रविवार, 28 जून 2020

अपने खराब दौर से गुजर रहा है 'ईरान'

तेहरान। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि ‘ईरान इस वक़्त अपने सबसे ख़राब दौर से गुज़र रहा है। इसकी वजह उन्होंने कोविड-19 महामारी और अमरीका द्वारा लगाये गए कड़े प्रतिबंधों को बताया है। उन्होंने कहा है कि "महामारी ने उनकी अर्थव्यवस्था के सामने बहुत सी चुनौतियाँ खड़ी कर दी हैं जिनसे पार पाना अमरीकी प्रतिबंधों के कारण और भी मुश्किल हो गया है। रविवार को ईरान में टीवी पर प्रसारित हुए अपने भाषण में रूहानी ने कहा, “दुश्मन देश द्वारा बनाये गए आर्थिक दबाव और महामारी के कारण ये वर्ष ईरान के लिए सबसे मुश्किल समय है। उन्होंने कहा, “साल 2018 में बनना शुरू हुआ आर्थिक दबाव अब बढ़ गया है... और मौजूदा समय हमारे देश के लिए सबसे कठिन समय है। चीन के बाद और यूरोप से पहले, कोरोना वायरस महामारी ने ईरान को बुरी तरह प्रभावित किया था। रविवार को ईरान के स्वास्थ्य विभाग की प्रवक्ता सिमा सादत लारी ने बताया में ईरान में अब तक कोरोना संक्रमण के दो लाख 22 हज़ार 669 केस दर्ज किये गए हैं और दस हज़ार से ज़्यादा लोगों की कोविड-19 से मौत हुई है। हसन रूहानी ने कहा है कि अगले रविवार से ईरान में भीड़भाड़ वाली जगहों और चिन्हित किये गए रेड ज़ोन में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया जाएगा। वर्ष 2018 में अमरीका ने ईरान न्यूक्लियर डील से हाथ खींच लिए थे और फिर से ईरान पर कई प्रतिबंध लगा दिये थे। बीते सोमवार को ईरान की करेंसी अमरीकी डॉलर की तुलना में अपने सबसे निचले स्तर तक गिर गई थी।


'कालापानी' पर क्यों दावा कर रहा नेपाल

काठमांडू। नवम्बर 1814 से मार्च 1816 तक नेपाल (जिसे उस समय गोरखा अधिराज्य कहा जाता था) और भारत पर शासन कर रही ईस्ट इंडिया कंपनी के बीच युद्ध चला जिसमें नेपाल को पराजय का सामना करना पड़ा। 4 मार्च 1816 को सम्पन्न सुगौली संधि के साथ इस युद्ध का समापन हुआ और संधि के फलस्वरूप नेपाल को अपने एक तिहाई हिस्से से हाथ धोना पड़ा। संधि से पहले तक जो नेपाल का भू-भाग था वह ब्रिटिश भारत में शामिल कर लिया गया। नेपाल, जो कभी किसी का उपनिवेश नहीं रहा, अब भी एक स्वतंत्र राष्ट्र तो था लेकिन संधि के अनुसार काठमांडो में स्थायी तौर पर एक ब्रिटिश रेजिडेंट की नियुक्ति हुई और ब्रिटिश सेना के लिए गोरखा सैनिकों की भर्ती की प्रथा शुरू हुई। वैसे भी ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी का मक़सद तिब्बत तक व्यापार के लिए रास्ता तैयार करना था।


सुगौली संधि की धारा 5 के अनुसार महाकाली नदी के पूर्व का क्षेत्र नेपाल के हिस्से में आया और इसके पश्चिम का सारा क्षेत्र ब्रिटिश भारत में मिल गया। इस संधि में लिंपियाधारा को महाकाली नदी का स्रोत बताया गया है। कालापानी और लीपुलेख महाकाली नदी के पूर्व में हैं जिसके आधार पर नेपाल इस पर अपना दावा करता है।


कालापानी में भारतीय सैनिक कब और कैसे पहुँचे, इसका किसी के पास ठोस रूप से कोई जवाब नहीं है। नेपाल के सीमा विशेषज्ञ और ‘भू सर्वेक्षण विभाग’ के पूर्व डायरेक्टर जनरल बुद्धि नारायण श्रेष्ठ का अनुमान है ‘1962 में भारत और चीन के बीच युद्ध होने के बाद जब चीनी सेनाओं ने भारतीय सैनिकों को पीछे खदेड़ना शुरू किया तो वे कालापानी तक पहुँचे। उन्होंने देखा की सामरिक दृष्टि से यह स्थान बहुत महत्वपूर्ण है और फिर उन्होंने यहाँ एक सैनिक अड्डा स्थापित कर लिया ताकि अगर चीन दोबारा हमला करे तो वे मुक़ाबला कर सकें। यह स्थान थोड़ी ऊँचाई पर था जहाँ से चीनी सैनिकों पर निगरानी रखी जा सकती थी।’



लंबे समय तक नेपाल के लोगों का ध्यान कालापानी और वहाँ स्थित भारतीय सैनिक अड्डे पर नहीं गया क्योंकि 1991 के बाद से ही कालापानी की चर्चा सुनने को मिलती है। इसकी दो वजहें समझ में आती हैं। एक तो यह कि सुदूर पश्चिमी नेपाल का यह हिस्सा अत्यंत दुर्गम था और वहाँ तक पहुँचने के लिए कोई साधन नहीं था। महेंद्र राजमार्ग बनने के बाद ही सुदूर पश्चिम का काठमांडो तथा अन्य हिस्सों के साथ सहज संपर्क कायम हो सका। दूसरी वजह नेपाल की निरंकुश पंचायती व्यवस्था थी जिसमें राजा ही सर्वोपरि था और जनता की आवाज़ का कोई अर्थ नहीं था। राजकाज के मसलों से काफ़ी हद तक लोग उदासीन रहते थे। 1990-91 में लंबे जन आंदोलन के बाद जब बहुदलीय व्यवस्था और संवैधानिक राजतंत्र की स्थापना हुई, इसके बाद ही लोग ज़्यादा मुखर हो सके।


दवाओं की आपूर्ति के लिए तैयार 'रूस'

माॅस्को। रूस कोरोना वायरस की महामारी के दूसरे दौर के खतरे के मद्देनजर इसके संक्रमितों के इलाज में काम आने वाली दवाओं की अंतरराष्ट्रीय बाजार में आपूर्ति के लिए तैयार है। स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराशको ने रविवार को यह जानकारी दी।


श्री मुरास्को ने एक ऑनलाइन हेल्थ केयर इवेंट में कहा, “ कोरोना की महामारी के दूसरे दौर के खतरे के मद्देनजर रूस अंतरराष्ट्रीय बाजार में हाइपरसिटोकानिमिया के उपचार में काम आने वाली दवा, टेस्ट किट तथा अन्य संक्रमण रोधी दवाओं की आपूर्ति के लिए तैयार है।


रूस पर छेड़छाड़ करने के लगे आरोप

मास्को। इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी (आईओसी) वाडा के समर्थन में उतर आया है। व्हाइट हाउस ने रूस के डोपिंग मामले में वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा) के पूरी तरह से फेला ने का आरोप लगाया था। इसके अलावा उसने सालाना फंडिंग रोकने की बात कही थी। रूस पर एथलीट के सैंपल के साथ छेड़छाड़ के आरोप लगे हैं। अमेरिका वाडा को बतौर फंड 20 करोड़ रुपए देता है। यह एक देश के तौर पर दी जाने वाली सबसे ज्यादा राशि है। वाडा का वार्षिक बजट लगभग 282 करोड़ का है। इसका 50% खर्च आईओसी उठाता है। अमेरिका की रिपोर्ट में यह भी दावा किया है कि हमें बजट के अनुरूप वाडा से कोई सपोर्ट नहीं मिल रहा है। रिपोर्ट गलत धारणाओं और झूठ पर आधारित
इस रिपोर्ट पर वाडा ने कहा कि यह रिपोर्ट गलत धारणाओं और झूठ पर आधारित है। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि बिना उचित कारण के वाडा को बदनाम करने के लिहाज से इसे तैयार किया गया है। वाडा ने कहा कि यह समझ से परे है कि इस तरह की रिपोर्ट तब तैयार की जाती है, जब उनकी ओर से पिछले 20 वर्षों में वाडा फाउंडेशन बोर्ड की बैठक में इस तरह का कोई मुद्दा नहीं उठाया गया। 2020-2024 के नए स्ट्रेटजिक प्लान का भी उनकी ओर से समर्थन किया गया।बिना भेदभाव के समान नियम हों
इसके बाद आईओसी ने कहा, ‘हम यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी नेशनल कमेटी की ओर से भाग लेने वाले एथलीटों के लिए ओलिंपिक खेलों में समान शर्तें लागू हों और वे बिना किसी विशेषाधिकार या भेदभाव के समान नियमों के अधीन हों।


अमेरिकी सैनिकों को मारने के लिए पैसें दिए

मास्को। रूस ने उन रिपोर्टों को ख़ारिज किया है जिसमें कहा गया था कि उसने तालिबान समर्थित चरमपंथियों को अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सैनिकों को मारने के लिए पैसा दिया था।


अमरीकी अधिकारियों के हवाले से न्यूयॉर्क टाइम्स, वॉशिंगटन पोस्ट और वॉल स्ट्रीट जर्नल अख़बार ने रिपोर्ट की थी कि रूसी सैन्य ख़ुफ़िया यूनिट ने पिछले साल इसके लिए पैसा दिया था। इसी यूनिट पर यूरोप में जानलेवा हमले की कोशिशों के आरोप लगे थे। अमरीका में रूसी दूतावास ने कहा है कि इन दावों से उसके राजनयिकों पर ख़तरा पैदा हो जाएगा। वहीं, तालिबान ने भी इस आरोप को ख़ारिज किया है और कहा है कि उसने रूसी ख़ुफ़िया एजेंसी से ऐसा कोई सौदा नहीं किया था।


चीन पर अंकुश लगाने का प्लान बनाया

नई दिल्ली। दुनियाभर में कोरोना फैलाने का आरोप झेल रहा चीन अब चौतरफा घिर रहा है। अब अमेरिका ने चीन पर अंकुश लगाने का प्लान बनाया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका ने चीन को 60 दिन का नोटिस दिया है। अमेरिका अब चीन की कंपनियों की निगरानी करेगा।


अमेरिका ने चीन की 20 कंपनियों की पहचान कर उसकी लिस्ट तैयार की है, जिनका नियंत्रण बीजिंग में सैन्य शासन के पास है। चीन की कंपनियों पर अमेरिका से तकनीक ले जाने का भी आरोप है। चीन के खिलाफ दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों ने सख्त रुख अपनाया है। आसियान ने कहा है कि चीन दक्षिण चीन सागर में संधि का पालन करे। इन देशों के नेताओं ने कहा है कि 1982 में हुई संयुक्त राष्ट्र समुद्री कानून संधि के आधार पर दक्षिण चीन सागर में अधिकार तय होने चाहिए।


