शनिवार, 29 अप्रैल 2023

बेटी के साथ दुष्कर्म, पिता को आजीवन कारावास 

बेटी के साथ दुष्कर्म, पिता को आजीवन कारावास 

संदीप मिश्र 

हरदोई। उत्तर प्रदेश में हरदोई जिले की एक अदालत ने छ: साल की मासूम बेटी के साथ दुष्कर्म करने वाले पिता को आजीवन कारावास और 37 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। अदालत में पीड़िता और वादनी दोनों आरोपी के खिलाफ गवाही से पलट गए लेकिन मेडिकल रिपोर्ट और फॉरेंसिक जांच में मासूम बालिका के साथ दुष्कर्म की पुष्टि होने पर अदालत ने आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का आरोप सिद्ध होने पर उसे सजा सुनाई है।

अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश पास्को कोर्ट की न्यायधीश निरुपमा विक्रम की अदालत में हुई इस मामले की सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता अमित कुमार शुक्ल ने बताया कासिमपुर थाना क्षेत्र के एक गांव का रहने सुरेंद्र रैदास को अदालत ने उसको अपनी पुत्री के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। नौ अक्टूबर 2020 को इसकी पत्नी द्वारा आरोपी के खिलाफ छह साल की अपनी मासूम पुत्री के साथ दुष्कर्म करने का मामला दर्ज कराया था। 

शिकायत के अनुसार जब वह किसी काम से बाहर गई थी उसी दौरान उसके पति द्वारा उसकी पुत्री के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया। महिला ने अपने पति के ही खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया था और बालिका का मेडिकल कराने के अलावा घटनास्थल की फॉरेंसिक टीम द्वारा जांच की गई थी। पुलिस ने इस मामले में अपर सत्र न्यायाधीश पास्को कोर्ट की अदालत में आरोपी के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया। 

अदालत में अभियोजन पक्ष की और से विशेष लोक अभियोजक अमित कुमार शुक्ला द्वारा इस मामले में मासूम बालिका और मुकदमे की वादनी की गवाही कराई गई लेकिन अदालत में दोनों आरोपों से पलट गई जिसके बाद अभियोजन पक्ष के विशेष अभियोजक द्वारा बालिका की मेडिकल रिपोर्ट और एफएसएल रिपोर्ट के आधार पर अपर सत्र न्यायाधीश पास्को कोर्ट में जिरह की गयी। बचाव पक्ष ने भी के अधिवक्ताओं द्वारा भी वादिनी और पीड़िता के गवाही से पलट जाने के बाद जिरह की गयी। अदालत ने इस मामले में दोनों पक्षों जिरह सुनने के बाद मेडिकल रिपोर्ट और एफएसएल रिपोर्ट के आधार पर आरोपी को अपनी पुत्री के साथ दुष्कर्म का दोषी मानते हुए अलग-अलग आरोपों में तीन सजा और तीन अर्थदंड सुनाई है और सभी सजा एक साथ दिए जाने का निर्णय दिया है।

धामा ने जनसमर्थन पर आभार व्यक्त किया 

धामा ने जनसमर्थन पर आभार व्यक्त किया 

दीपक राणा 

गाजियाबाद। नगर निकाय चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के मात्र 10 दिन शेष रह गए हैं। चुनाव प्रचार के लिए मात्र 9 दिन शेष रह गए हैं। सभी प्रत्याशी चुनाव के गुणा भाग में जी-जान से जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में लोनी नगर पालिका से राष्ट्रीय लोक दल प्रत्याशी श्रीमती रंजीता धामा ने चुनाव प्रचार हेतु मुख्य चुनाव कार्यालय का उद्घाटन किया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय लोक दल प्रत्याशी के द्वारा दिल्ली सहारनपुर रोड स्थित श्री राम पैलेस पर अपना चुनावी कार्यालय बनाया गया। जिसका उद्घाटन मदन भैया खतौली विधायक के कर कमलों द्वारा किया गया। उद्घाटन के बाद एक समीक्षा सभा का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता कर रहे मदन भैया ने अपने संबोधन में कहा कि रालोद प्रत्याशी श्रीमती रंजीता धामा जीत के काफी निकट है, इस जीत को ऐतिहासिक बनाने के लिए विपक्ष के षड्यंत्रों से सतर्क रहने की आवश्यकता है। विपक्ष षड्यंत्रकारी नीतियों के तहत कार्य करता है। 

