मंगलवार, 21 फ़रवरी 2023

सीरीज से बाहर हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम के बल्लेबाज 

सीरीज से बाहर हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम के बल्लेबाज 

इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/सिडनी। भारत के दौरे पर चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने आई ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को एक और बड़ा झटका लगा है। पहले से ही 2-0 से पीछे चल रही आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर सीरीज से बाहर हो गए हैं। बताया जा रहा है कि आस्ट्रेलिया के इस सलामी बल्लेबाज को हेयरलाइन फ्रैक्चर हुआ है।

मंगलवार को मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक भारत के खिलाफ आस्ट्रेलिया द्वारा खेली जा रही चार टेस्ट मैचों की सीरीज के बीच ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर बाहर हो गए हैं। इससे पहले तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड भी भारत दौरे से बाहर हो चुके हैं। दिल्ली में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के दौरान भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज की 2 गेंद वॉर्नर को लगी थी, सिराज की एक गेंद वॉर्नर के हाथ पर तो दूसरी उनके सिर पर लगी थी।

सिर पर गेंद लगने की वजह से डेविड वॉर्नर दिल्ली टेस्ट से बाहर हो गए थे और उनके स्थान पर मैथ्यू रेंनशा को कनेक्शन रिप्लेसमेंट के रूप में शामिल किया गया था। अब जानकारी मिल रही है कि मोहम्मद सिराज की जो गेंद डेविड वॉर्नर के हाथ पर लगी थी उसकी वजह से डेविड वॉर्नर को हेयरलाइन फ्रैक्चर हो गया है, जिस कारण वह आगामी दो टेस्ट मैच नहीं खेल पाएंगे। भारत दौरे से बाहर होने के बाद वॉर्नर अब वापिस ऑस्ट्रेलिया लौटेंगे।

कांग्रेस नेताओं की आवाज को दबाया नहीं जा सकता है 

कांग्रेस नेताओं की आवाज को दबाया नहीं जा सकता है 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांग्रेस के महाधिवेशन से पहले छत्तीसगढ़ के पार्टी नेताओं के घरों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के छापों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला करते हुए कहा कि डरा धमका कर कांग्रेस नेताओं की आवाज को दबाया नहीं जा सकता है। श्रीमती वाड्रा ने ट्वीट कर कहा, "प्रधानमंत्री जी के मित्र गौतम अडानी पर शेल कंपनियों के जरिए घपला व अन्य कई गंभीर आरोप लगे।

लेकिन क्या आपको कोई भी एजेंसी इसकी जांच करते दिखी। लेकिन, कांग्रेस अधिवेशन में अड़ंगा डालने व मोदी जी और उनके मित्र के बीच की सांठगांठ पर उठ रही आवाजों पर एजेंसियां लगा दी गई हैं।" उन्होंने आगे कहा "भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस निडर होकर देश के मुद्दों पर आवाज उठाती रहेगी।

कांग्रेस अधिवेशन में हम महंगाई, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के खिलाफ बुलंद आवाज उठाने का संकल्प लेंगे। कठपुतली एजेंसियों का डर दिखाकर आप देश की आवाज को दबा नहीं सकते। " 

हिमाचल: सरकार ने 'एचपीएसएससी' को भंग किया 

हिमाचल: सरकार ने 'एचपीएसएससी' को भंग किया 

श्रीराम मौर्य 

शिमला। हिमाचल प्रदेश सरकार ने मंगलवार को हमीरपुर स्थित हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग (एचपीएसएससी) को भंग कर दिया, जिसका कामकाज दिसंबर में कनिष्ठ कार्यालय सहायकों (आईटी) की भर्ती परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने के बाद निलंबित कर दिया गया था। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा, ‘‘विभागीय जांच और सतर्कता ब्यूरो की रिपोर्ट में पिछले तीन वर्षों में अनियमितताओं का उल्लेख किया गया। प्रश्नपत्र लीक किए जा रहे थे तथा चुनिंदा लोगों को बेचे जा रहे थे, जिसके बाद राज्य सरकार ने तत्काल प्रभाव से आयोग को भंग करने का फैसला किया है।’’

साथ ही उन्होंने कहा कि हाल में हुई परीक्षाओं को लेकर भी शिकायतें मिली थीं। सुक्खू ने यहां संवाददाताओं से कहा कि उम्मीदवारों की सुविधा के लिए एचपीएसएससी द्वारा मौजूदा भर्ती प्रक्रिया को वैकल्पिक व्यवस्था या परीक्षा एजेंसी के गठन तक हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग (एचपीपीएससी), शिमला को सौंप दिया गया है।

उन्होंने कहा कि सभी परीक्षाएं एचपीपीएससी द्वारा आयोजित की जाएंगी और पहले से आयोजित परीक्षाओं तथा साक्षात्कार और दस्तावेज जांच सहित घोषित या घोषित नहीं किए गए परिणामों पर आगे की कार्रवाई एचपीपीएससी द्वारा की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि एचपीएसएससी के कर्मचारियों को ‘सरप्लस पूल’ में स्थानांतरित कर दिया गया है और उन्हें अपनी पसंद के नए विभागों में शामिल होने का विकल्प दिया जाएगा।

धनशोधन के मामलें में कई स्थानों पर छापा मारा

धनशोधन के मामलें में कई स्थानों पर छापा मारा

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/रांची। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने झारखंड ग्रामीण विकास विभाग में कथित अनियमितताओं से जुड़े धनशोधन के एक मामलें में मंगलवार को कई स्थानों पर छापा मारा। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि संघीय जांच एजेंसी के अधिकारियों ने धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत झारखंड की राजधानी रांची, जमशेदपुर और दिल्ली सहित लगभग 24 स्थानों पर छापा मारा।

धनशोधन का यह मामला सरकारी काम देने के बदले में कथित रूप से दलाली दिए जाने के संबंध में राज्य सतर्कता ब्यूरो की शिकायत से जुड़ा है। सूत्रों का कहना है कि इन आरोपों के संबंध में और सबूत एकत्र करने के लिए छापे मारे जा रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि झारखंड ग्रामीण विकास विभाग के एक अधिकारी और कुछ हवाला डीलर एवं दलालों के परिसर पर छापे मारे जा रहे हैं। 

'माकपा' ने जमात-ए-इस्लामी पर फिर निशाना साधा 

'माकपा' ने जमात-ए-इस्लामी पर फिर निशाना साधा 

इकबाल अंसारी 

तिरुवनंतपुरम/कासरगोड। केरल में सत्तारूढ़ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने जमात-ए-इस्लामी पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के साथ उसकी हालिया बातचीत को लेकर मंगलवार को फिर से निशाना साधा और मुस्लिम संगठन से वार्ता से हुए लाभ के बारे में आमजन को बताने को कहा। माकपा की राज्य इकाई के सचिव एमवी गोविंदन ने आरोप लगाया कि संगठन संघ के प्रति अपने रुख पर पर्दा डालने के लिए वाम दल पर ‘‘इस्लामोफोबिया (इस्लाम के खिलाफ भय और घृणा) फैलाने’’ का सोच समझकर आरोप लगा रहा है।

उन्होंने सोमवार से यहां शुरू हुई पार्टी की महीने भर चलने वाली राज्यव्यापी ‘पीपुल्स डिफेंस रैली’ के बीच जिले में संवाददाताओं से कहा, ‘‘जमात-ए-इस्लामी को लोगों को यह स्पष्ट रूप से बताना चाहिए कि आरएसएस के साथ वार्ता करके उसे क्या हासिल होगा। सच्चाई यह है कि ‘इस्लामोफोबिया’ शब्द का इस्तेमाल करके जमात-ए-इस्लामी और आरएसएस के रुख पर पर्दा डालने की सोच समझकर कोशिश की जा रही है।’’

गोविंदन ने कहा कि वे इसके लिए (अपने रुख को छिपाने के लिए) माकपा पर दोषारोपण की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने मांग की कि संगठन संघ परिवार के साथ वार्ता से होने वाले लाभ के बारे में बताए। इससे कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने भी आरएसएस के साथ वार्ता को लेकर जमात-ए-इस्लामी की आलोचना की थी। जमात-ए-इस्लामी ने पिछले महीने नयी दिल्ली में आरएसएस के साथ वार्ता की थी, जिसकी दक्षिणी राज्य के विभिन्न हलकों में तीखी आलोचना हुई।

6 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को अलग रखने की वकालत 

6 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को अलग रखने की वकालत 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के संगठन सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) ने मंगलवार को मोबाइल परिचालकों के लिये ‘मिड बैंड’ के 6 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को अलग रखने की वकालत की। 6 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को 5जी के लिये बेहतर और संतुलित माना जाता है। सीओएआई का कहना है कि यह 5जी सेवाओं के विस्तार के लिये महत्वपूर्ण है।

इसे सभी के उपयोग के मकसद से लाइसेंस के दायरे से अलग रखा जाना चाहिए। इससे गुणवत्ता तथा अगली पीढ़ी की सेवाओं की लागत पर सकारात्मक असर पड़ेगा। दूरसंचार सेवाप्रदाताओं के लिये 6 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम बेहतर और प्रभावी माना जाता है। फिलहाल ‘मिड बैंड’ में मौजूदा स्पेक्ट्रम दूरसंचार क्षेत्र की आवश्यकता से काफी कम है। साथ ही, 6 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम अपने प्रसार गुणों के साथ घनी आबादी वाले क्षेत्रों, विशेष रूप से शहरी स्थानों के लिये बेहतर है।

सीओएआई के महानिदेशक एसपी कोचर ने संवाददाताओं को 5जी सेवाओं के लिये 6 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम आवंटन की आवश्यकता के बारे में जानकारी देते हुए कहा, ‘‘फिलहाल ‘मिड बैंड’ दायरे में स्थित 720 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम जरूरत के अनुसार पर्याप्त नहीं है। ऐसे में ‘मिड बैंड’ के 6 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को अलग रखने की जरूरत है।’’

भारतीय सेना की वेबसाइट से ऑनलाइन आवेदन करें 

भारतीय सेना की वेबसाइट से ऑनलाइन आवेदन करें 

अकांशु उपाध्याय/अमित शर्मा 

नई दिल्ली/अमृतसर। अग्निवीर के रूप में भारतीय सेना में शामिल होने के इच्छुक सभी इच्छुक उम्मीदवार केवल भारतीय सेना की आधिकारिक वेबसाइट से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, जो 15 मार्च 2023 तक जारी रहेगा। सेना ने अमृतसर, गुरदासपुर और पठानकोट जिलों के उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। 

एक अक्टूबर 2002 से 01 अप्रैल 2006 (दोनों तिथियों सहित) के बीच जन्म लेने वाले सभी अविवाहित योग्य पुरुष/महिला उम्मीदवार अपेक्षित शिक्षा योग्यता के साथ अग्निवीर (जनरल ड्यूटी, अग्निवीर ट्रेड्समैन (8वीं और 10वीं पास), अग्निवीर क्लर्क/स्टोरकीपर टेक्निकल, अग्निवीर टेक्निकल, (ऑल आर्म्स), अग्निवीर जनरल ड्यूटी (महिला सैन्य पुलिस) श्रेणियां के लिए आवेदन कर सकते हैं। सोल्जर टेक्निकल (नर्सिंग असिस्टेंट / नर्सिंग असिस्टेंट वेटरनरी) और सिपाही फार्मा श्रेणियों के लिए योग्य पुरुष उम्मीदवारों से भी आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। भारतीय सेना में भर्ती के लिए पूरी प्रक्रिया इस वर्ष से अब बदल गई है। 

भर्ती प्रक्रिया अब देश भर के विभिन्न केंद्रों पर बहुविकल्पीय प्रश्नावली प्रारूप में ऑनलाइन लिखित परीक्षा के साथ शुरू होगी। ऑनलाइन परीक्षाएं 17 अप्रैल से शुरू होंगी। सभी सफल उम्मीदवारों की शारीरिक भर्ती रैली पहले की तरह होगा। रैली के स्थान और तारीख का विवरण अलग से घोषित किया जाएगा। 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-132, (वर्ष-06)

2. बुधवार, फरवरी 22, 2023

3. शक-1944, फाल्गुन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2079‌।

4. सूर्योदय प्रातः 07:09, सूर्यास्त: 06:01। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 15 डी.सै., अधिकतम- 22+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

परंपरा: 'माह-ए-रमजान' का महीना प्रारंभ, रोजे

परंपरा: 'माह-ए-रमजान' का महीना प्रारंभ, रोजे सरस्वती उपाध्याय  इस्लामिक कैलेंडर का 9वां महीना रमजान का पाक महीना होता ह...