रविवार, 12 जुलाई 2020

घोड़ा अस्तबल से निकलें, तब जाएंगे

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार एक बार फिर से खतरे में है। इस बार अशोक गहलोत व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच आपसी मनमुटाव खुलकर सामने आ गया है। यही वजह है कि डिप्टी सीएम सचिन पायलट अपने समर्थक विधायकों के साथ दिल्ली पहुंच गए हैं।  डिप्टी सीएम सचिन पायलट पार्टी के आलाकमान से मिलकर अपनी बात रखना चाहते हैं। अचानक सचिन पायलट का समर्थक विधायकों के साथ दिल्ली पहुंचने से यह साफ होता है कि अब अशोक गहलोत व सचिन पायलट के बीत सबकुछ ठीक नहीं है।


इन सबके बीच कांग्रेस पार्टी के नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर कहा है कि मैं अपनी पार्टी को लेकर चिंतित हूं। यही नहीं सिब्बल ने कहा कि घोड़ा अस्तबल से निकल जाएगा हम तभी जागेंगे? कपिल सिब्बल ने एक तरह से कांग्रेस आलाकमान की चुप्पी पर सवाल खड़ा करते हुए अप्रत्यक्ष तरीके से उन्हें सावधान किया है। कपिल चाहते हैं कि सचिन ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया की तरह कोई फैसला ले इससे पहले कांग्रेस आलाकमान को इस मामले को सुलझाना चाहिए।
विधायकों और मंत्रियों से मिले गहलोत
सरकार को अस्थिर करने के लिए विधायकों को प्रलोभन दिए जाने के आरोपों के बीच कई मंत्रियों व विधायकों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की। सिविल लांइस स्थित मुख्यमंत्री निवास में गहलोत से मुलाकात करने वालों में सरकार के स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल, चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग व श्रम मंत्री टीकाराम जूली शामिल हैं। इसके अलावा बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए कई विधायक व कांग्रेस का समर्थन कर रहे निर्दलीय विधायक भी मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचे।                     


लॉकडाउनः 15 दिन खुलेंगे यूपी के बाजार

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को टीम-11 के साथ बैठक करके एक नए लॉकडाउन फॉर्मूले पर मुहर लगाई है। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब प्रदेश में हफ्ते के पांच दिन ही कार्यालय और बाजार खुलेंगे। सोमवार से शुक्रवार तक ऑफिस और बाजार खोले जाएंगे, जबकि शनिवार और रविवार को सभी दफ्तर और बाजार पूरी तरह से बंद रहेंगे।


आपको बता दें कि योगी सरकार ने बीते शुक्रवार की रात से सोमवार सुबह 5 बजे तक 55 घंटे का लॉकडाउन लगाया है। अब यह नियम आगे भी जारी रहेगा। वहीं, इस मिनी लॉक डाउन की अवधि के दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी।               


500 बार लिखे, 'मास्क लगाना' जरूरी है

 फ़िरोज़ाबाद। उत्तर प्रदेश के जनपद फ़िरोज़ाबाद में बिना मास्क लगाए घूमते पाए जाने पर जाना होगा प्रशिक्षण केंद्र,  500 बार लिखना होगा 'मास्क लगाना जरूरी है' , प्रशासन की अनूठी पहल।
यूपी के फिरोजाबाद में पुलिस व प्रशासन ने लोगों को कोरोना का हाल में नियमों को समझाने के लिए अनूठा तरीका अपनाया है अब सड़कों पर जो भी शख्स बिना मास्क लगाए घूमते दिखता है । उसको पुलिस पकड़ कर एक इंटर कॉलेज में बने प्रशिक्षण केंद्र पर ले जाती है। जहां पर उसको कोरोनावायरस से होने वाले नुकसान और बीमारी के बारे में बताया जाता है। सजा के तौर पर एक सादा कागज दे दिया जाता है जिस पर 500 बार लिखना होता है कि मास्क पहनना जरूरी है। लगभग 3 घंटे की इस प्रक्रिया के बाद उन्हें मास्क पहनाकर उनके घर के लिए रवाना कर दिया जाता है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों की भागीदारी जरूरी है इसीलिए यह प्रशिक्षण दिया जा रहा है ताकि लोग सड़कों पर मास्क लगाकर निकले तथा 2 गज की दूरी का पालन करें । इस योजना के शुरुआत में जिला प्रशासन पुलिस के आला अधिकारी तथा नगर निगम के सभी अधिकारी मौजूद थे अब देखना यह है कि इस अनूठी पहल का आम जनता पर कितना असर आता है और बढ़ता हुआ कोरोना वायरस पर क्या रोक लग पाएगा।
दीपक कुमार, छात्र ने कहा कि उन्हें मास्क ना पहनने पर यह सेंटर पर लाया गया यह छोटा सा पनिशमेंट मिला है लेकिन यह हमें पता लग गया कि मास्क लगाना बहुत जरूरी है। अब हम हमेशा मास्क पहनेंगे और दूसरे लोगों से भी कहेंगे कि मांस जरूर पहनें इससे न सिर्फ हमारी सुरक्षा है वरना पूरे परिवार की भी सुरक्षा है।


 सचिंद्र पटेल एसएसपी फिरोजाबाद ने कहा कि यह एक सजा नहीं है यह प्रशिक्षण के तौर पर रखा जा रहा है। पिछले तीन महीनों से लगातार देखा जा रहा है कि लोग समझाने पर भी मांस का प्रयोग नहीं कर रहे हैं इसको लेकर आज यह योजना के तहत यहां पर लोगों को लाया जाता है और उनसे 500 बार लिखा जाता है तथा एक वीडियो फिल्म दिखाई जाती है जिसमें कोरोना से होने वाले नुकसान के बारे में बताया जाता है। इसका लोगों को फायदा मिले एसएसपी सचिंद्र पटेल ने लोगों को क्लास रूम में बैठाकर समझाते हुए, वीडियो दिखाते हुए, बिना मास्क लगाए लोग 500 बार लिखते हुए, बिना मास्क लगाए पकड़े गए लोगों की वाइट।


अमन गुप्ता की रिपोर्ट


डिप्टी सीएम के घर कोरोना की दस्तक

कौशाम्बी। उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के घर कोरोना ने अपना डेरा डाल दिया है,कोरोना ने सीएम की समधन,भतीजी,भतीजा,दामाद सहित 6 लोगो को अपनी चपेट में ले लिया है।


कौशांबी में भी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या को लेकर जिला प्रशासन व स्वास्थ्य महकमा परेशान है। प्रयागराज की लैब में 145 लोगों की जांच हुई, जिसमें 19 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। कोरोना संक्रमितों में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की भतीजी व चायल विधायक संजय गुप्ता की भाभी भी शामिल हैं। रिपोर्ट आने के बाद डॉक्टरों की टीम ने सभी को इलाज के लिए मंझनपुर पीएचसी के एल-1 अस्पताल में भर्ती करा दिया है। संक्रमितों के संपर्क में आने वाले लोगों की हिस्ट्री खंगाली जा रही है।


सीएमओ डॉ. पीएन चतुर्वेदी ने बताया कि शनिवार को हुई सैंपलों की जांच में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की भतीजी व उनके पति, सास समेत कस्बे के छह लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं नगर पालिका परिषद भरवारी में तीन लोग संक्रमित हुए है। इसमें चायल विधायक संजय गुप्ता की भाभी, नौकर व एक पड़ोसी शामिल हैं। इसके अलावा दो मरीज मंझनपुर में मिले हैं। सभी संक्रमितों को इलाज के लिए भर्ती करा दिया गया है।


टंशंंअब तक कुल 8200 लोगों के सैंपल की जांच की गई, जिसमें 179 लोग संक्रमित मिले हैं। शनिवार को छह लोग स्वस्थ हो गए है। जनपद के विभिन्न स्थानों से 285 लोगों का सैपल जांच के लिए भेजा जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव व कस्बों का भ्रमण कर लोगों को बीमारी के प्रति जागरूक कर रही है। डिप्टी सीएम के घर पहुची मेडिकल टीम।सैनी कोतवाली क्षेत्र के सिराथू में है डिप्टी सीएम का घर।सीएम के घर को सेनेटाइज करने की कवायद शुरु हो चुकी हैं।             


युवक की पिटाई, सीओ ने लिया संज्ञान

दवाई मांगने पर युवक की बेरहमी से पिटाई करने के मामले में सीओ सिटी ने लिया संज्ञान, आरोपी गिरफ्तार
भानु प्रताप उपाध्याय 


शामली। जनपद में दवाई मांगने पर युवक की बेरहमी से पिटाई करने वाले युवक को शामली पुलिस ने गिरफ्तार कर आगे की कानूनी कार्यवाही शुरू कर दी है। पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस न संज्ञान लिया। दरअसल आपको बता जनपद शामली के माजरा रोड पर एक युवक की मेडिकल स्टोर पर दवाई मांगने पर स्टोर संचालक ने युवक की डंडों से बेरहमी से पिटाई कर दी थी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, जिसमें स्टोर संचालक युवक के ऊपर बीच सड़क पर डंडे बरसाता नजर आ रहा था। युवक मेडिकल स्टोर पर दवाई लेने गया था। युवक पर पर्याप्त पैसे ना होने के कारण, मेडिकल संचालक ने युवक की बीच सड़क पर डंडों से पिटाई कर दी थी। जिसका संज्ञान लेते हुए सीओ सिटी जितेंद्र कुमार ने आदर्श मंडी पुलिस से मामले की जांच कराई. जिसमें मेडिकल संचालक आरोपी पाया गया. पुलिस में मेडिकल संचालक को गिरफ्तार कर आगे की वैधानिक कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है।            


