बुधवार, 25 मार्च 2020

21 दिन का महाभारतः प्रधानमंत्री

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को वीडियो कॉनफ्रेंसिंग के जरिए वाराणसी के लोगों से बातचीत की। इस दौरान कहा कि आज काबुल में गुरुद्वारे में हुए आतंकी हमले से मन काफी दुखी है।


मैं इस हमले में मारे गए सभी लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। इसके साथ ही पीएम मोदी,'महाराभारत का युद्ध 18 दिन में जीता था। अब कोरोना से 21 दिन में जीत की कोशिश है।'
इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अभूतपूर्व कदम उठाते हुए पूरे देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषित कर दिया, जोकि मंगलवार आधी रात से लागू हो गया। बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र बनारस है और वह दूसरी बार इसी क्षेत्र से जीतकर संसद पहुंचे हैं। प्रधानमंत्री ने बीते दिन कोरोना वायरस के संक्रमण से मुकाबला करने के लिए स्वास्थ्य अवसंरचना को मजबूत करने के लिए 15,000 करोड़ रुपये के केंद्रीय आवंटन का भी ऐलान किया। बीमारी के फैलने के डर से कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने पहले ही 31 मार्च तक बंद की घोषणा कर रेल, सड़क और हवाई यातायात को स्थगित कर दिया था। हालांकि, आवश्यक वस्तुओं को देशभर में पहुंचाने के लिए माल की ढुलाई जारी रहेगी। दो राज्यों-पंजाब और महाराष्ट्र तथा एक केंद्रशासित प्रदेश-पुडुचेरी पहले ही अपने यहां कर्फ्यू लगा चुके हैं। 


गुरुद्वारे में आतंकी हमला, 8 की मौत

काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित गुरुद्वारे में बुधवार को आतंकवादियों ने हमला कर दिया। इसमें 27 श्रद्धालु मारे गए, वहीं 8 गंभीर रूप से घायल हुए हैं। हमले में शामिल चार आतंकवादियों को अफगान सुरक्षा बल ने मार गिराया है।


काबुल के शोर बाजार स्थित गुरुद्वारे में हुए इस आतंकी हमले पर भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने क्षोभ व्यक्त करते हुए दिवंगतों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए घायलों के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। विदेश मंत्रालय ने ऐसी घड़ी में अफगानिस्तान के हिन्दू और सिख समुदाय के प्रभावितों को तमाम जरूरी सहायता मुहैया कराने की बात कही है।
मंत्रालय की ओर से कहा गया कि ऐसे समय में जब कोरोना महामारी का रूप ले रही है, ऐसे समय में अल्पसंख्यक समुदाय के धार्मिक स्थान पर कायराना हमला करना घटना को अंजाम देने वालों और उसका साथ देने वालों की शैतानी मानसिकता को प्रदर्शित करता है।


   


 


वायरस से निपटने की 'रचना' तैयार

लखनऊ। प्रदेश में कोरोना के अब तक कुल 38 संक्रमित पेशेंट है। 38 में से 11 लोग सही हो गए, अपने घर जा चुके हैं। बाकी 27 लोगों का इलाज चल रहा है, वह स्टेबल है। आज और कल तीन चार मरीजों का ठीक होने का समय पूरा होने वाला है। उनका टेस्ट होगा और उनके टेस्ट में वह नेगेटिव पाए जाते हैं, तो उन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। आइसोलेशन बेड बढ़ाकर 10000 से 15000 बनाए जाएंगे अब तक 6000 तैयार किए जा चुके हैं। इसी प्रकार करेंटीएल करने के लिए 6000 प्रति बनाए गए हैं। 


पवन श्रीवास्तव


विवाद ग्रस्त डीएम-एसडीएम को हटाया

भोपाल। मध्‍य प्रदेश के नए मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कुछ अहम फैसले किए। उन्‍होंने निगम आयोग के सभी राजनैतिक मनोनयन निरस्त कर दिए हैं। इसके अलावा राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता और एसडीएम प्रिया वर्मा को हटा दिया गया है। दरअसल दोनों अफसर उस वक्त चर्चा में आए थे, जब सीएए के समर्थन में भाजपा की तिरंगा यात्रा के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की थी। इन दोनों अफसरों के मारपीट करते हुए वीडियो भी वायरल हुए थे। उसी भीड़ के दौरान एसडीएम प्रिया वर्मा के साथ कार्यकर्ताओं ने बाल खींच दिए थे।


इस मामले में पहले दो तरह की रिपोर्ट में कलेक्टर की क्लीन चिट मिल गई थी. पहली रिपोर्ट तत्कालीन डीजीपी वीके सिंह ने गृह विभाग को भेजी थी। इसमें राजगढ़ एसडीओपी से जांच कराई गई थी. जांच में कलेक्टर पर एएसआई को थप्पड़ मारने के आरोप सही पाए गए. जबकि दूसरी जांच राजगढ़ एडीएम ने की थी इसमें थप्पड़ का जिक्र ही नहीं किया गया था।


वहीँ रीवा नगर निगम कमिश्नर सभाजीत यादव को भी ह‍टा दिया गया है। निधि वही अधिकारी हैं जिन्‍होंने जनवरी में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे बीजेपी नेता को थप्‍पड़ मारा था। प्रिया वर्मा की प्रदर्शनकारियों से झड़प हुई थी। विवाद के बाद, शिवराज ने दोनों अधिकारियों पर सरकार के समर्थन में काम करने का आरोप लगाया था। अब सरकार बनने पर शिवराज ने दोनों के खिलाफ कार्रवाई की है।


भोजन एवं दूध उपलब्ध कराए सरकार

लखनऊ। समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर यूपी सरकार से अपील किया की अक्षय पात्र फाउंडेशन से भोजन उपलब्ध कराएं साथ ही अमूल,पराग से दुग्ध उत्पाद उपलब्ध कराएं।पूर्व मुख्घ्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि कोरोना के ख़तरे को भाँपकर जिस प्रकार जनता घर से न निकल कर सहयोग कर रही है, वो सराहनीय है। अब सरकार की ज़िम्मेदारी है कि वो आवश्यक वस्तुओं ‘दूध, अनाज, सब्ज़ियों व मरीजों के लिए फल व दवा’ के बेतहाशा बढ़ते मूल्यों पर लोहिया जी की ‘दाम बांधो’ नीति लागू करके अफ़रातफ़री मचने से रोके।


पवन श्रीवास्तव


विचित्र अंतर्द्वंद 'संपादकीय'

     देश में पत्रकारिता से जुड़ा हुआ एक बड़ा वर्ग सूचनाओं का साझाकरण करने का कार्य करता रहा है। समाचार पत्रों, न्यूज़ चैनल्स, पोर्टल एवं सोशल ऐप के जरिए सूचना प्रसारण-प्रकाशन करना ज्यादा सरल और सुगम बन गया है। कुछेक पत्रकारों ने निजी स्वार्थ में समाचारों का भावार्थ बदलने का कार्य किया है। कुछेक गलती से इस प्रोफेशनल से जुड़ गए हैं जो अपनी आजीविका चलाने के माध्यम से किसी नेता अथवा अधिकारी की चाटुकारिता को ही पत्रकारिता समझ बैठे। इससे पत्रकारिता की परिभाषा बदलने की पुरजोर कोशिश तो की गई। लेकिन पत्रकारिता स्थिर और अमित बनी रही। जो लोग छूट भैया नेताओं के लिए पत्रकारिता के बोझ तले दबे मरे जाते हैं। उन्हें आज उत्पन्न हालात ने एक ऐसा मौका दिया है। जिससे उन्हें अपने किए पर पश्चाताप करने का अवसर तो मिला ही है। साथ-साथ संकट के समय में देश के प्रति समर्पित भावना से अपने कर्तव्य को करने का अवसर भी मिला है। देश के प्रत्येक नागरिक की अहमियत को समझना, उनका मार्गदर्शन करना,  और विषम-विपरीत स्थिति में वास्तविकता से रूबरू कराने का अवसर मिला है। समर्पण भाव से जो भी इस कार्य को कर पाएगा। वह पारितोषिक का हकदार होगा। आज देश को स्पष्ट और सटीक सूचनाओं की आवश्यकता है। कोरोना वायरस(कोविड-19) एक वैश्विक महामारी का रूप ले चुका है। जिस पर विजय पाने की योजनाओं पर हम आगे बढ़ चले हैं। "राष्ट्र हित" में अपना योगदान करने का महत्वपूर्ण समय हमारे सामने हैं। प्रधानमंत्री के द्वारा 21 दिन तक चलने वाला "लॉक डाउन" सभी के लिए नए अनुभव कराने का कार्य करेगा। ज्ञात-अज्ञात अनुभव के लिए कमर कसने का उचित समय है। अपने-अपने कार्यक्षेत्र अथवा सीमा-दायरों में घटने वाली अप्रिय घटनाओं, मार्मिकता, उद्दंडता और अनदेखी का प्रसारण-प्रकाशन जनता के लिए अति आवश्यक है। जनता को वास्तविक स्थिति का अवलोकन कराना ही हमारा दायित्व है। भूखमरी-तंगहाली आदि से पीड़ित लोगों की आवाज बन कर,सह्रदय से राष्ट्र को समर्पित पत्रकारिता के प्रति निश्चय कर, निष्ठा से काम करें करने का समय है।


