शनिवार, 5 अक्तूबर 2019

मां महागौरी रूपेण संस्थिता

माँ दुर्गाजी की आठवीं शक्ति का नाम महागौरी है। दुर्गापूजा के आठवें दिन महागौरी की उपासना का विधान है। इनकी शक्ति अमोघ और सद्यः फलदायिनी है। इनकी उपासना से भक्तों के सभी कल्मष धुल जाते हैं, पूर्वसंचित पाप भी विनष्ट हो जाते हैं। भविष्य में पाप-संताप, दैन्य-दुःख उसके पास कभी नहीं जाते। वह सभी प्रकार से पवित्र और अक्षय पुण्यों का अधिकारी हो जाता है।


महागौरी-सिद्धियां
महागौरी - नवदुर्गाओं में अष्टम
देवनागरी-महागौरी
संबंध-हिन्दू देवी
अस्त्र-त्रिशूल
जीवनसाथी-शिव
सवारी-वृषभ
श्लोक:-श्वेते वृषे समारुढा श्वेताम्बरधरा शुचिः | महागौरी शुभं दद्यान्महादेवप्रमोददा ||


स्वरूप:-इनका वर्ण पूर्णतः गौर है। इस गौरता की उपमा शंख, चंद्र और कुंद के फूल से दी गई है। इनकी आयु आठ वर्ष की मानी गई है- 'अष्टवर्षा भवेद् गौरी।' इनके समस्त वस्त्र एवं आभूषण आदि भी श्वेत हैं।महागौरी की चार भुजाएँ हैं। इनका वाहन वृषभ है। इनके ऊपर के दाहिने हाथ में अभय मुद्रा और नीचे वाले दाहिने हाथ में त्रिशूल है। ऊपरवाले बाएँ हाथ में डमरू और नीचे के बाएँ हाथ में वर-मुद्रा हैं। इनकी मुद्रा अत्यंत शांत है।


कथा:-माँ महागौरी ने देवी पार्वती रूप में भगवान शिव को पति-रूप में प्राप्त करने के लिए कठोर तपस्या की थी, एक बार भगवान भोलेनाथ ने पार्वती जी को देखकर कुछ कह देते हैं। जिससे देवी के मन का आहत होता है और पार्वती जी तपस्या में लीन हो जाती हैं। इस प्रकार वषों तक कठोर तपस्या करने पर जब पार्वती नहीं आती तो पार्वती को खोजते हुए भगवान शिव उनके पास पहुँचते हैं वहां पहुंचे तो वहां पार्वती को देखकर आश्चर्य चकित रह जाते हैं। पार्वती जी का रंग अत्यंत ओजपूर्ण होता है, उनकी छटा चांदनी के सामन श्वेत और कुन्द के फूल के समान धवल दिखाई पड़ती है, उनके वस्त्र और आभूषण से प्रसन्न होकर देवी उमा को गौर वर्ण का वरदान देते हैं।


एक कथा अनुसार भगवान शिव को पति रूप में पाने के लिए देवी ने कठोर तपस्या की थी जिससे इनका शरीर काला पड़ जाता है। देवी की तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान इन्हें स्वीकार करते हैं और शिव जी इनके शरीर को गंगा-जल से धोते हैं तब देवी विद्युत के समान अत्यंत कांतिमान गौर वर्ण की हो जाती हैं तथा तभी से इनका नाम गौरी पड़ा। महागौरी रूप में देवी करूणामयी, स्नेहमयी, शांत और मृदुल दिखती हैं। देवी के इस रूप की प्रार्थना करते हुए देव और ऋषिगण कहते हैं “सर्वमंगल मंग्ल्ये, शिवे सर्वार्थ साधिके. शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोस्तुते। महागौरी जी से संबंधित एक अन्य कथा भी प्रचलित है इसके जिसके अनुसार, एक सिंह काफी भूखा था, वह भोजन की तलाश में वहां पहुंचा जहां देवी उमा तपस्या कर रही होती हैं। देवी को देखकर सिंह की भूख बढ़ गयी परंतु वह देवी के तपस्या से उठने का इंतजार करते हुए वहीं बैठ गया। इस इंतजार में वह काफी कमज़ोर हो गया। देवी जब तप से उठी तो सिंह की दशा देखकर उन्हें उस पर बहुत दया आती है और माँ उसे अपना सवारी बना लेती हैं क्योंकि एक प्रकार से उसने भी तपस्या की थी। इसलिए देवी गौरी का वाहन बैल और सिंह दोनों ही हैं।


प्रधानमंत्री कर सकते हैं सऊदी का दौरा

नईदिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सऊदी अरब का दौरा कर सकते हैं। इस दौरान पीएम राजधानी रियाद में खाड़ी राष्ट्र द्वारा आयोजित एक निवेश शिखर सम्मेलन में भाग लेने की भी उम्मीद है। लेकिन पीएम मोदी के इस दौरे को लेकर अभी तक किसी भी प्रकार की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। 
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ये निवेश सम्मेलन 29 से 31 अक्टूबर तक चलेगा। अपने दौरे पर पीएम मोदी सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के साथ मुलाकात भी करेंगे। दोनों के बीच निवेश, आर्थिक संबंध के बारे में चर्चा होगी। पीएम मोदी सऊदी अरब के शीर्ष नेतृत्व के साथ द्विपक्षीय महत्व के मुद्दों पर भी बात करेंगे। 


इस खाड़ी देश में पीएम मोदी यह दूसरी यात्रा होगी। उन्होंने आखिरी बार 2016 में रियाद का दौरा किया था, जिसके दौरान उन्हें अब्दुल अजीज सऊद के नाम पर देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। बता दें कि भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल 2 अक्टूबर को सऊदी अरब के दौरे पर थे। माना जा रहा है कि अजीत डोभाल का ये दौरा पीएम के सऊदी अरब दौरे का ग्राउंड तैयार करने के लिए था।


वाराणसी में कानून व्यवस्था की समीक्षा

एसीएस होम अवनीश अवस्थी ने आज वाराणसी में कानून व्यवस्था की समीक्षा की
वाराणसी। उत्तर प्रदेश के गृह सचिव अवनीश अवस्थी ने शनिवार को वाराणसी पुलिस लाइन सभागार में पुलिस अधिकारियों संग शहर के क्राइम और आवश्यकता के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक की। इस दौरान गृहसचिव ने वाराणसी में तीन नए थानों की संस्तुति की।  इसके अलावा उन्होंने ट्रैफिक के आईटीएमएस सुविधा के अंतर्गत सभी ट्रैफिक कैमरों की नज़दीकी थानों पर एक्सेज़ पॉइंट देने की बात कही। गृह सचिव ने कहा कि हम क्राइम फ्री और करप्शन फ्री पुलिसिंग की और बढ़ रहे हैं।
इस दौरान तय हुआ कि वाराणसी में क्राइम पर करने को कंट्रोल करने के लिए तीन नए थाने बनेगे।
चितईपुर, बजरडीहा और पांडेयपुर थाने की संस्तुति .
वाराणसी में नहीं बढ़ा है क्राइम, यहां इंसिडेंट बढ़ा है।
आईटीएमएस सुविधा के हाई पावर कैमरों का एक्सेज़ अब थानों को भी मिलेगा। पुलिस विभाग में भ्रष्टाचार के लिए जगह नहीं।


शामली:सुग्रीव मित्रता, बाली वध मंचन

भानू प्रताप


गढ़ीपुख्ता। रामलीला महोत्सव मंचन में रामचंद्र जी सीता को अपनी कुटिया में ना पाकर सुख ग्रस्त हो जाते हैं।वे पौधों एवं पशु पक्षियों से सीता के बारे में पूछते हैं।सीता को ढूंढते हुए उन्हें घायल जटायु दिखाई पड़ता है और जटायु बताता है।कि एक राक्षस सीता को उठाकर ले गया है उसने उनके पंख काट दिए रामजी जटायु का अंतिम संस्कार करते हैं। श्री मुख पर्वत पर हनुमान जी ब्राह्मण का वेश बनाकर राम-लक्ष्मण से परिचय प्राप्त करते हैं और राम सुग्रीव की मित्रता कराते हैं सुग्रीव सारा वृतांत सुनाते हैं राम चंद्र जी सुग्रीव को बाली से युद्ध के लिए भेजते हैं और दूसरी बार में बाली का वध कर देते हैं। पंपापुर का राज्य वापस मिलने पर सॉरी विलासिता में व्यस्त हो जाते हैं और 1 माह तक प्रभु श्री राम की ओर सुध नहीं लेते क्रोध में लक्ष्मण जी पंपापुर को जला डालने का एलान करते हैं। तब सुख भी भगवान श्रीराम से माफी मांगते हैं और बहुत शीघ्र सीता का पता लगाने के लिए कहते हैं।इस अवसर पर नरेश सैनी रामपाल सिंह राजेंद्र शर्मा टेकचंद मित्तल कमेटी अध्यक्ष नीरज जैन, चरण सिंह,राजवीर सिंह, मेनपाल सैनी, नरेश गोस्वामी, राजेंद्र सैनी, प्रदीप सिंघल,ऋषि पाल सैनी आदि उपस्थित रहे। रामलीला में दिन-प्रतिदिन दर्शकों की लगातार संख्या बढ़ रही है देहाती ग्रामीण रामलीला देखने आ रहे हैं।


अंध-भक्तों की जुटने लगी भीड़ !

