शुक्रवार, 15 अक्तूबर 2021

स्थानीय

कैराना ब्लाक के ग्राम में सभा का आयोजन किया

भानु प्रताप उपाध्याय          
शामली। जनपद कैराना ब्लाक के ग्राम ककोर में एक सभा का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में ग्राम वासियों ने कांग्रेस की विचारधारा से प्रेरित हो कांग्रेस का हाथ थामा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार खुर्शीद आलम समाजसेवी द्वारा कैराना के ग्राम ककोर में एक सभा का आयोजन किया गया। जिसमें खुर्शीद आलम ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ कांग्रेस का हाथ थामा खुर्शीद आलम समाजसेवी ने कहां 32 साल हो गए हैं। हम सिर्फ इस्तेमाल ही होते आ रहे हैं। जब भी चुनाव आते हैं। हमसे अन्य दलों के नेता बड़े-बड़े वादे कर वोटों को ठगने का काम करते हैं। ग्राम वासियों ने यह भी कहा की भारत की आजादी  से लेकर आज तक एक स्कूल तक नही बना यह भी आरोप लगाया। ग्राम में ना तो कोई स्कूल है। इसी कारण बच्चों को पढाई से वंचित होना पड़ रहा है। नहीं पर्याप्त पानी के नल है ओर नही  पानी की निकासी ग्राम पंचायत है। जबकि उत्तर प्रदेश में सरकारे आती-जाती रही है। इस पर कांग्रेस जिला अध्यक्ष दीपक सैनी ने सभी ग्राम वासियों को आश्वस्त किया कि कांग्रेस की सरकार आते ही इस ग्राम का विशेष ध्यान रखा जाएगा वह जल्द ही संबंधित अधिकारियों को ज्ञापन दे।ग्राम वासियों की पीड़ा से अवगत कराया जाएगा। दीपक सैनी ने कहां इस ककोर गांव मे जनहित के बहुत मुददे सामने आए हैं।
इन मुददो की आवाज उठाने का काम हम सब करेंगे ओर ककोर गाँव की घरेलू भूमि संडक के चोडी करण मे सरकार द्वारा भूमि ली गई हैं। जिसका ककोर गाँव वासियों को अभी तक मुवावजा नही मिल पा रहा है।गुमराह किया जा रहा हैं ।
मगर हम गलत नही होने देंगे। कांग्रेस सबका साथ सबका विकास में विश्वास रखती है व कांग्रेस पार्टी न इस देश को बनाया है और सभी देशवासी को सम्मान देने का काम कांग्रेस पार्टी ने किया है। नगर अध्यक्ष शमशीर खान कैराना ने कहां ग्राम वासियों की हर एक आवाज को हाथ के पंजे के झंडे के नीचे उठाने का काम किया जाएगा। गांव की समस्याओं को दूर कराने हेतु समय-समय पर अधिकारियों को ज्ञापन के माध्यम से सूचना देने का काम कांग्रेस परिवार द्वारा किया जाएगा। इसी कड़ी में अश्वनी शर्मा, युवा कांग्रेस प्रदेश महासचिव प्रमुख समाजसेवी दीपक सैनी, शामली कांग्रेस जिला अध्यक्ष शमशीर खान, कैराना शहर अध्यक्ष अनुसूचित विभाग के जिला अध्यक्ष लोकेश कटारिया, आरिफ सोहनजनी, वरिष्ठ कांग्रेस नेता व कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष सीमा जाटव ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर  दीपक सैनी, कांग्रेस जिला अध्यक्ष शामली राशिद चोधरी, जिला महासचिव डाॅ. मुन्हवर पवार कैराना ब्लाक अध्यक्ष शमशीर खान, कैराना शहर अध्यक्ष 
नफीस अली, जिला चेयरमैन अल्पसंख्यक विभाग शामली कांग्रेस सलमान राणा, जिला उपाध्यक्ष युवा कांग्रेस इन्तज़ार, कैराना ब्लाक अध्यक्ष किसान न्याय पंचायत अध्यक्ष गयूर कूड़ाना, अनिल शर्मा, राहुल शर्मा, अंकित गुर्जर, टिनु कश्यप, श्रावन कश्यप, संदीप प्रजापति, रिकित गुर्जर, शाहिद गुलशाद, नासिर सादिर, हानिफ खुरशेद, नसीम भुरा, शोकिन मेहरबान, अनवर सलमान, अनीस सोयब, दिलशाद आसमोहमद सन्ना आदि लोग शामिल हुए।

