बुधवार, 28 अगस्त 2019

इलाकों से हटेगी पाबंदी,खुलेंगे हाई स्कूल

श्रीनगर। कश्मीर में कल कुछ और इलाकों से पाबंदियां हटाई जाएगी और हाई स्कूल खुलेंगे। एक अधिकारी ने बताया कि अब तक घाटी में 81 थाना क्षेत्रों में लोगों की आवाजाही पर लगी पाबंदियां हटा दी गई है, गुरुवार को 10 और थाना क्षेत्रों में पाबंदियां हटाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि जिन इलाकों में पाबंदियां हटा दी गई हैं वहां दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान खोले जा सकते हैं।जम्मू कश्मीर की सूचना एवं जन संपर्क निदेशक सेहरीश असगर ने संवाददाताओं से कहा कि और अधिक इलाकों में लैंडलाइन टेलीफोन कनेक्शन को बहाल करने के लिए घाटी में और भी टेलीफोन एक्सचेंज खोलने के लिए कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा, ”कश्मीर घाटी में सार्वजनिक परिवहन सेवाएं बहाल करने के लिए कोशिशें की जा रही हैं.”असगर ने कहा, ''जहां-जहां पाबंदियां हटा दी गई हैं वहां दुकानें खोली जा सकती हैं।' दरअसल, उनसे पूछा गया कि व्यापारिक प्रतिष्ठान कब खुलेंगे। उन्होंने कहा कि घाटी में प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय खुल गए हैं और पिछले कुछ दिनों में उनमें छात्रों की उपस्थिति भी बढ़ी है.स्कूलों की स्थिति के बारे में शिक्षा निदेशक, कश्मीर युनिस मलिक ने संवाददाताओं को बताया कि घाटी में 3037 प्राथमिक विद्यालय और 774 माध्यमिक विद्यालय फिर से खुल गये हैं। शिक्षकों की उपस्थिति में भी काफी वृद्धि हुई है. श्रीनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हसीब मुगल ने स्थिति का ब्यौरा देते हुए कहा कि घाटी में कहीं से भी किसी बड़ी अप्रिय घटना की खबर नहीं है।


दुष्कर्म के आरोपी 'भूत' को किया गिरफ्तार

दुर्ग। जिले में 4 साल की बच्ची के अपहरण व रेप के मामले में पुलिस ने वारदात का पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस ने उस आरोपी भूत को गिरफ्तार कर लिया है,जिसने मासूम को दरिंदगी का शिकार बनाया था। 


दरअसल बीते 26 अगस्त को 4 वर्षीय मासूम का अपहरण हो गया था। रेप के बाद आरोपी ने बच्ची को शहर से करीब 17 किलोमीटर दूर उतई में छोड़ दिया था। बच्ची उतई तिराहे के पास मिली।इसके बाद बच्ची की मां की नजर बच्ची के प्राइवेट पार्ट पर पड़ी तो देखा कि चोट के निशान थे। इस पर बच्ची ने अपनी मां को बताया कि भूत ने उसके साथ गंदा काम किया है। परिजनों को बच्ची के साथ दुष्कर्म की आशंका हुई और उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दी। 


पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर उस भूत की तलाश शुरू की। परिजनों से पूछताछ में पता चला कि बच्ची परिवार के एक करीबी को भूत कहती है। पुलिस ने उसी करीबी को आरोपी मानकर हिरासत में लिया, जहाँ कड़ाई से पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल लिया। आरोपी ऑटो ड्राइवर है और वो बच्ची के पिता का करीबी दोस्त भी है। बच्ची उसी को भूत कहकर बुलाती थी। बहरहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है।


गन्ना किसानों के हित में लिया बड़ा फैसला

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने गन्ना किसानों के हित मे बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने गन्ना किसानों के हित में ऐलान किया है कि 60 लाख मीट्रिक टन निर्यात पर सब्सिडी किसानों को मिलेंगी और उस सब्सिडी का पैसा सीधा किसानों के खाते में जमा हो जाएगा।


मोदी सरकार ने गन्ना किसानों को यह बड़ी सब्सिडी दी है। सरकार के फैसले के मुताबिक 60 लाख मीट्रिक टन चीनी के निर्यात पर केंद्र सरकार ने 6 हजार 268 करोड़ रुपये की सब्सिडी को मंजूरी दी है। खास बात ये है कि ये सब्सिडी सीधे किसानों के खाते में जाएगी। इस फैसले से चीनी के दामों में सुधार आएगा साथ ही जो समस्या गन्ना उत्पादन वाले किसानों के साथ रहती है उसमें भी कमी आएगी। इससे किसानों को नुकसान भी नहीं होगा।


आत्मविश्वास व्यक्तित्व निखरता है (विचार)

रानू मंडल ने ये साबित कर दिया की जिनके पास परिस्थिति अनुकूल न भी वो फिर भी वह इन्सान अपनी काबिलियत के बल पर शिखर छू सकता है। आज की परिस्थिति में धन दोलत रूप-रंग नहीं व्यक्ति का हुनर साथ देता है। भीख मांग कर गुजार कर रही रानू मंडल आज हर व्यक्ति के लिए ज्ञान का दर्पण बन गयी। क्योंकि परिस्थिति कितनी ही अनुकूल क्यों न हो, हमें कभी हिम्मत नहीं हारनी चाहिए। अपनें हुनर को दिखाने के लिए आधुनिक मंच ओर अभ्यास की अवशयकता नहीं बल्कि आत्मा विश्वास ओर हिम्मत की जरूरत है। मैं कोटि कोटि नमन करती हूँ उस इन्सान की जिन्हेंने रानू मंडल की हूनर को मीडिया के सामने लाया ओर उसका जीवन बदल दिया। आज प्रतिस्पर्धा का दौर है परन्तु जो काबिल हैं। उन्हें आगे बढ़ने का अवसर नहीं मिल पा रहा है। इसलिए वो पिछड़े हुए हैं, ऐसे लोगों को सामने लाने की आवश्यकता है।


समाज की एक शिक्षिका गंगा शरण पासी


कश्मीर पर 'सुप्रीम कोर्ट' का दखल

कश्मीर पर सुप्रीम कोर्ट का दखल कितना उचित?
वामपंथी येचुरी को कश्मीर जाने की इजाजत भी। 


सुप्रीम कोर्ट ने कश्मीर मुद्दे पर केन्द्र सरकार को नोटिस जारी कर दिया है और एक अन्य याचिका पर वामपंथी नेता सीताराम येचुरी को कश्मीर जाने की इजाजत भी दे दी है। हालांकि सरकार की ओर से सॉलिसिटिर जनरल तुषार मेहता ने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई से आग्रह किया।  अनुच्छेद 370 को बेअसर करने के मामले में कोर्ट कोई नोटिस जारी नहीं करे, क्योंकि इसका फायदा पाकिस्तान उठाएगा। लेकिन सीजेआई गोगोई ने सरकार के इस आग्रह को ठुकरा दिया और नोटिस जारी कर लिखित में जवाब प्रस्तुत करने के आदेश दिए। मामले की सुनवाई 1 अक्टूबर को निर्धारित की गई है। साथ ही वामपंथी नेता सीताराम येचुरी को कश्मीर जाने की अनुमति भी दे दी है। लेकिन येचुरी को उनकी पार्टी के विधायक तारिगामी से ही मिलने की इजाजत दी गई है। यानि येचुरी कश्मीर दौरे के दौरान सिर्फ अपने विधायक मित्र से मुलाकात कर सकते हैं। अनुच्छेद 370 को बेअसर करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में कई याचिकाएं दायर की गई थी। सभी याचिकाओं में सरकार के इस कदम को गैर संवैधानिक बताया गया था।  हालांकि सरकार ने राज्यसभा और लोकसभा से प्रस्ताव को स्वीकृत करवाया है, लेकिन अब सरकार के इस फैसले की समीक्षा सुप्रीम कोर्ट करेगा। भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था में न्याय प्रणाली सबसे मजबूत है। अदालतें सरकार के किसी भी फैसले की समीक्षा कर सकती हैं, भले ही ऐसा फैसला देश की आंतरिक सुरक्षा से जुड़ा हुआ हो। अब देखना होगा कि सुप्रीम कोर्ट किस तरह से इतने संवेदनशील और महत्वपूर्ण मुद्दे की समीक्षा करता है। लेकिन सवाल उठता है कि क्या मौजूदा हालातों में सुप्रीम कोर्ट का दखल उचित है? सरकार का दावा है कि कश्मीर घाटी के हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। 28 अगस्त को घाटी के हाईस्कूल भी खोल दिए गए तथा ग्रेटर कश्मीर जैसा लोकप्रिय अखबार भी पूरा 12 पृष्ठ का प्रकाशित हुआ है। इस अखबार में कश्मीर घाटी की सभी खबरें हैं। कश्मीर घाटी के कुछ जिलों को छोड़कर सम्पूर्ण जम्मू और लद्दाख में हालात बहुत पहले ही सामान्य हो गए। जम्मू और लद्दाख में तो अनुच्छेद 370 के बेअसर होने के बाद से ही जश्न का माहौल बना हुआ है। जहां तक कश्मीर घाटी के कुछ जिलों का सवाल है तो वहां अभी भी पाबंदियां लगा रखी हैं। पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे को लगातार अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उठा रहा है, लेकिन उसे अभी तक भी एक भी देश खासतौर से मुस्लिम देश का समर्थन प्राप्त नहीं हुआ है।  अमरीका, रूस जैसे शक्तिशाली देशों ने कश्मीर को भारत का आंतरिक मामला बताया है। यानि पाकिस्तान को कहीं से भी समर्थन नहीं मिल रहा है। अब तो कांग्रेस पार्टी ने भी अपना रुख बदल लिया है। यही वजह है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बार बार परमाणु हमले की धमकी दे रहे हैं। इधर, कश्मीर घाटी में भी हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं तो उधर, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान अकेला रह गया है।  ऐसे में यह सवाल उठना वाजीब है कि सुप्रीम कोर्ट का दखल कितना उचित है?
एस.पी.मित्तल


झंडारोहण के बाद पुष्कर में रामदेव का भंडारा

झंडा रोहण के बाद पुष्कर के जोगणियां धाम में बाबा रामदेव का भंडारा शुरू। 
उपासक भंवर लाल ने की भव्य आरती। 

अजमेर। पुष्कर तीर्थ में अजमेर रोड स्थित चुंगी नाके सामने जोगणियां धाम में झंडा रोहण की रस्म के साथ ही बाबा रामदेव का आम भंडारा शुरू हो गया। यह भंडारा आगामी 8 सितम्बर तक चलेगा। भंडारे में हर समय नि:शुल्क भोजन उपलब्ध रहेगा। भंडारा शुरू होने से पहले धाम के उपासक और सुविख्यात ज्योतिषाचार्य भंवरलालजी ने भव्य आरती की। इस मौके पर पुष्कर के पूर्व विधायक डॉ. श्रीगोपाल बाहेती, पर्यावरणविद् महेन्द्र विक्रम सिंह, अंतर्राष्ट्रीय खेल अधिकारी प्रमोद जादम। रिटायर एएसपी रामदेव और समाजसेवी इंदर चौहान आदि उपस्थित रहे। इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु और बाबा रामदेव मेले के जातरू भी उपस्थित थे। उपासक भंवर ने बताया कि हालांकि बाबा रामदेव का मेला उनके समाधि स्थल पोखरण में भरता है, लेकिन लाखों श्रद्धालु पुष्कर तीर्थ में भी आते हैं। श्रद्धालुओं की सुविधाओं का ख्याल करते हुए ही प्रतिवर्ष आम भंडारे का आयोजन किया जाता है। जोगणियां धाम की धार्मिक गतिविधियों की जानकारी मोबाइल नम्बर 8078624852 पर भंवर जी से ली जा सकती है। 
एस.पी.मित्तल


राष्ट्रीय हित या अहित (संपादकीय)