श्रीमती रंजीता धामा ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले 10 वर्षों से नगर के विकास में प्रयासरत हैं। विकास की रथयात्रा को चलाएंमान रखने के लिए जातिवाद, धर्म भेद को भूलकर सर्व समाज के सहयोग की जरूरत है। हमने समाज के सभी वर्गों और जातियों का सदा सम्मान किया है। भेदभाव की नीति से दूर रहकर नगर में विकास कार्य किए गए हैं। सर्व समाज को साथ लेकर चलने की रीति बरकरार है। जनता के लगातार समर्थन पर प्रत्येक नागरिक का आभार व्यक्त किया। मंच से जय भैया जिला पंचायत अध्यक्ष बागपत ने रालोद प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करने की अपील करते हुए, जाटव समाज को लामबंद करने की बात कही। दलित और पिछड़े वर्ग से रालोद को वोट देने की अपील की। 

वहीं, जाकिर अली पूर्व विधायक ने कहा कि सदियों से हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल रही है। कुछ स्वार्थी नेताओं ने हवा में सांप्रदायिकता का जहर घोल दिया है। इसलिए ओछी राजनीति से उभर कर, भेदभाव को छोड़कर, रालोद प्रत्याशी को सभी समाज को सहयोग करना चाहिए। जहां भेदभाव और जातिवाद की कोई जगह नहीं है। हिंदू-मुस्लिम सभी को इस बार चुनाव में भेदभाव करने वालों को एक सबक सिखाने की जरूरत है।

मनोज धामा पूर्व चेयरमैन ने उद्घाटन समारोह में आए हुए सभी पार्टी कार्यकर्ता व पदाधिकारी और सभी वार्डो के सभासद प्रत्याशियों का तहे दिल से आभार व्यक्त किया।

रक्षाबंधन, 40 लाख महिलाओं को स्मार्टफोन मिलेंगे 

रक्षाबंधन, 40 लाख महिलाओं को स्मार्टफोन मिलेंगे 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो आने वाले रक्षाबंधन के पर्व के मौके पर 40,00000 महिलाओं को मुफ्त में स्मार्टफोन दिए जाएंगे। स्मार्टफोन देने के साथ-साथ सरकार उन्हें 3 साल का इंटरनेट पैक भी मुफ्त में देगी। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आने वाले रक्षाबंधन के पर्व पर राज्य की 4000000 महिलाओं को मुफ्त में स्मार्टफोन देने का ऐलान किया है। सरकार की दरियादिली देखिए कि महिलाओं को स्मार्टफोन के साथ साथ 3 साल का इंटरनेट पैक भी मुफ्त में दिया जाएगा, जिससे वह आसानी के साथ किसी भी समय अपनों के साथ कॉलिंग करने के अलावा ऑनलाइन भी संपर्क में रह सकेंगी। 

महिलाओं को मुफ्त के स्मार्टफोन में फ्री के इंटरनेट पैक के माध्यम से देश दुनिया की समूची जानकारियां मिलती रहेंगी। मुफ्त के स्मार्टफोन के साथ फ्री का इंटरनेट होने की वजह से महिलाओं को बोरियत का भी सामना नहीं करना पड़ेगा और वह समाचार आदि के अलावा मनोरंजन आदि के कार्यक्रम भी इंटरनेट के माध्यम से अपने मुफ्त के स्मार्टफोन में देख सकेंगी।

