शुक्रवार, 7 जुलाई 2023

बरसात के दिन    'समसामयिक'

बरसात के दिन    'समसामयिक'

जल अनेक अर्थों में जीवनदाता होता है, इसलिए कहा गया है कि 'जल ही जीवन' है। मनुष्य ही नहीं, जल का उपयोग सभी सजीव जीव-जंतु व प्राणियों के लिए अनिवार्य होता है। पेड़-पौधे एवं वनस्पति जगत के साथ अन्य सभी सजीव संरचना के लिए जल आवश्यक होता है। यह उन पांच तत्वों में से एक है जिससे हमारे शरीर की रचना हुई है। इसके बिना हम जीवित नहीं रह सकते हैं। 

किंतु आज कई बड़े शहरों में जल निकासी न होने के कारण एकत्रित जल प्रदूषण का संवाहक बन जाता है। उसमें रोगाणु उत्पन्न होकर अनेक प्रकार के रोगों को जन्म देते हैं। जनपद गाजियाबाद स्थित उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी नगर पालिका परिषद लोनी में जल निकासी ना होने के कारण बरसात के दिनों में जरा सी बरसात होते ही नेशनल हाईवे, इंटर स्टेट हाईवे, सर्कुलर सड़कें और अंदर गलियों तक में जलजमाव हो गया है। अभी बरसात शुरू ही हुई है, जैसे-जैसे बरसात होती जाएगी, वैसे-वैसे यह प्रदूषित जल स्थानीय नागरिकों को अपनी चपेट में ले लेगा। जिसके कारण हजारों लोग असहनीय पीड़ा का दंश झेलने के लिए विवश होंगे। इन सब के पीछे हमारा स्थानीय जनप्रतिनिधि उत्तराधिकारी है। जनता को तरह-तरह से लूट-खसोटने के अलावा, जनहित में कोई भी ऐसा काम नहीं किया गया है। जिससे जनता को राहत प्रदान हो सकें। जबकि केंद्र व राज्य दोनों स्थानों पर एक ही राजनीतिक पार्टी की सरकार गठित हुई है। सांसद एवं विधायक दोनों जनप्रतिनिधियों का सत्ताधारी पार्टी से संबंध है। इसके बावजूद भी इस विकट समस्या का कोई स्थाई समाधान नहीं किया गया है। किसी सदन में इस समस्या के लिए किसी प्रतिनिधि ने आवाज ही नहीं उठाई है।

आपको बता दें विश्व भर में 80 प्रतिशत से अधिक बीमारियां प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप में प्रदूषित जल से ही होती है। 

हमारे यहां सड़कों पर, कच्ची गलियों में, खाली प्लाटों में और जो भी तराई क्षेत्र है। वहां बरसात का पानी एकत्रित हो जाता है। एकत्रित होकर जल प्रदूषित हो जाता है। उसमें जीवाणु, रोगाणु और विषाणु उत्पन्न हो जाते हैं। प्रदूषित जल के कारण हमें खुजली, खालिस, पीलिया, पोलियो, गैस्ट्रो, एन्टराइटिस, जुखाम, संक्रमण, यकृत शोध, चेचक अतिसार, पेचिस, मियादी बुखार, अति ज्वर, हैजा, खांसी और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां उत्पन्न होती है। क्योंकि जल के अंदर नाइट्रेट, सल्फेट, बोरेट, कार्बोनेट, सिलियम, यूरेनियम, बोरान, बेरियम, मैगजीन आदि खनिज पदार्थ उत्पन्न रहते हैं।

राधेश्याम   'निर्भयपुत्र'

एसपी द्वारा परेड की सलामी ली, निरीक्षण 

एसपी द्वारा परेड की सलामी ली, निरीक्षण 


एसपी द्वारा पुलिस लाइन्स में परेड की ली सलामी

कौशाम्बी। पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा पुलिस लाइन में शुक्रवार की परेड की सलामी ली गई तथा परेड का निरीक्षण किया गया, तदुपरान्त  निरीक्षण के दौरान एसपी द्वारा परेड में उपस्थित समस्त पुलिसकर्मियों के टर्नआउट का अवलोकन कर बेहतर टर्नआउट मेंटेन करने हेतु निर्देशित किया गया।

बरसात होने के कारण परेड ग्राउंड के चारों तरफ बनी सड़क पर पुलिस कर्मियों को फिट रहने हेतु दौड़ लगवाई गई एवं टोलीवार ड्रिल कराई गई।

पुलिस अधीक्षक द्वारा मेस में भोजन की गुणवत्ता को चेक किया गया तथा समस्त शाखाओं, डीसीआर कार्यालय, डायल-112, बैरक, जिम, कैंटीन,लाइब्रेरी तथा एमटी शाखा का निरीक्षण कर संबंधित को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। इस दौरान क्षेत्राधिकारी लाईन एवं क्षेत्राधिकारी चायल भी मौजूद रहे।

शशिभूषण सिंह

विभाग ने 13 करोड़ की शराब को नष्ट किया 

विभाग ने 13 करोड़ की शराब को नष्ट किया 

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। गाजियाबाद आबकारी विभाग ने शुक्रवार को 13 करोड़ रुपए की शराब को नष्ट कर दिया। यह शराब डासना स्थित वेयरहाउस में जमा की गई थी। 

यह पश्चिम उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा वेयरहाउस है। शराब को वेयरहाउस के अंदर रोड रोलर चलाकर पूरी तरीके से नष्ट कर दिया गया। जानकारी के मुताबिक आबकारी विभाग ने पूरे गाजियाबाद से 2019-20 के समय की पुरानी शराब को अपने डासना स्थित वेयरहाउस में रखा था। आबकारी विभाग ने इस पुरानी शराब को पूरी तरीके से नष्ट कर दिया। ताकि यह मार्केट में दोबारा ना पहुंच सके। शराब की कीमत लगभग 13 करोड़ बताई जा रही है। 

यह वह शराब होती है, जो शराब की दुकानों और फैक्ट्रियों में मौजूद होती है। उसकी बिक्री नहीं हो पाती है। इसके एक्सपायर होने के बाद आबकारी विभाग की तरफ से शराब को जब्त कर लिया जाता है और अपने वहरहाउस में रखा जाता है। विभाग से अनुमति मिलने के बाद शराब को नष्ट कर दिया जाता है।

ट्रेन दुर्घटना, 3 रेलकर्मियों को गिरफ्तार किया 

ट्रेन दुर्घटना, 3 रेलकर्मियों को गिरफ्तार किया 

इकबाल अंसारी 

बालासोर। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने दो जून को ओडिशा के बालासोर में हुई ट्रेन दुर्घटना के सिलसिले में शुक्रवार को तीन रेलकर्मियों को गिरफ्तार किया।

इस मामले में यह पहली गिरफ्तारी है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एजेंसी ने वरिष्ठ अनुभाग अभियंता (सिग्नल) अरुण कुमार महंत, अनुभाग अभियंता मोहम्मद आमिर खान और तकनीशियन पप्पू कुमार को गिरफ्तार किया है। ये तीनों आरोपी बालासोर जिले में तैनात हैं।

