सोमवार, 27 सितंबर 2021

पीएलए के पश्चिमी थिएटर कमांड को मजबूती दी

बीजिंग। पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर भारत के साथ जारी तनाव और अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों वापसी के बीच चीन ने पीएलए के पश्चिमी थिएटर कमांड को तगड़ी मजबूती दी है। इसकी तस्‍दीक इसी बात से हो जाती है जब बीते छह सितंबर को चीनी राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग ने पांच वरिष्ठ अधिकारियों की पदोन्‍नति‍ के एक समारोह की अध्यक्षता की। पांच लेफ्टिनेंट जनरलों (जिनमें सेना के दो, नौसेना से एक और वायु सेना के दो) को पीएलए की सर्वोच्च रैंक जनरल के रूप में पदोन्नत किया गया। 

इन जनरलों और एडमिरल को पीएलए नेवी (प्लान), पीएलए एयर फोर्स (पीएलएएएफ), नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी और पांच में से दो थिएटर कमांड की कमान सौंपी गई। दिलचस्प बात यह है कि बीते नौ महीने से भी कम समय में सैन्‍य अधिकारियों के पदोन्‍नति से जुड़ा यह तीसरा तीन सितारा समारोह था। अमूमन ऐसे समारोह साल में एक बार जुलाई के महीने में ही होते थे। इन कवायदों से ऐसा लगता है कि पीएलए में दुनिया की सबसे बड़ी सेना होने की सोच हावी है। पदोन्‍नति पाए जनरलों में एक वांग हाइजियांग हैं जिन्‍हें पश्चिमी थिएटर कमांड का कमांडर बनाया गया है। ऐसे में जब एलएसी पर भारत से तनाव बना हुआ है। दो साल से भी कम समय में पश्चिमी थिएटर कमांड के लिए तीसरे नए कमांडर की नियुक्ति चौंकाती है। साथ ही यह चीन के खतरनाक मंसूबों की ओर भी इशारा करती है।  

गाजियाबाद: सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चला

अश्वनी उपाध्याय      

गाजियाबाद। जिले में सोमवार को अब तक का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चला। कुल 267 केंद्रों पर चलाए गए टीकाकरण महाअभियान में एक लाख से अधिक टीके लगाए गए। अब तक जिले में एक दिन में सबसे ज्यादा करीब 79 हजार टीके तीन अगस्त को लगाए थे। उस दिन गाजियाबाद ने केवल प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश में सबसे अधिक टीकाकरण का तमगा अपने नाम कर लिया था। सोमवार को ऐसा तो नहीं हुआ लेकिन जनपद ने अपना ही रिकॉर्ड जरूर तोड़ दिया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा. भवतोष शंखधर ने बताया कि सोमवार को कुल 267 केंद्रों पर सुबह आठ बजे से टीकाकरण शुरू कर दिया गया था। इनमें 256 केंद्र सरकारी और 11 टीकारण केंद्र निजी अस्पतालों के भी शामिल हैं। जनपद में अब तक करीब 28 लाख टीके लगाए जा चुके हैं। कोविन पोर्टल के मुताबिक सोमवार को चलाए गए महा अभियान के पहले ही जिले में 26 लाख, 87 हजार, 87 टीके लगाए जा चुके थे। इनमें 19 लाख, 60 हजार, 471 पहली और सात लाख, 26 हजार, 546 दूसरी डोज शामिल हैं। इसके अलावा सोमवार को महाअभियान के दौरान एक लाख से अधिक टीके लगाए गए हैं।

बिहार: राज्य के लिए विशेष दर्जे की मांग को छोड़ा

अविनाश श्रीवास्तव         

पटना। बिहार सरकार ने राज्य के लिए विशेष दर्जे की मांग को छोड़ दिया है। नीतीश सरकार में योजना एवं विकास मंत्री बिजेंद्र यादव ने सोमवार को कहा कि अब बिहार सरकार केंद्र से विशेष राज्य के दर्जे की मांग नहीं करेगी। पटना में पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान मंत्री ने कहा कि बिहार सरकार की तरफ से इसको लेकर कई बार बातें की गई। 

विशेष राज्य के दर्जे की मांग करते-करते हमने कई साल बिता दिए। इसके लिए राज्य की तरफ से कमिटी का गठन किया, रिपोर्ट भी पेश की गयी, लेकिन सभी बातें बेनतीजा रहीं। अब हम कितनी बार इसको लेकर मांग करेंगे?

यूपी: प्रत्याशियों को माल्यार्पण कर स्वागत किया

बृजेश केसरवानी        
प्रयागराज। भगवतपुर ब्लाक में सफाई कर्मचारियों के संगठन के चुनाव में पदाधिकारी निर्विरोध चुने गए हैं। निर्विरोध चुनाव के बाद विजई प्रत्याशियों को माल्यार्पण कर मिठाई खिलाकर उनका स्वागत किया गया है। 27 सितंबर को निर्विरोध निर्वाचित होकर आए सफाई कर्मचारी संघ अध्यक्ष, महामंत्री व कोषाध्यक्ष को भगवतपुर ब्लाक में सम्मानित किया गया। 
सफाईकर्मी संघ अध्यक्ष का चुनाव सकुशल संपन्न हुआ। कमलेश पासी सफाई कर्मचारी संघ अध्यक्ष पद पर निर्विरोध चुने गए। इसी चुनाव में संजय कुमार महामंत्री पद पर व ईश्वर चंद्र यादव कोषाध्यक्ष पद पर निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। निर्विरोध निर्वाचित हुए सफाई कर्मचारी संघ अध्यक्ष कमलेश पासी, महामंत्री संजय कुमार कोषाध्यक्ष ईश्वर चंद्र यादव को भगवतपुर ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि के सहयोगी एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य वीरेंद्र कुमार पासी ने मिष्ठान खिलाकर माल्यार्पण कर शुभकामनाएं दी है और भविष्य में कार्य के प्रति कर्तव्यनिष्ठ रहने की सलाह दी।
सफाई कर्मचारी संघ अध्यक्ष, महामंत्री व कोषाध्यक्ष ने अपने कार्य के प्रति सदैव कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर अधिकारियों के समक्ष मुखर रहने की बात कही। इस मौके पर वीरेंद्र पासी, अशोक कुमार पाल पूर्व प्रधान मीरापुर, मोनू पासी, दिलवर पासी, अमित कुमार सहित आदि लोग भगवतपुर ब्लाक में मौजूद रहें।
राजकुमार

सीजी: केंद्र तिल्दा-नेवरा के सामने जंगी प्रदर्शन किया

दुष्यंत टीकम         
रायपुर। तिल्दा विकासखंड जिला रायपुर के ग्राम पंचायत सरोरा के महिला स्व सहायता समूहों ने ग्रामिणो पर किये गये पुलिसिया कार्रवाई व लठचार्ज के खिलाफ सोमवार को आरक्षी केन्द्र तिल्दा-नेवरा के सामने जंगी प्रदर्शन किया। उक्त संबंध में मिली जानकारी के अनुसार विगत 3 सितंबर को ग्राम पंचायत सरोरा में संचालित संभव स्पंज एवं पांवर प्राइवेट लिमिटेड उद्योग के विस्तारीकरण एवं पर्यावरण के मामले को लेकर जनसुनवाई आहूत की गई थी। जिनमें सरपंच बीहारीराम द्वारा पूर्व मैं महेंद्रा सपन्ज प्लांट को मोटी रकम लेकर दिए गए एनओसी को लेकर विवाद उत्पन्न हुआ था। आरक्षी केन्द्र तिल्दा-नेवरा के थाना प्रभारी शारत चंद्रा द्वारा लाठीचार्ज करने व ग्रामीणों के खिलाफ झूठा दर्ज एफआईआर को लेकर भारी आक्रोश है। पुलिस प्रशासन द्वारा ग्रामीणों पर लगाये गये आरोपो को महिला समूह ने मिथ्या बताते हुए ग्रामीणों पर दर्ज प्रकरण को निरस्त करने व पुलिसिया लाठीचार्ज की न्यायायिक जांच की मांग को लेकर थाना तिल्दा-नेवरा के सामने धरना प्रर्दशन करने व अपनी गिरफ्तारियां देने गए थे। जिसे पुलिस बल दवारा सासाहोली मे रोकने की कोशिश की गई व भारी दबाव के बिच उन्हें रेलवे स्टेशन तिल्दा तक जाने दिया गया व वही पर तहसीलदार तिल्दा को मुख्यमंत्री के नाम से ज्ञापन सौपा गया व सरकार व प्रशासन की बदनामी के डर से थाने तक नहीं जाने दिया गया।
विदित हो की संभव इस्पात  पावर के विस्तारीकरण हेतु जनसुनवाई दिनांक 03 सितंबर को पंचायत भवन सरोरा में रखा गया था। सरपंच बिहारी राम वर्मा के द्वारा ग्रामीणों को इसकी सूचना नहीं दिया गया था और न ही इसकी मुनियादि गांव में कराई गई थी। ग्रामीणों ने बताया कि बिहारी राम महिंद्रा, हाईटेक, अपनी मनमर्जी से कंपनी से मिली सी.एस. आर की राशि को खर्च करता है, जिसका कोई हिसाब नही है। महिंद्रा कंपनी की जनसुनवाई में सरपंच ने कंपनी का खुलकर बहुत विरोध किया था और अब गुपचुप तरिके से मोटी रकम लेकर एन ओ सी दिया है जिसके विरोध मे जनसुनवाई में ग्रामीण सरपंच से स्पष्टी करण चाहते थे। किन्तु सरपंच मुँह छिपा कर स्वयं पंचयत भवन में दरवाजा अंदर से बंदकर महिला पंच व कुछ अन्य पंच उपसरपंच के साथ बैठ गए वे स्वयं से अंदर में बैठे थे किसी ने उन्हें नहीं रोका था व पुलिस की मौजूदगी में कुछ ग्रामीणों से चर्चा भी अंदर बुलाकर किये है। किन्तु उन्हें खुद अपने द्वारा कम्पनी से लिए गए पैसे के कारण जनता का सामना करने में शर्मिंदगी महसूस हो रही थी व जनता को मुँह दिखाने लायक नहीं है इसलिर बाहर निकलकर लोगों को कोई जवाब नहीं दे पाए सरपंच से ग्रामीण उक्त एन ओ सी दिए जाने का स्पष्टी करण चाहते थे किन्तु सरपंच के पास कोई जवाब नहीं है। कई पंच प्लाट से राशि मिलने व मोटरसायकिल खरीदने की बात स्वीकार भी कर चुके है। प्रशासनिक अधिकारियो के जाने के बाद थाना प्रभारी तिल्दा ने लाइट बंद करा दिया व ग्रामीणों पर बिना किसी चेतावनी के लाठीचार्ज किया गया जिससे कई लोगों को चोट आई है व देर रात्रि सरपंच द्वारा 14 ग्रामीणों पर व थाना प्रभारी नेवरा द्वारा 24 ग्रामीणों पर नामजद व 150 अन्य पर गैर जमानतीय धाराओं मे थाना नेवरा मे प्रकरण दर्ज किया गया है। सरपंच व थानाप्रभरी के इस तरह के व्यवहार से ग्रामीण भारी आक्रोशित है व महिला समूह द्वारा इस अन्याय के खिलाफ अब मोर्चा सम्हाला गया है। आज थाना का घेराव के बाद सरपंच व उपसरपंच व पंचो के घरों का भी घेराव किया जायेगा व केस वापस नहीं होने की दशा मे होने वाले आक्रोश व आंदोलन की पूरी जिम्मेदारी सरपंच की होंगी. महेंद्र स्पंज प्लांट को दिए गए एन ओ सी को ग्रामसभा बुलाकर रद्द करने की मांग भी महिला समूह ने किया है।इस घटना से गांव मे भारी तनाव ह। 4 नवयुवकों की गिरफतारी से गांव मैं आग सुलग गया है व कभी भी इसका विस्फोट हो सकता है। अगर सरपंच ने घुस नहीं लिया है तो अपनी स्थिति स्पष्ट करे मुँह छिपाने व जनता के प्रति जवाबदारी से वे भाग नहीं सकते। सरपंच एक बार भी जनता के बिच आकर नहीं समझा सके इस्से साफ जाहिर है। सरपंच जनता का विश्वास खो चुके है।सिर्फ प्लांट से दलाली खाने के लिए बैठे हैं स्वयं बेजा कब्जा किये है व ग्रामीणों को पेशी बुलाकर पंचायत भवन में न्यायाधीश बनकर चपरासी से बाहर आवाज लगाकर बुलाकर बेइइजत किया जाता है। जिससे ग्रामीण भारी आक्रोषित है व यही गुस्सा निकला है। अगर समय रहते व्यवहार में सुधार नहीं हुआ तो बड़ी घटना कभी भी घट सकती है। महिलाओ ने बताया हैं कि ज़ब तक निर्दोस लोगों के ऊपर लगाये गए प्रकरण खत्म नहीं होगा आंदोलन जारी रहेगा। गांव मे सरपंच व पंचो का बहिस्कार किया जायेगा व दिनोदिन गांव का माहौल और तनावपूर्ण होगा।
उपसरपंच राकेश ठाकुर पर महिलाओ का गुस्सा फूटा : पुलिस की मुखबिरी करने व प्लांट से दलाली खाने व लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए महिलाओ ने राकेश ठाकुर पर जमकर भड़ास निकाला व गांव के माहौल को ख़राब करने मे उसे जिम्मेदार मानकर शिवसेना प्रमुख संतोष यदु ने उपसरपंच को जमकर फटकारा। तिल्दा मे महिलाओ के प्रदरशन मे उपसरपंच का पोलिस कि ओर से फोटो खींचना उसके स्तर को दर्शाता हैं कि सरोरा मैं कैसे नपुंसक उपसरपंच बना हैं।