सीता-राम नवमी पर भव्य मेले का आयोजन 

सीता-राम नवमी पर भव्य मेले का आयोजन 

संदीप मिश्र 

सुकरौली/कुशीनगर। तहसील क्षेत्र हाटा के रामपुर सोहरौना में स्थित मंझरिया देवी शक्ति पीठ पर वैशाख शुक्ल पक्ष के नवमी पर आयोजित सीता-राम नवमी पर भव्य मेले का आयोजन किया गया। बताते चले कि प्रत्येक वर्ष शुक्ल पक्ष के नवमी पर मेले का आयोजन किया जाता है। मेले में आसपास के अलावा दूर दराज के क्षेत्रों से आए श्रद्धालुओ ने विभिन्न प्रकार की सजी दुकानों का लुफ्त उठाया।

साथ ही कुछ दिन पूर्व यहां शुरु हुईं नौकायान की सुविधा का लाभ मेले मे आए हुए लोगो ने उठाया। मेले में स्थानीय विधायक मोहन वर्मा ने भी मेले में पहुंचकर माता का दर्शन करते हुए पूजा अर्चना की।

सामग्री निर्माण कार्यशाला का सफल आयोजन 

सामग्री निर्माण कार्यशाला का सफल आयोजन 


श्रेष्ठ पालकत्व हेतु सामग्री निर्माण कार्यशाला का सफल आयोजन

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण द्वारा यूनिसेफ के सहयोग से ठाकुर प्यारेलाल ग्रामीण पंचायत विकास प्रशिक्षण संस्थान निमोरा में दिनांक 26 अप्रैल 2023 से 28 अप्रैल 2023 तक तीन दिवसीय आखर अंजोर - श्रेष्ठ पालकत्व हेतु तीसरे चरण की सामग्री निर्माण कार्यशाला का सफल आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में विशेष सचिव स्कूल शिक्षा विभाग एवं डायरेक्टर राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण श्री राजेश सिंह राणा ने कार्यशाला में उपस्थित होकर तैयार की जा रही सामग्रियों की समीक्षा करते हुए मार्गदर्शन प्रदान किया। इस कार्यशाला में सहभागी स्रोत व्यक्तियों ने अपने अपने विचारों को साझा भी किया।

कार्यशाला में सभी प्रतिभागियों के विचारों को सुनने के उपरांत श्री राजेश सिंह राणा ने एक अच्छे पालक के आवश्यक गुणों पर प्रकाश डालते हुए, विशेष रूप से संवेदलशील मुद्दों पर जोर दिया। जैसे जब बच्चे भावनात्मकता में या आवेश में कोई बात अपने पालकों से साझा कर रहे हो तो ऐसे समय पालकों को धीरज के साथ उन्हें सुनना चाहिए। ऐसे समय वाद-विवाद नहीं करना चाहिए। जब बच्चा शांत हो जाए तब आराम से उन्हें सही गलत के अंतर को समझाना बेहतर होगा।

इस कार्यशाला में मुख्य रूप से किशोर बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य , नशे की लत, सोशल मीडिया, इंटरनेट , तकनीक के विवेकपूर्ण उपयोग तथा पूर्व में श्रेष्ठ पालकत्व पर तैयार की गई। सामग्रियों की उपयोगिता को लेकर सार्थक चर्चा की गई। इसके साथ ही विविध प्रकार की अन्य प्रेरक - रोचक गतिविधियां तैयार की गई। जिनके माध्यम से पालकों को बेहतर भूमिका निभाने में लाभ प्राप्त होगा। इस कार्यशाला का कुशल संयोजन एवं संचालन श्री दिनेश कुमार टांक,सहायक संचालक, राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण द्वारा किया गया।

