शुक्रवार, 3 फ़रवरी 2023

पेड़ काट रही महिलाओं को रोका, महत्व समझाया 

पेड़ काट रही महिलाओं को रोका, महत्व समझाया 


पर्यावरण रक्षकों ने पेड़ काट रही महिलाओं को रोका

सामाजिक संस्था आँखें के पर्यावरण रक्षकों ने पेड़ काट रही महिलाओं को रोकते हुए जीवन में पेड़ों के महत्व को समझाया

गोपीचंद/भानु प्रताप उपाध्याय 

बागपत। क्षेत्र के गाँव मलकपुर लोयन के निकट बडौत छपरौली मार्ग पर इंधन के लिए छोटे पेड़ को जड़ से काट रही महिलाओं को सामाजिक संस्था आँखें के पर्यावरण रक्षक एडवोकेट रवि कुमार, राकेश सरोहा व समाजसेवी आर.आर.डी. उपाध्याय ने रोका। इन महिलाओं को जीवन में पेड़-पौधों के महत्व को समझाते हुए समाजसेवी आर.आर.डी. उपाध्याय ने कहा कि ये पेड़ पौधें हमारे जीवन का आधार है। यदि ये नष्ट हो जाये तो हम सब भी नष्ट हो जायेंगे, क्योंकि इन्हीं पेड़ पौधों से हमें ऑक्सीजन प्राप्त होती है।

जिसकी वजह से हम सांस ले पाते है। इन ग्रामीण महिलाओं को समाजसेवी ने भविष्य में ऐसा न करने की हिदायत दी। इन ग्रामीण महिलाओं का कहना था कि वह इंधन के लिए लकड़ियां काट रही थी। वह भविष्य में इंधन के लिए किसी भी पेड़ को जड़ से काटकर पर्यावरण का अहित नहीं करेगी और भविष्य में इंधन के लिए सूखी लकडीयां इकट्ठा करेगी।

वर्गों का 'कल्याण' सरकार की प्राथमिकता: पीएम 

वर्गों का 'कल्याण' सरकार की प्राथमिकता: पीएम 

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/गुवाहाटी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि वंचित और पिछड़े वर्गों का कल्याण केंद्र सरकार की प्राथमिकता है। मोदी ने असम के बारपेटा जिले में ‘कृष्णगुरु एकनाम अखंड कीर्तन’ में अपने डिजिटल संबोधन के दौरान यह भी कहा कि महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए केंद्रीय बजट 2023-24 में महिलाओं की बचत पर ब्याज दरों में वृद्धि के लिए विशेष प्रावधान किए गए हैं।

मोदी ने सफेद और हरे रंग का ‘गमोसा’ लिया हुआ था। उन्होंने कहा कि पिछले आठ वर्षों में पारंपरिक हाथ तौलिये की मांग बढ़ी है। मोदी ने कहा, ‘‘स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) के तहत संगठित लाखों महिलाएं इन्हें बुन रही हैं। हर गमोसा के पीछे असम की महिलाओं की मेहनत होती है। कृष्णगुरु सेवाश्रम में छह जनवरी से शुरू हुआ कीर्तन महीने भर चलेगा। 

'अमूल' दूध में 3 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी

'अमूल' दूध में 3 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। मूल्य बढ़ाने के मामले में पूरी तरह से माहिर हो चुके अमूल ने एक बार फिर से दूध के दामों में बढ़ोतरी करते हुए चाय का स्वाद कसैला करने का मुकम्मल इंतजाम कर दिया है। 3 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी किए जाने से अब दूध के दाम 60 रुपए से भी अधिक हो गए हैं। शुक्रवार को देश की सबसे बड़ी दूध और दुग्ध उत्पाद बनाने वाली कंपनी अमूल ने एक बार फिर से अपने दूध के दामों में बढ़ोतरी का ऐलान किया है। 3 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से की गई बढ़ोतरी के बाद अब अमूल दूध के 1 लीटर के दाम 66 रुपए हो गए हैं।