टिकैत के आह्वान पर 'भारत बंद' का ऐलान किया था

अतुल त्यागी
हापुड़। आपको बता दें कि आज भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के आह्वान पर 'भारत बंद' का ऐलान किया गया था। जिसके बाद पुलिस और प्रशासन भी अलर्ट मोड पर था। जहां भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने नेशनल हाईवे पूर्ण रुप से बंद किया था। गढ़मुक्तेश्वर के स्याना चोपला पर स्कूल के वाहन एवं स्वास्थ्य एंबुलेंस के लिए छूट दी गई थी। वहीं स्थानीय व्यापार मंडल से भी सहयोग की अपील की गई थी वहीं भारत बंद के ऐलान के बाद स पुलिस भी किसानों के प्रदर्शन के चलते चप्पे-चप्पे पर तैनात रहा। सुबह से ही किसान कार्यकर्ता भारत बंद को लेकर तैयारियों में जुटे हुए थे। उधर प्रशासन भी पूरी तैयारी कर चुका था लेकिन आज 4:00 बजे एसडीएम गढ़मुक्तेश्वर और सीओ गढ़मुक्तेश्वर को किसान कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन सौंपकर अपनी मांगों को जल्द से जल्द सरकार को पहुंचाने के लिए कहा।

गुरुद्वारा पर किसानों के बीच पहुंचकर समर्थन दिया

भानु प्रताप उपाध्याय            
शामली। जिला शहर कांग्रेस कमेटी व शामली युवा कांग्रेस जिला कमेटी के नेतृत्व में 'भारत बंद' के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम मे स्थानीय काँग्रेसियों ने काँग्रेस जिलाध्यक्ष दीपक सैनी के नेतृत्व में शामली के गुरुद्वारा तिराहे पर किसानों के बीच पहुँचकर समर्थन दिया। काँग्रेस जिलाध्यक्ष दीपक सैनी ने कहा कि काँग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव आदरणीय प्रियंका गांधी, अजय कुमार कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विधायक व प्रदेश उपाध्यक्ष पंकज मलिक के निर्देश पर जिला एवं शहर काँग्रेस कमेटी द्वारा किसानों के आंदोलन में भागीदारी सुनिश्चित करने का काम किया गया है। मौजूदा सरकार  किसानों के हक मारकर अडानी और अंबानी को देना चाहती है। देश में नौजवान नौकरी के स्थान पर धरना प्रदर्शन करने को मजबूर हैं। 
सरकार द्वारा पारित किये गए तीनों कृषि बिल देश के लिए काले कानून हैं। काँग्रेस पार्टी किसानों के साथ ये जघन्य अन्याय नहीं होने देगी। बिडोली मे  यूवा काँग्रेस के प्रदेश महासचिव अशवनी शर्मा (सींगरा) के नेतृत्व में किसानों के बीच पहुँचकर अपना समर्थन दिया। सुबह 10 बजे से किसान अपनी मांगों को लेकर बिडोली के हरियाणा बार्डर पर धरने पर बैठ गए थे ।किसानों द्वारा तीन काले कानूनों के विरोध में बिडोली के हरियाणा बार्डर को सीज कर दिया गया। यूवा काँग्रेस के प्रदेश के महासचिव अशवनी शर्मा सींगरा ने कहा कि आज के भारत बंद मे बीजेपी द्वारा पास किये गए तीन काले कानूनों के विरोध में काँग्रेस हाईकमान के दिशानिर्देश पर काँग्रेस पार्टी ने जनपद में अपना पूर्ण समर्थन देने का काम किया है। मौजूदा सरकार द्वारा किसानों के ऊपर जबरजस्ती तीन काले कानूनों को थोपा गया है। यूपीए सरकार मे किसानों का बडा कर्ज माफ किया गया था ,मौजूदा सरकार की दमनकारी नीतियों से आज देश मे अंग्रेजी हुकूमत जैसे हालात बन गए हैं। कोरोना काल में ओनलाईन पढाई के नाम पर अंबानी का डेटा बिकवाने का काम देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र भाई जी के द्वारा किया गया है। काँग्रेस ने हमेशा किसान मजदूर के हक की बात की है, हमेशा किसानों को केंद्रित करके फैसले लेने का काम किया है। सरकार द्वारा गन्ना मूल्य में की गई पच्चीस रुपये की वृद्धि लागत के अनुरूप नाकाफी है।काँग्रेस का हर एक कार्यकर्ता तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने का काम करेगा।
समर्थन करने वालों में दीपक सैनी शामली कांग्रेस जिला अध्यक्ष अनुज गोतम, शहर अध्यक्ष शामली शैखरपाल, प्रदेश महासचिव पिछड़ा अंकुर, मलिक यूवा कांग्रेस जिला अध्यक्ष शामली अंकित राणा, जिला सचिव ब्रजपाल राणा, कांग्रेस किसान मण्डल अध्यक्ष लोकेश कटारिया, अनुसूचित जिला अध्यक्ष महाबीर सैनी, राधेश्याम सैनी रूपक मछरोली, राजेंद्र गोल्डी, रविंद्र शर्मा, अमित तोमर, अशवनी हथछोया, अंकित, शुभम शर्मा,  जितेन्द्र कश्यप अजीत शर्मा, यश शर्मा,गयुर अली परवेस मलिक राहुल शमाॅ जिला सचिव अनुराग आदि कांग्रेसी रहे।

परिसर मोहल्ला खेल में किया सभा का आयोजन

भानु प्रताप उपाध्याय         
शामली। सैनी समाज द्वारा एक महत्वपूर्ण सभा का आयोजन गोगा महाडी परिसर मोहल्ला खेल में किया गया। बैठक की अध्यक्षता रमेश सैनी व संचालन अमित सैनी ने किया। सभा में सभासद नामित नगर पालिका परिषद कैराना रोहताश सैनी के साथ मायापुरी फार्म पर अनुज चौहान एवं भाजपा जिला अध्यक्ष सत्येंद्र तोमर द्वारा किए गए अभद्र व्यवहार एवं सैनी समाज के बारे में की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के विरोध में विचार-विमर्श किया। 
सभा में उपस्थित सैनी समाज के के लोगों सभासद विनोद सैनी, मुकेश सैनी, सभासद ऋषि पाल सैनी, कन्हैया सैनी, शशी किरण सैनी, राजेंद्र सैनी, धर्मेंद्र सैनी, सभी वक्ताओं ने कहा कि सैनी समाज हमेशा से ही हिंदुत्व एवं राष्ट्रवाद के चलते बीजेपी को वोट देता आया है। रोहताश सैनी के साथ जो दुर्व्यवहार किया गया। उसके बारे में सभी ने इसकी कड़ी निंदा की और कहा कि जल्द से जल्द जिलाध्यक्ष सतेंद्र कुमार का भाजपा से निष्कासन नहीं किया गया तो सैनी समाज बड़ी महापंचायत कर इसका विरोध करेगा और यदि जल्द ही कोई निर्णय नही लिया गया तो आने वाले 2022 चुनाव में सैनी समाज भाजपा का बहिष्कार करेगा। समाज किसी भी तरह का दुर्व्यवहार पसंद नहीं करेगा। बैठक में विशाल सैनी, अभिषेक सैनी ,आयुष सैनी, विनीत सैनी, बिट्टू सैनी, सुरेश सैनी, पंकज सैनी, अमित सैनी, आकाश सैनी, राजकुमार सैनी, अमित सैनी, विष्णु सैनी, आदि लोग मौजूद रहे।