राधेश्याम 'निर्भयपुत्र'


 


गांव में रहिये चाहे, शहर में रहिये,
इंडिया 'लॉक डाउन' हैं,घर में रहीये।


जाना नहीं है, ऑनलाइन दफ्तर में रहिए। 
इंडिया 'लॉक डाउन' हैं, घर में रहिये। 


दिल्ली, मुंबई या अलवर में रहिये, 
इंडिया 'लॉक डाउन' हैं, घर में रहिए।


क्या चाहिए, अपनों की नजर में रहिए।


बाहर खडा है रावण, लक्ष्मण रेखा के अंदर रहिए।


इंडिया 'लॉकडाउन' हैं, घर में रहिए।


'सिराज' मोहम्मद सिराज


प्रतिदिन नियमित रूप से खुलेगी दुकाने

प्रशासन के आदेश पर परचून फल दूध सभी जरूरी चीजों की दुकान खुलने का समय नियमित रूप से बांधा गया


गाजियाबाद। खाने पीने से संबंधित जरूरी दुकान है। सुबह 7:00 बजे से 11:00 बजे तक वह शाम को 5:00 बजे से 7:00 बजे तक ही खुलेंगे। लोनी तहसील मे कार्यरत उपजिलाधिकारी खालिद अंजुम खान के द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं।


कोरोना वायरस को लेकर जहां प्रशासन ने सभी मंदिर, मस्जिदों को जनता के बचाव के लिए बंद कर दिया है। वहीं लोनी प्रशासन आज भी पूरी तरह से जनता के लिए अलर्ट पर है। उपजिलाधिकारी लोनी ने बताया कि किसी भी तरह की पशुओं व व्यक्तियों को खाने-पीने की कमी बाजार में नहीं होने दी जाएगी। जनता संयम बरतें और कम से कम लोग बाजार में निकले कर्फयू की स्थिति ना पैदा होने दे।


सचिन विशौरिया


पांचवी बड़ी अर्थव्यवस्था की लड़ाई

नई दिल्ली। भारत ब्रिटेन, फ्रांस को पीछे छोड़कर दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन गया है। अमेरिका के शोध संस्थान वर्ल्ड पॉपुलेशन रिव्यू ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आत्मनिर्भर बनने की पूर्व की नीति से भारत अब आगे बढ़ते हुए एक खुली बाजार वाली अर्थव्यवस्था के रूप में विकसित हो रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के मामले में भारत 2940 अरब डॉलर के साथ दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन गया है। इस मामले में उसने 2019 में ब्रिटेन तथा फ्रांस को पीछे छोड़ दिया।


ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था का आकार 2830 अरब डॉलर है, जबकि फ्रांस का 2710 अरब डॉलर है। क्रय शक्ति समता के आधार पर भारत का जीडीपी 10,510 अरब डॉलर है। यह जापान तथा जर्मनी से आगे है। भारत में अधिक आबादी के कारण प्रति व्यक्ति जीडीपी 2170 डॉलर है। यह अमेरिका में प्रति व्यक्ति 62,794 डॉलर है। हालांकि भारत की वास्तविक जीडीपी वृद्धि दर लगातार तीसरी तिमाही में कमजोर रह सकती है और 7.5 प्रतिशत से घटकर 5 प्रतिशत पर आ सकती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में आर्थिक उदारीकरण 1990 की दशक में शुरू हुआ है। उद्योगों को नियंत्रण मुक्त किया गया और विदेशी व्यापार एवं निवेश पर पर नियंत्रण कम किया है। इसके साथ ही सरकारी कंपनियों का निजीकरण किया गया है।


सुमित ने जीता टेनिस टूर्नामेंट का खिताब

नई दिल्ली। भारत के उभरते स्टार टेनिस खिलाडी सुमित नागल ने इतिहास रचते हुए अर्जेटीना में खेले गए ब्यूनस आयर्स एटीपी चैलेंजर्स टेनिस टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया है। 22 वर्षीय सुमित के करियर में घर के बाहर जीता गया अब तक का यह पहला खिताब हैं।


सातवीं सीड सुमित ने रविवार रात खेले गए फाइनल में अर्जेंटीना के खिलाड़ी फाकुंडो बैगनिस को सीधे सेटों में 6-4, 6-2 से मात देकर खिताब अपने नाम किया। भारतीय खिलाड़ी ने एक घंटे 37 मिनट में यह मुकाबला जीता। सुमित को हाल में बांजा लूका चैलेंजर्स के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार उन्होंने कोई गलती नहीं की और ब्यूनस आयर्स एटीपी चैलेंजर्स खिताब जीतकर ही दम लिया। भारतीय खिलाड़ी ने 2017 में बेंगलुरु में अपना पहला खिताब जीता था। इस जीत के बाद सुमित एटीपी की ओर जारी होने वाली ताजा एटीपी रैंकिंग में 159वें नंबर से 135वें नंबर पर पहुंच जाएंगे। सुमित के इस फाइनल मैच के दौरान अर्जेंटीना में भारत के राजदूत दिनेश भाटिया और काफी संख्या में भारतीय दर्शक भी मौजूद थे, जोकि सुमित का हौसला बढ़ा रहे थे। सुमित साउथ अमेरिकन क्ले पर खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। उन्होंने इस खिताबी जीत के बाद कहा, “यह काफी शानदार था। मैं यहां अकेले आया था। मेरे साथ मेरे कोच (सासा नेंनसेल) और ट्रेनर (मिलोस गागेलिक) भी नहीं थे। कोच के बिना खेलना मुश्किल होता है। लेकिन अब यहां ट्रॉफी उठाना मेरे लिए वाकई शानदार है और मुझे खुद पर गर्व है। उन्होंने कहा, आज मैं यहां खिताब जीता हूं और अब मुझे अगले सप्ताह ब्राजील जाना है। जहां एक और चैलेंजर टूर्नामेंट खेलना है। इसलिए मेरे पास इस जीत का जश्न मनाने का समय नहीं है। मुझे अभी भी काफी मेहनत करने की जरूरत है ताकि मैं अपने प्रदर्शन में और सुधार कर सकूं।


द.अफ्रीका को हराकर ज़ीती सीरीज

लंदन। यशस्वी जायसवाल के चार विकेट और नाबाद 89 रन की मदद से भारत की अंडर 19 टीम ने दूसरे युवा वनडे में दक्षिण अफ्रीका को आठ विकेट से हराकर सीरीज जीत ली है। भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम ने दक्षिण अफ्रीकी टीम क 202 गेंदें शेष रहते दूसरे वनडे मुकाबले में आठ विकेट से पराजित कर दिया।


