शुक्रवार, 27 मार्च 2020

21 मौत और 700 से ज्यादा मामले

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। भारत में कोरोनावायरस के संक्रमण के 700 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। शुक्रवार को इस महामारी से देश में 21वीं मौत हुई। तुमकुर में कोरोना संक्रमण से जूझ रहे 65 वर्षीय बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया। कर्नाटक में यह तीसरी मौत है। यहां 11 और 26 मार्च को कोरोना से मौत हुई थी। गुरुवार को देश के अलग-अलग राज्यों में 7 संक्रमितों की जान गई थी। इनमें से दो सिर्फ राजस्थान के भीलवाड़ा में थीं। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता लव अग्रवाल ने कहा- वेंटिलेटर की कमी दूर करने के लिए 10 हजार नए वेंटिलेटर खरीदने का फैसला लिया गया है। साथ ही सरकारी उपक्रम भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) से 30 हजार वेंटिलेटर तैयार करने को कहा गया है।


शुक्रवार को जिस बुजुर्ग ने जान गंवाई वह 5 मार्च को संपर्क क्रांति एक्सप्रेस के एस6 कोच में परिवार के 13 सदस्यों के साथ दिल्ली गया था। यहां वह जामिया मस्जिद भी गया था। इसके बाद 11 मार्च को बुजुर्ग कोंगु एक्सप्रेस के एस9 कोच में बैठकर तुमकुर लौटा था। 18 मार्च को कफ और बुखार की शिकायत के बाद जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। 24 मार्च को बुजुर्ग जिला अस्पताल से छुट्टी लेकर प्राइवेट इलाज कराने लगा। लेकिन बाद में फिर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।


मृतक के 24 करीबी ट्रेस किए गए


कर्नाटक के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, बुजुर्ग के 24 सबसे करीबी लोगों को ट्रेस किया जा चुका है। जिसमें से 13 लोगों को आइसोलेट किया गया है। इन 13 के अलावा तीन हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स और 8 लोगों की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। हालांकि, इन 11 लोगों को घर पर क्वारैंटाइन किया गया है।


24 घंटे में कोरोना के 75 नए केस मिले


पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 75 नए मामले सामने आने के बाद, सरकार ने कोरोना के चक्र को तोड़ने के लिए सभी राज्यों को मुस्तैद रहने के लिए कहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी आज सभी राज्यपालों और उपराज्यपालों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कोरोना से निपटने पर चर्चा की। उन्होंने कहा- हमें इस लड़ाई में सभी के सहयोग की जरूरत है। सोशल डिस्टेंस बनाए रखें। सरकार ने कोरोना से लड़ाई के लिए एक टास्क फोर्स बनाई है। इससे निपटने के लिए राहत पैकेज का भी ऐलान किया है।


घर लौटने वाले मजदूरों के लिए इंतजाम के निर्देश


गृह मंत्रालय के अधिकारी ने कहा- हम कोरोना कोे रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। हम चाहते हैं कि लोगों को आवागमन में परेशानी न हो। दिल्ली समेत दूसरे शहरों से घर लौट रहे मजदूरों के मुद्दे पर मंत्रालय ने संज्ञान लिया है। गृह सचिव ने सभी राज्य सरकारों से कहा है कि ऐसे मजदूरों के लिए इंतजाम किए जाएं। उनके रहने के लिए शेल्टर होम, खाने की व्यवस्था की जाए।


गुरुवार को देश में संक्रमण से सात मौतें हुईं


26 मार्च को मध्य प्रदेश के इंदौर में 65 वर्षीय बुजुर्ग, जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में 65 साल के मरीज, महाराष्ट्र के मुंबई में 65 वर्षीय बुजुर्ग, गुजरात के भावनगर में 70 साल की बुजुर्ग और राजस्थान के भीलवाड़ा में 63 और 70 साल के दो मरीजों की जान गई। इसके अलावा कर्नाटक में 75 साल की महिला की मौत हो गई।


सुरक्षा के लिए लॉक डाउन ही काफी नहीं

जिनोवा। कोरोना वायरस महामारी को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन के अध्यक्ष ट्रेड्रोस अधानम ने कहा है कि कोरोना वायरस से लडने के लिए सिर्फ लाकडाऊन ही काफ़ी नहीं ऐसा करने से इसका खात्मा नहीं होगा। ट्रेडोस ने कहा कि टेस्टिंग और ट्रीटींग को लेकर उठाये गये कदमों के बारे में सिर्फ लगाना और खुद को आइसोलेट करना ही काफी नहीं है। हम लोगों को और भी उपायों के बारे में भी गंभीरता से सोचना होगा। उन्होंने कहा कि लोगों को घरों में रहने को कहकर स्वास्थ्य प्रणाली पर सिर्फ दबाव कम हो रहा है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि आपको दूसरा मौका मिला है। यह आप पर निर्भर करता है कि किस तरह से इसका प्रयोग करते हैं। उल्लेखनीय है कि वैश्विक स्तर पर कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 4,14,179 से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 20, 4 40 से अधिक लोग मर चुके हैं।


वायरसः हाई रिस्क पर है 'इंडिया'

नई दिल्ली। कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए दुनिया के देश कितने गंभीर हैं और किस तरह के कदम उठा रहे हैं, इसका पता इस बात से चलता है कि देशों ने संक्रमण के शुरुआती 100 मामले आने के बाद कितनी तेजी से कदम उठाया। इस समझने के लिए कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या को दो हिस्सों में बांट लें।


पहला चरण पहला पॉजीटिव केस से 100वें मरीज तक और दूसरा 100वें मरीज से हर नए पॉजीटिव केस। इसे आधार बनाकर अगर आंकड़ों का अध्ययन करें तो स्थिति स्पष्ट हो जाती है कि किसने इस वायरस के संक्रमण को रोकने में ज्यादा सफलता हासिल की है। इससे ठीक उलट भारत समेत दो दर्जन ऐसे देश हैं जहां 100वां केस आने के बाद रोजाना संक्रमण दर में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। संक्रमण का यही बढ़ता ग्राफ भारत को हाई रिस्क जोन में खड़ा करता है।जापान, कोरिया ने कर दिखाया, अब चुनौती हमारी है


उदाहरण के तौर पर अगर जापान को लें तो पहले से 100 मरीज तक यहां हर रोज संक्रमण की दर 13 फीसद रही जबकि 100वें मरीज के बाद रोजाना की संक्रमण दर घटकर 8.1 रह गई। कुछ इसी राह पर दक्षिण कोरिया और सिंगापुर भी चले। लेकिन भारत समेत 23 ऐसे देश हैं जहां तस्वीर बिल्कुल उलट दिखी। यहां 100वां पॉजीटिव केस आने के बाद संक्रमण की औसत रोजाना दर 10.8 से बढ़कर 11.8 फीसद हो गई। अमेरिका में तो यह दर दोगुनी, थाईलैंड में तीन गुनी हो गई। बढ़ते संक्रमण की दर ही 130 करोड़ की आबादी वाले अपने देश के लिए चिंता का सबब बनी हुई है।


यही वजह है कि सरकार ने देशभर में लॉकडाउन कर सामाजिक दूरी बनाने की घोषणा की है ताकि सामाजिक दूरी बढ़ाई जाए और कोरोना का संक्रमण रोका जाए। पिछले तीन दिन से जनता कफ्र्यू और लॉकडाउन का सकारात्मक असर दिखा भी है, लेकिन सुधार की अभी और बहुत गुंजाइश है। आइसीएमआर का दावा है कि अगर सामाजिक दूरी के नियमों को देशवासी मानें तो संक्रमण की दर आधी से भी कम कर दी जाएगी।


आर्थिक तबाही में आरबीआई का मिशन

कोरोना संकट: RBI की बैंकों को सलाह, EMI पर 3 महीने की दें राहत, लोन सस्‍ता


कोरोना वायरस से उपजी आर्थिक तबाही के बीच भारतीय रिजर्व बैंक भी मिशन मोड में सामने आया है 


नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस से उपजी आर्थिक तबाही के बीच भारतीय रिजर्व बैंक भी मिशन मोड में सामने आया है। आरबीआई ने ब्‍याज दरों में भारी कटौती का ऐलान किया है। इसके साथ बैंकों को सलाह दी है कि ग्राहकों को EMI पर 3 महीने की राहत दें। 3 महीने तक ईएमआई नहीं देने पर क्रेडिट स्‍कोर (CIBIL) पर असर नहीं पड़ेगा। आरबीआई ने रेपो रेट में 0.75% की कटौती का ऐलान किया है। रिवर्स रेपो रेट में 0.90% फीसद की कटौती का ऐलान किया गया है। अब रेपो रेट घटकर 4.4% रह गई है और रिवर्स रेपो रेट घटकर 4% रह गई है. रेपो रेट घटने से EMI कम हो सकती हैं। रिवर्स रेपो रेट घटने से अर्थव्‍यवस्‍था में ज्‍यादा पैसा आएगा। इस तरह आरबीआई ने आम जनता को सहूलियत देने के लिहाज से ये घोषणाएं की हैं।


आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी घोषणा करते हुए कहा कि यदि कोरोना लंबा खिंचा तो दुनिया में मंदी आ सकती है। उस मंदी का असर भारत पर भी पड़ सकता है। भारत में कोरोना की वजह से विकास दर कम रहेगी। लिहाजा भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था पर असर पड़ेगा। अर्थव्‍यवस्‍था में इस वक्‍त अनिश्चितता का माहौल है। हालांकि तेल की गिरती कीमत से लाभ होगा।


आरबीआई गवर्नर ने कहा कि चुनौती से निपटने के लिए 3 लाख 74 हजार करोड़ की नकदी सिस्‍टम में डाली जाएगी। कैश रिजर्व रेशियो (सीआरआर) में कटौती एक साल के लिए होगी। इससे बैंकों को 1 लाख 37 हजार करोड़ रुपये मिलेगा। मौजूदा हालात में 5 प्रतिशत की विकास दर हासिल करना भी मुश्किल है. कोरोना संकट की वजह से दुनिया भर के हालात बेहद खराब है।


सरकार ने किया आर्थिक महा पैकेज का ऐलान
इससे पहले वित्‍त मंत्री ने गुरुवार को 1.70 लाख करोड़ के आर्थिक महा पैकेज का ऐलान किया था। कोरोना संकट पर वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि इस मुद्दे पर सरकार की नजर है। सरकार गरीबों के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। लिहाजा सरकार गरीबों के लिए सरकार 1 लाख 70 हजार करोड़ रुपये का पैकेज देने जा रही है। ये पैसा गरीबों के सीधे अकाउंट में भेजा जाएगा। किसी भी गरीब को भूखा नहीं रहने देंगे। हर गरीब को अगले तीन महीनों तक 5 किलो अतिरिक्‍त अनाज मुफ्त से मिलेगा। यानी प्रधानमंत्री अन्‍न योजना के तहत 80 करोड़ लाभार्थियों को ये लाभ मिलेगा। ये पीडीएस के तहत मिलने वाले राशन से अतिरिक्‍त सुविधा होगी। इसके साथ ही कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे डॉक्‍टरों जैसे योद्धाओं का बीमा 50 लाख का होगा। इस तरह 20 लाख स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारियों को ये बीमा कवर दिया जाएगा।


