मंगलवार, 10 अक्तूबर 2023

मुलायम की प्रथम पुण्यतिथि, गोष्ठियों का आयोजन

मुलायम की प्रथम पुण्यतिथि, गोष्ठियों का आयोजन 

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। समाजवादी पार्टी के संस्थापक तथा पूर्व मुख्यमंत्री स्व मुलायम सिंह यादव की प्रथम पुण्यतिथी पर जनपद भर में अनेक स्थानों पर गोष्ठियों का आयोजन हुआ। सपाईयों ने अपने नेताजी को याद करते हुए उनके सपने को साकार कर लोकसभा चुनाव में अखिलेश यादव को जिताने का दृढ़ संकल्प लिया। इस दौरान सपा ने ब्लॉक स्तरीय कार्यक्रमों का आयोजन किया। हर स्थान पर सपा कार्यकर्ताओं ने भारी उपस्थिति के साथ मुलायम सिंह यादव के कार्यकाल और संघर्ष को याद करते हुए उनको सच्चा किसान और जनहितैषी नेता बताया।
सपा अध्यक्ष स्वर्गीय मुलायम सिंह यादव की पुण्यतिथि सपाईयों के द्वारा पूरी श्रद्धा के साथ मनाई गई। इस अवसर पर प्रदेश भर के साथ ही जनपद मुजफ्फरनगर में अनेक स्थानों पर सपाईयों ने सभा और कार्यक्रम किये। जिला कार्यालय महावीर चैक पर सपा जिलाध्यक्ष जिया चैधरी की अध्यक्षता में सभा का आयोजन किया गया। इसमें कार्यकर्ताओं और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने नेताजी के चित्र पर पुष्प अर्पित करते हुए उनको याद किया और अपनी भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की।

लखनऊ में चरथावल विधायक पंकज मलिक ने आज विधानसभा भवन में समाजवादी पार्टी के संस्थापक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की प्रथम पुण्यतिथि पर उनके संघर्ष को याद किया और अपनी पुष्पांजलि अर्पित की। इसके साथ ही लखनऊ में ही रालोद विधानमंडल दल कार्यालय पर दल के नेता और बुढ़ाना विधायक राजपाल बालियान, पुरकाजी विधायक अनिल कुमार ने भी सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव की पुण्यतिथि मनाते हुए पुष्प अर्पित किये।
जिला कार्यालय पर आयोजित गोष्ठी में वक्ताओं ने विचार किये। जिया चैधरी ने कहा कि नेताजी ने हमेशा ही गरीब, किसान, मजदूर के हितों की चिंता की है। उन्होंने अपने राजनीतिकवन में जमीनी स्तर पर संघर्ष किया और यूपी के तीन बार मुख्यमंत्री भी बने। रक्षा मंत्री बनकर देश के शहीदों को सम्मान दिया, उनके परिवारों को शहीद सैनिकों के शव दिलाने के लिए क्रांतिकारी निर्णय लिया और देश की रक्षा के लिए सीमाओं को मजबूती दी। आज देश में उनके जैसे धरतीपुत्र की राजनीतिक स्तर पर बहुत आवश्यकता है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि वो दिन रात मेहनत करें और लोकसभा चुनाव में अखिलेश यादव के हाथों को मजबूती प्रदान करें। यही नेताजी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
इस दौरान मुख्य रूप से राकेश शर्मा, मौलाना नजर मौहम्मद, बॉबी त्यागी, गोल्डी अहलावत, सभासद शौकत अंसारी, साजिद हसन, इलम सिंह गुर्जर, सभासद शहजाद अली, हकीम इरशाद अंसारी, असद पाशा, शाहिन बेगम, सलीम मलिक, राशिद मलिक सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे। वहीं खतौली में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा मुलायम सिंह पुण्यतिथि ब्लॉक पर मनाई गयी।
वक्ताओं ने कहा कि नेता जमीनी नेता रहे। उन्होंने पहला चुनाव अपने गुरु नत्थू सिंह की सीट जसवंत नगर सेत कर विधानसभा में स्थान पाया था। नेता ने कड़ा संघर्ष कर सन 1992 में समाजवादी पार्टी का गठन किया। उनकी कमी हमेशा कार्यकर्ताओ को हमेशा महसूस होती रहेगी। सभा में सत्यदेव शर्मा, देवराज त्यागी, बृजराज सैनी, वसीम सभासद, पंकज सैनी,नदीम कुरेशी, इरफान टेम्पो, दानिश काजी एडवोकेट, देवेंद्र कुमार, अरशद खान, सुनील सैनी, संजय गुज्जर, दानिश सभासद, फैयाज पूर्व सभासद, इमरान सिद्दीकी, हाजी इकबाल, नईम मलिक आदि मौजूद रहे।

मैच: श्रीलंका ने 50 ओवर में 344 रन बनाए

मैच: श्रीलंका ने 50 ओवर में 344 रन बनाए 

अखिलेश पांडेय 
कोलंबो/इस्लामाबाद। वर्ल्ड कप 2023 में आज श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच मुकाबला खेला जा रहा है। इस मैच में श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 344 रन बनाए है। इस मैच को जीतने के लिए पकिस्तान के सामने 345 रन का बड़ा लक्ष्य मिला है।
श्रीलंका की ओर से कुसल मेंडिस ने 77 गेंदों में तूफानी बल्लेबाज़ी करते हुए 122 रनों की पारी खेली। उनकी पारी में 14 चौके और 6 छक्के शामिल रहे। वहीं सदीरा समरविक्रमा ने 89 गेंदों में 11 चौके और 2 छक्कों की मदद से 108 रन बनाए। वहीं, पाकिस्तान के लिए हसन अली ने सबसे ज़्यादा 4 विकेट लिए।

सबसे उन्नत प्राचीन अंडरग्राउंड सिटी की खोज की

सबसे उन्नत प्राचीन अंडरग्राउंड सिटी की खोज की

अखिलेश पांडेय 
अंकारा। तुर्की के आर्कियोलॉजिस्ट्स ने दुनिया की सबसे उन्नत प्राचीन अंडरग्राउंड सिटी की खोज की है। अंडरग्राउंड सिटी में मॉर्डन स्टोव और कई तहखाने मिले हैं। माना जाता है कि इसका उपयोग रोमान साम्राज्य के दौरान एक सेंचुरी के रूप में किया जाता था। खुदाई में ऐसी चीजें सामने आईं हैं कि जानकार भी हैरान हो गए।

शाह कितनी जगह में फैला है?
द सन की रिपोर्ट में कहा गया है कि सरायिनी  नाम की यह सिटी 2 लाख 15 हजार स्क्वायर फुट में फैली हुई है। बड़ी संख्या में अंडरग्राउंड कमरे और गलियारें मिले हैं। बता दें, ये जगह तुर्की के कोन्या के सरायोनू जिला में खोजी है,  नीचे 30 कमरों की भूलभुलैया दफन हैं। माना जा रहा है कि आठवीं शताब्दी के दौरान यह शहर 20,000 लोगों के लिए आश्रय स्थल था, क्योंकि ईसाइयों और मुसलमानों पर रोमन साम्राज्य अत्याचार कर रहा था, इसलिए उनको रोमन सैनिकों के छापे से बचने के लिए सुरक्षित जगह की जरूरत पड़ी थी।

क्या-क्या चीजें सिटी के अंदर मिलीं ?
अंडरग्राउंड सिटी के अंदर से काफी चौंकाने वाली चीजें मिली हैं। स्टोरेज एरिया, स्टोव, चिमनी, लैंप स्टैंड, वेंटिलेशन सिस्टम, तहखाने और  पानी के कुएं भी मिले। खुदाई में आर्कियोलॉजिस्ट्स को एक चौड़ा रास्ता भी मिला है। जानकारों का मानना है कि यह एक मुख्य सड़क है। 

अंडरग्राउंड सिटी की खोज कैसे हुई?
पिछले 2 सालों से सरायिनी साइट पर खुदाई हुई लेकिन ज्यादा कुछ इसका पता नहीं चल सका। सबसे पहले इस अंडरग्राउंड सिटी के बारे में एक टर्किश शख्स को पता चला। पता चलने की सबसे बड़ी वजह उसरी मुर्गी रही, क्योंकि जब वह अपनी मुर्गियों को पड़ने के लिए पीछा कर रहा होता है, तभी एक मुर्गी आगे निकल जाती है और उसे पड़कने के लिए गिर जाता है। गिरने के बाद उसे महसूस होता है कि इसके नीचे कुछ है। इस दौरान उसे दुनिया के सबसे बड़े अंडरग्राउंड शहरों में से एक के बारे में पता चला। माना जाता है कि वहां कभी करीब 20 हजार लोग रहते थे।

