गुरुवार, 13 जुलाई 2023

आरएसएस की प्रांत प्रचारक बैठक प्रारंभ हुईं

आरएसएस की प्रांत प्रचारक बैठक प्रारंभ हुईं 

अकाशुं उपाध्याय 

नई दिल्ली/ऊटी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय “प्रांत प्रचारक बैठक” तमिलनाडु के नीलगिरि जिले में स्थित पर्यटन स्थल ऊटी में आज आरम्भ हुई। संघ के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार यह बैठक 15 जुलाई शाम 06 बजे तक चलेगी।

बैठक में सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत, सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले के साथ सभी सह सरकार्यवाह, सभी प्रांतों के प्रांत प्रचारक, सह प्रांत प्रचारक, क्षेत्र प्रचारक एवं सह क्षेत्र प्रचारक एवं सभी कार्य विभागों के अखिल भारतीय अधिकारी तथा संघ प्रेरित विविध संगठनों के अखिल भारतीय संगठन मंत्री भी भाग ले रहे हैं।

बैठक में मुख्यतः इस वर्ष हुए संघ शिक्षा वर्गों के वृत्त व समीक्षा, संघ शताब्दी कार्यविस्तार योजना की अभी तक हुई प्रगति, शाखा स्तर के सामाजिक कार्यों का विवरण व परिवर्तन के अनुभवों का आदान-प्रदान तथा वर्तमान स्थिति के संदर्भ में भी चर्चा होगी।

उत्तराखंड में पदयात्रा व जन संवाद करेंगे: राहुल

उत्तराखंड में पदयात्रा व जन संवाद करेंगे: राहुल   

अकाशुं उपाध्याय 

नई दिल्ली/देहरादून। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे तथा पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि उत्तराखंड के कांग्रेस नेताओं के साथ 2024 के आम चुनाव को लेकर गुरुवार को यहां बैठक हुई जिसमें भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों को जनता के बीच ले जाने के लिए व्यापक स्तर पर पदयात्रा कर जन संवाद किया जाएगा।

कांग्रेस की उत्तराखंड में आम चुनाव की रणनीति को लेकर आज यहां हुई महत्वपूर्ण बैठक में श्री खड़गे, गांधी, कांग्रेस महासचिव संगठन केसी वेणुगोपाल, प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी देवेंद्र यादव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करण महरा, विधानसभा में विपक्ष के नेता यशपाल आर्य,पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत तथा कई अन्य नेता मौजूद रहे।

 गांधी ने ट्वीट किया, "कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के नेतृत्व में आज उत्तराखंड के नेताओं के साथ बैठक की। पार्टी उत्तराखंड के युवाओं के लिए अग्निवीर योजना जैसे अन्याय तथा महिलाओं के विरुद्ध अपराधों के खिलाफ़ आवाज़ उठाएगी और राज्य में पदयात्रा के माध्यम से जनता से संवाद स्थापित करेगी।"

 खड़गे ने कहा,"देवभूमि उत्तराखंड आज नई चुनौतियों से झूझ रहा है। राज्य में हमारे नेता और कार्यकर्त्ता एक प्रबल विपक्ष की भूमिका निभा, भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों को उजागर कर रहे हैं। हमारा प्रयास है कि राज्य में सब लोग मिलजुल कर रहें और उत्तराखंड को प्रगति की ओर ले जाएँ।कांग्रेस कमज़ोर वर्ग की आवाज़ निरंतर उठा रही है।"

उन्होंने कहा, "वर्तमान में हमारा कर्तव्य उत्तराखंड में आए बाढ़ तथा भूस्खलन के संकट में जनता की मदद करना और सरकारी तंत्र से मदद दिलवाना है। हम हिमालयी राज्यों के जल-वायु परिवर्तन और प्रकृति से मानव खिलवाड़ के चलते हुए दुष्प्रभाव पर ठोस नीति बनाने के पक्षधर है जिसमें विकास का कोई भी कार्य स्थानीय लोगों के सहमति से ही हो।

आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी को लेकर उत्तराखंड के नेताओं के साथ आज मुख्यालय पर बैठक हुई।" बैठक के बाद श्री यादव ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में 2024 के आम चुनाव के मद्देनजर उत्तराखंड में कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए व्यापक स्तर पर पदयात्रा निकाल जाएगी जिसमें गांधी तथा पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सहित कई नेता भी समय-समय पर शामिल होंगे।

गांधी ने वादा किया है कि 10 दिन तक वह पदयात्रा में रहेंगे। प्रदेश प्रभारी ने कहा कि उत्तराखंड कुमाऊं रेजीमेंट और गढ़वाल रेजीमेंट का घर है और वहां के हर गांव का नौजवान फौज में जाकर सपनों को साकार करना चाहता है लेकिन मोदी सरकार ने अग्निवीर योजना लाकर उनके सपनों पर पानी फेरा है। पदयात्रा के ज़रिए राज्य के युवाओं को अग्निवीर योजना से हुए नुकसान व्यापक स्तर पर जानकारी दी जाएगी।

3 राज्य मार्ग सहित 22 सड़कें बंद: आफत 

3 राज्य मार्ग सहित 22 सड़कें बंद: आफत   

श्रीराम मौर्य  

नैनीताल। जिलाधिकारी वंदना सिंह ने बताया की भारी बारिश के मद्देनजर पुलिस और प्रशासन के सभी अधिकारियों को 24 घंटे अलर्ट पर रहने के निर्देश जारी किए हैं। इसके साथ ही समय-समय पर संवेदनशील स्थानों पर अधिकारियों को निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए गए हैं। वहीं भूस्खलन से प्रभावित इलाकों में बरसात के हालात को देखते हुए निरंतर लोगों से संपर्क बनाए रखने और विस्थापन किए जाने की दृष्टि से तत्काल एक्शन लिए जाने को कहा गया है।

तीन राजमार्ग सहित 22 सड़कें बंद

नैनीताल की जिलाधिकारी वंदना सिंह ने बताया कि जिले में तीन राजमार्ग सहित 22 सड़कें बंद है। जिन्हें जेसीबी की मदद से खोला जा रहा है। इसके अलावा काठगोदाम हेड़ाखान मार्ग में भी मलबा आने से मार्ग बाधित हो गया था। जिसके बाद तत्काल मलबे को हटाने के लिए जेसीबी तैनात की गई है।

जिले के सभी तहसीलों के लिए जारी की धनराशि

डीएम ने बताया कि जिले के अलग-अलग स्थानों पर 44 जेसीबी तैनात की गई है जो कि सड़क मार्ग बाधित होते ही उन्हें खोलने का काम कर रही है। इसके अलावा जिलाधिकारी ने बताया कि आपदा से निपटने के लिए जिले की सभी तहसीलों को चार करोड़ की धनराशि जारी की गई है।

जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों की समीक्षा बैठक

जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों की समीक्षा बैठक   

तीर्थराज पांडेय  

सुलतानपुर। जिलाधिकारी जसजीत कौर की अध्यक्षता में जिला समन्वय विकास निगरानी समिति (दिशा) के अन्तर्गत मा0 जनप्रतिनिधियों द्वारा सदन में उठाये गये विषयों के सम्बन्ध में प्रगति एवं अनुश्रवण हेतु विकास भवन के प्रेरणा सभागार में सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गयी। उक्त बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अंकुर कौशिक सहित सम्बन्धित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे। 