300 से अधिक स्थानों पर विरोध प्रदर्शन शुरू किया

अमित शर्मा         
जालंधर। केन्द्र सरकार के तीन विवादित कृषि कानूनों के विरोध का सोमवार को एक साल पूरा होने के उपलक्ष्य में किसान संगठनों के ‘भारत बंद’ के आह्वान पर पंजाब में किसानों ने 300 से अधिक स्थानों पर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। राज्य में राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य राजमार्ग, लिंक रोड और रेलवे ट्रैक गंभीर रूप से अवरुद्ध होने से सड़क और रेल यातायात ठप हो गया है।
संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने हड़ताल की अवधि के दौरान सरकारी और निजी कार्यालयों, शैक्षणिक और अन्य संस्थानों, दुकानों, उद्योगों और वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों को बंद रखने का आह्वान किया है। अस्पताल, मेडिकल स्टोर, राहत और बचाव कार्य और व्यक्तिगत आपात स्थिति में शामिल लोगों सहित सभी आपातकालीन प्रतिष्ठानों और आवश्यक सेवाओं हालांकि छूट दी गई है।
इस दौरान एंबुलेंस, सेना और पत्रकारों के वाहनों को आने जाने की छूट रहेगी। मोर्चा ने किसानों के लिए व्यापारियों, कर्मचारियों समेत सभी वर्गों से समर्थन का आह्वान किया है। हड़ताल को विभिन्न राजनीतिक दलों का समर्थन मिल रहा है। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने जहां बंद को समर्थन दिया है।
प्रदर्शनकारियों ने बरनाला में सुबह छह बजे से शहर की ओर जाने वाली सड़कों के अलावा रेल ट्रैक को जाम कर दिया, जबकि बाजार बंद रहे। भारती किसान यूनियन, डकौंडा के प्रेस सचिव बलवंत सिंह उप्ली ने कहा “हमने जिले में 10 सड़कों को अवरुद्ध कर दिया है।
जालंधर, अमृतसर, होशियारपुर, गुरदासपुर और वेरका बस अड्डा चौक में जिन जगहों पर किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं वहां सुबह पांच बजे से सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है। जालंधर के पीएपी चौक और जालंधर फगवाड़ा राष्ट्रीय मार्ग पर किसानों ने धरना लगा कर सड़क यातायात को रोक दिया है।
जालंधर के दकोहा में किसानों ने रेलगाड़ियों को रोक कर रेल यातयात भी रोक दिया है। पंजाब के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने राज्य के पुलिस बलों को विरोध स्थलों पर कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए हैं। सभी धरना स्थलों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

ओवरों के क्रिकेट में अपने कैरियर को विस्तार दिया

लंदन। इंग्लैंड के अनुभवी हरफनमौला खिलाड़ी मोईन अली ने सीमित ओवरों के क्रिकेट में अपने कैरियर को विस्तार देने के लिये टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि अपने कैरियर से वह संतुष्ट हैं ,भले ही लोग कहते हों कि वह और उपलब्धियां हासिल कर सकते थे।
मोईन अली ने 64 टेस्ट में 28 . 29 की औसत से 2914 रन बनाये और 36 . 66 की औसत से 195 विकेट लिये हैं। वह 2019 एशेज श्रृंखला के बाद से टेस्ट क्रिकेट नहीं खेले थे लेकिन भारत के खिलाफ हाल ही में घरेलू श्रृंखला के लिये उनकी टेस्ट टीम में वापसी हुई । उन्होंने कहा ,” मैं 34 वर्ष का हो गया हूं और जब तक खेल सकता हूं, खेलना चाहता हूं । मैं अपने खेल का मजा लेना चाहता हूं ।”
उन्होंने कहा ,” टेस्ट क्रिकेट अद्भुत है । अच्छा प्रदर्शन करने प़र यह किसी भी दूसरे प्रारूप से बेहतर और संतोषजनक है ।” मोईन ने इंग्लैंड के कप्तान जो रूट और कोच क्रिस सिल्वरवुड को अपने फैसले से पहले ही अवगत करा दिया था । उन्होंने कहा ,” मुझे टेस्ट क्रिकेट की कमी खलेगी।
दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों के खिलाफ खेलना और गेंदबाजी करते समय नर्वस होना। मुझे पता है कि अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंद पर मैं किसी भी बल्लेबाज को आउट कर सकता हूं ।” उन्होंने कहा ,” मैने टेस्ट क्रिकेट का पूरा मजा लिया लेकिन अब लगता है कि काफी खेल लिया। मैने जो कुछ हासिल किया, उससे मैं खुश हूं ।” खबरों के अनुसार लंबे समय तक परिवार से दूर रहने में वह सहज नहीं हैं।
उन्होंने आस्ट्रेलिया के एशेज दौरे के लिये इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड से कोरोना प्रोटोकॉल साझा किये जाने से पहले ही मन बना लिया था। वह फिलहाल यूएई में आईपीएल खेल रहे हैं जिसमें वह चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा हैं । वह इंग्लैंड के लिये सीमित ओवरों का क्रिकेट खेलते रहेंगे।
भारत के खिलाफ पांचवां टेस्ट कोरोना संक्रमण के कारण रद्द किये जाने से पहले वह 3000 टेस्ट रन और 200 विकेट पूरे करने वाले 15वें टेस्ट क्रिकेटर बनने की दहलीज पर थे । इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि मोईन को उम्मीद है कि उनका टेस्ट कैरियर ब्रिटिश मुस्लिमों को इंग्लैंड के लिये खेलने की प्रेरणा देगा और उनके लिये दरवाजे खोलेगा।
उन्होंने अपने सभी कोचों, कप्तानों और परिवार को धन्यवाद दिया । उन्होंने कहा ,” मैं पीटर मूर्स और सिल्वरवुड को धन्यवाद देना चाहता हूं । कोच पीटर के कार्यकाल में मैने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। एलेस्टेयर कुक और जो रूट को भी धन्यवाद दूंगा जिनकी कप्तानी में मैने खेला । अपने माता पिता और परिवार को भी धन्यवाद दूंगा जिनकी कुर्बानियों, संयम और सहयोग की वजह से मैं यहां तक पहुंचा।

दूसरे चरण में बेहतर प्रदर्शन का भारी दबाव होगा

लंदन। अपनी टीम पर भारी निवेश और क्रिस्टियानो रोनाल्डो जैसे सितारे की वापसी के बावजूद पिछले दौर में पराजय झेलने वाली मैनचेस्टर युनाइटेड पर मंगलवार से शुरू हो रहे चैम्पियंस लीग फुटबॉल के दूसरे चरण में बेहतर प्रदर्शन का भारी दबाव होगा। पिछले दो मैचों में मैनचेस्टर युनाइटेड को एक गोल से पराजय झेलनी पड़ी।
क्लब में वापसी करने वाले रोनाल्डो ने हालांकि शनिवार को एस्टोन विला के खिलाफ एक ही मैच खेला लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके । अब ग्रुप एफ के मैच में उनका सामना विलारीयाल से है जिसने यूरोपा लीग के पिछले सत्र के फाइनल में उसे हराया था। दूसरी ओर रीयाल मैड्रिड का सामना शेरिफ से होगा । इस सप्ताह स्पेनिश लीग में मैड्रिड ने विलारीयाल से गोलरहित ड्रॉ खेला।
पहले सात मैचों में आठ के मुकाबले 22 गोल करने वाली मैड्रिड पहली बार इस सत्र में किसी मैच में गोल नहीं कर सकी । वहीं शेरिफ ने ग्रुप डी के पिछले मैच में शखतार दोनेस्क को मात दी है । ग्रुप ए में पेरिस सेंट जर्मेन का सामना मैनचेस्टर सिटी से होगा । घुटने की मामूली चोट के कारण पिछले दो मैचों से बाहर रहे लियोनेल मेस्सी यह मैच खेल सकते हैं । मेस्सी ने चैम्पियंस लीग में आखिरी गोल बार्सीलोना के लिये पीएसजी के खिलाफ ही किया था।
बोरूसिया डॉर्टमंड की टक्कर ग्रुप सी में स्पोर्टिंग लिस्बन से होगी । पिछले मैच में डॉर्टमंड को बोरूसिया मोंशेंग्लाबाख ने 1 . 0 से हराया था । खराब फॉर्म से जूझ रही बार्सीलोना का सामना ग्रुप ई में बेनफिका से होगा । स्पेनिश लीग के पिछले मैच में लेवांटे पर 3 . 0 से मिली जीत ने हालांकि उसके लिये टॉनिक का काम किया होगा ।

युवेंटस की दिक्कतें बढी हुई है जिसे बुधवार को चेलसी से खेलना है लेकिन उसके स्टार स्ट्राइकर पाउलो डायबाला चोट के कारण बाहर है । सैम्पडोरिया के खिलाफ स्पेनिश लीग के मैच में गोल करने के बाद वह चोटिल होकर मैदान से बाहर चले गए थे । युवेंटस ने यह मैच 3 . 2 से जीता।

बयान: नेता प्रतिपक्ष सिद्धरमैया पर पलटवार किया

हुबली। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने भारतीय जनता पार्टी को तालिबानी बताने वाले कथित बयान के लिए नेता प्रतिपक्ष सिद्धरमैया पर पलटवार करते हुए कांग्रेस को गुलामगीरी की पार्टी बताया। सिद्धरमैया के बयान पर एक सवाल के जवाब में बोम्मई ने कहा, ”यह (कांग्रेस) गुलामगीरी की पार्टी है, इसलिए वे देशभक्ति को भी अलग तरह से देखते हैं।
हमारी पार्टी देशभक्त है, वह गुलामगीरी की पार्टी हैं।” उन्होंने यहां पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान अपनाई गई मैकाले की शिक्षा नीति के कारण, भारत वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने के अवसरों से वंचित हो गया। उन्होंने कहा, ”अब नरेंद्र मोदी (प्रधानमंत्री के रूप में) शिक्षा प्रणाली में क्रांतिकारी बदलाव सुनिश्चित करने के लिए एक नयी शिक्षा नीति लाए हैं जो हमारे बच्चों, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों को 21 वीं सदी के ज्ञान युग में ले जा सकती है, लेकिन वे (कांग्रेस) उसमें भी दोष ढूंढ रहे हैं।”
इससे पहले, रविवार को सिद्धरमैया ने आरोप लगाया था कि ”भाजपा” तालिबानी” हैं । उन्होंने दावा किया कि कर्नाटक में वास्तव में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) सरकार चला रहा है। बेंगलुरु में एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा था, ”आरएसएस और भाजपा हिटलर के वंश से हैं। भाजपा तालिबानी हैं। उनसे सावधान रहें।” इस पर प्रतिक्रिया देते हुए बोम्मई ने कहा कि सिद्धरमैया के बयान से साफ पता चलता है कि वह ‘निराश’ हैं।