राहुल गांधी के बयान को आधार बनाकर पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे पर यूएन में शिकायत दर्ज करवाई। अब राहुल ने कश्मीर को भारत का अंदरुनी मामला बताया। 
      कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विटर पर बयान जारी कर कहा कि कश्मीर भारत का अंदरुनी मामला है और पाकिस्तान ही कश्मीर में हिंसा फैला रहा है। राहुल गांधी के यह बयान तब सामने आया है, जब पाकिस्तान ने राहुल गांधी के बयान और श्रीनगर की यात्रा को लेकर ही यूएन में शिकायत दर्ज करवाई है। पाकिस्तान ने इस शिकायत में कहा है कि जब राहुल गांधी कश्मीर के हालात जनने के लिए विपक्षी दलों के नेताओं के साथ श्रीनगर पहुंचे तो उन्हें हवाई अड्डे से ही वापस दिल्ली के लिए रवाना कर दिया। राहुल गांधी ने इस घटना का विरोध भी जताया। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को बेअसर करने के बाद पाकिस्तान को भले ही एक भी मुस्लिम राष्ट्र का समर्थन न मिला हो, लेकिन राहुल गांधी और कांगे्रस के बयानों को आधार बनाकर शिकायत दर्ज करवाई गई है। चूंकि अब यह मामला अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी उठेगा इसलिए राहुल गांधी ने 28 अगस्त को ट्विट कर अपना नया बयान जारी किया है। सवाल उठता है कि यदि पांच अगस्त के बाद ही राहुल गांधी कश्मीर को भारत का आंतरिक मामला बता देते तो पाकिस्तान को यूएन में शिकायत करने का अवसर नहीं मिलता है। सब जानते हैं कि पांच अगस्त को जब लोकसभा में अनुच्छेद 370 को बेअसर करने के प्रस्ताव पर बहस हो रही थी, तब कश्मीर संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा था कि भारत अब तक कश्मीर के मुद्दे को द्विपक्षीय बताता रहा है। चौधरी ने शिमला समझौते से लेकर कई उदाहरण दिए जिनसे भारत की नीति प्रदर्शित हो रही थी। चौधरी का कहना रहा कि जब भारत कश्मीर को द्विपक्षीय बताता रहा है तो फिर अब अंदरुनी मामला बता कर अनुच्छेद 370 को बेअसर क्यों किया जा रहा है? हालांकि चौधरी के इस बयान का जवाब केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने तत्काल दे दिया था। लेकिन पाकिस्तान ने अब जो शिकायत दर्ज करवाई है, उसमें अधीर रंजन चौधरी के बयान का भी हवाला दिया गया है। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने जिस तरह से अनुच्छेद 370 के पक्ष में बयानबाजी की उससे कांग्रेस को लगातार राजनीतिक नुकसान भी हुआ। हालांकि कांग्रेस के कई नेताओं ने 370 पर केन्द्र सरकार के रुख का समर्थन किया लेकिन इसके बावजूद भी राहुल गांधी विपक्षी दलों के नेताओं को साथ लेकर श्रीनगर पहुंच गए। अब जो हालात बदले हैं उसमें राहुल गांधी को भी अपना नजरिया बदलना पड़ा है। लेकिन राहुल गांधी ने अपना नजरिया बदलने में बहुत देर कर दी। अच्छा होता कि राहुल गांधी और उनकी कांग्रेस पार्टी राज्यसभा और लोकसभा में अनुच्छेद 370 को बेअसर करने के प्रस्ताव पर केन्द्र सरकार का समर्थन करते। कई विपक्षी पार्टियों ने देशहित में प्रस्ताव का समर्थन किया, इसलिए राज्यसभा में भाजपा को बहुमत न होते हुए भी प्रस्ताव पास हो गया। खुद कांग्रेस के चार सांसद मतविभाजन के समय राज्यसभा से अनुपस्थित रहे। 
एस.पी.मित्तल


क्रिकेट नहीं,कांग्रेस नेताओं की लड़ाई

यह किक्रेट की नहीं, राजस्थान में कांग्रेस नेताओं की लड़ाई है। 
रामेश्वर डूडी को भी अपने वजूद की चिंता।
राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन में एक बार घमासान शुरू हो गया है। 27 अगस्त को एसोसिएशन की बैठक में कांग्रेस के दिग्गज नेता रामेश्वर डूडी ने शक्ति प्रदर्शन किया और एसोसिएशन के अध्यक्ष सीपी जोशी के नेतृत्व को खुली चुनौती दी। मालूम हो कि जोशी इस समय राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष हैं और अध्यक्ष बनने से पहले कांग्रेस के राष्ट्रीय स्तर के नेता थे। यानि मौजूदा समय मेंजोशी विधानसभा के साथ-साथ आरसीए के अध्यक्ष भी हैं। जबकि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होने के बाद भी रामेश्वर डूडी जैसे दिग्गज नेता किसी पद पर नहीं हैं। गत भाजपा के शासन में डूडी ही विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता थे। यानि भाजपा के शासन में तो डूडी को केबिनेट मंत्री का दर्जा मिला हुआ था और अपनी कांग्रेस सरकार में कुछ नहीं। अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बने 9 माह हो गए, लेकिन डूडी जैसे नेताओं की कोई सुध नहीं ली जा रही है, जबकि भाजपा के शासन में लगातार संघर्ष कर कांग्रेस को फिर से सत्ता में लाने में डूडी का भी योगदान रहा। प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट के साथ डूडी ने भी पांच वर्ष संघर्ष किया। अब डूडी को ही अपने राजनीतिक वजूद की चिंता हो रही है। इसलिए पहले नागौर जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष बने और अब सीधे आरसीए अध्यक्ष को चुनौती दे रहे हैं। कांग्रेस नेताओं की आपसी लड़ाई का सबसे बड़े फायदा क्रिकेट के विवादित ललित मोदी गुट को हुआ है। डूडी के मोदी गुट को सीपी जोश पर हमला करने का अवसर मिल गया है। मोदी गुट के सचिव आरएस नांदू ने आरसीए के चुनाव करवाने की घोषणा कर दी है। चुनाव 22 सितम्बर को होने हैं। मजे की बात यह है कि डूडी चुनाव करने के पक्षधर हैं और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी चुनाव करवाने से इंकार कर रहे हैं। जोशी का कहना है कि अभी राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन पर बीसीसीआई ने बैन लगा रखा है। बीसीसीआई की शर्त है कि आरसीए को पहले ललित मोदी से अलग किया जाए। यदि एक भी व्यक्ति ललित मोदी गुट का होगा तो आरसीए पर से प्रतिबंध नहीं हटेगा। जोशी भले ही कुछ भी तर्क दें, लेकिन अब ललित मोदी के समर्थकों को रामेश्वर डूडी जैसी दिग्गज कांग्रेसी नेता का समर्थन मिल गया है। हालांकि क्रिकेट की इस सियासत में अभी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट की भूमिका का पता नहीं चला है, लेकिन माना जाता है कि पायलट विधानसभा अध्यक्ष जोशी के साथ हैं, जबकि रामेश्वर डूडी को सीएम गहलोत का समर्थन हैं। डूडी ने 27 अगस्त को आरसीए के कार्यालय में कहा कि यदि सीएम गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत आरसीए से जुड़ते हैं तो 22 सितम्बर को होने वाले चुनाव में निर्विरोध हो जाएंगे। यानि डूडी ने तो अपना रुख स्पष्ट कर दिया है। मालूम हो कि वैभव गहलोत को जोधपुर जिला  क्रिकेट संघ का अध्यक्ष बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। फिलहाल नागौर संघ का अध्यक्ष बनने से ही इंकार कर दिया है। जोशी का कहना है कि नागौर में हुए चुनावों के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। 27 अगस्त को जोशी से आरसीए की जो बैठक बुलाई, उसमें रामेश्वर डूडी नागौर जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष की हैसियत से ही पहुंचे थे, लेकिन आरसीए के अध्यक्ष सीपी जोशी के आने से पहले ही वापस आ गए। लेकिन डूडी ने आरसीए के सचिव और ललित मोदी गुट के आरएस नांदू के साथ अपनी उपस्थिति दर्ज करवा कर इरादे स्पट कर दिए हैं। 
एस.पी.मित्तल


खट्टर की रैली में कई नेता हुए शामिल

गुरुग्राम। गुरुग्राम में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की “जन आशीर्वाद यात्रा” 8बजे शुरु हुई उससे पहले 7बजे मंच पर आए थे। अपना भाषण समाप्त करने के बाद गुरुग्राम के भूतेश्वर मंदिर चौक से चलकर अग्रसेन चौक तक गये। इस रैली में गुरुग्राम में काफी संख्या में जनता एकत्रित हुई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा, राष्ट्रीय महासचिव डॉ अनिल जैन और केंद्रीय मंत्री व सांसद गुरुग्राम राव इंद्रजीत सिंह भी मौजूद थे। मुक्तेश्वर मंदिर के पास बने मंच से मुख्यमंत्री और राव इंद्रजीत सिंह, केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा सहित मौजूदा विधायक गुरुग्राम से उमेश अग्रवाल सभी ने भाषण दिए। उमेश अग्रवाल ने कहा पिछली बार 84 हजार वोटों से जीताया तो अबकी बार मुझे डेढ़ लाख वोटों से जीताना है। वहीं जेपी नड्डा ने कहा पांच साल पहले हरियाणा भ्रष्टाचार से डुबा हुआ था। पूर्व सीएम जेल में बंद हैं अबकी बार फिर खट्टर सरकार लेकर आनी है। 75 प्लस के पार पहुंचानी है। क्योंकि मनोहर सरकार ईमानदार सरकार चला कर दिखा रहे है। आज हरियाणा हर कार्य में नंबर वन हैं। चाहे किसान की बात हो या आर्मी या खेलों की। हर मामले में हरियाणा नंबर वन हैं। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ने कहा पहले घुस के बिना युवाओं को नौकरी नहीं मिलती। लेकिन आज खट्टर सरकार में गरीब बच्चों को नौकरी मिल रही है।


शैलजा के हाथ हरियाणा कांग्रेस की बागडोर

कुमारी शैलजा बनाई गई हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष, चार कार्यकारी अध्यक्ष भी नियुक्त


राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। हरियाणा कांग्रेस में छिड़ी वर्चस्व की जंग पर काय्यासों और चर्चाओं का दौर आये दिन नए अंदाज़ में सामने आ रहा है l राजनैतिक गलियारों से छन-छन कर आ रही ताज़ा जानकारी को पुख्ता मान लिया जाये तो अशोक तंवर की हरियाणा के अध्यक्ष पद से विदाई तय मानी जा रही है l डॉ. अशोक तंवर के स्थान पर कुमारी शैलजा को प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने की सूचना है l जिसकी किसी भी पल आधिकारिक घोषणा हो सकती है l इसके साथ ही पार्टी में बैलेंस बनाये रखने की कवायद के तहत चार कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाये जाने की खबर है lअब मन जा रहा है कि हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के कांग्रेस के खिलाफ बगावती तेवर खत्म हो सकते हैं। इसके साथ चार कार्यकारी अध्यक्ष भी नियुक्त किए गए हैं। वीरेंद्र मराठा, दीपेंद्र हुड्डा, कुलदीप बिश्नोई और कैप्टन अजय यादव को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है।
बता दें कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा की रोहतक रैली के बाद कांग्रेस आलाकमान हरियाणा को लेकर अहम कदम उठाने का मन बना चुका था। लेकिन इसी बीच पूर्व केंद्रीय पी चिदंबरम का प्रकरण गरम हो गया और उनकी गिरफ्तारी हो गई। माना जा रहा है कि यह प्रकरण नहीं होता तो हरियाणा कांग्रेस पर अहम फैसला हो जाता।


नवनियुक्त 'नगर विकास मंत्री' का स्‍वागत

इकबाल अंसारी


गाजियाबाद। भारतीय जनता पार्टी की लोनी नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती रंजीता धामा व पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष मनोज धामा ने प्रदेश सरकार मे नवनियुक्त नगर विकास मंत्री माननीय आशुतोष टंडन का गाजियाबाद मे प्रथम आगमन पर फूल-मालाओं से स्वागत किया।
मनोज धामा ने बुके देकर माननीय आशुतोष टंडन का स्वागत किया तथा प्रदेश सरकार मे मंत्री बनने पर मिठाई खिलाकर मुँह मीठा कराया। लोनी नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती रंजीता धामा ने मंत्री जी को बधाई दी तथा लोनी के विकास के लिये अतिरिक्त पैकैज आवंटित करने को लेकर मंत्रालय के नाम चिट्ठी भी दी। माननीय मंत्री ने लोनी नगर पालिका अध्यक्ष की बातों को सुना तथा उनके दुारा दिये गये पत्र पर जल्द ही सकारात्मक रूख अपनाने के लिये कहा। इस अवसर पर सभासद रूपेन्द्र चौधरी, सतपाल शर्मा, निशा सिंह, सतेन्द्र शर्मा, सतेन्द्र चौहान, प्रदीप धामा, नितिन चिपियाना, कौशल यादव, सहित सैंकडों की संख्या मे भारतीय जनता पार्टी के देवतुल्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


बच्चा चोरी संबंधित अफवाहों के विरुद्ध सख्‍ती

बच्चा चोरी से संबंधित अफवाहों का खंडन करने के लिए कार्यवाही


 अश्वनी उपाध्याय
गाजियाबाद। बच्चा चोरी की अफवाह से जनता में भय बना हुआ है। जिसके विरुद्ध पुलिस सख्त नजर आ रही है। अफवाह को नियंत्रित करने के लिए पुलिस जमीनी स्तर पर काम कर रही है। उम्मीद है जल्द ही इन अफवाहों पर शिकंजा कस लिया जाएगा। अफवाह के पीछे क्या वजह हो सकती है? उसकी तह तक जाना पुलिस के लिए कम चुनौतीपूर्ण नहीं है। एहतियात के तौर पर पुलिस के द्वारा सर्कुलर जारी कर दिया गया है पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने बताया जनपद में कहीं भी बच्चा चोरी की अफवाह फैलाई जाने पर संबंधित लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कानूनी कारवाही की जा रही है। अफवाह फैलाने वालों को चिन्हित किया जा रहा है। उनके विरुद्ध भी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।व्हाट्सएप व अन्य सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई जाने के संबंध में एडवाइजरी जारी की गई है।ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस की टीमों द्वारा उक्त संबंध में मुनादी करवाई जा रही है।ग्राम प्रधानों व चौकीदारों के साथ मीटिंग कर उक्त संबंध में अवगत कराते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं। 
देखने में आ रहा है कि बच्चा चोरी का फर्जी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है जिस के दृष्टिगत सोशल मीडिया पर नजर रखी जा रही है।


