सोमवार, 14 जून 2021

डेल्टा वेरिएंट को प्रमुख स्रोत बनने की आशंका जताईं

वाशिंगटन डीसी। विश्व में कोविड -19 डेल्टा वेरिएंट के मामले बढ़ रहे हैं। बीते दिनों ब्रिटेन ने देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जताई थी। वहां कोविड-19 के मामलों में एक बार फिर से उछाल आया है। अब अमेरिका ने भी कोविड -19 डेल्टा वेरिएंट को कोरोना संक्रमण का प्रमुख स्रोत बनने की आशंका जताई है। साथ ही कहा है कि, अगर परिस्थिति काबू में नहीं आई तो सितंबर तक ये नए प्रकोप का कारण बन सकता है।

यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के स्कॉट गोटलिब के मुताबिक, अभी अमेरिका में लगभग 10 प्रतिशत संक्रमण है। लेकिन, ये हर दो हफ्तों में दोगुना हो रहा है। इसका मतलब यह नहीं है कि हम एकाएक संक्रमण में तेज वृद्धि देखेंगे। लेकिन ये सच है कि ये कभी न कभी हम पर हावी हो जाएगा। जो की एक नए तरह के संकट को पैदा कर देगा। ऐसी परिस्थिति में अमेरिका के उन लोगों को सबसे ज्यादा खतरा होगा। जिन्होंने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है।

पेट्रोल-डीजल की बढ़तीं कीमतों को जिम्मेदार ठहराया

अकांशु उपाध्याय            

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच देश में बढ़ती महंगाई से जनता परेशान है। खुदरा महंगाई दर मई महीने में उछलकर 6.3 फीसदी पर पहुंच गई। अब इसको लेकर देश के पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर तंज़ कसते हुए हमला बोला है। उन्होंने अपने ट्वीट के ज़रिए महंगाई के आंकड़े शेयर करते हुए इसके लिए पेट्रोल और डीज़ल की बढ़ती कीमतों को ज़िम्मेदार ठहराया है।

पी चिदंबरम ने ट्वीट में कहा, “थोक मूल्य सूचकांक महंगाई 12.94 फीसद. उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) महंगाई 6.3 फीसदी. क्या आप जानना चाहते हैं क्यों ?” इसके बाद उन्होंने लिखा, “ईंधन और बिजली महंगाई 37.61 फीसदी पर है। हर रोज़ पेट्रोल और डीज़ल की कीमतें बढ़ाने वाले पीएम मोदी का शुक्रिया।

प्रशासनिक स्तर पर सुरक्षा के प्रबंध किए जा रहे

राणा ओबराय                   
पानीपत। डीसी सुशील सारवान ने कहा कि कोरोना से बचाव की दिशा में प्रशासनिक स्तर पर बेहतर स्वास्थ्य सुरक्षा प्रबंध किए जा रहे है। इसलिए स्थानीय लघु सचिवालय में जितने भी कार्यालय हैं। वे यह सुनिश्चित करें कि कोविड गाइडलाइन की अनुपालना सुनिश्चित हो। प्रत्येक कार्यालय में मास्क की उपलब्धता, निरंतर सैनिटाइजर प्रक्रिया सहित एक दूसरे से उचित शारीरिक दूरी की पालना करते हुए स्वास्थ्य के प्रति सुरक्षात्मक व जागरूकता भरा माहौल हो। 
उन्होंने कहा कि वे शीघ्र ही इसी सप्ताह लघु सचिवालय के विभिन्न कार्यालयों का दौरा करेंगे। इसलिए सरकारी विभागों में आमजन के साथ सौहार्दपूर्ण माहौल बनाए रखते हुए लोगों के प्रशासनिक स्तर पर किए जाने वाले कार्यों का तत्परता से पूरा करने की दिशा में काम किया जाए। उन्होंने कहा कि सरल केन्द्र में मुख्य द्वार पर हाथों को सैनिटाइज करने के उपकरण लगवाए गए हैं। इसलिए सभी आगन्तुक सरल केन्द्र में प्रवेश करते समय अपने हाथ सैनिटाईज कर के आए।
डीसी सुशील सारवान ने कहा कि सरल केंद्र आमजन की सुविधा के लिए बनाए गए हैं। जहां ऑनलाइन डिजीटल प्लेटफार्म से निर्धारित समयावधि में आमजन को योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। इसमें आने वाले लोगों के स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत समय-समय पर पूरे परिसर को सैनिटाईज करवाया जाता हैं। सभी लोग मास्क पहनकर ही सरल केन्द्र में आए और वैटिंग हॉल में कोविड गाइडलाइन की पालना करते हुए शारिरिक दूरी बनाकर बैठे।

नगर आयुक्त महेंद्र ने ऑडिटोरियम का निरीक्षण किया

अश्वनी उपाध्याय               

गाजियाबाद। नगर निगम द्वारा निर्माणाधीन शहर के सबसे बड़े ऑडिटोरियम का कार्य प्रगति पर है। नगरायुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने बताया कि नेहरूनगर सेकेंड स्थित शहर का सबसे बड़ा एवं वातानुकूलित ऑडिटोरियम की अब शहरवासियों को जून अंत तक तैयार हो जाएगा। आज नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने एसबीएम के नोडल अधिकारी अरूण कुमार मिश्रा, चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन खान, उद्यान प्रभारी डॉ. अनुज कुमार सिंह आदि के साथ ऑडिटोरियम का निरीक्षण किया।

नगर आयुक्त ने बताया कि ऑडिटोरियम जिसमें लगभग 900 लोगों के लिए बैठने की व्यवस्था की गई है। ऑडिटोरियम पूर्ण रूप से वातानुकूलित बनाया जा रहा है। कोविड-19 महामारी के चलते कार्य की गति कुछ धीमी पड़ गई थी, किंतु अब काम में तेजी आ गई है और जून माह के अंत तक ऑडिटोरियम तैयार हो जाएगा।उन्होंने बताया नगर निगम द्वारा बनाए जाने वाले अन्य प्रोजेक्ट भी तेजी से रफ्तार पकड़ रहे हैं। जिसमें पॉलिटिकल ट्रेनिंग सेंटर तथा इलेक्ट्रिक बस चार्जिंग स्टेशन भी शामिल हैं। आपको बता दें कि नेहरू नगर स्थित ऑडिटोरियम शहर के लिए एक सौगात के रूप में रहेगा। यहाँ उद्यान विभाग द्वारा विशेष कलाकृति दिखाते हुए पौधे लगाए गए हैं। इसी प्रकार राजनीतिक प्रशिक्षण केंद्र, इलेक्ट्रिक बसों के लिए डिपो एवं बसों के चार्जिंग स्टेशन का कार्य भी तेजी से शुरू कराया गया हैं। ताकि समय पर इनका निर्माण कार्य पूरा हो सके।

जी-7 समूह के नेताओं ने फिर से समर्थन दिया: जापान

टोक्यो। जापानी प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने कहा कि अगले महीने तोक्यो ओलंपिक की मेजबानी के उनके दृढ़ संकल्प को लिए जी-7 समूह के नेताओं ने फिर से समर्थन दिया है। सुगा ने जी -7 शिखर सम्मेलन के दौरान ब्रिटेन में संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने अन्य नेताओं को जापान के वायरस नियंत्रण उपायों को सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता के बारे में बताया जिससे इन खेलों का आयोजन सुरक्षित तरीके से होगा। जापान में टीकाकरण की रफ्तार काफी धीमी है और वहां अब तक लगभग पांच प्रतिशत आबादी को ही टीका लगा है। सुगा को तोक्यो के साथ दूसरे प्रांतों में 20 जून तक लागू आपातकाल के लागू रहने या हटाये जाने पर भी फैसला करना है। जापान में कोविड-19 के 7,74,000 मामले दर्ज हुए है। जिसमें से लगभग 14,000 लोगों की मौत हुई है।
पिछले साल महामारी के कारण स्थगित हुए तोक्यो खेलों का आगाज 23 जुलाई से होना है। जिसके लिए बड़ी संख्या में विदेशी खिलाड़ी और खेल से जुड़े लोग जापान आयेंगे। विदेशी प्रशंसको के जापान आने पर हालांकि रोक लगा दी गयी है।