शामलीः सन्नाटे में मिले 7 संक्रमित

भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। जनपद में आज सात ओर कोरोना मरीज मिलने से हडकंप मच गया हैं। जिलाधिकारी जसजीत कौर ने इस की पुष्टि करते हुए बताया कि जनपद में आज सात ओर कोरोना मरीज मिले हैं। प्रशासन इनसे जुडे क्षेत्रों को सील कराने की कार्यवाही करा रहा है। इस बीच कोरोना संक्रमण को फैलने से रोके जाने के उददेश्य से जिले में रविवार को दूसरे दिन भी जरूरी सेवाओ को छोडकर अन्य सभी गतिविधियां पूर्ण रूप से बंद रखी गई। सवेरे दूध और दवा की दुकानों को खोला गया। जहां लोगों ने पहुंचकर खरीरदारी की। इसके अलावा पुलिस द्वारा दवा की दुकानों को छोडकर सभी दुकानों को बंद करा दिया गया। जिसके बाद शहर की सडकों पर सन्नाटा पसर गया। शहर के विभिन्न चौराहों तथा गलियों में पुलिसकर्मी तैनात रहे। अकारण आने वाले बाईक चालकों के चलान काटे गए और कई युवकों की जमकर खबर भी ली गई।
उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना के बढते खतरे के मददेनजर पूरे प्रदेश में जरूरी सेवाओं को छोडकर अन्य सभी गतिविधियों पर 10 जुलाई शाम 10 बजे से 13 जुलाई सवेरे पांच बजे तक प्रतिबंध लगाया है। रविवार को दूसरे दिन शहर के बाजारों पूर्ण रूप से बंद रहे। सवेरे दूध और दवा की दुकानों को खोला गया था, जहां लोगों ने खरीदारी की, लेकिन बाद में दूध की दुकानों को भी बंद करा दिया गया, जिसके बाद शहर की सडकों पर सन्नाटा पसरा रहा। रविवार को शहर के मौहल्ला कलंदरशाह, बडीआल जाटान, दयानंदनगर सहित विभिन्न स्थानों पर दुकानों को खोला गया था, लकिन पुलिस ने बल पूर्वक दुकानों को बंद कराया। इसके अलावा पुलिस अधीक्षक विनीत जयसवाल ने स्वयं जिले के बाजारों में दौराना किया और अकारण आने वाले लोगों पर कार्यवाही की भी गई। एसपी के आदेश पर जिलेभर में चेकिंग अभियान भी चलाया गया। जिसमें शहर के फव्वारा चौक, अजंता चौक, विजय चौक, शिव चौक, गुरूद्वारा तिराहा आदि स्थानों पर पुलिस ने अकारण आने वाले बाईक चालकों के चलान भी काटे। सीओ सिटी ने रात में लिया लॉकडाउन का जायजाः देर रात्रि सीओ सिटी जितेन्द्र कुमार ने पुलिस फोर्स को साथ लेकर शहर का भ्रमण कर लॉकडाउन का जायजा लिया। इस दौरान अकारण घूमने वाले लोगों पर जुर्माना लगाते हुए वाहन चालकों के चलान काटे गए। गत रात्रि प्रभावी किये गये लॉकडाउन के मद्देनजर सीओ सिटी जितेन्द्र कुमार ने शहर के विभिन्न चौराहों तथा गलियों का भ्रमण किया। जिसमें उन्होने शहर के बडा बाजार, नया बाजार, कबाडी बाजार, फव्वारा चौक, शिव चौक, अजंता चौक, विजय चौक, कलदरंशाह, पंसारियान, दयानंदनगर, माजरा रोड पर पुलिसकर्मियों को साथ लेकर चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान रात्रि मे अकारण सडकों पर घूमने वाले लोगों पर जुर्माना लगाया गया, जबकि वाहन चालकों के चलान भी काटे गए। उन्होने लोगों को लॉक डाउन के नियमों का पालन करने तथा घरो में सुरक्षित रहने की अपील की। मौके पर उन्होने पुलिसकर्मियों को भी कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक करते हुए ड्यूटी के दौरान फेस कवर एवं फेस शील्ड का इस्तेमाल करने का आहवान किया। शामली में बारिश ने दिलाई गर्मी से राहतः गत शनिवार की मध्य रात शुरू हुई बारिश रविवार दोपहर तक होती रही। जिससे लोगों को गर्मी से काफी राहत मिली। वहीं, बारिश से किसानों की ज्वार, गन्ना और धान की फसल को लाभ पहुंचा है। दोपहर बाद धूप निकली, लेकिन उसके बाद बादल छा गए। दिनभर मौसम सुहावना बना रहा, जिससे लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली। दिन का पारा एक डिग्री और रात का पारा दो डिग्री में गिरावट दर्ज की गई। गत शनिवार मध्य रात्रि के बाद मौसम का मिजाज बदलना शुरू हो गया था। रात बादल की गर्जनाओं के साथ बारिश शुरू हो गई। रविवार को दोपहर तक बारिश होती रही। बारिश बंद होने के बाद धूप निकलनी शुरू हो गई। दोपहर के समय धूप से उमस भरी गर्मी रहने से लोग हाल-बेहाल रहे। लेकिन बाद में दोबारा आसमान में बादल छा गए और दिनभर मौसम खुशगवार बना रहा। पिछले 24 घंटे में बारिश के बाद दिन का पारा एक डिग्री और रात का पारा दो डिग्री में गिरावट दर्ज की गई। रविवा को दिन का पारा 36 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। 13 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने से मौसम सुहावना रहा। बारिश के बाद किसानों की ज्वार, गन्ना, और धान की फसल को लाभ पहुंचा है। जिससे किसानों को राहत मिली है। किसानों का कहना है कि बारिश फसलों के लिए लाभप्रद है, जिससे फसलों को लाभ पहुंचेगा। इसके अलावा पिछले दो दिनों से जारी बूंदा बांदी के मौसम में ठंडक पैदा हो गई है, जिससे लोगों को गर्मी से राहत मिली।                 


संक्रमित क्षेत्र अधिकारी की हुई मौत


हरदोई। उत्तर प्रदेश में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार पर कुछ नियंत्रण करने की खातिर सीएम योगी आदित्यनाथ ने 55 घंटा का लॉकडाउन घोषित किया है, लेकिन हालात बदतर होते जा रहे हैं। हरदोई में तैनात रहे पुलिस क्षेत्राधिकारी की रविवार को कोरोना संक्रमण से मौत हो गई जबकि शनिवार को प्रदेश में रिकॉर्ड 1403 संक्रमित मिले थे। वाराणसी में रविवार को 38 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ गए हैं। जिले में अब कुल संक्रमितों की संख्या 798 हो गई है।
हरदोई में हरियावां सर्किल के सीओ नागेश मिश्रा करीब दस दिन पहले बीमार हो गए थे। निमोनिया होने पर उनका इलाज चल रहा था। इसी बीच जिला अस्पताल में उनका ट्रूनेट कोरोना टेस्ट कराया गया जोकि निगेटिव आया। इसके बाद भी हालत में सुधार न होने पर लखनऊ रेफर कर दिया गया। यहां कोरोना जांच में उनका टेस्ट पॉजिटिव आया। हालत में सुधार न होता देख शनिवार को उनको किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज से संजय गांधी पीजीआई में शिफ्ट किया गया। जहां वह वेंटीलेटर पर थे। रविवार की सुबह उनका निधन हो गया। नागेश मिश्रा सीओ के पहले हरदोई में शहर कोतवाल के अलावा सांडी, पिहानी में कोतवाल भी रहे।


अजीत कनौजिया



वोट की चोट से करें भ्रष्टचार का सफाया

अपने वोट की चोट से करें भ्रष्ट और स्वार्थी राजनेताओं का सफाया। जनता को अपनी वोट के प्रति जागरूक करने के लिए जल्दी ही एक अभियान चलाकर चुनाव में निर्णायक भूमिका निभाएगी हरियाणा जाट महासभा: प्रदीप हुड्डा



रोहतक। हरियाणा जाट महासभा आने वाले बरोदा विधानसभा उपचुनाव में किसी भी राजनीतिक दल या पार्टी विशेष का साथ नहीं देगी। बल्कि प्रत्याशी की छवि और उसके व्यवहार पर समर्थन देगी। जल्दी ही हरियाणा जाट महासभा ने अपने कोर कमेटी की एक मीटिंग बुलाई है। मीटिंग में निर्णय लिया जाएगा की राजनीतिक पार्टियों द्वारा घोषित प्रत्याशी या निर्दिलिय प्रत्याशी किस का समर्थन करें। प्रत्याशी की छवि के अनुसार ही समर्थन दिया जाएगा। लगभग सभी पार्टी के शीर्ष नेता और निर्दलीय चुनाव लड़ने के इच्छुक प्रत्याशी हरियाणा जाट महासभा के संपर्क में हैं। हरियाणा में जाट वोट ज्यादा होने के कारण बिना जाटों के किसी का भी सत्ता में आना मुश्किल ही नही नामुकिन भी है। क्योंकि यह उपचुनाव सभी राजनीतिक दलों की आने वाले समय की दिशा और दशा दोनों तय करेगा। हरियाणा जाट महासभा पूरे हल्के में आने वाले दिनों में एक अभियान चलाने जा रही है कि अपने हल्के में विकास और अपने बच्चो का भविष्य देखते हुए साफ और स्पष्ट छवि वाले प्रत्याशी को ही वोट दे। आजकल राजनीति में अच्छे अनुभवी और साफ-सुथरी छवि वाले नेताओं की कमी बहुत ज्यादा खल रही है। ऐसे भ्रष्ट राजनेताओं के कारण हरियाणा प्रदेश बेरोजगारी में नंबर वन पर आ गया है। जमीनी स्तर पर जब बरोदा हल्के का दौरा किया गया तो वहां यह चीज निकल कर आई की पार्टी के नेता चुनाव से 6 महीने पहले और चुनाव के 6 महीने बाद तक ही नजर आते हैं। उसके बाद 4 साल तक उनका कोई अता-पता नहीं होता। सभी अपना घऱ भरने और स्वार्थ सिद्ध करने में लग जाते है। समाज हित में कोई काम नहीं करवाए जाते। बल्कि सभी अपना घर भरने औऱ अपने पारिवारिक सदस्यों को एडजस्ट करने में लग जाते हैं। चापलूस और स्वार्थी किस्म के लोग अपने चक्कर में गरीब व आम आदमी को दबलकुचल कर पीछे छोड़ जाते हैं। आम आदमी और गरीब की सुनवाई ही नही हो पाती है। जाट महासभा जनता से अपील करती है की आने वाले विधानसभा उपचुनाव में साफ स्पष्ठ और सुथरी छवि के प्रत्याशी को ही वोट दें। जिससे उनके क्षेत्र का विकास हो सके। किसी भी भ्रम या राजनेताओं के बहकावे में न आए। अपनी सोच और अपनी समझ से काम ले। अपनी वोट की चोट से भ्रष्ट और स्वार्थी राजनीतिक नेताओं का सफाया करें क्योंकि यह मौका आपको 5 साल में एक बार मिलता है। हरियाणा जाट महासभा हमेशा आम इन्सान की परेशानियों को हमेशा जोर शोर से उठाती रही हैं,और आगे भी समाज के हितों के लिए उठाती रहेगी।


