाले दारोगा नरेशपाल को निलंबित कर किया था। दारोगा, युवती के दो भाई और तीन अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। केस की विवेचना एसआईटी कर रही है।

संस्था पदाधिकारियों ने नैनीताल डीएम को ज्ञापन दिया

संस्था पदाधिकारियों ने नैनीताल डीएम को ज्ञापन दिया

पंकज कपूर
नैनीताल/हल्द्वानी। एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था अध्यक्ष योगेन्द्र कुमार साहू सदस्य पूजा लटवाल के नेतृत्व में संस्था के माध्यम से हल्द्वानी मुखानी चौराहे से रामनगर को जाने वाले मार्ग पर लगे वृक्षों को संरक्षण देने के लिए संस्था पदाधिकारियों ने नैनीताल डीएम धीराज गर्ब्याल को ज्ञापन दिया।
इस दौरान एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था सचिव नन्दकिशोर आर्या सदस्य पूजा लटवाल ने संयुक्त रूप से कहा कि हल्द्वानी मुखानी चौराहा से रामनगर को जाने वाले मुख्य मार्ग पर कई वर्षों पुराने वृक्ष लगे हुए हैं। जो मार्ग की सुंदरता एवं पर्यावरण को बनाए रखने के लिए लगाए गए थे।
लेकिन, वर्तमान में शहर की बढ़ती आबादी और व्यवसायिक दृष्टि के चलते कुछ लोगों के द्वारा निजी स्वार्थ के लिए मार्ग पर लगे वृक्षों पर प्रचार प्रसार एवं लाइट की सजावट करने के बहाने करंट लगाकर और ठेले व फड़ वालों के द्वारा वृक्षों के नीचे आग लगाकर वृक्षों को सुखाने का प्रयास किया जा रहा है।
जो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण एवं चिंतन करने का विषय है। क्योंकि, स्वस्थ जीवन और पृथ्वी ग्रह पर जीवन के अस्तित्व में पर्यावरण की महत्वपूर्ण भूमिका है और हम सभी का भोजन हवा पानी एवं अन्य जरूरतें पर्यावरण पर ही निर्भर हैं। इसलिए, प्रत्येक व्यक्ति की अपने पर्यावरण को बचाए रखकर उसकी रक्षा नैतिक जिम्मेदारी है। क्योंकि, बिना वृक्षों के हमको शुद्ध वातावरण प्राप्त नहीं हो सकता है।
इस दौरान ज्ञापन देने में संस्था अध्यक्ष योगेन्द्र कुमार साहू, सचिव नन्दकिशोर आर्या, कोषाध्यक्ष बलराम हालदार, पूजा लटवाल, विधिक सलाहकार अधिवक्ता पंकज तिवारी, राजेश साहू, ममता रावत, संदीप यादव, निलेश गुप्ता, पवन शर्मा, अमन कुमार, सूरज मिस्त्री, सुशील राय, मुकेश कुमार आदि लोग उपस्थित रहे।