इस कार्यशाला में यूनिसेफ छत्तीसगढ़ शिक्षा विशेषज्ञ श्रीमती छाया कुंवर ने अपना मार्गदर्शन प्रदान किया। यूनिसेफ की ओर से मनीषा वत्स और विकास सिंह भदोरिया ने विशेष सहयोग प्रदान किया। छत्तीसगढ़ राज्य से कई शिक्षाविद एवं इस क्षेत्र में कार्य कर रहे बुद्धिजीवियों ने इस कार्यशाला में सहभागिता निभाई।

किसानों की समस्याओं को लेकर 'भाकियू' का धरना 

किसानों की समस्याओं को लेकर 'भाकियू' का धरना 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली/छपार। भाकियू तोमर कार्यकर्ताओं ने किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर युवा जिलाध्यक्ष अंकित गुर्जर के नेतृत्व में थाने में धरना दिया गया। सीओ सदर यतेंद्र नागर को ज्ञापन दिया गया। युवा जिलाध्यक्ष ने सीओ सदर को छह मांगों का ज्ञापन दिया। कहा कि गांव खामपुर में भूरा कुरैशी को झूठे मुकदमे में जेल भेज दिया, जबकि गोकशी करने वाले खुलेआम घूम रहे हैं। निर्दोष लोगों को परेशान किया जा रहा है। छपार निवासी अनीस की पुत्री को मायके में ही ससुराल वालों ने आकर पीटा।

तहरीर देने पर भी कार्रवाई नहीं हुई। थाना प्रभारी मुकेश कुमार किसानों के साथ अभद्र व्यवहार करते है। पीड़ित को ही थाने में बैठा लिया जाता है। सिसौना निवासी शेरदीन पासपोर्ट के लिए कई माह से थाने के चक्कर काट रहा हैं। क्षेत्र में खुलेआम मिट्टी खनन पुलिस की मिलीभगत से चल रहा हैं। सीओ सदर ने ज्ञापन लेकर सभी मामलों की जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस दौरान मुकेश गुर्जर, विनीत त्यागी, शहजाद प्रधान, गीता चौधरी, विजय लक्ष्मी, इरशाद, आशू, जितेंद्र बेनी, रजनी शर्मा, जावेद आलम, मास्टर मनीष आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

टेस्ट की शुरुआत के साथ प्रक्रिया में बदलाव: सेना 

टेस्ट की शुरुआत के साथ प्रक्रिया में बदलाव: सेना 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारतीय सेना ने अग्निशामकों, जूनियर कमीशन अधिकारियों और अन्य श्रेणियों की भर्ती के लिए पहले चरण के रूप में कंप्यूटर आधारित ऑनलाइन कॉमन एंट्रेंस टेस्ट की शुरुआत के साथ प्रक्रिया में बदलाव किया है। योग्य पंजीकृत उम्मीदवारों के लिए ऑनलाइन सीईई 17 अप्रैल 2023 से 26 अप्रैल 2023 तक पूरे भारत में 176 स्थानों पर 375 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित किया गया था। सेना के प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि शिक्षा मंत्रालय के अधीन मिनी रतन कंपनी एजुकेशन कंसल्टेंसी सर्विसेज इंडिया लिमिटेड की मदद से ऑनलाइन परीक्षा कराई जा रही है।

उन्होंने बताया कि देश में युवाओं की तकनीकी दहलीज में काफी सुधार हुआ है और बढ़ी हुई नेटवर्क कनेक्टिविटी और स्मार्टफोन के प्रसार के साथ, युवा अब शारीरिक परीक्षा देने के लिए लंबी दूरी तय करने के बजाय ऑनलाइन परीक्षा देने के लिए सशक्त हैं। बदली हुई कार्यप्रणाली चयन के दौरान संज्ञानात्मक पहलू पर अधिक ध्यान सुनिश्चित करेगी और कुत्सित परिवर्तनों को रोकेगी। इसकी पूरे देश में व्यापक पहुंच होगी और भर्ती रैलियों के दौरान देखी जाने वाली भारी भीड़ को भी कम किया जाएगा, ताकि उन्हें अधिक प्रबंधनीय और संचालन में आसान बनाया जा सके।