एडीएम ने किसानों से जाम हटाने का अनुरोध किया

अतुल त्यागी              
हापुड़। कृषि आंदोलन को लेकर धौलाना में लगाएं जाम को समाप्त करवानें के लिए जनपद की नवनियुक्त एडीएम ने कमांन संभालते हुए जाम लगा रहे किसानों के बीच पहुंची और जाम हटानें का अनुरोध किया। एडीएम के अनुरोध पर किसानों ने उनका मान रखते हुए तुरन्त ही जाम खोल दिया और ज्ञापन देकर वापस अपनें घरों को लौट गए।
जानकारी के अनुसार भाकियू के भारत बंद के आवाहन पर धौलाना में भी किसानों ने वशिष्ठ चौक पर जाम लगा दिया।
मौकें पर पहुंची एडीएम श्रद्धा शाडिल्यान ने जाम लगा रहे किसानों को समझा कर शान्त किया व उनका विभिन्न मांगों का ज्ञापन लेकर सभी को वापस भेज दिया।
एडीएम के नम्र व्यवहार से किसान तुरन्त मान गए और वापस लौट गए। जाम खुलने से क्षेत्र के लोगो को बड़ी राहत मिल गई। 

सेनानी की पेंशन रोके जाने को अनुचित बताया

कविता गर्ग    
मुंबई। बंबई उच्च न्यायालय ने एक स्वतंत्रता सेनानी की विधवा की पेंशन रोके जाने को अनुचित बताया और महाराष्ट्र सरकार से जवाब मांगा है। स्वतंत्रता सेनानी की 90 वर्षीय पत्नी ने याचिका में सरकार की पेंशन योजना का लाभ देने का अनुरोध किया है। महिला के पति की 56 साल पहले मौत हो गई थी।
न्यायमूर्ति उज्ज्वल भुइयां और न्यायमूर्ति माधव जमादार की पीठ ने 24 सितंबर को आदेश जारी किया और इसकी एक प्रति सोमवार को उपलब्ध कराई गई। अदालत रायगढ़ जिले की निवासी शालिनी चव्हाण की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें उन्होंने ‘स्वतंत्र सैनिक सम्मान पेंशन योजना, 1980’ का लाभ देने का अनुरोध किया क्योंकि उनके दिवंगत पति एक स्वतंत्रता सेनानी थे।
याचिका के अनुसार महिला के पति लक्ष्मण चव्हाण स्वतंत्रता सेनानी थे और उन्होंने 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में भाग लिया था। चव्हाण को सजा सुनाई गई जिसके बाद उन्हें 17 अप्रैल, 1944 से 11 अक्टूबर, 1944 तक मुंबई की भायखला जेल में रखा गया। चव्हाण की 12 मार्च 1965 को मृत्यु हो गई। याचिकाकर्ता के वकील जितेंद्र पाठाडे ने अदालत को बताया कि शालिनी चव्हाण को पेंशन योजना का लाभ इस आधार पर नहीं दिया गया कि उनके पति की गिरफ्तारी और कारावास का रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं है।
पाठाडे ने दलील कि याचिकाकर्ता ने 1966 में अपने दिवंगत पति के कारावास का प्रमाण पत्र राज्य सरकार को प्रस्तुत किया था, लेकिन इसका सत्यापन नहीं हो सका क्योंकि भायखला जेल के पुराने रिकॉर्ड जिसमें उनके पति के कारावास का विवरण था, नष्ट हो गया था। अदालत ने मामले की संक्षिप्त सुनवाई के बाद कहा कि रिकॉर्ड में उपलब्ध सामग्री से लक्ष्मण

चव्हाण के स्वतंत्रता सेनानी होने की स्थिति और याचिकाकर्ता के उनकी विधवा होने के संबंध में कोई विवाद नहीं लगता है। उच्च न्यायालय ने कहा कि अगर ऐसा है भी तो एक स्वतंत्रता सेनानी की पेंशन को इतनी लंबी अवधि के लिए रोकना उचित नहीं है। पीठ ने सरकारी वकील पूर्णिमा कंथारिया को राज्य सरकार से निर्देश प्राप्त करने और 30 सितंबर को वस्तुस्थिति से अदालत को अवगत कराने का निर्देश दिया।

सेडान यारिस की बिक्री तत्काल प्रभाव से होगीं बंद

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने सोमवार को कहा कि वह ग्राहकों की बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए अपनी उत्पाद रणनीति के तहत भारत में अपनी मध्यम आकार की सेडान यारिस की बिक्री तत्काल प्रभाव से बंद कर देगी। कंपनी ने भारतीय बाजार में मई 2018 में यारिस उतारी था।
इसकी कीमत 8.75 लाख रुपये से 14.07 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) रखी गयी थी। यह सेडान होंडा सिटी, ह्यूंदे वरना और मारुति सुजुकी सियाज के वर्ग में पेश की गयी थी। हालांकि, लगभग 19,800 इकाइयों की थोक बिक्री के
साथ, बाजार में इसे ज्यादा अच्छी प्रतिक्रिया नहीं मिली।
कंपनी ने एक बयान में कहा कि टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने 27 सितंबर, 2021 से भारत में यारिस को बंद करने की घोषणा की है। यह कदम उन्नत तकनीकों और उत्पाद की पेशकश के माध्यम से ग्राहकों की लगातार बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए टोयोटा की उत्पाद रणनीति का एक हिस्सा है।

अपनी त्वचा का ख्याल रखना बेहद जरूरी हुआ

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। आजकल की भागदैड़ वाली जिंदगी में अपनी त्वचा का ख्याल रखना बेहद जरुरी हो गया है। अपने आप को खूबसुरत बनाने के लिए आजकल महिलाएं पता नहीं कितने पैसे पार्लर में कर्च कर देती हैं साथ ही खुद भी अलग-अलग उपाय ढूंढती रहती हैं। महिलाएं अपनी त्वचा के अनचाहे बालों को लेकर काफी परेशान रहती हैं। बॉडी के बालों को वैक्सिंग, रेजर और अन्य टीट्रमेंट्स की मदद से हटाया जा सकता है। लेकिन चेहरे के बाल बहुत नाजुक होते है। इन बालों को हटाने के लिए थ्रेडिंग या वैक्सिंग करा सकते हैं, लेकिन ये कारागर माध्यम नहीं है। इसके अलावा रैशेज, रेडनेस की समस्या भी हो सकती है।
ऐसे में फेशियल हेयर को हटाने के लिए आप घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर सकती हैं। ऐसे कई उपाय हैं जिन्हें अपनाने से आसानी से बालों को हटाने में मदद मिल सकती है। साथ ही इसका कोई कई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है। अगर आप भी चेहरे के अनचाहे बालों से छुटकारा चाहती हैं तो आज हम आपको कुछ घरेलू उपाय बताने दा रहे हैं। इन उपायों से आप जल्द ही अनचाहे बालों से छुटकारा पा सकती हैं।
हल्दी और बेसन है लाभकारी।
हल्दी और बेसन त्वचा के लिए बेहद लाभकारी होती है।हल्दी में कुदरती गुण और तत्व मौजूद होते हैं जो चेहरे की त्वचा को चमकाने में मदद करते हैं। हल्दी और बेसन का इसका इस्तेमाल कई सालों से स्किन केयर रूटीन में किया जाता है। लेकिन बेसन और हल्दी का इस्तेमाल कर त्वचा के अनचाहे बालों से छुटकारा आसानी से पाया जा सकता है। ये प्राकृतिक तरीका है जिसके कोई साइड इफेक्ट नहीं है। इसके लिए आपको दो चम्मच बेसन में एक चम्मच हल्दी और एक चम्मच बेसन और पांच चम्मच दूध मिलाना है। इस मिश्रण को अच्छे से मिलाकर चेहरे पर लगाएं और 30 मिनट के लिए छोड़ दें। जब ये मिश्रण अच्छी तरह से सूख जाए तो इसे हटा दें।

खेल: मुंबई इंडियंस को अंदाज में 54 रनों से हराया

कविता गर्ग            
मुबंई। आईपीएल 2021 में विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने रविवार को पांच बार की चैम्पियन मुंबई इंडियंस को एकतरफा अंदाज में 54 रनों से हरा दिया। बेंगलोर से मिले 166 रनों के लक्ष्य में मुंबई का मिडिल ऑर्डर एकदम बिखर गया, जिसकी वजह से टीम को यूएई में लगातार तीसरी हार का सामना करना पड़ा। टीम की तरफ से ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव ने एक बार फिर निराश किया। इन खिलाड़ियों का प्रदर्शन इसलिए भी मायने रखता है, क्योंकि इनको अगले महीने नेशनल टीम की तरफ से टी-20 वर्ल्ड कप खेलना है। बेंगलोर के खिलाफ मैच हारने के बाद किशन काफी निराश नजर आए। ऐसी स्थिति में आरसीबी के कप्तान विराट ने इस युवा खिलाड़ी से बात की और उनको हिम्मत दी। इस पूरे वाकये का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि अपने प्रदर्शन से निराश ईशान विराट के सामने लगभग रोते हुए नजर आ रहे हैं। विराट ने इस मुश्किल समय में किशन को हिम्मत दी और उनके कंधे पर हाथ रखते हुए बात की। विराट भी जानते हैं कि यह खिलाड़ी अगर फॉर्म में लौटेगा तो उनका और देश का ही फायदा होगा।
ईशान के मौजूदा फॉर्म पर नजर दौड़ाई जाए तो वे अब तक आईपीएल 2021 के यूएई लेग में खेले गए तीन मैचों में मात्र 34 रन ही बना सके हैं। उन्होंने सबसे पहले चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 11 रन बनाए और उसके बाद अगले मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ 14 रन ही बना पाए। उनकी खराब फॉर्म का सिलसिला आरसीबी के खिलाफ भी देखने को मिला, जहां वे मात्र 9 रन बनाकर युजवेंद्र चहल का शिकार बने। बेंगलोर से हारने के बाद मुंबई लेटेस्ट प्वॉइंट टेबल में 10 मैचों में छठी हार के साथ सातवें स्थान पर खिसक गई है।

मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर भाजपा पर निशाना

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा है कि भाजपा ने जातिगत आधार पर सिर्फ वोट बैंक को साधने के लिए नए मंत्री बनाए हैं।
सुश्री मायावती ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि भाजपा ने कल उत्तर प्रदेश में जातिगत आधार पर वोटों को साधने के लिए जिनको भी मंत्री बनाया है, बेहतर होता कि वे लोग इसे स्वीकार नहीं करते,क्योंकि जब तक वे अपने-अपने मंत्रालय को समझकर कुछ करना भी चाहेंगे, तब तक यहाँ चुनाव आचार संहिता लागू हो जायेगी।
उन्होने कहा, " पिछड़े समाज के विकास तथा उत्थान के लिए अभी तक वर्तमान भाजपा सरकार ने कोई भी ठोस कदम नहीं उठाये हैं, बल्कि इनके हितों में पूर्व की बसपा सरकार ने जो भी कार्य शुरू किये थे, उन्हें भी अधिकांश बन्द कर दिया गया है। इनके इस दोहरे चाल-चरित्र से इन वर्गाें को सावधान रहने की सलाह है। 
 मायावती ने उत्तर प्रदेश की सरकार पर किसानों के हितों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा, " भाजपा सरकार पूरे साढ़े चार वर्षों तक यहाँ के किसानों की घोर अनदेखी करती रही व गन्ना का समर्थन मूल्य नहीं बढ़ाया, जिस उपेक्षा की ओर सात सितम्बर को बसपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में मेरे द्वारा इंगित किया गया। अब चुनाव से पहले इनको गन्ना किसान की याद आई है, जो इनके स्वार्थ को दर्शाता है। उन्होंने कहा, " केन्द्र व उत्तर प्रदेश सरकार की किसान-विरोधी नीतियों से पूरा किसान समाज काफी दुःखी व त्रस्त है, लेकिन अब चुनाव से पहले गन्ना का समर्थन मूल्य को थोड़ा सा बढ़ाना खेती-किसानी की मूल समस्या का सही समाधान नहीं। ऐसे में किसान इनके किसी भी बहकावे में आने वाला नहीं है।"

एसएसपी घोड़े पर सवार होकर सड़क पर निकलें

हरिओम उपाध्याय        
गोरखपुर। एसएसपी सवेरे-सवेरे घोड़े पर सवार होकर सड़क पर निकलें। उनके पीछे-पीछे चार अन्य घुड़सवार पुलिसकर्मी भी चल दिए। एसएसपी का अश्व जैसे ही एक चौराहे पर मुड़ा तो साथ चल रहा लाव लश्कर भी उनके पीछे-पीछे हो लिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने सवेरे की सैर करने निकले लोगों को देखा तो उनसे बातचीत करने के लिए घोड़े से नीचे उतर गए। एसएसपी ने सवेरे की सैर करने निकले लोगों से बातचीत करते हुए उनकी समस्याओं का संज्ञान लिया और भरोसा दिलाया कि सवेरे शहर के दौरान उन्हें कोई समस्या नहीं होने दी जाएगी। स्टन्टबाज बाइकर्स के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन ताडा सवेरे-सवेरे घोड़े पर महानगर के हालात जानने के लिए निकल पड़े मॉर्निंग वॉक पर निकले। लोगों ने जब एसएसपी को घोड़े पर सवार होकर सड़क पर घूमते देखा तो वह आश्चर्यचकित रह गए। एसएसपी घोड़े पर आगे-आगे चल रहे थे और उनके पीछे अन्य घुड़सवार पुलिसकर्मी थे। पैडलेगंज से सर्किट हाउस की ओर जाने वाली सड़क पर जैसे ही उनके घोड़े ने टर्न लिया वैसे ही उनके पीछे चल रहे पुलिसकर्मी भी सचेत हो गए। एसएसपी ने पुलिस कर्मियों से बातचीत की और फिर घोड़े को लेकर आगे की तरफ बढ़ गए। अभी एसएसपी कुछ दूर आगे ही चले थे कि उन्हें सवेरे की सैर पर निकले लोग दिखाई दे गए। उन्हें देखते ही एसएसपी घोड़े से नीचे उतरे वहां मौजूद एक पुलिसकर्मी ने उनके घोड़े की लगाम पकड़ ली। एसएसपी ने सैर कर रहे लोगों से बातचीत की और उनसे सवाल किया कि सवेरे के समय सैर करते हुए तुम्हें कोई दिक्कत तो नहीं होती। एक व्यक्ति ने बताया कि कुछ युवक सवेरे की सैर करने वाले लोगों के बीच अपनी बाइक पर सवार होकर पहुंच जाते हैं और स्टंट करने लगते हैं। इस दौरान यह चिंता बनी रहती है कि कहीं बाइक अनियंत्रित होकर किसी के घायल होने का कारण ना बन जाए। एसएसपी ने भरोसा दिलाया की स्टंट करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

किसान संगठनों के 'भारत बंद' का समर्थन किया

हरिओम उपाध्याय          
लखनऊ। नये कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों के भारत बंद का समर्थन करते हुये कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने दावा किया कि उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिये लागू किये गये कृषि कानूनों के विरोध में पूरा देश अन्नदाताओं के साथ खड़ा है।
वाड्रा ने सोमवार को ट्वीट किया " खेत किसान का,मेहनत किसान की, फसल किसान की लेकिन भाजपा सरकार इन पर अपने खरबपति मित्रों का कब्जा जमाने को आतुर है।
उन्होने दावा किया कि पूरा लखनऊ हिंदुस्तान किसानों के साथ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी काले क़ानून को वापस लें।
गौरतलब है कि संयुक्त किसान मोर्चा ने कृषि कानूनों के विरोध में आज भारत बंद का आवाहन किया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ स्थानों को छोड़ कर समूचे राज्य में हालांकि बंद का कोई असर नहीं दिख रहा है।

दर्दनाक: प्रेमी ने गर्लफ्रेंड की आंखों में ग्लू डाला

ब्रासीलिया। ब्राजील में एक शख्स ने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कुछ ऐसा किया कि उसे अस्पताल भर्ती कराना पड़ा। प्रेमी ने गर्लफ्रेंड की आंखों में ग्लू डाल दिया।जिससे उसकी आंखें चिपक गईं और वो दर्द से छटपटाने लगी। पीड़ित महिला को इस बात की चिंता है कि उसकी आंख पहले की तरह ठीक हो पाएंगी या नहीं। हालांकि, अभी ये साफ नहीं हो सका है कि बॉयफ्रेंड ने जानबूझकर ऐसा किया या फिर ये महज एक गलती थी।
‘मिरर’ की रिपोर्ट के अनुसार, चौंकाने वाली ये घटना ब्राजील के कचोइरो डी इतापेमिरिम शहर की है। यहां रहने वालीं रेजिना अमोरम को ग्लूकोमा नाम की आंखों की एक गंभीर बीमारी है। इसके लिए वह रोजाना अपनी आखों में ड्रॉप डालती हैं। एक दिन रेजिना के बॉयफ्रेंड ने उनकी आंखों में आई ड्रॉप की जगह सुपरग्लू डाल दिया, जिससे उनकी दाईं आंख बुरी तरह चिपक गई।
रेजिना अपनी आंखों की दवाएं फ्रिज में रखती हैं। हाल ही में उनके बॉयफ्रेंड ने एक सुपरग्लू की ट्यूब उसी जगह पर रख दी। 
दोनों ट्यूब के एक ही जगह पर होने की वजह से कन्फ्यूजन हो गया और रेजिना को पता ही नहीं चला कि जिसे वो आंखों में डालने जा रही हैं वो सुपरग्लू है। रेजिना आईड्राप के इस्तेमाल के लिए बॉयफ्रेंड की मदद मांगी। इसके बाद बॉयफ्रेंड ने आईड्रॉप की जगह सुपरग्लू की कुछ बूंदें रेजिना की आंखों मे डाल दीं। कुछ ही देर बाद रेजिना को आंखों में तेज जलन के साथ असहनीय दर्द होने लगा।
दरअसल, सुपरग्लू और आईड्रॉप के नाम लगभग एक जैसे थे, इसलिए रेजिना को कुछ अहसास ही नहीं हुआ। आनन-फानन में रेजिना को अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों का कहना है कि ग्लू में केमिकल होता है, इसलिए उन्हें असहनीय पीड़ा हुई। इससे कॉर्निया भी डैमेज हो सकता था। रेजिना ने कहा, ‘घटना वाले दिन पूरी रात मेरी आंखों से पानी बहता रहा। हालांकि, वक्त पर इलाज मिलने के कारण मेरी आंखों की रोशनी जाने से बच गई। हालांकि, आंखों सूजन अभी भी है।

शामली: कृषि मंत्री तोमर ने किसानों से आग्रह किया

हरिओम उपाध्याय      
मुजफ्फरनगर। 5 सितम्बर को मुजफ्फरनगर में हुई महापंचायत में 27 सितम्बर को किसानों ने भारत बंद करने का ऐलान किया गया था। तीन कृषि कानूनों के विरोध में अन्नदाता लगभग 10 महीनों से आंदोलन कर रहा है। आज इन्हीं कानूनों के विरोध में किसानों ने पूरी तरह से गाजीपुर बॉर्डर के साथ पूरे भारत में बंद का असर दिख रहा हैं। बताया जा रहा है कि सिंधु बॉर्डर भी किसानों ने जाम लगा दिया है। इसी बीच केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने किसानों से आग्रह किया है कि सरकार उनसे बातचीत को तैयार है।
तीन कृषि कानून के विरोध में 5 सितम्बर को मुजफ्फरनगर में की गई महापंचायत में भारत बंद का ऐलान किया गया था। आज किसानों ने भारत बंद करना शुरू कर दिया है। इस दौरान किसान विभिन्न क्षेत्रों के हाईवे को जाम करने में लग गये हैं। बताया जा रहा है कि दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने प्रदर्शन को देखते हुए गाजीपुर बॉर्डर पर पर वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। पंजाब और हरियाणा के बीच सिंधु बॉर्डर को भी किसानों ने जाम कर दिया है। किसान काफी महीनों से कृषि कानूनों के विरेाध में आंदोलन कर रहे हैं। कई बार सरकार और किसानों लीडर के बीच वार्ता भी हुई है, लेकिन यह वार्ता सफल नहीं हो पाई है।
जनवरी में किसानों और सरकार के बीच लास्ट बैठक हुई थी। आज इसके विरोध में ही पूरे देश को किसानों ने बंद करने का फैसला लिया था। दिल्ली और गाजीपुर बॉर्डर को किसानों ने पूरी तरह से जाम लगा दिया है। दिल्ली पुलिस ने भारत बंद के ऐलान के पश्चात ही 15 जनपदों की पुलिस को सतर्क कर दिया था। दिल्ली पुलिस ने भारत बंद से पूर्व देश की राजधानी सीमावर्ती क्षेत्रों में गश्त बढ़ा दिया और इसके अलावा कर्मियों को तैनात कर दिया। बताया जा रहा है कि राजधानी में प्रवेश करने वाले हर वाहन की पूरी जांच की जा रही है। बताया जा रहा है किसान शाम चार बजे तक भारत बंद रखेंगे।
उन्होंने कहा कि किसानों की तरफ से बताई गई आपत्ति पर विचार करने के लिये तैयार हैं। इससे पूर्व में भी सरकार और किसानों के बीच वार्ताएं हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि बात बची है तो सरकार उस पर जरूर बात करेगी।