परेशानी मुक्त सेवाएं प्रदान करने की परिकल्पना

परेशानी मुक्त सेवाएं प्रदान करने की परिकल्पना 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि दिल्ली देश का पहला ऐसा शहर है, जहां ‘फेसलेस सेवाओं’ की शुरुआत की गई है और अब अन्य राज्य भी इससे सीख ले रहे हैं तथा इसी तरह की पहल शुरू कर रहे हैं। दिल्ली के परिवहन विभाग की ‘फेसलेस सेवाओं’ के तहत ऑनलाइन आवेदन करने वाले आवेदकों को संपर्क रहित, कतार रहित और परेशानी मुक्त सेवाएं प्रदान करने की परिकल्पना की गई है और इसके तहत किसी भी कार्यालय में जाए बिना काम हो रहा है।
केजरीवाल ने यहां सराय काले खां में एक ‘ऑटोमेटेड ट्रैक’ का निरीक्षण किया और दिल्ली सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न सुविधाओं के बारे में भी बताया।
केजरीवाल ने कहा, “पिछले साल फरवरी में हमने ‘फेसलेस सेवाओं’ पर एक पायलट परियोजना शुरू की थी। उसके बाद फिर अगस्त में हमने इसे पूरी तरह से लागू किया। कई महीनों के बाद मैं यह देखने आया हूं कि इसको लेकर लोगों की प्रतिक्रिया कैसी है।
उन्होंने कहा कि ‘फेसलेस सेवाओं’ के तहत लोगों को अपने काम से छुट्टी लेकर कार्यालयों में नहीं जाना पड़ता क्योंकि वे अपना काम ऑनलाइन करवा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, “आज मैंने देखा कि यहां लगभग सभी काउंटर खाली हैं। यहां कुछ लोग हैं लेकिन वे ज्यादातर पूछताछ के लिए आए हैं। इससे पहले यहां करीब 1,500-2000 लोग कतार में खड़े होते थे।”
केजरीवाल ने दावा किया कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली शायद इस तरह की सेवाओं को लागू करने वाला देश का पहला शहर है और अब कर्नाटक जैसे अन्य राज्य भी इसका अनुसरण कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार पूरी तरह से ईमानदार है जिसने भ्रष्टाचार को दूर किया है और चीजों को पारदर्शी बनाया है।

भारतीय कानूनों व गाइडलाइन का पालन: टिकटॉक

भारतीय कानूनों व गाइडलाइन का पालन: टिकटॉक

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय
नई दिल्ली/बीजिंग। टिकटॉक को सरकार के भारत में बंद करने के बाद कई क्रिएटर्स काफी प्रभावित हुए थे। भारत सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा खतरों का हवाला देते हुए टिकटॉक पर प्रतिबंध लगा दिया है। हालांकि, अब चीजें बदल सकती हैं। क्योंकि टिकटॉक के मालिक कथित तौर पर भारत में नए साझेदारों की तलाश कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बाइटडांस भारत में वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म को फिर से शुरू करने के लिए हीरानंदानी ग्रुप के साथ बातचीत कर रही है।
हीरानंदानी समूह मुंबई, बैंगलोर और चेन्नई में प्रोजेक्ट्स के साथ भारत में सबसे बड़े रियल एस्टेट डेवलपर्स में से एक है।
ये रियल एस्टेट कंपनी योट्टा के तहत डाटा सेंटर ऑपरेशंस भी चलाती है। इन्होंने हाल ही में एक प्रौद्योगिकी-आधारित कंज्यूमर सर्विस आर्म-टेज प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों कंपनियों के बीच बातचीत अभी शुरूआती चरण में है। हालांकि सरकार से अभी तक कोई औपचारिक बातचीत नहीं हुई है। लेकिन उन्हें प्रोजेक्ट्स की जानकारी दे दी गई है। जब भी वे सरकार के पास मंजूरी के लिए आएंगे, तो सरकार उनके अनुरोध की जांच करेंगी।
हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि भारत सरकार चीन के साथ लंबे समय से चले आ रहे मुद्दों के बाद भारत में एक चीनी-संचालित ऐप को फिर से लॉन्च करने देगी या नहीं। सुरक्षा कारणों से टिकटॉक पर बैन लगा दिया गया है। वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म को भारतीय यूजर्स के व्यक्तिगत डाटा को स्टोर करते हुए पाया गया। भारतीय सुरक्षा विशेषज्ञों द्वारा यह आरोप लगाया गया था कि संग्रहीत डाटा चीन में सरकारी आउटलेट्स के साथ साझा किया जाता है। सरकार इस बार निश्चित है कि अगर टिकटॉक देश में वापस आता है, तो उन्हें भारतीय कानूनों और गाइडलाइन का पालन करना होगा।
बता दें कि भारत में टिकटॉक का बहुत बड़ा यूजर बेस था। यह चीन के बाहर सबसे बड़े बाजारों में से एक था। 2019 में वीडियो प्लेटफॉर्म भारत में एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म पर सबसे ज्यादा डाउनलोड किया जाने वाला ऐप था। इसका उपयोग न केवल मनोरंजन के उद्देश्य से किया जाता था बल्कि अलग क्षेत्रों के लोगों और उनके बैकग्राउंड के परे लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करता था।

