शुक्रवार, 24 जून 2022

जिला वृक्षारोपण समिति की बैठक आयोजित: डीएम

जिला वृक्षारोपण समिति की बैठक आयोजित: डीएम

हरिशंकर त्रिपाठी     

देवरिया। विकास भवन स्थित गांधी सभागार में जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में जिला वृक्षारोपण समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की गई। इस वर्ष जनपद में कुल 33,03,774 पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में हरियाली का दायरा बढ़ाने के लिए बृहत अभियान चलाया जाएगा। कुल 23,27,016 पौधों का रोपण जिला प्रशासन के विभिन्न विभागों द्वारा तथा 9,76,758 पौधों का रोपण वन विभाग द्वारा किया जाना है। पौधा रोपने के लिए गड्ढों की खुदाई समय रहते कर ली जाए। जिससे वृक्षारोपण के लिए भूमि की उर्वरा शक्ति अनुकूलतम स्थिति में पहुँच जाए।

वृक्षारोपण के उपरांत पौधे की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भी व्यापक प्रबंध किए जाए। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण सिर्फ रस्म अदायगी भर न रहे, बल्कि जनपद के हरित क्षेत्र में शासन की मंशा के अनुरूप वृद्धि दिखनी भी चाहिए। उन्होंने समस्त अधिकारियों को चेतावनी भी दी कि वृक्षारोपण जमीन पर वास्तविक रूप में होना चाहिए न कि सिर्फ कागजी कार्यवाही तक सीमित रहे। वे स्वयं वृक्षारोपण स्थलों का निरीक्षण कर वास्तविकता को परखेंगे और कमी मिलेगी, तो कार्रवाई भी की जाएगी। उन्होंने उद्यान विभाग को निर्देशित किया की लक्ष्य के सापेक्ष पौधों की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। फलदार एवं वाणिज्यिक उपयोग वाले पौधों की मांग के सापेक्ष उपलब्धता होना अत्यंत आवश्यक है। वृक्षारोपण कार्यक्रम में जन भागीदारी को भी प्रोत्साहन दिया जाए। व्यापक जनभागीदारी से ही अभियान की सफलता सुनिश्चित होगी।

समाजिक वानिकी प्रभाग, देवरिया के प्राभागीय निदेशक जगदीश आर. ने बताया कि ग्राम्य विकास विभाग 13,23,840, राजस्व विभाग 1,49,380, पंचायतीराज विभाग 1,49,380, कृषि विभाग 2,77,430, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग 1,65,724, उच्च शिक्षा विभाग 16,830, लोक निर्माण विभाग 7700, नगर विकास विभाग 23,660, सहकारिता विभाग 6020, स्वास्थ्य विभाग 6020 पौधे लगाएगा। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, सीएमओ डॉ आलोक पांडेय, सीआरओ अमृत लाल बिंद, एडीएम (प्रशासन) कुँवर पंकज, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम गुँजन द्विवेदी, एसडीएम सौरभ सिंह, एसडीएम गजेंद्र सिंह, एसडीएम संजीव उपाध्याय सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

गैंगस्टर एक्ट में अभियुक्तों ने किया आत्मसमर्पण

गैंगस्टर एक्ट में अभियुक्तों ने किया आत्मसमर्पण

दीपक राणा
लोनी। थाना लोनी बॉर्डर क्षेत्र में गैंगस्टर दो अभियुक्तों ने स्वयं को पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया और कहा कि मुझे पैर में गोली लगवाने से डर लगता है। हालांकि पुलिस इनकी पहले से ही तलाश में जुटी हुई थी। 
उपरोक्त जानकारी के अनुसार अभियुक्तों से पुलिस की पूछताछ करने पर पुलिस को बताया कि हमारे विरुद्ध थाना लोनी मे गैंगस्टर एक्ट का मुकदमा पंजीकृत है। वही थाना लोनी बॉर्डर की पुलिस पीछे पड़ी थी हम आए दिन अखबारों में एवं न्यूज़ के जरिए देखते थे कि यूपी पुलिस शासन व प्रशासन द्वारा समाज में भयमुक्त माहौल बनाने बनाने हेतु चलाए जा रहे अपराधियों के विरुद्ध की कार्यवाही की दृष्टिगत अपराधियों पर सख्त कार्रवाई कर रही है। इसलिए हम दोनों लोग डरे थे प्रकार की कार्रवाई से बचने हेतू हम दोनों लोगों ने गले में तखती डालकर पुलिस के सामने आकर थाना लोनी बॉर्डर में मैंने आकर अपने आप को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। पकड़े गए अभियुक्त कपिल पुत्र जयपाल उर्फ जगत सिंह गांव निवासी रिस्तल  थाना टीला मोढ गाजियाबाद। दूसरा सागर पुत्र तेजपाल और निवासी डांवर रिस्तल जो लगभग 1 से डेढ़ से वंचित चल रहा थे। इन दोनों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है।

हमाम में सब नंगे 'संपादकीय'

हमाम में सब नंगे   'संपादकीय' 

देश में कहीं धुआं तो कहीं शोर है, 
चौकीदार बैठा है दर पर या कोई चोर है। 
नमन, खून से राष्ट्र को सिंचने वाले सैनिक, 
सामने दुश्मन ताकतवर और मुंह जोर है। 