प्रतिनिधियों की राजनीतिक क्षेत्र में भारी उपेक्षा

भानु प्रताप उपाध्याय        
शामली। वाल्मीकि समाज अपने हकों को प्राप्त करने के लिए एकजुट होकर प्रयास करें। अरविंद झंझोट शामली 15 अक्टूबर 2021 राष्ट्रीय वाल्मीकि समाज प्रतिनिधि मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविंद झंझोट ने अपने एक प्रेस बयान में कहां है कि पूरे भारतवर्ष में देश आजाद होने के पश्चात जितना विकास वाल्मीकि समाज का होना चाहिए था उतना विकास नहीं हो पाया है। वाल्मीकि समाज विकास की दौड़ में बहुत पीछे हैं और शिक्षा के क्षेत्र में और राजनीतिक क्षेत्र में बहुत पीछे की पंक्ति में वाल्मीकि समाज खड़ा है और वाल्मीकि समाज के समाजिक प्रतिनिधियों की राजनीतिक क्षेत्र में भारी उपेक्षा हो रही है। देश में एवं उत्तर प्रदेश में वाल्मीकि समाज की राजनीतिक क्षेत्र में भारी उपेक्षा हो रही है। उत्तर प्रदेश में 30 साल पूर्व प्रदेश में वाल्मीकि समाज से कैबिनेट स्वास्थ्य मंत्री स्वर्गीय चौधरी हरि सिंह वाल्मीकि कांग्रेस शासनकाल में बनाए गए थे और केंद्र में भी कांग्रेस पार्टी ने वाल्मीकि समाज से कैबिनेट केंद्रीय गृहमंत्री एवं राज्यपाल बिहार प्रदेश एवं देश के कैबिनेट केंद्रीय संचार मंत्री स्वर्गीय सरदार बूटा सिंह को बना करके वाल्मीकि समाज का सम्मान बढ़ाने का काम किया था। उसके पश्चात से वाल्मीकि समाज से कोई केंद्र में कैबिनेट मंत्री नहीं बनाया गया और नहीं उत्तर प्रदेश में कोई कैबिनेट मंत्री वाल्मीकि समाज से नहीं बनाया गया। वाल्मीकि समाज के साथ में राजनीतिक पार्टियां दिखावा कर रही हैं और उनके वोट लेने के लिए वोट की राजनीति की जा रही है और वाल्मीकि समाज का देश के अनेकों प्रदेशों में उत्पीड़न हो रहा है। आज वाल्मीकि समाज बेरोजगारी आर्थिक तंगी एवं गरीबी से जूझ रहा है। जिस पर सरकार का कोई ध्यान नहीं है। वाल्मीकि समाज काफी वर्षों से स्थानीय निकायों में अस्थाई रूप संविदा सफाई कर्मचारियों एवं ठेके व्यवस्था में कम वेतन परकार्य कर रहा है। जिसमें सरकार द्वारा नतो इनका वेतन बढ़ाया गया है और ना ही इन्हें परमानेंट किया गया है। आज आउटसोर्सिंग ठेके व्यवस्था में कार्यरत सफाई कर्मचारियों को बहुत कम वेतन और प्रति महा बीत जाने पर 18 से 20 तारीख तक वेतन दिया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में वाल्मीकि समाज के पास रोजी रोजगार की व्यवस्था ना होने पाने की वजह से गांव को छोड़कर शहरों की ओर रोजगार की तलाश में जाना पड़ रहा है।सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में वाल्मीकि समाज के लोगों को रोकने के लिए प्रत्येक गांव में 5 सफाई कर्मचारी एवं शिक्षित युवाओं को रोजगार देने की व्यवस्था कराई जाए और प्रत्येक परिवार में पति या पत्नी को एक रोजगार दिलाए जाने की व्यवस्था कराई जाए और 200000 से ₹500000 का बेरोजगारों को अपना व्यवसाय रोजगार शुरू करने के लिए आधी छूट पर ऋण दिलाए जाने की व्यवस्था कराई जाए और पूरे भारतवर्ष में प्रत्येक प्रदेश में देश को स्वच्छ बनाने के लिए 1 लाख सफाई कर्मचारियों की भर्ती स्थानीय निकायों में एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक प्रदेश में कराई जाए। वाल्मीकि समाज के अस्थाई सफाई कर्मचारियों के लिए एवं बेरोजगारों के लिए श्रमिक कार्ड एवं आयुष्मान कार्ड बनवाए जाने की व्यवस्था कराई जाए। इन तमाम समाज की समस्याओं का समाधान कराने के लिए हमारा संगठन संघर्षरत है। समाज को एकजुट होकर समाजिक हित के लिए वाल्मीकि समाज के सभी संगठनों को एकजुट होकर संघर्ष करने की आवश्यकता है। वाल्मीकि समाज की समस्याओं का समाधान कराने के लिए अपने-अपने जनपदों से आवाज उठाएं और जिला प्रशासन द्वारा उक्त मांगों को लेकर संघर्ष करें और ज्ञापन सरकार को भिजवाए जाने की अपील की उक्त अवसर पर नंदू प्रसाद वाल्मीकि, जिला संयोजक अरुण झंझोट, मुकेश कुमार, विशाल कुमार, वर्गिस झंझोट देवानंद, बाल्मीकि प्रमोद कश्यप आदि उपस्थित रहे।

