शुक्रवार, 7 जनवरी 2022

केशव ने 542 परियोजनाओं का शिलान्यास किया

केशव ने 542 परियोजनाओं का शिलान्यास किया
गणेश साहू         
कौशाम्बी। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शुक्रवार को कौशाम्बी जिले के मीठे पुर सायरा में आयोजित कार्यक्रम के माध्यम से 1346 करोड़ 66 लाख रुपए कीमत की 542 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया है। इस मौके पर उन्होंने केंद्र प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं का बखूबी बखान किया है। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि केंद्र की मोदी और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में ही गांव गरीब का विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया गया है। इससे आम जनता की दिक्कतें दूर हुई है।
कार्यक्रम के शुरुआत में जोरदार माल्यार्पण कर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का स्वागत किया गया है। जिन परियोजनाओं का डिप्टी सीएम द्वारा आज लोकार्पण शिलान्यास किया गया है। उनमें लोक निर्माण विभाग के 498 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया है। जिसकी कीमत 1266 करोड़ 90 लाख रुपए है। 
डिप्टी सीएम द्वारा लोक निर्माण विभाग की 74 करोड़ 88 लाख की 41 परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया है। इसके अलावा राज्य सेतु निगम की दो परियोजनाओं का डिप्टी सीएम द्वारा लोकार्पण किया गया। जिसकी लागत 3 करोड़ 98 लाख रुपए है। राजकीय निर्माण निगम द्वारा एक परियोजना का भी लोकार्पण डिप्टी सीएम द्वारा किया गया। जिसकी लागत 2 करोड़ 11 लाख रुपए है। कार्यक्रम के दौरान चायल विधायक संजय गुप्ता सिराथू विधायक शीतला प्रसाद पटेल, जिला अध्यक्ष अनीता त्रिपाठी सहित तमाम पार्टी पदाधिकारी कार्यकर्ता विभागीय अधिकारी कर्मचारी और आम जनमानस मौजूद रहें।

डीएम ने पशुपालन विभाग के कार्यों की समीक्षा की
हरिशंकर त्रिपाठी          
देवरिया। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने विकास भवन स्थित गांधी सभागार में पशुपालन विभाग के कार्यों की मासिक समीक्षा की। समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य सचिव के निर्देश पर जनपद में चल रहे निराश्रित गोवंशों को गो-आश्रय स्थलों में संरक्षित करने के विशेष अभियान की प्रभाविता बढ़ाने तथा गो-आश्रय स्थलों में संरक्षित गोवंशों के ठंड से बचाव के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने कहा कि अभी तक इस अभियान के तहत जनपद में कुल 75 निराश्रित गोवंशों को गो-आश्रय स्थल पहुंचाया जा चुका है। आगामी 3 दिनों में अभियान को और तेज करने की आवश्यकता है। जिससे सभी निराश्रित गोवंशों को गो-आश्रय स्थलों में संरक्षित किया जा सके। जिलाधिकारी ने नगर निकायों के अधिशासी अधिकारी, खंड विकास अधिकारी और पशुपालन विभाग आपसी समन्वय से समेकित प्रयास कर अभियान को सफल बनाने का निर्देश दिया।
समीक्षा बैठक में पशुचिकित्सा अधिकारी पीएन सिंह ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि जनपद के समस्त गो-आश्रय स्थलों में वर्तमान में 1266 गोवंश संरक्षित हैं। जिन्हें ठंड से बचाव हेतु पशुपालन विभाग द्वारा काऊ कोट उपलब्ध करा दिया गया है। साथ ही ठंडी हवा और शीत से बचाव के लिए तिरपाल की व्यवस्था भी सभी गो-आश्रय स्थलों पर कर ली गई है। जिलाधिकारी ने सभी 11 नगर निकायों के अधिशासी अधिकारियों और सभी 16 ब्लॉकों के खंड विकास अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में स्थापित गो-आश्रय स्थलों का औचक निरीक्षण कर ठंड से बचाव के लिए की गई व्यवस्था का जायज़ा लेते रहने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी ने कहा कि सभी गो आश्रय स्थलों पर हरे चारे-भूसे और पानी की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। सभी गो-आश्रय स्थलों पर चौकीदारों की तैनाती तथा पशु-चिकित्सकों द्वारा नियमित अंतराल पर गोवंशों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाये। समीक्षा बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम गुंजन द्विवेदी, एसडीएम सौरभ सिंह, एसडीएम ध्रुव कुमार शुक्ला, एसडीएम संजीव उपाध्याय सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

डीएम की अध्यक्षता में संयुक्त बैठक आयोजित 
बृजेश केसरवानी           प्रयागराज। विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 की तैयारियों के सम्बंध में जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री एवं वरिष्ठ पुुलिस अधीक्षक अजय कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को संगम सभागार में संयुक्त बैठक आयोजित की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने निर्वाचन से सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिसको जो भी दायित्व दिए गए है। उसको पूरी तन्मयता, निष्ठा एवं ईमानदारी से सम्पादित करें। 
उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग के द्वारा दिए जा रहे निर्देशों का बारीकी से अध्ययन करते हुए उसका पालन सुनिश्चित करें। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी उपजिलाधिकारियों तथा पुलिस क्षेत्राधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर मतदान केन्द्रों पर सभी आवश्यक व्यवस्थायें समय से सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने अवैध शराब के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई करने तथा चेक पोस्टों पर कड़ी चेकिंग किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने गुण्डा एक्ट तथा असामाजिक तत्वों के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। शस्त्रों को जमा कराने तथा अवैध असलहों के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई करने का निर्देश दिए है। 
संवेदनशील तथा अतिसंवेदनशील बूथों के सम्बंध में भी आवश्यक कार्रवाई करने के लिए कहा है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शिपू गिरि, एडीएम प्रशासन हर्षदेव पाण्डेय, एस.पी सिटी दिनेश सिंह, एस.पी गंगापार अभिषेक अग्रवाल तथा एसपी यमुनापार सौरभ दिक्षित सहित सभी उपजिलाधिकारी तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