यशस्वी जायसवाल की 13 रन पर चार विकेट की जबरदस्त गेंदबाजी के बाद नाबाद 89 रन की लाजवाब अर्धशतकीय पारी खेली। भारतीय युवा टीम ने टॉस जीतने के बाद पहले मेजबान टीम को बल्लेबाजी का मौका दिया, जिसके बल्लेबाज निर्धारित 50 ओवरों तक टिक ही नहीं सके और पूरी टीम 29.5 ओवर में 119 रन बनाकर ढेर हो गई, जिसमें ओपनिंग क्रम के एंड्रू लुई ने 24 और जोनाथन बर्ड ने 25 रन की बड़ी पारियां खेलीं। उसके छह बल्लेबाज दोहरे अंक तक भी नहीं पहुंच सके। जीत के लिए 120 रन के लक्ष्य के जवाब में जायसवाल ने 56 गेंद की अपनी पारी में 14 चौके और तीन छक्के लगाए। राजस्थान रॉयल्स ने इस युवा खिलाड़ी को आईपीएल नीलामी 2020 के दौरान 2.4 करोड़ रुपये में खरीदा है। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय युवा टीम के ओपनर यशस्वी ने 56 गेंदों की पारी में 14 चौके और 3 छक्के लगाते हुए नाबाद 89 रन बनाएऔर ध्रुव जुयाल (नाबाद 26) के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिये 94 रन की साझेदारी कर टीम को जीत दिला दी। भारतीय अंडर 19 टीम ने 16.2 ओवर में दो विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।


ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन से हटे

लंदन। ब्रिटेन के स्टार टेनिस खिलाड़ी एंडी मरे चोट के कारण अगले महीने होने वाले साल के पहले ग्रैंडस्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन से हट गए हैं। स्कॉटलैंड के 32 साल के मरे को पिछले महीने डेविस कप में ब्रिटेन की ओर से खेलते हुए कूल्हे के आसपास के क्षेत्र में चोट लगी थी।


मरे ने कहा, ‘शीर्ष स्तर पर खेलने के लिए खुद को तैयार करने में मैंने काफी मेहनत की थी और जनवरी में ऑस्ट्रेलियन ओपन में नहीं खेल पाना बेहद निराशाजनक है।’ उन्होंने कहा, ‘इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन के बाद मुझे दोबारा खेलने का यकीन नहीं था। यही कारण है कि मैं दोबारा ऑस्ट्रेलिया आने और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने को लेकर रोमांचित था। यही वजह है कि मैं और अधिक निराश हूं।’ मरे ने कहा,‘दुर्भाग्य से हाल में मुझे चोट लगी और एहतियात के तौर पर कोर्ट पर दोबारा उतरने से पहले मुझे इस पर काम करना होगा।’ इस साल जनवरी में ऑपरेशन के बाद मरे को उम्मीद थी कि वह अगले साल आस्ट्रेलिया ओपन के साथ वापसी करेंगे।


ब्रिटेन के प्रिंस कोरोना वायरस पॉजिटिव

लदंन। कोरोना वायरस से ब्रिटेन के शाही परिवार का एक सदस्य पीड़ित पाए जाने की खबर है। ब्रिटेन की मीडिया के अनुसार प्रिंस चार्ल्स कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं।


क्लेरेंस हाउस कार्यालय ने कहा कि महारानी एलिजाबेथ के सबसे बड़े बेटे प्रिंस चार्ल्स (71) में हल्के लक्षण दिखाए दिए हैं और उनकी तबीयत अब ठीक है। टेलीग्राफ की खबर के अनुसार चार्ल्स की पत्नी कैमिला (72) की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। दोनों स्कॉटलैंड में अलग थलग रह रहे हैं। खबर में कहा गया है,'एबरडीनशर में नेशनल हेल्थ सर्विस ने उनकी जांच की।'ब्रिटेन में इस जानलेवा वायरस से अभी तक आठ हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं जबकि 400 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ब्रिटेन सरकार तीन सप्ताह के लिए लॉकडाउन की घोषणा कर चुकी है पर अब इसके लागू करने पर सवाल उठाए जा रहे हैं।इसकी वजह यह है कि मंगलवार को देश की भूमिगत ट्रेनें पूरी तरह से भरी देखी गईं। हालांकि इन ट्रेनों की सेवाओं में कटौती की गई है लेकिन मुसाफिरों पर इसका असर पड़ता नहीं दिख रहा है। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कम से कम 21 दिनों के लिए, लोगों की आवाजाही में कमी लाने के मकसद से कुछ उपायों का एलान किया था। जॉनसन ने लोगों से कहा था कि वे घर में ही रहें और पुलिस को इसके लिए आवश्यक निर्देश दिए थे। अब यह भी सवाल उठाया जा रहा है कि जॉनसन ने ये जो एलान किया था, वह अपने आप में स्पष्ट नहीं था। यातायात मंत्री गेंट शाप्पे ने सोमवार को स्थिति और स्पष्ट करते हुए कहा था कि सलाह एकदम साफ है कि, घर पर रहें। देश की मोबाइल फोन सेवाएं अब जॉनसन की बात को संदेश के रूप में लोगों तक पहुंचा रही हैं।


राजस्थान में संक्रमितो की संख्या 36

जयपुर। राजस्थान में आज चार नए कोरोना वायरस के पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इनमें से तीन केस भीलवाड़ा जिले के बताए गए हैं, जो कि मेडिकल स्टाफ से जुड़े हुए हैं। वहीं एक केस जोधपुर का हैं।


इन चार नए मरीजों के सामने आने के बाद राजस्थान में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या 36 हो गई है।इनमें से एक की मौत हो चुकी है, जो कि विदेशी नागरिक था। वो राजस्थान में कोरोना का सबसे पहला पॉजिटिव केस था। बता दें कि पूरे राजस्थान में सबसे अधिक कोरोना पॉजिटिव केस भीलवाड़ा से आए हैं। ACS मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि राजस्थान में 36 केस कोरोना पॉजिटिव निकले जबकि 1 हजार 548 संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव निकली। उन्होंने बताया कि जोधपुर से जो युवती कोरोना पॉजिटिव पाई गई है, उसने हाल ही में ट्रेन से सफर किया था। बता दें कि, राजस्थान में अब तक 1584 नमूने प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 36 पॉजिटिव हैं, 1548 नेगेटिव हैं. कोरोना वायरस अब धीरे-धीरे देश के लगभग हर राज्य तक अपना पैर पसार चुका है। कोरोना वायरस से अब तक संक्रमित मामलों की संख्या 500 के करीब पहुंच चुकी है। वहीं इससे पूरे भारत में कुल 10 मौतें हो चुकी है, और 37 लोग इससे पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों का सबसे ज्यादा मामला महाराष्ट्र से हैं, जहां 101 व्यक्तियों में पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हुई है। वहीं दूसरे नंबर पर केरल है, जहां 95 केस सामने आ चुके हैं, जिसमें से 7 विदेशी भी शामिल हैं।वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोरोना वायरस से निपटने के लिए अधिकारियों के साथ लगातार बैठक कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के अपील पर राजस्थान सरकार के मंत्री और विधायक अपने-अपने स्तर पर सहायता कोष में आर्थिक मदद देने की घोषणा कर चुके हैं। बता दें कि, पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने भी अपने 2 महीने का वेतन मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री सहायता कोष में दान करने का निर्णय किया है। वहीं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कोरोना वायरस को लेकर राजस्थान में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरे प्रदेश में 1 लाख बेड क्वॉरेंटाइन के लिए चिन्हित किए, जिनमें आवास, अस्पताल, होटल और हॉस्टल भी हो सकते हैं। इन सबको मिलाकर विभाग की तैयारी 1 लाख लोगों को क्वॉरेंटाइन की सुविधा उपलब्ध कराना है।


सीएम आवास पर समीक्षा मीटिंग

चंद्रमौलेश्वर शिवांशु


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर प्रदेश में कोरोना वायरस महामारी के संबंध में समीक्षा बैठक की एवं अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। सीएम योगी ने अधिकारियों के साथ बैठक कर वर्तमान परिस्थितियों पर नये आदेश निर्देश जारी करेंगे।


