रविवार, 7 जून 2020

8 जून को नहीं खोला जाएगा मंदिरः ट्रस्ट

शिवम सिंह राजपूत


रतनपुर। सोमवार से देशभर के मंदिर करीब ढाई महीने बाद खुलेंगे ,लेकिन अंचल के सबसे प्रसिद्ध मंदिर रतनपुर महामाया मंदिर में देवी के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को अभी और प्रतीक्षा करनी होगी। महामाया मंदिर ट्रस्ट ने फैसला लिया है कि मंदिर को दर्शनार्थियों के लिए 8 जून को नहीं खोला जाएगा, इसके बजाय मंदिर को 15 जून से खोलने की तैयारी ट्रस्ट कर रहा है ।इस संबंध में महामाया मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों की अहम बैठक 10 जून को आयोजित की जाएगी । इस बीच रतनपुर के छोटे-बड़े कई मंदिर खुल जाएंगे जहां की व्यवस्थाओं का आकलन करने के बाद ही महामाया मंदिर ट्रस्ट कुछ अहम फैसले ले सकता है।


 


शासन के गाइडलाइन को फॉलो करते हुए महामाया मंदिर ट्रस्ट ने भी दर्शनार्थियों के लिए कुछ नियम बनाए हैं। सभी को मास्क के साथ ही मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा तो वही प्रवेश से पहले हैंड सैनिटाइज करना अनिवार्य होगा । दर्शनार्थियों को अपने साथ प्रसाद, फूल और चढ़ावे के लिए कुछ भी लाने की अनुमति नहीं होगी। वही मंदिर में प्रसाद का वितरण भी नहीं होगा। मंदिर की प्रतिमाओं को स्पर्श करने की अनुमति भी नहीं होगी। एक साथ मंदिर में कितने लोगों को प्रवेश दिया जाएगा यह संख्या भी जल्द ही तय कर ली जाएगी। मंदिर में 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों और 65 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। वहीं एक नियमित अंतराल से मंदिर को सैनिटाइज भी कराया जाएगा। मंदिर में प्रवेश से पहले श्रद्धालुओं का थर्मल टेंपरेचर टेस्ट भी किया जाएगा। यह नियम केवल महामाया मंदिर पर ही नहीं बल्कि ट्रस्ट द्वारा संचालित अन्य सभी मंदिरों पर भी लागू होगा, जिसमें लखनी देवी मंदिर भी शामिल है।


65000 यात्रियों ने भरी घरेलू 'उड़ान'

नई दिल्ली। नियमित घरेलू यात्री विमान सेवा 25 मई को दोबारा शुरू होने के बाद से शनिवार को पहली बार 65 हजार से अधिक यात्रियों ने इनमें सफर किया। नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने रविवार को बताया कि दुबारा उड़ानें शुरू होने के बाद 13वें दिन 06 जून को 674 उड़ानों में 65,080 यात्री अपने गंतव्य तक पहुँचे।


एक दिन पहले की तुलना में हालांकी उड़ानों की संख्या कम रही, लेकिन यात्रियों की संख्या बढ़कर पिछले 13 दिन में पहली बार 65 हजार के पार पहुँची है। इससे पहले पांच जून को कुल 697 उड़ानें रवाना हुईं जिनमें 64,500 यात्री अपने गंतव्य तक पहुँचे थे जबकि एक जून को 692 उड़ानों में 64,651 यात्रियों ने सफर किया था। कोविड-19 महामारी का संक्रमण नियंत्रित करने के लिए सरकार ने 25 मार्च से देश में घरेलू उड़ानों के परिचालन पर रोक लगा दी थी। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन 22 मार्च से ही बंद है। केंद्र सरकार ने नये दिशा-निर्देशों के साथ 25 मई से एक-तिहाई घरेलू यात्री उड़ानों के परिचालन की अनुमति दी है।


अनलॉक-02 के संबंध में मीटिंग, निर्देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार से अनलाॅक के दूसरे चरण में सभी अस्पतालों का नियमित निरीक्षण करने और राजस्व संबंधी गतिविधि को तेज करने आज आदेश दिया। आदित्यनाथ रविवार को कल से शुरू होने वाले दूसरे अनलाक के बारे में अपने सरकारी आवास पर अधिकारियों से बात कर रहे थे।


उन्होंने कहा कि कोविड एवं नाॅन कोविड अस्पतालों का नियमित निरीक्षण किया जाए और क्वारंटीन सेन्टर तथा कम्युनिटी किचन में पुख्ता इंतजाम किया जाय। सभी जिलों में जिलाधिकारियों के सहयोग के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं, उनसे समन्वय बनाते हुए काम होने चाहिये।


उन्होंने कहा कि सभी मण्डलायुक्त अपने-अपने मण्डलों में विकास व राजस्व सम्बन्धी गतिवधियों को आगे बढ़ाने के लिए समीक्षा करें और राजस्व प्राप्ति में तेजी लायें। मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्माण कार्यों के शुरू होने के बाद एक्सप्रेस-वे, मेडिकल काॅलेज, विश्वविद्यालय, सड़क, नहर इत्यादि के निर्माण कार्यों में श्रमिकों को रोजगार दिया जा सकता है।उद्योग, कृषि, उद्यान, निर्माण आदि के क्षेत्र में रोजगार की सभी सम्भावनाओं को तलाशा जाना चाहिये। केन्द्र एवं राज्य सरकार की अनेक योजनाओं में श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जा सकता है, इससे उत्तर प्रदेश का नव निर्माण हो सकेगा। उन्हाेंने आदेश दिया कि 15 जून से श्रमिकों को रोजगार देने के सम्बन्ध में व्यापक कार्य योजना बना ली जाए।सभी श्रमिकों/कामगारों को भरण-पोषण भत्ता व राशन किट अवश्य दी जाए। उन्होंने कहा कि श्रमिकों को किराए के आवास उपलब्ध कराने के लिए केन्द्र सरकार की योजना के तहत लाभान्वित करने के सम्बन्ध में कार्य योजना तैयार कर ली जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर आगरा, मेरठ, अलीगढ़, मुरादाबाद, गौतमबुद्ध नगर तथा फिरोजाबाद के मेडिकल काॅलेजों में विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।


 

संक्रमण के सामान्य लक्षणों में शामिल

खांसी, गले में दुखन और जलन के साथ सांस लेने में तकलीफ होना कोरोना संक्रमण के सामान्य लक्षणों में शामिल हैं। इस तरह की दिक्कत होने पर लोग अक्सर बिना डॉक्टर की सलाह के कफ सिरप का सेवन कर लेते हैं। इस बात में कोई शक भी नहीं है कि कफ सिरप लेने से इन दिक्कतों में आराम महसूस होता है। लेकिन यह बात तब फिट बैठती है, जब आपको सामान्य कारणों या बदलते मौसम के कारण गले से जुड़ी इस तरह की समस्याएं हो रही हों।
क्यों नहीं लेनी है कफ सिरफ?
-हम सभी जानते हैं कि इटली और अमेरिका में कोरोन वायरस ने सबसे अधिक तबाही मचाई है। इन देशों में कोरोना के संक्रमण को अधिक घातक इसलिए भी माना जा रहा है क्योंकि ये विकसित देश हैं और इनके पास अपने नागरिको को देने के लिए सभी जरूरी सुख-सुविधाएं हैं। लेकिन फिर भी ये देश इस संक्रमण पर काबू नहीं कर पाए।
-साथ ही कोरोना हम सभी के लिए एकदम नया वायरस था और इसके बारे में शुरुआत में किसी के पास कोई जानकारी नहीं थी। यही वजह है कि आज भी कोरोना पर लगातार रिसर्च हो रही हैं। हाल ही कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इस बात पर परीक्षण किया कि यदि कोरोना से संक्रमित कोई व्यक्ति गले के दर्द और खांसी से राहत पाने के लिए कफ सिरप का उपयोग करता है तो उसकी सेहत पर कैसा असर पड़ता है।
-इस शोध को कोरोना संक्रमित अफ्रीकी बंदरों पर किया गया। क्योंकि इन बंदरों पर किसी भी दवाई का असर ठीक उसी तरह होता है, जैसे इंसान पर किसी दवा का असर होता है। शोध टीम से जुड़े प्रोफेसर ब्रिएन का कहना है कि जब हमें शोध में इस तरह के परिणाम देखने को मिले कि बंदरों में कफ सिरप के उपयोग से कोरोना वायरस की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है, तब हमें लगा कि सभी लोगों को इस बात की जानकरी होनी चाहिए कि कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें बिना डॉक्टर की सलाह के कफ सिरप का सेवन नहीं करना है।
कफ सिरप से क्यों बढ़ रहा कोरोना?
-कोरोना संक्रमित मरीजों द्वारा अगर ऐसी कफ सिरप का सेवन कर लिया जाता है, जिसे बनाने में डेक्सट्रोमेथॉर्फेन ड्रग का उपयोग किया गया हो तो यह दवाई मरीज की समस्या कम करने की जगह बढ़ा सकती है।
-ऐसा इसलिए होता है क्योंकि डेक्सट्रोमेथॉर्फेन ड्रग हमारे शरीर में पहुंचने के बाद जिस तरह से रिएक्ट करती है और काम करती है, वह सब कोरोना को रेप्लिकेशन में मददगार होता है। यानी इस ड्रग की मदद से कोरोना वायरस को अपनी संख्या तेजी से बढ़ाने में मदद मिलती है।
-शोधकर्ताओं का यह भी कहना है कि कोरोना से संक्रमित होने के बाद अगर मरीज इस तरह की कफ सिरप का उपयोग करते हैं तो यह बात तो तय है कि उनके शरीर में कोरोना वायरस में वृद्धि होगी। लेकिन यह जरूरी नहीं है कि हर मरीज पर वायरस की संख्या में वृद्धि का एक जैसा असर दिखाई दे।
डेक्सट्रोमेथॉर्फेन ड्रग क्या है?
-डेक्सट्रोमेथॉर्फेन ड्रग एक ऐसा कम्पोजिशन है, जिसका सेवन करने पर हमें खांसी की समस्या में तेजी से आराम मिलता है। यही वजह है कि आमतौर पर सभी कफ सिरप बनाने में इस ड्रग का उपयोग किया जाता है।