साक्षरता व जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया

गोपीचंद       
बागपत। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बागपत व कल्याण भारती सेवा संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में विधिक साक्षरता एवं जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन जगह-जगह किया जा रहा है। संस्थान के प्रबन्ध निदेशक गोपी चन्द सैनी ने जानकारी देते हुये कहा कि यह कार्यक्रम न्यालय द्वारा आम नागरिकों व छात्रों में विधिक साक्षरता हेतु एक जागरूकता कार्यक्रम जो आजादी के 75 वे भारत अम्रत महोत्सव के उपलक्ष्य में सम्पूर्ण भारत में 2 अक्टूबर से 14 नवम्बर तक, अन्य सामाजिक संस्थाओं व सरकारी विभागों और समाज के प्रबुद्ध व्यक्तियों द्वारा पूरे देश में आयोजित हैं। जिसमें विधिक सेवा प्राधिकरण की कार्यशैली और अन्य लाभकारी योजनाओं की जानकारी पोस्टर पम्पलेट और मोखिखता के आधार पर देश के नागरिकों को साक्षर व जागरूक करने हेतु आयोजित किया जा रहा है। और साथ ही बताया जा रहा है कि जनता को सस्ता और शुलभ न्याय कैसे प्राप्त हो सकता है और कल्याण कल्याण भारती के प्रबन्ध निदेशक गोपी चन्द सैनी ने बताया कि आज 15 अक्टूबर छात्र दिवस व दसहरा के शुभ अवसर पर कल्याण भारती सेवा संस्थान व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सयुंक्त तत्वावधान में इस कार्यक्रम का आयोजन आज बड़ौत नगर में और आस पास किया है। और नगर में बढ़ते फ्लू के प्रकोप से बचाव के लिये होम्योपैथिक इम्युनिटी बूस्टर का निःशुल्क वितरण किया।
कार्यक्रम में संस्थान की ओर से गोपी चन्द सैनी के साथ सुनील चौहान, आलम खान, रणजीत फौजी, नीलम तोमर, अंकुर मुंख्या,बाबूराम, राजेश पांचाल, कर्ण फौजी, वरुण तोमर जय भगवा सिंह, रामकुमार, साथ रहें।
 
प्रतिस्थापित मां दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन किया 

कौशाम्बी। दुर्गा पूजा की समाप्ति के बाद मां दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला शुरू हो गया। नगर पंचायत अझुवा क्षेत्र अजमतपुर, बीच का पुरवा रसूलपुर मढिया मई सैनी क्षेत्र की कुछ चौकियां सहित नगर पंचायत में प्रतिस्थापित मां दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। श्रद्धालुओं ने मंगल कामना के साथ मां दुर्गा की प्रतिमाओं को ससुर खदेरी नदी में विसर्जित किया है।दोपहर बाद श्रद्धालुओ ने गाजे बाजे डीजे के साथ पूजा स्थल से शोभायात्रा निकाली जो नगर के गलियों में जयकारा लगाते रहे शोभायात्रा में हजारों नर नारी बच्चे बूढ़े नवजवान शामिल रहे। नवरात्रि भर मां जगत जननी का गुणगान करके गुरुवार को नवमी को पूजन कर कन्या भोज का आयोजन कर भक्तो ने आदि शक्ति दुर्गा मां को दशमी को विदा किया है।
हालांकि इस वर्ष कोरोना के दूसरी लहर को देखते हुए भक्तों ने शासन द्वारा निर्धारित किये गए नियम निर्देशों का पालन करते हुए इस त्योहार को मनाया है। बीती रात नगर पंचायत अझुवा के वार्ड नं 12 नयानगर में आयोजकों ने भक्ति मय रंगारंग का कार्यक्रम भी करवाया आयोजकों ने शाम भंडारे का आयोजन भी किया। जिसमें नगर तथा ग्रामीण क्षेत्र के लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया है। ततपश्चात कथावाचक जिनका कार्यक्रम पिछले 9 दिनों से चल रहा था जिसमे नगर के भक्त सहित ग्रामीण क्षेत्रों के भक्त आकर संगीतमय भक्ति रसों का श्रवण कर माँ के पंडाल में शेरावाली का जयकारा लगाते रहे उपस्थित लोग मा के जयकारे पर झूमते रहे बीच बीच मे छोटे छोटे बच्चों द्वारा झांकियों का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया गया।
वहीं, आज शुक्रवार दोपहर बाद शोभायात्रा में सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने पूरे नगर पंचायत में घुमाते हुए ससुर खदेरी नदी में  प्रतिमा विसर्जन किया है। विसर्जन स्थल के पास नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी सूर्य प्रकाश गुप्ता ने नगर के कर्मचारियों के सहयोग से टेंट,शुद्ध जल कुर्सी आदि की व्यवस्था कर अपनी महती भूमिका अदा की किसी तरह का हुड़दंग अप्रिय घटनाओं से निपटने के लिए सैनी कोतवाल तेजबहादुर सिंह, चौकी इंचार्ज अझुवा विजेंद्र सिंह मय हमराहियों मौजद रहे।
सन्तलाल मौर्य 