अधिकारियों ने कहा कि तीनों को भारतीय दंड संहिता की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) और धारा 201 (साक्ष्य नष्ट करना) के तहत गिरफ्तार किया गया है। बालासोर ट्रेन दुर्घटना में 293 यात्रियों की मौत हुई थी। इस दुर्घटना में तीन ट्रेन- शालीमार-चेन्नई कोरोमंडल एक्सप्रेस, बेंगलुरु-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस और एक मालगाड़ी शामिल थी।

तीन फीट लंबा अजगर निकलने से हड़कंप 

तीन फीट लंबा अजगर निकलने से हड़कंप 

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। गंगनहर कांवड़ पटरी मार्ग पर शिवभक्त कांवड़ियों की भीड़ बढ़ने लगी है। पटरी पर बाबा भोलेनाथ के जयकारे गूंज रहे हैं। शुक्रवार सुबह खतौली गंग नहर घाट के निकट तीन फीट लंबा अजगर निकलने से अफरा-तफरी मच गई। कावंडिये जल लेने जा रहे हैं और इसी बीच अजगर मिलने से लोगों में भगदड़ मच गई।

तीन फीट लंबा अजगर मिलने से अफरातफरी मच गई। कांवड़ियों ने तुरंत इसकी सूचना अधिकारियों को दी। पुलिस ने अजगर को पकड़कर करीब दो किलोमीटर दूर जंगल क्षेत्र में छोड़ा है। गुरुवार सुबह से बरसात हो रही है। शुक्रवार सुबह भी रिमझिम बरसात होने से मौसम सुहावना हो गया। मौसम में ठंडक महसूस होने पर कांवड़ियों की रफ्तार भी बढ़ गई है। शुक्रवार प्रातः गंगनहर घाट पर छह से अधिक कांवड़ियों टहल रहे थे। तभी घाट के निकट लगभग तीन फीट लंबा अजगर निकल आया। जिसे देखकर कांवड़ियों में अफरातफरी मच गई।

गंगनहर घाट पर तैनात पुलिसकर्मी प्रशांत कुमार और जितेंद्र कुमार ने अजगर को पकड़कर करीब दो किलोमीटर दूर जंगल क्षेत्र में छोड़ा है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कांवड़ सेवा शिविरों का निरीक्षण किया। शिविर संचालकों को बरसात के मौसम को लेकर सावधानियां बरतने के निर्देश दिए।

ब्लाक अध्यक्षों के नाम की घोषणा, पत्र सौंपा

ब्लाक अध्यक्षों के नाम की घोषणा, पत्र सौंपा

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। समाजवादी पार्टी गंगापार क्षेत्र के जिलाध्यक्ष अनिल यादव ने आज क्षेत्र के अभी ब्लाक अध्यक्षों के नाम की घोषणा करते हुए उन्हें मनोनयन पत्र सौंपा। ज़िला कार्यालय जार्ज टाउन में पार्टी के नेताओं की मौजूदगी में मनोनीत ब्लाक अध्यक्षों को पत्र देकर उन्हें उनकी जिम्मेदारी से अवगत कराया गया। कार्यक्रम का संचालन ज़िला महासचिव राम सुमेर पाल ने किया।

जिलाध्यक्ष अनिल यादव ने ब्लाक अध्यक्षों को बधाई एवं शुभकामनायें देते हुए निर्देशित भी किया कि 15दिन के अंदर अपनी कार्यकारिणी गठित कर उनसे अनुमोदित करा लें और तेजी से बूथ गठन में सेक्टर एवं बूथ अध्यक्षों की मदद करें।सपा प्रवक्ता दान बहादुर मधुर के अनुसार मनोनीत ब्लाक अध्यक्षों के नाम क्रमशः प्रताप पुर लाल चंद्र यादव, सैदाबाद कमलेश पाल, धनुपुर बुद्धि राम बिन्द, हंडिया राकेश यादव, फूलपुर कोमल चौरसिया, सहसों दायशंकर उर्फ़ शंकर लाल पासी, सहसों अंशिक रमेश पासी, बहादुर पुर राजेंद्र कुमार राजन, होलागढ़ बेनी माधव विश्वकर्मा, कौड़िहार प्रमोद कुमार पटेल, श्रृंगवेरपुर तीरथ राज, बहरिया रामसजीवन, सोरांव के एल पटेल, मऊआइमा चंद्र बली हैं।

इस मौके पर अनिल यादव, जीत लाल पासी, डॉ राजेश यादव, राम सुमेर पाल, दान बहादुर मधुर, नाटे चौधरी, आशुतोष तिवारी, सुभाष यादव पूर्व प्रधान, बेला सिंह, बल्लू यादव, मनमोहन यादव, बच्चा यादव, रामा प्रधान, अशर्फी यादव, ओम प्रकाश, अतर सिंह आदि नेतागण मौजूद रहे।

गोरखपुर को रफ्तार और विकास की सौगात दी

गोरखपुर को रफ्तार और विकास की सौगात दी

संदीप मिश्र 

गोरखपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार दोपहर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में गोरखपुर को रफ्तार और विकास की सौगात दी। पीएम ने गोरखपुर से वाया अयोध्या, लखनऊ तक चलने वाली सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही गोरखपुर रेलवे स्टेशन के कायाकल्प वाली पुनर्विकास परियोजना का भी शिलान्यास किया।

गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर आयोजित समारोह से ही पीएम मोदी ने जोधपुर-अहमदाबाद (साबरमती) वंदे भारत एक्सप्रेस का शुभारंभ किया। गीता प्रेस के शताब्दी वर्ष के समापन समारोह में सम्मिलित होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गोरखपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे। प्लेटफार्म नंबर एक पर आने के साथ ही वहां यहां खड़ी वंदे भारत की एक बोगी में गए। उपलब्ध सुविधाओं को देखा। बोगी में पहले से बैठे बच्चों से संवाद किया। क्रू मेंबर्स को शुभकामनाएं दीं। इंजन का जायजा लेने के बाद वह ट्रेन से उतरे।

प्रधानमंत्री ने प्लेटफॉर्म नम्बर एक पर रखे गोरखपुर जंक्शन स्टेशन पुनर्विकास परियोजना का मॉडल का अवलोकन करने के बाद रिमोट का बटन दबाकर इस परियोजना का शिलान्यास किया। इसके बाद उन्होंने जोधपुर-अहमदाबाद वंदे भारत का वर्चुअल शुभारंभ किया। तत्पश्चात प्रधानमंत्री ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में गोरखपुर-लखनऊ वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर सांसद रविकिशन शुक्ल, चेयरमैन रेलवे बोर्ड अनिल लोहाटी, पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक चंद्रवीर रमण आदि भी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

गोरखपुर से वाया अयोध्या, लखनऊ तक वंदे भारत एक्सप्रेस के संचलन से गुरु गोरखनाथ की तपोभूमि, भगवान श्रीराम की जन्मस्थली और प्रदेश की राजधानी तक लोगों को न केवल आवागमन सुगमता मिलेगी बल्कि इससे पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। यह ट्रेन सांस्कृतिक, औद्योगिक और आर्थिक विकास की गति बढ़ाने में भी सहायक होगी। वंदे भारत एक्सप्रेस गोरखपुर से लखनऊ के बीच चलने वाली सबसे तीव्र गति की ट्रेन होगी और इससे दोनों दूरी तय करने में करीब दो घंटे समय की बचत होगी। अत्याधुनिक सुविधाओं के चलते वंदे भारत की यात्रा हवाई जहाज की यात्रा का एहसास कराएगी। सुविधाओं की बात करें तो पूर्णतः वातानुकूलित इस ट्रेन में खानपान, आरामदायक व 360 डिग्री पर घूमने वाली सीट, टच फ्री शौचालय सुविधा, सेंसरयुक्त दरवाजे, वाईफाई के अलावा दिव्यांगजन के अनुकूल शौचालय व ब्रेल लिपि में सीट नम्बर अंकन की भी व्यवस्था है।

गोरखपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन पुनर्विकास परियोजना स्टेशन को सिटी सेंटर के रूप में विकसित करेगी। अत्याधुनिकता के साथ स्टेशन स्थानीय विरासत प्रतीकों का भी प्रतिनिधि होगा। नए स्टेशन भवन में गोरखनाथ मंदिर और गीता प्रेस की झलक भी दिखेगी। इसमें मल्टी फंक्शनल कॉम्प्लेक्स का प्रावधान किया गया है। पुनर्विकास परियोजना में स्टेशन पर अत्याधुनिक सुविधाओं वाले रूफ प्लाजा, फूड आउटलेट, प्रतीक्षालय, एटीएम और बच्चों के लिए प्लेइंग एरिया का भी इंतजाम होगा। आधुनिक ग्रीन बिल्डिंग के कांसेप्ट में इसका निर्माण होगा और इसमें वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की भी व्यवस्था की जाएगी।

'विशेषाधिकार समिति' की बैठक संपन्न: परिषद 

'विशेषाधिकार समिति' की बैठक संपन्न: परिषद 


उत्तर प्रदेश विधान परिषद की ‘‘विशेषाधिकार समिति’’ की बैठक सम्पन्न

जनप्रतिनिधियों के पत्रों पर अधिकारी शीर्ष प्राथमिकता पर करें कार्रवाई

अधिकारी जनप्रतिनिधियों का फोन अवश्य उठायें- समिति

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। शुक्रवार को विधान परिषद सदस्य विजय बहादुर पाठक की अध्यक्षता में जनपद प्रयागराज एवं फतेहपुर के अधिकारियों के साथ उत्तर प्रदेश विधान परिषद की ‘‘विशेषाधिकार समिति'' की बैठक शुक्रवार को सर्किट हाउस, प्रयागराज के सभागार में संपन्न हुई, जिसमें विशेषाधिकार समिति के सदस्य पवन सिंह, अशोक अग्रवाल, कुंवर महाराज सिंह, सत्यपाल सैनी, के0पी0 श्रीवास्तव उपस्थित रहे। बैठक में विशेषाधिकार समिति की अध्यक्षता कर रहे विधान परिषद सदस्य विजय बहादुर पाठक ने जनप्रतिनिधियों के साथ हर महीने किसी भी दिन बैठक कराये जाने के लिए कहा है, जिससे जनता की समस्याओं का निस्तारण हो और उसका लाभ समय से मिल पाता है।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जनप्रतिनिधियों के मोबाइल नम्बर समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों अपने-अपने मोबाइल में फीड कर लें जिससे कि कोई दूसरा व्यक्ति उसका दुरूपयोग न कर सके साथ ही जनप्रतिनिधियों का फोन अवश्य उठाये, यदि किसी कारणवश फोन न उठा पाये तो काॅलबैक कर जनप्रतिनधियों से बात कर लें, इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता एवं लापरवाही न बरती जाये।

अध्यक्ष व सदस्यों ने जिलास्तरीय अधिकारियों से कहा है संसद/ विधानसभा/परिषद के सदस्यों तथा प्रशासन के बीच सम्बन्ध, सदस्यों के प्रति शिष्टाचार प्रदर्शन आदि विषयों पर विभिन्न विभागों द्वारा जारी किये गये आदेशों की प्रतियॉ, जनपद के समस्त विभागाध्यक्षों के पास उपलब्ध है तो जिलाधिकारी ने बताया कि समस्त विभागाध्यक्षों के पास उपलब्ध है। मुख्य विकास अधिकारी ने शासनादेश के सम्बन्ध में विस्तार पूर्वक जानकारी उपलब्ध करायी। समिति ने अधिकारियों से पूछा कि प्रशासनिक/जनप्रतिनिधियों के समन्वय की क्या स्थिति है, जिस पर अधिकारियों द्वारा बताया गया कि जनप्रतिनिधियों से विभाग द्वारा नियमित समन्वय स्थापित किया जाता है।

उन्होने कहा कि क्या जनपदीय अधिकारियों द्वारा शासन द्वारा जारी शासनादेशों के अनुरूप सदस्यों को समुचित सुविधायें/जानकारियं जनपद में उपलब्ध करायी जाती है तो बताया गया कि शासनादेश के अनुरूप सदस्यों को सुविधायें एवं जानकारियॉ समय पर उपलब्ध करायी जाती है। समिति ने पूछा कि क्या जनपद में समस्त विभागाध्यक्षों के पास जन प्रतिनिधियों द्वारा समय≤ पर दिये गये पत्रों को अंकित करने हेतु रजिस्टर/कम्प्यूटर आदि की व्यवस्था है तो मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि जनप्रतिनिधियों द्वारा जो शिकायतें/पत्र प्राप्त होते है उनका सम्बन्धित विभागों को भेजकर रजिस्टर में अंकन किया जाता है और शिकायतों के निस्तारण से जनप्रतिनिधियों को अवगत भी कराया जाता है।

विशेषाधिकार समिति ने जानकारी ली कि क्या विधान मण्डल के सदस्यों द्वारा जनपदीय अधिकारियों/कर्मचारियों के विरूद्ध किसी कार्यवाही की संस्तुति वर्ष 2022-23 में की गयी थी तो उस पर कृत कार्यवाही से सम्बन्धित सदस्य को अवगत कराया गया जिस पर बताया गया कि वर्ष 2022-23 में विधान मण्डल के सदस्यों द्वारा कोई शिकायत प्राप्त नहीं है। पूछा गया कि जिले के प्रशासनिक एवं विभागीय अधिकारियों तथा जन प्रतिनिधियों से सम्पर्क व उनकी दृष्टि में विधान मण्डल के सदस्यों की स्थिति क्या है तो बताया गया कि अतिसम्मानीय है। समिति ने पूछा कि सदन अथवा उसकी समितियों को जिला स्तर से प्राप्त उत्तर की स्थिति क्या है तो बताया गया कि प्राप्त पत्रों पर नियमानुसार कार्यवाही की जाती है। बैठक में पूछा गया कि क्या विधान मण्डल सदस्यों के प्रति समान रूप से समुचित शिष्टाचार एवं सम्मान प्रदर्शित किया जाता है तो बताया गया कि समान रूप से समुचित शिष्टाचार एवं सम्मान प्रदर्शित किया जाता है।

