मंगलवार, 13 अगस्त 2019

कावड़ियों के साथ संघर्ष, एक की मौत

शव यात्रा में शामिल लोगों ने डीजे बजाने का किया था विरोध: पथराव में पुलिस की जीप क्षतिग्रस्त, त्यागी बाबा अनशन पर बैठे।


लखनऊ। सीतापुर  जनपद के थाना रामपुर मथुरा क्षेत्र में गोला गोकरननाथ से जल चढ़ाकर घर वापस लौट रहे कांवड़ियों पर ग्राम पंचायत मितौरा में कुछ अराजक तत्वों ने हमला बोल दिया, मारपीट में एक कांवड़िये को काफी चोट आई जिसकी हालत गंभीर होने के चलते उसे लखनऊ  ट्रामा सेंटर भेजा गया जहां उसकी मृत्यु होने की खबर यहां पहुंचने के बाद लोगों में भारी रोष फैल गया है। इसको लेकर तथा कल कांवड़ियों पर हुए हमले के विरोध में त्यागी बाबा रामपुर मथुरा में मुरलीधर मंदिर के पास अनशन पर बैठ गए हैं, बाबा के साथ ही अनेक ग्रामीण भी  उनके समर्थन में व सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर नारेबाजी कर रहे हैं।
बताते चलें कि कल जब भोलेनाथ पर जल चढ़ाकर कांवड़िये डीजे बजाते हुए लौट रहे थे तभी दूसरे समुदाय के एक युवक की शव यात्रा उधर से गुजरी, उन लोगों ने डीजे बंद करने को कहा जिस पर कांवड़ियों ने डीजे बंद भी कर दिया जब आगे जाकर कांवड़िये फिर से डीजे बजाने लगे तभी कुछ असामाजिक तत्वों ने कांवड़ियों पर हमला बोल दिया इसके बाद दोनों ओर से हुए पथराव व मारपीट में कई लोग घायल हो गए। गंभीर रुप से घायल एक व्यक्ति को लखनऊ ट्रामा सेंटर भेजा गया जहां से आज सुबह उसकी मौत होने की खबर यहां पहुंचते ही लोगों में भारी रोष फैल गया तथा मुरलीधर मंदिर के महंत त्यागी बाबा अनशन पर बैठ गए। क्षेत्र में तनाव के चलते बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। मौके पर एसपी व अन्य अधिकारी त्यागी बाबा को अनशन समाप्त करने के लिए मनाने में जुटे हुए हैं।कल हुए बवाल में कांवड़ियों व ग्रामीणों ने मौके पर पहुंची पुलिस पर भी पथराव किया तथा थाने की जीप क्षतिग्रस्त कर दी। पुलिस ने दोनों ओर के दर्जनों लोगों को हिरासत में लिया है।


बस की टक्कर से बाइक सवार युवक की मौत

अश्वनी उपाध्याय


बस की टक्कर से बाइक सवार युवक की मौत


गाजियाबाद। वैशाली मेट्रो स्टेशन के पास कंट्री होटल के सामने तेज रफ्तार और अनियंत्रित बस ने बाइक सवार 21 वर्षीय युवक की जान ले ली। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बस चालक बहुत लापरवाही से बस चला रहा था। युवक को टक्कर मारने से पहले उसी बस से कई लोग बचे। बस ने बाइक में इतनी जोर से टक्कर मारी कि बाइक सवार युवक काफी ऊंचाई तक उछल कर नीचे गिरा। टक्कर मारने के बाद बस चालक बीच सड़क में बस रोक कर पैदल भागने लगा। स्थानीय लोगों ने उसका पीछा करके उसे पकड़ा और उसे पुलिस के हवाले किया। बाइक सवार मृत युवक गोविंदपुरम का रहने वाला था।


हिंसक आरोपियों को मिली जमानत

बुलंदशहर। जीतू फौज़ी समेत सात आरोपियों को मिली जमानत।बवाल और हत्या के आरोप में पहले ही हो चुकी थी सातों आरोपियों की जमानत। धारा 24 ए का संज्ञान लेने के बाद रुक गई थी सात आरोपियों की रिहाई।अब देशद्रोह की धारा में मिली सात आरोपियों को जमानत। तीन दिसम्बर को स्याना के चिंगरावठी में हुई थी जबरस्त हिंसा। हिंसा में यूपी पुलिस के इंस्पेक्टर सुबोध कुमार समेत दो लोगों की गोली मारकर कर दी गई थी हत्या। गौकशी के बाद भड़की हिंसा में 22 नामजद और 50-60 अज्ञात बलवाइयों के खिलाफ़ दर्ज किया गया था मामला। 42 आरोपी जेल में हैं बन्द। जीतू फौज़ी समेत 07 आरोपियों को मिली जमानत। अधिवक्ता संजय शर्मा ने बताया कि जीतू फौज़ी समेत हिंसा के सात आरोपियों को कोर्ट ने जमानत से दी है। हालांकि सभी सातों आरोपी 15 अगस्त के बाद ही जेल से बाहर निकल पाएंगे।


चारा लेने गए युवक को सांप ने डसा,मौत

बुलंदशहर। अहार क्षेत्र के एक गांव में एक युवक की सर्प के डंसने से मौत हो गई। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। गांव जटपुरा निवासी हरिकिशन पुत्र वीरेंद्र सिंह ने पुलिस को दी रिपोर्ट में कहा है कि मेरा भाई मुकेश कुमार सुबह करीब  07 बजे खेत से हरा चारा लेने गया था। काफी देर तक चारा लेकर घर पर नहीं आया तो परिजनों को चिंता हुई। उसे ढूंढने के लिए खेत पर पहुंचे तो वहां मेरा करीब पच्चीस वर्षीय भाई अचेत अवस्था में पड़ा था और एक चारे की गड्डी से लिपटा हुआ था। आनन-फानन में उसे लेकर चिकित्सक के यहां गए, वहां इलाज से फायदा नहीं हुआ तो दूसरे गांव गये। डाक्टरों के काफी प्रयास के बावजूद कोई उसे फायदा नहीं होने पर तीसरे गांव जा रहे थे तो उसने रास्ते में दम तोड दिया। उसे लेकर घर आ गए। करीब एक साल पहले उसकी शादी हुई थी और एक छोटा बच्चा है। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है । थाना प्रभारी ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया गया है।


दो नाबालिक स्कूली छात्राओं से गैंगरेप

अंबिकापुर । दो स्कूली छात्राओं से सामूहिक बलात्कार के मामले में मणिपुर चौकी पुलिस ने दो और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी में एक नबालिग भी है। घटना में शामिल कुल 4 आरोपी थे, जिसमें दो नाबालिग थे। इसमें से पुलिस ने 2 को जेल जबकि 2 को बाल संप्रेक्षण गृह भेजा है।


अंबिकापुर के भट्ठापारा निवासी 14 वर्षीय व 13 वर्षीय 2 छात्राएं 9 अगस्त की शाम परिजनों को बिना बताएं कहीं चली गई थीं। इनमें से एक ९वीं जबकि दूसरी 7वीं में पढ़ती है। शाम को जब उनके परिजन काम से लौटे तो दोनों अपने-अपने घर से गायब थीं। इसकी सूचना उन्होंने उसी शाम मणिपुर चौकी में दर्ज कराई।पुलिस गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर उनकी खोजबीन में जुटी थी। इसी बीच पुलिस ने 11 अगस्त को दोनों को सांड़बार बैरियर इलाके से बरामद कर लिया। पुलिस ने उनसे पूछताछ की लेकिन वे कुछ बता नहीं पा रही थी। इस पर पुलिस ने पूछताछ के लिए दोनों को सीडब्ल्यूसी के सुपुर्द कर दिया।