सैनिक भर्ती प्रक्रिया में 'अग्निवीर' योजना सम्मिलित करने से देश का युवा आक्रोशित हो गया है। आक्रोश ने आंदोलन का रूप धारण कर लिया है। आंदोलन हिंसक बनने से पूर्व ही राज्यों की सरकारों ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी हैं। जिसके कारण युवा वर्ग अपने अधिकार की लड़ाई को विराम लगा कर, मुंह बंद करने के लिए विवश हो गया। युवा वर्ग योजना लागू करने से आहत है। सेना में यह उपयोग किस परिणाम तक पहुंचेगा या 'अग्निवीर' योजना के सामने बेरोजगार युवा नतमस्तक होंगे, यह कहना कठिन है। इतना तो कहा ही जा सकता है कि राष्ट्र की आधारशिला के दो स्तंभ है, 'जवान और किसान'। इन दोनों वर्गों की उपेक्षा राष्ट्र निर्माण में सदैव बाधा उत्पन्न करती है। 
जैसा कि हम सभी जानते हैं कि योजना के संबंध में पक्ष-विपक्ष दोनों हमलावर बने हुए हैं। सत्ता पक्ष योजना के लाभ बताते नहीं थकता है। दूसरी तरफ विपक्ष युवा वर्ग की अनदेखी के आरोप लगाने से बाज नहीं आ रहा है। सत्तापक्ष की उदारता और युवा वर्ग के हित को सामान्य तौर पर समझा जा सकता है। 4 वर्ष की सैन्य सेवा का अवसर सरकार की महान सोच का अनुसरण करती है। किंतु पेंशन आदि सुविधाओं को प्रदान न करना, उपेक्षा को उजागर करता है। सैन्य सेवा प्रदान करने वाला कोई भी व्यक्ति सेवा समाप्ति के पश्चात सामान्य जीवन से विरक्त ही रहेगा। कुछ लोग सामान्य जीवन यापन कर सकते हैं, परंतु सभी नहीं। ऐसी परिस्थिति में सैनिक को पेंशन आदि की सुविधा प्रदान करनी चाहिए। 
युवा वर्ग बेरोजगारी की दलदल में धंसा जा रहा है पक्ष और विपक्ष राजनीति का शुद्ध लाभ कमा रहे हैं। विधायक-सांसद 5 वर्ष के लिए निर्वाचित होते हैं और पेंशन, भत्ता आदि सब सुविधाएं प्राप्त करते हैं। किसी विधायक ने किसी राज्य की विधानसभा में यह प्रस्ताव नहीं रखा है कि हमारी पेंशन, भत्ते व अन्य सुविधाएं प्रतिबंधित कर दी जाए। किसी सांसद ने लोकसभा या राज्यसभा में यह आवेदन नहीं किया है। क्योंकि जनता का शोषण हो या कल्याण, दोनों स्थिति में स्वयं का स्वार्थ सिद्ध होना चाहिए। बयान बाजी के अलावा किसी नेता ने 'अग्निवीर' के विरुद्ध आंदोलन का समर्थन करने की चेष्टा मात्र भी नहीं की है। क्योंकि राजनेताओं का यही काम है। 
4 वर्ष की सेवा के पश्चात 75 प्रतिशत युवा पकौड़े तलना तो सीख ही जाएगा। यह नीति युवा वर्ग के विरुद्ध है। किंतु युवा वर्ग को किसी दल अथवा संगठन का साथ नहीं मिला है। सख्त कार्रवाई का भय दिखाकर मुंह बंद करने का घृणित कार्य किया गया है। युवा वर्ग को अपनी बात शांतिपूर्ण ढंग से रखने चाहिए। आंदोलन का आधार हिंसा नहीं है अहिंसा है। किसी राजनेता से कोई अपेक्षा करना धूल में लट्ठ मारने के जैसा है, क्योंकि हमाम में सब के सब नंगे हैं।
राधेश्याम 'निर्भयपुत्र'

स्वास्थ्य: ओट्स चीला बनाने की रेसिपी, जानिए

स्वास्थ्य: ओट्स चीला बनाने की रेसिपी, जानिए

सरस्वती उपाध्याय
अगर आप अपने दिन की शुरुआत स्वादिष्ट और हेल्दी ब्रेकफास्ट के साथ करना चाहते हैं, तो फटाफट बनने वाले ‘ओट्स चीला’ के बारे में जान लेना चाहिए। यह काफी हेल्दी माना जाता है और इससे शरीर को एनर्जी मिलती है। खास बात यह है कि इसे महज 20 मिनट में तैयार किया जा सकता है और इसे बनाने के लिए जरूरी सामग्री किचन में ही मिल जाएगी। धीरे-धीरे ‘ओट्स चीला’ का ट्रेंड बढ़ता जा रहा है और लोग इसे काफी पसंद भी कर रहे हैं। अगर आपने अब तक इस ब्रेकफास्ट को ट्राई नहीं किया है, तो आपको आसान विधि के बारे में जरूर जान लेना चाहिए।

ओट्स चीला बनाने की रेसिपी...

2 चम्मच बेसन
2 कप ओट्स
2 चम्मच तेल
2 कटी हुई हरी मिर्च
2 कटी हुई प्याज
2 शिमला मिर्च
1 गाजर
2 टमाटर
1 चम्मच जीरा
थोड़ा अदरक
1/2 चम्मच हल्दी
1 चम्मच मिर्च
हरा धनिया कटा हुआ
नमक (स्वादानुसार)
हरी चटनी या रेड सॉस

ओट्स चीला बनाने का आसान तरीका...

1. ओट्स चीला बनाने के लिए सबसे पहले आपको ओट्स को पीसना होगा। यह काम आप मिक्सी से कर सकते हैं। ओट्स पीसकर आप एक बर्तन में रख लें।
2. इसके बाद आप पिसे हुए ओट्स में बेसन, हल्दी, जीरा मिर्च और अन्य मसाले डालकर अच्छी तरह मिला लें।