वही उसके विपरीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देश की जनता से आह्वान किया गया है कि सक्षम, शक्ति और सामर्थ्यवान लोग नवरात्रों के पावन पर्व पर 9 परिवारों को भोजन कराकर नवरात्रों का फल प्राप्त करें। उन्होंने एक बार पुनः देश की जनता से सहयोग की अपील की है। वैश्विक महामारी को हराने का एकमात्र उपाय सामाजिक दूरी है।


कबाड़ बने वाहन को विधि पूर्वक बेचे

नई दिल्ली। गाड़ी का एक्सीडेंट हो जाने पर आप उस स्थिति में क्लेम कर सकते हो, जब दुर्घटना में आपके वाहन की मरम्मत लागत इंश्योर्ड डिक्लेयर्ड वैल्यू (IDV) की 75 फीसदी से ज्यादा हो। (IDV) आपके वाहन की क्लेम फाइल करते समय की अनुमानित बाजार कीमत होती है। यह सब तो ठीक है, लेकिन अगर आप अपने कबाड़ हुए वाहन को बिना किसी कागजी प्रक्रिया के ऐसे ही कबाड़ वाले को बेच रहे हैं, तो आप भारी मुसीबत में फंस सकते हैं।


इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Irdai) ने एक सर्कुलर जारी कर स्क्रैप डीलर्स को बेचे गए वाहन के कागजातों के दुरुपयोग के बारे में चेताया है। ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनमें चोर स्क्रैप डीलर्स को बेचे गई गाड़ियों के इंजन और चेचिस नंबर का उपयोग चोरी के वाहनों के लिए करते हैं। इस तरह वे चोरी के वाहनों की एक फर्जी पहचान बना लेते हैं। इस तरह वे कागजात जिसके नाम रजिस्टर्ड है, वह मुश्किल में फंस सकता है।
मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 55 के अनुसार, यदि कोई मोटर वाहन कबाड़ हो गया है या वह उपयोग की स्थिति में नहीं है, तो मालिक को इसकी सूचना 14 दिन के अंदर पंजीकरण प्राधिकारी को देनी होती है। आमतौर पर वाहन जहां यूज होता रहा है, उसी क्षेत्र के पंजीकरण प्राधिकारी को यह जानकारी देनी होती है। साथ ही रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) संबंधित अथॉरिटी को जमा करानी होती है। यदि वह वो ऑरिजनल अथॉरिटी होगी, जहां वाहन रजिस्टर्ड हुआ था, तो अथॉरिटी RC को निरस्त कर देगी और अगर यह वह अथॉरिटी नहीं होगी, तो वह ऑरिजनल पंजीकरण प्राधिकारी को RC भेजेगी। बता दें कि आरसी को रद्द करवाने की कोई फीस नहीं होती है। एक मोटर वाहन मालिक के रूप में, ग्राहकों को हमेशा इन नियमों का पालन करना चाहिए और भविष्य में मुसीबत न आए, इसलिए अपने कबाड़ हुए या चोरी हो चुके वाहन की RC को जरूर रद्द करवाना चाहिए।


पाक को नहीं मिला समर्थन, फजीहत

इस्लामाबाद। पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान को इस सच का सामना करना ही पड़ा कि उन्हें कश्मीर मसले पर दुनिया का समर्थन हासिल नहीं हो सका। वह अंतरराष्ट्रीय समुदाय के प्रति अपनी नाखुशी तो जाहिर कर रहे हैं, लेकिन यह समझने से इन्कार कर रहे हैं कि इसके लिए वही जिम्मेदार हैं। पाकिस्तान की समस्या केवल यही नहीं कि उसने यह मुगालता पाल लिया कि कश्मीर उसका हिस्सा बनकर रहेगा, बल्कि यह भी है कि उसने अपने लोगों को भी यह घुट्टी पिला दी कि वह छल-बल से इस भारतीय भू-भाग को हासिल करके रहेगा।


अगर वह अपना भला चाहता है कि यह मुगालता छोड़े कि वह कश्मीर को हासिल कर सकता है या फिर आतंक के बल पर भारत को डरा-धमका सकता है। उसे यह समझ आए तो बेहतर कि वह गैर जिम्मेदार देश की तरह व्यवहार कर रहा है और अपनी पस्त अर्थव्यवस्था के कारण विफल राष्ट्र की ओर बढ़ रहा है। अपनी इस हालत के लिए वह किसी अन्य को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकता। आखिर यह वही था जिसने दुनिया भर के आतंकी संगठनों को अपने यहां खुशी-खुशी पनाह दी और आतंकवाद को नीतिगत तौर पर अपनाया। एक सच्चाई यह भी है कि उसने आतंकवाद से लड़ने के नाम पर दुनिया की आंखों में धूल झोंकी। वह यह काम अभी भी कर रहा है और इसी कारण उसकी धरती से भारत में आतंकियों की घुसपैठ थम नहीं रही। आखिर पाकिस्तान ने यह कैसे समझ लिया कि भारत जिस हिस्से को अपना अटूट अंग बताता है वहां से संबंधित नियम-कानूनों में परिवर्तन नहीं कर सकता? क्या अनुच्छेद 370 पाकिस्तान से पूछकर तैयार किया गया था? यदि नहीं तो फिर उसके हटाए जाने पर उसने आसमान सिर पर क्यों उठाया? अच्छा हो कि पाकिस्तान सरकार और साथ ही वहां का समाज इस पर चिंतन-मनन करे कि आखिर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद एवं उसकी मानवाधिकार परिषद में उसे अहमियत क्यों नहीं मिली? नि:संदेह इसलिए नहीं कि दुनिया बदल गई है, बल्कि इसलिए कि दुनिया उसके कश्मीर राग से आजिज आ चुकी है और उसे यह समझ नहीं आ रहा कि पाकिस्तान कश्मीर को लेकर इतना परेशान क्यों है?
विश्व समुदाय इसे लेकर भी चकित है कि बलूचों, सिंधियों, शियाओं, पख्तूनों समेत अल्पसंख्यकों का दमन करने वाला पाकिस्तान कश्मीरियों की चिंता में क्यों दुबला हुआ जा रहा है? समझना कठिन है कि इमरान खान किस मुंह से यह उम्मीद कर रहे हैं कि दुनिया उनकी ओर ध्यान दे? उन्हें पता होना चाहिए कि उन्होंने यह स्वीकार कर अपनी फजीहत ही कराई है कि उनकी सेना अल-कायदा और ऐसे ही अन्य आतंकी संगठनों को प्रशिक्षण देने का काम किया करती थी।


बैंको की निश्चित मुफ्त लेनदेन की छूट

नई दिल्ली। बैंक अपने ग्राहकों को हर महीने कुछ निश्चित मुफ्त लेनदेन की छूट देते हैं, इससे ज्यादा की लेनदेन पर बैंक शुल्क वसूलते हैं। भारतीय रिजर्व बैंक ने 14 अगस्त, 2019 की अधिसूचना में मुफ्त एटीएम लेनदेन को लेकर तस्वीर साफ की है।


बैंक ने अधिसूचना में कहा है कि क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, शहरी सहकारी बैंक, राज्य सहकारी बैंक, जिला केंद्रीय सहकारी बैंक सहित सभी वाणिज्यिक बैंक एटीएम से बैलेंस चेक करना, टैक्स पेमेंट, फंड ट्रांसफर के लिए चेक बुक रिक्वेस्ट को एटीएम से मुफ्त लेनदेन में शामिल नही कर सकते हैं। RBI ने कहा है कि अगर कोई लेनदेन तकनीकी खराबी की वजह से फेल हो जाता है तो उसे मुफ्त लेनदेन में नहीं जोड़ा जाएगा। इसके साथ ही अगर एटीएम में करंसी नहीं है तो इसे भी मुफ्त लेनदेन में नहीं जोड़ा जाएगा।
इसके अलावा कोई ऐसी लेनदेन जो तकनीकी हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, एटीएम में करंसी के नहीं होने की वजह से फेल हो जाता है तो इसे भी मुफ्त लेनदेन में नहीं जोड़ा जाएगा। मतलब आपके पास एटीएम से मुफ्त लेनदेन की जो संख्या बची है वो आपके पास सुरक्षित है। इसके अलावा गलत पिन डालना भी ग्राहक के लिए मान्य एटीएम लेनदेन के रूप में नहीं गिना जाएगा। भारतीय स्टेट बैंक में खाताधारक जिनके पास औसतन 25,000 रुपये का मासिक बैलेंस है वे महीने में दो बार मुफ्त नकद निकासी कर सकते हैं। हालांकि, 25,000 रुपये से 50,000 रुपये के बीच औसत मासिक बैलेंस वाले खाताधारक 10 मुफ्त नकद निकासी का फायदा उठा सकते हैं। मुफ्त सीमा के बाद लेनदेन पर 50 रुपये शुल्क और जीएसटी है।


