सोमवार, 27 मई 2019

लोकसभा चुनाव के बाद किसने किया पीएम पर तंज

काम के दम पर नहीं बल्कि डर के बलबूते चुनाव जीते पीएम मोदी - अमर्त्य सेन


इस बार लोकसभा चुनाव में जिस तरह से भारतीय जनता पार्टी ने प्रचंड बहुमत हासिल करके फिर से सत्ता में वापसी की है, उसके बाद नोबेल अवॉर्ड विजेता अमर्त्य सेन ने इस जीत पर सवाल खड़ा किया है। अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने यह जीत अपनी उपलब्धियों के दम पर नहीं बल्कि डर के बलबूते हासिल की है।हालांकि उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी करिश्माई नेता हैं और वह अपनी बेबाक तरीके राय को रखते हैं और लोगों को प्रभावित करने की क्षमता रखते हैं, यही वजह है कि वह लोगों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं।द टेलीग्राफ में एक लेख के जरिए अमर्त्य सेन ने पीएम मोदी के पिछले कार्यकाल से असंतोष जताया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से पुलवामा में आतंकी हमला हुआ और सेना ने एयर स्ट्राइक की उसका पीएम मोदी के साथ भाजपा को पूरा लाभ मिला। इसी बलबूते पूरे देश में राष्ट्रवाद के दम पर भाजपा ने जीत दर्ज की है। पार्टी ने देश में डर का एक माहौल बनाया और इसका बखूबी इस्तेमाल किया।


 


पूर्व चेयरमैन के खिलाफ कार्रवाई की मांग

गाजियाबाद लोनी, नगरपालिका पूर्व चेयरमैन के खिलाफ लिखा शिकायती पत्र व की कानूनी कार्यवाही की मांग अल्पसंख्यक के जिला महामंत्री अलीमुद्दीन अंसारी ने नगर पालिका परिषद के पूर्व चेयरमैन मनोज धामा के खिलाफ शिकायती पत्र देकर, नंदकिशोर विधायक व मुस्लिम समाज के लोगों से गाय काटने के एवज में पैसे लेने की बात को लेकर एक शिकायती पत्र दिया है इस शिकायती पत्र में बताया गया है कि मुसलमानों को गाय काटने वाला बताकर पूरे समाज को हिंदू विरोधी कहकर अपमानित कर क्षेत्र के सांप्रदायिक सद्भाव एवं सौहार्द को बिगाड़ने का प्रयास किया गया है और बताया गया है कि जब भी गौ तस्कर पकड़े गए हैं लोनी से बाहर के पकड़े गए हैं और अलीमुद्दीन अंसारी ने यह भी अपने शिकायती पत्र में लिखा है कि इससे पहले भी पूर्व चेयरमैन मनोज धामा ने सन 2013 में मुजफ्फरनगर में हुए दंगों के दौरान भी अपने फेसबुक पर मुजफ्फरनगर जा रहा हूं और वहां जाकर मुसलमानों का कत्ल कर जाट भाइयों का बदला लूंगा इस पोस्ट को डाला गया था जिससे लोनी का माहौल तनावपूर्ण हो गया था और तत्कालीन थानाध्यक्ष ने इन पर मुकदमा दर्ज क्या था इसके संबंध में लोनी का माहौल व सौहार्द ना खराब हो अलीमुद्दीन अंसारी ने लोनी थाना प्रभारी को अपना प्रार्थनापत्र देकर कार्यवाही की मांग की।


कार्यकर्ताओं ने सांसद का लिया आशीर्वाद

 उत्तर प्रदेश,गाजियाबाद  - लोकसभा चुनाव में एक बार फिर से भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलने पर रवि भाटी के नेतृत्व में आज गाज़ियाबाद के कार्यकर्त्ताओ ने आदरणीय रमापति राम त्रिपाठी जी को देवरिया लोकसभा से सांसद बनने पर पुष्प भेट कर एवम मिठाई खिलाकर बधाई दी एवम बाबू जी का आशीर्वाद प्राप्त किया l रवि भाटी ने बताया आदरणीय रमापतिराम त्रिपाठी जी पूर्व में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष उत्तर प्रदेश रहे नगर निगम गाज़ियाबाद के चुनाव में गाज़ियाबाद के प्रभारी रहे और संगठन में पार्टी के अन्य कई दायित्वो पर रहे इस बार भारतीय जनता पार्टी ने देवरिया लोकसभा से उन्हें टिकट दी जो वहा की जनता ने उनपर विश्वास जताया और अपना प्यार व आशीर्वाद देकर लाखो वोटो से रमापतिराम त्रिपाठी को विजय बनाया और आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द मोदी जी पुनः पूर्ण बहुमत देकर सरकार बनवाई l इस मोके पर रवि भाटी प्रदेश मंत्री,सुधीर भाटी,कियांश भाटी, टिंकू दयाल,स्वास्तिक भाटी, जॉनी, धान सिंह, सोनू चौहान, अमित, कल्लू आदि लोगो ने बाबू जी को बधाई दी l आदरणीय सांसद जी ने सभी देवतुल्य कार्येकर्ताओं का धन्यवाद किया व मिठाई खिलाकर सबको आशीर्वाद दिया 


ओवैसी ने प्रधानमंत्री पर लगाए आरोप

ओवैसी ने कहा- पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में भी जारी रहेगी मॉब लिंचिंग


ऑल इंडिया मजलिसे-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) पार्टी के अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर निशाने पर लिया है। हैदराबाद से चौथी बार सांसद का चुनाव जीतने वाले ओवैसी ने रविवार को कहा कि पीएम मोदी संविधान को नहीं समझते हैं। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में भी गौ रक्षा के नाम पर मॉब लिंचिंग जारी रहेगी।


शनिवार को एनडीए के सांसदों को संबोधन के दौरान पीएम मोदी के अल्पसंख्यकों को लेकर दिए गए बयान पर ओवैसी ने कहा, "प्रधानमंत्री ने संविधान को नमन किया। मैं उन्हें याद दिलाना चाहता हूं कि जीवन का अधिकार इंसानों के लिए है न कि जानवरों के लिए। अगर पीएम इस बुनियादी चीज़ को समझते हैं कि जीने का अधिकार इंसानों के लिए है तो मुझे यकीन है कि डर दूर हो जाएगा।


टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए असदउद्दीन ओवैसी ने बीजेपी पर मॉब लिंचिंग केस के आरोपियों को प्राथमिकता देने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, "अगर प्रधानमंत्री मानते हैं कि अल्पसंख्यक डर के साए में जी रहे हैं, तो प्रधानमंत्री को ये भी जानना चाहिए कि जिन लोगों ने (मोहम्मद) अखलाक की हत्या कि वो उनकी मुख्य बैठक में सबसे आगे की सीट पर बैठे हैं।" ओवैसी ने ये भी कहा कि बीजेपी सरकार की वापसी के बाद से मुसलमानों में डर और भी बढ़ गया है।


अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...