कश्मीर: 2.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया

कश्मीर: 2.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया       

श्रीनगर। कश्मीर में लोगों को कड़ाके की ठंड से थोड़ी राहत मिली। हालांकि, अधिकतर स्थानों पर न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु के पास रहा। अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जहां बुधवार और बृहस्पतिवार की दरमियानी रात न्यूनतम तापमान 0.3 डिग्री सेल्सियस था।

गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान शून्य से 5.5 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, उससे एक दिन पहले रात को यहां तापमान शून्य से 3.5 डिग्री सेल्सियस नीचे था। पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से 0.4 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा, जहां रविवार रात तापमान शून्य से 0.8 डिग्री सेल्सियस नीचे था। उन्होंने बताया कि काजीगुंड में न्यूनतम तापमान 0.4 डिग्री सेल्सियस रहा।

हिमाचल: कोरोना के 511 नए मामलें सामने आए

श्रीराम मौर्य          शिमला। हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। प्रदेश में जिस रफ्तार से मामले बढ़ रहे है। उससे प्रदेश में जल्द तीसरी लहर आने की आंशका है। शुक्रवार को प्रदेश में 511 नए कोरोना मामलें सामने आए हैं। जबकि, जिला मंडी में 37 वर्षीय व्यक्ति ने दाम तोड़ा है। प्रदेश में कोरोना सक्रिय मामलों की संख्या दो हजार पारकर 2153 पहुंच गई है। बीते चार दिनों के भीतर ही प्रदेश में तीन गुणा रफ्तार से कोविड-19 मरीजों में बढ़ोतरी हुई है। सरकार ने संभावित तीसरी लहर को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। बिलासपुर से लौटने के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शुक्रवार को मुख्य सचिव राम सुभग सिंह और स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी से कोरोना का फीडबैक लिया।

उन्होंने विभाग को सैंपल बढ़ने के निर्देश दिए। शुक्रवार को प्रदेश में 7667 लोगों की सैंपलिंग हुई। इसे 10 हजार करने को कहा गया है। शनिवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर उपायुक्तों के साथ वर्चुअली बैठक करेंगे। मुख्य सचिव राम सुभग सिंह ने कहा कि शुक्रवार को कोरोना को लेकर उपायुक्तों के साथ बैठक की गई। इसमें अस्पताल में बिस्तर की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए गए। उपायुक्तों को व्यवस्था का जायजा लेने के लिए अस्पताल जाने को कहा गया है। इसके अलावा अस्पतालों में कोरोना से निपटने के इंतजाम, दवाइयां, मास्क आदि की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए।


दिल की बीमारियों के लिए फायदेमंद हैं 'वाइन'

दिल की बीमारियों के लिए फायदेमंद हैं 'वाइन'

सरस्वती उपाध्याय           वाइन और दिल के बीच के रिश्ते को नकारा नहीं जा सकता है। वैज्ञानिक शोधों में भी ये बात स्पष्ट की गई है कि लोअर हार्ट की बीमारियों से बचाने में वाइन पीना बेहद फायदेमंद साबित होता है। अब ताज़ा रिसर्च के मुताबिक एल्कोहॉल फ्री वाइन पीना भी दिल को उतना ही फायदा देने वाला है, जितना एल्कोहॉल वाली रेड वाइन देती है।

वाइन है दिल के लिए फायदेमंद: रिसर्च में 40 से 69 साल की उम्र के 4 लाख 50 हज़ार लोगों को शामिल किया गया था। शोध में पाया गया कि उन लोगों में दिल की बीमारी का खतरा कम पाया गया। जिन्होंने एक हफ्ते में 11 ग्लास वाइन पी थी। इन लोगों में ड्रिंक नहीं करने वाले और ज्यादा ड्रिंक करने वाले से 40 फीसदी कम कोरोनरी हार्ट डिज़ीज़ का खतरा था। ऐसा ही रिजल्ट उन लोगों में भी देखने को मिला, जो रोज़ाना नॉन एल्कोहॉल वाली वाइन पी रहे थे। ऐसा इसलिए था, क्योंकि वाइन की खूबियां एल्कोहॉल से नहीं, बल्कि अंगूर के ज़रिये आ रही थीं। अंगूर में पाए जाने वाले हाई एंटी ऑक्सीडेंट्स या पॉलीफेनल्स के चलते दिल की इनर लाइनिंग अच्छे से फंक्शन करने लगती है।

कितनी मात्रा में पीनी है वाइन: शोध में पाया गया कि जिन लोगों ने हफ्ते में 8-11 ग्लास रेस वाइन पी, उनमें दिल की बीमारी का खतरा कम हुआ। ठीक ऐसा ही उन लोगों के साथ भी हुआ, जिन्होंने एल्कोहॉल फ्री वाइन पी. मुख्य रिसर्चर डॉक्टर रुलोल्फ का कहना है कि अंगूर से बनी हुई एल्कोहॉल और दिल के बीच के अच्छे रिश्ते को नकारा नहीं जा सकता है। ऐसा ही एल्कोहॉल फ्री वाइन के साथ भी है, क्योंकि पॉलीफेनल्स दोनों ही वाइन में पाए जाते हैं। हालांकि रिसर्च में ये बात भी कही गई है कि जो लोग बियर, साइडर और स्पिरिट जैसी चीज़ें पीते हैं, उनमें कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