गणेश को यौन उत्पीड़न मामलें में जमानत मिलीं

गणेश को यौन उत्पीड़न मामलें में जमानत मिलीं

कविता गर्ग
मुंबई। बॉलीवुड एक्टर्स को अपने इशारों पर नचाने वाले कोरियोग्राफर गणेश आचार्य को यौन उत्पीड़न मामले में जमानत मिल गई है। मुंबई की एक मजिस्ट्रेट अदालत ने उन्हें जमानत दी‌। मामला साल फरवरी 2020 का है।‌ एक महिला डांसर द्वारा कोरियोग्राफर गणेश आचार्य के खिलाफ यौन उत्पीड़न मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई थी, जिसके बाद पुलिस ने कोरियोग्राफर के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी‌।
कोरियोग्राफर गणेश आचार्य को अदालत के समक्ष पेश हुए, जिसके बाद उन्हें इस मामले में जमानत देते हुए कोर्ट ने राहत दी। गणेश आचार्य पर महिला ने फरवरी साल 2020 में यौन उत्पीड़न मामले (Sexual का केस दर्ज कराया था।
महिला डांसर का क्या है आरोप
महिला ने यह भी आरोप लगाया था कि साल 2009-10 में जब भी वह गणेश आचार्य के ऑफिस में उनसे मिलने गई तो उन्हें अश्लील वीडियो देखने के लिए मजबूर किया और इसके विरोध पर उसे परेशान करना शुरू कर दिया गया। इसके साथ ही महिला ने बताया कि इसी वजह से छह माह के बाद ही भारतीय फिल्म और टेलीविजन कोरियोग्राफर एसोसिएशन के द्वारा उसकी सदस्यता भी समाप्त कर दी गई।महिला का ये भी आरोप है कि आचार्य ने अन्य महिलाओं का भी यौन शोषण किया है।
महिला ने मारपीट का भी लगाया था आरोप
शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि 26 जनवरी, 2020 को अंधेरी में इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन कोरियोग्राफर्स एसोसिएशन के एक समारोह के दौरान उसने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर उसके साथ मारपीट भी की गई थी।
मामले में कभी नहीं हुए गणेश आचार्य गिरफ्तार
इस साल अप्रैल में, मुंबई पुलिस ने गणेश पर अन्य आरोपों के साथ यौन उत्पीड़न और दृश्यरतिकता का आरोप लगाया था। इस मामले में गणेश आचार्य को कभी गिरफ्तार नहीं किया गया है। गुरुवार (23 जून) को मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश होने के बाद उन्हें जमानत दे दी गई।
इन धाराओं में पुलिस ने दर्ज किया था केस
शिकायत के आधार पर, पुलिस ने धारा 354-A, 354-C, 354-D और धारा 506 और 509 के तहत मामला दर्ज किया था।हालांकि कोरियोग्राफर ने अपने ऊपर लगे इस सभी आरोपों से इनकार किया है।
कोरियोग्राफर कमलजी के असिस्टेंट के रूप में शुरू किया था करियर
51 साल के गणेश आचार्य ने 90 के दशक की शुरुआत में कोरियोग्राफर कमलजी के असिस्टेंट के रूप में शुरू किया था। उन्होंने 1992 में अपनी पहली फिल्म ‘अनाम’ में काम किया, लेकिन 2001 में फिल्म ‘लज्जा’ के गाने ‘बड़ी मुश्किल’ को कोरियोग्राफ करने के बाद उन्हें फेम मिला। कोरियोग्राफी के साथ उन्होंने कई फिल्मों में अभिनय भी किया है।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होंगे पीएम

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होंगे पीएम
इकबाल अंसारी  
तेलंगाना। हैदराबाद में भारतीय जनता पार्टी की 2 और 3 जुलाई को होने वाली राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल होंगे। पीएम की यात्रा को लेकर हैदराबाद पुलिस सुरक्षा इंतजाम करने में लगी हुई है। इसमें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित कई केंद्रीय मंत्री, राज्य के मुख्यमंत्री, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और अन्य शीर्ष नेता हैदराबाद इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर (एचआईसीसी) में होने वाली बैठक में शामिल होंगे।
3 जुलाई को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की समाप्ति के बाद प्रधानमंत्री समेत अन्य मंत्री सिकंदराबाद के परेड ग्राउंड में भाजपा की ओर से आयोजित जनसभा को संबोधित करेंगे।हैदराबाद के पुलिस आयुक्त सी.वी. आनंद ने कहा कि शहर भर में पुलिस सुरक्षा बलों की तैनाती की जाएगी। त्वरित कार्रवाई टीम को भी सक्रिय किया जाएगा, साथ ही अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को जरूरी पड़ने पर तैयार रहने को कहा जाएगा।शहर की सीमा में स्नाइपर्स की तैनाती, आवागमन नियंत्रण के साथ, रूफ टॉप वॉच, मुफ्ती पार्टी, रूट मैप, ट्रायल रन और मल्टी सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है। केवल पास धारकों को ही जनसभा में भाग लेने की अनुमति दी जाएगी और सभी उपस्थित लोगों की तलाशी ली जाएगी। किसी भी तरह के विरोध-प्रदर्शन से निपटने के लिए व्यापक उपाय किए जाएंगे।
आयुक्त ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों, ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी), तेलंगाना राज्य दक्षिणी विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड (टीएसएसपीडीसीएल), सड़क और भवन (आर एंड बी), अग्निशमन सेवाओं, सेना के अधिकारियों और भाजपा के प्रतिनिधियों के साथ एक समन्वय बैठक की। जिसमें पीएम की यात्रा से लेकर चर्चा की गई।

अय्यर नीति आयोग के कार्यकारी अधिकारी नियुक्त

अय्यर नीति आयोग के कार्यकारी अधिकारी नियुक्त
अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। पूर्व पेयजल और स्वच्छता सचिव परमेश्वरन अय्यर को शुक्रवार को नीति आयोग का मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नियुक्त किया गया। उन्होंने पिछले साल जुलाई में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। सरकारी आदेश में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश कैडर के 1981 बैच के आईएएस अधिकारी और जाने-माने स्वच्छता विशेषज्ञ अय्यर को अमिताभ कांत के 30 जून को सेवानिवृत्त होने के बाद, दो साल के लिए या अगले आदेश तक, जो भी पहले हो, नीति आयोग का मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त किया गया है।
कार्मिक मंत्रालय के आदेश में कहा गया है कि अय्यर की नियुक्ति उन्हीं नियमों और शर्तों पर की गई है, जो कांत के लिए लागू थीं। अय्यर ने 2009 में भारतीय प्रशासनिक सेवा से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी। वह संयुक्त राष्ट्र में वरिष्ठ ग्रामीण जल स्वच्छता विशेषज्ञ के रूप में भी काम कर चुके हैं।