बैठक के अन्त में विशोषाधिकार समिति के अध्यक्ष विजय बहादुर पाठक ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि जनप्रतिनिधियों के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार रखे, उनकी शिकायतों का सर्वोच्च प्राथमिकता पर संज्ञान लेते हुये शासन के निर्देशानुसार अनुपालन कराना सुनिश्चित करें। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार की जो योजनायें संचालित है उसको सबका-साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के साथ कार्य करें। अध्यक्ष ने जनपद में महाकुम्भ-2025 के आयोजन के सम्बंध में की जा रही तैयारियों के बारे में जानकारी ली। कहा कि जो भी परियोजनाएं है, उनको निर्धारित समयावधि में गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूरा करायें। अध्यक्ष ने नदियों, तालाबों के किनारे-किनारे वृक्षारोपण कराये जाने के लिए कहा है। उन्होंने हर घर नल जल योजना की प्रगति के बारे में भी जानकारी ली। अध्यक्ष ने अधिकारियों को जनपद में सरकारी योजनाओं से सम्बंधित कार्यक्रमों/शिलान्यास/लोकार्पण या लाभार्थिंयों को योजनाओं से लाभान्वित कराये जाने वाले कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों को अवश्य आमंत्रित किए जाने के लिए कहा है। बैठक में जिलाधिकारी प्रयागराज एवं फतेहपुर ने आये हुये उ0प्र0 विधान परिषद के सदस्यों के प्रति आभार प्रकट किया और कहा कि जो भी दिशा निर्देश दिये गये है उसका शत् प्रतिशत अनुपालन समस्त अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित किया जायेगा।

बैठक में पुलिस आयुक्त रमित शर्मा, जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री, जिलाधिकारी फतेहपुर श्रुति, मुख्य विकास अधिकारी गौरव कुमार, पीडीए उपाध्यक्ष अरविंद सिंह चौहान, नगर आयुक्त चन्द्र मोहन गर्ग सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

10 लाख रुपए का डोडा पोस्त बरामद, 3 अरेस्ट 

10 लाख रुपए का डोडा पोस्त बरामद, 3 अरेस्ट 

नरेश राघानी 

चूरू। सदर थाना पुलिस और डीएसटी की टीम ने गुरुवार रात एनएच 52 पर ढाढर गांव के पास एक लोडिंग टेंपो से दो क्विंटल 30 किलो डोडा पोस्त बरामद किया है। मामले में पुलिस ने 3 तस्करों को गिरफ्तार किया है। सदर थानाधिकारी रजीराम ने बताया कि थाने की टीम गुरुवार रात एनएच 52 पर ढाढर गांव के पास नाकाबंदी कर रही थी। चूरू की ओर से आ रही ब्रेजा कार जो हरियाणा नंबर के टेम्पो की एस्कोर्ट कर रही थी। पुलिस ने टेंपो को रुकवाकर उसकी तलाशी ली। जिसमे प्याज के कट्टे भरे हुए थे। जिनके नीचे रखे कट्टों में 2 क्विंटल 30 किलो डोडा पोस्त छिपाया हुआ था।

पुलिस ने पोस्त को बरामद कर हरियाणा फतेहाबाद टोहाना निवासी कुलदीप सिंह, अग्रोहा हिसार निवासी संजय कुमार और उकलाना मंडी हिसार हरियाणा निवासी मनदीप सिंह को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की प्राथमिक पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि पोस्त को वे चितौड़गढ़ के पास गंगरार से लाए थे। जिसको हरियाणा में तस्करी करने के लिए ले जा रहे थे।

पुलिस की ओर से जब्त किए गए डोडा पोस्त की बाजार में कीमत करीब दस लाख रुपए बताई जा रही है। मामले की जांच रतननगर सीआई जसवीर कुमार कर रहे हैं। कार्रवाई करने वाली टीम में सदर थानाधिकारी रजीराम, कॉन्स्टेबल धर्मेन्द्र, नवीन कुमार सांगवान, सरजीत, गोपीराम और डीएसटी प्रभारी सुरेश कस्वां, कुलदीप, प्रमोद, मुकेश और भीम शामिल रहे।

गहलोत की ‘छप्पर फाड़’ सौगातें, झूम उठे लोग

गहलोत की ‘छप्पर फाड़’ सौगातें, झूम उठे लोग

नरेश राघानी 

जयपुर। गहलोत सरकार इस चुनावी वर्ष में महंगाई के मोर्चे पर हर वर्ग को राहतें और सौगातें देने में जुटी हुई है। इसी क्रम में अब प्रदेश भर के करीब 8 लाख सरकारी कर्मचारियों और पेंशनर्स का एक बार फिर महंगाई भत्ता बढ़ा दिया गया है। ख़ास बात ये है कि कर्मचारी-पेंशनर्स के महंगाई भत्ते में इस बार के इज़ाफ़े से ये पैमाना 400 प्रतिशत के भी पार चला गया है। ऐसे में राजस्थान सरकारी कार्मिकों-पेंशनर्स को सबसे ज़्यादा महंगाई भत्ता दिए जाने के मामले में पूरे देशभर में संभवतः शीर्ष पर पहुंच गया है।

सीएम गहलोत ने लगाई प्रस्ताव पर मुहर

प्रदेश में पांचवें वेतन आयोग के तहत कार्यरत कार्मिकों और पेंशनरों को जनवरी 2023 से बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता मिलेगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस संबंध में प्रस्ताव का अनुमोदन किया है। प्रस्ताव के अनुसार, पांचवें वेतन आयोग तथा राजस्थान सिविल सेवा (पुनरीक्षित वेतन) नियम, 1998 के अन्तर्गत कार्यरत राज्य कर्मचारियों और पेंशनरों के महंगाई भत्ते अथवा महंगाई राहत की दर में बढ़ोतरी को मंजूरी दी है।

400 प्रतिशत के पार पहुंचा डीए

सीएम गहलोत की मंज़ूरी के बाद अब राज्य भर के कर्मचारियों एवं पेंशनर्स का महंगाई भत्ता 16 प्रतिशत बढ़ गया है। बढ़ा हुआ भत्ता 1जनवरी, 2023 से देय होगा। ऐसे में जहां सरकारी कर्मचारियों को अब तक 396 प्रतिशत की दर से डीए मिल रहा था, वो अब बढ़कर 412 प्रतिशत तक हो गया है।

कर्मचारियों को खाते में, पेंशनर्स को नकद

जनवरी 2023 से मार्च 2023 तक की राशि संबंधित कर्मचारियों के सामान्य प्रावधायी निधि खाते में जमा की जायेगी। जबकि पेंशनर्स को जनवरी, 2023 से बढ़े हुए महंगाई भत्ते का नकद भुगतान होगा।

एसजीपीसी ने किया यूसीसी का विरोध: पंजाब 

एसजीपीसी ने किया यूसीसी का विरोध: पंजाब 

अमित शर्मा   

चंडीगढ़। देश में समान नागरिक संहिता का विरोध बढ़ता जा रहा है। राजनीतिक दलों के नेताओं के बाद अब कुछ संस्थाएं भी इसका विरोध कर रही है। पंजाब में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी भी समान नागरिक संहिता के विरोध में उतर आई है। एसजीपीसी के प्रमुख हरजिंदर सिंह धामी ने अल्पसंख्यकों की परंपराओं, संस्कृति और विशिष्ट पहचान को संभावित नुकसान से जुड़ी चिंताओं का जिक्र करते हुए समान नागरिक संहिता (UCC) का विरोध किया।

