सोमवार, 10 फ़रवरी 2020

नगर के भ्रष्टाचार ने खत्म किया विश्वास

नगर पालिका ने 26 लाख की मट्टी व इंटरलॉकिंग टाइल्स लगाई



सचिन बिसौरिया


गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश की सबसे बड़े नगर पालिका लोनी नगर पालिका जो क्षेत्रफल के हिसाब से प्रदेश में नंबर वन है। वही भ्रष्टाचार में भी नंबर वन बनती चली जा रही है। यह पहला मौका नहीं है जब लोनी नगर पालिका के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप में उंगलियां उठ रही है। इससे पहले भी लोनी नगर पालिका कई बार भ्रष्टाचार के मामले में सुर्खियों में बनी रहरही।


आपको बता दें कि लोनी नगर पालिका के लाल बाग कॉलोनी में एक पार्क के सुंदरीकरण को लेकर 26.17 लाख रुपए की लागत का खर्चा पार्क के सौंदर्यकरण में दिखाया गया है। जिसका कार्य अब से 1 साल पहले शुरू होकर खत्म भी हो गया है। कागजों में लेकिन मौके पर मना करने पर पार्क में सिर्फ और सिर्फ 26 लाख की मट्टी व इंटरलॉकिंग ही दिखाई दे रही है। इससे अलग कोई भी विकास कार्य पार्क में दिखाई नहीं दे रहा है जबकि क्षेत्रवासियों का कहना है कि यह उनके लिए अब यह पार्क सिरदर्द बन गया है। यहां रात के समय में असामाजिक तत्व आकर शराब पीते हैं मोहल्ले वालों से लड़ाई करते हैं पार्क में किसी तरह की कोई व्यवस्था नहीं है अंधेरा छाया रहता है। सौंदर्य करण के नाम पर केवल ही हां कमीशन खोरी और भ्रष्टाचार ही दिखाई देता है।


फिट रहने के लिए उम्र की बंदिश नहींश

नई दिल्ली। मां बनने के बाद भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने अपना अगला लक्ष्य फैन्स के सामने पहले ही साफ कर दिया था कि वह जल्द से जल्द टेनिस के कोर्ट पर वापसी करना चाहती हैं। चार महीने पहले उन्होंने अपने इस लक्ष्य का हासिल करने की मुहिम शुरू की और अब वह इसमें कामयाब होती दिख रही हैं। इन दोनों तस्वीरों में सानिया ने अपने वजन में आए अंतर का भी जिक्र किया है। मां बनने के बाद उनका वजन 89 किलो तक पहुंच गया था और इसके बाद खुद को फिर से फिट करने की मुहिम में जुटी सानिया ने अपना वजन 63 किलो कर लिया है।
सानिया ने सोमवार को अपने फैन्स के साथ अपनी दो तस्वीरें शेयर की हैं। पहली तस्वीर में उन्होंने अपनी एक पुरानी तस्वीर शेयर की है, जो उनके मां बनने के बाद की है। इसके साथ एक ताजा तस्वीर भी पोस्ट की है, जिसमें वह पहले जैसी फिट नजर आ रही हैं। इस तस्वीर में सानिया इतनी फिट नजर आ रही हैं, जितनी फिट वह टेनिस खेलने के दौरान दिखती थीं। इंस्टाग्राम पर शेयर इन दोनों तस्वीरों के जरिए इस टेनिस स्टार ने अपने फैन्स को फिटनेस के प्रति प्रेरित भी किया है। सानिया ने अपनी इस तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा, ‘अगर मैं यह कर सकती हूं तो कोई भी यह कर सकता है।’ इन तस्वीरों के साथ सानिया ने अपने कैप्शन की शुरूआत ’89 किलो बनाम 63′ लिखकर की। अपने कैप्शन में सानिया ने लिखा, ‘हम सभी के पास लक्ष्य होते हैं.. रोजाना के लक्ष्य और लंबे समय के लक्ष्य.. इनमें हरेक पर गर्व होता है। मुझे इस लक्ष्य को पाने में 4 महीने लगे कि मां बनने के बाद मैं फिर से स्वस्थ और फिट हो जाऊं।’ उन्होंने आगे लिखा, ‘ऐसा महसूस हो रहा है कि वापसी करने और अपनी फिटनेस को फिर से पाने में लंबा समय लगा और अब मैं अपनी फिटनेस के सर्वोच्च स्तर को पाने में समर्थ हूं। अपने सपनों को जियो.. यह मायने नहीं रखता कि कितने लोग आपको यह बता रहे हैं कि आपसे नहीं होगा ईश्वर जानता है कि ऐसे कितने लोग हमारे आसपास होते हैं। अगर मैं यह कर सकती हूं तो कोई भी यह कर सकता है।’ इसके साथ ही सानिया ने हैशटैग बिलीव और हैशटैग मम्माहसल शब्द का भी इस्तेमाल किया है।


लहरों में अपने बच्चों को बचाता घड़ियाल

नई दिल्ली। ट्विटर पर घड़ियाल की एक तस्वीर काफी वायरल हो रही है। इस तस्वीर में एक घड़ियाल अपने बच्चों को पानी की लहरों से बचाते हुए किनारे पर ले जाते हुए नजर आ रहा है। इस वजह से घड़ियाल की इस तस्वीर को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। बता दें, इस तस्वीर को आईएफएस ऑफिसर प्रवीन कासवान ने शेयर किया है, जिसमें एक घड़ियाल अपने बच्चों को अपने ऊपर बैठा कर नदी पार करते हुए नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर को शेयर करते हुए प्रवीन कासवान ने लिखा, ”सबसे अधिक चौकन्ना रहने वाले पिता शहर में हैं”। उन्होंने आगे बताया कि इस तस्वीर को धृतिमान मुखर्जी ने खींचा है।उस वक्त बहुत से जानवर चंबल नदी पार कर रहे थे। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, ”संरक्षण के प्रयास इस प्रजाति को वापस जिंदगी देने में मदद कर रहे हैं और जब हम नदी संरक्षण की बात करते हैं तो हम उनके भविष्य के लिए भी बात कर रहे हैं”। फरवरी को शेयर की गई इस तस्वीर पर अब तक कई लोगों ने ट्वीट किए हैं। वहीं इस पोस्ट को अब तक 5 हजार से अधिक लोगों ने लाइक किया है। वहीं 1,000 से अधिक लोगों ने इस पर कमेंट किए हैं। इस पोस्ट पर लोगों ने कमेंट करते हुए घड़ियाल को एक जिम्मेदार पिता बताया। हालांकि, इसके अलावा भी लोगों ने पोस्ट पर बहुत से अलग कमेंट्स किए हैं। एक यूजर ने लिखा, एक जिम्मेदार पिता… यह तस्वीर लोगों को काफी कुछ सिखा रही है। वहीं एक अन्य ने लिखा, ”यह तस्वीर वाकई काफी अच्छी है।


खाघ वस्तुओं से फैला कोरोना वायरस

नई दिल्ली। चीन में आठ सौ से अधिक लोगों की जान ले चुका कोरोना वायरस (विषाणु) चाइनीज सी-फूड यानी मछलियों समेत अन्य समुद्री खाद्य प्राणियों से फैलना शुरू हुआ। बेहद कम समय में यह विषाणु चीन के सभी प्रांतों में फैल गया। भारत को नोवेल कोरोना वायरस के संबंध में चीन से पहली सूचना 31 दिसंबर को मिली थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने सोमवार को संसद को यह जानकारी दी। मंत्री ने कहा कि दिसंबर की शुरुआत में इस वायरस के प्रकोप को चीन के हुबेई प्रांत के वुहान शहर के सीफूड बाजार में नोटिस किया गया था। वहां से यह वायरस पहले वुहान शहर और फिर चीन के 30 अन्य राज्यों में फैल गया। डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा, “9 फरवरी तक चीन में कोरोना वायरस के 37,198 मामले सामने आए हैं और 811 लोगों की मौत हो चुकी है। चीन के अलावा 27 देशों (हांगकांग, मकाऊ तथा ताइवान) में 354 और मामले सामने आए हैं। चीन से सूचित मामलों और मौतों की संख्या में वृद्धि हो रही है।” उन्होंने कहा, “नोवेल कोरोना वायरस के बड़े समूह के कारण इंसानों तथा जानवरों में बीमारियां फैलती हैं। पशुओं में पनपे कोरोना वायरस कभी-कभार विकसित होकर लोगों को संक्रमित करते हैं तथा उसके बाद वायरस अन्य लोगों में फैलने लगते हैं।” विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 30 जनवरी को इस महामारी को पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी ऑफ इंटरनेशनल कंसर्न (पीएचआईईसी) घोषित किया। इस वायरस से संक्रमित होने के बाद किसी सामान्य व्यक्ति के शरीर में बीमारी विकसित होने में लगभग 2 सप्ताह लग सकता है। नोवेल कोरोना वायरस के मुख्य लक्षण हैं बुखार, खांसी और सांस लेने में दिक्कत। रेडियोलॉजिकल साक्ष्य निमोनिया जैसे होंगे। 10 प्रतिशत से 20 प्रतिशत मामलों में रोग इतना गंभीर हो सकता है कि वेनटिलेटरी सहायता की जरूरत पड़े। ऐसे मामलों में मृत्यु-दर लगभग 2 प्रतिशत है। मनुष्य से मनुष्य में संप्रेषण के मामले नोवेल कोरोना वायरस में देखे गए हैं तथा ये संक्रमित व्यक्ति के सन्निकट रहने वाले लोगों में ड्रापलेट्स/एयरोसोल के माध्यम से फैलता है। डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा, “संक्रमित रोगियों के फीकल नमूनों में इस वायरस के पाए जाने की रिपोर्टों के सार्वजनिक स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभावों संबंधी अध्ययन किए जा रहे हैं। नोवेल कोरोना वायरस को और फैलने से रोकने के लिए इस रोग के सभी संदिग्ध एवं संभावित मामलों को बैरियर नर्सिग एवं संपूर्ण सावधानियों के साथ अलग से उपचार किया जाना चाहिए।” भारत में अभी तक कोरोना वायरस के तीन मामले सामने आए हैं। तीनों रोगी केरल के हैं और इन तीनों ने पिछले दिनों चीन के वुहान शहर की यात्रा की थी।


चीन की कार भारत में करेंगी एंट्री

नई दिल्ली। इन दिनों दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में कारों का मेला यानि ऑटो एक्सपो-2020 चल रहा है। इसमें दुनियाभर की कार कंपनियां अपनी कार के माडल्स पेश कर रही हैं।
खास बात ये है कि इस मोटर शो के जरिये चीन की दिग्गज कार निर्माता कंपनी ग्रेट वाल मोटर्स भारत के कार बाजार में एंट्री करने वाली है। चीन की दूसरी सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी ग्रेट वॉल मोटर्स अपने इंटेलिजेंट और नेक्स्ट जनरेशन टेक्नोलॉजी से लैस वाहनों से दर्शकों का ध्यान खींच रही है। इस कंपनी की नजर अब भारतीय कार बाजार पर है। जिसके लिए कंपनी ने कमर कस ली है।
चीन की ये दिग्गज कार कंपनी ने अगले कुछ वर्षों में भारत में 7 हजार करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना बनाई है। इससे 3 हजार से अधिक लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। यह बात कंपनी के योजना और नीति निदेशक कौशिक गांगुली ने कही। माना जा रहा है कि बेहद जल्द कंपनी भारत में अपना आपरेशन शुरू कर देगी।


सत्यगोपाल चंडीगढ़ प्रशासक के सलाहकार

राणा ओबराय


आईएएस अधिकारी सत्यगोपाल होंगे चंडीगढ़ प्रशासक के सलाहकार?