यूपी: अक्टूबर के महीने में भी गर्मी की भरमार

यूपी: अक्टूबर के महीने में भी गर्मी की भरमार

सत्येंद्र पंवार 
मेरठ। अक्टूबर का महीना शुरु हो गया है, लेकिन वेस्ट यूपी के जिलों में गर्मी कम होने का नाम नहीं ले रही है। गर्मी के साथ बढ रहा प्रदूषण भी लोगों के लिए हालात ओर ज्यादा मुश्किल करता जा रहा है।
मौसम में एक बार फिर बदलाव हो गया है। पिछले चार दिनों से लगातार तापमान बढ़ता जा रहा है। अक्तूबर में भी सोमवार को दिन का तापमान 36 डिग्री के पार चला गया। लोग गर्मी से बेहाल रहे। वहीं मंगलवार को भी दिन भर मौसम गर्म बना रहा।
पिछले तीन चार दिन से मौसम में आ रहे उतार चढ़ाव के बीच गर्मी बढ़ रही है। दिन का तापमान सामान्य से छह डिग्री ऊपर चल रहा है। सामान्य से ऊपर चल रहे तापमान के चलते मौसम गर्म बना हुआ है। दिन और रात के तापमान में तेजी से बढोतरी हो रही है।
मेरठ में इस समय तापमान 30 के पास होना चाहिए, लेकिन 36 से ऊपर जा रहा है। मौसम कार्यालय पर दिन का अधिकतम तापमान 36.2 डिग्री व रात का न्यूनतम तापमान 23.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।
मेरठ का प्रदूषण लगातार बढ़ता जा रहा है। एक्यूआई 262 पार हो गया है। इसके चलते पराली जलाने या शहर को प्रदूषित करने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। गृह मंत्रालय द्वारा सेटेलाइट से निगरानी के बाद धुआं उठने वाले स्थान की ऑनलाइन लोकेशन जिला प्रशासन को बताई जा रही है।
दो दिन पहले मेरठ देश का सबसे प्रदूषित शहर बन गया था। धान की फसल की कटाई चल रही है। जिसके चलते किसानों द्वारा पराली जलने से हवा की सेहत और भी खराब हो सकती है।
दो दिन पहले मेरठ का एक्यूआई 262 और मुजफ्फरनगर 260 और शामली 255, चौथे नंबर पर ग्रेटर नोएडा 248 था। देश के 223 शहरों की सूची में मेरठ पहले स्थान पर पहुंच गया था। शहर में जयभीमनगर 250, गंगानगर 244, पल्लवपुरम 256, बेगमपुल 258 व दिल्ली रोड 249 दर्ज किया गया। बागपत 200, गाजियाबाद 214, मुजफ्फरनगर 260, शामली 255, हापुड 250, नोएडा 208, ग्रेटर नोएडा 248 पाया गया है।