बैठक में जिलाधिकारी द्वारा शहर में सड़क चौड़ीकरण ,सुद्धीकरण, पशु चिकित्सालय, बेडिंग जोन, बस अड्डे का स्थान स्थानान्तरण, अमृत सरोवर/खेल मैदान, प्रत्येक ग्राम में एक एकड़ भूमि पर वृक्षारोपण, अपराध मुक्त/राजस्व विवाद मुक्त ग्राम, ट्रान्सफार्मर/पोल/तार बदलना, नलकूप, नेत्र चिकित्सालय की स्थापना, एन.आर.एल.एम. अन्तर्गत बिजेथुआधाम मेला (मण्डलीय सरस मेला), मेंहदी उत्पादन, कौशल विकास मिशन, सांसद आदर्श ग्राम स्वच्छता, निषाद मण्डी निर्माण/आवंटन, कांशीराम शहरी योजना में जल निकासी, दिव्यांग उपकरण वितरण कैम्प, काऊ हास्टल, खेल मैदान, मुद्रा लोन सहित अन्य बिन्दुओं पर गहन समीक्षा की गयी।

जिलाधिकारी महोदया द्वारा अधिशाषी अभियन्ता विद्युत को निर्देशित किया गया कि जनपद के मा0 जनप्रतिनिधियों द्वारा ट्रान्सफार्मर/पोल/तार बदलने के सम्बन्ध में जो भी आवेदन दिये गये हों, उसका कितना निस्तारण विद्युत विभाग द्वारा किया गया है उसकी एक सूची बनाकर उपलब्ध करायें। उक्त सूची मा0 सांसद महोदया सुलतानपुर को भी उपलब्ध करा दिया जाय। उन्होंने शहर में सड़क चैड़ीकरण/सुद्धीकरण की प्रगति के सम्बन्ध में निर्देशित किया कि मा0 सांसद महोदया, सुलतानपुर द्वारा निर्देशित कार्य को प्रमुखता के आधार पर यथाशीघ्र करायें। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित सड़क मार्ग का लोकार्पण भी उन्हीं से करायें। मा0 सांसद महोदया, सुलतानपुर द्वारा निर्देशित प्रत्येक ग्राम में एक एकड़ भूमि पर वृक्षारोपण कार्य कराये जाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी महोदया द्वारा डीसी मनरेगा को निर्देशित किया गया कि प्रत्येक ग्राम में एक एकड़ जमीन का चिन्हांकन कर सभी गाॅवों में वृक्षारोपण का कार्य कराना ससमय सुनिश्चित करें। उन्होंने डीएफओ को निर्देशित किया कि उक्त ग्रामों में वृक्षारोपण हेतु पौध उपलब्ध करायें।

जिलाधिकारी द्वारा जनपद में एक रामायण पार्क बनाने हेतु उप जिलाधिकारी सदर व अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका को निर्देश दिये कि तत्काल भूमि का चिन्हांकन कर रामायण पार्क का निर्माण करायें तथा उसमें पंचवटी का विकास का वृक्षारोपण का कार्य करायें तथा इसकी सूचना हमें यथाशीघ्र उपलब्ध करायें। इसी प्रकार वृक्षारोपण कार्यक्रम के अन्तर्गत बिरसिंहपुर हास्पिटल के प्रांगण में आयुषवन का विकास कर उसमें लगभग 3000 औषधीय पौधे लगाये जाय। जिलाधिकारी महोदया द्वारा निषाद मण्डी निर्माण/आवंटन व कांशीराम शहरी योजना में जल निकासी हेतु अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत को निर्देशित करते हुए कहा कि उक्त दोनों कार्य जल्द से जल्द पूर्ण कराकर हमें सूचित करें। जिलाधिकारी महोदया द्वारा गोलाघाट से पयागीपुर तक व बस अड्डे से अमहट तक स्ट्रीट वेण्डरों को विस्थापित करने हेतु अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी स्ट्रीट वेण्डरों को विस्थापन की सूचना 15 दिन पूर्व में देकर उन्हें सूचित कर दिया जाय।  जिलाधिकारी महोदया द्वारा आगामी वृक्षारोपण कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु डीएफओ को निर्देशित किया कि सभी तैयारियाँ यथाशीघ्र पूर्ण कर ली जाय। इस सम्बन्ध में एक बैठक अलग से आयोजित की जाय। उन्होंने कहा कि ग्राम वन, नन्दन वन, आयुष वन, पंचवटी वन, नक्षत्रशाला के अन्तर्गत लगने वाले पौधों को चिन्हित कर लिया जाय। उन्होंने आगामी वृक्षारोपण कार्यक्रम की तैयारियोें पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि सभी विभाग एकीकृत समन्वय स्थापित कर अपने-अपने लक्ष्य के अनुरूप वृक्षारोपण कार्यक्रम कराना सुनिश्चित करें।

बिजनौर: गंगा पार तराई क्षेत्र के गांवों में बाढ़

बिजनौर: गंगा पार तराई क्षेत्र के गांवों में बाढ़  

आदिल अंसारी  

बिजनौर। उत्तर प्रदेश के बिजनौर जनपद में गंगा पार कई गांवों में बाढ़ आ गई है। गांवों में बाढ़ आने से कई सौ लोग फंस गए हैं। वहीं, बाढ़ में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए अधिकारियों द्वारा राहत बचाव अभियान चलाया जा रहा है। बताया गया कि राहत बचाव अभियान शुक्रताल मुजफ्फरनगर की ओर से चलाया गया है।

बताया गया कि गांवों व जंगलों में फंसे करीब 100 लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया जा चुका है। अभी कई टीमें लोगों को सुरक्षित निकालने में लगी हुईं हैं। उधर, एसडीएम सदर मोहित कुमार, नायब तहसीलदार अनिरुद्ध यादव समेत राजस्व टीम मौके पर मौजूद है।

उत्पीड़न: सीएम योगी को खून से पत्र लिखा

उत्पीड़न: सीएम योगी को खून से पत्र लिखा   

हरिओम उपाध्याय  

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में दो मुस्लिम महिलाओं ने सीएम योगी को अपने खून से पत्र लिखा है। अपने खून से लिखे गए पत्र द्वारा वो सीएम योगी से इंसाफ की गुहार लगा रही हैं। इस पत्र के माध्यम से उन्होंने अपने ऊपर हुए उत्पीड़न और पुलिस की कार्रवाई की हकीकत बयान की हैं।

दरअसल मुस्लिम समाज की इन महिलाओं को उम्मीद है कि इस खत के बाद उनके साथ इंसाफ होगा, पुलिस उनका पिछले 12 दिनों से एफआईआर दर्ज नहीं कर रही थी। लेकिन खत लिखते ही पुलिस ने फौरन सक्रिय होते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया और आनन-फानन में पीड़ित महिलाओं के घर नोटिस चस्पा किया।