शेषनाग की दुल्हन बनी बैठी नाबालिग लड़की को देवी मानकर ग्रामीण करने लगे है पूजा अर्चना,अंधभक्तों की जुटने लगी है भीड़,जमकर चढ़ाया जा रहा चढ़ावा


कोरबा। हमारे बचपन में नानी-दादी नाग और इंसान के जोड़ी की कहानियां अक्सर सुनाया करती थी। तथा फिल्मों में भी ऐसी काल्पनिक दृश्य देखते आ रहे है।लेकिन वे कहानियां व दृश्य केवल मन बहलाने के लिए है।और असल जिंदगी से इसका कोई वास्ता नही है।आज समय इतना आधुनिक हो चला है कि हम इंसानो की पहुँच चाँद तक हो गई है।लेकिन यह सुनकर जरुर आश्चर्य होगा कि एक 14 साल की नाबालिग लडकी शेषनाग की दुल्हन बनी बैठी है।जिसे देवीस्वरूप मानकर ग्रामीणों का तांता उसके घर पर बढ़ता ही जा रहा है और जमकर चढ़ावा के साथ पूजा अर्चना भी हो रही है।


हम बात कर रहे है जिले के कोरबा विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत सतरेंगा के आश्रित ग्राम कोरई की जहां से छनकर आ रही खबर के मुताबित महज एक 14 साल की नाबालिग लड़की जिसका कहना है कि प्रत्येक शनिवार को उसके सपने में शेषनाग देवता आता है।बीते शनिवार को भी पुनः सपने में शेषनाग देवता आया था और मांग में सिंदूर भरकर यह कहकर चला गया कि वह फिर से शनिवार के ही दिन बारात लेकर आयेगा और दुल्हन बने बैठी लड़की को अपने साथ ले जाएगा।वहीं लड़की के पिता का कहना है कि उसकी बेटी के माथे पर जो सिंदूर लगा है उसे पोछने या मिटाने पर नही मिट रहा है।अब लड़की और उसके परिजन जिस प्रकार जनमानस में उक्त अंधविश्वास को फैलाने में लगे है।और जिस प्रकार यह खबर जंगल में लगे आग की तरह फैलती जा रही है।उससे ग्राम एवं आसपास इलाके के ग्रामीणों की भीड़ नाबालिग लड़की के घर में देखने को मिल रही है। जहां अंधभक्त रेलम-पेल तरीके से नारियल,अगरबत्ती,रुपया-पैसा सहित अन्य चढ़ावा की वस्तुएं हाथों में लिए देवीस्वरूप बने बैठी नाबालिग लड़की के दर्शन को आतुर है। कई ग्रामीणजन तो अपनी मन्नतें लेकर सोने-चांदी के आभूषण भी काल्पनिक देवी के दरबार में चढ़ा रहे है। तथा आस्था के नाम पर आसपास ग्राम के लोगों की भीड़ जिस प्रकार वनांचल ग्राम कोरई की ओर बड़ी संख्या में बढ़ने लगी है।इस घटना ने परस्पर सोचने पर विवश कर दिया है कि आज के जागरूक जमाने में भी लोग अंधविश्वास को फ़ौरन मान लेते है। लड़की और उसके माता-पिता क्यों ऐसा अंधविश्वास को बढ़ावा दे रहे है। कहीं मनगढ़त कहानी रच ढोंग का सहारा लेकर लोगों को आकर्षित करके चढ़ावा बटोरने का मंशा तो नही?फिलहाल यह मामला प्रशासन के संज्ञान में अभी तक नही आया है। लेकिन समय रहते प्रशासन द्वारा इस दिशा पर संज्ञान नही लिया गया तो इस अंधविश्वास के चुंगल में फंसकर अंधभक्त लुटाते ही रहेंगे। इससे कृत्यकर्ता के हौसले बढ़ेंगे। अब देखना यह है कि इस खबर को प्रशासन द्वारा संज्ञान में लेकर प्रशासनिक तौर पर क्या कदम उठाया जाता है?


अंतरिक्ष से 'मक्का' की दुर्लभ तस्वीर

दुबई। यूएइ के पहले अंतरिक्ष यात्री हज़्ज़ा अल मंसूरी ने अंतरिक्ष स्टेशन से इस्लाम के सबसे पवित्र स्थल मक्का के एक शानदार दृश्य को सोशल मीडिया अकाउंट से पोस्ट किया है । उन्होंने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम हैंडल @astro_hazzaa से ग्रैंड मस्जिद (मस्जिद अल हरम) की एक आश्चर्यजनक तस्वीर साझा की, कैप्शन के साथ उन्होंने लिखा  'यह वही जगह के रूप में जानी जाती है जो मुसलमानों के दिलों में रहती है। ' मक्का से मंगलवार को, उन्होंने अंतरिक्ष से यूएई की एक और तस्वीर साझा की थी।


बता दें की अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर पहुंचने वाले पहले अरब के रूप में इतिहास रचने वाले  हज्ज़ा मंसूरी गुरुवार को आठ दिवसीय मिशन के बाद पृथ्वी पर लौटने के लिए तैयार है।


यूएई ने पूर्व वायुसेना पायलट हज्जा-अल-मंसूरी रूसी अंतरिक्ष यान सोयूज एमएस-15 से अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन गए हैं। हज्जा-अल-मंसूरी के साथ अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री जेसिका मीर और रूसी कॉस्मोनॉट ओलेग स्क्रिपोचका भी गए हैं। ओलेग स्क्रिपोचका तीसरी बार इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन गए हैं, जबकि बाकी दोनों यात्रियों का यह पहला अनुभव होगा।


हज्जा बोले- देश के सपनों को नए आयाम पर ले जा रहा 
यूएई में लोग 35 वर्षीय हज्जा अल-मंसूरी को देश का हीरो बता रहे हैं।आईएसएस जाने से पहले हज्जा ने कहा कि मैं अपने देश के सपनों और महत्वाकांक्षाओं को नए आयाम पर ले जा रहा हूं। अल्लाह मुझे इस मिशन में सफलता दे।


जन्मजात हृदय रोग का सफल इलाज

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) की टीम ने जन्मजात हृदय रोग से पीड़ित बालक का सफल इलाज कराया।


पंकज राघव
संभल। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के जनपदीय नोड़ल अधिकारी डॉ• अज़फर कमाल ने बताया कि ड़ीईआईसी प्रबंधक मनु तेवतिया एवं उनकी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र  संभल की मोबाइल हैल्थ टीम बी के टीम लीडर डा• नीरज शर्मा तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र असमोली की मोबाइल हैल्थ टीम बी के टीम लीडर डा• नज़ीब उर रहमान के अथक प्रयासों से यह संभव हो पाया है।


राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के ड़ीईआईसी प्रबंधक मनु तेवतिया ने बताया कि नंदपुर बीटा निवासी प्रमोद का 12 वर्षीय पुत्र अरुण जन्मजात हृदय रोग से पीड़ित था। अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में लगभग 6 घंटे चले सफल ऑपरेशन के बाद अरुण को 72 घंटे की  देखभाल के लिए आईसीयू में रखा गया है।


कलाकारों की कला ने मोह लिए मन

गाजियाबाद,मुरादनगर। चुंगी नंबर तीन स्थित रामलीला मैदान में श्री बड़ी रामलीला कमेटी द्वारा आयोजित रामलीला महोत्सव में आदर्श रामलीला मंडल वृंदावन से आये कलाकारों ने शुक्रवार को राम-सुग्रीव मित्रता, बाली वध और लंका दहन की लीला हुई। कलाकारों द्वारा किए जा रहे पाठ को देखकर दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। सभी दृश्यों का अवलोकन किया।
लीला में भगवान राम माता सबरी के आश्रम पहुंचे। माता सबरी ने राम को बताया कि चम्पा सरोवर पर सुग्रीव से आपकी मित्रता होगी। रामलीला मे हनुमानजी प्रकट हुए तथा सुग्रीव राम की मित्रता तथा बाली का वध हुआ। हनुमान सीता की खोज मे निकले तो गिद्घराज ने अपने दूरदर्शी नेत्रों से हनुमान को सीता का पता बताया। 
रावण द्वारा सीता हरण के बाद खोज में निकले राम की सुग्रीव से मित्रता होती है। बाली से परेशान सुग्रीव राम के कहने पर बड़े भाई को युद्ध के लिए फिर ललकारता है, जिसमें बाली का प्राणांत हो जाता है। राम की पीड़ा हरने के लिए हनुमान सीता की खोज में निकलते हैं। समुद्र लांघ कर लंका पहुंचे हनुमान रावण को अपनी गलती सुधारने की सलाह देते हैं। जिससे कुपित होकर रावण हनुमान की पूंछ में आग लगाने का आदेश देते हैं। जलती पूछ से लंका को आग के हवाले कर हनुमान राम के पास पहुंचकर सीता के मिलने की खबर सुनाते हैं। 
 इस अवसर पर रामलीला कमेटी के कार्यकर्ताओं ने गाजियाबाद से वरिष्ठ समाजसेवी बेदिराम गुप्ता, ममता गुप्ता और संजय त्यागी को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
 इस अवसर पर रामलीला अध्यक्ष दीपक मित्तल, कोषाध्यक्ष अंकुर मित्तल, धर्मप्रकाश नेताजी मनोज शर्मा, सचिन गोयल, विपिन गर्ग,  बुद्ध गोपाल गोयल, परमानंद गर्ग, रोहताश मित्तल, मामचंद शर्मा, मोहित गर्ग, अंकित गर्ग (पत्रकार) जयभगवान, अमरीश अलंकार मोहित मुंडे, योगेंद्र गुप्ता (लीली) प्रशांत खटीक, रमेश त्यागी, नवीन गर्ग, विनय कंसल, विशाल मित्तल, राजू सक्सेना आदि उपस्थित रहे।


सिपाही ने उपचार के दौरान तोड़ा दम

चापड़ से घायल सिपाही की मौत


 बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। अमेठी में तैनात एक सिपाही की गुरूवार की रात उपचार के दौरान लखनऊ में मौत हो गयी। देर रात जब शव उनके पैतृक गांव प्रयागराज के बहरिया थाना क्षेत्र के बाबूगंज पहुंचा तो घर में कोहराम मच गया।
  बता दें कि बहरिया थाना क्षेत्र के बाबूगंज गांव के निवासी जीतेंद्र कुमार मौर्य उम्र 48 वर्ष पुत्र ज्ञानी लाल मौर्य पुलिस विभाग में जनपद अमेठी कोतवाली अमेठी में तैनात थे। ड्यूटी के दौरान कोतवाली क्षेत्र के खरौना गांव में दो अक्टूबर को सरकारी जमीन में अवैैध कब्जाधारकों को पकड़ने गए थे। आरोपी अमित कुमार उसकी पत्नी पूनम ने सिपाही जीतेन्द्र कुमार के ऊपर चापड़ से प्राण घातक हमला कर घायल कर दिया था। जिन्हें विभागीय अधिकारियों ने उपचार हेतु ट्रामा सेंटर लखनऊ में भर्ती कराया जहाँ सिपाही जीतेन्द्र की इलाज के दौरान गुरूवार की रात उनकी मौत हो गयी। उनका शव पैतृक गांव पहुंचा तो पूरे गांव में कोहराम मच गया।