45 जिलों में मांस की बिक्री की अनुमति, हड़कंप

45 जिलों में मांस की बिक्री की अनुमति, हड़कंप 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा अचानक प्रदेश के कुछ स्लाटर हाउस को 45 जिलों में मांस की बिक्री की अनुमति दिए जाने के आदेश से हडकंप मच गया। यहां तक कि मुख्यमंत्री के आदेशों की अवहेलना करते हुए इन जिलों में मांस की बिक्री के लिए प्रतिबंधित अयोध्या को भी शामिल कर दिया गया।
22 सितम्बर को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुख्य पर्यावरण अधिकारी घनश्याम की ओर से जारी इस आदेश पर विवाद खड़ा हो गया। अपर मुख्य सचिव (खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन) अनीता सिंह ने 5 अक्टूबर को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव को मुख्य पर्यावरण अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया है। साथ की मांस बिक्री की अनुमति जारी करने का आदेश निरस्त करने और विभागीय कार्रवाई का निर्देश दिया है।
प्रदूषण नियंत्रण बोर्डके मुख्य पर्यावरण अधिकारी वृत्त-3 (नोडल स्लाटर हाउस) घनश्याम ने इसी साल 22 सितम्बर को प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को पत्र लिखा था। इस पत्र में ही जिक्र किया गया कि राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से वैध सहमति और एफएसएसएआई (फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अर्थारिटी ऑफ इंडिया ) से अनुमित प्राप्त आठ स्लाटर हाउस को स्थानीय मांग के अनुसार बिक्री की अनुमति दी जाती है। आदेश में यह भी लिखा था कि इन स्लाटर हाउस को बिक्री के लिये जिले आंवटित कर दिये गये हैं।
आदेश के अनुसार नगर निगम स्लाटर हाउस मोहनपुर थिरिया बरेली (संचालनकर्ता मरिया फ्रोजन फूड प्रोडक्टस प्रालि बरेली) को मांस बिक्री के लिये अयोध्या जिला दे दिया गया। अयोध्या के अलावा मुजफ्फरनगर, बरेली, बहराइच, गोण्डा, बलरामपुर, बाराबंकी, प्रयागराज, संतकबीरनगर, सीतापुर, लखीमपुर व श्रावस्ती जिला भी इसी कंपनी को आवंटित है।
इसी तरह सम्भल की इंडिया, फूडस बेगमपुर को पांच जिले बरेली की रहबर फूड्स इंडिया प्रालि (पुराना नाम मारिया फ्रोजन एग्रो फूड्स प्रालि) को तीन जिले, उन्नाव की रुस्तम फूडस, प्रालि को आठ जिले, बुलन्दशहर की मदीना फोजन फूडस एंड एक्सपोर्ट प्रालि को चार जिले, उन्नाव की माश एग्रो फूड्स को आठ जिले, उन्नाव की ही एओबी एक्सपोर्ट्स इंडस्ट्रियल एरिया को सात जिले और अलीगढ़ की एचएमए एग्रो इंडस्ट्रीज लि. को पांच जिलों में बिक्री का लाइसेंस दिया गया है।
शासन के पत्र से हड़कम्प मच गया। इससे पहले मुख्य पर्यावरण अधिकारी वृत्त-7 विवेक राय ने 14 अगस्त, 23 को चार स्लाटर हाउस हापुड़ के रेबान फूड्स प्रालि, सम्भल के अलफलाह फ्रोजन फूड व अलरहमान फ्रोजन फूड और गाजियाबाद के अल-नासिर एक्सपोर्ट्स प्रालि पर बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था। इस पर भी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड विवादों में आ गया था।
तब भी संयुक्त सचिव रविशंकर मिश्र ने नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव को 21 सितम्बर को पत्र लिख कर आपत्ति जतायी थी कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड वैध-अवैध स्लाटर हाउस से मांस बिक्री रोकने का आदेश शासन से अनुमति प्राप्त करने के बाद ही जारी करेगा। एनजीटी ने भी आपत्ति जतायी थी। अब जिला आवंटित कर देने के बाद एसीएस अनीता सिंह ने बोर्ड के सदस्य सचिव को पत्र लिखा है कि मुख्य पर्यावरण अधिकारी वृत्त-3 घनश्याम ने अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर स्लाटर हाउस को बिक्री के जिले आंवटित कर दिए। एसीएस ने आपत्ति जताते हुए लिखा है कि बोर्ड को इस प्रकार का पत्र जारी करने का कोई अधिकार नहीं है।

कौशाम्बी: अधिकारियों एवं नागरिकों के साथ बैठक

कौशाम्बी: अधिकारियों एवं नागरिकों के साथ बैठक 

रामलीला दुर्गा पूजा में संवेदनशील क्षेत्रों पर विशेष निगरानी रखने के डीएम एसपी ने दिए निर्देश

आगामी पर्व को सकुशल सम्पन्न कराने तथा शान्ति व कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों एवं सम्भ्रान्त नागरिकों के साथ डीएम एसपी ने की बैठक

कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार एवं पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा सम्राट उदयन सभागार में आगामी पर्व त्योहार-दुर्गा पूजा एवं दशहरा आदि को सकुशल व शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराने तथा शान्ति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों एवं सम्भ्रान्त नागरिकों के साथ बैठक की गई। बैठक में जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने सभी उप जिलाधिकारियों, क्षेत्राधिकारियों एवं थाना प्रभारियों से आगामी पर्व त्योहार-दुर्गा पूजा एवं दशहरा आदि को शान्तिपूर्ण एवं सकुशल सम्पन्न कराये जाने के लिए अब तक की गई कार्यवाही यथा-पीस कमेटी की बैठक एवं प्रतिमा विसर्जन स्थलों का निरीक्षण कर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने आदि की जानकारी प्राप्त की उन्होंने सम्भ्रान्त नागरिकों से समस्याओं सुझाओं को प्राप्त करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को तत्काल समस्या का निस्तारण करने के निर्देश दियें उन्होंने कहा कि त्योहार को आपसी सौहार्द एवं भाईचारा के साथ मनाया जाए। सम्भ्रान्त नागरिकों ने कहा कि त्योहार को शान्तिपूर्ण एवं आपसी भाईचारा के साथ मनाया जाएगा तथा कोई भी अप्रिय घटना नहीं होने दी जाएगी।
जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों से कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रतिमा की स्थापना एवं रामलीला कार्यक्रम के आयोजकों द्वारा अनुमति अवश्य प्राप्त कर लिया जाए। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों, क्षेत्राधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को चिन्हित विसर्जन स्थलों का निरीक्षण कर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित कराने के निर्देश देते हुए सभी ईओ एवं जिला पंचायतराज अधिकारी से कहा कि कर्मचारियों की ड्यूटी लगाकर विसर्जन स्थलों की साफ-सफाई एवं प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था तथा विसर्जन स्थल तालाब में पानी की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कर लिया जाए। इसके साथ ही उन्होंने त्योहार रजिस्टर का भली-भॉति अध्ययन करने तथा संवेदनशील क्षेत्रों पर विशेष निगरानी रखने के भी निर्देश दिए। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता विद्युत को आवश्कतानुसार विद्युत तारों को ऊॅचा करने के निर्देश दिए, ताकि कोई घटना न होने पाए। इसके साथ ही उन्होंने थानावार जेई की ड्यूटी लगाकर सूची उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने सीएमओ को आवश्यकतानुसार सीएचसी पीएचसी वार चिकित्सकों की ड्यूटी लगाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी ईओ को खराब स्ट्रीट लाइटों एवं हाईमास्क लाईट को ठीक कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कड़ाधाम में मेला के दृष्टिगत थाना प्रभारी कड़ाधाम एवं ईओ को पार्किग की बेहतर एवं व्यवस्थित व्यवस्था आदि आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने सम्भ्रान्त नागरिकों से कहा कि किसी भी प्रकार की समस्या आने पर तत्काल उन्हें या पुलिस अधीक्षक या सम्बन्धित उप जिलाधिकारी एवं क्षेत्राधिकारी को अवगत करायें, समस्या का तत्काल निस्तारण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम स्थल पाण्डाल में आग बुझाने की सामग्री अवश्य रखी जाए। उन्होंने कहा कि अफवाहों पर ध्यान न दिया जाय। सोशल मीडिया पर विशेष निगरानी रखी जा रही है, शान्ति एवं कानून व्यवस्था बिगाड़ने का प्रयास करने वालो के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
पुलिस अधीक्षक ने सभी थाना प्रभारियों को प्रतिमा स्थापना स्थलों एवं रामलीला स्थलों का भ्रमण कर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने तथा नई परम्परा की शुरूआत न होने पाये सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपस्थित लोगों से कहा कि प्रतिमाओं को ऐसे स्थल पर स्थापित किया जाए, जिससे मार्ग अवरूद्ध न होने पाये तथा पाण्डाल के ऊपर विद्युत की तार न गई हो एवं पुलिस की उपस्थिति में ही मूर्तियों को विसर्जन के लिए ले जाया जाए। उन्होंने क्षेत्राधिकारियों एवं थाना प्रभारियों से कहा कि आगामी त्योहार के दृष्टिगत भीड-भाड़ वाले क्षेत्रों बाजारों में विशेष सतर्कता रखी जाए, ताकि महिलाओं के साथ छेड़खानी चैन स्नैचिंग आदि घटनायें न होने पायें, पर्याप्त पुलिस बल की ड्यूटी लगायी जाए। प्रतिमा स्थापित करने वाले रामलीला कमेटी के पदाधिकारियों के साथ निरन्तर सम्पर्क में रहें। उन्होंने कहा कि एनजीटी के निर्देशों के क्रम में किसी भी नदी में प्रतिमा का विसर्जन न होने पाये, इस पर विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन के अनुसार निर्धारित ध्वनि से अधिक ध्वनि में डीजे न बजने पाए। डीजे स्वामियो को नोटिस दे दिया जाए। इसके साथ ही उन्होंने यातायात व्यवस्था को सुचारू रखने के भी निर्देश दिए। इस अवसर अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) डॉ0 विश्राम एवं उप जिलाधिकारीगण आकाश सिंह, दीपेन्द्र यादव व सौम्य मिश्रा, क्षेत्राधिकारीगण सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण एवं सम्भ्रान्त नागरिक संजय जयसवाल मुकुंदी लाल केशरवानी अमरेश कुमार उर्फ कल्लू पण्डा कल्लू सोनी आदि लोग उपस्थित रहें।
सुशील केसरवानी

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  


1. अंक-358, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. बुधवार, अक्टूबर 11, 2023

3. शक-1944, आश्विन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त: 06:13।

5. न्‍यूनतम तापमान- 18 डी.सै., अधिकतम- 29+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें  संदीप मिश्र  लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि बीएएलएल...