शोधकर्ताओं की यह टीम कोरोना के दौरान मरीज में दिख रहे लक्षणों के आधार पर इस बात की जांच कर रही है कि जब कोरोना से पहले इस तरह की बीमारियों को ठीक करने के लिए जिन दवाओं का उपयोग किया जाता है, उन दवाओं का असर कोरोना के मरीजों पर किस तरह हो रहा है।
-टीम का कहना है कि ऐसी कई ड्रक्स का कलेक्शन तैयार किया गया है, जो वायरस की वृद्धि को रोकने का काम करती हैं। अब कोरोना संक्रमित जानवरों पर उन ड्रग्स का ट्रायल किया जा रहा है और जानने का प्रयास किया जा रहा है कि कोरोना संक्रमण के दौरान ये दवाएं शरीर में जाने के बाद किस तरह से रिऐक्ट करती हैं।


लॉक डाउन में भी तेज रफ्तार का कहर

अतुल त्यागी 

 

लॉक डाउन में भी तेज रफ्तार का कहर जारी तेज रफ्तार ने ली बाइक सवार की जान।

हापुड़। आपको बता दें कि हापुड़ जनपद के थाना गढ़मुक्तेश्वर प्रभारी निरीक्षक मुकेश कुमार ने बताया कि दिन निकलते ही ली तेज रफ्तार ने बाइक सवार की जान मामला  हापुड़ जनपद के थाना गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र के स्याना चोपला का है। जहा बाइक पर सवार होकर किसी कार्य से जा रहे व्यक्ति को तेज रफ्तार कैंटर ने जोरदार टक्कर मार दी टक्कर इतनी जबरदस्त थी बाइक सवार व्यक्ति की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई।सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची थाना गढ़मुक्तेश्वर पुलिस ने बाइक सवार व्यक्ति को लिया अपने कब्जे में पीएम के लिए भेजा बाइक सवार की मौत की सूचना परिवार के लोगों को मिलते ही परिवार के लोगों में मचा कोहराम परिजनों का रो रो कर बुरा हाल स्याना चोपला के पास गढ़मुक्तेश्वर नेशनल हाईवे का मामला।

संक्रमण के मामले में 5वे नंबर पर भारत

कोरोना संक्रमण के मामले में दुनिया में पांचवें नंबर पर भारत


नई दिल्ली। देश में कोरोना का कहर जारी है। भारत स्पेन को पीछे छोड़कर कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से सबसे बुरी तरह से प्रभावित दुनिया का पांचवां देश बन गया है। देश में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 9971 नए मरीज मिले हैं जबकि 287 लोगों की मौत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह तक जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में फिलहाल कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 24,6,628 हो चुकी है। इनमें 120,406 एक्टिव केस हैं जबकि 11,9,293 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं। अमेरिका की जाॅन्स हाॅपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका, ब्राजील, रूस, ब्रिटेन के बाद कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित देशों की सूची में भारत अब पांचवें स्थान पर आ गया है। जाॅन्स हाॅपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में 1,920,061 कोरोना मरीज, ब्राजील में 672,846 मरीज, रूस में 458,102 मरीज, ब्रिटेन में 286,294 मरीज हो गए हैं। जबकि भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 लाख 46 हजार को पार कर चुकी है। बहरहाल, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के डायरेक्टर डाॅक्टर रणदीप गुलेरिया ने कोरोना संक्रमण के फैलाव पर चिंता जताई है। डाॅक्टर गुलेरिया का दावा है कि कोरोना वायरस का पीक पर आना अभी बाकी है। अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग समय पर कोरोना वायरस के मामले बढ़ सकते हैं। कम्युनिटी ट्रांसफर पर एम्स के डायरेक्टर ने कहा कि दिल्ली-मुंबई हाॅटस्पाॅट हैं, वहां हम कह सकते हैं कि लोकल ट्रांसमिशन हो रहा है। पूरे देश में ऐसी स्थिति नजर नहीं आ रही है। 10 से 12 ऐसे शहर हैं, जहां पर लोकल ट्रांसमिशन के चांसेज हैं।70 से 80 केस एम्स में ऐसे ही आ रहे हैं। कोरोना वायरस से चलते देशव्यापी लाॅकडाउन अब धीरे-धीरे अनलाॅक की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन से कहीं न कहीं फायदा हुआ है। केस एकदम से कम होने लगे। गरीबों की मदद के लिए लाॅकडाउन खोलना अनिवार्य हो गया था। डाॅक्टर गुलेरिया ने कहा कि लाॅकडाउन खुल रहा है तो हर व्यक्ति की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। ऐसे में लोगों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाना जरूरी होगा।


सभी बड़े नेता रैलियों को संबोधित करेंगे

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मुख्यालय पर बने स्टेज से पार्टी के राष्ट्रीय स्तर के सभी बड़े नेता वर्चुअल रैलियों को संबोधित करेंगे। देश भर में कुल 750 वर्चुअल रैलियां होंगी। जिसमें से अधिकांश रैलियां दिल्ली के इसी स्टेज से ही होंगी। गृहमंत्री अमित शाह की रविवार को बिहार जनसंवाद रैली से इसकी शुरूआत हो रही है। इसके अगले दिन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी रैलियों को संबोधित करेंगे।


चुनावी राज्यों बिहार और पश्चिम बंगाल पर बीजेपी का खास फोकस है। यहां ज्यादा से ज्यादा रैलियां होंगी। इन रैलियों के जरिए पार्टी नेता मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक साल पूरे होने की उपलब्धियां गिनाने के साथ विरोधी दलों पर प्रहार करेंगे। पार्टी सूत्रों ने बताया कि आठ जून को तीन बड़ी वर्चुअल रैलियां दिल्ली के स्टेज से होंगी। जिन्हें जनसंवाद रैली नाम दिया गया है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा आठ जून को 11 बजे गुजरात की वर्चुवल रैली को संबोधित करेंगे तो गृहमंत्री अमित शाह शाम चार बजे ओडिशा की जनता को संबोधित करेंगे। वहीं शाम छह बजे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह महाराष्ट्र की जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। अगले दिन नौ जून को गृहमंत्री अमित शाह 11 बजे से पश्चिम बंगाल की वर्चुअल रैली को संबोधित करेंगे। इन सभी रैलियों को दीन दयाल उपाध्याय रोड स्थित पार्टी मुख्यालय के एक हाल में बने स्टेज से संबंधित नेता संबोधित करेंगे। राष्ट्रीय मुख्यालय के स्टेज को वीडियो लिंक के जरिए संबंधित राज्यों में बने स्टेज से जोड़ा जाएगा। दिल्ली के मंच पर राष्ट्रीय स्तर के नेता और केंद्रीय मंत्री मौजूद रहेंगे तो प्रदेश में बने मंच पर स्थानीय नेताओं को जगह मिलेगी। संबोधन लाइव दिखाने के लिए राज्यों के सभी बूथों पर एलईडी स्क्रीन की व्यवस्था रहेगी। जिससे पार्टी कार्यकर्ता और आम जनता दिल्ली और राज्य मुख्यालय पर मौजूद नेताओं को सुन सकेगी।

भाजपा के एक राष्ट्रीय पदाधिकारी ने कहा कि पार्टी के जितने भी राष्ट्रीय महासचिव हैं, सभी किसी न किसी राज्य के प्रभारी हैं। ऐसे में राष्ट्रीय महासचिव भी दिल्ली के स्टेज से ही अपने राज्यों की वर्चुअल रैलियों में हिस्सा लेंगे। हर राज्य की वर्चुअल रैली में वहां से नाता रखने वाले केंद्रीय मंत्री भी दिल्ली के स्टेज पर मौजूद रहेंगे। सभी केंद्रीय मंत्री दिल्ली के स्टेज से ही रैलियां करेंगे। बड़ी रैलियों में कम से कम एक लाख लोगों को जोड़ने की तैयारी है। कौन सा नेता कब रैली करेगा, इसकी लिस्ट धीरे-धीरे तैयार हो रही है।


मुख्यमंत्री भी करेंगे रैलियां
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक साल पूरे होने के उपलक्ष्य में बीजेपी ने देश भर में कम से कम 750 वर्चुअल रैलियों के आयोजन की तैयारी की है। बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी अपने प्रदेश से लेकर दूसरे प्रदेशों में वर्चुअल रैलियां करेंगे। मुख्यमंत्री अपने राज्य में बने स्टेज से दूसरे राज्यों की वर्चुवल रैलियों को संबोधित करेंगे। केंद्रीय मंत्री, राष्ट्रीय और राज्य स्तर के पदाधिकारियों से लेकर सांसदों और विधायकों से भी अलग-अलग स्तर पर वर्चुअल रैलियां कराने की तैयारी है।


एसपी ने की सभी धर्म-गुरुओं से बैठक

आज रविवार को धार्मिक स्थल खोले जाने के सम्बंध में जिला अधिकारी व एस पी ने की सभी धर्म गुरुओं से बैठक


 

कौशाम्बी। ज़िला मुख्यालय मंझनपुर सभागार में ज़िला अधिकारी मनीष कुमार वर्मा एवं एस पी श्री अभिनन्दन के साथ क़ाज़ी ए शहर कौशाम्बी वरिष्ठ धर्म गुरु हज़रत मुफ़्ती खुशनूद आलम साहब एहसानी और दूसरे धर्मगुरुओं के साथ मीटिंग की और धार्मिक स्थल के खोले जाने के सम्बंध में स्वास्थ मंत्रालय के द्वारा जारी गाइड लाइन्स का पालन करने की अपील की।

शहर काजी कौशाम्बी मुफ़्ती खुशनूद आलम एहसानी ने तमाम जनपद वासियों से अपील किया है कि आप सभी लोग स्वास्थ मंत्रालय के द्वारा जारी गाइड लाइन्स का पालन करें और कोई काम ऐसा ना करें जिससे हमे दिक्कत उठानी पड़े एहतियात करें अपनी हिफाज़त करें और बिला ज़रूरत घर से बाहर न निकले। शहर काज़ी कौशाम्बी मुफ़्ती खुशनूद आलम एहसानी के साथ उनके पुत्र शैख मोहम्मद मियां क़ादरी साथ ही साथ हज़रत मौलाना फज़ले रसूल हबीबी,मौलाना शादाब ख़ुशनूदी,मौलाना मुर्शिद अली हबीबी,मौलाना मुजाहिद हुसैन ,मौलाना अब्दुल कादिर,जनाब रईस अहमद समदा,जनाब इस्तेखार अहमद सैफी, जनाब शैख शोएब, आदि उपस्थित रहे।

सिद्दीकी की भतीजी की अस्पताल में मौत

नई दिल्ली। पूर्व राज्यसभा सदस्य शाहिद सिद्दीकी की भतीजी की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रविवार को मौत हो गई। तेज बुखार और सांस लेने मे परेशानी के बाद शाहिद सिद्दीकी की भतीजी को भर्ती कराया गया था। पूर्व सांसद ने ट्वीट कर सफदरंजग अस्पताल प्रशासन पर उपचार में लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा है कि हालत गंभीर होने के बावजूद न आईसीयू में रखा गया और न ही वेंटिलेटर की सुविधा दी गई।


पूर्व सांसद की भतीजी को इससे पहले दिल्ली के कई अस्पतालों ने भर्ती करने से इंकार कर दिया था, जिस पर उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मदद मांगी थी। बाद में भतीजी को सफदरजंग अस्पताल में किसी तरह से एक बेड हासिल हुआ।

रविवार की शाम भतीजी की मौत होने के बाद पूर्व सांसद ने अपनी तकलीफ को कई ट्वीट के जरिए बयां किया। उन्होंने लिखा, “दुर्भाग्य से मेरी भतीजी की सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई। मैं आपकी चिंताओं के लिए धन्यवाद देता हूं, लेकिन अस्पताल की स्थिति बहुत दयनीय है।”


उन्होंने एक और ट्वीट कर कहा, “उसे न तो आईसीयू की सुविधा मिली और न ही बहुत गंभीर होने के बावजूद वेंटिलेटर पर रखा गया। अस्पताल वाले भी लोगों को बचाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं। मुझे दिल्ली के लोगों पर तरस आता है। यह समय राजनीति और दोषारोपण करने का नहीं है। दिल्ली में राज्य और केंद्र के बीच घनिष्ठ समन्वय की जरूरत है।” इससे पहले शाहिद सिद्दीकी ने शनिवार को ट्वीट कर भतीजी को कई अस्पतालों की ओर से भर्ती न करने की शिकायत केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से की थी। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, “मेरी भतीजी को तेज बुखार और सांस की समस्या हो रही है। हास्पिटल से लेकर हास्पिटल तक भाग रहे हैं। कोई एडमिट नहीं कर रहा है। यह किस तरह का सिस्टम चल रहा है।”


धमकीः कार्यलय में हो रही अवैध वसूली

जेल भेजने की धमकी दे कर डूडा कार्यालय में हो रही लाभार्थियों से अवैध वसूली

 

घूस की रकम ना मिलने पर दोनों आँख के अंधे दम्पत्ति को गाली गलौच कर डूडा अधिकारी ने कार्यालय से भगाया

 

कौशांबी। प्रधानमंत्री आवास योजना में जिला परियोजना अधिकारी डूडा और उनके अधीनस्थों की आवास योजना में घूसखोरी की वसूली जिले में चर्चा का विषय बनी हुई है। पात्रों का आवास भले ही ना बने पात्रों के खाते में धनराशि भेजे जाने में तमाम अवरोध उत्पन्न किया जाए लेकिन अपात्रों को जिला परियोजना अधिकारी डूडा कार्यालय से आवास योजना की धनराशि आसानी से उपलब्ध कराई जा रही है। इसी के चलते डूडा कार्यालय के सर्वेयर और कर्मचारियों से पूर्व में भी कई बार लाभार्थियों से विवाद हो चुका है और पहले भी तमाम आवास योजना के लाभार्थियों ने डूडा के परियोजना अधिकारी पर तमाम संगीन आरोप लगाए हैं।

इसी तरह का एक मामला फिर इन दिनों सुर्खियों में है 3 जून को मंझनपुर कस्बे के रहने वाले दोनों आंख से अंधे लालचंद अपनी पत्नी नीतू वर्मा के साथ डूडा कार्यालय पहुंचे जहां परियोजना अधिकारी से मिल उन्होंने बताया कि पहली क़िस्त उन्हें मिली थी जिस पर उन्होंने मकान का मरम्मत करा लिया लेकिन पैसा कम पड़ गया है इसलिए दूसरी किस्त उनके बैंक खाते में भेज दी जाए इसके पूर्व भी दोनों आंख से अंधा लाल चंद्र और उसकी पत्नी परियोजना अधिकारी से दूसरी किस्त भेजने की फरियाद कर चुके हैं।

लेकिन लाभार्थी के बैंक खाते में दूसरी किस्त विभाग द्वारा नहीं भेजी गई है और तमाम तरह के अवरोध बताकर उन्हें प्रताड़ित परेशान किया जा रहा है दोनों आंख से अंधे लालचंद और उनकी पत्नी का आरोप है कि जब वह 3 जून को डूडा कार्यालय पहुंचे और डूडा के परियोजना अधिकारी से मिले और दूसरी किस्त भेजने की मांग की तो उन्हें स्पष्ट कहा गया है कि मरम्मती करण के कार्य में 25 हजार से 40 हजार तक की घूस की रकम देनी पड़ेगी आरोप है कि अधीनस्थों के माध्यम से आवास योजना के लाभार्थियों से परियोजना अधिकारी डूडा की मौन स्वीकृति पर खुलेआम वसूली हो रही है जो विभाग की व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रहा है। जब दोनों आंख से अंधे गरीब बेसहारा लालचंद ने घूस की रकम देने में असमर्थता जाहिर किया तो उन्हें कार्यालय से गाली-गलौज कर उनके साथ अभद्रता का भगा दिया गया है आरोप है कि डूडा अधिकारी ने अंधे को धमकाते हुए कहा कि यदि रक। नही दो गे तो तुम्हारे ऊपर मुकदमा दर्ज करा कर तुम्हे जेल भेज देंगे और आवास की रकम तुमसे वसूली कराई जाएगी पीड़ित दंपत्ति ने डूडा के अधिकारी और कर्मचारी  से त्रस्त होकर मामले की शिकायत आला अधिकारियों से की है।

इटलीः बीतें 24 घंटे में 72 लोगों की मौत

रोम। इटली में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस से 72 लोगों की मौत होने के साथ मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 33,846 हो गई। नागरिक सुरक्षाा विभाग ने यह जानकारी शनिवार को दी। बताया गया है कि संक्रमण के सक्रिय मामले काफी तेजी से बढ़े हैं। शुक्रवार को सक्रिय मामलों की संख्या जहां 1,099 थी, शनिवार को दोपहर तक 35,877 तक पहुंच गई। वहीं, बीते 24 घंटों के दौरान ठीक होने वाले 1,297 को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। इसके साथ ही संक्रमण से मुक्त होने वालों की संख्या 165,078 तक जा पहुंची।
कोविड-19 से संक्रमण के 270 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमित लोगों की संख्या बीते 24 घंटे में बढ़कर 234,801 हो गई।


डीएमऐ ने केजरीवाल को लताड़ लगाई

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच सीएम अरविंद केजरीवाल ने बेडों की कालाबाजीरी को लेकर अस्पतालों को धमकी दी थी। अब दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन (DMA) ने केजरीवाल को जमकर लताड़ लगाई है। मेडिकल एसोसिएशन ने केजरीवाल द्वारा अस्पतालों को धमकाने और डॉक्टरों को चेतावनी देने पर आपत्ती जताई है और इसकी कड़ी निंदा की है। एसोसिएशन ने सर गंगाराम अस्पताल के अधिकारियों के खिलाफ दर्ज पुलिस मामले की भी निंदा की। बता दें कि अस्पताल पर कोरोना वायरस टेस्ट दर्ज करने के लिए नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है।


DMA ने एक बयान जारी किया है जिसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस महामारी के समय में डॉक्टर पिछले दो महीनों से दिल्ली के लोगों की सेवा कर रहे हैं। डॉक्टर अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों का इलाज कर रहे हैं। लेकिन जिस तरह से उनके साथ पेश आया जा रहा है इससे वे अपमानित महसूस कर रहे हैं।


बयान में यह भी कहा गया है कि अस्पताल स्वास्थ्य सेवा की रीढ़ हैं और रोगियों की सेवा कर रहे हैं। उन्हें दंडित किया जा रहा है और सरकार उनके प्रयासों की प्रशंसा करने की बजाय रोज नए डिक्टेट जारी कर रही है। बयान में कहा गया है कि दिल्ली के डॉक्टर पहले से ही महामारी से अधिक प्रभावित हैं और राज्य सरकार अनावश्यक रूप से स्वास्थ्य सेवाओं पर दबाव डाल रही है।


गौरतलब है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल ने हालही में अस्पतालों को कोरोना मरीजों को बेड देने से मना करने या बेड की कालाबाजारी करने को लेकर चेतावनी दी है। एसोसिएशन ने बयान में कहा, “जिस तरह से सीएम ने कोरोना मरीजों के दाखिले और टेस्ट को लेकर डॉक्टरों को चेतावनी दी है और अस्पतालों को धमकाया है उसकी दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन निंदा करती है।


प्रमुख बाजार बंद रहेगें, गाइडलाइन जारी

बाहरी क्षेत्रों में सशर्त खुलेंगे बाजार, प्रमुख बाजार अभी बंद रहेंगे

 

इंसीडेंट कमांडरों ने तय किया शहर का भविष्य, नई गाइडलाइन आज से जारी

 

मेरठ। जिला प्रशासन ने 8 जून के बाद बाज़ार खोलने पर विचार करने के लिए कहा था। परंतु 5 जून देर रात को ही कंटेनमेंट को नए सिरे से निर्धारित करने के लिए जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने एसडीएम, एडीएम, नगर मजिस्ट्रेट और अपर नगर मजिस्ट्रेटों को इंसीडेंट कमांडर बनाया है। कमांडरों की रिपोर्ट के आधार पर जिलाधिकारी अनिल ढींगरा और एसएसपी अजय साहनी ने बाज़ारों को खोलने के लिए देर रात नई गाइडलाइन जारी करके व्यापारियों और शहरवासियों को बड़ी राहत दी है।  इंसीडेंट कमांडरों ने शहरी क्षेत्र के 15 थाना क्षेत्रों का भविष्य तय किया है। सभी बाजार सुबह 9 से रात्रि 9 बजे तक खुलेंगे।

ये बाजार नहीं खुलेंगे

आबूलेन, सदर के सभी बाजार, बॉम्बे बाजार, शास्त्रीनगर स्थित मार्केट, शास्त्रीनगर सेक्टर 1, 2, 3, 6, एल ब्लॉक, के और जे ब्लॉक, जागृति विहार, सूरजकुंड रोड स्पोर्ट्स मार्केट, फूलबाग, पंचशील, जयदेवी नगर, जैननगर, आनंदपुरी, कलियागढ़ी, गुप्ता कॉलोनी, टीपीनगर, मेट्रो प्लाजा से मेवला फ्लाई ओवर तक दिल्ली रोड, शम्भू नगर, गुरुनानक नगर, शिवशक्ति नगर, माधवपुरम सेक्टर-3, कबाड़ी बाज़ार, ईश्वरपुरी, शताब्दी नगर, बेगमपुल से मेहताब सिनेमा दिल्ली रोड तक, सोतीगंज, लालकुर्ती छोटा और बड़ा बाजार, लालकुर्ती पैंठ मार्केट, बेगमपुल से बच्चा पार्क तक, बुढ़ाना गेट, शाहघासा, कोटला, बागपत गेट, जाटव गेट, प्रहलाद नगर, गोला कुआं, खैरनगर बाजार, खंदक, सुभाष बाजार और गुदड़ी का क्षेत्र कंटेनमेंट और बफर जोन में होने के कारण फिलहाल नहीं खुलेगा।

पूर्ण लॉकडाउन अब खत्म

डीएम अनिल ढींगरा ने बताया कि नई गाइडलाइन में सप्ताह में सोमवार और गुरुवार को होने वाला पूर्ण लॉकडाउन की व्यवस्था अब खत्म हो जायेगी। सब्जी मंडी और नवीन मंडी में गतिविधियां पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक चलेंगी।

अब इस तरह खुलेंगे बाजार

खैरनगर : केवल दवा की दुकानें खुलेंगी। साप्ताहिक बंदी सोमवार छोड़कर एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

कोटला बाजार :  केवल मंगल, गुरू और शनिवार को ही खुलेगा।

गुरुनानक मार्केट, कंकरखेड़ा : एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

रोहटा रोड मार्केट : साप्ताहिक बंदी छोड़कर रोजाना।

कंकरखेड़ा छोटा और बड़ा बाजार : एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

पल्लवपुरम : फेज 1 और 2 में रविवार को छोड़कर रोजाना।

गंगानगर मवाना रोड : रविवार छोड़कर एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

गंगानगर राजेन्द्र नगर : रविवार छोड़कर एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

गंगानगर कसेरू बक्सर : रविवार छोड़कर एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

गंगानगर आईआईएमटी रोड : रविवार छोड़कर एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

साकेत : गोल मार्केट से मवाना बस अड्डे तक रविवार छोड़कर रोजाना।

जेलचुंगी : जेलचुंगी से किला रोड रविवार छोड़कर एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

न्यू किशनपुरा : न्यू किशनपुरा और साबुन गोदाम रविवार छोड़कर एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी।

रेलवे रोड :  केवल रेलवे स्टेशन के प्रवेश द्वार की दुकानें रोजाना खुलेंगी।

रुड़की रोड : कुबेर पब्लिक स्कूल से मोदीपुरम की ओर का सारा बाजार रोजाना खुलेगा रविवार छोड़कर।

चौहान मार्केट और पल्लव टॉवर : एक दिन आगे की ओर का आधा बाजार दूसरे दिन पीछे की ओर का आधा बाजार खुलेगा।

रिठानी : एक दिन बाई पटरी, दूसरे दिन दाई पटरी की दुकानें खुलेंगी।

 

इंसीडेंट कमांडर हर रविवार को करेंगे समीक्षा

मेरठ। जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा कि सभी इंसीडेंट कमांडर अपने-अपने क्षेत्रों की साप्ताहिक रूप से हर रविवार को समीक्षा करेंगे। इसी दौरान ग्रीन जोन में बदले क्षेत्रों को बाहर निकाला जायेगा और नए संक्रमित क्षेत्रों के नामों को हॉटस्पॉट, कंटेनमेंट और बफर जोन में शामिल किया जायेगा।

 

अभी नहीं खुलेगी भगतसिंह मार्केट

मेरठ। हापुड़ अड्डा स्थित भगतसिंह मार्केट के व्यापारियों ने जिला प्रशासन में मांग की कि वे नियमों का पूरी तरह पालन करेंगे। इसलिए दुकानें खोलने की अनुमति दे दी जाए, लेकिन अधिकारियों ने फिलहाल दुकानें खोलने की अनुमति देने से इनकार कर दिया।

 

सोशल डिस्टनसिंग का उल्लंघन हुआ तो वापस होगी राहत

मेरठ। डीएम अनिल ढींगरा और एसएसपी अजय साहनी ने कहा कि छूट तो दी जा रही है, अगर छूट वाले क्षेत्रों में सोशल डिस्टनसिंग का उल्लंघन हुआ और ज्यादा भीड़ जुटी पाई गई तो अनुमोदित गतिविधियों के संचालन को बंद करने पर पुर्नविचार किया जायेगा।

 

संकमण रहित इलाकों में होंगी ये गतिविधियां

मेरठ। कोरोना का कारण संक्रमित इलाकों में मजिस्ट्रेट की ओर से घोषित व्यवस्था के तहत बाजार खुलेंगे। सरकारी दफ्तर 3 शिफ्ट में खुलेंगे। अनुमति के बाद ही उद्योग और निर्माण कार्य शुरू होंगे। शादी कार्यक्रम में 30 से ज्यादा लोग शामिल नहीं होंगे। खेल परिसर खुलेंगे, लेकिन खिलाड़ियों के लिए दर्शकों पर प्रतिबंध रहेगा। रात 9 से सुबह 5 बजे तक वाहनों के आवागमन पर रोक रहेगी। सैलून और ब्यूटी पार्लर नियमों के साथ खुलेंगे। पार्कों की सैर और व्यायाम हो सकेगा, लेकिन इन्हें सुबह और शाम सुबह 5 से 8 बजे तक ही खोला जायेगा।

 

इन बातों का हर हाल में रखना होगा ध्यान

मेरठ।  जिला प्रशासन ने अनलॉक-1 में लोंगों को राहत तो दी है, लेकिन कुछ खास बातों का ख्याल रखना आवश्यक होगा। जैसे दुकानों पर जाने के लिए ग्लब्स और मास्क लगाना आवश्यक है। मोबाइल में आरोग्य सेतु और आयुष एप डाउनलोड करना जरूरी होगा। 65 साल से अधिक, 1 से ज्यादा बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति, गर्भवती महिलाओं और 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे घर में ही रहेंगे।

 

शराब की 88 दुकानों का आज लॉटरी से होगा आवंटन

मेरठ। जिले में देशी व विदेशी शराब की 88 दुकानों का आवंटन आज बचत भवन में लॉटरी पद्धति से किया जायेगा। जिले की 187 दुकानों के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। 169 ने आवेदन किये। 107 ने आवेदन के समय निर्धारित फीस जमा नहीं की। केवल 88 आवेदन ही जांच में सही पाए गए।

 

जरूरतमंदों को आज से नहीं मिलेगा सरकारी खाना

मेरठ। लॉक डाउन के दौरान जरूरतमंदों को अब नहीं मिलेगा सरकारी खाना। शासन के आदेश पर जिला प्रशासन ने सामुदायिक रसोइयां बंद कर दी हैं। आज से खुद ही पकाना होगा खाना। शुरू में रोजाना ड़ेढ लाख तक खाने के पैकेट बनाये गये थे, जिनकी संख्या अब घटकर 17 हजार रह गई थी।

 

जावेद अब्बासी की रिपोर्ट

चोर-पुलिस के बीच हाथापाई, 1 दबोचा

अतुल त्यागी (मेरठ मंडल प्रभारी)

हापुड़।   जनपद हापुड़ के थाना धौलाना क्षेत्र में हथियारबंद चोरों का कहर पुलिसकर्मी और चोरों के बीच हुई काफी देर तक हाथापाई होमगार्ड ने बैंक में चोरी होने से बचाई।

कौन है धौलाना क्षेत्र में जांबाज होमगार्ड जो भिड़ा चोरों से।

चोर धौलाना के सिंडिकेट बैंक में घुसने का कर रहे थे प्रयास पुलिस को हुई आहट घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने चोरों को दबोचा चोरों के दबोचने के दौरान पुलिस से चोरों की हुई काफी देर तक हाथापाई। मिली जानकारी के अनुसार चोरों ने बैंक में लगे ऐसी को तोड़ने का किया प्रयास। दो चोर मौके से भागने में हुए कामयाब। एक चोर को पुलिस ने किया गिरफ्तार बाकी चोरों की तलाश में जुटी पुलिस।

गनीमत रही 112 नंबर पीआरवी पर तैनात पुलिसकर्मियों और होमगार्ड  को बैंक में आहट होने की आवाज सुनाई दी जिसको लेकर पुलिसकर्मियों ने बैंक के चारों तरफ दौड़ कर चोरों की तलाश की उसी दौरान मौके पर पकड़े गए चोरों की काफी देर तक हुई पुलिसकर्मियों से हाथापाई के बाद दो चोर मौके से भागने में हुए कामयाब एक चोर को पुलिस ने पकड़ा पुलिस समय रहते नहीं पहुंचती तो लग सकती थी बैंक को चपत होमगार्ड की वजह से पुलिस को मिली सफलता।

बाईट-सीओ तेजवीर सिंह

केंद्र के अस्पतालों पर कोई रोक नहीं

नई दिल्ली। कोरोना वायरस काल में दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब दिल्ली से बाहरवाले लोगों को दिल्ली में इलाज करवाने में दिक्कतों का सामना करना होगा। फैसले के मुताबिक, दिल्ली में मौजूद दिल्ली सरकार के सरकारी हॉस्पिटल और प्राइवेट हॉस्पिटलों में सिर्फ दिल्ली के लोगों का इलाज (arvind kejriwal on corona Treatment) होगा। वहीं केंद्र सरकार के हॉस्पिटल सभी के लिए खुले होंगे।


केंद्र के हॉस्पिटलों में इलाज पर रोक नहीं
दिल्ली सरकार ने कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया है। अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली सरकार के अंतर्गत आनेवाले हॉस्पिटल और दिल्ली के प्राइवेट हॉस्पिटलों में सिर्फ दिल्ली के लोगों का इलाज होगा। वहीं केंद्र सरकार के हॉस्पिटल जैसे एम्स, सफरदरजंग और राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) में सभी लोगों का इलाज हो सकेगा, जैसा अबतक होता भी आया है। हालांकि, कुछ प्राइवेट हॉस्पिटल जो स्पेशल सर्जरी करते हैं जो कहीं और नहीं होती उनको करवाने देशभर से कोई भी दिल्ली आ सकता है, उसे रोक नहीं होगी। 60 से 70 प्रतिशत बाहर के लोग दिल्ली के हॉस्पिटलों में भर्ती रहे। लेकिन इस वक्त दिल्ली में समस्या है, कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे। ऐसी स्थिति में पूरे देश के लिए हॉस्पिटल खोल दिए तो दिल्ली के लोग कहां जाएंगे। केजरीवाल ने बताया कि पांच डॉक्टर्स की कमिटी बनाई गई थी जिन्होंने माना कि फिलहाल बाहर के मरीजों को रोकना होगा।


केजरीवाल के मुताबिक, कमिटी ने कहा है कि दिल्ली को जून के अंत तक 15 हजार कोविड बेड चाहिए होंगे। फिलहाल दिल्ली के पास 9 हजार बेड हैं और अगर हॉस्पिटल सबके लिए खोल दिए तो ये 9 हजार तीन दिन में भर जाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि 7.5 लाख लोगों ने उन्हें सुझाव दिए, जिसमें से 90 प्रतिशत ने कहा कि फिलहाल कोरोना-कोरोना तक दिल्ली से हॉस्पिटल दिल्लीवालों के लिए होने चाहिए।


दिल्ली में कल से क्या खुलेगा
अरविंद केजरीवाल ने बताया कि 8 जून दिल्ली सील बॉर्डर को खोल रही है। इससे गाजियाबाद, नोएडा, गुड़गांव और फरीदाबाद के लोग आसानी से दिल्ली आ सकेंगे। इसके साथ दिल्ली में रेस्तरां, मॉल और धार्मिक स्थान खोले जाएंगे। फिलहाल होटल और बैंकट हॉल नहीं खुलेंगे।


सीएए का विरोध, 4 पर रासुका लगाई

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ किए गए विरोध प्रदर्शन के संबंध में गिरफ्तार किए गए चार लोगों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लगाया गया है। फरवरी में गिरफ्तार किया गए इन लोगों पर शनिवार को एनएसए लगाया गया। एनएसए के तहत, एक व्यक्ति को बिना किसी आरोप के 12 महीने तक हिरासत में रखा जा सकता है।


अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मुनिराज जी. ने कहा कि एनएसए के अनुसार, चारों को जेल में भेज दिया गया। वर्तमान में जेल में बंद चारों आरोपियों की पहचान इमरान, अनवर, साबिर और फहीमुद्दीन के रूप में की गई है। उनकी जमानत याचिका सत्र अदालत के समक्ष लंबित है। मामले में गिरफ्तार कुछ अन्य लोगों को हाल ही में जमानत दे दी गई थी।


एसएसपी ने कहा, “इनपुट हैं कि अगर यह चार व्यक्ति जमानत पर बाहर आते हैं, तो वे शांति के लिए खतरा पैदा करेंगे इसलिए जिला प्रशासन ने एनएसए के तहत चारों को बुक करने का निर्णय लिया है।”इन चारों को 23 फरवरी को हुई हिंसा में उनकी कथित भूमिका के लिए गिरफ्तार किया गया है। गौरतलब है कि पुराने शहर इलाके में पुलिस और सीएए का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पें हुई थीं। इसमें कम से कम पांच लोग घायल हो गए थे।


दुर्लभ प्रजाति के तीन कछुए बरामद

सोनू 


काशीपुर। काशीपुर में वन विभाग की टीम ने दुर्लभ प्रजाति के तीन कछुओं समेत एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया। उक्त आरोपी कछुओं को बेचने के लिए कुंडेश्वरी में ले जा रहा था।


दरअसल पिछले काफी समय से वन विभाग की टीम को कछुओं की तस्करी की खबर मिल रही थी। बीती सायं मुखबिर की सूचना के आधार पर कुंडेश्वरी रोड पर एक बाइक सवार को वन विभाग की टीम ने रोका तो उसके पास से तीन कछुए बरामद हुये ।पूछताछ करने पर उसने अपना नाम संजीत कुमार पुत्र पच्ऊ सिंह निवासी आलू फार्म काशीपुर बताया। वन क्षेत्राधिकारी ए के सक्सैना ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी संजीत कुमार ने पूछताछ में जानकारी दी कि उससे ये कछुए किसी ने मंगवाए थे जो उसे कुंडेश्वरी में किसी व्यक्ति को बेचने थे। वह व्यक्ति कौन है उसके बारे में आरोपी कोई जानकारी नहीं दे पाया।
वन क्षेत्राधिकारी के मुताबिक इन कछुओं का लोग खाने में और कुछ लोग दवा के लिए जड़ी बनाने भी उपयोग करते हैं। फिलहाल आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।


रुद्रपुर में आधुनिकतम कोविड कंट्रोल रूम

एसईडब्लूएस और केजीसीसीआई के सहयोग से बनेगा आधुनिकतम कोविड कंट्रोल रूम

 

रुद्रपुर। पुलिस मुख्यालय से अनुमति मिलने के बाद एसएसपी ऑफिस के द्वितीय तल पर आधुनिकतम कोविड कंट्रोल रूम का निर्माण होना शुरू हो गया है। जिसको आधुनिक संयंत्रों से सुसज्जित किया जाएगा। जिससे पूरे जनपद के सीसीटीवी, थानों, चौकियों और पुलिस विभाग के कार्यों को ऑनलाइन संचालित किया जाएगा। जिसके निर्माण के लिये सिडकुल एंटरप्रेन्योर वेलफेयर सोसायटी (एसईडब्लूएस )और कुमाऊ गढ़वाल चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (केजीसीसीआई) सहयोग करेगी।


एसएसपी बरिंदरजीत सिंह के प्रयासों से एसएसपी ऑफिस के द्वितीय तल पर आधुनिक कोविड कंट्रोल रूम का निर्माण शुरू हो गया है। जिसके लिए ऊपरी तल पर तोडफ़ोड़ चल रही है। इस आधुनिक कंट्रोल रूम को आधुनिकतम संयंत्रों से सुसज्जित किया जाएगा। जो सीधे तरीके से 112, जिला कंट्रोल रूम और जनपद में जिला प्रशासन के सहयोग से ढाई करोड़ रुपए की लागत से लगने वाले सीसीटीवी कैमरो पर भी नजर रखी जाएगी। इस कंट्रोल रूम को प्राइवेट सेक्टर के कॉरपोरेट आफिस की तर्ज पर बनाया जाएगा। जहां काम के साथ साथ कर्मचारियों के बैठने के लिये अच्छी व्यवस्था होगी। कंट्रोल रूम के निर्माण के लिये शहर के प्रसिद्ध आर्किटेक्ट नरेश चंदोला और एसएसपी ने आपस में विचार विमर्श कर नक्शा बनाया है। जिसके लिये एसएसपी बरिंदरजीत सिंह ने एसईडब्लूएस और केजीसीसीआई के पदाधिकारियों से सहयोग की अपील की थी, जिसको लेकर दोनों संगठनों में हामी भर दी है। जिसके चलते कंट्रोल रूम के निर्माण में जो खर्चा आएगा उसका वहन दोनों संग वहन करेंगे। एसएसपी बरिंदरजीत सिंह का कहना है कि आधुनिक कोविड कंट्रोल रूम के बनने से पुलिस विभाग के कामों में तेजी आएगी। उन्होंने कहा कंट्रोल रूम से जहां पुलिस विभाग के कामों पर नजर रखी जाएगी, वहीं सूचनाओं के आदान प्रदान में भी तेजी आएगी। साथ ही प्राइवेट संस्थानों में लगने वाले सीसीटीवी कैमरों की कमान भी इस कंट्रोल रूम में होगी। यदि किसी का सीसीटीवी कैमरा खराब होता है तो उसको मोबाइल से सूचना भी एसएमएस द्वारा चली जाएगी।


उन्होंने कहा कि कंट्रोल रूम के निर्माण के लिये पुलिस मुख्यालय ने अनुमति दे दी है। एसएसपी श्री सिंह ने कंट्रोल रूम के निर्माण कार्य के लिए सहयोग करने वाले एसईडब्लूएस और केजीसीसीआई के पदाधिकारियों का आभार व्यक्त किया।


क्वॉरेंटाइन सेंटर में 1 की मौत, सनसनी

शेख मकबूल


सुकमा। जिले के दोरनापाल में होम क्वारन्टीन में रहे एक व्यक्ति की मौत के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है। मौत के कारण का पता लगाया जा रहा है फिलहाल प्रशासन ने एहतियातन मृतक के घर के आसपास के इलाके को सील कर दिया है।
बताया जा रहा कि दोरनापाल के वार्ड क्रमांक 07 में बीते दिनों आंध्र प्रदेश से एक परिवार लौटे था। प्रशासन को खबर मिलने के बाद से ही घर के सभी सदस्यों को 14 दिनों तक होम क्वारन्टीन कर दिया गया था,आज देर शाम परिवार के एक सदस्य की मौत हो गई, मौत का कारण क्या है अभी स्पष्ठ नही है। सूचना पर प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुँच कर इलाके को सील कर मृतक के सेंपल ले लिये है। होमक्वारन्टीन में हुई मौत के बाद इलाके में दहसत का माहौल है। प्रशासन ने लोगो से ना घबराने की समझाईस देकर सतर्क रहने की बात कही है।


दूसरी सीट के लिए एक वोट की कमी

नई दिल्ली। गुजरात में राज्यसभा चुनाव के पहले कई विधायकों के इस्तीफे के मद्देनजर कांग्रेस ने रविवार को दावा किया कि राज्य से राज्यसभा की दूसरी सीट जीतने के लिए उसे केवल एक और वोट की जरूरत है, हालांकि पार्टी ने इस मुद्दे पर ज्यादा कुछ कहने से मना कर दिया। गुजरात मामलों के कांग्रेस प्रभारी राजीव सातव ने बताया, “हमें दूसरा सीट जीतने के लिए केवल एक वोट की जरूरत है। हम यहां संख्या पर चर्चा नहीं करने जा रहे हैं, क्योंकि यह सीट जीतने की हमारी रणनीति का हिस्सा है।”


उन्होंने 2017 में राज्यसभा सीट जीतने वाले पार्टी नेता अहमद पटेल के मामले का हवाला देते हुए कहा कि “हम संख्या पर भी काम कर रहे हैं और हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठे हैं।” कांग्रेस ने 2018 के चुनाव में गुजरात में 77 विधानसभा सीटें जीती थीं, लेकिन सदन में पार्टी की ताकत घटकर अब 65 रह गई है।


अपने विधायकों के समूह को एकजुट रखने के लिए, कांग्रेस ने अपने शेष विधायकों को अंबाजी, वड़ोदरा और राजकोट भेज दिया है। कांग्रेस ने शक्ति सिंह गोहिल और भरत सिंह सोलंकी को गुजरात से दो राज्यसभा सीटों के लिए उतारा है। पहली वरीयता के वोट गोहिल को मिलेंगे, लेकिन दूसरी सीट के लिए विरोधी पार्टी भाजपा ने नरहरि अमीन को मैदान में उतारा है।


कांग्रेस की रणनीति सोलंकी की दांवपेच और पूर्व मुख्यमंत्री माधव सिंह सोलंकी की साख पर निर्भर करती है। पहले कांग्रेस ने राजीव शुक्ला को मैदान में उतारा था, जिन्होंने राज्य इकाई द्वारा विरोध किए जाने पर नाम वापस ले लिया और पार्टी ने फिर सोलंकी को उम्मीदवार बनाया।


उत्तराखंड में लगातार मिल रहे हैं नए मरीज

हल्द्वानी। स्वास्थ्य विभाग का हेल्थ बुलेटिन आज दोपहर ढाई बजे जारी हुआ। बुलेटिन के अनुसार आज कुल 38 लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए। दून में दो कोरोना पाजिटिव के खबर की हेल्थ बुलेटिन में पुष्टि कर दी गई है। इस प्रकार प्रदेश में कोरोना पाजिटिव की संख्या 1341 हो गई है। जबकि 75 लोगों को स्वास्थ्य लाभ के बाद घर रवाना किया गया है। सूबे में अब 824 लोग कोरोना के संक्रमण के चलते चिकित्सालयों में भर्ती हैं। बागेश्वर जिले में आज छह कोरोना मरीज सामने आए हैं। चंपावत में एक, देहरादून में तीन, हरिद्वार में 14, नैनीताल में दो, टिहरी गढ़वाल में तीन और दो यूएस नगर में कोरोना के मामले सामने आए हैं। प्राइवेट लैबों में सात लोगों के सैंपल पाजिटिव पाए गए हैं।


अभिनय विशेष प्रभाव की तरहः अरशद

मुंबई। अभिनेता अरशद वारसी ने मुन्ना भाई सीरीज इश्किया फिल्मों, गोलमाल सीरीज, धमाल, जॉली एलएलबी जैसी फिल्मों में विभिन्न किरदारों के साथ दर्शकों और समीक्षकों को खासा प्रभावित किया है। हाल ही में उन्होंने वेब श्रृंखला असुर में भी काम किया है। अभिनेता का कहना है कि वह अपने हर प्रोजेक्ट में अभिनय नहीं करने की पूरी कोशिश करते हैं।
उन्हें लगता है कि अभिनय सिर्फ स्पेशल इफेक्ट्स की तरह है। वह कहते हैं कि अगर आप स्पेशल इफेक्ट देख सकते हैं तो काम अच्छा नहीं हुआ।


अरशद ने एक कलाकार के रूप में विकसित होने के तरीके को लेकर बताया, मैंने हमेशा माना है कि अभिनय विशेष प्रभावों की तरह है। यदि आप विशेष प्रभाव देख सकते हैं, तो यह बुरा विशेष प्रभाव है। उसी तरह यदि आप अभिनय देख सकते हैं, तो यह बुरा अभिनय है। मैं अपनी पूरी कोशिश करता हूं कि अभिनय न करूं।


एक अभिनेता के रूप में बॉलीवुड में प्रवेश करने से पहले, अरशद ने एक सहायक निर्देशक के रूप में काम किया और फिल्म रूप की रानी चोरों का राजा के लिए एक गीत को कोरियोग्राफ किया। उन्होंने 1996 में तेरे मेरे सपने से अभिनय की शुरूआत की थी, जो बॉक्स ऑफिस पर सफल रही।
इस साल की शुरुआत में, उन्होंने मनोवैज्ञानिक थ्रिलर असुर के साथ अपना डिजिटल डेब्यू किया। उन्हें लगता है कि डिजिटल मीडिया अभिनेताओं के लिए शानदार रहा है। उन्होंने कहा, मैं कुछ भी प्रयोग नहीं कर रहा हूं ना जोखिम उठा रहा हूं। आखिरकार मुझे वह काम करने के लिए मिल रहा है जिसे करने के लिए मैं तरस रहा हूं और अब उसे करने का आनंद ले रहा हूं। काम को लेकर बात करें तो वह जल्द ही दुर्गावती में भूमि पेडनेकर के साथ दिखाई देंगे। उनके पास गोलमाल 5 भी है।


वॉर के सीक्वल पर काम चाहते हैं टाइगर

मनोज सिंह ठाकुर


मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता टाइगर श्रॉफ अपनी सुपरहिट फिल्म वॉर के सीच्ल में काम करना चाहते हैं। सिद्धार्थ आनंद के निर्देशन में बनी फिल्म वॉर पिछले वर्ष प्रदर्शित हुयी थी। फिल्म में ऋ तिक रोशन, टाइगर श्रॉफ और वाणी कपूर ने मुख्य भूमिका निभायी थी। वॉर की सुपर सफलता के बाद इसकी सीच्ल बनाए जाने की बातें तेज हो गई हैं।टाइगर के एक हिंट ने फैंस के दिलों की धड़कने बढ़ा दी है।


वाणी कपूर से लाइव चैट के दौरान एक फैन ने पूछा कि टाइगर श्रॉफ के साथ काम करने का एक्सपीरियंस कैसा रहा। इसके बाद वाणी कपूर ने टाइगर श्रॉफ से जवाब मांगते हुए कहा, टाइगर क्या तुम्हें वॉर में मेरे साथ काम करके मजा आया।
टाइगर ने वाणी के सवाल का जवाब देते हुए कहा, उम्मीद है कि हम दोनों फिल्म के सीच्ल में नजर आएंगे और मैं आपके और कबीर के साथ घुंघरू 2.0 में बैकग्राउंड डांसर बन सकता हूं। टाइगर के इस जवाब से फैंस एक्साइटेड हो गए हैं। वहीं, फिर से वॉर के सीच्ल की बातें होने लगी है।


आलिया ने बॉलीवुड में ट्रेंड की शुरुआत की

मुंबई। हॉलीवुड के डेनियल रेडक्लिफ और एडी रेडमेने जैसे सितारों द्वारा जेके रोलिंग की लोकप्रिय हैरी पॉटर पुस्तक श्रंखला के एक अध्याय को पढऩे के बाद अभिनेत्री आलिया भट्ट ने बॉलीवुड में इस ट्रेंड की शुरुआत की है। उन्होंने इस सीरीज के पहले भाग हैरी पॉटर एंड द फिलॉसफर्स स्टोन के पहले अध्याय हैरी पॉटर एट होम को पढ़ लिया है। आलिया ने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर साझा की, जिसमें वह हैरी पॉटर के साहसिक कारनामों को पढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं।
उन्होंने इस पोस्ट को कैप्शन दिया, जादू हमारे चारों ओर है, हमें बस इसे महसूस करना है .. या इसे पढऩा है!! जल्द ही आ रहा है। इसके बाद आलिया ने किताब के आठवें हिस्से से कुछ पंक्तियों को पढ़ते हुए खुद का एक वीडियो भी साझा किया।
हॉलीवुड और बॉलीवुड सितारों द्वारा हैरी पॉटर का अचानक प्रचार इस वक्त इसलिए मेल खाता है, क्योंकि हाल ही में रोलिंग ने द इकाबॉग नामक एक नई पुस्तक की घोषणा कर प्रशंसकों को खुश कर दिया है, जिसे वे अपनी वेबसाइट पर मुफ्त में प्रकाशित जा रही हैं।
रिपोर्ट के मुताबिक, रोलिंग ने कहा है कि वह इस अजीब, अनिश्चित समय के दौरान बच्चों का आनंद देने के लिए सप्ताह के दिनों में किताब के अध्याय ऑनलाइन जारी करेंगी। लेखक ने मंगलवार को पहले दो अध्याय जारी किए हैं।
रिपोर्ट के अनुसार, द इकाबॉग रोलिंग की पहले बच्चों की कहानी है, जो हैरी पॉटर से जुड़ी नहीं है। उसने एक दशक पहले अपने बच्चों के लिए इसे लिखा था और अब इसे ला रही हैं।


घायल मिलेंं, मृत युवक की हुई शिनाख्त

टेकचंद कारड़ा
तखतपुर।
ग्राम नगोई ढ़नढ़न के पास सड़क दुर्घटना में कल हुई मृत्यु में आज सरकंडा पुलिस ने युवक की शिनाख्त कर ली है युवक राजा साहू पदमपुर निवासी बताया जाता है पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकण्डा पुलिस के मुताबिक तखतपुर थाना अंतर्गत ग्राम नगोई ढनढ़न के पास सड़क दुर्घटना हो गई थी। जिसमें युवक गंभीर स्थिति में बिलासपुर सिम्स ले जाया गया था जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया था। युवक का शव अज्ञात मानकर मरचुरी में रखवा दिया गया था। आज सरकंडा पुलिस को जानकारी मिली कि जिस युवक की मृत्यु हुई है वह जरहागांव थाना अंतर्गत ग्राम पदमपुर निवासी राजा साहू है जो किसी कार्य से बीजा ग्राम की तरफ गया था वापसी में सड़क दुर्घटना हो गई थी जिसमें उसकी मृत्यु हो गई थी पुलिस मर्ग कायम कर विवेचना में ले ली है का शव पाया गया जहां शव को सिम्स लाया गया उसके बाद चिकित्सकों ने मृत घोषित किया। शव को सिम्स की मरच्यूरी मे रखा गया था युवक की उम्र लगभग 25 वर्ष है पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में ले लिया।


मंदिर निर्माण के लिए जल और मिट्टी ली

गोविन्द तिवारी 
गरियाबंद।
श्री राम जन्मभूमि में भव्य मंदिर निर्माण हेतु छत्तीसगढ़ के प्रयागराज राजिम में श्री राजीवलोचन मंदिर की पावन माटी और महानदी त्रिवेणी संगम का पवित्र जल ले जाया गया। इस पुनीत कार्य मे श्री गोपाल यादव प्रान्त सह कार्यवाह आरएसएस, श्री प्रदीप सोनी राजिम अंचल प्रमुख एकल अभियान एवं श्री रमेश पहाड़िया वरिष्ठ नागरिक नवापारा राजिम के साथ नगर के हिंदूवादी जनों के साथ श्री राजीवलोचन की पूजा अर्चना कर मिट्टी एवम त्रिवेणी संगम के पवित्र जल को तुषार कदम बजरंग दल प्रान्त सुरक्षा प्रमुख, श्रेणिक जैन राजिम विभाग सह संयोजक, धनन्जय हरित जिला उपाध्यक्ष विहिप, पुरषोत्तम दुबे जिला संयोजक, पंडित ऋषि तिवारी विहिप, कैलाश कण्डरा राजिम नगर संयोजक, मुक्कू यदु फिंगेश्वर बजरंग दल को सौंपा। यह पवित्र सामग्री डाक सेवा द्वारा अयोध्या पहुंचाया जायेगा।


छत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रहा है वायरस

 7 जून की दोपहर 2 बजे एम्स प्रबंधन ने ट्वीट कर दी जानकारी


 

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। 7 जून 2020 की दोपहर दो बजे सार्वजनिक की गयी रिपोर्ट में कुल 59 कोरोना संक्रमित मिलने की जानकारी दी गयी। इनमें 36 कोरोना संक्रमित रायपुर जिले से संबंध।


एम्स रायपुर ने आफिशियल ट्वीटर हैंडल पर इसकी जानकारी सार्वजनिक की है। इससे पहले 6 जून की रात्रि करीब 11 बजे भी रायपुर में 11 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने की पुष्टि एम्स प्रशासन ने किया था। इस तरह से राज्य में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या एक हजार के करीब पहुंच गयी है। लगातार बढ़ रहे कोरोना के स्रक्रमितों की संख्या देखकर प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है।
कोरोनोवायरस के संकट के बाद वैश्विक मंदी का मुकाबला करने और सतत आथिज़्क विकास करने में हम तभी सक्षम होंगे जब ऊपर बताई गई कमजोरियों को दूर कर सकेंगे।


15 अगस्त के बाद खुलेंगे शैक्षणिक संस्थान

नई दिल्ली। छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के हफ्तों के भ्रम के बाद मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि स्कूलों और कॉलेजों को अगस्त 2020 के बाद फिर से खोला जाएगा.। संभवतः 15 अगस्त 2020 के बाद शैक्षणिक संस्थान खुल जाएं। डॉ. रमेश पोखरियाल ने एक इंटरव्यू में यह बात कही है।


आपको बता दें, इस संबंध में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एचआरडी मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक को स्कूल पुनः खोलने की योजना पर पत्र लिखा था। इस बात की जानकारी उन्होंने कल ट्वीट के माध्यम से दी थी।


उन्होंने अपने पत्र में लिखा था, “समय आ गया है कि कोरोना के सहअस्तित्व को स्वीकार करते हुए देश में स्कूलों की भूमिका नए सिरे से तय की जाए।.”




समय आ गया है कि कोरोना के सहअस्तित्व को स्वीकार करते हुए देश में स्कूलों की भूमिका नए सिरे से तय की जाय…

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री @DrRPNishank जी को मेरा पत्र pic.twitter.com/d7ZXgAO2zs


— Manish Sisodia (@msisodia) June 6, 2020


इसी के साथ उन्होंने लिखा, स्कूलों को साहसिक भूमिका के लिए तैयार नहीं किया गया तो यह हमारी ऐतिहासिक भूल होगी, स्कूलों की भूमिका पाठ्यपुस्तकों तक सीमित नहीं रहेगी, बल्कि बच्चों को जिम्मेदार जीवन जीने के लिए तैयार करने की होगी। आपको बता दें, कोरोना वायरस महामारी के कारण दिल्ली के सभी स्कूल- कॉलेज मार्च महीने से बंद हैं। ऐसे में ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है, लेकिन इस बात से भी मुंह नहीं मोड़ा जा सकता है कि कहीं न कहीं छात्रों की पढ़ाई का नुकसान भी हो रहा है।


मनीष सिसोदिया ने अपने पत्र में लिखी थी ये बातें


कोरोना के साथ जीने के दौरान दुनिया में शिक्षा में बड़े बदलाव होंगे, अपनी आवश्यकतानुसार स्कूलों का पुनर्निर्माण करें, हम इंतजार न करें कि अन्य देश कुछ कर लें, तो हम उसकी नकल करें।


हम अपने बच्चों को एक बेहतर और ज्यादा ख्याल करने वाले स्कूल दें। सभी स्टेकहोल्डर्स के साथ परामर्श करके स्कूल अपनी जरूरत और संसाधनों को ध्यान में रखते हुए अपनी योजना स्वयं बना सकें। अभी स्कूलों को सपोर्ट की आवश्यकता होगी, बच्चों की तरह ही शिक्षा जगत से जुड़े सभी लोगों और स्कूलों को भी सीखने और जिम्मेदार बनने की जरूरत है।


6929 लोगों की मौत, 120406 संक्रमित

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। पिछले 24 घंटे में फिर सबसे ज्यादा नए केस सामने आए हैं। इसमें 9971 नए मामले सामने आए हैं। अबतक देश में कोरोना वायरस के केसों की संख्या 2,46,628 हो गई है। इसमें से 1,20,406 कोरोना केस फिलहाल ऐक्टिव हैं। वहीं 1,19,293 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। कोरोना से भारत में 6,929 लोगों ने अपनी जान गंवाई है। किस राज्य में कोरोना के कितने मरीज हैं।


सेना और आतंकियों की सोफिया में मुठभेड़

जम्मू कश्मीर।  जम्मू-कशमीर में शोपियां के रिबन इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। माना जा रहा है कि इलाके में दो से तीन आतंकवादी छिपे हुए हैं। मुठभेड़ को लेकर किसी तरह की अफवाह न फैले इसके लिए प्रशासन ने मोबाइल इंटरनेट सेवा को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है। ज़ैनपोरा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, राष्ट्रीय राइफल्स और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप की 178 बटालियन की संयुक्त टुकड़ियों ने शोपियां में एक घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया। सेना और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ चल रही है। हालांकि, अभी और अधिक जानकारी की प्रतिक्षा की जा रही है। सुरक्षाबलों को सूचना मिली कि दक्षिण कश्मीर में शोपियां जिले के रेबन गांव में आतंकी छिपे हैं। सूचना के आधार पर सेना की 1-आरआर, सीआरपीएफ की 178 बटालियन और एसओजी के जवानों ने इलाके की घेराबंदी करनी शुरू की। खुद को घिरा देख आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाना शुरू कर दिया।


दिल्ली में नहीं होगा बाहरी मरीजों का इलाज

 आदेश शर्मा


नई दिल्ली। सीएम अरविंद केजरीवाल ने रविवार को बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली सरकार ने साफ कर दिया है कि बाहरी मरीजों का इलाज अब राज्य सरकार के अस्पतालों में नहीं होगा। जबकि दिल्ली में स्थित केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा। कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर दिल्ली कैबिनेट ने यह फैसला लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जून के अंत तक 15 हजार कोरोना के मरीजों के लिए बेड की जरूरत होगी। एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर सरकार ने ये फैसला लिया है कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली के लोगों का इलाज होगा।


प्रेस कॉन्फ्रेंस में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मार्च के महीने तक दिल्ली के सारे अस्पताल पूरे देश के लोगों के लिए खुले रहे किसी भी समय दिल्ली के अस्पतालों में 60 से 70 फ़ीसदी लोग दिल्ली से बाहर के थे लेकिन कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में अगर दिल्ली के अस्पताल बाहर वालों के लिए खोल दिए तो दिल्ली वालों का क्या होगा? मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संबंध में लोगों की राय मांगी गई थी। इसमें दिल्ली के 90 फ़ीसदी लोगों ने कहा कि जब तक कोरोना है, तब तक दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज हो। उन्होंने बताया कि 5 डॉक्टर की एक कमेटी बनाई थी। उसने अपनी रिपोर्ट दी है। डॉ. महेश वर्मा इस कमेटी के अध्यक्ष थे। कमेटी ने कहा है कि जून के अंत तक दिल्ली को 15 हजार बेड की ज़रूरत होगी। कमेटी का यह कहना है कि फिलहाल दिल्ली के अस्पताल दिल्लीवासियों के लिए होने चाहिए।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


 जून 08, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-300 (साल-01)
2. सोमवार, जूूून 08, 2020
3. शक-1943, अषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि- तीज, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:39,सूर्यास्त 07:24।


5. न्‍यूनतम तापमान 22+ डी.सै.,अधिकतम-40+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...