घुसपैठियों को तलाशने में जुटी पुलिस

श्रीकान्त शाक्य 


पुलिस महानिदेशक के आदेश के बाद पुलिस कवायद तेज


छुपें हुयें घुसपैठियों को तलाशनें में लगी पुलिस


घुसपैठियों को शरण देने वालों पर गिरेगी गाज


मैनपुरी। अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों को तलाशने और उन्हें बाहर करने पर शासन की सख्ती के बाद पुलिस महानिदेशक ने यूपी पुलिस को कड़े निर्देश दिए हैं। इस क्रम में बांग्लादेशी लोगों के बारे में जानकारी जुटाने व कार्रवाई की बात कही गई है। इस मामलें में जिला की पुलिस भी सतर्क हो गई है। पुलिस अधिकारियों नें सभी ईस्पेक्टरों को अपने-अपने क्षेत्र की रिपोर्ट जल्द से जल्द उपलव्ध करानें के निर्देश दिए हैं। बिना वीजा पासपोर्ट के अबैध रूप रूप से भारत के किसी भी कोने में रहने वाले बांग्लादेशी लोगों की तलाश की जा रही है। सूवे के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने उत्तर प्रदेश पुलिस को ऐसे लोगों को पता लगा कर उनकी सूची भेजे जाने के निर्देश दिए हैं।
आदेश की प्रतिलिपि प्राप्त होने के बाद से ही अधिकारियों ने कवायद शुरू कर दी है। जिले में खुफिया विभाग ने ऐसे लोगों चिन्हित करने के लिए जाल बिछा दिया है। वहीं पुलिस ने मुखबिर तंत्र सक्रिय कर दिया गया है।
जिले के सभी ईस्पेक्टरों को स्पष्ट निर्देश जारी करते हुए कहा गया है कि क्षेत्र में ऐसे लोगों की तलाश की जाए। यदि कोई मिलता है तो उसकी पड़ताल करने के साथ ही तुरंत सूचित करें। वह किस वजह से कब से रह रहा है। उसको क्षेत्र में शरण देने वाला कौन है आदि सभी जानकारियां जुटाएं।


चौकीदारों को भी किया गया सतर्क


  ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस ने सभी चौकीदारों को सूचनाएं एकत्र किए जाने के काम में लगा दिया है। इसके साथ ही प्रधान व अन्य लोगों से भी जानकारियां ली जा रहीं हैं। अधिकारी खुद भी इस पूरी प्रक्रिया पर नजर रखे हुए हैं।


क्या कहतें अपर पुलिस अधीक्षक
 
पुलिस महानिदेशक के निर्देश प्राप्त हो चुके हैं। पुलिस ने अपना काम शुरू कर दिया है। अभी तक ऐसा कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है। पुलिस छानवीन करनें में लगी हुई है। अपर पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश सिंह।


कश्यप मल्लाह निषाद महासंघ की बैठक

मोहित श्रीवास्तव


गाजियाबाद,लोनी। भारतीय कश्यप मल्लाह निषाद महासंघ द्वारा लोनी नगर पालिका स्थित वार्ड नंबर 19 संगम विहार के आदर्श नवजीवन स्कूल में एक बैठक का आयोजन किया गया।
बैठक का आयोजन देवराज कश्यप द्वारा किया गया।
जिसमें मुख्य अतिथि कश्यप महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूरन सिंह कश्यप और जिला अध्यक्ष जितेंद्र कश्यप रहे।
इस मोके पर देवराज कश्यप को कश्यप महासंघ का लोनी विधानसभा अध्यक्ष नियुक्त किया गया। जिला अध्यक्ष जितेंद्र कश्यप ने बताया कि कश्यप महासंघ का विस्तार बहुत तेजी से हो रहा है, और कश्यप महासंघ द्वारा समाज हित में अभी तक अनेकों कार्य किये जा चुके हैं। कश्यप महासंघ पांच गरीब कन्याओं की शादी के अलावा हजारों बेरोज़गार युवकों को प्राइवेट सेक्टर में नौकरी दिलवा चुका है और आगे भी इसी प्रकार से समाज को आगे बढ़ाने का कार्य कश्यप महासंघ द्वारा कराया जाता रहेगा। जितेंद्र कश्यप ने बताया कि समाज के नौजवान युवक और युवतियां जिनके अंदर समाज सेवा करने का जज्बा है वह महासंघ से जुड़ें और समाज को आगे बढ़ाने और कश्यप महासंघ की योजनाओं को पूरा करने में अपना सहयोग दें।
इस मौके पर मुख्य रूप से मुख्य अतिथि पूरन सिंह कश्यप (राष्ट्रीय अध्यक्ष) जितेंद्र कश्यप (जिला अध्यक्ष) देवराज कश्यप (लोनी विधानसभा अध्यक्ष)  दिनेश कश्यप नरसिंह कश्यप अवधेश कश्यप रवि कश्यप हरिप्रसाद कश्यप सरमन कश्यप अनूप कश्यप सुशील कश्यप मुकेश कश्यप प्रभुदयाल कश्यप एदल कश्यप सर्वेश कश्यप अखिलेश कश्यप अमित कश्यप विजेंद्र कश्यप पवन कश्यप धर्मवीर कश्यप किशन कश्यप विनोद कश्यप नवरत्न कश्यप प्रवीण कश्यप प्रमोद कश्यप बबली कश्यप आदि सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।


राजभाषा कार्यान्वयन की पांचवी बैठक

गौतमबुध नगर, दादरी। नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, दादरी की पांचवी बैठक मुख्य महाप्रबंधक (दादरी) अपूर्ब कुमार दास की अध्यक्षता में नेशनल कैपिटल पावर स्टेशन, दादरी में 04 अक्टूबर, 2019 को सम्पन्न हुई। इस बैठक में क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक (डीबीएफ/हाइड्रो) सीके मंडल भी विशिष्ठ अतिथि के रुप में उपस्थित थे। इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए श्री मंडल ने हिंदी की प्रगति में नराकास की भूमिका की सराहना की और आशा व्यक्त की कि सभी सदस्य कार्यालयों का राजभाषा प्रगति में उल्लेखनीय योगदान रहेगा।
इस बैठक में राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय (भारत सरकार) के निर्देशानुसार दादरी, ग्रेटर नोएडा एवं हापुड़ स्थित केन्द्र सरकार के कार्यालयों, उपक्रमों एवं बैंकों की राजभाषा हिंदी की प्रगति की समीक्षा की गयी। इस अवसर पर अपर महाप्रबंधक (मानव संसाधन) एवं नराकास, दादरी की समन्वय अधिकारी, श्रीमती विजय लक्ष्मी मुरलीधरन ने अपने स्वागत भाषण में सभी सदस्यों का स्वागत किया तथा एनटीपीसी दादरी की राजभाशा संबंधित उपलब्धियों की जानकारी दी। 
नराकास (दादरी) के अध्यक्ष अपूर्ब कुमार दास ने सभी सदस्य कार्यालयों से अपील की कि राजभाशा हिंदी में सरकारी कामकाज करना हमारा संवैधानिक दायित्व है। श्री दास ने कहा कि कार्यालय में अधिक से अधिक कार्य हिंदी में करें इससे जनता से जुडना आसान होगा। श्री दास ने कहा कि राजभाषा की प्रगति में सदस्य कार्यालयों को अपना संपूर्ण योगदान देना चाहिए तभी हम अपने लक्ष्यों को समय पर प्राप्त कर सकेगें। इस अवसर पर उपनिदेशक (कार्यान्वयन) श्री अजय मलिक ने भारत सरकार की राजभाषा नीति की जानकारी उपलब्ध कराई और उपस्थित सदस्य कार्यालयों के प्रमुखों एवं राजभाषा अधिकारियों को कार्यालय के कामकाज में हिंदी को बढावा देने के संबंध में महत्वपूर्ण सुझाव दिये।
बैठक के दौरान नराकास दादरी के सदस्य सचिव एवं उप प्रबंधक (राजभाशा), आलोक अधिकारी ने राजभाषा विभाग द्वारा जारी वार्षिक कार्यक्रम 2019-20 के महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर एनटीपीसी दादरी की ई -पत्रिका ई-विद्युतलाईन के राजभाशा विषेशांक का विमोचन भी किया गया। 
इस बैठक में दादरी, ग्रेटर नोएडा एवं हापुड़ स्थित केन्द्र सरकार के 25 कार्यालयों, उपक्रमों एवं बैंकों के कार्यालय प्रधान एवं राजभाषा अधिकारियों सहित महाप्रबंधक (गैस) पीके उपाध्याय मौजूद रहे।


फिर पकड़ा अवैध शराब का जखीरा

डीएम अजय शंकर पांडेय के निर्देश पर अवैध शराब को लेकर चलाया जा रहा है निरंतर सघन चेकिंग अभियान


गाजियाबाद। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय के आदेशनुपालन में आशीष पांडेय आबकारी निरीक्षक सेक्टर 4 व थाना विजयनगर अपनी टीम के साथ थाना विजय नगर  क्षेत्र में रेलवे स्टेशन कॉलोनी से एक अभियुक्त सूरज के कब्जे से 40 पेटी विदेशी शराब क्रेजी रोमियो फॉर सेल इन अरुणाचल प्रदेश बरामद की गई। उत्तर प्रदेश आबकारी अधिनियम की सुसंगत धाराओं के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया। यह जानकारी जिला आबकारी अधिकारी मुबारक अली के द्वारा दी गई है। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर अवैध शराब को लेकर जनपद में निरंतर रूप से सघन अभियान संचालित है और यह आगे भी इसी प्रकार जारी रहेगा, जो भी व्यक्ति अवैध शराब के धंधे में संलिप्त पाया जाएगा उसके विरुद्ध इसी प्रकार कठोरतम कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।


