सोमवार, 16 नवंबर 2020

हार स्वीकार, झुकना मंजूर नहींः ट्रंप

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पहली बार रविवार को बेमन से अपने डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन की जीत की बात कबूल करते दिखे, लेकिन उन्होंने संकेत दिया कि वह झुकेंगे नहीं और चुनाव परिणाम में ‘गड़बड़ियों को चुनौती देने की कोशिश जारी रखेंगे। राष्ट्रपति की यह घोषणा ऐसे समय में सामने आई है जब वह और उनका प्रशासन लगातार बिना सबूत के डेमोक्रेटों पर चुनावी गड़बड़ी का आरोप लगा रहा है।
ट्रंप ने ट्वीट किया, वह (बाइडन) जीत गए क्योंकि चुनाव में धांधली हुई। किसी पर्यवेक्षक को अनुमति नहीं दी गई। एक धुर वामपंथी निजी स्वामित्व वाली कंपनी डोमिनियन को मतों को सारिणीबद्ध करने का काम दिया गया जिसकी साख खराब है और घटिया उपकरणों से यह काम किया गया जो टेक्सास चुनाव (जिसमें मैं बहुत मतों से जीता) के लिए भी सही साबित नहीं हुए थे। फर्जी और मूक मीडिया।


भारत में जहां चुनाव आयोग परिणामों की घोषणा करता है, वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में सभी 50 राज्य अलग-अलग परिणामों को सत्यापित करते हैं जिसमें कई दिन लग जाते हैं। चुनाव मतगणना के रुझानों और अनधिकृत परिणामों के आधार पर समाचार मीडिया संस्थान परंपरागत रूप से राष्ट्रपति चुनावों के नतीजों का एलान करते हैं जिससे सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया शुरू होती है। इलेक्टोरल कॉलेज वोट की ताजा गिनती के अनुसार बाइडन को 538 में से 306 इलेक्टोरल कॉलेज वोटों में जीत मिली है।


ट्रंप को 232 इलेक्टोरल कॉलेज वोट में जीत मिली है। उन्होंने पेनसिल्वेनिया, नेवादा, मिशिगन, जॉर्जिया और ऐरिजोना समेत अनेक राज्यों में चुनाव परिणामों को चुनौती दी है। उन्होंने विस्कॉन्सिन में पुन: गणना की भी मांग की है। ट्रंप ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि वह (बाइडन) केवल फर्जी समाचार मीडिया की नजरों में जीते हैं। मैं किसी के आगे नहीं झुकता। हम प्रयास जारी रखेंगे। यह हेराफेरी वाले चुनाव थे। ट्रंप ने एक बार फिर कहा, ‘हम जीतेंगे।’                               


डिजिटल के प्रोत्साहन पर राष्ट्रपति की मुहर

भारत सरकार सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने डिजिटल ,ऑनलाइन की दी मंजूरी


कानून व्यवस्था और खबरों पर अब जनता की विश्वसनीयता बढ़ेगी 


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। एक जमाना था जब हर व्यक्ति सुबह सवेरे उठते से ही इंतजार करने लग जाता था कि कब अख़बार आए और देश तथा राज्य व नगर, गांव का हालचाल जानू। वैसे थोड़ी बहुत जानकारी रेडियो से सुबह शाम व रात को मिल जाती थी परन्तु विस्तार से जानकारी अखबारों द्वारा ही हर व्यक्ति को प्राप्त होती थी।
फिर धीरे धीरे समय बदलता गया और टेक्नोलॉजी का युग आ गया। अब प्रिंट मीडिया के साथ साथ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का वाक्य जुड़ गया। अब टेक्नोलॉजी की इतनी तरक्की और विस्तार हो गया कि कहीं कोई बात या घटना, दुर्घटना, वाक्या हुआ नहीं कि पलभर में दुनिया के हर कोने में बात पहुंच जाती है। ये है टेक्नोलॉजी विस्तार का कमाल। परन्तु इस तकनीकी विस्तार में फायदे बहुत हुए तो नुकसान भी बहुत हुए। विवाद और विवादापस्त स्थितियां भी बहुत हुई। अब हम देख रहे हैं कि सोशल मीडिया पर एक न्यूज़ चैनल चलाने का ट्रेंड आ गया है और अपने ब्लॉग या अनेक प्रकार के ऑनलाइन न्यूज पोर्टल इत्यादि आ गए हैं और अनपर किसी की कंट्रोलिंग अथाॅरिटी नहीं है।
भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस संबंध में जारी एक नोटिफिकेशन पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। भारत में इस समय डिजिटल कंटेंट के नियमन के लिए कोई कानून या स्वायत्त संस्था नहीं है। प्रिंट मीडिया के नियमन के लिए प्रेस आयोग, न्यूज चैनलों के लिए न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन और एडवर्टाइज़िंग के नियमन के लिए एडवर्टाइज़िंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया है, जबकि फिल्मों के लिए सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन है।
परन्तु अब मंगलवार दिनांक 10 नवंबर 2020 को केंद्र सरकार ने भारतीय राजपत्र में घोषणा कर डिजिटल / ऑनलाइन मीडिया को सूचना और प्रसारण मंत्रालय के दायरे में लाया गया है।
निम्नलिखित प्रविष्टियों फिल्म्स और ऑडियो-विज़ुअल कार्यक्रम, समाचार और वर्तमान मामलों की सामग्री को शामिल करने के लिए भारत सरकार की दूसरी अनुसूची (व्यवसाय का आवंटन) नियमों में संशोधन किया गया है। इसमें डिजिटल / ऑनलाइन मीडिया में फिल्म्स और ऑडियो-विज़ुअल कार्यक्रम, समाचार और वर्तमान मामलों की सामग्री शामिल होगी। इसका मतलब है कि नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम आदि जैसे ओटीटी प्लेटफॉर्म और ऑनलाइन न्यूज पोर्टल मंत्रालय के नियंत्रण में हैं। अब इस नोटिफिकेशन से बिना किसी सबूत और झूठी खबरें दे रहे ऑनलाइन पोर्टल पर लगाम लगेगी। इससे कानून व्यवस्था और विश्वसनीयता भी बढ़ेगी। क्योंकि कई मामलों में देश में ऑनलाइन पोर्टल के जरिए दिए गए कंटेंट से भी अपराधों, विवादों को बढ़ावा मिलता है। हालांकि तमाम राज्यों में साइबर ब्रांच इस पर नजर रखती है परन्तु इसके लिए कोई रेगुलेशन ना होने से कई बार लोग बच निकलते हैं। *अन्य विषय जो मंत्रालय के दायरे में हैं उनमें प्रसारण नीति और प्रशासन, केबल टेलीविजन नीति, रेडियो, दूरदर्शन, फिल्म्स, विज्ञापन और दृश्य प्रचार, प्रेस, प्रकाशन, अनुसंधान और संदर्भ आदि हैं।
भारत सरकार (आवंटन व्यापार) तीसरे पचासवें सातवें संशोधन नियम, 2020 में डिजिटल / ऑनलाइन मीडिया से संबंधित प्रविष्टियों को शामिल करने के लिए अधिसूचित किया गया था।
दिलचस्प बात यह है कि सुप्रीम कोर्ट के समक्ष सुदर्शन टीवी मामले में केंद्र ने वेब आधारित डिजिटल मीडिया पर नियमन की कमी को उजागर किया था। केंद्र ने प्रस्तुत किया था।
कि “वेब आधारित डिजिटल मीडिया” जिसमें “वेब पत्रिकाएं” और “वेब-आधारित समाचार चैनल” और “वेब-आधारित समाचार-पत्र” शामिल हैं, के लिए दिशानिर्देशों को रखना आवश्यक है। क्योंकि न केवल इसके पास बहुत व्यापक पहुंचे है, यह पूरी तरह से अनियंत्रित भी है। केंद्र सरकार ने इसके पहले सुप्रीम कोर्ट में एक मामले में दलील दी थी कि ऑनलाइन माध्यम का नियमन टीवी से अधिक जरूरी है। अब सरकार ने ऑनलाइन माध्यम से न्यूज़ या कंटेंट देने वाले साधनों को मंत्रालय के तहत लाने का बड़ा फैसला लिया है।
केंद्र सरकार ने एक गजट नोटिफिकेशन के जरिए बुधवार को यह बताया है कि ऑनलाइन फिल्म डिजिटल न्यूज़ और करंट अफेयर्स जैसे कंटेंट सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत आएंगे. इस समय भारत सरकार में मंत्री प्रकाश जावड़ेकर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का कामकाज देख रहे हैं।
भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस सम्बन्ध में जारी एक नोटिफिकेशन पर हस्ताक्षर कर दिए हैं इससे पहले साल 2019 में सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि मोदी सरकार मीडिया की आजादी पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाना चाहते. उन्होंने कहा था कि ओटीटी प्लेटफॉर्म के लिए कुछ न कुछ नियम कानून जरूर होने चाहिए, जबकि प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एवं फिल्मों के लिए पहले से नियम हैं।
अतः अगर हम पूरे मामले पर विश्लेषण करें तो केंद्र सरकार की इस अधिसूचना का असर दूर तक जाएगा और जो भी ऑनलाइन कंटेंट प्रोवाइडर है, उसके ऑनलाइन पोर्टल हैं जो अब सूचना व प्रसारण मंत्रालय के आधीन आजाएंगे और उन पर अब वे सब कानून भी लागू होंगे और एक एजेंसी की नजर उन पर रहेगी ताकि स्वच्छ और कानूनी संदेश जनता तक पहुंच सके।                             


बेलारूस में प्रदर्शन कर रहे हजार लोग अरेस्ट

मिन्स्क। बेलारूस में सरकार विरोधी प्रदर्शनों में 1,000 से अधिक लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। गैर पंजीकृत विस्ना मानवाधिकार केन्द्र ने यह जानकारी दी है। केन्द्र ने बताया कि मिन्स्क के पुश्किनकाया मेट्रो स्टेशन के पास सरकार विरोधी प्रदर्शन कर रहे करीब सौ लोगों पर पुलिस ने आंसू गैस का प्रयोग किया तथा कई लोगों को हिरासत में लिया है। स्थानीय मीडिया आउटलेट्स ने प्रत्यक्षदर्शियों से वीडियो साझा किए हैं जिसमें सुरक्षाबलों को प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल करते हुए दिखा गया है। विस्ना अधिकार समूह ने अपनी वेबसाइट पर रविवार को सरकार विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हिरासत में लिए गए 1,005 लोगों के नाम प्रकाशित किए हैं। उनमें से अधिकांश को बेलारूस की राजधानी से हिरासत में लिया गया है।                         


पीएम मोदी ने भैया दूज की शुभकामनाएं दीं

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने सोमवार को देशवासियों को भाई-बहन के बीच अटूट स्‍नेह के पर्व ‘भाई दूज’ पर बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘भाई दूज के पावन अवसर पर आप सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं।’ भाई-बहन के बीच स्नेह के बंधन के पर्व ‘भाई दूज’ को बड़ी श्रद्धा और परस्पर प्रेम के साथ मनाया जाता है। रक्षाबंधन के बाद, ‘भाई दूज’ ऐसा दूसरा त्योहार है, जो भाई-बहन के बीच स्नेह को समर्पित है।             


दुनियाः 5.43 करोड़ के पार संक्रमितो की संख्या

वाशिंगटन/नई दिल्ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के तेजी से बढ़ रहे मामलों में के बीच विश्व में कोरोना संक्रमिताें की संख्या 5.43 करोड़ के पार हो गई है और इस महामारी से अब तक 13.17 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार विश्व में कोरोना वायरस से अब तक 54,369,609 लोग संक्रमित हुए हैं और 13,17,131 लोगों की मौत हुई है। कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित अमेरिका इस महामारी से संक्रमितों और मृतकों के मामले में यह पहले स्थान पर है और संक्रमण से मुक्त होने वाले लोगों के मामले में तीसरे स्थान पर है। अमेरिका में अब तक 11,036,937 लोग संक्रमित हुए हैं और 246,214 मरीजों की मौत हुयी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से सोमवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना के 30,548 नए मामले सामने आए और संक्रमितों की संख्या करीब 88.45 लाख के पार पहुंच गयी और स्वस्थ होने वालों की संख्या 82.49 लाख से अधिक हो गयी है। इस दौरान 435 और मरीजों की मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 1,30,070 हो गया।