तार घेराबंदी में बिजली छोडने से तीन मौत

अविनाश श्रीवास्तव


बक्सर। किसानों के द्वारा अपने खेतों की अवैध रूप से नंगे तारों की की गई घेराबंदी मे बिजली छोड़ देने के कारण आए दिन कोई न कोई अप्रिय घटना घटती रहती है। जिसकी चपेट में आने से अभी हाल ही में 3 किसानों की दर्दनाक मौत हो गई।
जानकारी के अनुसार चक्की प्रखंड स्थित लक्ष्मण डेरा के किसानों के द्वारा नंगे तारों से की गई खेतों की घेराबंदी में बिजली का करंट छोड़ देने के कारण गत सप्ताह 3 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई।बिजली की चपेट में आने के कारण
पवन पासवान, रामअवध पासवान एवं रविशंकर यादव की दर्दनाक मौत हो गई। जिससे चारों तरफ कोहराम मचा हुआ है। मामले में स्थानीय प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। प्रशासन के द्वारा लीपापोती करते हुए मृतकों के परिजनों को ₹20000 की आर्थिक सहायता करके घिनौना मजाक किया है। मृतकों के परिजनों की  स्थिनीय स्‍‍िथति को देखते हुए स्थानीय पूर्व जिला पार्षद सोनू सिंह के द्वारा आर्थिक सहायता की गई और राज्य सरकार से मृतक परिजनों के लिए 20 लाख की आर्थिक मदद और अश्रित परिजन सरकारी नौकरी की मांग की।


वायु सेना की प्रथम विंग कमांडर 'शालिजा'

नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना की विंग कमांडर शालिजा धामी ने देश की पहली महिला अधिकारी बनकर गौरव स्थापित किया है। विंग कमांडर शालिजा भारतीय महिला वायुसेना ऐसी अधिकारी हैं, जो फ्लाइट कमांडर बनी हैं। उन्होंने ने हिंडन स्थित वायुसेना के हवाईअड्डे में चेतक हेलीकॉप्टर यूनिट के फ्लाइट कमांडर तौर पर जिम्मेदारी सौंपी गई है। विंग कमांडर शालिजा पंजाब के लुधियाना में पली-बढ़ी, आसमान की उंचाइयों में उड़ने का मन हाईस्कूल के दिनों में बना लिया था। शालिजा पायलट बनना चाहती थी। धामी अपने 15 साल के करियर में चेतक और चीता हेलिकॉप्टर उड़ाती रही हैं। शालिजा वायुसेना की पहली महिला अधिकारी हैं, जिनके पास 2300 घंटे तक उड़ान का अनुभव है।


शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न छात्रसंघ चुनाव

गोविन्दगढ़ राजकीय महाविद्यालय में शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हुआ छात्रसंघ चुनाव


योगेन्द्र द्विवेदी (गोविन्दगढ़)


अलवर-गोविंदगढ़। कस्बे के राजकीय महाविद्यालय में 27 अगस्त 2019 को छात्रसंघ चुनाव सम्पन्न हुए छात्र-छात्राओं ने अपने मत का प्रयोग करने के लिए बढ़-चढ़कर चुनाव में भाग लिया पिछले वर्ष से अधिक इस बार छात्र-छात्राओं में चुनाव के प्रति रुझान देखा गया पिछले वर्ष से अधिक इस बार 63.30 प्रतिशत मतदान  हुआ इस बार छात्र संघ के चुनाव में सबसे बड़ी बात देखने को यह मिली कि दिव्यांग छात्र छात्राओं ने भी अपने मत का प्रयोग किया जिससे पता चलता है कि एक  एक  वोट का महत्व क्या होता है चुनाव के दौरान पुलिस प्रशासन का भी पूरा सहयोग  रहा थानाधिकारी महेश शर्मा एवं तहसीलदार हेमेंद्र गोयल ने कॉलेज का निरीक्षण किया  और  निर्वाचन  कार्य एसडीएम  लक्ष्मणगढ़  अनिल कुमार सिंघल  का  पूरा सहयोग मिला छात्र संघ चुनाव को शांतिपूर्वक करावे और किसी भी प्रकार कोई गड़बड़ी नही हो और निष्पक्ष चुनाव हो ओर कोई  उपद्रव ना हो और किसी भी प्रकार से शांति व्यवस्था खराब ना हो पुलिस प्रशासन के सैकड़ों जवान राजकीय महाविद्यालय गोविंदगढ़ के अंदर बहार अपनी ड्यूटी पर  मुस्तैद नजर आए यह जानकारी प्राचार्य  चरण सिंह  व चुनाव अधिकारी राखी जैन द्वारा दी गई  और राखी  जैन में बताया कि 1259 कुल मतदाता है जिनमें से  797 मतों का प्रयोग किया गया है  मत पेटियां स्थानीय पुलिस थाने में जमा करा दी गई और एवं मतगणना का कार्य 28 अगस्त 2019 को प्रातः 11:00 बजे से किया जाएगा राजकीय महाविद्यालय मैं 3 पदों पर मतदान हुआ अध्यक्ष पद पर चार उम्मीदवार  है उपाध्यक्ष पद पर चार उम्मीदवार है महासचिव पद पर तीन उम्मीदवार है अगले 3 पदों पर संयुक्त सचिव राहुल शर्मा निर्विरोध चुने गए और कक्षा प्रतिनिधि राजेश कुमार निर्विरोध चुने गए अशोक कुमार निर्विरोध चुने गए। गोविंदगढ़ में हमेशा की तरह इस बार भी निष्पक्ष छात्र संघ के चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हुए।


किट देकर खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन

पांसल विद्यालय को कबड्डी किट भेट


राजकुमार गोयल 


भीलवाड़ा। नेहरु युवा संसथान पान्सल द्वारा राजकिय उच्च माध्यमिक विद्यालय पान्सल के खिलाडियों को किट वितरित कर हौसला बढ़ाया। अध्यक्ष रामपाल चौधरी ने बताया कि आज से होने वाले वर्त-स्तरीय कबड्डी टूर्नामेंट मे पान्सल से कबड्डी की टीम भाग ले रही है। जिसमे 12 खिलाडियों का चयन किया गया सभी खिलाडियों को ड्रेस(किट)देकर उनका हौशला अफजाई किया गया। साथ ही श्रीमति प्रिन्सिपल से खेल से जुडी समस्याओ के बारे मे चर्चा की गई। साथ ही विस्वास दिलाया की खेल से जुड़ी समस्या को खत्म कर खेल को बढ़ावा देने मे हर एक प्रयास करेंगे।
इस मौके पर संसथान के सरंक्षक विकास शर्मा,प्रिंसिपल इन्द्रा आर्य ओर पीटीआई सत्यनारायण खटीक मौजुद थे।


सर्वसम्मति से'माया'को चुना गया अध्यक्ष

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की केंद्रीय कार्यकारिणी समित और आॅल इंडिया स्टेट पार्टी यूनिट के वरिष्ठ सदस्यों और चयनित प्रतिनिधियों की विशेष बैठक बुधवार को लखनऊ में हुई। इस बैठक में मायावती को सर्वसम्मति से फिर से पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया है। इस चुनाव के दौरान सभी प्रक्रियाओं को राष्ट्रीय महासचिव और सांसद सतीश चंद्र मिश्रा ने पूरा किया। इसके बाद मायावती को राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने की घोषणा हुई। इस दौरान मायावती ने सभी का आभार प्रकट किया और भरोसा दिलाया कि वह सभी संतों गुरुओं, मान्यवर कांशीराम के बीएसपी मूवमेंट को आगे बढ़ाने के लिए हर कुबार्नी देने को तैयार रहती हैं। इस दौरान मायावती ने अनुच्छेद 370 का जिक्र करते हुए कहा कि बाबा साहेब भीमराव आम्बेडकर इस अनुच्छेद के पक्ष में नहीं थे। यही कारण है कि बीएसपी ने इस धारा को हटाए जाने का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि हालात सामान्य होने में थोड समय जरूर लगेगा इसलिए थोड़ा इंतजार कीजिए। मायावती ने कहा कि कांग्रेस और इनकी सरकारों में खासकर बहुजन समाज की इतनी ज्यादा उपेक्षा हुई है, जिसे भुला पाना असंभव है। इन्होंने बाबा साहेब को पहले संसद में चुनकर जाने नहीं दिया, फिर मरणोपरांत उन्हें भारत रत्न की उपाधि से भी सम्मानित नहीं किया। वहीं आने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर बसपा सुप्रीमो ने कहा कि हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड और दिल्ली में होने वाले चुनाव को पार्टी को पूरी मजबूत से लड़ना है। बसपा को खासकर इन राज्यों में बीजेपी व कांग्रेस दोनों के खिलाफ इन चुनावों में लड़ना है और पहले बैलेंस आॅफ पावर बनकर आगे बढ़ना है।


बॉलीवुड में सलमान खान के 31 साल

मुंबई। सलमान खान ने बॉलीवुड में 31 वर्ष का सफर पूरा करने पर अपने प्रशंसकों का शुक्रिया अदा किया। अभिनेता (53) ने सोशल मीडिया पर अपने बचपन की एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, '' भारतीय फिल्म जगत का बहुत-बहुत शुक्रिया, उन सभी का जो इस 31 साल के सफर का हिस्सा रहें, विशेषकर मेरे सभी प्रशंसक और मेरे शुभचिंतक, जिन्होंने इस बेहतरीन सफर को मुमकिन बनाया।''


सलमान ने 1988 में आई फिल्म 'बीवी हो तो ऐसी'से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। लेकिन बतौर मुख्य अभिनेता उनकी पहली फिल्म 1989 में आई 'मैनें प्यार किया' थी। 'हम आपके हैं कौन '(1994), 'करण अर्जुन' (1995), 'खामोशी' (1996), 'जुड़वां' (1997), 'बीवी नंबर-1' (1999) उनके करियर की हिट फिल्में रहीं।
 वहीं पिछले एक दशक में, सलमान ने 'दबंग' (2010), 'रेडी' (2011), 'बॉडीगार्ड' (2011),  एक था टाइगर' (2012), 'किक' (2014), 'सुल्तान' (2016), 'टाइगर जिंदा है' (2017), 'भारत' (2019) जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्म दे चुके हैं। वहीं अभी वह फिल्म 'दबंग3' की शूटिंग में मसरूफ हैं।


एटीएम से कैश निकालने पर ओटीपी जरूरी

एटीएम से 10,000 से ज्यादा पैसे निकालने पर डालना होगा ओटीपी


नई दिल्ली। आज तकरीबन हर कोई एटीएम का इस्तेमाल करता है। लेकिन एटीएम के इस्तेमाल के साथ इससे होने वाली धोखाधड़ी भी काफी बढ़ रही है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अब पिन के अलावा वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी ) की सुविधा की शुरुआत की गई है। आइए जानते हैं इसकी शुरुआत किस बैंक ने की है।अगर आप एक दिन में एटीएम से 10,000 रुपये से अधिक की निकासी करना चाहते हैं तो आपको पिन के अतिरिक्त ओटीपी भी डालना होगा। सार्वजनिक क्षेत्र के केनरा बैंक ने एटीएम से कैश निकालने के लिए ओटीपी सुविधा की शुरुआत की है।


ऐसा माना जा रहा है कि अन्य बैंक भी जल्द ही केनरा बैंक के इस फैसले को अपनाएंगे और एटीएम से 10,000 रुपये से ज्यादा कैश निकालने पर ओटीपी अनिवार्य करेंगे। इस संदर्भ में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि, आरबीआई के निर्देश का सभी बैंकों को पालन करना होगा। आरबीआई ने स्पष्ट रूप से कहा है कि एटीएम फ्रॉड रोकना होगा।


पीडब्ल्यूडी ऑफिस में ठेकेदार ने मारी गोली

चीफ इंजीनियर के ऑफिस में ठेकेदार ने खुद को गोली मारकर की खुदकुशी, कमिश्नर-डीएम मौके पर पहुंचे


वाराणसी। कैंट थाना क्षेत्र में पीडब्लूडी के ठेकेदार ने खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। सूचना के बाद मौके पर पुलिस पहुंच गई है। जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।वाराणसी के नदेसर स्थित पीडब्लूडी के चीफ इंजीनियर अंबिका सिंह के दफ्तर में बुधवार को ठेकेदार अवधेश श्रीवास्तव(45) ने लाइसेंसी असलहे से खुद को गोली मार ली। ठेकेदार निर्माण कार्य के लाखों का बकाया और विभागीय उत्पीड़न का आरोप लगा रहा था।सूचना पाकर कमिश्नर दीपक अग्रवाल, डीएम सुरेंद्र सिंह और एसएसपी आनंद कुलकर्णी घटनास्थल पर पहुंचे। चीफ इंजीनियर कार्यालय का गेट बंद करा कर उनसे पूछताछ की जा रही है।  वहीं ठेकेदार की कार से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। फारेंसिक टीम ने उसे कब्जे में लिया है। पुलिस ने असलहे को अपने कब्जे में ले लिया है।