छत्तीसगढ़ में मौसम ने बदली करवट, बारिश प्रारंभ

दुष्यंत टीकम            
रायपुर। राजधानी रायपुर में मौसम ने करवट बदल ली है। शाम होते ही झमाझम बारिश शुरू हो चुकी है। बता दें कि प्रदेशभर में मानसून पहुंच चुका है। रविवार को हुई बारिश के बाद सोमवार को भी लोगों को बारिश का इंतजार था। रायपुर में सुबह से खिली तेज धूप ने एकबार तो लोगों को चौका दिया था, लेकिन शाम होते-होते बादल मेहरबान हो गए हैं। मौसम विभाग ने देर शाम अलर्ट जारी कर प्रदेश के कई जिलों में मध्यम से तेज बारिश और बिजली गिरने की प्रबल संभावना जताई है।
मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने कहा है कि शाम साढ़े 7 बजे की स्थिति से आगामी 4 घंटों में जशपुर, सरगुजा, पेंड्रा, मुंगेली, बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, कवर्धा,बेमेतरा, बलोदाबाजार, जांजगीर, महासमुंद और इससे लगे जिलों में एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ मध्यम से तेज वर्षा और वज्रपात होने की प्रबल संभावना है। उन्होंने कहा है कि निम्न दाब का क्षेत्र दक्षिण झारखंड के ऊपर स्थित है।
इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 5.8 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है। एक द्रोणिका दक्षिण पंजाब से एक निम्न दाब के केंद्र तक स्थित है। इस सिस्टमों के कारण 15 जून को प्रदेश केअनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों में गरज चमक के साथ भारी वर्षा होने और आकाशीय बिजली गिरने की संभावना है। वर्षा का क्षेत्र मुख्यत: उत्तर छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम तापमानों में बड़ा परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। फिर भी दक्षिण छत्तीसगढ़ में अधिकतम तापमान में वृद्धि होने की संभावना है।

उत्तराखंड में कोरोना के 296 नए मामलें सामने आएं

पंकज कपूर              
देहरादून। उत्तराखंड में आज कोरोना के 296 नए मामले सामने आए हैं और 990 मरीजों ने कोरोना से जंग जीती हैं, जिन्हें डिस्चार्ज कर दिया हैं। प्रदेश में 3908 एक्टिव केस हैं। जिनका प्रदेश के अलग अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा हैं। आज प्रदेश में 12 मरीजों की मौत हुई हैं।
स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार आज देहरादून में 76, हरिद्वार में 64, उत्तरकाशी में 37, नैनीताल में 21, यूएस नगर में 24, पौड़ी गढ़वाल में 11, चमोली में 10, रुद्रप्रयाग में 9, चंपावत में 7, बागेश्वर में 8, पिथौरागढ़ में 7, टिहरी गढ़वाल में 1 नया केस मिला।

बंगाल: सरकार ने लॉकडाउन को 1 जुलाई तक बढ़ाया

कोलकाता। कोरोना संकट को देखते ममता बनर्जी सरकार ने कुछ ढील देने के साथ ही लॉकडाउन को 1 जुलाई तक बढ़ा दिया है। सरकार ने सीमित कर्मचारियों के साथ सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय, कारखाने खोलने की अनुमति दी गई है। लेकिन बस, लोकल ट्रेन और मेट्रो बंद रहेंगी। राज्य के मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने बताया कि लॉकडाउन 16 जून से 01 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। इस दौरान सरकार ने कई मामलों में छूट देने की भी घोषणा की है। सरकार ने 16 जून से 25 फीसदी कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ सरकारी और कॉरपोरेट कार्यालय सुबह 10 बजे से चार बजे तक खोलने की अनुमति दे दी है। लेकिन बस, लोकल ट्रेन और मेट्रो बंद रहेंगे। इसके साथ ही पार्क भी खोल दिए गए हैं। 
लेकिन जिन लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज लिए हैं, वही मॉर्निंग वाॅक कर पाएंगे। मुख्य सचिव द्विवेदी ने बताया कि सरकार की नई गाइडलाइन के अनुसार उद्योग और कल कारखाने को 25 फीसदी उपस्थिति के साथ खोलने की अनुमति दी गई है। साथ ही 50 फीसदी की उपस्थिति के साथ टेलीविजन और फिल्मों की शूटिंग शुरू करने की अनुमति दी गई है। लेकिन सिनेमा और ब्यूटी पार्लर बंद रहेंगे। बैंक सुबह दस बजे तक दोपहर दो बजे तक खुले रहेंगे। रात नौ बजे से सवेरे पांच बजे तक वाहनों की आवाजाही पर निषेध रहेगी। इसके साथ ही दर्शक शून्य स्टेडियम खोलने की भी अनुमति दे दी गई है। 
 द्विवेदी ने बताया कि शॉपिंग मॉल और रेस्तरां दोपहर 11 बजे से छह बजे तक खुले रहेंगे लेकिन स्पा और जिम बंद रहेंगे। शॉपिंग मॉल खोलने के मामले में 30 प्रतिशत ग्राहकों को मॉल में प्रवेश की अनुमति होगी। उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि सभी श्रमिकों का टीकाकरण हो गया है। द्विवेदी ने बताया कि बाजार सुबह आठ से 11 बजे तक खुले रहेंगे। हालांकि स्टैंड-अलोन दुकानें सुबह 11 बजे से शाम छह बजे तक खुली रहेंगी। रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक रात का कर्फ्यू जारी रहेगा। आपात स्थिति को छोड़कर घर से बाहर नहीं निकलने पर मनाही है। लोकल ट्रेन, दूसरे राज्यों से आने वाले बस और इस राज्य में जिलों में चलने वाली बसें की आवाजाही भी बंद रहेगी। 

महिलाएं भी मंदिर में पुजारी नियुक्त, ऐलान किया

चेन्नई। तमिलनाडु हिंदू धर्म व धर्माथ मंत्री पी के शेखर बाबू ने ऐलान किया है कि जरूरी प्रशिक्षण के बाद महिलाओं को भी मंदिर में पुजारी नियुक्त किया जा सकता है। उनकी इस घोषणा का समर्थन भी हो रहा है और विरोध भी। तमिलनाडु भाजपा प्रमुख एल मुरुगन ने कहा है कि प्राचीन दिनों से महिलाओं को ‘आगम शास्त्र’ में विशेषज्ञता है और वे यहां पास में मेलमरवथुर में स्थित आदिपराशक्ति जैसे मंदिरों में पूजा कर भी रही हैं। उन्होंने कहा कि अंडाल के पसुराम में पांचरात्र आगम की उपासना पद्धति का प्रभाव देख सकता है। आगम शास्त्रों में मंदिरों में पूजा और अन्य अनुष्ठानों से संबंधित मानदंड और संरचना, मंदिरों के निर्माण शामिल हैं तथा पांचरात्र एक मत है।भगवा दल ने समाज के सभी लोगों को पुजारी के तौर पर नियुक्त करने के कदम का स्वागत किया। 
मुरूगन ने कई ऐसे मंदिर बताए जहां विभिन्न जाति के लोग पहले से पुजारी का काम कर रहे हैं। वह जाहिर तौर पर यह संकेत दे रहे हैं कि प्रस्ताव पूरी तरह से नया नहीं है। उन्होंने एक बयान में कहा, “हम लोगों को याद दिलाना चाहते हैं कि प्राचीन काल से हमारी तमिल संस्कृति में हमारे मंदिरों में अलग अलग जातियों के लोग और महिलाएं पुजारी रहे हैं। शनिवार को बाबू ने कहा था कि कई महिलाओं ने मंदिर में पुजारी के तौर पर सेवा देने की इच्छा व्यक्त की है और उन्हें इस पद पर ‘आगम शास्त्रों’ में प्रशिक्षित किए जाने के बाद नियुक्त किया जा सकता है और मामले को मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के संज्ञान में लाया गया है। उन्होंने कहा कि हिंदुओं के सभी समाजों से संबंध रखने वालों लोगों को जल्द ही मंदिरों में पुजारी नियुक्त किया जाएगा।
विभिन्न हिंदू संगठनों में अलग अलग पदों पर काम कर चुके राम रविकुमार ने सभी जातियों के लोगों को पुजारी के पद पर नियुक्त करने के प्रस्ताव का स्वागत करते हुए महिलाओं को पुजारी नियुक्त करने का विरोध किया है और इसे परंपरा के खिलाफ बताया है। आरएसएस की हिंदू मुनानी समेत कई संगठनों से जुड़ रहे और हिंदू तमिझर कटची के मुख्य संस्थापक रवि कुमार ने कहा, “ अगर आप आज यह स्वीकार कर लेते हैं तो कल वे सबरीमला मंदिर में महिलाओं को प्रवेश देने की मांग करेंगे और इसका कोई अंत नहीं होगा तथा आखिर में अव्यवस्था होगी।