नई भर्ती प्रक्रिया तीन चरणों में की जाएगी। पहले चरण में, सभी उम्मीदवार जिन्होंने ऑनलाइन पंजीकरण और आवेदन किया है, वे ऑनलाइन कॉमन एंट्रेंस टेस्ट से गुजरेंगे। दूसरे चरण में, शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों को संबंधित सेना भर्ती अधिकारी द्वारा निर्दिष्ट स्थानों पर जून 2023 से भर्ती रैलियों के लिए बुलाया जाएगा, जहां वे शारीरिक दक्षता परीक्षण और शारीरिक माप परीक्षण से गुजरेंगे।

अंत में तीसरे चरण में चयनित उम्मीदवारों का मेडिकल टेस्ट होगा। इसके बाद सफल उम्मीदवारों की फाइनल मेरिट लिस्ट घोषित की जाएगी। संशोधित भर्ती प्रणाली भर्ती प्रक्रिया को अधिक सुव्यवस्थित और पारदर्शी बनाएगी और इसे देश में उपलब्ध नवीनतम आईटी अवसंरचना का बेहतर दोहन करने के लिए डिजाइन किया गया है।

एसडीएम ने बालाजी हॉस्पिटल पर छापा मारा

एसडीएम ने बालाजी हॉस्पिटल पर छापा मारा

अनिल शुक्ला

बस्ती। बस्ती जिले में जिलाधिकारी के निर्देश पर अवैध संचालित हॉस्पिटल ताबड़तोड़ छापेमारी दहशत में अस्पताल अस्पताल संचालकों की नींद हराम हो गई है। जिलाधिकारी के निर्देश पर उप जिलाधिकारी गुलाबचंद हरैया ने मय दल-बल सहित अदनान कस्बे में अवैध रूप से संचालित बालाजी हॉस्पिटल पर छापा मारा। छापे से अस्पताल कर्मचारियों में भगदड़ मच गई। वहीं, अस्पताल संचालक फरार हो गया। जिला अधिकारी के निर्देशन में छावनी शर्मा हॉस्पिटल में बच्चे की मौत का मामला जिला अधिकारी संज्ञान में लेते हुए जिले में अवैध अस्पतालों पर प्रशासन का डंडा चला दिया, जिससे अस्पताल संचालकों में खलबली मच गई वही तेजतर्रार एसडीएम हरैया गुलाबचंद लगातार 2 दिनों से कई हॉस्पिटल चीज की है।

जिनके यहां कोई सुविधा ना होने के कारण या मजबूती के आधार कागजात ना होने के कारण उनको सीज कर दिया गया है। वही, आज सुबह बभनान कस्बे में संचालित बालाजी नर्सिंग होम पर एसडीएम गुलाबचंद की निगाह पड़ी तुरंत मय फोर्स सहित अस्पताल में घुसे एसडीएम के अस्पताल पहुंचते ही कर्मचारियों में भगदड़ मच गई वही संचालक मौके से फरार हो गया। जिसके कारण उप जिलाधिकारी गुलाबचंद कर्मचारियों को बाहर निकाल कर अस्पताल को सील कर दिया और उस पर भारी जुर्माना लगाया।

मौके से फरार संचालक के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराने का निर्देश दिया। बस्ती जिले में तमाम फर्जी अस्पताल क्लीनिक खोल करके इलाज के नाम पर जनता को लूट रहे हैं। इसी कारण आए दिन लोग फर्जी अस्पतालों में मौत का मामला बढ़ता जा रहा है। जिससे प्रशासन के शक्ति के कारण सभी अवैध हॉस्पिटल बंद करके भाग रहे हैं। संचालक यहां तक फर्जी लाइव पर भी जांच चल रही है। प्रशासन के सख्त तेवर से फर्जी हॉस्पिटल में हड़कंप मच गया।