वाराणसी के जैतपुरा इलाके में रहने वाली यह शाहिदा और रोमी ने अपनी शरीर से खून निकलवा कर उससे एक पत्र लिखा है। यह पत्र वो पोस्ट द्वारा सीएम योगी को भेजेंगी। इस पत्र में उन्होंने वाराणसी के जैतपुरा थानाध्यक्ष के ऊपर आरोप लगाया है कि 12 दिनों से एफआईआर के लिए थाने में चक्कर लगा रही हूं लेकिन मुकदमा दर्ज नहीं किया जा रहा है। महिलाओं का आरोप है कि मदरसे के प्रबंधक रिजवान ने उनके साथ बेईमानी की व नौकरी दिलाने के नाम पर शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डाला गया, जिसकी तहरीर थाने में दी गयी लेकिन अभी तक कोई मुकदमा नहीं लिखा गया है।

जानकारी के मुताबिक पत्र लिखने वाली शाहिदा और रूमी हैं। दोनों जैतपुरा में स्थित चुरगे उलूम मदरसे में प्राइवेट अध्यापिका हैं। मदरसे में परमानेंट नौकरी का विकल्प आया तो प्रबंधक रिजवान ने इन्हें नौकरी दिलाने का प्रलोभन दिया और इनसे 2 लाख रुपये ले लिया, लेकिन जब इंटरव्यू का दिन आया तो इन्हें नहीं बुलाया गया।

में जब यह इंटरव्यू वाले दिन यानी 28 जून को मदरसे पहुंचीं और प्रबंधक रिजवान से सवाल करने लगीं तो रिजवान उसे दूसरे कमरे में ले जाकर उनसे नौकरी के नाम पर और 13 लाख रुपये मांगने लगा। शाहिदा ने इसका विरोध किया तो उसे मारपीट कर मदरसे से निकाल दिया गया। जिसके कारण गर्भवती शाहिदा का मिस कैरेज हो गया।

शाहिदा के साथ रोमी भी प्रबंधक के ठगी का शिकार हुई थी और दोनों एक साथ थाने पर पहुंचीं और जैतपुरा थाने में उन्होंने लिखित तहरीर दी और अपने ऊपर बीती सारी घटनाओं को लिखा। लेकिन 12 दिन बीत जाने के बाद भी जैतपुरा थाने द्वारा जब एफआईआर दर्ज नहीं हुआ। बल्कि उनके आरोप के मुताबिक थानाध्यक्ष ने सुलह करने का दबाव बनाया। इतना ही नही थानाध्यक्ष में उन्हें कुरान पर हाथ रख के कसम खाने की बात भी कही।

बुधवार को दोनों महिलाओ ने अपनी आप बीती अपने खून से एक पत्र पर लिखा और उसे मुख्यमंत्री को पोस्ट करने की बात कही। पत्र में मुख्यमंत्री योगी से मुस्लिम महिलाएं इंसाफ की गुहार लगा रही हैं। खून से पत्र लिखे जाने की सूचना मिलते ही जैतपुरा थाने में हड़कम्प मच गया।

थानाध्यक्ष मथुरा राय द्वारा महिलाओ को बार बार कॉल किया जाने लगा, लेकिन जब महिलाओ ने उन्हें जवाब दिया कि अब वो सीधे मुख्यमंत्री से मिलेंगी। तब थानाध्यक्ष में महिलाओं के बिना थाने गए ही देर शाम रिजवान के खिलाफ धारा 354 , 406 और 323 में मुकदमा दर्ज कर लिया।

देवर ने बॉयफ्रेंड के साथ भाभी को पकड़ा  

देवर ने बॉयफ्रेंड के साथ भाभी को पकड़ा   

अमित शर्मा  

जालंधर। एक घटना के दौरान हंगामा मच गया, जब एक देवर ने अपनी भाभी को किसी अनजान मर्द के साथ देखा। महिला अपने एक फ्रेंड के साथ होटल जा रही थी, जिसे उसके देवर ने देख लिया। उसने सबसे पहले अपने परिवार को सूचित किया और फिर वहाँ पर हंगामा मचाया।

दोनों तरफ धक्के और मारपीट हुई।

देवर और उसके दोस्त लम्मा पिंड चौक से गुजर रहे थे, जब उन्हें होटल में उनकी भाभी का नजर आया, लेकिन उनकी भाभी के साथ उनका भाई नहीं था, बल्कि कोई और मर्द था। देवर ने अपने दोस्त के साथ पहले होटल में जाकर यह सुनिश्चित किया कि यही उनकी भाभी है, और फिर अपने परिवार के साथ साथ दोस्तों को भी बुला लिया।

देवर और उनके दोस्तों ने भाभी और उसके बॉयफ्रेंड को धक्के-मारपीट की। इसके बाद बीच में कुछ लोगों ने आक्रमण रोका और पुलिस को सूचित किया। डिवीजन नंबर 8 के पुलिस थाने की टीम ने सभी को थाने ले जाया।

गैलैक्सी प्लाजा में आग, बिल्डिंग से कूदे लोग

गैलैक्सी प्लाजा में आग, बिल्डिंग से कूदे लोग

विजय भाटी 

गौतमबुद्ध नगर। ग्रेटर नोएडा गैलेक्सी प्लाजा में भीषण आग लगने से हड़कंप मच गया। जानकारी के अनुसार आग से बचने के लिए बिल्डिंग से लोग कूद गए। इस आग का मेन कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। गैलेक्सी प्लाजा ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित  गौर सिटी 1 के एवेन्यू 1 में स्थित है। ये आग इमारत की तीसरी मंजिल में लगी है। मामला बिसरख थाना क्षेत्र का है। 

इसका वीडियो भी सामने आया है जिसमें दिख रहा है कि लोग जान बचाने के लिए खिड़कियों से लटके हैं और कुछ पांचवीं मंजिल व तीसरी मंजिल से लोग कूद गए। 

वीडियो में थर्ड फ्लोर से शीशा तोड़कर एक लड़की दो युवक नीचे कूदते हुए नजर आए। कुछ लोगों को गंभीर चोटें भी आई हैं। गनीमत ये रही कि कूदने वाले लोगों के लिए नीचे गद्दे बिछाए गए थे। फिलहाल मौके पर फायर टीम पहुंच गई है और आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है।

छोले कुल्च वालों ने भक्तों से आशीर्वाद लिया

छोले कुल्च वालों ने भक्तों से आशीर्वाद लिया 

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। गाजियाबाद के गुलधर गेट पर लग रहे शिव शक्ति कांवड़ सेवा संघ के शिविर में छोले कुल्चे बेचने वालों ने भोले के भक्त को आज छोले कुल्चे खिलाकर भोले बाबा के भक्तों से आशीर्वाद लिया।

हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी छह सो दर्जन कुल्चे खिलाकर इस पुण्य कार्य को पूरा किया। इस मौके पर नेतराम,सूरज पाल, अमरपाल, प्रदीप, मुकेश, सुबरन आदि सदस्यों उपस्थित रहे इनके इस काम पर शिव शक्ति कांवड़ सेवा संघ ने इनका सम्मान किया इस मौके पर सतेन्द्र चौधरी, टींकू, नरेन्द्र शर्मा, अशोक चौधरी, सुनील तथा पूर्व विधायक प्रत्याशी ललित मोहन त्यागी आदि सदस्य उपस्थित रहे।