एशेज सीरीज में 0-3 से पिछड़ी 'इंग्लैंड' की टीम

मोमीन मलिक          सिडनी/ लंदन। पांच मैचों की एशेज सीरीज में इंग्लैंड की टीम पहले ही 0-3 से पिछड़ गई है और सीरीज का चौथा मैच सिडनी में जारी है। एससीजी में जारी एशेज सीरीज के चौथे टेस्ट मैच में भी इंग्लिश टीम की हालत खराब है। आस्ट्रेलिया की टीम ने चौथे टेस्ट मैच की पहली पारी में खबर लिखे जाने तक 400 से ज्यादा रन बना लिए हैं। वहीं, इंग्लैंड की टीम को आलराउंडर बेन स्टोक्स के रूप में झटका लगा है।

बेन स्टोक्स चोटिल हो गए हैं और वे दूसरे दिन मैदान से बाहर हो गए। बेन स्टोक्स की कमर में दर्द उठा था, जब वे गेंदबाजी कर रहे थे। इसके बाद उनको मैदान से बाहर जाना पड़ा और उनका ओवर मार्क वुड को पूरा करना पड़ा। प्रदर्शन के कारण परेशानी झेल रही इंग्लैंड की टीम को इस मैच में गेंदबाजी में भी परेशानी हुई। कप्तान जो रूट ने सात गेंदबाजों से गेंदबाजी कराई और खबर लिखे जाने तक 8 ही विकेट टीम को मिले हैं।

सिडनी में जारी चौथे टेस्ट मैच में पहले और दूसरे दिन बारिश ने जमकर खेल खराब किया। पहले दिन सिर्फ 46.5 ओवर का खेल हुआ था, जबकि दूसरे दिन पहले सत्र में काफी कम ओवर फेंके गए। आस्ट्रेलिया के लिए इस मैच में उस्मान ख्वाजा ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए शतक ठोका। उन्होंने 260 गेंदों में 13 चौकों की मदद से 137 रन बनाए। 67 रन की पारी स्टीव स्मिथ ने खेली। इंग्लैंड के लिए 5 विकेट स्टुअर्ट ब्राड ने चटकाए।

पेट्रोलिंग गश्त अभियान के तहत 2 आरोपी अरेस्ट

पेट्रोलिंग गश्त अभियान के तहत 2 आरोपी अरेस्ट

दुष्यंत टीकम        जगदलपुर। बस्तर पुलिस के द्वारा लगातार अपराधो की रोकथाम व नियंत्रण के लिये पेट्रोलिंग गश्त का अभियान चलाया जा रहा है। मामले की जानकारी देते हुए कोतवाली टीआई ऐमन साहू ने बताया कि गुरुवार को रात्रि लगभग 08ः00 बजे गणपति रिसाॅर्ट गोरिया बहार नाला पुल के पास आपसी रंजिश को लेकर दो पक्षो में हुये विवाद के संबंध में प्रार्थी राज कौशिक ने आरेापीगण पिंटु, शुभम सेट्ठी, शाहिल दास और सौरभ दास के खिलाफ मारपीट लड़ाई झगड़ा का रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रिपोर्ट की सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को उपचार हेतु महारानी अस्पताल भेजा गया। घटना की पुरी जानकारी के बाद आरोपियों के धर पकड़ हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जीतेन्द्र सिंह मीणा एवं अति पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश शर्मा के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक किरण चण्हाण के पर्यवेक्षण में निरीक्षक एमन साहू के नेतृत्व में टीम गठित कि गयी थी। 

घटनास्थल में जाकर आरोपियों का पता तलाश किया जा रहा था। तभी आरोपी शुभम सेट्ठी व पिंटु कश्यप संजय बाजार में कहीं छुपे होने की सूचना मिली जिन्हे पुलिस पार्टी के द्वारा घेराबंदी करके पकड़ा गया। आरोपी पिंटु कश्यप के कब्जे से धारदार चाकू बरामद किया गया। दोनो आरोपियों के द्वारा प्रार्थियों के साथ आपसी विवाद होने पर चाकु तथा डंडे से हमला करके चोट पहुंचाना स्वीकार किया गया। अपराध स्वीकार करने पर दोनो आरोपियों 1. प्रशांत उर्फ पिंटु कश्यप पिता विजय कश्यप उम्र 22 साल नि0 आमागुड़ा लालबाग गैस गोदाम के पास जगदलपुर 2. शुभम सेट्ठी पिता दुर्गासन सेट्ठी उम्र 21 निवासी ईतवारी बाजार संजय मार्केट पुलिस चैकी के पीछे जगदलपुर के खिलाफ थाना कोतवाली जगदलपुर के अप0क्र0-07/2022 धारा 294,324,506-बी,34 भादवि0 25 आम्र्स एक्ट के तहत् कार्यवाही कर, गिरफ्तार कर, माननीय न्यायालय न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।मामले के अनुसंधान में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले पुलिस अधिकारी:निरीक्षक एमन साहू, उपनिरीक्षक होरीलाल नाविक, पीयुष बघेल एवं बी0पी0 जोशी, सउनि0 सुधराम नेताम व प्रआर0 पुनीत शुक्ला।

दुष्कर्म मामलें में 4 वर्ष के कठोर कारावास की सजा

बृजेश केसरवानी        प्रयागराज। दुष्कर्म पीड़िता की अकेली गवाही सजा के लिए पर्याप्त आधार हैं। दुष्कर्म के एक मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यह फैसला सुनाया। जस्टिस राजेंद्र कुमार चतुर्थ की एकल पीठ ने कहा कि कोर्ट ने कहा कि पीड़िता के बयान की अन्य सुसंगत साक्ष्यों से समानता होना भी जरूरी नहीं है, जब तक कि ऐसा करना बेहद जरूरी न हो। कोर्ट ने कहा कि यह बात भी मायने नहीं रखती कि पीड़िता के बयान में मामूली विरोधाभास है।