शुक्राणु दान देने वाले 41 वर्षीय व्यक्ति पर रोक: कोर्ट 

शुक्राणु दान देने वाले 41 वर्षीय व्यक्ति पर रोक: कोर्ट 

अखिलेश पांडेय 

एम्सटर्डम। नीदरलैंड कोर्ट ने शुक्राणु दान देने वाले 41 वर्षीय व्यक्ति पर रोक लगा दी है। व्यक्ति के शुक्राणु से अबतक 550-600 बच्चों का जन्म हो चुका है। हेग जिला न्यायालय के अनुसार व्यक्ति ने अपने शुक्राणु से जन्म देने वालों बच्चों की संख्या गलत बताई है।

बच्चे बन रहें विशाल रिस्तेदारी हिस्सा का नेटवर्क...

माता-पिता अब इस तथ्य का सामना कर रहे हैं कि सैकड़ो सौतेले भाई बहनों के साथ उनके बच्चे विशाल रिश्तेदारी नेटवर्क का हिस्सा बन चुके हैं। हालांकि इस नेटवर्क को उन्होंने नहीं चुना है। डच गोपनीयता कानून के अनुसार सरकार व्यक्ति की पहचान सार्वजनिक नहीं कर सकती है, लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय के एक सूत्र ने व्यक्ति की पहचान 41 वर्षीय जोनाथन जैकब मीजर के तौर पर की है। प्रवक्ता गेरिट-जेन क्लेनजान ने लिखा कि डोनर को हर क्लिनिक से समझौता कर लेना चाहिए कि वह अपने शुक्राणु का दान अन्य क्लिनिक में नहीं करेगा। उन्होंने कहा- “जिस व्यक्ति की बात हो रही है उसने भी यह समझौता किया था, लेकिन इसके बावजूद उसने अन्य बैंकों में दान किया जिसके परिणामस्वरूप 102 बच्चे हुए।”

व्यक्ति ने क्लिनिक में बोला झूठ...

अदालत का यह फैसला डच डोनर चाइल्ड फाउंडेशन द्वारा मुकदमा करने के बाद आया। दस्तावेजों के अनुसार व्यक्ति ने अबतक 11 फर्टिलिटी क्लिनिक में शुक्राणु दान दिया है। नीदरलैंड्स के नियमानुसार प्रत्येक क्लिनिक शुक्राणु से 25 बच्चे पैदा करने या अधिकतम 12 माताओं को दान कर सकता है।अदालत के रिकॉर्ड के अनुसार व्यक्ति ने हमेशा ही क्लिनिक में झूठ बोला है।

शुक्राणु दान के लिए वह जिस भी क्लिनिक में जाता था वहां वह यही कहता था कि इससे पहले उसने कहीं भी शुक्राणु दान नहीं दिया है। 2017 के रिपोर्ट के अनुसार व्यक्ति ने 2007 से 2017 के बीच अपने शुक्राणु से 102 बच्चों को जन्म दिया था। वहीं 2015 से 2018 के बीच उसने डेनमार्क में भी अपने शुक्राणुओं का दान किया है। यही नहीं सोशल मीडिया के लिए वह नीदरलैंड्स और विदेशों में भी अपना शुक्राणु का ऑफर देता था।

अंसारी को गैंगेस्टर एक्ट मामलें में 4 साल की सजा 

अंसारी को गैंगेस्टर एक्ट मामलें में 4 साल की सजा 

संदीप मिश्र 
गाजीपुर। बहुजन समाज पार्टी ( बीएसपी) के लोकसभा सांसद अफजाल अंसारी को गैंगस्टर एक्ट मामलें में एमपी-एमएलए कोर्ट ने 4 साल की सजा सुनाने के साथ ही 1 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। इससे पहले माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को गैंगस्टर एक्ट में 10 साल की सजा सुना दी गई है और उस पर 5 लाख का जुर्माना भी लगाया गया है। बता दें प्रदेश के बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की पेश वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई, जबकि सांसद अफजाल अंसारी खुद कोर्ट पहुंचे थे। अफजाल अंसारी को चार साल से ज्यादा की सजा हुई है।