हरदोई के कछुआ तालाब का आकर्षण

हरदोई का कछुआ तालाब है आकर्षण का केंद्र


किसी मंदिर के न होने के बाद भी इस तालाब में एक हजार से अधिक कछुआ है यह प्राकृतिक की देन है

हरदोई। उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के ब्लाक बिलग्राम के ग्राम ककराखेड़ा में स्थित कछुआ तालाब आपका भी मन मोह लेगा। इस तालाब में एक हजार से भी ज्यादा कछुआ हैं, जो आकर्षण का केंद्र है। आयोजित वन्य प्राणि सप्ताह के अंतर्गत एक गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी पुलकित खरे ने कहा कि यह ग्रामवासियों के लिए प्राकृती की एक अनमोल देन है जो आपके गांव के तालाब में इतने कछुआ है और इनका संरक्षण एवं सुरक्षा करना सभी ग्रामवासियों की जिम्मेदारी है। 


उन्होने कहा कि इस कछुआ तालाब ने प्रदेश में ही नहीं बल्कि देश में अपना स्थान बनाया है और इस तालाब को और अच्छा बनाने तथा कछुओं के संरक्षण को कैसे और अधिक बेहतर बनाया जाये इसके लिए भारतीय वन्यजीव संस्थान देहरादून के वन्य जीव विशेषयज्ञ डा0 राजीव चैहान को आमंत्रित किया गया है। जो कछुओं के उत्थान के सम्बन्ध में टिप्स देगें और उसी के अनुसार इनके संरक्षण पर कार्य किया जायेगा। उन्होने कहा कि तालाब के चारों ओर वृक्षारोपण कराया जायेगा और तालाब में गांव के आने वाले पानी के निकासी वाले स्थानों पर जाली लगवायी जायेगी ताकि तालाब में पानी के अलावा किसी प्रकार का कूड़ा करकट न आयें। उन्होने ग्रामवासियों से कहा कि पोलोथीन का प्रयोग बिलकुल न करें और किसी अन्य बाहरी व्यक्ति को तालाब में किसी प्रकार की पोलोथीन आदि न डालने दें।


भारतीय वन्यजीव संस्थान देहरादून के वन्य जीव विशेषयज्ञ डा0 राजीव ने कहा कि उन्होने कई प्रदेशों का भ्रमण किया है जिनमें मंदिर के पास ही इस प्रकार के कुछ है पाये गये है परन्तु यहां किसी मंदिर के न होने के बाद भी इस तालाब में एक हजार से अधिक कछुआ है यह प्राकृतिक की देन है। उन्होने कहा कि वर्तमान समय में जहां गौरईया, कौआ, चींल एवं गिद्व विलुप्त होते जा रहे है वही इस तालाब के कछुओं का संरक्षण एवं सुरक्षा ग्रामवासियों द्वारा की जा रही है यह एक बहुत बड़ी बात है। उन्होने कहा कि जिलाधिकारी के निर्देश पर इस तालाब का जीर्णोधार किया जा रहा है और कछुओं में वृद्वि के लिए विभिन्न विभागों से जो कार्य कराये जा रहे है वह प्रशसंनीय है।


इस अवसर पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी बिलग्राम, खण्ड विकास अधिकारी बिलग्राम, डीसी मनरेगा, अधिशासी अभियंता जल निगम एवं ग्राम प्रधान से कहा कि इस तालाब के जीर्णोधार के सम्बन्ध में जो भी आवश्यक कार्य हो उन्हें शीघ्र कराना सुनिश्चित करें। कार्यक्रम में वन विभाग के अधिकारी ने जिलाधिकारी एवं डा0 राजीव चैहान का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि वन्य जीव प्राणि के अन्तर्गत जो कार्य इस कछुआ तालाब के लिए सम्भव होगें उन्हें तत्परता से कराया जाएगा।


कृष-4 पर काम शुरु करेंगे रितिक

मुंबई। ऋतिक रोशन के पिता राकेश रोशन ने अब एक बार फिर अपनी अगली फिल्म कृष 4 पर काम शुरू कर दिया है। राकेश रोशन को जनवरी में गले का कैंसर होने का पता चला था। अब कैंसर जैसी गंभीर बीमारी को मात देने के बाद राकेश रोशन धीरे-धीरे रिकवर कर रहे हैं। रिपोर्ट्स का कहना है कि ये फिल्म अगले साल क्रिसमस पर रिलीज की जा सकती है।


इसे लेकर ऋतिक रोशन ने कहा कि वह जल्द ही कृष 4 की शूटिंग शुरू करने वाले हैं. ऋतिक ने कहा, ” फिल्म 'वॉरÓ के बाद मैं अपने पिता के साथ बैठूंगा और सभी के साथ मिलकर 'कृष-4Ó पर दोबारा काम शुरू करेंगे। पापा की सेहत के मद्देनजर हमने इससे थोड़ा किनारा कर लिया था लेकिन अब वह बेहतर हैं, हम इस पर एक बार फिर काम शुरू करेंगे।
बता दें कि ऋतिक रोशन ने 2017 में सुपरहीरो पर आधारित इस फिल्म की अगली कड़ी बनाने का फैसला किया। इस फिल्म की पहली कड़ी 'कोई मिल गया थी जिसका निर्देशन उनके पिता राकेश रोशन ने 2003 में किया था। इसके बाद 2006 में 'कृष और 2013 में 'कृष-3 आई।
वहीं, ऋतिक की हालिया रिलीज की बात करें तो फिल्म 'वॉर बॉक्स ऑफिस पर नए रिकॉर्ड बना रही है। फिल्म ने पहले ही दिन बॉक्स ऑफिस पर बड़ा रिकॉर्ड बनाया है। फिल्म ने अपने ओपनिंग डे पर 53.35 करोड़ रुपये की कमाई की है। दूसरे दिन वर्किंग डे पर ये फिल्म 24.35 करोड़ अपने खाते में ले गई।


स्ट्रगल को साबित करना एक चुनौती

मुंबई। यंगस्टर्स के पसंदीदा ऐक्टर टाइगर श्रॉफ पहली बार अपने गुरु रितिक रोशन के साथ स्क्रीन शेयर कर रहे हैं। टाइगर ने हमसे एक खास बातचीत में शेयर किया अपना यह अनुभव: 
टाइगर, आप एक अच्छे-खासे सुविधा-संपन्न परिवार में पले-बढ़े हैं। क्या जिंदगी में आपको किसी 'वॉर' से गुजरना पड़ा है? 
मेरे लिए 'वॉर' यही था कि चूंकि मैं इतने बड़े स्टार का बेटा हूं, तो मुझे अपने को पिता जी से अलग साबित करना था। मेरे लिए यही एक वॉर था कि मैं इंडस्ट्री में अपनी पहचान कैसे बनाऊं? क्योंकि आजकल तो इंडस्ट्री में नेपोटिज्म की इतनी बातें होती हैं कि मुझे यह डर था कि यार, मैं अपने को कैसे साबित करूं कि मेरा स्ट्रगल भी अलग है। मैं जो करता हूं, वह पापा से बहुत अलग है। पापा एक अलग इंडिविजुअल हैं। मैं कभी उनकी तरह चाहकर भी बन नहीं सकता हूं।
आपके पापा ने बताया कि वह आपके साथ एक फिल्म करना चाहते है। जबकि, आप इससे बचते हैं। क्या ऐसा कोई ऑफर आया है? 
जाहिर है, वह तो चाहेंगे ही, क्योंकि वह सबको दिखाना चाहते हैं कि बाप आखिर बाप ही होता है। हालांकि, अभी हमारे पास ऐसी कोई स्क्रिप्ट नहीं आई है, जिसमें हम दोनों काम कर सकें। भविष्य में अगर कोई ऐसी कहानी आई, तो देखेंगे। 
आपको इंडस्ट्री में करीब 5 साल हो गए। इस इंडस्ट्री ने किसी मायने में आपको बदला? 
मेरे लिए यह एक एजुकेशनल जर्नी रही। मैंने अपने करियर में बहुत जल्दी सफलता और असफलता दोनों देखी। काफी कुछ सीखने को मिला। मेरे पापा हमेशा बोलते हैं कि यहां सबकी बात सुनो, ज्यादा बोलो मत, तो मैं हमेशा यही बात दिमाग में रखकर हर रोज एक कदम आगे बढऩे की कोशिश करता हूं।
सिद्धार्थ आनंद के साथ आप रैंबो भी कर रहे हैं। आपको लगता है कि उनके निर्देशन में एक और फिल्म करने का फायदा रैंबो में भी होगा? 
बिल्कुल! सिद्धार्थ सर के साथ इस फिल्म में काम करने के बाद उनमें मेरा आत्मविश्वास और ज्यादा बढ़ गया। मैं उन्हें अब केवल एक डायरेक्टर नहीं मानता हूं। इस फिल्म से वह मेरे दोस्त भी बन गए हैं। उन्होंने इस फिल्म में हाथ पकड़कर मुझे एक लड़के से आदमी में ढाला, तो मैं उनके साथ रैंबो करने के लिए बहुत एक्साइटेड हूं। 
संजय दत्त ने पिछले दिनों आपको खलनायक का सीक्वल ऑफर करने की बात कही है। आप तैयार हैं इस फिल्म के लिए? 
मैं संजू सर से कई बार मिल चुका हूं। कई बार हमने बातें की हैं। मैं जरूर उनके साथ काम करना चाहूंगा। हालांकि, ऐसी कोई फिल्म हमने कन्फर्म नहीं की है, लेकिन भविष्य में मैं जरूर उनके साथ काम करना चाहूंगा। यह मेरे लिए सम्मान और खुशी की बात होगी।