देश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या में 13,738 कमी आने के बाद यह संख्या घटकर 4,65,478 रह गयी है। ब्राजील कोरोना संक्रमितों के मामले में तीसरे स्थान पर और इससे मुक्ति पाने और मृतकों के आंकड़े में दूसरे स्थान पर है। देश में कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 58.63 लाख से पार हो गयी है जबकि 165,798 लोग काल के गाल में समा गए हैं। फ्रांस में अब तक 19.15 लाख से अधिक लोग इससे प्रभावित हुए है और 42,601 मरीजों की मौत हाे चुकी है।


रूस में कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या 19.10 लाख से ज्यादा हो गई हैं और अब तक 32,885 लोगों की मौत हो गई है। स्पेन में इस महामारी से अब तक करीब 14.58 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 40,769 लोगों की मौत हुई है। ब्रिटेन में अभी तक करीब 13.72 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 52,026 लोगों की मौत हो चुकी है। अर्जेंटीना में कोविड-19 से अब तक करीब 13.10 लाख लोग प्रभावित हुए हैं तथा 35,436 लोगों की मौत हो चुकी है।


कोलंबिया में इस जानलेवा वायरस से अब तक 11.98 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं तथा 34,031 लोगों ने जान गंवाई है। यूरोपीय देश इटली में 11.78 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 45,229 लोगों की मौत हुई है। मेक्सिको में कोरोना से अब तक लगभग 10.06 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 98,542 लोगों की मौत हो चुकी है। पेरू में इस वायरस से अब तक 9.34 लाख लोग संक्रमित हुए हैं और 35,177 लोगों की मौत हो चुकी है।


जर्मनी में इस वायरस की चपेट में 8.02 लाख से अधिक लोग आ चुके हैं तथा 12,573 लोगों की मौत हुई है। ईरान में इस महामारी से अबतक 7.62 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 41,493 लोगों की मौत हो गई है। दक्षिण अफ्रीका में 7.51 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं तथा 20,241 लोग काल के गाल में समा गए हैं। पोलैंड में संक्रमण के 7.12 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं तथा 10,348 लोगों की मौत हो गई है।


यूक्रेन संक्रमितों के मामले में बेल्जियम से आगे निकल गया है जहां संक्रमितों की संख्या 5.51 लाख से अधिक है तथा 9,904 लोगों की मौत हो चुकी है। बेल्जियम में कोरोना से 5.35 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 14,421 लोगाें की मौत हो चुकी है। चिली में कोरोना से 5.31 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं तथा 14,819 लोगों की मौत हुई है। इराक में संक्रमितों की संख्या 5.19 लाख से अधिक और मृतकों का आंकड़ा 11,670 तक पहुंच गया है।


इंडोनेशिया में संक्रमितों की संख्या 4.67 लाख से अधिक हो गयी है और मृतकों का आंकड़ा 15,211 तक पहुंच गई है। चेक गणराज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 4.60 लाख से अधिक हो गई है और मृतकों का आंकड़ा 6,208 तक पहुंच गया है। नीदरलैंड में कोरोना से 4.54 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं तथा 8,559 लोगों की मौत हुई है। बंगलादेश में संक्रमितों की संख्या 4.32 लाख से अधिक हो गई है और 6,194 लोगों की मौत हो चुकी है।


तुर्की में कोरोना से अब तक करीब 4.14 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 11,507 लोगों की मौत हुई है। फिलीपींस में इस महामारी से अब तक करीब 4.07 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 7,832 लोगों की मौत हो चुकी है। पाकिस्तान में कोरोना से अब तक करीब 3.52 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं तथा 7,092 लोगों की मौत हो चुकी है।


सऊदी अरब में भी अब तक कोरोना से 3.59 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं जबकि 7,160 लोगों की मौत हो चुकी हैं। इजरायल में इस महामारी से अब तक लगभग 3.23 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और 2,732 लोगों की जान जा चुकी है। कोरोना वायरस से इक्वाडोर में 13,008, कनाडा में 11,001, बोलीविया में 8,849, रोमानिया में 8,926, मिस्र में 6,453, स्वीडन में 6,164, चीन में 4,742, ग्वाटेमाला में 3,932, पनामा में 2,873 और होंडुरास में 2,823 लोगों की मौत हो चुकी है।                                   


शपथः नीतीश के साथ सभी मंत्रियों को दी बधाईंं

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके साथ सोमवार को शपथ लेने वाले सभी मंत्रियों को बधाई देते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ( राजग) परिवार राज्य की उन्नति के लिये मिलकर काम करेगा। दस नवंबर को बिहार विधानसभा के नतीजों में नीतीश कुमार की अगुवाई में राजग विजयी हुआ। नीतीश कुमार और उनके मंत्रिमंडल को आज राजभवन में राज्यपाल फागू चौहान ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।                                   


मीडिया कर्मी संक्रमण को रोकने में अग्रिम योद्धा

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को कहा कि मीडियाकर्मी अग्रिम मोर्चे के उन कोरोना योद्धाओं में शामिल हैं। जिन्होंने कोरोना वायरस के बारे में लोगों को जागरूक बनाने और इस महामारी का असर कम करने में अहम भूमिका निभाई है। राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर अपने लिखित संदेश में राष्ट्रपति ने प्रिंट मीडिया का विनियमन करने वाली भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) की भी प्रेस की आजादी की सुरक्षा करने को लेकर प्रशंसा की।                                    


बंटवारे को लेकर ज्यादातर समस्याओं का समाधान

पंकज कपूर


देहरादून। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सेामवार को कहा कि उत्तराखंड के साथ परिसंपत्तियों के बंटवारे से जुड़ी ज्यादातर समस्याओं का समाधान हो चुका है और शेष बचे एकाध विवादों को भी दोनों सरकारें जल्द ही निपटा लेंगी। मुख्यमंत्री योगी ने रुद्रप्रयाग जिले में केदारनाथ मंदिर के कपाट बंद होने के मौके पर वहां पूजा में शामिल होने के बाद कहा, ‘‘दोनों राज्यों के बीच ज्यादातर समस्याओं का समाधान हो चुका है। अगर कोई एकाध समस्या शेष होगी, तो दोनों सरकारें मिल-बैठकर उसका समाधान निकाल लेंगी।’’                                   


साइना की बैडमिंटन अकादमी खोलने की इच्छा

श्रीराम मौर्य


शिमला। अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन खिलाड़ी और पूर्व विश्व नम्बर एक खिलाड़ी साइना नेहवाल की हिमाचल प्रदेश में बैडमिंटन अकादमी खोलने की इच्छा है। साइना ने पति और अंतरराष्ट्रीय बेडमिंटन खिलाड़ी पारूपल्ली कश्यप के साथ यहां राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय सेे भेंट की। उन्होंने कहा कि देश के उत्तरी हिस्से के खिलाड़ी प्रशिक्षण के लिए हैदराबाद और बेंगालुरू जाते हैं जबकि उन्हें यहां पर ही अंतरराष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण मिलना चाहिए तथा इसके लिये उसी तरह से प्रशिक्षक भी जरूरी हैं।                                       


ईवीएम हटाओ, बैलट पेपर से लोकतंत्र बचाओंं

विदेशी ईवीएम मशीन हटाओ बैलट पेपर लाओ लोकतंत्र बचाओ अन्यथा गुलाम होने के लिए तैयार हो जाओ


मेरठ। बहुजन मुक्ति पार्टी  की एक बैठक ग्राम बिजौली हापुड़ रोड मेरठ पर माननीय सुखबीर सिंह जी के आवास पर धनोतिया मोहल्ले में हुई। जिसमें बहुजन समाज पर बढ़ती हुई जनसमस्याओं को लेकर की गई और इसका मेन कारण ईवीएम मशीन बताया गया। पश्चिमांचल महासचिव एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आरडी वाड्रा ने अपने वक्तव्य में कहा कि बहुजन समाज ईवीएम के चुनाव से कभी आगे नहीं बढ़ सकता। बैलट पेपर लाओ विदेशी हटाओ बहुजन समाज का उधार कराओ। हाल ही में बिहार चुनाव के ऊपर चर्चा की गई जिसमें ईवीएम से धमाकेदार घोटाला किया गया तो इस पर निंदा जताई गई और वर्तमान सरकार की गलत नीतियों पर अफसोस किया गया लोकतंत्र में इस तरह के घोटाले कर कब्जा कर लेना सरकार बना लेना यह कौन सा न्याय है। जबकि नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री के पद की शपथ दिलाना कि जो रणनीति बीजेपी अपना रही है। वह ईवीएम के मुद्दे को दबाकर रखने वाली नीति है और ऐसे ही सभी को ज्ञात होगा कि जम्मू-कश्मीर में भी उन्होंने ऐसे ही कब्जा किया था और ओबीसी वर्ग एससी-एसटी माइनॉरिटी को धोखा दे रही है।जबकि मानवता सबसे बड़ा धर्म है और यह हिंदुत्व को लेकर मुद्दा बनाते हैं। जबकि आज समाज में भुखमरी बेरोजगारी लाचारी और बहुजन समाज के गरीब मजलूम लड़कियों पर लड़कों पर बच्चों पर अत्याचार हो रहे हैं। अभी वर्तमान घटना एक गुलनाज नाम की लड़की बिहार में जला दी गई, मार दी गई। उस पर आज तक कोई कानूनी कार्यवाही नहीं की जा रही है और हम जल्द ही उन लोगों को गिरफ्तार कर फांसी की सजा की मांग करते हैं और न्याय की मांग करते हैं कि निष्पक्ष देश में कार्य होने चाहिए बहुजन मुक्ति पार्टी आएगी। तभी बहुजन समाज को न्याय मिल पाएगा अन्यथा ब्राह्मणवादी व्यवस्था के सब गुलाम बनकर रह जाएंगे। बैठक में आरडी गादरे जगन नाथ सिंह, मेवा हरजिंदर पाल, मेवा संजय कुमार, कालू सिंह बिजौली, सुखबीर सिंह, हरेंद्र सिंह, रहमान खान, मोहम्मद आरिफ, सुलेमान सिंह और सुरेश अनुराग सिंह रियासत अली शाहबाज खान आदि मौजूद रहे।                                            


बिहारः 7 दिन के सीएम ने 7वीं बार शपथ ली

राणा ओबराय


सिर्फ 7 दिन के लिए सीएम बनने वाले नीतीश कुमार ने 7वीं बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ


पटना। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के नेता नीतीश कुमार ने आज सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। कुमार को राजभवन में आयोजित एक सादे समारोह में राज्यपाल फागू चौहान ने मुख्यमंत्री के पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। कुमार के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता तार किशोर प्रसाद एवं रेणु देवी तथा जदयू के विजय कुमार चौधरी, बिजेंद्र प्रसाद यादव, अशोक चौधरी और मेवालाल चौधरी ने पद और गोपनीयता की शपथ ली। नीतीश कुमार के साथ-साथ राज्यपाल फागू चौहान ने तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। तारकिशोर प्रसाद कटिहार से विधायक चुने गए हैं जबकि रेणु देवी बेतिया विधानसभा सीट से चुनाव जीती हैं।मंडल की राजनीति से नेता बनकर उभरे नीतीश कुमार को बिहार को अच्छा शासन मुहैया कराने का श्रेय दिया जाता है। हालांकि, उनके विरोधी उन पर अवसरवादी होने का आरोप लगाते रहे हैं। भले ही इसे राजनीतिक अवसरवादिता कहा जाए या उनकी बुद्धिमत्ता, राजनीतिक शतरंज की बिसात पर नीतीश की चालों ने कई साल से सत्ता पर उनका दबदबा बनाए रखा है। लेकिन क्या आपको पता है कभी सात दिन सीएम रहे नीतीश ने आज सातवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले नीतीश कुमार सबसे पहले 3 मार्च, 2000 में मुख्यमंत्री बने थे। हालांकि, बहुमत नहीं होने के कारण महज सात दिन बाद ही उनकी सरकार गिर गई थी।                               


बम बाजी और पथराव में एक बालक जख्मी

प्रयागराज के अल्लापुर मोहल्‍ले में बमबाजी और पथराव, एक बालक जख्‍मी


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। शहर के जार्जटाउन थाना क्षेत्र के अल्लापुर में सोमवार दोपहर बमबाजी और पथराव से खलबली मच गई। बम का छर्रा लगने से एक बालक जख्मी हो गया है। पुलिस बम चलाने वाले गुन्नू पासी की तलाश कर रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि गुन्नू आपराधिक प्रवृत्ति का है।
बमबाजी से नाराज लोगों ने पथराव किया। अल्लापुर में पानी टंकी के पास रविवार शाम उसका कुछ लोगों से विवाद हो गया था। इसके बाद उसने एक के बाद एक कई बम फोड़कर भाग निकला। पुलिस को सूचना दी गई, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। सोमवार दोपहर भी गुन्नू ने अल्लापुर में बमबाजी कर दी। इससे एक बालक जख्मी हो गया तो नाराज लोगों ने ईंट-पत्थर चलाना शुरू कर दिया। इससे मुहल्ले में खलबली मच गई। इंस्पेक्टर जार्जटाउन पवन त्रिवेदी का कहना है कि बम नहीं पत्थर लगने से बालक को चोट आई है। गुन्नू की तलाश की जा रही है।                                       