मोहाली में 1 साथ 26, चंडीगढ़ में 10 मामले

 मोहाली में एक साथ कोरोना के 26, चंडीगढ़ में 10 आये मामले



चंडीगढ़/मोहाली। चंडीगढ़ व मोहाली में रविवार को 36 नये मामले आये हैं, चंडीगढ़ में जहां रविवार को आये 10 मामलों में सेक्टर 32, 19, 45, 21, 63 व सेक्टर 7 से नये मामले आये हैं जबकि 4 कोरोना के मरीज ठीक होकर अपने घर पहुंच गये हैं। इस प्रकार चंडीगढ़ में पॉजिटिव मरीजों की संख्या में 559 व एक्टिव केस 134 रह गये हैं। मोहाली जिला में भी कोरोना ने कहर मचा दिया है। इस दौरान 26 नए मामले सामने आए हैं। सभी को ज्ञान सागर अस्प्ताल बनूड में भती करवाया गया है। सिविल सर्जन डॉ मनजीत सिंह ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि अब जिले में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 392 पहुंच गई हैं। जबकि 271 लोग तंदरुस्त हो चुके हैं। सात लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 114 एक्टिव मरीज है। सेहत विभाग के मुताबिक रविवार को नयागांव में तीन महिलाएं कोरोना पॉजिटिव आई। इनक आयु क्रमश: पच्चीस, 26 और 29 साल है। शिवजोत इनक्लेव खरड़ में 33 साल की महिला, गिल्को खरड में 54 साल की महिला, शिवालिक होम्स खरड में 58 साल की महिला और 34 साल का पुरुष, सन्नी इनक्लेव खरड़ में 41 साल की महिला कोरोना की शिकार हुई है।


इसी तरह ढकौली में 43 साल का पुरुष, 63 साल का बुजुर्ग और 41 साल का बुजुर्ग पॉजिटिव आया है।। सेक्टर-97 में 67 साल की महिला, डेराबस्सी में 69 साल की महिला, झंजेड़ी में 65 साल की महिला और 20 साल का युवक, कुराली के वार्ड नंबर पंद्रह में बीस साल की महिला, छह साल की लड़की, दो साल का लड़का व 34 साल का बुजुर्ग व कुराली के वार्ड नंबर चार में तीस का पुरुष व तीस साल की महिला पॉजिटिव आई है।सन्नी इनक्लेव जीरकपुर में तीस साल की महिला, आठ साल की लड़की व 55 साल का पुरुष पॉजिटिव आया है। सोहाना में 24 साल की महिला व 22 साल की महिला कोरोना पॉजिटिव आई है।


सेहत विभाग ने लोगों को अलर्ट रहने की नसीहत दी है। जिक्रयोग है कि मोहाली पहले कोरोना मुक्त हो चुका था। इसके बाद जैसे ही इंटर स्टेट मूवेंट शुरू हुई है, उसके बाद से कोरोना संबंधी नए केस आने शुरू हुए है।



संक्रमण मिलने पर सीएससी किया सील

प्रशांत शर्मा
डलमऊ/रायबरेली। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में शुक्रवार को महिला कर्मचारी की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद अधिकारियों के होश उड़े हुए हैं। क्योंकि जिस महिला कर्मचारी की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है, वह महिला कर्मचारी टीकाकरण के कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही थी।
आपको बता दें कि, इतना ही नहीं महिला कर्मचारी सीएचसी के आवासीय परिसर में रहती थी। इसके साथ ही अन्य कर्मचारी भी आवासीय परिसर में रहते है। शुक्रवार को देर रात अधिकारियों के निर्देश पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डलमऊ को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। दूसरी तरफ डलमऊ सीएचसी परिसर में इलाज कराने आ रहे मरीजों को पुलिस वापस कर रही है। एक तरफ जहां लोगों को इस महामारी से बचाने का प्रयास किया जा रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ बीमारी से ग्रसित मरीजों का इलाज ना होने से परिजन काफी परेशान हो रहे हैं।
सीएचसी प्रभारी विनोद सिंह चौहान ने बताया कि, महिला कर्मचारी के  कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद उच्चाधिकारियों के निर्देश पर करीब 60 कर्मचारियों के खून के नमूने लिए गए हैं। सोमवार को रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।            


घर से निकलना है तो मास्क लगाना है

डोर टू डोर सर्विसलेस अभियान का कोविड-19 नोडाल अधिकारी ने किया निरीक्षण


संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अंतर्गत स्वच्छता का लिया 


जायजा


घर से निकलना है तो मास्क लगाना है
 गोपीचंद सैनी


बागपत। शासन द्वारा नामित कोविड-19 नोडल अधिकारी  ऊर्जा सचिव श्री एम देवराज जी व जिलाधिकारी शकुन्तला गौतम ने डोर टू डोर सर्विस लेंस अभियान के अंतर्गत  बागपत शहर की  बाल्मीकि कॉलोनी मे पहुंच कर औचक निरीक्षण किया और परिवार के सदस्यों से जानकारी प्राप्त की स्वास्थ्य विभाग की टीम आशा और एएनएम द्वारा घर पर स्वास्थ्य संबंधित जानकारी ली गई या नहीं जिसमें सभी परिवार के सदस्यों  सदेश चौहान  पुत्र नरेंद्र चौहान ,टेकचंद  पुत्र हरकेश ,राजकुमार पुत्र  फूल सिंह  ने ज्ञानो पत्नी ओम प्रकाश ने बताया की आशा, एएनएम द्वारा स्टीकर भी लगाए जा रहे हैं और थर्मल स्क्रीनिंग भी की जा रही है और  खांसी, बुखार ,जुखाम ,टीवी कैंसर आदि इत्यादि रोगों से संबंधित जानकारी ली जा रही है ममता ,सविता आंगनवाड़ी मौके पर स्टीकर लगाती मिली और घरों पर स्टीकर भी लगाए जा रहे हैं परिवार के सदस्यों ने बताया।


कोविड-19 नोडल अधिकारी ऊर्जा सचिव एम देवराज व जिलाधिकारी ने संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अंतर्गत भी साफ सफाई का जायजा लिया और अधिशासी अधिकारी को ब्रह्द स्वच्छता अभियान चलाए जाने के लिए निर्देशित किया।
    
उन्होंने कहा गली मोहल्लों में किसी भी प्रकार की गंदगी नहीं होनी चाहिए और साफ सफाई युद्ध स्तर पर कराई जाए और लोगों को भी साफ सफाई के लिए प्रेरित किया जाए।
  जिलाधिकारी ने कहा कोविड-19 वैश्विक महामारी से बचने के लिए आप सभी लोग लॉकडाउन का अनुपालन करें अपने घर में रहें सुरक्षित रहें 2 गज की दूरी मांस है जरूरी के सिद्धांत पर अपनी जिंदगी व्यतीत करें अत्यधिक आवश्यकता पड़ने पर ही घर से बाहर निकले मास्क लगाकर । जिलाधिकारी ने बागपत, बड़ौत शहर का भ्रमण किया और लॉक डाउन की स्थिति का भी जायजा लिया जिसमें सभी जनपदवासी लॉकडाउन का अनुपालन कर रहे हैं और शहर गलियों में सन्नाटा नजर आ रहा है। इसलिए सभी लोग लॉकडाउन का अनुपालन करें और अपने आप को सुरक्षित करें। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी हुबलाल, पुलिस क्षेत्राधिकारी ओमपाल सिंह ,एसडीएम राम नयन, सी एच सी अधीक्षक बागपत विभास राजपूत सहित आदि अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।