नाराजगीः1 घंटे में भाजपा की सभा संपन्न

चंडीगढ़। हरियाणा विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा के लिए सकारात्मक माहौल होने के बावजूद पार्टी हाईकमान प्रत्याशी चयन में पूरी सतर्कता बरतना चाहता है। हरियाणा चुनाव समिति में तैयार किए गए पार्टी प्रत्याशियों के पैनल राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह संतुष्‍ट नहीं हुए। यह पैनल उनकी कसौटी पर खरे नहीं उतरे और उन्होंने सीएम सहित प्रदेश पदाधिकारियों को होमवर्क देते हुए एक बार फिर बैठक करने का आदेश दिया।


नाराज शाह ने एक घंटे में खत्म की पहले चरण की बैठक, होमवर्क के साथ फिर हुई बैठक बुधवार को दिन में हुई बैठक महज दो घंटे में खत्म हो गई। इस बैठक से निकले पदाधिकारियों के चेहरे साफ बता रहे थे कि पार्टी हाईकमान प्रत्याशियों के चयन में अपनाई गई प्रक्रिया से ज्यादा खुश नहीं था। दोपहर की बैठक में शाह से मिले होमवर्क के आधार पर एक बार फिर पैनल तैयार करके प्रदेश पदाधिकारी सायं सात बजे पार्टी मुख्यालय पहुंचे। यहां यह बैठक करीब 7.30 बजे शुरू हो गई। दोनों बैठकों में अमित शाह के अलावा राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, प्रदेश प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव डॉ.अनिल जैन, चुनाव प्रभारी नरेंद्र सिंह तोमर, सहप्रभारी भूपेंद्र सिंह, प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, प्रदेश संगठन मंत्री सुरेश भट्ट मौजूद रहे।सूत्र बताते हैं कि बैठक में शाह ने एक बार फिर साफ कर दिया है कि केंद्रीय मंत्रियों, सांसदों के परिजनों से लेकर मेयर, जिला परिषद चेयरमैन और उनके परिजनों को भी टिकट नहीं दी जाएगी। हालांकि शाह ने यह भी साफ किया कि प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र के विधानसभा क्षेत्रों में टिकट चयन करते समय संबंधित सांसदों की संस्तुति का ध्यान भी प्रमुखता से रखा जाए। सांसदों की संस्तुति चुनाव समिति ने पहले भी ली हुई है मगर पार्टी हाईकमान के इस आदेश के बाद कि किसी नेता के परिजन को टिकट नहीं दी जाएगी, प्रत्याशियों के पैनलों के समीकरण बदल गए हैं। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने दिन की बैठक खत्म होने पर यह भी बताया था कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ सभी 90 सीटों पर चर्चा पूरी कर ली जाएगी। इसके बाद जब भी केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होगी, प्रत्याशियों की सूची का अनुमोदन किया जाएगा। इसके बाद संभवतया उसी दिन इसकी घोषणा कर दी जाएगी। सूत्र यह भी बताते हैं कि प्रदेश चुनाव समिति द्वारा तैयार किए गए पैनल में प्रत्याशियों के चयन पूर्व निर्धारित मापदंड के अनुपालन में हुई चूक पर भी प्रदेश के नेताओं को दोबारा मशक्कत करनी पड़ रही है। पार्टी के पूर्व कार्यकर्ताओं और पार्टी के प्रति उनके समर्पण पर विशेष ध्यान देने को कहा गया है। पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं को टिकट मिलने की संभावना बढ़ गई है। इसके अलावा दूसरे दलों से आए नेताओं की चुनाव जिताऊ क्षमता पर भी राष्ट्रीय अध्यक्ष का ध्यान है। उन सीटों पर जिन पर दूसरे दलों से आए नेता टिकट की दावेदारी कर रहे हैं, वहां पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता यदि पार्टी सर्वे में अव्वल हैं तो फिर उन्हें ही तरजीह दी जाएगी।


कई दिनों बाद सेंसेक्स ने दिखाई बढ़त

नई दिल्‍ली। जीएसटी काउंसिल की बैठक से पहले वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा कॉरपोरेट टैक्‍स में कटौती की घोषणा के बाद सेंसेक्‍स और निफ्टी में एक दशक में एक दिन की सबसे बड़ी रैली देखी गई। सेंसेक्‍स 1950 अंक और निफ्टी 550 अंकों के उछाल के साथ कारोबार कर रहे थे। भारतीय शेयर बाजार में आई इस तेजी से निवेशकों के धन में एक दिन में ही पांच लाख करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है। आइए, जानते हैं कि वित्‍त मंत्री की किन बातों का सकारात्‍मक असर शेयर बाजार पर हैं।


कार्वी स्‍टॉक ब्रोकिंग के रिसर्च हेड और वाइस प्रेसिडेंट डॉ. रवि सिंह के अनुसार, वित्‍त मंत्री द्वारा किए गए सभी ऐलान अर्थव्‍यवस्‍था की मजबूती की दिशा में हैं। उन्‍होंने कहा कि वित्‍त मंत्री ने कॉरपोरेट टैक्‍स घटा कर घरेलू मैन्‍युफैक्‍चरिंग कंपनियों को बड़ी राहत दी है। बिना एग्‍जेम्‍पशन के कॉरपोरेट टैक्‍स की दर 22 फीसद तय की गई है वह भी सरचार्ज और सेस सहित। इसके अलावा ऐसी कंपनियों पर मिनिमम अल्‍टरनेट टैक्‍स भी लागू नहीं होगा। सरचार्ज के बाद प्रभावी कॉरपोरेट टैक्‍स 25.17 फीसद कर दिया गया है। सिंह ने बताया कि सरकार के इस कदम से कंपनियों की कर देनदारी कम होगी और बचे पैसों का इस्‍तेमाल वह अपने डेवलपमेंट के लिए कर सकेंगे। भारतीय शेयर बाजार पर इसका सकारात्‍मक असर लंबी अवधि में देखा जा सकता है। सिंह ने बताया कि इसके साथ ही हम उम्‍मीद करते हैं कि बाजार में आई यह तेजी आने वाले समय में बरकरार रहेगी। मैन्‍युफैक्‍चरिंग और इससे संबंधित सेक्‍टर्स शेयर बाजार में और बेहतर प्रदर्शन करेंगे जिससे और तेजी आगे देखने को मिल सकती है। जहां तक सूचकांकों की बात है तो उम्‍मीद है कि निफ्टी एक बार फिर 12000 के स्‍तर को आजमाएगा। वहीं, सेंसेक्‍स भी 40000 का स्‍तर छू सकता है। बैंक निफ्टी भी 30000 के स्‍तर तक जा सकता है।


फिल्मी सितारों ने भी किया समर्थन

मुंबई। कोरोना के कारण पूरे देश में डर का माहौल दिख रहा है। परिस्थितियों को बिगड़ते देख पीएम मोदी ने जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। अभी तक के हालात देखकर लगता है कि लोग ना सिर्फ जनता कफर्यू का पालन कर रहे हैं बल्कि खुद को इस वायरस से बचाने की पूरी कोशिश भी कर रहे हैं।