कोर्ट ने कहा कि ऐसा कोई कानून नहीं है कि पीड़िता के बयान पर समर्थित साक्ष्यों के अभाव में विश्वास न किया जाए। कोर्ट के इस फैसले के बाद दुष्कर्म पीड़िता को 34 साल बाद न्याय मिला। शाहजहांपुर के मुस्तकीम ने ट्रायल कोर्ट के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिसकी सुनवाई करते हुए जस्टिस राजेंद्र कुमार चतुर्थ ने कहा कि पीड़िता ने अभियोजन की कहानी का पूरी तरह से समर्थन किया है। बचाव पक्ष द्वारा किये गए काउंटर में ऐसा कोई बिंदु उजागर नहीं हुआ जिससे पीड़िता के बयान पर अविश्वास किया जा सके।

न्यायलय ने सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट द्वारा प्रतिपादित दर्जनों न्यायिक सिद्धांतों का हवाला देते हुए कहा कि ऐसा कोई कानून नहीं है कि सुसंगत साक्ष्य के अभाव में पीड़िता पर विश्वास न किया जाए। कोर्ट ने बचाव पक्ष की उस दलील को भी खारिज कर दिया कि पीड़िता के अलावा अन्य कोई चश्मदीद गवाह घटना का नहीं है। यह दलील भी अस्वीकार कर दी कि पीड़ि‍ता के शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं है, इसलिए मामला आपसी सहमति का भी हो सकता है। कोर्ट ने अपील खारिज करते हुए अभियुक्त को 15 दिन के भीतर न्यायलय में समर्पण करने का आदेश दिया है। गौरतलब है कि ट्रायल कोर्ट ने इस मामले में अभियुक्त को चार वर्ष के सश्रम कारावास और पांच सौ रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।

रियलिटी टीवी शो का प्रोमो वीडियो वायरल हुआ

रियलिटी टीवी शो का प्रोमो वीडियो वायरल हुआ

कविता गर्ग        मुंबई। रियलिटी टीवी शो ‘हुनरबाज़’ अपनी रिलीज से पहले ही चर्चाओं में आ गया है। 22 जनवरी से प्रसारित होने वाले इस रियलिटी टीवी शो का एक प्रोमो वीडियो इस समय काफी वायरल हो रहा है। प्रोमो में जज फिल्ममेकर करण जौहर शो के एक कंटेस्टेंट के साथ रोमांटिक स्टाइल में डांस करते नज़र आ रहे हैं। वहीं, हुनरबाज़ के दो अन्य जज परिणिति चोपड़ा और वेटरन एक्टर मिथुन चक्रवर्ती यह देख अपनी हंसी नहीं रोक पाते हैं।इस प्रोमो वीडियो में एक कंटेस्टेंट रोहित ठाकुर दिखाई देते हैं जो शो में रंगबिरंगी ड्रेस पहनकर आए हैं। साथ ही रोहित ने लड़कियों की तरह पोनीटेल चोटी भी बांधी हुई है। रोहित, शो के जज करण जौहर से कहते हैं, ‘प्लीज मेरी तरफ मत देखिए मैं रोमांटिक हो रही हूं, पप्पी निकल सकती है मेरी। 

यह सुनकर करण जौहर कहते हैं, ‘मुझे देखकर आपको कुछ-कुछ होता है। इस बीच बैकग्राउंड में फिल्म कुछ-कुछ होता है का म्यूजिक भी सुनाई देता है। प्रोमो में दिखाई देता है कि करण जौहर इस कंटेस्टेंट के साथ ‘टिप टिप बरसा पानी’ सॉन्ग पर जमकर रोमांटिक डांस करते हैं। साथ ही इस दौरान करण एक मग पानी भी कंटेस्टेंट के ऊपर डाल देते हैं।

एक्ट्रेस आलिया ने रणबीर की तस्वीरों को शेयर किया

कविता गर्ग        मुबंई। आलिया भट्ट और रणबीर कपूर का प्यार जगजाहिर है। आलिया कभी भी रणबीर के बारे में बात करने या उनके लिए प्यार जताने में पीछे नहीं रहतीं। रणबीर कपूर बेहद टैलेंटेड हैं और इस बात को आलिया भट्ट अक्सर फ्लॉन्ट करती हैं। रणबीर की एक्टिंग के तो सभी दीवाने हैं, लेकिन उनके फोटोग्राफी स्किल्स का पता लोगों को आलिया के इंस्टाग्राम अकाउंट की वजह से पता चला है। आलिया अक्सर ही बॉयफ्रेंड रणबीर कपूर की खींची तस्वीरों को पोस्ट करती रहती हैं। न्यू ईयर के मौके पर दोनों वेकेशन पर गए थे। अब आलिया ने इस वेकेशन पर खींची तस्वीरों को शेयर किया है। साथ ही उन्होंने बताया कि बॉयफ्रेंड रणबीर कपूर ने उनकी इन क्यूट तस्वीरों को क्लिक किया है। शेयर करते हुए आलिया भट्ट ने लिखा, ''यूं ही अपने बॉयफ्रेंड के फोटोग्राफी स्किल्स को फ्लॉन्ट कर रही हूं। फोटोज की बात करें तो इसमें आलिया अलग-अलग पोज देती और क्यूट हरकतें करती नजर आ रही हैं। 

देखकर पता चलता है आलिया और रणबीर साथ में किसी शांत और ठंडी जगह पर हैं और अपना समय एन्जॉय कर रहे हैं। रणबीर कपूर के साथ रिश्ते की बात करें तो आलिया उनके साथ तीन सालों से हैं। दोनों ने फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' में साथ काम करना शुरू किया था। इसके बाद दोनों को प्यार हुआ। वैसे बॉयफ्रेंड बनने से पहले रणबीर, आलिया के क्रश हुआ करते थे। दोनों की शादी की चर्चा काफी समय से हो रही है। माना जा रहा है कि इस साल तो आलिया और रणबीर शादी कर ली लेंगे।