कलयुगी पिता ने 12 वर्षीय बेटी से रेप किया 

कलयुगी पिता ने 12 वर्षीय बेटी से रेप किया 

दुष्यंत टीकम 

भिलाई। रेप और छेड़छाड़ के कड़े कानून बनाए गए हैं। बावजूद इसके ऐसी घटना कम होने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार दरिंदे नाबालिग व महिलाओं को हवस का शिकार बना रहे हैं। ऐसा ही शर्मसार करने वाला एक मामला दुर्ग जिले से सामने आया है। जहां एक पिता ने अपनी ही 12 साल की बेटी को हवस का शिकार बना लिया। घटना के बाद नाबालिग की मां ने पुलिस में इसकी शिकायत की।

मिली जानकारी के अनुसार, घटना सुपेला थाना क्षेत्र का है। जहां हैवान पिता ने अपनी ही 12 साल की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। मां की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी पिता को जेल भेज दिया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

चेन स्नेचिंग के मामलें में 8 आरोपी गिरफ्तार

चेन स्नेचिंग के मामलें में 8 आरोपी गिरफ्तार 

संदीप मिश्र 

बलरामपुर। इन दिनों चेन स्नेचिंग के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं।ताजा मामला जिले के रामानुजगंज से सामने आया है। यहां गांधी मैदान सब्जी बाजार में महिला से चेन स्नेचिंग की गई। मामले में पुलिस ने गिरोह के 8 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

 दरअसल, ये पूरा मामला बलरामपुर जिले के रामानुजगंज थाना का है। 9 जुलाई की शाम गांधी मैदान के सब्जी मंडी में एक महिला सब्जी खरीद रही थी।उसने सोने का मंगलसूत्र पहन रखा था। बदमाशों ने उसका मंगलसूत्र चोरी कर लिया और मौके से फरार हो गए। पीड़ित महिला ने इसकी सूचना रामानुजगंज थाने को दी। जिसके बाद पुलिस ने महिला की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया।

 रामानुजगंज पुलिस ने टीम बनाकर आरोपियों की तलाश शुरू की। इस दौरान पुलिस ने सरगुजा, जशपुर जिले के सीमावर्ती इलाके के हाट-बाजार में भी पतासाजी किया। इस दौरान पता चला कि आरोपी अंबिकापुर के चंदन ज्वेलरी शॉप में चोरी का सामान बेच दिया करते थे। ज्वेलरी शॉप के संचालक ने पुलिस को उन लोगों के बारे में बताया। जिसके बाद पुलिस में 8 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने गिरोह के 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें छह महिला और दो पुरुष शामिल हैं। इनके खिलाफ पुलिस ने आईपीसी की धारा 379, 411 और 34 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर लिया है. आरोपी बालकुमारी गिरी, ममता गिरी, अनिता गिरी, बाराती गिरी और मिनी गिरी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

भ्रष्टाचारी सचिव को निलंबित किया: सीडीओ

भ्रष्टाचारी सचिव को निलंबित किया: सीडीओ 

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। प्रयागराज के मुख्य विकास अधिकारी के निर्देश पर भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कोरांव में बड़ी कार्रवाई की गई है। सीडीओ के निर्देश पर जिला पंचायत राज अधिकारी ने भ्रष्टाचारी ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित किया है। 

भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की तहत कार्रवाई जारी है। सीडीओ आईएएस गौरव कुमार के निर्देश पर जिला पंचायत राज अधिकारी आलोक कुमार सिन्हा ने बड़ी कार्रवाई करते हुए भ्रष्ट ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित किया है। ग्राम पंचायत सचिव सुधीर जयशेखर पर गाज गिरी है। शासन के धन में भ्रष्टाचार का गंभीर आरोप था। बिना काम कराए खजाने से रुपए निकाल लिए गए थे। 

ग्राम पंचायत के स्थानीय लोगों ने शिकायत की थी। जांच की आंच में ग्राम पंचायत सचिव फंस गया। कोरांव ब्लॉक के बढवारीकला गांव का मामला है।

पीजी परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग की

पीजी परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग की

नीतीश पठानिया   

शिमला। बीते दिनों भारी वर्षा के कारण आई बाढ़ व भूस्खलन जैसी त्रासदियों से प्रदेशभर के सभी वर्गों के लोगों को भारी नुकसान हुआ है। ऐसे में प्रदेश के प्रभावित क्षेत्रों सहित अन्य कई इलाकों के छात्र-छात्राओं को भी कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

इस विषम स्थिति को मद्देनजर रखते हुए एनएसयूआई ने पीजी परीक्षाओं को स्थगित कर दस दिन बाद आयोजित करवाने की मांग प्रदेश विश्वविद्यालय प्रशासन से की है। इस बारे में एनएसयूआई इकाई द्वारा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक जे एस नेगी को ज्ञापन सौंपा।

एनएसयूआई इकाई अध्यक्ष योगेश यादव ने कहा कि आज पूरा प्रदेश बाढ़ व भूस्खलन जैसी आपदा से जूझ रहा रहा है, जिससे प्रदेशभर में जान व माल का भारी नुकसान हुआ है। प्रदेश के कई जिलों में यातायात व्यवस्था पूरी तरह से ठप पड़ी है।

जिससे प्रदेश के विभिन्न जिलों से हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्र छात्राएं अपने घरों में फंसे हुए है। दूसरी ओर हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में पीजी की परीक्षा तिथि घोषित कर दी है जोकि 17 जुलाई से है। ऐसे में कई छात्र- छात्राओं को परीक्षा से वंचित रहना पड़ेगा।

गौरतलब है कि मौसम विभाग द्वारा 14 से 17 जुलाई तक फिर से प्रदेश के कई जिलों में येलो अलर्ट घोषित किया गया है। ऐसे में एनएसयूआई ने छात्रों के हितों व सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए विवि प्रशासन से परीक्षा को स्थगित करने की मांग रखी है।

ये रहे उपस्थित

इस मौके पर एनएसयूआई राज्य उपाध्यक्ष वीनू मेहता, राज्य महासचिव प्रवीण मिन्हास, यासीन भट, अरविंद ठाकुर, पवन नेगी, अक्षिता भरोटा, रमेश कुमार, रणदीप ठाकुर, चंदन महाजन, ईशान शर्मा, सचिन, राकेश सिंगटा, यशवंत ठाकुर, गिरीश, गौरव नेगी आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

कर्ज के दुष्चक्र में फंस कर सामूहिक आत्महत्या

कर्ज के दुष्चक्र में फंस कर सामूहिक आत्महत्या  

ओमप्रकाश चौबे

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां कर्ज के दुष्चक्र में फंसे एक पति-पत्नी ने अपने दो बच्चों के साथ मौत को गले लगा लिया। बताया जा रहा है कि पति-पत्नी ने पहले अपने बच्चों को जहर दिया और इसके बाद खुद फांसी लगा ली। परिवार के इतना बड़ा कदम उठाने के पीछे की वजह कर्ज बताया जा रहा है।

मामला भोपाल के रातीबड़ थाना क्षेत्र के नीलबड़ इलाके का है। पुलिस को मौके से सुसाइड नोट और सल्फास की गोलियों का पैकेट भी मिला है। एसीपी चंद्र प्रकाश पांडे के मुताबिक पहले 8 साल और 3 साल के बच्चों को सल्फास की गोलियां दी गयीं और उसके बाद पति-पत्नी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