राष्ट्रीय

महिलाओं को प्रशिक्षण संस्थानों में किया शामिल  

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की एक वेबिनार में कहा कि भारत में 2022 से महिलाओं को राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) जैसे प्रमुख सैन्य प्रशिक्षण संस्थानों में शामिल किया जाएगा। सशस्त्र बलों में महिलाओं की भूमिका विषय पर एससीओ की अंतरराष्ट्रीय वेबिनार को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि महिलाओं को पहले ही सैन्य पुलिस कॉर्प्स में शामिल किया जा चुका है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मंच पर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की भी सराहना की।
सिंह ने कहा कि उन्हें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि अगले साल से महिलाएं हमारे प्रमुख तीनों सेवाओं के लिए पूर्व-कमीशन प्रशिक्षण संस्थान, राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में शामिल हो सकेंगी। वहीं, वेबिनार में शामिल चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने भी हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि महिलाओं ने पैराट्रूपर्स, सबमरीनर्स और फाइटर पायलट जैसी युद्धक भूमिकाओं में अपनी क्षमताएं साबित की हैं। जनरल रावत ने कहा कि आज के समय में पूरी दुनिया में महिलाएं सशस्त्र बलों में अपनी सेवाएं दे रही हैं। भारतीय सेना में महिला सैनिकों का प्रशिक्षण कठिन है और इससे विभिन्न परिस्थितियों में उन्हें अपने कार्यों को अंजाम देने में मदद मिली है। आज, युद्ध के नजरिए से पुरुषों और महिलाओं की भूमिका के बीच का अंतर धुंधला होता जा रहा है। महिलाओं ने अपनी क्षमताएं साबित की है और वे भविष्य में भी ऐसा ही करती रहेंगी।
इंदिरा गांधी की नेतृत्व क्षमता को सराहा।
 इस दौरान राजनाथ सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की भी सराहना की। उन्होंने पाकिस्तान के साथ साल 1971 के युद्ध में इंदिरा गांधी की भूमिका का उल्लेख करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री ने न केवल कई वर्षों तक हमारे देश का नेतृत्व किया बल्कि युद्ध की परिस्थितियों में भी उन्होंने देश की बागडोर संभाले रखी थी। इसके साथ ही रक्षा मंत्री ने झांसी की रानी लक्ष्मीबाई और पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल का भी उदाहरण दिया।

नौकरी की तलाश कर रहें लोगों के लिए शानदार मौका

अकांशु उपाध्याय     

नई दिल्ली। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में प्रोबेशनरी ऑफिसर यानी पीओ के पद पर बंपर भर्तियां होने जा रहे हैं। बैकिंग सेक्टर में सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे लोगों के लिए यह शानदार मौका है। पीओ के पदों पर आवेदन करने की आखिरी तारीख नजदीक है। स्टेट बैंक ऑफ इंडियाकी ओर से जारी इस वैकेंसी के लिए आवेदन प्रक्रिया आज यानी 5 अक्टूबर 2021 से शुरू हो जाएगी। वैकेंसी में आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को 25 अक्टूबर 2021 तक का समय दिया गया है। इस वैकेंसी के माध्यम से कुल 2056 पदों पर भर्तियां होंगी। इच्छुक उम्मीदवार स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ऑफिशियल वेबसाइट  पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। आवेदन की इच्छुक उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट पर उपलब्ध नोटिफिकेशन के माध्यम से वैकेंसी की पूरी डिटेल देख सकते हैं। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ओर से जारी इस वैकेंसी के लिए नोटिफिकेशन 4 अक्टूबर 2021 को जारी किया गया है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ओर से जारी इस वैकेंसी के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन तक की डिग्री होनी चाहिए। इसमें अपीयरिंग वाले उम्मीदवार की आवेदन के पात्र हैं। वैकेंसी की नोटिफिकेशन के माध्यम से एजुकेशन क्वालिफिकेशन की पूरी जानकारी हासिल कर सकते हैं। मिशनरी ऑफिसर के पद पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों की उम्र 21 साल से अधिक और 30 साल से कम होनी चाहिए।  इसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की नियमों के तहत आरक्षण के दायरे में आने वाले उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में छूट दी जाएगी।