निर्माण हेतु चौथे सप्ताह भी धरना जारी

तेजपाल नेगी


उधम सिंह नगर/किच्छा । पुलभट्टा थाना अंतर्गत एनएच 74 की क्षतिग्रस्त सड़क को दुरुस्त किए जाने, 3 वर्षों से निर्माणाधीन फ्लाईओवर का निर्माण जल्द पूरा करने तथा किच्छा के आदित्य चौक पर क्षतिग्रस्त सड़क की मरम्मत की मांग को लेकर गत 3 सप्ताह से उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी तथा कांग्रेसी नेता सुरेश पपनेजा का आंदोलन चौथे सप्ताह भी जारी रहा। कांग्रेसी नेता सुरेश पपनेजा के नेतृत्व में तमाम गणमान्य लोगों व संस्थाओं से जुड़े पदाधिकारियों ने सामूहिक रूप से श्री हनुमान चालीसा का पाठ करते हुए एनएचएआई प्रशासन , लोक निर्माण विभाग तथा जिला प्रशासन को सद्बुद्धि देने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की । राज्य आंदोलनकारी पपनेजा ने कहा कि उनके द्वारा लगातार आंदोलन का धरना प्रदर्शन किए जाने के बाद प्रशासन द्वारा जेसीबी मशीन के माध्यम से मात्र सड़क को खुरच कर समतल करने का काम किया गया है जबकि पक्का निर्माण ना होने से मौके पर भयंकर धूल उड़ रही है तथा बरसात के मौसम में गहरे गड्ढे होना निश्चित है ।नउन्होंने कहा कि यूपी को उत्तराखंड से जोड़ने वाली लाइफ लाइन सड़क का डामरीकरण किया जाए और वाहन चालकों सहित आम जनता को समस्याओं से मुक्ति दिलाने के लिए सड़क को दुरुस्त किया जाए । उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा कछुआ चाल से सड़क को समतल कर निर्माण करने का ड्रामा करते हुए जनता को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है । इस मौके पर दर्जनों लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सामूहिक रूप से श्री हनुमान चालीसा का पाठ किया। इस मौके पर दर्शन सिंह हिंदुस्तानी, किशन लाल आहूजा , रामकिशोर शर्मा , पंडित अनिल शर्मा, विपिन शर्मा , जरनैल सिंह , राजेंद्र कुमार , विनोद पंत , जगदीश गिरी , पारस पपनेजा , शिरीष कुमार आदि मौजूद थे ।


एलएसी के मुद्दे पर फिर सरकार को घेरा

नई दिल्ली। चीनी घुसपैठ को लेकर राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप के बीच, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर एलएसी के मुद्दे पर सरकार को घेरा। इससे पहले भाजपा ने कांग्रेस के स्वामित्व वाली राजीव गांधी फाउंडेशन(आरजीएफ)को चीनी कंपनियों द्वारा डोनेशन दिए जाने पर निशाना साधा था, जिसके बाद राहुल गांधी ने एक बार फिर पलटवार किया है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा, “कब राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा की बात की जाएगी।” इससे पहले, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा पर शनिवार को निशाना साधा था। सुरजेवाला ने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के साथ पार्टी के संबंधों पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को भी इस विवाद में घसीटा था।


सुरजेवाला ने पूछा, “संघ ने क्यों जनवरी 2009 में चीन का दौरा किया था।” प्रवक्ता ने यह भी कहा कि पूर्व भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी भी 19 जनवरी 2011 को सीसीपी के आमंत्रण पर पांच दिन के लिए चीन गए थे। सुरजेवाला ने कहा, “तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नवंबर 2014 में सांसद/विधायकों के प्रतिनिधिमंडल को सीसीपी के ‘द पार्टी स्कूल’ के अध्ययन के लिए क्यों भेजा था। कांग्रेस गुजरात के मुख्यमंत्री रहते चार बार और प्रधानमंत्री रहते हुए पांच बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चीन जाने के कारण भी जानना चाहती है।” 


हरियाणाः महिला नेत्रियों में पद की इच्छा

राणा ओबराय
हरियाणा भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पद की नियुक्ति में देरी होने से महिला नेत्रियों में भी अध्यक्ष पद पाने की जागी इच्छा! सुनीता दुग्गल, प्रतिभा सुमन व कविता जैन भी दौड़ में शामिल
चण्डीगढ़। हरियाणा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर नित नए नामों पर भाजपा आलाकमान मंथन कर रही है। जैसे-जैसे नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर घोषणा करने में देरी हो रही है। वैसे वैसे बहुत से भाजपा कार्यकर्ताओं में प्रदेश अध्यक्ष पद पाने की इच्छा जाग रही है! भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पद पाने में अब भाजपा की महिला नेत्रियां भी पीछे नहीं रही है! मिली जानकारी के अनुसार महिला नेत्रीयां भाजपा आलाकमान तक यह तर्क देकर सन्देश भिजवाने का प्रयास कर रही है कि यदि कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष महिला हो सकती है तो भाजपा की भी प्रदेशाध्यक्ष भी महिला होनी चाहिये जो हरियाणा कांग्रेस को पूरी तरह टक्कर दे सके! निजी सुत्रो के अनुसार भाजपा आलाकमान भी तर्क से सहमत होकर हरियाणा में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पद पर किसी महिला की नियुक्ति पर विचार करने लगा है? हरियाणा महिला नेत्रियों में इस पद पर मुख्य रूप से तीन के नाम की चर्चा चल पड़ी है। सिरसा से सांसद सुनीता दुग्गल जिन्होने बखुबी से प्रवक्ता की जिम्मेदारी निभाई है। औऱ प्रदेश संगठन औऱ सरकार में उनके विरोधी की संख्या भी कम दिखाई देती है। दूसरा नाम प्रतिभा सुमन का है जो वर्तमान में हरियाणा महिला आयोग की अध्यक्षा है व पूर्व महिला प्रदेशाध्यक्ष भी रही है। तीसरा नाम पूर्व मंत्री कविता जैन का है जो भाजपा प्रदेशाध्यक्ष की दावेदार मानी जाती है। यदि आलाकमान ने किसी महिला नेत्री में से किसी को अध्यक्ष बंनाने पर विचार किया तो इन तीनो में से एक पद पाने में कामयाब हो सकती है?


दबे-कुछलो की सेवा करता है फाउंडेशन

सेवा शिक्षा सदभावना और राष्ट्र प्रेम को लेकर देश में दबे कुचलों के लिए काम कर रही मदर टेरेसा फाउण्डेशन
संरक्षक व राष्ट्रीय संयोजक मदर टेरेसा फाउण्डेशन
  बृजेश केसरवानी
प्रयागराज। मदर टेरेसा फाउण्डेशन के संयोजक व राष्ट्रीय संरक्षक मो.अरशद खान ने फाउण्डेशन के उद्देश बताते हुए कहा की मदर टेरेसा फाउण्डेशन की बुनयाद 2009 में पड़ी तब से फाउण्डेशन के द्बारा सेवा शिक्षा सदभावन के तहत देश के लगभग सभी प्रदेशों में सगठन को गतीशील बनाते हुए दबे कुचले ज़रुरतमन्दों को मदद पहोँचाई जा रही है। बताया कि मदर टेरेसा फाउण्डेशन के द्बारा लॉकडाउन में कच्चा राशन के साथ पका भोजन से भी लोगों की मदद बराबर की जाती रही।यही समाज सेवा है और यही कारण है की आज तीन माह के अन्दर प्रतिदिन सैकड़ों लोग फोन कर मदर टेरेसा फाउण्डेशन से जुड़े और सेवा भाव से काम करने की उनमें जाग्रती पैदा हुई। श्री अरशद खान अपने निजी कार्य से शहर आए हुए थे जिनके आगमन पर फाउण्डेशन के लोगों ने जगहाँ जगहाँ उनका स्वागत किया। फाउण्डेशन के राष्ट्रीय महासचिव मो०शारिक़ के आवास पर प्रदेश पश्चिमी मण्डल के अध्यक्ष सैफ फरीदी,प्रदेश सचिव महबूब उसमानी,प्रदेश सचिव नसीर उद्दीन राईन,ज़िला चेयरमैन सुधीर द्ववेदी, महानगर चेयरमैन सै०मो०अस्करी,महिला विंग की प्रदेश की नेता  ज़िला चेयरपर्सन रेखा उपाध्याय,महानगर महिला चेयरपर्सन खुशनूमा बानों,यूथ विंग चेयरमैन   विंग चेयरमैन मो०राशिद,डाक्टर विंग चेयरमैन मुन्तज़िर रिज़वी आदि ने सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए मदर टेरेसा फाउण्डेशन के संरक्षक का स्वागत किया।


शस्त्र बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़

शस्त्र बनाने की फैक्ट्री का पुलिस ने किया भंडाफोड़


अतुल त्यागी जिला प्रभारी


हापुड़। उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ में पुलिस ने एक अवैध रूप से चलाई जा रही तमंचे बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। आपको बता दें कि एसपी संजीव सुमन व एएसपी सर्वेश कुमार मिश्र के आदेश निर्देश पर  पुलिस ने खुलासा करते हुए एएसपी सर्वेश कुमार मिश्र ने बताया कि स्वाट टीम प्रभारी, सर्विलांस टीम प्रभारी व कोतवाली क्राइम डिक्टेशन टीम प्रभारी की संयुक्त कार्यवाही द्वारा देहात के जंगल में अर्द्ध निर्मित मकान में चल रही। शस्त्र फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए इसके सरगना सरदार तेज सिंह उसके साथी रविन्द्र को गिरफ्तार किया है। जिनके कब्जे से एक रायफल 315 बोर नाजायज, एक जिंदा कारतूस 315 बोर एक बंदूक 12 बोर एक पिस्टल 32 बोर मय एक जिंदा कारतूस 32 बोर का तमंचे 315 बोर और भारी संख्या में प्लास्टिक के कट्टे में भरे अर्ध निर्मित तमंचा शस्त्र बनाने के उपकरण बरामद किए हैं। वही पुलिस इन पर अपराधिक मामलों को खंगाल रही है।


कांग्रेस की प्रचार-प्रसार समिति गठित

लॉकडाउन में ढील, राजनीतिक सरगर्मियां तेज
कांग्रेस पार्टी की प्रचार-प्रसार समिति द्वारा बैठक 
पैट्रोल दाम, स्कूल फीस, जनता  परेशान मुद्दों पर बैठक 
पूर्व नगर अध्यक्ष अशोक तोमर के निवास पर बैठक 


मौसम खान
गाजियाबाद/लोनी। कांग्रेस पार्टी की प्रचार-प्रसार समिति द्वारा शांति नगर स्थित पूर्व नगर अध्यक्ष अशोक तोमर के निवास स्थान पर लॉकडाउन व सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए कई अहम मुद्दों को लेकर बैठक का आयोजन किया। बैठक में बढ़ते पैट्रोल-डीजल दाम, स्कूल फीस माफी समेत अहम मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया। 
बैठक में उपस्थित अखिल भारतीय मजदूर कल्याण संघ के यूपी अध्यक्ष चौधरी आबिद अली ने संबोधित करते हुए कहा कि जनता कोरोना महामारी से परेशान है और प्रदेश व केंद्र सरकार घिनौनी राजनीति कर रही हैं। इस आपदा के दौरान गरीब जनता बेहद परेशान है। इस समय पार्टियों को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देशहित में सोचना चाहिए। चौधरी आबिद अली ने कहा कि केंद्र व प्रदेश दोनों सरकार जनता को झूठे वादे देकर शोषण कर रही है। प्रदेश में अराजकता कायम है। इस पर रोक लगाने में भाजपा सरकार नाकाम है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने जनता को अच्छे दिन लाने के नाम पर छलने का काम किया है। सरकार किसानों व आम जनता पर ध्यान नहीं दे रही है। 
कांग्रेस पार्टी के पूर्व लोनी नगर अध्यक्ष अशोक तोमर ने बताया कि कांग्रेस पार्टी प्रचार - प्रसार समिति ने योगी सरकार से बड़ी मांग की है कि लॉकडाउन के बीच सरकार की जिम्मेदारी है कि वह आम आदमी का ख्याल रखे। ऐसे में बेहद जरूरी है कि लोगों के तीन माह के बिजली के बिल माफ कर दिए जाएं। साथ ही योगी सरकार से स्कूलों की फीस माफ करने की भी मांग की है।
कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता संदीप शर्मा ने कहा कि देश इस समय आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है, लेकिन हैरत की बात है सरकार इस ओर कोई ध्यान हीं नहीं दे रही, लेकिन इसके विपरीत जनता पर और बोझ डाला जा रहा है। यह इतिहास में पहली बार हुआ है कि डीजल के दाम पेट्रोल से भी ज्यादा हो गए हैं। इससे ट्रांसपोर्ट महंगा होगा। बाजार में हर वस्तु महंगी होगी। जिससे गरीब जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। बैठक का संचालन PCC सदस्य चौ. अजय पाल ने किया। बैठक को मुख्य रूप से पूर्व जिला महासचिव फजलू राणा, समून अली, नफीस चौधरी, ठाकुर केवी सिंह, संतोष मिश्रा, राजेन्द्र दुबे, चौ. किरण पाल, चौ. ओम सिंह, रंजीत सिंह, आजाद कुमार व पूर्व नगर उपाध्यक्ष डॉ. महेंद्र खटीक, विपिन रावत, प्रेम पाल भाटी, डॉ.उमर सिद्दीक़ी, टिंकू, अर्जुन सिंह, वेद प्रकाश प्रजापति, अख़्तर अली, जगपाल सिंह, तिरंगा पाल आदि नेताओं ने संबोधित किया।   