छेड़छाड़ का विरोध, परिजनों पर किया हमला

छात्रा से छेड़छाड़ का विरोध करने पर दबंगों ने बरपाया कहर छात्रा के परिवार की महिलाओं सहित आधा दर्जन लोग घायल अस्पताल में भर्ती, तीन आरोपी गिरफ्तार


अतुल त्यागी 


हापुड़। आपको बता दें कि हापुड़ जनपद के थाना बाबूगढ़ क्षेत्र में कल देर रात का मामला है। जहां कक्षा 7 में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा मंदिर पर प्रसाद चढ़ाने के लिए जा रही थी। तभी रास्ते में खड़े दो युवकों ने की नाबालिग छात्रा के साथ छेड़छाड़ कर दी। जब छात्रा ने इसका विरोधी किया और आपबीती अपने घर जाकर परिजनों को सुनाई तो छात्रा के परिजन शिकायत लेकर छेड़खानी करने वाले युवकों के घर कहने के गए तो तभी कुछ देर बाद ही दबंगों ने छात्रा के परिजनों के घर में घुसकर जमकर की जबरदस्त मार पिटाई की जमकर बरसाए लाठी-डंडे ईट पत्थर और धारदार हथियार सहित लोहे की राड कक्षा 7 में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा के परिवार के महिलाओं सहित आधा दर्जन के करीब लोग घायल हो गये। कोतवाली में दी तहरीर लेकर पुलिस ने घायल लोगों का मेडिकल कराकरबाबूगढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक सोमवीर सिंह बताया कि 10 लोगों के खिलाफ छेड़छाड़ सहित अन्य कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया।                     


संविदा कर्मचारी को फायरिंग करना पड़ा भारी

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। गाज़ियाबाद के राजनगर एक्सटेंशन में बिजली विभाग के एक संविदा कर्मचारी को दीवाली पर फायरिंग करना भारी पड़ने वाला है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मामले का संज्ञान लेकर कार्यवाही के निर्देश दे दिए हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार इस मामले में क्लासिक चौकी के इंचार्ज की तरफ से एक मुकदमा दर्ज करवाया जा रहा है। घटना की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले में अग्रिम कार्रवाई जल्द की जा रही है क्योंकि हर्ष फायरिंग पर पूरी तरह से रोक है। इस तरह से हवाई फायरिंग खतरनाक साबित हो सकती थी।                                                       


शहीद पिता को बेटी का आखिरी सेल्यूट

ऋषिकेश: शहीद पिता को 10 वर्षीय बेटी का आखिरी सैल्यूट, बोली- मैं पापा की तरह फौज में जाना चाहती हूं


ऋषिकेश। पाकिस्तान की तरफ से की गई फायरिंग में शहीद हुए बीएसएफ के सब-इंस्पेक्टर राकेश डोभाल का पार्थिव शरीर उनके घर ऋषिकेश पहुंच गया है। उनकी 10 वर्षीय बेटी ने अपने पिता को आखिरी सैल्यूट देते हुए कहा कि वह अपने पिता की तरह फौज में जाना चाहती हैं। शहीद राकेश डोभाल की बेटी बोली मैं भी फौज में जाऊंगी,पाकिस्तान के साथ गोलीबारी में शहीद हुए राकेश डोभाल बीएसएफ में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात थे। जम्मू कश्मीर के बारामूला क्षेत्र में पाकिस्तान की तरफ की गई गोलीबारी में शहीद हुए बीएसएफ के सब-इंस्पेक्टर राकेश डोभाल का पार्थिव शरीर उनके घर ऋषिकेश पहुंच गया है। जिस वक्त डोभाल का पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचा तब सभी की आंखें नम थीं। ऐसे में डोभाल की 10 वर्षीय बेटी मौली का सहास देखने लायक था। अपने पिता को आखिरी सैल्यूट देने पहुंची बेटी ने शहीद के साथ आये हुए जवानों के गले लगते हुए शहीद राकेश डोभाल की बेटी ने कहा कि दादी मत रोना ..ये अंकल हमारी रक्षा करते हैं .. चिंता मत करो रोना नहीं - पिता को श्रृद्धांजलि देते हुए बच्ची ने कहा मैं पापा की तरह फौज में जाना चाहती हूं … वंदेमातरम .. भारत माता की जय...


बता दें कि बीते शुक्रवार को पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू कश्मीर में उरी सेक्टर से लेकर गुरेज सेक्टर तक नियंत्रण रेखा पर कई स्थानों पर सीजफायर का उल्लंघन किया है। इस दौरान गोलीबारी में चार सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे। साथ ही छह और लोगों की जान चली गई। श्रीनगर में रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों ने मोर्टार सहित कई हथियारों से गोलाबारी की। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय जवानों ने भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया। उन्होंने आगे बताया कि विस्फोटकों के भंडार, घरों सहित आतंकवादियों के कई ठिकानों को निशाना बनाया गया है। पाकिस्तानी की ओर से की गई गालोबारी में एक बीएसएफ सब इंस्पेक्टर, तीन सैन्यकर्मी शहीद हो गये है जबकि, छह नागरिकों की मौत हो गयी और आठ नागरिक और चार सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं। बता दें कि पाकिस्तान की तरफ से नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया।पाकिस्तान ने केरन, डावर, नौगाम और उरी सहित कई सेक्टरों में गोलीबारी की है।               


दौड़-धूप का अंत, समर्थित के पक्ष में बैठी भाजपा

बहुत से सवालों के बीच आखिरकार एमएलसी स्नातक प्रत्याशी कुशपुरी भाजपा समर्थित दिनेश गोयल के समर्थन में बैठ गए!


कुशपुरी के शुभचिंतकों और मतदाताओं को घोर निराशा..!


तस्लीम बेनकाब
मुजफ्फरनगर। कड़ी मेहनत, लगन, परिश्रम एवं कुछ करने के सार्थक प्रयास उस समय धरे रह गए। जब एमएलसी स्नातक के दमदार एवं जोरदार प्रत्याशी कुशपुरी भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी दिनेश कुमार गोयल के समर्थन में बैठ गए?उल्लेखनीय है कि कुशपुरी दिन रात भागदौड़ करके माहौल को अपने पक्ष में बनाने की पुर जोर कोशिशों में लगे हुए थे। उनकी कोशिशें परवान भी चढ़ रही थी। लेकिन भाजपा आलाकमान द्वारा कुशपुरी को मना कर भाजपा समर्थित दिनेश कुमार गोयल के समर्थन में बैठा ही लिया गया। कुशपुरी के शुभचिंतकों और मतदाताओं को घोर निराशा हाथ लगी है! माना जा रहा था कि कुशपुरी भाजपा समर्थित प्रत्याशी घोषित होंगे! लेकिन ऐसा नहीं हुआ उसके बाद भी कुशपुरी की मेहनत जारी रही और वह एक तगड़े प्रत्याशी के रूप में जोर आजमाइश कर रहे थे। लेकिन अचानक एकाएक आज एक प्रेस वार्ता में उनको दिनेश कुमार गोयल के समर्थन में आखिरकार बैठा ही लिया गया बहुत से ऐसे सवाल हैं जो सभी के जेहन में घूम रहे हैं? आज की प्रेस वार्ता के दौरान मुख्य रूप से केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान,राज्य मंत्री कपिल देव अग्रवाल, विधायक प्रमोद ऊंटवाल, भाजपा जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला समेत कई बड़े भाजपा नेता मौजूद रहे।             


योगीराज में अधिकारियों की गजब है व्यवस्था

योगीराज में अधिकारियों की गजब की है कानून व्यवस्था


सहायक कलेक्टर द्वारा नीलाम कर बिक्रय प्रमाण पत्र जारी की गई भूमि पर भूस्वामी के कब्जे पर अराजकतत्वों का व्यवधान


फर्जी शिकायती पत्र लेकर पहुंचने वाले असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार करने के बजाए जांच कराने का आदेश दे रहे अधिकारी


कौशांबी। योगीराज में अधिकारियों की गजब की न्याय ब्यवस्था है। जिस जमीन को तत्कालीन सहायक कलेक्टर आईएएस ने खुद नीलाम कर मानिक चन्द्र के हाथ बिक्रय कर उनसे धन अर्जित कर सरकारी खजाने में जमा कर क्रेता भूस्वामी मानिक चन्द्र को विक्रय प्रमाण पत्र दिया था। सहायक कलेक्टर द्वारा विक्रय प्रमाण पत्र मिलने के बाद उस भूमि पर उस समय काबिज होने के बाद वर्तमान के निर्माण पर अराजकतत्वों के तमाम तरह के व्यवधान से खरीददार को वर्तमान में गुजारना पड़ रहा है। जिस जमीन को तत्कालीन सहायक कलेक्टर ने बेचा है। उसी जमीन पर खरीददार के कब्जे पर असामाजिक तत्वों द्वारा शिकायती पत्र देकर अवरोध डालने का प्रयास किया जा रहा है। आखिर असामाजिक तत्वों को शिकायती पत्र के साथ गिरफ्तार कर अब तक अधिकारियों ने जेल क्यों नहीं भेजा है। यह बड़ा सवाल है। गौरतलब है कि चायल तहसील क्षेत्र के काजू गांव निवासी इंद्र नारायण पुत्र महावीर राजकीय देय सिंचाई कर के बकायेदार थे जिस पर राजकीय देय की वसूली के लिए उनकी अचल संपत्ति को कुर्क करके 22-10- 1990 को न्यायालय परगना अधिकारी सहायक कलेक्टर चायल इलाहाबाद ने सार्वजानिक तरीके से नीलाम किया था। इस नीलामी में मानिक चंद्र पुत्र राम प्रसाद निवासी काजू को सहायक कलेक्टर आईएएस द्वारा खुद क्रेता घोषित किया गया इस नीलामी की पुष्टि तत्कालीन आईएएस जीवेश नंदन परगना अधिकारी सहायक कलेक्टर चायल द्वारा 22 दिसम्बर 1990 को भूमि व्यवस्था नियमावली के अंतर्गत विक्रय प्रमाण पत्र जारी कर की गई थी यह संपत्ति काजू ग्राम सभा में आराजी नंबर 470 रकबा 8 बिस्वा 10 धूर का आधा हिस्सा मानिक चंद्र पुत्र राम प्रसाद के नाम विक्रय कर क्रेता को पूर्ण स्वामित्व दिया गया है और अभिलेखों में क्रेता का नाम दर्ज कराया गया है। मानिकचंद और उनके पुत्रों का इस जमीन पर पूर्ण कब्जा है। कुछ हिस्से में भवन बने हैं कुछ हिस्से खाली पड़े है। तीन दिन पहले मानिकचंद के पुत्र उमेश केसरवानी दिवाकर केसरवानी आदि ने इसी ज़मीन के खाली पड़े हिस्से पर भवन निर्माण शुरू कर दिया तो गांव के असामाजिक तत्व शेरे पुस्ती गुंडई से निर्माण पर व्यवधान उत्पन्न शुरू कर दिया। निर्माण पर व्यवधान उत्पन्न करने वालों में थाने के मंदिर का एक पुजारी भी शामिल है। इलाके में किसी के भी निर्माण पर व्यवधान डाल कर उन्हें प्रताड़ित कर धना दोहन इनका पेशा बन चुका है और अपने इसी आदतन के अनुसार दर्जनों लोग एकत्रित होकर सहायक कलेक्टर द्वारा बेची गई जमीन पर वास्तविक भूस्वामी के निर्माण को रोक दिया। अब योगी सरकार के अधिकारियों की न्याय व्यवस्था इस कदर लचर है कि वास्तविक मालिक को काबिज करा कर अराजक तत्वों की गिरफ्तारी करा कर उन्हें जेल भेजने का साहस करने के बजाय अराजक तत्वों के शिकायती पत्रों पर जांच करा कर कार्यवाही का आश्वासन देकर उनका हौसला बढ़ा दिया गया है। पूर्व के इतिहास बताते हैं कि असामाजिक तत्व बेवजह जमीनी विवाद उत्पन्न कर लोगों को प्रताड़ित कर धना दोहन करने के आदी है। सहायक कलेक्टर से सरकारी जमीन खरीदने वाले भूस्वामी के पुत्र योगीराज में न्याय के लिए दर दर भटक रहे है। उप जिला अधिकारी चायल कार्यालय से लेकर पुलिस अधीक्षक तक को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है लेकिन अभी तक योगीराज में उन्हें न्याय नहीं मिल सका इसके पूर्व भी अराजक तत्वों द्वारा उक्त जमीन पर ब्यवधान डालने का प्रयास किया गया था। जिस पर तत्कालीन अधिकारियों ने अराजक तत्वों के मंसूबे पर पानी फेर दिया था अब सवाल उठता है कि सहायक कलेक्टर द्वारा बेची गई भूमि पर योगीराज में जमीन के असली मालिक मानिकचंद के पुत्र उमेश केसरवानी दिवाकर केसरवानी आदि काबिज हो पाते हैं या फिर जांच और कार्यवाही के नाम पर अराजक तत्व अत्याचार अन्याय करने में सफल होंगे यह बड़ा सवाल है।