कारों में एक्सीडेंट के वक्त बच्चे रहेंगे ज्यादा सुरक्षित

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। सुरक्षित, जानिए ऐसी 5 सुरक्षित कारों के बारे में इन कारों में एक्सीडेंट के वक्त बड़े और बच्चे रहेंगे ज्यादा सुरक्षित। जानिए ऐसी 5 सुरक्षित कारों के बारे में
ऑटो डेस्क। टाटा मोटर्स की हाल ही में पेश की गई मिड साइज की एसयूवी को ग्लोबल से ऐडल्ट्स की सुरक्षा के लिए 5-स्टार रेटिंग (16.453) और बच्चों की सुरक्षा के लिए 4-स्टार रेटिंग (40.891) मिली है। जनवरी 2020 में अल्ट्रोज और दिसंबर 2018 में नेक्सन के बाद नई पंच टाटा का तीसरा व्हीकल है जिसे 5 स्टार सिक्योरिटी रेटिंग मिली है।
नई टाटा पंच को कंपनी ने एडवांस एजाइल लाइट फ्लैिक्सबिल एडवांस्ड आर्किटेक्चर पर बनाया गया है। पंच का लंबा स्टांस, हाई ग्राउंड क्लीयरैंस और ड्राइविंग पोजीशन यूजर को सड़क का एक कमांडिंग व्यू ऑफर करता है। इसमें डुअल एयरबैग, ईबीडी के साथ एबीएस और कॉर्नर स्टेबिलिटी कंट्रोल, कॉर्नरिंग फंक्शन के साथ फ्रंट फॉग लैंप, चाइल्ड सीट आईएसओ फिक्स एंकर पॉइंट, पेरीमेट्रिक अलार्म सिस्टम, रिवर्स पार्किंग कैमरा, ड्राइवर और को-ड्राइवर सीट बेल्ट रिमाइंडर, टायर पंचर रिपेअर किट मिलते हैं। इसके फर्स्ट फीचर्स सेगमेंट में ब्रेक स्वे कंट्रोल शामिल है।
टाटा मोटर्स ने पुष्टि की है कि 2021 पंच एसयूवी की कीमत का ऐलान 18 अक्टूबर को किया जाएगी। पंच SUV का इस महीने की शुरुआत में पेश किया गई थी और बुकिंग 21,000 रुपए में शुरू की गई है। टाटा पंच को 7 कलर्स में पेश किया जाएगा, जिसमें डुअल-टोन कलर ऑप्शन शामिल हैं। फ्रंट ग्रिल को  के साथ हेड लाइट्स से सजाया गया है। इसमें 16 इंच के अलॉय व्हील्स भी मिलते हैं।
टोयोटा की इस कार को भी  ने भारत की सड़कों पर चलने के लिए सुरक्षित माना है और इसे 4 स्‍टार रेटिंग दी है। इस कार में ड्राइवर और को-ड्राइवर दोनों के हेड एयरबैग्‍स के जरिए सुरक्षित हैं। इस कार में सुरक्षा के लिए एबीएस, ईबीडी और आइसोफिक्‍स चाइल्‍ड सीट माउंट्स जैसे स्‍टैंडर्ड फीचर्स दिए गए हैं। इसकी कीमत एक्‍स-शोरूम 5.25 लाख से शुरू होकर 7.35 लाख तक जाती है।
 के पहले टेस्‍ट में तो यह कार फेल हो गई थी। मगर दूसरे चांस में इस कार ने सेफ्टी फीचर्स के मामले में 4 स्‍टार हासिल किए। टाटा मोटर्स की इस कॉम्‍पेक्‍ट सेडान के बॉडी शेल को उतना सुरक्षित नहीं माना गया है। हालांकि इसमें सेफ्टी के सभी स्‍टैंडर्ड फीचर्स को शामिल किया गया है। हालांकि कंपनी ने पहले इसमें एबीएस और ईबीडी जैसी तकनीक नहीं दी थीं। मगर बाद में इस कार को इन सभी तकनीकों से भी लैस कर दिया गया। इस कार को 6 से 9 लाख के बाच में एक्‍सशोरूम खरीद सकते हैं।
सेफेस्‍ट कार के चार्ट में हाल ही मारुति की इस एसयूवी ने एंट्री मारी है। देश की बेस्‍टसेलिंग एसयूवी में से एक इस कार को  ने 4 स्‍टार दिए है। हालांकि इसके आइसोफिक्‍स चाइल्‍ड सीट माउंट्स तकनीक संस्‍था के मानकों पर खरा नहीं उतर सका है। इसके सभी वरियंट में ड्यूल फ्रंट एयरबैग्‍स, एबीएस और ईबीडी जैसी तकनीक दी गई हैं। इस कार में AMT जैसे फीचर्स को भी शामिल किया गया है। वॉक्‍सवैगन पोलो भारत की पहली ऐसी कार है जिसे  ने टेस्‍ट किया था। हालांकि बिना एयरबैग्‍स इसके वरियंट को जीरो रेटिंग दी गई थीं। मगर इसके अपग्रेडेट मॉडल्‍स को ने सुरक्षित करार दिया है। ड्राइवर और को-ड्राइवर के लिए भी इस कार को सुरक्षित माना गया है। यह कार आपको 6 से 9 लाख के बीच मिल सकती है।

पिछले काफी महीनों से आंदोलन कर रहे हैं किसान

अकांशु उपाध्याय              
नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार के तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर किसान पिछले काफी महीनों से आंदोलन कर रहे हैं। इस बीच सिंघु बॉर्डर पर एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। किसानों के मंच के पास एक युवक की बेरहमी से हत्या के बाद एक हाथ काटकर शव बैरिकेड से लटका दिया गया है। जबकि यह घटना गुरुवार रात की बताई जा रही है। वहीं, जब शुक्रवार की सुबह आंदोलनकारियों ने मुख्य मंच के पास युवक का शव लटका देखा, तो हड़कंप मच गया। जबकि युवक के शव को 100 मीटर तक घसीने की बात भी की जा रही है।
यही नहीं, युवक के शरीर पर धारदार हथियार से हमले के निशान हैं। इस बीच एक हाथ कटा शव मिलने से सुबह से ही आंदोलनकारियों की भीड़ घटना स्थल पर जुटी हुई है। वहीं, आंदोलनकारी कुंडली थाना पुलिस को भी मौके पर नहीं आने दे रहे थे, लेकिन कड़ी मशक्‍कत के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव अपने कब्‍जे में ले लिया। हालांकि कुछ लोग निहंगों पर इस घटना का आरोप लगा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, युवक पर गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का आरोप है।
इस मामले को लेकर सोनीपत के डीएसपी हंसराज ने कहा कि शुक्रवार सुबह 5 बजे थाना कुंडली में सूचना मिली कि जो किसान आंदोलन चल रहा है उसकी स्टेज के पास एक व्यक्ति के हाथ पैर काटकर मृत लटकाया हुआ है. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों से पूछताछ की, लेकिन अभी कुछ खुलासा नहीं हो पाया है। अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।
जानकारी के मुताबिक, सिंघु बॉर्डर पर लगे संयुक्त किसान मोर्चा के मुख्य मंच के पास शव मिलने से हड़कंप मच गया। शव का एक हाथ कटा हुआ है, तो गर्दन पर भी तेजधार हथियार से हमले के निशान हैं। वहीं, इस घटना की सूचना के बाद कुंडली थाना प्रभारी रवि कुमार कड़ी मशक्‍कत के बाद मौके पर पहुंचे। फिलहाल पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, मृतक की पहचान करने की कोशिश की जा रही है।
सूत्रों के मुताबिक, निहंगों का आरोप है कि किसी ने युवक को साजिश के तहत 30 हजार रुपये देकर यहां भेजा था। जबकि युवक ने यहां पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब का अंग भंग किया। वहीं, जब निहंगों को इसका पता चला, तब उसे पकड़ लिया गया। साथ ही उसे घसीटते मंच के पास लाया गया था। हालांकि युवक से पूछताछ और घसीटने समेत पूरी वारदात की वीडियो भी बनाई गई, जो कि अभी सामने नहीं आई है। जबकि हत्‍या की बात को लेकर पुलिस कुछ भी कहने से बच रही है।