सीडब्ल्यूसी ने सोमवार को दोनों छात्राओं से पूछताछ की। इसमें छात्राओं ने बताया कि 4 लोगों ने अलग-अलग स्थान पर ले जाकर उनसे बलात्कार किया है। छात्राओं ने आरोपियों के नाम भी बताए। इस पर पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए शहर के लक्ष्मीपुर निवासी 18 वर्षीय शुभम साहू पिता धनंजय साहू व एक अन्य नाबालिग को सोमवार को ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था जबकि 2 आरोपी फरार थे।युवक व नाबालिग गिरफ्तार।पुलिस ने मंगलवार को मणिपुर क्षेत्र के अंश अग्रवाल उर्फ कल्लू व एक अन्य नाबालिग को गिरफ्तार किया है। अंश को पुलिस ने न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है। वहीं नाबालिग को बाल संप्रेक्षण गृह भेजा है।


हत्यारे बाउंसरो को किया गिरफ्तार

नोएडा ओखला एमसीडी टोल पर ड्राइवर की हत्या करने वाले सात बाउंसर नोएडा पुलिस ने किये गिरफ्तार 


 गौतमबुध नगर। नोएडा 10-अगस्त -2019 को केन्टर चालक की 14600 रू0 की टोल की अवैध पर्ची न कटवाने व इसका विरोध करने पर मारपीट की गयी। जिसके कारण उसकी मृत्यु हो गयी। म्रत्युपरांत शव को गायब करने के उद्देश्य से शव को यूपी के नोएडा में फेंक दिया। इस केस का थाना सैक्टर 39 पुलिस ने खुलासा करते हुये सात अभियुक्तगणों को गिरफ्तार कर लिया है।वैसे यह घटना दिल्ली के कालिंदीकुंज की है।


घटना का खुलासा करते हुए एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि मृतक केन्टर चालक विमल कुमार तिवारी 9-अगस्त को केन्टर यूपी 16 एटी 8647 बिजली के पैनल लोड करवाकर सैक्टर 59 नोएडा से घिटोरनी दिल्ली के लिये निकला तो टोल से आगे निकल गया। टोल पर मौजूद टोल कर्मचारीगणो द्वारा अपनी गाडी से पीछा कर पकड लिया और केन्टर चालक से 10 गुना जुर्माने के रूप मे 14600 रू0 की अवैध पर्ची कटवाने का दबाब बनाया। जिसका मृतक विमल कुमार तिवारी द्वारा विरोध किया गया।अभियुक्तगणो ने उसका केन्टर व कागजात टोल पर खडा कराकर उसके साथ मारपीट कर मरणासन्न अवस्था मे थाना सैक्टर 39 नोएडा क्षेत्र में फेक दिया गया था। जिसको मौके पर आये मृतक के भाई तथा पुलिस द्वारा जिला अस्पताल नोएडा ले जाया गया जहाँ उसको मृत घोषित कर दिया गया। इस घटना के सम्बंध मे थाना सैक्टर 39 नोएडा पर मृतक के भाई रामश्रृगार तिवारी केस पंजीकृत कराया था। पुलिस ने मामले को लेकर सख्ती दिखाते हुए दो दिन में घटना का वर्क आउट कर आरोपी गिरफ्तार कर लिए। पुलिस की पूछताछ मे अभियुक्तगणो द्वारा बताया गया कि अवैध पर्ची ये लोग अपने टोल मैनेजर के कहने पर काटते है। उक्त टोल को महाराष्ट्र की एम.ई.पी. ( महाराष्ट्र एन्ट्री प्वाइन्ट) द्वारा संचालित किया जा रहा है। जिस पर अब सभी आरोपी गिरफ्तार कर लिए गये है।


एससी:विवादित स्थल पर मंदिर था ?

 अयोध्या विवाद: क्या विवादित स्थल पर मंदिर था


नई दिल्ली । अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर पांचवें दिन की सुनवाई के दौरान मंगलवार को इस मुद्दे पर बहस शुरू हुयी कि क्या इस विवादित स्थल पर पहले कोई मंदिर था। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ के समक्ष रामलला विराजमान की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता सी एस वैद्यनाथन ने मस्जिद के निर्माण होने से पहले इस विवादित स्थल पर कोई मंदिर होने संबंधी सवाल पर बहस शुरू की।


उन्होंने कहा कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने तीन न्यायाधीशों की पीठ अपने फैसले में कहा है कि विवादित स्थल पर मंदिर था। वैद्यनाथन ने कहा कि उच्च न्यायालय के न्यायाधीश एस यू खान ने अपने फैसले में कहा था कि मंदिर के अवशेषों पर मस्जिद का निर्माण किया गया।उच्च न्यायालय के सितंबर, 2010 फैसले के खिलाफ दायर अपीलों पर सुनवाई कर रही संविधान पीठ के अन्य सदस्यों में न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर शामिल हैं। इससे पहले, राम लला विराजमान की ओर से ही वरिष्ठ अधिवक्ता के परासरन ने पीठ से कहा कि उसे अपने समक्ष आये सभी मामलों में पूर्ण न्याय करना चाहिए।


रविदासो का विरोध,बंद का असर

चंढीगढ़ । सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर दिल्ली में श्री गुरु रविदास जी का मंदिर गिराने के विरोध में रविदास समाज के के बंद से पंजाब जाम हो गया है। बंद का पंजाब के अधिकतर जिलों में व्‍यापक असर हुआ है। रविदास समाज विभिन्‍न जगहों पर प्रदर्शन कर रहे हैं और सड़कों पर धरना दे रहे हैं। राज्‍य में अधिकतर स्‍थानों पर बाजार बंद हैं और सड़क यातायात ठप हो गया है।बसें नहीं चल रही हैं। लुधियाना के पास बंद समर्थकों ने ट्रेनों का आवामगन रोक दिया है। अधिकतर स्‍थानों पर स्‍कूल बंद हैं। पहले कहा गया था कि यातायात को जाम नहीं किया जाएगा, लेकिन प्रदर्शनों के कारण बसों के पहिये थम गए हैं। इससे यात्रियों को भारी परेशानी हो रही है।प्रदर्शनकारी लुधियाना के पास लुधियाना-जालंधर रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए और उसे जाम कर दिया। उन्‍होंने ट्रेनों का आवागमन रोक दिया गया है। इस कारण कई ट्रेनें विभिन्‍न स्‍टेशनों पर रुकी हुई हैं। यह रेलमार्ग काफी व्‍यस्‍त होने के कारण लंबी दूरी की ट्रेनों पर असर पड़ने की संभावना है। शान-ए-पंजाब ट्रेन काफी देर से खन्‍ना रेलवे स्‍टेशन पर रुकी हुई है। वहीं दूसरी ओर, इस बंद के दौरान प्रदर्शन में आतंकियों की घुसपैठ की आशंका जताई गई है। इस कारण राज्‍य में हाई अलर्ट जारी किया गया है। पूरे राज्‍य में सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं। पांच जिलों में स्‍कूलों को बंद रखा गया है। राज्‍य में पांच हजार अतिरिक्‍त पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। राज्‍य में अधिकतर स्‍थानों पर सुबह से बाजार बंद हैं। पठानकोट सहित कई जगहों पर रविदास समाज के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं।