सरकार को सत्ता में बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं

हरिओम उपाध्याय     
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज किसानों के भारत बंद का समर्थन करते हुए कहा है कि दंभी भाजपा सरकार को सत्ता में बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं बचा है।
अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी संयुक्त किसान मोर्चा के भारत बंद का पूर्ण समर्थन करती है। उन्होंने कहा कि देश के अन्नदाता का मान न करने वाली दंभी भाजपा सत्ता में बने रहने का नैतिक अधिकार खो चुकी है।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान आंदोलन भाजपा के अंदर टूटन का कारण बनने लगा है। उन्होंने अपने ट्वीट का अंत करते हुए टैग करते हुए लिखा #भाजपा खत्म।

सीएम धामी ने ज्ञानवाणी चैनल का शुभारंभ किया

पंकज कपूर       
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में ज्ञानवाणी चैनल का वर्चुअल शुभारंभ किया।
मुख्यमंत्री ने कहा की राज्य में छात्र-छात्राओं को ऑनलाईन शिक्षण अधिगम से लगातार जोड़े रखने हेतु उत्तराखण्ड राज्य शिक्षा विभाग और जियो ने मिलकर नए ऑनलाईन एजुकेशन चैनल ज्ञानवाणी-1 और ज्ञानवाणी-2 का शुभारंभ एक अच्छा प्रयास है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाय कि बच्चों को ऑनलाइन शिक्षण के उद्देश्य से शुरू किए गए एजुकेशन चैनल ज्ञानवाणी का लाभ प्रदेश के सभी बच्चों को मिले। ज्ञानवाणी चैनल की सार्थकता तभी होगी जब समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्तियों तक इसका लाभ पहुंचे। उन्होंने कहा की बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास में स्कूलों की महत्वपूर्ण भूमिका होती होती है। कोरोना काल में ऑनलाइन शिक्षण के लिए अनेक सराहनीय प्रयास किए गए। स्कूलों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सभी शैक्षणिक गतिविधियां चल रही है।
शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने कहा कि कोविड के दौरान ऑनलाइन शिक्षण का प्रचलन शुरू हुआ। आज ऑनलाइन माध्यम से अनेक शैक्षणिक गतिविधियां की जा रही है। उन्होंने सुझाव दिया कि ज्ञानवाणी चैनल के माध्यम से पीएम ई विद्या के कंटेंट को भी शामिल किया जाय। जो पूर्णतः एनसीईआरटी पाठ्यक्रम पर आधारित है।
शिक्षा सचिव राधिका झा ने कहा कि ऑफलाइन शिक्षण के साथ ही बच्चों को ऑनलाइन माध्यम से ही शैक्षणिक गतिविधियों से जोड़ने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। ज्ञानवाणी- 1 प्राथमिक कक्षाओं एवं ज्ञानवाणी- 2 माध्यमिक कक्षाओं के लिए चलाया जा रहा है।
मुख्य कार्यकारी अधिकारी जियो विशाल अग्रवाल ने कहा कि समग्र शिक्षा अभियान से जुड़े सभी एनजीओ भी शिक्षा विभाग के माध्यम से ज्ञानवाणी में कंटेंट का प्रसारण कर सकते हैं। उन्होंने बताया की जल्द ही धारचूला में जियो की 4जी कनेक्टिविटी शुरू की जाएगी।
इस अवसर पर शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी, मुख्य शिक्षा अधिकारी देहरादून डॉ. मुकुल सती, जियो के स्टेट कॉर्डिनेटर दीपक सिंह एवं वर्चुअल माध्यम से सभी मुख्य शिक्षाधिकारी एवं प्रधानाचार्य मौजूद थे।

सीएम ने फैसला लेते हुए लाखों लोगों को राहत दी

पंकज कपूर      
देहरादून। धामी सरकार ने आज बड़ा फैसला लेते हुए लाखों लोगों को राहत दी है। अब सेवा का अधिकार अधिनियम, 2011 के अन्तर्गत अधिसूचित सेवा आय प्रमाण पत्र की वैधता अवधि 06 माह के स्थान पर 01 वर्ष बढ़ाये जाने के आदेश जारी कर दिए गए है ।बता दे कि उत्तराखंड के लोगों लो आय प्रमाण पत्र को लेकर कठिनाईयों बक सामना करना पड़ रहा है। जिलाधिकारियों द्वारा आय प्रमाण पत्र की वैधता अवधि 06 माह के स्थान पर एक वर्ष किये जाने की संस्तुति करते हुए कार्यवाही का अनुरोध किया गया है। देखिये आदेश। 

'भारत बंद': 25 ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुईं

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ विभिन्न किसान यूनियन द्वारा आहूत ‘भारत बंद’ के कारण सोमवार को करीब 25 ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई। उत्तर रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा, ”दिल्ली, अंबाला और फिरोजपुर संभागों में 20 से अधिक स्थानों पर जाम हैं।
इसके कारण करीब 25 ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई है।” अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली-अमृतसर शान-ए-पंजाब, नई दिल्ली-मोगा एक्सप्रेस, नई दिल्ली से कटरा जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस और अमृतसर शताब्दी आदि प्रभावित ट्रेनों में शामिल हैं। किसान संगठनों ने तीन कृषि कानूनों के पारित होने के एक साल पूरा होने पर सोमवार को भारत बंद का आह्वान किया है। बंद सुबह छह बजे से शाम चार बजे तक प्रभावी रहेगा।



स्वास्थ्य सुविधाओं का बुनियादी ढांचा तैयार किया

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीबों, मध्यमवर्ग और महिलाओं को सस्ता और बेहतर इलाज उपलब्ध कराने की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए सोमवार को कहा कि देश में एक समावेशी और समग्र स्वास्थ्य सुविधाओं का मजबूत बुनियादी ढांचा तैयार किया जा रहा है।
मोदी ने आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की तीसरी वर्षगांठ पर एक ऑनलाइन कार्यक्रम में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का लोकार्पण करते हुए कहा कि इससे देश भर की स्वास्थ्य सुविधाएं, अस्पताल, चिकित्सक, फार्मेसी, दवा की दुकान और मरीज एक प्लेटफार्म पर उपलब्ध होंगे।
प्लेटफार्म से देश के दूरदराज के हिस्सों में भी नागरिकों को वरिष्ठ चिकित्सकों और विशेषज्ञों से परामर्श मिल सकेगा। प्रधानमंत्री ने जन औषधि, आयुष्मान भारत, डिजिटल लेनदेन, ई-संजीवनी, टेलीमेडिसिन का उल्लेख करते हुए कहा कि देश में पिछले छह सात साल के के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने का काम चल रहा है।
सरकार जल्दी ही नई स्वास्थ्य नीति लेकर आएगी। यह नीति पूरी तरह से समावेशी और समग्र होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान सरकार की योजनाओं से करोडों लोगों को लाभ हुआ है। प्रधानमंत्री ने आरोग्य और केविन एप का उल्लेख करते हुए कहा कि पूरी दुनिया में स्वास्थ्य सुविधाओं का इतना बुनियादी ढांचा कहीं मौजूद नहीं है।
इन दोनों एप की बदौलत लोगों को कोरोना महामारी के बारे में जागरूक करने और महामारी को नियंत्रित करने में मदद मिली है। उन्होंने कहा कि कोरोना टीकाकरण में कोविन एप का महत्वपूर्ण योगदान है जिसे पूरी दुनिया स्वीकार कर रही है।
इस कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया, केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और कई राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री तथा केंद्र और राज्यों के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर आयुष्मान भारत के सफलताओं और उपलब्धियों पर एक वीडियो फिल्म और एक कॉफी टेबल बुक का भी लोकार्पण किया।

मर्केल की विदाई पर लोगों की प्रतिक्रिया मिलीं

बर्लिन। जर्मनी के मतदाता एक चुनाव में नई संसद का चयन कर रहे हैं जो यह निर्धारित करेगा कि यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के सर्वोच्च पद पर 16 साल तक काबिज रहीं चांसलर एंजेला मर्केल का उत्तराधिकारी कौन होगा। मर्केल की विदाई को लेकर लोगों की मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है। रविवार को वोटिंग में मर्केल के मध्य-दक्षिणपंथी दल यूनियन ब्लॉक और मध्य-वामपंथी दल सोशल डेमोक्रेट्स के बीच बेहद नजदीकी मुकाबला हुआ। सुबह 8 बजे वोटिंग शुरू हो गई, जो शाम 6 बजे तक चली और 40 फीसदी लोगों ने मतदान किया। 2017 के मुकाबले पोस्टल वोटिंग की ये संख्या ज्यादा है।
यूनियन ब्लॉक की ओर से आर्मिन लास्केट चांसलर पद की दौड़ में हैं। वहीं दूसरे दल की ओर से निवर्तमान वित्त मंत्री एवं वाइस चांसलर ओलाफ स्कोल्ज उम्मीदवार हैं। हाल के सर्वेक्षणों में सोशल डेमोक्रेट्स को मामूली रूप से आगे दिखाया गया है। करीब 8.3 करोड़ लोगों की आबादी वाले देश में लगभग 6.04 करोड़ लोग संसद के निचले सदन के सदस्यों को चुनने की पात्रता रखते हैं। ये सदस्य बाद में सरकार के प्रमुख को चुनते हैं। किसी भी पार्टी के स्पष्ट बहुमत के इर्द-गिर्द पहुंचने की उम्मीद नहीं है। कई बड़े संकटों के बीच जर्मनी को चलाने के लिए मर्केल ने प्रशंसा हासिल की है। उनके उत्तराधिकारी को कोरोनो वायरस महामारी से पार पाना होगा, जिसका अब तक जर्मनी ने बड़े बचाव कार्यक्रमों के जरिए रिलेटिवली अच्छे तरीके से सामना किया है। बर्लिन में सामाजिक कार्यकर्ता वीबके बर्गमैन (48) ने कहा कि मर्केल की विदाई ने इस चुनाव को बेहद खास बना दिया है। उन्होंने कहा, ‘मैंने बहुत सोचा कि मेरे हिसाब से कौन सा उम्मीदवार अगला चांसलर होना चाहिए। सुबह तक मैं अपना मन नहीं बना पाया था। सच कहूं तो तीनों में से किसी ने मुझे प्रभावित नहीं किया. तीनों अच्छे इंसान प्रतीत होते हैं, लेकिन मुझे यकीन नहीं है कि इनमें से कोई अगले चांसलर के तौर पर अच्छा काम कर सकता है। वामपंथ का गढ़ माने जाने वाले राजधानी के क्रेउजबर्ग जिले में, जैन केम्पर (41) एक ऑनलाइन बैंक में मैनेजर हैं। वह कहते हैं कि उनके लिए जलवायु परिवर्तन और जर्मनी के डिजिटलीकरण की धीमी गति मुख्य चिंताएं हैं। उन्होंने मर्केल की प्रबंधन शैली की तारीफ की, लेकिन कहा कि कई प्रमुख मुद्दे अभी बाकी हैं।