'विजयदसमी' पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विजयदसमी पर देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विटर पर अपने शुभकामना संदेश में कहा ,”विजयादशमी के पावन अवसर पर आप सबको अनंत शुभकामनाएं।” गृह मंत्री शाह ने ट्विटर पर कहा, ”समस्त देशवासियों को विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनाएं।” रक्षा मंत्री सिंह ने संदेश में लिखा, ” विजयादशमी के पावन पर्व पर आप सबको हार्दिक शुभकामनाएं। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सभी देशवासियों को विजयादशमी की बधाई दी है। श्री कोविंद ने शुक्रवार को अपने ट्वीट संदेश में कहा, “विजया दशमी के शुभ अवसर पर सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई। दशहरा, बुराई पर अच्‍छाई की विजय का प्रतीक है। यह त्‍योहार हमें नैतिकता, भलाई और सदाचार के रास्‍ते पर चलने की प्रेरणा देता है। मेरी शुभकामना है कि यह पर्व देशवासियों के जीवन में समृद्धि व प्रसन्नता का संचार करे।

कोरोना के नए वेरिएंट के उभरने से अनिश्चितता बढ़ीं

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोरोना वायरस के नए वेरिएंट के उभरने से अनिश्चितता बढ़ गई है। जिससे वैश्विक अर्थव्यवस्था के सुधार की रफ्तार प्रभावित होने का खतरा पैदा हो गया है। आईएमएफ ने अपनी वार्षिक बैठक के समापन के बाद एक बयान में कहा, ”वायरस के वेरिएंट के उभरने से अनिश्चितता बढ़ गई है और पुनरुद्धार की राह में जोखिम बढ़ गए हैं।
इस बैठक में अन्य लोगों के साथ केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी भाग लिया। आईएमएफ ने कहा, ”संकट गरीबी और असमानताओं को बढ़ा रहा है, जबकि दूसरी ओर जलवायु परिवर्तन और अन्य साझा चुनौतियों का दबाव बढ़ रही हैं, जिस पर हमें तत्काल ध्यान देने की जरूरत है।
बयान में कहा गया कि महामारी के प्रकोप को रोकने के लिए सार्वभौमिक टीकाकरण में तेजी लाने के जरूरत है और ऐसे में अंतरराष्ट्रीय सहयोग और तत्काल कार्रवाई पर जोर दिया गया। बाद में एक संवाददाता सम्मेलन में स्वीडन की वित्त मंत्री मैग्डेलेना एंडरसन, जिन्होंने बैठक की अध्यक्षता की, ने कहा कि महामारी ने वैश्विक स्तर पर गरीबी और असमानताओं को बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि बैठक में मजबूत अंतरराष्ट्रीय सहयोग और सार्वभौमिक टीकाकरण के लिए तत्काल कार्रवाई पर जोर दिया गया।
एंडरसन ने कहा कि इस बीच जलवायु परिवर्तन के चलते दबाव भी बढ़ रहा है और इस पर तत्काल ध्यान देने की जरूरत है। बैठक में पेरिस समझौते के अनुरूप जलवायु कार्रवाई में और तेजी लाने के लिए एक मजबूत प्रतिबद्धता जताई गई। इसबीच आईएमएफ ने वैश्विक आर्थिक पुनरुद्धार के लिए बढ़ते खतरों और मौजूदा कोरोना वायरस महामारी तथा मुद्रास्फीति के प्रकोप से पैदा हुए खतरों के प्रति चेतावनी दी है।
सीमाओं पर सैन्य तैयारियां बढ़ाने की अधिक जरूरत

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में डर का माहौल बनाने के लिए आतंकवादी लोगों को चुन-चुनकर निशाना बना रहे हैं। नागपुर के रेशमबाग मैदान में वार्षिक विजयादशमी रैली को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि सीमाओं पर सैन्य तैयारियां बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने बिटकॉइन और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर भी चिंता व्यक्त की और सरकार से इन्हें विनियमित करने के प्रयास करने को कहा। उन्होंने कहा, ”जम्मू कश्मीर में डर पैदा करने के इरादे से आतंकवादी लोगों को चुन-चुनकर निशाना बना रहे हैं।” जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के सुरनकोट इलाके में डेरा की गली (डीकेजी) में 12 अक्टूबर को मुठभेड़ में एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) सहित सेना के पांच कर्मी शहीद हो गए थे।
राजौरी जिले के थानामंडी इलाके में 19 अगस्त को आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना का एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) शहीद हो गया था। भागवत ने कहा कि सामाजिक चेतना अब भी जाति आधारित भावनाओं से प्रभावित है और आरएसएस इसके समाधान के लिए काम कर रहा है।
वित्तपोषण का मुकाबला सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा की