भवन बनाये जाने के आदेश पर पाक एससी की रोक

इस्लामाबाद। स्थानीय प्रशासन के एक प्राचीन धर्मशाला को गिराये जाने और उसके स्थान पर नया भवन बनाये जाने के आदेश पर पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है। इतना ही नही इसे हैरिटेज का दर्जा दिये जाने की भी बात कही है। यह रोक पाकिस्तान के अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य रमेश कुमार द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई के बाद लगाई गयी है।
मामला कराची के एक प्राचीन धर्मशाला का है जिसे स्थानी प्रशासन ने पुराना बताते हुए उसे गिराकर एक नया भवन बनाने का आदेश दिया था जिस पर पाकिस्तान अल्पंसख्यक आयोग के सदस्य रमेश कुमार ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हुए इसे प्राचीन धरोहर बताता और धर्मशाला को गिराये जाने के आदेश पर रोक लगाने की मांग की थी। रमेश कुमार ने अपने दावे के समर्थन मे वर्ष 1932 की धर्मशाला की कुछ चित्र भी कोर्ट के सामने रखे जिसमे यह पुष्ट होता था कि यह भवन वर्ष 1932 से भी पुरानी है।याचिका पर सुनवाई करते हुए पाकिस्तान के चीफ जस्टिस गुलजार अहमद सहित तीन जजो की पीठ ने यह कहते हुए स्थानीय प्रशासन के फैसले पर रोक लगा दी कि यह काफी पुरानी इमारत है इसलिए इसे हैरिटेज का दर्जा दिया जाना चाहिए। कोर्ट ने सिधं के हैरिटेज सेक्रेटरी को इस बात को लेकर नोटिस भी जारी किया ओर इस पर उनकी रिपोर्ट भी मांगी है। इसके साथ ही धर्मशाला को गिराये जाने पर रोक लगा दी है।
पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने कराची के कमिश्नर को भी यह आदेश देते हुए कहा है कि फिलहाल वह इस इमारत का नियत्रण अपने हाथो मे ले।

विज्ञप्ति में मुशफिकुर-कैथरीन को विजेता घोषित किया

दुबई। बंगलादेश के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम और स्कॉटलैंड की कैथरीन ब्राइस को सोमवार को क्रमश: पुरुष और महिला वर्ग में मई महीने के लिए आईसीसी प्लेयर ऑफ द मंथ चुना गया है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने सोमवार को जारी एक विज्ञप्ति में मुशफिकुर और कैथरीन को विजेता घोषित किया है। मुशफिकुर रहीम को मई में श्रीलंका के खिलाफ तीन वनडे मुकाबलों में 237 रनों के प्रदर्शन, जबकि कैथरीन ब्राइस को आयरलैंड के खिलाफ चार टी-20 मुकाबलों में 96 रन और पांच विकेट के साथ शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन के आधार पर पुरस्कृत किया गया है।
पूर्व भारतीय बल्लेबाज एवं आईसीसी की वोटिंग अकादमी के प्रतिनिधि वीवीएस लक्ष्मण ने मई में मुशफिकुर के प्रदर्शन पर टिप्पणी करते हुए कहा,“उच्च स्तर पर 15 साल बाद भी मुशफिकुर की रन बनाने की भूख कम नहीं हुई है। 1996 की विश्व कप विजेता श्रीलंका के खिलाफ बंगलादेश की पहली वनडे श्रृंखला जीत ने मुशफिकुर के इस प्रदर्शन को और भी उल्लेखनीय बनाया। मध्यक्रम को मजबूत करना और बेहतरीन विकेटकीपिंग करना उनकी फिटनेस और कौशल को दर्शाता है।
आईसीसी की वोटिंग अकादमी के एक अन्य प्रतिनिधि रमीज राजा ने मई में कैथरीन के प्रदर्शन के बारे में कहा, “आयरलैंड के खिलाफ सीरीज में कैथरीन का ऑल राउंड प्रदर्शन शानदार था। उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी और गेंदबाजी की। वह मई महीने की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनने की हकदार थी।

भगवान 'राम' के नाम पर धोखा करना अधर्म: राहुल

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से संबंधित एक जमीन सौदे में लगे भ्रष्टाचार के आरोप को लेकर सोमवार को कहा कि भगवान राम के नाम पर धोखा करना अधर्म है।
उन्होंने ट्वीट किया, ” श्रीराम स्वयं न्याय हैं, सत्य हैं, धर्म हैं। उनके नाम पर धोखा अधर्म है!” गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सदस्य एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए इसकी सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से जांच की मांग की थी।संजय सिंह ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा था कि ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने संस्था के सदस्य अनिल मिश्रा की मदद से दो करोड़ रुपये की जमीन 18 करोड़ रुपये में खरीदी जो सीधे सीधे धनशोधन का मामला है और सरकार इसकी सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय से जांच कराए।
वहीं, समाजवादी पार्टी की पूर्ववर्ती सरकार में मंत्री रहे एवं अयोध्या के पूर्व विधायक पवन पांडे ने भी अयोध्या में राय पर भ्रष्टाचार के ऐसे ही आरोप लगाए और मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की। चंपत राय ने इन आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि वह इस तरह के आरोपों से नहीं डरते और इनका अध्ययन करेंगे। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने यहां कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) देश में एक ऐसी पार्टी है, जिसने लाश और कफन घोटाले तक को अंजाम दिया। भगवान श्रीराम तो इनके लिए एक व्यापार का जरिया है,इनका कोई ईमान-धर्म नहीं होता। इनके लिए बाप बड़ा ना भैया, सबसे बड़ा रुपैया है। जो लोग श्रीराम के नाम पर पांच मिनट में 16.5 करोड़ रुपये ठग सकते है, उनके बारे में यह सहज अनुमान लगाया जा सकता है कि राम के नाम पर राजनीति करने वाले पिछले सात सालों में पूरे देश को कितनी बार ठग चुके होंगे।

डीएम ने अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दियें

कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार ने सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालयों तथा परिसर का निरीक्षण कर सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दियें है। जिलाधिकारी ने सूचना विभाग, अभिलेखागार, शस्त्र अनुभाग, नजारत निर्वाचन, भूलेख, संग्रह अनुभाग, न्याय सहायक सहित अन्य कार्यालयों का निरीक्षण करते हुए कार्यालय प्रभारियों को साफ-सफाई रखने, कार्य वितरण तथा फाइलों को सुव्यवस्थित ठंग से रखने के निर्देश दिये है। निरीक्षण के दौरान कलेक्ट्रेट परिसर के महिला एवं पुरूष शौचालय में ताला बंद पाये जाने पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए नाजिर को तत्काल ताला खुलवाये जाने एवं साफ-सफाई कराये जाने का निर्देश दिया है। अभिलेखागार में दस्तावेजों के रख रखाव सही ढंग से न पाये जाने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए दस्तावेजों को सुव्यवस्थित ढंग से रखने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने पान, गुटखा एवं तम्बाकू खाने वाले व्यक्तियों द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर में थूकते हुए पाये जाने पर 500 रूपये का जुर्माना वसूले जाने का भी निर्देश दिया है। इस अवसर पर जिलाधिकारी के साथ अपर जिलाधिकारी मनोज, अतिरिक्त उपजिलाधिकारी विनय कुमार गुप्ता, सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।
सुशील केशरवानी 

दिल्ली में सोमवार को 131 नए मामलें सामने आएं

अकांशु उपाध्याय              

नई दिल्ली। दिल्ली में सोमवार को 22 फरवरी के बाद से कोविड-19 के सबसे कम 131 नए मामले सामने आए तथा 16 मरीजों की मौत हुई। यहां संक्रमण दर घटकर 0.22 फीसद रह गई है। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में यह जानकारी दी गई। दिल्ली में 22 फरवरी को संक्रमण के 128 मामले सामने आए थे। संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे में मरने वालों की संख्या भी पांच अप्रैल के बाद सबसे कम है। तब कोविड-19 के कारण यहां 15 लोगों की मौत हुई थी। 

बुलेटिन के अनुसार, फिलहाल महानगर में कोविड-19 के 3226 मरीज उपचाराधीन हैं। जिनमें 960 घरों में ही पृथकवास में हैं। अबतक यहां 14,31,270 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ गए जिनमें से 24,839 की जान चली गई। शहर में 14.03 लाख से अधिक मरीज संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। दिल्ली में रविवार को 255, शनिवार को 213, शुक्रवार को 238, बृहस्पतिवार को 305 तथा बुधवार को 337 नए मामले सामने आए थे।

14,179 ग्राम पंचायत सदस्यों के पदों का फैसला होगा

हरिओम उपाध्याय            

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की त्रिस्तरीय पंचायतों में रिक्त 14,450 पदों के लिए गत 12 जून को हुए उपचुनाव में वोटों की गिनती सोमवार को सुबह आठ बजे से आरंभ हो गयी है। प्रदेश के 73 जिलों में होने वाली मतगणना में छह जिला पंचायत सदस्य, 137 क्षेत्र पंचायत सदस्य, 128 ग्राम प्रधान तथा 14179 ग्राम पंचायत सदस्यों के पदों का फैसला होगा। पंचायतों के रिक्त पदों पर शनिवार को प्रदेश में 8321 मतदान केंद्रों पर हुए मतदान में लगभग 64.74 प्रतिशत वोट डाले गए थे।चुनाव परिणाम दोपहर 12 बजे से आना प्रारंभ होंगे।मतगणना केंद्रों पर कोरोना संक्रमण से बचाव के कड़े उपाय किए गए हैं। आक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर से जांच के बाद ही मतगणना केंद्रों में प्रवेश दिया गया है। चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद जिन ग्राम पंचायतों का गठन नहीं हो सका था वहां प्रधानों की शपथ होगी और ग्राम पंचायतों की पहली बैठक भी होंगी।