मीडिया पर दबंग प्रधान का वायरल वीडियो

अतुल त्यागी (मेरठ मंडल प्रभारी)
हापुुुड़ । छपकोली प्रधान की सरेआम दबंगई, दबंगई का सोशल मीडिया पर तेजी से हो रहा वीडियो वायरल।


आपको बता दें कि हापुड़ जनपद गांव छपकोली प्रधान की सरेआम दबंगई, दबंगई का सोशल मीडिया पर तेजी से हो रहा वीडियो वायरल व ठेली वाले को ग्राम प्रधान ने जमकर पीटा इतना ही नहीं बीच-बचाव करने आए ग्रामीणों से भी मारपीट की।और कहा कि जो तुम होता हो वो कर लेना ।दबंग ग्राम प्रधान का ग्रामीण और ठेली वाले से मार पिटाई का सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल थाना बाबूगढ़ क्षेत्र के गांव छपकोली का मामला ।


कंचन ने अपना नया एलबम लांच किया

प्रयागराज की कंचन जी ने अपना नया एल्बम लॉन्च किया, राम रतन धन पायों
बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। एक नया एल्बम लॉन्च हुआ, कामख्या प्रोडक्शन के अन्तर्गत राम रतन धन पायों, हिंदी म्यूजिक एल्बम लॉन्च किया गया। जिसकी गायका, कंचन मीणा जी है,उन्हों ने बताया की ये नया एल्बम पूरा प्रयागराज, गंगा यमुना की पावन धरती पर शूट हुआ,इस एल्बम राम रतन धन्यवाद पायों पूरी कहानी में है जिसमे गुरु और शिष्य के बीच के रिश्ते व समर्पण भाव को दर्शाता है। गुरु आपका दोस्त माता-पिता अभिभावक के रूप में हो सकता है, और बताया की इसके बाद वो पंजाबी एल्बम की तैयारी में है, और कहा की लोगों का प्यार मिलेगा तो वो और भी नये गाने बनाएंगी। एल्बम के बाद  वो एक हिंदी मूवी बनाएंगी। जिसमे प्रयागराज के सभी छोटे बड़े कलाकारों को काम करने का मौका देंगी। एल्बम में,  संगीत सरगम वैश,स्टोरी मोहित शुक्ला, प्रोडक्शन कामाख्या प्रोडक्शन, असिस्टेंट डायरेक्टर गणेश शुक्ला, डायरेक्टर-मृदुलय सिंह "मैडी", कलाकार -रत्नेश दुबे, बेबी नविता, आर्य, श्रेया आदि थे।


डीएम की जन-सामान्य के लिए एडवाइजरी

जन सामान्य के लिए एडवाइजरी की जारी

विजय भाटी


गाजियाबाद। जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय ने कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाया जा सके इस संबंध में एडवाइजरी जारी करते हुए जनपद के समस्त नागरिकों का आह्वान करते हुए कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा अभी समाप्त नहीं हुआ है। सरकार के द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में धीरे धीरे लॉकडाउन खोलने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसका मतलब यह नहीं है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने का खतरा कम हो गया है। जनपद में कोरोना संक्रमित व्यक्ति लगातार मिल रहे है।


" alt="" aria-hidden="true" /> ऐसी परिस्थितियों में जनपद के समस्त नागरिकों की और अधिक जिम्मेदारी बढ़ गई है। अतः जनपद के सभी नागरिक अपने को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के उद्देश्य से यदि बहुत आवश्यक न हो तो घर से बाहर ना निकले। घर से बाहर निकलने पर सभी नागरिक मास्क एवं मुंह ढकने के लिए घरेलू गमछे का प्रयोग अवश्य किया जाए। यात्रा के दौरान, बाजारों में, कार्यालयों में सभी माल्स में तथा अन्य स्थानों पर सभी नागरिक मास्क का प्रयोग करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन भी सुनिश्चित करें, ताकि सभी जनपद वासी कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बने रहें। जिलाधिकारी ने समस्त वाणिज्य संस्थानों, कार्यालय अध्यक्षों उद्यमियों का भी आह्वान किया है कि उनके द्वारा भी अपने अपने संस्थानों में नियमित रूप से सैनिटाइजेशन का कार्य एवं सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क का प्रयोग आवश्यक रूप से करवाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। जिलाधिकारी ने सभी जनपद वासियों का यह भी आह्वान किया है कि कोविड-19 को लेकर जिन नागरिकों के द्वारा जनपद में प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया जाएगा उनके विरुद्ध पुलिस एवं अन्य विभागीय अधिकारियों के द्वारा निरंतर कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए निरंतर रूप से विभिन्न स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित भी कर रहा है ताकि सभी जनपद वासी कोरोनावायरस के संक्रमण से सुरक्षित बने रहे। अंत में जिलाधिकारी ने सभी नागरिकों से आह्वान किया है कि वह कोरोना के संबंध में जागरूक बने रहें और जागरूकता ही कोरोना से बचाव है। अतः सभी नागरिक अपने दैनिक जीवन में मास्क का प्रयोग करें और बाहर निकलने पर सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखें ताकि सभी जनपद वासी स्वस्थ बने रहें। 



सरकार के खिलाफ सपा ने किया विरोध

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबा। केंद्र सरकार के द्वारा डीजल-पेट्रोल की वे लगाम मूल्य वृद्धि के खिलाफ सपा और आमजन में आक्रोश को देखते हुए प्रतीकात्मक विरोध कर डीजल पेट्रौल का मूल्य वापस लेने की मांग की। मनमोहन झा गामा सपा जिला उपाध्यक्ष एवं प्रभारी साहिबाबाद भैस पर बैठकर प्रदर्शन किया।


कार्यक्रम का आयोजन सपा साहिबाबाद कार्यालय पर पूर्व मीडिया प्रभारी जब्बार मलिक ने किया। विरोध शांति पूर्ण लॉक डाउन का सम्मान करते हुए केंद्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की जन विरोधी नीतियों का विरोध एवं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जी के आह्वान पर जन जन तक सपा सरकार में किए गए जन हित के कार्यो का प्रचार प्रसार किया गया, एवं प्रदेश सरकार की पुलिस द्वारा सपा कार्यकर्ता एवं विपक्ष के लोगो का उत्पीड़न न करे कि मांग की गई।
सांकेतिक विरोध में मुख्य रुप से जब्बार मलिक,अरविंद कठेरिया जिला सचिव,,मज्जू चौधरी पूव॔ सचिव हरीश चन्द्र यादव शोएब अब्बासी अनिल सिरोही आबिद मलिक साजन सिंह विपिन मिश्रा राहुल जयसवाल चंदन कुमार आदि लोग उपस्थिति रहे।


एसएसपी ने खुद व्यवस्था का जायजा लिया


एसएसपी कलानिधि नैथानी ने खुद सड़कों पर उतर कर कानून व्यवस्था का जायजा लेते हुए 




अकांशु उपाध्याय

गाज़ियाबाद। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने खुद सड़कों पर उतर कर कानून व्यवस्था का जायजा लेते हुए दर्जनों चेकिंग प्वाइंटओं का निरीक्षण किया। इतना ही नहीं, एसएसपी ने कोतवाली थानाक्षेत्र में स्थित घंटाघर के पास खुले में शराब पीते पाए गए असामाजिक तत्वों और शराब के सेल्समैन पर भी की प्रभावी कार्रवाई की हैं।
आपको बता दें कि एसएसपी कलानिधि नैथानी ने खुले में शराब का सेवन करने वाले कार स्वामीयों के विरुद्ध भी कार्रवाई करते हुए उनके वाहनों को भी सीज किया। इसके अलावा एसएसपी ने चेकिंग प्वाइंटओं के कई अलग-अलग स्थानों पर शराब का सेवन करने वाले असामाजिक तत्वों के विरुद्ध की ठोस कार्रवाई करते अन्य पुलिसकर्मियों को निर्देशित किया।

गौरतलब है कि एसएसपी कलानिधि नैथानी की कार्यप्रणाली को देखकर शराब का सेवन करने वाले असामाजिक तत्वों में कुछ समय के लिए खलबली सी मच गई और वह एसएसपी के साथ पुलिस बल को देखकर गली-कूचों में भागते फिरते नज़र आया। बता दें कि एसएसपी कलानिधि नैथानी ने समस्त क्षेत्राधिकारियों और थाना प्रभारियों को भी निर्देशित किया है कि यदि कोई भी खुले में शराब पीता पाया जाता है तो उसके विरुद्ध ठोस कानूनी कार्रवाई करें और उनके वाहनों को भी सीज करने की कार्रवाई करें।           



दलों के विस्तार पर किया गया कार्य

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। लोनी क्षेत्र स्थित सभापुर निर्मल विहार वार्ड नंबर 45 में विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल की बैठक का आयोजन हुआ। जिसमें विश्व हिंदू परिषद जिला मंत्री पंडित जय भोले ने वार्ड नंबर 45 में टीम का गठन किया। उपस्थिति में मुकेश नागर जिला उपाध्यक्ष, राहुल नगर कचैड़ा विश्व हिंदू परिषद, मोहित सैन नगर सह संयोजक, वार्ड नंबर 45 से सूरज सिंह वार्ड अध्यक्ष नियुक्ति की गई। उनकी टीम और अन्य कार्यकर्ता बजरंग दल में शामिल हुए। जिसमे दीपक चौधरी चंदन सिंह,अंकित,मिथुन,अजीत ,अशोक ,राजेश ,श्रीमती रीना आदि लोग मौजूद रहे और दूसरी बैठक आज विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल की बैठक का आयोजन राहुल नागर जी के घर निशांत कॉलोनी वार्ड 42 पर किया गया विश्व हिंदू परिषद जिला मंत्री जय भोले जी ने बैठक ली और संगठन को आगे बढ़ाने की चर्चा की।
संदीप गुप्ता जिला प्रचार प्रसार प्रमुख ,नगर सह संयोजक मोहित सैन ,मनोज कश्यप नगर गौरक्षा प्रमुख, सुशील पटेल सह मंत्री, नवीन पटेल नगर सुरक्षा प्रमुख, कुंदन ,दीपक आदि लोग बैठक में उपस्थित रहे और इसी प्रकार निरन्तर मजबूती से संगठन को बढाने और विस्तार का कार्य चलेगा।


हाईटेंशन लाइन टच होने से मौके पर मौत

गाजियाबाद। लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र की महामाया कुंज कॉलोनी में 11000 की लाइन की चपेट में आने से युवक की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक अजीत यादव उर्फ राजू उम्र 28 वर्ष पुत्र भवानी प्रसाद निवासी गांव अमरोली जिला बस्ती उत्तर प्रदेश। छोटे हाथी पर सहायक ड्राइवर एवं लोडिंग अनलोडिंग का कार्य करता है। सुबह 11:00 बजे ड्राइवर मुकेश गुप्ता पुत्र सुग्रीव के साथ बेहटा हाजीपुर से एलुमिनियम का तार भरकर दिल्ली के लिए चला जैसे ही सेवा धाम मंदिर के निकट महामाया कुंज में पहुंचा वजन ज्यादा होने के कारण तार लटक जाने पर ड्राइवर ने गाड़ी रोक दी एवं हेल्पर से तार बांधने को कहा जैसे ही हेल्पर ऊपर चढ़ा। 11000 की लाइन अधिक नीची होने के कारण अजीत के सिर में टच हो गई। करंट लगते ही बिजली के तारों ने अजीत को नीचे फेंक दिया और मौके पर ही मौत हो गई। क्षेत्रवासियों का कहना है कि 11000 की लाइन अधिक नीची होने के कारण आए दिन हादसों का भय बना रहता है।