पुलिस के अनुसार मृतक निजी इंश्योरेंस कंपनी में नौकरी करता था, लेकिन कुछ नुकसान होने के चलते उसने लोन लिया था। इस लोन का भुगतान वह समय पर नहीं कर पाया, जिसके कारण उसपर कर्जा बढ़ता चला गया और उसने यह जानलेवा कदम उठा लिया। सभी शवों पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

रातीबड़ थाना पुलिस के मुताबिक 35 वर्षीय भूपेन्द्र विश्वकर्मा मूलतः रीवा का रहने वाला था। वह अपनी पत्नी 29 वर्षीय रितु विश्वकर्मा और रितुराज 8 साल की बच्ची और ऋषिराज 3 साल के बेटे के साथ शिव विहार कॉलोनी में रहता था। परिजन दोनों बच्चों को रिशु और किशु नाम से बुलाते थे। भूपेन्द्र प्राइवेट नौकरी करता था। कुछ महीने पहले उसने ऑनलाइन लोन ऐप से लोन लिया था। आर्थिक तंगी के कारण कर्ज की किश्तें समय पर न चुका पाने के कारण कर्ज बढ़ता चला गया, इसके बाद लोन वसूली करने वालों ने भूपेन्द्र परेशान करना शुरू कर दिया।

बताया जा रहा है कि लोन देने वाली कंपनी के अधिकारियों ने दोबारा लोन लेने की पेशकश की थी। भूपेन्द्र विश्वकर्मा ने दोबारा कर्ज लिया और पुराना कर्ज चुका दिया। इसके बाद नए लोन की बढ़ी हुई किश्तें देने का दबाव बनाया गया। जुलाई की किश्त समय पर जमा नहीं करने पर सोशल मीडिया की डीपी में लगी फोटो निकालकर अश्लील बनाकर ब्लैकमेल किया गया। भूपेन्द्र जहां नौकरी करता था, वहां उसके मालिक, रिश्तेदार और अन्य रिश्तेदार भी ब्यौरा भेजने लगे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक भूपेंद्र विश्वकर्मा ने गुरुवार तड़के 4 बजे अपनी भतीजी रिंकी विश्वकर्मा को वॉट्सऐप पर सुसाइड नोट भेजा था। साथ ही पत्नी और दोनों बच्चों के साथ सेल्फी खींचकर भी भेजी। इस फोटो का कैप्शन लिखा- यह मेरी आखिरी फोटो है। आज के बाद हम कभी नहीं दिखेंगे। इन फोटो और सुसाइड नोट को रिंकी ने सुबह 6 बजे देखा और परिजनों को सूचना दी। रिंकी, मंडीदीप स्थित एक धागा फैक्टरी में काम करती हैं।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस घटना को लेकर दुःख जताया है। पीसीसी चीफ ने ट्वीट किया, 'भोपाल में एक दंपति द्वारा आत्महत्या और आत्महत्या से पहले अपने दो बच्चों को जहर देने का मामला सामने आया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार परिवार कर्ज के दलदल में फंसा हुआ था। कर्ज का बोझ पूरे मध्यप्रदेश के लिए जानलेवा संकट बनता जा रहा है। मैं ईश्वर से सभी दिवंगत आत्माओं की शांति की प्रार्थना करता हूं। ईश्वर परिजनों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करे। ओम शांति।'

वैज्ञानिकों ने खास किस्म का मीट तैयार किया

वैज्ञानिकों ने खास किस्म का मीट तैयार किया   

सरस्वती उपाध्याय  

हम आज तक शाकाहारी और मांसाहारी दो तरह के लोगों के बारे में काफी सुनते आए हैं। लेकिन पिछले कुछ सालों में वेजीटेरियन और नॉनवेजीटेरियन के अलावा एक और कैटेगरी का नाम काफी सुनने में आया है और वह है वीगन। जो लोग मांसाहार छोड़कर शाकाहारी या वीगन बनते हैं, उनके लिए समस्या ज्यादा होती है। ऐसे ही लोगों के लिए वैज्ञानिकों ने एक खास किस्म का चिकन मीट बनाया है, जो उन्हें रियल मीट का ही फुल फील देगा।

रिपोर्ट के मुताबिक वैज्ञानिकों ने जो मीट तैयार किया है, उसका सेल्युलर स्ट्रक्चर भी बिल्कुल चिकन की तरह ही है लेकिन इसकी खासियत ये है कि इसमें किसी भी जानवर को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया गया है। ये अमेरिका के कैलिफोर्निया में मौजूद फैक्ट्री के बायोरिएक्टर्स में बनता है। इन्हें कल्चर्ड मीट कहा जाता है लैब में इन्हें बनाया जाता है।

वीगन लोग भी ले सकेंगे मीट का स्वाद

अब से 10 साल पहले तो ऐसी कंपनियां कम थीं लेकिन अब दुनिया भर में 150 ऐसी कंपनियां हैं जो कल्चर्ड मीट, दूध और ऐसे अन्य प्रोडक्ट बना रही हैं। पिछले महीने 2 ऐसे कंपनियां भी आईं, जिन्होंने लैब में चिकन प्रोडक्ट्स बनाए, जो जल्दी ही रेस्टोरेंट तक भी पहुंचने वाले हैं। इस काम में इसके प्लांट्स लगाने में करोड़ों का इंवेस्टमेंट लगेगा, हालांकि इसकी डिमांड भी बढ़ सकती है क्योंकि ये बिना जानवरों को नुकसान पहुंचाए मीट का प्रोडक्शन करेंगे। मार्क पोस्ट के मुताबिक ऐसे तमाम लोग हैं, जो वीगन बनने के 15 साल भी मीट खाने की इच्छा रखते हैं, उनके लिए ये बहुत फायदेमंद होगा।

कुछ लोग कर रहे हैं विरोध भी

इस प्रोजेक्ट को लेकर जहां लोगों का कहना है कि ये ओरिजनल मीट से होने वाले नुकसान से लोगों को बचाएंगे तो वहीं इसके विरोधियों का मानना है कि इसमें जितना पैसा और मेहनत लग रही है, उतना अच्छा नतीजा नहीं होगा।

दिल्ली में जल आपूर्ति प्रभावित हो सकती है

दिल्ली में जल आपूर्ति प्रभावित हो सकती है

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि यमुना के बढ़ते जल स्तर से वजीराबाद, चंद्रावल और ओखला के जल शोधन संयंत्रों के बंद होने से शहर के कुछ हिस्सों में जल आपूर्ति प्रभावित हो सकती है।

यमुना नदी का जलस्तर बृहस्पतिवार सुबह बढ़कर 208.48 मीटर तक पहुंच गया जिससे आस-पास की सड़कें, सार्वजनिक और निजी बुनियादी ढांचे जलमग्न हो गए हैं। इस वजह से नदी के करीब रहने वाले लोगों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