डूबने से 7 बच्चों की मौत, पसरा मातम

नदी में डूबने से 7 बच्चों की मौत, घर में पसरा मातम


पटना। बिहार में कोरोना संकट के बीच इस वक्त एक बड़ी खबर सामने आ रही है। नदी में नहाने के दौरान एक बड़ा हादसा हुआ है। नदी में डूबने से 7 बच्चों की मौत हो गई है। बच्चों की मौत की खबर सुनते ही उनके घर में कोहराम मच गया है। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है।
अरवल और वैशाली जिले में दो हादसे हुए हैं. नदी में डूबने से अरवल में 4 और वैशाली में 3 बच्चों की मौत हो गई है। मिली जानकारी के मुताबिक अरवल में सोन नदी में स्नान करने के दौरान चार बच्चों की नदी के तेज बहाव में डूबने से मृत्यु हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सभी एक ही परिवार के बच्चे सुबह में नदी में स्नान करने गए थे। तभी स्नान के दौरान बालू निकासी के लिए खोदे गए गड्ढे में फिसल गए और तेज धार व गड्ढे के कारण बन रहें भवरी से बाहर नहीं निकल पाए और एक एक कर उसी में सभी बच्चे बैठ गए।
जानकारी के अनुसार मल्हीपट्टी निवासी गौहर अली जो कपड़ा सिलाई का काम करते हैं उनके घर के चार बच्चे दस बजे के बाद घर से स्नान करने को कह कर निकल गए। गौहर अली खुद दुकान पर चले गए। काफी देर हुआ बच्चों को घर से गए हुए तब खोजबीन शुरू हुआ। तभी किसी ने बताया कि सभी सोन नदी तरफ गए हैं। बच्चों के साथ गए हुए बच्चे लौट रहें थे तब उनसब ने बताया कि चार बच्चे डूबे हुए हैं। उसके बाद लोगों का हुजूम खोजने के लिए निकल पड़ा। यह खबर जैसे जैसे जिसे मिला सभी सोन नदी तरफ दौड़ पड़े। उसके बाद गोताखोर को बुलाया गया। घंटो मेहनत के बाद एक एक कर सभी शव को नदी से निकाला गया।
मरने वाले बच्चे असगर अली सात वर्ष गौहर अली का पुत्र, पुत्री अलिसा प्रवीण नौ वर्ष, भांजी साईंमा परवीन 10 वर्ष पिता मंसूर आलम घर दाउदनगर औरंगाबाद और भांजा जैद आलम 12 वर्ष पिता जहीर खान हसपुरा ओरंगाबाद के निवासी हैं। सभी शव को घटना स्थल से निकलकर सदर थाना ने पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा पोस्टमार्टम के बाद सभी शव को परिजनों को सौंप दिया गया। घटना की सूचना मिलते ही सदर सदर प्रखंड के अंचल अधिकारी अंजू सिंह थानाध्यक्ष रंजीत वत्स पहुंच गए थे। घटना स्थल पर पहुंचकर प्रखंड विकास पदाधिकारी सुशील ने बीस बीस हजार रूपये का चेक मृतक के परिजनों को सौपा।
उधर दूसरी ओर, वैशाली के चेहराकलां प्रखंड के सरसीकन गांव में पोखर में नहाने के दौरान तीन बच्चे डूब गए। जिससे उनकी मौत हो गई। मिली जानकारी के मुताबिक जबतक बच्चों को पानी से बाहर निकाला जाता तीनों की सांसें थम चुकीं थीं। तीनों बच्चे तीन परिवार के थे। मृतकों में भरथ पासवान का पुत्र गोलू कुमार (12), रंजीत पासवान का पुत्र मनीष कुमार (10) एवं विशेश्वर पासवान का पुत्र सोम कुमार शामिल हैं।


कर्मचारियों को 4 दिन काम पर बुलाएंं

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढते प्रकोप को  योगी सरकार ने से निपटने के लिए हफ्ते में दो दिन (शनिवार-रविवार) लॉकडाउन का ऐलान किया है। जिसके बाद पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने अधिकारियों और कर्मचारियों को सप्ताह में केवल 4 दिन काम पर बुलाने की बात कही है।

उन्होंने आगे कहा कार्यदिवस सोमवार से बृहस्पतिवार तक होने चाहिए और साप्ताहिक बंदी शुक्रवार, शनिवार और रविवार को होनी चाहिए। कोरोना वायरस को देखते हुए अतिरिक्त प्रतिबंध भी लगाये जाने चाहिए। इससे वायरस के प्रसार को रोकने में ही नहीं, बल्कि लोगों को घर में परिवार के साथ रहने और अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देने में भी मदद मिलेगी।                  

उच्च शिक्षण संस्थानों का कैलेंडर जारी

बरेली। राज्य के उच्च शिक्षण संस्थानों का शैक्षिक कैलेंडर जारी किया गया है। उच्च शिक्षा विभाग ने स्नातक प्रथम वर्ष के एडमिशन 15 सितंबर तक और परास्नातक की प्रवेश प्रक्रिया 31 अक्टूबर तक संपन्न करने की समयसीमा तय की है।


विशेष सचिव मनोज कुमार ने कैलेंडर जारी करते हुए कहा कि राज्य में 4 अगस्त से स्नातक द्वितीय व तृतीय वर्ष और परस्नातक की ऑनलाइन कक्षाएं संचालित होंगी। शासन ने स्थितियां सामान्य होने की संभावना व्यक्त करते हुए एक अक्टूबर से पठन-पाठन प्रक्रिया सामान्य रूप में लाने का भरोसा जताया है।               

गड्ढे में सड़क है या सड़क में गड्ढा

योगी सरकार के गढढा मुक्त सड़को की खुली पोल

सरवनखेडा ,कानपुर देहात। कानपुर देहात दिया तले अन्धेरा कहावत की बात करें तो आपको इसकी लाइन गजनेर नबीपुर सड़क पर देखने को मिल जायेगी चन्द किमी पर कानपुर देहात के जिलाधिकारी का कर्यालय व आवास है। लेकिन फिर भी बेपरवाह योगी सरकार की खुल गई पोल। एक तरफ सरकार गढ्डा मुक्त अभियान चला रही है और करोडो रूपये पानी की तरह बहाया जा रहा है!

लेकिन यहां सडक के हाल तो ऐसे है कि सडक मे गढढे या गढ्ढो मे सडक जबकि यह मुख्यालय कि मुख्य मार्ग है। यहां से हजारो लोग निकलते है। यहां से आला अफसर भी प्रतिदिन गुजरते है लेकिन किसी को क्या फिक्र वो तो लग्जरी वाहन से चलते है। लेकिन आम आदमी त्रस्त है यहां से जिला अस्पताल के लिए भी मुख्य मार्ग है प्रतिदिन एम्बुलेस जच्चा बच्चा लेके जाती है। लेकिन किसी को क्या फिक्र क्यों कि जब चुनाव आयेगा तो लोगो फिर झूठे वादे करके वोट ले लिया जायेगा वहां स्थानीय लोगो का कहना है। सालो से ये सडक नही बनी है और इसके लिए भाषण बाजी बहुत होती है मुख्यमत्रीं भी गढ्ढा मुक्त अभियान चलाते है। लेकिन सरकार के वादे हवा हवाई दिखाई दे रहे है। किसी को कोई फिक्र ही नही

 

गढ्ढा मुक्त योजना पहुंची गढ्ढा मे केवल कागजो मे हो रहा खेल

नबीपुर से लेकर गजनेर और रायपुर से गजनेर मार्ग के किनारे गढ्ढे हादसे की दावत दे रहे हैं यह सडक मार्ग रायपुर व नबीपुर मार्ग सभी जगह  लगभग पूर्णतया जर्जर हो चुका है। आये दिन कोई न कोई स्कूली वाहन सवारी वाहन खराब होकर रोड पर खडा रहता है वहीं ओवर लोड वाहनो की लाईन लगी रहती है टोल का भी नुकसान हो रहा है। लेकिन अपना काम बनता भाड मे जाये जनता उसी के अनुशार सब अपना अपना काम मे मस्त है। किसी को क्या जनता क्या वोटर जबकि केन्द्र से लगाकर विधानसभा तक भाजपा की सरकार है। गढ्ढा मुक्त मुहिम भी चली लेकिन सब धरी की धरी रह गयी। वहीं कुछ जगह तो न सडक कुआं बन गयी जिसमे वाहन का निचला हिस्सा जमीन पर ऱख जाता है। वहीं क्षेत्रीय लोगो मे रोष ब्याप्त है। कई बार लोगो ने इसका विरोध भी जताया है लेकिन नतीजा शून्य ही रहा है सभी लोगो ने प्रशासन व सरकार से अपील की है। सडक को जल्द ही ठीक करीयें जिससे लोगो को आने जाने मे राहत मिल सके क्या किसी बडे हादसे का इन्तजार है या यूं ही कागजो मे खाना पूर्ति होती रहेगी गजनेर आदि लोगो ने बताया सड़क के हाल बहुत ही जर्जर है। कई बार लिखित शिकायत और मीडिया के माध्यम से बताया गया लेकिन हालात जस के तस है।

क्या बोले क्षेत्रीय ग्रामीण

गजनेर व्यापार मण्डल अध्यक्ष राम चन्द्र अग्रवाल ने कहा सड़क वास्तव में बहुत ही जर्जर है। जिसे सुधार की जरूरत है, गजनेर के डॉक्टर पंकज सचान ने बताया कि सड़क खराब होने से बाइक अक्सर गिर जाती है जिससे चोट लगने का डर रहता है रामप्रकाश सिंह चौहान ने बताया कि सड़क में गड्डे है। या गड्डो में सड़क पता ही भी चलता आए दिन लोग परेशान रहते हैं। विमलेश कुशवाहा ने बताया कि चार पहिया वाहन अक्सर नुकसान होता रहता खराब सड़क की वजह से कोई ध्यान नहीं दे रहा है!              

कोरोना का कहर, थाना किया सेनीटाइज

भानु प्रताप उपाध्याय (सहारनपुर मंडल प्रभारी)