2 लीटर का दूध अमूल द्वारा अब 132 रुपए में देश के उपभोक्ताओं को दिया जाएगा। जबकि आधा लीटर दूध के दाम 33 रुपए वसूले किए जाएंगे। अमूल की ओर से दूध के दामों में की गई 3 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी के बाद अब देश की अन्य दूध और दुग्ध उत्पाद बनाने वाली कंपनियां भी अपने दूध के दामों में निश्चित रूप से बढ़ोतरी करेंगी। क्योंकि आमतौर पर देखा गया है कि जब भी अमूल ने अपने दूध के दामों में बढ़ोतरी की है। उसके बाद देश की अन्य दूध एवं दुग्ध उत्पाद कंपनियों ने भी अपने दूध के दामों में बढ़ोतरी की है। पिछले काफी समय से अमूल अपने दूध के दामों में बढ़ोतरी का सिलसिला चला रहा है, जो अभी थमता हुआ दिखाई नहीं दे रहा है। वह बात अलग है कि गांव देहात में पशु पालकों को दूध के अभी तक भी कम दाम मिल रहे हैं।

अडाणी समूह से जुड़े मामलें पर चर्चा नहीं: थरूर 

अडाणी समूह से जुड़े मामलें पर चर्चा नहीं: थरूर 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि नरेन्द्र मोदी सरकार अडाणी समूह से जुड़े मामलें पर संसद में चर्चा नहीं होने दे रही है। तिरुवनंतपुरम से लोकसभा सदस्य शशि थरूर ने कहा, विपक्ष पार्टियों की सिर्फ यही मांग है कि इस विषय (अडाणी मामले) पर चर्चा हो जाए, क्योंकि आम आदमी पर इसका क्या असर होगा, उस बारे में हमें जानना चाहिए।

उनका कहना था, एलआईएसी और दूसरे पीएसयू ने (अडाणी के) शेयर में निवेश किया हुआ है, साधारण आदमी की बचत एलआईसी और सार्वजनिक बैंकों में जमा है तो उसे यह पता होना चाहिए कि उसकी बचत सुरक्षित है, सरकार कुछ कर रही है। थरूर ने कहा, संसद प्रश्न पूछने के लिए होती है। अगर चर्चा नहीं होने देंगे तो फिर क्या मतलब है।

लोकतंत्र में संसद चर्चा के लिए होती है। लोकसभा में शुक्रवार को कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों के सदस्यों ने अडाणी समूह से जुड़े मामले को लेकर नारेबाजी की जिस वजह से सदन की कार्यवाही आरंभ होने के कुछ मिनट बाद ही अपराह्न दो बजे तक स्थगित कर दी गई। विपक्षी सदस्य अडाणी समूह से जुड़े मामले में जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) गठित करने और इस मुद्दे पर संसद में चर्चा कराने की मांग कर रहे हैं।

सिसोदिया की यात्रा को ‘सैद्धांतिक रूप से’ मंजूरी

सिसोदिया की यात्रा को ‘सैद्धांतिक रूप से’ मंजूरी

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली के उपराज्यपाल वी. के सक्सेना ने एक शिक्षा सम्मेलन में भाग लेने के लिए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की अमेरिका यात्रा को ‘‘सैद्धांतिक रूप से’’ मंजूरी दे दी है। लेकिन, कहा कि यह ‘‘पूरी तरह स्पष्ट नहीं है’’ कि उनकी यात्रा का खर्च कौन वहन करेगा। उन्होंने बताया कि यात्रा के लिए दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा पेश किया गया प्रस्ताव सिसोदिया की मंजूरी के बाद उपराज्यपाल के पास भेजा गया था।

शिक्षा विभाग के प्रमुख सिसोदिया ने कुछ अधिकारियों के साथ अमेरिका के सिटी पोर्टलैंड में टीईएसओएल शिक्षा सम्मेलन में भाग लेने की इच्छा व्यक्त की थी। एक अधिकारी ने कहा, ‘‘ प्रस्ताव में स्पष्टता का अभाव है कि सिसोदिया की यात्रा का खर्च कौन वहन करेगा। एक पैरा में विभाग ने कहा कि उपमुख्यमंत्री की यात्रा का ‘पूरा खर्च टीईएसओएल द्वारा उठाया जाएगा और सरकार पर इसका कोई वित्तीय दायित्व नहीं होगा।’