पुराने रेलवे पुल पर यमुना नदी ने बुधवार की रात 208 मीटर के चिह्न को पार कर लिया और बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे तक जल स्तर 208.48 मीटर तक पहुंच गया। केंद्रीय जल आयोग ने जलस्तर के और बढ़ने का अनुमान जताया है। उसने इस स्थिति को ‘अत्यंत गंभीर’ बताया है।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘यमुना नदी में जलस्तर बढ़ने से आज कई जल शोधन संयंत्र बंद करने पड़े हैं। यमुना किनारे बने वजीराबाद जल शोधन संयंत्र का आज मैंने खुद दौरा किया। जैसे ही स्थिति यहां सामान्य होगी हम इसे जल्द शुरू करेंगे।’’

उन्होंने कहा कि यमुना में बढ़ते जल स्तर की वजह से वजीराबाद, चन्द्रावल और ओखला जल शोधन संयंत्रों को बंद करने पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इस वजह से दिल्ली के कुछ इलाकों में पानी की परेशानी होगी। जैसे ही यमुना का पानी कम होगा, इन्हें जल्द से जल्द चालू करने की कोशिश करेंगे।’’

कपड़ों से आ रही है बदबू, अपनाएं ये टिप्स

कपड़ों से आ रही है बदबू, अपनाएं ये टिप्स 

सरस्वती उपाध्याय 

बारिश के मौसम में हम अक्सर अपने कपड़े धोते हैं, लेकिन मौसम की नमी के कारण कपड़े ठीक से नहीं सूखते हैं। अगर कपड़े ठीक से न सुखाए जाएं तो उनमें से बदबू आने लगती है, जिसके बाद वे उन्हें पहनना पसंद नहीं करते हैं।

दरअसल, कपड़े ठीक से धूप के संपर्क में न आने के कारण उन पर बैक्टीरिया पनपने लगते हैं, जिसके बाद कपड़ों से बदबू आने लगती है। उन बदबूदार कपड़ों को पहनने से आप बीमार भी पड़ सकते हैं।

कई बार मानसून में हम कपड़ों को अच्छे से झाड़कर सुखा लेते हैं, इसके बाद भी कपड़ों से बदबू आने लगती है। ऐसे में कपड़ों को इस्त्री करना चाहिए। दरअसल, इस्त्री करने से गीले कपड़ों पर मौजूद बैक्टीरिया मर जाते हैं, जिसके बाद कपड़े पूरी तरह से गंध मुक्त हो जाते हैं। इस्त्री करने से कपड़ों से चिपचिपाहट भी दूर हो जाती है।

बरसात के मौसम में कपड़ों को धोने के लिए अच्छी तरह के डिटर्जेंट पाउडर का प्रयोग करना चाहिए, जिसमें अच्छी सुगंध आती हो। जब हम अच्छी सुगंध वाली डिटर्जेंट से कपड़ों को धोकर सुखाते हैं तो सूखने के बाद भी कपड़ों से अच्छी खुशबू आती रहती है। ऐसे में गीले कपड़े को कमरे में लगे पंखे के नीचे सुखा कर भी चिपचिपाहट को दूर किया जा सकता है।

कभी-कभी धुले हुए कपड़ो के लंबे समय तक गीला रह जाने के कारण बदबू आने लगती है।बरसात के मौसम में अक्सर बिजली भी नहीं रहती है तो आयरन करना भी संभव नहीं होता है। ऐसी स्थिति में कपड़े को सूखने के बाद कपूर की गोलियों के साथ लपेट कर रख देना चाहिए। कपूर की गोलियों में काफी तेज खुशबू होती है, जो कपड़ों में मिल जाती है, जिसके बाद कपड़ा का दुर्गंध अपने आप खत्म हो जाता है।

यदि आपके घर में एडवांस फीचर वाला वॉशिंग मशीन है तो बरसात के मौसम में वाशिंग मशीन में लगे ड्रायर से कपड़ा को बहुत ही अच्छे तरीके से सुखा सकते हैं।वाशिंग मशीन के ड्राई से सुखाने के बाद कपड़े को पंखे के नीचे सूखने के लिए छोड़ देना चाहिए।इस तरीका को अपनाकर भी आप अपने कपड़े से बदबू को खत्म कर सकते हैं।

वर्षा: पानी में डूबी दिल्ली, बाढ़ के हालात बनें 

वर्षा: पानी में डूबी दिल्ली, बाढ़ के हालात बनें 

इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली। इन दिनों उत्तर भारत में हो रही भारी बारिश ने कहर बरपा रखा है। वहीं, राजधानी दिल्ली में भी बारिश से हालात खराब होते जा रहे हैं। दिल्ली में बारिश और हथिनी कुंड बैराज से पानी छोड़े जाने की वजह से यमुना नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है।

बता दें, कि यमुना नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंचने के कारण ओल्ड यमुना ब्रिज, लोहा पुल के आसपास के इलाकों में पानी भर गया है।

इसके अलावा कश्मीरी गेट इलाके में भी यमुना का पानी घुस गया है। वहीं यमुना नदी से सटे निचले इलाकों में रहने वालों को सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा गया है। साथ ही दिल्ली के निगम बोध घाट, जैतपुर, रिंग रोड आईटीओ, लोहा पुल’ और सिविल लाइन्स इलाके में बाढ़ का पानी घुसना शुरू हो गया है। 

वहीं यमुना बैंक मेट्रो स्टेशन पर प्रवेश और निकास क अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है। इसके अलावा कई वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट बंद करने पड़े हैं। बता दें राजधानी में बाढ़ के हालत होने के बीच प्रगति मैदान टनल खुल गई है। इस टनल का रिंग रोड और मथुरा रोड, इंडिया गेट आने-जाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। दरअसल 3 दिन पहले प्रगति मैदान का पानी आने के कारण टनल को बंद कर दिया था इसके बाद टनल में आने वाले पानी को रोकने के लिए एलजी ने दौरा किया था टनल बनाने वाली कंपनी ने इसमें पानी छोड़ने वाली एक अन्य कंपनी खिलाफ पुलिस में शिकायत की थी। आइए राजधानी दिल्ली के कुछ इलाकों का हाल आपको बताते हैं। 

लाल किले के पास बाढ़ जैसे हालात 

दिल्ली के लाल किले के पास बाढ़ जैसे हालात बनते जा रहे हैं। यहां एक रिक्शा चालक सीने तक गहरे पानी में रिक्शा चलाता दिखाई दिया।

बाढ़ के हालात को देखते हुए दिल्ली मेट्रो का फैसला

बाढ़ के हालात के चलते यमुना नदी के ऊपर से गुजरते समय मेट्रो की स्पीड लिमिट 30km/घंटा से अधिक नहीं होगी। DMRC ने ट्वीट किया कि यमुना के बढ़ते जल स्तर की वजह से एहतियात के तौर पर ट्रेनें नदी पर बने सभी चार मेट्रो पुलों से 30 किमी प्रति घंटे की प्रतिबंधित गति से गुजर रही हैं।

चंदगीराम अखाड़ा के निचले इलाके में बाढ़

बता दें दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर बढ़ने के बाद चंदगीराम अखाड़ा के निचले इलाके में बाढ़ के हालात बन गए हैं। 

घर छोड़ने पर लोगों ने ली फ्लाइओवर ने नीचे शरण

दिल्ली में यमुना के बढ़ते जलस्तर के चलते मयूर विहार फेज 1 के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी घुसने की वजह से कई लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है। बता दे लोगों ने फ्लाइओवर के नीचे शरण ली है। जहां लोगों को खाना बांटा जा रहा है।