जालंधर में पठानकोट हाईवे पर रविदास भाईचारे के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। रविदास समुदाय के लोगों ने बस्ती जोधेवाल, जालंधर बाईपास समेत अलग अलग जगहों पर यातायात रोक दिया है। फगवाड़ा में भी हजारों की संख्‍या में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं ।शहर के शुगर मिल चौक पर रविदासिया समाज के लोग धरना देकर बैठ गए हैं। इससे यातायात पूरी तरह से ठप हो गया है।फरीदकोट, माेगा, कपूरथला में भी बंद का व्‍यापक असर हुआ है और बाजार बंद हैं । लोग सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं और बसें नहीं चलने से यात्रियों को भारी परेशानी हो रही है ।


नक्सलियों ने बस में लगाई आग,की लूटपाट

सुधीर जैन


नारायणपुर। नारायणपुर जिले में बीती रात माओवादियों ने एक बार फिर हिंसा का तांडव करते हुए भाठपाल आईटीबीपी कैम्प से महज एक किलोमीटर दूरी पर ही यात्री बस में आग लगा दी। आगजनी में बस पूरी तरह जलकर खाक हो गयी है। बस यात्री सभी सुरक्षित हैं।


पुलिस के मुताबिक कोंडागांव से रवाना हुयी देशलहरा बस्तर टे्रवल्स की बस कल रात नारायणपुर के लिए रवाना हुयी थी। कोदागांव के कोकोड़ी नाला के समीप लगभग 25-30 नक्सलियों ने बस को रोक लिया। नक्सलियों ने बस से सभी यात्रियों को उतर जाने कहा और तत्पश्चात बस का डीजल टेंक फोडक़र उसमें आग लगा दी। आगजनी से पूर्व नक्सलियों ने बस में सवार लगभग दो दर्जन यात्रियों के मोबाईल लूट लिए। यात्रियों के साथ कोई मारपीट या बदसलूकी नहीं की गयी।


बम की सूचना से एयरपोर्ट पर अफरा-तफरी

दिल्ली । इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर दिल्ली पुलिस को बम होने की सूचना मिली है। इस बाबत एयरपोर्ट पर हड़कंप मच गया है। जिसके बाद टर्मिनल दो पर मौजूद यात्रियों को गेट नंबर 4 के पास ले जाया गया है। फिलहाल अधिकारियों का कहना है कि अभी तक स्थिति सामान्य बनी हुई है, लेकिन पूरे एयरपोर्ट पर सर्च ऑपरेशन जारी है।आईजीआई एयरपोर्ट के पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया ने बताया कि एक अज्ञात कॉलर की ओर से 100 नंबर पर कॉल मिली है। एयरपोर्ट के टर्मिनल दो पर बम है, जिसके बाद एयरपोर्ट पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। और एयरपोर्ट पर मौजूद सुरक्षाकर्मी सर्च ऑपरेशन में लगे हुए हैं। उन्होंने बताया कि अभी स्थिति सामान्य है। लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से यात्रियों को टर्मिनल दो से हटाकर गेट नंबर 4 पर ले जाया गया है।


एयरपोर्ट अधिकारी लगे एरिया को सर्च करने में
वहीं डायल के अधिकारियों का कहना है कि बम के मिले होने की सूचना को लेकर सभी सुरक्षाकर्मियों को सतर्क रहने को कहा गया है। पूरे एयरपोर्ट पर सर्च ऑपरेशन जारी है उन्होंने बताया कि फिलहाल अभी तक की जांच में कहीं पर भी बम नहीं मिला है, लेकिन सूचना के मुताबिक जांच की जा रही है।


संजय भाटिया ने बताया कि जिस नंबर से कॉल आई है उसकी डिटेल खंगाली जा रही है। जिस व्यक्ति के नंबर से ये फोन आया है उससे जब पुलिस ने पूछताछ की तो उसका कहना था कि उसने ऐसा कोई फोन नहीं किया है। भाटिया ने बताया कि अभी तक कि जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक यह कॉल फर्जी लग रही है।फिलहाल अधिकारियों का कहना है कि बम की सूचना मिलने की खबर को लेकर सर्च ऑपरेशन जारी है। लेकिन अभी तक स्थिति सामान्य है।एयरपोर्ट पर अभी कोई भी बम नहीं मिला है।


नई विधानसभा:विधानसभा का चौथा सत्र

सितंबर में झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र, आभार प्रकट करेगी रघुवर सरकार


रांची। जम्मू-कश्मीर में संविधान के अनुच्छेद-370 को समाप्त करने के केंद्र सरकार के अभूतपूर्व फैसले पर झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र आहूत किया जाएगा। विधानसभा का विशेष सत्र सितंबर माह में होगा। यह सत्र विधानसभा के नए भवन में होना प्रस्तावित है। विशेष सत्र से पूर्व विधानसभा के नए भवन का उद्घाटन कर राज्य सरकार यह संदेश देगी कि जो काम झारखंड गठन के बाद पूर्ववर्ती सरकारों को करना चाहिए था, वह महती कार्य उसने कर दिखाया है। अबतक विधानसभा का भवन एचईसी के परिसर में चलता था, जहां सीमित संसाधन उपलब्ध हैं।


विशेष सत्र चौथी विधानसभा का अंतिम सत्र होगा। इसके बाद विधानसभा का चुनाव प्रस्तावित है। विशेष सत्र में अनुच्छेद-370 पर पक्ष-विपक्ष को खुली बहस का मौका मिलेगा। इसके जरिये राज्य सरकार केंद्र सरकार को प्रस्ताव पारित कर आभार प्रकट करेगी। विशेष सत्र की तैयारी आरंभ करने का आदेश दिया गया है। इसके बाद अधिकारियों ने इस दिशा में प्रयास तेज कर दिए हैं। इससे पूर्व विधानसभा सचिवालय आदि नए भवन में व्यवस्थित करना होगा। विधानसभा के नए भवन में विशेष सत्र को लेकर विधायकों में भी उत्सुकता है।


युवती की हत्या के बाद शव नदी में फेंका

कार में झगड़े के बाद दबाया गला, आरोपी बोला- बहन का परिवार बचाने के लिए किया कत्ल


लखनऊ । पारा स्थित रीयल एस्टेट कंपनी अमित इन्फ्रा हाइट्स प्राइवेट लिमिटेड में काम करने वाली युवती की हत्या के आरोपियों ने रेप की बात से इन्कार किया है। उनका कहना है कि कार में युवती से लेन-देन को लेकर कहासुनी के बाद उसका गला दबा दिया गया।