शामली। जिले में कोरोना की आफत लगातार बनी हुई है। शहर कोतवाली प्रभारी सहित तहसील कर्मचारियों के कोरोना पोजेटिव पाए जाने के बाद अब पुलिस प्रशासन में भी हडकंप मचा हुआ है। जिसके अनुसार रविवार को जिलाधिकारी के आदेश पर दमकल विभाग की टीम ने शहर कोतवाली को सैनेटाईज किया। इसके अलावा कोतवाली परिसर में खडे वाहनों और अन्य स्थानों को भी सैनेटाईज किया गया हैगत दिवस गाजियाबाद और नोएडा में सैंपल टैस्ट कराने वाले दो लोगों की रिपोर्ट पॉजेटिव पाई गई थी, जिसमें शहर कोतवाली प्रभारी भी शामिल है। वही तहसील के कर्मचारियों की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजेटिव आई है। जिसके बाद जिला पुलिस प्रशासन में हडकंप मचा हुआ है। रविवार को जिलाधिकारी जसजीत कौर के आदेश पर शहर कोतवाली परिसर को फायर बिग्रेड की टीम ने पहुंचकर सैनेटाइ किया। उन्होने कोतवाली प्रभारी कार्यालय, मुंशी कार्यालय, बंदी गृह, शौचालय, आवास, पुलिस वाहन और आसपास के क्षेत्र को सैनेटाईज किया। इसके अलावा उन्होने कोतवाली गेट पर खडे होने वाले वाहनों को सैनेटाईज किया। फायर बिग्रेड के कर्मचारियों ने बताया कि आला अधिकारियों के आदेश पर कोतवाली प्रभारी आवास और कार्यालय के अलावा पूरे कोतवाली परिसर को सैनेटाईज किया गया है।
शहर कोतवाली प्रभारी के कोरोना पॉजिटिव मीटिंग के बाद कोतवाली परिसर में कोविड कैर हेल्प डेस्क बनाई गई है। जिसमें कोतवाली में आने वाले प्रत्येक फरयादी और पुलिसकर्मियों की जांच होने के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा।
गत दिवस शहर कोतवाली प्रभारी की कोरोना रिपोर्ट पॉजेटिव पाई गई है। जिसके बाद अब कोतवाली परिसर को जहां सैनेटाईज बनाया गया है उसी कोतवाली गेट पर को विभाजित कर हेल्प डेस्क का नक्शा बनाया गया है। इस दौरान कोतवाली परिसर में सभी पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की जांच की गई। कोतवाली एसएसआई सत्यनारायण दहिया ने बताया कि कोविड कैर हेल्प डेस्क पर कोतवाली परिसर में आने वाले सभी पुलिसकर्मियों और फरयादियों की जांच की जाएगी, उसके बाद ही कोतवाली परिसर में प्रवेश दिया जाएगा। डेस्क पर सभी फरयादियों को कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक किया जा रहा है। जिसमें हाथों को बार बार धोने, सैनेटाईजर का प्रयोग करने और सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन करने के प्रति जानकारी दी गई है।              


टोल कर्मियों ने कार सवार को खूब पीटा

अतुल त्यागी (मेरठ मंडल प्रभारी)
टोल कर्मियों का खुलेआम तांडव कार चालक को कार से उतारकर जमकर पीटा वीडियो हुआ वायरल।


हापुड़। टोल कर्मियों का खुलेआम तांडव बढ़ता ही जा रहा है आए दिन टोल कर्मी वाहन स्वामियों को जमकर पीट रहे हैं यह पहला मामला नहीं है। अबसे पहले भी कई बार टोल कर्मियों ने वाहन स्वामियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा है टोल कर्मियों की गुंडागर्दी थमने का नाम नहीं ले रही है। जरा सी कहासुनी को लेकर टोल कर्मियों ने इकट्ठा होकर वाहन स्वामी को परिजनों के सामने ही जमकर पीटा। इतना ही नहीं टोल कर्मियों ने गाड़ी से नीचे उतारकर कार चालक को जमकर पीटा। आए दिन टोल कर्मियों की गुंडई थमने का नाम नहीं ले रही है।


 अब से कुछ दिन पहले भी टोल कर्मियों ने नेशनल हाईवे पर जमकर मचाया था। तांडव बस चालक के पीछे भागे थे डंडे लेकर एक बाइक सवार की बस के नीचे आने से हो गई थी। दर्दनाक मौत लेकिन फिर भी टोल कर्मी सबक लेने के लिए तैयार नहीं है। पीड़ित ने थाने में टोल कर्मियों के खिलाफ दी तहरीर पुलिस जांच पड़ताल में जुटी पिलखुवा के टोल प्लाजा का मामला।


छोटा परिवार, खुशहाली का आधार

छोटा परिवार, खुशहाल परिवार नागरिक अस्पताल में जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया। डॉ ब्रहमदीप 


रतन सिंह चौहान
होडल पलवल।  सिविल सर्जन पलवल डॉ. ब्रह्म दीप के सानिध्य में    शनिवार को नागरिक अस्पताल पलवल में जन संख्या स्थिरता पखवाडा मनाया गया I इस आयोजन के दौरान मुख्य रूप से डॉ. सुरेश, डॉ. विपिन, डॉ.JP, डॉ. सुषमा चौधरी(मीडिया प्रभारी) डॉ. योगेश मालिक, डॉ. रविंदर, मधु चौधरी, मधु डागर भी मौजूद रहे I 
डॉ. ब्रह्म दीप ने कहा कि जन संख्या स्थिरता पखवाडा 11 जुलाई से 24 जुलाई तक मनाया जा रहा है I इसके अंतर्गत उन्होंने बताया कि सभी लोग को खुशहाल जीवन जीने के लिए परिवार नियोजन अपनाए I उन्होंने कहा कि इस आपदा भरी घडी में भी परिवार नियोजन की तैयारी सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी जिम्मेदारी है I उन्होंने कहा शादी के समय शादी की उम्र कम से कम लड़की 18 वर्ष व लड़के की उम्र 21 वर्ष होनी चाहिए I पहला बच्चा शादी के 2 साल के बाद होना चाहिए I पहले और दुसरे बच्चों के बीच कम से कम 3 साल का अंतर रखे I गर्भपात होने के बाद 6 माह तक गर्भ धारण नहीं करना चाहिए I उन्होंने बताया कि सरकारी अस्पताल में कापर- टी, गर्भ निरोधक गोलियां, एम.पी.ए. टीके एवं कंडोम की सुविधा हर सरकारी अस्पताल में मुफ्त उपलब्ध है I उन्होंने बताया कि पुरुष नसबंदी व महिला नसबंदी कि सुविधा सरकारी अस्पतालों में, मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों में नर्सिंग होम व मेडिकल कॉलेज में मुफ्त उपलब्ध है I उन्होंने  बताया कि दंपति संपर्क पखवाडा भी 27 जून से 10 जुलाई तक मनाया जाता है I 
डॉ. ब्रह्म दीप ने कहा की दुनिया में जन संख्या तेजी से बढ़ रही है I जिसे नियंत्रण में रखना बहुत जरुरी है I बढती जन संख्या किसी राष्ट के लिए अच्छा संकेत नहीं है I इसको रोकने के लिए लोगों को शिक्षित होने कि बहुत आवश्यकता है I उन्होंने सभी उपस्थित लोगों को बताया कि खुशहाली का आधार छोटा परिवार।


लॉकडाउन का दूसरे दिन व्यापक असर

भानु प्रताप उपाध्याय (सहारनपुर मंडल प्रभारी)


 मुजफ्फरनगर। सूबे में लागू किए गए लॉकडाउन का जिले में दूसरे दिन भी व्यापक असर रहा। दूध और दवा की दुकानों को छोड़कर बाकी सब कुछ बंद रहा। गली-मोहल्लों में सब्जी एवं फल बेचने वाले ही नजर आए। इक्का-दुक्का लोग ही सड़कों पर आते-जाते दिखे। जरूरी मेडिकल सेवाएं जारी रहीं।
मुजफ्फरनगर में आज लॉकडाउन के दूसरे दिन भी लोग अपने घरों में कैद रहे। कुछ लोग दूध लेने के लिए डेयरियों तक पहुंचे जबकि दूधिया भी दूध की सप्लाई करने घरों तक आए। इसके अलावा अन्य सभी प्रतिष्ठान सुबह से ही बंद रहे। बाजारों में पूरी तरह सन्नाटा रहा। शिव चौक तथा शहर के अन्य मुख्य चौराहों पर पुलिस ने सुबह से ही चेकिंग शुरू कर दी थी। इस दौरान फैक्टरियों में काम पर जाने वाले तथा दवा एवं अस्पताल आदि जगहों पर जाने वाले लोग ही नजर आए। इक्का-दुक्का दुपहिया एवं चार पहिया वाहन भी आते-जाते दिखे। मेडिकल इमरजेंसी या बेहद जरूरी होने पर ही लोग घरों से बाहर निकले। पुलिस ने विभिन्न चौराहों पर बेरिकेडिंग लगा दी थीं। लोगों की आवाजाही न हो इसके लिए पुलिस सतर्क रही। सुबह दस बजे तक आवागमन ज्यादा नजर आया लेकिन इसके बाद बहुत कम लोग ही सड़कों पर दिखाई दिए। भगत सिंह रोड, रुड़की रोड, मेरठ रोड, स्टेशन रोड, भोपा, जानसठ, सरकुलर रोड समेत रोजाना व्यस्त रहने वाले शहर के सभी स्थानों पर पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। रोडवेज बसें स्टैंड से बाहर नहीं निकलीं। ट्रेनों से भी इक्का-दुक्का यात्री ही मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन पर उतरे। दो दिन पहले लॉकडाउन की घोषणा हो जाने के कारण लोगों ने पहले से ही आवागमन नहीं किया। बाहर से आने वाले कुछ लोग सड़कों पर पैदल जाते भी दिखे।                


मुजफ्फरनगर में नए 38 संक्रमित मिलेंं

भानु प्रताप उपाध्याय  (सहारनपुर मंडल प्रभारी)


मुजफ्फरनगर। यूपी सरकार द्वारा लागू किए गए लॉकडाउन के दूसरे दिन आज मुजफ्फरनगर में कोरोना ने अब तक का सबसे बड़ा हमला बोला में आज कोरोना के 38 नए रोगी सामने आने से हड़कंप मच गया है। इनमें से सात पुलिसकर्मी और बिजली विभाग के 6 कर्मचारी शामिल थे। जिला जेल में बंद 11 कैदी भी पॉजिटिव पाए गए हैं। जनपद में आज राहत की खबर यह भी है कि कोरोना के 8 रोगियों को पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दे दी गई है, जिसके बाद जनपद में अब कोरोना के सक्रिय केसों की संख्या 144 हो गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद के स्वास्थ्य विभाग को आज शाम तक कोरोना टेस्ट के लिए प्रेषित कुल 839 सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिसमें 38 लोगां के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। इन 5 में से एक पुलिस चौकी के 5 पुलिसकर्मी भी शामिल है। इसके अलावा शहर की सरकुलर रोड से 2, जिला जेल के 11 कैदी, कस्बा बुढाना से 1 और कूकड़ा के 2 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। दोपहर बाद आई रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव पाए गए 21 मरीजों में से 19 पूर्व में कोरोना पॉजिटिव पाए गए मरीजों के संपर्क के ही हैं।
इससे पूर्व आज दोपहर तक स्वास्थ्य विभाग को 528 सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिसमें 17 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। आज कोरोना पॉजिटिव पाए गए लोगों में एक जनपद के कस्बा मो जबकिना जबकि दो कस्बा शाहपुर के निवासी हैं। इसके अलावा शहर के सिविल लाइन क्षेत्र से एक, मोहल्ला रामपुरी से 1, गांधी कॉलोनी से एक, गौशाला नदी रोड से एक, रुड़की चुंगी से एक और मंडी समिति क्षेत्र से भी एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। जनपद में आज पुलिस लाइन के दो पुलिसकर्मियों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इसके अलावा टाउन हॉल स्थित विद्युत विभाग के कार्यालय के 6 कर्मचारियों की टेस्ट रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। जनपद के लिए आज रात भरी खबर यह है कि जिले में कोरोना के 8 रोगियों को पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद बेगराजपुर स्थित मेडिकल कॉलेज से छुट्टी दे दी गई है। जनपद में अब कोरोना के एक्टिस केसों की संख्या 144 हो गई।              