एसजीपीसी ने किया यूसीसी का विरोध

आपको बता दें कि उनकी यह टिप्पणी शिरोमणि अकाली दल के उस बयान के एक दिन बाद आई है, जिसमें कहा गया था कि देशभर में यूसीसी लागू करने से अल्पसंख्यक और आदिवासी समुदायों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। एसजीपीसी के प्रमुख हरजिंदर सिंह धामी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि एसजीपीसी ने यूसीसी के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया है और इसे लागू किए जाने का विरोध किया है। सिख गुरुद्वारा (संशोधन) विधेयक, 2023 के मुद्दे पर, धामी ने धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप करने को लेकर पंजाब की आम आदमी पार्टी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि यह सिखों के अधिकारों का सीधा उल्लंघन है।

गृहमंत्री शाह से मुलाकात करेगा एसजीपीसी 

एसजीपीसी प्रमुख हरजिंदर सिंह धामी का कहना है कि एसजीपीसी पहले ही सिख धार्मिक मामलों में राज्य सरकार के हस्तक्षेप का विरोध करते हुए एक प्रस्ताव पारित कर चुकी है। उन्होंने कहा कि इस विधेयक के मुद्दे पर एसजीपीसी की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने की योजना है। गौरतलब है कि पंजाब विधानसभा ने 20 जून को यह विधेयक पारित किया था। एसजीपीसी इस विधेयक का विरोध कर रही है। उसका दावा है कि सिख गुरुद्वारा अधिनियम, 1925 में केवल संसद द्वारा संशोधन किया जा सकता है।

पाकिस्तान में सिखों की सुरक्षा पर ठोस कदम उठाए

धामी ने केंद्र सरकार से पाकिस्तान में सिखों की सुरक्षा के लिए ठोस कदम उठाए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि ऐसा ना हो कि पाकिस्तान में भी अफगानिस्तान जैसे हालात पैदा हो जाएं। धामी ने कहा कि अगर अफगानिस्तान जैसा हाल पाकिस्तान में हुआ तो गुरु घरों की देख-रेख कौन करेगा।

विपक्षी एकता से घबराएं, एनडीए की बैठक 

विपक्षी एकता से घबराएं, एनडीए की बैठक 

अकाशुं उपाध्याय   

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव को लेकर विपक्षी दलों की एकता की मुहिम देख लगता है बीजेपी खौफ में है और इसी कारण उसे अब एनडीए की याद आने लगी है। दरअसल लंबे अर्से बाद बीजेपी ने 18 जुलाई को दिल्ली में एनडीए की बैठक बुलाई है। कहा जा रहा है कि विपक्षी सक्रियता को देखते हुए बीजेपी ने एनडीए को फिर से मजबूत करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। साथ ही 20 जुलाई से शुरू होने जा रहे संसद के मानसून सत्र में बेहतर समन्वय स्थापित कर एक सुर में विरोधी दलों के आरोपों का जवाब देने की रणनीति बनाने के लिए भी बीजेपी ने सत्र से पहले 18 जुलाई को दिल्ली में एनडीए घटक दलों की बैठक बुलाई है।

इसी के साथ एनडीए गठबंधन के विस्तार को लेकर भी खबरें आने लगी हैं। यह कहा जा रहा है कि बड़ा आकार लेते विपक्षी गठबंधन को देखते हुए बीजेपी भी नए साथियों की तलाश में है। चर्चा है कि बीजेपी की इस तलाश का सकारात्मक नतीजा आने वाले दिनों में सामने आ सकता है और बीजेपी के अकाली दल और टीडीपी जैसे पुराने सहयोगी भी एनडीए की बैठक में मौजूद रह सकते हैं।

दरअसल टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू को फिर से एनडीए में लाने की कवायद के बीच बीजेपी ने हाल ही में पूर्व केंद्रीय मंत्री डी पुरंदेश्वरी को आंध्र प्रदेश और जी किशन रेड्डी को तेलंगाना का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर इस दिशा में अपने इरादे साफ कर दिए हैं। इस बीच कर्नाटक से पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा की पार्टी जेडीएस के भी एनडीए में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं। हालांकि, अकाली दल की वापसी के मसले पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से लेकर विजय रूपानी तक बीजेपी के कई नेता बार-बार यह दावा कर रहे हैं कि पार्टी पंजाब में अकेले लोक सभा चुनाव लड़ेगी। पंजाब बीजेपी के नवनियुक्त अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने भी बुधवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद साफ-साफ शब्दों में अकाली दल से बड़े भाई की भूमिका में ही गठबंधन करने की बात कही।

जाखड़ ने कहा कि अकाली दल के साथ गठबंधन के कारण सीटों की लिमिटेशन की वजह से बीजेपी को काफी नुकसान उठाना पड़ा है और राज्य के कई इलाके खासतौर पर पंजाब के ग्रामीण इलाकों में बीजेपी है ही नहीं। उन्होंने कहा कि उन्हें पार्टी को पंजाब की सभी 117 विधान सभा सीटों तक ले जाने की जिम्मेदारी मिली है। अभी अकाली दल की हालत खराब है और अब बीजेपी बड़े भाई की भूमिका में बात करने की स्थिति में आ गई है इसलिए अब हमें बड़े भाई की भूमिका में ही बात करनी चाहिए। बीजेपी के उच्चस्तरीय सूत्रों का कहना है कि पार्टी निश्चित तौर पर अपने गठबंधन का विस्तार करना चाहती है और जो भी राजनीतिक दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर देश की विकास यात्रा में शामिल होना चाहते हैं, उनका स्वागत है। हाल के दिनों में जीतन राम मांझी की पार्टी हम और अजित पवार की पार्टी एनसीपी बीजेपी के साथ आई है और भविष्य में कई अन्य राजनीतिक दल भी पार्टी के साथ जुड़ सकते हैं।

हालांकि, यह भी बताया जा रहा है कि पार्टी ने पंजाब, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में अकेले लोक सभाचुनाव लड़ने का फैसला कर लिया है। लेकिन, पार्टी जिस तरह से बिहार में छोटे-छोटे दलों के साथ गठबंधन कर बड़े भाई की भूमिका में चुनाव लड़ रही है, उसी तर्ज पर अगर कोई राजनीतिक दल अपने प्रभाव वाले राज्य में पार्टी को बड़े भाई की भूमिका देने को तैयार हो जाती है तो गठबंधन में उनका स्वागत है। इशारा स्पष्ट तौर पर अकाली दल और टीडीपी के लिए है। सार्वजनिक तौर पर अकेले लड़ने की घोषणा के बावजूद पर्दे के पीछे बातचीत का दौर जारी है।

फरार डॉन अंसारी की पत्नी की संपत्ति होगी कुर्क 

फरार डॉन अंसारी की पत्नी की संपत्ति होगी कुर्क 

संदीप मिश्रा  

गाजीपुर। विभिन्न आपराधिक मामलों को लेकर जेल में बंद चल रहे माफिया डॉन मुख्तार अंसारी और उसके परिवार की मुसीबतें कम होने की बजाय, लगातार बढ़ती जा रही है। मुख्तार की फरार पत्नी अफशां अंसारी के मकान पर अदालत के आदेश पर कुर्की का नाटक चस्पा किया गया। ढोल नगाड़े के साथ मुनादी कराते हुए पुलिस द्वारा अफशां अंसारी की उस कोठी पर नोटिस चस्पा किया है, जिसमें उसके माता-पिता रह रहे थे। 

पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह ने बताया है कि कुख्यात माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी विभिन्न मुकदमों में फरार चल रही है। पुलिस लगातार अफशां अंसारी के कई ठिकानों पर छापामार कार्यवाही करते हुए उसकी खोजबीन कर चुकी है, लेकिन वह हाथ नहीं लगी है। फिलहाल उसकी तलाश जारी है। पुलिस अधीक्षक ने बताया है कि विभिन्न मामलों में अदालत में हाजिर नहीं होने की वजह से कोर्ट ने अब अफशां अंसारी की संपत्ति को कुर्क करने हेतु दफा 82 सीआरपीसी का एक नोटिस जारी किया है, इसे लेकर पुलिस अफशां अंसारी के मकान पर पहुंची। 

अंसारी के आवास पर सीओ सिटी गौरव कुमार एवं तहसीलदार लालजी विश्वकर्मा की अगुवाई में पहुंची भारी फोर्स ने मुनादी कराने के बाद कुर्की का नोटिस फरार अफशां अंसारी के आवास पर चस्पा किया है। उन्होंने बताया है कि फरार चल रही मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी अगर दी गई अवधि में अदालत या पुलिस के सामने सरेंडर नहीं करती है तो विधि सम्मत तरीके से आगे की कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

कम पानी पीने से उत्पन्न होती हैं कई बीमारी   

कम पानी पीने से उत्पन्न होती हैं कई बीमारी   

सरस्वती उपाध्याय  

कहते हैं जल है तो जीवन है, लेकिन जल होने के बाद भी अगर हम अपने शरीर के हिसाब से कम पानी पिएं तो इसे हम समझदारी नहीं कह सकते। क्योंकि शरीर के हिसाब से कम पानी पीने से कई तरह की बीमारियों को दावत दे सकते हैं। पानी की कमी से डिहाड्रेशन, हाथ पैर में जलन, कब्ज की समस्या, पेट में दिक्कत समेत कई बीमारियां हो सकती हैं।

कई लोग ऐसे भी होते हैं जो कम पानी पीते हैं, लेकिन उन्हें ये ज्ञात नहीं होता कि अपने सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। इसलिए डॉक्टर भी ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह देते हैं। कई लोग तो ऐसे भी होते हैं, जब तक तेज प्यास  लगे  तब भी पानी पीते ही नहीं। इसीलिए आज हम आपको ज्यादा पानी पीने के कुछ आसान से टिप्स बताएंगे।

रोजाना गोल सेट करें

अगर आपको प्यास कम लगती है तो रोजाना पानी पीने के लिए गोल सेट करे लें। सुबह ही आप ये गोल निश्चित कर लें कि आज आपको इतना पानी पीना है। इसके बाद समय-समय पर पीते हुए उस टारगेट को पूरा कर लें। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी।

रिमाइंडर सेट कर लें

कम पानी पीते हैं तो आप मोबाइल में अलार्म लगाकर रिमाइंडर सेट कर सकते हैं। आप पानी पीने के लिए आधे घंटे या एक निश्चित समय का रिमाइंडर सेट कर लें। इस निश्चित अवधि में ही पानी पिएं।

खाना खाने के पहले पानी पिएं

कुछ लोग खाने खाने के तुरंत बाद पानी पीते हैं, ऐसा आप न करें। दिन में ज्यादा पानी पीने के लिए आप रोजाना खाना खाने के पहले पानी पिएं। खाने के बीच में पानी पीने से बचें। रोजाना खाना खाने के पहले पानी पीने से शरीर में पानी की कमी को दूर किया जा सकता है।

अंडरआर्म्स के डार्कनेस से ऐसे पाएं छुटकारा 

अंडरआर्म्स के डार्कनेस से ऐसे पाएं छुटकारा 

सरस्वती उपाध्याय  

अक्सर ये देखा गया है कि महिलाएं अपने अंडरआर्म्स के कालेपन से परेशान रहती हैं। खासकर स्टाइलिश ड्रेस पहनने पर इस डार्कनेस की वजह से शर्मिंदगी का अहसास होता है। वहीं इससे छुटकारा पाने के लिए आप महंगे प्रोडक्ट्स का भी यूज करते हैं, लेकिन फिर भी डार्कनेस से छुटकारा नहीं मिलता है। आज हम आपको कुछ घरेलू उपायों के बार में बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप इस कालेपन को हल्का कर सकते हैं। 

सेब का सिरका

बता दें सेब के सिरका में अमीनो और लैक्टिक एसिड की प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं, जो डेड स्किन को हटाने में मदद करती है। इसके कसैले गुण भी त्वचा के कालापन कम करते हैं। इसके लिए आप एक कॉटन पैड पर सेब का सिरका डालें, इसे अंडरआर्म्स पर हल्के हाथों से लगाएं। कुछ देर बाद पानी से धो लें।

एलोवेरा जेल का करें यूज

अंडरआर्म्स का कालापन दूर करने के लिए आप एलोवेरा जेल का यूज कर सकते हैं। बता दें इसे लगाने के बाद लगभग 10-15 मिनट तक साफ कर लें। आप एलोवेरा जेल का इस्तेमाल नियमित रूप से कर सकते हैं।

बेकिंग सोडा और नींबू

बता दें बेकिंग सोडा एक एक्सफोलिएटर है, यह अंडरआर्म्स के कालेपन को हल्का करता है। दूसरी ओर, नींबू में एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं। इसके लिए एक बाउल में1 बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा और नींबू मिलाएं। इसे अपने अंडरआर्म्स पर लगाएं, लगभग 5 मिनट तक रहने दें। इसे गुनगुने पानी से धो लें और अपनी त्वचा को मॉइस्चराइज़ करें।

चीनी और जैतून का तेल

इसके लिए एक कटोरे में 2 बड़े चम्मच जैतून का तेल और चीनी डालें और इसे अच्छी तरह मिक्स करें । फिर इसे प्रभावित जगह पर लगाएं, करीब 5 -10 मिनट बाद पानी से धो लें।

खीरे का करें यूज

खीरा कई विटामिन्स और खनिजों से भरा होता है। बस कुछ खीरे के स्लाइस को अंडरआर्म्स के कालेपन लगाएं और कुछ देर बाद पानी से धो लें।

नोट- खबर में सलाह और सुझाव केवल सामान्य सूचना के लिए दिया गया है। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो डॉक्टर से सलाह लें।

डीआईजी ने की आत्महत्या, सीएम ने खेद जताया 

डीआईजी ने की आत्महत्या, सीएम ने खेद जताया 

सुनील श्रीवास्तव  

चेन्नई। कोयंबटूर पुलिस उप महानिरीक्षक सी विजयकुमार ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। बताया गया कि शुक्रवार सुबह विजयकुमार ने रेस कोर्स में अपने कैंप कार्यालय में पिस्तौल से खुद को गोली मार ली। मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने घटना पर शोक व्यक्त किया और कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का निधन पुलिस विभाग के लिए भारी क्षति है।

पुलिस ने बताया कि आत्महत्या का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए कोयंबटूर मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया गया। आगे की जांच जारी है।

कौन थे डीआईजी सी विजयकुमार...