मौत के बाद उसका शव रायबरेली के हरचंदपुर में नदी में फेंककर सभी आरोपी निश्चिंत होकर बैठे रहे। पुलिस ने सर्विलांस से जानकारी जुटाने के बाद मामले का खुलासा किया। इंस्पेक्टर त्रिलोकी सिंह ने बताया कि पकड़े गए आरोपी गुड्डू यादव और दरोगा के बेटे अजय यादव को जेल भेज दिया गया है।संजय व अवधेश यादव की तलाश में पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं। इंस्पेक्टर ने बताया कि गुड्डू यादव और अजय यादव ने बताया कि वह युवती से कमीशन के रुपयों का मामला सेटल करना चाहते थे, इसलिए उसे कार में बैठाया था।गुड्डू और अवधेश कार की पिछली सीट पर बैठे थे जबकि अजय कार चला रहा था। गुड्डू का कहना है कि बाराबिरवा से उन्होंने युवती को अपनी कार में बैठाया और आगे चल पड़े। रास्ते में अवधेश ने रुपये के लेन-देन को लेकर बातचीत की, लेकिन युवती जिद पर अड़ी रही जिस पर मामला गरमा गया।


सीमा पर पाकिस्तानी सक्रियता बढ़ी

नई दिल्ली। नियंत्रण रेखा(एलओसी) पर पाकिस्तानी सेना की बढ़ती सक्रियता को लेकर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने मंगलवार को बयान दिया। उन्होंने कहा कि अगर वह नियंत्रण रेखा पर सुरक्षा बलों की सक्रियता बढ़ाना चाहते हैं तो यह उनका फैसला है। कहा कि सभी देश एहतियात के तौर पर तैनाती करते हैं। उन्होंने कहा कि हमें इसके बारे में बहुत चिंतित नहीं होना चाहिए। जहां तक सेना और अन्य सेवाओं का सवाल है, हमें हमेशा तैयार रहना होगा।
अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पैदा हुए हालातों पर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि कश्मीर के लोगों के साथ हमारी बातचीत पहले की तरह सामान्य है। हम पहले भी उनसे बिना बंदूक के मिलते थे। साथ ही कहा कि अगर सब ठीक रहता है तो हमारी मुलाकात पहले की तरह ही होगी।
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने हाल ही में संसद के संयुक्त सत्र में कहा था कि भारत में अगर पुलवामा जैसा हमला होता है तो इसके लिए इस्लामाबाद जिम्मेदार नहीं होगा। इमरान के बयान में प्रत्यक्ष तौर पर जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा तथा पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के हैंडलर्स को प्रशिक्षण शिविर और लॉन्च पैड दोबारा सक्रिय करने के लिए खुली छूट दी गई है। खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लश्कर, जैश और तालिबान के लगभग 150 आतंकी कोटली के निकट फागूश और कुंड शिविरों तथा मुजफ्फराबाद क्षेत्र में शवाई नल्लाह और अब्दुल्ला बिन मसूद शिविरों में इकट्ठे हुए हैं। जैश सरगना मसूद अजहर का भाई इब्राहिम भी पीओके में देखा गया है।
 


आतंकवादियों के खिलाफ एनआईए अलर्ट

दिल्ली। भारतीय खुफिया एजेंसियों ने सरकार को एक गोपनीय जानकारी दी है। इसमें बताया गया है कि भारत में इस्लामिक स्टेट और आईएसआई समर्थित आतंकवादी गुट बड़े हमले की फिराक में हैं। इंटेलीजेंस ब्यूरो मुख्यालय ने यह जानकारी 9 अगस्त को दी थी। इंटेलीजेंस ब्यूरो के गोपनीय रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया है कि पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा समर्थित जेहादी आतंकी गुट जम्मू एवं कश्मीर और उसके बाहर बड़ी आतंकवादी घटनाओं को अंजाम दे सकते हैं।


इस पत्र में कहा गया है कि इस्लामिक स्टेट और पाक समर्थित कट्टरपंथी आतंकी संगठन बकरीद जैसे बड़े पर्व पर भीड़ को निशाना बनाने की कोशिश कर सकते हैं। खुफिया एजेंसियां इस बात से भी इनकार नहीं कर रही हैं कि पाक खुफिया एजेंसी और इस्लामिक स्टेट समर्थित ये आतंकी गुट बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डों (ट्रांसपोर्ट नेटवर्क) सहित अन्य कुछ महत्वपूर्ण जगहों को भी निशाना बनाने की फिराक में हैं।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक खुफिया एजेंसियों का कहना है कि भले ही आईएसआई लंबे समय से भारत में अशांति फैला पाने में कामयाब न हो पाई हो, लेकिन कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद वह भी बुरी तरह से बौखलाई हुईं है। इस सिलसिले में संबंधित राज्यों की अभिसूचना ईकाइयों और पुलिस मुख्यालयों को सचेत कर दिया गया है।


कई राज्यों में छापेमारी-गौरतलब है कि तालिबान समर्थित कुछ स्लिपिंग मॉड्यूलों की भारत में मौजूदगी की खबरें भी इन दिनों आ रही हैं। कुछ वक्त पहले ही एनआईए ने केरल सहित कुछ अन्य राज्यों में छापेमारी की थी। श्रीलंका में हुए सीरियल बम धमाकों के तार भी केरल से जुड़े थे


रिलीज:आलिया का पंजाबी वीडियो सॉन्ग

रिलीज हुआ आलिया का पहला पंजाबी सॉन्ग प्राडा,वीडियो


मुंबई । बॉलीवुड की बबली गर्ल आलिया भट्ट एक्टिंग और सिंगिंग के बाद म्यूजिक वीडियो में भी डेब्यू कर चुकी हैं। आलिया ने पंजाबी सिंगर द दूरबीन के साथ मिलकर नया म्यूजिक वीडियो 'प्राडा' लॉन्च किया है। गाना रिलीज होते ही यूट्यूब पर ट्रेंड कर रहा है। बता दें कि आलिया ने कुछ दिन पहले वीडियो 'प्राडा' का 'फर्स्ट लुक'शेयर करके सबको चौंका दिया था। आलिया ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम एकाउंट से इस वीडियो के पहले पोस्टर को रिलीज किया। सोशल मीडिया पर आलिया का ये अंदाज जमकर वायरल हुआ था।आलिया ने अपने ट्विटर हैंडल पर गाने को शेयर करते हुए लिखा कि द प्राडा सॉन्ग आउट हो चुका है। गाने को कुछ ही देर में यूट्यूब पर लाखों व्यूज मिल चुके हैं।बता दें कि आलिया भट्ट इन दिनों काफी व्यस्त चल रही हैं। उनकी आगामी फिल्म 'सड़क 2' और 'ब्रह्मास्त्र' इन दिनों फ्लोर पर हैं।'सड़क 2' आलिया पहली बार अपने पिता महेश भट्ट के निर्देशन में और बहन पूजा भट्ट के साथ काम कर रही हैं। यह फिल्म 10 जुलाई, 2020 को रिलीज होने वाली है। आगामी फिल्म 'सड़क 2' 1991 में आई फिल्म 'सड़क' का सीक्वल है। 'सड़क' में पूजा भट्ट और संजय दत्त मुख्य भूमिका में थे।


 