ऐसे में उनकी संसद सदस्यता जाना तय माना जा रहा है। शासकीय अधिवक्ता नीरज श्रीवास्तव ने इसकी पुष्टि की है। वहीं अफजल अंसारी को सजा मिलने उन्हें जिला जेल गाजीपुर में शिफ्ट किया जा रहा है। बता दें कि गैंगस्टर एक्ट का यह मामला साल 2007 में कृष्णानंद राय की हत्या (2005) के दो साल बाद पुलिस ने दर्ज किया था। यह केस राय की हत्या के बाद हुई आगजनी, बवाल और कारोबारी नंद किशोर रुंगटा की अपहरण-हत्या को आधार बनाते हुए पुलिस ने मुख्तार और अफजाल पर दर्ज किया था।

शरीर के अंदर मौजूद आइटम्स को रीचार्ज करें 

शरीर के अंदर मौजूद आइटम्स को रीचार्ज करें 

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। बदलते समय में वैज्ञानिक भी शोध के माध्यम से अलग-अलग तकनीक पेश कर रहे हैं। इस बीच वैज्ञानिकों ने दुनिया की पहली ऐसी बैटरी बना डाली है, जिससे आप शरीर के अंदर मौजूद इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स को रीचार्ज कर सकते हैं। इसके अलावा डिस्चार्ज होने के बाद आप इसे खा सकते हैं। जी हां, इस बात को जानकर हैरानी होगी, लेकिन इसे सच माना जा रहा है। 

खाने वाले पदार्थों से बनी ये बैटरी...

इस बैटरी को खाने वाले पदार्थों से बनाया गया है। ताकि इससे शरीर के अंदर कोई नुकसान हो। यह एक प्रोटोटाइप बैटरी है जिससे 0.65 वोल्ट या 12 मिनट तक 48 माइक्रोएंपीयर करंट बहता है। यानी शरीर में इस्तेमाल की जाने वाली छोटी मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स को चार्ज कर सकता है। इसके बाद जब इसकी चार्जिंग खत्म हो जाएगी। तब यह अपने आप आपके पेट में घुल जाएगी। क्योंकि इसे खाने वाली चीजों से बनाया गया है।

भविष्य में खाने लायक इलेक्ट्रॉनिक सर्किट और सेंसर्स भी बनेंगे...

इस तकनीक को बनाने वाले का नाम है इटैलियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में मॉलीक्यूलर इलेक्ट्रॉनिक्स के शोधकर्ता मारियो कैरोनी। इनका कहना है कि भविष्य में खाने लायक इलेक्ट्रॉनिक सर्किट और सेंसर्स भी बनेंगे। जिससे शरीर के अंदर फूड स्टोरेज की पूरी प्रक्रिया को देखा जा सके। इन बैटरी से बच्चों के खिलौने बना सकते हैं, जिसे अगर वो खा भी लेते हैं तो कोई परेशानी न हो।

इन खाने वाली चीजों का किया गया इस्तेमाल...