जानकारी के मुताबिक ठेकेदार अवधेश चंद्र श्रीवास्तव की पीडब्ल्यूडी पर लंबे समय से काफी रकम बकाया थी। विभाग की लापरवाही के कारण अवेधश का भुगतान नहीं हो पा रहा था। बुधवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे अवधेश नदेसर स्थित चीफ इंजीनियर अंबिका सिंह के कार्यालय में पहुंचे तो बकाया भुगतान करने को कहा।इस पर चीफ इंजीनियर ने उनको बुरी तरह डांट दिया। इसी दौरान ठेकेदार ने मुख्य अभियंता अंबिका सिंह के सामने ही बंदूक निकालकर खुद को गोली मार ली। इस दौरान मौके पर हड़कंप मच गया। जब तक दफ्तर के लोग पहुंचे, तब तक ठेकेदार की मौत हो चुकी थी। सूत्रों के मुताबिक ठेकेदार अवधेश की शिवप्रसाद गुप्ता महिला चिकित्सालय के भवन निर्माण से संबधित पीडब्लूडी पर लगभग चार करोड़ रुपये बकाया थे।


उपचुनाव में सपा दिखेगी नए कलेवर में

लखनऊ। लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद समाजवादी पार्टी (सपा) खुद को नए कलेवर में तैयार कर संगठन को विस्तार देने की तैयारी में है। इसके लिए यह युवा कार्यकर्ताओं की भागीदारी बढ़ाने के अलावा पिछड़ों और दलितों पर भी फोकस करना चाह रही है। सपा मुखिया अखिलेश यादव चुनाव में उतरने के पहले अपनी पार्टी को सोशल इंजीनियरिंग के हिसाब से मजबूत कर मैदान में लाने के प्रयास में हैं, क्योंकि इस बार उन्हें कई मोर्चों पर संघर्ष करना पड़ेगा। अखिलेश द्वारा विधानसभा स्तर तक की कमेटियां भंग किए जाने के अलावा फ्रंटल संगठनों को नए सिरे से गठित करने की तैयारी की जा रही है, क्योंकि इस बार उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अलावा बहुजन समाज पार्टी (बसपा) भी अलग से मैदान में रहने वाली है और यह चुनाव सपा के लिए बहुत महत्वपूर्ण भी है।


विश्वासपात्रों को ही तवज्जों
सूत्रों के अनुसार, अखिलेश ने प्रमुख नेताओं के साथ मंथन करके उपचुनाव में मजबूती से उतरने का फैसला किया गया है। उपचुनाव में सभी वरिष्ठ नेताओं की ड्यूटी लगाई जाएगी। परिणाम के आधार पर संगठनात्मक जिम्मेदारी भी दी जा सकती है। संगठन में संघर्ष करने वाले और विश्वासपात्रों को ही तवज्जों देने की बात कही जा रही है।


नई कमेटियां गठित करेगी पार्टी 
सपा सरकार में मंत्री रहे रविदास मेहरोत्रा ने कहा कि सपा के लिए अभी संघर्ष का समय चल रहा है। ऐसे में हमें भरोसेमंद और संघर्षवान पदाधिकारी चाहिए। इस बात को ध्यान में रखकर पार्टी नई कमेटियां गठित करेगी। नई कार्यकारिणी में लोकनायक के संघर्षो से प्रेरित पुराने और नए चेहरों को शामिल किया जाएगा।



सभी वर्गों का रखा जाएगा पूरा ख्याल 
उन्होंने कहा कि कमेटियों में सभी वर्गों का पूरा ख्याल रखा जाएगा. पिछड़े, अति पिछड़े, मुस्लिम और दलित वर्ग के लोगों को भी जिम्मेदारी दी जाएगी। दलित समाज के उन लोगों को जोड़ा जाएगा जो अपने वर्ग में अच्छी पैठ रखते हों। पार्टी संगठन उपचुनाव की तैयारी में मजबूती के साथ लगा हुआ है। चयन प्रक्रिया चल रही है।


वरिष्ठों के साथ ही नए प्रत्याशी भी मैदान में उतरेंगे
पूर्व मंत्री ने कहा कि हमारा संसदीय बोर्ड प्रत्याशियों के चयन में लगा हुआ है। उपचुनाव में वरिष्ठों के साथ ही नए प्रत्याशी भी मैदान में उतरेंगे। हम लोग पूरी ताकत से विरोधियों को जवाब देंगे। सपा की नई कार्यकारिणी जल्द ही घोषित होगी।


'ओवरहॉलिंग' पर अधिक फोकस
पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनावों में कांग्रेस और बसपा से गठबंधन का प्रयोग विफल होने के बाद समाजवादी पार्टी संगठन की 'ओवरहॉलिंग' पर अधिक फोकस कर रही है। इस बार विश्वासपात्र और परिवार के जो लोग चुनाव हारे, उन्हें भी संगठन में जगह देने की कवायद चल रही है।



सबसे महत्वपूर्ण है साल 2022 का चुनाव
वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक प्रेमशंकर मिश्रा का कहना है कि सपा में अब जो संगठन बनेगा, उसमें उपचुनाव छोटा हिस्सा है। इनके लिए सबसे महत्वपूर्ण है साल 2022 का चुनाव। सपा के लिए 2022 अस्तित्व की अंतिम लड़ाई है, इसलिए ऐसा संगठन बनाया जाएगा, जिसमें सब कुछ समाहित हो।


अब 'करो या मरो' की स्थित
उन्होंने कहा कि सपा के लिए अब 'करो या मरो' की स्थित है। इसलिए अब जो संगठन बनेगा, वह 2022 के चुनाव को ध्यान में रखकर ही बनेगा। अब इस पर ध्यान होगा कि जो पार्टी छोड़कर जा चुके हैं, उनकी भरपाई हो सके। जो वोटबैंक खिसक रहा है, उसे भागीदारी दी जा सके। मिश्रा ने कहा कि अति पिछड़े, सवर्ण जैसे वोटर जो वैल्यू एडिशन बढ़ाते हैं, उन्हें पार्टी से जोड़ने का प्रयास करना होगा।अखिलेश यादव को तमाम झटकों के बावजूद ऐसा संगठन बनाना होगा, जिसमें प्रभावशाली और विश्वासपात्र लोग हों। पार्टी में सबको समाहित करने के लिए सबको भागीदारी देनी होगी।


उन्होंने कहा कि परिवार के तमाम चेहरे जो चुनाव हार चुके हैं, उनकी भागीदारी संगठन में प्रमुख तौर पर दिखेगी। परिवार का समायोजन ठीक से किया जाएगा। साल 2022 के विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर ही शिल्पी तलाशे जाएंगे। उपचुनाव में सपा के आगे बसपा से बेहतर प्रदर्शन की चुनौती है, क्योंकि बसपा भी पहली बार उपचुनाव में उतरेगी। इसी कारण सपा उपचुनाव में छोटे दलों से भी समझौता कर उनके वोट बैंक का लाभ लेना चाहती है। यही वजह है कि ओमप्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) से गठबंधन की बातचीत चल रही है।


सूत्र बताते हैं कि अभी एक-दो दल और भी सपा से उपचुनाव के लिए संपर्क कर रहे हैं। सपा बसपा में जो पार्टी बेहतर प्रदर्शन करेगी, 2022 के विधानसभा चुनाव में उसी की बढ़त की उम्मीद जगेगी। वर्ष 2022 के लिए संगठन तैयार करते समय सपा सारी जातियों की गोट बिठाकर सबको समाहित करने का प्रयास करेगी।


स्वास्थ्य विभाग मनाएगा कृमि मुक्ति दिवस

आगरा। बच्चों को कृमि संक्रमण (पेट के कीड़े) से बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग 29 अगस्त को कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन करेगा। इस दौरान शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के 1 से 19 साल तक के सभी बच्चों और किशोरों को पेट के कीड़े निकालने की दवा एल्बेण्डाजोल खिलायी जायेगी। दवा सभी सरकारी व निजी स्कूलों, सहायता प्राप्त विद्यालयों और आंगनबाड़ी केन्द्रों पर खिलायी जायेगी। इस दिन जो बच्चे दवा खाने से छूट जायेंगे उनके लिए माॅपअप सप्ताह के तहत 30 अगस्त से 4 सितम्बर तक दवा खिलाने का कार्य किया जायेगा। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य और किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डाॅ. आर के अग्निहोत्री ने बताया कि फरवरी माह में करीब 9.98 लाख बच्चों को दवा खिलायी गयी थी। उन्होंने बताया कि आशा कार्यकर्ता के माध्यम से ऐसे बच्चों को चिन्हित करने का कार्य जारी है जो आंगनबाड़ी या किसी भी स्कूल में रजिस्टर्ड नहीं हैं । उनकों चिन्हित कर आंगनबाड़ी केन्द्रों पर दवा खिलायी जायेगी। डाॅ. अग्निहोत्री ने बताया कि पिछले 13 अगस्त को जिलाधिकारी एन जी रवि कुमार की अध्यक्षता में एक अंतर्विभागीय बैठक बुलायी गयी थी जिसमें स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, पंचायती राज व अल्पसंख्यक विभाग सहित निजी विद्यालयों को सहयोग करने के निर्देश दिये गये थे।


इन जगहों पर खिलायी जायेगी दवा
शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के सभी सरकारी विद्यालय, सहायता प्राप्त विद्यालय, मदरसे, कस्तूरबा गांधी विद्यालय और नवोदय विद्यालय के अलावा सभी निजी विद्यालयों और आंगनबाड़ी केन्द्रों पर एल्बेंडाजाॅल दवा खिलायी जायेगी।


दवा के फायदे
– बच्चों में एनीमिया की कमी एवं पोषण में वृद्धि
– बच्चों में शारीरिक वृद्धि और वजन बढ़ना
– मानसिक एवं शारीरिक विकास
– स्कूल में उपस्थिति बढ़ने में सहायक होना
– बच्चों की याददाश्त में वृद्धि और सक्रियता बढ़ना


कृमि संक्रमण के कारण
– नंगे पैर खेलना व घूमना
– हाथ धोये बिना खाना खाना
– शौच करने के बाद ठीक से हाथ नहीं धोना
– फल और सब्जियों को बिना धोये यानि बिना साफ किये खाना
– खाने को ढक कर न रखना


इस तरह खिलाये दवा
– 1 से 2 साल तक के बच्चों को आधी गोली खिलायेँ । गोली को बारीक पीस लें और पानी के साथ खिलायें।
– 2 से 3 साल तक के बच्चों को एक पूरी गोली का चूरा बनाकर पानी में मिलाकर खिलाये।
– 3 से 19 साल के बच्चों को हमेशा दवाई को चबाकर खाने की सलाह दें। चबाकर खायी गयी दवा का ज्यादा प्रभाव पड़ता है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि दवा उसी के सामने बच्चे को खिलाई जाये। दवा को घर न ले जाने दें।


क्रूरता:मां की हत्या,शव के टुकड़े,भेजा निकाला

रायगढ़। जिले के बोतल्दा गाँव में क्रूरता की हद पार करते हुए कलियुगी बेटे ने अपनी ही मां की कुल्हाड़ी से मारकर हत्या कर दी। जिसके बाद उसने अपनी मां के शव के टुकड़े किये,माथे को काटकर उसमें से भेजा निकाला और उसे तलकर भूनकर खाने की तैयारी करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया। मानवता को शर्मशार करते हुए आरोपी बेटे ने हैवानियत की हद बस इसलिए पार कर दी क्यूंकि नशे के आदि हो चुके बेटे को उसकी मां ने शराब पीने के लिए पचास रूपए नहीं दिए। मामला है खरसिया थाना क्षेत्र के बोतल्दा गाँव के कुदरीपारा का जहाँ  मंगलार को आरोपी सीताराम उरांव द्वारा अपनी विधवा मां फुलोबाई उरांव की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी गई।हत्या के बाद सीताराम ने अपनी मां के शव को क्षत विक्षप्त कर दिया और माथे को फाड़कर उसमें से भेजा निकाल कर उसे टुकड़े टुकड़े कर कड़ाही में डालकर पकाने की तैयारी करने लगा।घटना की जानकारी मिलते ही कोहराम मच गया और हल्ला गुल्ला सुनते ही परिजन  घटना स्थल पर पंहुचे तब तक आरोपी वहाँ से भाग निकला। 


नशे की लत में बिखर गया परिवार


पुलिस सूत्रों से पत्रवार्ता की मिली जानकारी के अनुसार मृतिका फुलोबाई(50)के दो पुत्र हैं जिसमें बड़ा लड़का सीताराम है और छोटा लड़का जयराम अपने पत्नी बच्चों के साथ बगल के कमरे में रहता था। सीताराम अक्सर नशे में धुत्त रहता था जिसे नशे की बुरी आदत थी।उसके द्वारा अक्सर हंगामा कर लड़ाई झगडा किया जाता था जिससे परेशान होकर उसका बड़ा भाई जयराम बगल में घर बनाकर रहता था।