हालांकि, आगे एक पैरा में कहा गया है कि ‘माननीय उपमुख्यमंत्री की यात्रा का पूरा खर्च जीएडी (सामान्य प्रशासन विभाग), जीएनसीटीडी (दिल्ली सरकार) द्वारा उठाया जाएगा’ ।’’ अधिकारी ने बताया कि सक्सेना ने इन दोनों बयानों को विरोधाभासी पाते हुए प्रस्तावित यात्रा के लिए ‘‘सैद्धांतिक रूप’’ से अनुमति दे दी है।

उन्होंने कहा, ‘‘ अभी इस पर केंद्र सरकार से एफसीआरए (विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम) मंजूरी सहित संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों से अपेक्षित मंजूरी लिया जाना बाकी है, जैसा कि किसी भी राज्य के किसी भी मंत्री या अधिकारी द्वारा विदेश यात्रा से पहले ली जाती है।’’ 

अन्नाद्रमुक को संगठित करने का प्रयास: भाजपा 

अन्नाद्रमुक को संगठित करने का प्रयास: भाजपा 

इकबाल अंसारी 

चेन्नई। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शुक्रवार को कहा कि वह अन्नाद्रमुक को संगठित करने का प्रयास कर रही है। क्योंकि द्रमुक और उसके सहयोगी दलों से मुकाबला करने तथा 27 फरवरी को होने वाले इरोड उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी ईवीकेएस इलनगोन को हराने के लिए एकजुट होना समय की जरूरत है।

अन्नाद्रमुक या पार्टी से निष्कासित नेता ओ पनीरसेल्वम का समर्थन करने के सवाल से बचते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव तथा तमिलनाडु के प्रभारी सीटी रवि ने यहां संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने अन्नाद्रमुक के अंतरिम अध्यक्ष के. पलानीस्वामी और पूर्व मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम से मुलाकात की। अन्नाद्रमुक और पनीरसेल्वम दोनों ने उपचुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित किये हैं।

इन अलग-अलग बैठकों के दौरान भाजपा अध्यक्ष जे.पी. नड्डा का संदेश उन्हें दिया गया। रवि ने कहा, ‘‘हमारी क्या बात हुई, यह तो मैं नहीं बताऊंगा। हमने इस बात पर जोर दिया कि तमिलनाडु के हित में और उपचुनाव में द्रमुक तथा उसके सहयोगियों को हराने के लिए मिलकर काम करना जरूरी है

हमने अन्नाद्रमुक को मनाने और संगठित करने का प्रयास किया है।’’ भाजपा नेता ने उम्मीद जताई कि उनके प्रयास सफल होंगे। उन्होंने कहा कि संगठित अन्नाद्रमुक ही द्रमुक एवं उसके सहयोगी दलों से मुकाबला कर सकेगी तथा कांग्रेस उम्मीदवार इलनगोवन को हरा सकेगी। रवि ने कहा कि उपचुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख सात फरवरी है और अभी उसमें समय है।

6 फरवरी को सात फेरे लेंगे कियारा और सिद्धार्थ

6 फरवरी को सात फेरे लेंगे कियारा और सिद्धार्थ

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड की सबसे प्यारी जोड़ी सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा आडवाणी आखिरकार शादी के बंधन में बंधने वाले हैं। कियारा और सिद्धार्थ 6 फरवरी को सात फेरे लेंगे। इस खबर के सामने आते ही फैंस काफी खुश हैं। कपल काफी समय से एक दूसरे को डेट कर रहा था। हालांकि, खुद सिद्धार्थ या कियारा ने इसके बारे में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की है। दोनों सितारों की शादी की पुष्टि जोगिंदर टुटेजा ने शुक्रवार को की है। ऐसे में शादी की तैयारियां जोरो-शोरों से की जा रही है।

जैसलमेर के सूर्यगढ़ पैलेस में होगी शादी
रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा आडवाणी की शादी के फंक्शन चार फरवरी से शुरू होंगे। दोनों की शादी 6 फरवरी को राजस्थान के जैसलमेर के सूर्यगढ़ पैलेस में होगी। शादी में फिल्म इंडस्ट्री के कई बड़े सितारे भी शिरकत करेंगे। वहीं रिपोर्ट्स की माने तो शाहरुख खान के एक्स बॉडीगार्ड यासीन युगल को सिद्धार्थ-कियारा शादी की सिक्योरिटी अरेंजमेंट्स की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