जिला पंचायत सदस्यों के कुल रिक्त सात पदों में एक स्थान पर निर्विरोध निर्वाचन होने के कारण छह का चयन वोटों से होगा। इसी क्रम में क्षेत्र पंचायत सदस्यों के कुल रिक्त 186 पदों में 44 निर्विरोध चुने जाने के बाद 137 पदों पर मतदान किया गया। ग्राम प्रधानों के रिक्त 156 पदों में से 26 आम सहमति से चुन लिए गए। ग्राम पंचायत सदस्यों के रिक्त 227504 पदों में से 206941 पर नाम वापसी के बाद चुनाव की जरूरत नहीं पड़ी। प्रदेश में ललितपुर व कासगंज को छोड़कर शेष 73 जिलों में वोट डाले गए। 

पंचायत चुनाव के बाद पंचायतों में रिक्त रहे पदों के लिए गत 31 मई को उपचुनावों की अधिसूचना जारी की गयी थी। रिक्त पदों में सात जिला पंचायत सदस्य, 186 क्षेत्र पंचायत सदस्य, 156 ग्राम प्रधान तथा 2,27,504 ग्राम पंचायत सदस्यों के पद शामिल थे। नामांकन व नाम वापसी की प्रक्रिया के बाद 26 ग्राम प्रधान, एक जिला पंचायत सदस्य, 44 क्षेत्र पंचायत सदस्य तथा 206941 सदस्य निर्विरोध निर्वाचित हो गए थे। शेष पदों के लिए शनिवार को चित्रकूट व कासगंज को छोड़कर प्रदेश के अन्य जिलों में 8321 पोलिंग बूथों पर वोट डाले गए।


होटलों ने कोल्ड ड्रिंक को मेन्यू कार्ड में शामिल किया

मऊ। फास्ट फूड और कोल्ड ड्रिंक्स के बढ़ते प्रचलन के बावजूद लोगों के लिए 'दिव्य पेय' के तौर पर अपनी पहचान बनाने वाली 'सतुई लस्सी' गांवों की गली चौपाल से निकल कर आज पांच सितारा होटलों और नामी गिरामी रेस्टोरेंट की शान बन चुकी है। गाजीपुुर समेत पूरे पूर्वांचल और बिहार वासियों के लिए दशकों से सतुई लस्सी सबसे पसंदीदा पेय पदार्थों में शामिल है। लेकिन मुबंई,दिल्ली और बैंगलोर जैसे शहरों में औषधीय गुणों से युक्त इस पेय पदार्थ की बढ़ती मांग को देखते हुये नामी गिरामी रेस्तरां और पंच सितारा होटलों ने इसे अपने मेन्यू कार्ड में शामिल कर लिया है। 

जो केवल स्वाद के लिए ही नहीं, बल्कि अनेक रोगों के लिए भी रामबाण की तरह है। यह ऐसा पेय पदार्थ है, जो पेट की कब्जियत से संबंधित अन्य बीमारियों को दूर करता है। वैसे तो सत्तू को लोग-बाग नमकीन, मीठा, तीखा, ठोस व तरल आहार के अलग-अलग रूपों में विविध स्वादों के साथ ग्राहण करते हैं। लेकिन गर्मी के दिनों में इसका तरल रूप विशेष आनन्द देता है। खास बात यह है कि यह केवल भूख ही नहीं मिटाता, बल्कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार इसमें इतने गुण पाए जाते हैं जो विभिन्न प्रकार के रोग व अवसाद से भी दूर रखने का काम करते हैं।

पूर्वांचल के प्रख्यात होटल वैभव के मालिक जितेन्द्र सिंह ने ​बताते है कि अब अतिथियों व ग्राहकों द्वारा प्राय: सतुई लस्सी की मांग की जाती है। जिसके कारण होटल की रसोई में अब यह मेन्यू में भी शामिल हो गया है।बिहार और उत्तर प्रदेश का देशी व्यंजन सत्तू न सिर्फ खाने में लजीज होता है, बल्कि आपके कई रोगों को ठीक करने के लिए औषधि का काम भी करता है। देशी वैद्य भारतेन्दु की मानें तो सत्तू का सेवन करने से न सिर्फ मधुमेह, बल्कि अन्य रोग भी ठीक हो जाते हैं। मोटापे से भी निजात मिलती है।

सत्तू भूने हुए जौ और चने को पीस कर बनाया जाता है। बिहार व उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों में इसे काफी पसंद किया जाता है। सामान्यतः सत्तू एक चूर्ण के रूप में रहता है, जिसे पानी में घोलकर पिया जाता है। जीरा, काला नमक, कच्चा आम, पुदीने की चटनी, बारीक कटी प्याज, लहसन, अदरक के साथ घोलकर इसे लस्सी के रूप में पीने वालों के सामने प्रस्तुत किया जाता है। यह सतुई लस्सी धीरे-धीरे सामान्य रेस्टोरेंट्स से सितारा होटल व रेस्टोरेंट्स तक अपनी पहुंच बना चुका है। इसकी उपलब्धता का आलम यह है कि कोर्ट, कचहरी, रेलवे स्टेशन, प्रमुख बाजार, बस स्टैंड, कार्यालयों इत्यादि के आस-पास ठेला खोमचा टीन सेट इत्यादि के दुकान में चमकीले व आकर्षक बोर्डों के साथ देखा जा सकता है।

यूपी: राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच-58 का सफर महंगा

मुजफ्फरनगर। डीजल-पेट्रोल के साथ खाद्य तेल व अन्य वस्तुओं की महंगाई की मार झेल रहे लोगों पर एक और प्रहार होने जा रहा है। 1 जुलाई से दिल्ली-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-58 का सफर और अधिक महंगा हो जाएगा। हाईवे पर वाहन दौडाने के लिये अधिक टोल चुकाते हुए लोगों को अपनी जेब ढीली करनी पड़ेगी।समूचा देश इस समय डीजल-पेट्रोल के साथ खाद्य तेलों की महंगाई की मार झेलते हुए बुरी तरह से कर्राह रहा है। इसी बीच आने वाली 1 जुलाई को लेकर भी लोग बुरी तरह से आशंकित हो चुके हैं। इसके चलते 1 जुलाई से दिल्ली-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच-58 का सफर महंगा होने जा रहा है। 

वह इसलिये कि हर साल एनएचएआई की स्वीकृति के बाद सिवाया टोल प्लाजा का शुल्क संशोधित किया जाता है। कोरोना संक्रमण की लहर की वजह से वर्ष 2020 में टोल प्लाजा के शुल्क में कोई संशोधन नहीं हुआ था। टोल प्लाजा की ओर से इस बार फिर से एनएचएआई मुख्यालय से टोल संशोधन की अनुमति मांगी गई है। एनएचएआई की हरी झंडी मिलते ही 1 जुलाई से टोल प्लाजा पर शुल्क की नई दरें लागू कर दी जाएगी। माना जा रहा है कि इस वर्ष नियमानुसार टैक्स में वृद्धि की जाएगी। इसके लिए टोल कंपनी ने तैयारी शुरू कर दी है। सिवाया टोल प्लाजा पर प्रत्येक वर्ष एक जुलाई से नियमानुसार एनएचएआई द्वारा टोल टैक्स में वृद्धि की जाती है। 

कोरोना के कारण वर्ष 2020 में एनएचएआई ने टोल टैक्स में बढ़ोतरी नहीं की थी, लेकिन लॉकडाउन लगने और टोल प्लाजा पर वाहनों की संख्या में आई भारी कमी के चलते होने वाले नुकसान को देखते हुए माना जा रहा है कि इस वर्ष एनएचएआई टोल टैक्स में बढ़ोतरी करने जा रही है। टोल कंपनी तैयारियों में जुट गई हैं। जल्द ही प्रस्ताव बनाकर एनएचएआई को भेजा जाएगा। एनएचएआई द्वारा प्रस्ताव पर हरी झंडी मिलते ही टोल प्लाजा पर एक जुलाई से टोल टैक्स की दरों में वृद्धि कर संशोधित दरें लागू कर दी जाएंगी।

महिलाओं ने एससी का खटखटाया दरवाजा, न्याय

अकांशु उपाध्याय                 

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव के बाद हुई हिंसा का शिकार हुई महिलाओं ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हुए न्याय की गुहार लगाई है। अपने ऊपर अत्याचार होने का आरोप लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट पहुंची महिलाओं ने एसआईटी जांच की मांग की है। सोमवार को उजागर हुई एक रिपोर्ट में बताया गया है कि सुप्रीम कोर्ट पहुंची महिलाओं में शामिल एक 60 वर्षीय महिला ने बताया है कि किस प्रकार विधानसभा चुनाव के बाद हुई हिंसा के दौरान 4 मई की रात को टीएमसी के कार्यकर्ता उसके घर में जबरन घुस आए थे और पोते के सामने ही उसके साथ रेप किया था। महिला ने टीएमसी कार्यकर्ताओं पर अपने घर में लूटपाट किए जाने का भी आरोप लगाया है। 