कुछ ही घंटों में लुटेरे पकडे,रकम बरामद

बेमेतरा। जिले के नवागढ़-अतरिया झाल मार्ग पर आज तीन नकाबपोश बदमाशों ने कैश वैन से 1.64 करोड़ लूट कर फरार हो गए और इस घटना के बाद से पुलिस ने क्षेत्र में नाकेबंदी कर अज्ञात लुटेरों की तलाश में जुटी हुई थी। जिसमे कार्रवाई करते हुए पुलिस ने लूट के 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है व् कार समेत लूट की रकम भी बरामद कर ली है।


दरअसल आज कैश लेकर जा रही कैश वैन को होंडा सिटी कार में सवार अज्ञात नकाबपोश युवकों ने सुनसान मार्ग पर लूट ली और वैन में रखे 1 करोड़ 64 लाख ₹ पार कर फरार हो गए थे। कैश वैन में सवार लोगो के मुताबिक इस दुर्घटना में प्रयुक्त की गई। होंडा सीटी कार में 6 लोग सवार होकर आए और लूट की घटना को अंजाम देकर फरार हो गए थे। वैन में सवार लोग समझ पाते इससे पहले ही वे लूट का शिकार हो चुके थे। वही इस घटनाक्रम की सूचना मिलने के बाद पुलिस भी मौके पर पहुँची और नाकेबंदी कर 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस दौरान युवकों ने पुलिस पर फायरिंग भी की थी। इसके अलावा इस घटना को अंजाम देने वाले युवक हरियाणा के बताए जा रहे है।


बाढ़ पीड़ितों को 1813 करोड़ से राहत

बाढ़ प्रभावित कर्नाटक और बिहार के लिए राहत पैकेज. 1813 करोड़ देगी मोदी सरकार


नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने बिहार और कर्नाटक में बाढ़ से हुए नुकसान की भरपाई के लिए वित्तीय सहायता दी है। मोदी सरकार ने राहत कार्यों के वास्ते इन दोनों राज्यों को अतिरिक्त 1813.75 करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता को शुक्रवार को मंजूरी दी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बाढ़ प्रभावित राज्यों में राहत बचाव कार्यों का जायजा लेने के बाद यह घोषणा की। गृह मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, ”गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय आपदा राहत से बिहार के लिए 400 करोड़ रुपए और कर्नाटक के वास्ते 1,200 करोड़ रुपए की अग्रिम राशि जारी करने को मंजूरी दी है।


बता दें कि बिहार और कर्नाटक सहित देश के कई राज्यों में बाढ़ की स्थिति है। लगातार हो रही बारिश से इन राज्यों में सैकड़ों लोगों की जान चली गई है। भारी जान-माल का नुकसान हुआ है। बिहार में तो 70 से ज्यादा लोगों की जान इस आसमानी आफत ने ले ली है। राजधानी पटना में फिर बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।


दीवार के नीचे दबकर 5 की मौत

अंबाला। हरियाणा के अंबाला जिले में दीवार गिरने से तीन बच्चों समेत पांच लोगों की मौत हो गई। घटना शुक्रवार देर रात अंबाला कैंट स्थित किंग पैलेस की है। मृतकों में तस्लीम उम्र 43 वर्ष, बाला स्वामी उम्र 22 वर्ष,अमित उम्र 12 वर्ष, सुजीत व् बाबू उम्र 5 वर्ष शामिल है।


हादसे की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर उन्हें पीएम के लिए भेज दिया। व् मामला दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। पुलिस के साथ दमकल विभाग के अफसर भी मौके पर मौजूद थे। इस हादसे में एक बच्ची और उसकी मां भी घायल हुए हैं। इन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


पुलिस के अनुसार मृतकों में ज्यादातर मजदूर हैं। ये सभी लोग पास की पुरानी दीवार के पास स्थित झुग्गियों में रहते थे। हादसे के वक्त ये सभी मजदूर अपने बच्चों के साथ सो रहे थे, तभी अचानक उनके ऊपर दीवार भरभराकर गिर गई।


साउथ में महिला हीरोइन के साथ भेदभाव

टॉलीवुड। एक्टर कमल हासन की बेटी श्रुति हासन साउथ से लेकर बॉलीवुड फिल्मों तक में अपनी पहचान बना चुकी हैं। हालांकि वो कम फिल्मों में नजर आई हैं लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें दर्शक खूब पसंद करते हैं। श्रुति एक्टिंग के साथ-साथ समाजिक कार्यों में भी हिस्सा लेती हैं। हाल में में उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा कि बॉलीवुड की तरह साउथ इंडस्ट्री में भी महिला एक्टर के साथ भेदभाव होता है। न्यूज 18 से बातचीत में श्रुति हासन ने कहा- 'ऐसा नहीं है कि सिर्फ बॉलीवुड में ही फीमेल एक्टर को कम फीस मिलती है ऐसा साउथ इंडस्ट्री में भी जमकर होता है। वहां भी पुरुष एक्टर्स को महिला एक्टर के मुकाबले ज्यादा फीस और फैसिलिटी मिलती है। ये सुधार की शुरुआत है, लेकिन उम्मीद है कि आने वाले वक्त में महिलाओं को भी हर तरह से बराबरी का दर्जा मिलेगा।'एक समारोह में मीडिया से बातचीत करते हुए श्रुति ने कहा- 'महिलाओं के अधिकारों के लिए लोग रैलियां निकालते हैं और विरोध प्रदर्शन करते हैं और मुझे यह अजीब लगता है कि समान अधिकारों और महिलाओं की सुरक्षा के लिए हमें आज भी इस तरह की रैलियों की जरूरत पड़ती है।. ऐसा सालों से होता आ रहा है।'श्रुति ने आगे कहा- 'मुझे नहीं लगता है कि ऐसा सिर्फ हमारे ही देश में होता है। ऐसा पूरी दुनिया में हो रहा है। जब आप अंतर्राष्ट्रीय खबरों को देखते हैं, तो आप महसूस कर सकते हैं कि यह विषय कई बार आ रहा है।'


हिमाचल में बर्फबारी का दौर जारी

शिमला। हिमाचल की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी का दौर जारी रहा। राजधानी शिमला में बारिश होने से अधिकतम तापमान में छह डिग्री की कमी दर्ज हुई है। प्रदेश में आठ अक्तूबर तक बारिश का दौर जारी रहने का पूर्वानुमान है। बारिश-बर्फबारी से प्रदेश के कई क्षेत्रों में सुबह और शाम के समय ठंड बढ़ गई है। बीती रात को केलांग में न्यूनतम तापमान 3.8 डिग्री रिकॉर्ड हुआ। मंडी की चौहारघाटी में ओलावृष्टि से मटर और पधर में धान की फसल को नुकसान हुआ है। शनिवार को भी कई क्षेत्रों में बारिश होने की संभावना है। राजधानी शिमला में शुक्रवार सुबह के समय मौसम साफ रहा। दोपहर बारह बजे के बाद शहर में बादल झमाझम बरसे। शाम के समय मौसम साफ होने से लोगों को कुछ राहत मिली। रोहतांग दर्रा के साथ ऊंची पहाड़ियों में ताजा बर्फबारी होने से घाटी में मौसम ठंडा हो गया है। रोहतांग दर्रा में 10 सेंटीमीटर ताजा बर्फबारी रिकॉर्ड हुई। कुंजुम दर्रा, बारालाचा समेत मनाली तथा पार्वती घाटी की ऊंची पहाड़ियां बर्फ से सफेद हो गई हैं।खराब मौसम के चलते शुक्रवार को दिल्ली-भुंतर और भुंतर-चंडीगढ़ की उड़ानें भी नहीं हो सकीं। जिला कुल्लू में जारी बारिश से ऊझी घाटी में सेब सीजन प्रभावित हुआ है। गुरुवार रात को कुल्लू में भारी बारिश हुई। जनजातीय जिला किन्नौर भी शीतलहर की चपेट में आ गया है। जिले के ऊंचाई वाले इलाकों में शुक्रवार को हल्की बर्फबारी हुई।भरमौर और पांगी की ऊपरी चोटियों में भी ताजा बर्फबारी हुई है। जिला चंबा में भरमौर-पठानकोट मार्ग परेल नामक स्थान पर मूसलाधार बारिश के चलते करीब एक घंटे तक बंद रहा। जिला मंडी की चौहारघाटी में गुरुवार रात हुई भारी ओलावृष्टि ने किसानों की मटर की फसल खराब कर दी है।ग्राम पंचायत उरला के कोटरोपी, बही, सास्ती और पंदलाही गांव में ओलावृष्टि से किसानों की धान की फसल को खासा नुकसान हुआ है। शुक्रवार को नाहन में अधिकतम तापमान 27.4, ऊना में 27.2, कांगड़ा में 26.1, धर्मशाला-सुंदरनगर में 24.8, चंबा में 23.5, सोलन में 23.0, भुंतर में 21.0, शिमला में 18.6, डलहौजी में 14.5, केलांग में 11.4 और कल्पा में 9.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ।


अधिकारी ने दी खाध-सुरक्षा की जानकारी

ज़िला अभिहित अधिकारी विनीत कुमार ने रेस्टोरेंट व स्वीट से जुड़े व्यवसायियों को दी खाद्य सुरक्षा नियमों की जानकारी