1. पैकेज का बड़ा हिस्सा गरीबों के अकाउंट योजना के तहत में सीधा जमा किया जाएगा, ये प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत होगा।


2. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के मुताबिक डॉक्टर, सफाई कर्मचारी, नर्स, पैरामेडिकल वालों के लिए 50 लाख रुपये का बीमा भी होगा. वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर के मुताबिक करीब 20 लाख लोग इस बीमा से फायदे के दायरे में आएंगे।


3. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में 80 करोड़ लोग आएंगे. 5 किलो गेहूं, 5 किलो चावल के ऊपर अगले तीन महीने के लिए सभी को फ्री दिया जाएगा. हरके घर को 1 किलो दाल दी जाएगी।


4. किसानों को 6000 रुपये सालाना मिल रहा है उन्हें तुरंत 2000 रुपये दिए जाएं, 8.70 करोड़ किसान इसका फायदा ले सकेंगे।


5. मनरेगा में मजदूरी बढ़ाई गई है अब 182 रुपये से बढ़ाकर 202, करीब 5 करोड़ लोग फायदा लेंगे।


6. बुजुर्ग, दिव्यांग, विधवा को 1000 रुपये अलग से मिलेगा. 3 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा।


7. अगले तीन महीने तक 20 करोड़ महिलाओं को जन-धन खाते के माध्यम से 500 रुपये हर महीने मिलेंगे।


8. 8 करोड़ महिलाओं को रसोई गैस मिल चुकी है, अगले तीन महीने उन्हें मुफ्त में रसोई गैस मिलेंगे. महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप 63 लाख है देश में, उन्हें अब 10 लाख का लोन और मिलेगा यानि अब वो कुल 20 लाख का लोन ले सकती हैं, 7 करोड़ परिवार को इससे फायदा होगा।


9. पीएफ वालों के लिए सरकार इंप्लायी और इंप्लायर का हिस्सा खुद जमा करेगी. 12%, 12% के हिसाब से ये 24% होगा, अगले तीन महीने सरकार भरेगी


10. पीएफ वाली इस योजना का फायदा केवल उनको मिलेगा जहां 100 से कम इंप्लायी वाली कंपनी है और 90% इंप्लायी की 15000 रुपये से कम की सैलरी होगी, 4 लाख कंपनियां इसके दायरे में आएंगी। कर्मचारी 75% ईपीएफ पैसा निकाल सकेंगे।


डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड जो राज्य सरकारों के पास है इसका उपयोग करने की सलाह केंद्र ने राज्यों को दी है। कोरोना से लड़ने के लिए हेल्थ पर खर्च करने की सलाह दी है। सरकार के मुताबिक ये पैकेज में बताई सभी घोषणा 1 अप्रैल से लागू हो जाएंगी। सरकार ने साफ किया कि हमारा मकसद गरीब तक पहुंचना है इसलिए होम-लोन ले रखे ग्राहकों के लिए कोई घोषणा नहीं कर रहे हैं। वहीं पैकेज को पहुंचाने के लिए बैंक काम करते रहेंगे।



101 नमाजियों के विरुद्ध मामला दर्ज

हरदोई। देशभर में कोरोनावायरस के चलते किए गए लॉकडाउन की अपील के बावजूद कुछ लोग मानने को तैयार नहीं है। मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारा और चर्च सभी बंद करने की अपील की गई है। वहीं गुरुवार को संडीला कस्बे में नियमों का उलंघन कर मस्जिद में सामूहिक रूप से नमाज अदा करने वालों पर पुलिस ने कार्रवाई की है। जिसमें इमाम समेत 101 के विरुद्ध एफआइआर दर्ज की गई है।संडीला कस्बा चौकी इंचार्ज ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि एक मुहल्ले में मस्जिद की देखरेख करने वाले इमाम ने तमाम लोगों को नमाज के लिए बुलाया है और वह लोग मस्जिद में मौजूद हैं। पूरे देश में लाॅकडाउन होने व धारा 144 लागू होने के कारण 5 से ज्यादा लोगों का एकत्रित होना निषेध है। सूचना मिलने पर जब पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि मस्जिद में इमाम के अलावा 100 लोग नमाज अता फरमा रहे थे। इतनी अधिक संख्या में लोग एक साथ एकत्र होने पर संक्रमण का खतरा है तथा यह धारा 188 अधिनियम 1897 की धारा 3 का उल्लंघन है। चौकी इंचार्ज द्वारा एफआइआर दर्ज कराई गई है।जुमा की नमाज को घर से ही अदा करने की अपील की गई है। हरदोई की अंजुमन इस्लामियां के सदर मोहम्मद खालिद तथा जामा मस्जिद अंजुमन इस्लामियां के इमाम व खतीब मुफ्ती आफताब आलम मजाहरी ने बताया कि जुमे की नमाज घरों से ही अदा करें। मस्जिद में सिर्फ पांच लोग ही नमाज अदा करें। सभी लोग प्रशासन के नियमों का पालन करें। वहीं संडीला के मदरसा गौसिया के मौलाना मेहंदी हसन ने कहा कि जुमा की नमाज की बजाय लोग घरों में जौहर की नमाज अदा करें। परचमे मोहम्मदी के अध्यक्ष फरीउदुद्दीन ने कहा कि जुमे की नमाज को मस्जिदों में होने वाली इस्लामी जलसा पर पूरी पाबंदी रहेगी। उन्होंने रोजाना खाकर कमाने वालों की मदद करने को भी कहा है। मुफ्ती कादिर नदवी ने कहा है कि हाथों की सफाई के साथ घरों की सफाई रखें।


चपेट में 195 देश, ब्रिटिश पीएम संक्रमित

वाशिंगटन/नई दिल्ली/लंदन। दुनिया के सभी 195 देश कोरोनावायरस की चपेट में हैं। 5 लाख 40 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। 24 हजार 594 लोगों की मौत हो चुकी है। एक लाख 25 हजार से ज्यादा मरीज ठीक भी हुए हैं। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन शुक्रवार को कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए। इससे पहले गुरुवार को प्रिंस चार्ल्स में भी संक्रमण की पुष्टि हुई थी। बोरिस ने शुक्रवार को ट्वीट कर अपने संक्रमित होने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुझमें संक्रमण के लक्षण थे। जांच पॉजिटिव आने के बाद मैंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। उन्होंने कहा कि मैं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए काम करता रहूंगा। ब्रिटेन के अलावा स्पेन में भी संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। यहां 64 हजार 59 लोग संक्रमित हैं और 4 हजार 900 मौतें हो चुकी हैं। पिछले 24 घंटे में संक्रमण की वजह से 769 लोगों की मौत हुई है।
अमेरिका: हर दिन बढ़ता संक्रमण


अमेरिका में शुक्रवार शाम तक कुल 85,612 मामले सामने आए। 1,301 पीड़ितों की मौत हो चुकी है। इटली में 41 स्वास्थ्यकर्मियों की संक्रमण से मौत हो चुकी है। 5000 से ज्यादा डॉक्टर, नर्स, तकनीशियन और एंबुलेंस कर्मचारी संक्रमित हैं। यहां अब तक कोरोना के 80,589 मामले सामने आ चुके हैं और 8,215 लोगों की जान गई है। चीन की एक कंपनी ने स्पेन को घटिया क्वॉलिटी की 9 हजार टेस्ट किट भेज दीं। अब शी जिनपिंग सरकार मामले की जांच कर रही है।


चीन ने स्पेन को 9 हजार घटिया टेस्ट किट भेजीं
चीनी कंपनी ‘शेनझेन बायोईजी बायोटेक्नोलॉजी’ ने सरकार की इजाजत से स्पेन को 9 हजार टेस्ट किट बेचीं। इनकी क्वॅलिटी और रिजल्ट्स से स्पेनिश हेल्थ डिपार्टमेंट बिल्कुल संतुष्ट नहीं है। उसने कंपनी की शिकायत चीन सरकार से की। अब शी जिनपिंग सरकार ने टेस्ट किट वापस लेने और कंपनी के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। दूसरी तरफ, कंपनी ने सफाई में कहा- रिजल्ट्स पर असर इसलिए पड़ा होगा क्योंकि स्पेन के मेडिकल स्टाफ ने सैम्पल कलेक्शन सही तरीके से नहीं किया होगा।
चीन ने अमेरिका को मदद की पेशकश की


चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शुक्रवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से बात की। उन्होंने अमेरिका को मदद की पेशकश की। जिनपिंग ने ट्रम्प को वायरस से निपटने के लिए ठोस कदम उठाने और साथ मिलकर काम करने का सुझाव भी दिया। इस बीच, चीन ने शनिवार (28 मार्च) से दूसरे देशों के लिए अपनी सीमा बंद करने की घोषणा की। इसने सभी अंतरराष्ट्रीय विमानों के लैंड होने पर भी 28 मार्च तक रोक लगा दी है।कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। दिसंबर में चीन के वुहान शहर से ही वायरस फैला था। यह स्पष्ट नहीं है कि सीमा कब तक बंद रहेगी। यहां अब तक 3,287 मौतें हो चुकी है। वहीं, 81, 285 लोग संक्रमित है।


अमेरिकी जंगी जहाज रूजवेल्ट पर 25 नौसैनिक संक्रमित


अमेरिकी जंगी जहाज थियोडोर रूजवेल्ट पर शुक्रवार को 25 नौसैनिक संक्रमित पाए गए। दो दिन पहले भी इस पोत पर तीन पॉजिटिव मामले सामने आए थे। अमेरिका के नौसेना मंत्री थॉमस मोडली ने कहा कि पोत पर और भी मामले हो सकते हैं। अब इस पर मौजूद सभी 5000 नौसैनिकों की जांच कराई जाएगी। हालांकि, उन्होंने संक्रमितों की संख्या नहीं बताई। पोत पर संक्रमण के बावजूद चीफ ऑफ नेवल ऑपरेशन्स माइक गिल्ड ने कहा है कि हमारा रुख आक्रामक रहेगा। हम क्षेत्र में किसी भी संकट से निपटने के लिए जवाबी कार्रवाई करने में सक्षम हैं।