प्रमोद गर्ग     


यूपी में बुजुर्ग महिला से दुष्कर्म किया

इटावा। उत्तर प्रदेश के इटावा से मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है, यहां एक 80 वर्षीय बुजुर्ग महिला से युवक ने दुष्कर्म किया है।


इटावा पुलिस के अनुसार घटना 27 जून रात की है, रात को महिला अपने घर में सो रही थी, इसी दौरान आरोपी ने शराब के नशे में इस संगीन जुर्म को अंजाम दिया, पुलिस ने 80 वर्षीय वृद्धा की फरियाद पर थाना सिविल लाइन में अपराध संख्या 261/ 20, आईपीसी की धारा 452, 376 के तहत मामला दर्ज कर लिया था। घटना की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा ने एसओजी इटावा एवं प्रभारी निरीक्षक थाना सिविल लाइन को अभियुक्त की तत्काल गिरफ्तारी का निर्देश दिया था, केस की छानबीन के दौरान पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त को गिरफ्तार करने के लिए निरंतर दबिश दी जा रही थी, आखिरकार पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त सोनू उर्फ सुरजीत पुत्र प्रेम सिंह को आईटीआई चौराहे से गिरफ्तार कर लिया।


आरोपी ग्राम बुडैल्ला थाना सिविल लाइन का रहने वाला है. पुलिस की ओर से पूछताछ करने पर उसने बताया कि शराब के नशे में उसने वृद्धा के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था।                                      


वायरस के साथ मंदिर निर्माण पर फोकस

अयोध्या। उत्तर प्रदेश को कोरोना महामारी से बचाने के लिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक ओर जहां जोर शोर से जुटे हैं तो उनका ध्यान अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण की ओर भी है। उन्होंने रविवार को पहले गोंडा में कोरोना की रोकथाम की उपाय की समीक्षा की और कोविड 19 अस्पताल का दौरा किया।


उन्होंनें बाढ़ से बचाव के लिये किये जा रहे इंतजाम की भी समीक्षा की और अधिकारियों को निर्देश दिये। गोंडा के बाद योगी आदित्यनाथ अयोध्या आए और हनुमानगढ़ी में हनुमान लला के दर्शन किए तथा मंदिर निर्माण की तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने श्रीराम तीर्थ ट्रस्ट के अधिकारियों से भी बात की। राज्य में एक करोड़ लोगों को रोजगार देने के योगी आदित्यनाथ के प्रयास की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी दो दिन पहले प्रशंसा की थी और कहा था कि नेतृत्व अगर कुशल हो तो चुनौतियों को भी अवसर में बदला जा सकता है।


बृजेश केसरवानी


निर्माणाधीन पुल से गिरे-डूबे, 2 जवान शहीद

लद्दाख। लद्दाख में एक दर्दनाक हादसा पेश आया है। जहां पर भारतीय सेना के दो जवान श्योक नदी में डूबने से शहीद हो गाए है। बताया जा रहा है कि लद्दाख में एक निर्माणधीन पुल से दोनों जवान नदी में गिर गए और पानी में ढूबने से मौत हो गई है। पुलिस टीम मौके पर पहुंचकर गोताखोरों की मदद से दोनों के शव को बाहर निकाला गया। जहां दोनों की पहचान नायक सचिन मोरे और लांस नायक सलीम खान के रूप में हुई है।


चीन के इस हरकत से पूरे देश में विरोध का माहौल बना हुआ है। वहीं, भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए भारत ने सीमावर्ती इलाकों पर जवानों की तैनाती बढ़ा दी गई है।


एलएलसी सर्टिफिकेट फिर किया अनिवार्य

पंचकूला। हरियाणा की मनोहर सरकार ने एसएलसी को लेकर अपना फैसला बदल लिया है। इसको निजी स्कूलों का विरोध कहे या कुछ और लेकिन सरकार ने अपना एक पिछला फैसला बदल डाला है। सरकार ने सरकारी स्कूलों में दाखिले के लिए पिछले निजी स्कूल द्वारा जारी एसएलसी सर्टिफिकेट को फिर से आवश्यक कर दिया है। हालांकि निजी स्कूल छोड़ने वाले विद्यार्थियों को सरकारी स्कूल में बिना एसएलसी अस्थायी दाखिला ही मिलेगा। दाखिला स्थायी करने के लिए उसे एलएलसी देना होगा।


शुक्रवार देर शाम शिक्षा निदेशालय ने इस संबंध में सभी डीईओ, डीईईओ को निर्देश जारी कर दिए। 15 जून को सरकार ने निजी स्कूल छोड़कर सरकारी स्कूल में दाखिला लेने के लिए एसएलसी की बाध्यता खत्म कर दी थी। 15 दिन के भीतर एसएलसी जारी न होने पर उसे स्वत: जारी हुआ मानने के आदेश थे। लेकिन इसको लेकर प्रदेश में विरोध शुरू हो गया। जिसके बाद सरकार ने अपने फैसले में बदलाव कर दिया।


सवारी अक्षमता पर लगी रोक हटाई गई

राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। बसों पर 50 प्रतिशत सवारियां ले जाने की रोक हटाई। मास्क पहनने का पालन सख्ती के साथ करना होगा
चंडीगढ़। तेल की कीमतों में भारी वृद्धि होने के कारण सार्वजनिक यातायात की बेबसी के कारण पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने मिनी बसों समेत सभी बसों में सवारियां लेजाने की क्षमता पर लगाई गई रोक को हटाने का ऐलान किया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि बसों में सफर के दौरान प्रत्येक सवारी को मास्क पहनना अनिवार्य होगा।


मुख्यमंत्री के यह ऐलान आज हरियाऊ खुर्द के एक निवासी द्वारा बसें न चलने के कारण पातड़ां आने-जाने में आ रही समस्याओं के सम्बन्ध में किये सवाल का जवाब देते हुए किया। राज्य सरकार ने इससे पहले कोविड के संकट के कारण 50 प्रतिशत सवारियों की क्षमता के साथ बसें चलाने की आज्ञा दी थी। कैप्टन को सवाल’ नामक प्रोग्राम की अगली लड़ी के अंतर्गत आज के फेसबुक लाईव के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि उनको पता चला है कि इससे होने वाले वित्तीय घाटे खासकर डीजल और पेट्रोल की रोजाना बढ़ रही कीमतों के कारण निश्चित की गई क्षमता के साथ बसें चलाने से इन्कार कर रही हैं। उन्होंने कहा कि इससे यात्रियों को बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने सफर के दौरान मास्क पहनने का सख्ती से पालन करने की जरूरत पर जोर दिया क्योंकि मास्क से कोविड का फैलाव 70 प्रतिशत तक घट सकता है।


पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढऩे के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी इस संबंधी पहले ही प्रस्ताव पास कर चुकी है और उनको उम्मीद है कि केंद्र सरकार यह वृद्धि वापस लेगी। वहीं कैप्टन सरकार ने मिनी बसों के परमिट के लिए आवेदन करने का समय 15 जुलाई तक बढ़ा दिया है।


हिमाचल में 4 नए मामले सामने आए

कांगड़ा। हिमाचल प्रदेश में आज यनी रविवार को चार नए कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए है। जिसमें एक सात साल की मासूम भी शामिल है। और इन चार मामलों में दिल्ली से फतेहपुर लौटा हुआ था। वहीं दूसरा मामला ट्रेन से लौटा लोढवां का रहने वाला 23 वर्षीय युवक भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।


वहीं तीसरा पंजाब में कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने से 36 वर्षीय बैंक कर्मचारी भी पॉजिटिव हो गया है। 18 जून को जम्मू से लौटा छन्नी इंदौरा का रहने वाला बीएएफ जवान 54 वर्षीय भी कोरोना संक्रमित पाया गया है।


महाराष्ट्र और दिल्ली की स्थिति खतरनाक

नई दिल्ली। वैश्वि महामारी कोरोना कोरोना वायरस (कोविड-19) की वजह से महाराष्ट्र और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की स्थिति भयावह होती जा रही है तथा इन दोनों जगहों पर इससे अब तक 239321 लोग प्रभावित हो चुके हैं, जो देश में इस जानलेवा विषाणु की चपेट में आई कुल आबादी का 45.26 प्रतिशत है।


महाराष्ट्र में जहां कोविड-19 से 159133 लोग संक्रमित हुए हैं, वहीं दिल्ली में अब तक 80188 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से रविवार को जारी किये गये आंकड़ों के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 19906 नये मामले दर्ज किये गये हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 528859 हो गई है। देश में अब तक इस महामारी से कुल 1695 लोगों की मौत हुई है तथा 309713 लोग स्वस्थ हुए हैं। देश में इस समय कोरोना के 203051 सक्रिय मामले हैं।


डीजल-पेट्रोल के बढ़ते रेट पर लगा ब्रेक

नई दिल्ली। डीजल और पेट्रोल की महंगाई पर ब्रेक लग गया है। तेल विपणन कंपनियों ने रविवार को 21 दिन बाद डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया और पेट्रोल के दाम को भी स्थिर रखा है। बीते तीन सप्ताह में दूसरी बार पेट्रोल के दाम में स्थिरता दर्ज की गई है। इस दौरान देश की राजधानी दिल्ली में डीजल 11.01 रुपये लीटर महंगा हो गया है, जबकि पेट्रोल का दाम 9.12 रुपये लीटर बढ़ गया है।


इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का भाव बिना किसी बदलाव के क्रमश: 80.38 रुपये, 82.05 रुपये, 87.14 रुपये और 83.59 रुपये प्रति लीटर पर बना हुआ है। डीजल का दाम भी चारों महानगरों में पूर्ववत क्रमश: 80.40 रुपये, 75.52 रुपये, 78.71 रुपये और 77.61 रुपये प्रति लीटर बना हुआ है।


इससे पहले शनिवार को तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल का भाव दिल्ली में 25 पैसे, कोलकाता और मुंबई में 23 पैसे, जबकि चेन्नई में 22 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया था। डीजल की कीमत भी एक दिन पहले दिल्ली में 21 पैसे, कोलकाता में 18 पैसे, मुंबई में 20 पैसे और चेन्नई में 17 पैसे प्रति लीटर बढ़ गई थी।


जुलाई में नहीं होंगे यूनिवर्सिटी एग्जाम

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इसको देखते हुए राज्य सरकारें अपने राज्यों में फिर से लॉकडाउन का ऐलान कर रही हैं। अब सरकार ने यूनिवर्सिटी में जुलाई माह में कोई भी परीक्षा ना कराने का फैसला लिया है। कोरोना के देश भर में बढ़ते संक्रमण और जुलाई में इसके चरम पर पहुंचने को लेकर लगाए जा रहे अनुमानों को देखते हुए देश की किसी यूनिवर्सिटी में फिलहाल जुलाई में अब कोई भी परीक्षा नहीं होगी। सीबीएसई की बाकी बची परीक्षाओं को रद करने के ऐलान के बाद एचआरडी मंत्रालय ने जुलाई में प्रस्तावित अन्य परीक्षाओं को लेकर भी अपनी मंशा साफ कर दी है। अब परीक्षाओं को फिर से कराने के लिए नई तारीखों के बारे में मंत्रालय में मंथन जारी है।


एचआरडी मंत्रालय ने सोमवार को जुलाई में प्रस्तावित परीक्षाओं को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक भी बुलाई है, जिसमें इन्हें टालने या रद करने के बारे में फैसले का ऐलान किया जाएगा।  एचआरडी मंत्रालय अब यूनिवर्सिटी में बाकी बची परीक्षाओं को पूरा करने के लिए नए सिरे से रणनीति बनाने में जुट गया है। माना जा रहा है कि सोमवार को मंत्रालय इस बारे में कोई बड़ी घोषणा कर सकता है।