नए भारत में केवल मित्रों की सुनवाई: राहुल

नए भारत में केवल मित्रों की सुनवाई: राहुल
अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रवैया तानाशाही है और वह सिर्फ मित्रों की बात पर ध्यान देते हैं और देश के वीर सैनिकों को नजरअंदाज करते हैं। गांधी ने ट्वीट किया, “एक तरफ़ देश के परमवीर हैं और दूसरी तरफ़ प्रधानमंत्री का घमंड और तानाशाही। क्या ‘नए भारत’ में सिर्फ़ ‘मित्रों’ की सुनवाई होगी, देश के वीरों की नहीं।
इसके साथ ही उन्होंने परमवीर चक्र विजेता बाना सिंह के बयान वाली एक खबर पोस्ट की है जिसमें कहा गया है कि मोदी को अग्निपथ योजना सेना को बर्बाद कर देगी। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने भी अग्निपथ को लेकर ट्वीट करते हुए कहा, “दिल्ली की तख़्त से बिना सोचे समझे देते है फ़रमान-देश और युवकों को भुगतना पड़ता है इसका अंजाम।
रमेश ने ट्वीट के साथ एक खबर भी पोस्ट की है जिसमें कहा गया है कि दो साल में सेना में शामिल होने के लिए 50 हज़ार युवाओं की मेहनत पर पानी भर गया है। उन्होंने जो परीक्षा पास की है उसका अब कोई अर्थ नहीं रह गया और सारी परीक्षाएं अग्निपथ के कारण रद्द कर दी गई है।

मिले-जुले संकेतों के बीच हरे निशान पर सेंसेक्स

मिले-जुले संकेतों के बीच हरे निशान पर सेंसेक्स

कविता गर्ग  
मुंबई। शुक्रवार को भारतीय बाजारों में सेंसेक्स और निफ्टी ग्लोबल बाजारों से मिले-जुले संकेतों के बीच हरे निशान में खुले हैं। सेंसेक्स पिछले दिन की तुलना में 526 अंक ऊपर चढ़कर 52855 पर कारोबार कर रहा है तो निफ्टी भी 15700 के ऊपर कारोबार कर रहा है। शुक्रवार को सुबह 9 बजकर 44 मिनट पर सेंसेक्स 52689 जबकि निफ्टी 15685 अंकों पर कारोबार कर रहा है।
SGX NIFTY में 100 प्वाइंट की तेजी से भारतीय बाजार के हरे निशान में रहने का अनुमान है। इस बीच, अमेरिकी बाजार में भी कल अच्छी रिकवरी देखने को मिली है। ज्यादातर एशियाई बाजार भी हरे निशान में बंद हुए हैं। गुरुवार को वायदा कारोबार के एक्सपायरी के दिन बाजार उतार-चढ़ाव के बाद हरे निशान में बंद हुआ था।

हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन शेयर बाजार में दमदार तेजी तेखने को मिल रही है। सेंसेक्स पिछले दिन की तुलना में 526.66 अंक बढ़कर मतलब 1.01 प्रतिशत की तेजी के साथ 52792.38 के स्तर पर खुला है जबकि निफ्टी 50 इंडेक्स भी 1.05 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 163.50 अंक ऊपर चढ़कर 15720.20 पर खुला।
शुक्रवार के शुरूआती बाजार में 1346 शेयरों में खरीदारी जबकि 272 शेयरों में बिकवाली देखने को मिल रही है। 60 शेयरों के भाव अब भी स्थिर बने हुए हैं। जिन शेयरों के भावों में बढ़त बनी हुई है उनमें इंडसइंड बैंक, ओएनजीसी, आईसीआईसीआई, टाटा कंज्यूमर, कोटक महिंद्रा बैंक प्रमुख हैं।
आज के बाजार में टू व्हीलर बनाने वाली कंपनी हीरो मोटरकॉर्प पर सबकी नजरें बनी हुई है। कंपनी ने अपनी ओर से बताया है कि वह अपने वाहनों की कीमत 3000 रुपये तक बढ़ाने जा रही है।

थाना परिसर सौंदर्यकरण, बैडमिंटन कोर्ट का लोकार्पण

थाना परिसर सौंदर्यकरण, बैडमिंटन कोर्ट का लोकार्पण

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव द्वारा थाना सिखेडा परिसर का सौन्दर्यकरण तथा नवनिर्मित बैडमिंटन कोर्ट का लोकार्पण किया गया।
लोकार्पण के पश्चात वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव द्वारा पदाधिकारियों के साथ बैडमिंटन भी खेला गया। शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए खेलना बहुत जरूरी है। पुलिसकर्मियों पर कानून व्यवस्था सुचारू व व्यवस्थित रखने के लिए कार्य का अत्यधिक दबाव रहता है। पुलिसकर्मियों को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने के उद्देश्य से थाना सिखेडा परिसर में बैडमिंटन कोर्ट का निर्माण कराया गया है।

