रविवार, 3 दिसंबर 2023

यह सभी के लिए एक अप्रत्याशित परिणाम है

यह सभी के लिए एक अप्रत्याशित परिणाम है

नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बीच निवर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को कहा कि यह सभी के लिए एक अप्रत्याशित परिणाम है। इसके साथ ही उन्होंने इस दावे को खारिज कर दिया कि अगर पार्टी चुनाव में ‘नये चेहरों’ को आगे लाती, तो दोबारा सत्ता में आ सकती थी।
उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर जमकर निशाना साधा तथा आरोप लगाया कि उन्होंने (मोदी एवं शाह ने) चुनाव प्रचार के दौरान लोगों को धर्म के नाम पर भड़काया।
कांग्रेस नेता ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि राज्य की जनता भाजपा नेताओं से ‘बदला’ लेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। गहलोत ने सोशल मीडिया मंच 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘राजस्थान की जनता के जनादेश को हम विनम्रतापूर्वक स्वीकार करते हैं।
यह सभी के लिए एक अप्रत्याशित परिणाम है। यह हार दिखाती है कि हम अपनी योजनाओं, कानूनों और नवाचारों को जनता तक पहुंचाने में पूरी तरह कामयाब नहीं रहे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं नई सरकार को शुभकामनाएं देता हूं।
मेरी उनको सलाह है कि हम काम करने के बावजूद कामयाब नहीं हुए, इसका मतलब यह नहीं कि वे (भाजपा) सरकार में आने के बाद काम ही न करें। पुरानी पेंशन योजना (ओपीएस), चिरंजीवी सहित तमाम योजनाएं एवं इन पांच सालों में राजस्थान को हमारे द्वारा दी गयी विकास की रफ्तार को वे (भाजपा) आगे बढ़ाएं।
’’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मैं सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने इस चुनाव में पूरी मेहनत की एवं सभी मतदाताओं का आभार व्यक्त करता हूं, जिन्होंने हमारे ऊपर विश्वास किया।’’ बाद में पत्रकारों से बातचीत में गहलोत ने कहा, ‘‘हमने जो गारंटी दीं, वे शानदार थीं, लेकिन उसके बावजूद जो नतीजे आये हैं, वे चौंकाने वाले हैं।

’’ उन्होंने कहा, ‘‘चूंकि छत्तीसगढ़ में भी उम्मीद के विपरीत नतीजे आये हैं... मध्य प्रदेश में भी उल्टे नतीजे आये हैं। इसलिए जब तीन राज्यों में परिणाम उल्टे आये हैं तो मैं समझता हूं कि यह एक सोच का और जांच का विषय है कि (हार के) क्या कारण रहे होंगे ?
’’ इस सवाल का जवाब देते हुए कि (क्या) चुनाव में चेहरा बदलने से सकारात्मक परिणाम आ सकते थे, गहलोत ने कहा कि यह कहना गलत होगा कि नये चेहरे लाने से पार्टी चुनाव जीत सकती है। उन्होंने कहा, ‘‘हम भी जानते हैं कि नये चेहरे लाने की बात थी.. नये उम्मीदवार आने चाहिए.. परन्तु यह मांग मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में नहीं थी, लेकिन वहां भी हम चुनाव हारे। (ऐसे में) यह कहना कि यदि हम नये चेहरे लाते तो जीत जाते..गलत बात है।
’’ साल 2018 में राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से ही गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट में मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चलती रही है। साल 2020 में पायलट ने कुछ विधायकों के साथ गहलोत के नेतृत्व के खिलाफ बगावत की, जिसके बाद उन्हें कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया।
एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह किसी भी पद पर रहें या न रहें, लोगों के लिए काम करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि वह आखिरी सांस तक राज्य की जनता के लिए काम करते रहेंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या इस हार का असर 2024 के लोकसभा चुनावों पर पड़ सकता है, गहलोत ने जवाब दिया, ‘‘ये सभी चीजें प्रभावित करती हैं।