चंडीगढ़। चंडीगढ़ आवास बोर्ड के पूर्व चेयरमैन एवं वरिष्ठ आईएएस अधिकारी सत्यगोपाल को चंडीगढ़ प्रशासक वीपी सिंह बदनौर का सलाहकार नियुक्त किया जा रहा है|सूत्रों से पता चला है कि केंद्र सरकार ने इस संबंध मेँ अपनी सहमति दे दी है और आधकारिक घोषणा किसी भी समय हो सकती है|बताया जाता है कि मौजूदा सलाहकार 1986 बैच के आई ए एस मनोज कुमार परिदा को दिल्ली का मुख्य सचिव लगाने की तैयारी हो गई है|जिसके चलते दिल्ली सरकार में तैनात अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह 1988 बैच के अधिकारी सत्यगोपाल को चंडीगढ़ प्रशासक का सलाहकार नियुक्त किया जा रहा है|दिल्ली विधान सभा के चुनावों के कल नतीज़ों की घोषणा के बाद इन नियुक्ति की घोषणा होगी|बतादें कि, सत्य गोपाल धार्मिक प्रवत्ति रखते हैं…वह एक ईमानदार आईएएस अधिकारी हैं।


सीएए के खिलाफ 30वें दिन धरना जारी

मंसूर अली पार्क में एनआरसी एनपीआर सीएए के विरोध में तीसवें दिन भी धरना जारी


प्रयागराज। मंसूर अली पार्क में मात्र १०युवतियों द्वारा एनपीआर एनआरसी और सीएए के खिलाफ शुरु हुआ धरना शुरु हुए एक माह का लम्बा अन्तराल गुज़र गया। लेकिन महिलाओं के जोश और जज़बे मे तनिक भी कमी नहीं आई। आज भी उसी जोश के साथ शहर के विभिन्न इलाक़ों के साथ शहर.से सटे ग्रामीण इलाक़ो से महिलाओं का जत्था जुलूस की शक्ल में मंसूर अली पार्क पहोँचा।इन्क़ेलाबी तक़रीर और जोशीले नारों से मंसूर अली पार्क का इलाक़ा गूंजता रहा।कभी कोई छोटी बच्ची देश मक्ति के तराने गा कर लोगों का उत्साह बढ़ाती रही तो कभी मंझे हुए वक्ता एनपीआर एनआरसी और सीएए के खिलाफ गरजते रहे।सभी का मक़सद एक था की नहीं चाहिये हमे यह काला क़ानून हमे इससे आज़ादी चाहिये।माईक सम्भाले कभी सायरा अहमद तो कभी सबीहा मोहानी व खुशनूमा बानो व चाँद बाजी तो कभी  कोई पुरुष लगातार उपस्थित महिलाओं को व्यवस्थित और शान्तिपुर्वक चलने वाले धरने के बाबत बताता रहा।मंसूर अली पार्क के बाहरी क्षेत्र में एक माह से गुलज़ार चाय, पान,छोला भटुरा व पुड़ी सब्ज़ी की दूकानो पर पुरुष मजमा लगा कर खड़े रहे वहीं महिलाओं के आते जाते जुलूस को मंसूर पार्क में प्रवेश कराने से लेकर तमाम व्यवस्या मे भागीदारी निभाते रहे।धरना संचालकों में ज़ीशान रहमानी,अब्दुल्ला तेहामी,उमर खालिद आदि महिलाओं के खाने और पीने के पानी के इन्तेज़ाम सहित अन्य कामों को संचालित करने को लगे रहे।सपा महानगर प्रवक्ता सै०मो०अस्करी,कांग्रेसी नेता इरशाद उल्ला,एआईएमआईएम नेता अफसर महमूद,पार्षद फज़ल खान,पार्षद रमीज़ अहसन,पार्षद अब्दुल समद,सै०मो०शहाब,शुऐब अन्सारी,अक़िलुर्रहमान,शाहिद अली राजू सहित अन्य नेताओं ने कानपुर व दिल्ली के जामियामे महिलाओं पर पुलिसया ज़ुल्म व लाठी चार्ज की निन्दा की कहा मोदी और योगी सरकार शान्तिपूर्वक चल रहे धरने को दमनात्मक तरीक़े से कुचलना चाहती है।रौशनबाग़ में एक माह से शान्तिपूर्वक धरना चल रहा है लेकिन यहाँ भी पुलिस ने कई बार धरना स्थल पहोँच कर लोगों को उकसाने का कार्य किया।लेकिन आला अधिकारीयों की सूझ बुझ और सहयोगात्मक रवईये व बड़े बूढ़ों की समझदारी से मामला ठण्डा हो गया।लेकिन प्रदेश के कानपुर और जामिया में जिस प्रकार पुलिस ने नंगा नाच करते हुए शान्तिपूर्वक धरना दे रही महिलाओं को लाठी के दम पर खदेड़ा उसकी जितनी निन्दा की जाए कम है।


बृजेश केसरवानी


आरक्षित वर्ग के पक्ष में सपा का धरना

लोकसेवा आयोग कार्यालय पर आरक्षित वर्ग के अभ्यार्थियों के लिए सपा ने दिया धरना ,सौंपा ज्ञापन


प्रयागराज। लोकसेवा आयोग द्वारा प्रस्ताव पारित कर अन्य पिछड़ा वर्ग ,अनुसूचित जाति/जनजाति,आरक्षित अल्पसंख्यक वर्ग व कमज़ोर तबक़े के आरक्षित अभ्यार्थियों को सीधी भर्ती के पदों पर उच्च मेरिट होने के बावजूद सामान्य वर्ग में चयन न करके उन्ही की कटेगरी में चयनित करने को विवश करने के विरोध में समाजवादी पार्टी के विधानपरिषद सदस्य बासूदेव यादव व निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन के नेत्रित्व में सपा कार्यकर्ताओं ने लोकसेवा आयोग के गेट पर धरना दिया। घन्टों चले धरने के दौरान भारी पुलिस बल भी मौजूद रहा।धरना समाप्त करने को लेकर पुलिस प्रशासन ने दबाव बनाना चाहा लेकिन सपा कार्यकर्ता लोक सेवा आयोग सचिव को बाहर बुलाने और ज्ञापन लेने की मांग करते हुए डटे रहे।लोक सेवा आयोग के उप सचिव पुशकर श्रीवास्तव ज्ञापन लेने बाहर आए तो सपाईयों ने लोक सेवा आयोग और सचिव  प्रभाकर के खिलाफ जम कर नारेबाज़ी करते हुए मुर्दाबाद के नारे लगाए।बासूदेव यादव ने उप सचिव को ज्ञापन पढ़ कर सुनाने के साथ तत्काल विधान सभा व विधान परिषद से पास क़ानून के दायरे में काम करने की बात कहते हुए यह चेतावनी भी दी के अभी सिर्फ गेट के बाहर शान्तिपूर्वक धरना दिया गया है अगर तुग़लकी फरमान वापिस नहीं हुआ तो और उग्र आन्दोलन करने के साथ विधान परिषद में भी धरना देने का काम करुंगा।ज्ञापन के माध्यम से कहा गया की उत्तर प्रदेश अधिनियम संख्या -४ दिनांक २२मार्च १९९४ का अवलोकन करें जिसमे उप्र लोक सेवा आयोग का अधिनियम है जिसमें अनुसूचित जाति / जनजाति अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण है।उपधारा पैरा -१ मे निम्नवत उल्लिखित है की किसी श्रेणी से सम्बन्धित कोई व्यक्ति योग्यता के आधार पर खुली प्रतियोगिता में सामान्य  अभ्यार्थियों के साथ चयनित होता है तो उसे उपधारा-१ के अधीन ऐसी श्रेणी के लिए आरक्षित रिक्तियों के प्रति समायोजित नहीं किया जाएगा।उन्होने यह भी कहा की लोक सेवा आयोग को कहीं से भी यह शक्ति प्राप्त नहीं होती है की वह विधानमण्डल द्वारा पारित अधिनियम को समाप्त करे।आयोग द्वारा पारित प्रस्ताव ग़ैरक़ानूनी तो है ही वहीं प्रदेश के आरक्षित वर्ग के साथ सौतेला व्यवहार है इसे कदापि बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।कहा इस आदेश से ५% आबादी को ४०.५% आरक्षण तथा ९५% आबादी को मात्र ५९.५% आरक्षण मिल पाएगा।योगी सरकार के इशारे पर आयोग द्वारा असंवैधानिक प्रस्ताव को हम नहीं मानेंगे और १३ फरवरी को आहूत विधानमण्डल के सत्र में उक्त पारित प्रस्ताव का मुद्दा सदन में उठाते हुए इसे किसी क़ीमत पर लागू नहीं करने देंगे।धरना प्रदर्शन और ज्ञापन सौंपने के दौरान विधानपरिषद सदस्य बासूदेव यादव,निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सै०इफ्तेखार हुसैन,पूर्व मंत्री रामानन्द भारती,प्रदेश प्रवक्ता निधि यादव,सुशमा भारतीया,पूर्व नगर अध्यक्ष पप्पूलाल यादव,निर्वतमान नगर महासचिव योगेश चन्द्र यादव,महबूब उसमानी,दानबहादूर सिंह मधुर,सै०मो०अस्करी,रविन्द्र यादव,सन्दीप यादव,अखिलेश गुप्ता,डॉ अच्छेलाल यादव,संदीप पटेल,सन्दीप यादव प्रधान,रविन्द्र यादव रवि,रामकृपाल यादव,शिवशंकर वर्मा,आर के भारतीया,आशीष पाल,मो०हामिद,दिलीप यादव,आर एन यादव,सन्दीप चौधरी,पीएन अकेला,सुभाष कुमार,घनश्याम गौड़,पवन कुमार बिन्द,जयशंकर रावत,विनोद विश्वकर्मा,अजीत विधायक,औन ज़ैदी आदि मौजूद थे।


बृजेश केसरवानी


दमनकारी नीतियों पर बढ़ रही सरकार

अंबिकापुर। इन्दिरा गांधी की दमनकारी नीतियों की तरह; बल्कि उससे भी आगे बढक़र सत्ता में बैठे जनप्रतिनिधि आज काम कर रहे हैं। इससे पहले संविधान के साथ इस तरह का छेड़छाड नहीं किया गया है, जैसा अब हो रहा है। पहली बार देश में ऐसा कानून आया है जो धर्म आधारित है। हमारा देश निर्णायक भूमिका में है।


भारत के स्वधर्म को चुनौती मिल रही है। स्वधर्म का मतलब लोकतंत्र, विविधता और अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुंचाना है। संविधान के इस प्रस्तावना पर आज अभूतपूर्व हमला हैं, यह देश के शीर्ष से है। उक्त बातें गांधी सुमिरन कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे सामाजिक कार्यकर्ता योगेन्द्र यादव ने सर्किट हाउस में आयोजित पत्रवार्ता में कही। सामाजिक कार्यकर्ता और गांधीवादी राजनेता योगेन्द्र यादव ने सर्किट हाउस में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि सीएए कानून संविधान विरोधी कानून है। यह एक ऐसे विचार से प्रायोजित है जो देश को तोडऩे वाला है। टू नेशन थ्योरी के आधार पर पूर्व में देश का बंटवारा हुआ था। इसी थ्योरी पर आज काम किया जा रहा है और इसे पीछे के दरवाजे से लागू करने की तैयारी की जा रही है।


इस कानून के माध्यम से धर्मों के बीच बंटवारा किया जा रहा है, दो धर्म की थ्योरी हमारे संविधान के खिलाफ है। यह स्वामी विवेकानंद के मूल मंत्र के खिलाफ भी है। हम स्वामी विवेकानंद के सिद्धांतो को पढ़ते तो हैं लेकिन उसे लागू नहीं करते हैं। सरकार सिर्फ यह कह दे कि स्वामी विवेकानंद के मूल मंत्र को मानते हुए उसे लागू करेंगे। स्वामी विवेकानंद ने शिकागो में कहा था कि मुझे गर्व है कि मैंने भारत में जन्म लिया, जहां सभी जाति, धर्म के लोगों को अपने यहां जगह दी। आज हम उनके मूल मंत्र को ही भूल गए हैं। इस दौरान रेहाना फाउंडेशन के दिनेश कुमार शर्मा, विशाल श्रीवास्तव, जावेद अंसारी, शाहिद अंसारी सहित अन्य उपस्थित थे।


भारत जोड़ो आंदोलन का होगा आगाजः एनआरसी कानून लागू करने के लिए सरकार 60-70 हजार करोड़ रुपए खर्च करने जा रही है। इसमें से 50 हजार करोड़ रुपए देश के बेरोजगारों की सूची तैयार करने में खर्च किया जाता तो इसका फायदा देश के विकास के लिए होता। योगेन्द्र यादव ने कहा कि भारत के 100 बड़े लोगों व संगठनों को सीएए कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए जोड़ा गया है। यह सिर्फ सीएए के विरोध के लिए नहीं है बल्कि भारत जोड़ो आंदोलन के लिए किया जा रहा है। इसका आगाज २२ फरवरी को किया जाएगा। जो 23 मार्च को शहीद भगत सिंह की पूण्यतिथि पर समाप्त होगा।