यह मामला बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले का है। रिपोर्ट के अनुसार महिला ने कहा है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं की ओर से वोट ना देने पर बदले की कार्यवाही के रूप में रेप जैसी घटनाओं को अंजाम दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई अर्जी में महिला ने कहा है कि बंगाल में इन घटनाओं को पुलिस की निष्क्रियता के चलते भी बढ़ावा मिल रहा है। इससे पहले 18 मई को भी सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई जांच की मांग वाली याचिका पर पश्चिम बंगाल सरकार को नोटिस जारी किया था। चुनाव के बाद हुई हिंसा में भाजपा के दो कार्यकर्ताओं की हत्याओं के आरोप में यह अर्जी न्यायालय में दाखिल की गई थी। अब अर्जी दाखिल करने वाली महिलाओं में से एक महिला ने कहा है कि विधानसभा चुनाव में उसके पति ने भाजपा के लिए प्रचार किया था। चुनाव बाद उनकी पहचान की गई और टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने दिनदहाड़े उन्हें कुल्हाड़ी से काट कर मार दिया। महिला ने कहा है कि वह इस हिंसा को असहाय होकर देखती रही और अपने पति को टीएमसी कार्यकर्ताओं के हाथों मरता देखने को मजबूर हुई।

महिला का आरोप है कि हमलावरों ने बाद में उसके साथ रेप करने का प्रयास भी किया। इसके अलावा शीर्ष अदालत में 17 वर्षीय एक दलित लड़की ने बताया है कि 9 मई को टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने उसके साथ रेप किया था और उसे जंगल में ही मरने के लिए छोड़ गए थे। लड़की का दावा है कि अगले दिन टीएमसी के नेता उसके घर आए और धमकी दी कि यदि इस मामले की शिकायत पुलिस में की तो घर को आग के हवाले करते हुए परिवार को जान से मार दिया जाएगा।

पिता ने ढ़ाई साल की नन्हीं पुत्री को बेचा, कर्ज चुकाया

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। पिता अपनी बच्चों को पालने के लिये जीवन भर कमाई करता है और उन्हें पालता है। चाहे पिता भूखा रहे वह अपने बच्चों को भूखा नहीं रहने देता। अगर बात की जाये लड़की की। पिता लड़की को पालता है और उसकी शादी करने के लिये जीवन भर रूपये जुटाता है। फिर उसकी शादी करता है। ओडिशा के जजपुर में एक पिता ने कुछ रूपये कर्ज लिये थे। छोटी से रकम चुकाने की बजाय अपनी ढ़ाई साल की नन्ही फूल सी पुत्री को उसे सौंप दिया। इस मामले से यह पता चलता है कि इंसानियत बिल्कुल चूर-चूर हो गई है।

रमेश के घर कर्ज लेने के लिये लिटू जाता था। रमेश ने कर्ज चुकाने के लिये अपनी नन्ही से पुत्री को उसे सौंप दिया। एडिशनल डीजी यशवंत जेठवा ने कहा है कि यह सच है कि बच्ची के पिता रमेश में आरोपी से 3 से पांच हजार रूपये का कर्ज लिया था। रमेश की पत्नी उसे छोड़कर जा चुकी थी। उसने अपने ससुर कहा कहा कि वह अकेले अपनी बच्ची देखभाल करने में सक्षम नहीं है। दूसरे आरोपी लिटू अपनी फैमिली के साथ रहता था। इसलिये रमेश ने अपनी नन्ही पुत्री को उसे सौंप दिया। वह डील परमानेंट नहीं थीं। जिला बाल संरक्षण निरंजन कर ने कहा है कि हमने बच्चे को बचा लिया है। हम यह पता लगा रहे हैं कि बच्चे को सुरक्षित टाइम पर बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया जाये। 

पुलिस इस मामले का जानकारी लगाने के लिये जांच कर रही है कि किस परिस्थिति में बच्चे को उसके माता-पिता ने किसी अन्य व्यक्ति को सौंप दिया। फिलहाल बच्चे की सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए हम उसे बाल कल्याण समिति को सौंप देंगे। यह जांच करेंगे कि क्या बच्चा अवैध रूप से बेचा गया था या आरोपी उनका रिश्तेदा। गौरतलब है कि रमेश और उसकी पत्नी भूवनेश्वर में कार्य करते थे। रमेश शराबी है और वह अपनी पत्नी के साथ झगड़ा करता था। जिसके पश्चात वह उसे छोड़कर अपने माता-पिता के घर चली गई। उसने बच्ची को रमेश के पास छोड दिया था। लाॅकडाउन होने के बाद रमेश भी अपने गांव बिंझापुर आ गया था और वहीं अपनी बेटी के साथ रह रहा था। जब लिटू ने रमेश को पैसे चुकाने के लिये कहा तो उसने कर्ज चुकाने के लिये अपनी बेटी को उसे सौंप दिया।

मौका: सोने की कीमतों में गिरावट दर्ज, चांदी में तेजी

अकांशु उपाध्याय               

नई दिल्ली। आज फिर सोने की कीमतें गिरी हैं। अगर आपको भी गोल्ड ज्वैलरी खरीदनी है तो इस समय आपके पास अच्छा मौका है। एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.61 फीसदी की गिरावट के साथ 48,588 रुपये प्रति 10 ग्राम के लेवल पर ट्रेड कर रहा है। वहीं, चांदी का वायदा भाव 71,784 रुपये प्रति किलोग्राम है। पिछले सत्र में सोने में करीब 0.65 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी। वहीं, चांदी में 0.3 फीसदी की तेजी थी। भारत में, सोना इस महीने की शुरुआत में पांच महीने के उच्च स्तर 48,700 रुपये पर पहुंच गया था और इस लेवल पर पहुंचने के बाद से सोने की कीमतों में गिरावट देखने को मिल रही है। कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच सोने में गिरावट देखी जा रही है।

इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड के भाव की बात करें, तो यहां सोने की कीमत 0.6 फीसदी गिरावट के साथ 1,864.58 डॉलर प्रति औंस थी। यह एक सप्ताह में सबसे कम है। इस सप्ताह के अंत में फेडरल रिजर्व नीति बैठक के भी नतीजे आने वाले हैं। 14 जून 2021 को 24 कैरेट गोल्ड का रेट्स सभी शहरों में अलग-अलग है। देश की राजधानी नई दिल्ली में 10 ग्राम सोने की कीमत 52180 रुपये है। इसके अलावा चेन्नई में 50230 रुपये, मुंबई में 48470 रुपये, कोलकाता में 51180 रुपये, बैंगलोर में 49880 रुपये और हैदराबाद में 49880 रुपये प्रति 10 ग्राम है।

मुकाबला: 6 ​परमाणु ​पनडुब्बियां बनाएगा 'भारत'