'सरेंडर मोदी' के खिलाफ एकजुट भाजपा

नई दिल्ली। एक तरफ जहां चीन के साथ तनाव जारी है वहीं दूसरी तरफ इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस और बीजेपी के बीच सियासी घमासान भी मचा हुआ है। लद्दाख में LAC पर गलवान घाटी में चीन से झड़प में 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद से सियासत भी जोरों पर है।


गलवान घाटी में झड़प पर भारत की प्रतिक्रिया को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर लगातार सवाल उठाए। यहां तक कि राहुल गांधी ने “Surender Modi” तक ट्वीट कर डाला। इस पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि पार्लियामेंट होनी है। चर्चा करनी है तो आएं, करेंगे। 1962 से आजतक दो-दो हाथ हो जाए। समाचार एजेंसी एएनआई के साथ एक इंटरव्यू में अमित शाह ने कहा कि चर्चा से कोई नहीं डरता है। मगर जब देश के जवान संघर्ष कर रहे हों, सरकार स्टैंड लेकर ठीक कदम उठा रही है, उस वक्त पाकिस्तान और चीन को खुश हो इस प्रकार के बयान ठीक नहीं है।कोरोना और लद्दाख की गलवान घाटी में चीन से तनाव के सवाल पर अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत दोनों जंग जीतने जा रहा है।


गृह मंत्री ने कहा कि भारत सरकार ने कोरोना के खिलाफ अच्छी लड़ाई लड़ी है। मैं राहुल गांधी को सलाह नहीं दे सकता, यह उनकी पार्टी के नेताओं का काम है। कुछ लोग ‘वक्रद्रष्टा’ हैं, वे सही चीजों में भी गलत देखते हैं। भारत ने कोरोना के खिलाफ अच्छा संघर्ष किया और हमारे आंकड़े दुनिया की तुलना में बहुत बेहतर हैं।


कोरोनाः तीसरे नंबर पर लगातार बढ़त

नई दिल्ली।  भारत में कोरोना वायरस के आंकड़े हर दिन नया रिकॉर्ड बना कर रहे हैं। देश में अब संक्रमितों की कुल संख्या पांच लाख के पार पहुंच चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अबतक 5 लाख 28 हजार लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इसमें से 16095 की मौत हो चुकी है, जबकि तीन लाख से ज्यादा ठीक भी हुए हैं। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 19,906 नए मामले सामने आए और 410 मरीजों की मौत हुई है।


कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का चौथा सबसे प्रभावित देश है। अमेरिका, ब्राजील, रूस के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में भारत चौथे स्थान पर है। भारत से अधिक मामले अमेरिका (2,596,403), ब्राजील (1,315,941), रूस (627,646) में हैं। वहीं भारत में मामले बढ़ने की रफ्तार दुनिया में तीसरे नंबर पर बनी हुई है। अमेरिका और ब्राजील के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा मामले भारत में दर्ज किए जा रहे हैं।


देश में इस वक्त दो लाख कोरोना के एक्टिव केस हैं. सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं। महाराष्ट्र में 66 हजार से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इसके बाद दूसरे नंबर पर दिल्ली, तीसरे नंबर पर तमिलनाडु, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है। इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं।


एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का चौथा स्थान है। यानी कि भारत ऐसा चौथा देश है, जहां फिलहाल सबसे ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है।


 अब तक देश में कोरोना के 82,27,802 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं। इसमें से 2,31,095 सैंपल कल टेस्ट किए गए


तनाव के बीच शंघाई में मना 'योग दिवस'

शंघाई/नई दिल्ली। भारत-चीन संबंधों में उतार-चढ़ाव के बीच 27 जून को शंघाई में छठा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। चीन में रहने वाले भारतीय समुदाय के लोग इस मौके पर महावाणिज्य दूतावास में आयोजित योग दिवस कार्यक्रम के हिस्सा बने। कार्यक्रम की शुरुआत शंघाई स्थित महावाणिज्य दूतावास में भारतीय कंसुलेट जेनरल अनिल राय के संबोधन से हुई।


बता दें कि 21 जून को छुट्टी नहीं होने की वजह से वहां आज यानी शनिवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम का आयोजन ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों मोड में किया गया। भारत और चीन सहित दुनिया भर के योग विशेषज्ञ और उत्साही ऑनलाइन मंच के माध्यम से इस कार्यक्रम में शामिल हुए।


समारोह की शुरुआत महावाणिज्य दूत अनिल कुमार राय के संबोधन के साथ हुई, जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के छठे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर दिए गए भाषण को प्ले किया गया। इस मौके पर महावाणिज्य दूत ने योग की उत्पत्ति और पतंजलि योग के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला, जिसमें अस्तंगयोग भी शामिल है. उन्होंने योग दर्शन में ध्यान के महत्व और वर्तमान महामारी से निपटने में इसकी भूमिका पर भी जोर दिया। संबोधन के बाद योग प्रोटोकॉल था, जिसे ए सी देशमुख के मार्गदर्शन में किया गया था। उन्होंने भारत से ऑनलाइन प्रोटोकॉल दिया। इस मौके पर एक पैनल चर्चा का भी आयोजन किया गया, जिसमें योग विशेषज्ञों और उत्साही लोगों ने योगिक दर्शन पर अपने विचार व्यक्त किए, साथ ही अपने अनुभवों को साझा किया कि कैसे योग ने उनके जीवन में सकारात्मक बदलाव लाए।


कार्यक्रम के अंत में पुरस्कार वितरण समारोह भी आयोजित किया गया. महावाणिज्य दूतावास ने शंघाई के एक युवा कलाकार को सम्मानित किया, जिसने ICCR ग्लोबल आर्ट प्रतियोगिता ‘यूनाइटेड अगेंस्ट कोरोना-एक्सप्रेस थ्रू आर्ट’ के डिजिटल और न्यू एज आर्ट श्रेणी में पुरस्कार जीता।


सीजीआई शंघाई की ओर से 6वीं आईडीवाई का आयोजन करने के लिए आयोजित ‘योग फोटो प्रतियोगिता’ के लिए तीन सर्वश्रेष्ठ तस्वीरों को पुरस्कार भी दिए गए। फोटो प्रतियोगिता के पुरस्कार विजेता भी ऑनलाइन मोड के माध्यम से इस आयोजन में शामिल हुए।


वायरस से 200 देश प्रभावित, कहर जारी


  • कोरोना का पहला मामला पिछले साल 31 दिसंबर को सामने आया, इसके तीन महीने में ही 200 से ज्यादा देशों की लगभग पूरी आबादी वायरस की चपेट में आई

  • दुनिया में संक्रमण के सबसे ज्यादा 25 लाख 52 हजार मामले अमेरिका में सामने आए, यहां मरने वालों की संख्या भी 1 लाख 27 हजार


वॉशिंगटन। दुनियाभर में कोरोनावायरस के एक करोड़ मामले हो गए़। 180 दिन से पूरी दुनिया इसकी गिरफ्त में हैं। इस वायरस के बारे में चीन ने पहली बार 31 दिसंबर को वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन को जानकारी दी थी। तब चीन में 54 मामले थे। इसके तीन महीने बाद ही 200 से ज्यादा देशों की लगभग पूरी आबादी इसकी चपेट में आ गई।


महामारी की शुरुआत बेशक चीन से हुई थी, लेकिन आज अमेरिका, ब्राजील, रूस, भारत और ब्रिटेन दुनिया के पांच सबसे संक्रमित देश हैं। इन देशों में संक्रमण के 53% यानी 53 लाख 28 हजार 449 मामले हैं। चीन में रोजाना मिलने वाले कोरोना के मामले 6 मार्च के बाद 100 से कम हो गए। तीन महीने में ही चीन ने करीब-करीब महामारी पर काबू पा लिया। यहां अब तक 83 हजार से ज्यादा मामले मिल चुके हैं, जबकि केवल 4634 लोगों की ही जान गई है।


67 दिनों में कोरोना के 75 लाख मामले सामने आए, शुरुआती 25 लाख मामले 111 दिन में 
संक्रमण की रफ्तार देखें तो पहले 25 लाख मामले आने में 111 दिन लगे। फिर मात्र 67 दिन में 75 लाख मामले सामने आए। यानी एक दिन में एक लाख से ज्यादा मामले। दुनियाभर में संक्रमण के मामले इतने हैं कि कई देशों की आबादी भी इससे कम है। पूरी दुनिया में 144 देश ऐसे हैं, जिनकी आबादी एक करोड़ से कम है। इसमें इजराइल, यूएई, ऑस्ट्रिया, बेलारूस जैसे देश शामिल हैं।


10 जिलों में टिड्डी दल का आतंक, अलर्ट

 कनौजिया की खास रिपोर्ट


लखनऊ।  उत्तर प्रदेश में टिड्डी दलों का आतंक फैला है। किसान परेशान हैं तो प्रशासन के भी हाथ पांव फूले हुए हैं। यूपी के 10 जिलों के अलग-अलग ब्लॉक में टिड्डियों के छोटे-छोटे दलों ने किसानों की फसलों पर हमला किया है। सभी जिलों में कृषि विभाग की टीम टिड्डी दलों को भगाने में जुट गई हैं।


इन जिलों में टिड्डी दल का हमला


जिन जिलों में टिड्डियों ने हमला किया है, उनमें झांसी, चित्रकूट, प्रयागराज, प्रतापगढ़, भदोही, जौनपुर, आजमगढ़ और अम्बेडकरनगर, सुलतानपुर और गोरखपुर हैं। कृषि विभाग ने तय किया है कि जिन-जिन जिलों में टिड्डी दल बैठेंगे वहां कीटनाशक छिड़का जाएगा।


इन जिलों में अलर्ट जारी


टिड्डियों के हमलों के मद्देनजर इन जिलों के साथ ही उनकी सीमा से सटे हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, कौशाम्बी, मीरजापुर, सुलतानपुर, मऊ और बलिया जिलों के कृषि विभाग के अधिकारियों को अलर्ट किया गया है।


'वंदे भारत मिशन' यूएई ने किया विरोध

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। भारत सरकार विदेशों से भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए वंदे भारत मिशन चला रही है, जिस पर अमेरिका द्वारा प्रतिबंध लगा दिया गया था, अब यूएई ने भी आपत्ति जताई है। यूएई ने मिशन को भेदभावपूर्ण बताया है।अमेरिका ने पहले कहा था कि एयर इंडिया वंदे भारत मिशन के तहत उड़ान भर रहा था, लेकिन अमेरिकी एयरलाइंस के चार्टर्ड विमानों को भारत-अमेरिका मार्ग पर काम करने की अनुमति नहीं दे रहा था। संयुक्त राज्य अमेरिका ने 22 जुलाई से वांडा इंडिया मिशन के तहत उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है। अब संयुक्त अरब अमीरात ने एआई उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है, इसी तरह के आरोप लगाए हैं।


यूएई ने उन सभी एयर इंडिया उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिनमें यूएई के नागरिक भारत से अपने देश जा रहे थे। यूएई की ओर से कहा गया है कि वंदे भारत मिशन के तहत यहां आने के लिए हर व्यक्ति को नई दिल्ली में हमारे दूतावास से मंजूरी लेनी होगी। अनुमति मांग रहा है।अमेरिका के आधिकारिक बयान में कहा गया है कि एयर इंडिया के किसी भी चार्टर्ड विमान को 22 जुलाई से भारत-अमेरिका मार्ग पर उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी जाएगी, जब तक कि विभाग विशेष रूप से इसे मंजूरी नहीं देता है।


आपको बता दें कि वंदे भारत मिशन की शुरुआत 6 मई से हुई थी। कोरोना वायरस के कारण सभी निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 25 मार्च से रद्द कर दी गई हैं। यह देखा जाना बाकी है कि ये देश कब तक इस मिशन को मंजूरी देते हैं।