बॉलीवुड के कई सितारों ने पीएम मोदी के जनता कर्फ्यू को सफल बनाने में बड़ी भूमिका अदा की है। कई कलाकारों ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों को जागरूक करने का काम किया है। इसी कड़ी में अभिनेता सुनील शेट्टी ने एक वीडियो शेयर की है। ये वीडियो गोरेगांव का है। वीडियों में गोरेगांव की सड़के एकदम सूनी दिखाई दे रही हैं। ना कोई प्रदूषण और ना ही कोई वाहनों की आवाजाही।
अनुपम खेर भी शांति को खासा पसंद कर पीएम मोदी की मुहिम का समर्थन कर रहे है। अनुपम खेर ने टवीट किया जो शांति आज महसूस की जा सकती है वैसी शांति पहले कभी महसूस नहीं हुई। चिड़िया की चहचहाहट भी साफ सुनाई दे रही है। लगता है सभी के भले के लिए दुनिया बदल ही गई है। इसी कड़ी महानायक अमिताभ बच्चन ने भी जनता कर्फ्यू का समर्थन किया है। उनके मुताबिक आज सभी भारतीयों ने जनता कर्फ्यू का पालन कर पूरी दुनिया के सामने एक उदाहरण पेश किया है। अमिताभ का ये पोस्ट इस समय खूब वायरल हो रहा है। इस बात में कोई दो राय नहीं कि बॉलीवुड कई मायनों में समाज को सही राह पर चलने के लिए प्रेरित कर सकता है। जनता कर्फ्यू की सफलता के पीछे एक बड़ा हाथ इन कलाकारों का भी है, जिन्होंने अपनी पॉपुलैरिटी के दम पर लोगों को सही राह दिखाई है।


10 लोगों की मौत, 562 संक्रमित

तेहरान। 277 भारतीय ईरान में कोरोना वायरस के फैलते प्रकोप के मद्देनजर 277 भारतीय यात्रियों को लेकर महन एयर की उड़ान ईरान के तेहरान से बुधवार सुबह दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरी।
फ्लिपकार्ट ने लॉकडाउन के दौरान बंद की सेवा
पूरे देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा के बाद ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट ने अपनी सेवाओं को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया है। बिहार में एक और मरीज मिला बिहार में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या चार हो गई है। इनमें से एक की मौत हो चुकी है। नए मरीज का पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल में इलाज चल रहा है। घरेलू उड़ानों पर भी लॉकडाउन
कोलकाता में घरेलू उड़ानें भी बुधवार से निलंबित रहेंगी। यह दृश्य नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा का है। अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को पहले ही 22 मार्च को निलंबित कर दिया गया था। पुणे में कोरोना के दो मरीज ठीक हुए
वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर पुणे से एक अच्छी खबर है। पुणे में दो हफ्ते पहले पॉजिटिव पाए गए दो लोगों की रिपोर्ट दोनों बार निगेटिव आई है। दोनों को बुधवार को अस्पतला से छुट्टी दे दी गई है। दोनों महाराष्ट्र के पहले दो मामले थे।
सभी राज्यों को कंट्रोल रूम खोलने का निर्देश
उत्पाद या सेवाएं उपलब्ध कराने वालों की समस्याओं के निराकरण के लिए सरकार ने राज्यों को कंट्रोल रूम खोलने का आदेश दिया है। केद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सातों घंटे और 24 दिन चलने वाले कंट्रोल रूम का गठन करने का निर्देश दिया है। निर्देश में कहा गया है कि इन कंट्रोल रूम में राज्य या जिला स्तर पर हेल्पलाइन होनी चाहिए।
तमिलनाडु : एक व्यक्ति की मौत
तमिलनाडु में कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की मौत हो गई है। इसके साथ ही देश में इस वायरस की वजह से होने वाली कुल मौतों का आंकड़ा 11 हो गया है। पीड़ित मदुरै के राजाजी हॉस्पिटल में भर्ती था। राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. सी विजयभास्कर ने बताया कि पीड़ित उच्च रक्तचाप, अनियंत्रित डायबिटीज आदि बीमारियों से ग्रसित था।
लॉकडाउन का पालन करें वरना लागू होगा देखते ही गोली मारने का आदेश : चंद्रशेखर राव
लॉकडाउन के प्रति लोगों के रवैये को लेकर तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने कहा है कि अगर लोग लॉकडाउन के नियमों का पालन नहीं करेंगे को राज्य में कर्फ्यू लगाने और देखते ही गोली मारने के आदेश जारी करने पड़ेंगे। उन्होंने अमेरिका का उदाहरण देते हुए कहा, ‘अमेरिका में लॉकडाउन लागू कराने के लिए सेना को बुलाना पड़ा। अगर लोग कोरोना वायरस लॉकडाउन का पालन नहीं करेंगे तो हमें 24 घंटे कर्फ्यू लगाना पड़ेगा और देखते ही गोली मारने का आदेश जारी करने पड़ेगा। मैं लोगों से अनुरोध करता हूं कि ऐसे हालात न आने दें।’
गुजरात : पहली से 9वीं और 11वीं कक्षा के विद्यार्थी बिना परीक्षा होंगे पास
देश में कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए गुजरात सरकार ने कक्षा एक से 9वीं तक और 11वीं के छात्र-छात्राओं को बिना परीक्षा के पास करने का फैसला किया है। राज्य सूचना एवं प्रसारण विभाग के सचिव अश्वनी कुमार ने कहा कि यह निर्णय इसलिए लिया गया है क्योंकि स्कूल बंद हैं।
केरल में लॉकडाउन के पहले दिन 402 मामले दर्ज
केरल में लॉकडाउन के पहले दिन यानी 24 मार्च को पुलिस ने दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने में पूरे राज्य में 402 मामले दर्ज किए।
आज से सुप्रीम कोर्ट में भी लॉकडाउन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट ने आज यानी बुधवार को होने वाली सुनवाई स्थगित कर दी है। शीर्ष अदालत की ओर से देर रात जारी एक अधिसूचना में यह जानकारी दी गई। इसमें कहा गया है कि देश में पूर्ण लॉकडाउन के सरकार के फैसले को देखते हुए न्यायालय में बुधवार को दो पीठों के समक्ष प्रस्तावित सुनवाई नहीं होगी।
चंडीगढ़ : आज कर्फ्यू में ढील दी जाएगी
चंडीगढ़ प्रशासन ने बुधवार से कर्फ्यू में ढील देने का फैसला किया है। केंद्र शासित प्रदेश के सलाहकार मनोज परीदा ने कहा, दैनिक जरूरतों की चीजों की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। प्रशासन सेक्टर दर सेक्टर कर्फ्यू में ढील देने की योजना बना रहा है। बुधवार से इसमें ढील देने के साथ ही जरूरी वस्तुओं की घर-घर आपूर्ति की जाएगी। इस बीच, प्रशासन ने सेक्टर 16 के क्रिकेट स्टेडियम व स्पोर्ट्स कांप्लेक्स को अस्थायी जेल में तब्दील कर दिया है।
मध्य प्रदेश : भोपाल, जबलपुर में कर्फ्यू , दो नए मरीज
राज्य में मंगलवार को ग्वालियर व शिवपुरी में कोरोना के एक-एक मरीज की पुष्टि हुई। राज्य में कुल मरीजों की संख्या 9 हो गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, लोगों को 36 जिलों में लागू लॉकडाउन का सख्ती से पालन करना होगा। मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे घर में ही रहें। आपातकालीन व जरूरी सेवाएं उन्हें मिलती रहेंगी। मुख्यमंत्री ने मंगलवार से भोपाल और जबलपुर में कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया था।
बिहार : कोई नया केस नहीं, लॉकडाउन का सख्ती से पालन
बिहार में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस का कोई नया मरीज नहीं मिला है। स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, राज्य में अब तक सिर्फ तीन मरीज मिले हैं, जिनमें से एक की मौत हो चुकी है। राज्य में अब तक 194 सैंपल लिए गए हैं, जिनमें से सिर्फ तीन की जांच पॉजिटिव आई है। वहीं 14 की रिपोर्ट मिलनी बाकी है। इस बीच, राजधानी पटना समेत ज्यादातर जिलों में लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया गया। सोमवार की तुलना में सड़कों पर बेहद कम वाहन दिखे, वहीं जरूरी सामान की दुकानों को छोड़कर ज्यादातर दुकानें बंद रहीं।
जम्मू-कश्मीर : दो और पॉजिटिव, पुंछ में कर्फ्यू
श्रीनगर में कोरोना वायरस के दो और मामले पॉजिटिव मिले हैं। इसके साथ ही श्रीनगर में तीन और जम्मू कश्मीर में अब तक छह पॉजिटिव मामले आ चुके हैं। लद्दाख में अभी तक यह आंकड़ा 13 तक है। इस बीच पुंछ में कर्फ्यू लगा दिया गया। जम्मू-कश्मीर के साथ ही रियासी में सीमाएं सील रहीं। मंगलवार दूसरे दिन लखनपुर से लद्दाख तक लॉकडाउन रहा। सड़कों पर लोगों की आवाजाही रोकने के लिए पुलिस ने सख्ती दिखाई।
लद्दाख : दो मरीज ठीक हुए, अब 11 मामले
कोरोना वायरस की दहशत के बीच राहत की खबरें भी मिल रही हैं। लद्दाख में कुल 13 पाजिटिव मामलों में से दो मरीज ठीक हुए है, जिससे अब 11 मामले रह गए हैं। जीएमसी जम्मू में भर्ती एक 16 वर्षीय किशोरी को पहले ही छुट्टी दी जा चुकी है।
महाराष्ट्र : एक और ने तोड़ा दम, अब तक 107 मरीज
देश में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र में मंगलवार को एक और मरीज ने दम तोड़ दिया। मुंबई में 65 वर्षीय कोरोना संक्रमित बुजुर्ग की मौत हो गई। यह राज्य में तीसरी मौत है। बीएमसी ने बताया, यह व्यक्ति हाल ही में यूएई से लौटा था और उसे 20 मार्च को बुखार, खांसी की शिकायत के बाद कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। साथ ही मुंबई में पांच, पुणे में तीन, अहमदनगर और सतारा में एक-एक नया मरीज मिलने के बाद यहां कुल संक्रमितों की संख्या 107 पहुंच गई है।
मणिपुर : 23 वर्षीय युवती पॉजिटिव, लगा कर्फ्यू, पूर्वोत्तर का पहला मामला
मणिपुर में 23 वर्षीय युवती को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। पूर्वोत्तर में कोरोना वायरस का यह पहला मामला है। युवती के संक्रमित मिलने के बाद पूरे राज्य में मंगलवार रात से 31 मार्च तक कर्फ्यू लगाने घोषणा कर दी गई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, युवती इंफाल पश्चिम जिले के थांगमेईबंद लोऊरंग पुरेल इलाके की रहने वाली है। वह 18 मार्च को लंदन से दिल्ली लौटी थी।
केरल : पांच जिलों में धारा 144 लागू, अब तक 105 पॉजिटिव
तिरुवनंतपुरम। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार ने पांच जिलों में धारा-144 लगाने का फैसला किया है। राज्य में मंगलवार को 14 नए मरीज मिले, जिसके बाद संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 105 हो गई है। राज्य सरकार ने मंगलवार को कासरगोड, कोझिकोड, वायनाड, मालाप्पुरम और एर्नाकुलम में धारा-144 लगा दी गई है, वहीं पथनमथिट्टा जिले में जल्द इसे लागू किया जाएगा। सरकार ने लोगों को चेताया है कि वे बिना वजह बाहर न निकलें।