सुशील केसरवानी


16 से 26 तक बंद रहेगा शुजातपुर रेल फाटक

16 नवंबर से 26 नवंबर तक बंद रहेगा शुजातपुर रेल फाटक


कौशाम्बी। कौशांबी जिले में पड़ने वाले हावड़ा दिल्ली रेल लाइन के शुजातपुर रेलवे फाटक को  रेलवे के आवश्यक कार्य के चलते 16 नवंबर से बंद कर दिया गया है। रेलवे फाटक के आसपास इस समय निर्माण कार्य प्रगति पर है। रेलवे फाटक के आसपास निर्माण कार्य प्रगति पर होने से रेलवे फाटक से गुजरने वाले वाहनों के चलते  जहां दुर्घटना की संभावना बढ़ जाती है। वही निर्माण कार्य में व्यवधान उत्पन्न होता है। जिससे दिनांक 16 नवंबर से 26 नवंबर तक के लिए सुजातपुर रेल फाटक को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। उक्त जानकारी रेलवे सूत्रों ने दी है।


नथन पटेल


राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर आयोजित हुई गोष्ठी

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर आयोजित हुई गोष्ठी


पत्रकारों ने कहा कि आज के बदलते परिवेश में पत्रकारिता जोखिम भरा व चुनौती पूर्ण कार्य


कौशाम्बी। राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर जनपद मुख्यालय मंझनपुर में एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में राष्ट्रीय प्रेस दिवस के महत्व पर पत्रकारों ने अपने अपने विचार रक्खा गोष्ठी में पत्रकारों द्वारा बताया गया कि आज ही के दिन 1966 में प्रेस काउंसिल आफ इंडिया ने विधिवत कार्य करना शुरू किया। तब से लेकर आज तक प्रतिवर्ष 16 नवंबर को राष्ट्रीय प्रेस दिवस के रूप में मनाया जाता है। विश्व में लगभग 50 देश है। जहां प्रेस परिषद अथवा मीडिया परिषद है राष्ट्रीय प्रेस दिवस प्रेस की स्वतंत्रता व जिम्मेदारियों की ओर हमारा ध्यान आकृष्ट करता है। सोमवार को हुई विचार गोष्ठी को संबोधित करते हुए जनसंदेश टाइम्स के वरिष्ठ पत्रकार ब्यूरो चीफ सुशील केसरवानी ने कहा कि पत्रकारिता ने समाज में सजग प्रहरी की भूमिका निभाई है। हालांकि वर्तमान समय में पत्रकारिता में बेहद जोखिम व खतरे उत्पन्न हो गए लेकिन पत्रिका पत्रकार जगत ही इन खतरों से निपटने में सक्षम है।
प्रेस की आजादी को लेकर कई सवाल उठ रहे है !पत्रकारों के बिषय में पब्लिक की क्या राय है !क्या भारत मे पत्रकारिता एक नया मोड़ ले रहा !क्या मौजूदा सरकार प्रेस की स्वतंत्रता पर पहरा लगाने का प्रयास कर रही है। बेखौफ होकर सच की आवाज को बुलंद करने लोकतंत्र में ''आ बैल मुझे मार"" अर्थात खुद की मौत के सामने से आमंत्रित करना है ये सवाल हर किसी के मन मे कौंध रहा है। भारत में प्रेस को वॉच डॉग एवं परिषद मीडिया को मोरल वॉच डॉग कहा गया है। राष्ट्रीय प्रेस दिवस प्रेस की स्वतंत्रता एवं जिम्मेदारियों की ओर हमारा ध्यान आकृष्ट करता है। आज पत्रकारिता क्षेत्र व्यापक हो गया है सुशील केशरवानी ने कहा आज पत्रकारिता का क्षेत्र व्यापक हो गया है। पत्रकारिता जन जन तक सूचनात्मक शिक्षाप्रद एवं मनोरंजनात्मक संदेश पहुंचाने की कला एवं विधा है। आजकल सोशल मीडिया का जमाना है। जिसके मुख्य स्रोत व्हाट्सएप फेसबुक टि्वटर मीडिया इंस्टाग्राम महत्वपूर्ण हो गए है एक मुख्य समाचार पत्र ऐसी उत्तर पुस्तिका के समान है। जिसके लाखों परीक्षक एवं एवं समीक्षक उनके लक्षित जन समूह ही होते है। तथ्यपरक तथा यथार्थवादी का संतुलन एवं वस्तुनिष्ठता इस के आधारभूत तत्व हैं। परंतु इनकी कमियां आज पत्रकारिता के क्षेत्र में बहुत बड़ी त्रासदी साबित होने लगी है।  पत्रकार चाहे प्रशिक्षित हो या गैर प्रशिक्षित यह सबको पता है की पत्रकारिता में तथ्यपरकता होनी चाहिए परंतु तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर बढ़ा चढ़ाकर या घटाकर सनसनी बनाने की प्रवृत्ति आज पत्रकारिता में बढ़ने लगी है।खबरों में पक्ष धरता एवं असंतुलन भी प्रायः देखने को मिलता है। इस प्रकार खबरों में निहित स्वार्थ साफ झलक ने लग जाता है। आज समाचारों में विचार को मिश्रित किया जा रहा है। विचारों पर आधारित समाचारों की संख्या बढ़ने लगी है। इससे पत्रकारिता में एक अस्वास्थ्य कर प्रबत्ति विकसित होने लगी है। समाचार विचारों की जननी होती है। इसलिए समाचारों पर आधारित विचार तो स्वागत योग्य हो सकते हैं परंतु विचारों पर आधारित समाचार अभिशाप की तरह है। मीडिया को समाज का दर्पण दीपक दोनों माना जाता है। इनमें जो समाचार मीडिया चाहे वह समाचार पत्रों या चैनल उन्हें मूल समाज का दर्पण माना जाता है दर्पण का काम है। दर्पण की तरह काम करना ताकि वह समाज की तस्वीर समाज के सामने पेश कर सकें परंतु कभी-कभी निजी स्वार्थों के कारण यह समाचार मीडिया समतल दर्पण की जगह उत्तल अवतल दर्पण की तरह काम करने लग जाते हैं। इससे समाज की उल्टी,अवास्तविक काल्पनिक एवं विकृति तस्वीर भी सामने आ जाती है तात्पर्य है कि खोजी पत्रकारिता के नाम पर आज पीली व नीली पत्रकारिता हमारे कुछ पत्रकारों के गुलाबी जीवन का अभिन्न अंग बनती जा रही।


भारतीय प्रेस परिषद ने अपनी रिपोर्ट में कहा भी है भारत में प्रेस ने ज्यादा गलतियां की है एवं अधिकारियों की तुलना में प्रेस के खिलाफ अधिक शिकायतें दर्ज है पत्रकारिता आजादी से पहले एक मिशन थी आजादी के बाद यह प्रोडक्शन बन गई हां बीच में आपातकाल के दौरान जब प्रेस पर सेंसर लगा था तब पत्रकारिता पर एक बार फिर थोड़े समय के लिए भ्रष्टाचार मिटाओ अभियान को लेकर मिशन बन गई धीरे-धीरे पत्रकारिता प्रोडक्शन से सेंसेशन एवं सेंसेशन से कमीशन बन गई परंतु इन तमाम सामाजिक बुराइयों के लिए सिर्फ मीडिया को दोषी ठहराना उचित नहीं जैसे यदि किसी गाड़ी का एक पुर्जा टूट जाता तो धीरे धीरे दूसरा फिर तीसरा फिर पूरी गाड़ी बेकार हो जाती है समाज मे कुछ ऐसी ही स्थिति लागू हो रही है समाज मे हमेशा बदलाव आता रहता है विकल्प उत्त्पन्न होते रहते हैं ऐसी अवस्था मे समाज मे असमंजस की स्थिति आ जाती है।इस स्थिति में मीडिया समाज को नई दिशा देता हमीदिया समाज को प्रभावित करता है लेकिन कभी कभी ये केन प्रकारेण मीडिया समाज से प्रभावित होने लगता है। राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर देश की बदलती पत्रकारिता का स्वागत है बशर्ते वह अपने मूल्यों और आदर्शों की सीमा रेखा कायम रखे।। राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर कार्यक्रम को सम्बोधित करने वालो में वरिष्ठ पत्रकार रामबदन भार्गव, वरिष्ठ पत्रकार बैजनाथ उर्फ कल्लू केशरवानी वरिष्ठ पत्रकार सुशील केशरवानी अनुराग शुक्ला,राजू सक्सेना, सुबोध केशरवानी,राम प्रसाद गुप्ता नरेंद्र यादव, विनय मिश्रा, एनड़ी तिवारी,अंकित गुप्ता, प्रदीप पांडेय,संजय मिश्रा पवन मिश्रा  सन्तलाल मौर्य,जैगम अब्बास,अरविंद केशरवानी अमित कुमार त्रिपाठी उर्फ सोनू , धर्मेन्द्र सोनकर,ज्ञानू सोनी, मदन केशरवानी, राजकुमार, बृजेन्द्र केशरवानी, मोनू पाण्डेय,अमन केशरवानी रामबाबू, अजीत कुशवाहा, अंकित केशरवानी विष्णु सोनी,सुशील दिवाकर,सियाराम, मंजीत सिंह, गणेश साहू, नथन पटेल जितेंद्र मौर्या,सुनील चौधरी,सैयद अली, विजय मोदनवाल,राहुल यादव,मदन जायसवाल, आर्यवीर अश्वनी शशिभूषण सिंह, नवीद अहमद,अंकित करारी समीर अहमद अनुराग द्विवेदी अनुराग कुशवाहा राम कुमार गुप्ता सुनील कुमार कुशवाहा अनूप कुमार,फैज बाबा कौशलेंद्र प्रताप ,लक्ष्मण समीर अहमद आदि तमाम पत्रकार मौजूद। 


संतलाल मौर्या


शाह के साथ सीएम अरविंद की आपात बैठक

कोरोना वायरस पर अमित शाह के साथ सीएम केजरीवाल की आपात बैठक, जानें क्या है महामारी से निपटने का प्लान