रवि चौहान
गाजियाबाद। खाद्य सुरक्षा नियमों के प्रति खाद्य व्यवसायियों को जागरूक करने के लिए एसोसिएशन ऑफ फूड ऑपरेटर्स ने एक बैठक की।
 बैठक में  जिला अभिहित अधिकारी विनीत कुमार ने खाद्य व्यवसायियों की समस्याओं को करीब से जाना और विभाग द्वारा बनाये गए नियमों की ज़रूरत और उद्देश्य को समझाया।  
उन्होंने खाद्य तेलों के बार-बार इस्तेमाल को रोकने के लिए विशेष तौर पर ज़ोर देते हुए कहा कि खाद्य व्यवसायी इस्तेमाल होने वालेतेल का पूरा लेखा जोखा रखें और उपयोग के बाद बचे तेल का निस्तारण विभाग द्वारा अधिकृत एजेंसियों के माध्यम से ही करें। विनीत कुमार ने बताया कि रेस्टोरेन्ट, बेकरी और मिठाई की दुकान में काम करने वाले कारीगरों का 6 महीने में एक बार मेडिकल चेकअप कराना आवश्यक है ताकि संक्रमित रोगों का फैलाव ना हो। उन्होंने बताया कि खाद्य पदार्थों में कृत्रिम रंगों के प्रयोग से बचें और बहुत आवश्यक होने पर मानकों के अनुसार ही इनका प्रयोग करें। उन्होंने बताया कि खाद्य सुरक्षा विभाग जल्द ही खाद्य व्यवसाय से जुड़े  कारीगरों की ट्रेनिंग के लिए विशेष कैंप का आयोजन करेगा। 


इस बैठक में अभिहित अधिकारी विनीत कुमार,  खाद्य सुरक्षा अधिकारी उमाशंकर सिंह, जितेन्द्र सिंह कुशवाहा, गजेन्द्र सिंह, धर्मेन्द्र सिंह तथा एसोसिएशन ऑफ फूड ऑपरेटर्स के अध्यक्ष अनिल गुप्ता (कान्हाजी स्वीट्स), महासचिव संजय मित्तल (बीकानेरवाला) व कोषाध्यक्ष प्रवीण खरबन्दा (मुस्कान बेकर्स), मदन स्वीट्स एण्ड रेस्टोरेंट्स, नन्दी स्वीट्स, मुस्कान बेकर्स, जुगल बेकर्स, डोनाल्ड पेस्ट्री शॉप, गणेश बीकनेर, सुगंध, शगुन, न्यू मदन स्वीट्स तथा नालंदा बेकर्स आदि के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।


ताली-गाली 'सरदार' को दो: गिरिराज

पटना,दरभंगा। केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद गिरिराज सिंह ने पटना में बारिश के कारण हुए जलजमाव को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए शुक्रवार को कहा कि ताली सरदार को, तो गाली भी सरदार को। गिरिराज से यह पूछे जाने पर कि पटना में जलजमाव के लिए कौन जिम्मेदार है, उन्होंने कहा कि अगर गंगा नदी की बाढ से यह शहर डूबा होता तो कोई बात होती, कहीं न कहीं कुव्यवस्था के कारण ऐसा हुआ है।


उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर परोक्ष रूप से निशाना साधा और कहा कि ताली सरदार को, तो गाली भी सरदार को। यह पूछे जाने पर कि क्या उनका निशाना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर है तो गिरिराज ने कहा, ”जिस पर भी हो, वह आप बेहतर तौर पर जानते हैं। मैं तो इतना ही जानता हूं कि ताली सरदार को तो गाली भी सरदार को। इससे पूर्व दरभंगा के लहेरियासराय थाना अंतर्गत गोविंदपुर मुहल्ले में मां दुर्गा की आरती में शामिल होने के बाद मीडिया से बात करते हुए गिरिराज ने कहा, ”पटना में बारिश के पानी के कारण बाढ की विभीषिका से लोगों को जो पीड़ा हुई उसके लिए सरकार में शामिल हम सभी लोग (राजग) जिम्मेदार हैं। उन्होंने भाजपा नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की आलोचना की और कहा, ”यदि सुशील मोदी हमारे नेता हैं और पार्टी में सारा श्रेय उन्हें जाता है तो उन्हें आलोचना भी उठानी चाहिए।


गिरिराज ने कहा, ”मैं भी उस जवाबदेही का हिस्सा हूं। किसी को गलतफहमी नहीं रहे कि यह किसी एक पार्टी की सरकार है। न भाजपा और न जदयू को रहे । ये भाजपा और जदयू गठबंधन राजग की सरकार है तथा राजग की सरकार में जनता को तकलीफ होगी तो मैं मांफी मांगूंगा ही एवं जो जिम्मेदार हैं उन्हें सजा भी दिलाऊंगा। पटना में रामलीला के बंद होने पर नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हिन्दू धर्म को ख़त्म करने का यह प्रयास है जबकि रामलीला होने से राम का चरित्र का वर्णन होता है। उन्होंने कहा कि राम के चरित्र से समाज के हर धर्म को सीख मिलती है और समाज के सभी लोगों को इसे अपनाना चाहिए। उन्होंने एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को राष्ट्र विरोधी बताया।


करतारपुर कॉरिडोर के लिए सरकार प्रतिबद्ध

नयी दिल्ली। करतारपुर गलियारा परियोजना को जल्दी पूरा करने के लिए भारत प्रतिबद्ध है और उसने पाकिस्तान से शुल्क लेने के संबंध में 'लचीलापन दिखाने का भी अनुरोध किया है। क्योंकि तीर्थयात्रियों के लिए यह भावनात्मक मुद्दा है। एक प्रश्न के उत्तर में शुक्रवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत को आशा है कि उसकी ओर की ढांचागत परियोजना तय समय में पूरी हो जाएगी।


उन्होंने कहा, ”चार लेन का राजमार्ग बनकर तैयार है और आधुनिक यात्री टर्मिनल अक्टूबर के अंत तक तैयार हो जाएगा। कुमार ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान के साथ एक समझौता साझा किया है लेकिन उसे अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है। उन्होंने कहा, ”हमने उनसे लचीलापन दिखाने को कहा क्योंकि यह भावनात्मक मामला है लेकिन वह शुल्क लगाने पर जोर दे रहे हैं। हमें इसपर अभी तक जवाब नहीं मिला है। लेकिन जल्दी ही जवाब मिलने की आशा है। करतारपुर गलियारा पाकिस्तान के करतारपुर स्थित दरबार साहिब को पंजाब के गुरुदास जिले में स्थित डेरा बाबा नानक साहिब से जोड़ेगा।


इस रास्ते यात्रा करने वालों को वीजा की जरुरत नहीं होगी, उन्हें सिर्फ एक परमिट लेनी होगी। भारत ने पाकिस्तान से अनुरोध किया है कि वह प्रति तीर्थयात्री 20 डॉलर शुल्क लेने के फैसले पर फिर से विचार करे। विशेष अवसरों पर 10,000 तीर्थयात्रियों और उनके जत्थे के साथ एक भारतीय प्रोटोकॉल अधिकारी को रोजाना जाने की अनुमति दे। पहले जत्थे के साथ करतारपुर जाने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की हामी के संबंध में सवाल करने पर कुमार ने कहा कि भारत की ओर आयोजित होने वाले उद्घाटन समारोह में विदेश मंत्रालय की भूमिका बेहद सीमित है।


आतंकियों का ग्रेनेड से हमला,10 घायल

अनंतनाग। अनुच्छेद-370 हटाए जाने के ठीक 2 महीने बाद आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर में अपने नापाक मंसूबों को फिर से अंजाम दिया है। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड से हमला किया है। ये हमला अनंतनाग के डीसी ऑफिस के बाहर गेट पर हुआ जिसमें 10 लोग घायल हो गए। इस हमले में एक पत्रकार समेत 10 लोग घायल हुए हैं। वहीं घायलों में 12 साल का एक बच्चा भी शामिल है। घायलों में एक ट्रैफिक पुलिसकर्मी भी शामिल है। हमले के बाद इलाके की घेराबंदी कर दी गई। आतंकियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। 
आपको बता दें कि आज जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के 2 महीने पूरे हो गए हैं। आतंकियों के जरिए लगातार जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के विरोध में कदम उठाए जा रहे हैं। वहीं LoC से भी पिछले कई दिनों से आतंकी भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं। इससे पहले पिछले हफ्ते J&K में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच दो जगहों पर मुठभेड़ हुई थी जिसमें 6 आतंकी मारे गए थे और जिनमें तीन पाकिस्तानी थे। इस मुठभेड़ में एक जवान शहीद हुआ था जबकि 2 पुलिसकर्मी घायल हुए थे।


आजम, बेटे, पत्नी के गैर जमानती वारंट

लखनऊ। उत्तरप्रदेश समाजवादी पार्टी के नेता और रामपुर लोकसभा सीट से सांसद आज़म खान लगातार परेशानियों सभी घिर रहे हैं। रामपुर की ADJ-6 न्यायालय से आज़म खान, उनकी पत्नी तजीन फातमा और विधायक बेटे अब्दुल्ला आज़म के नाम जमानती वांरट जारी हो गया है। आज आज़म खान को कोर्ट में पेश होना था लेकिन वो कोर्ट नहीं पहुंँचे जिसके बाद कोर्ट ने उनके खिलाफ जमानती वारंट जारी कर दिया।
गौरतलब है कि आज़म खान और उनकी पत्नी फातमा पर कूटरचित दस्तावेज तैयार कर बेटे अब्दुल्ला आज़म के दो जन्म प्रमाण पत्र बनाने का आरोप है। भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने उनके खिलाफ रामपुर के थाना गंज में धारा 420, 467, 468, 471 के तहत रिपोर्ट दर्ज कराया था। मामले में कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिये 29 अक्टूबर की तारीख तय की है। अगर अगली तारीख पर भी आजम खान कोर्ट नहीं पहुंँचे तो उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी होगा।


दिल्ली-यूपी में सस्ती हुई पीएनजी

मुंबई के बाद अब दिल्ली और उत्तर प्रदेश में भी सस्ती हुई पीएनजी


नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में पाइप लाइनों से घरों में सप्लाई होने वाली रसोई गैस पीएनजी के दाम घट गए हैं। आईजीएल ने पीएनजी के दाम घटाने का फैसला लिया है। दिल्ली में फिलहाल पीएनजी की कीमत 90 पैसे प्रति यूनिट घटी है।अब दाम 30.10 रुपये प्रति एससीएम होंगे। इसी तरह उत्तर प्रदेश में पीएनजी के दामों में 40 पैसे प्रति यूनिट पैसे कम किए गए हैं। अब यहां भी गैस के नए दाम 30.10 रुपये प्रति एससीएम होगें हैं। नई कीमतों को 1 अक्टूबर से प्रभावी माना जाएगा।