राहुल ने सत्‍यपाल को दिया जवाब

नई दिल्ली । जम्मू-कश्मीर के उपराजयपाल सत्यपाल मालिक के द्वारा राहुल गांधी के लिए विमान भेजे जाने की बात कहे जाने के बाद आज राहुल गांधी ने एलजी मालिक को जवाब दिया है। उन्होंने कहा है की जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की यात्रा के लिए विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल और अपने साथ लेकर आएंगे।


उन्हें इसके लिए किसी विमान की आवश्यकता नहीं है, लेकिन कृपया वहां पर तैनात लोगों, मुख्यधारा के नेताओं और हमारे सैनिकों के साथ यात्रा करने और मिलने की स्वतंत्रता सुनिश्चित करें। गौरतलब है की जेएंडके के हालात को लेकर राहुल गांधी ने चिंता जाहिर की थी। उनकी इस चिंता पर तंज कसते हुए उपराजयपाल सत्यपाल मालिक ने उन्हें कश्मीर आने को कहा था। उन्होंने उनके लिए एक विशेष विमान भेजने की भी बात कही थी।


पोक्सो-एक्ट, दोषियों को मिलेगी मौत

नई दिल्ली । राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने POCSO एक्ट में संशोधन और भगोड़े आर्थिक अपराधी अध्यादेश 2018 को मंजूरी दे दी। शनिवार को ही प्रधानमंत्री आवास पर केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में ये दोनों अध्यादेश लाए गए थे। इसे मंजूरी के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा गया था। राष्ट्रपति ने भी बिना देर किए इन पर मुहर लगा दी।


राष्ट्रपति ने दोनों अध्यादेश को दी मंजूरी


राष्ट्रपति से दोनों अध्यादेशों को मंजूरी मिलते ही अब ये कानून बना गया है। अब 12 साल तक के मासूमों से रेप के दोषियों को मौत की सजा मिलेगी। कैबिनेट ने 'प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस' यानी POCSO एक्ट में संशोधन का प्रस्ताव किया था।


कठुआ गैंगरेप के बाद देशभर में उठी थी मांग


जम्मू के कठुआ और उत्तर प्रदेश के एटा में नाबालिग बच्चियों के साथ रेप की घटनाओं ने देश को झकझोर कर रख दिया है। जिसके बाद सरकार ने नाबालिगों से रेप करने वालों के लिए कड़ी सजा का प्रावधान करने का फैसला लिया है। अभी तक इस कानून में दोषियों के लिए मौत की सजा का प्रावधान नहीं था। कठुआ में आठ साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार और उसके बाद हत्या की घटना के बाद से ऐसे अपराध के लिए फांसी की सजा की मांग उठ रही थी। नाबालिगों से बलात्कार की बढ़ती घटनाओं को लेकर राहुल गांधी ने भी ट्वीट करके प्रधानमंत्री का ध्यान इस ओर खींचा था।


कर्ज लेकर विदेश भागने वालों पर नकेल


इसके अलावा कैबिनेट की बैठक में जो दूसरा अध्यादेश लाया गया था, वो बैंकों से कर्ज लेकर विदेश भागने वालों पर नकेल कसने के लिए था। राष्ट्रपति से मंजूरी के बाद अब आर्थिक अपराध कर देश से भागे व्यक्तियों की संपत्ति उन पर मुकदमे का निर्णय आए बिना जब्त करने और उसे बेच कर कर्ज देने वालों का पैसा वापस किया जा सकेगा।


12 मार्च को पेश किया गया था विधेयक


भगोड़े आर्थिक अपराधी विधेयक को 12 मार्च को लोकसभा में पेश किया गया था। लेकिन संसद में विभिन्न मुद्दों को लेकर गतिरोध के चलते इसे पारित नहीं किया जा सका। इसके तहत नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे उन लोगों की संपत्तियां जब्त करने का प्रावधान है, जो आपराधिक कार्रवाई से बचने के लिए देश से भाग गए हैं।


पीएमएलए के तहत होगी कार्रवाई


इस अध्यादेश के प्रावधान ऐसे आर्थिक अपराधियों पर लागू होंगे जो देश वापस आने से इनकार कर देते हैं, जिन लोगों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हो चुके हैं। जिन पर 100 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया है। उन्हें जानबूझ कर कर्ज न चुकाने वाला घोषित किया जा चुका है।


50 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार:योगी

योगी सरकार का तोहफा! इस काम के लिए सस्ती मिलेगी UP में जमीन, 50 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार


 लखनऊ । उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन देने के लिए यूपी में 600 इलेक्ट्रिक बसें चलाने के प्लान को मंजूरी दी है। आपको बता दें कि सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए बहुत समय से काम प्रयास कर रही थी। इसी के मद्देनजर सरकार ने इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की यूनिट लगाने वाली कंपनियों को जमीन के सर्किल रेट और टैक्स में भी बड़ी छूट देने की योजना शुरू की है।


इस कड़ी में लखनऊ समेत प्रदेश के 11 शहरों में 600 इलेक्ट्रिक सिटी बसें चलाई जाएंगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लखनऊ, कानपुर, आगरा में 100-100 बसें चलाने की योजना है। मथुरा, वाराणसी, गाजियाबाद और प्रयागराज (इलाहाबाद) में 50-50 बसें चलाने की योजना है। इसके अलावा बरेली, अलीगढ़, झांसी, मुरादाबाद में 25-25 बसें चलाई जाएंगी।


मोदी ने किया सब को विवश:धारा 370

मुजफ्फराबाद। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने के फैसले के खिलाफ पाकिस्तान को किसी भी देश का समर्थन नहीं मिल रहा है। उसकी अपील पर संयुक्त राष्ट्र भी कश्मीर मलसे में हस्तक्षेप से इनकार कर चुका है। इसके बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की मायूसी खुलकर सामने आई। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि इस गलतफहमी में न रहें कि सुरक्षा परिषद में कोई हमारे लिए हार लेकर खड़ा है। वहां कोई हमारे समर्थन में कुछ नहीं बोलेगा।


कुरैशी ने कहा, ”भावनाओं को हवा देना और आपत्तियां जताना बहुत आसान है। हालांकि, इस मुद्दे को समझना और आगे लेकर जाना काफी मुश्किल है। वे आपके लिए बाहें फैलाए नहीं खड़े हैं। पी-5 में कोई भी सदस्य अवरोध खड़ा कर सकता है। हमें बेवकूफ नहीं बनना चाहिए।” संयुक्त राष्ट्र के पी-5 में शामिल रूस पहले ही भारत के फैसले को संवैधानिक ढांचे के अंतर्गत बचा चुका है। गृह मंत्री अमित शाह ने 5 जुलाई को अनुच्छेद 370 हटाने और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग प्रदेश बनाने का प्रस्ताव पेश किया था। जिसे संसद और राष्ट्रपति की ओर से मंजूरी मिल चुकी है।अमेरिका ने अभी तक कश्मीर मुद्दे पर किसी का पक्ष नहीं लिया है। हालांकि, चीन इस मसले पर चिंता जता चुका है। पिछले हफ्ते चीन यात्रा के बाद कुरैशी ने दावा किया था कि चीन कश्मीर को लेकर सुरक्षा परिषद में हमारा समर्थन करेगा। उन्होंने पाक के सभी राजनीतिक दलों से एकजुटता दिखाने की अपील की थी।