नई दिल्ली। सीएम ने आगे कहा कि प्रतिदिन कोरोना टेस्टिंग की क्षमता भी बढ़ाने पर चर्चा हुई है। वहीं प्रदूषण के मसले पर कोई बात नहीं की गई है। देश की राजधानी दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की ओर से बुलाई गई मीटिंग अब खत्म हुई। इस बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौजूद रहे। इस मीटिंग के बाद कोरोना पर नियंत्रण पाने को लेकर हुई बातचीत के बारे में सीएम अरविंद केजरीवाल ने जानकारी दी है। सीएम केजरीवाल ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि केंद्र सरकार की ओर से डीआरडीओ सेंटर पर 500 आईसीयू बेड उपलब्ध कराने के बात कही गई है। साथ ही केंद्र की मोदी सरकार की ओर से 250 और बेड दिए जाएंगे। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा, हम इस बैठक के लिए गृह मंत्रालय का आभार व्यक्त करते हैं। दिल्ली की जनता के स्वास्थ्य के लिए यह बैठक बहुत जरूरी थी। अक्टूबर महीने के बाद राजधानी में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में सभी को मिलकर काम करन बेहद जरूरत है। सीएम ने आगे कहा कि प्रतिदिन कोरोना टेस्टिंग की क्षमता भी बढ़ाने पर चर्चा हुई है। वहीं प्रदूषण के मसले पर कोई बात नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि प्रदूषण के मुद्दे पर सोमवार को बैठक हो सकती है। सीएम ने यह भी कहा कि डीआरडीओ सेंटर पर 750 आईसीयू बेड उपलब्ध कराए जाएंगे। केंद्र की मोदी सरकार आईसीयू बेडों की संख्या बढ़ाने के लक्ष्य में हमारी सहायता करेगी। दिल्ली में रोजाना 1 से 1.5 लाख कोरोना वायरस टेस्ट किए जाएंगे। वहीं केंद्रीय मंत्री गृहमंत्री अमित शाह ने बैठक में हुई चर्चा और लिए गए फैसलों के बारे में बताया है। अमित शाह कहा कि दिल्ली में आरटी-पीसीआर टेस्ट की दोगुनी वृद्धि की जाएगी। अमित शाह ने कहा कि ज्यादा संवेदनशील इलाकों में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय और आईसीएमआर की मोबाइल टेस्टिंग वैनों को तैनात किया जाएगा। इसी साल मई के महीने में बनाए गये धौला कुआं स्थित डीआरडीओ के कोविड 19 अस्पताल में 250 से 300 आईसीयू बेड और शामिल किए जाएंगे। इसके अलावा ऑक्‍सीजन की सुविधा वाले बेडों की उपलब्धता बढ़ाने के उद्देश्‍य से छतरपुर के 10,000 बेड वाले कोविड सेंटर को और सशक्त किया जाएगा। अमित शाह ने यह भी बताया कि एमसीडी के कुछ चिन्हित अस्‍पतालों को हल्‍के-फुल्‍के लक्षण वाले कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए डेडिकेटेड अस्‍पतालों के रूप में बदला जाएगा। कोरोना वायरस महामारी के चलते हालात की स्पष्टता जानने के लिए डेडिकेटेड बहु-विभागीय टीमें, दिल्‍ली के सभी निजी अस्‍पतालों में जाएंगी। शाह ने यह भी कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने दिल्ली में स्वास्थ्यकर्मियों की कमी को देखते हुए सीएपीएफ से अतिरिक्‍त डॉक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ देने का निर्णय किया है, उन्हें शीघ्र ही एयरलिफ्ट करके दिल्ली लाया जायेगा।           


प्रशासन का चला किसान पर डंडा, केस दर्ज

महराजगंज/सोनौली। कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पंचायत हरदीडाली मे सोमवार को कटी धान की पराली जलाते हुए एसडीएम नौतनवां प्रमोद कुमार मौके से दो लोगो को पकड लिया। और उनके ऊपर मुकदमा पंजीकृत करने के निर्देश दिए। बताते चले की शासन प्रशासन के द्रारा लाख मना करने के बाद भी कुछ अराजक तत्व अपनी आदतो से बाज नही आ रहे है। जिससे शासन और प्रशासन को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड रहा है। सूत्रों द्वारा पता चला कि क्षेत्र में कोई किसान पराली को जा रहा है जिसकी सूचना उप जिलाधिकारी नौतनवा हुई ऐसे में सूचना के दौरान पहुंचे अजय नौतनवा में जलाते हुए पकड़ लिया।
उपजिलाधिकारी नौतनवां को सूचना मिला की कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पंचायत हरदीडाली मे दो लोग पराली जला रहे है। सूचना पर विश्वास करते हुए मौके पर पहुचे उपजिलाधिकारी नौतनवां प्रमोद कुमार ने पराली जलाते समय दो लोगो को मौके से पकडा। जहां पूछताछ मे पकडे गये लोगो मे एक ने अपना नाम राजू उर्फ राजनारायण वही दुसरा वृजेश यादव पुत्र दयाराम यादव को कब्जे मे लेकर सोनौली पुलिस को सुर्पुद कर दिया और दोनों लोगों पर मुकदमा दर्ज करने का आदेश सोनौली पुलिस को दिया है।                                           


आकाशीय बिजली गिरने से 2 लोगों की मौत

शंकरपुर। आकाशीय बिजली की चपेट में आकर दो युवकों की मौत हो गई, जबकि एक घायल हो गया। घटना से मृतकों के परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार रात सहसपुर थाना क्षेत्र के शंकरपुर निवासी सागर (27 वर्ष) और अनुज चौहान (26 वर्ष) घर जा रहे थे कि इसी दौरान तेज हवाओं के साथ बारिश होने लगी। बताया जा रहा है कि बारिश से बचने के लिए दोनों एक पेड़ के नीचे खड़े हो गए। तभी अचानक आकाशीय बिजली गिरने से दोनों उसकी चपेट में आ गए। स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें हरबर्टपुर अस्पताल पहुंचाया गया। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीँ शंकरपुर गांव का एक अन्य युवक हेमंत शर्मा भी खड़ा था। वह बाल बाल बच गया, उसके हाथ और पैरों में चोट आई है। जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

                 

कांस्टेबल ने एसएचओ के घर में मारपीट की

देहरादून। उत्तराखंड पुलिस के कांस्टेबल ने शराब के नशे में दिल्ली पुलिस के एडिशनल एसएचओ के घर में घुसकर मारपीट की और महिलाओं के साथ बदतमीजी की। देहरादून के वसंत विहार थाना पुलिस ने कॉस्टेबल सहित तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। एडिशनल एसएचओ रजनीश कुमार निवासी पंडितवाडी ने तहरीर दी कि उनके पड़ोस में निवासरत आनंद वर्मा उर्फ विक्की, तरुण धवन उर्फ कुकू तथा आशू नेगी नाम के व्यक्ति ने उनके घर में घुसकर परिवार के सभी सदस्यों के साथ गाली गलौज कर मारपीट की। साथ ही महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की गई। इंस्पेक्टर नत्थीलाल उनियाल ने बताया कि तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आनंद वर्मा जनपद टिहरी में कांस्टेबल के पद पर नियुक्त है।             


परिणाम में बदलाव लाने की गुंजाइश नहीं हैं

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि अब समय आ गया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप यह स्वीकार कर लें कि वह डेमोक्रेटिक पार्टी के अपने प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन से हार चुके हैं क्योंकि अब चुनाव के परिणामों में बदलाव आने की कोई गुंजाइश नहीं है। ट्रंप को 232 इलेक्टोरल कॉलेज वोट मिले। उन्होंने हार को अस्वीकार करते हुए पेनसिल्वेनिया, नेवाडा, मिशिगन, जॉर्जिया और एरिजोना में चुनाव के परिणामों को चुनौती दी है। साथ ही विस्कोंसिन में पुनर्मतगणना की मांग की है।              


जीरो टॉलरेंस की सरकार भ्रष्टाचार में डूबी हैं

पंकज कपूर


कोटद्वार। प्रदेश की जीरो टॉलरेन्स सरकार आकंट भष्ट्राचार में डूबी हुई है। यह बात प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कोटद्वार में एक प्रेसवार्ता में कही। उन्होनें कहा कि, पहले से ही कोरोना महामारी से त्रस्त आमजन को मंहगाई की जबरदस्त मार झेलनी पड़ रही है। सरकार की कथनी और करनी में भारी अन्तर है। देश के किसानों को अपनी ही मेहनत का मोल नहीं मिल पा रहा है तो दूसरी ओर जमाखोरी और कालाबाजारी करने वाले दलाल डबल इंजन सरकार में चांदी काट रहे हैं। सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं, इस व्यवस्था में देश का गरीब व्यक्ति बुरी तरह प्रभावित हुआ है। प्रदेश में नौजवानों द्वारा रोजगार की मांग करने पर लाठियों बरसायी जा रही हैं।


फॉरेस्ट गॉड भर्ती में हुई अनियमितता की बात प्रदेश सरकार भी स्वयं स्वीकार कर चुकी है। प्रदेश सरकार का अपने ही विभागीय अधिकारियों पर नियंत्रण नहीं है। प्रदेश में शपथ ग्रहण करते ही वर्त्तमान भाजपा सरकार ने 100 दिन में लोकायुक्त लाने का वादा किया था परन्तु पौने चार साल पूरे हो चुके हैं, अभी तक भाजपा सरकार प्रदेश में लोकायुक्त बिल लाने में विफल रही है। राष्ट्रीय राजमार्ग 74 घोटाला हो या लगभग 400 करोड़ का श्रम घोटाला प्रदेश सरकार के पास इन घोटालों का कोई जबाब नहीं है। प्रदेश में मुख्यमंत्री स्वयं घोटालों के आरोपों से घिरे हुए हैं।


उन्होंने कहा कि प्रदेश के शहरी क्षेत्र में शामिल किये गये नये ग्रामीण क्षेत्रों को 10 साल तक कर मुक्त रखने की बात हुई थी, परन्तु अब सरकार स्वयं अपनी ही कही बात से पीछे हट गयी है। प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल विधायकों की पुनः वापसी के सवाल पर उन्होंने कहा कि, इसका निर्णय राष्ट्रीय नेतृत्व करेगा। यह निर्णय प्रदेश के सभी कांग्रेसजनों को स्वीकार्य होगा। इस अवसर पर पूर्व काबीना मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी, कोटद्वार महापौर हेमलता नेगी, मनीष खण्डूरी, सूर्यकान्त धस्माणा, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सरोजनी कैंतुरा, कांग्रेस जिलाध्यक्ष चन्द्र मोहन खर्क्वाल, महानगर अध्यक्ष संजय मित्तल आदि उपस्थित थे।                                        


बर्फबारी के बीच केदारनाथ के कपाट हुए बंद

पंकज कपूर


देहरादून। बारिश एवं बर्फवारी के साथ विश्व प्रसिद्ध ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग श्री केदारनाथ धाम के कपाट आज भैयादूज के अवसर पर प्रात: 8.30 बजे शीतकाल के लिए बंद हो गये है। प्रात: तीन बजे से मंदिर खुल गया श्रद्धालुगणो ने दर्शन किये इसके पश्चात मुख्य पुजारी शिवशंकर लिंग ने बाबा की समाधि पूजा संपन्न की तथा साढे छ: बजे भगवान भैरवनाथ जी को साक्षीमानकर गर्भगृह को बंद किया गया। तथा साढ़े आठ बजे सभा मंडप तथा मुख्य द्वार को बंद कर दिया गया।               


चौथें स्तंभ के रूप में प्रेस की महत्वपूर्ण भूमिका

पंकज कपूर


देहरादून। राजधानी से 15 नवंबर रविवार को सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने ‘राष्ट्रीय प्रेस दिवस’ के अवसर पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में प्रेस की महत्वपूर्ण भूमिका है। भारत की आजादी के आन्दोलन में भी प्रेस का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। आजादी के बाद नए भारत के निर्माण में भी मीडिया अपनी सक्रिय भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान दौर की विभिन्न चुनौतियों के दृष्टिगत प्रेस की भूमिका और अधिक प्रासंगिक एवं महत्वपूर्ण हो जाती है। स्वतंत्र निष्पक्ष तथा निर्भीक मीडिया किसी भी लोकतंत्र की मजबूती के लिए आवश्यक है, प्रेस समाज के दर्पण का कार्य करता है।                       


मोदी के बाद योगी भी हुए बाबा की मुरीद

देहरादून। राजधानी से 15 नवंबर रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पहुँचे केदारनाथ। वही केदारनाथ मंदिर में पूजा अर्चना कर देश की खुशहाली की कामना की। और फिर साथ ही इस दौरान केदारनाथ में किये जा रहे पुनर्निर्माण के कार्यों का किया स्थलीय निरीक्षण। वही इस मौके पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ ने रविवार को केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। शंकराचार्य जी के समाधि स्थल, आस्था पथ, ध्यान गुफाओं का एवं केदारनाथ में बने ब्रिज का निरीक्षण दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा किया गया।                             


नासा ने 4 यात्रियों को अंतरिक्ष स्टेशन पर भेजा

न्यू जर्सी। एलन मस्क की रॉकेट कंपनी स्पेसएक्स और अमेरिकी अंतरिक्ष अनुसंधान एजेंसी नासा ने रविवार को अंतरिक्ष जगत में एक नया मुकाम हासिल किया। दरअसल, नासा ने स्पेसएक्स के साथ मिलकर टेस्ला द्वारा तैयार किए गए फाल्कन 9 अंतरिक्ष यान के जरिए चार यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) पर भेजा है। 