10 मेधावियों को योगी करेंगे सम्मानित


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, यूपी बोर्ड के टॉप-10 मेधावियों को सम्मानित करेगी सरकार


 विक्रम सिंह यादव






लखनऊ। माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं में सफल सभी विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बधाई दी है। उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए सीएम योगी ने कहा कि इन छात्र-छात्राओं की मेधा का लाभ प्रदेश व देश को मिलेगा। सीएम योगी ने टॉप-10 मेधावियों को सम्मानित करने की भी घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने छात्र-छात्राओं को मास्क या फेस कवर लगाकर घर से निकलने और शारीरिक दूरी का पालन करने की हिदायत भी दी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के दौरान समय पर परीक्षा कराने और लॉकडाउन के बावजूद समय से परीक्षा परिणाम घोषित किए जाने पर उप मुख्यमंत्री व माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ.दिनेश शर्मा के साथ ही विभाग के अधिकारियों और कर्मियों की सराहना की। कुशल मार्गदर्शन देकर मेधावी छात्र-छात्राओं को इस योग्य बनाने के लिए उन्होंने सभी विद्यालयों, आचार्यों, माता-पिता, अभिभावक और परिवार के सभी सदस्यों को भी बधाई दी। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि मेधावी विद्यार्थियों की प्रतिभा का लाभ प्रदेश और देश को मिलेगा।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बालिकाओं का उत्तीर्ण फीसद अधिक रहा, जो सराहनीय है। प्रसन्नता का विषय है कि कोविड-19 के बावजूद हाईस्कूल का परिणाम 83.31 फीसद और इंटरमीडिएट का 74.63 फीसद रहा है, जो पिछले वर्ष की तुलना में बेहतर है। उन्होंने कहा कि एक जुलाई से मार्कशीट वितरित होंगी। मुख्यमंत्री ने छात्र-छात्राओं को मास्क या फेस कवर लगाकर घर से निकलने और शारीरिक दूरी का पालन करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 को देखते हुए राज्य सरकार शिक्षा के संबंध में आगे की कार्ययोजना पर काम कर रही है। भारत सरकार द्वारा जो भी दिशा-निर्देश दिए जाएंगे, उनके आधार पर सभी संबंधित संस्थाओं के साथ विचार-विमर्श कर आगे की व्यवस्था तय की जाएगी।मेरिट में स्थान पाकर बढ़ाया माता-पिता व गुरु का सम्मान : सफल छात्र-छात्राओं और उनके अभिभावकों को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी बधाई दी है। उन्होंने विषम परिस्थितियों में उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन पूरा कराकर समय से परीक्षाफल घोषित करने पर प्रशंसा की है। शुभकामनाएं देते हुए राज्यपाल ने कहा कि विद्याॢथयों ने कड़ी मेहनत से मेरिट में स्थान प्राप्त कर अपने माता-पिता और गुरुओं के सम्मान को बढ़ाया है। हाईस्कूल परीक्षा में छात्रा के टॉप करने पर राज्यपाल ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि बेटियों के अच्छे प्रदर्शन से गर्व की अनुभूति होती है। उन्होंने कहा कि जो विद्यार्थी सफल नहीं हो सके हैं, वे निराश न हों। अपनी कमियों का आत्मविश्लेषण करें और मेहनत कर प्रयास करें, सफलता अवश्य मिलेगी। उपमुख्यमंत्री व लोक निर्माण विभाग के मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं परीक्षा में सफल सभी टॉप-20 छात्र-छात्राओं के घरों व स्कूलों तक डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम गौरव पथ के नाम से पक्की सड़कें बनाई जाएंगी। वहां पर एक बड़ा बोर्ड लगाकर विद्यार्थी के बारे में पूरा विवरण लिखा जाएगा। इससे छात्रों का मनोबल बढ़ेगा और उनके गांव व स्कूलों का भी नाम रोशन होगा। वह आगे की शिक्षा के लिए और अधिक प्रेरित होंगे। उन्होंने कहा कि आइसीएससी और सीबीएसई बोर्ड में सफल होने वाले सभी टॉप-20 छात्र-छात्राओं के घरों तक भी पक्की सड़कें बनवाई जाएंगी। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2017 के 24 मेधावी छात्रों के घरों तक 7.40 करोड़ रुपये से सड़कों का निर्माण व मरम्मत कराई गई। वर्ष 2018 के 89 मेधावियों के घर तक 23.17 करोड़ की लागत से सड़कें बनवाईं या मरम्मत कराई गई। इसी तरह 2019 के मेधावी छात्रों के घर तक 9.89 करोड़ रुपये की लागत से सड़कों का काम चल रहा है।





बेटे की चाहत में 9 बेटियां पैदा की

सुखविंदर सिंह की रिपोर्ट






भोपाल। बेटे की चाहत में इस किसान के घर में 9 बेटियां पैदा हो गईं। लेकिन उसकी इच्छा फिर भी अधूरी रह गई। ग्रामीण अंचलों में अभी भी बेटा और बेटी को लेकर भेदभाव पूरी तरह से मिटा नहीं है। यह मामला मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के एक गांव का है। अपनी अधूरी ख्वाहिश को लेकर जी रहे इस किसान के सामने एक समस्या और आकर खड़ी हो गई। किसान का कहना है कि उसके भाई जमीन पर कब्जा करना चाहते हैं। यह किसान इसकी शिकायत लेकर एसपी कार्यालय पहुंचा था। उसके साथ 5 बेटियां भी थीं। किसान का आरोप है कि पुलिस ने उसकी बात तो सुनी नहीं, उल्टा उसे ही मारपीट करके भगा दिया।

पुलिस ने कहा किसान ज्यादा जमीन चाहता है


यह हैं छतरपुर जिले के मातगवां थाना क्षेत्र के रहने वाले मोतीलाल राजपूत। इनके पास कोई बड़ी जागीर नहीं है। थोड़ी-बहुत खेती है, जिसके जरिये इनके परिवार का गुजारा चल रहा है। इनका कहना है कि बेटे की चाहत तो पूरी हुई नहीं, उनके भाई जमीन के पीछे पड़ गए हैं। अपने भाइयों की शिकायत लेकर ये एसपी आफिस आए थे। साथ में अपनी 5 बेटियां और पत्नी को भी लेकर आए थे। अब ये पुलिस पर मारपीट का आरोप लगा रहे हैं। इनका कहना है कि इनके पास जो खेत है, उस पर वे और दो अन्य भाई फसल उगाते हैं। भाई पूरी जमीन पर कब्जा करना चाहते हैं।उधर, माततगंवा थाना प्रभारी कमलजीत सिंह का कहना है कि भाइयों में मामूली विवाद है। सबको बैठाकर समझा दिया गया था। लेकिन मोतीलाल चाहता है कि वो पूरे खेत पर खेती करे। इसी बात को लेकर झगड़ा हो रहा है।







फ्लैट में देह व्यापार का धंधा, आठ अरेस्ट

सतविंदर सिंह की रिपोर्ट


जोधपुर। शहर के पावटा स्थित एक टावर के फ्लेटों में चल रहे देह व्यापार का पुलिस ने भंडाफोड़ करते हुए इसमें छह युवतियों और दो युवकों को गिरफ्तार किया है। इनके खिलाफ पीटा की कार्रवाई की गई है। पकड़ी गई युवतियां मुंबई, गुजरात, अहमदाबाद एवं नई दिल्ली की रहने वाली बताई जाती है। दोपहर तक पुलिस की कार्रवाई जारी थी।


एसीपी (केंद्रीय) देरावर सिंह ने बताया कि पावटा स्थित धर्मनारायण का हत्था के निकट जोधपुर टावर में कुछ फ्लेट्स में अनैतिक कारोबार की जानकारी मिली थी। तब महामंदिर थानाधिकारी सुमेरदान के साथ स्वयं एसीपी देरावर सिंह ने मयजाब्ते उक्त टावर पर रेड दी। अलग अलग फ्लेटों से छह युवतियों को पकडऩे के साथ दो अन्य युवक भी मिले। युवक ग्राहक बन कर आए हुए थे।


एसीपी देरावर सिंह के अनुसार युवतियां मुंबई, नई दिल्ली, गुजरात के अहदाबाद शहर की है। इनसे पूछताछ की जा रही है। सभी को पीटा की कार्रवाई में गिरफ्तार किया गया है। मुख्य आरोपित कौन है इसका पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। पकड़े गए युवक डांगियावास के राजू और पप्पूसिंह है और दोनों ग्राहक बनकर आए थे। दलाल पुलिस के हाथ नहीं लगा है। उसने अपना फोन बंद कर रखा है।


चरमराई व्यवस्थाएं, हालात हुए बेकाबू

अनिल अनूप की खास रिपोर्ट


नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सही ही कहा कि आज हमें चीन के खिलाफ दो युद्ध लड़ने पड़ रहे हैं। गलवान घाटी में खूनी संघर्ष और दिल्ली में चीनी कोरोना वायरस से। एक तरफ चीन के द्वारा भेजे गए कोरोना वायरस के खिलाफ और दूसरी तरफ चीन के खिलाफ बॉर्डर पर युद्ध चल रहा है। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण तेजी से विकराल रूप धारण करता जा रहा है। आर्थिक राजधानी मुंबईं को पीछे छोड़ दिल्ली अब देश में सबसे ज्यादा कोरोना मरीजों वाला महानगर बन गया है। बृहस्पतिवार को दिल्ली में 3390 नए मामले सामने आए। वुल मामले 73,780 हो गए जिनमें 44,765 ठीक हो गए और 2429 मौतें हुईं। जबकि मुंबईं में यह आंकड़ा 4480 नए मामले, वुल मामले 1,43,740 हैं। इनमें से 77,453 ठीक हो गए और वुल मौतें 6931 हैं। हालांकि सक्र‍िय मरीजों के लिहाज से मुंबईं अब भी दिल्ली से आगे है। मौतों के मामले में भी दिल्ली की मुंबईं से बेहतर स्थिति है। दिल्ली में मृत्युदर 3.3 प्रातिशत है, जबकि मुंबईं में यह दर 5.7 प्रातिशत है।


देश में कोविड-19 से संक्रमण का पहला मामला केरल में 30 जनवरी को आया था और उसके पांच महीने बाद संव््रामण के मामले पांच लाख के करीब पहुंच चुके हैं, जो यह समझने के लिए पर्यांप्त है कि महामारी से लड़ाईं अभी जारी है। भारत अभी अमेरिका, ब्राजील और रूस के बाद दुनिया का चौथा सर्वाधिक प्राभावित देश है, जबकि मौत के मामले में वह रूस से आगे हो गया है। यों तो देश में 30 प्रातिशत मामले महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु, गुजरात और उत्तर प्रादेश में हैं। लेकिन पािमी बंगाल, राजस्थान, मध्य प्रादेश, हरियाणा, कर्नाटक, आंध्र प्रादेश और तेलंगाना जैसे राज्यों में संव््रामण के मामले या तो 10 हजार के आंकड़े को पार कर चुके हैं या उसके करीब हैं। दरअसल संक्रमण के मामलों में यह वृद्धि जांच में बढ़ोतरी की वजह से भी है। 24 मईं को खत्म हुए हफ्ते में जहां पॉजिटिव पाए जाने वाले लोगों की दर 5.37 प्रातिशत थी, वहीं 21 जून को खत्म हुए हफ्ते में 7.74 प्रातिशत हो गईं है। चूंकि जांच में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, लिहाजा संक्रमित लोगों की संख्या और बढ़ सकती है, जिससे स्वास्थ्य सेवाओं पर दबाव बढ़ना तय है।


कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की बढ़ती संख्या के कारण अन्य बीमारियों से पीड़ित लोगों के इलाज में जो मुश्किलें आ रही हैं, वह तो एक अलग चुनौती है। दिल्ली में आए दिन किसी न किसी की मौत की खबर आती है और इनमें अधिकतर कोरोना की वजह से मौत नहीं हुईं, यह पुराने बीमार थे जिन्हें या तो डॉक्टर की सुविधा कोविड की पाबंदियों की वजह से नहीं मिल रही, पुराने क्रोनिक पेशंट को अस्पताल में दाखिले में मुश्किल आ रही है। दिल्ली सरकार वेंद्र के साथ कंधे से कंधा मिलाकर इस मनहूस महामारी का सामना तो कर रही है, प्रबंध भी कर रही है पर समस्या इतनी विकराल रूप धारण करती जा रही है कि कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा होना लाजिमी है।


केवल प्रचार से ही मिल जाएगा रोजगार

शशांक तिवारी की रिपोर्ट


लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में ‘आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान’ की शुरुआत को लेकर शनिवार को सवाल किया कि क्या सिर्फ प्रचार करने से युवाओं को रोजगार मिल जाएगा। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ‘आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान’ की शुरूआत की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में जिस तरह ‘आपदा’ को ‘अवसर’ में बदला गया, देश के अन्य राज्यों को भी इस योजना से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। प्रियंका ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘कल उत्तर प्रदेश में रोजगार के एक ईवेंट की खूब ढोल पीट कर शुरुआत हुई। इस कार्यक्रम में रोजगार की जिन भी श्रेणियों की बात की गई, उनमें से ज्यादातर की हालत पतली है।’ उन्होंने दावा किया, ‘स्वरोजगार वाले लोग सरकार से सीधे आर्थिक मदद के अभाव में जबरदस्त संकट में हैं। छोटे और मझोले क्षेत्र के उद्योगों की हालत तो इतनी पतली है कि एक अनुमान के अनुसार 62 प्रतिशत एमएसएमई नौकरियों में कटौती और 78 प्रतिशत तनख्वाहों में कटौती करेंगे।’


विद्युत वितरण करने वाली दो कंपनी रद्द

रायपुर। छत्तीसगढ़ विद्युत मंडल का विखंडन कर जिन पांच कंपनियों में बांटा गया था, उनमें से अब जनरेशन, ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी ही रह जाएगी। ट्रेडिंग और होल्डिंग कंपनियों को भंग किया जाएगा। सीएम भूपेश बघेल ने बिजली कंपनी के अधिकारियों की बैठक के बाद इस पर हरी झंडी दे दी है। कैबिनेट की अगली बैठक में तीन कंपनियां बनाने का फैसला लिया जाएगा।


प्रदेश सरकार कोरोना काल में खर्चों में कटौती को लेकर हरसंभव उपाय करने में लगी है। इसी सिलसिले में सीएम बघेल सरकारी उपक्रमों के पुनर्गठन पर भी जोर दे रहे हैं। शनिवार को सीएम और ऊर्जा मंत्री बघेल ने बिजली कंपनियों के कामकाज का बारीकी से रिव्यू किया। सीएम ने 10 दिनों के भीतर दूसरी बार बिजली अफसरों की बैठक की। उन्होंने बिजली कंपनियों के चेयरमैन सुब्रत साहू समेत सभी एमडी के साथ बैठक कर 5 कंपनियों के पुनर्गठन को लेकर अब तक हुई कार्यवाही की जानकारी ली। बिजली कंपनियों का पुनर्गठन कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र का भी हिस्सा रहा है। इसे देखते हुए सीएम बघेल ने इसमें हो रही देरी पर नाराजगी भी जताई। अफसरों ने बताया कि कंपनी एक्ट के तहत पुनर्गठन के लिए राज्य सरकार से अनुमति जरूरी है। इस पर सीएम ने कैबिनेट की अगली बैठक में प्रस्ताव लाने कहा है। उसके बाद नई कंपनियों के री-स्ट्रक्चर पर कंपनी मामलों के केंद्रीय विभाग से मंजूरी लेनी होगी।


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यहां अपने निवास कार्यालय में आयोजित बैठक में छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कम्पनियों और क्रेडा के कार्यों की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने क्रेडा के अधिकारियों से कहा कि पहुंच विहीन और दुर्गम इलाकों में सोलर के जरिए विद्युत की व्यवस्था के साथ ही नदी किनारे जहां विद्युत लाइन नहीं हैं, उन स्थानों पर सोलर पम्प किसानों को दिए जायें। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन स्थानों पर पानी में हैवी मेटल या खारे पानी होने की शिकायत है वहां सतही जल (सरफेस वाटर) के माध्यम से जल आपूर्ति की व्यवस्था की जाए। मुख्यमंत्री ने गरियाबंद के सुपेबेड़ा में नदी के जल से और बेमेतरा, बालोद, धमधा, साजा और नवागढ़ में खारे पानी की शिकायत के कारण सरफेस वाटर का उपयोग कर जल आर्पूिर्त के लिए योजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने विद्युत कम्पनियों की विभिन्न योजनाओं और सीएसआर मद के कार्यों की समीक्षा की । मुख्यमंत्री ने निजी विद्युत संयंत्रों से वेरिएबल कास्ट पर मिलने वाली बिजली की समीक्षा करते हुए कहा कि निर्धारित मात्रा में विद्युत प्रदाय नहीं करने वाले संयंत्र को नोटिस जारी किया जाये। बैठक में सोलर पेयजल योजना, सौभाग्य योजना, सौर सुजला योजना, सोलर कोल्ड स्टोरेज, शासकीय भवनों का सौर उर्जीकरण, सोलर विद्युत संयंत्र आदि योजनाओं की समीक्षा की गयी।


'मन की बात' चीन को जवाब मिला

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। मन की बात' रेडियो कार्यक्रम के जरिए प्रधानमंत्री मोदी देश को संबोधित कर रहे हैं। कार्यक्रम में पीएम मोदी ने चीन संकट पर बात की। कहा कि लद्दाख में उसे करारा जवाब मिला है। इसके साथ पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट, मॉनसून और साल 2020 पर भी बात की।


 बोले-हम कहां जानते थे कि कोरोना जैसा संकट आएगा। देश में नित नई चुनौतियां सामने आ रही हैं। देश के पूर्वी छोर पर तूफान आया। किसान भाई बहन टिड्डी दल के हमले से परेशान हैं। देश में छोटे-छोटे भूकंप आ रहे हैं। इन सब के बीच पड़ोसी जो कर रहे हैं देश उससे भी निपट रहा है। चुनौतियां आती हैं। एक साल में एक चुनौती आए या 50 चुनौती आए। इससे साल खराब नहीं होता। भारत का इतिहास चुनौतियों सो भरा रहा है। सैकड़ों आक्रांताओं ने देश पर हमला किया लेकिन इससे भारत और भी भव्य होकर सामने आया।


लद्दाख में भारत की तरफ आंख उठाने वालों को करारा जवाब मिला है। भारत मित्रता निभाना जानता है तो आंख में आंख डालकर चुनौती देना भी जानता है।

 हमारे यहां कहा जाता है, सृजन शास्वत है, सृजन निरंतर है यह कल-कल छल-छल बहती क्या कहती गंगा की धारा? युग-युग से बहता आता यह पुण्य प्रवाह हमारा। क्या उसको रोक सकेंगे, मिटनेवाले मिट जाएँगे। कंकड़-पत्थर की हस्ती, क्या बाधा बनकर आए।

 अब लॉकडाउन से देश बाहर आ चुका है और अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है लेकिन इस दौरान लॉकडाउन से ज्यादा सतर्कता बरतनी है। मास्क पहनना और दो गज की दूरी बनाना बहुत जरूरी है। आप लापरवाही न बरतें। अपना भी ख्याल रखें और दूसरों का भी। लद्दाख में हमारे जो वीर जवान शहीद हए हैं, उनके शौर्य को पूरा देश नमन कर रहा है, श्रद्धांजलि दे रहा है। पूरा देश उनका कृतज्ञ है, उनके सामने नत-मस्तक  है। इन साथियों के परिवार की तरह ही, हर भारतीय, इन्हें खोना का दर्द अनुभव कर रहा है।

 कोई भी मिशन जन भागेदारी के बिना पूरा नहीं हो सकता। इसलिए आत्मनिर्भर भारत की दिशा में एक नागरिक के तौर पर हम सबका संकल्प, समर्पण और सहोयोग बहुत जरूरी है। आप लोकल खरीदेंगे, लोकल के लिए वोकल होंगे तो समझिए देश को मजबूत करने की दिशा में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। देश के बड़े हिस्से में मॉनसून पहुंच चुका है। बारिश को लेकर वैज्ञानिक भी उत्साहित हैं। बारिश अच्छी होगी तो किसान समृद्ध होगा। बारिश दोहन की भरपायी करती है। इसमें हमें अपना दायित्व निभाना हैं। इस अनलॉक के दौरान ऐसी चीजें अनलॉक हो रही हैं जिनमें देश दशकों से बंधा था। वर्षों से हमारा माइनिंग सेक्टर लॉकडाउन में था। कमर्शल ऑक्शन को मंजूरी देने के लिए निर्णयने स्थिति को  पूरी तरह से बदल दिया है। कुछ ही दिनों में स्पेस सेक्टर में ऐतिहासिक सुधार हुए।

 आज 28 जून को भारत अपने भूतपूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव जी को श्रद्धांजलि दे रहा है। आज से उनकी जन्म शताब्दी शुरू हो रही है। वह स्वाभाविक राजनेता थे। कई भाषाओं को जानते थे। वह अपनी आवाज बुलंद करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते थे। यू.पी. के बाराबंकी में गांव लौटकर आए मजदूरों ने कल्याणी नदी का प्राकृतिक स्वरूप लौटाने के लिए काम शुरू कर दिया। नदी का उद्धार होता देख, आस-पास के किसान, आस-पास के लोग भी उत्साहित हैं।


चीन बॉर्डर पर नया पुल तैयार किया

पिथौरागढ़। उत्तराखंड में मुनस्यारी-मिलम सड़क पर बीआरओ (बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन) की टीम ने महज पांच दिन में भारत को चीन सीमा से जोड़ने वाला नया पुल तैयार कर दिया है। शनिवार को पुल पर पोकलैंड, ड्रोजर और बीआरओ के ट्रक को चलाकर ट्रायल लिया गया। बीआरओ के अधिकारियों के अनुसार, पुल सही तरीके से बनकर तैयार हो गया है। जल्द ही इस पर वाहनों की आवाजाही शुरू कर दी जाएगी। सैनरगाड़ नदी पर बना पुल 22 जून को पोकलैंड ले जा रहे ट्राला के गुजरते समय टूट गया था।

पुल के महत्व को देखते हुए बीआरओ ने 23 जून से नया पुल बनाने का काम शुरू किया था। पुल बनने से चीन सीमा के लिए आवागमन आसान हो जाएगा। इसके अलावा मुनस्यारी के मल्ला जोहार क्षेत्र के ग्रामीणों को भी राहत मिलेगी। सेनरगाड़ में बना यह पुल इसलिए भी खास है क्योंकि, सेना और आईटीबीपी को इसी रास्ते से चीन सीमा पर बनी पोस्टों पर रसद और खाद्य सामग्री पहुंचाई जाती है। पुल टूटने से सेना को दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा था। वहीं, पुल के टूटने से सीमांत के लोग भी खासे परेशान थे। पुल के टूटने से सीमांत के 10 माइग्रेशन गांव मिलम, बिल्जू, बुर्फू, तूला, पांछू, गनघर, रालम, खिलांच, लास्पा, रिलकोट, लास्पा, बौगडियार और रालम सहित कई अन्य गांवों के लोगों का संपर्क भी जिला मुख्यालय से टूट गया था। मानसून काल से पूर्व सीमांत के ग्रामीण जरूरतमंद चीजों को गांवों तक पहुंचा देते थे लेकिन इस बार सड़क और पुल के बनने के बाद लोग आराम से चीजों को गांवों तक पहुंचा रहे थे।