अकांशु उपाध्याय                   
नई दिल्ली। हिन्द महासागर में चीन का मुकाबला करने के लिए ​​भारत ​अब खुद छ: ​परमाणु ​पनडुब्बियां बनाएगा। जिसके लिए ​सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ​​​​(सीसीएस)​ ​​से मंजूरी मिलने का इन्तजार​ है​।​ भारत के पास सिर्फ एक परमाणु पनडुब्बी है। इसलिए ​स्वदेशी परियोजना के तहत​ जल्द ही पहले तीन पनडुब्बियों की मंजूरी मिलने की सम्भावना है। इसके बाद तीन और पनडुब्बियों के लिए मंजूरी दी जाएगी। ​​​पहली परमाणु पनडुब्बी 2032 या उसके आसपास नौसेना को मिलेगी।​ ​​
नौसेना के पास इस समय​ इकलौता विमानवाहक युद्धपोत आईएनएस विक्रमादित्य है, जिसे 16 नवम्बर, 2013 को सेवा ​में शामिल किया गया था। नौसेना का दूसरा विमानवाहक युद्धपोत आईएनएस विक्रांत अभी परीक्षण के दौर से गुजर रहा है। इसके 2021 के अंत या 2022 की शुरुआत में नौसेना के परिवार का हिस्सा बनने की उम्मीद है। हिन्द महासागर में चीन की बढ़ती दखलंदाजी को देखते हुए भारतीय नौसेना को तीसरे विमानवाहक युद्धपोत की भी आवश्यकता है, जिसके बारे में शीर्ष स्तर पर चर्चा भी हुई है। ​​नौसेना को सीमित बजट देखते हुए अपनी जरूरत के हिसाब से ​छह ​परमाणु पनडुब्बियों या तीसरे विमानवाहक युद्धपोत में से किसी एक को चुनना था, जिसमें छह परमाणु पनडुब्बियों के स्वदेशी निर्माण परियोजना पर ध्यान केन्द्रित किया गया है।  ​​
नौसेना ​के पास ​अभी तक सिर्फ दो परमाणु पनडुब्बि​यां आईएनएस अरिहंत और आईएनएस चक्र ​थीं। ​​आईएनएस चक्र को रूस से 10 साल की लीज पर लिया गया ​था​ ​इस पनडुब्बी की दस साल की लीज जनवरी, 2022 में समाप्त ​होनी थी लेकिन ​भारत ने ​​लीज अवधि न बढ़ाने का फैसला लेकर ​लगभग दस महीने पहले ​ही ​उसे रूस को लौटा दिया है।​ ​भारत ने 2019 में रूस से अकुला श्रेणी की तीसरी परमाणु संचालित हमला पनडुब्बी आईएनएस चक्र-3 को पट्टे पर देने के लिए 3.3 बिलियन डॉलर के सौदे पर हस्ताक्षर किए थे। रूस से 2025 में 10 साल के लिए परमाणु क्षमता से लैस दूसरी पनडुब्बी मिलेगी।​ ​​
अब नौसेना के पास स्वदेशी रूप से निर्मित इकलौती परमाणु पनडुब्बी ​​अरिहंत ​बची है। अरिहंत का जलावतरण​ तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरशरण कौर ​ने 26 जुला​​ई, 2009 को​ किया ​था। यह दिन इसलिए भी चुना गया, क्योंकि इस दिन को कारगिल विजय दिवस या विजय दिवस रूप में मनाया जाता है​​​ ​​​गहन बंदरगाह और समुद्री परीक्षणों से​ गुजरने के बाद अरिहंत​ पनडुब्बी अगस्त, 2016 में भारतीय नौसेना के बेड़े में​ ​शामिल की गई थी​​​​ इसी श्रेणी की दूसरी​ परमाणु पनडुब्बी आईएनएस अरिघाट भी समुद्री परीक्षणों से गुजर रही है और निकट भविष्य में इसके चालू होने की उम्मीद है।
चीन के पास करीब एक दर्ज...
ऐसी परमाणु पनडुब्बियां हैं। उसकी नई पनडुब्बी टाइप 095 बेहद शांति से समुद्र में चलती है। इसलिए चीन की साजिशों को जवाब देने के लिए भारतीय नौसेना को भी परमाणु पनडुब्बियों की जरूरत है। भारत ने 6,000 टन से अधिक वजन वाली छह परमाणु पनडुब्बियों के निर्माण की योजना बनाई है। शुरुआत में सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीएस) से केवल तीन ही पनडुब्बियों के निर्माण की मंजूरी दी जाएगी, जिसमें से ​​पहली परमाणु पनडुब्बी 2032 या उसके आसपास नौसेना को मिलेगी।​ ​भारतीय नौसेना ​के लिए छह स्वदेशी परमाणु हमले वाली पनडुब्बियां ​बनाने के प्रस्ताव ​को 2014 में सत्ता में आने के तुरंत बाद नरेंद्र मोदी सरकार ने मंजूरी दे दी थी।​ 
भारत की सुरक्षा पर कैबिनेट समिति (सीसीएस)​ ​06 में से तीन परमाणु हमले वाली पनडुब्बियों (एसएसएन) के स्वदेशी निर्माण के लिए लगभग 6.8 बिलियन डॉलर के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। यह परियोजना (एसएसबीएन) अरिहंत श्रेणी की परियोजना से अलग है।​ स्वदेशी रूप से बनने वाली पहली तीन परमाणु हमले वाली ​​पनडुब्बियों में 95 प्रतिशत 'भारत में निर्मित' सामग्री होगी।​ इनका निर्माण विशाखापत्तनम में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (​डीआरडीओ​करेगाप्रत्येक पनडुब्बी के निर्माण पर लगभग 15 हजार करोड़ रुपये की लागत आएगी। यह परियोजना ​भारत में पनडुब्बी​ निर्माण क्षमता ​बढ़ाने में निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों सहित घरेलू रक्षा क्षेत्र को बड़ा बढ़ावा ​देगी​ इस परियोजना से रक्षा क्षेत्र में बड़ी संख्या में रोजगार सृजित होने की उम्मीद है, क्योंकि इससे रक्षा क्षेत्र में बड़ी संख्या में नौकरियां पैदा होंगी। 

सीएम योगी की कैबिनेट बैठक, प्रस्ताव पारित किएं

हरिओम उपाध्याय                
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना काल में लम्बे अरसे के बाद सोमवार को अपने कैबिनेट की बैठक की। इस बैठक में कई महत्वपूर्ण प्रस्ताव पारित किए गए। अयोध्या में अत्याधुनिक बस अड्डे के निर्माण के लिए संस्कृति विभाग की जमीन परिवहन विभाग को देने के प्रस्ताव पर योगी कैबिनेट ने मुहर लगाई। इसी तरह बुलंदशहर के अनूप शहर विधानसभा क्षेत्र में पगर पालिका की भूमि को बस अड्डा बनाने के लिए परिवहन विभाग को देने का फैसला योगी कैबिनेट ने लिया।

16 जून को खोला जाएंगा ताजमहल, अधिसूचना जारी

हरिओम उपाध्याय              
आगरा। कोरोना संक्रमण के चलते विगत 16 अप्रैल से बंद ताजमहल को पूरे दो महीने के बाद 16 जून को खोला जाएगा। ताजमहल सहित संरक्षित स्मारक खोलने के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा अधिसूचना जारी कर दी गई है। गौरतलब है कि विगत वर्ष 2020 में भी कोरोना संक्रमण के कारण ताजमहल, आगरा किला, फतेहपुर सीकरी समेत देशभर के केंद्रीय संरक्षित स्मारकों को पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया था। 
ताजमहल के दरवाजे 207 दिन तक खुलने के बाद फिर बंद हो गए थे। बीते साल 188 दिनों तक ताजमहल सैलानियों के लिए बंद किया गया था। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में 15 जून तक ताजमहल बंद रखने के आदेश थे। 
अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने पर पर्यटन से जुड़े लोगों ने ताजमहल और अन्य स्मारकों को भी खोलने के लिए मांग उठाई थी ताकि लोगों को रोजगार मिल सके।स्मारकों से रोजी रोटी कमा रहे गाइड, फोटोग्राफर, छोटे दुकानदार, होटल, रेस्टोरेंट, एंपोरियम, हस्तशिल्पियों को जब ताजमहल खुलने की खबर मिली तो वे खुश हो गए। आगरा में करीब ढाई लाख लोगों का रोजगार ताजमहल और अन्य स्मारकों से जुड़ा है। 

चुनाव: 182 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी आप पार्टी

अकांशु उपाध्याय        

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुजरात में शासन का एक ‘अलग और नया मॉडल’ देने का दावा करते हुए आज कहा कि राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी सभी 182 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के इस गृह राज्य के एक दिवसीय दौरे पर आए केजरीवाल ने यहां नवरंगपुरा में पार्टी के राज्य मुख्यालय का उद्घाटन भी किया। राज्य के एक पत्रकार इसुदान गढ़वी इस मौक़े पर आप पार्टी में शामिल भी हो गए। केजरीवाल ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि गुजरात में उनकी पार्टी जीतने पर शासन का एक नया मॉडल पेश करेगी। गुजरात का वह मॉडल दिल्ली के मॉडल से अलग होगा।

यूपी: 24 घंटे में संक्रमण के 339 नए मामलें मिलें

हरिओम उपाध्याय                  

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 339 नए मामले सामने आए है। जबकि 1116 मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हुए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित टीम-9 की बैठक में कहा कि वायरस अब कमज़ोर पड़ चुका है। लेकिन संक्रमण का खतरा अब भी बना हुआ है। बीते 24 घंटों में संक्रमण के 339 नए केस सामने आए। जबकि 1,116 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। इससे पहले, 21 मार्च को एक दिन में 500 से कम केस आए थे। वर्तमान में 8,101 केस एक्टिव हैं। उन्होने कहा कि प्रदेश में अब तक पांच करोड़ 36 लाख 02 हजार 870 कोविड टेस्ट किए जा चुके हैं।

विश्व में संक्रमित संख्या-17.58 करोड़ से अधिक हुईं

वाशिंगटन डीसी। विश्वभर में कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप जारी है और इससे अब तक 17.58 करोड़ अधिक लोग संक्रमित हो चुके है तथा करीब 38 लाख लोगों की मौत हुई है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 17 करोड़ 58 लाख 87 हजार 388 हो गई है। जबकि 37 लाख 99 हजार 979 लोगों की इससे मौत हो चुकी है। विश्व में महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना वायरस की रफ्तार थोड़ी धीमी पड़ी है। यहां संक्रमितों की संख्या तीन करोड़ 34 लाख 61 हजार 923 हो गई है और 5,99,769 लोगों की इस संक्रमण से मौत हो गयी है। दुनिया में कोरोना संक्रमितों के मामले में भारत दूसरे और मृतकों के मामले में तीसरे स्थान पर है। पिछले 24 घंटों में 70,421 नए मामले आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर दो करोड़ 95 लाख 10 हजार 410 हो गया।