फ्लेक्सी किराया प्रणाली में प्रतिस्पर्धा

नयी दिल्ली। रेलगाड़ियों में फ्लैक्सी किराया प्रणाली शुरू करने वाली सरकार को अब हकीकत का अहसास होने लगा है।रोडवेज, लोकास्ट हवाई सेवाओं से मिल रही तगड़ी प्रतिस्पर्धा को देखते हुए केन्द्र की मोदी सरकार ने कुछ प्रीमियम ट्रेनों में छूट देने की योजना तैयार की है।


रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।
ये छूट शताब्दी एक्सप्रेस, गतिमान और तेजस जैसी ट्रेनों में दी जाएगी।यह छूट प्रीमियम ट्रेनों के एसी चेयरकार, इक्सीक्यूटिव चेयरकार के बेस किराया में दी जाएगी।
ट्रेनों के सुपर फास्ट चार्ज, जीएसटी और आरक्षण चार्ज को इससे अलग रखा जाएगा।


थानेदार ने आदर्श उदाहरण प्रस्तुत किया

सहारनपुर। जिले में एक थानेदार ने ऐसा उदाहरण प्रस्तुत किया है जिसकी पूरे पुलिस विभाग में ही नहीं बल्कि सोशल मीडिया पर भी सराहना हो रही है। पुलिस अधिकारी ने एक छात्र को पढ़ाई का शुल्क देकर मिसाल पेश की है। एस पी देहात विधा सागर मिश्रा के मुताबिक, 'गंगोह कोतवाली पहुंचकर एक छात्र ने थाना प्रभारी भगवत सिंह को प्रार्थनापत्र दिया। जिसमें बीएससी की पढाई के लिए कॉलेज की फीस नहीं भर पाने की बात लिखी थी। मिश्रा के अनुसार छात्र ने लिखा था कि वह और उसका परिवार कॉलेज फीस के 12 हजार रुपये नहीं भर सकते, लेकिन वह पढ़ना चाहता है।' छात्र संदीप बटार ने यह भी कहा कि वह मेहनत मजदूरी करके यह रकम लौटा भी देगा। श्री मिश्रा ने बताया कि थानाध्यक्ष भगवत सिंह ने बटार को १२ हजार रुपये देकर कहा कि वह मन लगाकर पढ़ाई कर सफलता हासिल कर ले तो वह समझ लेंगे कि उनकी रकम वापस आ गई है। थानाध्यक्ष की इस पहल की हर ओर सराहना की जा रही है।


प्रयागराज:मानद उपाधियों को लेकर विवाद

मनोज पांडेय


प्रयागराज। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में 5 सितंबर को होने वाले दीक्षांत समारोह के दौरान दी जाने वाली मानद उपाधियों को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। इसे लेकर विश्वविद्यालय के एक पूर्व प्रफेसर रामकिशोर शास्त्री ने राष्ट्रपति को पत्र लिखा है और मानद उपाधि दिए जाने के तौर-तरीकों पर आपत्ति जताते हुए इसे रोकने का आग्रह किया है। हालांकि यह विश्वविद्यालय की मान्यताओं और परंपराओं के प्रतिकूल है। प्रफेसर शास्त्री ने मीडिया से बात करते हुए आरोप लगाया कि विश्वविद्यालय में मानद उपाधि प्रदान करने के संदर्भ में अध्यादेश में प्रक्रिया दी गई है, जिसका पालन नहीं किया गया। इसके लिए कुलाधिपति से अनुमति लेने की जरूरत होती है, जो नहीं ली गई। मानद उपाधियां प्रदान करने के सभी निर्णय विद्वत परिषद एवं कार्य परिषद की आपात बैठकों में लिए जा रहे हैं।


राजधानी लखनऊ से प्रमुख समाचार

लखनऊ। पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल के ऐशबाग से सीतापुर के बीच चलने वाली ट्रेनें अब 29 अगस्त से लखीमपुर तक चलेंगी। रेल राज्यमंत्री सुरेश सी. अंगड़ी सीतापुर से लखीमपुर के बीच आमान परिवर्तन के पूरे हुए काम का उद्घाटन करेंगे। इसकी शुरुआत वह २८ अगस्त को लखीमपुर से सीतापुर सेक्शन पर स्पेशल ट्रेन चलाकर करेंगे। इसके बाद २९ अगस्त से इस रूट पर गोरखपुर-सीतापुर एक्सप्रेस व लखनऊ-सीतापुर पैसेंजर को चलाया जाएगा।
बता दें कि सीतापुर से लखीमपुर सेक्शन के करीब 50 किमी रेलखंड का आमान परिवर्तन रेल विकास निगम लिमिटेड ने पूरा कराया है। सेक्शन खुलने से लखनऊ से लखीमपुर जाने वालों को राहत हो जाएगी।


लखनऊ। केंद्रीय महिला व बाल विकास तथा वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी 28 अगस्त बुधवार को अमेठी जाएंगी। अमेठी की सांसद और केंद्रीय मंत्री का यह दौरा एक दिवसीय होगा। इस दौरान वह विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास/लोकार्पण करने के अलावा गौरीगंज के चौहनापुर गांव में जनसभा को भी संबोधित करेंगी।



लखनऊ। केजीएमयू के न्यू टीजी हॉस्टल के छात्रों को सड़ा खाना और गंदा पानी पिलाया जा रहा है। यहां सब्जी में कीड़े मिल रहे हैं। शिकायत करने पर मेस संचालक ने धमकी दी। इस बात को लेकर रात में जमकर बवाल हुआ। इस मामले में छात्रों ने केजीएमयू प्रशासन से लिखित शिकायत की है। न्यू टीजी हॉस्टल में एमबीबीएस २०१४ बैच के इंटर्न छात्र रह रहे हैं। यहां नर्सिंग छात्र भी रहते हैं। हॉस्टल के अंदर मेस का संचालन हो रहा है। यहां करीब ५०० छात्र खाना खाते हैं। शुक्रवार को बैंगन की सब्जी में कीड़े मिलने पर छात्रों ने ऐतराज जताया। इस बात को लेकर जमकर बवाल हुआ। इसके बाद भी उन्हें वही सब्जी खाने के लिए विवश किया गया। इस दौरान ज्यादातर छात्रों ने खाना नहीं खाया। अगले दिन भी खाने की गुणवत्ता बहुत खराब रही। इससे गुस्साए छात्रों ने खाना खाने से मना कर दिया। इसके बाद भी व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ। इस पर छात्रों ने केजीएमयू प्रशासन से लिखित शिकायत की है।



लखनऊ। तेजस एक्सप्रेस को जंक्शन के प्लेटफॉर्म नंबर छह से चलाने की तैयारी है। ऐसा करने से यात्रियों को सहूलियत होगी। कैब-वे के जरिये वे सीधे प्लेटफॉर्म तक आ जाएंगे और कार से उतरकर सीधे सीट तक जा सकेंगे।
इस प्लेटफॉर्म पर २२ बोगियां फिट हो सकती हैं, जबकि तेजस में १९ बोगियां व इंजन रहेगा। ट्रेन की बोगियों के नाम अवध, काशी, बिठूर के नाम पर रखे जा सकते हैं।
इसके लिए पर्यटन विभाग विज्ञापन देगा। इस बाबत सोमवार को पर्यटन अधिकारियों के साथ आईआरसीटीसी की बैठक हुई। इस संबंध में जल्द अंतिम निर्णय लिया जाएगा।



लखनऊ। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक सर्विस टैक्स हटाए जाने के बाद। आईआरसीटीसी के राजस्व में २६ प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। ऐसे में रेलवे आईआरसीटीसी को दोबारा से सर्विस टैक्स वसूलने की छूट दी गई है। सूत्रों के मुताबिक आने वाले दिनों में आईआरसीटीसी से नॉन एसी टिकट कराने पर 20 रुपए सर्विस टैक्स के रुपए में देने पड़ेंगे। वहीं एसी टिकट के लिए 40 रुपए सर्विस टैक्स लगेगा।


पाक से सिर्फ पीओके पर बात:उपराष्ट्रपति

विशाखापत्तनम। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बाद उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) का मसला उठाया। विशाखापत्तनम में नौसेना विज्ञान और प्रौद्योगिकी प्रयोगशाला के स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित करते वेंकैया नायडू ने कहा कि अब पाकिस्तान से सिर्फ पीओके पर बात होगी। कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। हम युद्ध नहीं चाहते हैं। हम शांतिप्रिय राष्ट्र हैं।


राम रहीम डॉक्टर नहीं, अपील खारिज

चंडीगढ। रेप के आरोप में जेल में बंद गुरमीर राम रहीम को मंगलवार को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट से झटका लगा है। आज हाईकोर्ट ने राम रहीम की पत्नी हरजीत कौर की उस याचिका को वापस लेने की छूट देते हुए खारिज कर दिया है। जिसमें उसने राम रहीम को पैरोल देने की मांग की थी। हरजिंदर कौर ने हाईकोर्ट को बताया कि हरियाणा सरकार ने राम रहीम की पैरोल की अपील खारिज की है। जबकि राम रहीम पैरोल के हकदार हैं उनकी माता बीमार है और मां अपने बेटे की हाजिरी में ही इलाज करवाना चाहती है।
कोर्ट ने कहा राम रहीम डॉक्टर तो नहीं है इलाज तो डॉक्टर ने करना है। कोर्ट ने कहा कि डेरे का इतना बड़ा हस्पताल है तो वहां इलाज़ करवाएं। वहां पूरे परिवार के सदस्य और डेरे के कर्मी है सिर्फ बेटा नहीं होगा। वहां इलाज करवाया जा सकता है।बेंच ने कहा कि जब राम रहीम जीवित हैं तो वह किस हैसियत से याचिका दायर कर रही है। राम रहीम चाहे तो खुद याचिका डाल सकता है।
 


कश्मीर:पर्यटक बढावे के लिए मेगा प्लान

नई दिल्‍ली। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद अब सरकार का राज्य के बड़ा प्लान है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि कश्मीर में पर्यटन बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार ने मेगा प्लान तैयार किया है। ऐसा बताया जा रहा है कि अगले महीने पर्यटन मंत्रालय का प्रतिमण्डल राज्य का दौरा करेगा। पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल के साथ टीम पहले लेह जाएगी फिर घाटी की यात्रा करेगी इस दौरान उन जगहों को चिन्हित किया जाएगा जहां पर्यटन को बूस्ट किया जा सकता है। बता दें कि जम्मू कश्मीर में पर्यटको को बढ़ाने के लिए पहले ही पर्यटन मंत्रालय की सिफारिश पर हिमालय की 137 पर्वत चोटियां को गृह और रक्षा मंत्रालय मंजूरी दे चुका है इसमें कश्मीर की पर्वत चोटिया भी शामिल है।
इस प्लान के तहत केंद्र सरकार राज्य के टूरिस्ट गाइड को उच्चस्तरीय प्रशिक्षण उपलब्ध कराएगी। इसके साथ ही राज्य में टूरिस्टों को कई तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। वहीं जम्मू कश्मीर को लेकर आज गृह मंत्रालय की एक उच्चस्तरीय बैठक हो रही है। गृह सचिव की अध्यक्षता में होने वाली इस हाईलेवल मीटिंग में भारत सरकार के सचिव स्तर के अधिकारी शामिल हैं। ऐसा बताया जा रहा है कि बैठक में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक 2019 के कार्यान्वयन पर चर्चा हो रही है जिसमें अतिरिक्त सचिव (जम्मू-कश्मीर) भी शामिल हैं।
उधर आज अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के अधिकारियों का एक डेलिगेशन जम्मू कश्मीर के दौरे पर जा रहा है जो दो दिनों तक यानी 27 और 28 अगस्त को वादी के अलग अलग इलाकों में जाकर ये देखेगा कि कहां और कैसे स्कूल, कॉलेज और दूसरे भवनों का निर्माण कराया जाए। अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इस मामले में कहा है कि विपक्ष के जो लोग ''राजनीतिक पूर्वाग्रह'' के चलते 370 से जुड़े कदम का विरोध कर रहे हैं, वो भी भविष्य में इसका समर्थन
 


पांच नक्सली गिरफ्तार,विस्फोटक बरामद

सुकमा। सुकमा में जवानों को बड़ी कामयाबी मिली है। जवानों ने पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। सुकमा के भेज्जी इलाके से इनकी गिरफ्तारी की गई है। गिरफ्तार नक्सलियों के पास से विस्फोटक सामान, 20 मीटर वायर सहित कई नक्सल सामान बरामद किया गया है। बताया जा रहा है कि ये सभी नक्सली आईईडी (IED) लगाने का काम करते थे। मामला भेज्जी थाना क्षेत्र के एलाड़मड़गु का है। सुकमा एसपी शलभ सिन्हा ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है।