तीन बच्चों की हत्या कर, की आत्महत्या

नालासोपारा। मुंबई से सटे नालासोपारा इलाके से शनिवार रात एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई। नालासोपारा के डॉननेल क्षेत्र में एक पिता ने अपने तीन बच्चों की धारदार हथियार से बेरहमी से हत्या करने के बाद खुद के खुदकुशी कर ली। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पिता कैलाश परमार (40 वर्ष), ने पहले मासूम बच्चों, नयन परमार (10 वर्ष), नंदनी परमार (8 वर्ष), नयना परमार(5 वर्ष) की हत्या कर अपने जीवन को भी खत्म कर लिया। पुलिस पूरी मामलों को लेकर छानबीन कर रही हैं। आर्थिक तंगी और पत्नी के अवैध संबंध होने के शक में  कैलाश परमार ने अपने तीनों बच्चों की हत्या कर आत्महत्या का मामला सामने आ रहा हैं।फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।


मृतक के परिजन नहीं करेंगे मकान खाली

मृतक किराएदार के परिजनों से घर खाली नहीं करा सकते मकान मालिक : सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। किराएदारों को राहत देने वाले फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि मृतक किराएदार के परिजनों से मकान खाली नहीं करवाया जा सकता। किराएदार के मरने के बाद उसके परिजन मकान में रह सकते हैं। उनका किराए की संपत्ति में रहना सब्लेटिंग (किराएदार द्वारा संपत्ति को किसी अन्य को किराए पर चढ़ा देना) नहीं माना जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने यह व्यवस्था देते हुए उत्तराखंड हाईकोर्ट के फैसले को निरस्त कर दिया, जिसमें किराएदार के परिजनों को उप किराएदार मानकर यूपी शहरी भवन (किराएदारी, किराया और खाली करने के विनियमन) एक्ट, 1972 की धारा 16(1)(बी) के तहत मकान को खाली घोषित कर दिया था। जस्टिस नवीन सिन्हा और बीआर गवई की पीठ ने मामले में हाईकोर्ट को भी आड़े हाथ लिया और कहा कि किराया नियंत्रक के आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट को अनुच्छेद 227 के तहत अपील नहीं सुननी चाहिए थी।

 

इस अनुच्छेद के तहत हाईकोर्ट अपीलीय कोर्ट का क्षेत्राधिकार ग्रहण नहीं कर सकता। पीठ ने कहा कि हाईकोर्ट ने देहरादून जिला जज के बेहद तार्किक और संतुलित आदेश के खिलाफ अनुच्छेद 227 के तहत रिट स्वीकार कर गलती की है। जिला जज के आदेश के खिलाफ रिट क्षेत्राधिकार का प्रयोग करना हाईकोर्ट की अवांछित कारवाई थी।

क्या है मामलाः मामले के अनुसार, संजय कुमार सिंघल ने मो. इनाम (किराएदार का पुत्र) से लंढौर बाजार मसूरी में अपनी संपत्ति यह कहकर खाली करने के लिए 1999 में अर्जी दी कि रशीद अहमद ने संपत्ति को उपकिराएदरी पर उठा दिया है। यूपी शहरी भवन (किराएदारी, किराया और खाली करने के विनियमन ) एक्ट, 1972 के तहत किराया निरीक्षक ने संपत्ति का औचक निरीक्षण किया और संपत्ति में किराएदार को नहीं पाया। किराएदार रशीद अहमद की जगह मकान में कुछ लोग मिले। रशीद अपने गांव गए थे। किराया निरीक्षक ने धारा 16(1)(बी) के तहत रिपोर्ट दी और संपत्ति को रिक्त घोषित कर दिया। रशीद ने आपत्ति अर्जी दायर की और कहा कि संपत्ति में उसके भाई और उनके परिवार रह रहे हैं। परिवार के बाहर का कोई भी उसमें नहीं रहता।

किराया अधिकारी ने आदेश में कहा कि मकान में रहने वाले यह सिद्ध नहीं कर सके कि वे उसमें रशीद के साथ 1965 से रह रहे हैं। किराया नियंत्रक ने 2003 में संपत्ति को खाली घोषित कर दिया। इस बीच रशीद की मृत्यु हो गई। रशीद के परिजनों ने जिला जज के समक्ष 2007 में इस आदेश को चुनौती दी, जिसमें जिला जज ने कहा कि मामले में धारा 16(1)(बी) लागू नहीं हो सकती, क्योंकि यहां सब्लेटिंग नहीं है। मूल किराएदार के परिजन ही संपत्ति में निवास कर रहे हैं। जिला जज ने किराया नियंत्रक के मकान खाली करने के आदेश को निरस्त कर दिया। इस आदेश के खिलाफ मकान स्वामी अनुच्छेद 227 के तहत हाईकोर्ट गए और हाई कोर्ट ने जिला जज के आदेश को निरस्त कर दिया तथा मकान को खाली करने के आदेश कर दिए। उच्च अदालत के इस आदेश को रशीद के परिजनों ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।

एडवोकेट प्रताप सिंह सुवाणा

चार शादियां की, 3 बीवियों को तलाक

पटना। कॉलेज के प्राचार्य ने बेटे की चाह में चार-चार शादियां कर ली है। ताज्जुब की बात यह है कि सभी चारों पत्नियां एक ही कॉलेज की शिक्षिका हैं। इससे भी हैरत की बात यह है कि प्राचार्य ने निकाह करने से पहले पत्नियों का निकाह दूसरे व्यक्ति से कराकर, तलाक दिलवाया फिर निकाह किया। 


दो महीने बाद पता चला कि उसका पति पहले से शादीशुदा है और अब चौथा निकाह करने जा रहा है। जब तक वह पति के पास पहुंचती, निकाह हो चुका था। जब विरोध करने लगी तो पति ने तीन बार तलाक, तलाक तलाक बोलकर कहा कि मैंने तुझे तलाक दिया जाओ। पिछले दस दिनों से आलमगंज थाना से लेकर महिला थाना का चक्कर लगा रही थी। शनिवार को महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई। महिला थाना में प्राचार्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हो गई। थाने की पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है। उसने सैयद इकबाल के कहे अनुसार दूसरे व्यक्ति से निकाह किया, फिर तलाक लेकर उससे निकाह किया। निकाह के बाद अपना मकान रहते हुए किराये के मकान में रखता था। इसी दौरान वह गर्भवती हो गई। पति ने गर्भपात कराने की कोशिश की। फिर भी बच्ची पैदा हो गई। बेटी के पैदा होते ही पति ने मारपीट करना शुरू कर दिया।


बेटी पैदा होते ही छोड़कर दूसरी शिक्षिका से निकाह किया। प्राचार्य ने पढ़ाई के दौरान ही सभी के साथ रिश्ता बनाया फिर निकाह भी किया। तीसरी पत्नी ने पति सैय्यद इकबाल के खिलाफ शनिवार को महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी है। महिला का कहना है कि साल 2011 में उसका ओरिएंटल कॉलेज के प्राचार्य सैयद इकबाल अफजल से से निकाह हुई थी।  निकाह से पहले पति ने ही एक व्यक्ति से निकाह कराया और बोला कि निकाह करने के बाद तलाक ले लो तभी निकाह करेंगे। 


चाइल्ड पोर्नोग्राफी में 47 को किया गिरफ्तार

बेंगलुरु। केरल पुलिस ने कोरोना वायरस की महामारी को नियंत्रित करने के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान इंटरनेट पर कथित रूप से बच्चों से संबंधित अश्लील सामग्री तलाश रहे 47 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिनमें कई युवा भी शामिल हैं। राज्य पुलिस ने शनिवार (27 जून) को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार लोगों से करीब 140 इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जब्त की गई है। केरल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) मनोज अब्राहम ने बताया कि राज्य में बच्चों के यौन उत्पीड़न की सामग्री को लेकर ऑनलाइन गतिविधि खासतौर पर डॉर्कनेट (गुप्त वेबसाइट जिसका उपयोग केवल विशिष्ट सॉफ़्टवेयर आदि के साथ ही किया जा सकता है) पर बढ़ने के बाद बाल यौन शोषण निषेध (सीसीएसई) टीम सक्रिय हुई।अब्राहम ने बताया कि इसके बाद पूरे राज्य में शनिवार सुबह छापे मारे गए और इन लोगों की गिरफ्तारी की गई। उन्होंने बताया कि कई लोगों पर नजर रखी जा रही है और जब्त किए गए मोबाइल फोन, मॉडम, हार्ड ड्राइव, मेमोरी कार्ड, लैपटॉप और कंप्यूटर जैसे उपकरणों में मौजूद बच्चों के गैरकानूनी वीडियो एवं तस्वीरों की वैज्ञानिक पड़ताल करने के बाद और गिरफ्तारी की जाएगी। 


अब्राहम ने कहा कि सबसे परेशान करने वाली बात यह है कि वीडियों और तस्वीरों में दिख रहे छह से 15 साल के बच्चे स्थानीय लग रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह व्हाट्सएप और टेलीग्राम पर कई पोर्न समूहों के संचालन की बात सामने आई। कोविड-19 के चलते लागू लॉकडाउन के दौरान यह चलन बढ़ा है। अब्राहम ने बताया कि देश के विभिन्न इलाकों में वायरस के जरिए वेबकैम को हैक कर पीड़ित बच्चों की सूचना चोरी करने के मामले भी सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन की वजह से घरों में बंद बच्चों का उत्पीड़न होने के सबूत हैं और इस अवधि में अपलोड तस्वीर/ वीडियो से संदेह पैदा होता है कि कई लोग बच्चों की तस्करी में शामिल हैं और उनके उपकरणों में इस संबंध में कई चैट हैं।


अब्राहम ने कहा कि पुलिस महानिरीक्षक (अपराध) की देखरेख में 117 टीमों का गठन किया गया है, जो एक साथ छापेमारी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि 89 मामले दर्ज किए गए हैं और बच्चों की तस्वीरों और वीडियों का प्रसार करने में शामिल और लोगों की जानकारी जुटाई जा रही है। केरल पुलिस की सीसीएसई इकाई का गठन इस साल जनवरी में किया गया था ताकि बच्चों के ऑनलाइन उत्पीड़न और अश्लील सामग्री को रोका जा सके। टीम, इंटरपोल की बाल अपराध रोधी इकाई और अंतरराष्ट्रीय गुमशुदा और शोषित बाल केंद्र (आईसीएमईसी) के करीबी संपर्क में कार्य कर रही है।


पुलिस ने कहा कि लोग इस संबंध में उच्च प्रौद्योगिकी अपराध पूछताछ प्रकोष्ठ, साइबरडोम या साइबर प्रकोष्ठ को यथा शीघ्र सूचना दें। पुलिस ने बताया कि कोल्लम जिले में नौ लोगों को, एर्नाकुलम एवं पलक्कड़ जिलों में पांच-पांच, तिरुवनंतपुरम और कोझिकोड में चार-चार, कन्नूर-अलप्पुझा- कोटट्यम जिलों में तीन-तीन, पथनमथिट्टा-मल्लापुरम-त्रिशूर-कासरगोड और वायनाड में दो-दो और इडुकी में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।


पुलिस विज्ञप्ति के अनुसार- मौजूदा कानून के तहत बाल अश्लील सामग्री को देखना, वितरण करना और जमा करना दंडात्मक अपराध है और दोषी पाए जाने पर पांच साल कारावास और 10 लाख रुपए तक जुर्माना हो सकता है। पुलिस ने कहा कि बाल सुरक्षा समाज के सभी व्यक्तियों की जिम्मेदारी है। पुलिस ने समुदाय से सहयोग करने की अपील करते हुए कहा कि वे ऐसे चैनल और समूह की जानकारी दें जो बाल यौन उत्पीड़न की सामग्री का प्रसार करते हैं।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


  जून 29, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-321 (साल-01)
2. रविवार, जूूून 29, 2020
3. शक-1943, अषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि- नवमी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:31,सूर्यास्त 07:28।


5. न्‍यूनतम तापमान 27+ डी.सै.,अधिकतम-39+ डी.सै.। तेज हवाओं के साथ बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...