वजीराबाद के निचले इलाकों में बाढ़ जैसे हालात

बता दें दिल्ली में रिंग रोड पर बाढ़ का पानी आने से आईएसबीटी कश्मीरी गेट में हिमाचल, पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा और उत्तराखंड से आने-जाने वाली बसों का परिचालन प्रभावित हो गया है। यहां यात्रियों को बस अड्डे तक पहुंचने में काफी दिक्कत हो रही है। बता दें यमुना नदी का जलस्तर बढ़ने के बाद वज़ीराबाद के निचले इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है, जिसकी वजह से यातायात प्रभावित हुआ है।

दो ट्रकों की टक्कर में 4 की मौत, 15 घायल

दो ट्रकों की टक्कर में 4 की मौत, 15 घायल

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली के बाहरी उत्तरी जिले में जीटीके रोड पर दो ट्रकों की टक्कर में चार लोगों की मौत हो गई और 15 अन्य घायल हो गए। पुलिस ने गुरुवार को यह जानकारी दी। पुलिस के अनुसार उन्नीस घायलों को नरेला के सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में भेजा गया, जहां उनमें से चार को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया, दो को इलाज के लिए बालाजी एक्शन सेंटर पश्चिम विहार के एक उच्च केंद्र में रेफर कर दिया गया और पांच घायल लोगों को जहांगीरपुरी के बाबू जगजीवन राम मेमोरियल अस्पताल भेजा गया। विधानसभा घेरने निकले भाजपा नेताओं पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज अलीपुर पुलिस स्टेशन में धारा 279/304ए के तहत मामला दर्ज किया गया है और आगे की जांच चल रही है। 

पुलिस ने कहा कि उन्हें सिरसपुर जीटीके रोड के पास दो वाहनों की दुर्घटना के संबंध में लगभग 12 : 44 बजे एक पीसीआर कॉल मिली। घटना की सूचना मिलते ही टीम मौके पर पहुंची जहां पुलिस ने पाया कि अपर जीटीके हाईवे (एनएच-44) पर दो ट्रकों की टक्कर हो गई थी, जिसमें एक ट्रक कांवर यात्रियों को हरिद्वार ले जा रहा था। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रारंभिक जांच में यह पता चला कि दिल्ली की ओर आ रहे ट्रकों में से एक ने जीटीके रोड के केंद्रीय डिवाइडर को पार कर लिया और कांवर यात्रियों के ट्रक को टक्कर मार दी, जिसमें लगभग 20-23 कांवर यात्री यात्रा कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि ट्रक चालक अभी भी फरार है।

घेराव: कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज, एक की मौत 

घेराव: कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज, एक की मौत 

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। विधानसभा का घेराव करने जा रहे भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया, जिसमें कई भाजपा कार्यकर्ता घायल हुए हैं तथा एक की मौत हो गई।

गौरतलब है कि बिहार सरकार के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता शिक्षक भर्ती, भ्रष्टाचार और बिगड़ती कानून व्यवस्था के साथ-साथ कई मुद्दों को लेकर राजधानी पटना में विधानसभा का घेराव करने के लिए निकल पड़े। 

इसी बीच बिहार पुलिस ने उन्हें पटना के डाकबंगला चौराहे पर रोक लिया। इधर भाजपा कार्यकर्ता विधानसभा का घेराव करना चाहते थे लेकिन पुलिस उन्हें आगे नहीं बढ़ने दे रही थी जिस कारण पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं में टकराव हो गया । इसी दौरान पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागने के साथ-साथ लाठीचार्ज भी कर दिया। इस पूरे घटनाक्रम में कई भाजपा के कार्यकर्ता घायल भी हुए हैं। बताया जाता है कि इस लाठीचार्ज में जहानाबाद नगर में बीजेपी में महामंत्री विजय कुमार सिंह की मौत हो गई।

25.30 घंटे की उलटी गिनती शुरू, चंद्रयान-3

25.30 घंटे की उलटी गिनती शुरू, चंद्रयान-3

इकबाल अंसारी 

श्रीहरिकोटा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कहा कि देश के तीसरे चंद्र मिशन ‘चंद्रयान-3’ के प्रक्षेपण के लिए 25.30 घंटे की उलटी गिनती बृहस्पतिवार को यहां स्थित अंतरिक्ष केंद्र में शुरू हो गई। शुक्रवार को रवाना होने वाला ‘चंद्र मिशन’ वर्ष 2019 के ‘चंद्रयान-2’ का अनुवर्ती मिशन है। भारत के इस तीसरे चंद्र मिशन में भी अंतरिक्ष वैज्ञानिकों का लक्ष्य चंद्रमा की सतह पर लैंडर की ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ का है।

‘चंद्रयान-2’ मिशन के दौरान अंतिम क्षणों में लैंडर ‘विक्रम’ पथ विचलन के चलते ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ करने में सफल नहीं हुआ था। यदि इस बार इस मिशन में सफलता मिलती है तो भारत ऐसी उपलब्धि हासिल कर चुके अमेरिका, चीन और पूर्व सोवियत संघ जैसे देशों के क्लब में शामिल हो जाएगा।

इसरो ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा, "एलवीएम3एम4-चंद्रयान-3 मिशन: कल (शुक्रवार-14 जुलाई) को 14.35 बजे (अपराह्न दो बजकर 35 मिनट) पर किए जाने वाले प्रक्षेपण की उलटी गिनती शुरू हो गई है।" अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि ‘चंद्रयान-3’ कार्यक्रम के तहत इसरो अपने चंद्र मॉड्यूल की मदद से चंद्र सतह पर ‘सॉफ्ट-लैंडिंग’ और चंद्र भूभाग पर रोवर के घूमने का प्रदर्शन करके नई सीमाएं पार करने जा रहा है।

भाजपा के खिलाफ 24 दल एक मंच पर आएंगे

भाजपा के खिलाफ 24 दल एक मंच पर आएंगे

तारिक़ खान

बेंगलुरु। केंद्र में सत्ताधारी भाजपा के खिलाफ विपक्ष एकजुट होने की कोशिश में लगा है। एक मीटिंग बिहार में हो चुकी है। अब कर्नाटक में दूसरी होने वाली है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक विपक्ष की दूसरी बैठक 17-18 जुलाई को बेंगलुरु में होगी। इस बार बैठक में 24 दलों के नेता शामिल होंगे। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी भी इस बैठक में शामिल होंगी।

सोनिया गांधी संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) की अध्यक्ष हैं। विपक्षी दलों की इस बैठक में उनकी उपस्थिति संभवतः ये सुनिश्चित करेगी कि बैठक अच्छे माहौल में हो। अगर किसी मुद्दे को लेकर मुश्किल होती है तो सोनिया गांधी उसे आसानी से सुलझवा दें। विपक्षी नेताओं के बीच इस बैठक में दो दिन बातचीत होनी है। इसमें पहले दिन यानी 17 जुलाई को सभी नेता एक अनौपचारिक बैठक करेंगे। इसके अगले दिन 18 जुलाई को इन नेताओं के बीच एक औपचारिक बातचीत होगी। पहले दिन की बैठक खत्म होने के बाद सभी नेताओं को कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया एक डिनर पार्टी देंगे।

बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार साल 2022 में बीजेपी से नाता तोड़कर महागठबंधन में शामिल हो गए थे। वो इसके बाद से ही विपक्षी दलों को एकजुट करने की कोशिश में लगे हैं। उन्होंने पिछले कुछ महीनों में अलग-अलग राज्यों में जाकर विपक्षी नेताओं से मुलाकात भी की। इसके बाद उन्होंने 23 जून को बिहार की राजधानी पटना में विपक्षी दलों की बड़ी बैठक बुलाई थी। इस महाबैठक में 15 दलों के 27 नेता शामिल हुए थे।

इन नेताओं के नाम नीतीश कुमार (जेडीयू), ममता बनर्जी (एआईटीसी), एमके स्टालिन (डीएमके), मल्लिकार्जुन खरगे (कांग्रेस), राहुल गांधी (कांग्रेस), अरविंद केजरीवाल (आप), हेमंत सोरेन (झामुमो), उद्धव ठाकरे (एसएस-यूबीटी), शरद पवार (एनसीपी), लालू प्रसाद यादव (राजद), भगवंत मान (आप), अखिलेश यादव (सपा), केसी वेणुगोपाल (कांग्रेस), सुप्रिया सुले (एनसीपी), मनोज झा (राजद), फिरहाद हकीम (एआईटीसी), प्रफुल्ल पटेल (एनसीपी), राघव चड्ढा (आप), संजय सिंह (आप), शामिल हुवे थे।

इसके अलावा संजय राऊत (एसएस-यूबीटी), ललन सिंह (जेडीयू),संजय झा (जेडीयू), सीताराम येचुरी (सीपीआईएम), उमर अब्दुल्ला (नेकां), टीआर बालू (डीएमके), महबूबा मुफ्ती (पीडीपी), दीपंकर भट्टाचार्य (सीपीआईएमएल)तेजस्वी यादव (राजद), अभिषेक बनर्जी (एआईटीसी), डेरेक ओ’ब्रायन (एआईटीसी), आदित्य ठाकरे (एसएस-यूबीटी) और डी राजा (सीपीआई) हैं।

60 घंटे, 60 हजार पर्यटकों की घर वापसी 

60 घंटे, 60 हजार पर्यटकों की घर वापसी   

पंकज कपूर  

शिमला। मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि प्रदेश में भारी बारिश से बाढ़ एवं भूस्खलन के बाद राहत एवं बचाव कार्यों में तेजी लाई गई है। सबसे अधिक प्रभावित कुल्लू जिला तथा लाहौल-स्पिति में फंसे पर्यटकों एवं अन्य लोगों की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने के लिए पिछले लगभग 60 घण्टे से निरन्तर बचाव अभियान चलाया गया।

मुख्यमंत्री ने कुल्लू एवं मण्डी में मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि वह गत तीन दिनों से कुल्लू, लाहौल-स्पिति तथा मण्डी में प्रभावित क्षेत्रों का दौरे पर हैं। उन्होंने कहा कि कुल्लू एवं लाहौल-स्पिति जिला के विभिन्न स्थानों पर लगभग 70 हजार पर्यटक एवं अन्य लोग फंसे हुए थे, इनमें से 60 हजार लोगों की सुरक्षित वापसी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि इस बचाव अभियान में एक हजार कर्मचारी एवं अधिकारियों ने चौबीसों घण्टे युद्धस्तर पर कार्य करते हुए इसे संभव बनाया।

उन्होंने कहा कि इस विपदा में सबसे चुनौतिपूर्ण बचाव अभियान के तहत लाहौल-स्पिति के चन्द्रताल में फंसे पर्यटकों की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित की गई है। लैंडिंग स्थल उपलब्ध न होने के कारण यहां वायुसेना के लिए हैलीकाप्टर उतारना संभव नहीं था।

प्रदेश सरकार की ओर से राजस्व मंत्री जगत सिंह नेगी तथा मुख्य संसदीय सचिव संजय अवस्थी बचाव अभियान की निगरानी के लिए भारी बर्फबारी के बीच शून्य से नीचे तापमान में तीन जेसीबी मशीनों के साथ तड़के सुबह दो बजे ग्राउंड जीरो (चन्द्रताल) पर पहुंचे। इसके उपरान्त 57 वाहनों के माध्यम से लगभग 250 पर्यटकों को वहां से सुरक्षित काजा लाने के साथ ही यह अभियान पूरा हुआ। उन्होंने अभियान से जुड़े सभी लोगों का उनके सक्रिय सहयोग एवं अथक प्रयासों के लिए आभार भी व्यक्त किया।

प्लास्टिक कचरे से गैस बनाने का तरीका खोजा 

प्लास्टिक कचरे से गैस बनाने का तरीका खोजा 

दुष्यंत टीकम  

इंदौर। इंदौर के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) ने पीईटी प्लास्टिक के कचरे से हरित हाइड्रोजन गैस बनाने का आसान और असरदार तरीका खोज निकाला है। आईआईटी प्रबंधन के मुताबिक तीन बरस की मेहनत से संपन्न यह अनुसंधान न केवल प्लास्टिक अपशिष्ट के निपटारे की वैश्विक समस्या हल कर सकता है, बल्कि ‘कचरे से कमाई’ के नये रास्ते भी खोल सकता है। 

आईआईटी के रसायन विज्ञान विभाग के प्रोफेसर संजय के. सिंह ने बृहस्पतिवार को एक न्यूज एजेंसी को बताया,हम पानी में प्लास्टिक के कचरे को बारीक टुकड़े, उत्प्रेरक और अन्य पदार्थ डालकर 160 डिग्री सेल्सियस तापमान पर गर्म करते हैं। इस रासायनिक प्रक्रिया से निकलने वाली 100 प्रतिशत शुद्ध हाइड्रोजन गैस को इकट्ठा कर लिया जाता है। उन्होंने बताया कि रासायनिक प्रक्रिया के जरिये पीईटी प्लास्टिक के 33 किलोग्राम कचरे से एक किलोग्राम शुद्ध हाइड्रोजन गैस बनाई जा सकती है और माना जाता है कि इतना हरित ईंधन हाइड्रोजन से चलने वाली कार को 100 किलोमीटर तक दौड़ाने के लिए काफी है। 

केंद्र सरकार ने इस साल की शुरुआत में 19,744 करोड़ रुपये का प्रावधान करते हुए राष्ट्रीय हरित हाइड्रोजन अभियान को हरी झंडी दी थी ताकि भारत को इस ईंधन के उत्पादन का वैश्विक केंद्र बनाया जा सके। इस महत्वाकांक्षी अभियान के तहत वर्ष 2030 तक देश में कम से कम 50 लाख टन हरित हाइड्रोजन बनाने की सालाना क्षमता विकसित करने का लक्ष्य तय किया गया है। आईआईटी इंदौर के एक अधिकारी ने कहा कि हरित हाइड्रोजन बनाने के संस्थान के अनुसंधान से इस लक्ष्य को हासिल करने में मदद मिल सकती है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-271, (वर्ष-06) पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शुक्रवार, जुलाई 14, 2023

3. शक-1944, श्रावण, कृष्ण-पक्ष, तिथि-द्वादशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:18, सूर्यास्त: 07:11। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 18 डी.सै., अधिकतम- 31+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...