पिछले दिनों पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों में कटौती, कारोबारी रिश्ते खत्म करने, समझौता एक्सप्रेस और बस सेवा रोकने और भारतीय फिल्मों को प्रतिबंधित करने का फैसला किया है। हालांकि, भारत पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि जम्मू-कश्मीर देश का अभिन्न अंग है और यह पूरी तरह से आंतरिक मुद्दा है। पाकिस्तान को एकतरफा फैसले लेने पर विचार करना चाहिए।


पाकिस्तानी ने राजनयिक को कहा, चोर

आप चोर हैं पाकिस्तानी नागरिक ने पाकिस्तानी राजनयिक मलीहा लोधी से कहा


 न्यूयॉर्क। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले के खिलाफ दुनियाभर से समर्थन जुटा रहे पाकिस्तान को हर जगह मुंह की खानी पड़ रही है। हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी को उनके ही देश के एक नागरिक ने मीडिया के सामने खरी-खोटी सुनाई। न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम में कहा, ''आप चोर हैं, आपको पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने का कोई हक नहीं है।''


लोधी न्‍यूयॉर्क में एक कार्यक्रम में पहुंची थीं। कार्यक्रम से इतर मीडिया से बातचीत के दौरान एक पाकिस्‍तानी नागरिक ने उनकी काबीलियत और काम करने के तरीके पर सवाल उठाए।इस पर वह व्यक्ति भड़क गया। उसने कहा कि आप यहां में 15-20 साल से कर क्या रही हैं? आप हमारी नुमाइंदगी नहीं करतीं। इस पर मलीहा ने फिर उस व्यक्ति को रुकने को कहा। व्यक्ति ने कहा- मैं कानून के खिलाफ जाकर काम नहीं करूंगा। मैं पाकिस्तानी हूं। मलीहा ने उसके किसी भी सवाल का जवाब देने से मना कर दिया। तब उस व्यक्ति ने यह भी कहा कि तुम लोगों ने हमारा पैसा चुराया, तुम लोग चोर हो।


देश गहरे संकट में चला गया:मनमोहन

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एमडीएमके प्रमुख वाइको ने प्रतिक्रिया दी है। वाइको ने कहा कि जब देश अपना 100वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा होगा, तब कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं रहेगा। वहीं, कांग्रेस नेता मनमोहन सिंह ने कहा कि आज देश गहरे संकट में चला गया है। सरकार को जम्मू-कश्मीर के लोगों की बात सुननी चाहिए।


मनमोहन ने कहा कि सरकार का यह फैसला देश के कई लोगों को पसंद नहीं आ रहा। यह जरूरी है कि इन सभी लोगों की बात सुनी जाए। वे देश के लिए सोचते हैं, इसलिए अपनी आवाज उठा रहे हैं। मनमोहन पहली बार जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर बात कर रहे थे।


वाइको ने कहा,''उन्होंने कश्मीर को कीचड़ में धकेल दिया है। मैंने पहले भी कश्मीर पर अपने विचार व्यक्त किए हैं। कश्मीर मुद्दे पर मैंने कांग्रेस पर 30% और भाजपा पर 70% हमला किया है।'


200 की मौत, 53 लापता:बाढ़-भूस्खलन

दिल्ली। देश के कई राज्यों में बाढ़-भूस्खलन और बारिश से जुड़े हादसों में पिछले 12 दिन में 200 लोगों की मौत हो चुकी है। केरल के 14 जिले भारी बाढ़ और भूस्खलन से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। यहां 8 से 12 अगस्त के बीच मरने वालों का आंकड़ा 88 तक पहुंच गया है, जबकि 53 लापता हैं। कर्नाटक में 42 और महाराष्ट्र में 43 लोगों ने जान गंवाई है।


केरल में भूस्खलन के कारण मलप्पुरम में सबसे ज्यादा 29, कोझिकोड में 17, वायनाड में 12, कन्नूर में 9, त्रिशूर और इडुक्की जिले में 5-5, तिरुवनंतपुरम, अलप्पुझा, कोट्टायम और कसारगोड जिलों में 2-2 लोगों की जान गई। इसके अलावा राज्य में 53 लोग लापता हैं। वहीं, 838 घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। 63,506 परिवारों के ढाई लाख से ज्यादा लोगों ने 1413 राहत शिविरों में शरण ली है।


कर्नाटक, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और गुजरात में भी बाढ़ से हालात गंभीर हैं। सभी बाढ़ग्रस्त राज्यों में सेना और एनडीआरएफ बचाव अभियान में जुटी है। महाराष्ट्र में पुणे डिविजन के 5 जिलों (सांगली, कोल्हापुर, सतारा, पुणे और सोलापुर) में बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 43 हो गई है। यहां के 584 गांवों से अब तक 4,74, 226 लोगों को सुरक्षित निकाला गया है।


इस मानसून सीजन में कर्नाटक में बाढ़ और भारी बारिश से 42, गुजरात में 29, उत्तराखंड में 8 और हिमाचल प्रदेश में 2 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल में बिजली गिरने से 8 लोगों की जान चली गई। कर्नाटक में 50 लोग लापता हैं।


घर-परिवार में सम्मान मिलेगा:कर्क

ज्योतिर्विद वेद प्रकाश तिवारी 
ॐ नमः शिवाय


देव गुरु बृहस्पति ने वृश्चिक राशि में अपनी चाल बदली है,अब तक यह ग्रह वक्री स्तिथि में थे,लेकिन अब सीधा चलने लगेगा,कुछ पंचांग में इस तिथि के संबंध में भेद भी हैं,कुछ ज्योतिषियों के अनुसार गुरु ग्रह 12 अगस्त को वक्री से मार्गी हो रहा है,रक्षाबंधन पर मार्गी गुरु की वजह से कई लोगों को सकारात्मक फल मिल सकते है,गुरु ग्रह अब सोमवार,04 नवंबर को राशि बदलकर धनु में प्रवेश करेगा,जानिए सभी 12 राशियों के लिए गुरु की ये स्थिति कैसी रहने वाली है!


मेष राशि -:- गुरु की वजह से तनाव बढ़ सकता है,लेकिन कड़ी मेहनत के बाद सफलता मिल जाएगी,नया काम शुरू होने के योग बन रहे हैं!


वृषभ राशि -:- इन लोगों को गुरु लाभ के अवसर प्रदान करेगा,नौकरी और व्यापार में बड़ी कामयाबी मिल सकती है,मित्रों के सहयोग से परेशानियां दूर कर पाएंगे!


मिथुन राशि -:- मिथुन राशि के लोग दुश्मनों से सावधान रहें,वरना कोई बड़ी हानि हो सकती है,माता-पिता और गुरु का आशीर्वाद लेकर दिन की शुरुआत करें!


कर्क राशि -:- आप लोगों को कड़ी मेहनत के बाद ही सफलता मिल पाएगी,लापरवाही की तो हानि हो सकती है,घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान मिलेगा!


सिंह राशि -:- जो लोग बेरोजगार हैं,उन्हें गुरु के शुभ फल से नौकरी मिलने के योग बन रहे हैं,इन लोगों को कड़ी मेहनत करनी होगी और आलस्य से बचना होगा!


कन्या राशि -:- इस राशि के लोग धन लाभ प्राप्त कर सकते हैं,कुछ विपरीत परिस्थितियों से समझौता करना पड़ सकता है,धैर्य से काम लेना होगा!