नगर पंचायत को किया गया सैनिटाइज

लॉकडाउन के चलते कस्बा पुरकाज़ी में नगर पंचायत द्वारा किया जा रहा सेनिटाइज का कार्ये !
भानु प्रताप उपाध्याय


मुज़फ्फरनगर। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए जिले में जगह-जगह पर सेनिटाइज का कार्ये किया जा रहा है इसी को देखते हुए कस्बा पुरकाज़ी को भी सेनिटाइज किया जा रहा है जिसमे नगर पंचायत मुख्य भूमिका निभा रही है ! पुरकाज़ी नगर पंचायत के द्वारा बाजारों व सड़को पर सेनिटाइज के कार्ये को किया जा रहा है नगर पंचायत के कर्मचारी इस कार्ये में भरपूर योगदान दे रहे है लॉकडाऊन के कारण सभी जगह सन्नटा छाया हुआ है लोग घरों के अंदर कैद हो चुके है पुलिस प्रशाषन को जनता का सपोर्ट भी मिल रहा है सेनिटाइज करने का सबसे बड़ा व मुख्य उद्देश्य यही है के कस्बा पुरकाज़ी कोरोना मुक्त रहे इसके लिए नगर पंचायत के कर्मचारी प्रशंसा के पात्र है !                  


दिशा-निर्देशों के अनुरूप संक्रमण से बचें

लॉक डाउन के दिशा निर्देशों को मानना ही होगा-व संक्रमण से बचना होगा-- कोतवाल राकेश तिवारी


कड़ाधाम/कौशाम्बी। वैश्विक महामारी कोविड कोरोना -19 से पूरा विश्व संकट के दौर से गुजर रहा है इस महामारी के चलते अन्य देशों के साथ भारत देश की भी स्थिति सुधरती नही दिख रही बीते 2 महीने से रोज नए नए कोरोना संक्रमित केस सामने आ रहे हैं जिसको लेकर जिले के उच्च अधिकारी भी परेशान हैं। ज्यादा संक्रमण न फैलने पाए उसके लिए अपने अधीनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों को अपने अपने क्षेत्रों में सक्रियता बरतने का आदेश दे रखे हैं।


पुलिस अधीक्षक श्री अभिनंदन के निर्देशानुसार कड़ा धाम कोतवाल राकेश तिवारी अपने हमराहियों के साथ क्षेत्र में बराबर भ्रमण कर लगाए गए धनात्मक लॉक डाउन के दिशा निर्देशों का पालन करवा रहे हैं।


 कड़ा धाम कोतवाली अंतर्गत, देवीगंज की एक बड़ी बाजार में शुमार हैं यहां से पूरे क्षेत्र के फुटकर और थोक दुकानदार सामानों की खरीददारी करते हैं जिससे बाजार में भीड़ एकत्र हो जाती है  हलांकि सरकार के निर्देशों के अनुसार कल सोमवार से मिनी लाकडाउन कर दिया गया है हफ्ते में 5 दिन दुकान खुलेंगी एवं शनिवारी रविवार को दुकान और प्रतिष्ठान बन्द करने का दिन निर्धारित कर दिए गए !और दो गज की दूरी भी सख्ती से निर्धारित कर दिया गया है फिर भी कुछ मनबढ़ दुकानदारों की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग के टूटने  एवम संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है !


उस पर गौर करते हुए देवीगंज के तमाम दुकानदारों को सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए इंस्पेक्टर राकेश तिवारी,व ब्यापरियो के देवीगंज ब्यापार मंडल अध्यक्ष प्रमोद साहू ,महामंत्री मोमीन अंसारी ने कहा जिन दुकानों को जिस दिन खोलने और बंद करने का दिन निर्धारित किया गया व और कई दुकानों को खोलने के नियम है।तभी तक खोलें और दुकानों में सेनेटाइजर हाथ धोने का साबुन प्रत्येक व्यक्ति मास्क सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लॉक डाउन के लिए दिए गए दिशा निर्देशों पालन करें अन्यथा विधिक कार्रवाई की जाएगी।।


ज्ञानू सोनी 


लॉकडाउन में चला पुलिस का गुंडा राज

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। पुलिस के व्यवहार को देख कर लग रहा है कि मानो उसे लॉकडाउन में अपनी मनमर्जी करने की पूरी छूट मिल गई है। शुक्रवार रात से जारी प्रदेश व्यापी लॉकडाउन में गाज़ियाबाद के कई स्थानों से पुलिस की ज़्यादतियों की खबरें आ रही हैं। 


इंदिरापुरम, वसुंधरा, राज नगर एक्सटेंशन, लोनी, साहिबाबाद और पुराने शहर के अनेक दुकानदार अखबारों के दफ्तरों और अधिकारियों को फोन कर लगातार शिकायतें कर रहे हैं कि मोटर साइकिल और पीआरवी सवार पुलिसकर्मी डंडे के बल पर दूध, ब्रेड और राशन आदि की दुकानें भी बंद करा रहे हैं। बहुत से स्थानों पर ठेले पर सब्जी और फल बेचने वालों ने भी पुलिस के दुर्व्यवहार की शिकायतें की हैं।


प्रशासन की ओर से स्पष्ट हैं आदेश


आपको बता दें कि मुख्य सचिव (शासन) राजेन्द्र कुमार तिवारी द्वारा 9 जुलाई को जारी आदेश के क्रम संख्या 2 में स्पष्ट लिखा है कि “इस अवधि में समस्त आवश्यक सेवाएँ यथा-स्वास्थ्य एवं चिकित्सकीय सेवाएँ आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति पूर्व की भांति खुले रहेंगे और इन सेवाओं में कार्यरत व्यक्तियों, कोरोना वारियर, स्वच्छता कर्मी व डोर-स्टेप डिलिवरी से जुड़े व्यक्तियों के आने-जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा”।


पुलिस कप्तान के आदेश भी बेअसर


पुलिसकर्मियों की ज़ोर जबरदस्ती को देखते हुए एसएसपी कलानिधि नैथानी ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए गए थे कि वे आवश्यक सेवाओं से जुड़े व्यक्तियों को परेशान न करें।  लेकिन आश्चर्य की बात है कि चौकी स्तर पर तैनात पुलिसकर्मियों पर इसका कोई असर नहीं पड़ा है।


कैसे करें विरोध, दुकानदारों की है मजबूरी


गलियों में छोटी-छोटी राशन की दुकानें लगाने वाले दुकानदार चाह कर भी गाज़ियाबाद पुलिस की इस जबरदस्ती का विरोध नहीं कर पा रहे हैं।  लोनी में ऐसी ही एक परचून की दुकान चलाने वाले दुकानदार ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि हमारी मजबूरी है हमें यहीं पर रहना है। अगर हम बड़े अधिकारियों से इन पुलिसवालों की शिकायत करेंगे तो पता नहीं हमें कल किस आरोप में फंसा कर थाने में बंद कर दें।                                


973 वाहनों का चालान, 4 सीज किए


विजय भाटी

गौतम बुध नगर। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते केसों के मद्देनजर प्रदेश द्वारा 13 जुलाई शाम पांच बजे तक लगाए गए लॉकडाउन का एनसीआर के यूपी वाले हिस्सों में कड़ाई से पालन कराया गया जा रहा है। पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह के निर्देश पर रविवार को भी जिले में पुलिसकर्मी काफी सतर्क व चैकस नजर आए। इस बीच रविवार तक गौतमबुद्धनगर में लॉकडाउन के उल्लंघन के 18 मुकदमे विभिन्न थानों में दर्ज किए गए वहीं 62 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है।


पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने रविवार को बताया कि पिछले 24 घंटे में 200 चेकिंग प्वाइंट पर 1950 वाहनों को चेक किया गया जिसमें से 973 वाहनों का चालान व 4 वाहन को सीज किया गया। उन्होने बताया कि 40650 रुपये का जुर्माना भी वसूला गया है। सिंह ने बताया कि यह कार्रवाई जिला में लगातार चलता रहेगा। पुलिस कमिश्नर ने सभी पुलिस अधिकारियों और पुलिसकर्मियों को स्पष्ट रूप से कहा है कि लाॅकडाउन का पालन कराने में किसी तरह की कोई नरमी न बरती जाए। उन्होंने कहा कि दिल्ली से सटी नोएडा की जिन सीमाओं को सील किया गया है वहां विशेष सतर्कता बरती जाए। वाहनों की चेकिंग के अलावा यह भी देखा जाए कि कोई शख्स बिना मास्क पहने तो नहीं घूम रहा। बता दें कि यूपी में फिर से लागू लाॅकडाउन की वजह से दिल्ली से सटी गाजियाबाद और नोएडा की सीमाएं सील की गई हैं जिनकी वजह से लोगों को परेशानी का सामना भी करना पड़ा है।               