जरूरी सामान की पूर्ति का दावा

मुंबई। देशभर में 21 दिन के लॉकडाउन के पहले दिन देश के सभी राज्यों में सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। महाराष्ट्र में लॉकडाउन की स्थितियों के बीच प्रदेश सरकार ने आम लोगों को हर जरूरी सामान की पूरी उपलब्धता का दावा किया है। लोगों से घर में रहने की अपील करते हुए सीएम उद्धव ने बुधवार को एक खास टिप्पणी करते हुए कहा है कि विवाहित लोग घर में रहें और अपनी पत्नी की बात सुनें।


सीएम उद्धव ने बुधवार को एक खास मेसेज शेयर करते हुए कहा, मैं अपने घर में हूं और मिसेज सीएम की बात सुन रहा हूं। आप लोग भी घर में रहें और अपनी होम मिनिस्टर (पत्नी) की सुनें और किसी भी तरह से पैनिक ना करें। महाराष्ट्र में आम लोगों की जरूरत का सभी सामान उपलब्ध है। उद्धव ने यह बात ट्विटर पर महाराष्ट्र के लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के कुल 116 मामले सामने आए हैं। कोरोना पॉजिटिव होने के 9 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें सांगली जिले में 5 और मुंबई में मिले चार केस शामिल हैं।


उद्धव ने अपने संबोधन के दौरान महाराष्ट्र के लोगों को गुड़ी पड़वा की शुभकामना दी। संबोधन के दौरान सीएम उद्धव ने लोगों से कहा कि महाराष्ट्र में आम लोगों के जरूरत के सामान की पूरी उपलब्धता है और लोगों को घबराने की कोई जरूरत नहीं है। उद्धव ने आम लोगों से घर में रहने की अपील की और कहा कि लॉकडाउन का फैसला उनके स्वास्थ्य को देखते हुए किया गया है।


राम जन्मभूमि में अस्थाई मंदिर शिफ्ट

नई दिल्ली। श्री राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला अस्थाई मंदिर में शिफ्ट हो गए। नवरात्रि के पहले दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवान श्री राम लला को टेंट से लेकर अस्थायी फाइबर मंदिर में विराजमान कराया। बीते 28 सालों से टेंट में विराजमान रामलला की शिफ्टिंग से पहले अस्थायी मंदिर का शुद्धिकरण किया गया। नए मंदिर में शिफ्टिंग के बाद अब मूल गर्भगृह पर राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू होगा। भगवान श्री रामलला को जिस सिंहासन पर विराजमान कराया गया है, वह चांदी का है, और उसका वजन 9.5 किलोग्राम है। रामलला तीनों भाइयों भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न और हनुमान जी के साथ अस्थायी मंदिर में विराजमान हुए। वैदिक मंत्रोउच्चरण के साथ रामलला अस्थाई भवन में विराजमान हुए। श्री रामलला की भव्य आरती हुई। योगी आदित्यनाथ ने रामलला को 11 लाख रुपए का चेक सौंपा।


हर जिले में कंट्रोल रूम, 24 घंटे काम

कंट्रोल रुम सातों दिन 24 घंटे करेंगे काम


स्वास्थ्य एवं दैनिक जरुरतों संबंधित समस्याओं के लिए कर सकेंगे संपर्क


रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर राज्य शासन द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के उपायों के तहत राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के सभी 28 जिलों में कंट्रोल रुम स्थापित किए गए हैं। इनके हेल्प लाइन नंबर आम जनता के लिए जारी किए गये हैं। ये सभी कंट्रोल रुम सातों दिन 24 घंटे काम करेंगे। आम जनता को किसी प्रकार की दिक्कत होने पर इन कंट्रोल रुमों के नंबर पर संपर्क किया जा सकता है।
ज्ञातव्य है कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए पूरे देश में 21 दिनों का लाॅक डाउन लागू किया गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी नागरिकों से लाॅक डाउन की बंदिशों का कड़ाई से पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि अपने और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए घरों पर ही रहें। सिर्फ अत्यावश्यक कार्यों के लिए ही बाहर निकले। जरुरत होने पर कंट्रोल रुम के फोन नंबर पर संपर्क करें। कोरोना संक्रमण के लिये राज्य स्तर पर हेल्प लाइन नंबर 104 है। इसके साथ ही विभिन्न जिलों के कंट्रोल रुम के हेल्प लाइन नंबर इस प्रकार हैं-