तुला राशि -:- तुला राशि के लोग अपने पराक्रम से सफलता हासिल कर पाएंगे,संपत्ति में वृद्धि होने के योग बन रहे हैं!


वृश्चिक राशि -:- इन लोगों को पुरानी चिंताओं से मुक्ति मिलेगी,घर-परिवार और मित्रों से अच्छे संबंध रहेंगे!


धनु राशि -:- इस राशि के लोग लाभ में रहेंगे,नए काम मिल सकते हैं और धन लाभ कमाने के अवसर आएंगे,नौकरी में बदलाव भी हो सकते हैं!


मकर राशि -:- मकर राशि के लोगों के लिए गुरु शुभ रहेगा,धन-संपत्ति के मामले में सकारात्मक फल मिलेंगे,लाभ मिल सकता है!


कुंभ राशि -:- इन लोगों के लिए गुरु की स्थिति बहुत खास रहने वाली है,धन लाभ कमाने के योग बनेंगे,जो लोग नया काम शुरू करना चाहते हैं,उन्हें कामयाबी मिल सकती है।


मीन राशि -:- इस राशि लोग गुरु की वजह से घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान प्राप्त करेंगे,भाग्य के साथ से कोई बड़ी उपलब्धि मिल सकती है ।


छप्पन भोग का एक व्यंजन 'घेवर'

घेवर छप्पन भोग के अन्तर्गत प्रसिद्ध व्यंजन हॅ। यह मैदे से बना, मधुमक्खी के छत्ते की तरह दिखाई देने वाला एक ख़स्ता और मीठा पकवान है।[1] सावन माह की बात हो और उसमें घेवर का नाम ना आए तो कुछ अटपटा लगेगा। घेवर, सावन का विशेष मिष्ठान माना जाता है। हालाँकि अब घेवर की माँग अन्य मिठाइयों के सामने कुछ कम हुई है लेकिन फिर भी आज कुछ लोग घेवर को ही महत्व देते हैं। सावन में तीज के अवसर पर बहन-बेटियों को सिंदारा देने की परंपरा काफी पुरानी है, इसमें चाहे कितना ही अन्य मिष्ठान रख दिया जाए लेकिन घेवर होना अवश्यक होता है। इसलिए साल के विशेष समय पर बनने वाली इस पारंपरिक मिठाई घेवर का वर्चस्व टूटना संभव नहीं है, भले ही आधुनिक मिठाइयों के सामने इसकी लोकप्रियता में कुछ कमी दिखाई देती हो।


घेवर 
सूखी फेनी
उद्भव
संबंधित देश
भारत
देश का क्षेत्र
राजस्थान और उत्तर भारत
व्यंजन का ब्यौरा
मुख्य सामग्री
मैदा, खोया, चीनी, बादाम काजू
अन्य प्रकार
मावा घेवर, मलाई घेवर


सावन में इस मिष्ठान की माँग को पूरा करने के लिए छोटे हलवाई से लेकर प्रतिष्ठित हलवाई महिनों पहले काम शुरु कर देते हैं। घेवर बनाने का काम प्रत्येक गली मौहल्ले में जोर-शोर से शुरू हो जाता है। पुराने लोग बताते हैं कि बगैर घेवर के न रक्षाबंधन का सगन पूरा माना जाता है और न ही तीज का।



घेवर
वैश्वीकरण के दौर में आज घेवर का रूप भी बदलने लगा है, 450 से लेकर 1000 रूपये प्रति किलो का घेवर बाजार में उपलब्ध है, जो जैसा दाम लगाता है उसे उसी प्रकार का माल मिल जाता है, सादा घेवर सस्ता है जबकि पिस्ता, बादाम और मावे वाला घेवर मँहगा। पिस्ता बादाम और मावे वाला घेवर ज्यादा प्रचलित हैं, हालाँकि लोगों का कहना है कि जितना आनंद सादा घेवर के सेवन में आता है उतना मेवा-घेवर में कतई नहीं। फिर भी लोग मावा-घेवर को ही खरीदना पसंद करते हैं।


कुल मिला कर सावन के महीने में घेवर की खुशबू पूरे बाजार को महका देती है और तीज व रक्षाबंधन के अवसर पर घेवर की दुकानों पर भीड़ देखते ही बनती है। घेवर दो तरह को होता है, फीका और मीठा। ताज़ा घेवर नर्म और ख़स्ता होता है पर यह रखा रखा थोड़ा सख़्त होने लगता है। इस समय फीके घेवर को बेसन में लपेटकर, तलकर मज़ेदार पकौड़े बनाए जाते हैं। मीठे घेवर की पुडिंग बढ़िया बनती है।


लय-प्रलय का स्वामी रूद्र

शिव या महादेवआरण्य संस्कृति जो आगे चल कर सनातन शिव धर्म नाम से जाने जाती है में सबसे महत्वपूर्ण देवताओं में से एक है। वह त्रिदेवों में एक देव हैं। इन्हें देवों के देव महादेव भी कहते हैं। इन्हें भोलेनाथ, शंकर, महेश, रुद्र, नीलकंठ, गंगाधार आदि नामों से भी जाना जाता है। तंत्र साधना में इन्हे भैरव के नाम से भी जाना जाता है। हिन्दू शिव घर्म शिव-धर्म के प्रमुख देवताओं में से हैं। वेद में इनका नाम रुद्र है। यह व्यक्ति की चेतना के अन्तर्यामी हैं। इनकी अर्धांगिनी (शक्ति) का नाम पार्वती है। इनके पुत्र कार्तिकेय और गणेश हैं, तथा पुत्री अशोक सुंदरी हैं। शिव अधिक्तर चित्रों में योगी के रूप में देखे जाते हैं और उनकी पूजा शिवलिंग तथा मूर्ति दोनों रूपों में की जाती है। शिव के गले में नाग देवता विराजित हैं और हाथों में डमरू और त्रिशूल लिए हुए हैं। कैलाश में उनका वास है। यह शैव मत के आधार है। इस मत में शिव के साथ शक्ति सर्व रूप में पूजित है।


शिव
सृष्टि के संहारकर्ता
अन्य नाम
नीलकंठ,महादेव, शंकर,पशुपतिनाथ,गंगाधर,नटराज, त्रिनेत्र,भोलेनाथ,रुद्रशिव,कैलाशी
संबंध
हिन्दू(सनातन) देवता
निवासस्थान
कैलाश पर्वत
मंत्र
ॐ नमः शिवाय
अस्त्र
त्रिशूल, पिनाक धनुष,डमरु
जीवनसाथी
पार्वती , गंगा
एक माँ की संताने
सरस्वती
बच्चे
कार्तिकेय ,गणेश
सवारी
नंदी
भगवान शिव को संहार का देवता कहा जाता है। भगवान शिव सौम्य आकृति एवं रौद्ररूप दोनों के लिए विख्यात हैं। अन्य देवों से शिव को भिन्न माना गया है। सृष्टि की उत्पत्ति, स्थिति एवं संहार के अधिपति शिव हैं। त्रिदेवों में भगवान शिव संहार के देवता माने गए हैं। शिव अनादि तथा सृष्टि प्रक्रिया के आदिस्रोत हैं और यह काल महाकाल ही ज्योतिषशास्त्र के आधार हैं। शिव का अर्थ यद्यपि कल्याणकारी माना गया है, लेकिन वे हमेशा लय एवं प्रलय दोनों को अपने अधीन किए हुए हैं। रावण, शनि, कश्यप ऋषि आदि इनके भक्त हुए है। शिव सभी को समान दृष्टि से देखते है इसलिये उन्हें महादेव कहा जाता है। शिव के कुछ प्रचलित नाम, महाकाल, आदिदेव, किरात,शंकर, चन्द्रशेखर, जटाधारी, नागनाथ, मृत्युंजय, त्रयम्बक, महेश, विश्वेश, महारुद्र, विषधर, नीलकण्ठ, महाशिव, उमापति, काल भैरव, भूतनाथ आदि।