13 शूटर 19 हथियारों सहित गिरफ्तार: पंजाब

13 शूटर 19 हथियारों सहित गिरफ्तार: पंजाब
अमित शर्मा  
जालंधर। जालंधर जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां देहाती पुलिस को बड़ी सफलता तब मिली जब पुलिस ने हथियारों सहित गैंगस्टर पिंदा निहालूवाला गैंग के 19 मैंबर हथियारों सहित गिरफ्तार किया है। जिनमें 13 शूटर हैं। गिरफ्तार शूटरों के पास से 11 हथियार और 8 लाख रुपए की विदेशी मुद्रा के साथ दो वाहन बरामद किए गए।
उल्लेखनीय है कि पलविंदर सिंह संधू उर्फ ​​पिंदा निहालूवाला वह युवक था। जिसने हत्या जैसी बड़ी घटनाओं के कारण कम समय में अपराध की दुनिया में कदम रखा था। यह वह नौजवान है कि जिसने पंजाब के सबसे खतरनाक गैंगस्टरों और आतंकवादियों को खदेड़ दिया था। पुलिस इस घटना के मास्टरमाइंड पिंदा के गांव निहालूवाल तहसील शाहकोट जिला जालंधर अब एक बार फिर चर्चा में है। पिंदा, जिसे पुलिस ने उत्तर प्रदेश के शामली से जेल ब्रेक की घटना के बाद गिरफ्तार किया था।
जिक्रयोग्य है कि कुछ वर्ष पहले जब पिंदा और उसका परिवार कृषि क्षेत्र में शांतिपूर्ण जीवन व्यतीत कर रहे थे, तब एक मामूली विवाद के बाद पुलिस ने पिंदा, उसके भाई और पूरे परिवार को परेशान किया था। पुलिस ने पिंदा के खिलाफ कई आरोप लगाए। पुलिस की धक्केशाही से उनका पूरा परिवार बेघर हो गया। उनकी फसल बर्बाद हो गई, और उनके जानवर भूख और प्यास से मर गए।
पुलिस के डर से पिंदा को घर से बाहर रहने को मजबूर होना पड़ा। इसी दौरान वह अपराधियों के संपर्क में आया और गैंगस्टर बन गया।जालंधर जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां देहाती पुलिस को बड़ी सफलता तब मिली जब पुलिस ने हथियारों सहित गैंगस्टर पिंदा निहालूवाला गैंग के 19 मैंबर हथियारों सहित गिरफ्तार किया है जिनमें 13 शूटर हैं। गिरफ्तार शूटरों के पास से 11 हथियार और 8 लाख रुपए की विदेशी मुद्रा के साथ दो वाहन बरामद किए गए।

जुमे की नमाज में अमन व शांति की दुआ मांगी

जुमे की नमाज में अमन व शांति की दुआ मांगी

सत्येंद्र पंवार
मेरठ। शुक्रवार को जुमा की नमाज मेरठ में शांतिपूर्ण तरीके से अदा की गई। इस दौरान मस्जिदों के आसपास पुलिस की कड़ी सुरक्षा रही। संवेदनशील इलाकों में पीएसी और आरएएफ को तैनात किया गया था। अकीदतमंदों ने मस्जिदों के भीतर नमाज अदाकर मुल्क में अमन और शांति की दुआ मांगी। जिले के देहात में भी नमाज शांतिपूर्वक अदा की गई। मेरठ के शाही जामा मस्जिद में जुमा की नमाज के दौरान सिविल वार्डन के कार्यकर्ता भी तैनात रहे।
आज भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जुमा की नमाज मेरठ और पश्चिमी उप्र में शांतिपूर्वक तरीके से अदा की गई। नमाज के दौरान कहीं से किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। मेरठ में सुबह से ही नमाज को लेकर सुरक्षा व्यवस्था काफी पुख्ता की गई थी। हालांकि एसएसपी मेरठ प्रभाकर चौधरी ने एक दिन पहले ही सभी थानेदारों को सख्त निर्देश जारी कर क्षेत्र में सुरक्षा व्यव्स्था मजबूत करने की बात कही थी।
एडीजी मेरठ राजीव सभरवाल और आईजी मेरठ प्रवीण कुमार ने भी जुमा की नमाज को लेकर विशेष दिशा—निर्देश जारी किए थे। जुमा की नमाज के दौरान मस्जिदों के ऊपर ड्रोन से निगरानी की गई। एसएसपी ने बताया कि जिले की सभी मस्जिदों में जुमा की नमाज शांतिपूर्वक तरीके से अदा की गई है।बता दें कि जुमा नमाज के दौरान कानपुर में बड़ी हिंसा हो गई थी। जिसके बाद भारत बंद की अफवाह सोशल मीड़िया पर उड़ी थी। इसको लेकर पिछले जुमा को भी मेरठ सहित पूरे पश्चिमी उप्र के जिलों अलर्ट जारी किया था।
आज भी जुमा की नमाज को लेकर प्रशासन किसी प्रकार की ढिलाई के मूड में नहीं दिखा। यहीं कारण रहा कि जुमा नमाज को लेकर एक दिन पहले से ही पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी थी। आज मस्जिदों में जुमा नमाज शांतिपूर्वक तरीके से अदा कर अकीदतमंद अपने घर चले गए। पूर्व में भारत बंद की अफवाह को देखते हुए पिछले दो शुक्रवार से जिले में काफी सतर्कता बरती जा रही है। पूरे जिले को सात जोन और 15 सेक्टर में बांटा हुआ था।
पिछले जुमे की तरह ही इस बार भी जुमा नमाज शांतिपूर्वक निपटने पर अधिकारियों ने राहत की सांस ली। पिछले जुमे पर भी पुसि प्रशासन काफी सतर्क मोड पर था। इस बार भी अपनी तरफ से कोई लापरवाही बरतने के मूड में आलाधिकारी नहीं था। यही कारण है कि इस बार भी अलर्ट जारी कर दिया गया था। मेरठ जिले केा सात जोन और 15 सेक्टर में बांटकर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की गई थी। खुफिया विभाग भी पूरी तरह से सक्रिय रहा।