इस दौरान एक लाख 19 हजार 501 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिसे मिलाकर देश में अब तक दो करोड़ 81 लाख 62 हजार 947 लोग इस महामारी को मात दे चुके हैं। सक्रिय मामले 53,001 और घटकर अब नौ लाख 73 हजार 158 रह गये हैं। इस दौरान 3921 मरीजों की मौत हो गयी। देश में इस बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर तीन लाख 74 हजार 305 हो गयी है। ब्राजील संक्रमितों के मामले में अब तीसरे स्थान पर है।इस देश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ रहे हैं और अभी तक इससे 1.74 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं जबकि करीब 4.87 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ब्राजील कोरोना से मौतों के मामले में विश्व में दूसरे स्थान पर है। संक्रमण के मामले में फ्रांस चौथे स्थान पर है जहां कोरोना वायरस से अब तक 58.02 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 1.10 लाख से अधिक मरीजों की मौत हो चुकी है।

कोरोना से प्रभावित होने के मामले में तुर्की रूस से आगे निकल गया है और यहां कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 53.30 लाख हो गयी है और 48,721 मरीजों की मौत हो चुकी है। रूस में कोरोना संक्रमितों की संख्या 51.48 लाख से अधिक हो गई है और इसके संक्रमण से 1.24 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस प्रभावितों की कुल संख्या 45.81 लाख से अधिक हो गयी है और 1.28 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। मृतकों के मामले में ब्रिटेन पांचवें स्थान पर है। इटली में कोरोना प्रभावितों की संख्या 42.44 लाख से अधिक हो गयी है और 1.27 लाख से अधिक लाेगों की जान जा चुकी है। कोरोना से प्रभावित होने के मामले में अर्जेंटीना ने जर्मनी को पीछे छोड़ दिया है। अर्जेंटीना में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 41.24 लाख से अधिक हो गयी है तथा मृतकों की संख्या 85,343 है। स्पेन में इस महामारी से 37.33 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 80,501 लोगों की मौत हो चुकी है। कोलंबिया में कोरोना वायरस से 37.53 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 95,778 लोगों ने जान गंवाई है। जर्मनी में वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या 37.23 लाख से अधिक हो गई है और 89,849 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच ईरान ने संक्रमण के मामले में पोलैंड को पीछे छोड़ दिया है और वहां संक्रमितों की संख्या बढ़कर 30.28 लाख से ज्यादा हो गयी है तथा मृतकों का आंकड़ा 82,098 पहुंच गया है।

पोलैंड में कोरोना से 28.77 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और इस महामारी से 74,573 लोग जान गंवा चुके हैं। मैक्सिको में कोरोना से 24.54 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और यह देश मृतकों के मामले विश्व में चौथे स्थान पर है जहां अभी तक इस वायरस के संक्रमण से करीब 230,150 लोगों की मौत हो चुकी है। यूक्रेन में संक्रमितों की संख्या 22.83 लाख से अधिक है और 53,795 लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं। पेरू में संक्रमितों की संख्या 20.01 लाख पहुंच गयी है, जबकि 1.88 लाख से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। इंडोनेशिया में भी कोरोना संक्रमण के मामले 19.11 लाख के पार पहुंच गये हैं। जबकि 52,879 लोगों की मौत हो चुकी है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस से 17.47 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 57,765 लोगों की मौत हो चुकी है।

नीदरलैंड में कोरोना से अब तक 17 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और यहां इस महामारी से 17,989 लोगों की मौत हो चुकी है। चेक गणराज्य में कोरोना से अब तक 16.65 लाख से अधिक लोग प्रभावित हो चुके हैं और यहां इस महामारी से 30,225 लोग जान गंवा चुके हैं। महामारी के उद्गम स्थल वाले देश चीन में 10.33 लाख कोरोना से संक्रमित है तथा 4,846 लोगों की मौत हो चुकी है। पड़ोसी देश पाकिस्तान में अब तक कोरोना से 9.42 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 21,723 मरीजों की मौत हो चुकी है। अन्य पड़ोसी देश बंगलादेश में भी कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है जहां 8.26 लाख लोग संक्रमित हुए हैं और 13,118 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा दुनिया के अन्य देशों में भी कोरोना वायरस के संक्रमण से स्थिति खराब है।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा फाइनल

साउथम्पटन। मुख्य क्यूरेटर साइमन ली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के लिए तेज और उछाल वाली पिच तैयार करना चाहते हैं। जिसमें बाद में स्पिनरों को भी कुछ मदद मिलेगी। डब्ल्यूटीसी फाइनल 18 जून से भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा।ली ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो से कहा, ‘इस टेस्ट के लिये पिच तैयार करना थोड़ा आसान है। क्योंकि यह त​टस्थ स्थल है। हमें आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) के निर्देशों का पालन करना है। लेकिन हम अच्छी पिच तैयार करना चाहते हैं। जिसमें दोनों टीमों के बीच बराबरी का मुकाबला हो।’

उन्होंने कहा, ‘निजी तौर पर मैं ऐसी पिच तैयार करना चाहता हूं जिसमें गति और उछाल हो।’ ली ने कहा, ‘इंग्लैंड में ऐसा करना मुश्किल हो सकता है क्योंकि अधिकतर समय मौसम साथ नहीं देता है लेकिन इस मैच के लिये भविष्यवाणी अच्छी है। काफी धूप रहेगी इसलिए हमें उम्मीद है कि इसमें तेजी होगी और अधिक रोलर न चलाने पर यह कड़ी पिच होगी।’ दोनों टीमों के पास उच्च क्षमता के तेज गेंदबाज हैं और ली मैच में हर समय उनका प्रभाव देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘तेजी लाल गेंद की क्रिकेट को रोमांचक बनाती है। मैं क्रिकेट प्रशंसक हूं और मैं ऐसी पिच तैयार करना चाहता हूं जिसमें क्रिकेट प्रेमी प्रत्येक गेंद देखना चाहता हो, चाहे वह शानदार बल्लेबाजी हो या गेंदबाजी में बेहतरीन स्पैल।’

ली ने कहा, ‘यदि गेंदबाज और बल्लेबाज के बीच कौशल की जंग होती है तो फिर एक मेडन ओवर काफी रोमांचक हो सकता है। इसलिए यदि पिच से कुछ तेजी और उछाल मिलती है लेकिन बहुत अधिक एकतरफा मूवमेंट नहीं होता है तो मुझे खुशी होगी।’ स्पिन विभाग में भारत का पलड़ा भारी है। उसके पास रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा के रूप में दो विश्वस्तरीय स्पिनर हैं। ली ने कहा कि मैच आगे बढ़ने के साथ स्पिनरों की भूमिका भी होगी। उन्होंने कहा, ‘जैसा मैंने कहा कि मौसम की भविष्यवाणी अच्छी है और यहां पिचें बहुत जल्दी शुष्क पड़ जाती है। क्योंकि यहां की मिट्टी में थोड़ा बजरी भी है। इससे स्पिन हासिल करने में भी मदद मिलती है।’

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या-2,95,10,410 हुईं

अकांशु उपाध्याय                

नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 70,421 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,95,10,410 हो गई। देश में 74 दिन बाद संक्रमण के इतने कम मामले सामने आए हैं। उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी करीब दो माह बाद, 10 लाख से कम हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटे में संक्रमण से 3,921 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,74,305 हो गई।

वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी कम होकर 9,73,158 हो गई है। जो कुल मामलों का 3.30 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मामलों में कुल 53,001 की कमी आई है। आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 37,96,24,626 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 14,92,152 नमूनों की जांच रविवार को की गई। नमूनों के संक्रमित आने की दैनिक दर 4.72 प्रतिशत है। पिछले 21 दिन से संक्रमण की दैनिक दर 10 प्रतिशत से कम बनी हुई है।

वहीं, संक्रमण की साप्ताहिक दर भी कम होकर 4.54 प्रतिशत हो गई है। संक्रमण मुक्त हुए लोगों की संख्या लगातार 32वें दिन संक्रमण के नए मामलों से अधिक रही। देश में अभी तक कुल 2,81,62,947 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 95.43 प्रतिशत है। कोविड-19 से मत्यु दर बढ़कर 1.27 प्रतिशत हो गई है। देश में अभी तक कुल 25,48,49,301 लोगों को कोविड-19 रोधी टीके लग चुके हैं। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख के पार हो गए। देश में 19 दिसम्बर को ये मामले एक करोड़ के पार और चार मई को दो करोड़ के पार चले गए थे।