डीएम के अनोखे अंदाजो ने बनाया लोकप्रिय

भोपाल। राजगढ़ जिले की अति संवेदनशील कलेक्टर निधि निवेदिता सिंह अपने कुछ अलग अंदाज, त्वरित निर्णय, एवं अनोखी सजा सुनाने में माहिर होने की वजह से जनप्रिय कलेक्टर बन चुकी है । हाल ही में अधिकारियों में स्फूर्ति चुस्ती बनी रहे ऐसी सजा सुनाने की चर्चा पूरे जिले में हैं। अगर जिले की ग्राउंड रिपोर्ट की ओर देखा जाए तो ग्रामीण महिलाओं एवं ग्रामीणों के बीच काफी लोकप्रियता हासिल करने वाली वो एक मात्र आईएएस अधिकारी है। 


ज्ञात होगा 10 मई 2016 को सिंगरौली में जिला पंचायत सीईओ रहते हुए निधि निवेदिता ने स्वच्छता मिशन ओर शौचालय निर्माण की जांच करने पहुंची तो जो फोटो जिला पंचायत को भेजा गया था वो फोटो शॉप पर बना हुआ पाए जाने पर सचिव से ग्रामीणों के बीच उठक बैठक लगवाई थी। 
ऐसा ही मामला राजगढ़ जिले का है यहां 20 अगस्त को सद्भावना दौड़ में सभी अधिकारियों को शासकीय आदेश से आमंत्रित किया गया था लेकिन 26 लापरवाह अधिकारी न तो पहुंचे और न ही कोई कारण बताया, इसके बाद कलेक्टर निधि निवेदिता ने वही अपने अनोखे अंदाज में सजा सुनाई। 
इस मामले में जहां तक उनके जानने वालों की राय है कि निधि निवेदिता काफी प्रकृति प्रिय ओर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक आईएएस है जो अपने मातहतों को लापरवाही बरतने पर स्वास्थ्य एवं शरीर पर बेहतर असर करे ऐसी अनोखी सजा सुनाती है , ताकि मातहतों को हमेशा उनकी यह सीख याद रहे। यहां भी उन्होंने दौड़ के बदले दौड़ लगाने की सजा सुनाई एवं टीएल के पहले 3 किलोमीटर तक अधिकारी दौड़े भी। 


आलम यह रहा कि इस सजा का नुकसान नही लाभ था, ओर इस लाभ के अवसर से कौन चूकना चाहेगा, ऐसे में 26 अधिकारियों को दौड़ना था लेकिन 50 पहुंचे। अतिरिक्त पहुंचे अधिकारियों का कहना था कि इसी बहाने शारीरिक श्रम हो जाएगा । हम मेडम को धन्यवाद देते है जो हमारे स्वास्थ्य का ख्याल रखती है। 


उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों भी जिले भर में स्वास्थ्य को लेकर मेडम काफी चिंतित रही और उन्होंने कई स्थानों पर तो खाद्य सामग्री निरीक्षण में खुद जाकर मॉनिटरिंग की।वहीं महिलाओं का कहना है की कलेक्टर नही हमारी भगवान है, जिनकी संवेदनशीलता के गुणगान हर तरफ है। एक जरूरतमंद को खून देकर नई मिसाल कायम की वहीं अनाथ बच्चों को स्कूलों में दाखिला करवाया, हमारे लिए पढ़ाई एक सपना था जिसे बादल पर पांव योजना शुरू कर रास्ता खोला। वाकई जिले में उनके इस तरह के अनोखे अंदाज से वो चर्चित भी है। वहीं पत्रकारों के उल जुलूल सवालों के पचड़े में न पड़ने से पत्रकारों की नाराजगी भी देखी जा रही है। लेकिन वो सही है तो इन फालतू की नकारात्मक खबरों पर उन्है ध्यान न देकर जिले की निर्बाध विकास की गति को जारी रखना चाहिए।


बारिश ने मचाई तबाही, ली कई की जान

भोपाल । प्रदेश में हो रही मूसलाधार बारिश ने हाहाकार मच गया है। नदी-नाले उफान पर आ गए है, कई गांवों का संपर्क टूट गया है, कई जगह बाढ़ के हालत बने हुए है।  भारी बारिश के चलते कैरवा में दो दोस्त लापता हो गए। जबकि विदिशा में दो और अशोकनगर में एक व्यक्ति की मौत हो गई। सूखी नदी के उफान मे एक व्यक्ति बाइक समेत बह गया। भोपाल-बैतूल मार्ग बंद है। मौसम वैज्ञानिकों ने 24  घंटे में भारी बारिश की चेतावनी दी है।
दरअसल, मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में मध्य प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। बैतूल में इसका असर भी नजर आ रहा है। बैतूल में बारिश से सूखी नदी में बाढ़ आने के कारण नेशनल हाइवे 69 बैतूल भोपाल पर यातायात सुबह 9 बजे से बंद है। आमला ब्लॉक में तेज बरसात के कारण कई गांवों के पहुंच मार्ग बंद हैं। दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई है। इधर, विदिशा के लिए बेतवा नदी में उफान आने चरण तीर्थ घाट के दोनों मंदिर डूब गए हैं।


तीन दोस्त केरवा नदी में डूबे, दो लापता 
इधर भोपाल केरवा डैम के आगे नदी में नहाने उतरे तीन दोस्त बह गए। इनमें से एक ने पेड़ की डाल पकड़कर जान बचा ली, जबकि दो अन्य शाम साढ़े चार बजे से लापता हैं। तीनों 12 नंबर स्टॉप पर रहते हैं। तीनों यहां पार्टी मनाने पहुंचे थे। पुलिस, एसडीआरएफ की टीमों ने देर रात तक दोनों युवकों को तलाशा, लेकिन वे नहीं मिले। 


ताप्ती में बाढ़, बाइक समेत युवक बहा
ताप्ती नदी पर बने पारसडोह बांध के 6 गेट खुले होने से ताप्ती नदी का जल स्तर बढ़ रहा है। सापना जलाशय के वेस्टवियर से 2 फीट पानी निकलने से सापना नदी उफान पर है। सारणी में सतपुड़ा जलाशय के 14 गेट खुले हैं, जिससे तवा नदी का जल स्तर बढ़ता जा रहा है। ताप्ती नदी में बाढ़ के कारण पुलिया के ऊपर से पानी बह रहा है। सोमवार की सुबह पुल पर पानी होने के बाद भी बाइक सवार बोण्डु काले ने पुल पार करने का प्रयास किया। तेज बहाव के कारण वह बाइक समेत बहने लगा। पुल के किनारे पर पहुंचते ही लोगो ने जान जोखिम में डालकर उसे बचाया। अशोकनगर में घर में छत डालकर लौट रहा बाइक सवार व्यक्ति पुलिया पर तेज बहाव के कारण बाइक समेत बह गए। व्यक्ति की बाइक पुलिया पर बाइक हुई बरामद। डेड बॉडी ढूंढने के लिए ऑपरेशन जारी है।


बेतवा की बाढ़ से दो की मौत 
विदिशा में बांधों से छोड़े जा रहे पानी से बेतवा, सांगड़ और छोटी नदियां उफान पर आ गई हैं। बेतवा खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। गंजबासौदा के पास बर्री पर बेतवा का पानी आ गया है। विदिशा शहर में बारिश का सिलसिला रुक-रुककर दिनभर जारी रहा। गंजबासौदा के बर्री पुल पर नदी में बहकर आया शव बरामद हुआ है। शव की शिनाख्त नहीं हुई है। वहीं लटेरी क्षेत्र के बैरागढ़ गांव के पास दपकन नदी में एक शव मिला। 


खरगोन में बिगड़े हालात
इंदिरा सागर और आंकारेश्वर बांध के गेट खोलने के बाद इसका असर खरगोन जिले में भी देखने को मिल रहा है। यहां नर्मदा नदी उफान पर है। नर्मदा पट्टी इलाके में हाई अलर्ट घोषित किया गया है। नर्मदा के उफान के चलते खरगोन जिले में स्थित खलघाट का पुराना पुल डूबने की कगार पर है। आंकारेश्वर बांध से 10 हजार क्यूसेक मीटर पानी छोडा गया।


खंडवा में बांधों के गेट खोले, घाट डूबे
खंडवा में रिमझिम बारिश का दौर जारी है। बुरहानपुर में ताप्ती नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। शाम 6.30 बजे नदी 221 मीटर पर बह रही थी। वहीं इंदिरा सागर के 12 व ओंकारेश्वर बांध के 14 गेट 3 मीटर खोले गए। तवा बांध से गेट खुलने की सूचना मिलते ही इंदिरा सागर बांध प्रबंधन ने भी 12 गेट पुन: खोल दिए। इंदिरा सागर के गेट खोलते ही ओंकारेश्वर बांध प्रबंधन ने बाढ़ नियंत्रित करने 14 गेट 3 मीटर खोल दिए।


पोर्न देखने वाले विधायक बने डिप्टी सीएम

विधानसभा में पोर्न देखने वाले नेता को बीजेपी ने बनाया कर्नाटक का डिप्टी सीएम, पार्टी के विधायक ने उठाए सवाल


बेंगलुरु। करीब एक हफ्ते के इंतजार के बाद कर्नाटक में मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा हो गया है। इस बार मुख्यमंत्री येदियुरप्पा के मंत्रिमंडल में तीन उप मुख्यमंत्री हैं। जिनमें से एक वही बीजेपी नेता हैं जिन्हें पोर्न देखते हुए पाया गया था। इस वजह से राजनीतिक गलियारों में हलचल है। बीजेपी नेता का नाम लक्ष्मण सावदी है और वह राज्य विधानसभा में पोर्न देखते हुए पकड़े गए थे। नई कैबिनेट में उन्हें ट्रांसपोर्ट पोर्टफोलियो भी दिया गया है। हालांकि बीजेपी विधायक और सीएम के सहयोगी एमपी रेनुकाचार्य ने लक्ष्मण की नियुक्ति का विरोध किया है। उन्होंने शुक्रवार को कहा, 'उन्हें चुनाव हारने के बावजूद मंत्री के रूप में शामिल करने की क्या आवश्यकता थी। बता दें कि लक्ष्मण सावदी बीते साल महेश कुमाटटल्ली से चुनाव हार गए थे।


वहीं लक्ष्मण सावदी ने बेंगलुरू में एएनआई से कहा, 'केंद्र और राज्य के नेताओं ने मुझे डिप्टी सीएम बनाया है। उन्होंने मुझ पर विश्वास जताया है। मैं पार्टी को मजबूत बनाऊंगा और हमारी सरकार अच्छा नाम करेगी। मैंने यह पद नहीं मांगा था। पार्टी के सीनियर नेताओं ने मुझे यह पद दिया है. मैं इसे स्वीकार करता हूं।


बता दें कि 2012 में 2 लोगों समेत लक्ष्मण सावदी विधानसभा में पोर्न देखते हुए पाए गए थे। इससे बीजेपी की काफी किरकिरी हुई थी। सावदी ने सफाई देते हुए कहा था कि वह इसे शिक्षा के उद्देश्य से देख रहे थे जिससे वह रेव पार्टी के बारे में जान सकें। हालांकि फिर सावदी, सीसी पाटिल और कृष्णा पालेमर ने कर्नाटक में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।


मुजफ्फराबाद को बचाने के लाले:बिलावल

इस्लामाबाद। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल भुट्टो जरदारी ने कश्मीर मसले पर इमरान खान को नाकाम बताया है। बिलावल ने मीडिया से कहा- पहले हम भारत से श्रीनगर छीन लेने की बात करते थे, लेकिन अब हालात ये हो गए हैं कि हमें मुजफ्फराबाद बचाने के लाले पड़ गए हैं। पीपीपी चेयरमैन ने एक बार फिर प्रधानमंत्री इमरान खान और फौज पर तंज कसा। कहा- इमरान खान इलेक्टेड नहीं सिलेक्टेड पीएम हैं। सिलेक्टेड और सिलेक्टर्स से मुल्क की जनता अब जवाब मांग रही है।


इस्लामाबाद में पार्टी की एक अहम मीटिंग के बाद बिलावल ने मीडिया से कहा,अब देश के सामने ये बात साफ हो गई है कि ये सरकार जितनी नाकाम साबित हुई है, पहले कोई हुकूमत इतनी नाकाम नहीं हुई। आपने लोकतंत्र के साथ जो किया, उसे हमने बर्दाश्त कर लिया। आपने अर्थव्यवस्था तबाह कर दी, हमने वो भी सहन कर लिया। आप सोते रहे और जब जागे तो विरोधियों को दबाने के लिए। आप सोते रहे और मोदी ने कश्मीर छीन लिया। पहले हमारी कश्मीर पॉलिसी क्या होती थी? हम प्लान बनाते थे कि श्रीनगर कैसे लेंगे? अब सिलेक्टेड पीएम खान की वजह से यह हालात हो गए हैं कि सोचना ये पड़ रहा है कि हम मुजफ्फराबाद कैसे बचाएंगे?


नजरबंद नेताओं को कब रिहा किया जायेगा?