पुरानी सरकार की तरह कर रही है कामः योगेंद्र यादव ने कहा कि दुर्भाग्यवश पुराने सत्ताधारी जो अब तक काम करते आए हैं, वहीं यह सरकार कर रही है। इंदिरा गांधी की दमनकारी नीतियों के खिलाफ जेपी आंदोलन खड़ा हुआ था। उसे कुचलने के लिए माओवादी प्रायोजित आंदोलन कहा गया। यह सरकार उनकी नीतियों को अपनाते हुए एक कदम आगे बढक़र विरोध प्रदर्शन को कुचलने का काम कर रही है। इसके तहत पूरे देश में एक माह तक कार्यक्रम चलाया जाएगा। हम सभी जनता के बीच जाकर उन्हें इस कानून के बारे में बताएंगे।



एनपीआर कानून का होगा बायकॉटः योगेन्द्र यादव ने कहा कि एनपीआर कानून का पूरे देश में बायकॉट किया जाएगा। जनगणना कानून का विरोध नहीं है लेकिन इस एनपीआर के बाद एनआरसी लाया जाएगा। एनपीआर कानून के माध्यम से परिवार के सदस्यों की सूची ली जाएगी, इसके साथ ही किसी सदस्य के सामने ‘डी’ लिख दिया जाएगा, इसका ही विरोध है।


शाहीन बाग कोई संगठन नहीं, बल्कि एक जगह
शाहीन बाग कोई संगठन नहीं है और न ही कोई उनका नेतृत्वकर्ता है। बल्कि एक जगह का नाम है, जहां की महिलाएं उसका विरोध कर रही हैं। अगर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि विरोध करने का अधिकार है, लेकिन इससे किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए तो सही है। विरोध करने का अधिकार संविधान में प्राप्त है, लेकिन इससे किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए।


ओवैसी की राजनीति से सहमत नहींः योगेन्द्र यादव ने कहा कि शाहिन बाग में कुछ मीडिया के लोगों को जाने से रोका जा रहा है। इसे लेकर मैंने शाहिन बाग के मंच से विरोध किया है। यह मेरा रेकॉडेड भाषण है। शाहिन बाग को लेकर ओवैसी की राजनीति से मैं सहमत नहीं हूं। मैं ऐसे किसी प्रकार के राजनीति से सहमत नहीं हूं।


6 राज्यों का मिला है समर्थनः सीएए कानून व एनपीआर के खिलाफ अब तक ६ राज्यों का समर्थन मिल चुका है। केरल, पंजाब, राजस्थान, झारखंड की विधानसभा ने इसके खिलाफ प्रस्ताव पारित किया है। झारखंड ने सीएए कानून का विरोध नहीं किया है, बल्कि एनपीआर कानून पर विरोध जताया है। छत्तीसगढ़ की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से चर्चा हुई है, उन्होंने इस पर सहमति जताई है, लेकिन अब तक कैबिनेट ने इसे पास नहीं किया है। विधानसभा में भी प्रस्ताव पारित नहीं किया गया है।


सुहाना के फोटो ने खूब सुर्खियां बटोरी

मुंबई। बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान की बेटी सुहाना इन दिनों सुर्खियों में है। सुहाना अभी फिल्मी दुनिया से दूर है। सुहाना खान अपने फोटो और वीडियो से सोशल मीडिया पर जमकर सुर्खियां बटोरती है। इस फोटो में शाहरुख खान की बेटी अपनी दोस्त के साथ मिरर सेल्फी लेती नजर आ रही हैं। सुहाना खान की इस फोटो को उनके फैन ने इंस्टाग्राम पर शेयर किया है।


बता दें कि फोटो के साथ एक वीडियो में सुहाना मशहूर रैपर ऐमिनेम के सुपरहिट गाने ब्यूटीफुल को गाती और डांस करती नजर आ रही हैं। शाहरुख खान की बेटी सुहाना खान का स्टाइल हो या अंदाज, वो सोशल मीडिया पर छा जाती है। सुहाना अपनी आगे की पढ़ाई के लिए इन दिनों न्यूयॉर्क में है। दूसरे स्टार किड्स की तरह वह भी बॉलीवुड में कदम रखना चाहती हैं, लेकिन उनके पिता शाहरुख खान का कहना है कि वह अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद ही एक्टिंग की दुनिया में एंट्री करेंगी। 


मामा ससुर का गर्भवती भांजे की बहू से रेप

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के सरकंडा इलाके में एक कलयुगी मामा ने अपने भांजे की पत्नी की आबरू लूट ली। भांजे को जब मामा की ये करतूत पता चली तो उसने हंसिये से हमला कर दिया जिसमें मामा बुरी तरह से घायल हो गया। सिम्स में उसका इलाज चल रहा है। जबकि पुलिस ने भांजे को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सीपत थाना क्षेत्र निवासी गर्भवती महिला अपने पति के साथ रिस्तेदार बैगा मामा ससुर शांतिलाल के पास झाडफुक कराने पहुंची। झाडफुक के बाद आरोपी तांत्रिक अपनी भांचा बहू को दिया ठंडा कराने के बहाने पास ही बहने वाली नदी के किनारे ले गया। दिया ठंडा करने के बाद तांत्रिक गर्भवती महिला से जबरदस्ती करने लगा। इस पर महिला ने विरोध करते हुए रिस्ते का हवाला दिया तो तांत्रित मामा ससुर ने गर्भवती महिला को गर्भ में पल रहे शिशु के खराब होने का झांसा देकर बलत्कार किया। फिर महिला को लेकर घर पहुंचा और महिला अपने पति के साथ घर लौट गई। रास्ते व घर में मायुस बैठी पत्नी को जब पति ने कारण पूछा तो वह टाल मटोल करने लगी लेकिन जब पति ने कारण जानने का प्रयास किया तो महिला ने तांत्रिक ससुर के द्वारा उसके साथ जबरिया किए बलत्कार की घटना के विषय में बताया। मामा द्वारा पत्नी के साथ बलत्कार करने की घटना की जानकारी लगते ही भांजा पत्नी को साथ लेकर आटो में तांत्रिक मामा के घर पहुंचा और मामा भाचा के बीच बहस हुई और भांजे ने तांत्रित मामा पर हंसिये से जानलेवा हमला कर दिया। भांजे ने मामा पर तीन वार किए मामला सीपत थाने पहुंचा तो पुलिस ने गर्भवती महिला की शिकायत पर आरोपी तांत्रित मामा पर धारा 376 के तहत अपराध दर्ज किया है। तांत्रिक मामा के बेटे की शिकायत पर महिला के पति पर धारा 307 के तहत हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।


'बिग बॉस 13' फाइनल स्टेज पर पहुंचा

मुंबई। बिग बॉस 13 अब फाइनल स्टेज पर पहुंच चुका है। बिग बॉस करीब साढ़े चार महीने चला। बिग बॉस शो जैसे-जैसे फिनाले की तरफ जा रहा है, फैंस की दिलचस्पी बढ़ती जा रही है। 16 फरवरी को सलमान के शो बिग बॉस का ग्रैंड फिनाले हैं। बिग बॉस का विनर कौन होगा इस पर खूब चर्चा हो रही है। बिग बॉस में अब बस 7 प्रतियोगी सिद्धार्थ शुक्ला, रश्मि देसाई, आसिम रियाज, आरती सिंह, पारस छाबड़ा, शहनाज गिल और माहिरा शर्मा रह गए हैं। इन्हीं सातों में से कोई एक बिग बॉस 13 का विनर होगा। शो के होस्ट सलमान खान के बॉडीगार्ड शेरा ने बिग बॉस विनर का नाम ही बता डाला है। शेरा सिद्धार्थ शुक्ला को बहुत पसंद करते हैं। शेरा को लगता है कि सिद्धार्थ शुक्ला ही बिग बॉस 13 के विजेता होंगे।


प्रदर्शन के नाम पर कब्जा नहीं होगा

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में दक्षिण दिल्ली के शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई। जस्टिस एस के कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की पीठ ने टिप्पणी की कि 15 दिसंबर से इस सड़क पर प्रदर्शन किया जा रहा है। विरोध करना ठीक है, लेकिन सार्वजनिक सड़क पर प्रदर्शन ठीक नहीं है। वहीं, चार महीने के बच्चे के मामले में याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और दिल्ली सरकार नोटिस जारी किया है। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है। इसी के साथ कोई ने अंतरिम आदेश जारी करने से इनकार करते हुए सुनवाई के लिए 17 फरवरी को तारीख तय की है। शाहीन बाग में सड़क पर प्रदर्शन पर सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा कि प्रदर्शन के लिए सड़क जाम नहीं कर सकते, साथ ही यह भी कहा कि सार्वजनिक स्थल पर अनिश्चितकाल के लिए प्रदर्शन नहीं किया जा सकता है।


गहरे संकट में है 'भारतीय अर्थव्यवस्था'

नई दिल्ली। कांग्रेस ने सोमवार को राज्यसभा में कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था गहरे संकट में है और सरकार को युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के कदम उठाने के साथ-साथ खपत तथा निवेश बढ़ाने के उपाय करने चाहिए।
कांग्रेस के पी. चिदंबरम ने सदन में वित्त वर्ष 2020-21 के आम बजट पर चर्चा की शुरु करते हुए कहा कि अर्थव्यवस्था गहरे संकट में हैं और सरकार के ‘डाक्टरÓ इसे इससे उबार नहीं पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अर्थशास्त्री भारतीय अर्थव्यवस्था को ‘आईसीयूÓ में बता रहे है लेकिन सरकार इसे ‘आईसीयूÓ के बाहर ‘कुर्सीÓ पर बिठाकर इलाज करना चाह रही है। सही आर्थिक प्रबंधन नहीं करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि सरकार को अर्थव्यवस्था को संकट से निकालने के लिए विशेषज्ञों से सलाह मशविरा करना चाहिए और खपत तथा निवेश बढ़ाने के उपाय करने चाहिए। युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराते हुए जनता के हाथ में पैसा देना चाहिए।
कांग्रेस नेता ने कहा कि नोटबंदी तथा वस्तु एवं सेवा कर को जल्दबाजी में लागू करना सरकार की भयानक भूल है।जिसका असर अर्थव्यवस्था पर दिख रहा है। इसी का असर है कि आर्थिक वृद्धि दर में लगातार छह तिमाही से गिरावट हो रही है। इतने लंबे समय तक अर्थव्यवस्था का गिरावट में होना पहली बार है।


भाग रहा आतंकी मूसा एयरपोर्ट से अरेस्ट

भारत छोड़ पाकिस्तान भाग रहा आतंकी मूसा एयरपोर्ट से गिरफ्तार


मनोज सिंह ठाकुर    


मुंबई। मुंबई सीरियल ब्लास्ट मामले की जांच में भारतीय एजेंसियों को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। आतंकी मुनाफ हलारी मूसा को मुंबई एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया गया है। जानकारी के अनुसार मुनाफ हलारी को गुजरात एंटी टेरेरिज्म स्च्ॉड ने गिरफ्तार किया है। वो पाकिस्तान के पासपोर्ट पर यात्रा कर रहा था। जानकारी के लिए आपको बता दें कि मुनाफ हलारी 1993 में जावेरी बाज़ार में ब्लास्ट मामले में आरोपी था। जांच एजेंसियों को लंबे समय से इसकी तलाश थी। जांच एजेंसियों के मुताबिक मुनाफ हलारी महाराष्ट्र का रहने वाला है। बताया जा रहा है कि ब्लास्ट के लिए इसने तीन स्कूटर दिए थे। एक स्कूटर से जावेरी बाज़ार में ब्लास्ट करवाया गया था, जबकि दो स्कूटर मुंबई के नैगम क्रॉस रोड और दादर में मिले थे। 
बता दें कि साल 1993 में 12 मार्च को मुंबई में सिर्फ दो घंटे के भीतर अलग-अलग जगह 12 धमाके हुए थे। इन धमाकों में करीब 257 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि अनगिनत लोग घायल हुए थे। मुंबई ब्लास्ट के दोषी याकूब मेमन को पहले ही फांसी दी जा चुकी है। जबकि मुख्य आरोपी दाऊद इब्राहिम अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।