शहीद स्मारक पर 'श्रद्धांजलि' कार्यक्रम

कारगिल विजय भारतीय सेना के अदम्य साहस और शौर्य का परिणाम। योगेश सौरोत


रतन सिंह चौहान
होडल। भारत स्काउट्स एंड गाइड्स पलवल द्वारा कारगिल शहीद राजवीर सिंह सौरोत के 21 वें शहीदी दिवस पर गांव गढ़ी पट्टी स्थित शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया। शहीद की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए संस्था के जिला संगठन आयुक्त योगेश सौरोत ने कहा की कारगिल की लड़ाई भारतीय सेना के अदम्य साहस और शौर्य का परिणाम है। यह युद्ध बहुत ही विपरीत परिस्थितियों में लड़ा गया लेकिन भारतीय सेना ने अपने पराक्रम के द्वारा  दुश्मनों को तबाह करते हुए अपनी सीमाओं की रक्षा की । इस अवसर पर शहीद के बड़े भाई  प्रताप सिंह सौरोत को शॉल भेंट करके सम्मानित किया गया। गौरतलब है कि 1999 में कारगिल की लड़ाई में 17 जाट रेजीमेंट के लांस नायक राजवीर सिंह सौरोत ने अपनी शहादत दी। उनकी पुण्य तिथि पर प्रतिवर्ष देशभक्ति से परिपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। इस बार कोरोना महामारी के संक्रमण के कारण कारण उस कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया। इस बार शहीद की पुण्य स्मृति में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर संस्था के जिला संयोजक विष्णु गौड़  ने कहा कि इस संपूर्ण क्षेत्र को शहीद राजवीर सिंह की शहादत पर गर्व है तथा  शहीद राजवीर के जीवन से प्रेरणा लेकर आज गढ़ी पट्टी गांव के सैकड़ों युवक भारतीय सेना में भर्ती हुए हैं। इसका श्रेय उन्होंने राजवीर सिंह की शहादत को दिया। इस अवसर पर कारगिल शहीद नायक समुद्र सिंह हुड्डा सेवा समिति के महासचिव दीपचंद सौरौत, एच.जी.एम. विद्यालय के प्रबंधक ज्ञानचंद सौरोत, शहीद के परिजन मास्टर जसवंत सिंह पार्षद, धर्मपाल, लाल सिंह ,  प्रीतम सिंह ,रंजीत सिंह, प्रकाश वीर पीटीआई मास्टर मनोहर लाल, तुलसीराम आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।               


सीएम के खिलाफ अनशन की घोषणा

स्वामी शिवानंद ने की अनशन की घोषणा। सीएम को बताया अपहरणकर्ता और खनन माफिया


पंकज कपूर


हरिद्वार। गंगा की निर्मलता अविरलता और स्वच्छता के लिए हरिद्वार की मातृ सदन संस्था के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद ने एक बार फिर से अनशन की घोषणा कर दी है। कोविड-19 के कारण स्वामी शिवानंद ने 29 मार्च को माँ गंगा की स्वछता अविरलता और विभिन्न मांगों को लेकर चल रहे अनशन को विराम देने के बाद स्वामी शिवानंद ने अब 3 अगस्त से अनशन शुरू की करने की बात कही है। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर संस्था के परमाध्यक्ष एक बार फिर अनशन की रहा पर है। यही नही अनशन शुरू करने की घोषण के दौरान स्वामी शिवानंद ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पर बड़ा हमला बोलते हुए उन्हें अपहरणकर्ता और खनन माफिया बताया है।


गंगा में खनन पर पाबन्दी, गँगा पर प्रस्तावित और निर्माणधीन परियोजनाओं को निरस्त करने और स्वामी ज्ञान स्वरुप सानंद द्वारा बनाये गए गँगा एक्ट को लागु करने समेत स्वामी शिवानंद की पाँच सूत्रीय मांगे है। जिनको लेकर स्वामी शिवानंद ने 3 अगस्त से अनशन शुरू करने की घोषणा की है। स्वामी का आरोप है कि, प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी कई माँगे पूरा करने ही वाले थे लकिन उत्तराखंड सरकार और एक केंद्रीय मंत्री ने ऐसा नहीं होने दिया। सरकार ने लॉकडाउन का फायदा उठाकर गँगा में जमकर पोकलैंड और जेसीबी मशीनों से अवैध खनन करवाया। मातृ सदन इसे बर्दाश्त नहीं करेगा। जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होगी तब तक गंगा को बचाने के लिए मातृ सदन बलिदान देता रहेगा।


वही स्वामी शिवानंद ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की तुलना करते हुए कहा है कि, मुख्यमंत्री योगी जहां आतंकवादियों का एनकाउंटर करते है तो वहीं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत साधुओं का अपहरण करते है और बड़े खनन माफिया है। मातृ सदन के कई साधु माँ गंगा की स्वछता अविरालत और निर्मलता के लिए अपने प्राणों की आहुति दे चुके है। संस्था के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद वृद्धावस्था में भी एक बार फिर माँ गंगा के लिए अनशन की रहा पर है। देखने वाली बात होगी कि, मांगो का संज्ञान लेकर सरकार द्वारा माँ गंगा की स्वच्छता निर्मलता और अविरलता के लिए कितने जरूरी कठोर कदम उठाये जाते है या फिर गंगा के लिए मातृ सदन के साधु पूर्व की तरह अपने प्राणों की आहुति देते रहते है।              


मध्यप्रदेश में कांग्रेस को 1 और झटका




















भोपाल। मध्यप्रदेश में कांग्रेस को एक और झटका लगा है। छतरपुर जिले की बड़ामलहरा सीट से कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। प्रोटेम स्पीकर मध्यप्रदेश विधानसभा रामेश्वर शर्मा ने कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।


मध्यप्रदेश विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा का बयान भी सामने आया है। रामेश्वर शर्मा ने कहा कि प्रद्युम्न सिंह लोधी ने कल ही इस्तीफा दे दिया था । हमने उन्हें सोचने का वक्त दिया था, आज हमने विधिवत कार्रवाई के लिए कहा है। प्रोटेम स्पीकर के बंगले पर विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह भी थे मौजूद थे।


बता दें कि प्रद्युम्न सिंह लोधी कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए हैं। राजधानी भोपाल में एक प्रेस कांफ्रेंस में प्रद्युम्न सिंह लोधी ने बीजेपी ज्वाइन करने की औपचारिक घोषणा की, इस मौके पर सीएम शिवराज, प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा मौजूद रहे। प्रद्युम्न सिंह लोधी के बीजेपी ज्वाइन करने के पीछे का कारण ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के बाद से लोधी के करीबियों के निशाने पर लिया जाना बताया गया है। उपचुनाव को लेकर मध्यप्रदेश में कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। इससे पहले मार्च में 22 कांग्रेस विधायकों ने पार्टी छोड़ दी थी और बीजेपी में शामिल हो गए थे।कहा तो ये भी जा रहा है कि कांग्रेस के और विधायक भी पार्टी छोड़ सकते हैं।


प्रद्युम्न सिंह लोधी ने दिसंबर 2018 में विधानसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी ललिता यादव को शिकस्त दी थी। 2003 में पहली बार उमा भारती मध्य प्रदेश की मुख्यमंत्री बनीं तब वह बड़ामलहरा सीट से ही विधायक चुनी गईं थीं।            


















पत्नी को मार, सिपाही ने की आत्महत्या

बागपत। घटना बागपत जिले की बिनौली थाना इलाके के रंछाड गांव की है। यहां सिपाही ने पहले पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद खुद भी फांसी के फंदे पर झूलकर आत्महत्या कर ली। पारिवारिक कलह वारदात की वजह बताया गया है। सिपाही सहारनपुर में तैनात था और पिछले कई महीने से ड्यूटी पर नहीं गया था। रंछाड गांव निवासी सोनू (35) यूपी पुलिस में सिपाही के पद पर तैनात था। इन दिनों उसकी ड्यूटी सहारनपुर में थी। एसओ बिनोली रवेंद्र कुमार यादव ने बताया कि वह पिछले कई माह से ड्यूटी पर नहीं गया था। 


शनिवार रात सिपाही शराब पीकर घर पहुंचा तो उसकी पत्नी साक्षी ने इसका विरोध किया। इस बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हुई।  सिपाही ने साक्षी पर तमंचे से फायर कर दिया गोली लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद वह खुद भी कमरे में फांसी के फंदे पर झूल गया। 


मकान के निचले हिस्से से जब तक परिवार के लोग पहुंचे सोनू की भी मौत हो चुकी थी। बिनौली थाने पर मामले की जानकारी दी गई।  सीओ बड़ौत  आलोक कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। साक्षी छपरौली थाना क्षेत्र के कूड़ी गांव की रहने वाली थी। सिपाही सोनू के पिता यूपी पुलिस में थे उनकी असमय मौत के बाद ही उसे नौकरी मिली थी।               


रेखा का गार्ड पॉजिटिव, बंगला किया सील















 










मुंबई। अमिताभ बच्चन की कोरोना रिपोर्ट पॉजेटिव आने के बाद अचानक से बॉलीवुड में कोरोना का संकट गहरा गया है। अमिताभ और अभिषेक के बाद अनुपम खेर की फैमली भी कोरोना पॉजेटिव पायी गयी है। अब खबर ये आ रही है कि एक्ट्रेस रेखा पर भी कोरोना का साया गहरा गया है। उनका सिक्युरिटी गार्ड कोरोना पॉजेटिव पाया गया है। जिसके बाद बॉलीवुड एक्ट्रेस रेखा के बांद्रा स्थित बंगले के कुछ हिस्से को सील करने का फैसला किया गया है। खबर है कि रेखा के बंगले को पूरी तरह सील नहीं किया जा रहा है लेकिन BMC यानी बह्नमुंबई नगर पालिका बंगले के कंपाउंड के कुछ हिस्से को सील जरूर कर रही है, जहां स्टाफ रहता है। इसके लिए BMC ने बंगले के बाहर सील होने का साइन भी लगा दिया है। रेखा के सिक्योरिटी गार्ड को कोरोना वायरस के इलाज के लिए कोरोना सेंटर में भर्ती करवा दिया गया है। वहीं अन्य स्टाफ का टेस्ट रिजल्ट आना बाकी है। रेखा मुंबई के बांद्रा के बैंडस्टैंड एरिया में स्थित अपने ‘सी स्प्रिंग्स’ बंगले में रहती है। उनके इस बंगले पर दो सुराक्षाकर्मी हमेशा तैनात रहते हैं, जिनमें से एक कई दिन पहले कोरोना पॉजिटिव हुआ था। उसका बांद्रा के कोरोना सेंटर में ट्रीटमेंट चल रहा है।