7 दिन से जुग जुग जियो तक आज 39 साल

7 दिन से जुग जुग जियो तक आज 39 साल
कविता गर्ग  
मुंबई। अनिल कपूर बॉलीवुड के एक बेहतरीन अभिनेता हैं, जो दर्शकों का अपनी एक से एक फिल्मों के जरिए मनोरंजन करते आ रहे हैं। वह एक्टिंग के साथ ही अपने लुक्स को लेकर भी चर्चा में रहते हैं। 65 की उम्र में भी यंग और हैंडसम दिखने वाले अनिल से कई मौकों पर इसका राज पूछा जाता है। लुक्स के अलावा उनके फिल्मी करियर पर भी नजर डालें तो वह भी उनके डायलॉग की तरह बिल्कुल झकास रहा। फिल्मी पर्दे पर आए आज उन्हें 39 साल हो चुके है।
जी हां, अनिल कपूर ने इंडस्ट्री में अपने 39 साल भी पूरे कर लिए हैं। साल 1983 में आई फिल्म ‘वो सात दिन’ से उन्होंने बॉलीवुड में कदम रखा था। यह फिल्म आज ही के दिन यानी 24 जून को ही रिलीज हुई थी। 
इस खास मौके पर अनिल कपूर ने सोशल मीडिया पर अपने पुराने पलों को याद किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘वो 7 दिन से जुग जुग जियो तक आज 39 साल’  यही नहीं इसके अलावा अनिल कपूर ने इंस्टाग्राम पर भी फिल्म की एक क्लिप साझा की और इसे कैप्शन दिया, ‘वो सात दिन में प्रेम प्रताप सिंह पटियालावाले से जुग जुग जियो के भीम तक  यह इतनी शानदार यात्रा रही है। आज से 39 साल पहले मेरी जिंदगी बदल गई और पुरानी यादें असली हैं। यह वीडियो पुरानी यादों की यात्रा है। सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे हैं अभिनेता के ट्वीट और यह वीडियो क्लिप।
वो सात दिन अनिल कपूर की बतौर लीड एक्टर पहली फिल्म थी। हालांकि, वह फिल्म के लिए पहली पसंद नहीं थे। अनिल कपूर के भाई बोनी कपूर फिल्म के लिए पहले मिथुन चक्रवर्ती को साइन करने वाले थे। साल 1982 में डिस्को डांसर बेहद हिट रही थी, जिसके बाद मिथुन चक्रवर्ती ने अपनी फीस बढ़ा ली थी। इसके बाद इस फिल्म के जरिए बोनी कपूर ने अपने भाई अनिल को लॉन्च किया।
जानकारी के लिए बता दें कि, अनिल कपूर इन दिनों अपनी फिल्म ‘जुग जुग जियो’ को लेकर चर्चा में हैं, जो हाल ही में सिनेमाघरों में रिलीज हुई है।फिल्म में उनके साथ नीतू कपूर, वरुण धवन और कियारा आडवाणी भी नजर आए हैं।

अतिक्रमण-गंदगी, जिला पंचायत अध्यक्ष का रोष

अतिक्रमण-गंदगी, जिला पंचायत अध्यक्ष का रोष

भानु प्रताप उपाध्याय  
मुजफ्फरनगर। जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ. वीरपाल निर्वाल ने विभागीय कर्मचारियों के साथ जिला परिषद मार्केट का भ्रमण किया। उन्होंने अतिक्रमण और गंदगी पर रोष जाहिर किया। अध्यक्ष ने कहा कि व्यापारी स्वच्छता अभियान में सहयोग करें। पार्क की स्थिति सुधारने का भरोसा दिया।
जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ. वीरपाल निर्वाल जिला पंचायत सदस्यों और जिला पंचायत के अधिकारियों सहित जिला परिषद मार्केट का औचक निरीक्षण करने पहुंचे। मार्केट में अव्यवस्था , अतिक्रमण और गंदगी मिली। उन्होंने व्यापारियों से कहा कि एक हफ्ते में व्यवस्था चुस्त करने में अपना पूर्ण योगदान करें। जिला पंचायत अपने स्तर से आवश्यक कदम भी उठाएगी और सहयोग नहीं करने वाले व्यापारियों पर अर्थदंड भी लगाया जाएगा। व्यापारियों ने अपनी समस्याएं रखी, जिसका अध्यक्ष ने समाधान का भरोसा दिया। निर्वाल ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति के सहयोग से स्वच्छता अभियान परवान चढ़ सकता है। इस दौरान अमित रावल , तरुण पाल ,विपिन त्यागी ,हरेंद्र शर्मा , प्रमोद कश्यम , प्रवीण टेलर ,रामनाथ ए एमए जिंतेंद्र तोमर , वरिष्ठ लिपिक अक्षय शर्मा , रामकुमार शर्मा मौजूद रहे।