नई दिल्ली। सरकारी सूत्रों से जम्मू कश्मीर की स्थिति पर अहम जानकारी मिली है। 40 नेताओं और 1000 से ज्यादा पत्थरबाजों को हिरासत में लिया गया है। बीते 24 दिनों में जम्मू कश्मीर के 2 पूर्व मुख्यमंत्रियों को घर में नजरबंद किया गया है और उनके पास पहुंचने के लिए उनके परिवार के किसी सदस्य या केंद्र द्वारा कोई प्रयास नहीं किया गया। बीते हफ्ते के आखिर में आईबी के डायरेक्टर अरविंद कुमार और कई अधिकारी कश्मीर में थे। कुमार ने एजेंसियों की कई शाखाओं के साथ अंतरम बैठक की थी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार प्रतिक्रिया ली। महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा मुफ्ती, जिन्होंने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा था, वह भी राज्य छोड़ चुकी हैं।


इस बीच लगभग चार सप्ताह तक विभिन्न स्थानों पर 40 से अधिक मुख्यधारा और राज्य के नेताओं को हिरासत में लिया गया है। 6 लोगों को जम्मू में हिरासत में लिया गया और बाकी को घाटी में हिरासत में लिया गया है। जम्मू में मोदी सरकार में मंत्री जितेंद्र सिंह के भाई को भी घर में नजरबंद किया गया है।


महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला सरकार के 70 साल से कम उम्र के सभी कैबिनेट मंत्री भी अपने घरों में नजरबंद हैं। कई राजनेता सेंटौर होटल में रुके हैं। कुछ नेताओं के परिजन उनसे मिलने के लिए आए लेकिन उन्हें सभी जरूरी कागजात दिखाने के बाद ही मिलने दिया गया। लेकिन दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों के परिवार से कोई मिलने नहीं आया।


उमर अब्दुल्ला हरि निवास पैलेस में हैं और महबूबा मुफ्ती चश्मे शाही में हैं। लेकिन चिंता की बात ये है कि भारत सरकार के पास कोई रोडमैप नहीं है कि कैसे और कब इन नेताओं को रिहा किया जाएगा और उनकी नजरबंदी खत्म होगी। केंद्र ने इस मुद्दे को राज्य प्रशासन पर डाल दिया है। ग्राउंड पर मौजूद अधिकारियों ने साफ तौर पर कह दिया है कि इन नेताओं की नजरबंदी खत्म होने में लंबा समय है।


पाक ने यूएन में उठाया सीएम खट्टर का बयान

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र का रुख किया है और भारत पर जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन के आरोप लगाए हैं। पाकिस्तान के द्वारा इस चिट्ठी में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान का इस्तेमाल किए जाने पर भारतीय जनता पार्टी हमलावर है, लेकिन इस चिट्ठी में पाकिस्तान ने न सिर्फ राहुल गांधी बल्कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के ट्वीट का भी जिक्र किया है।


इस चिट्ठी में पाकिस्तान की तरफ से हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के उस बयान का भी जिक्र किया गया है, जो उन्होंने 10 अगस्त 2019 को दिया था। खट्टर ने बयान दिया था 'पहले बहू बिहार से लाई जाती थीं, लेकिन अब हम कश्मीर से बहू लाएंगे।' हालांकि, बाद में उन्होंने अपने इस बयान पर सफाई दी थी और लिंगानुपात का हवाला दिया था।पाकिस्तान ने कई विदेशी मीडिया की रिपोर्ट का हवाला दिया है। साथ ही एक गूगल सर्च की भी बात की है, जिसमें कहा गया है कि 5 अगस्त के बाद से भारत में 'How to marry Kashmiri Women' के सर्च बढ़ गए हैं। साथ ही साथ पाकिस्तान ने राहुल गांधी और मनोहर लाल खट्टर के एक बयान को भी रिपोर्ट में शामिल किया है। इस चिट्ठी में लिखा गया है कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद राहुल गांधी ने जम्मू-कश्मीर में हिंसा और लोगों की मौत का जिक्र किया था।


कुलदीप के सचिव की संदिग्ध हालत में मौत

चंडीगढ़। कुलदीप बिश्नोई से जुडी एक और बुरी खबर सामने आई है। कुलदीप बिश्नोई के निजी सचिव सुकुमार पोरिया की मंगलवार को संदिग्ध हालात में मौत हो गई। आशंका ये भी जताई जा रही है कि सुकुमार ने आत्महत्या की है। फिलहाल दिल्ली पुलिस जांच में जुटी हुई है। सुकुमार का अंतिम संस्कार आह दोपहर 12.30 बजे नई दिल्ली स्थित लाला लाजपतराय रोड स्थित निजामुदीन वेस्ट दयानंद मुक्तिधाम में किया जाएगा। कुलदीप बिश्नोई के सचिव की इस समय संदिग्ध हालत में हुई मौत कई और कड़ियों की तरफ इशारा कर रही है।


बता दें कि आयकर विभाग के बेनामी निषेध इकाई ने गुरुग्राम स्थित ब्रिस्‍टल होटल को अटैच कर दिया है। पिछले महीने कुलदीप बिश्‍नोई के आवास व फार्म हाऊस पर आयकर विभाग के छापे के बाद यह बड़ी कार्रवाई है। दिल्ली की बेनामी निषेध इकाई ने गुरुग्राम में 150 करोड़ रुपये के ब्रिस्टल होटल को 150 करोड़ रुपये को अटैच किया है। इसे 'बेनामी' संपत्ति तौर पर अटैच किया गया है।


बैंकिंग,ट्रैफिक,टैक्स से जुड़े नियम बदलेंगे

नई दिल्ली। नए महीने सिंतबर की शुरुआत होने वाली है। इस नए महीने में बैंकिंग, ट्रैफिक और टैक्‍स से जुड़े कई नियम बदल जाएंगे। ये बदलाव आपकी रोजमर्रा की जिंदगी को प्रभावित करने वाले हैं। ऐसे में इन नियमों के बारे में जानना जरूरी है।


बैंकिंग नियमों में बदलाव
1 सितंबर से बैंक से जुड़े नियम बदल जाएंगे। दरअसल, देश के सबसे बड़े स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने पुराने ग्राहकों के होम या ऑटो लोन को रेपो रेट से लिंक करने का फैसला लिया है। इसके लागू होने के बाद जब भी आरबीआई रेपो रेट में कटौती करेगा तब ग्राहकों को तत्‍काल प्रभाव से फायदा मिलेगा।
आने वाले दिनों में एसबीआई की तरह अन्‍य सरकारी बैंक भी लोन को रेपो रेट से लिंक करने वाले हैं। सितंबर महीने में बैंकों के खुलने और बंद होने के समय में भी बदलाव हो सकता है। इसी तरह सरकारी बैंकों से 59 मिनट में होम लोन, ऑटो लोन और पर्सनल लोन लेने की सुविधा मिलनी शुरू हो सकती है।
ट्रैफिक नियमों में बदलाव
1 सितंबर से ट्रैफिक से जुड़े नियम बदल जाएंगे. दरअसल, इस दिन से मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम के 63 उपबंध लागू होने वाले हैं। इनमें यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर भारी-भरकम जुर्माना शामिल है।
जानकारी के मुताबिक शराब पीकर गाड़ी चलाने, तेज गति से दौड़ने (ओवरस्पीड) और ओवरलोडिंग समेत अन्य मामलों में जुर्माना बढ़ाया गया है। इसके अलावा देश में सड़क दुर्घटनाओं के लिए जिम्‍मेदारी भी तय की गई है। हादसे का मुख्य जिम्मेदार सड़क इंजीनियरिंग को माना जाता है।
बीमा नियमों में बदलाव
अगर आपके पास कार या दो-पहिया वाहन है तो 1 सितंबर से बीमा नियमों में बदलाव के लिए तैयार रहिए। दरअसल, साधारण बीमा कंपनियां अब वाहनों को भूकंप, बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं, तोडफोड़ और दंगे जैसी घटनाओं से होने वाले नुकसान के लिए अलग से बीमा कवर उपलब्ध कराएंगी। बीते जुलाई महीने में बीमा नियामक इरडा ने साधारण बीमा कंपनियों को इसे 1 सितंबर से लागू करने को कहा था।
टैक्‍स नियमों में बदलाव
1 सितंबर से टैक्‍स से जुड़े नियम भी बदल जाएंगे। दरअसल, पुराने टैक्स मामलों को निपटाने के लिए एक स्‍कीम लॉन्‍च की गई है। इसके तहत बकाया टैक्स चुकाया जा सकेगा। इस स्कीम में टैक्स चुकाने पर कानूनी कार्रवाई नहीं होगी बल्कि ब्याज, पेनाल्टी से छूट भी मिलेगी। इसी तरह 1 सितंबर से इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने पर जुर्माना भी देना पड़ सकता है।
किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना आसान
1 सितंबर से किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाना पहले के मुकाबले आसान हो जाएगा। अब अधिकतम 15 दिनों में बैंक को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करना होगा। इस संबंध में बीते दिनों केंद्र सरकार ने निर्देश दिया था।


दो दिन से भूखे प्यासे पड़े हैं गौवंश

छत्तीसगढ़ सरकार की महती गौठान योजना का सिंघिया पंचायत में नही मिल रहा लाभ,पंचायत भवन परिसर में दो दिन से भूखे प्यासे पड़े है गौवंश


कोरबा-सिंघिया। राज्य शासन की "नरवा,गरुवा,घुरुवा,बारी" योजना सिंघिया पंचायत में प्रारंभिक अवस्था में ही दम तोड़ती नजर आ रही है।छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार बनते ही सूबे के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा राज्य के विकास में नई पहल की शुरुआत को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के विकास को गति देने इस योजना का शुभारंभ किया गया।लेकिन जिले के जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारी व जनप्रतिनिधि इन योजनाओं के प्रति कितने गंभीर है,इसका ताजा उदाहरण पोड़ी उपरोड़ा ब्लाक के सिंघिया ग्राम पंचायत में देखने को मिला।छ त्तीसगढ़ के चार चिन्हारी-नरवा,गरुवा,घुरुवा अउ बारी स्लोगन के साथ भूपेश सरकार की इस महत्वकांछी योजनान्तर्गत ग्राम पंचायत सिंघिया में निर्मित गौठान का बीते 01 अगस्त को हरेली त्योहार के दिन पाली-तानाखार विधायक मोहित केरकेट्टा के मुख्य आतिथ्य में जिला व जनपद तथा ग्राम पंचायत के विभिन्न जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में लोकार्पण किया गया।लेकिन इसके बाद उक्त गौठान महज शो पीस बनकर रह गया है।और जहाँ पालतू तथा आवारा पशुओं के रहने और उनके चारे की व्यवस्था के लिए लाखो से निर्मित इस गौठान में गौवंश देखने को नही मिल रहें तथा वर्तमान में लगभग 4 दर्जन मवेशियों को गौठान के बजाय पंचायत भवन परिसर के भीतर विगत 2 दिन से रखा गया है।जहाँ चारे पानी के अभाव में मवेशी भूख प्यास से तड़प रहे है।इस प्रकार गौठान का निर्माण व लोकार्पण हो जाने के बाद भी इसका लाभ नही मिलने से जहां एक तरफ ग्रामीणों में नाराजगी है,तो वहीं दूसरी ओर लाखों खर्च के बाद भी शासन के योजना का मंशानुसार सही क्रियान्वयन नही हो पा रहा है।अगर यही हाल रहा तो उक्त योजना धरातल पर से जल्द ही जमीदोज हो जाएगा।


मूक-बधिर युवती से सामूहिक दुष्कर्म

बिलासपुर। मरवाही क्षेत्र के बरगवां में एक मूकबधिर युवती से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है, आरोपियों ने रातभर बारी-बारी युवती से रेप किया, फिर उसे मरा समझकर सड़क किनारे फेंक मौके से फरार हो गए थे। इस वारदात में शामिल 5 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।


पीड़िता मूकबधिर थी, लिहाजा एसपी के निर्देश पर पुलिस ने मूक बधिर विद्यालय से एक्सपर्ट को बुलाया, और पीड़िता के साथ काउंसलिंग कर सभी पांचों आरोपियों की पहचान कराई। जंगल ले गए फिर बारी-बारी किया रेप,सोमवार रात बिलासपुर के बरगवां इलाके की एक दिव्यांग और दिमागी रूप से कमजोर एक युवती को कुछ लोग अपने साथ जंगल की ओर ले गए, सुनसान इलाके का फायदा उठाते हुए आरोपियों ने युवती के साथ एक के बाद एक गैंगरेप किया। वारदात को अंजाम देने के बाद मरा हुआ समझकर आरोपी उसे सड़क किनारे छोड़कर मौके से फरार हो गए थे।सुबह पर राह चलते लोगों ने युवती को देखा तो 112 की मदद से उसे पहले मरवाही थाने ले जाया गया, फिर गौरला के हॉस्पिटल ले गए।


कार्यकुशलता में बढ़ोतरी होगी:वृश्चिक

राशिफल


मेष-कुछ पुरानी परेशानी वापस सामने आ सकती है। व्‍यापार में निवेश सोच समझकर करें। विद्यार्थियों को अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। मित्रों का पूर्ण सहयोग मिलेगा। धार्मिक यात्रा हो सकती है।