विपक्षी दल अपने दम पर जीतने में सक्षम नहीं

विपक्षी दल अपने दम पर जीतने में सक्षम नहीं 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। जनता दल (यूनाइटेड) ने रविवार को हिंदी पट्टी के तीन राज्यों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर उसे आड़े हाथ लेते हुए कहा कि मुख्य विपक्षी दल अपने दम पर जीतने में सक्षम नहीं है। जदयू प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनाव के परिणाम कांग्रेस की पराजय और भाजपा की विजय का संकेत देते हैं । उन्होंने कहा कि चुनावों में विपक्षी ‘इंडिया’ गठबंधन गायब था।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इन राज्यों के चुनाव में ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) के अपने एक भी सहयोगी दल को न कभी आमंत्रित किया और ना ही उससे सलाह-मशविरा किया। त्यागी ने कहा कि समाजवाद की विचाराधारा वाले दलों से भी परामर्श नहीं किया गया, जिनकी इन राज्यों में ऐतिहासिक रूप से मौजूदगी रही है।
वह चुनाव से पहले भोपाल में विपक्षी गठबंधन की एक प्रस्तावित रैली को निरस्त किये जाने के लिए एक तरह से कांग्रेस नेतृत्व पर प्रहार कर रहे थे। ‘इंडिया’ गठबंधन की बैठक छह दिसंबर को बुलाई गई है। त्यागी ने कहा, ‘‘इस समय सभी के लिए बहुत जरूरी है कि ‘इंडिया’ गठजोड़ को मजबूत किया जाए। यदि कुछ महीने पहले गठबंधन की बैठक बुलाई गई होती तो कारगर होती।’’

वायरस के खिलाफ ‘टीका पैच’ विकसित किया

वायरस के खिलाफ ‘टीका पैच’ विकसित किया 

अखिलेश पांडेय 
वाशिंगटन डीसी। वैज्ञानिकों ने मच्छर जनित जीका वायरस के खिलाफ सुई रहित ‘टीका पैच’ विकसित किया है, जो लगाने में आसान होगा। ऑस्ट्रेलिया में एडिलेड विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं द्वारा विकसित प्रायोगिक टीके ने चूहों में जीका वायरस के प्रति प्रभावी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया उत्पन्न की।
इस टीके से संबंधित विवरण ‘मॉलिक्यूलर थेरेपी न्यूक्लिक एसिड’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। जीका वायरस प्रशांत, दक्षिण पूर्व एशिया, भारत, अफ्रीका और दक्षिण एवं मध्य अमेरिका के लोगों के लिए खतरा है।
फरवरी 2016 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने तब अंतरराष्ट्रीय चिंता का सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया था, जब जीका वायरस लातिन अमेरिका के 40 देशों में फैल गया, जिससे छह महीने की अवधि में 15 लाख से अधिक पुष्ट या संदिग्ध मामले सामने आए। टीका पैच प्रौद्योगिकी के मुख्य लक्ष्यों में से एक है। पैच में पानी में घुलनशील करीब 100 सुइयां होती हैं, जिनमें टीका होता है। पैच की मदद से लगाए जाने वाले टीके में ये सुइयां मिनटों में त्वचा के भीतर घुल जाती हैं।