क्लोज़र रिपोर्ट को चुनौती, एससी ने खारिज की

क्लोज़र रिपोर्ट को चुनौती, एससी ने खारिज की
इकबाल अंसारी  
गांधीनगर। गुजरात दंगा केस में ज़किया जाफरी की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है। ज़किया ने दंगे की साज़िश के आरोप से तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी को मुक्त करने वाली SIT की क्लोज़र रिपोर्ट को चुनौती दी थी। इससे पहले 2012 में मजिस्ट्रेट और 2017 में हाई कोर्ट इस रिपोर्ट को मंजूरी दे चुके हैं। सुप्रीम कोर्ट ने भी मामले पर फैसला सुनाते हुए कहा है कि याचिका में तथ्य नहीं हैं।
सुप्रीम कोर्ट ने 2008 में दंगों की जांच के लिए पूर्व सीबीआई निदेशक आर के राघवन के नेतृत्व में SIT का गठन किया था। कोर्ट लगातार इस जांच की निगरानी करता रहा। दंगों में मारे गए पूर्व कांग्रेस सांसद एहसान जाफरी की पत्नी ज़किया ने दंगों की साज़िश में तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी के भी शामिल होने का आरोप लगाया। 2011 में सुप्रीम कोर्ट ने SIT को ज़किया की तरफ से दिए गए सबूतों के आधार पर मामले की जांच का आदेश दिया।
2012 में SIT ने दाखिल की थी क्लोजर रिपोर्ट
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद SIT ने दंगों की व्यापक साज़िश के पहलू की जांच की। मुख्यमंत्री मोदी से भी अपने कार्यालय में बुला कर पूछताछ की। 2012 में SIT ने मजिस्ट्रेट के पास क्लोज़र रिपोर्ट दाखिल कर दी। SIT ने मोदी समेत 63 लोगों के साज़िश में हिस्सेदार होने के आरोप को गलत पाया। ज़किया ने मजिस्ट्रेट कोर्ट में इस रिपोर्ट के खिलाफ प्रोटेस्ट पेटिशन दाखिल की। इसे मजिस्ट्रेट ने खारिज कर दिया।
2017 में गुजरात हाई कोर्ट ने भी मजिस्ट्रेट के आदेश को सही करार दिया।
2018 में सुप्रीम कोर्ट पहुंची ज़किया की अपील पर 3 साल तक सुनवाई नहीं हो पाई। ज़्यादातर मौकों पर इसकी वजह खुद याचिकाकर्ता की तरफ से सुनवाई टालने का अनुरोध रहा।पिछले साल कोर्ट ने इस पर सख्ती जताते हुए सुनवाई को और टालने से मना कर दिया।आखिरकार कोर्ट ने विस्तृत सुनवाई के बाद 9 दिसंबर 2021 को मामले पर आदेश सुरक्षित रख लिया।
SC बेंच ने कहा- अपील आदेश देने योग्य नहीं
मामले की सुनवाई के दौरान ज़किया की तरफ से वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने बहस की थी‌। उन्होंने SIT पर सबूतों की अनदेखी का आरोप लगाया था। वहीं SIT के लिए मुकुल रोहतगी ने पक्ष रखा था। रोहतगी ने याचिका का विरोध करते हुए कहा था कि याचिकाकर्ता मामले में पीएम मोदी का नाम जुड़ा होने के चलते इसे खींचते रहने की कोशिश कर रहे हैं। रोहतगी ने याचिकाकर्ता की मंशा पर सवाल ठगते हुए कहा था, “अगर इन्हें सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हुई जांच पर भी भरोसा नहीं है, तो क्या अब स्कॉटलैंड यार्ड (ब्रिटिश पुलिस मुख्यालय) की जांच टीम को बुलाने की मांग करना चाहते हैं।
मामले पर फैसला आज जस्टिस ए एम खानविलकर, दिनेश माहेश्वरी और सी टी रविकुमार की बेंच ने फैसला दिया। बेंच ने कहा कि अपील आदेश देने योग्य नहीं है। इस टिप्पणी के साथ ज़किया की अपील को कोर्ट ने खारिज कर दिया। कोर्ट ने माना है कि मामले में मजिस्ट्रेट का आदेश सही था। उन्होंने सभी पहलुओं को देखने के बाद उचित कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए आदेश दिया था।
सुप्रीम कोर्ट ने SIT के कामकाज की तारीफ की है। साथ ही यह भी कहा है कि इस मामले को जानबूझकर लंबा खींचा गया।कुछ लोगों ने न्यायिक प्रक्रिया का दुरुपयोग कर प्रयास किया कि मामला चर्चा में बना रहे। हर उस व्यक्ति की ईमानदारी पर सवाल उठाए गए, जो मामले को उलझाए रखने वाले लोगों के आड़े आ रहा था। न्यायिक प्रक्रिया का दुरुपयोग कर अपने उद्देश्यों की पूर्ति करने वाले लोगों पर उचित कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

बस भाजपा की सरकार चलेगी, बाकी तानाशाही

बस भाजपा की सरकार चलेगी, बाकी तानाशाही
कविता गर्ग  
मुंबई। महाराष्ट्र की सियासत में मचे उथल-पुथल को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को जिम्मेदार बताते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता और राज्य के पूर्व उपमुख्यमत्री तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को कहा कि जहां भी गैर भाजपा सरकार होती है वहां भाजपा सरकार को चैन से नहीं रहने देती हैं। किसी भी तरह से तोड़ मोड़ कर भाजपा उसे अस्थिर करने में जुटी रहती है।
पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए तेजस्वी ने कहा कि महाराष्ट्र में भी ऐसा ही हो रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहती है कि सरकार चलेगी तो उसी की चलेगी नहीं तो नहीं चलेगी। यह तो तानाशाही है। उन्होंने का कि बिहार में लोगों ने भाजपा को नकार दिया था, लेकिन नीतीश कुमार पर दबाव बनाकर सरकार बना ली गई।
अग्निपथ योजना के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि छात्रों की मांग जायज है। उन्होंने कहा कि आखिर चार साल बाद अग्निवीर कहां जाएंगे। उन्होंने सरकार द्वारा अग्निवीरों के संबंध में की जा रही घोषणाओं को भी झूठ करार दिया। तेजस्वी ने कहा कि भाजपा और जदयू की सरकार ने देश और राज्य केा बर्बाद कर दिया। जो वादे किए गए थे, वे पूरा हो गए क्या। उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना का विरोध होना चाहिए लेकिन शंतिपूर्व होना चाहिए।
उल्लेखनीय है कि सेना भर्ती के लिए प्रारंभ की गई योजना अग्निपथ का ऐसे तो कई स्थानों पर विरोध किया गया लेकिन सबसे अधिक हिंसा बिहार में हुई।