अकांंशु उपाध्याय       
नई दिल्ली वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपनी अमेरिकी समकक्ष जेनेट येलेन के साथ बृहस्पतिवार को अवैध आर्थिक गतिविधियों, धन शोधन से निपटने और आतंकवाद के वित्तपोषण का मुकाबला करने सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा की। ‘भारत-अमेरिका आर्थिक एवं वित्तीय साझेदारी’ (ईएफपी) की आठवें दौर की बातचीत के दौरान दोनों नेताओं के बीच यह बातचीत हुई।
वित्त मंत्रालय ने ट्वीट किया कि सीतारमण और येलेन ने अवैध आर्थिक गतिविधियों, धन शोधन से निपटने और आतंकवाद के वित्तपोषण का मुकाबला करने के मुद्दों पर जोर दिया। दोनों देशों ने इस बैठक के बाद एक संयुक्त बयान भी जारी किया। बयान में कहा गया, ” हम अधिक जानकारी साझा करने और समन्वय के माध्यम से धन शोधन से निपटने और आतंकवाद के वित्तपोषण का मुकाबला करने में अपने सहयोग को मजबूत करना जारी रखेंगे। दोनों पक्ष वित्तीय अपराधों से निपटने के महत्व पर और हमारी वित्तीय प्रणालियों को दुरुपयोग से बचाने के लिए ‘वित्तीय कार्रवाई कार्य बल’ मानकों के प्रभावी कार्यान्वयन पर सहमत हैं।” कोविड-19 वैश्विक महामारी के प्रकोप के बाद ‘भारत-अमेरिका आर्थिक एवं वित्तीय साझेदारी’ (ईएफपी) की पहली बैठक में दोनों देश सीमा पार धन के लेनदेन, भुगतान प्रणाली और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केन्द्र के विकास जैसे उभरते वित्तीय क्षेत्रों पर आगे भी भागीदारी करने को सहमति हुए।
सीतारमण और येलेन के अलावा बैठक में ‘फेडरल रिजर्व सिस्टम’ के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल और भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास भी शामिल हुए। सीतारमण और येलेन ने वैश्विक आर्थिक मुद्दों को हल करने के लिए द्विपक्षीय और बहुपक्षीय दोनों तरह से संबंध जारी रखने की अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की। दोनों नेताओं ने कोविड-19 संकट के जीवन और आजीविका पर पड़े प्रभाव को भी रेखांकित किया। बयान में कहा गया, ” हम सहायक नीतियों को तब तक कायम रखने पर सहमत हुए जब तक कि मजबूत एवं समावेशी सुधार मजबूती से स्थापित नहीं हो जाते।

मनोरंजन

दूसरे सीजन के ट्रेलर के माध्यम से घोषणा की 

कविता गर्ग         
मुंबई। प्राइम वीडियो ने व्यापक रूप से लोकप्रिय अमेज़न ओरिजिनल सीरीज वन माइक स्टैंड के दूसरे सीजन के एक दिलचस्प ट्रेलर के माध्यम से आज घोषणा की है। सीरीज का प्रीमियर वैश्विक स्तर पर 22 अक्टूबर को 240 देशों और क्षेत्रों में होगा। प्राइम वीडियो की 2021 वाली फेस्टिव लाइन-अप के हिस्से तौर पर लॉन्च होने जा रहा नया सीजन सेलिब्रिटी मेहमानों और उतने ही जबर्दस्त मेंटरों को एक साथ पेश करता है, जो इन सेलेब्रिटी को स्टेज पर अपना सिक्का जमाने की टिप और ट्रिक बताते हैं। ट्रेलर में इस सीजन की खास सेलिब्रिटी टुकड़ी को दिखाया गया है, जिसमें मैवरिक फिल्म डाइरेक्टर-प्रोड्यूसर-स्क्रीनराइटर करण जौहर, बोल्ड और आकर्षक एक्ट्रेस-मॉडल-इंटरप्रेन्योर सनी लियोनी, कूल लेकिन इंटेंस रैपर रफ्तार, प्रखर एवं प्रसिद्ध पत्रकार फाये डिसूजा और भारत के बेस्टसेलिंग लेखकों में गिने जाने वाले चेतन भगत शामिल हैं। गुदगुदाने वाली हंसी और आश्चर्य से भरपूर पांच भागों वाली इस सीरीज का नया सीजन पिछले सीजन के मुकाबले बड़ा, मजेदार और हास्यप्रद होने का वादा करता है।