केंद्र के प्रयासों को विफल करने का षड्यंत्र: रैना

केंद्र के प्रयासों को विफल करने का षड्यंत्र: रैना 

इकबाल अंसारी    
श्रीनगर। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रविंद्र रैना ने बृहस्पतिवार को कहा कि घाटी में हाल में निशाना साधकर की गई हत्याएं डर का माहौल पैदा करने के लिए पाकिस्तान द्वारा रची गई साजिश है। उन्होंने कहा कि केंद्र शासित क्षेत्र में शांति और सामान्य स्थिति बहाल करने के केंद्र के प्रयासों को विफल करने का षड्यंत्र किया जा रहा है।
रैना ने कहा कि पड़ोसी देश की साजिश को नाकाम कर दिया जाएगा तथा पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियां ऑपरेशन ‘ऑल-आउट’ के तहत पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों का सफाया कर रही हैं। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत सरकार के नेतृत्व में जम्मू कश्मीर में शांति कायम है और प्रगति हो रही है तथा बड़ी परियोजनाएं गति पकड़ रही हैं।
इससे परेशान पाकिस्तान और उसके द्वारा समर्थित आतंकवादियों ने लोगों में डर का माहौल पैदा करने के उद्देश्य से सरकार के प्रयासों को विफल करने के लिए साजिश रची है।” रैना ने दावा किया कि निशाना साधकर की जा रही हत्याएं, पाकिस्तान की आईएसआई, सेना और पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में स्थित आतंकी समूहों द्वारा रची गई साजिश का हिस्सा हैं।
भारतीय जनता पार्टी के नेता ने कहा, “उन्होंने इस षड्यंत्र को ‘ऑपरेशन रेड वेव’ नाम दिया है जैसा कि 1980-1990 के दौरान हमने ‘ऑपरेशन टुपैक’ में देखा था जब पाकिस्तान के तत्कालीन सैन्य शासक जनरल जिया उल हक के नेतृत्व में कश्मीर में मौत और तबाही लाई गई थी।
रैना ने कहा कि पाकिस्तान जम्मू कश्मीर के लोगों का सबसे बड़ा दुश्मन है और वह घाटी में “अफगानिस्तान जैसी स्थिति” बनाना चाहता है। उन्होंने कहा कि ‘ऑपरेशन रेड वेव’ का वही हश्र होगा जो ‘ऑपरेशन टुपैक’ का हुआ था क्योंकि पुलिस और सुरक्षाबल जम्मू कश्मीर के राष्ट्रवादी लोगों के समर्थन से आतंकवाद को समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में बैंक अधिकारी विजय कुमार की हाल में हुई हत्या की निंदा करते हुए रैना ने कहा, “कायर पाकिस्तान और उसके द्वारा समर्थित आतंकवादियों ने एक बार फिर पाप किया है और उन्हें इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।
उन्होंने कहा, “चाहे वह (कश्मीरी पंडित) राहुल पंडित, (मुस्लिम कलाकार) अमरीन, (पुलिसकर्मी) रियाज अहमद ठोकर और सैफुल्ला कादरी, (जम्मू की निवासी डोगरा) रजनी बाला हो या राजस्थान के बैंक प्रबंधक, निर्दोष लोगों का खून बहा और पिछले 35 साल से अधिक समय से पाकिस्तान इसमें सीधे तौर पर शामिल है। उन्होंने घाटी को कब्रगाह बना दिया है।