रविदास जयंती पर 'मुफ्त जांच शिविर'

रविदास जयंती के उपलक्ष्य पर स्लम बस्ती में मुफ्त स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन


 हृदयेश सिंह की रिपोर्ट


फरीदाबाद। एमवीएन विश्वविद्यालय ने अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के तत्वाधान में बल्लबगढ़ स्थित सेक्टर 8 में संत रविदास जयंती के उपलक्ष्य में स्लम बस्ती में मुफ्त स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया। जिसमें विभिन्न प्रकार की जांच जिसमें रक्तचाप, हिमोग्लोबिन, शरीर द्रव्यमान सूचकांक, रक्त शर्करा आदि की जांच की गई। इस कैंंप में तथा अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के सभी पदाधिकारियों को व एम. वी. एन. यूनिवर्सटी को भी बहुत बहुत हार्दिक बधाई दी। उन्होंने कहा कि हम सब को बदलने की जरूरत है हम सब मिलकर पूरी तरह से प्रयास करेंगे। तभी तो पर्यारण पर नियंत्रण रखना चाहिए जब पर्यारण शुद्ध होगा तो सभी का स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा। ट्रस्ट के राष्टीय महामंत्री हृदयेश सिंह ने संत रविदास जी की जीवनी पर विस्तार से वर्णन करते हुए कहा रविदास जी ने अपना पूरा जीवन अन्य लोगों की सेवा में समर्पित कर दिया था। 
  रविदास जी को बचपन से ही आलौकिक शक्तियां प्राप्त थीं जिनका इस्तेमाल वो लोगों की भलाई के लिए किया करते थे। समाज के हित के लिए संत रविदास ने कई बातें लोगों से कही, उनमें से ही कुछ अनमोल वचन हम आपको बता रहे हैं।
जैसे हवा के कारण सागर मे बड़ी-बड़ी लहरें उठती हैं,
और फिर सागर में ही समा जाती हैं,उनका अलग अस्तित्व नहीं होता। इसी प्रकार परमात्मा के बिना,मानव का भी कोई अस्तित्व नहीं है।


 मोह-माया में फंसा जीव भटकता रहता है।
इस माया को बनाने वाला ही मुक्ति दाता है।
 हे प्रभु ! तुम चन्दन के सुगन्धित वृक्ष हो
और हम संसारिक जीव बेचारे
एरंड के गंधहीन और गुणहीन पौधे हैं,
फार्मेसी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ तरुण विरमानी ने कहा की नर सेवा ही नारायण सेवा है एवं इस प्रकार के कार्यों से ही आत्मा  को शांति मिलती है | शिविर की टीम  के सदस्य डॉ तरुण विरमानी, रेशु विरमानी, गिरीश कुमार, रोहित, दिव्यांशु, गजेंद्र, अंकित एवं खुशी विरमानी ने  सभी जांचों को सफलतापूर्वक करने में अपना महत्वपूर्ण सहयोग दिया | विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ जेवी देसाई एवं कुलसचिव डॉ राजीव रतन ने विभाग के इस प्रयास पर बहुत सराहना की एवं कहा कि भविष्य में भी इस प्रकार के शिविर लगाते रहे और इसके लिए जिस चीज की भी आवश्यकता होगी हम मुहैया कराएंगे|  शिविर में लगभग 284 लोगों की जांच की गई एवं वहां के लोगों ने भविष्य में भी इस प्रकार के शिविर का आयोजन करने के लिए आग्रह किया | इस शिविर को सफल बनाने के लिए विशेष श्रेय अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के महामंत्री हृदयेश सिंह को जाता है जो समाज कल्याण के लिए निरंतर इस प्रकार के कार्य करते रहते है | इस अवसर पर ट्रस्ट के राष्टीय प्रभारी धर्मेन्द्र चौधरी, राष्टीय उपाध्यक्ष कुवर लखन रावत,  राष्ट्रीय महासचिव महेश शर्मा, कोषाध्यक्ष मधु शर्मा, मीडिया प्रभारी संजय शर्मा, राष्टीय सचिव सुष्मिता भौमिक, राष्टीय सचिव नीलम शर्मा, राष्टीय सचिव नीलम तेवतिया, राष्टीय सचिव पूनम चौधरी, राष्टीय सचिव अर्चना चित्रा, प्रदेश अध्यक्ष संगीता नेगी ट्रस्टी विमलेश देवी , सचिव राधिका गुप्ता , दिनेश प्रसाद, संजय शर्मा , सुबोध कुमार साह, शिव शंकर राय, राजन कुमार, मनीषा देवी , बेबी देवी, सतपाल सिंह राजन कुमार, राजीव कुमार, शिव शंकर राय,व अन्य बहुत से व गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।


बेरोजगार संघ का सरकार के खिलाफ धरना

नाहन। अपनी मांगों को लेकर जेबीटी-डीएलएड प्रशिक्षित बेरोजगार संघ सिरमौर ने सोमवार को सड़कों पर उतरकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन( Protest) किया। इस दौरान प्रशिक्षुओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। डाइट से शुरू हुई रैली शहर के विभिन्न हिस्सों से होते हुए डीसी ऑफिस ( DC Office)पहुंची। जहां डीसी के माध्यम से सीएम को एक ज्ञापन भेजा। ज्ञापन में प्रशिक्षुओं ने जेबीटी कमीशन( JBT Commission) में एनसीटीई की अधिसूचना के अनुसार बीएड को शामिल न करने के साथ साथ प्राथमिक स्कूलों में जेबीटी व डीएलएड प्रशिक्षुओं को प्राथमिकता देने की मांग की। बता दें कि जेबीटी भर्ती में बीएड अभ्यर्थियों को अस्थायी तौर पर परीक्षा में बैठने की अनुमति दिए से बेरोजगार जेबीटी अध्यापकों में भारी रोष बना हुआ है। जेबीटी एवं डीएलएड प्रशिक्षित बेरोजगार संघ कई बार सरकार के समक्ष अपनी मांग को उठा चुका है, लेकिन सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है।



 



ज्ञापन में संघ ने मांग की है कि प्रदेश उच्च न्यायालय ने जेबीटी पदों पर बीएड धारकों को अस्थायी तौर पर परीक्षा देने की अनुमति दी है। इस बारे सरकार को अपना पक्ष रखना चाहिए। संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनीत शर्मा, महासचिव मोहित ठाकुर, जिला सिरमौर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष शिवराज ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में जेबीटी एवं डीएलएड प्रशिक्षुओं की संख्या 25 हजार के करीब हैं। जबकि, प्रदेश में 3500 पद जेबीटी के खाली पड़े हैं।


जेबीटी के पदों को भरने के लिए जेबीटी एवं डीएलएड को प्राथमिकता देने के मसले पर संघ कई बार सरकार को अवगत करा चुका है। जेबीटी के पदों को भरने के लिए प्रदेश अधीनस्थ सेवाएं चयन बोर्ड हमीरपुर की ओर से 2018 में आवेदन मांगे गए थे। 12 मई को 2019 को लिखित परीक्षा ली जा चुकी है, लेकिन अब तक परीक्षा परिणाम इसलिए घोषित नहीं किए गया क्योंकि भर्ती प्रक्रिया में बीएड धारकों को भी शामिल किया गया जो जेबीटी भर्ती नियमानुसार नहीं है। संघ ने मांग की कि सरकार जेबीटी एवं डीएलएड प्रशिक्षुओं के पक्ष में अपना पक्ष रखे और जल्द खाली पड़े पदों को भरे। संघ ने ये भी मांग की कि जेबीटी कमीशन में एनसीटीई की अधिसूचना के अनुसार बीएड धारकों को शामिल न किया जाए।


24 घंटे में डबल मर्डर से दहशत

वरुण


जालंधर। जालंधर में 24 घंटे में दूसरे मर्डर कांड से लोगों में दहशत फैल गई है। गत रात्रि श्री गुरू रविदास जी के मेले में हुए युवक के मर्डर के बाद थाना 7 के अधीन पड़ते अर्बन स्टेट फेस-2 के फाटकों के पास गंदे नाले में एक व्यक्ति का शव मिला है। बताया जा रहा है कि शव को कंबल में लपेट कर फैंका गया है और व्यक्ति के शरीर पर गंभीर चोटों के निशान है। यह मर्डर केस है या कुछ और इसकी पुष्टी अभी किसी भी अधिकारी ने नही की है। थाना 7 की पुलिस मौके पर पहुंच चुकी।


'झुमका गिरा बरेली के बाजार में' मिला

दो सौ किलो बजनी झुमके में लागत आई 18 लाख रुपए


बरेली। आखिर मिल ही गया बरेली को उसका ‘बरेली की बाजार में गिरा झुमका’…एनएच 24 के जीरो प्वाइंट पर लगवाया गया विशाल झुमका। मेरा साया फिल्म के गाने ‘झुमका गिरा रे बरेली के बाजार में’ से बरेली का नाम झुमके के लिए हुआ था प्रसिद्ध। 1966 में आई फिल्म ‘मेरा साया’ का वो गाना झुमका गिरा रे बरेली की बाजार में…सुनते ही लोग बरेली को झुमके वाली बरेली के नाम से पहचानते हैं…और अब इस झुमके की तलाश खत्म हो गई जिसका सभी को वर्षो से इंतजार था।
बरेली में एनएच 24 पर जीरो पॉइंट पर झुमका तिराहा बनाया गया है जहां एक विशाल झुमका लगाया गया है। इस झुमके का लोकार्पण केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने किया। झुमका जो महिलाओ की सुंदरता में चार चांद लगाता है, झुमका जो गाने में आते ही गाने की शान बढ़ाता है, और वही झुमका जब बरेली में लग जाए तो बरेली की पहचान बन जाता है। बरेली विकास प्राधिकरण और डॉ केशव अग्रवाल के सहयोग से बरेली में एनएच 24 पर जीरो पॉइंट पर झुमका तिराहा बनाया गया है, जहां एक विशाल झुमका लगाया गया है। झुमके का वजन 200 किलो है और इसके निर्माण में लागत आई है 18 लाख रुपए, इसे 14 फुट की ऊंचाई पर लगाया गया है।
दिल्ली से आने वाले लोगों को ये झुमका देखने को मिलेगा और झुमका देखकर लोग एक बार सेल्फी लेने को जरूर मजबूर हो जायेंगे। केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने इस झुमके वाले चौराहे का उद्घाटन किया। कमिश्नर रणवीर प्रसाद, बीडीए उपाध्यक्ष दिव्या मित्तल और डॉ केशव अग्रवाल भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
 तबस्सुम भट्ट की रिपोर्ट,


योजना के तहत 18 जोड़ों का निकाह

मुख्यमंत्री निकाह योजना के तहत आज हुए 18 जोड़ो के इज्तिमाई निकाह।
शेख़ नसीम


भोपाल। मुख्यमंत्री निकाह योजना के तहत आज वार्ड 41 के सोनिया गाँधी कालोनी में 18 मुस्लिम जोड़ो के इज्तिमाई निकाह हुए। सामाजिक न्याय विभाग एवं नगर निगम भोपाल के सहयोग से सहारा जन अधिकार एवं कल्याण परिषद संस्था ने वार्ड 41 के सोनिया गाँधी कालोनी क्षेत्र में मुख्यमंत्री निकाह योजना के तहत निकाह का आयोजन किया था इस सम्मेलन में 18 जोड़ो के निकाह हुए दूल्हा-दुल्हन के साथ उनके अज़ीज़ रिश्तेदार भी बड़ी संख्या में निकाह सम्मेलन में शामिल हुए।


इस दौरान मौलाना अख्तर कासमी ने निकाह के ताल्लुक से कुछ अहम बाते बयान की। उन्होंने अपने बयान में कहाकि निकाह करना अल्लाह का हुक्म हैं और हमारे नबी की सुन्नत हैं निकाह में फिजूलखर्ची से बचे सादगी वाला निकाह का इस्लाम मे हुक्म हैं और हमे अल्लाह के नबी के तरीके पर ही निकाह करना चाहिए तब ही ये निकाह कामयाब और बरकत वाला निकाह होगा। निकाह का खुतबा काज़ी सालिम साहब ने पढ़ाया और 18 जोड़ो का हिजाब भी उन्होंने कुबूल कराया।