हाइपरसोनिक मिसाइल दागने का दावा: कोरिया

हाइपरसोनिक मिसाइल दागने का दावा: कोरिया

सुनील श्रीवास्तव         बीजिंग/ प्योंगयांग। चीन और उत्‍तर कोरिया से हाइपरसोनिक मिसाइलों और अंतरिक्ष आधारित हथियारों से बढ़ते खतरे से निपटने के लिए अमेरिका और जापान एक नए रक्षा सहयोग समझौते पर हस्‍ताक्षर करने जा रहे हैं। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने गुरुवार को इस समझौते का ऐलान किया। दोनों ही देशों के विदेश मंत्रियों ने इस पंचवर्षीय सुरक्षा समझौते को लेकर आपस में बात की है। अमेरिकी और जापानी विदेश मंत्री ने यह बातचीत ऐसे समय पर की है। जब उत्‍तर कोरिया ने हाइपरसोनिक मिसाइल दागने का दावा किया है।

एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिका-जापान गठबंधन को न केवल हमारे पास मौजूद तरीकों को मजबूत करना होगा, बल्कि नए तरीकों को तलाश करना होगा। उनका इशारा यूक्रेन सीमा पर रूस की सैन्‍य तैनाती, ताइवान के खिलाफ चीन के उकसावे वाली कार्रवाई और उत्‍तर कोरिया का हाइपसोनिक मिसाइल लॉन्‍च शामिल है। रूस, चीन और अमेरिका तीनों ही देश हाइपरसोनिक मिसाइलें बनाने में पूरी ताकत से जुटे हुए हैं जो अपनी तेज रफ्तार और रास्‍ता बदलने की क्षमता के कारण पकड़ में नहीं आती हैं।


यूरोपीय सुरक्षा के लिए बड़ी चुनौती पेश की: रूस

अखिलेश पांडेय       वाशिंगटन डीसी। अमेरिका और जर्मनी ने कहा है कि यूक्रेन की सीमा के पास रूस के सैन्य जमावड़े ने यूरोपीय सुरक्षा के लिए ‘तत्काल और बड़ी चुनौती पेश की’ है तथा किसी भी हस्तक्षेप के ‘गंभीर परिणाम’ होंगे। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और जर्मनी की विदेश मंत्री एनालेना बारबॉक ने बुधवार को वॉशिंगटन में बैठक के बाद रूस के मुद्दे पर एक राय जताने की कोशिश की। ब्लिंकन ने कहा, ‘जर्मनी और अमेरिका दोनों यूक्रेन के प्रति रूस की हरकत को यूरोप में शांति और स्थिरता के लिए तत्काल और बड़ी चुनौती के रूप में देखते हैं।’अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा, ‘हम यूक्रेन की सीमा पर रूस के सैन्य जमावड़े की निंदा करते हैं। रूस की तीखी बयानबाजी की भी हम निंदा करते हैं क्योंकि वह झूठी धारणा फैला रहा है कि यूक्रेन उकसावेबाजी कर रहा है।’ बारबॉक ने ब्लिंकन के बयान से सहमति जताते हुए कहा, ‘हमने संयुक्त रूप से कहा है कि रूस की कार्रवाई और गतिविधियां बिल्कुल स्पष्ट हैं और अगर रूस यूक्रेन की संप्रभुता का उल्लंघन करेगा तो उसके गंभीर परिणाम होंगे।’ ब्लिंकन-बारबॉक की इस बैठक के एक सप्ताह पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने फोन पर वार्ता की थी।

बाइडेन ने यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेंस्की से भी रविवार को बात की थी। ब्लिंकन ने कहा, ‘मूल सवाल यह है कि क्या रूस कूटनीति को लेकर गंभीर है, क्या वह तनाव कम करना चाहता है? देखते हैं अगले कुछ सप्ताह में क्या हालात पैदा होते हैं।’ बायडेन प्रशासन रूस के खिलाफ कार्रवाई के लिए अंतरराष्ट्रीय सहमति बनाने का प्रयास कर रहा है और इसके लिए जर्मनी का साथ जरूरी है। यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश जर्मनी का साथ मिल जाने से अमेरिका को रूस के खिलाफ कदम उठाने में मदद मिलेगी।

वरिष्ठ सैन्य जनरल को अमेरिकी कमांडर नामित किया

अखिलेश पांडेय        वाशिंगटन डीसी। इराक और अफगानिस्तान युद्ध के दौरान अहम भूमिका निभा चुके एक वरिष्ठ सैन्य जनरल को पश्चिम एशिया के लिए शीर्ष अमेरिकी कमांडर नामित किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रपति जो बाइडन ने लेफ्टिनेंट जनरल एरिक कुरिला को अमेरिकी मध्य कमान का प्रमुख नामित किया है और उन्हें प्रोन्नत करके चार स्टार जनरल बनाया जाएगा। वर्तमान में कुरिला तीन स्टार जनरल हैं। संसद की सशस्त्र सेवा समिति के एक नोटिस में कहा गया है कि कुरिला को जनरल नामित किया गया है। इसमें यह जानकारी नहीं दी गई कि यदि उन्हें नियुक्ति मिल जाती है तो उन्हें क्या काम करना होगा, लेकिन इस पद पर उनके नामांकन की चर्चा काफी वक्त से थी।

संसद ने यदि कुरिला के नाम को मंजूरी दे दी तो वह मरीन जनरल फ्रैंक मैकेंजी का स्थान लेंगे। मैकेंजी पिछले तीन वर्षों से इस पद पर हैं और सेवानिवृत्त होने वाले हैं। कुरिला ऐसे वक्त में यह अहम पद संभालेंगे जब अमेरिका हिंद प्रशांत क्षेत्र और चीन की बढ़ती आक्रामकता को रोकने पर ध्यान केन्द्रित कर रहा है। इसके साथ ही यूक्रेन की सीमा पर रूस के बढ़ते सैन्य दखल को लेकर दोनों देशों के बीच संबंध तल्ख हैं। कुरिला वर्तमान में नॉर्थ कैरोलिना के फोर्ट ब्रैग में 18वें एयरबोर्न कॉप के कमांडर हैं।