पहली बार निजी यान से भेजा
यह नासा का पहला ऐसा मिशन है, जिसमें अंतरिक्ष यात्रियों को आईएसएस पर भेजने के लिए निजी अंतरिक्ष यान की मदद ली गई है। इस अंतरिक्ष यान के जरिए क्रू ड्रैगन रेसिलियंस टीम में शामिल अंतरिक्ष यात्रियों को आईएसएस पर भेजा गया है। 
ये चार यात्री गए अंतरिक्ष में
इस टीम में अमेरिकी वायुसेना के कर्नल और अंतरिक्ष यात्री माइक होपकिन्स, भौतिक विज्ञानी शैनन वॉकर, जापानी अंतरिक्ष यात्री सोइची नोगुची के साथ-साथ नौसेना कमांडर और अंतरिक्ष यात्री विक्टर ग्लोवर (जो अंतरिक्ष स्टेशन पर पूरे छह महीने बिताने वाले पहले अश्वेत अंतरिक्ष यात्री हैं) को फाल्कन 9 अंतरिक्ष यान के माध्यम से आईएसएस पर भेजा गया।


कोरोना के चलते टेकऑफ के दौरान मौजूद नहीं थे मस्क
मिशन लॉन्च होने के दौरान अंतरिक्ष यात्रियों के परिवार फ्लोरिडा स्थित नासा के कैनेडी स्पेस सेंटर पर मौजूद रहे। परिवार वालों ने लॉन्च के समय अंतरिक्ष यात्रियों की सलामती की दुआ की और उनकी तरफ हाथ हिलाकर अलविदा कहा।कोरोना महामारी के चलते टेस्ला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एलन मस्क इस दौरान मौजूद नहीं थे। हालांकि, स्पेसएक्स के अध्यक्ष ग्वेने शॉटवेल नासा के प्रशासक जिम ब्रिडेनस्टाइन के साथ टेकऑफ के दौरान मौजूद रहे। 


क्रू का नाम कैप्सूल रेसिलियंस
अभी तक 2020 में दुनियाभर में आई चुनौतियों को देखते हुए इस क्रू को कैप्सूल रेसिलियंस का नाम दिया गया है। टेकऑफ के दौरान स्पेस सेंटर के पास के कस्बे केप कनवेरल के निवासी बड़ी संख्या में मिशन को देखने के लिए पहुंचे। 


अब आईएसएस के लिए शुरू होंगी उड़ानें
नासा द्वारा टेकऑफ से पहले किए गए ट्वीट्स की एक श्रृंखला के अनुसार, अंतरिक्ष यात्रियों ने सभी परीक्षण किए और अंतरिक्ष यान को टेकऑफ से पहले चेक किया गया। स्पेसएक्स की पहली नियमित अंतरिक्ष उड़ान के लिए दोबारा प्रयोग में लाए जाने वाले रॉकेट का इस्तेमाल किया गया है जिसका नाम फाल्कन 9 है। इसे स्पेसएक्स द्वारा विकसित और निर्मित किया गया है।


नासा के प्रशासक जिम ब्रिडेनस्टाइन ने संवाददाताओं से कहा था कि इस मिशन का मतलब है कि अब आईएसएस के लिए परिचालन उड़ानें शुरू हो सकती हैं। उन्होंने कहा, इस बार जो इतिहास बनाया जा रहा है, वह वही है जिसे हम अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में परिचालन उड़ान कहते हैं।                                  


पेशेवरों को गोल्डन वीजा जारी करेगा यूएई

नई दिल्ली। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने रविवार को कहा कि उसने और अधिक पेशेवरों को 10 साल का गोल्डन वीजा जारी करने की मंजूरी दे दी है। इसमें पीएचडी डिग्रीधारक, चिकित्सक, इंजीनियर और विश्वविद्यालयों के कुछ खास स्नातक शामिल हैं।


यूएई प्रतिभाशाली लोगों को खाड़ी देश में बसाने और राष्ट्र निर्माण में उनकी मदद पाने के लिए गोल्डन वीजा जारी करती है। यूएई के उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने ट्वीट कर यह घोषणा की।
उन्होंने ट्वीट किया, हमने आज इन श्रेणियों में प्रवासियों के लिए 10 वर्षीय गोल्डन वीजा जारी करने के फैसले को मंजूरी दी: सभी पीएचडी डिग्रीधारक, सभी चिकित्सक, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स, प्रोग्रामिंग, बिजली और जैव प्रौद्योगिकी, यूएई द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों के स्नातक, जिनका जीपीए (ग्रेड प्वाइंट एवरेज) 3.8 या उससे अधिक हो।                                             


सेना के बैंड की धुन पर झूमने लगें सीएम 'त्रिवेंद्र'

पंकज कपूर


देहरादून। राजधानी से 15 नवंबर रविवार को प्राप्त जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तराखंड की दो दिवसीय यात्रा पर हैं। रविवार को दोपहर 1:30 बजे के करीब अपने विशेष सीएम योगी विमान से देहरादून के जॉलीग्रांट हवाई अड्डा पहुंचे. जहां उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनका स्वागत किया। वही जिसमें इस दौरान उत्तराखण्ड मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज श्री केदारनाथ जी के दर्शन एवं पूजा करेंगे।              


बद्रीनाथ सहित पहाड़ी इलाकों में गिरा पारा

अभिषेक अग्रवाल 


देहरादून। बीती रात से ही बद्रीनाथ धाम के साथ हेमकुंड साहिब एवं अन्य सभी पहाड़ी इलाकों में तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। जिससे की पहाड़ियां सफेद हो गई है दर्शन पहाड़ी इलाकों में बीती रात से ही जमकर बर्फबारी हो रही है। जिससे कि तापमान में गिरावट दर्ज होने के कारण ठंड बढ़ गई है। लोगों की परेशानियां भी ठंड के साथ बढ़ गई है बर्फबारी के चलते तापमान में निरंतर गिरावट दर्ज की जा रही है। जिससे कि बाबा बद्री का द्वार भी अब सफेद हो गया है।                       


गोरखपुरः सड़क दुर्घटना में 6 लोगों की मौत

गोरखपुर। सिद्धार्थनगर के धौसा गांव में सोमवार सुबह एक कार के दुर्घटनाग्रस्त होने से दो बच्चों समेत छह लोगों की मौत हो गयी और चार अन्य लोग घायल हो गये। पुलिस के अनुसार, 10 लोग बच्चे का मुंडन कराने कार से बिहार में सिवान के मैरवां धाम जा रहे थे, तभी मधुबनिया मार्ग पर यह हादसा हो गया ।


सिद्धार्थनगर के पुलिस अधीक्षक राम अभिलाष ने बताया कि इस हादसे में मरने वालों में उमेश (18), हिमांशु (तीन), शिवांगी (आठ), सावित्री (42), सरस्वती (67) और कमलावती (35) शामिल है। इस दुर्घटना में चार लोग घायल हो गए, जिनमें सविता देवी, मुनील, गीता और शिवांशु शामिल हैं। उन्हें सिद्धार्थनगर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है।                                        


किरकिरीः कांग्रेस नेतृत्व पर फिर उठे सवाल

हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। बिहार विधान सभा चुनाव में खराब प्रदर्शन को लेकर एक बार फिर से कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल उठने लगे हैं और सवाल उठाने वाले कोई और नहीं बल्कि पार्टी के ही नेता हैं। तारिक अनवर के बाद अब वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने इशारों-इशारों में राहुल और सोनिया गांधी पर निशाना साधा है। उन्होंने यहां तक कह दिया है कि जनता कांग्रेस को प्रभावी विकल्प के रूप में नहीं देखती।


हर जगह बुरा हाल


इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में सिब्बल ने कहा, 'बिहार ही नहीं, विभिन्न राज्यों के उपचुनावों के नतीजों से ऐसा लग रहा है कि लोग कांग्रेस को प्रभावी विकल्प नहीं मान रहे हैं। बिहार में विकल्प तो आरजेडी ही है। गुजरात उपचुनाव में हमें एक भी सीट नहीं मिली। लोकसभा चुनाव में भी यही हाल रहा था। उत्तर प्रदेश के उपचुनाव में कुछ सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों को 2 फीसदी से भी कम वोट मिले, जो निश्चित तौर पर चिंता का विषय है'।


अनवर ने भी उठाये थे सवाल


इससे पहले बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तारीक अनवर ने भी कहा कि बिहार चुनाव परिणाम पर पार्टी के अंदर मंथन होना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा था कि सीटों के बंटवारे को अंतिम रूप देने में देरी का खामियाजा महागठबंधन को उठाना पड़ा। कांग्रेस को इससे सीखना चाहिए और आगामी विधानसभा चुनावों के लिए गठबंधन की औपचारिकताओं को अच्छी तरह से पूरा करना चाहिए।


...तो होता रहेगा नुकसान


तारीक अनवर से जुड़े एक सवाल के जवाब में कपिल सिब्बल ने कहा, 'यदि छह सालों में कांग्रेस ने आत्ममंथन नहीं किया तो अब क्या उम्मीद है? हमें कांग्रेस की कमजोरियां पता हैं, हमें पता है सांगठनिक तौर पर क्या समस्या है। मुझे लगता है कि इसका समाधान भी सबको पता है। कांग्रेस पार्टी भी यह अच्छी से जानती है, लेकिन वे इन उपायों को अपनाना नहीं चाहते। यदि वे ऐसा ही करते रहेंगे तो प्रदर्शन का ग्राफ यूं ही गिरता रहेगा'।


भक्तों पर 'महाकालेश्वर' की बरसी कृपा

काशीपुर। मोहल्ला कटरा मालियान नगर निगम के पीछे श्री महाकालेश्वर मंदिर पर अन्नकूट प्रसाद वितरण किया गया।भक्तों पर महाकालेश्वर की कृपा जमकर बरसी पंडित हिमांशु द्वारा गोवर्धन पूजा का विधिवत हवन पूजन कराया गया।कार्यक्रम का आयोजन राजकुमार यादव, विजय यादव तथा बृजेश चौहान द्वारा अन्नकूट प्रसाद का शुभारंभ निवर्तमान पार्षद कविता यादव एवं पूर्व उप चेयरमैन कैलाश चंद प्रजापति द्वारा दोपहर करीब 3:00 बजे से प्रारंभ किया गया। इस मौके पर भक्तों द्वारा अमृत रूपी प्रसाद ग्रहण किया गया।और लोग कृष्ण भक्ति से ओत प्रोत दिखे। इस दौरान महाकालेश्वर मंदिर पर अंकुर प्रसाद रात्रि 8:00 बजे तक चलता रहा जहां पर बड़ी तादाद में श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया इस मौके पर वार्ड के पार्षद गंधार अग्रवाल, जतिन यादव, शांति प्रसाद प्रजापति, सपना शर्मा, सुरभि शर्मा, सनी पाल, शिखा यादव, जानवी यादव, राजेश गोला, राजकुमार सेठी, सर्वेश शर्मा, शशी, राजीव अरोड़ा, नीतीश, रूपकिशोर सैनी, एवं मदन यादव कारीगर समेत सैकड़ों लोग मौजूद रहे।               


टिप्पणी-विचार प्रकाशित करने का अधिकार

तिरुअनंतपुरम। केरल उच्च न्यायालय ने मलयाला मनोरमा दैनिक के मुख्य संपादक, प्रबंध संपादक और प्रकाशक के खिलाफ दर्ज एक मानहानि शिकायत को खारिज कर दिया है। जस्टिस पी सोमराजन ने कहा कि प्रेस को आवश्यक टिप्पणियों और विचारों के साथ समाचार प्रकाशित करने का अधिकार है। इस प्रकार के अधिकार को तब तक खत्म नहीं किया जा सकता, जब तक कि दुर्भावना बहुत अध‌िक हो और सार्वजनिक हित की बात नहीं हो। अदालत ने कहा कि समाचार की अवमानना ​​प्रकृति, अगर वह सच्चाई के प्रतिरूपण से जुड़ी है, जिसे सार्वजनिक सद्भावना के लिए प्रकाशन की आवश्यकता है, तो यह मानहानि का अपराध नहीं होगा।


शिकायतकर्ता (आर चंद्रशेखरन) और तीन अन्य के खिलाफ एक सतर्कता रिपोर्ट के बारे में प्रकाशित खबर के के खिलाफ शिकायत थी। संपादकों और प्रकाशकों ने, मजिस्ट्रेट द्वारा शिकायत का संज्ञान लिए जाने के आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। अदालत ने शिकायतकर्ता को संदर्भित किया और कहा कि शिकायतकर्ता को समाचार में आरोपी व्यक्ति के रूप में संदर्भित किया गया था, जिसमें रिपोर्ट का वास्तविक संस्करण शामिल था। जज ने यह भी कहा कि उनके खिलाफ अपराध दर्ज किया गया था और बाद में एक संदर्भ रिपोर्ट प्रस्तुत की गई थी।