चुनाव के नतीजों को ‘हैट्रिक की गारंटी’ करार दिया

चुनाव के नतीजों को ‘हैट्रिक की गारंटी’ करार दिया 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चार राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों को आगामी लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ‘हैट्रिक की गारंटी’ करार दिया और कांग्रेस सहित अन्य सभी विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये परिणाम कांग्रेस और उसके ‘घमंडिया गठबंधन’ के लिए सबक है कि कुछ परिवारवादियों के एक मंच पर आ जाने से देश का भरोसा नहीं जीता जा सकता।
चार में से तीन राज्यों में भाजपा की जीत के बाद राष्ट्रीय राजधानी स्थित भाजपा मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मोदी ने यह भी कहा कि यह नतीजा उन ताकतों को भी चेतावनी है, जो प्रगति और जन कल्याण की राजनीति के खिलाफ खड़े रहते हैं तथा कांग्रेस और उसके साथी विकास का विरोध करते हैं।
उन्होंने कहा, ‘‘मोदी की गारंटी वाली गाड़ी, देश की सफलता की गारंटी बनेगी, ये भी मोदी की गारंटी है। आपको एक और बात याद रखनी है-जहां दूसरों से उम्मीद खत्म होती है, वहां से मोदी की गारंटी शुरु होती है।’’ मोदी ने आरोप लगाया कि कि केंद्र की विभिन्न योजनाओं का विरोध करने के लिए कांग्रेस और उसके साथी भ्रष्टाचार में लग जाते हैं और गरीबों तक उन्हें पहुंचने में रुकावट डालने की कोशिश करते हैं।
उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी सभी पार्टियों को आज गरीबों ने चेतावनी दी है कि सुधर जाइए। सुधर जाइए वरना जनता आपको चुन-चुन करके साफ कर देगी। सबक यह भी है कि केंद्र सरकार की गरीब कल्याण की योजनाओं और उनके लिए भेजे जा रहे फंड के बीच में आने की कोशिश मत करो। जो बीच में आएगा, जनता उसे हटा देगी।
’’ कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए प्रधानमंत्री ने ‘लोकतंत्र के हित’ में उसे सलाह दी की वह ऐसी राजनीति ना करे, जो देश विरोधी ताकतों को बल दे, देश को बांटने की चाह रखने वालों को मजबूती दे और देश को कमजोर करने वाले विचारों को गति दे।
‘भारत माता की जय’ के नारे के साथ अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए मोदी ने चुनावी नतीजों को ‘ऐतिहासिक और अभूतपूर्व’ करार दिया और कहा कि ये चुनाव नतीजे घमंडिया गठबंधन के लिए भी बहुत बड़ा सबक हैं।
उन्होंने कहा, ‘‘सबक ये है कि सिर्फ कुछ परिवारवादियों के मंच पर एक साथ आ जाने से देश का भरोसा नहीं जीता जा सकता। देश की जनता का दिल जीतने के लिए राष्ट्रसेवा का जो जज्बा होना चाहिए, वो घमंडिया गठबंधन में नहीं है। गाली-गलौज, निराशा और नकारात्मकता फैलाने वाले इस घमंडिया गठबंधन को मीडिया की हेडलाइंस में जगह मिल सकती है, लेकिन जनता के दिल में स्थान नहीं दिला सकता।
’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज की इस हैट्रिक ने 2024 की हैट्रिक गारंटी दे दी है।’’ ज्ञात हो कि 2024 में लोकसभा के चुनाव होने हैं। मोदी ने कहा कि आज के जनादेश ने यह भी साबित किया है कि भ्रष्टाचार, तुष्टिकरण और परिवारवाद को लेकर देश के हर नागरिक के दिल में ‘जीरो टॉलरेंस’ बन रही है।
उन्होंने कहा, ‘‘आज देश को लगता है कि इन तीन बुराइयों को खत्म करने में अगर कोई प्रभावी है, तो वह भाजपा ही है।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार ने भ्रष्टाचार के विरुद्ध जो अभियान छेड़ रखा है, उसे भारी जन समर्थन मिल रहा है और यह उन दलों व नेताओं को मतदाताओं की ओर से साफ चेतावनी है, जो भ्रष्टाचारियों के साथ खड़े होने में जरा भी शर्म का अनुभव नहीं करते हैं।
उन्होंने कहा, ‘‘उन लोगों को देश की जनता ने आज साफ-साफ संदेश दे दिया है। ऐसे लोग भांति-भांति के तर्कों से भ्रष्टाचारियों को कवच देते हैं। ऐसे लोग जो भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार करने वाली जांच एजेंसियों को बदनाम करने में दिन-रात जुटे हुए हैं, वह समझ जाएं कि यह चुनाव नतीजे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई का भी जन समर्थन है।
’’ मोदी ने कहा कि आज सबका साथ, सबका विकास की भावना, विकसित भारत के आह्वान, आत्मनिर्भर भारत के संकल्प, वंचितों को वरीयता के विचार और भारत के विकास के लिए राज्यों के विकास के सोच की जीत हुई है। उन्होंने कहा, ‘‘आज ईमानदारी, पारदर्शिता और सुशासन की जीत हुई है।’
’ सभी चुनावी राज्यों के मतदाताओं के प्रति आभार प्रकट करते हुए मोदी ने कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के लोगों ने भाजपा पर भरपूर विश्वास दिखाया है, तो तेलंगाना में भी भाजपा के प्रति समर्थन लगातार बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि इन चुनावों में भाजपा ने मतदाताओं से जो वादे किए हैं, उन्हें शत-प्रतिशत पूरा करेगी।
उन्होंने कहा, ‘‘यह मोदी की गारंटी है। मोदी की गारंटी यानी गारंटी पूरा होने की गारंटी।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि तीनों राज्यों में महिलाओं, युवाओं, किसानों और गरीबों ने बढ़-चढ़कर भाजपा को समर्थन दिया है। उन्होंने विपक्षी दलों खासकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि इस चुनाव में देश को जातियों में बांटने की बहुत कोशिश हुई।
उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मैं लगातार कहता रहा हूं कि मेरे लिए देश में चार जातियां ही सबसे बड़ी जातियां हैं। मैं जब इन जातियों की बात करता हूं, तो इसमें हमारी नारी शक्ति, हमारी युवा शक्ति, हमारे किसान और हमारे गरीब परिवार हैं।
इन चार जातियों को सशक्त करने से ही देश सशक्त होने वाला है।’’ उन्होंने कहा कि आज बड़ी संख्या में अन्य पिछड़ा वर्ग इसी चार वर्ग से आते हैं और आज बड़ी संख्या में आदिवासी साथी भी इसी वर्ग में आते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘और इन चुनाव में इन चारों जातियों ने भाजपा की योजनाओं और भाजपा के रोडमैप को लेकर बहुत उत्साह दिखाया है।