समाधान के लिए डीएम से संपर्क करें


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा जनता से किसी भी समस्या के लिए जिला अधिकारी से व्हाट्सएप पर या ऑनलाइन संपर्क के लिए सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर जारी कर दिए हैं। यदि किसी को किसी प्रकार की कोई समस्या है तो वे सीधे डीएम के व्हाट्सएप पर शिकायत कर सकते हैं। उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों के संपर्क...
District Magistrate Uttar Pradesh CUG
No's
Sl.No District CUG No.
1 DM Agra 9454417509
3 DM Aligarh 9454415313
4 DM Allahabad 9454417517
5 DM Ambedkar Nagar 9454417539
6 DM Amroha 9454417571
7 DM Auraiya 9454417550
8 DM Azamgarh 9454417521
9 DM Badaun 9415908422
10 DM Baghpat 9454417562
11 DM Bahraich 9454417535
12 DM Ballia 9454417522
13 DM Balrampur 9454417536
14 DM Banda 9454417531
15 DM Barabanki 9454417540
16 DM Bareilly 9454417524
17 DM Basti 9454417528
18 DM Bijnor 9454417570
19 DM Budaun 9454417525
20 DM Bulandshahar 9454417563
21 DM Chandauli 9454417576
22 DM Chitrakoot 9454417532
23 DM CSJM Nagar 9454418891
24 DM Deoria 9454417543
25 DM Etah 9454417514
26 DM Etawah 9454417551
27 DM Faizabad 9454417541
28 DM Farrukhabad 9454417552
29 DM Fatehpur 9454417518
30 DM Firozabad 9454417510
31 DM Gautambudh Nagar 94544
32 DM Ghaziabad 9454417565
33 DM Ghazipur 9454417577
34 DM Gonda 9454417537
35 DM Gorakhpur 9454417544
36 DM Hamirpur 9454417533
37 DM Hapur 8449053158
38 DM Hardoi 9454417556
39 DM Hathras 9454417515
40 DM J.P.Nagar 5922262999
41 DM Jalaun 9454417548
42 DM Jaunpur 9454417578
43 DM Jhansi 9454417547
44 DM Kannauj 9454417555
45 DM Kanpur Nagar 9454417554
46 DM Kashiram Nagar 9454417516
47 DM Kaushambhi 9454417519
48 DM Kheri 9454417558
49 DM Kushinagar 9454417545
50 DM Lalitpur 9454417549
51 DM Lucknow 9454417557
52 DM Maharaj Ganj 9454417546
53 DM Mahoba 9454417534
54 DM Mainpuri 9454417511
55 DM Mathura 9454417512
56 DM Mau 9454417523
57 DM Meerut 9454417566
58 DM Mirzapur 9454417567
59 DM Moradabad9897897040
61 DM MRT 1212664133
62 DM Muzaffar Nagar 9454417574
63 DM Mzn 9454415445
64 DM PA Mujeeb 9415908159
65 DM Pilibhit 9454417526
66 DM Pratapgarh 9454417520
67 DM Raebareili 9454417559
68 DM Ramabai Nagar 9454417553
69 DM Rampur 9454417573
70 DM Saharanpur 9454417575
71 DM Sambhal 9454416890
72 DM Sant Kabir Nagar 9454417529
73 DM Sant Ravidaas Nagar
9454417568
74 DM Shahjhanpur 9454417527
75 DM Shamli 9454416996
76 DM Shrawasti 9454417538
77 DM Siddhathnagar 9454417530
78 DM Sitapur 9454417560
79 DM Sonbhadra 9454417569
80 DM Sultanpur 9454417542
81 DM Unnao 9454417561
82 DM Varansi 9454417579


 


भूखों को भोजन कराया, 3 शातिर अरेस्ट

अतुल त्यागी जिला प्रभारी
राजेन्द्र कुमार रिपोर्टर
बाबूगढ़ पुलिस का सराहनीय कार्य,गन्तव्य को जा रहे यात्रियों को भोजन खिलाकर किया रवाना



हापुड़। पूरे भारत वर्ष में चल रहे ललाॅकडाउन को लेकर शासन प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है और कानून का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही कर रही है। वही शुक्रवार को बाबूगढ़ पुलिस ने ऐसी स्थिति में जनमानस की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए एक सराहनीय कार्य किया है। दरअसल सरकार द्वारा  पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर  पाबंदी लगाने के बाद कुछ लोग जो शहरों से गांव की तरफ पलायन कर अपने गंतव्य को जा रहे हैं उन्हें बबाबूगढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक उत्तम सिंह राठौर की टीम ने सभी लोगों को थाने में उचित दूरी पर बैठाकर सेनेटाइज करा कर भोजन की व्यवस्था कराई उसके बाद उन्हें गंतव्य के लिए रवाना किया गया पुलिस के इस कार्य से यात्रियों व क्षेत्र के लोगों ने पुलिस की भूरी भूरी प्रशंसा की।


कोतवाली पिलखुआ पुलिस व स्वाट टीम-2 को संयुक्त रूप से मिली बड़ी सफ़लता। पुलिस ने तीन शातिर लुटेरों को दबोचा। लुटेरों से लुटे हुए 45000 रुपये, एक तमंचा, दो कारतूस व लूट में प्रयुक्त स्कूटी बरामद। बीते 20 मार्च को लुटेरों ने तमंचे के बल पर कलेक्शन एजेंट से लुटे थे 71000 रुपए। एक लुटेरा अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर। प्रभारी निरीक्षक महावीर चौहान व स्वाट टीम-2 प्रभारी नीरज कुमार सिंह ने टीम के साथ की गिरफ़्तारी।


हापुड़ में बुखार से मौत, सैंपल भेजें

अतुल त्यागी जिला प्रभारी
मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा मृत व्यक्ति के बारे में अवगत कराया गया 



हापुड। मुख्य चिकित्सा अधिकारी हापुड द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद हापुड़ के गढ़मुक्तेश्वर निवासी निकट गंगा मंदिर के कपिल कुमार पुत्र सुभाष को एक सप्ताह पूर्व बुखार आया था, जिसके बाद वह सरकारी अस्पताल में दवाई ले रहा था। दिनांक 26 मार्च 2020 दिन गुरुवार की दोपहर अचानक उसकी तबीयत बिगड़ गई और उसे दौरा पड़ने लगा। दौरे पड़ते देख घर वालों ने उसे सीएचसी गढ़मुक्तेश्वर में भर्ती करा दिया जहां चिकित्सक द्वारा जांच करने पर उसके लक्षण दिमागी बुखार के प्रतीत हुए। हालत गंभीर देखते हुए कपिल कुमार को मेरठ मेडिकल मेरठ को रेफर कर दिया गया जहां गुरुवार की देर शाम उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। मृतक के परिजनों ने बताया कि वह बिजली विभाग में संविदा के तौर पर इलेक्ट्रिशियन के पद पर कार्य करता था और हाल ही में जयपुर से आया था। मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा मृत्यु के कारण की पुष्टि करने हेतु मृतक का सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया गया है।


आदेश का पालन, घर पढ़ी नवाज

अतुल त्यागी जिला प्रभारी,रिंकू सैनी ,मुकेश सैनी 
शासन के आदेश का किया पालन घर पर पढ़ी गई जुम्मे की नवाज 


हापुड़। जनपद हापुड़ में शासन का आदेश सभी मौलवियों व धर्मगुरूओ ने सिर माथे पर रखा सभी ने मस्जिदों को बंद रखा तथा सभी हजरात को अपने घर पर नमाज अदा करने की पेशकश की ताकि कोरोना वायरस से एक दूसरे को बचाया जा सके। देश के प्रति सबने इस घड़ी में साथ दिया कल जिला प्रशासन द्वारा पेशकश की गई थी कि किसी को भी नमाज अदा करने के लिए मस्जिद में नहीं आना है अपने घर पर ही नमाज अदा करनी है ताकि प्रत्येक व्यक्ति बचा रहे इस कोरोना वायरस से सभी अपने-अपने घर पर रहकर अपनी स्वयं की रक्षा करें। आज हमारे आनंदी मेल समाचार पत्र के रिपोर्टर ने हापुड शहर की कवरेज के दौरान सबसे पहले हमनें रेलबे स्टेशन की मस्जिद के करीब पहुंचे तो वहां मस्जिद बंद पाई गई उसके बाद दिल्ली रोड स्थित सुनहरी मस्जिद मोती कालोनी और अन्य मस्जिदों पर गये तो बहां भी मस्जिद बंद पाई गई सभी मौलवियों व धर्मगुरूओं ने शाशन प्रशाशन के आदेशों का पालन किया


घुमंतु परिवार की विधायक से गुहार


अतुल त्यागी
ब्यूरो चीफ रिंकू सैनी/मुकेश सैनी            


खाने की गुहार लगाने विधायक के निवास पहुंची घुमन्तु परिवार 


हापुड़। जनपद हापुड़ से मेरठ रोड पर सैकड़ों की तादाद में रह रहे घुमन्तु परिवारों ने आज विधायक निवास की तरफ रुख किया। उनका कहना था कि परिवार में खाने के लिए कुछ भी नहीं है। ऐसे में थाना हापुड़ देहात प्रभारी राजेश भारती,उप निरीक्षक सुमित तोमर अपनी टीम के साथ वहां पहुंचे और उन्होंने लोगों को समझाया कि आप लोग अपने निवास पर जाएं सरकार द्वारा खाने की व्यवस्था की जा रही है। जल्द ही आपके घरों तक खाने के पैकेट व अन्य सामग्री भेज दी जाएगी। अनावश्यक रूप से कोई भी अपने घर से बाहर ना निकले क्योंकि कोरोना वायरस एक घातक वायरस है जिसकी चपेट में आने पर जान माल का अत्यधिक नुकसान हो सकता है इसलिए सावधान रहें और उचित दूरी बनाकर रखें कोरोना वायरस एक दूसरे के संपर्क में आने से अत्याधिक फेलता है। इसलिए कहीं भी भीड ना करें वरना शासन प्रशासन को सख्ती बरतनी पड़ेगी। कुछ देर बाद ही भीमनगर की 25 से 30 महिलाएं भी विधायक निवास पर पहुंची और कहने लगी की हमारे बच्चे सुबह से भूखे उन्हें खाने की व्यवस्था कराई जाये और हमारा रासन कार्ड भी नही है हमने अनेकों बार अधिकारियों के चक्कर लगाये लेकिन हमारा आज तक रासन कार्ड भी नही बना है। हमारा रासन कार्ड बनबा दिया जाये ताकि जो सरकार की तरफ से खादय सामाग्रियों का वितरण होने वाला है वह सुविधा हमें मिल जाये और हमारे बच्चों को खाने की व्यवस्था हो सके विधायक अपने निवास स्थान पर नही मिले तो निराश होकर महिलाएं अपने घर वापस लोट गयी।


ब्रेन हेमरेज से जवान की मौत, कोहराम


अतुल त्यागी (जिला प्रभारी)
39 वर्षिय एक जवान की ब्रैन हैमरेज से मौत अति दुर्गम इलाका लद्दाक में बर्फ बारी से हुआ ब्रैन हैमरेज।


गांव में सन्नाटा तो परिवार में कोहराम 


हापुड। जनपद के गढमुक्तेश्वर के सेहल गांव निवासी भूपेंद्र चौधरी 39 इंडियन तिब्बत बौर्डर फोर्श में 2002 में भर्ती हुये थे। जो वर्तमान में लद्दाख में तैनात थे दो दिन पहले ड्युटि के दौरान अति दुर्गम क्षेत्र में ज्यादा बर्फबारी के चलते ब्लडप्रेशर डाउन हुआ और ब्रेन हैमरैज हो गया।आनन फानन में भूपेंद्र को एअर इंडि विमान से चंडीगढ लाया गया और पी जी आई अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां चिकित्सकों का अथक प्रयाश भी उन्हें बचा न सका और अंतिम सांस ली।
सेना ने जहां एक जवान खोया वहीं सैनिक की पत्नि बीना के पति की मौत की खबर सुनते ही बेहोश हो गयी। 


सैनिक गार्द की एक बडी टीम सैनिक भूपेन्द्र चौधरी के शव  को बुद्धवार को उनके पैत्रक गांव सेहल लेकर पहुंची और सैनिक सम्मान के साथ शहीद को देर शाम अंतिम विदाई देकर  अंतिम संस्कार गांव में ही किया गया।भूपेन्द्र चौधरी अपने पीछे पत्नि बीना के दो बेटी तनु,दीपांशी और एक बेटा वंश छोड गये हैं।सैनिक भूपेंद्र चौदरी को  उनके बडे भाई चौधरी गजेंद्र  सिंह नम आंखौं से मुखाग्नि देकर अंतिम विदाई दी। वहीं परिवार के बडे और पू्र्व सैनिक जो आई टी बी पी में ही डिप्टी कमांडेंट से सेवानिवृत हुये  चौधरी जोगिन्द्र सिंह का कहना है कि सैनिक भूपेंद्र सिंह.की पत्नी की हालत बोल पाने की स्थिति में नहीं है।  भाई की मौत से परिवार को बडा दुख है पर हमने अपना भाई देश सेवा में खोया है इसका हमें फक्र है।


भूपैंन्द चौधरी की मौत की खबर सुनने के बाद पूर्व सैनिक और भाकियू के राष्ट्रीय सचिव चौधरी सतबीर सिंह,  भाकियू के मंडल प्रवक्ता चौधरी दिनेश खेडा, पूर्व सैनिक और भाजपा के बहादुर मंडल अध्यक्ष दिनेश तोमर शोक व्यक्त किया।


या देवी सर्वभूतेषु मां कूष्मांडा रुपेण

जब सृष्टि का अस्तित्व नहीं था, तब इन्हीं देवी ने ब्रह्मांड की रचना की थी। अतः ये ही सृष्टि की आदि-स्वरूपा, आदिशक्ति हैं। इनका निवास सूर्यमंडल के भीतर के लोक में है। वहाँ निवास कर सकने की क्षमता और शक्ति केवल इन्हीं में है। इनके शरीर की कांति और प्रभा भी सूर्य के समान ही दैदीप्यमान हैं।


इनके तेज और प्रकाश से दसों दिशाएँ प्रकाशित हो रही हैं। ब्रह्मांड की सभी वस्तुओं और प्राणियों में अवस्थित तेज इन्हीं की छाया है। माँ की आठ भुजाएँ हैं। अतः ये अष्टभुजा देवी के नाम से भी विख्यात हैं। इनके सात हाथों में क्रमशः कमंडल, धनुष, बाण, कमल-पुष्प, अमृतपूर्ण कलश, चक्र तथा गदा है। आठवें हाथ में सभी सिद्धियों और निधियों को देने वाली जपमाला है। इनका वाहन सिंह है।


सुरासंपूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च।
दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे ॥
महिमाः माँ कूष्माण्डा की उपासना से भक्तों के समस्त रोग-शोक मिट जाते हैं। इनकी भक्ति से आयु, यश, बल और आरोग्य की वृद्धि होती है। माँ कूष्माण्डा अत्यल्प सेवा और भक्ति से प्रसन्न होने वाली हैं। यदि मनुष्य सच्चे हृदय से इनका शरणागत बन जाए तो फिर उसे अत्यन्त सुगमता से परम पद की प्राप्ति हो सकती है।


विधि-विधान से माँ के भक्ति-मार्ग पर कुछ ही कदम आगे बढ़ने पर भक्त साधक को उनकी कृपा का सूक्ष्म अनुभव होने लगता है। यह दुःख स्वरूप संसार उसके लिए अत्यंत सुखद और सुगम बन जाता है। माँ की उपासना मनुष्य को सहज भाव से भवसागर से पार उतारने के लिए सर्वाधिक सुगम और श्रेयस्कर मार्ग है।


माँ कूष्माण्डा की उपासना मनुष्य को आधियों-व्याधियों से सर्वथा विमुक्त करके उसे सुख, समृद्धि और उन्नति की ओर ले जाने वाली है। अतः अपनी लौकिक, पारलौकिक उन्नति चाहने वालों को इनकी उपासना में सदैव तत्पर रहना चाहिए।


उपासनाः चतुर्थी के दिन माँ कूष्मांडा की आराधना की जाती है। इनकी उपासना से सिद्धियों में निधियों को प्राप्त कर समस्त रोग-शोक दूर होकर आयु-यश में वृद्धि होती है। प्रत्येक सर्वसाधारण के लिए आराधना योग्य यह श्लोक सरल और स्पष्ट है। माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में चतुर्थ दिन इसका जाप करना चाहिए।


या देवी सर्वभू‍तेषु माँ कूष्माण्डा रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।'
अर्थ : हे माँ! सर्वत्र विराजमान और कूष्माण्डा के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ। हे माँ, मुझे सब पापों से मुक्ति प्रदान करें।


अपनी मंद, हल्की हँसी द्वारा अंड अर्थात ब्रह्मांड को उत्पन्न करने के कारण इन्हें कूष्माण्डा देवी के रूप में पूजा जाता है। संस्कृत भाषा में कूष्माण्डा को कुम्हड़ कहते हैं। बलियों में कुम्हड़े की बलि इन्हें सर्वाधिक प्रिय है। इस कारण से भी माँ कूष्माण्डा कहलाती हैं।


अपीलः शार्प शूटर हूं, टपका दूंगा

उज्जैन। दो दिन में कोरोनावायरस के 6 मामले सामने आने के बाद हालात चिंताजनक हो गए हैं। इसके बावजूद लोग टोटल लॉक-डाउन के दौरान डिस्टेंस मेंटेन नहीं कर रहे हैं। नाराज महिदपुर टीआई संजय वर्मा ने व्हाट्सएप पर एक मैसेज दे दिया, कहा कि यदि लोगों ने डिस्टेंस मेंटेन नहीं किया तो मैं एक शार्प शूटर हूं। सात सेकेंड में टपका दूँगा। खबर एसपी सचिन अतुलकर पहुँची उन्होंने तत्काल एक्शन लेते हुए टीआई को लाइन अटैच कर दिया है।


क्या है पूरा मामला..................


प्राप्त जानकारी के अनुसार,कोरोना वायरस से बचाव के लिए उज्जैन में एक टीआई ने सोशल मीडिया पर लोगों को खुली धमकी दे दी। बात सिर्फ इतनी थी कि कहीं भी भीड़ इकट्टा ना करें लेकिन पोस्ट में टीआई ने जिस भाषा और धमकी का इस्तेमाल किया उसके कारण एसपी ने उन्हें फौरन सस्पेंड कर दिया।
कोरोना वायरस से बचाव के लिए अपील के साथ सख्ती बरती जा रही है। लेकिन उज्जैन के महिदपुर टीआई संजय वर्मा ने सोशल मीडिया पर लोगों को धमकी दे डाली। टीआई वर्मा ने अपने मोबाइल फोन से बीती रात एक मीडिया चैनल के व्हाट्सएप ग्रुप पर तीन पोस्ट डाले। पोस्ट में टीआई ने लिखा कि आप डिस्टेंस नहीं रखेंगे तो हम इलाज करेंगे। आप लोग मान जाओ नहीं तो मैं एक स्नैप शूटर हूं। इसके बाद टीआई संजय वर्मा ने यह भी लिखा कि मैं सिल्वर मैडिलिस्ट हूं। सात सेकेंड में टपका दूंगा, आप लोग मुझे याद रखोगे। सोशल मीडिया पर तीन पोस्ट के बाद टीआई संजय वर्मा ने इन्हें दूसरे ग्रुप में पोस्ट करने की अपील की। लोगों ने ये पोस्ट टीआई के नाम से दूसरे ग्रुप में फॉरवर्ड भी कर दीं। इस पर लोगों ने कमेंट भी किए।


रामानंद कृत रामायण का पुनः प्रसारण

मुंबई। रामानंद सागर की रामाणय को पसंद करने वाले दर्शकों के लिए एक बड़ी खबर सामने आई है। जनता की मांग पर शनिवार 28 मार्च से ‘रामायण’ का प्रसारण पुनः दूरदर्शन के नेशनल चैनल पर शुरू होगा।  पहला एपिसोड सुबह 9.00 बजे और दूसरा एपिसोड रात 9.00 बजे प्रसारित होगा ।


केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने खुद इस बात की जानकारी सोशल मीडिया पर दी है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर रामानंद सागर की रामायण और बीआर चोपड़ा की महाभारत को फिर से टेलिकास्ट करने की मांग की जा रही थी। ऐसे में उन सभी की इस मांग को पूरा करते हुए फिलहाल रामायण का प्रसारण दोबारा से शुरू कर दिया गया है।


रामानंद सागर की रामायण का प्रसारण साल 1987 में पहली बार दूरदर्शन पर हुआ था। वहीं बीआर चोपड़ा की महाभारत का प्रसारण भी साल 1988 में पहली बार दूरदर्शन पर हुआ था।  रामायण और महाभारत को लोग इतने चाव से देखते थे कि सड़कों पर एक दम सन्नाटा होता था। इन धार्मिक कार्यक्रमों के प्रसारण के वक्त बाहर सड़कों का माहौल एक दम कर्फ्यू की तरह ही होता था।


1987-88 में रामायण और महाभारत को लोग बड़े ही चाव से देखते थे। कहा जाता है कि उस दौर में अफसर से लेकर नेता तक किसी से मिलना तो क्या किसी का फोन भी उठाना पसंद नहीं करते थे। 78 एपिसोड वाले रामायण का प्रसारण जब होता था तो देश की सड़कों और गलियों में कर्फ्यू जैसा सन्नाटा छा जाता था। भारत के तमाम शहरों और गांवों में रामायण के टेलीकास्ट के समय लोग अगरबत्ती जलाकर बैठा करते थे। चप्पलें कमरे के बाहर उतार दी जाती थीं।


गौरतलब है कि रामायण में भगवान राम का किरदार अरुण गोविल ने निभाया था। वहीं सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया को आज भी सीता के रूप में ही याद किया जाता है। इसके साथ ही दारा सिंह ने हनुमान का रोल निभाया था। वहीं रावण का रोल निभाकर अरविंद त्रिवेदी ने खासी लोकप्रियता बटोरी थी।


आइसोलेशन वार्ड में तब्दील करेंगे कोच

नई दिल्ली। रेलवे जरूरत पड़ने पर कोच फैक्ट्रियों में मेडिकल उपकरण बना सकता है। रेलवे ने सैनिटाइजर और मास्क बनाने की शुरुआत कर दी है। इसके अलावा कोचों को आइसोलेशन वार्ड में भी तब्दील किया जा सकता है। मैकेनिकल और मेडिकल की टीम इस विकल्प पर मीटिंग भी कर रही है।


पीएम ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कोरोना को विश्व युद्ध से भी खतरनाक बताया था। रेलवे ने इसी आधार पर तैयारी शुरू कर दी है। रेलवे बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि दूसरे विश्व युद्ध के दौरान रेलवे के वर्कशॉप में एंबुलेंस, बख्तरबंद गाड़ियों के निर्माण से लेकर एयरक्राफ्ट की मरम्मत तक हुई थी। मौजदा समय में कोच फैक्ट्रियों में रेल से जुड़ा सभी तरह का प्रोडक्शन बंद कर दिया गया है। इसलिए कोच फैक्ट्रियों में बेड, रैक, स्टैंड, मेज, कुर्सी बनाए जा सकते हैं। रेलवे बोर्ड ने इसके संबंध में रिपोर्ट भी मांगी है।


रेलवे बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि जरूरत पड़ने पर रेलवे कोचों को आइसोलेशन वॉर्ड में भी बदला जा सकता है। कोचों को मोबाइल अस्पताल में पहले भी बदल चुका है। एक कोच में चार टॉयलेट होते हैं, इसलिए 2 से 4 आइसोलेशन वार्ड बनाए जा सकते हैं। अधिकारियों का कहना है कि हर तरह के विकल्प पर विचार किया जा रहा है। स्थितियों को देखते हुए फैसला लिया जाएगा।


भारतीय सेना का 'ऑपरेशन नमस्ते'

नई दिल्ली। देश पर जब-जब भी संकट आया है, सेना ने सबसे आगे आकर मोर्चा संभाला है और हर संकट से मुक्ति दिलाने में अपनी प्रभावी भूमिका निभाई है। आज जब देश के सामने कोरोना वायरस के महा-संकट से पार पाने की गंभीर चुनौती है तो आर्मी फिर से मोर्चे पर तैनात हो गई है। भारतीय सेना ने कोरोना के खिलाफ ‘ऑपरेशन नमस्ते’ छेड़ दिया है।


आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने ऑपरेशन नमस्ते के बारे में बताते हुए कहा, ‘छुट्टी पर पाबंदी लगाई गई है। 2001 में ऑपरेशन पराक्रम के दौरान 8-10 महीने में कोई छुट्टी पर नहीं गया था। पराक्रम में भी हम विजयी निकले हैं, ऑपरेशन नमस्ते में भी कामयाब रहेंगे।’ आर्मी चीफ के मुताबिक भारतीय सेना की आंतरिक खूबी है कि हम अपने सांगठनिक ढांचे और ट्रेनिंग की बदौलत तरह-तरह की आपातकालीन परिस्थितियों से उबल जाते हैं। हम कोविड-19 से निपटने में भी अपनी इसी क्षमता का इस्तेमाल करेंगे।


उन्होंने कहा, ‘कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सरकार और सामान्य प्रशासन की मदद करना हमारा दायित्व है। बतौर आर्मी चीफ सैन्य बलों को चुस्त-दुरुस्त रखना मेरी जिम्मेदारी है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘देश की रक्षा के लिए हमें खुद को सेफ और फिट रखना काफी महत्वपूर्ण है। इसे ध्यान में रखते हुए हमने पिछले कुछ हफ्तों में 2-3 अडवाइजरी जारी की है।’ आर्मी चीफ ने कहा कि सेना ने पहले भी सभी अभियानों में सफलता पाई थी और ऑपरेशन नमस्ते को भी सफलतापूर्वक अंजाम देगी। सेना की ओर से देशभर में अब तक आठ क्वारेंटाइन सेंटर्स स्थापित किए जा चुके हैं।


सेना की ओर से हेल्प लाइन नंबर भी जारी किया गया है। इसके लिए सेना के साउर्थन कमांड, ईस्टर्न कमांड, वेस्टर्न कमांड, सेंट्रल कमांड, नॉदर्न कमांड, साउथ वेस्टर्न कमांड और दिल्ली हेडक्वॉर्टर में कोरोना हेल्प लाइन सेंटर्स बनाए गए हैं। इसके जरिए कोरोना वायरस की चपेट में आए लोगों की मदद की जाएगी। साथ ही, आम नागरिकों को इस संकट से जुड़ी जानकारियां भी दी जाएंगी। निगरानी और आइसोलेशन की क्षमता बढ़ाई जा रही है।


सभी आर्मी हॉस्पिटलों को छह घंटों की सूचना पर सिर्फ कोविड-19 मरीजों के लिए 45 बेड का आइसोलेशन वार्ड और 10 बेड का आइसीयू वॉर्ड तैयार करने का निर्देश दिया गया है। जिन इलाकों में कोरोना का असर ज्यादा है, वहां के 30 प्रतिशत फिल्ड हॉस्पिटलों को स्टैंडबाय मोड में रखा गया है। क्विक रिएक्शन मेडिकल टीमें गठित होंगी जो सूचना मिलने के छह घंटे के अंदर मरीज को अस्पतालों में पहुंचाने को तैयारी कर लेगी।


दिसंबर 2001 में संसद पर हमले में पाकिस्तान के हाथ होने के कुछ अहम सबूत मिले तो भारत ने उसके खिला ऑपरेशन पराक्रम चलाया था। तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने सेना को सीमा की ओर कूच करने का आदेश दिया था और दिसंबर 2001 से जून 2002 तक भारत और पाकिस्तान दोनों देशों की सेना धीरे-धीरे नियंत्रण रेखा (एलओसी) की ओर बढ़ती रही। इसका असर यह हुआ कि पाकिस्तानी सेना ने दबाव में आकर आतंकवादी समूहों को समर्थन देना बंद कर दिया। आर्मी चीफ नरवणे ने इसी का उदाहरण देते हुए बताया कि तब भी सेना के जवान लंबे वक्त तक छुट्टियों पर नहीं गए थे।


कोरोनाः एसबीआई ने लिए बड़े फैसले

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कोरोना वायरस के चलते देश में लागू किए गए 21 दिन के लॉकडाउन को देखते हुए बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत बैंक ने अपनी शाखाओं में कामकाज का समय बदल दिया है। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए यह फैसला किया गया है।


एसबीआई के प्रबंध निदेशक पी के गुप्ता ने कहा कि उन्होंने राज्य सरकारों के परामर्श से पूरे देश में बैंकिंग सेवाओं के लिए टाइम स्लॉट लागू किए हैं। गुप्ता ने कहा कि कई राज्यों में हमने अपनी शाखा खोलने के समय को सीमित रखा है। कुछ राज्यों में यह सुबह 7 बजे से 10 बजे तक है, जबकि कुछ राज्यों में यह समय सुबह 8 बजे से 11 बजे तक और कुछ राज्यों में सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक है। इस बीच एसबीआई की ओर से बैंक शाखाओं में काम कर रहे उसके कर्मचारियों को मास्क और सैनिटाइजर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। जबकि कतार में कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखी जा रही है। प्रशासन विभाग के लोग वैकल्पिक दिनों में काम कर रहे हैं।


बैंक मोबाइल एटीएम सेवाएं भी चला रहा है ताकि ग्राहक बिना एटीएम शाखाओं में आए आसानी से पैसा निकाल सकें। पीके गुप्ता ने ग्राहकों की सुविधा के लिए बैंक की ओर से चलाए जा रहे एक ऐसे मोबाइल एटीएम का वीडियो भी साझा किया। एसबीआई ने नकदी निकालने के लिए एटीएम का उपयोग करने वाले सभी बैंक ग्राहकों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने को लेकर 7 टिप्स भी साझा किए हैं। एसबीआई के अलावा एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, स्टैंडर्ड चार्टर्ड, सिंडिकेट बैंक, इंडियन बैंक और अन्य कई बैंकों ने देश में कोरोना वारयर सके बढ़ते प्रकोप को देखते हुए अपनी शाखाओं के परिचालन के समय में संशोधन किया है। साथ ही गैर जरूरी बैंकिंग सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है।


बैंकिंग सेवाओं जैसे पासबुक अपडेट, काउंटर चेक संग्रह प्रतिबंधित कर दिए गए हैं। सभी बैंकों ने अपने ग्राहकों से अपनी बैंकिंग आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिजिटल और ऑनलाइन माध्यमों का उपयोग करने का आग्रह किया है। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने भी भारतीय नागरिकों से सामाजिक संपर्क को कम करने के लिए डिजिटल भुगतान का उपयोग करने का आग्रह किया है। एनपीसीआई के एमडी और सीईओ दिलीप असबे ने कहा कि वर्तमान लॉक-डाउन की स्थिति में हम सभी नागरिकों से घर पर रहने का अनुरोध करते हैं। हम सभी सेवा प्रदाताओं और उपभोक्ताओं को डिजिटल भुगतान के तरीकों का इस्तेमाल करने का आग्रह भी करते हैं।


हाई रेट में पुलिस की लाठी हुई तेज

तौबा मेरे तौबा पिटाई क्या बताऊँ ?
क्या क्या हुआ इनके उनके साथ रे !
मिर्जापुर। लाकडाउन में टेम्परामेंट डाउन की अनेकानेक कहानियाँ पिछले 48 घण्टे में सुनने को मिलीं । ड्यूटीरत सिपाही-दरोगा का टेम्परामेंट जो डाउन हुआ है तो उनकी जुबान और साथ ड्यूटीमें लगे सिपाही ही नहीं होमगार्डों की लाठी की चोट हाई है । हाई में वीआईपी शामिल हैं तो जरूरत के सामानों के रेट भी हाई है । इसी हाई-लो बोल्टेज में लाकडाउन चल रहा है ।
संकटमोचनपर बैठे शराफत के दुश्मन---
लाकडाउन में नगर के संकटमोचन मंदिर से दुर्व्यहार की खबरें ज्यादा मिलीं । यहां गुरुवार को नगरपालिका के जलकल के एक आपरेटर को तब ठोक दिया, जब वह DM के आदेश पर सड़कों पर दवायुक्त पानी के छिड़काव के लिए सिटी मजिस्ट्रेट के यहां पास लेने जा रहा था । पास न होने से अनेक ट्यूबबेलों पर ड्यूटी दे रहे आपरेटर पुलिस के गाली-गलौज के शिकार हुए । तिवराने टोला में भी ट्यूबबेल चलाने जा रहे आपरेटर को पुलिस ने हड़काया । इसके अलावा संकटमोचन पर कतिपय मीडियाकर्मियों के साथ भी बदसलूकी की बातें सुनने को मिली लेकिन परिस्थितियों को देखकर मीडियाकर्मी ने मामले को तूल नहीं दिया ।


निर्देश देते होमगार्ड---
सिटी कोतवाली के पास कतिपय होमगार्ड एक चाय की दुकान खुलवाए थे । चाय पी रहे थे तभी एक पत्रकार ने जब फोटो खींच लिया तब उसी में से एक होमगार्ड चिल्लाकर बोला-'ऐ पत्रकार साहब, इधर आइए ।  चाय पीते फोटो मत लीजिए । हम लोगों ने थाने के कतिपय कर्मियों के लिए दुकान खुलवा रखा है ।' इस प्रकार पहलीबार होमगार्ड भी आदेशात्मक मूड में दिखाई पड़े ।
 वीआईपीसुन नहीं रहे---
सर्वाधिक दिक्कत कुछ बीमार लोगों की रही । जिनको गम्भीर बीमारी के लिए वाराणसी जाना था । ADM से सम्पर्क करने पर उन्होंने तो भरोसा दिया और सिटी मजिस्ट्रेट से पास लेने का सुझाव दिया लेकिन सिटी मजिस्ट्रेट से आधे पर ही फोन कट गया फिर लगा नहीं । इस तरह और भी कई बीमारों की स्थिति सुनने को मिली ।
 गांवों की स्थिति---
गांवों में यदि कोई देश के ही किसी हिस्से से अपने घर किसी प्रकार लौट रहा है तो बमचक मच जा रहा है । लौटा व्यक्ति कह रहा है कि वह स्वस्थ है जबकि उसके परिवार के विरोधी पुलिस को फोन कर दे रहे हैं । कतिपय लोग इसे गांव की सतर्कता कह रहे हैं तो कुछ लोग आपसी मनमुटाव का परिणाम बताते सुने गए ।
अर्धनारी श्वररूप--
घर से बाहर निकलने पर प्रतिबन्ध के चलते बहुत से घरों में पुरुष वर्ग महिलाओं के जिम्मे वाला काम करते सुने गए । कोई किचेन में बैठकर सब्जी काट रहा है, तो कोई झाड़ू लगा रहा है । दाई न आने से कोई बर्तन माँज रहा तो कोई कपड़ा साफ कर रहा है । इस प्रकार 'समय बिताने के लिए करना है कुछ काम' की स्थिति है । कहा जाए तो पुरुष आधे नारी रूप में आ गया है ।
 बड़े ऑफिसरों पर बोझ ज्यादा--
मंडल के तीनों जनपदों की निगरानी के लिए कमिश्नर एवं आईजी तथा जिले पर डीएम, एसपी रात दिन दौड़ते नजर आ रहे हैं । एक पैर कहीं तो दूसरा पैर कहीं की हालत है। अतः अपने अपने क्षेत्र में संजीदगी से लोग ड्यूटी दें तो लाकडाउन के लिए नागरिक धीरे धीरे अभ्यस्त होते दिख रहे हैं ।



-सलिल पांडेय


चौकी प्रभारी ने कराया भूखों को भोजन

बजरडीहा में चौकीप्रभारी अजय प्रताप यादव ने बटवाया भूखो को भोजन
वाराणसी। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र भेलूपुर थाना के बजरडीहा में विभिन्न प्रदेशो से जीविकोपार्जन के लिए आये सैकड़ो गरीब व निर्धन परिवारों की लाकडाउन होने के कारण रोजी-रोटी अधर में पड़ गयी जिसके कारण लाकडाउन के पांचवें दिन दिहाड़ी मजदूरो के सम्मुख भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो गयी। तेज तर्रार चौकी प्रभारी बजरडीहा अजय कुमार यादव को जब पता चला तो आनन-फानन में उपनिरीक्षक धनन्जय यादव व अपने मातहतो के साथ भूख से जूझ रहे दर्जनो निर्धन व गरीब परिवारों को तत्काल भोजन का प्रबन्ध किया और अपने मातहतो के साथ बजरडीहा के विभिन्न क्षेत्रो में भूख से पीड़ितो को भोजन बटवाते हुए नसीहत दिया कि सरकार आपके सुरक्षा के लिए लाकडाउन जैसा निर्णय लिया है, जिससे किसी को घबराने या भयभीत होने की आवश्यकता नही है। सभी लोग संयम से आपस में सामन्जस्य बनाकर साफ सुथरे ढंग से रहे और मास्क का प्रयोग करें, अनावश्यक घरो से बाहर न निकले। उन्होने आश्वासन दिया कि सम्भव प्रयास कर भूखो को भोजन की कमी महसूस नही होने दिया जायेगा। समय-समय पर किसी न किसी तरीके से भोजन का प्रबन्ध होता रहेगा। भोजन पाकर गरीब व निर्धन परिवारो ने स्थानीय पुलिस की कार्यशैली को खूब सराहा, जिसकी पूरे दिन क्षेत्र में जबरदस्त चर्चा रही।


अलीगढ़ प्रशासन द्वारा गरीबों की मदद

अन्नू सोनी


अलीगढ़ में प्रशासन लॉक डाउन के चलते कर रही घरों तक खाद्य पदार्थों की आपूर्ति की पूर्तिती। जनता से अपील है कि बाजारों में दिए समय को भीड़ न लगाकर उस समय का ऐसे पीड़ित व लाचार परिवारों की सहायतार्थ समय का उपयोग करें व समाज सेवा करें।



अलीगढ़। थाना सासनीगेट क्षेत्र के कबीर नगर में एक महिला का परिवार चार दिन से भूख से बेहाल थी। तब उस महिला ने 112 नम्बर पर पुलिस को कॉल कर अपने घर की स्तिथि का हाल बताया और पुलिस द्वारा सहायता का लिए निवेदन किया। महिला के घर जाकर पला चौकी इंचार्ज सतीश कुमार ने अपने साथी पुलिसकर्मियों के साथ जाकर खाद्य वस्तुएं देकर सहायता पहुँचायी।
सबसे बड़ा सवाल यहाँ इस बात का है कि क्यों हर इंसान को पुलिस प्रशासन की सहायता की जरूरत पड़ रही है क्यों पुलिसकर्मियों को ही हर बात के लिए जिम्मेदार बनाया जाता है क्या आम जनता की कोई जिम्मेदारी नहीं जनता कर्फ़्यू व लॉक डाउन तोड़ने पर आमादा जनता बस नियम तोड़ने के लिए ही उतारू है क्या इस तरह की समस्याओं को हल करने के लिए उनकी कोई जिम्मेदारी नहीँ जनता से अपील है कि पुलिस प्रशासन आपकी हर सुरक्षा को लेकर पूरी तरह लगा हुआ है इस समय हालात इतने खराब है कि पुलिस प्रशासन के लिए हर जगह एक समस्या मुँह उबाये खड़ी है कृपया धैर्य बनाये रखकर पुलिस विभाग की सहायता करें न कि उनपर ही निशाना साधे।
जनता से अपील है कि बाजारों में दिए समय को भीड़ न लगाकर उस समय का ऐसे पीड़ित व लाचार परिवारों की सहायतार्थ समय का उपयोग करें व समाज सेवा करें।


1 लाख का दान, फैंस ने सुनाई खरी-खोटी

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस से निपटने में सरकार के साथ साथ उद्योगपति, खिलाड़ी और हर खासोआम आदमी अपने अपने तरीके से लगा है। इस बीच मदद के नाम पर क्रिकेट खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी ने ऐसा काम किया कि लोगों के साथ साथ अपने फैंस के गुस्से का शिकार हो गए।
दरअसल, कोरोनावायरस जैसी आपदा से निपटने के लिए देश के अमीर तबके ने अपने खजाने खोल दिये हैं। क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने इस आपदा के पीड़ितों के लिए पचास लाख की रकम देने का ऐलान किया है तो कई उद्योगपतियों ने करोड़ों की मदद दे डाली है। ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने मदद के नाम पर शर्मनाक कारनामा किया है।
धोनी ने पुणे के दिहाड़ी मजदूरों के लिए एक लाख रुपये दान देने की घोषणा की। उनकी इस आर्थिक मदद की घोषणा के बाद उनके फैंस सोशल मीडिया पर भड़क गए। लोगों ने धोनी को सोशल मीडिया पर जमकर खरी खोटी सुनाई।  फैंस ने नाराजगी जताते हुए कहा कि सालाना 800 करोड़ रुपये कमाने वाले धोनी मदद के नाम पर सिर्फ एक लाख रुपये की मदद कर भद्दा मजाक कर रहे हैं। इससे बेहतर था कि वो मदद ही नहीं करते। धोनी इस शर्मनाक कारनामे की वजह से सोशल मीडिया पर खूब खरी खोटी सुन रहे हैं।


आईसीसी ने सभी टूर्नामेंट किए स्थगित

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर जहां पूरी दुनिया में अफरा तफरी मची हुई है तो वहीं दूसरी ओर खेल जगत में भी इसका खासा असर पड़ा है, दुनिया भर के छोटे से लेकर बड़े टूर्नामेंट इस खतरनाक महामारी के चलते या तो रद्द कर दिए गए हैं या फिर स्थगित कर दिए गए हैं। आईपीएल को लेकर पहले ही बीसीसीआई पशोपेश में है कि आखिर वो करे तो करे क्या और जिस तरह से हालात अभी देश में दिख रहे हैं उसे देखते हुए तो यही लग रहा है कि आईपीएल सीजन-13 को कहीं रद्द न कना पड़ जाए।


इस बीच आईसीसी ने अब बड़ा फैसला कर लिया है, और कोरोना वायरस के इस कहर को देखते हुए 30 जून से पहले होने वाले अपने सभी क्लीफाइंग टूर्नामेंट को स्थगित कर दिया है। आईसीसी के टूर्नामेंट प्रमुख क्रिस टेटली ने कहा है कि दुनिया भर में ट्रेवल को लेकर पाबंदियों और मौजूदा माहौल में सेहत को लेकर चिंताओं को देखते हुए आईसीसी ने आगामी समीक्षा तक जून के आखिर तक सारे टूर्नामेंट स्थगित करने का फैसला किया है। उन्होंने आगे कहा कि खिलाड़ियों, अधिकारियों, स्टाप और प्रशंसकों की सेहत और सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है, हमें सभी संबंधित पक्षों के हितों को ध्यान में ऱखकर फैसला लेना है। हमारा मानना है कि ये समझदारी भरा फैसला लेने का समय है।


वाहन खाई में गिरा 6 की मौत, 4 घायल

देहरादून। उत्तराखंड के टिहरी जनपद में शुक्रवार को एक वाहन के गहरी खाई में गिरने से उसमें सवार तीन महिलाओं सहित छह लोगों की मौत हो गई और चार गम्भीर रूप से घायल हो गये। टिहरी के जिला आपदा परिचालन केंद्र प्रभारी एस.के. भट्ट ने बताया कि ज्वारना-बंगियाल मोटर मार्ग पर देवीधार के पास एक वाहन लगभग 300 मीटर गहरी खाई में गिर गया।


इस हादसे में फूलचंद पाल (42) पुत्र सब्बल, निवासी ग्राम नेरी, गुड्डी देवी (36) पत्नी रमेशी, पार्वती देवी पत्नी केसर सिंह दोनों ग्राम बरनू निवासी, नत्थे सिंह (60) पुत्र दयालु, ग्राम तिरोहन, क्वांरा देवी (65) पत्नी इंदर सिंह, ग्राम तिरोहन और बीर सिंह (60) पुत्र मंगल सिंह, निवासी ग्राम डांग की घटनास्थल पर मौत हो गई। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।


ऑनलाइन बिजली बिल पर शुल्क नहीं

लखनऊ। बिजली बिलों के ऑनलाइन भुगतान पर उपभोक्ताओं को अब किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं देना होगा। कोरोना लॉकडाउन को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देशों के अनुक्रम में यूपीपीसीएल ने उपभोक्ताओं के हित में नए दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं।


अभी तक डेबिट व क्रेडिट कार्ड के जरिये भुगतान पर बैंकिंग कंपनियों द्वारा शुल्क लिया जा रहा था। अब इस शुल्क का भुगतान यूपीपीसीएल करेगा। विद्युत उपभोक्ता अपने बिलों का ऑनलाइन भुगतान ई-निवारण ऐप के जरिये कर सकते हैं। इसे गूगल प्ले स्टोर डाउनलोड किया जा सकता है। किसी भी कठिनाई पर उपभोक्ता हेल्पलाइन 1912 पर फोन कर समस्या का समाधान पा सकते हैं। उपभोक्ताओं को एसएमएस द्वारा भी बिलों के भुगतान का लिंक साझा किया जा रहा है। विषम परिस्थितियों में भी कारपोरेशन उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए प्रयासरत है।कारपोरेशन उपभोक्ताओं से अपील भी करता है कि वह अपना बिल ऑनलाइन माध्यमों के जरिये जमा करें जिससे विद्युत उत्पादकों का ससमय भुगतान किया जा सके।


3 बच्चों को कुएं में फेंका, 2 की मौत

सोनभद्र। उत्तर प्रदेश में सोनभद्र जिले के बीजपुर थाना क्षेत्र में बुधवार रात एक मानसिक बीमार महिला ने अपने तीन मासूम बच्चों को कथित रूप से कुंए में फेंक दिया। इनमें दो बच्चों की मौत हो गई है। बीजपुर के थाना प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) श्यामबहादुर यादव ने गुरुवार को बताया कि पिंडारी गांव पंचायत के कोहरमरा टोला निवासी मानसिक बीमार महिला देवंती देवी बुधवार रात करीब 10 बजे अपने तीन बच्चों अन्नू (6) अनुज (3) और दीपांशु (1) को घर से कुछ दूरी पर बने कुंए में फेंक दिया और बच्चों के कुंए में गिरने की अफवाह फैलाकर गांव से फरार हो गई है।


उन्होंने बताया, “ग्रामीणों की मदद से तीनों बच्चों को कुंए से बाहर निकालकर अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने अनुज और दीपांशु को मृत घोषित कर दिया और प्राथमिक उपचार के बाद अन्नू को घर भेज दिए हैं।” उन्होंने बताया, “महिला मानसिक रूप से बीमार बताई जा रही है। महिला का पति विजय चेन्नई में एक निजी कंपनी में काम करता है और महिला घर में अपने बुजुर्ग सास-ससुर व बच्चों संग रहती है।” यादव ने बताया कि इस संबंध में महिला के खिलाफ एक मुकदमा दर्जकर दोनों बच्चों के शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजे गए हैं, फरार महिला की तलाश की जा रही है।


हरियाणा में शराब के ठेके हुए बंद

चंडीगढ़। हरियाणा में शराब के सभी ठेके शुक्रवार से बंद रहेंगे। कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में जारी लॉकडाउन के बावजूद हरियाणा में शराब के ठेके अभी तक लगातार खुले रहे। हरियाणा के सभी जिलों में लॉकडाउन घोषित किया जा चुका है। लेकिन यहां शराब की दुकानों को खोलने की इजाजत दी गई थी।


हालांकि, अब सरकार ने शराब के ठेकों को बंद करने का आदेश जारी किया है। हरियाणा सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “हरियाणा सरकार द्वारा दिए गए आदेश के मुताबिक शराब के सभी ठेके गुरुवार रात 12 बजे के बाद नहीं खोले जा सकेंगे, इसके बाद शराब के ठेके खोलने वाले दुकानदारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।” इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित राज्य हरियाणा के गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, रोहतक सहित सभी जिलों में शराब की दुकाने खुली थीं। प्रधानमंत्री ने 24 मार्च की रात को देश में 21 के दिन के लॉकडाउन का ऐलान करते हुए यह स्पष्ट किया था कि इस दौरान सिर्फ आवश्यवक वस्तुओं और सेवाओं से संबंधित लोग ही घरों से बाहर निकल सकेंगे। इन आवश्यक वस्तुओं में राशन, दूध, दवा, सब्जी आदि शामिल की गई हैं और शराब के ठेके इसमें शामिल नहीं हैं। इसके बावजूद यहां शराब की दुकाने खुलना हैरान करने वाला है। हालांकि, हरियाणा में सभी पब, बीयर बार, रेस्टोरेंट्स बंद हैं। कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा ने हरियाणा में शराब के ठेके खुले रखने पर कहा, “प्रधानमंत्री जी के 21 के लॉकडाउन अनुरोध का पूर्ण पालन कराने की बजाय हरियाणा की सरकार शराब के ठेको को खोलकर जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रही है। आखिर किसकी शह पर शराब के ठेके खुले हुए हैं? सरकार के जिम्मेदार लोग निजी स्वार्थ-धन लोलुपता से ऊपर उठकर देशहित मे काम करें।


मेडिकल कॉलेज और अस्पताल अधिग्रहित

रायपुर। राज्य सरकार ने निजी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल रिम्स को कोरोना के इलाज के लिये अधिग्रहित कर लिया है। राजधानी रायपुर से लगे ग्राम गोढ़ी में स्थित 350 बिस्तर के इस अस्पताल को राज्य शासन ने स्टाफ और समस्त संसाधनों के साथ अधिग्रहित किया है। हालांकि इससे पहले प्रदेश के सभी निजी अस्पतालों को अधिग्रहित करने का सरकार की तरफ से आदेश जारी किया गया था। लेकिन कुछ घंटों बाद इस आदेश को वापस ले लिया गया था। इस आदेश के बाद संशोधित आदेश जारी कर केवल रिम्स को अधिग्रहित किया गया है।


स्वास्थ्य संचालक द्वारा गुरुवार को जारी आदेश में कहा गया है कि डब्ल्यूएचओ ने कोराना वायरस के संक्रमण को देखते हुए हेल्थ इमरजेन्सी घोषित किया है। छत्तीसगढ़ सरकार एपिडेमिक डिजीस एक्ट 1897 (कमांक 3) के सेक्शन 2, 3 एवं 4 के तहत् प्रदत्त शक्तियों के तहत अस्पताल का अधिग्रहण कर रही है। वर्तमान परिस्थितियों में राज्य में अधिसूचित संक्रामक रोग कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण की स्थिति को देखते हुए, यह आवश्यक हो गया है कि उक्त संकामक रोग के प्रसार को रोकने एवं नियंत्रण हेतु राज्य के निजी चिकित्सा महाविद्यालय/नर्सिंग होम/ हॉस्पीटल का अधिग्रहण किया जाना आवश्यक है। आदेश में कहा गया है कि छत्तीसगढ एपिडेमिक डिजीस कोविङ-19 विनियम 2020 की कंडिका 3 के तहत् प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए रायपुर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साईस, भानसोज रोड, गोढी, जिला रायपुर को मय समस्त मानव संसाधन एवं उपलब्ध चिकित्सा संसाधनों सहित दिनांक 25 मार्च 2020 से आगामी आदेश तक के लिए अधिग्रहित किया जाता है।


पश्चिमी यूपीः पॉजिटिव मामले से हड़कंप

लखनऊ। कोरोना वायरस पश्चिमी यूपी में भी पैर पसार चुका है। यहां शामली और बागपत में एक-एक पाॅजिटिव मामले सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। वहीं शुक्रवार को सहानपुर जनपद में स्वास्थ्य विभाग की कोरोना सर्विलांस टीम ने ऐसे ही पांच संदिग्ध पांच पुलिसकर्मियों को आईआईटी सहारनपुर के कैंपस में क्वारंटीन कराया है। बताया गया कि ये पुलिसकर्मी बाहरी जिलों से आए हैं।


कोरोना वायरस का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। पांच पुलिसकर्मियों में कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हैं। सभी पांच संदिग्ध मरीजों के सैंपल जांच के लिए भेज गए हैं। साथ ही उन्हें क्वांरटीन किया गया है। इनके अलावा फतेहपुर में बनाए गए स्पेशल कोरोना वार्ड में एक और मरीज को भर्ती कराया गया है। इस वार्ड में एक मरीज पहले से ही भर्ती है। इस बीच कुछ सूचनाएं मिलने पर तीन और संदिग्ध मरीजों को लेने के लिए कोरोना सर्विलांस टीमों की एम्बुलेंस निकली हैं। एक दिन पहले ही जिले में कोरोना के चार संदिग्ध मरीजों को भर्ती कराया गया था। इनके नमूने जांच के लिए भेजे गए थे। इनमे देवबंद में मरीजों के मिलने के बाद वहां मस्जिद को सैनेटाइज कराया गया था। सीएमओ डॉक्टर बीएस सोढ़ी का कहना है कि हर तरह के मरीजों की पूरी निगरानी की जा रही है। शहर या देहात जहां से भी सूचनाएं आ रहीं हैं, उन्हें फॉलो कर मरीज़ों को भर्ती कराया जा रहा है। इसके साथ ही उनकी कॉउंसलिंग कराई जा रही है।


743 लोगों को 'होम क्वारेन्टाइन'

गरियाबंद। विश्व सहित भारत में कोरोना वायरस की चपेट लगातार बढ़ रही है। करोड़ों लोग घरों में कैद हो गए हैं। इसी बीच छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में विदेश से लौटे 5 व्यक्तियों के साथ 743 लोगों को होम क्वारेन्टाइन किया गया है। गरियाबंद स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्रशासन ने इन लोगों को 14 से 28 दिनों के लिए होम क्वारेन्टाइन में रहने का निर्देश दिए गए हैं। उनके घर के सामने निगरानी में रखे जाने के संबंध में सूचना चस्पा की गई है। साथ ही निगरानी में रखे गये व्यक्तियों को निर्देश दिया गया है कि निगरानी अवधि के दौरान किसी भी स्थिति में घर से बाहर न निकल पाए।


प्रशासन के निर्देश पर जिले में अधिकारी-कर्मचारियों की टीम गठित कर नोवल कोरोना-19 वायरस के समुदाय में संक्रमण व प्रसार के नियंत्रण करने हेतु समुदाय स्तर पर कम्युनिटी सर्विलेन्स के लिए होम क्वारेन्टाइन किए गए घरों के आसपास के 50 घरों का सर्वे कर संभावित संक्रमित व्यक्तियों की खोज की जा रही है। प्रशासन के अलावा जनप्रतिनिधियों और आम नागरिकों से अपील की गई होम क्वारेन्टाइन किये गये व्यक्तियों से दूरी बनाकर रहे साथ उनके सतत निगरानी के निर्देश दिए गए हैं।


प्रमुख दादी की 104 वर्ष की उम्र में निधन

राणा ओबराय


ब्रह्माकुमारी की प्रमुख दादी जानकी का 104 वर्ष की उम्र में निधन, देश-विदेश में फैली शोक की लहर

नई दिल्ली। ब्रह्माकुमारी संस्थान की प्रमुख राजयोगिनी दादी जानकी का शुक्रवार को निधन हो गया। 104 साल की उम्र में उन्होंने माउण्ट आबू के ग्लोबल हास्पिटल में 27 मार्च को प्रातः 2 बजे अंतिम सांस ली। संस्थान के मुख्यालय शांतिवन में दोपहर 3:30 बजे उनका अंतिम संस्कार होगा। उनके निधन की खबर से देश-विदेश में संस्था के अनुयायियों में शोक की लहर है। दादी जानकी को 2007 में बनी मुख्य प्रशासिका: ब्रह्माकुमारीज संस्था की पूर्व मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी प्रकाशमणि के देहावसान के पश्चात 25 अगस्त, 2007 को ब्रह्माकुमारीज संस्थान की मुख्य प्रशासिका का कार्यभार सौंपा गया। तब से लेकर आज तक वे देश और दुनिया भर में अमन, चैन और सुख शांति की स्थापना के लिए कार्यरत थीं। ब्रह्माकुमारी संस्थान की प्रमुख ब्रह्माकुमारीज संस्थान की मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी जानकी इसी साल 1 जनवरी को 104 वर्ष की हुई थीं। 104 वर्ष की उम्र में भी 140 देशों में फैले अंतरराष्ट्रीय आध्यात्मिक संस्थान का संचालन करने वाली वे दुनिया की पहली मुख्य प्रशासिका हैं। उनके संसथान से करीब बीस लाख लोग जुड़े हैं और 46 हजार बहनों की वह अभिभावक थीं। दादी के नाम दुनिया की पहली मुख्य प्रशासिका का खिताब तो है ही, साथ में 104 साल की उम्र में 12 महीने में 4 माह तक भारत के कई शहरों और दस देशों में 72 हजार किमी की यात्रा का विश्व रिकॉर्ड भी उन्होंने बनाया है। 1916 में जन्मी दादी जानकी प्रात: चार बजे उठकर ज्ञान, ध्यान, राजयोग और लोगों से मिलना जुलना प्रारंभ करती थीं।ब्रह्माकुमारी संस्थान की प्रमुख दादी जानकी ने 46 हजार बहनों की ऐसी रूहानी सेना तैयार की है जो लोगों में आध्यात्मिकता के जरिए ज्ञान, राजयोग और साधना से मूल्यनिष्ठता को स्थापित करता है। दादी जानकी स्वच्छता के संदर्भ में हमेशा से एक्टिव रहीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन का उन्हें ब्रांड एम्बेसडर बनाया था। कक्षा चौथी तक पढ़ी दादी जानकी ने ईश्वरीय सेवाओं के लिए पश्चिमी देशों को चुना। 1970 में पहली बार लंदन गईं और 35 वर्षों तक वहीं रहकर सौ से ज्यादा देशों में ईश्वरीय संदेश को पहुंचाया। हजारों-लाखों लोगों को जीवन जीने की कला सिखाई। आज उनके निधन पर देश-विदेश में शोक की लहर है।


पाक सेना में बड़े पैमाने पर संक्रमण

पाकिस्तान में कोरोना फैला रहा चीन? पाक को दोस्ती पड़ रही भारी


इस्लामाबाद। चीन से खुली हुई सीमा और बड़े पैमाने पर चीनी नागरिकों से मेलजोल का असर अब पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर कोरोना के संक्रमण के तौर पर नजर आ रहा है। सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान की सेना में बड़े पैमाने पर कोरोना के संक्रमण की खबरें आ रही है। कुल 230 सैनिकों को संक्रमण की आशंका के चलते आइसोलेशन में भेजा गया है जिनमें 40 को पॉजिटिव पाया गया है। इनमें अफसर भी शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक गिलगित- बाल्टिस्तान में 28, डोमेल में 41, बाग़ में 9, रावलाकोट में 14, मीरपुर में 45 और खैबर पख्तुनख्वा में 55 पाकिस्तानी सैनिकों को कोरेंटाइन में भेजा गया हैं। वहीं मुजफ्फराबाद में 21, रावलाकोट में 9, कोटली में 2, बलोचिस्तान में 8 और खैबर पख्तुनख्वा- पंजाब में एक-एक सैनिकों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। पाकिस्तान ने अपने क्वारंटाइन सेंटर पीओके और गिलगिट- बाल्टिस्तान में स्थापित किए हैं। इससे पाकिस्तान के मुख्य इलाकों जैसे पंजाब में वायरस फैलने का खतरा नहीं रहेगा साथ ही यहां सेना का पूरी तरह नियंत्रण होने से खबरें बाहर नहीं आएगी। बता दें कि पाकिस्तान में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1106 पहुंच गई है, जिसमें 8 लोगों की मौत हो चुकी है।


हम हर स्थिति से लड़ने को तैयार

नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अगर दिल्ली में करोना के केस बहुत ज़्यादा बढ़ते हैं तो हमें क्या करना है। हमारी डॉक्टर्स की टीम ने उसका पूरा प्लान बना लिया है। हम किसी भी स्थिति का मुक़ाबला करने के लिए तैयार हैं। उन्होनें कहा कि मैं भगवान से मनाता हूं कि भारत में कोरोना की भयावहता थम जाए लेकिन अगर स्थिति बिगड़ती भी है तो हम मजबूती के साथ इसका मुकाबला करेंगे।


दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया अभी दिल्ली में रोजाना तीन-चार केस आ रहे हैं लेकिन अगर यह तेजी से बढ़ता है तो कैसे निपटना है इसके लिए दिल्ली सरकार ने पूरी प्लान तैयार कर लिया है। उन्होनें कहा कि  रोज अगर 100 केस आते या फिर 500 केस रोज या फिर 1000 केस सामने आते हैं तो हमें क्या-क्या करना है इसकी पूरी गाइडलाइन तैयार की गयी है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी कोरोना के 100 मरीजों के इलाज के लिए सरकार पूरी तरह तैयार। 500 मरीजों के इलाज तक की तैयारी हो रही है। जबकि संख्या अगर 1000 तक जाती है तो इससे भी निपटने का प्लान तैयार किया गया है। उन्होनें कहा कि सरकार रोज भूखें लोगों को खाना खिला रही है। 4 लाख लोगों को रोज खाना खिलाने की तैयारी हो रही है। रैन बसेरों की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज के हालात में हमारे पास कोरोना से निपटने की मुकम्मल व्यवस्था है। लेकिन  आगे आने वाले दिनों में हमें कितने आईसोलेशन की जरूरत पड़ेगी, कितने वेंटीलेटर, आईसीयू और कितने टेस्ट की जरूरत होगी।कितने एंबुलेंस की जरूरत पड़ेगी और कितने डॉक्टर-नर्स की जरूरत पड़ेगी ये सभी के लिए प्लानिंग की गयी है कि 100 केस आते हैं तो कैसे निपटना है 500 केस आते तो फिर क्या होगा और ये संख्या अगर तक होती है तो क्या करना है। कोरोना वायरस के चलते भारत में लॉकडाउन का आज तीसरा दिन है। इस बीच कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़कर 724 पर पहुंच गई है। वहीं इस महामारी की चपेट में आकर देश में अब तक 17 लोगों ने दम तोड़ दिया है। हालांकि देश में 50 संक्रमित मरीज ठीक भी हुए हैं। 


खौफ के बीच 'बर्ड फ्लू' की दस्तक

पटना। कोरोना के खौफ के बीच अब बर्ड फ्लू ने भी दस्तक दे दी है। पटना के कई इलाकों में मरे कौवों और पक्षियों की जांच रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि की खबर है। बर्ड फ्लू के प्रभावी क्षेत्र के 1 किलोमीटर के दायरे में सामूहिक कीलिंग की कार्रवाई भी की जाएगी। क्षेत्र में पोल्ट्री फॉर्म में मौजूद मुर्गियों को मारा जाएगा। वैसे सारे काम की गाइडलाइन केंद्र सरकार देगी।


आधिकारिक सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक पहले जंगली पक्षी की श्रेणी में आने वाले कौवे में इस बीमारी का पता चला। इसके बाद शहर के अशोकनगर और पड़ोसी जिले नालंदा के कतरी सराय के सैदपुर गांव में एक पोल्ट्री फॉर्म में जांच के बाद बर्ड फ्लू का पता चला है। इसके बाद वेटनरी ऑफिसरों ने माना कि राजधानी में बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है।खास बात यह कि देश में इस वर्ष कहीं भी बर्ड फ्लू के संक्रमण की बात सामने नहीं आई है। पटना इस मामले में पहला शहर है। इस जानकारी के बाद केंद्र सरकार भी सतर्क हो गई है। बर्ड फ्लू का फैलाव दूसरे शहरों या अन्य क्षेत्रों में नहीं हो, इसके लिए सघन सैनेटाइजेशन का काम होगा। उसकी रणनीति बनाई गई है। सरकार की हिदायत के बाद ही दोनों स्थानों पर कार्यवाही की जाएगी। वेटनरी डॉक्टरों की टीम ने प्रभावित क्षेत्रों को सर्विलांस पर रखा है। दवाओं का छिड़काव भी हो चुका है। वेटनरी डॉक्टरों की तीन टीमें गुरुवार से तैयार हैं। उन्हें बस केंद्र सरकार के आदेश का इंतजार है।


अनुराग गोयल


एक ही परिवार के 12 लोग संक्रमित

मुंबई। देश में बढ़ते कोरोना के मरीजों की संख्या के बीच महाराष्ट्र से एक बड़ी खबर आई है, जहां एक ही परिवार के 12 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके साथ ही महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव मरिजों की संख्या बढ़कर 130 के पार हो गई हैं।


मुताबिक सांगली के इस्लामपुर के रहने वाले इस परिवार के 4 लोग हाल ही में हज की यात्रा करके लौटे थे। सबसे पहले 23 मार्च को परिवार के उन्हींं सदस्यों को टेस्ट हुआ जो यात्रा से लौटे थे।  23 मार्च को इन सबकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसके बाद 25 मार्च को परिवार के 5 और सदस्यों का टेस्ट कराया गया। ये पांचों भी पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद मेडिकल टीम ने परिवार के 3 और लोगों को टेस्ट के लिए बुलाया। ये तीनों भी पॉजिटिव निकले. इसी तरह से परिवार ते 12 लोग कोरोना वायरस के चपेट में आ गए हैं।
ये मामला सामने आते ही अब इनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों का सैंपल लिया गया है। इन सबकी रोपर्ट आज आने वाली है। वहीं 12 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद डॉक्टरों को इस बात का डर है कि कोरोना का ये चेन काफी लंबा हो सकता है। गांव के लोग भी इसके चपेट में आ सकते हैं। वहीं परिवार के सबी करीबी रिश्तेदारों को आइसोलेट कर दिया गया है।


मात्र 5 घंटे में 10 हजार नए मामले

नई दिल्ली /वाशिंगटन। अमेरिका में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 82,404 पहुंच गई है। यह आंकड़ा अमेरिकी समय के मुताबिक गुरुवार शाम छह बजे तक का है। आंकड़ा जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंट एंड इंजीनियरिंग ने जारी है। रिपोर्ट् के मुताबिक अमेरिका ने कोरोनावायरस के मालमों में चीन को भी पीछे छोड़ दिया है और अब सबसे ज्यादा मरीज अमेरिका में हैं।


विश्वभर में हर पांच घंटे से भी कम समय में 10 हजार केस सामने आ रहे हैं। न्यूयार्क में 37,802 केस सामने आए हैं, इसके बाद यह शहर कोरोना वायरस का केंद्र बिंदू बन गया है। न्यू जर्सी में 6,876 और कैलिफोर्निया में 3,802 केस दर्ज किए गए हैं। बता दें, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 526,044 के मामले सामने आ चुके हैं, जबकि इससे 23,709 मौत हो चुकी है। अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से अभी तक 1178 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि न्यूयार्क में 281 और किंग काउंटी में 100 लोगों का उपचार हो चुका है। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक चीन में गुरुवार शाम 6 बजे तक 82,034 मामले सामने आए थे। चीन ने गुरुवार को 54 नए आयातित संक्रमणों के साथ तीन दिनों के बाद एक स्थानीय कोरोना वायरस केस की सूचना दी है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि बीजिंग विदेशियों के लिए वीजा रद् करने और देश में घातक सीओवीआईडी ​​-19 की दूसरी लहर को रोकने के लिए उड़ानों को प्रतिबंधित कर रहा है।


सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सावधान रहें, सतर्कता बरतें।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मार्च 28, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-229 (साल-01)
2. शनिवार, मार्च 28, 2020
3. शक-1942,चैैत्र-शुक्ल पक्ष, तिथि- चतुर्थी, संवत 2077


4. सूर्योदय प्रातः 06:20,सूर्यास्त 06:38
5. न्‍यूनतम तापमान 14+ डी.सै.,अधिकतम-27+ डी.सै., बरसात की संभावना बनी रहेगी।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


 


एमपी: परिजन ने मिट्टी का तेल डालकर लगाईं आग

मनोज सिंह ठाकुर       भोपाल। मध्य प्रदेश के सागर जिले के एक गांव में 25 वर्षीय युवक पर कथित तौर पर प्रेम प्रसंग के चलते युवती के परिजन ने मि...