“आईपीसी की धारा 499 में पहला प्रावधान के तहत लोकतांत्रिक प्रणाली में व्यापक प्रचार और आवश्यक टिप्पणियों और विचारों के साथ समाचार प्रकाशित करने का अधिकार दिया गया है, हालांकि, विचारों को, यद्यप‌ि वो कभी-कभी अवमाननपूर्ण होते हैं, तब तक समाप्त नहीं किया जा सकता, जब तक जब तक कि दुर्भावना बहुत अध‌िक हो और सार्वजनिक हित की बात नहीं हो। समाचार की अवमानना ​​प्रकृति, अगर वह सत्य के प्रतिरूपण से जुड़ी है, जिसे सार्वजनिक सद्भावना के लिए प्रकाशन की आवश्यकता है, अपराध को आकर्षित नहीं करेगी और पहले अपवाद के साथ धारा 499 आईपीसी को आकर्षित करने की आवश्यकता के संबंध में कोई गलतफहमी नहीं होगी। इसलिए प्रकाशित समाचार धारा 499 आईपीसी के तहत परिभाषित मानहानि के अपराध को आकर्षित नहीं करेगा।” चौथी स्तंभ में निहित उद्देश्यों को हराने के लिए है। आपराधिक कार्यवाही पर रोक लगाते हुए जज ने आगे कहा: “सभी समाचार सामग्रियों को प्रकाशित करना चौथे स्तंभ का कर्तव्य है, विशेष रूप से सार्वजनिक महत्व के विषयों को और यह उनका कर्तव्य है कि वे समाचार सामग्री को, उसके पक्ष और विपक्ष पर टिप्पणी करते हुए प्रका‌शित करें ताकि समाज को सतर्क रहने के लिए प्रबुद्ध किया जा सके।” यह धारा 499 आईपीसी से जुड़े पहले अपवाद के तहत आएगा, जब यह सार्वजनिक हित के लिए वास्तविकता के साथ किया जाता है। सार्वजनिक महत्व के मामलों से चौथे स्तंभ को दूर रहने की उम्मीद नहीं है, लेकिन उनका एकमात्र कर्तव्य समाचार के मुद्दों के पक्ष और विपक्ष से समाज को अवगत कराकर उसकी सेवा करना है, ताकि समाज को और अधिक कार्यात्मक और सतर्क बनाया जा सके। चौथा स्तंभ लोकतांत्रिक समाज में सार्वजनिक हित / सार्वजनिक महत्व के सभी मामले पर टिप्पणी करने का एक मंच है, आवश्यक टिप्पणी के साथ प्रकाशित समाचार…मानहानि रूप में धारा 499 आईपीसी के तहत परिभाषित नहीं किया जा सकता है जब तक कि उससे सद्भाव में कमी न प्रदर्श‌ित हो और जनहित या सार्वजनिक भलाई के विषय से संबंधित नहीं हो।”                               


भारत ने विश्व को मानवता का मार्ग दिखाया

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को जैनाचार्य विजय वल्लभ जी की ‘स्टैच्यू ऑफ पीस’ का अनावरण किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने हमेशा पूरे विश्व को, मानवता को, शांति, अहिंसा और बंधुत्व का मार्ग दिखाया है। ये वो संदेश हैं जिनकी प्रेरणा विश्व को भारत से मिलती है, इसी मार्गदर्शन के लिए दुनिया आज एक बार फिर भारत की ओर देख रही है। संतों से अपील करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज 21वीं सदी में मैं आचार्यों, संतों से एक आग्रह करना चाहता हूं कि जिस प्रकार आजादी के आंदोलन की पीठिका भक्ति आंदोलन से शुरु हुई। वैसे ही आत्मनिर्भर भारत की पीठिका तैयार करने का काम संतों, आचार्यों, महंतों का है।


पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि महापुरुषों का, संतों का विचार इसलिए अमर होता है, क्योंकि वो जो बताते हैं, वही अपने जीवन में जीते हैं। आचार्य विजय वल्लभ जी कहते थे कि साधु, महात्माओं का कर्तव्य है कि वो अज्ञान, कलह, बेगारी, आलस, व्यसन और समाज के बुरे रीति रिवाजों को दूर करने के लिए प्रयत्न करें।


पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आचार्य विजयवल्लभ जी का जीवन हर जीव के लिए दया, करुणा और प्रेम से ओत-प्रोत था। उनके आशीर्वाद से आज जीवदया के लिए पक्षी हॉस्पिटल और अनेक गौशालाएं देश में चल रहीं हैं। ये कोई सामान्य संस्थान नहीं हैं, ये भारत की भावना के अनुष्ठान हैं, ये भारत और भारतीय मूल्यों की पहचान हैं।


पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का इतिहास आप देखें तो आप महसूस करेंगे, जब भी भारत को आंतरिक प्रकाश की जरूरत हुई है, संत परंपरा से कोई न कोई सूर्य उदय हुआ है। कोई न कोई बड़ा संत हर कालखंड में हमारे देश में रहा है, जिसने उस कालखंड को देखते हुए समाज को दिशा दी है। आचार्य विजय वल्लभ जी ऐसे ही संत थे।                              


जला कर ही क्यों करते है 'अंतिम संस्कार'

अंतिम संस्कार के दौरान जब शरीर को अग्नि दी जाती है तो उस से पहले शव को श्मशान तक ले जाया गया होता है उसी शैय्या का एक बांस निकालकर उससे शव के सिर पर चोट किया जाता है जिसे कपाल क्रिया कहा जाता है। इस से सांसरिक जीवन में फंसा व्यक्ति इस मोह माया के बंधन से मुक्त हो जाता है।


अंतिम संस्कार के बाद यह क्रिया भी जरूरी


अंतिम संस्कार के अंत में परिवार के लोग श्मशान से वापस घर लौटे समय 5 लकड़ी के टुकड़े 3 दाएं हाथ में और 2 बाएं हाथ में रखते हैं और शव दाह से उलटी दिशा में खड़े होकर सिर से ऊपर से लकड़ियों को पीछे की ओर फेंकते हैं और वापस घर लौट चलते हैं। इसके बाद वापस पीछे मुड़ कर नहीं देखा जाता है। इस क्रिया के माध्यम से परिवार वाले कहते हैं कि अब तुम पंचतत्व में विलीन होकर इस संसार का मोह त्याग दो।               


मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,30,070 हुआ

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण से ठीक होने वालों की संख्या में बढ़ोतरी जारी है तथा 43 हजार से अधिक और मरीजों के ठीक होने के साथ ही रिकवरी दर बढ़कर 93.27 फीसदी हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना संक्रमण के 30,548 नए मामले सामने आने से इसके संक्रमितों की संख्या 88.45 लाख हो गयी है, वहीं सक्रिय मामले 13,738 कम होकर 4,65,478 हो गए। इस अवधि में 43,851 लोग स्वस्थ हुए हैं जिससे इस महामारी को मात देने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 82.49 लाख से अधिक हो गई है। इस दौरान 435 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,30,070 हो गया है।               


कब्जे को लेकर धमकी भरा ऑडियो वायरल

काशीपुर। नौगजे पीर बाबा के कब्रिस्तान की भूमि पर इंटर कॉलेज बनाने को लेकर दो पक्षों में फोन पर धमकी का मामला सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें कमेटी सदर एक व्यक्ति को साफ तौर पर धमकी दे रहे हैं। बता दें कि मामला मानपुर रोड स्थित नौ गजा पीर बाबा की दरगाह के पास 7 एकड़ भूमि पर स्थित कब्रिस्तान का है। जिस पर कब्रिस्तान कमेटी द्वारा इंटर कॉलेज बनाने को लेकर एक पत्थर शिलान्यास के रूप में रखा गया था। शिलान्यास की फोटो जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुई। वैसे ही मुस्लिम समुदाय के लोगों की प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई।                 


हैकर्स बना रहे हैं बैंकों की फर्जी वेबसाइट

पालूराम


नई दिल्ली। डिजिटल प्लेटफॉर्म बढ़ने के साथ ही ऑनलाइन फर्जीवाड़ों के केस में भी वृद्धि हुई है। दरअसल, ऑनलाइन धोखाधड़ी के केस तो अकसर सामने आते ही हैं, लेकिन अब इंटरनेट पर बैंकों की फर्जी वेबसाइट भी चल रही है। जिससे ग्राहकों को सावधान रहने की जरूरत है। यह फर्जी वेबसाइट ग्राहकों के पास कई तरह के मैसेज भी भेजते हैं। जिसको लेकर अब बैंक लोगों में जागरूकता फैलाने का काम कर रहे हैं। बैंक अपने ग्राहकों से अपील कर रहे हैं कि वह फर्जी सूचनाओं से दूर रहें। किसी भी अंजान लिंक को नहीं खोलें, वरना आपके खाते से रकम गायब हो सकती है।


वहीं, अब इस मामले को लेकर एसबीआई ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया है, जिसके जरिए उन्होंने लोगों को फर्जी मैसेज से सतर्कता बरतने की हिदायत दी है। बैंक ने कहा कि अगर इंटरनेट मीडिया पर बैंक के नाम से कोई एकाउंट है तो वह ब्लू टिक को देखकर ही उस पर कुछ लिखें। इसके अलावा एसबीआई के नाम पर अगर कोई अन्य एकाउंट दिख रहा है तो उस पर एटीएम पिन, कार्ड नंबर, ओटीपी कभी भी साझा नहीं करें। इस मामले में एसबीआई कैंट के मुख्य प्रबंधक हरीश वाधवा का कहना है कि बैंक वेबसाइट पर अपना खाता और पासवर्ड अपडेट करने के लिए कभी नहीं कहता है।                                           


छेड़खानी के विरोध में लड़की को जिंदा जलाया

वैशाली। बिहार के वैशाली में लड़की को जिंदा जलाकर मार डालने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। घटना के 15 दिन बाद भी किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी न होने से गुस्साए लोगों ने रविवार देर रात प्रदर्शन किया, हालांकि पुलिस की दखल के बाद देर रात ही लड़की का अंतिम संस्कार कर दिया गया।


दरअसल, वैशाली में छेड़खानी का विरोध करने पर 20 साल की एक युवती को गांव के दबंगों ने जिंदा जला दिया था। घटना  देसरी थाने के रसूलपुर हबीब की है। गांव के ही कुछ लड़कों ने छेड़खानी को लेकर विवाद के बाद लड़की पर केरोसिन डाल जिंदा जला दिया। लड़की का पटना पीएमसीएच में इलाज चल रहा था, जहां 15 दिन बाद उसकी मौत हो गई।


लड़की के घरवालों का आरोप है कि जब उन्होंने आरोपी के घरवालों से छेड़खानी की शिकायत की तो दबंग लड़के ने अपने दो साथियो के साथ लड़की को घर के पास पकड़ लिया और जिंदा जला दिया। वारदात के 15 दिन बाद कल देर रात पीड़िता की पटना PMCH में मौत हो गई है। वारदात के 15 दिन गुजरने के बाद भी इस खौफनाक वारदात के सभी आरोपी फरार हैं।                              


20 हजार से अधिक आबादी, क्षेत्र बनेगा नगर

20 हजार से अधिक की आबादी वाले गाँव पाएंगे शहरी सुविधा मिलेगा नगर पालिका परिषद का दर्जा


संदीप मिश्र


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीस हजार से अधिक आवादी वाली ग्राम पंचायतो को लेकर किया बड़ा एलान। लखनऊ में मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने 20,000 से अधिक आबादी वाले ग्राम पंचायतों या एक लाख से अधिक आबादी वाली ग्राम पंचायतो को नगर पालिका परिषद बनाकर शहरी दर्जा देने जा रही है। इसके लिए नगर विकास विभाग को 31 दिसंबर तक इसके लिए मोहलत दी गई है। जनगणना का काम इसके बाद शुरु होने की संभावना है। राज्य सरकार बड़े गांव और आबादी वाले क्षेत्रों में बेहतर नागरिक सुविधाएं देने के उद्देश से इन्हें नगर पंचायत या फिर नगर पालिका परिषद बनाने का विचार किया है। नगर विकास विभाग द्वारा सीमा विस्तार वा नई निकायों के गठन का काम जनगणना की तैयारियों के चलते रोक दिया गया था। परंतु 31 दिसंबर तक जनगणना का काम नहीं होना है। इसलिए नगर विकास विभाग तब तक नई पंचायतो वा नगर पालिका परिषद बनाने का काम करेगी।                                  