बढ़ोतरी: 29 पैसे तक महंगा हुआ पेट्रोल, महंगाई

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। तेल विपणन कंपनियों ने सोमवार को पेट्रोल-डीजल के दाम एक बार फिर बढ़ा दिए। इससे पहले रविवार को कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया था। कीमतों में आज की बढ़ोतरी से दोनों जीवाश्म ईंधन महंगाई के नए शिखर पर पहुंच गए हैं। देश के चार प्रमुख महानगरों में पेट्रोल 29 पैसे तक और डीजल 31 पैसे तक महंगा हुआ। लगातार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से सीधा असर फल-सब्जी, अनाज के दामों पर भी पड़ा है। अग्रणी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल 29 पैसे महंगा होकर 96.41 रुपये और डीजल 30 पैसे महंगा होकर 87.28 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया। कीमतों में बढ़ोतरी का मौजूदा क्रम 04 मई को शुरू हुआ था। दिल्ली में मई महीने के दौरान पेट्रोल 3.83 रुपये और डीजल 4.42 रुपये महंगा हुआ था।

जून में अब तक पेट्रोल की कीमत 2.18 रुपये और डीजल की कीमत 2.13 रुपये बढ़ चुकी है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 28 पैसे और डीजल की 31 पैसे बढ़ी। वहां एक लीटर पेट्रोल 102.58 रुपये और डीजल 94.70 रुपये का हो गया। चेन्नई में पेट्रोल 26 पैसे महंगा होकर 97.69 रुपये और डीजल 28 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 91.92 रुपये प्रति लीटर के भाव बिका। कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 28 पैसे और डीजल की 29 पैसे बढ़ी। वहां पेट्रोल अब 96.34 रुपये और डीजल 90.12 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। पेट्रोल-डीजल के मूल्यों की रोजाना समीक्षा होती है और उसके आधार पर हर दिन सुबह छह बजे से नई कीमतें लागू की जाती हैं।

पीएम मोदी को ‘घोटाले’ पर जवाब देना चाहिए: कांग्रेस

उमय सिंह साहू              

अयोध्या। कांग्रेस ने श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से संबंधित एक जमीन सौदे में लगे भ्रष्टाचार के आरोप को लेकर सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस ‘घोटाले’ पर जवाब देना चाहिए तथा उच्चतम न्यायालय की निगरानी में इसकी जांच होनी चाहिए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने उच्चतम न्यायालय यह से आग्रह भी किया कि वह मंदिर निर्माण के चंदे के रूप में प्राप्त राशि व खर्च का न्यायालय के तत्वाधान में ऑडिट करवाए तथा चंदे से खरीदी गई सारी जमीन की कीमत को लेकर भी जांच करें। 

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भगवान श्री राम आस्था के प्रतीक हैं। पर भगवान राम की अलौकिक अयोध्या नगरी में श्री राम मंदिर निर्माण हेतु करोड़ों लोगों से एकत्रित चंदे का दुरुपयोग और धोखाधड़ी महापाप और घोर अधर्म है। जिसमें भाजपाई नेता शामिल हैं।’’ सुरजेवाला ने दावा किया, ‘‘जमीन की रजिस्ट्री के दोनों कागजों पर श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्रस्टी अनिल मिश्रा गवाह के तौर पर मौजूद हैं।

यूके: कर्फ्यू में रियायत देने पर विचार कर रहीं सरकार

पंकज कपूर                
देहरादून। उत्तराखंड में कोरोनावायरस कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लगाए गए कोविड-19 कर्फ्यू 15 जून सुबह 6:00 बजे तक समय अवधि है। यह माना जा रहा है कि सरकार 22 जून तक इसे आगे बढ़ा सकती है हालांकि इस बीच कोविड-19 कर्फ्यू में सरकार रियायत देने पर विचार कर रही है।
रविवार को कोविड-19 कर्फ्यू की साप्ताहिक समीक्षा की गई और आज आपदा प्रबंधन प्राधिकरण कोविड-19 कर्फ्यू की मानक प्रचालन प्रक्रिया यानी सोप जारी करेगा। सूत्रों के मुताबिक शासन इस बार बाजार खुलने के दिनों में या दुकान होटल रेस्टोरेंट सहित शॉपिंग मॉल खोलने की संभावनाओं पर विचार कर सकता है। वही 50% उपस्थिति के साथ सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों को खोलने की संभावनाएं भी जताई जा रही है।

लोगों को घरों में ही रखने के लिए 60 ड्रोन तैनात किएं

बीजिंग। चीन के दक्षिणी प्रांत ग्वानझोउ में कोविड-19 के नए स्वरूप के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लोगों को घरों में ही रखने के लिए कम से कम 60 ड्रोन तैनात किए गए हैं। चीन में संक्रमण के मामले मुख्य तौर पर कम हो गए हैं। लेकिन ग्वानझोउ में संक्रमण के नए मामले बढ़ रहे हैं। ग्वानझोउ में पिछले 24 घंटे में छह नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 100 के पार चली गई है। ये सभी मामले 21 मई के बाद से सामने आए हैं। ग्वानझोउ में सामने आया संक्रमण का यह नया स्वरूप ‘डेल्टा’ है। जो सबसे पहले भारत में सामने आया था और बेहद संक्रामक है।

पुलिस द्वारा संचालित ड्रोन कैमरे तैनात किए गए हैं और इनके जरिए, घर से बाहर आने वाले लोगों को संकमण से बचने के लिए अंदर रहने का संदेश दिया जाता है। ग्वांगझोउ की सीमाएं भी बंद कर दी गई हैं। रेस्तरां में बैठकर खाने पर भी रोक लगा दी गई है। सिनेमा घर, थिएटर, नाइट क्लब और बंद स्थानों पर होने वाली अन्य गतिविधियों को बंद करने का आदेश दिया गया है।


इजराइल के नए पीएम के तौर पर बेनेट ने शपथ ली

येरूशलम। इजराइल के नए प्रधानमंत्री के तौर पर रविवार को नफ्ताली बेनेट ने शपथ ले ली। पूर्व प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के कभी बेहद करीबी रहे बेनेट ने उनकी गलत नीतियों का विरोध कर आज यह मकाम हासिल किया है। बेनेट एक धर्मपरायण यहूदी हैं, जिन्होंने विशेषकर धर्मनिरपेक्ष हाई-टेक क्षेत्र से लाखों कमाए हैं।

पुनर्वास आंदोलन के अगुआ रहे बेनेट तेल अवीव उपनगर में रहते हैं। वह बेंजामिन नेतन्याहू के पूर्व सहयोगी रहे हैं। नेतन्याहू के 12 साल के शासन को खत्म करने के लिए बेनेट ने मध्य और वाम धड़े के दलों से हाथ मिलाया है। उनकी घोर राष्ट्रवादी यामिना पार्टी ने मार्च में हुए चुनाव में 120 सदस्यीय नेसेट (इजराइल की संसद) में महज सात सीटें जीती थीं। लेकिन उन्होंने नेतन्याहू या अपने विरोधियों के आगे घुटने नहीं टेके और ‘किंगमेकर’ बन कर उभरे। अपनी धार्मिक राष्ट्रवादी पार्टी से एक सदस्य के पार्टी छोड़ने के बावजूद आज सत्ता का ताज उनके सिर पर है। बेनेट लंबे समय तक नेतन्याहू का दाहिना हाथ रहे। लेकिन वह उनके गठबंधन के तौर तरीकों से नाखुश थे।

संसद में कम बहुमत के बावजूद वह दक्षिणपंथी, वामपंथी और मध्यमार्गी दलों के साथ गठबंधन कर सरकार बनाने में सफल रहे और इस वजह से आगे उनके लिए रास्ता आसान नहीं होगा। बेनेट फलस्तीनी स्वतंत्रता के विरोधी हैं और वह कब्जे वाले वेस्ट बैंक और पूर्वी यरुशलम में यहूदी बस्तियों के घोर समर्थक हैं। जिसे फलस्तीनी और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के कई देश शांति की प्रक्रिया में बड़ा अवरोधक मानते हैं। अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा के दबाव में आकर बस्तियों के निर्माण कार्य को धीमा करने के नेतन्याहू के कदम का बेनेट ने जबरदस्त विरोध किया था। हालांकि अपने पहले कार्यकाल में ओबामा शांति प्रक्रिया बहाल करने में नाकाम रहे थे। इजराइल डेमोक्रेसी इंस्टीट्यूट के प्रमुख योहानन प्लेज्नर ने कहा, ‘‘वह एक दक्षिणपंथी नेता हैं, सुरक्षा को लेकर सख्त हैं, लेकिन वह एक व्यवहारिक सोच रखने वाले नेता हैं।’’

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-303 (साल-02)
2. सोमवार, जून 15, 2021
3. शक-1984, ज्येठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:43, सूर्यास्त 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान -20 डी.सै., अधिकतम-37+ डी.सै.।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया आदर्श श्रीवास्तव लखीमपुर खीरी। अपनी बदहाली सेे लडता किसान गणतंत्र की गहरी खाई में जा पहुंचा हैं। मध-म...