शादी में ये सितारें होंगे शामिल
सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा आडवाणी की गेस्ट लिस्ट की बात करें तो, करण अर्जुन, मनीष मल्होत्रा, शाहिद कपूर, मीरा राजपूत सहित कई बड़े सितारों को इनवाइट किया गया है। ये सभी सितारे तीन फरवरी से जैसलमेर पहुंचने शुरू हो जाएंगे। इसके अलावा शादी में कपल के करीबी दोस्त भी शामिल होंगे।

सफर के दौरान 'खानपान' का विशेष ख्याल रखें

सफर के दौरान 'खानपान' का विशेष ख्याल रखें

सरस्वती उपाध्याय 

मना हर किसी को पसंद होता है। लेकिन, कई लोग सेहत के कारण ट्रैवल करने से कतराते हैं। सफर के दौरान जब तबीयत बिगड़ जाती है, तो काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में जरूरी है कि ट्रैवल करने से पहले ही आप खास तैयारियां कर लें, जिससे आप सफर को खुशनुमा बना सकें।

ट्रैवल के दौरान खानपान में बरती गई लापरवाही के कारण आपको स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इसलिए सफर के दौरान खानपान का विशेष ख्याल रखें। जिससे आप सफर का लुत्फ उठा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं, यात्रा के दौरान आप सेहत का कैसे ख्याल रख सकते हैं।

1. प्रोसेस्ड फूड्स से दूरी बना लें
सफर के दौरान अक्सर लोग प्रोसेस्ड फूड्स खाना पसंद करते हैं। अधिक मात्रा में इन फूड्स का सेवन करते हैं तो, आपकी तबीयत बिगड़ सकती है। इसमें कोई पोषक तत्व मौजूद नहीं होता है, और इन फूड्स में शुगर और तेल की मात्रा ज्यादा होती है। इसलिए बंद पैकेट वाले फूड्स खाने से परहेज करें। 

2. खूब पानी पिएं
ट्रैवल के दौरान कब्ज और डिहाइड्रेशन की समस्या से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पी सकते हैं। इसके अलावा आप फल भी खा सकते हैं, जिससे आप पाचन संबंधी समस्या से बच सकते हैं

3. अधिक मात्रा में चाय-कॉफी का सेवन करने से बचें
कई लोग सफर के दौरान चाय-कॉफी अधिक मात्रा में पीते हैं, जिससे पाचन शक्ति पर असर पड़ता है। चाहें तो आप सफर के दौरान हर्बल टी का सेवन कर सकते हैं। इससे आपकी थकान भी दूर होगी और पाचन तंत्र भी प्रभावित नहीं होगा।

4. हैवी डाइट न लें
सफर के दौरान हेवी भोजन खाने से परहेज करें। आप पौष्टिक डाइट लें, इससे आपको यात्रा के दौरान भारीपन महसूस नहीं होगा। खाने में आप दालिया, स्प्राउट्स, उबले अंडे आदि शामिल कर सकते हैं।

5. समय पर खाएं
ट्रैवल के दौरान आप खाने की टाइमिंग का विशेष ख्याल रखें। अक्सर लोग घूमने के दौरान समय पर डाइट लेना भूल जाते हैं, जिससे आप बीमारी के चपेट में आ सकते हैं।

आयकर व्यवस्था के लिए 'शानदार' प्रतिक्रिया, उम्मीद

आयकर व्यवस्था के लिए 'शानदार' प्रतिक्रिया, उम्मीद

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सरकार को संशोधित आयकर व्यवस्था के लिए 'शानदार' प्रतिक्रिया मिलने की उम्मीद है और उसका मानना है कि इसका लाभ करदाता के हर वर्ग तक पहुंचेगा। एक शीर्ष आयकर अधिकारी ने शुक्रवार को यह संभावना जताई। आम बजट 2023-24 में नयी वैकल्पिक कर व्यवस्था में बदलाव की पेशकश की गई है, जिसमें सात लाख रुपये तक की वार्षिक आय पर कोई कर नहीं लगाने का प्रावधान किया गया है।