बता दें कि इससे पहले मुंबई में सीएनजी और पीएनजी के दाम घटे थे। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी महानगर गैस लि। ने सीएनजी और पीएमजी की कीमतों में कटौती की है। यह कटौती गुरुवार (3 अक्टूबर) की रात से लागू हुई है।। घरेलू स्तर पर उत्पादित गैस की कीमतों में भारी कमी के बाद एमजीएल ने यह कदम उठाया है।


बैंक खाते के आधार पर देंगे लोन

SBI बिना दस्तावेजों के त्यौहारों पर दे रहा है लोन, जानें कैसे कर सकते हैं अप्लाई


नई दिल्ली। भारतीय स्टेट बैंक जयपुर (एसबीआई) मण्डल द्वारा आयोजित लोन मेले में दो दिन में 250 करोड़ रुपये के ॠण आवेदन प्राप्त हुए हैं। बैंक के मुख्य महाप्रबंधक रविन्द्र पाण्डेय ने बताया कि बैंक की ओर से ऑनलाइन लोन आवेदन की व्यवस्था की है, इसके तहत लोन लेने के इच्छुकों को किसी तरह के दस्तावेज पेश करने की जरूरत नहीं है। उनका समस्त विवरण भी उनके बैंक खाते में दर्शाये विवरण से हासिल कर लिया जाएगा। इस व्यवस्था के तहत मौके पर ही ॠण स्वीकृत किये जा रहे हैं। इससे लोन प्रक्रिया का समय, कागजी खर्च एवं ग्राहक को होने वाली असुविधा से बचा जा रहा है।


इसमें ग्राहक को एक ही जगह होम लाने, कार लोन, एमएसई, मुद्रा आदि की सुविधाएं प्राप्त हो रहीं हैं तथा एक ही छत के नीचे सभी बैंक एवं वित्तीय संस्थानों का विकल्प ग्राहक के पास उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि सभी ऋणों की स्वीकृति ऑनलाइन वैरिफिकेशन के द्वारा ग्राहक को मोबाइल पर ही भेजी जा रही है।


अधिकारी ने बताया कि त्योहारी सीजन में बाज़ार एवं अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने के लिये भारत सरकार के वित्तीय सेवाएं विभाग के अभियान 'ग्राहक संपर्क -पहल' के तहत आयोजित किया। उन्होंने बताया कि इस ऋण मेले में एक छत के नीचे सभी राष्ट्रीयकृत बैंक, निजी बैंक और माइक्रोफाइनेंस संस्थानों ने भाग लिया। इस आयोजन का सारा प्रबंधन एसबीआई द्वारा ही संभाला जा रहा है।


कैश वैन से एक करोड 57 लाखे लूटे

बेमेतरा। बेमेतरा में कैश वैन से 1 करोड़ 57 लाख रूपए की लूट को अंजाम दिया गया है। झाल गांव के पास 4 युवकों ने कैश वैन में लूट की वारदात की है। पुलिस सरगर्मी से आरोपियों की तलाश में जुट गई है।


बताया जा रहा है गांव के पास कैश वैन की टायर पंचर हो गई थी। सड़क किनारे खड़ी वैन पर 4 युवकों ने धावा बोलकर वैन से 1 करोड़ 57 लाख रूपए लूटकर फरार हो गए। शिकायत पर पुलिस आरोपियों के बताए हुलिए के आधार पर सर्चिंग तेज कर दी है। पुलिस की माने तो आरोपी जल्द पकड़े जाएंगे।


स्थाई संपत्ति में वृद्धि के योग:वृष

राशिफल


मेष-कोर्ट-कचहरी तथा सरकारी कार्यालयों में अटके काम पूरे हो सकते हैं तथा स्थिति सुधरेगी। आय में वृद्धि होगी। कारोबार लाभदायक रहेगा। नौकरी में मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। घर में व्यय होगा। किसी दुविधा से निर्णय लेने की क्षमता कम होगी। बुद्धि का प्रयोग करें। प्रमाद न करें।


वृष-स्थायी संपत्ति में वृद्धि के योग हैं। कोई कारोबारी बड़ा सौदा हो सकता है। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। नौकरी में चैन रहेगा। किसी लंबे कारोबारी प्रवास की योजना बन सकती है। समय की अनुकूलता का लाभ लें। प्रसन्नता रहेगी।


मिथुन-विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य में सफलता हासिल करेगा। अध्ययन आदि में एकाग्रता रहेगी। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। मनपसंद भोजन का आनंद प्राप्त होगा। किसी मनोरंजक यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। नौकरी में कोई नया कार्य कर पाएंगे। उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे।


कर्क-जोखिम व जमानत के कार्य टालें। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। बनते काम बिगड़ सकते हैं। दौड़धूप अधिक होगी। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। चिंता तथा तनाव रहेंगे। कारोबार में लाभ होगा। आय होगी। धैर्य रखें।


सिंह-प्रयास सफल रहेंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। नौकरी में कार्यभार रहेगा। अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। निवेश शुभ फल देंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। जल्दबाजी न करें।


कन्या-दूर से उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगा। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। निवेश में जल्दबाजी न करें। आय बनी रहेगी। उत्साह से काम कर पाएंगे।


तुला-रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। नौकरी में अधिकार बढ़ सकते हैं। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति संभव है। आय में वृद्धि होगी। कोई बड़ा रुका हुआ कार्य पूर्ण होने के योग हैं। कारोबार अच्‍छा चलेगा। उत्साह बना रहेगा। प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें।


वृश्चिक-फालतू खर्च होगा। विवाद को बढ़ावा न दें। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। ईर्ष्यालु व्यक्तियों से सावधान रहें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। किसी बड़ी समस्या से सामना हो सकता है। कारोबार ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। चिंता तथा तनाव रहेंगे।


धनु-व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। काम में मन लगेगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण बनेगा। कारोबार अच्‍छा चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। जीवन सु्‍खमय रहेगा।


मकर-कार्यकारी नए काम मिल सकते हैं। योजना फलीभूत होगी। प्रभावशाली लोगों का सहयोग प्राप्त होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। निवेशादि लाभदायक रहेंगे। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।


कुंभ-अध्यात्म में रुचि रहेगी। किसी संत-महात्मा का आशीर्वाद मिल सकता है। कारोबार में वृद्धि के योग हैं। नौकरी में चैन रहेगा। विवाद से बचें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। बेकार बातों पर ध्यान न दें। स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है। प्रमाद न करें।


मीन-क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। विवाद से क्लेश हो सकता है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। नकारात्मकता रहेगी। कारोबार लाभदायक रहेगा। नौकरी में कार्यभार रहेगा।


ज्वार अन्न नहीं,चारे के लिए

ज्वार (Sorghum vulgare ; संस्कृत : यवनाल, यवाकार या जूर्ण) एक प्रमुख फसल है। ज्वार कम वर्षा वाले क्षेत्र में अनाज तथा चारा दोनों के लिए बोई जाती हैं। ज्वार जानवरों का महत्वपूर्ण एवं पौष्टिक चारा हैं। भारत में यह फसल लगभग सवा चार करोड़ एकड़ भूमि में बोई जाती है। यह खरीफ की मुख्य फसलों में है। यह एक प्रकार की घास है जिसकी बाली के दाने मोटे अनाजों में गिने जाते हैं।


परिचय:-सिंचाई करके वर्षा से पहले एवं वर्षा आरंभ होते ही इसकी बोवाई की जाती है। यदि बरसात से पहले सिंचाई करके यह बो दी जाए, तो फसल और जल्दी तैयार हो जाती है, परंतु बरसात जब अच्छी तरह हो जाए तभी इसका चारा पशुओं को खिलाना चाहिए। गरमी में इसकी फसल में कुछ विष पैदा हो जाता है, इसलिए बरसात से पहले खिलाने से पशुओं पर विष का बड़ा बुरा प्रभाव पड़ सकता है। यह विष बरसात में नहीं रह जाता है। चारे के लिये अधिक बीज लगभग 12 से 15 सेर प्रति एकड़ बोया जाता है। इसे घना बोने से हरा चारा पतला एवं नरम रहता है और उसे काटकर गाय तथा बैलों को खिलाया जाता है। जो फसल दाने के लिये बोई जाती है, उसमें केवल आठ सेर बीज प्रति एकड़ डाला जाता है। दाना अक्टूबर के अंत तक पक जाता है भुट्टे लगने के बाद एक महीने तक इसकी चिड़ियों से बड़ी रखवाली करनी पड़ती है। जब दाने पक जाते हैं तब भुट्टे अलग काटकर दाने निकाल लिए जाते हैं। इसकी औसत पैदावार छह से आठ मन प्रति एकड़ हो जाती है। अच्छी फसल में 15 से 20 मन प्रति एकड़ दाने की पैदावार होती है। दाना निकाल लेने के बाद लगभग 100 मन प्रति एकड़ सूखा पौष्टिक चारा भी पैदा होता है, जो बारीक काटकर जानवरों को खिलाया जाता है। सूखे चारों में गेहूँ के भूसे के बाद ज्वार का डंठल तथा पत्ते ही सबसे उत्तम चारा माना जाता है।


यह अनाज संसार के बहुत से भागों में होता है। भारत, चीन, अरब, अफ्रीका, अमेरिका आदि में इसकी खेती होती है। ज्वार सूखे स्थानों में अधिक होती है, सीड़ लिए हुए स्थानों में उतनी नहीं हो सकती। भारत में राजस्थान, पंजाब आदि में इसका ब्यवहार बहुत अधिक होता है। बंगाल, मद्रास, बरमा आदि में ज्वार बहुत कम बोई जाती है। यदि बोई भी जाती है तो दाने अच्छे नहीं पडते। इसका पौधा नरकट की तरह एक डंठल के रूप में सीधा ५-६ हाथ ऊँचा जाता है। डंठल में सात सात आठ आठ अंगुल पर गाँठें होती हैं जिनसे हाथ डेढ़ हाथ लंबे तलवार के आकार के पत्ते दोनों ओर निकलते हैं। इसके सिरे पर फूल के जीरे और सफेद दानों के गुच्छे लगते हैं। ये दाने छोटे छोटे होते हैं और गेहूँ की तरह खाने के काम में आते हैं।