इसे बनाने में कई खाने वाली चीजों का इस्तेमाल किया गया है। लेकिन बैटरी के निगेटिव हिस्से के लिए विटामिन राइबोफ्लेविन का इस्तेमाल हुआ है। जबकि पॉजिटिव हिस्से के लिए सप्लीमेंट क्वेरसेटिन का उपयोग किया गया है। इलेक्ट्रोलाइट बनाने के लिए पानी आधारित तरल पदार्थ का इस्तेमाल हुआ है। सेपरेटर के लिए नोरी का इस्तेमाल हुआ है। यह एक समुद्री वीड है। इसे आप सूशी रेस्टोरेंट में आसानी से पा जाएंगे। खाने लायक बैटरी से बिजली सप्लाई करने के लिए खाने योग्य सोने का इस्तेमाल किया जाता है, जबकि बिजली पैदा करने के लिए एक्टीवेटेड चारकोल की जरूरत पड़ती है। लेकिन ये सब शरीर के बाहर इस्तेमाल करने के लिए।

इस प्रोटोटाइप बैटरी का आकार एक वर्ग सेंटीमीटर है, लेकिन वैज्ञानिकों की टीम इसे और छोटा बनाने का काम कर रही है। मारियों ने कहा कि हम ऐसी बैटरी बनाना चाहते हैं, जो बेहद छोटी लेकिन काम की हो। शरीर को नुकसान भी न पहुंचाए। इतना ही नहीं हम भविष्य में खाने लायक रोबोट्स भी बनाएंगे। गौरतलब है कि बादाम, Capers, Activated Charcoal, Seaweed, Gold leaf और Beeswax से बनी इस बैटरी को आसानी से हज़म किया जा सकता है। इस बैटरी का इस्तेमाल हेल्थ डिवाइस में किया जा सकता है। वैज्ञानिकों की टीम इसकी कैपासिटी बढ़ाने पर काम कर रही है। 

एक्ट्रेस फतेही ने बोल्ड लुक में तस्वीरें शेयर की

एक्ट्रेस फतेही ने बोल्ड लुक में तस्वीरें शेयर की

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस नोरा फतेही अपनी कड़ी मेहनत और टैलेंट के दम पर दुनियाभर में एक खास मुकाम हासिल किया है। आज उनके चाहने वाले देश-विदेशों में मौजूद हैं। लोग उनकी एक झलक देखने के लिए बेताब रहते हैं। अब नोरा ने बोल्ड लुक में तस्वीरें शेयर कर अपनी अदाओं से फैंस के दिलों की धड़कनें बढ़ा दी हैं। तस्वीरों में देखा जा सकता है कि नोरा फतेही हॉल्टर नेक बॉडीकॉन शीर गाउन में नजर आ रही हैं, जिसमें सिल्वर ड्रेस में वह बहेद ग्लैमरस लग रही हैं। खुले बाल और न्यूड मेकअप से नोरा फतेही ने अपने लुक को कम्प्लीट किया है।

एक्ट्रेस ने अपने कर्वी फिगर को फ्लॉन्ट करते हुए कैमरे के सामने हॉट पोज दिए हैं। एक्ट्रेस का यह लुक फैंस को खूब पसंद आ रहा है। और कमेंट सेक्शन में उनकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। सिल्वर कलर की लॉन्ग ड्रेस में नोरा काफी स्टनिंग लग रही हैं। नोरा फतेही ने कैप्शन में लिखा, 'मैं अपने कर्व्स को फ्लॉन्ट करती हूं क्योंकि मैं ओट्स खाती हूं, जलने वाले जलते नहीं है, बल्कि मुझसे नोट्स लेते हैं।'

आपको बता दें कि आपको बता दें कि नोरा फतेही बहुत अच्छी डांसर हैं। उन्होंने ‘किक 2’, ‘बाहुबली’, ‘टेम्पर’ जैसी तेलुगु फिल्मों और कई बॉलीवुड फिल्मों के लिए आइटम नंबर किया है। साथ ही वो कई म्‍यूजिक एल्‍बम्स में भी नजर आईं हैं।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन




प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-198, (वर्ष-06)

2. रविवार, अप्रैल 30, 2023

3. शक-1944, बैशाख, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दसमीं, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:23। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 21 डी.सै., अधिकतम- 33+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'  सरस्वती उपाध्याय  चिलचिलाती गर्मी के मौसम में सभी को ठंडा रहने के लिए शरीर को ठंडक ...