अमेजन प्राइम वीडियो इंडिया की हेड ऑफ इंडिया ओरिजिनल्स अपर्णा पुरोहित ने कहा, "प्राइम वीडियो इंडिया में हमारा प्रयास हमेशा यही रहा है कि हम ऐसी सम्मोहक, अलग और बेचैन करने वाली कहानियों और प्रारूपों का निर्माण करें, जो दर्शकों के व्यापक आधार से जुड़ सकें। इसी एप्रोच ने हमें वन माइक स्टैंड को डेवलप करने के लिए प्रेरित किया- एक ऐसा शो जो न केवल आपके पसंदीदा सेलेब्स की हाजिरजवाबी और उनके मजाकिया पहलुओं को इक्सप्लोर करता है, बल्कि स्टेज पर चलने के दौरान उनके तनावपूर्ण, चिंताग्रस्त और कमजोर क्षणों की झलक भी दिखलाता है। इस कच्चे लेकिन आकर्षक फॉर्मैट ने दर्शकों की दिलचस्पी जगा दी और देश में कॉमेडी की चेतना का विस्तार करने में मदद की है। हम सीजन 2 पेश करते हुए बेहद उत्साहित हैं, जो विभिन्न प्रकार के ऐसे सेलेब्स को एक साथ लाता है जो अपने जीवन में पहली बार स्टैंड-अप कॉमेडी करने का प्रयास कर रहे हैं। उनका उत्साह बढ़ाने के लिए उनके मेंटर मौजूद हैं, जो अनुभवी कॉमेडियन हैं। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि जिस फॉर्मैट की नींव भारत में डाली गई थी, उसे जर्मनी में अपनाया जा रहा है और वर्तमान में वहां प्रोडक्शन चल रहा है!”

वन माइक स्टैंड सीजन 2 के क्रिएटर और होस्ट सपन वर्मा का कहना है, "सीजन 1 के लिए मिली दर्शकों की जबरदस्त प्रतिक्रिया ने हमें आगामी सीजन को ज्यादा बड़ा और बेहतर बनाने को प्रेरित किया। सीजन 2 पहली बार कॉमेडी में हाथ आजमाने वाले प्रतिभाशाली सेलेब्रिटीज की एक विविधतापूर्ण रेंज को एक साथ पेश करता है। आपने पहले उन्हें अपने-अपने क्षेत्र के शानदार लीडर के रूप में देखा होगा, लेकिन इस शो में आपको उनका एक बिल्कुल अलग पक्ष देखने को मिलेगा। इस सीजन में भी हमें देश के कुछ सबसे बड़े और सबसे अनुभवी कॉमेडियन मिले हैं, जो सेलेब्रिटीज को डेब्यू करने में उनकी मेंटरिंग कर रहे हैं। मैं अपने शो के एक्सएक्सएक्स अक्टूबर को होने जा रहे ग्लोबल प्रीमियर की प्रतीक्षा कर रहा हूं।"


परिवार के नए सदस्य का धूमधाम से किया स्वागत

कविता गर्ग      

मुंबई। अमिताभ बच्चन अपनी पोती आराध्या के साथ खास बॉन्ड शेयर करते हैं। 79 वर्षीय अमिताभ बच्चन युवाओं के बीच फुल स्वैग दिखाते नजर आते हैं तो बच्चों के साथ वह भी बच्चे बन जाते हैं। अभिषेक और ऐश्वर्या रायकी लाडली आराध्या का जन्म साल 2011 में हुआ। उस वक्त बच्चन परिवार के घर के किसी जलसे जैसा माहौल था। परिवार के नए सदस्य का स्वागत खूब धूमधाम से किया गया। सभी यह जानने को उत्सुक थे कि आराध्या किसकी तरह पड़ी हैं।

उस वक्त अमिताभ बच्चन ने मीडिया से बात करते हुए कहा था, 'मुझे तो ऐसा लग रहा है कि ऐश्वर्या पर है लेकिन जैसा कि आप जानते हैं बच्चों की शक्ल प्रतिदिन बदलती है। मैं फिर भी मानता हूं कि ऐश्वर्या की शक्ल है। घर में कुछ लोग समझते हैं कि थोड़ा बहुत जया, अभिषेक से मिलता है। '
अमिताभ ने आगे कहा कि 'मैं बेकार हूं अभी। मेरा कौन बनेगा करोड़पति खत्म हो गया है, और मेरे पास कोई फिल्म है नहीं अभी। तो मैं बेकार हूं, अब मैं घर पर रहूंगा।' तभी अभिषेक बच्चन कहते हैं कि अब वो अपनी पोती की देखभाल करेंगे।
अमिताभ ने बताया कि 'हम 14 तारीख की रात को वहां गए थे। डॉक्टरों ने बताया कि कभी भी बच्चे का जन्म हो सकता है। 16 तारीख की सुबह उन्होंने बच्चे को जन्म दिया। यह सामान्य डिलीवरी थी हालांकि आजकल लोग सी-सेक्शन और अन्य का विकल्प चुनते हैं लेकिन ऐश्वर्या नॉर्मल डिलीवरी चाहती थीं। उन्होंने संघर्ष किया। उन्होंने लंबे समय तक दर्द बर्दाश्त किया, करीब दो-तीन घंटे तक लेकिन किसी पेन किलर को लेने से इनकार कर दिया।'

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-360 (साल-04)
2. शनिवार, अक्टूबर 16, 2021
3. शक-1984,अश्विन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-एकादशी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:02, सूर्यास्त 05:40।
5. न्‍यूनतम तापमान -16 डी.सै., अधिकतम-30+ डी.सै.। 
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक शिवाशुं व राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...