आज हर गरीब, हर वंचित, हर किसान और आदिवासी भाई-बहन यह सोचकर खुश है कि उसने जिसे वोट दिया, वह विजय उसकी अपनी है। आज पहली बार मतदान करने वाला मतदाता भी बड़े गर्व के साथ कह रहा है कि मेरा पहला वोट मेरे विजय का कारण बना है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि इस विधानसभा चुनाव की जीत की गूंज सिर्फ मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ तक सीमित नहीं रहेगी, बल्कि यह दूर तक जाएगी। उन्होंने कहा, ‘‘पूरी दुनिया में इन चुनाव परिणामों की गूंज सुनाई देगी।
यह चुनाव परिणाम भारत के विकास पर दुनिया के भरोसे को और मजबूती देगा। यह चुनाव परिणाम दुनिया भर के निवेशकों को नया विश्वास देगा। भरोसा देगा की आजादी के अमृत काल में विकसित भारत का जो संकल्प हमने लिया है, उसे जनता जनार्दन पूरा करके रहेगी।’’ मोदी ने कहा कि जैसे-तैसे जीतने के लिए हवा-हवाई बातें करना और लालच भरी घोषणाएं करना आज मतदाताओं को पसंद नहीं है।
उन्होंने कहा, ‘‘मतदाता को उसका जीवन बेहतर करने के लिए एक स्पष्ट खाका चाहिए। एक विश्वसनीयता चाहिए। एक भरोसा चाहिए। भारत का मतदाता यह जानता है कि जब भारत आगे बढ़ता है, तो राज्य आगे बढ़ता है, हर परिवार का जीवन बेहतर होता है, इसलिए वह भाजपा को चुन रहा है।’’ मोदी ने कहा कि आज भारत की अर्थव्यवस्था का हर पहिया पूरी गति से घूम रहा है, जबकि कुछ लोग कह रहे थे कि विश्व में मंदी का असर भारत पर पड़ेगा।
उन्होंने कहा, ‘‘भारत ने हर आकलन से कहीं बेहतर प्रदर्शन किया है। आज भारत तेजी से विकसित होती आर्थिक ताकत है। आज भारत का आत्मविश्वास अभूतपूर्व स्तर पर है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के लोग स्थायित्व चाहते हैं और वह विकसित भारत की यात्रा को गति देना चाहते हैं। ‘मोदी-मोदी’ के नारों के बीच उन्होंने कहा, ‘‘जहां दूसरों से उम्मीद खत्म होती है, वहां से मोदी की गारंटी शुरु होती है।
’’ उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को आगाह किया कि इन नतीजों से सकारात्मक ऊर्जा का संचार जरूर हुआ है, लेकिन साथ ही उन्हें ‘नकारात्मक शक्तियों’ और फर्जी धारणा बनाने की कोशिश करने वालों से सतर्क भी रहना है। भाजपा मुख्यालय पहुंचने के बाद कार्यकर्ताओं ने मोदी-मोदी और भाजपा जिंदाबाद के नारे लगाए। भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं ने मंच पर प्रधानमंत्री को माला पहनाकर उनका स्वागत किया।
इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्र सरकार के कई मंत्री और वरिष्ठ नेताओं के साथ ही बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता भी मौजूद थे।