नारियल पानी के अनोखे व महत्वपूर्ण फायदे

उच्च रक्तचाप की समस्या से जूझ रहे? नमक के सेवन में कटौती से लेकर योग-व्यायाम तक सब आजमा लिया, पर कुछ खास फायदा नहीं हो रहा? अगर हां तो दिन में दो बार नारियल पानी पीकर देखें। आपके ब्लड प्रेशर में दस दिन में उल्लेखनीय कमी नजर आने लगेगी। ‘जर्नल क्लीनिकल न्यूट्रिशन’ में छपा एक अमेरिकी अध्ययन तो कुछ यही दावा करता है।


शोधकर्ताओं के मुताबिक नारियल पानी कई मायनों में दिल की सेहत के लिए फायदेमंद है। अव्वल तो इसमें पोटैशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो शरीर से सोडियम बाहर निकलने की दर को बढ़ाता है। इससे रक्तप्रवाह के दौरान धमनियों पर अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ता और ब्लड प्रेशर काबू में रहता है।


दूसरा, नारियल पानी ट्राई-ग्लिसराइड और कोलेस्ट्रॉल का स्तर घटाने में भी कारगर है। इसके नियमित सेवन से खून के थक्के जमने और हार्ट अटैक या स्ट्रोक के कारण व्यक्ति की जान जाने के खतरे में भारी कमी आती है।


डॉ. समांथा कैसेटी के नेतृत्व में हुए इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने हाइपरटेंशन का सामना कर रहे सौ मरीजों के रक्तचाप पर नारियल पानी का असर आंका। आधे प्रतिभागियों को उन्होंने दिन में दो बार सवा कप नारियल पानी पिलाया, जबकि आधों को पसंदीदा हेल्थ ड्रिंक के सेवन की छूट दी।


दस दिन बाद नारियल पानी पीने वाले 71 फीसदी प्रतिभागियों के रक्तचाप में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गई। ऐसे लोगों के खून में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी पहले के मुकाबले बेहद कम मिली। वहीं, हेल्थ ड्रिंक पीने वालों की बात करें तो सिर्फ 29 फीसदी में रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी नजर आई।


फायदे और भी हैं…
1.वर्कआउट के दौरान पसीने के साथ शरीर से बाहर निकले पोटैशियम और मैग्नीशियम जैसे इलेक्ट्रोलाइट की आपूर्ति कर कमजोरी की शिकायत दूर रखता है।
2.पेशाब में साइट्रेस और पोटैशियम का स्तर बढ़ाता है, दोनों ही यौगिक कैल्शियम को किडनी में इकट्ठा होने और पथरी का रूप अख्तियार करने से रोकते हैं।
3.चूंकि, नारियल पानी में पानी की मात्रा 95 फीसदी के करीब रहती है और यह इलेक्ट्रोलाइट से भी भरपूर होता है, इसलिए शराब की खुमारी उतारने में भी कारगर।


पोषक तत्वों का खजाना-
-250 मिलीलीटर नारियल पानी में 44 कैलोरी, 10 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 0.5 ग्राम प्रोटीन की मौजूदगी दर्ज की गई है
-27% विटामिन-सी, 23% मैन्गनीज, 9% पोटैशियम, 4% मैग्नीशियम, 1% कैल्शियम की दैनिक जरूरत पूरी करने में सक्षम।                                      


मूर्ति विसर्जन के दौरान दो पक्षों में हुईं झड़प

पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्के बल का भी प्रयोग किया


राज ताड़वानी और सचिन गुप्त को गंभीर चोट


अंबेडकरनगर। अकबरपुर कोतवाली थानाक्षेत्र के पहितीपुर बाजार में रविवार को लक्ष्मी गणेश प्रतिमा विसर्जन चल रहा था। इस बीच डीजे पर तेज गाना बजाने को लेकर दो समुदायों में विवाद हो गया। देखते ही देखते दोनों समुदायों से भीड़ इकट्ठा हो गई और जमकर मारपीट हुई। इसमें दो लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं उन्हें उपचार के लिए लखनऊ ट्रॉमा सेंटर रेफर किया गया है।इसके अलावा सात से आठ लोगों को मामूली चोटें आई हैं। घटना के बाद बाजार में सन्नाटा पसर गया। दुकानदार अपनी दुकानें बंद कर घर लौट गए। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी और उप जिला अधिकारी मोइनुल इस्लाम ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रण में किया। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्के बल का भी प्रयोग किया। यहां शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए महरुआ, भीटी, अहरौली तथा बेवाना सहित कई थानों की पुलिस तैनात की गई है।


एक समुदाय का आरोप है कि मस्जिद में अजान चल रही थी। डीजे की आवाज तेज थी। इसे धीमा करने के लिए कहा गया। इसपर दूसरे के लोग भड़क गए और गाली गलौज करने लगे। इसके बाद दोनों समुदाय के बीच विवाद बढ़ा और मारपीट शुरू हो गई। यहां प्रतिमा विसर्जन में शामिल पहितीपुर बाजार निवासी राज ताड़वानी और सचिन गुप्त को गंभीर चोट आई हैं।


विकास कुमार निषाद की रिपोर्ट                                      


रेप के आरोपी ने रेप पीड़िता को जिंदा जलाया

नरेश राघानी


जयपुर। दिवाली के दिन राजस्थान की राजधानी जयपुर से रेप का मामला दर्ज कराने वाली महिला को जिंदा जला देने का मामला सामने आया है। पीड़ित महिला 50 फीसदी से ज्यादा जल चुकी है और जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल के बर्न वार्ड में अपनी जिंदगी के लिए जंग लड़ रही है।


पीड़िता महिला का आरोप है कि दिवाली के दिन उसके घर लेखराज नाम का व्यक्ति आया और उस पर ज्वलनशील पदार्थ डालकर उसको आग लगा दी। लेखराज के खिलाफ महिला पहले ही अप्रैल में लॉकडाउन के दौरान जयपुर के कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करवा चुकी है। उस समय महिला के आरोप के मुताबिक लेखराज ने नशीला पदार्थ खिलाकर उसके साथ रेप किया था और फिर उसकी क्लिपिंग्स बनाकर उसे ब्लैकमेल करता रहता था। अप्रैल में आरोपी लेखराज के खिलाफ कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। लेकिन पुलिस आरोपी को उस समय गिरफ्तार नहीं कर सकी थी।


महिला के रिश्तेदार ने बताया, ‘पहले इन दोनों में भाभी-देवर जैसा रिश्ता था, बोलचाल का। उसके बाद में यह ब्लैकमेल करने लगा। इन्होंने थाना कोतवाली में एफआईआर करवा दी थी। आरोपी ने कहा था कि उसके पास वीडियो क्लिपिंग है और लॉकडाउन के दौरान वह पीड़िता को जबरन बुलाता था।रिश्तेदार ने बताया कि लेखराज की धमकी से परेशान महिला थाने में गई। थाने में एफआईआर दर्ज करवाया और कोर्ट में बयान हुए। उसके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी हो चुका था। अब कल तक पुलिस ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया।


आरोपी के भाई और पिता भी शामिल पुलिस के मुताबिक इस मामले में कुल चार आरोपी हैं जिसमें मुख्य आरोपी लेखराज के अलावा उसके दो भाई और पिता शामिल हैं। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी धारा 452, 34, 307 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। महिला के मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज किए जा चुके हैं, जिसके बाद चारों की गिरफ्तारी हुई है।                              


महाराष्ट्र में नियम के साथ खुले धार्मिक स्थल

कविता गर्ग


मुंबई। महाराष्ट्र में आठ महीने बाद आज से दुबारा सभी धार्मिक स्थल खुल जाएंगे। इसके लिए राज्य सरकार ने गाइड लाइन तय कर दी है। धार्मिक स्थल में जाने वाले श्रद्धालुओं को मास्क पहनने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड-19 से जुड़े तमाम नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। आपको बता दें महाराष्ट्र में मंदिरों को बंद रखे जाने को लेकर भाजपा ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। राज्यपाल ने भी सीएम उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में शिवसेना के हिन्दुत्व पर तंज कसा था।




इन नियमों का करना होगा पालन


धार्मिक स्थलों में जाने वालों को सरकार द्वारा जारी की गई कोविड-19 की तमाम गाइड लाइन का पालन करना अनिवार्य होगा। सरकार ने जो गाइडलाइन्स जारी की है उसके मुताबिक मास्क पहनने के बाद ही श्रद्धालुओं को मंदिरों में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। मंदिरों में जाने वाले श्रद्धालुओं के बीच छह फीट की दूरी होनी चाहिए। बहुत ज्यादा बुजुर्ग, गर्भवती माताएं, बीमार व्यक्ति और दस साल से कम उम्र के बच्चों को अनुमति नहीं होगी।                                  




आखिर किस की शह पर हो रहा है अवैध खनन

 मो समीर 


अवैध खनन की कवरेज करने गए पत्रकार को जान से मारने की धमकी एवं अभर्द्रता 


 बिजनौर। जनपद के थाना स्योहारा क्षेत्र के अंतर्गत 15 नवंबर को सुबह 8:30 बजे सूत्रों से सुचना मिली कि सूरा नगला मकसूदपुर के पास जेसीबी के द्वारा अवैध खनन चल रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पत्रकार शुभम कुमार अपने कैमरामैन के साथ अवैध खनन पर कवरेज करने के लिए पहुंचे। जैसे ही उन्होंने कवरेज करना शुरू किया कवरेज करते हुए पीछे से जेसीबी मालिक ने आकर पत्रकार के साथ गाली गलौज की पत्रकार ने समझाया। लेकिन पत्रकार के एक ना सुनी। कुछ समय पश्चात जेसीबी मालिक ने आठ दस अज्ञात बदमाशों को बुलाकर पत्रकार के साथ मारपीट की। जिससे पत्रकार को गुम चोट आई आरोपियों ने पत्रकार का मोबाइल तथा प्रेस कार्ड भी छीन लिया। उसी समय कुछ व्यक्तियों की भीड़ लग गयी तत्पश्चात इस घटना की सूचना 112 को दी गयी। पीआरवी 112 आने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए।


हिमाचल में हुईं सीजन की पहली बर्फबारी

श्रीराम मौर्य


चंबा/मनाली। हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले के खज्जियार व जनजातीय क्षेत्र भरमौर-पांगी में सीजन की पहली बर्फबारी हुई है। भरमौर में करीब दो इंच हिमपात हुआ है। इसके साथ ही जिला चंबा के लक्कडमंडी समेत डलहौजी में हल्का हिमपात हुआ है। इस बर्फबारी के बाद जिला चंबा के पर्यटन स्थल डलहौजी व खज्जिार में पर्यटकों की भीड़ उमड़ने की भरपूर संभावना है। वहीं जिला चंबा के साच-पास दर्रें भी वाहनों की अवाजाही के लिए पूरी तरह से ठप हो गया है। जहां पर करीब एक फीट बर्फबारी हुई है। इसके अलावा रोहतांग में एक फीट जबकि जिला मुख्यालय केलंग में भी तीन इंच हिमपात हुआ है। मनाली में पिछले साल 12 दिसंबर को पहली बर्फवारी हुई थी। इस साल नवंबर में सर्दियों का आगाज हो गया है। इससे पहले 2014 में भी नवम्बर महीने में बर्फवारी हुई थी।                                     


एक्सचेंज पैनल कक्ष में आग, इंटरनेट सेवा बाधित

ऊना। हिमाचल प्रदेश के जिला ऊना में उपमंडल अंब के बीएसएनएल टेलीफोन एक्सचेंज के पैनल कक्ष में बिते देर रात शॉट सर्किट के कारण आग लग गई। जिस कारण पूरे क्षेत्र में लैंडलाइन फोन सेवा एवं इंटरनेट सेवा बाधित पड़ी है। वहीं इस घटना की सूचना मिलते ही टेलीफोन एक्सचेंज के अधिकारियों मौके पर पहुंचे और घटना की जांच शुरू कर दी है।


साथ ही इस घटना में हुए नुक्सान का आकलन किया जा रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक जानकारी के अनुसार बीती देररात मौसम खराब रहने के कारण टेलीफोन एक्सचेंज के बाहर फास्ट फूड की रेहड़ी लगाने वाले संचालक ने टेलीफोन एक्सचेंज के अंदर से धुआं निकलता हुआ देखा उसने उसकी सूचना तुरंत अधिकारियों को दी अधिकारियों ने अग्निशमन विभाग को फोन करके उन्हें मौके पर बुलाया और कड़ी मश्क्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।                             


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...