दिल्ली-एनसीआर में जांच बढ़ाने पर जोर: भल्ला

दिल्ली-एनसीआर में जांच बढ़ाने पर जोर: भल्ला     

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के बीच केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के जिलों से स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा मजबूत करने, आवश्यक दवाओं का पर्याप्त भंडार रखने और ऑक्सीजन आपूर्ति के उपकरण पूरी तरह तैयार रखने को कहा है। राष्ट्रीय राजधानी और एनसीआर के पड़ोसी जिलों में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए बृहस्पतिवार को बुलायी बैठक में भल्ला ने दिल्ली-एनसीआर के उन सभी जिलों में जांच बढ़ाने पर भी जोर दिया, जहां जांच की संख्या कम है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, गृह सचिव ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर के सभी जिलों में स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचा फौरन मजबूत किया जाए ताकि किसी भी बढ़ी आवश्यकता से निपटा जा सके।

उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाए कि ऑक्सीजन आपूर्ति उपकरण पूरी तरह से क्रियाशील रहे और आवश्यक दवाओं का पर्याप्त भंडार रखा जाए। दिल्ली-एनसीआर में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर यह बैठक बुलायी गयी थी। भल्ला ने दिल्ली-एनसीआर में कोविड-19 की स्थिति और तैयारियों की समीक्षा की, जिसमें राष्ट्रीय राजधानी और उत्तर प्रदेश तथा हरियाणा में दिल्ली की सीमा से लगते नौ जिले आते हैं।

एनसीआर के शहरी तानेबाने को ध्यान में रखते हुए उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि क्षेत्र में सभी संबंधित प्राधिकारियों के लिए यह आवश्यक है कि वे संक्रमण से निपटने के लिए एक साथ आगे आए और एकीकृत रणनीति बनाएं। भल्ला ने कहा कि ओमीक्रोन स्वरूप के अत्यधिक संक्रामक होने के कारण मामलों में वृद्धि से निपटने के लिए कोई कोर कसर न छोड़ी जाए और निगरानी को मजबूत करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाए। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि राज्य और स्थानीय प्रशासन कोविड-19 अनुकूल व्यवहार के नियमों को सख्ती से लागू करें, जिसमें चेहरे पर मास्क लगाना और सामाजिक दूरी का पालन करना शामिल है। बैठक में नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी के पॉल, केंद्र सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी और उत्तर प्रदेश, हरियाणा तथा दिल्ली के मुख्य सचिव और अतिरिक्त मुख्य सचिव के साथ दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और पड़ोसी इलाकों के जिला प्रशासन के अधिकारी शामिल हुए।

दिल्ली: कोरोना के 17,000 मामलें आने की आशंका

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के करीब 17,000 मामले आने की आशंका है और संक्रमण दर 17 प्रतिशत के आसपास रह सकती है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में सबसे पहले संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखी गयी क्योंकि ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय उड़ानें राजधानी में आती है। जैन ने पत्रकारों से कहा, ”इसलिए हमने, कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अन्य राज्यों की तुलना में सख्त कदम लागू किए। कुछ लोग कह सकते हैं कि इसकी आवश्यकता नहीं है लेकिन बाद में पछताने से यह बेहतर है।” विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप को।

बताए जाने के संदर्भ में मंत्री ने कहा कि केवल विशेषज्ञ ही यह बता पाएंगे कि यह हल्का है या नहीं। जैन ने कहा, ”मैं आपको आंकड़े दे सकता हूं, जो मेरे पास है। दिल्ली में करीब 31,498 मरीज उपचाराधीन हैं और अस्पतालों में केवल 1,091 मरीजों का इलाज चल रहा है। पिछली बार इतने ही मामले थे तो अस्पतालों में करीब 7,000 मरीज भर्ती थे।

10 प्रतिशत आरक्षण की वैधता को बरकरार रखा

अकांशु उपाध्याय          नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को अपने एक अंतरिम आदेश में वर्ष 2021-22 के राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा – स्नातकोत्तर (नीट-पीजी) पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए काउंसलिंग शुरू करने को मंजूरी दी और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के छात्रों को 27 प्रतिशत तथा आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) के लिए दस प्रतिशत आरक्षण की वैधता को बरकरार रखा।

न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ ने कहा कि वर्ष 2021-22 के लिए नीट पीजी के वास्ते काउंसलिंग पहले के मानदंडों के आधार पर ही होगी। पीठ ने कहा कि आने वाले वर्षों में ईडब्ल्यूएस के लिए आठ लाख की आय संबंधी मानदंड की वैधता पर निर्णय याचिकाओं पर सुनाई के बाद ही लिया जाएगा। पीठ ने याचिकाओं पर सुनवाई के लिए पांच मार्च की तारीख तय की है।


पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, कोई बदलाव नहीं

अकांशु उपाध्याय       नई दिल्ली। पेट्रोल डीजल के रेट्स को लेकर आज भी आम आदमी को राहत मिली है। सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल ने पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी कर दिए हैं। बता दें कि फ्यूल प्राइस में शुक्रवार को भी किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है। नए रेट के मुताबिक, आज राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम 95.41 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है। बता दें कि प्रति दिन सुबह छह बजे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। सुबह छह बजे से ही नए रेट्स लागू हो जाती हैं। पेट्रोल व डीजल के दाम में कीमत में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है। दिल्ली पेट्रोल 95.41 रुपये और डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर। मुंबई पेट्रोल 109.98 रुपये और डीजल 94.14 रुपये प्रति लीटर। चेन्नई पेट्रोल 101.40 रुपये और डीजल 91.43 रुपये प्रति लीटर। कोलकाता पेट्रोल 104.67 रुपये और डीजल 89.79 रुपये प्रति लीटर। लखनऊ पेट्रोल 95.28 रुपये और डीजल 86.80 रुपये प्रति लीटर। गांधीनगर पेट्रोल 95.35 रुपये और डीजल 89.33 रुपये प्रति लीटर। पोर्ट ब्‍लेयर में पेट्रोल 82.96 रुपये और डीजल 77.13 रुपये प्रति लीट

पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमत को कम करने के लिए केंद्र सरकार नए प्‍लान पर काम कर रही है। भारत कच्चे तेल की कीमतों में कमी लाने के लिए अन्य प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के साथ तालमेल बैठाकर अपने रणनीतिक तेल भंडार से तेल की निकासी की योजना पर काम कर रहा है। पेट्रोल डीजल का रोज का रेट आप एसएमएस के जरिए भी जान सकते हैं। इंडियन ऑयल के कस्टमर आरएसपी लिखकर 9224992249 नंबर पर और बीपीसीएल उपभोक्ता आरएसपी लिखकर 9223112222 नंबर पर भेज जानकारी हासिल कर सकते हैं। वहीं, एचपीसीएल उपभोक्ता एचपी प्राइस लिखकर 9222201122 नंबर पर भेजकर भाव पता कर सकते हैं।

कृषि विभाग में 641 पदों के लिए आवेदन मांगे 

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए खुशखबरी है। कृषि विभाग में कुल 641 खाली पड़े पदों के लिए आवेदन मांगे गए हैं। इस भर्ती के माध्यम से तकनीशियन के पदों पर भर्तियां की जाएंगी। ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और आवेदन करने की अंतिम तारीख 10 जनवरी 2022 है। 

अभ्यर्थियों को शुल्क का भुगतान भी ऑनलाइन माध्यम से ही करना होगा। वहीं 25 फरवरी को परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।


आर्थिक कमज़ोर वर्ग आरक्षण को मंजूरी: एससी

आर्थिक कमज़ोर वर्ग आरक्षण को मंजूरी: एससी
अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को नीट-पीजी काउंसिलिंग पर आदेश दे दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने तुरंत काउंसलिंग शुरू करने के साथ 27% और 10% आर्थिक कमज़ोर वर्ग आरक्षण को मंजूरी दे दी है। वहीं, याचिकाकर्ताओं ने नई आरक्षण नीति पर रोक की मांग की है।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘’हमारे सामने दलील दी गई कि इस साल से लागू की गई आरक्षण नीति असंवैधानिक है। ईडब्ल्यूएस की सीमा 8 लाख रुपए रखने पर जवाब मांगा। अक्टूबर में सवाल पूछा गया था। केंद्र ने 25 अक्टूबर को काउंसिलिंग रोक दी। 28 अक्टूबर को कहा कि दीवाली के बाद सुनवाई हो। 25 नवंबर को नीति की समीक्षा की बात कही और एक महीने का समय मांगा।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘’अब बताया है कि कमिटी ने इस साल यही व्यवस्था रखने की सिफारिश की है।  हमने सभी पक्षों को सुना। मामले में एक विस्तृत अंतरिम आदेश की ज़रूरत है। ईडब्ल्यूएस का पैमाना तय करने में कुछ समय लगेगा। ओबीसी आरक्षण को हम मंजूरी दे रहे हैं।  कोर्ट ने कहा कि काउंसिलिंग तुरंत शुरू करने की ज़रूरत है, इसलिए 10 प्रतिशत ईडब्ल्यूएस आरक्षण हो। मार्च के तीसरे हफ्ते में पांडे कमिटी की सिफारिश (8 लाख) की वैधता पर सुनवाई होगी।

चुनाव: प्रत्याशियों के खर्च की सीमा बढ़ाईं गई

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने निर्वाचन आयोग के साथ परामर्श के बाद देश में लोकसभा और विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के चुनाव में प्रत्याशियों के खर्च की अधिकतम सीमा बढ़ा दी है। लोकसभा चुनाव में अधिकतम सीमा 95 लाख रुपए और विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए यह सीमा 40 लाख रुपए की गई है, जोकि आगामी चुनाव से लागू होगी। निर्वाचन आयोग की एक विज्ञप्ति के अनुसार, ऐसे राज्यों में जहां लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव खर्च की सीमा 70 लाख रुपए थी, उसे बढ़ाकर 95 लाख रुपए तथा जिन राज्यों मे यह सीमा 54 लाख रुपए थी, उसे बढ़ाकर 75 लाख रुपए किया गया है।

विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 25 लाख रुपए की सीमा को बढ़ाकर 40 लाख रुपए और 20 लाख की सीमा को बढ़ाकर 28 लाख रुपए किया गया है।
आयोग ने कहा है कि नयी सीमा आगामी चुनाव से लागू होगी। निर्वाचन व्यय सीमा की बड़ी समीक्षा इससे पहले 2014 में की गई थी। 2020 में उसमें 10 प्रतिशत की वृद्धि कर दी गई थी। 
आयोग ने उसके साथ ही निर्वाचन व्यय सीमा की विस्तृत समीक्षा के लिए तीन सदस्यीय समिति बैठायी थी, जिसमें भारतीय राजस्व सेवानिवृत अधिकारी हरीश कुमार तथा आयोग के महासचिव उमेश सिन्हा और वरिष्ठ उपनिर्वाचन आयुक्त चंद्र भूषण कुमार शामिल थे। उन्हें चुनाव प्रचार की लागत और अन्य संबंधित मुद्दों पर विचार करके प्रत्याशियों के चुनाव खर्च की सीमा के संशोधन के बारे में सिफारिश करने की जिम्मेदारी दी थी। इस समिति ने पाया कि 2014 के बाद लागत मुद्रास्फिति सूचकांक 2014 की तुलना में काफी वृद्धि हो चुकी है और मतदाताओं की संख्या भी बढ़ी है। समिति ने प्रचार के तौर-तरीकों पर भी गौर किया जोकि अब डिजिटल माध्यम की ओर बढ़ रहा है। समिति ने इस प्रक्रिया राजनीतिक दलों के सूझाव भी आमंत्रित किए थे।

देश में वर्ष 2014-15 से 2021-22 के बीच देश में मतदाताओं की संख्या 83.4 करोड़ से बढ़कर 93.6 करोड़ (12.23 प्रतिशत अधिक) और लागत मुद्रास्फीति सूचकांक 240 से बढ़कर 317 (32.08 प्रतिशत उंचा) हो गया है। केंद्रीय विधि न्याय और विधायी मामलों के मंत्रालय ने निर्वाचन खर्च की नयी सीमाओं को अधिसूचित कर दिया है। आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश जैसे बड़े और बड़ी आबादी वाले राज्यों में लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में खर्च की सीमा 95 लाख और गोवा, अरुणाचल प्रदेश, लक्षद्वीप, लद्दाख, पुड्डुचेरी जैसे राज्यों में यह सीमा 75 लाख रुपए होगी। इसी तरह विधानसभा में निर्वाचन क्षेत्रों के आकार-प्रकार के हिसाब से अधिकतम खर्च 28 लाख रुपए या 40 लाख रुपए निर्धारित किया गया है।

पीएम की सुरक्षा में चूक पर चिंता जाहिर: राष्ट्रपति

अकांशु उपाध्याय        नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के समय सुरक्षा में हुई चूक पर चिंता जाहिर की है। पीएम मोदी ने गुरुवार को राष्ट्रपति से मुलाकात की। राष्ट्रपति भवन में हुई मुलाकात के दौरान पीएम ने राष्ट्रपति को पंजाब में हुई घटना की पूरी जानकारी दी। दरअसल, बुधवार को पाकिस्तानी सीमा से महज 30 किलोमीटर की दूरी पर पंजाब के फिरोजपुर जिले में पीएम मोदी की सुरक्षा में बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया था। पीएम सड़क के रास्ते रैली में शामिल होने के लिए पंजाब जा रहे थे। यहां उनके काफिले को प्रदर्शनकारियों ने रोक लिया जिस कारण से लगभग 20 मिनट तक पीएम फ्लाईओवर पर फंसे रहे। इसके बाद आखिरकार आगे का कार्यक्रम रद करना पड़ा और प्रधानमंत्री को दिल्ली वापस लौटना पड़ा।

हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से करीब 30 किमी दूर जब प्रधानमंत्री का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा तो पाया कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को जाम कर दिया है। इस दौरान प्रधानमंत्री 15-20 मिनट के लिए फ्लाईओवर पर फंसे रहे। बयान के मुताबिक, यह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और यात्रा योजना के बारे में पंजाब सरकार को काफी पहले ही सूचित कर दिया गया था। बयान के मुताबिक, पंजाब सरकार को प्रक्रिया के अनुसार, सुरक्षा के साथ-साथ एक आकस्मिक योजना तैयार रखने के लिए आवश्यक व्यवस्था करनी थी।


चीफ कांस्टेबल के पदों पर आवेदन आमंत्रित किए 
पंकज कपूर           देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग (यूकेएसएसएससी) ने सब-इंस्पेक्टर (सिविल पुलिस / इंटेलिजेंस), गुलमनायक (पुरुष) (पीएसी / आईआरबी), फायर ऑफिसर तथा चीफ कांस्टेबल (पुलिस टेलीकॉम) के पदों पर आवेदन आमंत्रित किए हैं। इच्छुक एवं योग्य कैंडिडेट्स जो इन पदों के लिए अप्लाई करना चाहते हैं, वे के यूकेएसएसएससी ऑफिशियल पोर्टल पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त कैंडिडेट्स डायरेक्ट लिंक पर क्लिक करके भी इन पदों के लिए अप्लाई कर सकते हैं। साथ ही लिंकों तथा वेबसाइट के लिए माध्यम से भी ऑफिशियल नोटिफिकेशन को भी देख सकते हैं।

'कृषि' मजदूर की पहली किश्त 26 को होगीं जारी

दुष्यंत टीकम      रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना की पहली किश्त 26 जनवरी को जारी की जाएगी। सरकार ने इस योजना को लेकर अपनी तैयारी पूरी कर ली है। गुरुवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया, गणतंत्र दिवस को योजना की पहली किश्त जारी होगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पिछले साल इस योजना को लाॅन्च किया था। इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों के भूमिहीन मजदूरों और दूसरे पारंपरिक काम करने वाले परिवारों को हर साल 6 हजार रुपए दिया जाना था। इसके लिए 30 नवम्बर 2021 तक पंजीयन हुए। आखिर तक छत्तीसगढ़ में 4 लाख 41 हजार से अधिक भूमिहीन खेतिहर मजदूरों ने अपना पंजीयन करा लिया था। पंजीयन के बाद आवेदनों की स्क्रूटनी हुई। अधिकारियों ने बताया, स्क्रूटनी और दावा-आपत्ति के निराकरण के बाद पात्र लोगों की अंतिम सूची प्रकाशित की जाएगी। इस सूची में आए लोगों को राज्य सरकार इस योजना के तहत सालाना 6 हजार रुपए का भुगतान करेगी।

मूल्यांकन नीति में निर्दिष्ट शर्त खारिज की, एससी

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-81, (वर्ष-05)
2. शनिवार, जनवरी 8, 2021
3. शक-1984, मार्गशीर्ष, शुक्ल-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:10, सूर्यास्त 05:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 12 डी.सै., अधिकतम-27+ डी.सै.।  बर्फबारी व शीतलहर के साथ मैदानी क्षेत्रों में कहीं- कहीं तेज बारिश की संभावना।
कउ.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवाशुं के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

फाउंडेशन द्वारा बच्चों के साथ 'अमृत महोत्सव' मनाया

फाउंडेशन द्वारा बच्चों के साथ 'अमृत महोत्सव' मनाया  जे.एस.वी. किड्स एकेडमी में सारथी वेलफेयर फाउंडेशन ने मनाया अमृत महो...