बीएमसी के अधिकारियों ने रेखा के बंगले के बाहर नोटिस लगाया है, जिस पर इसे कंटेनमेंट जोन बताया है। उन्होंने एक पॉजिटिव केस आने के बाद पूरे बंगले को सेनिटाइज किया गया। इतना ही नहीं उनके पड़ोसी और गीतकार जावेद अख्तर के बंगले में रहने वाले लोगों को भी कोविड टेस्ट किया गया है। बीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि रेखा नहीं चाहती कि बीएमसी उनका कोविड-19 टेस्ट करें।
















ऑटो से लाया गया कोरोना मरीज का शव

निजामाबाद। देशभर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं,कोरोना मरीजों की कई दिल-दहला देने वाली तस्वीरें सामने आई हैं।अब प्रशासन की लापरवाही की एक और तस्वीर सामने आई है,ये तस्वीर तेलंगाना की है।तेलंगाना के निजामाबाद शहर में कोरोना संक्रमित का शव ऑटो रिक्शा से कब्रिस्तान ले जाया गया,सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात है कि ये शव बिना अस्पताल प्रशासन की देखरेख के ले जाया गया।
दरअसल,अस्पताल ने 50 वर्षीय व्यक्ति का शव सीधा अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया था,अस्पताल ने मृतक के परिजनों को एंबुलेंस की सुविधा भी नहीं दी।एएनआई से बात करते हुए निजामाबाद सरकारी अस्पताल के सुप्रीटेंडेंट नागेश्वर राव ने बताया,’मृतक का परिजन अस्पताल में ही काम करता है और उनके अनुरोध पर शव परिजनों को सौंप दिया गया था।राव ने आगे बताया, ‘मृतक का परिजन एक युवक की मदद से शव ऑटो रिक्शा में ले गया था,दूसरा युवक भी हमारे अस्पताल के मुर्दाघर में काम करता था।नागेश्वर राव ने आगे बताया, ’50 वर्षीय मरीज को 27 जून को निजामाबाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वह कोविड पॉजिटिव था। इलाज के दौरान हालत गंभीर होने के चलते उन्होंने दम तोड़ दिया।             


अनुपम का परिवार भी चपेट में आया

अनुपम खेर ने खुद दी जानकारी, सभी को कोकिला बेन अस्पताल में भर्ती कराया गया


अमिताभ-अभिषेक का इलाज जारी, अपना हेल्थ बुलेटिन जारी करने से रोका !


लखनऊ/मुंबई। वैश्विक आपदा कोरोना महामारी ने वालीवुड को अब पूरी तरह से अपनी गिरफ्त में लेना शुरू कर दिया है। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक बच्चन के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अभिनेता अनुपम खेर की मां और भाई समेत परिवार के 4 लोग भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। अनुपम खेर ने आज सुबह ट्वीट कर एवं वीडियो जारी कर खुद इसकी जानकारी दी। अपने वीडियो में उन्होने कहा है कि उनकी मां दुलारी को के ई दिनों से भूख नहीं लग रही थी और वे होती रहती थीं। डाक्टर की सलाह पर जांच में वे कोरोना संक्रमित मिलीं, जिसके बाद भाई राजू व भाभी एवं भतीजी भी जांच में पाॅजिटिव मिली। सभी को कोकिला बेन अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
भूख न लगने पर माता-पिता की जांच कराएं…
अनुपम खेर ने बताया कि उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। उन्होने घर को सैनिटाइजेशन कराए जाने के लिए बीएमसी को सूचित कर दिया है। अनुपम खेर ने लोगों से भी अपील की है कि अगर उनके माता-पिता को भूख न लग रही हो तो जांच अवश्य करा लें। बताते चलें कि अमिताभ बच्चन एवं अभिषेक बच्चन के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर कल ही अनुपम खेर ने ट्वीट कर लिखा था कि मुझे और पूरे देश को भरोसा है कि ‘अमिताभ बच्चन जी ! आपने अपने जीवन में हर कठिनाई हर मुश्किल को अपने मनोबल से परास्त किया है। आप कोरोना की लड़ाई से भी विजयी होकर सकुशल और स्वास्थ्य रूप से वापस ठीक ठाक अपने घर पहुंचेंगे। हम सबकी प्रार्थनाएं आपके साथ है।’
अमिताभ बच्चन एवं अभिषेक बच्चन को कल देर रात मुंबई में नानावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां दोनों का इलाज चल रहा है और उनकी तबियत ठीक बताई जा रही है। वहीं खबर है कि अमिताभ बच्चन ने अस्पताल प्रशासन को अपना हेल्थ बुलेटिन जारी किए जाने से मना किया है।
विशेष संवाददाता विजय आनंद वर्मा की रिपोर्ट, , ,


पटना एचसी के 19 कर्मी संक्रमित मिलें

पटना। हाई कोर्ट परिसर में कोरोना का यह बड़ा संक्रमण मिलने के बाद वहां हड़कंप की स्थिति है। फर्स्ट बिहार झारखंड को मिली जानकारी के मुताबिक फिलहाल जिन सुरक्षाकर्मियों को पॉजिटिव पाया गया है। उनको हाई कोर्ट परिसर में ही बने सिंगल बैरक के अंदर आइसोलेशन में रखा गया है।


रविवार को पटना हाइकोर्ट में कार्यरत में 19 सुरक्षाकर्मियों को कोरोना संक्रमित पाया गया है। इसके पहले यहां पदस्थापित एक डीएसपी को भी संक्रमित पाया गया था। अन्य सुरक्षाकर्मियों की कोरोना जांच के लिए कार्रवाई की जा रही हैं। हाईकोर्ट के कई कर्मचारी भी इनके लगातार संपर्क में रहे हैं। उनकी भी जांच की जा रही है। जब बच्चन परिवार कोरोना पॉजिटिव हो सकता है तो हमारी आपकी क्या हैसियत है ,इसलिए अभी भी समय है सावधानी बरतें क्योंकि हालात पता ही है बिहार का।                 


ऐश और आराध्या भी निकले संक्रमित

मुंबई। बॉलीवुड से फिर एक हैरान और परेशान कर देने वाली खबर आ रही है। अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक के कोरोना संक्रमित होने के बाद किए गए नए टेस्ट में ऐश्वर्या राय और उनकी बेटी आराध्या भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसमें जया बच्चन की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इससे पहले मुम्बई की मेयर किशोरी पेडणेकर ने बताया था कि रैपिड टेस्ट में तीनों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी, लेकिन बाद किए गए कोरोना टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। दोनों को हल्के लक्षण बताए गए हैं। बताया जा रहा है कि शनिवार से पूरे परिवार के तीन बार टेस्ट हुए हैं। ये तीसरी टेस्ट रिपोर्ट एक प्राइवेट लैब की है और इसके बाद बीएमसी के असिस्टेंट कमिश्नर विश्वास मोटे ने इस बड़े अपडेट की पुष्टि की है और कहा है कि ऐश्वर्या और आराध्या को भी नानावटी हॉस्पिटल में ही एडमिट कराया जाएगा और जया क्वारैंटाइन में घर पर ही रहेंगी। इसके अलावा अमिताभ की बेटी श्वेता नंदा, उनके बेटे अगस्त्य नंदा और बेटी नव्या नवेली नंदा की रिपोर्ट भी जया की तरह निगेटिव आई है। शनिवार को और रविवार को किए गए दो एंटीजन टेस्ट में जया, ऐश्चर्या और उनकी बेटी आराध्या की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। इसके बाद बीएमसी ने कहा था कि प्रोटोकॉल के मुताबिक तीनों को 14 दिन के क्वारैंटाइन में रहना होगा। ये पीरियड पूरा होने के बाद फिर से तीनों का टेस्ट किया जाएगा।           


सरकार गिराने की कोशिश, सचिन को नोटिस

नई दिल्ली। राजस्थान में सियासी संकट उस समय बढ़ गया जब विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले में उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को ही एटीएस और एसओजी की ओर से पूछताछ का नोटिस भेज दिया गया। सचिन पायलट अपनी सरकार के इस कदम से काफी नाराज हो गए हैं।


सीएम अशोक गहलोत ने शनिवार को ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करके आरोप लगाया था कि उनके विधायकों को लालच देकर सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की जा रही है। आपको बता दें सीएम गहलोत ने इस मामले की जांच के लिए एसओजी का गठन किया था और जो उनके ही अधीन है। इसलिए ये नोटिस एक तरह से दोनों के बीच चल रहे छत्तीस के आंकड़ों का नतीजा माना जा रहा है। हालांकि इस मामले में सीएम गहलोत से पूछताछ हो सकती है लेकिन इस बात को ज्यादा तवज्जो नहीं दे रही है। आपको बता दें कि यह जांच बीजेपी के दो नेताओं के फोन कॉल के आधार पर की जा रही है जिसमें दावा किया जा रहा है कि राज्य सरकार को गिराने की बात कही जा रही थी। सूत्रों का कहना है कि 10 जुलाई को इस नोटिस के मिलने के बाद वह सचिन पायलट काफी नाराज हैं।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


 जुलाई 13, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-335 (साल-01)
2. सोमवार, जुलाई-13, 2020
3. शक-1943, श्रावण, कृष्ण-पक्ष, तिथि- अष्टमी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:31,सूर्यास्त 07:27।


5. न्‍यूनतम तापमान 26+ डी.सै.,अधिकतम-38+ डी.सै.। बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


www.universalexpress.in


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :-935030275



  • (सर्वाधिकार सुरक्षित)                     


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...