कोतवाली सेक्टर-39 में एफआईआर दर्ज कराई

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के फर्जी सिग्नेचर बनाकर धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। आरोप है कि दिल्ली की परमहंस कंपनी ने शेयर होल्डर बनाकर अपने कागजातों में मंत्री का नाम दिखाया है। इस मामले में सिद्धार्थ नाथ सिंह ने नोएडा की कोतवाली सेक्टर-39 में एफआईआर दर्ज कराई है और कहा है कि इस कंपनी से उनका कोई लेना-देना नहीं है।
बता दें कि सिद्धार्थनाथ सिंह का मकान नोएडा के सेक्टर 41 के सी ब्लॉक में मौजूद है। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले एक मीडिया हाउस की तरफ से उन्हें ईमेल मिला था इसमें उनसे जानकारी मांगी गई कि परमहंस टेक्नोलॉजी कंपनी जिसका रजिस्टर्ड पता जोर बाग दिल्ली का है इस कंपनी में वह भी शेयर होल्डर हैं। जबकि इस कंपनी के संचालक हरिमोहन हैं जो भारतीय मूल के ब्रिटिश नागरिक बताए जा रहे हैं।एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि कंपनी के बारे में सीए के माध्यम से पता कराया गया तो खुलासा हुआ कि मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के फर्जी हस्ताक्षर कर उन्हें शेयर होल्डर बनाया गया है। कंपनी के रजिस्ट्रेशन व शेयर होल्डिंग के संबंध में दस्तावेज व बैंक लेनदेन से इस फर्जीवाड़े का पता चला।
पुलिस को भी इस बात की आशंका है कि फर्जी दस्तावेज से कंपनी का शेयर होल्डर दिखाकर कैबिनेट मंत्री के साथ धोखाधड़ी की गई है। इस मामले में कोतवाली सेक्टर-39 पुलिस ने परमहंस कंपनी व हरिमोहन के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है। एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

मोनालिसा ने रेड साड़ी में अपनी नई तस्वीरें शेयर की

कविता गर्ग      
मुबंई। भोजपुरी एक्ट्रेस मोनालिसा सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। वह अपनी फोटोज की वजह से काफी सुर्खियों में रहती हैं। अब मोनालिसा ने रेड साड़ी में अपनी नई तस्वीरें शेयर की हैं जिसमें उनका हॉट अंदाज नजर आ रहा है। रेड साड़ी के साथ रेड बिंदी में मोनालिसा को देखकर आप भी अपने नजरें नहीं हटा पाएंगे।
इन फोटोज को शेयर करने के साथ मोनालिसा ने लिखा, रेड अलर्ट। इसके साथ ही हैशटैग में मोनालिसा ने लिखा, जल्द ही कुछ आने वाला है। इसके साथ ही मोनालिसा ने लिखा, अनकही दास्तां। शायद मोनालिसा नए प्रोजेक्ट में नजर आने वाली हैं। जिसका नाम होगा अनकही दास्तां।
मोनालिसा लास्ट शो नमक इश्क का में नजर आई थीं। इस शो में मोनालिसा के किरदार को काफी पसंद किया गया था।
मोनालिसा की फिल्मों की बात करें तो वह लास्ट भोजपुरी फिल्म बदला हिंदुस्तानी का में नजर आई थीं।

एमपी: 10 वर्षीय छात्र की मौंत, गुत्थी सुलझाईं

मनोज सिंह ठाकुर     
ग्वालियर। ग्वालियर के बड़ागांव खुरैरी में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। करीब एक माह पहले जहर से हुई 10 साल के छात्र की मौत की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस की जांच में सामने आया है कि मासूम बच्चे को उसकी ही सौतेली मां  ने खाने में जहर दिया था। इसके बाद बच्चे की हालत बिगड़ी और अस्पताल में तड़पते हुए उसने दम तोड़ दिया।
ग्वालियर के बड़ागांव खुरैरी में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है।  करीब एक माह पहले जहर से हुई 10 साल के छात्र की मौत की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस की जांच में सामने आया है कि मासूम बच्चे को उसकी ही सौतेली मां  ने खाने में जहर दिया था। इसके बाद बच्चे की हालत बिगड़ी और अस्पताल में तड़पते हुए उसने दम तोड़ दिया।
हत्या को एक घटना का रूप दिया गया था, लेकिन डॉक्टर की रिपोर्ट और पुलिस की सही दिशा में जांच से पूरा मामला खुल गया है। पुलिस को बच्चे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आज मिलेगी। सौतेली मां ने पुलिस के सामने जहर देना कुबूल कर लिया है। जहर की पुड़ियां भी बरामद हो गई है।
पुलिस के अनुसार उपनगर मुरार के बड़ागांव खुरैरी निवासी राजू मिर्धा के 10 साल का बेटे नितिन मिर्धा की 24 अगस्त को खाना खाने के बाद अचानक तबीयत खराब हो गई। वह बार-बार उल्टी कर रहा था। गंभीर हालत में उसे अस्पताल में भर्ती किया गया।  जहां उसने उपचार के दौरान तड़पते हुए दम तोड़ दिया। डॉक्टर ने बच्चे के शरीर में गहरा जहर होने की पुष्टि की थी।
जब पुलिस ने बच्चे की मौत पर मर्ग कायम कर उनके परिजन से पूछताछ शुरू की तो कुछ बयान निकलकर सामने आए। इसके बाद पता लगा कि मृतक नितिन को उसकी पहली मां की मौत के बाद एफडी के 18 लाख रुपए मिले थे। पिता ने नितिन के नाम से एफडी कर दिया था। जूली उसमें से कुछ रुपये मांग रही थी, लेकिन पति ने देने से मना कर दिया था। 
राजू की दूसरी पत्नी और नितिन की सौतेली मां जूली ने आशंका जताई थी कि नितिन ने खाने में कुछ जहरीला पदार्थ खा लिया है। पर डॉक्टरों का कहना था कि ऐसा जहर नहीं है जो आमतौर पर खाने में आया हो. यह बहुत तेज जहर है। इसके बाद पुलिस ने शव को निगरानी में लेकर पोस्टमार्टम कराया था। मामले में पुलिस ने पड़ताल शुरू की तो बार-बार संदेह की सुई मृतक की सौतेली मां जूली पर ही आ रही थी।
पुलिस के अनुसार 18 लाख में से एक पैसा न मिलने के कारण उसे सौतेला बेटा अखर रहा था। घटना वाले दिन उसने उसे प्यार से खाना खिलाया और उसमें जहर मिला दिया। उसकी योजना उसकी मौत को एक हादसा या खुदकुशी दिखाने की थी। जब पुलिस ने सौतेली मां को थाने लाकर कड़ाई के साथ पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है। 

अभियान के अंतर्गत पुलिस टीम को कामयाबी मिली

हरिओम उपाध्याय       
शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के खुदागंज में अभियान के अंतर्गत पुलिस टीम को एक बड़ी कामयाबी मिली है। जिसके चलते छेड़छाड़ के आरोपी को गांव के ही एक घने जंगल के मध्य में असलाह फैक्ट्री के साथ दबोच लिया।
शाहजहांपुर के खुदागंज में पुलिस अधीक्षक शाहजहांपुर एस आनंद के निर्देशानुसार अपराध की रोकथाम हेतु अवैध शस्त्र का कारोबार करने वाले क्रियाशील एवं चिन्हित अपराधियों की गिरफ्तारी एवं अपराध की रोकथाम के लिए एक अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के अंतर्गत पुलिस अधीक्षक ग्रामीण तथा क्षेत्राधिकारी तिलहर परमानंद पांडे के निर्देशन में थानाध्यक्ष खुदागंज वकार अहमद खान तथा उनकी पुलिस टीम को रात्रि में लगभग 1:30 बजे एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी।
जब छेड़छाड़ के आरोपी के विरुद्ध खुदागंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव दतौनिया निवासी पप्पू पुत्र रामस्वरूप को गांव के ही एक घने जंगल के मध्य में असलाह फैक्ट्री के साथ दबोच लिया। जानकारी के मुताबिक उपरोक्त पप्पू के विरुद्ध गांव की ही एक युवती ने छेड़छाड़ करने के संबंध में रविवार को थाना खुदागंज में एक शिकायती पत्र दिया था। आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस ने दबिश भी दी थी परंतु आरोपी पप्पू दबिश के दौरान अपने घर नहीं मिला। जिसके उपरांत पुलिस ने उसकी खोजबीन शुरू कर दी थी।
थानाध्यक्ष वकार अहमद खान अपनी पुलिस टीम के साथ जब मुखबिर की सूचना पर आरोपी युवक के विरुद्ध छेड़छाड़ एवं पास्को एक्ट के तहत तलाश में गांव में पहुंची तो बेहद जंगल के मध्य सुनील की कोठी में अभियुक्त पप्पू पुत्र रामस्वरूप को एक अवैध असलाह फैक्ट्री के साथ रात्रि में लगभग 1:30 पर गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी के पास से मौके पर भारी मात्रा में निर्मित अवैध असलाह तथा असलहा बनाने के उपकरण बरामद हुए हैं। इस संबंध में थाना खुदागंज पुलिस ने कार्यवाही करते हुए धारा 3/5/25 ए एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया।
वहीं, आरोपी युवक पर 1 दिन पूर्व ही छेड़छाड़ संबंधित मुकदमा लिखा गया था जिसमें वह पुलिस के साथ 24 घंटे तक आंख मिचौली का खेल खेलता रहा। आरोपी युवक के पास से दो तमंचा 12 बोर,एक रिवाल्वर चालू हालत में,दो तमंचा 315 बोर अधबने,एक मशीन तथा बर्मा नौ छोटी बड़ी नाल,आरी आदि पुलिस ने अवैध असलाह बनाने के उपकरण भी बरामद किए हैं।
गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में थाना अध्यक्ष वकार अहमद खान,उप निरीक्षक सतीश कुमार,उप निरीक्षक राजपाल सिंह,कांस्टेबल पुष्पेंद्र कुमार,कांस्टेबल बालेश्वर सिंह,कांस्टेबल विशाल कुमार,कांस्टेबल दीपक पवार,कांस्टेबल अंकित कुमार,कांस्टेबल शाहरुख हसन आदि लोग शामिल रहे।