संशोधित व्यवस्था में करदाताओं को 50,000 रुपये की मानक कटौती का दावा करने की अनुमति भी दी गई है। माना जा रहा है कि इस पहल के जरिए सरकार वेतनभोगी वर्ग को नयी कर व्यवस्था अपनाने के लिए लुभा रही है। हालांकि इसमें निवेश पर कोई कर छूट नहीं दी जाती है।केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन नितिन गुप्ता ने कहा, ''करदाता के हर वर्ग तक लाभ पहुंच रहा है... यह देखते हुए कि नयी व्यवस्था में वेतनभोगी करदाताओं को मानक कटौती मिलेगी, प्रभावी रूप से 7.50 लाख रुपये तक आय वाले वेतनभोगी कर्मचारी को किसी भी तरह का कर देने की जरूरत नहीं होगी।'' बजट में मानक कटौती का विस्तार करने के अलावा छूट की सीमा भी बढ़ा दी गई है।

नई कर व्यवस्था के तहत तीन लाख रुपये तक की आय पर कोई कर नहीं लगाया जाएगा। तीन से छह लाख रुपये के बीच की आय पर पांच प्रतिशत कर लगेगा। छह से नौ लाख रुपये पर 10 फीसदी, नौ से 12 लाख रुपये पर 15 फीसदी, 12 से 15 लाख रुपये पर 20 फीसदी और 15 लाख रुपये से ज्यादा की आय पर 30 फीसदी कर लगेगा।

इस संशोधनों के बाद नयी कर व्यवस्था उस व्यक्ति के लिए अधिक फायदेमंद होगी, जिसके पास आयकर कटौती का दावा करने के लिए पर्याप्त निवेश नहीं है। गुप्ता ने कहा, ''हमने योजना को अधिक से अधिक आकर्षक बनाने की कोशिश की है, क्योंकि इसमें किसी तरह की परेशानी नहीं है। इसके लिए करदाताओं को कोई दस्तावेज जमा करने की भी जरूरत नहीं। साथ ही कर प्रशासन के लिए इस योजना को संचालित करना आसान है।'' गुप्ता ने उद्योग मंडल एसोचैम के एक कार्यक्रम में कहा, ''हमें उम्मीद है कि प्रस्तावित नयी (व्यक्तिगत आयकर) योजना को शानदार प्रतिक्रिया मिलेगी।

मार्गों पर 35 हाइड्रोजन रेलगाड़ियां चलाएं, परिकल्पना 

मार्गों पर 35 हाइड्रोजन रेलगाड़ियां चलाएं, परिकल्पना 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सरकार ने शुक्रवार को संसद में कहा कि भारतीय रेल ने विभिन्न धरोहर व पहाड़ी मार्गों पर 35 हाइड्रोजन रेलगाड़ियां चलाने की परिकल्पना की है। अश्विनी वैष्णव ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भारतीय रेल ने विभिन्न धरोहर व पहाड़ी मार्गों पर प्रति गाड़ी 80 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत और प्रति मार्ग 70 करोड़ रुपये की आधारभूत अवसंरचना पर "हाइड्रोजन फॉर हेरिटेज" के तहत 35 हाइड्रोजन रेलगाड़ियां चलाने की परिकल्पना की है।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही भारतीय रेल ने 111.83 करोड़ रुपये की लागत पर आधारभूत अवसंरचना के साथ-साथ मौजूदा डीजल इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट (डेमू) रेक को हाइड्रोजन ईंधन संचालित बनाने के लिए आवश्यक बदलाव की खातिर एक प्रायोगिक परियोजना को मंजूरी प्रदान की गई है।

इस रेलगाड़ी को उत्तर रेलवे के जींद-सोनीपत खंड पर चलाए जाने की योजना है। उन्होंने कहा कि जींद-सोनीपत खंड पर पहले नमूने का जमीनी परीक्षण वर्ष 2023-2024 में शुरू किए जाने की संभावना है। मंत्री ने कहा कि यह अनुमान लगाया गया है कि हाइड्रोजन ईंधन गाड़ी-सेट की आरंभिक चालन लागत अधिक होगी जिसे बाद में गाड़ियों की संख्या में बढ़ोत्तरी करके कम किया जाएगा।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-114, (वर्ष-06)

2. शनिवार, फरवरी 4, 2023

3. शक-1944, पौष, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 07:09, सूर्यास्त: 06:01। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 11 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'पीएम' मोदी ने अभिनेत्री रश्मिका की तारीफ की

'पीएम' मोदी ने अभिनेत्री रश्मिका की तारीफ की अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। नेशनल क्रश रश्मिका मंदाना सिर्फ साउथ सिनेमा का ही नहीं, अब ...