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमत जारी की

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमत जारी की

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की बृहस्पतिवार की कीमत जारी कर दी है। दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल 96.72 रुपये और डीजल 89.62 रुपये में बना हुआ है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 111.35 रुपये और डीजल की कीमत 97.28 रुपये पर स्थिर है।वहीं, चेन्नई में पेट्रोल 102.63 रुपये में बिक रहा है, जबकि डीजल 94.24 रुपये प्रति लीटर की दर से मिल रहा है। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 106.03 रुपये पर बनी हुई है और डीजल 92.76 रुपये में बिक रहा है। नोएडा में पेट्रोल 96.57 रुपये में मिल रहा है, जबकि डीजल 89.96 रुपये में बिक रहा है। राजस्थान के जयपुर में पेट्रोल की कीमत 108.48 रुपये पर स्थिर है। वहीं, डीजल 93.72 रुपये प्रति लीटर की दर से बिक रहा है।यूपी के लखनऊ में पेट्रोल 96.57 रुपये में और डीजल 89.76 रुपये में बिक रहा है।
पटना में पेट्रोल की कीमत 107.24 रुपये में मिल रहा है।एक लीटर डीजल की कीमत 94.04 रुपये पर बनी हुई है।आज लगातार 12वें दिन पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिर रखे गए हैं। आखिरी बार 21 मई को केंद्र सरकार के एक्साइड ड्यूटी कम करने के फैसले के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम कम हुए थे। सरकार ने पेट्रोल पर 8 रुपये और डीजल पर 6 रुपये एक्साइज ड्यूटी कम करके लोगों को बड़ी राहत दी थी। इसके बाद देश में 9.50 रुपये और डीजल 7 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो गया।

कार्यकारी अध्यक्ष रहें पटेल, भाजपा में शामिल हुए

कार्यकारी अध्यक्ष रहें पटेल, भाजपा में शामिल हुए

इकबाल अंसारी  
गांधीनगर। गुजरात में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रहे हार्दिक पटेल बृहस्पतिवार को भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा में शामिल होने से पहले उन्होंने ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी के कामों की तुलना भगीरथ से की है। हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर लिखा है कि ”राष्ट्रीय हित, राज्यहित, जनहित और सामाजिक हित की भावनाओं के साथ आज से एक नया अध्याय शुरू करने जा रहा हूं। भारत के सफल प्रधानमंत्री के नेतृत्व में चल रहे राष्ट्र सेवा के कार्य में छोटा , श्री नरेंद्र भाई मोदी जी। मैं एक सैनिक के रूप में काम करूंगा।” हार्दिक पटेल ने कहा कि गुजरात में कांग्रेस के खिलाफ जल्द ही वे कैम्पैन शुरू करेंगे।
गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी में गुटबाजी के शिकार होने और पार्टी आलाकमान की ओर से अनदेखी कारण हार्दिक पटेल ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। जब से उन्होंने कांग्रेस पार्टी छोड़ी, तभी से हार्दिक पटेल के भाजपा में शामिल होने की अटकलें चल रही थी। साल 2015 में 28 वर्षीय हार्दिक पटेल ने पाटीदार समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन किया था। हार्दिक पटेल के नेतृत्व में चला यह आंदोलन हिंसक हो गया था। तब गुजरात की भाजपा सरकार ने हार्दिक पटेल के खिलाफ देशद्रोह सहित कई आरोपों में मामले दर्ज किए थे।
हार्दिक पटेल के भाजपा में शामिल होने से पहले अहमदाबाद, पटनगर और गांधीनगर में बड़े बड़े पोस्टर लगाए गए हैं, जिसमें हार्दिक पटेल के लिए एक अलग देशभक्त, युवा हृदय सम्राट जैसे नारे लिखे गए हैं।

2 से 10 जून के बीच खाद्यान्न का निशुल्क वितरण, निर्देश

2 से 10 जून के बीच खाद्यान्न का निशुल्क वितरण, निर्देश

हरिशंकर त्रिपाठी
देवरिया। जिला पूर्ति अधिकारी विनय कुमार सिंह ने बताया है कि जनपद के अन्त्योदय एवं पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अन्तर्गत माह मई, 2022 के सापेक्ष आवंटित खाद्यान्न का माह जून, 2022 में 02 जून से 10 जून के बीच निशुल्क वितरण कराये जाने का निर्देश आयुक्त, खाद्य तथा रसद विभाग, उ.प्र. लखनऊ द्वारा दिया गया है। जिसके अन्तर्गत वितरण कार्य किया जाएगा।
जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया है कि अंत्योदय कार्ड धारकों को प्रति कार्ड 35 कि.ग्रा. खाद्यान्न (20 कि.ग्रा. गेहूँ तथा 15 कि.ग्रा. चावल) तथा पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को राशन कार्ड में सम्मिलित प्रत्येक यूनिट 05 कि.ग्रा. खाद्यान्न (03 कि.ग्रा. गेहूँ एवं 02 कि.ग्रा. चावल) निशुल्क वितरित किया जाएगा।
जनपद के समस्त कार्डधारकों को उन्होंने अवगत कराया है कि अपने उचित दर दुकान से उपरोक्तानुसार मात्रा में आवश्यक वस्तुए उपरोक्त निर्धारित समयावधि में निशुल्क प्राप्त करें।

गांधी समेत कुछ नेता भी कोरोना संक्रमित मिलें

गांधी समेत कुछ नेता भी कोरोना संक्रमित मिलें 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी कोरोना संक्रमित पाई गई हैं। उनके अलावा बैठक में आए कुछ नेता भी संक्रमण के शिकार हो गए हैं। सुरजेवाला ने बताया कि सोनिया गांधी को कल (बुधवार) शाम को हल्का बुखार आया था, इसके बाद हुए उनकी जांच की गई तो वह कोरोना संक्रमित पाई गई। सुरजेवाला ने कहा कि सोनिया गांधी पिछले एक सप्ताह में बहुत सारे नेताओं, कार्यकर्ताओं से मिलीं। जिसके कारण उन्हें संक्रमण हो गया।
सुरजेवाला ने बताया कि सोनिया गांधी ने खुद को आइसोलेट कर लिया है। उन्होंने उनके संपर्क में आए सभी नेताओं से जांच कराने की अपील की है। फिलहाल उनका इलाज चल रहा है। वह जल्द ही स्वस्थ हो जाएंगी। बता दें कि 8 जून को सोनिया गांधी को प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश भी होना है। हालांकि, सुरजेवाला ने कहा है कि सोनिया गांधी ने विशेष तौर पर उन्हें कहा है कि वह 8 जून को ED(प्रवर्तन निदेशालय) के समक्ष आवश्य पेश होंगी।
 (ईडी) ने नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी को पूछताछ के लिए समन भेजा है। ईडी सोनिया से आठ जून को पूछताछ करेगी, जबकि राहुल को बृहस्पतिवार को पेश होने को कहा है। हालांकि, राहुल देश में नहीं हैं। उन्होंने जांच एजेंसी से पांच जून के बाद कभी भी पेशी की तारीख रखने का आग्रह किया है।

यौन उत्पीड़न के आरोप में दायर केस को खारिज किया

यौन उत्पीड़न के आरोप में दायर केस को खारिज किया

इकबाल अंसारी  
शिलोंग। मेघालय उच्च न्यायालय ने यौन उत्पीड़न के आरोप में मोहम्मद सैमुल्लाह नाम के एक शख्स के खिलाफ दायर केस को खारिज कर दिया। अदालत ने इस पर एक बड़ा बयान दिया जिसमें कहा है कि एक नाबालिग लड़की का हाथ पकड़ना और उसे सुंदर कहना तब तक यौन अपराधों की श्रेणी में नहीं आएगा, जब तक हाथ पकड़ने वाले का अपराध करने का इरादा न हो।
दरअसल यह मामला 9 साल की बच्ची से जुड़ा है। जब वह 55 साल के मोहम्मद सैमुल्लाह को पानी देने आई तो उसने बच्ची का हाथ पकड़ लिया और सहलाते हुए कहा था कि उसके हाथ सुंदर हैं। बच्ची तुरंत वहां से निकल गई और मां को इस पूरी घटना की जानकारी दी। इसके बाद सैमुल्लाह के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।
स्पेशल पॉक्सो (POCSO) कोर्ट ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 (एक महिला का शील भंग) और 354A (यौन उत्पीड़न) और पॉक्सो अधिनियम की धारा 7 (यौन हमला) और 9 (गंभीर यौन हमला) के तहत आरोप तय किए थे। जस्टिस डिएंगदोह ने कहा कि बंडू विट्ठलराव बोरवार बनाम महाराष्ट्र के मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने फैसला दिया था कि ऐसे मामलों में आरोपी के इरादों के बारे में जानना जरूरी है।
जस्टिस डिएंगदोह ने कहा कि मौजूदा मामले में हम बॉम्बे हाईकोर्ट की राय से सहमत हैं कि आरोपी का किसी भी तरह से यौन उत्पीड़न का इरादा नहीं था और यह सेक्शुअल असॉल्ट के तहत नहीं आता। सिंगल बेंच जज डब्ल्यू डिएंगदोह ने आगे कहा कि आरोपी ने कथित रूप से कोई अपराध नहीं किया है। इसलिए उसे दोषी नहीं ठहराया जाएगा। जस्टिस डिएंगदोह ने कहा ऐसे में केस जारी रखना केवल समय की बर्बादी होगी। न्याय पूरा नहीं हो पाएगा। इसलिए यह याचिका खारिज की जाती है।

'भूलन द मेज' फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग की जाएंगी

'भूलन द मेज' फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग की जाएंगी

दुष्यंत टीकम  
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने घोषणा की है कि 'भूलन द मेज' फिल्म की मीडिया कर्मियों और उनके परिजनों के लिए स्पेशल स्क्रीनिंग की जाएंगी। उन्होंने कहा है कि 'मीडिया कर्मी अपने-अपने माध्यमों से फिल्म को प्रसारित करें जिससे छत्तीसगढ़ के कलाकारों, संस्कृति एवं पर्यटन को अधिक से अधिक बढ़ावा मिल सके।' मुख्यमंत्री ने कहा है कि 'फिल्म को टैक्स फ्री घोषित कर दिया गया है जिससे छत्तीसगढ़ के नागरिक कम दाम में ही छत्तीसगढ़ी फिल्म का आनंद उठा सकें। मुख्यमंत्री ने नागरिकों से भी अधिक से अधिक संख्या में फिल्म देखने की अपील की है।' उन्होंने कहा कि 'यदि छत्तीसगढ़ की सहजता, सरलता देखनी हो तो इस फिल्म को अवश्य देखें।' बघेल ने कहा कि 'अधिक से अधिक संख्या में दर्शक फिल्म देखने जाएंगे तो फिल्म के कलाकारों का उत्साहवर्धन होगा साथ ही छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री को भी बढ़ावा मिलेगा।

सेल्फ-लव: 11 जून को खुद से शादी करेंगी, क्षमा

सेल्फ-लव: 11 जून को खुद से शादी करेंगी, क्षमा

इकबाल अंसारी  
गांधीनगर। देश में शादी को सात जन्मों का रिश्ता माना जाता है। शादी का दिन हर किसी के लिए खास होता है। गुजरात की क्षमा बिंदु आने वाले 11 जून को एक शादी करने जा रही हैं, लेकिन उनकी ये शादी इन दिनों काफी चर्चा में हैं।
दरअसल, वड़ोदरा में रहने वाली 24 वर्षीय क्षमा बिंदु खुद से शादी करने जा रही हैं। उनकी इस शादी में रीति रिवाज, फेरे से लेकर पारंपरिक अनुष्ठान तक सब होगा, लेकिन बस दुल्हा नहीं होगा। इसे गुजरात का पहला आत्म-विवाह या एकल विवाह कहा जा रहा है।
इस आत्म विवाह को लेकर क्षमा बिंदु का कहना है कि मैं कभी शादी नहीं करना चाहती थी, लेकिन मैं दुल्हन बनना चाहती थी। इसलिए मैंने खुद से शादी करने का फैसला किया। शायद अपने देश में मैं सेल्फ-लव का एक उदाहरण सेट करने वाली पहली लड़की हूं।
बता दें कि क्षमा बिंदु प्राइवेट फर्म में जॉब करती है। उन्होंने बताया कि लोग इस तरह की शादी को इरेलीवेंट मान सकते हैं, लेकिन मैं यह बताना चाहती हूं महिलाएं भी मायने रखती हैं। लोग उस इंसान से शादी करते हैं जिससे वो प्यार करते हैं। मैं खुद से प्यार करती हूं इसलिए आत्म विवाह कर रही हूं। वहीं, क्षमा बिंदु के माता-पिता भी अपनी बेटी के फैसले से खुश है। उन्होंने इस शादी को आशीर्वाद भी दिया है। क्षमा ने अपनी शादी के लिए गोत्री के एक मंदिर में पांच मन्नतें लिखी हैं। इतना ही नहीं शादी के बाद क्षमा हनीमून के लिए भी जाएंगी। क्षमा ने हनीमून के लिए गोवा को चुना है, यहां पर वह दो हफ्ते रहेंगी।

फल, औषधि और आहार हैं इमली, जानिए

फल, औषधि और आहार हैं इमली, जानिए 

सरस्वती उपाध्याय  
इमली का नाम सुनते ही मुंह में पानी आने लगता है। इस चटपटी इमली के अपने कई गुण तो हैं ही, इसे दाल या सब्जी वगैरह में डाल दिया जाए तो स्वाद निखर आएगा। आयुर्वेद में इमली को विशेष बताया गया है। इमली देसी है या विदेशी, वह बहस का विषय है, लेकिन भारत में इसकी खपत बहुत अधिक है। 
असल में इमली है क्या ?
यह भी समझने की बात है। ऐसा क्यों कहा जाता है कि इसके पेड़ पर ‘भूत’ रहते हैं, इसलिए उसके नीचे नहीं सोना चाहिए ?
इमली का खट्टापन इतना जर्बदस्त स्वाद लिए होता है कि मनुष्य इसे खाए बिना नहीं रह पाता। चटनी को तो आप जानते ही हैं। भारतीय भोजन की जान है चटनी, क्योंकि यह स्वाद को बढ़ाती है और स्वादिष्ट चटनी बिना इमली के नहीं बन सकती। भारत की रसोई में जबर्दस्त घुसपैठ बनाने वाली इमली आई कहां से है। एक पक्ष का सीधा मानना है कि इमली अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों की मूल निवासी है। खासतौर से सूडान, कैमरून और नाइजीरिया। उसके बाद यह फारस और अरब पहुंची। यह भी जानकारी मिली है कि ईसा पूर्व चौथी शताब्दी में प्राचीन मिस्रवासी और यूनानी अपने भोजन व अन्य कार्यों में इमली का प्रयोग करते थे। ईसा पूर्व चौथी शताब्दी में प्राचीन मिस्रवासी और यूनानी अपने भोजन व अन्य कार्यों में इमली का प्रयोग करते थे।

चरकसंहिता में है इमली का विशेष वर्णन...
भारत में इमली की स्थिति यह है कि ईसा पूर्व सातवीं-आठवीं शताब्दी में लिखे गए भारत के प्राचीन आयुर्वेदिक ग्रंथ ‘चरकसंहिता’ में इमली के साथ-साथ उसके समकक्ष वृक्षाम्लं और अम्लवेतस का भी वर्णन है। मजेदार बात यह है कि इमली का वैज्ञानिक नाम `इमलींडस इंडिका` है और फारसी और अरबी में ‘तामार हिंदी’ कहा जाता है। जबकि दावा यह है किया गया है कि सूडान से फारस और अरब होते हुए इमली भारत आई। उसके बाद यह पूरे एशिया क्षेत्र में फैल गई।

फल, औषधि और आहार हैं इमली...
भारत में इमली की जबर्दस्त खपत है। दक्षिण भारत सहित पूरे भारत में सब्जियों, स्पेशल डिश, चटनी आदि में इसका खूब प्रयोग होता है। इसके बावजूद भारत में इसका व्यापार व्यवस्थित नहीं है। इमली की सबसे ज्यादा उपज बिहार, उड़ीसा, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, केरल, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु आदि राज्यों में होती है। इमली को किस श्रेणी में रखा जाए। आयुर्वेदिक ग्रंथों में इसे फल बताया गया है तो आयुर्वेद से जुड़े चिकित्सक इसे औषधि की श्रेणी में रखते हैं तो फूड विशेषज्ञ इसे आहार मानते हैं। असलियत यह है कि तीनों ही श्रेणी में इमली का जलवा चल रहा है।
आयुर्वेदिक ग्रंथों में इमली को फल बताया गया है तो आयुर्वेद से जुड़े चिकित्सक इसे औषधि की श्रेणी में रखते हैं तो फूड विशेषज्ञ इसे आहार मानते हैं।
कई बीमारियों को कंट्रोल करती है। इमली
‘चरकसंहिता’ में कहा गया है कि इमली की तासीर गर्म है और यह वात व कफ को ठीक करती है। यह मदिरा का नशा कम करती है और हिचकी को रोकती है। फूड एंड न्यूट्रिशियन कंसलटेंट नीलांजना सिंह के अनुसार कहा जाता है कि खट्टा शरीर के लिए नुकसानदायक है, लेकिन इमली इस मिथक को तोड़ती है। इसका सेवन हाईपरटेंशन को कम करता है, बेड कॉलेस्ट्रॉल का घटाता और गुड कॉलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। यह एंटी बैक्टिरियल भी है और इसमें एंटी ऑक्सिडेंट के भी गुण हैं। इस बात पर शोध चल रहा है कि इमली की गुठली केंसर का इलाज कर सकती है।
इमली में काफी मात्रा में हाइड्रोऑक्साइट्रिक एसिड होता है, जो फैट को जलाने वाले एन्जाइम का पोषण करता है।
उन्होंने बताया कि इमली पाचन क्रिया को दुरुस्त रखती है। इमली में काफी मात्रा में हाइड्रोऑक्साइट्रिक एसिड होता है, जो फैट को जलाने वाले एन्जाइम का पोषण करता है। इसमें फाइबर और आयरन भी है‌। इसका अधिक सेवन शरीर में एलर्जी पैदा कर सकता है, दांतों को भी जकड़ देता है। इसका अधिक सेवन पेट को गुड़गुड़ा सकता है। डायबिटिक लोगों को भी इमली का कम सेवन करना चाहिए।

भूत का मसला बड़ा ही रोचक है...
इमली को लेकर हमें एक मिथक की जानकारी मिली कि इसके पेड़ के नीचे सोने या आसपास ज्यादा समय तक रहने से ‘भूत’ पकड़ लेते हैं, मनुष्य बीमार हो जाता है और उसकी त्वचा पर निशान पड़ जाते हैं। इसी ‘भूत’ के चलते चक्कर आते हैं, जी मितलाता है और कमजोरी भी महसूस होती है। इसलिए इमली के पेड़ को दूर से ही प्रणाम कर लेना चाहिए। इस मसले पर सरकारी अस्पताल में कार्यरत आयुर्वेदाचार्य डॉ. आरपी पराशर ने बताया कि असल में यह पेड़ अपने चारों ओर अम्लता का आवरण बनाए रखता है। इसके अलावा इसकी पत्तियों से सूक्ष्म द्रव भी निकलता है। इन दोनों के कारण ही शरीर में अम्लीय वायु प्रवेश करती रहती है, जिससे चक्कर व जी मितलाने की प्रवृत्ति पैदा हो जाती है। साथ ही त्वचा पर चकत्ते भी पड़ जाते हैं, इसलिए हमारे बड़े-बूढ़ों ने जोड़ दिया कि इस पेड़ पर भूत-प्रेत का वास होता है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-237, (वर्ष-05)
2. शुक्रवार, जून 3, 2022
3. शक-1944, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:33, सूर्यास्त: 07:01।
5. न्‍यूनतम तापमान- 29 डी.सै., अधिकतम-43+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

नगर निगम चुनाव में हर तरह के हथकंडे अपनाए

नगर निगम चुनाव में हर तरह के हथकंडे अपनाए अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। नगर निगम चुनाव की मतगणना के नतीजों पर अपनी खुशी जताते हुए...