यूपी: एक दिवसीय दौरा करेंगे डिप्टी सीएम केशव

हरिओम उपाध्याय      
उन्नाव। उन्नाव में आज डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य एक दिवसीय दौरा करेंगे। जिसमें वह विधानसभा चुनाव से पहले हुंकार भरेंगे। जिसको लेकर जिला प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य निराला प्रेक्षाग्रह में लगभग सवा 12 बजे पहुंचेंगे।
वहां डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। इसके साथ ही पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। दोपहर में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य लगभग पौने 2 बजे पत्रकारों के साथ प्रेसवार्ता करेंगे।
जानकारी के अनुसार उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य प्रशासनिक और विभागीय अधिकारियों के साथ विकास भवन में बैठक करेंगे। वहीं घोषित कार्यक्रम के तहत डिप्टी सीएम निर्माणाधीन परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण कर सकते हैं।
वहीं इस खास दौरे को देखते हुए निराला प्रेक्षागृह में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का भी जायजा लिया है। डीएम रवींद्र कुमार, एसपी अविनाश पांडेय, सीडीओ दिव्यांशु पटेल, सिटी मजिस्ट्रेट चन्दन पटेल, सीओ सिटी कृपा शंकर ने तैयारियों की जांच की।
अपर जिलाधिकारी राकेश कुमार ने बताया की आज डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के दौरे को देखते हुए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। वह 11 बजे लखनऊ से प्रस्थान करेंगे और लगभग सवा 12 बजे तक उन्नाव के निरालाप्रेक्षा ग्रह कार्यक्रम स्थल पर पहुचेंगे। यहां पर कार्यक्रम की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

दुकान खोले जाने पर हिंदूवादी संगठनों की आपत्ति

पंकज कपूर            
देहरादून। लालकुआ क्षेत्र में मंगलवार को मीट मछली एवं हेयर कटिंग की दुकान खोले जाने पर हिंदूवादी संगठनों ने कड़ी आपत्ति जताई है। वही नाराज कार्यकर्ताओं ने कोतवाल संजय कुमार को ज्ञापन सौंपकर मंगलवार को मीट एंव हेयर काटिंग कि दुकान पूरी तरह बंद करने की मांग की है। मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।
यहां उत्तराखंड भगवा रक्षा वाहिनी के कुमाऊ मडल सदस्यता प्रभारी नवीन पंत नाभादास के नेतृत्व में दर्जनों कार्यकर्ता सोमवार को कोतवाली पहुंचे यहां उन्होंने मौजूद कोतवाल संजय कुमार को एक ज्ञापन सौंपा ।
इधर कार्यकर्ताओं का कहना है कि मंगलवार को कुछ मीट एंव हेयर काटिंग के व्यावसायी छोरी-छिपे दुकान खोल रहे हैं जो नियम के विवरित है पूर्व में भी क्षेत्र के हिन्दूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओ ने ऐसे दुकानदारों को पकड़ा है इसके बावजूद उक्त दुकानदार नहीं मान रहे हैं इससे शहर की फिंजा खराब हो रही है।
उन्होंने ऐसे दुकानदारों की दुकान को सील करने की मांग की है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि कोतवाली पुलिस ने उनकी अनदेखी की तो वह खुद ही मंगलवार को मीट की दुकानें बंद करने को बाध्य होंगे जिसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन कि होगी।इधर कोतवाल संजय कुमार ने उन्हें उचित कारवाई का आश्वासन दिया है।
वही ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से हिन्दूवादी नेता नवीन पंत नाभा दास ,हिमांशु जोशी ,खीमा, कपिल ,भूपेंद्र कफल्टिया, नीरज गोस्वामी, दीपक गोस्वामी, कैलाश जोशी, देवेश गौरव मौजूद थे।


कुख्यात देश की राजनीति के लिए एक बड़ा कदम

टोक्यो। जापान का अगला प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में शामिल चार उम्मीदवारों में से दो महिलाओं का होना लैंगिक भेदभाव के कारण कुख्यात देश की राजनीति के लिए एक बड़ा कदम होगा। साने ताकाइची और सेको नोडा पिछले 13 साल में देश की पहली महिलाएं हैं, जिन्होंने प्रधानमंत्री पद के चुनाव में सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) के नेतृत्व के लिए अपनी दावेदारी पेश की है। यह चुनाव बुधवार को होगा।
विजेता का अगला प्रधानमंत्री बनना निश्चित है, क्योंकि एलडीपी और इसके गठबंधन साझेदारों के पास संसदीय बहुमत है। भले ही ये दोनों महिला नेता एलडीपी सदस्य हैं, लेकिन वे कई तरीकों से राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी हैं। अति-रूढ़िवादी ताकाइची एक तरह के पितृसत्तात्मक राष्ट्रवाद और एक मजबूत सेना की वकालत करती हैं, जबकि उदारवादी नोडा महिलाओं की उन्नति और लैंगिक विविधता की समर्थक हैं।
ओसाका यूनिवर्सिटी ऑफ आर्ट्स में समाज एवं राजनीति में महिलाओं की भूमिकाओं के विषय की विशेषज्ञ मायूमी तानिगुची ने कहा कि जापान की राजनीति में महिलाओं की संख्या बहुत कम है। उनके पास राजनीति में बने रहने और सफल होने के तरीकों के सीमित विकल्प हैं। वे पुरुषों के समूह की राजनीति का मुकाबला कर सकती हैं या वे उनके प्रति वफादार रह सकती हैं।
उन्होंने कहा कि ताकाइची ने स्पष्ट रूप से पुरुषों के प्रति वफादारी को चुना, जबकि नोडा मुख्यधारा से परे जाकर किंतु टकराव के बिना काम करती प्रतीत होती हैं और ‘वे दोनों एक दूसरे से काफी अलग हैं’। निवर्तमान प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा का उत्तराधिकारी बनने के लिए इन महिलाओं के सामने टीकाकरण मंत्री तारो कोनो और पूर्व विदेश मंत्री फुमिओ किशिदा की चुनौती है।
कोनो और किशिदा को दमदार उम्मीदवार माना जा रहा है। ये दोनों ही जाने-माने राजनीतिक परिवारों से संबंध रखते हैं और पार्टी के शक्तिशाली धड़ों से संबंधित हैं, लेकिन कुछ लोग ताकाइची को तेजी से उभरती उम्मीदवार के तौर पर देख रहे हैं, जिन्हें पूर्व नेता शिंजो आबे का समर्थन प्राप्त है।
पार्टी सांसदों को लेकर किया गया मीडिया का ताजा सर्वेक्षण दर्शाता है कि उन्हें पार्टी के रूढ़िवादियों का समर्थन मिलना आरंभ हो गया है, जबकि नोडा चौथे स्थान पर हैं। इससे पहले जापान में एकमात्र महिला उम्मीदवार युरिको कोइके थीं, जो 2008 के चुनाव में उम्मीदवार थीं।
वह इस समय तोक्यो की गवर्नर हैं। हालांकि ताकाइची या नोडा के प्रधानमंत्री बनने की संभावना कम है, लेकिन शीर्ष पद के लिए दो महिलाओं का यह प्रयास सत्तारूढ़ दल के लिए प्रगति माना जा रहा है। कुछ विशेषज्ञों ने ताकाइची की लैंगिक भेदभाव वाली नीतियों की आलोचना की है। सोफिया विश्वविद्यालय में राजनीति विज्ञान की प्रोफेसर मारी मिउरा ने कहा कि ‘अगर वह जीत जाती हैं तो वह महिलाओं की प्रगति को बढ़ावा नहीं देंगी।
विश्व आर्थिक मंच द्वारा लैंगिक भेदभाव को लेकर 2021 में किए गए 156 देशों के सर्वेक्षण में जापान उन्नत देशों के समूह ‘ग्रुप ऑफ सेवन्स’ में सबसे निचले स्थान पर रहा है। जापान की संसद में महिलाओं की संख्या केवल 10 प्रतिशत है और विश्लेषकों का कहना है कि कई महिलाएं लैंगिक समानता की वकालत करने के बजाय पार्टी के प्रति वफादारी दिखाकर आगे बढ़ने की कोशिश करती हैं।

5 पैसे की गिरावट के साथ 73.73 पर आया रुपया

कविता गर्ग       
मुंबई। बैंकों और आयातकों में अमेरिकी डॉलर की नई मांग की वजह से सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान भारतीय रुपया उसके मुकाबले पांच पैसे की गिरावट के साथ 73.73 पर आ गया। हालांकि घरेलू शेयर बाजारों में निरंतर तेजी तथा अमेरिकी डॉलर के दूसरी वैश्विक मुद्राओं के मुकाबले कमजोर होने से रुपये को कुछ मदद मिली एवं उसमें और गिरावट थम गयी।
अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले कमजोर रुख के साथ 73.70 पर खुला, और शुरुआती कारोबार में 73.73 तक गिर गया, जो पिछले बंद भाव से पांच पैसे की गिरावट को दर्शाता है। रुपया शुक्रवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 73.68 पर बंद हुआ था।
इसबीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.11 प्रतिशत गिरकर 93.22 पर पहुंच गया। घरेलू शेयर बाजार के मोर्चे पर, बीएसई सेंसेक्स 114.73 अंक या 0.19 प्रतिशत बढ़कर 60,163.20 पर कारोबार कर रहा था।
इसी तरह एनएसई निफ्टी 23.25 अंक या 0.13 प्रतिशत की तेजी के साथ 17,876.45 पर कारोबार कर रहा था। वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 1.19 प्रतिशत बढ़कर 79 डॉलर प्रति बैरल पर था। विदेशी संस्थागत निवेशक शुक्रवार को पूंजी बाजार में शुद्ध खरीदार थे और शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार उन्होंने 442.49 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-408 (साल-02)
2. मंगलवार, सितंबर 28, 2021
3. शक-1984,सावन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त 06:13।
5. न्‍यूनतम तापमान -26 डी.सै., अधिकतम-33+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया आदर्श श्रीवास्तव लखीमपुर खीरी। अपनी बदहाली सेे लडता किसान गणतंत्र की गहरी खाई में जा पहुंचा हैं। मध-म...