फिलीपींस में भूकंप, सुनामी की चेतावनी जारी

फिलीपींस में भूकंप, सुनामी की चेतावनी जारी 

अखिलेश पांडेय 
मनीला। धरती के नीचे हलचल होते ही लोगों को भूकंप के जोरदार झटके लगने लगे। मकान के अंदर गिरते सामान से घबराए लोग अपनी जान बचाने के लिए घरों से निकलकर बाहर आ गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 7.6 मापे जाने के बाद फिलहाल फिलीपींस में सुनामी की चेतावनी जारी की गई है। रविवार को राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र ने बताया है कि फिलिपींस के मिंडानाओ में आए 7.6 तीव्रता वाले भूकंप के झटके महसूस होते ही लोग अपने घरों से बाहर निकाल कर आए हैं। 
इसका केंद्र सात से 32 किलोमीटर की गहराई में होना बताया जा रहा है। सुनामी चेतावनी केंद्र के अनुसार दक्षिणी फिलिपींस में 7.6 तीव्रता का भूकंप आने के बाद सुनामी की चेतावनी जारी की गई है। प्रशांत सूनामी चेतावनी केंद्र की ओर से कहा गया है कि बीती रात आए भूकंप की तीव्रता और स्थान को देखते हुए दक्षिणी फिलिपींस एवं इंडोनेशिया पलाव एवं मलेशिया के कुछ हिस्सों में सुनामी आने की आशंका है। देश की एक सरकारी एजेंसी ने मिंडानाओ के पूर्वी तट पर लोगों को तुरंत ऊपरी इलाकों में जाने की सलाह जारी की है। इससे पहले बांग्लादेश में भी शनिवार की सवेरे भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। तत्काल किसी तरह की क्षति की सूचना नहीं मिली है।

चुनाव परिणामों को विरोध का नतीजा करार दिया

चुनाव परिणामों को विरोध का नतीजा करार दिया 

नरेश राघानी 
जयपुर। सवेरे के समय शुरू हुई चार राज्य विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती में राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका झेलने वाली कांग्रेस में हार को लेकर हाहाकार मच गया है। कांग्रेस नेता ने पार्टी की हार पर नमक छिड़कते हुए चुनाव परिणामों को सनातन विरोध का नतीजा करार दिया है। रविवार को कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के चुनाव परिणामों को लेकर अपने बयान में कहा है कि पार्टी के विरुद्ध आए चुनाव परिणाम सनातन के विरोध का नतीजा है। ईवीएम जिन्न आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा है की चुनाव नतीजे में पार्टी का सफाया हो गया है या नहीं, यह कहना तो जल्दबाजी है, लेकिन फिलहाल गाड़ी जिस दिशा में चल रही है वहां पर अंधेरा ही अंधेरा है। क्योंकि कांग्रेस पार्टी जो कभी महात्मा गांधी के बताए रास्ते पर चलती थी, आज उस पार्टी को मार्क्स के रास्ते पर ले जाने की कोशिश से की जा रही है। इसी का नतीजा है कि सनातन का विरोध किया जा रहा है। यह याद रखना जरूरी है कि भारत में सनातन का विरोध करके राजनीति नहीं हो सकती है जो लोग सनातन को मिटाने की कोशिश कर रहे हैं, कांग्रेस जानबूझकर उनके साथ जाकर खड़ी हो रही है। उन्होंने कहा है कि यह तो महात्मा गांधी के रास्ते पर चलने वाली पार्टी नहीं कहीं जा सकती है, क्योंकि महात्मा गांधी असली सेक्युलर थे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1. अंक-44, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. सोमवार, दिसंबर 04, 2023

3. शक-1945, माघ, कृष्ण-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:36, सूर्यास्त: 05:18।

5. न्‍यूनतम तापमान- 17 डी.सै., अधिकतम- 25+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...