सी विजयकुमार ने 6 जनवरी, 2023 को कोयंबटूर रेंज के पुलिस उपमहानिरीक्षक (DIG) के रूप में कार्यभार संभाला। उन्होंने एमएस मुथुसामी का स्थान लिया था। मुथुसामी को ट्रांसफर कर वेल्लोर रेंज के डीआईजी के रूप में तैनात किया गया था। विजयकुमार 2009 बैच के आईपीएस अधिकारी थे। इससे पहले, उन्होंने कांचीपुरम, कुड्डालोर, नागापट्टिनम और तिरुवरुर जिलों में पुलिस अधीक्षक के रूप में कार्य किया। बाद में उन्होंने चेन्नई के अन्ना नगर में डीसीपी के रूप में कार्य किया। उन्हें DIG के रूप में प्रमोट किया गया और कोयंबटूर रेंज में तैनात किया गया।

छत्तीसगढ़: बघेल ने सभी कार्यक्रम रद्द किए 

छत्तीसगढ़: बघेल ने सभी कार्यक्रम रद्द किए   

दुष्यंत टीकम  

रायपुर। सीएम भूपेश बघेल के आज के सभी संगठनात्मक कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। सीएम बघेल राहुल गांधी मामले में अम्बेडकर चौक में आयोजित प्रदर्शन में शामिल होंगे।बता दें कि मोदी सरनेम से जुड़े मानहानि मामले में राहुल गांधी को गुजरात हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी है। ऐसे में अब राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं।

बता दें कि आज सीएम भूपेश बघेल रायपुर दक्षिण विधानसभा के कांग्रेस का बूथ चलो अभियान में शामिल होने वाले थे।

बरसात के मौसम में हरी सब्जियों से करें परहेज   

बरसात के मौसम में हरी सब्जियों से करें परहेज   

सरस्वती उपाध्याय  

चल रहे मानसून के आगमन के साथ मे देशभर में ही बारिश का सीजन भी शुरू हो चुका है। ओर अब अगले 3 महीनों तक पूरे देश में ही लगातार बरसात होनी तय हैं। वैसे तो इस मौसम में गर्मी से भी कुछ राहत तो मिलती है‌। लेकिन, मौसम बदलने से कई सारी बीमारियां भी शुरू हो जाती हैं। ऐसे में हमें इस बदले हुए मौसम के अनुसार अपने खानपान में भी कुछ बदलाव करना जरूरी हो जाता है। देश के कुछ जाने माने आयुर्वेदाचार्यों के मुताबिक बारिश के इस मौसम में इन 5 हरी सब्जियों को बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए। वरना आपको बीमार पड़ते और अस्पताल में भर्ती होते कुछ देर नहीं लगेगी।

बरसात में बैंगन को खाने से भी करें परहेज...

इस बरसात के मौसम में काफ़ी तरह के कीड़े फल-सब्जियों पर अपना धावा बोल देते हैं। उनके इस हमले की वजह से ही पौधे पर लगा हुआ बैंगन 70 प्रतिशत तक नष्ट हो जाता है। ओर तो ओर ये कीड़े बैंगन के अंदर भी प्रवेश कर जाते हैं। ऐसे में अगर आप ये बरसात में बैंगन की सब्जी या उससे बना हुआ भर्ता खाते हैं तो ये कुछ कीड़े आपके शरीर में भी प्रवेश कर जाएंगे। लिहाजा बारिश के दिनों में आपकों बैंगन खाने से बचना चाहिए।

बरसात में टमाटर से भी बना लें दूरी...

अकसर बारिश के दिनों में हमारे शरीर की पाचन प्रक्रिया भी काफ़ी धीमी हो जाती है। ऐसे में कुछ ठंडी चीजें छोड़कर हल्की गर्म चीजें ही खानी चाहिए, जिससे वे हमारे शरीर में आसानी से पच जाएं। टमाटर में भी कुछ क्षारीय तत्व पाए जाते हैं। यह भी एक प्रकार का जहरीला तत्व होता है, जिन्हें पौधे खुद को कीड़ों के हमले से बचाने के लिए ही इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में बरसात में आपके टमाटर ज्यादा खाने से खुजली, रैशेज होने और फुंसी की समस्या भी हो सकती है।

ऐसे बरसात में न खाएं कभी पालक...

जान ले पालक को आयरन का एक बहुत बढ़िया स्रोत माना जाता है और डॉक्टर भी इसे खून की कमी पूरी करने के लिए पालक खाने की सलाह देते हैं। हालांकि इस बरसात के मौसम में आपको पालक से पूरी तरह से ही दूरी बना लेनी चाहिए। इसकी पूरी वजह ये है कि बरसात के दिनों में इस हरी सब्जी पर भी हद से ज्यादा बारीक कीड़े रेंगते रहते हैं, जिन्हें हम खुली आंखों से कभी देख नहीं पाते। पालक खाने पर वे कीड़े भी हमारे पेट में आसानी से जा सकते हैं, जिससे हम सभी बीमार हो सकते हैं।

बरसात में जहरीला हो जाता है मशरूम...

वैसे मशरूम खाना सेहत के लिए काफ़ी बढ़िया माना जाता है। उसे भी प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत माना जाता है। हालांकि सभी प्रकार के मशरूम भी खाने लायक नहीं होते। उनमें से कुछ मशरूम जहरीले भी होते हैं तो कुछ ही खाए जा सकते हैं. बरसात के दिनों में अधिकतर मशरूम ही खाने लायक नहीं रह जाते। ऐसे में बेहतर तो यह रहेगा कि आप बरसात के दिनों में इससे उचित दूरी बना लें।

आपके पेट में भी पहुंच जाते हैं कुछ कीड़े...

इस मौसम में पत्तागोभी को हम चाऊमीन और सैंडविच में रखकर खूब ज्यादा खाते हैं। इसे सलाद के रूप में भी भरपूर इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन यह बहुत कम लोगों को ही पता होगा कि इसके अंदर काफ़ी बड़ी मात्रा में बारीक कीड़े भी पाए जाते हैं। सलाद के रूप में इस समय पत्ता गोभी खाने पर वे कीड़े भी हमारे पेट से होते हुए हमारे दिमाग तक भी पहुंच जाते हैं, जिससे इंसान की जान जाने का भी काफ़ी खतरा पैदा हो जाता है।

पहलवानों का यौन शोषण, सांसद को समन जारी 

पहलवानों का यौन शोषण, सांसद को समन जारी 

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। भारतीय कुश्ती संघ के पूर्व अध्यक्ष और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ बालिग पहलवानों द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न मामलें में शुक्रवार को दिल्ली के राउज एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई हुई। राउज एवेन्यू कोर्ट ने बृजभूषण शरण सिंह को समन जारी किया। कोर्ट ने सिंह को 18 जुलाई को अदालत में पेश होने का आदेश दिया।

बता दें कि 6 बालिग महिला रेसलर्स ने कुश्ती संघ के पूर्व प्रमुख और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया था। पहलवानों के धरना प्रदर्शन और सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद दिल्ली पुलिस ने इस मामले में बृजभूषण सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। दिल्ली पुलिस ने लंबी जांच के बाद 15 जून को कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी।

नाबालिग पहलवान और उसके पिता को नोटिस जारी...

बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ नाबालिग पहलवान के बयानों पर दर्ज की क्लोजर रिपोर्ट पर बीते मंगलवार (4 जुलाई) को सुनवाई हुई थी। क्लोजर रिपोर्ट पर कोर्ट ने चर्चा के बाद बयान बदलने पर नाबालिग पहलवान और उसके पिता को नोटिस जारी किया गया था, नोटिस में बयान बदलने की वजह पूछी गई थी, साथ ही कोर्ट ने पिता पुत्री से 1 अगस्त तक जवाब मांगा है। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा था कि वह नाबालिग पहलवान का पक्ष जानना चाहता है, पक्ष आने के बाद ही केस को रद्द करने का फैसला लिया जाएगा।

15 जून को दाखिल गई थी चार्जशीट...

बता दें कि यौन उत्पीड़न के आोरोंपी की जांच कर कर रही दिल्ली पुलिस की एसआईटी ने 15 जून को राउज एवेन्यू कोर्ट में 1500 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की थी। एसआईटी (SIT)  ने आरोपियों में बृजभूषण सिंह के अलावा भारतीय कुश्ती संघ के असिस्टेंट सेक्रेटरी विनोद तोमर  को भी आरोपी बनाया है। एसआईटी (SIT) ने चार्जशीट में बालिग पहलवानों के मजिस्ट्रेट के सामने दिए गए बयानों को ही आधार माना है। बृजभूषण पर 354, 354ए, 354 डी, धाराएं लगाई गई थी।

अपना भूत बनाओ मजबूत, चुनाव का मंत्र  

अपना भूत बनाओ मजबूत, चुनाव का मंत्र  

हरिओम उपाध्याय  

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर कहा है कि चुनाव को जीतना आवश्यक है। चुनाव जीतने के लिए बूथ स्तर पर प्रयास करना होगा। पार्टी कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता ईमानदारी और निष्ठा से चुनाव में लग जाए तो कोई मुकाबले में नहीं होगा। सपा प्रमुख ने पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में कार्यकर्ताओं और संगठन के पदाधिकारियों की बैठक में कहा कि बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत बनाना है।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता एक दूसरे का सम्मान करें और जनता के सुख दुख में शामिल रहे।

आपके आने से झूठ की बयार बहने लगी 

आपके आने से झूठ की बयार बहने लगी   

दुष्यंत टीकम  

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रायपुर दौरे को लेकर मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल ने पीएम पर सीधा हमला बोला है। बघेल ने कहा कि आप आए तो फिर झूठ की बयार बहने लगी मोदी जी। प्रदेश भाजपा के नेता लगातार किसानों को गुमराह कर रहे थे कि धान खरीदी केंद्र के पैसों से होती है। आप प्रधानमंत्री हैं, आपको तो सच पता है, लेकिन आप भी झूठ बोल गए। यह किसानों के नाम पर सबसे बड़ा झूठ है कि केंद्र राज्य के धान उपार्जन का 80 प्रतिशत केंद्र ले लेता है।

अगर आपकी सरकार की भूमिका राज्यों के धान खरीदी में इतनी ही है तो आपके लोकसभा क्षेत्र वाराणसी में किसान 1000-1200 रुपए क्विंटल में धान क्यों बेचने पर मजबूर हैं मोदी जी? आपको छत्तीसगढ़ के भाजपा नेताओं ने गलत जानकारी दी और आप भाषण पढ़कर चले गए। छत्तीसगढ़ का बच्चा-बच्चा जानता है कि हमने गंगाजल की कसम दस दिनों के भीतर किसानों की कर्जमाफ़ी के लिए खाई थी और दो घंटों के भीतर कर्ज माफ़ी हो गई थी। लेकिन भाजपा की सुई अटक गई है।

भाजपा का ‘2100 रुपए क्विंटल’ और ‘बोनस’ का कभी पूरा न हुआ वादा किसानों को ठीक तरह से याद है। वो ये भी जानते हैं कि कांग्रेस की सरकार उनके लिए क्या कुछ कर रही है। अब छत्तीसगढ़ के किसानों को कोई गुमराह नहीं कर सकता। आप भी नहींं।

गांगुली के साथ बिंदास नजर आई अक्षरा 

गांगुली के साथ बिंदास नजर आई अक्षरा  

कविता गर्ग   

मुंबई। भोजपुरी सिने सुंदरी अक्षरा सिंह ने कल रात कोलकाता में जमकर धमाल मचाया। इस दौरान उनकी मुलाकात टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली से भी हुई, जहां वे बिंदास अंदाज में नजर आईं। अब दोनों की तस्वीर इंटरनेट पर तेजी से वायरल भी होने लगी है, जिसमें अक्षरा सिंह, सौरव के साथ पारंपरिक परिधान साड़ी में नजर आ रही हैं। मौका था कैप्टन टीएमटी के कंपनी के डीलर्स मीट का, जहां अक्षरा सिंह ने जबरदस्त डांस परफ़ॉर्मेंस भी दी और अपनी बिंदास अदाओं से सबों का दिल जीतने मे कामयाब रहीं।

आपको बता दें कि अक्षरा सिंह और सौरव गांगुली कैप्टन टीएमटी के ब्रांड एम्बेडसर हैं। अक्षरा सिंह को अभी हाल ही में इस कंपनी ने ब्रांड एम्बेडसर बनाया है। इस वजह से उन्होंने एक बार फिर इस कंपनी के डीलर मीट में अपने पावर पैक परफ़ॉर्मेंस से सबों को झूमने पर मजबूर कर दिया। अक्षरा ने इसकी कुछ तस्वीरें इंस्टाग्राम पर भी डाली और लिखा – “कोलकाता, आप शानदार थे। अपने विस्तृत परिवार कैप्टन स्टील के लिए प्रदर्शन करना मेरे लिए बेहद खुशी की बात थी। मैंने इसका हर पल आनंद उठाया… मुझे उम्मीद है कि आप लोगों से बहुत जल्द ही मुलाकात होगी।“

अक्षरा सिंह भोजपुरी इंडस्ट्री की सबसे फाइनेस्ट कलाकार मानी जाती हैं और उनके फैंस की संख्या करोड़ों में है। बिहार – यूपी में अक्षरा सिंह की फिल्म प्रेमियों के बीच काफी धाक है, इसलिए बॉलीवुड भोजपुरी इंडस्ट्री में सबसे पहले अक्षरा के साथ जुड़ने में सहजता महसूस करता है। अक्षरा के इस शोहरत में कहीं ना कहीं, बिग बॉस ओटीटी का भी हाथ है, जिसके बाद अक्षरा की पहचान तेजी से ग्लोबल हो गई। फिर क्या था, अक्षरा को बॉलीवुड के उस सुपर स्टार आमिर खान का इंटरव्यू करने का मौका मिला, जिनकी एक झलक को आज भी करोड़ों फैंस मचलते हैं।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-265, (वर्ष-06)   पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शनिवार, जुलाई 8, 2023

3. शक-1944, श्रावण, कृष्ण-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:18, सूर्यास्त: 07:13। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 21 डी.सै., अधिकतम- 33+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए  सरस्वती उपाध्याय  बेहद सुंदर और सुगंधित फूल 'गुलाब' गुणों की खान है और इसकी पं...