शिव-शक्ति तपस्या प्रसंग

ब्रह्मा जी कहते हैं, मुनि उधर सती ने अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को उपवास करके भक्ति भाव से सर्वेश्वर शिव का पूजन किया। इस प्रकार नंदा व्रत पूर्ण होने पर नवमी तिथि को दिन में ध्यान मग्न हुई। सति को भगवान शिव ने प्रत्यक्ष दर्शन दिया। उनका श्रीविग्रह सर्वांग सुंदर एवं गौर वर्ण का था। उनके पांच मुख थे और प्रत्येक मुख में तीन तीन नेत्र थे।उनके शीष में चंद्रमा शोभा दे रहा था उनका चित्त प्रसन्न और कंठ में नील चिन्ह दृष्टिगोचर होता था। उनके चार बांहे थी। उन्होंने हाथों में त्रिशूल ब्रह्म कपाल वर्ग तथा अभय धारण कर रखे थे। भस्‍म रमण में अंगराग से उनका सारा शरीर उद् घोषित हो रहा था। गंगा जी उनके मस्तिष्क की शोभा बढ़ा रही थी। उनके सभी अंग बड़े मनोहर थे। वे महान लावण्य के धाम जान पड़ते थे। उनके मुख करोड़ों चंद्रमा के समान प्रकाशमान तथा आह्लाद जनक थे। उनकी अंग कांति करोड़ों कामदेव को तिरस्कृत कर रही थी। उनकी आकृति स्त्रियों के लिए प्रिय थी। सती ने ऐसे सौंदर्य माधुर्य से युक्त प्रभु महादेव जी को प्रत्यक्ष देखकर उनके चरणों की वंदना की। उस समय उनका मुख लज्जा से झुका हुआ था। तपस्या के पुण्य का फल प्रदान करने वाले महादेव जी उन्हीं के लिए कठोर व्रत धारण करने वाली सती को पत्नी बनाने के लिए प्राप्त करने की इच्छा रखते हुए भी उनसे इस प्रकार बोले, महादेव जी ने कहा, उत्तम व्रत का पालन करने वाली दक्षियाणी, मैं तुम्हारे से बहुत प्रशन्‍न हूं। इसलिए कोई वर मांगो। तुम्हारे मन को जो अभीष्ट होगा, वही मैं तुम्हें दूंगा। ब्रह्मा जी कहते हैं, उन्हें जगदीश्वर महादेव जी यद्यपि सती के मनोभाव को जानते थे। तो भी उनकी बात सुनने के लिए बोले 'कोई वर मांगो' परंतु लज्जा के अधीन हो गई थी। इसलिए उनके ह्रदय में जो बात थी। उसे स्पष्ट शब्दों में कह ना सकी। उनका जो अभीष्ट मनोरथ था,वह लज्जा से आच्छादित हो गया। प्राणबल्लभ शिव का प्रिय वचन सुनकर सती अत्यंत प्रेम में मग्न हो गई। इस बात को जानकर भक्तवत्सल भगवान शंकर बड़े प्रसन्न हुए और शीघ्रता पूर्वक बारम-बार कहने लगे। वर मांगो मांगो, पुरुषों के आश्रय भूत अंतर्यामी शंभू सती की भक्ति के वशीभूत हो गए थे। तब सती ने अपनी लज्जा को रोककर महादेव जी से कहा, वर देने वाले प्रभु मुझे मेरी इच्छा के अनुसार ऐसा वर दीजिए। भक्तवत्सल भगवान शंकर,दोनों हाथ जोड़कर मस्तक झुका भक्तवत्सल शिव के बारंबार कहने पर ,सती बोली देवादीदेव महादेव प्रभु जगतपति आप मेरे पिता को कहकर वैवाहिक विधि से मेरा पाणीग्रहण करें।ब्रह्मा जी कहते हैं, नाराज सती की यह बात सुनकर भक्तवत्सल महेश्वर ने प्रेम से उनकी ओर देखकर कहा, प्रिय ऐसा ही होगा। तब तक सती भी भगवान शिव को प्रणाम करके भक्ति पूर्वक विदा मांग जाने की आज्ञा प्राप्त करके मुंह छिपाकर और आनंद से युक्त हो माता के पास लौट गई। त्रिशूल धारी महेश्वर के स्मरण करने पर उनकी सिद्धि से प्रेरित हो ब्रह्मदेव तुरंत ही उनके सामने आ खड़े हुए। तात, हिमालय के शिखर पर जहां सती के वियोग का अनुभव करने वाले महादेव जी विद्वमान थे। वही मैं सरस्वती के साथ उपस्थित हो गया। देवर्षि सरस्वती संहित देखा के प्रेम पास में बंधे हुए शिव उत्सुकता पूर्वक भोले। शंभू ने कहा, ब्राह्मण। मैं जब से विभाग के कार्य में स्वार्थ बुद्धि कर बैठा हूं। तब से अदभुत स्वार्थ में ही स्वस्थ सा प्रतीत होता है।दक्षकन्या सती ने बड़ी भक्ति से मेरी आराधना की है। उसके नंदा व्रत के प्रभाव से मैंने उसे अभीष्ट कर देने की घोषणा की है। ब्राह्मण, तब उसने मुझसे वर मांगा कि आप मेरे पति हो जाए यह सुनकर सर्वथा संतुष्ट हो मैंने भी कह दिया कि तुम मेरी पत्नी हो जाओ। तब दक्षायणी मुझसे बोली मेरे पिता को सूचित कर के वैवाहिक विधि से मुझे ग्रहण करे।ब्राह्मण भक्तों की भक्ति से संतोष होने के कारण मैंने उसका अनुरोध स्वीकार कर लिया है। विधाता। तब सती अपनी माता के घर चली गई और मैं आंचल आया। इसलिए अब तुम मेरी आज्ञा से दक्ष के घर जाओ और ऐसा करो जिससे प्रजापति दक्ष सती और हमारे विभागा निश्चय करें।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण
2019-8-9 • RNI.No.UPHIN/2014/57254
1.अंक-011(साल-01)
2.बुधवार,14अगस्‍त 2019
3.शक-1941,श्रावन शुक्‍लपक्ष चतुर्दशी,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:47,सूर्यास्त 7:08
5.न्‍यूनतम तापमान 28 डी.सै.,अधिकतम-33+ डी.सै., हवा में आद्रता रहेगी!
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा!
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार लोनी गाजियाबाद 201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी गाजियाबाद 201102
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...