 रायपुर – 100, 07714287199, 9479191099, पुलिस कंट्रोल रुम-101, फायर सर्विस- 112
 कोण्डागांव – 07786242180
 जशपुर – 07763223281
 कबीरधाम – 07741-232609
 कंाकेर – 07868-224610, 09165050224
 दंतेवाड़ा – 07856-252412, 9479150879
 कोरिया – 07836232330, 9406045758
 कोरबा – 07759-228548
 मुंगेली – 09111420188
 बालोद – 07749223950, 07828200007
 बिलासपुर – 07752-251000
 बीजापुर – 07853220023
 धमतरी – 07722-238479, 07722-237779
 बेमेतरा – 07824222150
 दुर्ग – 0788-2210773
 जांजगीर – 07817222123
 नारायणपुर – 07781252245, 07587399311
 सूरजपुर – 09111033446, 09301250252
 बलौदाबाजार- भाटापारा – 07727-223697
 सरगुजा – 093402-67340, 089899-36378
 गरियाबंद – 07706-241288, 062671-88110
 सुकमा – 07864284012
 राजनांदगांव – 7000210932
 बस्तर – 07782-223122
 रायगढ़ – 07762-223750
 गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही-9479190097
 बलरामपुर-रामानुजगंज-07831-273012, 07831-273177
 महासमुंद-6267770531


पत्रकार की बेटी में वायरस की पुष्टि

भोपाल। एमपी की राजधानी भोपाल में बुधवार को कोरोनावायरस के संक्रमण का दूसरा मामला सामने आया है। रविवार को प्रोफेसर कॉलोनी में पॉजिटिव मिली लड़की के पिता में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। लड़की के पिता पत्रकार हैं। बीते दिनों एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल एक पत्रकार की बेटी में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। पत्रकार की बेटी के कोरोना से संक्रमित होने की यह खबर इसलिए भी अहम है क्योंकि बतौर मुख्यमंत्री इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कमलनाथ सहित उनके कई मंत्री शामिल थे।


बतादें, कमलनाथ ने 20 मार्च को अपने निवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस रखे थे। इस प्रेस वार्ता में कोरोना पॉजिटिव मरीज के पिता और पेशे से पत्रकार भी पहुंचे थे। इस वार्ता में उन्होंने अपने इस्तीफे की घोषणा की थी। इस पत्रकार वार्ता में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय समेत कांग्रेस के कई  विधायक और प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों समेत करीब 200 पत्रकार मौजूद थे।  ऐसी संभावना जताई जा रही है कि जितने भी लोग उस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद थे, उन सबकी जांच हो सकती है और उन्हें क्वारंटाइन किया जा सकता है। खबर है कि प्रशासन उस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद सभी मंत्रियों और पत्रकारों की सूची तैयार कर रही है।


मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने खुद को क्वारांटाइन (अलग) कर लिया है। उनके राजनीतिक सलाहकार आरके मिगलानी की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद उन्होंने यह कदम उठाया है। तत्कालीन मुख्यमंत्री ने 20 मार्च तो अपने आवास पर एक पत्रकार वार्ता की थी। जिसमें से एक पत्रकार की बेटी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। माना जा रहा है कि प्रेस वार्ता में मौजूद सभी पत्रकारों को भी क्वारांटाइन में जाना पड़ेगा।


कमलनाथ की इस प्रेस वार्ता में कोरोना पॉजिटिव मरीज के पिता और पेशे से पत्रकार केके श्रीवास्तव भी पहुंचे थे। इस वार्ता में उन्होंने अफने इस्तीफे की घोषणा की थी। इस पत्रकार वार्ता में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सहित कांग्रेस के सभी विधायक और प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों सहित लगभग 200 पत्रकार मौजूद थे।


आदेश विरुद्ध गोली मारने का आदेश

हैदराबाद। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन पर तेलंगाना सरकार ने सख्ती बरतने की चेतावनी दे दी है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने लोगों से लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने को कहा है। उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं होता है तो गोली मारने का आदेश देना पड़ेगा। बता दें कि कोरोना से अब तक देश भर में 562 लोग संक्रमित हो चुके हैं। मुख्यमंत्री केसीआर ने कहा कि 'अमेरिका में लॉकडाउन के लिए सेना सड़कों पर है। अगर यहां लोग लॉकडाउन का पालन नहीं करते हैं तो फिर ऐसी स्थिति खड़ी हो सकती है, जहां हमें कर्फ्यू और देखते ही गोली मारने का आदेश देना पड़ेगा।' उन्होंने कहा कि मैं लोगों से अपील करता हूं कि ऐसी परिस्थिति न आने दें। मुख्यमंत्री ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 'किसी भी कीमत पर किसी को सड़क पर आना नहीं है। अगर किसी को परेशानी है तो वह 100 नंबर पर डायल करें। वाहन उनके घर तक पहुंचेगा और उनकी मदद की जाएगी।' उन्होंने सभी जन प्रतिनिधियों को अपने-अपने क्षेत्र में जाकर पूरे राज्य में बंदी सुनिश्चित करने के लिए प्रशासन की सहायता करने को कहा। मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी कि घर में पृथक रह रहे लोगों का पासपोर्ट जब्त किया जा सकता है ताकि उनकी आवाजाही पर बंदिश सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने इन उपायों की घोषणा पृथक रखे गए लोगों द्वारा नियमों के उल्लंघन की संभावना के मद्देनजर की। तेलंगाना में कोविड-19 के तीन नए मामले आने के साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 39 हो गई है।


ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना

नवरात्र पर्व के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना की जाती है। साधक इस दिन अपने मन को माँ के चरणों में लगाते हैं। ब्रह्म का अर्थ है तपस्या और चारिणी यानी आचरण करने वाली। इस प्रकार ब्रह्मचारिणी का अर्थ हुआ तप का आचरण करने वाली। इनके दाहिने हाथ में जप की माला एवं बाएँ हाथ में कमण्डल रहता है। यह जानकारी भविष्य पुराण से ली गई हे ।


माँ दुर्गाजी का यह दूसरा स्वरूप भक्तों और सिद्धों को अनन्तफल देने वाला है। इनकी उपासना से मनुष्य में तप, त्याग, वैराग्य, सदाचार, संयम की वृद्धि होती है। जीवन के कठिन संघर्षों में भी उसका मन कर्तव्य-पथ से विचलित नहीं होता। माँ ब्रह्मचारिणी देवी की कृपा से उसे सर्वत्र सिद्धि और विजय की प्राप्ति होती है। दुर्गा पूजा के दूसरे दिन इन्हीं के स्वरूप की उपासना की जाती है। इस दिन साधक का मन ‘स्वाधिष्ठान ’चक्र में शिथिल होता है। इस चक्र में अवस्थित मनवाला योगी उनकी कृपा और भक्ति प्राप्त करता है।


इस दिन ऐसी कन्याओं का पूजन किया जाता है कि जिनका विवाह तय हो गया है लेकिन अभी शादी नहीं हुई है। इन्हें अपने घर बुलाकर पूजन के पश्चात भोजन कराकर वस्त्र, पात्र आदि भेंट किए जाते हैं। प्रत्येक सर्वसाधारण के लिए आराधना योग्य यह श्लोक सरल और स्पष्ट है। माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में द्वितीय दिन इसका जाप करना चाहिए।


या देवी सर्वभू‍तेषु माँ ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।


अर्थ : हे माँ! सर्वत्र विराजमान और ब्रह्मचारिणी के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ।


सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सावधान रहें, सतर्कता बरतें।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मार्च 26, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-227 (साल-01)
2. बृहस्पतिवार, मार्च 26, 2020
3. शक-1942,चैैत्र-शुक्ल पक्ष, तिथि- दूज, संवत 2077


4. सूर्योदय प्रातः 06:20,सूर्यास्त 06:38
5. न्‍यूनतम तापमान 17+ डी.सै.,अधिकतम-30+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


चिकित्सा अधिकारी को प्रभाव से निलंबित किया

मनोज सिंह ठाकुर         उज्जैन। मध्यप्रदेश के उज्जैन संभागायुक्त ने टीकाकरण महाअभियान के दौरान अनुपस्थित रहने पर एक चिकित्सा अधिकारी को तत्क...