ज्वार कई प्रकार की होती है जिनके पौधों में कोई विशेष भेद नहीं दिखाई पड़ता। ज्वार की फसल दो प्रकार की होती है, एक रबी, दूसरी खरीफ। मक्का भी इसी का एक भेद है। इसी से कहीं कहीं मक्का भी ज्वार ही कहलता है। ज्वार को जोन्हरी, जुंडी आदि भी कहते हैं। इसके डंठल और पौधे को चारे के काम में लाते हैं और 'चरी' कहते हैं। इस अन्न के उत्पत्तिस्थान के संबंध में मतभेद है। कोई कोई इसे अरब आदि पश्चिमी देशों से आया हुआ मानते हैं और 'ज्वार' शब्द को अरबी 'दूरा' से बना हुआ मानते हैं, पर यह मत ठीक नहीं जान पड़ता। ज्वार की खेती भारत में बहुत प्राचीन काल से होती आई है। पर यह चारे के लिये बोई जाती थी, अन्न के लिये नहीं।


उल्लू के साथ जुड़ी है कई विशेषताएं

उल्लू एक ऐसा पक्षी है जिसे दिन कि अपेक्षा रात में अधिक स्पष्ट दिखाई देता है। इसके कान बेहद संवेदनशील होते हैं। रात में जब इसका कोई शिकार (जानवर) थोड़ी सी भी हरकत करता है तो इसे पता चल जाता है और यह उसे दबोच लेता हैl इसके पैरों में टेढ़े नाखूनों-वाली चार-चार अंगुलियां होती हैं जिससे इसे शिकार को दबोचने में विशेष सुविधा मिलती हैl चूहे इसका विशेष भोजन हैंl उल्लू लगभग संसार के सभी भागों में पाया जाता हैl


जिन पक्षियों को रात में अधिक दिखाई देता है, उन्हें रात का पक्षी (Nocturnal Birds) कहते हैं। बड़ी आंखें बुद्धिमान व्यक्ति की निशानी होती है और इसलिए उल्लू को बुद्धिमान माना जाता है। हालांकि ऐसा जरूरी नहीं है पर ऐसा विश्वास है। यह विश्वास इस कारण है, क्योंकि कुछ देशों में प्रचलित पौराणिक कहानियों में उल्लू को बुद्धिमान माना गया है। प्राचीन यूनानियों में बुद्धि की देवी, एथेन के बारे में कहा जाता है कि वह उल्लू का रूप धारकर पृथ्वी पर आई हैं। भारतीय पौराणिक कहानियों में भी यह उल्लेख मिलता है कि उल्लू धन की देवी लक्ष्मी का वाहन है और इसलिए वह मूर्ख नहीं हो सकता है। हिन्दू संस्कृति में माना जाता है कि उल्लू समृद्धि और धन लाता है।


लीची की खेती एवं उपजाति

लीची का मध्यम ऊंचाई का सदाबहार पेड़ होता है, जो कि 15-20 मीटर तक होता है, ऑल्टर्नेट पाइनेट पत्तियां, लगभग 15-25 सें.मी. लम्बी होती हैं। नव पल्लव उजले ताम्रवर्णी होते हैं और पूरे आकार तक आते हुए हरे होते जाते हैं। पुष्प छोटे हरित-श्वेत या पीत-श्वेत वर्ण के होते हैं, जो कि 30 सें.मी. लम्बी पैनिकल पर लगते हैं। इसका फल ड्रूप प्रकार का होता है, 3-4 से.मी. और 3 से.मी व्यास का। इसका छिलका गुलाबी-लाल से मैरून तक दाने दार होता है, जो कि अखाद्य और सरलता से हट जाता है। इसके अंदर एक मीठे, दूधिया श्वेत गूदे वाली, विटामिन- सी बहुल, कुछ-कुछ छिले अंगूर सी, मोटी पर्त इसके एकल, भूरे, चिकने मेवा जैसे बीज को ढंके होती है। यह बीज 2X1.5 नाप का ओवल आकार का होता है और अखाद्य होता है। इसके फल [[जुलाई ]] से अक्टूबर में फ़ूल के लगभग तीन मास बाद पकते हैं। इसकी दो उप-जातियां हैं:-लीची चिनेन्सिस, उपजाति:chinensis, : चीन, इंडोनेशिया, लाओस, कम्बोडिया में। पत्तियां 4-8|


लीची चिनेन्सिस, उपजाति: फिलीपिनेन्सिस: फिलीपींस, इंडोनेशिया, पत्तियां 2-4|
खेती और प्रयोग:-दक्षिण चीन में यह बहुतायत में उगायीं जातीं हैं, इसके साथ ही दक्षिण-पूर्व एशिया खासकर थाईलैंड, लाऔस, कम्बोडिय वियतनाम बांग्लादेश, पाकिस्तान, भारत, दक्षिणी जापान, ताईवान में। और अब तो यह कैलिफ़ोर्निया, हवाई और फ्लोरिडा में भी उगायी जाने लगी है। देहरादून में कुछ बहुत से स्वादिष्ट फलों की खेती होती है। इनमें प्रमुख है- लीची। लीची की खेती देहरादून में १८९० से ही प्रचलित है। हालांकि शुरुआत में लीची की खेती यहां के लोगों में उतनी लोकप्रिय नहीं थी। पर १९४० के बाद इसकी लोकप्रियता जोर पकड़ने लगी। इसके बाद तो देहरादून के हर बगीचे में कम से कम दर्जन भर लीची के पेड़ तो होते ही थे। १९७० के करीब देहरादून लीची का प्रमुख उत्पादक बन गया। देहरादून के विकास नगर, नारायणपुर, वसंत विहार, रायपुर, कालूगढ़, राजपुर रोड और डालनवाला क्षेत्र में लगभग ६५०० हेक्टेयर भूमि पर इस स्वादिष्ट फल की खेती होती है। लेकिन अब लीची की खेती में भारी कमी आई है। अब लीची की खेती सिर्फ ३०७० हेक्टेयर भमि पर ही होती है


लीची वियतनाम, चीनी और दक्षिण एशियाई बाजारों में ताज़ी बिकतीं हैं और विश्व भर के सुपरमार्किटों में भी। इसके प्रशीतन में रखने पर भी इसका स्वाद नहीं बदलता है, हां रंग कुछ भूरेपन पर आ जाता है।


संकल्पमयी संसार की संरचना

गतांक से...
हे मानव, तू अपने जीवन में महानता के लिए सदैव गमन करता रहता है। इसी से तेरे जीवन की प्रतिभा बनकर के रहे। विचार-विनिमय क्या है? 'रामम्‌ ब्रह्म कीर्तम्‌' माता कौशल्या के गर्भ से पुत्र का जन्म हुआ और जन्म होते ही उन्होंने अपने में ओम का उद्गीत गाया। बालक जब जन्म लेता है, माता के गर्भ से तो है स्वरों में देव भाषा और देव का रुदन करना, वह आरंभ करता है। मानव देखो अपने में वर्णह संभवे, बालक का जन्म हुआ है। आज अपने विचारों को विराम देता हूं मैं बहुत दूर चला गया हूं। विचार यह दे रहा था कि वेद का मंत्र हमें यह कहता है कि हे मानव तू संकल्पवादी बन करके उस प्रभु की रचना को विचारने वाला बन। प्रभु का यह ब्रह्मांड रचा हुआ है। जब सृष्टि का प्रारंभ होता है तो परमपिता परमात्मा की उग्र क्रिया से, क्योंकि उग्र क्रिया का नाम तप कहलाता है। उग्र क्रिया  ही मानव्य तप कहलाता है। परमपिता परमात्मा ने जब सृष्टि की रचना की तो प्रभु का संकल्प मात्र ही एक उग्र क्रिया बनी और वह उग्र क्रिया बनी तो प्राण सत्ता गतिमान हो गया। जब रेत्‍तस: अपने में गतिमान हुआ, तो प्राण ने उसका पिंड बना दिया और पिंड के रूप में यह लोख लोकांतार दृष्टिपात आते रहते हैं। मेरे प्यारे, मैं विशेष चर्चा करने नहीं आया हूं। विचार यह देने के लिए आया हूं कि हम अपने में महान बनने का प्रयास करते रहे। संकल्प में, जगत संकल्पों को अपने में धारण करें। महान बनने का प्रयास करें। विचार आता रहता है वेद का मंत्र कहता है कि जितना भी यह जड़ जगत और चेतन्‍य जगत हमें दृष्टिपात आ रहा है। उस सर्वत्र ब्रह्मांड के मूल में मेरा वह प्रभु दृष्टिपात आता रहता है। वह पुरोहित है ,वह धन्य कहलाता है वह महान है और पवित्रता मेरठ रहने वाला है। उस परमपिता परमात्मा की महिमा का गुणगान गाते हुए अपनी महानता में गमन करते रहे। आज का वाक्य यहीं पर स्थिर होता है। अब समय मिलेगा तो मैं तुम्हें शेष चर्चाएं कल प्रकट करूंगा। अब वेद का पठन-पाठन होगा। इसके पश्चात यह वार्ता समाप्त हो जाएगी।
ओम देवाहा अभ्याम रुद्राहा षा मामृहि तमत्वा वाचन नम:।
ओ देवम भद्रा: वायु रथम ओपाहा।
ओम संजनहा वायु गतम अपाहा ऋषि:।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


October 06, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-63 (साल-01)
2. रविवार, 06 अक्टूबर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन,शुक्‍लपक्ष,तिथि-अष्‍ठमी,विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:15,सूर्यास्त 06:09
5. न्‍यूनतम तापमान -22 डी.सै.,अधिकतम-32+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी, आद्रता बनी रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए

अविनाश श्रीवास्तव    पटना। केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार और उसमें जनता दल यूनाइटेड के शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिं...