शनिवार, 17 अगस्त 2019

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण
2019-8-18 • RNI.No.UPHIN/2014/57254
1.अंक-14 (साल-01)
2.रविवार,18 अगस्‍त 2019
3.शक-1941,भादपद्र कृष्‍णपक्ष तीज,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:47,सूर्यास्त 7:07
5.न्‍यूनतम तापमान 27 डी.सै.,अधिकतम-33+ डी.सै., हवा में आद्रता रहेगी!
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा!
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजिटल संस्करण )प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार लोनी गाजियाबाद 201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी गाजियाबाद 201102
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क:- 935030275


सीमा पर जवान शहीद,दिया मुँह तोड जवाब

सीजफायर उल्लंघन में भारतीय जवान हुआ शहीद,
भारतीय सेना ने दिया मुह तोड़ जवाब


श्रीनगर । जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से लगातार हो रहे सीजफायर उल्लंधन का भारतीय सेना भी मुंहतोड़ जवाब दे रही है। इस दौरान भारतीय सेना ने एलओसी के उस पार स्थित एक पाकिस्तानी पोस्ट को निशाना बनाया है। पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन करने के बाद भी दोनों ओर से भारी गोलाबारी की जा रही है। सेना के सूत्रों ने यह जानकारी दी है।


जम्मू-कश्मीर के राजौरी के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान शनिवार सुबह से संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में भारतीय सेना का एक जवान भी शहीद हो गया है। एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार राजौरी के नौशेरा सेक्टर में शनिवार सुबह 6:30 बजे पाकिस्तान संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इस गोलीबारी में भारतीय सेना के लांस नायक संदीप थापा शहीद हो गए हैं। पाकिस्तान की ओर से फायरिंग जारी है जिसका भारतीय सेना डटकर मुकाबला कर रही है।


हस्तक्षेप व्यर्थ है (संपादकीय)

370 में बदलाव पर यूएन में भी पाकिस्तान को समर्थन नहीं
यह मोदी सरकार की कूटनीति की जीत है।



जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 में बदलाव के बाद बिलबिलाए पाकिस्तान ने 16 अगस्त  की रात से ही चीन की मदद से मामले को संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएन) में उठाया। यूएन की एक बैठक में पांच स्थायी और 10 अस्थायी देशों के प्रतिनिधि उपस्थित थे। लेकिन पाकिस्तान को सिर्फ चीन का ही समर्थन मिला। यानि पांच में से चार स्थायी तथा 10 अस्थायी देशों का समर्थन नहीं मिला। रूस, फ्रांस जैसे स्थायी देशों के प्रतिनिधियों ने साफ कहा कि कश्मीर का मुद्दा भारत और पाकिस्तान का आपसी मामला है। इसमें यूएन की कोई भूमिका नहीं है। चूंकि बैठक में समर्थन नहीं मिला, इसलिए अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान की बुरी हार हुई है। पाकिस्तान को उम्मीद थी कि चीन की वजह  से कुछ देशों का समर्थन मिलेगा, लेकिन चीन के दबाव के बाद पाकिस्तान को समर्थन नहीं मिला। यानि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को प्रभावहीन करने के फैसले को यूएन ने भारत का अंदरूनी मामला माना है। मालूम हो कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह कुरैशी पहले ही कह चुके थे कि पाकिस्तान को मुस्लिम राष्ट्रों का समर्थन भी नहीं मिल रहा है। भारत में जो राजनीतिक दल 370 के पक्ष में है उन्हें यूएन की ताजा कार्यवाही से सबक लेना चाहिए। सवाल उठता है कि जब अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ही भारत के पक्ष में खड़ा है, तब कांग्रेस, वामपंथी, टीएमसी दलों के नेता 370 को हटाए जाने का विरोध क्यों कर रहे हैं? जबकि सब जानते है कि 370 की वजह से जम्मू कश्मीर में आतंकवाद पनपा है। पाकिस्तान को घुसपैठ करने का मौका मिला। अब जब जड़ से ही समस्या का समाधान कर दिया गया है तो फिर विरोध किस बात का। इसमें कोई दो राय नहीं कि पाकिस्तान को समर्थन न मिलना, केन्द्र की मोदी सरकार की कूटनीति की जीत है। आज भारत का इतना दबदबा हो गया है कि कोई भी देश भारत के मुकाबले पाकिस्तान के साथ खड़ा नहीं होना चाहता। भारत के विरोधी दलों को चाहिए कि वे कश्मीर समस्या के स्थायी समाधान के लिए मोदी सरकार का समर्थन करें। यदि विपक्षी दलों के नेताओं की बयानबाजी से कश्मीर के हालात बिगड़ते हैं तो देश के लिए घातक होगा। वैसे 17 अगस्त को जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने कहा कि जम्मू में इंटरनेट सेवाएं शुरू की जा रही है तथा कश्मीर में लैंडलाइन फोन की सेवाओं को बहाल किया जा रहा है। जैसे जैसे हालात सामान्य होंगे वैसे वैसे कश्मीर घाटी में भी स्कूल कॉलेज खोल दिए जाएंगे। पाबंदियों में लगातार छूट दी जा रही है। 
एस.पी.मित्तल


एनएचएम भर्ती प्रकरण में सरकार की किरकिरी

एनएचएम भर्ती प्रकरण में अब चुप क्यों हैं राजस्थान के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा?
ढाई हजार युवा नौकरी से वंचित। केन्द्र सरकार भी लगाएगी जुर्माना। 
आईएएस समित शर्मा अपनी प्रक्रिया पर आज भी कायम। 
नीट 2019 को लेकर भी सरकार की छवि खराब।

नई दिल्ली । नेशनल हेल्थ मिशन के अंतर्गत कम्युनिटी हेल्थ वर्कर के ढाई हजार पदों पर भर्ती के लिए राजस्थान में गत 22 जून को लिखित परीक्षा होनी थी, लेकिन प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा के विरोध के चलते परीक्षा को 20 जून को ही रद्द कर दिया गया। तब रघु ने और स्वास्थ्य सचिव समित शर्मा ने परीक्षा के लिए राज्य सरकार से कोई अनुमति नहीं ली। रघु का यह भी आरोप रहा कि परीक्षा की प्रक्रिया में पारदर्शिता और ईमानदारी नहीं है। रघु ने न केवल परीक्षा को रद्द करवाया, बल्कि जांच कमेटी भी गठित कर दी। इतना ही नहीं एनएचएम के एमडी समित शर्मा का तबादला भी करवा दिया। अब दो माह गुजर गए हैं, लेकिन रघु शर्मा ने चुप्पी साध रखी है। सवाल उठता है कि जब आरोप लगाए थे, तो अब साबित क्यों नहीं करते? असल में कुछ दिनों में रघु शर्मा के आरोपों की पोल खुल गई थी। रघु का यह बयान भी झूठा निकला कि उन्हें परीक्षा की जानकारी नहीं थी। परीक्षा को लेकर रघु ने चिकित्सा मंत्री की हैसियत से ट्वीटर पर टिप्पणी। इतना ही नहीं परीक्षा से पूर्व चिकित्सा कर्मियों के जो ज्ञापन प्राप्त हुए उन्हें रघु ने एनएचएम के एमडी समित शर्मा के नाम मार्क किया। झूठ बोल कर चिकित्सा मंत्री ने परीक्षा क्यों रद्द कर करवाई, यह तो वे ही जाने, लेकिन प्रदेश के ढाई हजार युवाओं को नौरी से वंचित करने के साथ-साथ केन्द्र सरकार से मिलने वाली राशि भी रुकवा दी। ढाई हजार युवाओं का वेतन भी केन्द्र सरकार द्वारा देय था। हेल्थ वर्करों को ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा का कार्य करना था। यानि चिकित्सामंत्री की वजह से प्रदेश के ग्रामीण भी चिकित्सा सुविधाओं से वंचित हो गए। नेशनल हेल्थ मिशन के अंतर्गत जो राज्य सरकार अच्छा कार्य करती है उसे केन्द्र की ओर से प्रोहत्सान राशि भी मिलती है, लेकिन जो राज्य योजना के अनुरूप कार्य नहीं करते, उन पर जुर्माना यानि निर्धारित राशि में से 20 प्रतिशत तक की कटौती की जाती है। चूंकि राजस्थान में ढाई हजार हेल्थ वर्करों की भर्ती नहीं हो सकी है, इसलिए जुर्माना भी लगेगा। राजस्थान के लोगों को अच्छी सेवा का वायदा कर कांग्रेस सत्ता में आई है, लेकिन चिकित्सा विभाग में उल्टा हो रहा है। 
प्रक्रिया पर आज भी कायम है समित शर्मा:
चिकित्सा महकमे से तबादले के बाद आईएएस समित शर्मा ने प्रदेश के श्रम आयुक्त का पद संभाल लिया है और वे पूरे मनोयोग से प्रदेश के श्रमिकों से जुड़ी योजनाओं की क्रियान्विति में लग गए हैं, लेकिन शर्मा को इस बात का मलाल है कि जो कार्य पूरी ईमानदारी और पारदर्शीता के साथ किया उस पर अंगुली उठाई गई। प्रदेश के ढाई हजार युवाओं को नौकरी मिल जाए, इसके लिए चुनाव आयोग तक से अनुमति ली गई। और कोई वेतन भोगी आईएएस होता तो लोकसभा चुनाव की आचार संहिता का बहाना कर परीक्षा स्थगित करवा लेता। रघु शर्मा चिकित्सा मंत्री की हैसियत से चाहे जो आरोप लगाएं, लेकिन राज्य सरकार के प्रस्ताव पर ही 31 जनवरी 2019 को भारत सरकार ने 2500 हेल्थ वर्करों की भर्ती की स्वीकृति दी थी।  इसको लेकर दिल्ली में 15 जनवरी को नेशनल हेल्थ मिशन की जो बैठक हुई उसमें राजस्थान के अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा रोहित कुमार भी मौजूद थे। इसके बाद रोहित कुमार की अध्यक्षता में ही एनएचएम की कार्यकारी कमेटी की बैठक हुई। इस बैठक में भर्ती की प्रक्रिया निर्धारित की गई। ऑन लाइन आवेदन मांगने के बाद ही 22 जून को परीक्षा निर्धारित की गई। यदि परीक्षा गुपचुप तरीके से करवाई जाती तो दैनिक भास्कर राजस्थान पत्रिका जैसे बड़े अखबारों में विज्ञापन नहीं दिया जाता। भर्ती का विज्ञापन देकर अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे गए। इतना जरूर है कि प्रक्रिया में किसी दबाव और सिफारिश को नहीं माना गया। सरकार के जो नियम थे उसी के मुताबिक प्रक्रिया को अपनाया गया। इतनी मेहनत, ईमानदारी और पारदर्शिता दिखाने के बाद भी मुझे अकेले को ही कटघरे में खड़ा कर दिया गया। 
मुख्यमंत्री कर चुके हैं प्रशंसा:
आईएएस समित शर्मा के बारे में चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा कुछ भी राय रखते हों, लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समित शर्मा की ईमानदार और मेहनत के कायल हैं। विधानसभा के बजट सत्र के समापन पर गहलोत ने प्रदेश में नि:शुल्क दवा योजना के संदर्भ में कहा कि समित शर्मा उन आईएएस में से हैं जो होली दीवाली मिठाई का डिब्बा भी किसी से नहीं लेते हैं। मुख्यमंत्री के इस कथन के बाद समित शर्मा को किसी अन्य से ईमानदारी का सर्टिफिकेट लेने की जरुरत नहीं है। 
नीट 2019 को लेकर भी विवाद:
रघु शर्मा के अधीन वाले चिकित्सा महकमे द्वारा आयोजित नीट 2019 की प्रवेश परीक्षा के लिए जो प्रक्रिया अपनाई गई उस पर 16 अगस्त को हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। एमबीबीएस में एडमिशन के मामले में मेडिकल कॉलेजों में 17 व 18 अगस्त को मॉपअप राउंड की काउंसलिंग होनी थी, लेकिन अब काउंसलिंग पर रोक लग गई है। सरकारी और गैर सरकारी कॉलेजों में 705 सीटे खाली रह गई है। आरोप है कि प्रक्रिया में मंत्री का दखल रहा, इसलिए नियमों में बदलाव किए गए। इससे परेशान अभ्यर्थियों ने अदालत की शरण ली और काउंसलिंग पर रोक लगवा दी। सवाल उठता है कि चिकित्सा विभाग में सभी गड़बडिय़ां मंत्री स्तर पर क्यों हो रही है, जाहिर है कि मंत्री अपना दखल चाहते हैं। चिकित्सा विभाग में इन दिनों जो घटनाएं घट रही है, उससे कांग्रेस सरकार की छवि पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। 
एस.पी.मित्तल


बीसलपुर बांध बुझाएगा कई वर्षों तक प्यास

बीलसुपर बांध पूरा भरने की ओर। सरकार के दो सौ करोड़ रुपए बच गए। 
अजमेर, जयपुर, टोंक व दौसा के लिए तीन वर्ष का पानी।
पुष्कर सरोवर के जल स्तर 32 फीट के पार। 
14 फीट के जल स्तर पर आनासागर के दो गेट खोले। 
दरगाह सम्पर्क सड़क जाम। परकोटे की दीवार भी गिरी।

जयपुर । अजमेर, जयपुर, टोंक और दौसा जिले के करीब एक करोड़ लोगों की प्यास बुझाने वाले बीसलपुर बांध में भराव क्षमता के अनुरूप 315.50 मीटर पानी हो रहा है। 17 अगस्त को दोपहर तीन बजे बांध का जल स्तर 314.35 मीटर मापा गया। चूंकि बांध के भराव क्षेत्र चित्तौड़ और भीलवाड़ा में वर्षा का दौर जारी है इसलिए उम्मीद है कि देर रात या फिर 18 अगस्त तक बांध पूरा भर जाएगा। बांध के भरने से जहां चारों जिलों के लोगों को आगामी तीन वर्ष तक पेयजल उपलब्ध होता रहेगा, वहीं राज्य सरकार के दो सौ करोड़ रुपए बच गए हैं। इस बार मानसून में देर होने की वजह से बांध में पानी की आवक पर संकट आ गया था। अजमेर में तीन दिन में सप्लाई हो रही थी। जबकि जयपुर की सप्लाई में भी कटौती की गई। अफसरों ने बीसलपुर बांध में ट्यूबवेल खोदने और भीलवाड़ा से चम्बल का पानी लाने आदि की 200 करोड़ रुपए की योजना तैयार कर ली थी। सरकार ने बांध में ट्यूबवेल खोदने के निर्देश भी दे दिए थे। लेकिन योजना पर अमल होता इससे पहले ही बांध में बरसात के पानी की आवक हो गई। हालांकि जुलाई माह में पानी की आवक बहुत कम रही, लेकिन अगस्त के पहले सप्ताह में जो अवक शुरू हुई उसके बाद अब बांध पूरा भरने की कगार पर पहुंच गया है। बांध के भरने पर चैनल गेट खोलने पड़ेंगे इसलिए बीसलपुर गांव के आगे बनास नदी के किनारे रहने वाले लोगों को सतर्क किया गया है। टोंक का प्रशासन बांध के जल स्तर पर लगातार निगरानी कर रहा है। बीसलपुर बांध के जल स्तर पर नजर रखने वाले सहायक अभियंता मनीष बंसल ने बताया कि 16 अगस्त के मुकाबले में 17 अगस्त को पानी की आवक धीमी रही है। त्रिवेणी पर 16 अगस्त को जहां सात मीटर का गेज था, वहीं 17 अगस्त को यह 4 मीटर का रह गया। 
पुष्कर में 32 फीट पानी:
हिन्दुओं के आस्था के केन्द्र पुष्कर सरोवर में 17 अगस्त को जल स्तर 32 फीट के पार हो गया। सरोवर की भराव क्षमता 35 फीट मानी जाती है। 35-36 फीट का जल स्तर होने पर गऊ घाट पर स्थित कल्याण जी के मंदिर तक पानी आ जाएगा। सरोवर के बीचों बीच बनी गुमटी 75 प्रतिशत डूब गई है। एक माह पहले तक पानी के अभाव में श्रद्धालुओं को घाटों के किनारे बने कुंडों में पूजा अर्चना करनी होती थी, लेकिन अब किसी भी घाट पर खड़े होकर पूजा अर्चना की जा सकती है। 17 अगस्त को पुष्कर के विधायक सुरेश रावत और पालिका अध्यक्ष कमल पाठक ने सरोवर और उसके भराव क्षेत्र का दौरा कर हालातों का जायजा लिया। पिछले चालीस वर्ष में यह पहला अवसर है जब सरोवर का जल स्तर 32 फीट पहुंचा है। 
आना सागर के दो गेट खोले:
अजमेर के आनासागर में 17 अगस्त को जब जल स्तर 14 फीट हुआ तो प्रशासन ने दो गेट खोल दिए ताकि आनासागर के भराव क्षेत्र में बनी आवासीय कॉलोनियों में पानी न भरे। कोई दस दिन पहले जब गेट खोलने में विलम्ब किया गया तो आवासीय कॉलोनियों में पानी भर गया था। तब जल स्तर 16 फीट होने पर गेट खोलने गए, लेकिन इस बार 14 फीट के जल स्तर पर ही दो गेट खोल दिए गए हैं। आनासागर की भराव क्षमता 13 फीट है। आनासागर से पानी की निकासी होने पर शहर के बीच से गुजर रही एस्केप चैनल में पानी की आवक हो गई है। एस्केप चैनल के जरिए खानापुरा के तालाब में पानी जाता है। लेकिन तालाब के आसपास मरम्मत मजबूत नहीं होने की वजह से क्षेत्रवासियों को परेशानी हो रही है। 
जर्जर भवन गिरे, दरगाह सम्पर्क सड़क जाम:
अजमेर शहर में 15 अगस्त से ही लगातार वर्षा हो रही है पिछले 24 घंटे से लगातार वर्षा जारी है। ऐसे में जर्जर मकान लगातार गिर रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार नागफणी क्षेत्र में बनी दरगाह सम्पर्क सड़क पर पहाड़ का मलबा आ जाने से यातायात बाधित हो गया है। इससे दरगाह जाने वाले जायरीन को परेशानी हो रही है। इसी प्रकार पट्टीकटला क्षेत्र में परकोटे की दीवार भी धराशायी हो गई है। 
एस.पी.मित्तल


समर्पित जन-स्वास्थ्य मेरी प्राथमिकता:चंद्रवंशी

संवाददाता-विवेक चौबे


गढ़वा । सूबे के स्वास्थ्य मंत्री व क्षेत्रीय विधायक-रामचंद्र चंद्रवंशी ने शनिवार को कांडी प्रखंड में नवनिर्मित पांच अस्पतालो का उदघाटन फीता काटकर व नारियल तोड़कर किया।जिसकी लागत राशि लगभग 3.88 करोड़ थी।हेल्थ एन्ड वेलनेश सेन्टर कोरगाईं,सरकोनी,कुशहा,पिपरडीह व लमारि कला शामिल है।उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मंत्री-रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि बहुत जल्द ही सोहगाड़ा से चटनियां तक गवर्नर रोड का भी निर्माण होगा।टेढ़ा नदी से सरकोनी होते करमा गांव तक 2.7 करोड़ की लागत राशि से तीन किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण होगा ।उन्होंने कहा की सभी वेलनेस सेंटर केंद्र से जुड़ा हुआ संस्था है ।सभी वेलनेस सेंटर पर एक - एक योग शिक्षक भी रहेगा।सभी सेंटर पर एक सीएचओ व एक-एक नर्स को भी पदस्थापित किया गया है।साथ ही उन्होंने कहा की सप्ताह में एक दिन डॉक्टर भी आएंगे।16 अगस्त से 23 सितम्बर तक आयुष्मान भारत के तहत गोल्डन कार्ड बनाया जा रहा है।इससे बंचित रह गए लोगों को जरूर बनवाने को कहा। 2022 तक सभी को प्रधानमंत्री आवास उपलब्ध करा  दिया जाएगा ।किसानों को भी केंद्र व राज्य सरकार के माध्यम से प्रोत्साहन राशि दी जा रही है।केंद्र की भाजपा सरकार ने स्वर्ण वर्ग को भी दस प्रतिशत आरक्षण देने का कार्य किया है ।सरकोनी में 6 बिस्तर का अस्पताल बनेगा।कुशहा हेल्थ सेंटर में दो डॉक्टर पदास्थापित किये जायेंगे।उज्ज्वला योजना के तहत एक गैस सिलिंडर मिला है, उन्हें 23 अगस्त के बाद एक- एक और गैस सिलिंडर दिया जायेगा।मंत्री ने उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी बेटा से अधिक बेटी को प्यार दें।भ्रूण हत्या करना बंद करें।लड़कियों को शादी व शिक्षा देने की जिम्मेवारी सरकार ने उठा रखी है।वहीँ झुरवाजरही टोला के लोगों ने नदी में पुल व बिजली देने की मांग किया।कार्यक्रम में लोगों को सीएस-डॉ नन्द किशोर रजक व प्रखंड चिकित्सा प्रभारी- डॉ कमलेश कुमार ने भी स्वास्थ्य से जुड़े  विभिन्न कार्यक्रमों की जानकारी दी ।मौके पर- डॉ प्रदीप मरांडी,लिपिक-धीरज पाठक,एमपीडब्ल्यू-अशोक प्रसाद, मिथलेश प्रसाद,अजय सिंह,गुड्डू सिंह,प्रेमानंद त्रिपाठी, राम लाला दुबे,रामलखन चंद्रवंशी, हसन रजवार सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।


संस्‍था ने एसएसपी को सम्मानित किया

सामाजिक संगठन ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक का किया सम्मान


तस्लीम बेनकाब


मुज़फ्फरनगर! हाल ही में जनपद में महा कावड़ यात्रा में जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव के निर्देश में तमाम थाना पुलिस की सक्रियता के चलते सकुशल सम्पन्न हुई ओर उसके बाद सभी त्योहारों को भी आपसी सौहार्द के साथ मनाया गया इस दौरान मुजफ्फरनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव द्वारा 24 घंटे सक्रिय रहने और शानदार कार्यशैली व क्षेत्र में उत्कृष्ट दायित्वों का निर्वहन करने पर जनपद की अग्रणी सामाजिक संस्था आधारशिला ग्रामोत्थान सेवा संस्थान के पदाधिकारियों ने भी उनको एक अभिनंदन पत्र देकर सम्मान किया । इस मौके पर संस्था के संरक्षक सत्येंद्र पाल आर्य व मशहूर शायर व नाजिम- ए-मुशायरा जनाब रियाज सागर और संस्था के अध्यक्ष वसीम अहमद ने उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।


सांसद ने विद्यालय में किया पौधारोपण

देवरिया सांसद ने महाविद्यालय में किया वृक्षारोपण


विद्यावती देवी महाविद्यालय का जायजा लेने के बाद व्यवस्था की सराहना की


पूर्व राज्यमंत्री डा. पीके राय के साथ पहुंचे सांसद


कुशीनगर-तमकुही। क्षेत्र के हाइवे के किनारे वैष्णवी नगर में स्थित विद्यावती देवी महाविद्यालय में सांसद व पूर्व राज्यमंत्री ने वृक्षारोपण कर पठन पाठन व व्यवस्था देख विद्यालय परिवार के कार्यों की सराहना की।
शनिवार की दोपहर में देवरिया के सांसद रमापति राम त्रिपाठी व पूर्व राज्यमंत्री डा. पीके राय, पूर्व ब्लाक प्रमुख विजय राय के साथ तमकुहीराज में आयोजित कार्यकर्ता कार्यक्रम के संपन्न होने के बाद महाविद्यालय पर पहुंचे और परिसर में वृक्षारोपण कर लोगों से अधिक से अधिक वृक्ष लगाने की अपील की। वही विद्यालय में लैब, कमरो व शिक्षण कार्य का जायजा लेने के उपरांत प्रबन्धक बबलू राय के कार्यों की सराहना की और कहा कि यह विद्यालय इस क्षेत्र के लिए मील का पत्थर साबित हो रहा है। इसके स्थापित होने से क्षेत्र की बालिकाओं को उच्च शिक्षा के लिए दूर नही जाना पड़ रहा है। निश्चित ही इस विद्यालय में जिस प्रकार की व्यवस्था व पठन पाठन है।इससे इस क्षेत्र के बालक व बालिकाओं के साथ ही क्षेत्र का साक्षरता दर बढ़ेगी।
इस दौरान प्राचार्या श्रीमती साधना सिंह, उपाध्यक्ष प्रबन्ध तंत्र रमेशचंद्र यादव, चमन यादव,  राधेश्याम पांडेय, शैलेंद्र पांडेय, राणा प्रताप सिंह, अवधेश राय, कृष्ण बिहारी मिश्रा, राणा प्रताप मिश्रा, सुधीर सिंह, गुड्डू राय, पवन पटेल, महेंद्र कुमार, पवन गिरी, मार्कण्डेय सिंह, संदीप कुशवाहा, सत्येंद्र साहनी सहित भाजपा कार्यकर्ता व विद्यालय के समस्त शिक्षक व कर्मचारी मौजूद रहे।


अपराधियों का हौसला-दुस्साहस चिंताजनक

अपराधियों के बढ़ते हौसले एवं दुस्साहस चिंताजनक


कुशीनगर । रामकोला थाने से 800 मीटर पर माला बाबा के पोखरे के पास सड़क पर हुई दमोदरी निवासी सत्तन पटेल की हत्या बेहद गंभीर एवं चिंताजनक है पिछले पांच वर्षों से कुशीनगर की हालत बेहद खराब होती जा रही है। किसके साथ कब क्या घटना घटित हो जाए कहा नहीं जा सकता है। अपराधी बेखौफ एवं दुस्साहसी होते जा रहा है।
पिछले कुछ वर्षों से बैंकों से पैसा निकाल कर आने जाने वाले आसान शिकार बन रहे हैं दर्जनों लोग तो केवल रामकोला नगर के आसपास शिकार हुए हैं। मोटरसाइकिल एवं चारपहिए भी उठाए गए हैं।
पिछले वर्षों में अनेक हत्याएं भी हुई है जिसमें पुलिस ने मात्र मुकदमा दर्ज कर कर्तव्य पूरा कर लिया है। दो-तीन वर्ष पूर्व धूआटीकर के पास सड़क पर दो लोग मार दिए गए। लेकिन अपराधियों का पता नहीं चल सका, हत्या कर फेंकी गई अनेक लाशे मिली। लेकिन हत्यारों का पता नहीं चला,दुकानों एवं मकानों के ताले टूटे उसमें अनेक में मुकदमा तक दर्ज नहीं हुआ।
पूरे जनपद की हालत बिहार एवं बंगाल तथा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ आपराधिक क्षेत्रो जैसा बनता जा रहा है।
मेरा निश्चित मत है कि 70% पुलिसकर्मी वास्तविक ड्यूटी से इतर के कामों में लगे हुए हैं। जबकि 40% पुलिसकर्मी आपराधिक प्रवृति के हैं। उनका प्रत्यक्ष एवं परोक्ष संपर्क आपराधिक गिरोहों से बना हुआ है, थानों में तैनात पुलिसकर्मी एक एक गिरोह को जानते एवं पहचानते हैं।
यदि नेटवर्क तोड़ा नहीं गया तो बेखौफ अपराधी सुपारी लेकर राजनीतिक हत्याओं की तरफ अग्रसर हो सकते हैं ।


एम्स के इमरजेंसी वार्ड में लगी आग,हताहत नहीं

नई दिल्ली। दिल्ली एम्स के इमरजेंसी वार्ड में आग लगने की खबर आ रही है। मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली एम्स के ट्रामा सेंटर में आग लगी है। आग लगने से अफरातफरी का माहौल है। आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 6 गाड़ियां मौके पर पहुंची है। दमकल विभाग के कर्मचारी बचाव कार्य में जुटे है। लोगों को बाहर निकालने की कोशिशें तेज हो गई है। बताया जा रहा है कि आग दूसरी मंजिल पर लगी है। यहां मरीजों की भीड़ रहती है। अब तक कोई किसके के हताहत होने की खबर नहीं है। बता दें कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री दिल्ली एम्स में भर्ती है।


महिला हॉकी टीम ने जापान को दी शिकस्त

नई दिल्ली। भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को ओलंपिक टेस्ट इवेंट का शानदार आगाज करते हुए पहले मैच में मेजबान जापान को शिकस्त दी। महिला हॉकी टीम ने जापान पर 2-1 से जीत दर्ज की। भारत ने पेनल्टी कार्नर विशेषज्ञ गुरजीत कौर की मदद से नौंवे ही मिनट में बढ़त बना ली थी, लेकिन मेजबान टीम ने 16वें मिनट में अकी मितसुहासी के मैदानी गोल से 1-1 से बराबरी हासिल कर ली। हालांकि गुरजीत ने फिर 35वें मिनट में पेनल्टी कार्नर से गोल दाग कर अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया जो निर्णायक रहा।  भारतीय टीम ने आक्रामक शुरूआत की और पहले 10 मिनट में ही उसे कुछ मौके मिल गए।


पुलिस को मिलेगा साप्ताहिक अवकाश

पुलिसकर्मियों को भी मिलेगा साप्ताहिक अवकाश


लखनऊ । उत्तर प्रदेश में पुलिस कर्मियों पर काम के बढ़ते दबाव और इस वजह से बढ़ रही अवसाद की स्थिति से राहत दिलाने के लिए उन्हें सप्ताह में एक दिन के अवकाश की योजना 20 अगस्त से शुरू होने जा रही है। इसे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर सबसे पहले कानपुर नगर व बाराबंकी में शुरू किया जाएगा।


इन दो जिलों का चयन राजधानी से सटे होने के कारण किया गया है। इससे इन पर पुलिस मुख्यालय व गृह विभाग से सीधी नजर रखना आसान होगा। जिले के साथ ही रेंज व जोन के अधिकारियों व अन्य राजपत्रित पुलिस अधिकारियों को इसके लिए जरूरी निर्देश देने को कहा गया है। आईजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार ने बताया कि पायलट प्रोजेक्ट के नतीजों के आधार पर इस योजना की आगे की दिशा तय होगी। पुलिस कर्मियों को सप्ताहिक अवकाश दिए जाने को लेकर पिछले कुछ साल से चर्चा चल रही थी। वहीं, ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डवलपमेंट (बीपीआरडी) ने कई हजार पुलिसकर्मियों पर रिसर्च कराया था। इसमें केरल में आठ घंटे की शिफ्ट की नौकरी के प्रयोग से बेहतर नतीजे सामने आए थे।


भेड़ों के बदले बॉयफ्रेंड को सौंप दी पत्नी

 71 भेड़ों के बदले बॉयफ्रेंड को सौंप दी पत्नी, प्रेमी के पिता ने वापस मांगीं भेड़ तो मचा बवाल


गोरखपुर । पिपराइच से एक मामला सामने आया है, जिसमें एक पंचायत ने महिला की कीमत '71 भेड़' की लगा दी।मामला प्रेम प्रसंग का था। चौंकाने वाली बात ये रही कि पंचायत के इस फैसले पर दोनों पक्ष राजी भी हो गए। लेकिन बवाल तब मचा, जब प्रेमी के पिता ने अपनी भेड़ वापस मांग ली। दरअसल 22 जुलाई को पिपराइच क्षेत्र का एक युवक अपने ही गांव के एक व्यक्ति की पत्नी को लेकर भाग गया। मामला पुलिस तक पहुंचा। तो पिपराइच थाने में महिला ने प्रेमी का हाथ थामा और उसके साथ चली गई। पिछले हफ्ते प्रेमी और महिला का पति बेलीपार क्षेत्र के एक गांव में भेड़ चराते हुए आमने-सामने आकर विवाद कर बैठे। महिला भी साथ थी।


मुख्यमंत्री ने भ्रमण दल से किया सीधा संवाद

राणा ओबरॉय


चण्डीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि व्यक्ति को अपनी जड़ों को कभी भी नहीं छोडऩा चाहिए। अपनी मूल संस्कृति एवं मूल जन्म स्थान से जुड़े रहने से संस्कृतियों का प्रवाह पीढ़ी दर पीढ़ी चलता रहता है ।
मुख्यमंत्री फरीदाबाद के सूरजकुंड परिसर में स्थित होटल राजहंस में नो इंडिया प्रोग्राम (केआईपी) के अंतर्गत पहुंचे विभिन्न देशों के युवाओं से बातचीत के रहे थे। केआइपी कार्यक्रम भारत सरकार के विदेश मंत्रालय के अंतर्गत चलाया जा रहा है। इस कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न देशों के 18 से 30 आयु वर्ग के उन युवाओं का दल भारत में आता है ।जिनके पूर्वज यहां से संबधित रहे है। 54 वा के आई पी कार्यक्रम के तहत पिंजौर, कुरुक्षेत्र, हिसार, रोहतक व झज्जर सहित अनेक जिलों में ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, प्रशासनिक व अन्य जानकारी लेने के बाद आज फरीदाबाद पहुंचा।
मुख्यमंत्री ने भ्रमण पर पहुंचे दल से सीधा संवाद किया। उन्होंने हरियाणा के अनुभव पूछे। सभी ने हरियाणा और यहां की संस्कृति, विकास व अतिथि सत्कार।की दिल खोलकर तारीफ की। मुख्यमंत्री ने कहा कि मूल रूप से भारत से दूसरे देशों में गए लोगों और उन  देशों  में आज भी भारतीय संस्कृति की झलक मिलती है। मुख्यमंत्री ने मॉरिशस का जिक्र करते हुए कहा कि बीती जनवरी में वहां गीता जयंती का आयोजन किया गया था। उन्होंने अतिथि बच्चो से भी कहा की वे भी गीता को जाने यह केवल ग्रंथ नहीं है बल्कि  जीवन दर्शन है यह अकेला ग्रंथ है जिसकी रचना युद्ध के मैदान में हुई। वें केआइपी कार्यक्रम के तहत नौ देशों के 40 युवाओं का दल रहा। इस दल में फिजी से सात, ग्यना से छह, इजरायल से दो, मोरिशश से सात, म्यानमार तीन, रियूनियन आयरलैंड से एक, साउथ अफ्रीका से दो, सूरीनाम से पांच तथा त्रिनिदाद एंड टोबैगो से सात प्रतिनिधि शामिल थे। खास बात यह रही कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने खानपान रहा भाषा एवं संस्कृति पर चर्चा  के साथ अतिथियों का सम्मान करते हुए सभी एट होम कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता भी दिया।
इस अवसर पर हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा, हरियाणा टूरिज्म के महानिदेशक एवं एसीएस विजय वर्धन, मंडलायुक्त डॉ जी अनुपमा, टूरिज्म विभाग के निदेशक विकास यादव,सुरजकुंड टूरिज्म के इंचार्ज राजेश जून सहित कई अधिकारी उपस्थित थे।


मुठभेड़ के बाद, तीन बदमाश गिरफ्तार

आगरा । थाना डौकी पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान 1 गैंग के तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। जो लूट डकैती जैसी संगीन वारदातों को अंजाम दिया करते थे।


दरअसल बीती रात पुलिस को सूचना मिली एक लूट के मुकदमे में वांछित अपराधी बाजितपुर से टूंडला की तरफ जा रहा है या पुलिस ने घेराबंदी करके उन्हें पकड़ने की कोशिश की तो बदमाशों के द्वारा पुलिस पर गोली चला दी। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग करते हुए मुठभेड़ के दौरान लूट में वांछित अपराधी रूप सिंह सहित 3 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से लूटा हुआ ट्रैक्टर दो बाइक एक तमंचा और दो मोबाइल बरामद किए हैं। पुलिस इन्हें जेल भेजने की तैयारी में है।


रक्तदान शिविर लगा,मनाई अवंतीबाई जयंती

रक्तदान शिविर लगा,मनाई अवंतीबाई लोधी जयंती
आगरा। संकल्प सेवा संस्था ने अवंतीबाई लोधी की 188वीं जयंती के उपलक्ष्य में रक्तदान शिविर का आयोजन ओम ब्लड बैंक पर किया। 
संकल्प ग्रामीण के अध्यक्ष उमेंद्र राजपूत ने कहा कि रक्तदान करने से समय पर किसी ज़रूरत मंद की ज़िंदगी बचाई जा सकती है। इसलिए सभी को समय समय पर रक्तदान करता रहना चाहिए। रक्तदान शिविर में 20 यूनिट रक्त दान किया।
ग्रामीण क्षेत्र के अध्यक्ष  उमेन्द्र राजपूत ने रक्त दान पर जागरूकता के लिए बताया कि भारत देश में प्रति बर्ष 80 लाख यूनिट रक्त की आवश्यकता पड़ती हैं। जिसमे से करीब 50 लाख यूनिट रक्त की पूर्ति ही भारत बर्ष में हो पाती है। करीब 30 लाख मरीज रक्त न मिलने से बंचित रहे जाते हैं। अथवा 30 लाख लोगों की मृत्यु रक्त की कमी से हर वर्ष होती है संस्था का एक ही उद्देश्य है। 30 लाख मरीज की मृत्यु जो रक्त के अभाव में जाती हैं। संस्था के प्रयास से उनमे कुछ कमी आये इस लिये संस्था शहरी क्षेत्रों के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में रक्तदान शिवर लगाती हैं और आगरा की विभिन्न ब्लड बैंको में उसे सुरक्षित रखते हैं। जिससे मरीज को रक्त की जरूरत पड़ने पर उस तक पहुँचाया जाए।
प्रमुख रूप से रक्तदान वीर सिकंदर राजपूत, संतोष कुमार लोधी,प्रशांत राजपूत ,हरिश्चंद्र लोधी, विकास राजपूत,महेश राजपूत,नीरज कुमार लोधी,राजू राजपूत,देवेंद्र सिंह ,गिर्राज सिंह लोधी इत्यादि। कार्यक्रम में उपस्थित संकल्प के मुखिया ब्रजेश पंडित, अलका सिंह, उमेन्द्र राजपूत अनिल ठाकुर, हरिकिशन लोधी, टीटू कुमार,योगेश,भूदेव प्रेमी,इत्यादि रहे।


हॉस्पिटल स्टाफ ने गर्भवती का परचा फाडा

लेडी लॉयल में नर्स ने गर्भवती का पर्चा फाड़ा, पांच घंटे तक तड़पती रही गर्भवती


आगरा। शहर के लेडी लॉयल से गर्भवती भगाए जाने की घटना शुक्रवार की बताई जा रही है। एक बार फिर अस्पताल प्रबंधन एवं स्टाफ की लापरवाही सामने आई है।  जानकारी के अनुसार हॉस्पिटल स्टाफ ने शुक्रवार को गर्भवती महिला का पर्चा फाड़कर आशा के मुंह पर मार दिया। गर्भवती को भी भर्ती नहीं किया। पांच घंटे तक गर्भवती दर्द से कराहती रही। इसकी शिकायत आशा ने सीएमओ ऑफिस में की, तब जाकर उसे भर्ती किया गया।
चक्कीपाट निवासी शिवानी (21) नौ माह की गर्भवती है। जिसका इलाज रकाबगंज स्थित नेशनल अर्बन हेल्थ मिशन के अंतर्गत स्वास्थ्य केंद्र पर चल रहा था। शिवानी का पति नीरज उसको सुबह साढ़े नौ बजे लेडी लायल लेकर पहुंचा। साथ में आई आशा सविता इलाज के पर्चे लेकर लेडी लायल अस्‍पताल पहुंची।


कांग्रेस विस चुनाव में तलाश रही अपनी जमीन

रोहतक । हरियाणा में हुड्डा द्वारा आयोजित रोहतक रैली को लेकर चर्चा का बाजार गर्म है। सरकार भी अपनी आंखें खोलकर इस रैली पर ध्यान केंद्रित कर रही है। रोहतक रैली को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता व पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पूरी तरह से सक्रिय हो गए हैं। हुड्डा ने रैली को लेकर शरद पंवार के नेतृत्व वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेताओं से मुलाकात कर नई चर्चा को जन्म दे दिया है। इसी बहाने कांग्रेस आलाकमान पर भी दबाव बंनाने का प्रयास कर रहे हैं। देखना यह है कि वह इस रणनीति में कितना कामयाब होते हैं। हालांकि उन्होंने रैली की तैयारियों पर चर्चा को लेकर मुलाकात की है। वहीं हुड्डा आज कांग्रेस पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर सकते हैं। बता दें, हुड्डा 18 अगस्त को रोहतक में महा परिवर्तन रैली कर रहे हैं। रैली के जरिये हुड्डा अपना शक्ति प्रदर्शन करने के साथ-साथ केंद्रीय नेतृत्व को भी संदेश देना चाहते हैं। हुड्डा समर्थक चाहते हैं कि चुनावी रण में उतरने से पहले हाईकमान हरियाणा के बारे में स्पष्ट फैसला ले। हरियाणा में अक्टूबर में विधानसभा चुनाव होंगे, लेकिन गुटों में बंटी कांग्रेस के पास चुनावी रण में उतरने की कोई स्पष्ट लाइन नहीं है। बता दें हुड्डा समर्थकों की लड़ाई न केवल प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर है, बल्कि टिकट बांटने की पावर भी हुड्डा को दिए जाने की लड़ाई लड़ी जा रही है। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हुड्डा की महापरिवर्तन रैली पर कांग्रेस हाईकमान के साथ-साथ सत्तारूढ़ भाजपा, इनेलो, जजपा, बसपा और आम आदमी पार्टी की भी निगाह टिकी हुई है।


डीएम:10 माह बाद दिया प्रधान को चार्ज

रंग लाई हाजी शौकत की कानूनी लड़ाई, डीएम ने दिया प्रधान का चार्ज


मुरादाबाद । सोनकपुर देहात के ग्राम प्रधान हाजी शौकत हुसैन की कानूनी लड़ाई रंग लाई। प्रशासन की ओर से वित्तीय और प्रशासनिक अधिकार छिनने के बाद कोर्ट गए प्रधान ने दस महीने के संघर्ष के बाद अपने को सही साबित किया। कोर्ट के आदेश पर डीएम ने प्रधान को चार्ज लेने को कहा है। बता दे कि बीती 22 नवंबर 2018 को जिला अधिकारी राकेश कुमार सिंह ने जांच में वित्तीय अनियमितताओं का दोषी मिलने पर सोनकपुर देहात के प्रधान शौकत हुसैन के वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार सीज कर दिए। जिसके खिलाफ हाजी शौकत हुसैन ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर की। जिसमें कोर्ट ने 3 जुलाई 2019 को जिला मजिस्ट्रेट मुरादाबाद के पूर्व में किए आदेश को निरस्त कर दिया। कोर्ट के आदेश के बाद भी जिला प्रशासन ने हाजी शौकत हुसैन को ग्राम प्रधान पद का चार्ज देने के बजाय जिला प्रशासन द्वारा ग्राम प्रधान पद पर बीती 6 जुलाई 2019 को चुनाव करा दिया गया था। इस पर हाजी शौकत हुसैन ने कोर्ट के आदेश की अवमानना की याचिका दायर की। इस पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति महेश चंद्र त्रिपाठी द्वारा 11 जुलाई को जिला मजिस्ट्रेट मुरादाबाद राकेश कुमार सिंह को नोटिस जारी किया और सुनवाई को 16 अगस्त की तारीख मुकर्रर की गई। कोर्ट के आदेश पर जिला मजिस्ट्रेट ने सोनकपुर देहात के प्रधान हाजी शौकत हुसैन को ग्राम प्रधान पद का चार्ज दे दिया गया । इसके चलते दस महीनों से प्रशासन और प्रधान के बीच चल रही कशमकश का पटाक्षेप हो गया ।


सीटीईटी परीक्षा:20 भाषा,110 केन्‍द्र होगे

नई दिल्ली। सीबीएसई ने केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा की तिथि घोषित कर दी है। सीबीएसई ने ऐलान किया है कि सीटीईटी के 13वें संस्करण का आयोजन 8 दिसंबर को किया जाएगा। सीटीईटी दिसंबर 2019 की परीक्षा पूरे देश में 110 शहरों में 20 भाषाओं में आयोजित होगी। नोटिफिकेशन में परीक्षा की भाषा, योग्यता, सिलेबस, शुल्क, शहर समेत तमाम जानकारियां होंगी। सीटीईटी दिसंबर- 2019 के लिए आवेदन की प्रक्रिया 19 अगस्त से शुरू होगी। ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 18 सितंबर तय की गई है। 23 सितंबर दोपहर 3.30 बजे तक फीस का भुगतान किया जा सकेगा। ज्ञात हो कि सीबीएसई द्वारा वर्ष में दो बार (जुलाई एवं दिसंबर) सीटीईटी परीक्षा आयोजित की जाती है। 7 जुलाई को आयोजित हुई सीटीईटी परीक्षा का रिजल्ट 30 जुलाई को आया था। सीटेट जुलाई में 29 लाख 22 हजार अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। इसमें 23 लाख 77 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए थे।


सीबीएसई की मानें तो पहली बार सीटीईटी का परिणाम मात्र 23 दिनों में जारी किया गया है। इनमें से 3.52 लाख अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए थे। परीक्षा 114 शहरों में हुई थी। कक्षा 1 से 5 वीं कक्षा के लिए पेपर नंबर 1 और 6 से 8वीं कक्षा तक के लिए पेपर 2 का आयोजन होता है। राजनांदगांव सांसद संतोष पांडेय कवर्धा जिले के बैगा आदिवासी बाहुल्य इलाके के चिल्फी के बेंदा गांव पहुंचे। इस दौरान उन्होंने आबकारी विभाग की कस्टडी में मारे गए बैगा आदिवासी के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की। अपने चिल्फी प्रवास के दौरान संतोष पांडेय ने इलाके के बैगा आदिवसियों के पलायन को लेकर चींता जताई। उन्होंने बैगा आदिवासियों के पलायन को लेकर कहा कि गांव से शहर की ओर पलायन करना एक गंभीर समस्या है। पलायन देश के विकास में बाधक है।


रवि शास्त्री बनाये टीम इंडिया के प्रधान कोच

 नई दिल्ली। वल्र्ड कप-2019 के सेमीफाइनल में टीम इंडिया की अप्रत्याशित हार के बाद लगा था कि रवि शास्त्री का कोच पद पर दोबारा चुना जाना मुश्किल है। लेकिन लंबी कवायद के बाद फिर उन्हीं के नाम पर क्रिकेट सलाहकार समिति ने मुहर लगा दी। इसके साथ ही 57 साल के रवि शास्त्री एक बार फिर भारतीय टीम के मुख्य कोच पद पर काबिज हो गए। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उनके नाम की घोषणा की। वह 2021 तक टीम इंडिया के हेड कोच बने रहेंगे। टीम इंडिया के मुख्य कोच के लिए 6 नामों को शॉर्टलिस्ट किया गया था, जिसमें मौजूदा कोच रवि शास्त्री भी शामिल थे। शास्त्री के अलावा दो और भारतीय कोच (पूर्व क्रिकेटर लालचंद राजपूत और रॉबिन सिंह) भी शॉर्ट लिस्ट किए गए थे। आखिरकार कपिल देव के नेतृत्व वाली सीएसी की पहली पसंद रवि शास्त्री बने। इस समिति में अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी भी शामिल हैं।


चुनौती देने की हिमाकत न करे: किम जोंग

नई दिल्ली। उत्तर कोरिया ने शनिवार को कहा कि उसके नेता किम जोंग उन की निगरानी में एक नये हथियार का परीक्षण किया गया जिसे धीमी परमाणु वार्ता और संयुक्त सैन्य अभ्यासों को लेकर अमेरिका तथा दक्षिण कोरिया पर दबाव बनाने के तौर पर देखा जा रहा है। प्योंगयांग की कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने शनिवार को कहा कि शुक्रवार को हुए परीक्षण की निगरानी करने वाले किम ने हालिया परीक्षण गतिविधियों में अपनी सेना की रहस्यमयी और शानदार सफलता दर को लेकर संतोष जताया है। साथ ही उन्होंने अजेय सैन्य क्षमताएं हासिल करने का आह्वान किया। जिसे कोई चुनौती देने की हिमाकत न कर पाए।


भाजपा राज में यूपी बना हत्या प्रदेश:अखिलेश

लखनऊ। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है। मुख्यमंत्री के अपराध नियंत्रण के दावे कागजी साबित हो रहे हैं, अपराधी बेखौफ हैं। भाजपा राज में यूपी 'हत्या प्रदेश' बन गया है।
अखिलेश ने एक बयान में कहा, प्रधानमंत्री 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' का नारा देते हैं, लेकिन भाजपा राज में बेटियां ही सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं। जब देश स्वाधीनता दिवस मना रहा था, तब बाराबंकी के टिकैतराय नगर थानाक्षेत्र में 16 वर्षीय किशोरी की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई।
कानपुर के बिठूर में एक किशोरी ने बलात्कार के बाद आत्महत्या कर ली। लखनऊ के ठाकुरगंज में एक छात्रा ने परेशान होकर स्कूल जाना ही छोड़ दिया। राजधानी में ही तेलीबाग की एक छात्रा ने आत्महत्या कर ली। हाथरस सदर कोतवाली क्षेत्र की एक छात्रा से दुष्कर्म किया गया। संभल में नाबालिग लड़की से छेड़खानी की घटना हुई। ग्रेटर नोएडा में एक महिला को कार से अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म किया गया।
सपा अध्यक्ष ने कहा, सहारनपुर में अवैध खनन रोकने पर पुलिस पर जेसीबी चढ़ा दी गई। इटावा में बदमाशों ने डिप्टी जेलर पर हमला कर दिया। लखनऊ में वायरलेस चौराहे पर एक सिपाही पर बाइक चढ़ा दी। शाहजहांपुर में एसडीएम और सीओ के घर पर लोगों ने हंगामा कर दिया। गाजियाबाद में सब इंस्पेक्टर ने और बिजनौर में सिपाही ने खुदकुशी कर ली।


75वे सालाना उर्स का आयोजन किया

नासिर हुसैन अब्बासी


गौतमबुध नगर-दनकौर । हजरत़ कुतबत मशाइख़ आशिके ख़्वाजगान अलहाज मौलाना मुहम्मद लुत्फुल्लाह शाह़ चिश्ती निजामी बाबा फि़रोज़ शाह़ चिश्ती रहमतुल्लाह अलैह का 75 वाँ सालाना उर्स मुकद्दस बडी शानो शौकत से शुरू हो गया। प्रोग्राम 16 से 17,18 तीन दिन बरोज जुम्मा, शनिवार, इतवार तक कस्बा दनकौर,गौतमबुद्ध नगर मे चलेगा। 16 अगस्त बरोज जुम्मा मे शाम पाच बजे जूलुस चादर शरीफ दुआख़ाना दुर्वेश मंजिल से दरगाहें शरीफ तक गई। फिर रात नो बजे मिलाद शरीफ व दस बजे महफिल ए कव्वाली होगी।17 अगस्त बरोज शनिचर रात नो बजे तकरीर उलमा-ए-किराम व दस बजे महफिल ए कव्वाली होगी।18 अगस्त बरोज इतवार सुबहा 11 बजे कुल शरींफ हजरत मौलाना लुत्फुल्लाह शाह़ चिश्ती निजामी अलैहिर्रहमा व रात नो बजे मिलाद शरीफ व दस बजे महफिल ए कव्वाली होगी।
जिसमे हिन्दस्तान की मशहूर ओ मारूफ कव्वाल पार्टियां शिरकत करेगी वही बाहर से मेहमानों का खाने व रूकने का माकुल इन्तजाम रहेगा। दरगाहें पर गंगा जमनी तहजीब का अजीब नजारा देखने को मिलता हैं यहा हर कौम के लोग अपनी अपनी मन्नतों को पुरा करनें के बाबा के दरबार मे हाजरी लगाते हैं।


बागी विधायक ने खरीदी 11करोड़ की कार

कांग्रेस के बागी विधायक ने खरीदी 11 करोड़ की कार
बंगलुरु । कर्नाटक में कांग्रेस से बगावत के बाद अयोग्य ठहराए गए 14 विधायकों में से एक एमटीबी नागराज फिर सुर्खियों में हैं इस बार वह महंगी कार खरीदने से चर्चा में हैं। एमटीबी नागराज ने रोल्स रॉयस फैंटम VIII नामक 11 करोड़ कीमत की कार खरीदी है। हालांकि टैक्स आदि चुकाने के बाद इस लग्जरी कार की कीमत और बढ़ सकती है। कर्नाटक-जेडीएस सरकार के कुल 17 विधायकों ने नाराजगी के चलते जुलाई में इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद राज्य में चल रही गठबंधन सरकार गिर गई थी। हालांकि तब विधानसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस के 14 विधायकों को अयोग्य ठहराया था। इन्हीं विधायकों में एमटीवी नागराज  भी शामिल थे। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि अभी उन्होंने अपनी कार पर टैक्स अदा नहीं किया है। वह कर्नाटक के पहले नेता नहीं है, जिनके पास इतनी महंगी कार है। कर्नाटक में खनन के लिए चर्चित जनार्दन रेड्डी के पास भी ऐसी ही कार है। एमटीवी नागराज के इतनी महंगी कार खरीदने पर किसी को हैरानी इसलिए नहीं हुई क्योंकि वह देश के सबसे अमीर विधायकों में शामिल हैं।


देशभक्ति का जज्बा है मिशन मंगल:अक्षय

नई दिल्ली । लंबे अरसे से 15 अगस्त पर देशभक्ति वाली फिल्में रिलीज करने की परम्परा का पालन करते हुए अक्षय कुमार इस साल भी देश प्रेम से सजी 'मिशन मंगल' लेकर आए हैं। इस मुलाकात में वह फिल्म, अपनी जिंदगी पर महिलाओं के प्रभाव, सबसे अमीर आदमी बनने की फीलिंग और फीस हाइक जैसे मुद्दों पर बात करते हैं।आपकी फिल्म 'मिशन मंगल' में महिला सशक्तीकरण का नया रूप दिख रहा है यानी वह साइंटिस्ट के रूप में नजर आ रही हैं !


सच कहूं, तो मेरी जिंदगी हो या मेरा बचपन या इतिहास, हर जगह महिला सशक्तीकरण के उदाहरण देखने को मिलते हैं। हर जगह महिलाओं का योगदान प्रबल रहा है, मगर शर्म की बात है कि हमारे इतिहास के पन्नों में, हमारी पढ़ाई में, सिर्फ मर्दों के बारे में लिखा गया है। हमको बचपन से ही सिखाया जाता है कि मेरा बेटा इंजिनियर बनेगा। मेरी बेटी डॉक्टर बनेगी। कभी ये नहीं कहा जाता कि मेरी बेटी इंजिनियर बनेगी। ऐसा क्यों नहीं कहते हैं ये लोग! इसीलिए न कि इन्होंने स्टीरियोटाइप बना दिया है। उनका मानना है कि बेटी तो इंजिनियर बन ही नहीं सकती, क्योंकि इंजिनियरिंग मर्दों का काम है। वे डॉक्टर या नर्स बन सकती हैं, ये तो उनका काम ही नहीं है। कोई लड़की कहे कि मुझे पायलट बनना है, तो उसे कहा जाएगा, पायलट तो लड़के बनते हैं। हाल ही में अब जाकर तो लड़कियों का पायलट बनना शुरू हुआ है। अपने आसपास जब मैं इस कदर पितृ सत्तात्मक सोच को देखता हूं कि उन्होंने औरतों को एक सांचे में ढाल रखा है। मैं सोचता हूं कि इस स्टीरियोटाइप को तोड़नेवाली ज्यादा से ज्यादा फिल्में बनाऊं।


आपकी फिल्मों में महिला किरदार मजबूती लिए होते हैं। चाहे वह 'रुस्तम' हो या 'टॉयलेट एक प्रेम कथा' अथवा 'पैडमैन' या फिर 'मिशन मंगल', महिलाओं के प्रति ये सोच आपके मन में कब आई? 
मैं हमेशा से महिलाओं की ताकत को लेकर जागरूक रहा हूं। हमेशा से उनके मजबूत पहलुओं पर फिल्म बनाना चाहता था, तब मेरे पास पैसे नहीं थे। जब पैसे आए और मैं इस लायक हुआ कि अपनी सोच और रुचि की फिल्में बना सकूं, तो बनाने लगा।


लंदन में 370 समर्थक और विरोधी भिड़े

लंदन । भारतीय उच्चायोग के सामने गुरुवार को स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर अनुच्छेद 370 हटाने के समर्थक और विरोधी कथित तौर पर आमने-सामने आ गए। लंदन में 61 वर्षीय नौकरीपेशा भारत सचानिया उच्चायोग की इमारत के बाहर भारतीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में भाग लेने के लिए गए थे। उन्होंने कहा कि समर्थकों से अधिक वहां पर विरोध प्रदर्शन करने वाले मौजूद थे।



उन्होंने बताया, “यह सारा नज़ारा भारतीय उच्चायुक्त रुचि घनश्याम उच्चायोग के अंदर से देख रही थीं। जैसे ही प्रदर्शनकारियों ने समर्थकों को घेर लिया और उन्होंने टमाटर, पानी की बोतलें, अंडे फेंकने शुरू किए तो भारतीय उच्चायुक्त चिंतित हो गईं और इसके कारण उन्होंने लंदन पुलिस बल को फ़ोन करके और सुरक्षा बल भेजने के लिए कहा.”भारत सचानिया ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त रुचि घनश्याम के साथ है। उन्होंने पुलिस की मदद से समर्थकों को बचाया और उन्हें भारतीय उच्चायोग के अंदर ले गईं। भारत सचानिया का कहना है कि सभी समर्थक डेढ़ घंटे तक वहां रहे, एक समर्थक ने बताया कि उसकी आंखों पर अंडे और टमाटर फेंके गए। धीरे-धीरे लोग भारतीय उच्चायोग के बाहर से जाने लगे और कई मेट्रो ट्रेन प्रदर्शनकारियों से भर गईं।


'थार लिंक एक्सप्रेस' अगले आदेश तक रद्द

नई दिल्ली । भारत और पाकिस्तान के तल्ख रिश्तों का असर अब थार लिंक एक्सप्रेस पर भी दिखने लगा है। यात्रियों को भारत से पाकिस्तान ले जाने वाली थार लिंक एक्सप्रेस को रेल मंत्रालय के आदेश के बाद आगामी आदेश तक रद्द कर दिया गया है। थार लिंक एक्सप्रेस को रेल मंत्रालय ने अगले आदेश तक किया रद्द घोषित कर दिया है। रेल मंत्रालय ने एक आदेश निकाल कर आगामी आदेश तक भगत की कोठी-मुनाबाव, भगत एक्सप्रेस रेल सेवा और मुनाबाव जीरो पॉइंट, मुनाबाव एक्सप्रेस रेलसेवा को रद्द कर दिया है।


जोधपुर जिले में स्थित भगत की कोठी रेलवे स्टेशन से शुक्रवार को यह रेल रवाना होने वाली थी। इस ट्रेन में 45 यात्रियों ने अपना टिकट बुक करवाया था। रेलवे विभाग के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी गोपाल शर्मा ने बताया कि रेल मंत्रालय ने आदेश निकाल कर आगामी आदेश तक भगत की कोठी से मुनाबाव रेलवे स्टेशन तक जाने वाली और मुनाबाव से पॉइंट जीरो तक जाने वाली दोनों गाड़ियों को रद्द कर दिया है। थार लिंक एक्सप्रेस 18 फरवरी 2006 से जोधपुर के भगत की कोठी स्टेशन से कराची के बीच हर शुक्रवार रात को चलाई जाती थी। उससे पहले दोनों देशों में तनाव के कारण यह एक्सप्रेस ट्रेन सेवा लगभग 41 वर्षों तक स्थगित थी। पाकिस्तान ने अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जें को समाप्त करने के भारत के फैसले के बाद द्विपक्षीय संबंधों का दर्जा कम करने का निर्णय लिया था। इसी कारण से पाकिस्तान ने थार एक्सप्रेस और समझौता एक्सप्रेस ट्रेन सेवा को रद्द कर दिया था।


थार लिंक एक्सप्रेस ट्रेन राजस्थान के जोधपुर जिले में स्थित भगत की कोठी रेलवे स्टेशन से पाकिस्तान के जीरो माइल रेलवे स्टेशन तक तक चलती है। यह स्टेशन भारतीय सीमा के करीब है। जीरो माइल रेलवे स्टेशन पर ही पाकिस्तान की थार लिंक एक्सप्रेस ट्रेन कराची से आती है और इसी स्टेशन पर सवारियों की अदला-बदली होती है। यानी जिन्हें भारत आना होता है वे भारतीय ट्रेन में सवार होते हैं। जबकि जिन्हें पाकिस्तान जाना होता है वे पाकिस्तानी ट्रेन में सवार हो जाते हैं। थार लिंक एक्सप्रेस साप्ताहिक ट्रेन है जो शुक्रवार देर रात 1 बजे जोधपुर के भगत की कोठी से रवाना होती है। पिछले हफ़्ते इस ट्रेन से 81 भारतीय और 84 पाकिस्तानी नागरिक पाकिस्तान पहुंचे थे, जबकि 62 भारतीय और 102 पाकिस्तानी नागरिक भारत आए थे।


बिना बैटरी, बिजली के जलता है बल्ब

नई दिल्ली । आपने कई तरह के बल्ब देखे होंगे जो बहुत ही बल्ब अपनी अपनी खासियत लिए रखते है। लेकिन आपको बता दे कि एक बल्ब ऐसा भी है जो बिना बिजली या बैटरी के भी जलता है। माना आप यही सोच रहे होंगे की ऐसा कैसे हो सकता है। जैसा की हम जानते है कि एक बल्ब को जलाने के लिये इन दोनों में से कोई एक तो ऊर्जा का स्त्रोत चाहिए। लेकिन बिना


बिजली का ये अऩोखा बल्ब देहरादून के 12वीं कक्षा के एक छात्र तेजित पबारी ने विकसित किया है। बता दे कि तेजित ने इसे जुगाड़ बल्ब नाम दिया है। जानकारी दे दे कि अपने इस अविष्कार की वजह से तेजित पूरी दुनिया में नाम कमा चुका है। इतना ही नही तेजित को गूगल साइंस फेयर 2016 में रीजनल फाइनलिस्ट भी मिल चुका है। इसकी खासियत बता दे कि इस जुगाड़ बल्ब को जलाने के लिए बिजली या बैटरी की आवश्यकता नहीं होती है। भारत जैसे देश के ग्रामीण क्षेत्रों में जहां बिजली और मूलभूत संसाधनों की कमी हैं, ऐसी जगहों पर ये बहुत ही कारगर साबित हो रहा है। आपको जानकारी देदे कि जुगाड़ बल्ब बनाने के लिए एक खाली बोतल में पानी और ब्लीच पाउडर की आवश्यकता होती है। आपको बता दे कि बोतल में भरा हुआ पानी सूरज के प्रकाश को परावर्तित करके कमरे को किसी बड़ी ट्यूबलाइट की तरह रोशन कर देता है। वैज्ञानिक बता रहे है कि ये पर्यावरण संरक्षण को भी बढ़ावा देता है तो ये बल्ब ही बहुत अच्छा साबित हो सकता है।


अवॉर्ड: कई खिलाड़ी बैठे हैं उम्मीद लगाकर

नई दिल्ली । अर्जेंटीना के स्टार फूटबॉलर लियोनल मेसी, पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो और नीदरलैंड के वर्जिक वान डिक को यूईएफए मेन्स प्लेयर ऑफ द ईयर अवॉर्ड के नामांकित किया गया है। मंगलवार को यूरोपियन फुटबॉल संघ ने इसकी घोषणा की। यूईएफए अवॉर्ड की घोषणा 29 अगस्त को मोनाको में चैम्पियंस लीग के ग्रुप स्टेज मैच के दौरान की जाएगी। वुमन्स प्लेयर ऑफ द ईयर के लिए इंग्लैंड की लुसी ब्रॉन्ज, नॉर्वे की एडा हेगरबर्ग और फ्रांस की एमेंडिन हेनरी को शॉर्टलिस्ट किया गया। तीनों ही लयोन के क्लब के लिए खेलती हैं।


साल 2011 में मेसी इस अवॉर्ड को जीतने वाले पहले खिलाड़ी बने थे। रोनाल्डो ने 2014, 2016 और 2017 में इस अवॉर्ड अपने नाम किया है। पिछले साल क्रोएशिया के कप्तान लुका मौड्रिच ने यूईएफए मेन्स प्लेयर ऑफ द ईयर अवॉर्ड जीता था। हालांकि क्रोएशिया वर्ल्ड कप के फाइनल में फ्रांस के खिलाफ हार गई थी। नीदरलैंड के वान डिक पिछले सीजन में चैम्पियंस लीग जीतने वाली लिवरपूल टीम का हिस्सा थे। इनके अलावा लीवरपूल के एलिसन बेकर, सादियो माने और मोहम्मद सलाह, रियाल मैड्रिड के ईडेन हेजार्ड, युवेंटस के मैथिस डी लिट, बार्सिलोना के फ्रैंकी डी जोंग और मैनचेस्टर के रहीम स्टर्लिंग भी इस अवार्ड की रेस में शामिल हैं।


प्राथमिकता मे ग्रामीण क्षेत्र का विकास

इटावा-चरकनगर। "ठंडी ठंडी छांव रे, नदी के किनारे गांव रे" के शब्दों से शुरुआत करते हुए क्षेत्रीय लेखपाल महेंद्र ने कार्यक्रम में वरिष्ठ अधिकारियों के आगमन और उनके ठहराव को देखकर बेहद प्रसन्नता जाहिर की और यह कहा कि यह गांव का बहुत बड़ा सौभाग्य है कि आज हमारे वरिष्ठ अधिकारी और जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारी मौके पर उपस्थित होकर हम कर्मचारियों को दिशा निर्देशन करते हुए गांव के समग्र विकास के लिए कमर कसी है। हम और हमारी सभी जनता पहले तो इन वरिष्ठ अधिकारियों का स्वागत करें और तहे दिल से पूरा पूरा सहयोग भी प्रदान करें। ताकि उठाए गए कदम को और अवाधगति से आगे बढ़ाया जा सके। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता सेवानिवृत्त निदेशक स्वास्थ्य डॉक्टर रामबाबू तिवारी ने की और कार्यक्रम का संचालन स्थानीय लेखपाल महिंद्र सिंह यादव ने किया। कुशल दिशा निर्देशन आईएएस उपजिलाधिकारी इंद्रजीत सिंह का रहा।


 जानकारी के अनुसार उपजिलाधिकारी चकरनगर इंद्रजीत सिंह आईएएस के द्वारा यह मंशा बनाई गई की स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए जब हम गांव का विकास स्वतंत्र रूप से आगे बढ़ाएंगे तभी हमारी सार्थकता साबित होगी।  श्री सिंह ने सबसे पहले गांव खरीटी चुना जिसमें उन्होंने मौके पर आकर राजस्व, विभाग विकास विभाग के साथ साथ शिक्षा विभाग के समस्त वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर बुलाकर गांव खरीटी में स्वतंत्रता दिवस पर पहल नुमा एक ऐसा अनूठा कार्यक्रम चालू किया है। जो आज तक किसी भी अधिकारी ने करना तो बहुत दूर, सोचा भी नहीं होगा। इस कार्यक्रम से एसे किसानों को लाभ मिलेगा कि जो लाभ विकासखंड या तहसील स्तर पर आकर बड़े बड़े पेट के लोग या चलते पुर्जा लोग अपने हिमायतदारों को दे देते हैं ।बाकी के लोग योजना का लाभ नहीं उठा पाते हैं। अब श्री सिंह की यह मंशा है की स्वतंत्रता तभी सिद्ध साबित होगी कि जब हमारी हर व्यवस्था स्वतंत्र रूप से विकास युक्त हो विकास उन्मुख होती हुई। हर किसान हर प्रार्थी को प्राप्त हुई हर व्यक्ति खुशहाल होगा। जिसके तहत उन्होंने बताया कि हर विभाग का हर कर्मचारी व अधिकारी मौके पर आकर गांव में ही सारी समस्याओं का निस्तारण करेगा। इस निस्तारण में हमारा अपने स्तर से पूरा सहयोग होगा। कहीं कोई किसी तरह की अटकलें आतीं है तो उसका निस्तारण में अपने स्तर से करूंगा बाकी का जिस विभाग का जो कार्य है। एक लंबे समय तक चलेगा इस समय अवधि में कोई भी प्रार्थी अपने प्रार्थना पत्र को देकर अपनी समस्या को पटल पर रख कर उसका तुरंत निस्तारण करवा सकता है। इस सराहनीय कदम के लिए अध्यक्षता कर रहे निदेशक रामबाबू तिवारी ने उप जिलाधिकारी महोदय की इस योजना को बहुत ही सराहा और यह कहा कि ऐसा अधिकारी मैंने वाकई बहुत कम देखें जो इतनी लगन और मेहनत के साथ एक विकास के लिए सोच बनाई हो। इस अवसर पर युवाकल्याण अधिकारी हरी तिवारी, सूरज सिंह यादव एडीओ पंचायत, एबीएसए दिग्विजय सिंह,शिवनाथ सिंह एडीओ एस के, विवेक कुमार पूर्ति निरीक्षक, मदन गोपाल, महेंद्र सिंह यादव, नवीन कुमार, बालेंद्र कुमार, अरविंद कुमार पंचायत सचिव के साथ साथ तमाम कर्मचारी मौके पर उपस्थित रहे। ग्रामीणों की उपस्थिति देखकर अधिकारियों का भी मन कार्यक्रम के प्रति विशेष उत्साहित था।
रिपोर्ट डॉ एसबीएस चौहान


इंजेक्शन देकर नाबालिग से करता था दुष्कर्म

Search
HOMEनाबालिग को इंजेक्शन लगाकर दुष्कर्म करता था झोलाछाप, गर्भ से हुई तो हुआ खुलासा
उत्तर-प्रदेश गोरखपुर
नाबालिग को इंजेक्शन लगाकर दुष्कर्म करता था झोलाछाप, गर्भ से हुई तो हुआ खुलासा
 17 hours ago Purvanchal Post


Advertisements


 


 
गोरखपुर। बांसगांव नगर पंचायत के एक वार्ड की निवासी 13 वर्षीय किशोरी के गर्भवती होने के बाद पुलिस ने आरोपित झोलाछाप के खिलाफ दुष्कर्म, धमकी व पोक्सो एक्ट में केस दर्ज किया। आरोपित पुलिस की हिरासत में है।


पीड़िता की मां ने बांसगांव थाने में तहरीर देकर बताया कि छह माह पहले बुखार से पीड़ित बेटी को इलाज के लिए ग्राम बेदौली पल्टन सिंह में क्लीनिक चलाने वाले झोलाछाप के पास ले गई। झोलाछाप ने दवा दी और दो दिन बाद आने को कहा। तीसरे दिन बेटी झोलाछाप की क्लीनिक पर गई, जहां बेहोशी का इंजेक्शन लगाकर झोलाछाप ने उसके साथ दुष्कर्म किया। बेटी को होश में आने पर धमकी दी कि किसी को कुछ बताया तो हत्या करा देंगे। इसके बाद झोलाछाप हर सप्ताह इलाज के नाम पर बेटी को बुलाता और हवस का शिकार बनाता। इस बीच उसे चक्कर आया तो सरकारी अस्पताल ले गई तो पता चला कि वह छह माह के गर्भ से है। इस बारे में पूछने पर बेटी ने झोलाछाप विनोद कुमार का नाम बताया। बांसगांव थानाध्यक्ष ने बताया कि आरोपित झोलाछाप के खिलाफ दुष्कर्म, धमकी व पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।


अमेरिका:5 राज्य मे फेफड़ों की बीमारी

नई दिल्ली। अमेरिका में राष्ट्रीय और राज्य स्तर के सभी अधिकारी एक रहस्यमी फेफड़ों की बीमारी की जांच कर रहे हैं, जिसके अभी तक करीब 100 मामले सामने आ चुके हैं। ये संदिग्ध बीमारी अभी 14 राज्यों में लोगों को हुई है। कहा जा रहा है कि ये वेपिंग और ई-सिगरेट के कारण हो रही है। इसकी चपेट में अधिकतर युवा और युवावस्था में कदम रखने वाले आ रहे हैं। बड़ी संख्या में इस बीमारी से पीडि़त लोग अस्पताल में भर्ती हैं। इनमें से कुछ इंटेंसिव यूनिट में हैं, जबकि कुछ को वेंटिलेटर पर रखा गया है।  अधिकारियों का कहना है कि 31 मामलों की पुष्टि शुक्रवार को ही हुई है। कई मामलों में अभी भी जांच की जा रही है।चिकित्सा अधिकारियों का कहना है कि यह स्पष्ट तौर पर नहीं कह सकते कि मरीज कब पूरी तरह ठीक होंगे। अधिकारियों ने चिकित्सकों और लोगों को सचेत रहने को कहा है। उनका कहना है कि यह एक बेहद खतरनाक फेफड़ों की बीमारी है। इस बीमारी के लक्षण हैं, सांस लेने में तकलीफ होना, सांस में कमी और सीने में दर्द होना। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि मरीजों को बुखार, खांसी, उल्टी और दस्त की भी शिकायत आई है। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल  और प्रिवेंशन ने कहा कि अधिकारी स्वास्थ्य विभाग के साथ पांच राज्यों में जिन मामलों की पुष्टि हो गई है, उनपर काम कर रहे हैं। ये पांच राज्य कैलिफोर्निया, इंडियाना, मिनेसोटा, इलियोनिस और विस्कोंसिन हैं।


साले ने जीजा के करोड़ों का किया गबन

चूरू। राजस्थान के चूरू में अपने जीजा को करोड़ों रुपयों का चूना लगाने वाले आरोपी साले को कोतवाली थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि साले ने अपने जीजा के 2 करोड़ 17 लाख रुपयों का  गबन किया है। आरोपी काफी समय से फरार था। पुलिस आरोपी को आज अदालत में पेश करेगी। शहर के कायम टेलिकॉम के जाकिर खान ने फरवरी 2018 में कोतवाली थाने में अपने साले कासिम के खिलाफ करोड़ों रुपयों के गबन का मामला दर्ज करवाया था। आरोपी कासिम कायम टेलिकॉम में मैनेजर था। आरोप है कि वर्ष 2008 से 2018 तक दस बरसों में उसने 2 करोड़ 17 लाख रुपए की राशि का गबन कर लिया। मामला दर्ज होने के बाद आरोपी पहले काफी दिन तक फरार रहा। उसके बाद हाईकोर्ट की शरण में चला गया। हाईकोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिये थे गिरफ्तारी के डेढ़ महीने पहले आरोपी को नोटिस दिया जाए। कोतवाली पुलिस द्वारा नोटिस दिए जाने के बाद आरोपी फिर से फरार हो गया। पुलिस आरोपी को ट्रेस कर रही थी। शुक्रवार को आरोपी की सूचना मिलते ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बहरहाल पुलिस आरोपी से गबन की राशि के बरामदगी के प्रयास कर रही है। आज उसे कोर्ट में पेश किया गया।


प्रधानमंत्री भूटान के दो दिवसीय दौरे पर

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार से दो दिवसीय दौरे पर भूटान पहुंच गए हैं। पहुंचने के बाद उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। 17 से 18 अगस्त तक चलने वाली इस यात्रा के दौरान दोनों देश द्विपक्षीय संबंधों सहित कई आपसी हितों से जुड़े विभिन्न विषयों पर चर्चा करेंगे, जिसमें पनबिजली क्षेत्र में सहयोग सहित दोनों देशों के लोगों के बीच संपर्क बढ़ाने का विषय भी शामिल हो सकता है। दौरे से पहले भूटान ने 15 अगस्त को प्रधानमंत्री की सराहना करते हुए कहा था कि वह ऐसे शख्स हैं जो भारत को आगे ले जाना चाहते हैं।


रामगोपाल ने भेजे अश्लील वीडियो:शर्लिन

मुंबई । बॉलीवुड एक्ट्रेस और मॉडल शर्लिन चोपड़ा ने डायरेक्टर और प्रोड्यूसर राम गोपाल वर्मा से जुड़ा एक शॉकिंग खुलासा किया। उन्होंने कहा कि रामगोपाल ने उन्हें एडल्ट फिल्म का प्रपोजल और अश्लील वीडियो भेजे थे। स्पॉटबॉय को दिए इंटरव्यू में शर्लिन चोपड़ा ने इस बात का खुलासा किया। उन्होंने कहा, 2016 में मैंने राम गोपाल वर्मा को व्हाट्सएप पर अपनी कुछ फोटोज भेजे थे और उन्हें अपना वर्क प्रोफाइल बताया था। मैंने उनसे उनके प्रेजेंट प्रोजेक्ट के बारे में पूछा। शर्लिन के बयान के मुताबिक राम गोपाल वर्मा ने उन्हें एडल्ट फिल्म की स्क्रिप्ट और अश्लील वीडियो भेजे और कहा, ये मेरी स्क्रिप्ट है, इसे देख लें और अपना फीडबैक दें। शर्लिन ने बताया कि जब उन्होंने वर्मा की स्क्रिप्ट पढ़ी तो उसमें कोई स्टोरी ही नहीं थी. जो था वो सिर्फ एडल्ट सीन्स थे। शर्लिन ने स्क्रिप्ट देखकर कहा, ये कैसे हो सकता है? एक था राजा एक थी रानी, राजा ने किया रानी के साथ किया सेक्स, खत्म हुई कहानी, ये कैसे हो सकता है? शर्लिन के मुताबिक रामगोपाल ने कहा था कि उनकी स्क्रिप्ट में यही है जो उन्होंने शर्लिन को भेजी है. अगर वो इसे करने में कंफर्टेबल हैं तो वे इसके साथ आगे बढ़ सकते हैं।


बेटियां-महिलाएं हर मुकाबले में सक्षम:नाथ

भोपाल। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश के हितों की रक्षा और बहनों की सुरक्षा को लेकर सरकार वचनबद्ध है। नाथ को प्रदेश के विभिन्न अंचलों से आई महिला जन-प्रतिनिधियों और बहनों ने रक्षा-बंधन पर्व पर राखी बाँधी।
मुख्यमंत्री नाथ ने कहा कि महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि स्त्री शक्ति आत्म-निर्भर बने और देश-प्रदेश के विकास में आगे बढ़कर योगदान दें। उन्होंने माउंट एवरेस्ट सहित दुर्गम पर्वतों पर फतह करने वाली सुश्री भावना डेहरिया और सुश्री मेघा परमार का उल्लेख करते हुए कहा कि हमारी बेटियाँ और महिलाएँ हर मुश्किल काम करने और चुनौतियों का मुकाबला करने में सक्षम हैं। आवश्यकता इस बात की है कि समाज और सरकार उन्हें पर्याप्त अवसर और वातावरण उपलब्ध करवाए।
उमारिया जिले की ग्राम पंचायत मामन की सरपंच श्रीमती भागवती बैगा, जबलपुर जिले की ग्राम पंचायत कांकरदेही की सरपंच श्रीमती देवकी राज, ग्राम पंचायत बरखेड़ी भोपाल की सरपंच श्रीमती कमला कुशवाह, डिंडोरी की ग्राम पंचायत घेनरी की सरपंच श्रीमती तरुणी मरकाम, कलखेड़ा पंचायत भोपाल की सरपंच श्रीमती मेहरूनिशा, विदिशा जिले की ग्यारसपुर ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती प्रीति शर्मा, मध्यप्रदेश सरपंच संघ की अध्यक्ष श्रीमती मीना परिहार, जिला पंचायत अध्यक्ष छतरपुर की श्रीमती मलावती अनुरागी, श्रीमती प्रीती शर्मा, सरपंच संघ दतिया की अध्यक्ष श्रीमती मीना परिहार, पूर्व सैनिक की पत्नी कश्मीर विस्थापित श्रीमती माया कौल एवं भोपाल की छात्रा श्रीमती करिश्मा सिरवैया ने मुख्यमंत्री को राखी बांधी। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस की मीडिया अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा एवं श्री दुर्गेश शर्मा भी उपस्थित थे।


देश के संवर्धन से ओवैसी को दिक्कत

नई दिल्ली । पीएम ने लाल किले से बढ़ती जनसंख्या पर चिंता जताते हुए कहा था कि हमें इस मसले पर आने वाली पीढ़ी के लिए सोचना होगा। सीमित परिवार से खुद के साथ-साथ देश का भी भला होने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से दिए अपने संबोधन में देश की युवा शक्ति और बढ़ती आबादी का जिक्र किया था। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने पीएम के इस बयान पर निशाना साधा है। ओवैसी ने ट्वीट के जरिए पीएम मोदी पर हमला बोला है।


गुरुवार को पीएम मोदी ने कहा था कि देश की ज्यादातर आबादी युवा और प्रडक्टिव है लेकिन इसका हमें 2040 तक ही फायदा मिलेगा। पीएम ने इस दौरान जनसंख्या बढ़ोतरी पर भी चिंता जताई थी। एआईएमआईएम सांसद ओवैसी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'प्रधानमंत्री को यह नहीं पता कि इस फायदे (युवा आबादी) का कैसे इस्तेमाल किया जाए, इसलिए वह सरकार के खारिज और अनुचित रूप से दखल देने वाले विचारों के साथ आ रहे हैं। इस तरह वह अपनी जिम्मेदारी से जी चुराते हैं।'


पीएम ने लाल किले से बढ़ती जनसंख्या पर चिंता जताते हुए कहा था कि हमें इस मसले पर आने वाली पीढ़ी के लिए सोचना होगा। सीमित परिवार से खुद के साथ-साथ देश का भी भला होने वाला है। पीएम ने इस दौरान कहा कि जो लोग सीमित परिवार के फायदे के बारे में जनता को समझा रहे हैं, उन्हें सम्मानित करने की जरूरत है। छोटा परिवार रखने वाले देशभक्त की तरह हैं।पीएम ने 73वें स्वतंत्रता दिवस पर संबोधन में कहा था कि जनसंख्या में इजाफे की वजह से देश की भावी पीढ़ी को कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। पीएम मोदी ने साथ ही कहा कि घर में किसी भी बच्चे के आने से पहले हमें सोचना चाहिए कि क्या हम उसकी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए तैयार हैं।


इससे पहले बीजेपी नेताओं ने बृहस्पतिवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी के दिए भाषण की तारीफ करते हुए इसे प्रेरणादायक बताया और कहा कि यह भाषण नए भारत के निर्माण के लिए उनका संकल्प दिखाता है। बीजेपी के कुछ नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों ने प्रधानमंत्री द्वारा 'परिवार को छोटा' रखने की जनता को दी गई सलाह को 'देशभक्ति' करार दिया। बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने मोदी के भाषण की प्रशंसा करते हुए इसे बहुत प्रेरणादायक भाषण बताया। नड्डा ने बीजेपी मुख्यालय में राष्ट्रीय ध्वज फहराते हुए कहा कि देश ने मोदी के नेतृत्व में दुनिया के विकसित देशों में से एक बनने के लिए छलांग लगाई है।


केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जनसंख्या नियंत्रण पर पीएम मोदी मोदी द्वारा की गई टिप्पणी की प्रशंसा की। गिरिराज सिंह ने इस ट्वीट में अपने साथ मंत्रिमंडल सहयोगी संजीव बाल्यान की फोटो भी लगाई। दरअसल बाल्यान ने जनसंख्या नियंत्रण पर कानून बनाने के लिए लोकसभा में एक निजी विधेयक पेश किया था।


नैनी के बंद उद्योगों को शुरु किया जाएगा

भूपेंद्र पांडेय


प्रयागराज । नैनी में बंद उद्योगों को फिर से जीवित करने की कवायद शुरू हो गई है। 15 सितंबर के भीतर मंत्रालय की टीम आएगी और संभावना तलाशेगी। क्षेत्र की सांसद डॉ.रीता बहुगुणा जोशी ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता में बताया कि टीम की रिपोर्ट के आधार पर उद्योगों को पुनर्जीवित करने की योजना बनाई जाएगी।
अवैध रूप से संचालित पटाखा फैक्ट्री में हुआ विस्फोट
सांसद चुने के बाद से ही डॉ.रीता नैनी में बंद उद्योगों को फिर से शुरू करने के प्रयास शुरू कर दिए थे। प्रेसवार्ता में कहना था कि उन्होंने इस बाबत भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा था। इसी परिप्रेक्ष्य में मंत्रालय की टीम आ रही है। टीम भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी की अगुवाई में आएगी और उनकी रिपोर्ट पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
डॉ.रीता ने बुंदेलखंड की तर्ज पर यमुनापार के विकास की भी उम्मीद जताई। इसके लिए उन्होंने सरकार से मांग की है। रीता ने इलाहाबाद संसदीय क्षेत्र में शुरू योजनाओं के बारे में भी विस्तार से बताया। उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाओं के साथ अनुच्छेद 370 हटाने समेत अन्य निर्णयों पर भी चर्चा की और भारत सरकार की उपलब्धियां गिनाईं।


जिला अधिकारी से पहाड़ी हटाने का आग्रह

जोधपुर। शहर जिला काॅंग्रेस कमेटी के अघ्यक्ष सईद अन्सारी ने कहा शुक्रवार बम्बा क्षैत्र के गुलजारपुरा मे हुए हादसे से हुई मौतो पर गहन दुख प्रकट किया है।


अध्यक्ष अन्सारी ने कहा कि आज से सात वर्ष पूर्व भी ऐसा ही हादसा उदयमंदिर आसन क्षैत्र मे भी हुआ था। आज एक बार फिर इस प्रकार के हादसे की पुनरावृति हुई है। दो बच्चो की जान गई है और एक व्यक्ति गम्भीर रूप से घायल है। जो चिन्ता का विषय है। अन्सारी ने कहा कि जिस प्रकार से बारिश हो रही है। उससे इस प्रकार के हादसे की सम्भावना इस क्षैत्र मे बराबर बनी हुई है। जिसका स्थाई समाधान जरूरी है।
इसके लिए काॅंगे्रस अध्यक्ष अंसारी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एंव जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित से बात की है।
जिला अधिकारी राजपुरोहित से बात करते हुए अन्सारी ने बताया अन्दर से यह पहाड़ी पूरी तरह से खोखली हो चुकी है । जिससे गिरने की आंशका हमेशा बनी रहती है एंव बरसात के मौसम मे इसके गिरने का खतरा दौगुना हो जाता है। जिसका समाधान इस पहाड़ी के हटने से ही सम्भव होगा।
अन्सारी ने जिला प्रशासन को कलेक्टर के माध्यम से अनुरोध किया है कि इस पहाड़ी को हटाया जाए। ताकि आगे से कोई जनहानि ना हो।वही जिला कलेक्टर ने आश्वस्त किया है कि इस सम्बध मे सर्वे कर त्वरित कार्यवाही की जाएगी।
काॅग्रेस जिलाध्यक्ष ने इस क्षैत्र से लोगो को दूर हटाकर यथोचित स्थान पर निर्वासित करने का भी अनुरोध किया है


घाटी में 2जी इंटरनेट सेवा हुई मुहाल

श्रीनगर। अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को निरस्त करने के बाद जम्मू-कश्मीर में प्रतिबंधों को आसान बनाने के लिए पहला कदम उठाते हुए राज्य प्रशासन ने कुछ जिलों में 2जी इंटरनेट सेवा शुरू कर दी है। आज जम्मू, रियासी, सांबा, कठुआ और उधमपुर जिलों में 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं वापस शुरू कर दी गईं। संचार व्यवस्था पर रोक के पीछे एक वजह घाटी में आतंकी गतिविधियों के दौरान मोबाइल कनेक्टिविटी का इस्तेमाल है जो इस परिस्थिति में खतरनाक साबित हो सकता है। सरकार ने जम्मू-कश्मीर में सिलसिलेवार तरीके से प्रतिबंध हटाने का फैसला किया है। प्रतिबंधों को अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को हटाने के मद्देनजर रखा गया था, जिससे जम्मू- कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त हो गया है। एएनआई ने जम्मू- कश्मीर के मुख्य सचिव, बीवीआर सुब्रह्मण्यम के हवाले से कहा कि एक व्यवस्थित तरीके से प्रतिबंध को क्षेत्र से हटा लिया जाएगा। अगले कुछ दिनों में प्रतिबंधों में और ज्यादा ढील दी जाएगी।


डॉक्टर की सलाह का पालन करें:मकर

राशिफल


मेषराशि(Aries)-आज का दिन अच्छा रहेगा। आय में वृद्धि होगी। अपरिचित व्यक्ति पर अधिक भरोसा ना करे।अटका हुआ धन वापिस मिलेगा।गरीबों की मदद करके परमार्थ कमाइए।बुज्र्गॉ की सेवा करके अच्छा फल प्राप्त करें।अच्छी-खासी सेहत के लिये रोजाना सुबह योग या व्यायाम जरुरी है.अहंकार व क्रोध से निजात पाने की कोशिश करें ।


2वृषराशि(tauras)- परिवार के साथ समय अच्छा गुजरेंगा।बच्चो के भविष्य बारे उचित सोचे।आज आपका कोई नजदीकी रिश्तेदार आपकी मदद करेगें।यात्रा का योग नहीँ बन रहा हैं।लड़ाई झगड़े से बचने की कोशिश करे।परिवार को विश्वास में रखने के लिये सावधानी बरतनी चाहिए।परेशानियाँ से निजात पाने की कोशिश करें।योगा व सुबह की सैर अवश्य करें।
3 मिथुन राशि (gemini)-आपके विचार स्करातमकहो।नकारात्मक ना सोचे।आज गरीबों की मदद करके परमार्थ कमाइए।।मेहनत करेगें तो सफलता अवश्य मिलेगी धार्मिक कार्यों मे रूचि बढाये।आज यात्रा का योग शुभ होगा।मन में शान्ति के लिये मन्दिर में अवश्य जाये।सच्चाई का मार्ग अपनाए।अहंकार व क्रोध से निजात पाने की कोशिश करें ।


4-कर्क राशि ( cancer)-आज अचानक धनलाभ का योग है।कोई पुराना मित्र आपके कारोबार मे आपकी मदद करेगा।आपकी पुत्री के लिये अच्छा रिश्ता आएगा।माता पिता की सेवा करना आपका धर्म है इसे पूरी तरह से निभाए।आज कारोबार में धन लाभ होगा।
5सिंह राशि(leo)- आज कुछ ऐसा होगा जिससे आपको सफलता प्राप्त होगी।धनलाभ का योग है।अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।अपनो से बिना बात पर नाराजगी ठीक नहीं।।बुजुर्गो की सेवा करना आपका कर्तव्य है।दायित्व निभाए।
6कन्या राशि( virgo)-आज का दिन भाग्यशाली होगा।मनचाहा कार्य सफल होगा।अटका हुआ धन मिलने के योग हैं।अपने माता पिता की सेवा करना अपका फर्ज है।आज कोई पारिवारिक समस्या का समाधान निकलेगा।आपके पुत्र को सरकारी नौकरी मिलने का योग है।


7-तुला राशि (libra)- किसी अनजान व्यक्ति से दुरी बनाएँ रखना उचित होगा।धनलाभ की प्राप्ति होगी।अपने व्यवसाय की सफलता के राज अपने निजी व्यक्ति को ही बताए।अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।रोजाना कसरत या व्यायाम करना जरुरी है।
8वृश्चिक राशि(scorpion)-आपका व्यवहार अन्य लोगों के लिये आदर्श साबित होगा।दूर स्थान की यात्रा लाभदायक सिद्ध होगी।अपनो से नाराजगी नहीं करे।सबसे अच्छा व्यवहार करने की कोशिश करें।आज पुराने मित्रों से मुलाकत अच्छी-खासी लाभकारी होगी।गरीब रिश्तेदारों की मदद अवश्य करें।माता-पिता की सेवा करना आपका कर्तव्य है।
9धनु राशि(Sagittarius)- अधूरे कार्य पूरे करे।रिश्तेदारों से अच्छा व्यवहार करे कोशिश करें कि आप उन्हें नाराज ना करे।आज अचानक धन लाभ का योग है।आज यात्रा टालना आपके लिए हितकारी होगा।
10मकर राशि(capricon)-आपका व्यवहार सबके साथ मीठा और सौहार्दपूर्ण होना चाहिये।रेगुलर स्वास्थ्य की जांच अति आवश्यक है डाक्टर की सलाह की पालना अवश्य करें।सबको साथ लेकर चलने की आदत बनाये।छोटी छोटी बातों पर गौर करें और सबकी रजा मन्दि से कार्य करने की कोशिश करें।
11कुम्भ राशि(Aquarius)-सबसे मीठा और अच्छा व्यवहार करे।धनलाभ का योग है।नया कार्य शुरू करने से पहले विचार विमर्श करे।परिवार के साथ अच्छा घुमने का प्रोग्राम बनाये।अनुभवी व्यक्तियों की सलाह अनुसार कार्य करे।सेहत के लिए सावधानी बरतनी चाहिए।अहंकार और तानाशाही से निजात पाने की कोशिश करें।
12-मीन राशि ( pisces)-अपने माता-पिता की सेवा करना अपका दायित्व है।अपने ब्च्चॉ के भविष्य बारे कदम उठायें।परिवार के बुजर्ग की अनुमति अनुसार कार्य करे।आपकी बेटी के लिये अच्छा वर योग है विवाह की तैयारियाँ शीघ्र करे।धनलाभ का योग है।अच्छी सेहत के लिए सुबह की सैर अवश्य करें।क्रोध व लालच से निजात पाने की कोशिश करें ।


शाकाहार के लाभ और क्षमताएं

शाकाहार की एक अत्यंत तार्किक परिभाषा ये है कि शाकाहार में वे सभी चीजें शामिल हैं जो वनस्पति आधारित हैं, पेड़ पौधों से मिलती हैं एवं पशुओं से मिलने वाली चीजें जिनमें कोई प्राणी जन्म नहीं ले सकता। इसके अतिरिक्त शाकाहार में और कोई चीज़ शामिल नहीं है। इस परिभाषा की मदद से शाकाहार का निर्धारण किया जा सकता है। उदाहरण के लिये दूध, शहद आदि से बच्चे नहीं होते जबकि अंडे जिसे कुछ तथाकथित बुद्धजीवी शाकाहारी कहते है, उनसे बच्चे जन्म लेते हैं। अतः अंडे मांसाहार है। प्याज़ और लहसुन शाकाहार हैं किन्तु ये बदबू करते हैं अतः इन्हें खुशी के अवसरों पर प्रयोग नहीं किया जाता। यदि कोई मनुष्य अनजाने में, भूलवश, गलती से या किसी के दबाव में आकर मांसाहार कर लेता है तो भी उसे शाकाहारी ही माना जाता है।


पूरी दुनिया का सबसे पुराना धर्म सनातन धर्म भी शाकाहार पर आधारित है। इसके अतिरिक्त जैन धर्म भी शाकाहार का समर्थन करता है। सनातन धर्म के अनुयायी जिन्हें हिन्दू भी कहा जाता है वे शाकाहारी होते हैं। यदि कोई व्यक्ति खुद को हिन्दू बताता है किंतु मांसाहार करता है तो वह धार्मिक तथ्यों से हिन्दू नहीं रह जाता। अपना पेट भरने के लिए या महज़ जीभ के स्वाद के लिए किसी प्राणी की हत्या करना मनुष्यता कदापि नहीं हो सकती। इसके अतिरिक्त एक अवधारणा यदि भी है कि शाकाहारियों में मासूमियत और बीमारियों से लड़ने की क्षमता ज़्यादा होती है।


नैतिक, स्वास्थ्य, पर्यावरण, धार्मिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, सौंदर्य, आर्थिक, या अन्य कारणों से शाकाहार को अपनाया जा सकता है; और अनेक शाकाहारी आहार हैं। एक लैक्टो-शाकाहारी आहार में दुग्ध उत्पाद शामिल हैं लेकिन अंडे नहीं, एक ओवो-शाकाहारी के आहार में अंडे शामिल होते हैं लेकिन गोशाला उत्पाद नहीं और एक ओवो-लैक्टो शाकाहारी के आहार में अंडे और दुग्ध उत्पाद दोनों शामिल हैं। एक वेगन अर्थात अतिशुद्ध शाकाहारी आहार में कोई भी प्राणी उत्पाद शामिल नहीं हैं, जैसे कि दुग्ध उत्पाद, अंडे और सामान्यतः शहद। अनेक वेगन प्राणी-व्युत्पन्न किसी अन्य उत्पादों से भी दूर रहने की चेष्टा करते हैं, जैसे कि कपड़े और सौंदर्य प्रसाधन।


अर्द्ध-शाकाहारी भोजन में बड़े पैमाने पर शाकाहारी खाद्य पदार्थ हुआ करते हैं, लेकिन उनमें मछली या अंडे शामिल हो सकते हैं, या यदा-कदा कोई अन्य मांस भी हो सकता है। एक पेसेटेरियन आहार में मछली होती है, मगर मांस नहीं। जिनके भोजन में मछली और अंडे-मुर्गे होते हैं वे "मांस" को स्तनपायी के गोश्त के रूप में परिभाषित कर सकते हैं और खुद की पहचान शाकाहार के रूप में कर सकते हैं। हालाँकि, शाकाहारी सोसाइटी जैसे शाकाहारी समूह का कहना है कि जिस भोजन में मछली और पोल्ट्री उत्पाद शामिल हों, वो शाकाहारी नहीं है, क्योंकि मछली और पक्षी भी प्राणी हैं।


अभावग्रस्त आधुनिक शिक्षा पद्धति

आयोग की सिफारिशों से भारतीय शिक्षा में उन्नति हुई। विद्यालयों की संख्या बढ़ी। नगरों में नगरपालिका और गाँवों में जिला परिषद् का निर्माण हुआ और शिक्षा आयोग ने प्राथमिक शिक्षा को इनपर छोड़ दिया परंतु इससे विशेष लाभ न हो पाया। प्राथमिक शिक्षा की दशा सुधर न पाई। सरकारी शिक्षा विभाग माध्यमिक शिक्षा की सहायता करता रहा। शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी ही रही। मातृभाषा की उपेक्षा होती गई। शिक्षा संस्थाओं और शिक्षितों की संख्या बढ़ी, परंतु शिक्षा का स्तर गिरता गया। देश की उन्नति चाहनेवाले भारतीयों में व्यापक और स्वतंत्र राष्ट्रीय शिक्षा की आवश्यकता का बोध होने लगा। स्वतंत्रताप्रेमी भारतीयों और भारतप्रेमियों ने सुधार का काम उठा लिया। 1870 में बाल गंगाधर तिलक और उनके सहयोगियों द्वारा पूना में फर्ग्यूसन कालेज, 1886 में आर्यसमाज द्वारा लाहौर में दयानंद ऐंग्लो वैदिक कालेज और 1898 में काशी में श्रीमती एनी बेसेंट द्वारा सेंट्रल हिंदू कालेज स्थापित किए गए।


[1] 1894 में कोल्हापुर रियासत के राजा छत्रपति साहूजी महाराज ने दलित और पिछड़ी जाति के लोगों के लिए विद्यालय खोले और छात्रावास बनवाए। इससे उनमें शिक्षा का प्रचार हुआ और सामाजिक स्थिति बदलने लगी। 1894 से 1922 तक पिछड़ी जातियों समेत समाज के सभी वर्गों के लिए अलग-अलग सरकारी संस्थाएं खोलने की पहल की। यह अनूठी पहल थी उन जातियों को शिक्षित करने के लिए, जो सदियों से उपेक्षित थीं, इस पहल में दलित-पिछड़ी जातियों के बच्चों की शिक्षा के लिए ख़ास प्रयास किये गए थे। वंचित और गरीब घरों के बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए उन्होंने आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई। 1920 को नासिक में छात्रावास की नींव रखी। साहू महाराज के प्रयासों का परिणाम उनके शासन में ही दिखने लग गया था। साहू जी महाराज ने जब देखा कि अछूत-पिछड़ी जाति के छात्रों की राज्य के स्कूल-कॉलेजों में पर्याप्त संख्या हैं, तब उन्होंने वंचितों के लिए खुलवाये गए पृथक स्कूल और छात्रावासों को बंद करवा दिया और उन्हें सामान्य छात्रों के साथ ही पढ़ने की सुविधा प्रदान की। डा० भीमराव अम्बेडकर बड़ौदा नरेश की छात्रवृति पर पढ़ने के लिए विदेश गए लेकिन छात्रवृत्ति बीच में ही रोक दिए जाने के कारण उन्हे वापस भारत आना पड़ा। इसकी जानकारी जब साहू जी महाराज को हुई तो महाराज ने आगे की पढ़ाई जारी रखने के लिए उन्हें सहयोग दिया।


1901 में लार्ड कर्ज़न ने शिमला में एक गुप्त शिक्षा सम्मेलन किया था जिसमे 152 प्रस्ताव स्वीकृत हुए थे। इसमें कोई भारतीय नहीं बुलाया गया था और न सम्मेलन के निर्णयों का प्रकाशन ही हुआ। इसको भारतीयों ने अपने विरुद्ध रचा हुआ षड्यंत्र समझा। कर्ज़न को भारतीयों का सहयोग न मिल सका। प्राथमिक शिक्षा की उन्नति के लिए कर्ज़न ने उचित रकम की स्वीकृति दी, शिक्षकों के प्रशिक्षण की व्यवस्था की तथा शिक्षा अनुदान पद्धति और पाठ्यक्रम में सुधार किया। कर्ज़न का मत था कि प्राथमिक शिक्षा मातृभाषा के माध्यम से ही दी जानी चाहिए। माध्यमिक स्कूलों पर सरकारी शिक्षाविभाग और विश्वविद्यालय दोनों का नियंत्रण आवश्यक मान लिया गया। आर्थिक सहायता बढ़ा दी गई। पाठ्यक्रम में सुधार किया गया। कर्जन माध्यमिक शिक्षा के क्षेत्र में सरकार का हटना उचित नहीं समझता था, प्रत्युत सरकारी प्रभाव का बढ़ाना आवश्यक मानता था। इसलिए वह सरकारी स्कूलों की संख्या बढ़ाना चाहता था। लार्ड कर्जन ने विश्वविद्यालय और उच्च शिक्षा की उन्नति के लिए 1902 में भारतीय विश्वविद्यालय आयोग नियुक्त किया। पाठ्यक्रम, परीक्षा, शिक्षण, कालेजों की शिक्षा, विश्वविद्यालयों का पुनर्गठन इत्यादि विषयों पर विचार करते हुए आयोग ने सुझाव उपस्थित किए। इस आयोग में भी कोई भारतीय न था। इसपर भारतीयों में क्षोभ बढ़ा। उन्होंने विरोध किया। 1904 में भारतीय विश्वविद्यालय कानून बना। पुरातत्व विभाग की स्थापना से प्राचीन भारत के इतिहास की सामग्रियों का संरक्षण होने लगा। 1905 के स्वदेशी आंदोलन के समय कलकत्ते में जातीय शिक्षा परिषद् की स्थापना हुई और नैशनल कालेज स्थापित हुआ जिसके प्रथम प्राचार्य अरविंद घोष थे। बंगाल टेकनिकल इन्स्टिट्यूट की स्थापना भी हुई।


1911 में गोपाल कृष्ण गोखले ने प्राथमिक शिक्षा को नि:शुल्क और अनिवार्य करने का प्रयास किया। अंग्रेज़ सरकार और उसके समर्थकों के विरोध के कारण वे सफल न हो सके। 1913 में भारत सरकार ने शिक्षानीति में अनेक परिवर्तनों की कल्पना की। परंतु प्रथम विश्वयुद्ध के कारण कुछ हो न पाया। प्रथम महायुद्ध के समाप्त होने पर कलकत्ता विश्वविद्यालय आयोग नियुक्त हुआ। आयोग ने शिक्षकों का प्रशिक्षण, इंटरमीडिएट कालेजों की स्थापना, हाई स्कूल और इंटरमीडिएट बोर्डों का संगठन, शिक्षा का माध्यम, ढाका में विश्वविद्यालय की स्थापना, कलकत्ते में कालेजों की व्यवस्था, वैतनिक उपकुलपति, परीक्षा, मुस्लिम शिक्षा, स्त्रीशिक्षा, व्यावसायिक और औद्योगिक शिक्षा आदि विषयों पर सिफारिशें की। बंबई, बंगाल, बिहार, आसाम आदि प्रांतों में प्राथमिक शिक्षा कानून बनाये जाने लगे। माध्यमिक क्षेत्र में भी उन्नति होती गई। छात्रों की संख्या बढ़ी। माध्यमिक पाठ्य में वाणिज्य और व्यवसाय रखे दिए गए। स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट परीक्षा चली। अंग्रेजी का महत्व बढ़ता गया। अधिक संख्या में शिक्षकों का प्रशिक्षण होने लगा।


1916 तक भारत में पाँच विश्वविद्यालय थे। अब सात नए विश्वविद्यालय स्थापित किए गए। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय तथा मैसूर विश्वविद्यालय 1916 में, पटना विश्वविद्यालय 1917 में, ओसमानिया विश्वविद्यालय 1918 में, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय 1920 में और लखनऊ और ढाका विश्वविद्यालय 1921 में स्थापित हुए। असहयोग आंदोलन से राष्ट्रीय शिक्षा की प्रगति में बल और वेग आए। बिहार विद्यापीठ, काशी विद्यापीठ, गौड़ीय सर्वविद्यायतन, तिलक विद्यापीठ, गुजरात विद्यापीठ, जामिया मिल्लिया इस्लामिया आदि राष्ट्रीय संस्थाओं की स्थापना हुई। शिक्षा में व्यावहारिकता लाने की चेष्टा की गई। 1921 से नए शासनसुधार कानून के अनुसार सभी प्रांतों में शिक्षा भारतीय मंत्रियों के अधिकार में आ गई। परंतु सरकारी सहयोग के अभाव के कारण उपयोगी योजनाओं का कार्यान्वित करना संभव न हुआ। प्राय: सभी प्रांतों में प्राथमिक शिक्षा अनिवार्य करने की कोशिश व्यर्थ हुई। माध्यमिक शिक्षा में विस्तार होता गया परंतु उचित संगठन के अभाव से उसकी समस्याएँ हल न हो पाईं। शिक्षा समाप्त कर विद्यार्थी कुछ करने के योग्य न बन पाते। दिल्ली (1922), नागपुर (1923) आगरा (1927), आंध्र (1926) और अन्नामलाई (1926) में विश्वविद्यालय स्थापित हुए। बंबई, पटना, कलकत्ता, पंजाब, मद्रास और इलाहबाद विश्वविद्यालयों का पुनर्गठन हुआ। कालेजों की संख्या में वृद्धि होती गई। व्यावसायिक शिक्षा, स्त्रीशिक्षा, मुसलमानों की शिक्षा, हरिजनों की शिक्षा, तथा अपराधी जातियों की शिक्षा में उन्नति होती गई।


अगले शासनसुधार के लिए साइमन आयोग की नियुक्ति हुई। हर्टाग समिति इस आयोग का एक आवश्यक अंग थी। इसका काम था भारतीय शिक्षा की समस्याओं की सागोपांग जाँच करना। समिति ने रिपोर्ट में 1918 से 1927 क प्रचलित शिक्षा के गुण और दोष का विवेचन किया और सुधार के लिए निर्देश दिया।


1930-1935 के बीच संयुक्त प्रदेश में बेकारी की समस्या के समाधान के लिए समिति बनी। व्यावहारिक शिक्षा पर जोर दिया गया। इंटरमीडिएट की पढ़ाई के दो वर्षों में से एक वर्ष स्कूल के साथ कर दिया जाए, जिससे पढ़ाई 11 वर्ष की हो। बाकी एक वर्ष बी.ए. के साथ जोड़कर बी.ए. पाठ्यक्रम तीन वर्ष का कर दिया जाए। माध्यमिक छह वर्ष के दो भाग हों - तीन वर्ष का निम्न माध्यमिक और तीन वर्ष का उच्च माध्यमिक। अंतिम तीन वर्षों में साधारण पढ़ाई के साथ साथ कृषि, शिल्प, व्यवसाय सिखाए जायँ। समिति की ये सिफारिशें कार्यान्वित नहीं हुई।


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...