वृषभ-कोर्ट कचहरी के मामलों में सफलता मिल सकती है। नई मुलाकात सार्थक रहेगी। धार्मिक कार्यों की ओर रुचि बढ़ेगी। भाइयों का पूर्ण सहयोग प्राप्‍त होगा। सहकर्मी आपसे ईर्ष्‍या का भाव रखेंगे।


मिथुन-पिता का प्रेम व सहयोग प्राप्‍त होगा। अधिकारी आपके कार्य से प्रसन्‍न रहेंगे। दैनिक कार्य आसानी से पूरा कर लेंगे। वाहन चलाते समय सावधानी बरतें। पूजा पाठ में रुचि रहेगी।


कर्क-व्‍यापार में निवेश सलाह लेकर करें। बुजुर्गों की राय टूटते रिश्‍तों को संवार देगी। जीवन के प्रति सकारात्‍मकता का रुख रहेगा। भौतिक सुख सुविधाओं में बढ़ोतरी के योग बन रहे हैं। सेहत उत्‍तम।


सिंह-बच्‍चों से संबंधित सुखद समाचार मिलेगा। कुछ नया करने की चाह मन में रहेगी। माता पिता की सेवा सुश्रुषा का भाव रहेगा। आत्‍मविश्‍वास में बढ़ोतरी होगी। अधिकारी प्रसन्‍न रहेंगे। मन प्रसन्‍न रहेगा।


कन्या-आर्थिक मामलों में किसी पर भरोसा न करें। माता के स्‍वास्‍थ्‍य की चिंता रह सकती है।अविवाहितों को विवाह के नए अवसर प्राप्‍त होंगे। जीवनसाथी से कुछ अनबन हो सकती है।


तुला-वाहन में खराबी आने से दिनचर्या अस्‍तव्‍यस्‍त हो सकती है। शैक्षणिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। मित्रों के साथ भ्रमण कर सकते हैं। कामकाज में मन नहीं लगेगा। कार्य कुशलता में बढ़ोतरी रहेगी।


वृश्चिक-विरोधियों को पीछे छोड़ने में सफल होंगे। व्‍यावसायिक स्थितियां आपके पक्ष में बनती नजर आ रही हैं। कार्यकुशलता में बढ़ोतरी होगी। नौकरी में तरक्‍की के योग हैं। निवेश लाभदायक।


धनु-अविवाहित लोगों के विवाह की चर्चा हो सकती है। अधिकारियों का पूर्ण सहयोग मिलेगा। समाज के कार्यों में बढ़चढ़कर हिस्‍सा लेंगे। व्‍यापार में साझेदारी से लाभ हो सकता है। सेहत गड़बड़ हो सकती है।


मकर-माता के स्‍वास्‍थ्‍य की चिंता हो सकती है। कार्यक्षेत्र में मनचाही सफलता मिल सकती है। संतान आपकी आज्ञा में रहेगी। वरिष्‍ठजनों का साथ हितकारी रहेगा। निवेश सोच समझकर करें तो लाभ होगा।


कुंभ-रुपए पैसों के मामले में अड़चनें आ सकती हैं। वाहन चलाते समय सावधानी रखें। शारीरिक कमजोरी महसूस कर सकते हैं। प्रेम संबंध विवाह में परिवर्तित हो सकते हैं। धर्म कर्म के प्रति रुचि बढ़ेगी।


मीन-धार्मिक कार्यों के प्रति रुझान बढ़ेगा। नए लोगों से संपर्क लाभदायक सिद्ध हो सकता है।जीवनसाथी का प्रेम व सहयोग मिलेगा। युवाओं को कॅरियर के अच्‍छे विकल्‍प मिल सकते हैं। यात्रा न करें।


10050 से अधिक पक्षी की प्रजातियां

पक्षियों का पहला वर्गीकरण फ्रांसिस विलुगबी और जॉन रे के द्वारा सन् 1676 में आयतन ओमिथोलोजी में विकसित किया गया था। कारोलस लिनिअस ने इसको संशोधित किया है कि 1758 में काम वर्गीकरण प्रणाली वसीयत करने के लिए वर्तमान में उपयोग में पक्षियों को जैविक श्रेणी एविस के रूप में वर्गीकृत कर रहे हैं। लिनियन वर्गीकरण में जातिवृत्तिक वर्गीकरण स्थानों डायनासोर क्लेड थेरोपोडा में एविस और एविस की एक बहन समूह, क्लेड क्रोडिलिया, साँप क्लेड अर्चोसोरिया के ही रहने वाले प्रतिनिधि होते हैं। 20 वीं सदी के दौरान, एविस सामान्यतः आधुनिक पक्षियों और आर्कियोप्टेरिक्स लिथोग्रोफिया के सबसे हाल ही में आम पूर्वज के सभी सन्तान के रूप में किया गया था जाति - इतिहास के आधार पर परिभाषित है। हालाँकि, एक वैकल्पिक रूप से जैक्स गोथर और फाइलोकोड के लिए एविस परिभाषित प्रणाली के अनुयायियों सहित वैज्ञानिकों द्वारा प्रस्तावित परिभाषा केवल आधुनिक पक्षी समूहों, ताज समूह में शामिल हैं। यह सबसे पुराने जीवाश्म से ही जाना जाता था। कुछ समूहों को छोड़कर और उन्हें बताए गए अनुसार समुह में शामिल किया गया था, अनिश्चितताओं से बचने के लिए भाग में पशुओं के संबंध में आर्कियोप्टेरिक्स के स्थान त्रिपदीय डायनासोर के रूप में पारंपरिक रूप के बारे में सोचा। सभी आधुनिक पक्षी ताज समूह निओर्निथेस भीतर है, जो दो उप विभाजनों में है। जो उड़ान (ऐसे शुतुरमुर्ग के रूप में) रेटिस और उड़ान तिनामोउस कमजोर और अत्यंत विविध Neognathae के अन्य सभी पक्षियों से युक्त इन दो सब्दिविजंस अक्सर, का रैंक दिया जाता है। हालाँकि लिवजी और ज़ुसी उन्हें "काउहोट" रैंक सौंपा जो वर्गीकरण दृष्टिकोण पर निर्भर करता है, यहाँ प्रजातियों की संख्या बदलती रहती है। यह संख्या लगभग 9800 से 10,050 तक है।


डायनासोर और पक्षियों की उत्पत्ति 
जीवाश्म और जैविक साक्ष्य के आधार पर, अधिकांश वैज्ञानिकों स्वीकार करते हैं कि पक्षियों त्रिपदीय डायनासोर की एक विशेष उपसमूह है।


वैकल्पिक सिद्धांत और विवाद 
पक्षियों की उत्पत्ति पर जल्दी ही कई वैज्ञानिको की असहमति शामिल हो गई कि क्या पक्षी डायनासोर या अधिक आदिम आर्चोशोर से विकसित है। हालांकि ओर्निथिस्कियन (पक्षी म्लान) डायनासोर आधुनिक पक्षियों के हिप संरचना का हिस्सा है, पक्षियों के लिए से उत्पन्न किया है लगा रहे हैं (छिपकली - म्लान) डायनासोर और इसलिए उनकी हिप संरचना को स्वतंत्र रूप से विकसित वास्तव में, एक पक्षी की तरह कूल्हे संरचना थेरोपोड्स की एक अजीब समूह के रूप में जाना जाता है। यह इनके बीच तीसरी बार विकसित हुए हैं।


यम नचिकेता वार्ता

यम नचिकेता वार्ता


गतांक से.....


वह नौदामई मंत्रों के ऊपर विचार-विनिमय करने लगे। वह वेद मंत्र कह रहा था 'विप्रजाम भविते ब्राह्म लोको वस्तुतः ब्रह्मचर्यष्‍यामी गतोवाचम्‌ भवी' उन्होंने नौदा में से एक वेद मंत्र का उच्चारण करके अपने में चिंतन करने लगे और विचारने लगे कि वेद मंत्र यह कहता है। गृह आश्रम में एक ब्रह्मचारी  ब्रह्मावेता ब्रह्म की जिज्ञासा वाला अन्य जल पीड़ित रह जाए, तो मानव कि वह मूल्यवान उस ग्रह के गुणों को ले जाता है और अपने पाप कर्मों को त्याग देता है। यह पाप कर्म है मेरा ग्रह तो अशुद्ध होने जा रहा है। मैं व्याकुल हो गई प्रभु से याचना करने लगी। हे प्रभु, मृत्यु को मेरे समीप ला दीजिए। मेरा ग्रह पुण्यवान बना रहे, उज्जवल बना रहे। वह पत्नी प्रातः कालीन अग्निहोत्र करती तो अग्नि के समीप कहती है। अग्नि तू संसार को अपने में ही धारण कर लेती है ।हे अग्नि ,तू तेजोमयी है। हे अग्नि, उद्धारक है। हे अग्नि, तू पतितपावन है। साकल्‍य अपने में लेकर के तू देवताओं का दूत बन जाती है। देवताओं के समीप निहित हो जाती है। तुम मेरे मानव में भी अंतर आत्मा की वाणी को स्वीकार कर। मंत्रों का उच्चारण कर रही है। देवताओं का आह्वान हो रहा है। परंतु देखो 3रात्रि हो गई, 3 रात्रि वह यही प्रार्थना करती रही। हे प्रभु, जब तीसरा दिवस आया तो प्रातः कालीन यम आचार्य मृत्यु आचार्य अपने गृह में उन्होंने वास किया। दृष्टिपात करते पद से व्याकुल हो गए और यह कहा हे प्रभु हमारे द्वार पर एक ब्रह्मवेता ब्रह्मचारी विद्यमान है और वह अंजल से पीड़ित है। तीन रात्रि और तीन दिवस हो गई। परंतु उसने कोई अन जलपान नहीं किया है। तो भगवन उसे किसी प्रकार अंजल का पान कराइए। जिससे हम पुण्य वान बने रहे। हमारा गृह गुणवान बना रहे। उन्होंने कहा बहुत देवी पर्यत्‍नशील हूं उन्होंने कहा प्रभु आप क्या करेंगे। इसमें उन्होंने कहा कि उसकी इच्छा होगी ब्रह्मचारी कि मैं उन्हें प्रदान करूंगा उनकी इच्छा पूर्ण करना ही मेरा धर्म है। वह पत्नी के उद्गार श्रवण करके ही आचार्य बालक नचिकेता के द्वार पर पहुंचे। नचिकेता ऋषि के चरणों में स्पर्श किया। वंदना की। आचार्य ने कहा हे बालक, हे ब्रह्मचारी, मैं तुम्हें तीन वर देता हूं और 3 वरों में भी तुम्हारी जो इच्छा हो वह स्वीकार करो। उन्होंने कहा बहुत प्रिय भगवान उन्होंने कहा मैं सबसे उत्तम उस वर्ग को चाहता हूं। जिससे मेरे पिता ने सर्वत्र द्रव्य देवताओं को भूत कर दिया। वह मेरे पिता की अभिलाषा पूर्ण हो। क्योंकि उन्होंने नाना प्रकार याग किया और याग करके उन्होंने मुझे भी मृत्यु को प्रदान कर दिया। वह त्याग और तपस्या में पुनीत होकर ममता को त्याग करके, द्रव्य को त्याग करके, मोक्ष की पगडंडी को ग्रहण का करना चाहते थे। वह मोक्ष में प्रवेश करना चाहते थे। हे प्रभु, हे आचार्यजन, वह मेरे पिता की इच्छा पूर्ण हो। क्योंकि मैं ब्रह्मचारी उद्दालक को प्रिय हूं और उद्धारक गोत्र में पित्र भक्ति महान रही है । क्योंकि यदि मानव पित्रभक्त होता है। अपने पिता की आज्ञा का पालन करता है। महान बना रहता है। वेद का मंत्र और नौदा मई उच्चारण कर रही है कि हमें पितरों का भक्त बन जाना चाहिए। बालक नचिकेता कहता है कि पित्र हमारे यहां सर्वप्रथम पिता है, माता है, आचार्य है। यह हमारे चेतन्‍य देवता कहलाते हैं ।चैतन्य पुत्र कहलाते हैं। पितरों का अभिप्राय यह है जो अपने ब्रह्मचारी को अपने गृह में स्त्रियों में रत रहने वाले उसको महान दृष्टिपात करना चाहिए। कि वे ब्रह्मचारी महान बने और उनका नामकरण उधरवा में प्रिय हो गतिशील बन जाए। उनके विचारों में यह विशेषता रहती है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्रधिकृत प्रकाशन विवरण
August 29, 2019 • RNI.No.UPHIN/2014/57254
1.अंक-26 (साल-01)
2. बृहस्पतिवार,29अगस्‍त 2019
3.शक-1941,भादप्रद कृष्‍णपक्ष चतुर्दशी ,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:53,सूर्यास्त 6:56
5.न्‍यूनतम तापमान -27 डी.सै.,अधिकतम-35+ डी.सै., हवा में आद्रता रहेगी, बरसात की संभावना!
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा!
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...