मुख्यमंत्री निकाह योजना के तहत हुए इस इज्तिमाई निकाह सम्मेलन में मौलाना अख्तर कासमी,कारी रफीक साहब,कारी मुश्ताक साहब,मंकशा मस्ज़िद के इमाम और कारी साहब,हाफ़िज़ नसीर साहब, आयोजक डॉ. रेहान सिद्दीकी,ज़ाहिद भाई, अकबर भाई, आतिफ कुरैशी, मुमताज़ अली अंसारी के साथ ही संस्था के सदस्य और दूल्हा-दुल्हन के रिश्तेदारों के अलावा सैकड़ो की तादाद में स्थानीय लोग शामिल हुए।


अपहरण के बाद पांच ने किया गैंगरेप

यमुनानगर। अभी न‍िर्भया गैंगरेप केस के दोषी फांसी पर चढ़े भी नहीं है क‍ि हर‍ियाणा में एक और इस तरह के केस से हलचल मची हुई है। हर‍ियाणा के यमुनानगर में घर में सो रही एक लड़की को पांच लोग घर से उठा ले गए और एक आंगनवाड़ी में गैंगरेप की घटना को अंजाम द‍िया। हैवन‍ियत भरी इस घटना में एक नाबाल‍िग भी शाम‍िल था। पुल‍िस ने यह मामला रव‍िवार को दर्ज क‍िया।


जानकारी के मुताबिक, हरियाणा के यमुनानगर में एक लड़की को पांच लड़के घर से उठाकर पास में एक बंद पड़ी के साथ मारपीट और गैंगरेप का मामला सामने आया है। पीड़िता ने भागने की कोशिश की तो उससे काफी मारपीट की गई। इससे पीड़िता को काफी चोट पहुंची है। आरोपी युवकों ने पीड़िता को उसके घर से उठाया और पास ही बंद पड़ी आंगनवाड़ी में अपराध को अंजाम दिया। घटना में एक नाबाल‍िग भी शामिल था। लड़की किसी तरह दरिदों के चंगुल से बचकर अपने घर पहुंची और पर‍िजनों को इस बारे में बताया। पर‍िजन लड़की को लेकर तुरंत थाने पहुंचे। पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते हुए पीड़िता को चिकित्सीय मदद उपलब्ध कराई और आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया।


पुल‍िस ने घटना की नजाकत को देखकर लड़की का मेड‍िकल कराया। उसके बाद गैंगरेप और मारपीट की धाराओं में केस दर्ज कर ल‍िया। हालांक‍ि पुल‍िस ने शुरुआत में ही लड़की व पर‍िजनों के बयानों के आधार पर अपहरण, गैंगरेप और मारपीट का मामला दर्ज कर ल‍िया था लेक‍िन मेड‍िकल र‍िपोर्ट आने के बाद और एक और धारा जोड़नी पड़ सकती है। इस मामले में लड़की ने सभी आरोप‍ियों की पहचान भी बताई है। इसी आधार पर पुल‍िस आरोप‍ियों को पकड़ने की कोश‍िश कर रही है। जांच अध‍िकारी न‍िर्मल स‍िंह ने दावा क‍िया क‍ि अभी तक पुल‍िस के हाथ भले ही खाली हों लेक‍िन बहुत जल्द ही आरोपी सलाखों के पीछे होंगे।


बसपा नेता और भाई को मारी गोली, मौत

बदमाशों ने बसपा सेक्टर प्रभारी और उसके भाई को मारी गोली,मौत


 गाजीपुर। नन्दगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत सिरगिथा गांव में रविवार की देर रात बाइक सवार बदमाशों ने दो सगे भाइयों को ताबड़तोड़ गोली मार दी। गोली लगने से बड़े भाई विजय राम 40 वर्ष की मौके पर ही
मौत हो गई। जबकि छोटा भाई प्रदुमन गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को डाक्टरो ने वाराणसी रेफर कर दिया गया। जहां उसकी देर रात इलाज के दौरान मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुकुड़ा गांव निवासी विजय राम सिरगिथा में साइकिल की दुकान चलाते थे। वह रविवार रात छोटे भाई प्रद्युमन के साथ घर जा रहे थे। इसी दौरान सिरगिथा गांव के पास बाइक सवार बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोली मार दी। जिससे विजय राम की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि प्रदुमन राम को गोली लगने से गंभीर रूप घायल हो गया। उसे जिला अस्पताल लाया गया। गंभीर हालत देखते हुए उसे वाराणसी रिफर कर दिया जहां देर रात उनकी मौत हो गई। हत्या के कारणों का अभी तक पता नहीं चल सका। पुलिस ने बताया कि 2 लोगों के खिलाफ परिजनों ने नामजद तहरीर दी है। पुलिस ने बताया कि जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। विजय राम कुकुड़ा गांव के सेक्टर प्रभारी थे।


वायरस से मरने वालों की संख्या 910

मनोज सिंह ठाकुर


बीजिंग। चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 910 हो गयी है, जबकि 40171 लोगों में इस संक्रमण के पाये जाने की पुष्टि हुई है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने सोमवार को एक वक्तव्य जारी कर यह जानकारी दी। वक्तव्य के मुताबिक रविवार मध्यरात्रि तक कोरोना वायरस के 3,062 नए मामले सामने आए हैं और केवल एक दिन में इसके कारण 97 लोगों की मौत हुई है।
चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार नौ फरवरी की मध्यरात्रि तक उसे 31 प्रांतों से जानकारी मिली, जिसके अनुसार कोरोना वायरस के 40171 मामलों की पुष्टि की जा चुकी है जिसमें से 6500 लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। 910 लोगों की मौत हो चुकी है तथा करीब 1800 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है।
कोरोना वायरस के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए अमेरिका, जापान और सिंगापुर के अलावा कई अन्य देशों की सरकारों ने हाल में चीन का दौरा करने वाले लोगों के अपने देश में प्रवेश पर रोक लगा दी है। दरअसल, दिसंबर 2019 में चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था जिसके बाद से अब तक यह 25 से अधिक देशों में यह फैल चुका है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम घेब्रेसुस ने रविवार को ट्वीट कर कहा कि अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम चीन में इस संक्रामक वायरस के फैलने की जांच करने के लिए रवाना हो चुकी है। डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस के मद्देनजर वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा भी की हुई है।


वायरस की होगी 15 मिनट में जांच

मनोज सिंह ठाकुर


बीजिंग। चीन के तियानजिन यूनिवर्सिटी में कोरोना वायरस की जांच के लिए एक नए टेस्ट विकसित किया गया है, जिसकी जांच रिपोर्ट महज 15 मिनट में आ जाएगी। इससे महामारी का रूप लेती इस बीमारी के संभावित मरीजों की स्क्रीनिंग के समय में बचत होगी। ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, तियानजिन यूनिवर्सिटी ने बीजिंग बायोटेक कंपनी के साथ मिलकर इस जांच किट का विकास किया है। इस जांच किट का फिलहाल क्लीनिकल ट्रायल किया जा रहा है और इसके बाद इसे मंजूरी के लिए स्वास्थ्य नियामक को भेजा जाएगा।
इससे पहले चीनी स्वास्थ्य नियामक संगठन नेशनल मेडिकल प्रोडक्ट्स एडमिनिस्ट्रेशन (एनएमपीए) ने सनसुरे बायोटेक द्वारा विकसित किट को मंजूरी दी थी, जिससे संदिग्ध मरीजों की जांच के समय में कमी आई। इस किट से 30 मिनट में जांच रिपोर्ट हासिल किया जा सकता है।
एनएमपीए ने पिछले माह 26 जनवरी को चार जांच किट को मंजूरी दी थी। चीन में कोरोना वायरस महामारी से अब तक 811 लोगों की मौत हो चुकी है और 37,198 लोग संक्रमित हैं। जबकि 2003 में सार्स के फैलाव के दौरान दुनियाभर में 774 लोगों की मौत हुई थी और 8437 लोग संक्रमित हुए थे।
सार्स का फैलाव भी चीन से ही हुआ था। यह दक्षिणी प्रांत गुआंझो से फैला था, जबकि कोरोना वायरस पूर्वी मध्य प्रांत हुबेई के वुहान में सीफुड मार्केट से फैला। इस बीमारी का प्रसार अब तक करीब 20 देशों में हो चुका है। हालांकि चीन में इसके संक्रमित लोगों की आबादी 99 फीसदी है। चीन में शनिवार को दो विदेशी नागरिकों की इस बीमारी से मौत हुई थी, जिसमें से एक अमेरिकी और दूसरा जापानी नागरिक था।


भाजपा-आरएसएस आरक्षण के विरोधी

आरक्षण पर फिर बढ़ा बवाल कांग्रेस का सरकार पर निशाना SC में याचिका डालने का दबाव


नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के द्वारा सरकारी नौकरी में आरक्षण को लेकर की गई टिप्पणी के बाद राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई है। कांग्रेस की ओर से इस मसले पर मोदी सरकार पर दबाव बनाया जा रहा है और सर्वोच्च अदालत में पुनर्विचार याचिका दायर करने के लिए कहा जा रहा है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी इस मसले पर मोदी सरकार पर जमकर बरसे और कहा कि बीजेपी-RSS के डीएनए को आरक्षण चुभता है।


कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि RSS-BJP की विचारधारा आरक्षण के खिलाफ है, वह किसी न किसी तरीके से रिजर्वेशन को हिंदुस्तान के संविधान से निकालना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पहले उन्होंने रविदास मंदिर तोड़ा क्योंकि जो एससी-एसटी कम्युनिटी है ये लोग उसे आगे नहीं बढ़ने देना चाहते हैं। केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी की रणनीति आरक्षण को रद्द करने की है, लेकिन बीजेपी वाले कितना भी सपना देख लें ऐसा कभी नहीं होगा। आरक्षण संविधान का हिस्सा है, बीजेपी की ओर से इसे ही खत्म करने की कोशिश की जा रही है। कांग्रेस नेता बोले कि मैं हिंदुस्तान की जनता को कह रहा हूं कि हम रिजर्वेशन को कभी नहीं मिटने देंगे, चाहे मोदी जी सपना देखे या मोहन भागवत सपना देखें...हम ऐसा नहीं होने देंगे। बीते दिनों एक मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सरकारी नौकरियों में आरक्षण का दावा करना मौलिक अधिकार नहीं है। ऐसे में कोई अदालत राज्य सरकारों को SC और ST वर्ग के लोगों को आरक्षण देने का निर्देश नहीं जारी कर सकती है। आरक्षण देने का अधिकार और दायित्व राज्य सरकारों के विवेक पर निर्भर है। कांग्रेस की ओर से संसद में भी इस मसले पर स्थगन प्रस्ताव दिया गया है। ऐसे में ना सिर्फ बाहर बल्कि संसद के अंदर भी सरकार को विपक्ष का गुस्सा झेलना होगा।


बता दें कि प्रमोशन में आरक्षण का जिन्न एक बार फिर बाहर आ गया है। यह विवाद सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले के बाद शुरू हुआ है जिसमें उत्तराखंड हाई कोर्ट के आदेश को खारिज कर दिया जिसमें राज्य सरकार से कहा गया था कि वह प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए डेटा जुटाए। सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से यह पता करने को कहा था कि SC-ST कैटिगरी के लोगों का पर्याप्त प्रतिनिधित्व है या नहीं, जिससे प्रमोशन में रिजर्वेशन दिया जा सके। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि राज्य सरकार प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए बाध्य नहीं है।


एनडीए से भी उठी है आवाज़


सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद विपक्ष ही नहीं बल्कि एनडीए के सहयोगी दलों ने भी केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है। एनडीए की सहयोगी एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का ताजा फैसला एससी, एसटी और ओबीसी को आरक्षण के अधिकार से वंचित करता है। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने कहा है कि वे सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का विरोध करेंगे।


दिल्ली कॉलेज में छात्रा से छेड़छाड़, उबाल

नई दिल्ली। दिल्ली यूनिवर्सिटी के गार्गी कॉलेज के सालाना फेस्ट में छेड़छाड़ से छात्राओं में उबाल है। कैंपस से लेकर सोशल मीडिया तक छात्राएं अपनी खौफनाक आपबीती और गुस्से का इजहार कर रही हैं। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम न करने को लेकर कॉलेज प्रशासन के खिलाफ भी भारी गुस्सा है। स्टूडेंट्स ने इस घटना के खिलाफ आज प्रदर्शन का ऐलान भी किया है। वे पुलिस में इसकी शिकायत भी दर्ज कराएंगे। कॉलेज कैंपस में छेड़छाड़ की यह घटना 6 फरवरी की है।


‘सुरक्षा नहीं, तो फेस्ट क्यों?’
‘मैं ऐसी कई लड़कियों को जानती हूं, जिनके साथ उस दिन छेड़छाड़ हुई। मेरा अपने कॉलेज के प्रशासन से सवाल है कि अगर आप छात्राओं के लिए सुरक्षा के इंतजाम नहीं कर सकते, तो फिर फेस्ट के आयोजन की जरूरत ही क्या है।’
‘6 घंटे तक होती रही छेड़छाड़’
‘फेस्ट के आखिरी दिन गुरुवार दोपहर बाद 3 बजे से रात 9 बजे तक लड़कियों से छेड़छाड़ और अश्लील हरकतें हुईं। जैमर के चलते वे फोन कर शिकायत भी नहीं कर पाईं। आरोपी गलत तरीके से कॉलेज में घुसे। कुछ ने तो दीवार फांदी। फेस्ट के दौरान पुलिस और कॉलेज की सिक्यॉरिटी तैनात थी, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया। पास और ID कार्ड देखे बिना ही लोगों को अंदर आने दिया गया। प्रिंसिपल और कॉलेज प्रशासन से मदद नहीं मिली।’
“हमारे कॉलेज का एनुअल फेस्ट ही हमारे लिए खौफनाक बन गया। कैंपस में बाहर से लोग गेट फांदकर अंदर घुसे, कई मिडल एज लोग हमें हैरस कर रहे थे। कुछ ने तो मस्टरबैट तक किया।”
-6 फरवरी को फेस्ट ‘रेवरी’ में जुबिन नौटियाल के परफॉर्मेंस में पहुंची छात्रा


‘हमसे कहा गया, तुम्हे ही चाहिए होता है न फेस्ट’
‘मैं और मेरी दोस्त प्रिंसिपल के पास गईं और मदद के लिए कहा। मगर उन्होंने कहा, इसी वजह से मैं फेस्ट ऑर्गनाइज करना पसंद नहीं करती। तुम्हीं लोगों को फेस्ट चाहिए होते हैं। हमने कहा, ऐसा नहीं है मैम! तो उन्होंने कहा, तो तुम आए क्यों? गो बैक! मैं अपने लेवल पर इस मामले को देख रही हूं।’


“एक ग्रुप नहीं था, अलग-अलग ग्रुप में थे व। कुछ लोगों ने मुझे और मेरी दोस्त को गलत ढंग से छुआ। वे अश्लील इशारे कर रहे थे, मैं चिल्लाई तो वो हंसने लगे। यह इतना खौफनाक था कि कुछ लड़कियां रो रही थीं, कुछ को पैनिक अटैक आ गया था। ये लोग कॉलेज का गेट फांदकर अंदर घुसे। पुलिस, कॉलेज सिक्यॉरिटी, बाउंसर्स… सब थे। मगर किसी ने मदद नहीं की।”
-बीए ऑनर्स की एक छात्रा


प्रिंसिपल बोलीं, शिकायत नहीं मिली
स्टूडेंट्स का कहना है कि कुछ आरोपी दीवार फांदकर घुसे थे। शिकायत के बाद भी प्रिंसिपल और कॉलेज प्रशासन से मदद नहीं मिली। हालांकि प्रिंसिपल डॉ. प्रोमिला कुमार का कहना है कि उन्हें ऐसी कोई भी शिकायत नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि सोमवार को मैं स्टूडेंट्स से बात करूंगी। उन्होंने कहा हमने अपने सीसीटीवी चेक किए हैं, ऐसा कुछ नहीं दिखा। ना मुझे, ना मेरी फैकल्टी को। हमारे पास पूरी सिक्यॉरिटी की व्यवस्था थी। गार्ड्स थे, कंमाडो थे, बाउंसर्स थे और पुलिस भी थी। लेडी पुलिस थी, प्लेन ड्रेस में भी पुलिस थी। हमारे 200 स्टाफ की भी फेस्ट में ड्यूटी लगी थी। मैं इस मामले में स्टूडेंट्स से बातचीत सोमवार को करूंगी।


प्रिंसिपल ने लड़कियों पर ही उठाया सवाल
प्रिंसिपल ने बताया कि फेस्ट में कॉलेज से बाहर डीयू के कॉलेजों के स्टूडेंट्स आते हैं। उन्होंने यह माना है कि भीड़ बहुत थी और इसमें कई बाहरी लोग थे, कुछ दीवार कूद के भी आए। मगर उनका कहना है कि मिडल एज मैन नहीं थे, क्योंकि वो दीवार फांदकर कैसे आ सकते हैं! एक-दो लोगों को हमारी सिक्यॉरिटी ने बाहर निकाला भी, जैसे जो हमें नशे में लगा या किसी पर शक हुआ। हम सतर्क थे। उन्होंने यह भी कहा, लड़कियों के लिए फेस्ट में अलग से जगह भी थी, हालांकि कई लड़कियां उससे बाहर गईं, क्योंकि वे अपने दोस्तों के साथ रहना चाहती थीं।


छात्राएं आज करेंगी प्रशासन और पुलिस में शिकायत
गार्गी कॉलेज में छेड़छाड़ की घटना 6 फरवरी की है। शिकायत में देरी के सवाल पर लड़कियों का कहना है कि उन्होंने प्रिंसिपल, प्रशासन के अधिकारियों को मौखिक शिकायत उसी दिन दे दी थी और सोमवार को लिखित शिकायत देंगी। स्टूडेंट्स ने बताया कि लिखित शिकायत वे अब तक इसलिए नहीं कर पाईं, क्योंकि 7 फरवरी को फेस्ट के बाद की छुट्टी थी। 8 को वोटिंग डे था और फिर संडे। साथ ही, स्टूडेंट्स अभी उन लड़कियों के बयान इकट्ठा कर रही हैं, जिन्होंने यह बदतमीजी झेली या वे चश्मदीद रहीं। सोमवार को स्टूडेंट्स कॉलेज में इकट्ठा होकर सुबह प्रदर्शन भी करेंगी। साथ ही, पुलिस को भी शिकायत देंगी। प्रिंसिपल का कहना है कि वो सोमवार को स्टूडेंट्स से बातचीत करेंगी।


दिल्ली पुलिस का क्या कहना है
साउथ दिल्ली के डीसीपी अतुल ठाकुर का कहना है कि इस बारे में हमें कोई भी शिकायत नहीं मिली है। लड़कियों का यह भी कहना है कि सिरीफोर्ट के आसपास नेटवर्क ना होने की वजह से भी वे कॉलेज यूनियन या प्रिंसिपल को डायरेक्ट कॉल या मेसेज नहीं कर पाईं। उन्होंने कहा कि वे एक दूसरे से बातचीत कर, बयान इकट्ठा कर पुलिस से बात करेंगी।


पटनाः बम विस्फोट से मची अफरातफरी

पटना। गांधी मैदान इलाके में सोमवार को बम विस्फोट की खबर से लोगों में डर पैदा हो गया है। पुलिस के मुताबिक एक घर में बम विस्फोट हुआ है। इस हादसे में पांच लोगों के घायल होने की सूचना मिली है। इसमें एक वृद्धा की हालत गंभीर है। पुलिस का कहना है कि घर में बम रखा गया था, दो घरों को नुकसान पहुंचा है। घायलों को पीएमसीएच अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। पुलिस ने बताया कि धमाका इतना जोरदार था कि दो मकान बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए वहीं उस मकान में रहने वाले कई लोग भी नीचे जा गिरे।


स्थानीय लोगों ने बताया कि लगातार दो जोरदार धमाके हुए हैं। बम धमाके के कारण जहां कमरे की दीवार गिर गई, वहीं रूम में लगा दरवाजा भी टूट गया साथ ही आसपास के मकान की खिड़कियां भी चटक गई। पुलिस ने इसे पहला बम ब्लास्ट बताया है और कहा कि एफएसएल की टीम आने के बाद ही विस्तार से जानकारी मिल पाएगी। धमाका होते ही इलाके में हड़कंप मच गया, लोग इधर-उधर भागने लगे। मौके पर मौजूद मकान के मालिक ने बताया कि घर के जिस हिस्से में धमाका हुआ है उसमें किराएदार रहते है।


'सेल' की 5 परसेंट हिस्सेदारी बिकेगी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने बजट के दौरान भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की अपनी हिस्सेदारी बेचने के एलान के बाद अब एक और बड़ा एलान किया है। विनिवेश लक्ष्यों को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार भारतीय स्टील प्राधिकरण लिमिटेड (सेल) में भी अपनी पांच फीसदी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है। इससे 1,000 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है।


ऑफर फॉर सेल के जरिए होगी बिक्री


यह बिक्री ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के जरिए की जाएगी। इस प्रक्रिया में सरकारी कंपनी के प्रवर्तक अपनी हिस्सेदारी सीधे तौर पर निवेशकों को बेचते हैं, जिसमें पारदर्शिता का खास ख्याल रखा जाता है।


सेल में 75 फीसदी है सरकार की हिस्सेदारी


निवेश एवं सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के एक अधिकारी ने बताया कि इस्पात मंत्रालय इस विनिवेश के लिए सिंगापुर और हांगकांग में रोडशो करने की तैयारी में है। सेल में सरकार की 75 फीसदी हिस्सेदारी है।


इन सरकारी कंपनियों की भी होगी बिक्री


सरकार देश की दूसरी सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) का भी निजीकरण करने जा रही है।


यह है सरकार का लक्ष्य


बता दें कि चालू वित्त वर्ष में सरकार ने विनिवेश के जरिए 1.05 लाख करोड़ रुपये मिलने का लक्ष्य रखा था। हालांकि इस लक्ष्य के पूरे होने की संभावना नहीं है। बजट 2020 के दौरान इस लक्ष्य को संशोधित कर 65 हजार करोड़ रुपये कर दिया गया है। मौजूदा समय में सरकार ने 35 हजार करोड़ रुपये जुटा लिए हैं। वहीं वित्त वर्ष 2020 के लिए 2.1 लाख करोड़ रुपये का विनिवेश लक्ष्य निर्धारित किया गया है।


एलआईसी में अपनी हिस्सेदारी बेचेगी सरकार


वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में आईपीओ के माध्यम से सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी में अपनी हिस्सेदारी बेचने का प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा कि एलआईसी का आईपीओ लाया जाएगा। सरकार एलआईसी में अपनी हिस्सेदारी बेचेगी। जीवन बीमा क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी एलआईसी बाजार में सूचीबद्ध नहीं है। एलआईसी सरकारी सिक्योरिटीज में निवेश करने के अलावा शेयर बाजार में हर साल भारी मात्रा में निवेश करती है।


'जोकर' के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड

नई दिल्ली। 92वें एकेडमी अवॉर्ड्स का आयोजन रविवार रात हॉलीवुड के डॉल्बी थिएटर में हुआ। पिछले साल की तरह इस बार भी ऑस्‍कर्स होस्‍ट के बिना हो रहा है। बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड ‘जोकर’ के लिए वॉकिन फीनिक्स को मिला। ‘पैरासाइट’ के लिए बॉन्ग जून हो ने बेस्ट डायरेक्टर का खिताब जीता। इस फिल्म को कुल चार अवार्ड - बेस्ट ओरिजनल स्क्रीनप्ले, बेस्ट फिल्म, बेस्ट डायरेक्टर और बेस्ट इंटरनेशनल फीचर कैटिगरी में मिले हैं। वहीं, फिल्म ‘जूडी’ के लिए रिनी जैलवेगर बेस्ट एक्ट्रेस चुनी गईं। वही बेस्ट एक्ट्रेस- रेने जेलवेगर बेस्ट एक्ट्रेस अवॉर्ड से सम्मानित।


जानें किसको कौन सा मिला अवॉर्ड:


बेस्ट म्यूजिक (ओरिजिनल सॉन्ग) गाने के लिए रॉकेटमैन को मिला अवॉर्ड।
बेस्ट म्यूजिक को फिल्म जोकर के लिए मिला बेस्ट म्यूजिक अवॉर्ड।
बेस्ट इंटनेशनल फीचर फिल्म-साउथ कोरिया की फिल्म पैरासाइट को मिला बेस्ट इंटनेशनल फीचर फिल्म अवॉर्ड।
बेस्ट मेकअप और हेयरस्टाइलिंग- काजु हिरो, ऐनी मॉर्गन और विवियन बेकर को बॉम्बशेल के लिए मिला बेस्ट मेकअप और हेयरस्टाइलिंग अवॉर्ड।
बेस्ट विजुअल इफेक्ट-  फिल्म 1917 को मिला बेस्ट विजुअल इफेक्ट अवॉर्ड
फिल्म एडिटिंग-  माइकल मैकसकर और एंड्रयू बकलैंड को फोर्ड वी फेरारी के लिए मिला बेस्ट फिल्म एडिटिंग अवॉर्ड।
बेस्ट सिनेमौटोग्राफी- रोजर डीकिन्स को 1917 के लिए मिला अवॉर्ड।
साउंड मिक्सिंग- मार्क टेलर और स्टुअर्ट विल्सन को 1917 के लिए मिला बेस्ट साउंड मिक्सिंग अवॉर्ड।
साउंड एडिटिंग- बेस्ट साउंड एडिटिंग के लिए डोनाल्ड सिल्वेस्टर को फोर्ड वी फेरारी के लिए मिला अवॉर्ड
बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस- लौरा डेरन को मैरिज स्टोरी के लिए मिला बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस अवॉर्ड।
डॉक्यूमेंड्री शॉर्ट सबजेक्ट- लर्निंग टू स्केटबोर्ड इन ए वॉरजोन को मिला 2020 का  बेस्ट डॉक्यूमेंड्री शॉर्ट सबजेक्ट ऑस्कर अवॉर्ड।
डॉक्यूमेंट्री फीचर- अमेरिकन फैक्ट्री को मिला बेस्ट डॉक्यूमेंट्री फीचर अवॉर्ड।
कॉस्ट्यूम डिजाइन- जैकलीन दुर्रान को लिटिल वुमन में कॉस्ट्यूम डिज़ाइन के लिए मिला ऑस्कर अवॉर्ड।
प्रोडक्शन डिजाइन- 'वन्स अपॉन अ टाइम इन हॉलीवुड' को मिला  बेस्ट प्रोडक्शन डिजाइन के लिए अवॉर्ड।
लाइव एक्शन शॉर्ट फिल्म- द नेबर्स विंडो को मिला 2020 का ऑस्कर अवॉर्ड।
स्क्रीनप्ले अवॉर्ड- 'जोजो रैबिट' को मिला अडैप्टेड स्क्रीनप्ले अवॉर्ड।
ओरिजनल स्क्रीनप्ले- फिल्म 'पैरासाइट' को मिला बेस्ट ओरिजनल स्क्रीनप्ले के लिए अवॉर्ड।
बेस्ट एनिमेटेड शॉर्ट फिल्म- 'हेयर स्टोरी' को मिला बेस्ट एनिमेटेड शॉर्ट फिल्म अवॉर्ड।
बेस्ट एनिमेटेड फीचर फिल्म- 'टॉय स्टोरी 4' को मिला बेस्ट एनिमेटेड फिल्म अवॉर्ड।
बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर- ब्रैड पिट को फिल्म 'वन्स अपॉन अ टाइम इन हॉलीवुड' के लिए मिला बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर अवॉर्ड।


नक्सली मुठभेड़ में 4 जवान घायल

पवन दुर्गम


बीजापुर। एक तरफ माओवादी मुख्यधारा में लौटते हुए सरेंडर कर रहे हैं, तो वही दूसरी ओर माओवादियों के साथ कोबरा जवानों की मुठभेड़ हो रही है। मुठभेड़ में जवानों ने एक नक्सली को मार गिराया है। जबकि गोलीबारी में डिप्टी कमांडेंट समेत कोबरा बटालियन के 4 जवान घायल हो गए हैं। घटना बीजापुर जिले के पामेड़ थाना क्षेत्र का है।


दरअसल कोबरा बटालियन के जवान सुबह सर्चिंग पर निकले थे। उसी दौरान जंगल में घात लगाए बैठे हाथियार बंद नक्सलियों ने जवानों पर गोली बरसानी शुरु कर दी। जवाबी कार्रवाई करते हुए जवानों ने भी फायरिंग की। जिसमें एक नक्सली ढेर हो गया है। इसी दौरान नक्सलियों की तरफ से हो रही गोलीबारी में चार जवान जख्मी हो गए हैं। मुठभेड़ के बाद घटना स्थल से जवानों ने नक्सली का शव और हथियार बरामद किया है।


फ्रांस से 9 सदस्यों का दल पहुंचा

विनोद दुबे


राजिम। धर्म, आस्था और अध्यात्म की नगरी छत्तीसगढ़ की प्रयाग नगरी राजिम पूरे प्रदेश ही नहीं अपितु विश्व में एक नई पहचान दिलाता है। राजिम पुन्नी मेला के अवसर पर प्रथम दिवस फ्रांस के विदेशी दर्शनार्थियों का आना भी प्रारंभ हो चुका है। रायपुर एयरपोर्ट से सीधे छत्तीसगढ़ की प्रयाग धरा राजिम पहुंचकर इन विदेशी दर्शनार्थियों ने राजिम त्रिवेणी संगम सहित मंदिरों एवं साधु संतो के दर्शन किया।


ये सैलानी नदी के मध्य में विशाल मेला और यहां की समृद्ध संस्कृति को देखकर बहुत उत्साहित हुए। वे यहां के प्राचीन राजीव लोचन मंदिर एवं नदी के मध्य में स्थित कुलेश्वर नाथ जी के मंदिर को देखकर सुखद आश्चर्य भी व्यक्त किया। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों से आए दर्शनार्थियों से मिलकर उनकी संस्कृति और परम्परा की जानकारी लेकर इससे समझने का प्रयास किया। ग्रामीण में उनके साथ सेल्फी लेकर आनंद भी उठाए। पर्यटकों ने मेला में घूम-घूमकर आनन्द लेते रहे। उनके दल में मार्शल, जूलिया और मिशेल नेतृत्व कर रहे थे। अभी वे यहाँ 4 दिन रहकर आसपास के ऐतिहासिक और पर्यटन स्थलों का अवलोकन करेंगे।


सर्व वैश्य एकता महासभा की बैठक

एसएल कश्यप। 
सहारनपुर। श्रीरामलीला भवन में अखिल भारतीय सर्ववैश्य एकता महासभा की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक का संचालन जिलाध्यक्ष अनुपम गुप्ता न किया। संयोजक हितेश गर्ग ने बताया कि 10 मार्च को होने वाले होली मेले का मुख्य आकर्षण लेजर शो होगा। कार्यक्रम अग्रवाल धर्मशाला में शाम तीन बजे से सात बजे तक चलेगा। उन्होंने बताया कि पहली बार सहारनपुर में लेजर शो का आयोजन किया जा रहा है। मेले में शून्य से तीन तक के बच्चों का बेबी हेल्थ शो एवं शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों का फैंसी ड्रेस कम्पीटिशन होगा। रजिस्ट्रेशन मेला स्थल पर ही होगा। मेले में रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन होगा। बैठक में मेले में मुख्य अतिथि दिनेश गोयल होंगे। बैठक के दौरान नीरज माहेश्वरी, राजेंद्र गुप्ता, शीतल बिश्नोई आदि मौजूद रहे।


रेलवे भर्ती में आवेदन प्रक्रिया जारी

जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे, जबलपुर ने ट्रेड अप्रेंटिस की 1273 पदों पर भर्तियों के लिए आवेदन की प्रक्रिया जारी है। आवेदन करने की अंतिम तिथि 14 फरवरी 2020 है। इस भर्ती में योग्य उम्मीदवारों का चयन 10वीं और आईटीआई में प्राप्त मार्क्स के आधार पर बनी मेरिट सूची के आधार पर किया जाएगा। wcr.indianrailways.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।


रिक्त पदों, योग्यता और आवेदन से संबंधित अधिक जानकारी इस प्रकार है : 


अप्रेंटिस, कुल पद : 1273 
(ट्रेड/विषय के अनुसार पदों का विवरण)
डीजल मैकेनिक, पद : 100 (अनारक्षित : 41)
इलेक्ट्रिशियन, पद : 380 (अनारक्षित : 156)
वेल्डर (गैस एंड इलेक्ट्रिक), पद : 51 (अनारक्षित : 23)
मशीनिस्ट, पद : 16 (अनारक्षित : 02)
फिटर, पद : 345 (अनारक्षित : 143)
टर्नर, पद : 10 (अनारक्षित : 06)
वायरमैन, पद : 43 (अनारक्षित : 19)
मेसन, पद : 25 (अनारक्षित : 13)
कारपेंटर, पद : 20 (अनारक्षित : 09)
पेंटर, पद : 15 (अनारक्षित : 07)
गार्डनर, पद : 20 (अनारक्षित : 09)
फ्लोरिस्ट एंड लैंडस्केपिंग, पद : 10 (अनारक्षित : 05)
पंप ऑपरेटर-कम-मेकेनिक, पद : 30 (अनारक्षित : 13)
हॉर्टिकल्चर असिस्टेंट, पद : 15 (अनारक्षित : 07)
इलेक्ट्रॉनिक मेकेनिक, पद : 30 (अनारक्षित : 13)
इंफॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्निशियन, पद : 10 (अनारक्षित : 05)
कोपा, पद : 60 (अनारक्षित : 34)
स्टेनोग्राफर (हिन्दी और अंग्रेजी), पद : 30 (अनारक्षित : 13)
बेकर एंड कंफेक्शनर, पद : 06 (अनारक्षित)
अप्रेंटिस फूड प्रोडक्शन (सामान्य), पद : 04 (अनारक्षित)
अप्रेंटिस फूड प्रोडक्शन (शाखाहारी), पद : 04 (अनारक्षित)
अप्रेंटिस फूड प्रोडक्शन (कुकिंग), पद : 12 (अनारक्षित : 06)
होटल क्लर्क/रिसेप्शनिस्ट, पद : 02 (अनारक्षित)
डिजिटल फोटोग्राफी, पद : 02 (अनारक्षित)
असिस्टेंट फ्रंट ऑफिस मैनेजर, पद : 02 (अनारक्षित)
कम्प्यूटर नेटवर्किंग टेक्निशियन, पद : 06 (अनारक्षित)
क्रेच मैनेजमेंट असिस्टेंट, पद : 03 (अनारक्षित) 
सेक्रेटेरियल असिस्टेंट, पद : 06 (अनारक्षित)
हाउस कीपर, पद : 12 (अनारक्षित : 06)
हेल्थ सेनिटरी इंस्पेक्टर, पद : 02 (अनारक्षित)
डेंटल लैबोरेटरी टेक्निशियन, पद : 02 (अनारक्षित)


योग्यता : मान्यता प्राप्त संस्थान या बोर्ड से न्यूनतम 50 फीसदी अंकों के साथ दसवीं की परीक्षा पास हो और पद से संबंधित ट्रेड में आईटीआई सर्टिफिकेट प्राप्त होना चाहिए। 


आयु सीमा 
– 01 जनवरी 2020 को न्यूनतम 15 और अधिकतम 24 वर्ष से कम होनी चाहिए। 
– उम्मीदवारों का जन्म 01 जनवरी 1996 से पहले और 01 जनवरी 2005 के बाद न हुआ हो। 
– अधिकतम आयु सीमा में ओबीसी वर्ग के लिए तीन वर्ष, एससी/एसटी वर्ग के उम्मीदवारों के लिए पांच वर्ष और दिव्यांगों को दस वर्ष की छूट दी जाएगी। 


आवेदन शुल्क
– 170 (100 रुपये प्रोसेसिंग फीस+ 70 रुपये एमपी ऑनलाइन पोर्टल शुल्क) रुपये। इसका भुगतान ऑनलाइन माध्यम से क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड, एसबीआई यूपीआई या नेट बैंकिंग के जरिए कर सकते हैं। 
– एससी/एसटी/ईडब्ल्यूएस/दिव्यांग और महिला उम्मीदवारों को कोई शुल्क नहीं देना होगा। 


चयन प्रक्रिया
– योग्य उम्मीदवारों का चयन शैक्षणिक योग्यता में प्राप्त अंकों के आधार पर बनी मेरिट सूची के आधार पर किया जाएगा।


दिल्ली चुनाव-आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस

नीलमणि पाल


नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 8 फरवरी को हो चुका है। मतदान के बाद मीडिया के द्वारा प्रसारित किए गए  सर्वे आंकड़े दिल्ली में आम आदमी पार्टी  को पूर्ण बहुमत  के संकेत कर रहे हैं। हालांकि अभी तक चुनाव आयोग ने वोटिंग पर्सेंट जारी नहीं किया है। इसको लेकर आम आदमी पार्टी (AAP) सवाल खड़े कर रही है। वहीं इस मुद्दे पर अब चुनाव आयोग ने कहा है कि वह वोटिंग पर्सेंट जल्द जारी करेंगे। इस मुद्दे पर चुनाव आयोग आज शाम 7 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाला है।


रविशंकर ने किया सम्मानितो का सम्मान

अनुराग ठाकुर


पटना। पटनासाहिब लोकसभा के सांसद सह केंद्रीय कानून और आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद पटना स्थित अपने आवास पर पद्मश्री से सम्मानित हस्तियों को सम्मानित किया। उन्होनें कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तरफ से ये शुभकामनाएं दी जा रही है। सरकार की अपेक्षा है कि ये अपनी योग्यता ,क्षमता और विश्वास से अपने अपने क्षेत्रो में बड़ा काम करें। 


केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस मौके पर सुजॉय कुमार गुहा (साइंस एवं इंजीनियरिंग), बिमल जैन (सामाजिक कार्य) और डॉ0 शांति राय (मेडिसिन) को बुके देकर सम्मानित किया। इस मौके पर उन्होनें कहा कि ये सभी अपने-अपने क्षेत्र की दिग्गज हस्तियां है।समाज को इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए।


केन्द्रीय मंत्री ने इस मौके पर सभी हस्तियों का परिचय कराते हुए कहा कि बिमल जैन जी सामाजिक कार्यो से जुड़े रहते है और दिव्यागों के क्षेत्रों में बहुत बड़ा कार्य किया है | वहीं डॉ0 शांति राय जी बिहार की बहुत बड़ी स्त्री रोग विशेषज्ञ है और 60 वर्षों से उन्होनें इस क्षेत्र में बहुत उल्लेखनीय कार्य किया है। सुजॉय कुमार गुहा के बारे में उन्होनें बताया कि इन्होनें मेडिकल में ओरिजिनल स्त्रोत को बहुत ही आगे बढ़ाया है। गुहा एक ऐसे शख्स हैं जो डॉक्टर भी है और इंजीनियर भी । मेरी ओर से इन सभी को बहुत ही शुभकामनाएं है | उन्होनें बताया कि हमारे प्रधानमंत्री का निर्देश था कि जिन-जिन क्षेत्रों में पद्ममा अवार्ड मिले है । हम उनलोगों से मिले और अपनी शुभकामनाएं दे ।


शाहीन बाग मामले में सुनवाई आज

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ शाहीन बाग में पिछले करीब दो महीने से चल रहे विरोध-प्रदर्शन के कारण बंद रास्ता खुलवाने वाली याचिकाओं पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा। 7 फरवरी को पिछली सुनवाई में शीर्ष अदालत ने यह कहते हुए याचिका की सुनवाई टाल दी थी वह दिल्ली विधानसभा चुनाव को 'प्रभावित' नहीं करना चाहता है। गौरतलब है कि दिल्ली में 8 फरवरी को वोट जाले जा चुके हैं और मंगलवार को रिजल्ट आना है।
क्या कहा था सुप्रीम कोर्ट ने


पिछली सुनवाई में जस्टिस एस के कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की पीठ ने कहा, 'हम इस बात को समझते हैं कि वहां समस्या है और हमें देखना होगा कि इसे कैसे सुलझाया जाए। हम सोमवार को इस पर सुनवाई करेंगे। तब हम बेहतर स्थिति में होंगे।' जब याचिकाकर्ताओं में से एक की ओर से पेश वकील ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आठ फरवरी को मतदान होना है तो पीठ ने कहा, 'हम इसलिए ही तो कह रह रहे हैं कि सोमवार को आइए। हमें उसे प्रभावित क्यों करना चाहिए?' पीठ ने याचिकाकर्ताओं से कहा कि वह सोमवार को इस बात पर बहस करने के लिए तैयार होकर आएं कि इस मामले को दिल्ली हाई कोर्ट को वापस क्यों नहीं भेजा जाना चाहिए।


शाहीन में बाग में करीब 2 महीने से प्रदर्शन
गौर करने वाली बात है कि राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में CAA और NRC के खिलाफ चल रहे विरोध-प्रदर्शन को करीब दो महीने पूरे होने वाले हैं। यह प्रदर्शन रोड नं. 13ए पर हो रहा है जिसके चलते इस सड़क के जरिए 15 दिसंबर से आवाजाही पूरी तरह से बंद है। दिल्ली और नोएडा के बीच सफर करने वालों को इस वजह से काफी दिक्कत हो रही है। इन लोगों को दूसरे रास्ते से जाने पर दो से 3 घंटे अतिरिक्त लग रहे हैं।


 दो याचिकाओं पर आज सुनवाई
याचिकाकर्ता के वकील अमित साहनी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। उन्होंने पहले हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी। अर्जी में कहा गया था कि दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया जाए कि वह शाहीन बाग और कालिंदी कुंज इलाके के बीच ट्रैफिक का रास्ता खोले। 15 दिसंबर से CAA के खिलाफ प्रदर्शन के कारण शाहीन बाग इलाके में सड़क जाम है। हाई कोर्ट ने अपने आदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति के हिसाब से स्थानीय अथॉरिटी से कदम उठाने को कहा था। वहीं पूर्व एमएलए नंद किशोर गर्ग की ओर से अलग से अर्जी दाखिल की गई है। पब्लिक प्लेस और सड़कों पर प्रदर्शन रोकने के लिए केंद्र सरकार को गाइडलाइंस बनाए जाने का निर्देश देने के लिए सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई गई है। याचिकाकर्ता ने कहा कि शाहीन बाग इलाके में सड़क पर बैठे प्रदर्शनकारियों को हटाया जाना चाहिए। सड़कों पर प्रदर्शन और धरने के कारण पब्लिक प्लेस पर अवरोध पैदा होता है।


 


एससी-एसटी एक्ट में बरकरार गिरफ्तारी

नई दिल्ली। एससी/एसटी (अत्याचार निवारण) संशोधन कानून, 2018 की वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में कहा कि इस ऐक्ट में तुरंत गिरफ्तारी का प्रावधान जारी रहेगा और इस कानून के तहत किसी शख्स को अग्रिम जमानत नहीं मिलेगी।
जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस विनीत शरण और जस्टिस रवींद्र भट्ट की पीठ ने 2-1 से फैसला सुनाया है। शीर्ष अदालत ने केंद्र सरकार द्वारा उसके पहले के फैसले में किए गए संशोधन को बरकरार रखा है। बता दें कि केंद्र सरकार ने संसद में कानून में संशोधन करते हुए एससी/एसटी कानून के तहत गिरफ्तार किसी आरोपी को अग्रिम जमानत देने के प्रावधान पर रोक लगाता है।


सुप्रीम कोर्ट का पहले यह था फैसला
दरअसल, 20 मार्च 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने एससी/एसटी ऐक्ट के गिरफ्तारी के प्रावधान को हल्का कर दिया था और अग्रिम जमानत का प्रावधान कर दिया था।
सुप्रीम कोर्ट ने एससी/एसटी ऐक्ट में बदलाव करते हुए कहा था कि सरकारी कर्मचारी/अधिकारी पर आरोप लगा है तो उनकी गिरफ्तारी से पहले विभाग से अनुमति लेनी होगी और आम नागरिक पर आरोप है तो एसएसपी स्तर के पुलिस अधिकारी से अनुमति लेनी होगी। साथ ही FIR से पहले प्रारंभिक जांच का प्रावधान कर दिया था।


सरकार ने बदला सुप्रीम कोर्ट का फैसला
इस फैसले के बाद केंद्र सरकार ने संसद के जरिये कानून में बदलाव किया और पहले के कानूनी प्रावधान को बहाल कर दिया। इस कानूनी बदलाव को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी जिस पर सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया गया है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को अपने उस पुराने फैसले को वापस ले लिया था जिसमें सुप्रीम कोर्ट की डबल बेंच ने एससी/एसटी ऐक्ट के गिरफ्तारी के प्रावधानों को हल्का कर दिया था।


शिव बारात से पहले निकाली आमंत्रण रैली

हर-हर भोले, घर-घर भोले के नारों के साथ गूंजा खुर्सीपार..


 
भिलाईनगर। भगवान भोलेबाबा की बारात में शामिल होने के लिए रविवार को शंखनाद आमंत्रण रैली निकाली गई। बोल बम समिति के अध्यक्ष दया सिंह ने बताया कि, इस आमंत्रण रैली में 5 हजार से अधिक महिलाओं ने भाग लिया। सबसे खास बात रही कि सामने झांकी चल रही थी साथ ही साथ महिलाएं ढोल लेकर पूरे रैलियों का नेतृत्व की। इस आमंत्रण रैली में शहर की 4500 से अधिक महिलाएं बोल बम के नारे के साथ कई किलोमीटर पैदल चली।
आमंत्रण रैली की शुरुआत महिलाओं के द्वारा की गई इसमें हजारों महिलाओं ने पंडित जवाहरलाल नेहरू स्कूल से पदयात्रा शुरू की। जो संगम चौक वार्ड 32 होते हुए जॉन 3 के वार्ड 33 पहुंँची जहाँं स्थानीय लोगों ने इन महिलाओं का आत्मीयता से स्वागत किया। इसके बाद रैली सुभाष मार्केट हनुमान मंदिर जून 1 शिवालय मंदिर में पूजा अर्चना कर समाप्त हुई।
भगवान भोले बाबा की आमंत्रण दिल्ली में दिखी मातृशक्ति
भिलाई शहर में ऐसा पहली बार हुआ जब भगवान भोलेनाथ की बारात से पहले आमंत्रण रैली में इतनी बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल हुई हो। बताया जाता है कि, करीब 5000 महिलाएं इस आमंत्रण रैली में शामिल रही और भगवान भोले बाबा के नारे लगाते रहे। भोले बाबा का नारा है बाबा एक सहारा है के नारों के साथ महिलाओं में उत्साह देखने को मिला। नागपुर की महिला धमाल ने बनाया माहौल
बोलबम सेवा एवं कल्याण समिति द्वारा आयोजित होने वाली बारात के लिए नागपुर की महिला धमाल की टुकड़ी पहुंँची थी जहांँ महिला धुमाल पार्टी के पीछे आमंत्रण रैली का जनसैलाब उमड़ पड़ा हजारों महिलाओं ने घर-घर पहुंँचकर बाबा की बारात में शामिल होने का आमंत्रण भी दिया और कार्यक्रम को सफल बनाने का निवेदन भी किया।भोले बाबा की झांकी ने सबका मन मोह लिया
इस आमंत्रण रैली में मुख्य रूप से हजारों महिलाओं की इस आमंत्रण रैली में 9 फीट की भगवान भोलेनाथ की झांँकी लगाई गई थी जो इस रैली का आकर्षण का केंद्र बनी रही। जिसने भी इस रैली को देखा भोले बाबा की भक्ति में डूब गया। महिला जिला अध्यक्ष मंजू मिश्रा, उपाध्यक्ष सुलेखा यादव पार्षद, रेणु तुलानी, सविता सोनी, पुष्पा सिंह, अनीता सिंह, सरस्वती यादव, कुमारी लक्ष्मी, सरस्वती जांगड़े एवं हजारों महिलाए कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


फरवरी 11, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-185 (साल-01)
2. मंगलवार, फरवरी 11, 2020
3. शक-1941,फाल्गुन - कृष्ण पक्ष, तिथि- दूज, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 07:03,सूर्यास्त 06:04
5. न्‍यूनतम तापमान 8+ डी.सै.,अधिकतम-24+ डी.सै., हल्की बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...