सिंगल यूज प्लास्टिक पर पूरी तरह लगेगी पाबंदी

सिंगल यूज प्लास्टिक पर पूरी तरह लगेगी पाबंदी

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। जुलाई से देशभर में सिंगल यूज प्लास्टिक पर पूरी तरह पाबंदी लगने वाली है। सरकार ने इसके लिए प्लान तैयार कर लिया है। सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। सिंगल यूज प्लास्टिक को बैन करने के लिए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड  ने कड़ा नियम बनाया है।
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा पारित एक आदेश में कहा गया है कि किसी भी दुकान में अगर सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल किया गया तो दुकान का ट्रेड लाइसेंस कर दिया जाएगा और दोबारा लाइसेंस लेने के लिए फिर से जुर्माना देकर अप्लाई करना पड़ेगा।
CPCB ने सिंगल यूज प्लास्टिक की लिस्ट भी जारी की है, जो 1 जुलाई से पूरी तरह बैन है। इन सभी प्रोडेक्ट के अल्टरनेटिव के लिए 200 कंपनियां प्रोडेक्ट बना रही हैं। इसके लिए उन्हें लाइसेंस रीन्यू कराने की जरूरत नहीं है।
प्लास्टिक स्टिक वाले ईयर बड्स, गुब्बारों की प्लास्टिक स्टिक, प्लास्टिक के फ्लैग, कैंडी स्टिक, आइस क्रीम स्टिक, थर्माकॉल, प्लास्टिक प्लेट्स ,प्लास्टिक कप , प्लास्टिक पैकिंग का सामान, प्लास्टिक से बने इनविटेशन कार्ड, सिगरेट पैकेट्स, प्लास्टिक और पीवीसी बैनर (100 माइक्रोन से कम), प्लास्टिक यूज करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई।

जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे, पीएम मोदी

जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे, पीएम मोदी 
अखिलेश पांडेय  
बर्लिन। जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26-27 जून को जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए शोल्स एल्माउ जायेंगे। सम्मेलन के दौरान यूक्रेन संघर्ष, हिन्द प्रशांत क्षेत्र की स्थिति, खाद्य एवं ऊर्जा सुरक्षा, जलवायु सहित महत्वपूर्ण वैश्विक चुनौतियों पर चर्चा होगी । विदेश सचिव विनय क्वात्रा ने शुक्रवार को संवाददाताओं को यह जानकारी दी । उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी 28 जून को संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा पर जायेंगे जहां वे यूएई के पूर्व राष्ट्रपति एवं अबू धाबी के शासक रहे शेख खलीफा बिन जायेद अल नाह्यान के निधन पर व्यक्तिगत रूप से श्रद्धांजलि देंगे ।
यह पूछे जाने पर जी7 शिखर बैठक यूक्रेन संकट के मुद्दे पर भारत का रूख क्या रहेगा, क्वात्रा ने कहा कि यूक्रेन संकट शुरू होने के समय से ही भारत का रूख स्पष्ट है कि जल्द से जल्द युद्ध विराम होना चाहिए और बातचीत एवं कूटनीति के जरिये समस्या का समाधान निकाला जाना चाहिए । उन्होंने कहा कि यूक्रेन संकट के कारण खाद्य, ऊर्जा सुरक्षा से जुड़े विषयों, उत्पादों से जुड़ी मुद्रास्फीति, वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला बाधित होने के मुद्दों पर भारत ने विभिन्न मंचों पर अपना दृष्टिकोण स्पष्ट किया है।
क्वात्रा ने कहा कि वैश्विक मंचों पर भारत का रूख भारत के हितों एवं उसके सिद्धांतों के तहत तय होता है और इसको लेकर कोई शंका या संकोच नहीं होना चाहिए । जी7 समूह दुनिया के सात सबसे अमीर देशों का समूह है जिसकी अध्यक्षता अभी जर्मनी कर रहा है। इस समूह में ब्रिटेन, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, ईटली, जापान और अमेरिका शामिल है। विदेश सचिव ने बताया कि जी7 शिखर सम्मेलन का आयोजन जर्मनी की अध्यक्षता में हो रहा है जिसमें अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, सेनेगल, दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों को भी आमंत्रित किया गया है। गौरतलब है कि इस बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रो, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडू सहित कई अन्य शीर्ष नेता हिस्सा ले रहे हैं ।
क्वात्रा ने कहा कि जर्मनी की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी दो सत्रों को संबोधित कर सकते हैं जिसमें एक सत्र पर्यावरण, ऊर्जा, जलवायु का होगा और दूसरे सत्र में खाद्य सुरक्षा, लैंगिक समानता और लोकतंत्र जैसे विषय शामिल हैं । इस शिखर बैठक से इतर प्रधानमंत्री सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले कुछ देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे । उल्लेखनीय है कि मोदी पिछली बार 2 मई को जर्मनी गए थे जहां उन्होंने छठी भारत-जर्मनी अंतर सरकारी विचार विमर्श बैठक में हिस्सा लिया था ।
जी7 शिखर बैठक में हिस्सा लेने के लिये प्रधानमंत्री मोदी को निमंत्रण दोनों देशों की करीबी गठजोड़ और उच्च स्तरीय राजनीतिक सम्पर्क की परंपरा के मद्देनजर दिया गया है। विदेश सचिव ने बताया कि जर्मनी में जी7 शिखर बैठक में हिस्सा लेने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 जून को संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा पर जायेंगे। प्रधानमंत्री मोदी संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा के दौरान यूएई के पूर्व राष्ट्रपति एवं अबू धाबी के शासक रहे शेख खलीफा बिन जायेद अल नाह्यान के निधन पर व्यक्तिगत श्रद्धांजलि देंगे।
प्रधानमंत्री इस दौरान यूएई के नये राष्ट्रपति एवं अबू धाबी का शासक चुने जाने पर शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाह्यान को बधाई भी देंगे । मोदी 28 जून की रात को ही यूएई से देश वापस लौटेंगे । गौरतलब है कि यूएई के पूर्व राष्ट्रपति एवं अबू धाबी के शासक रहे शेख खलीफा बिन जायेद अल नाह्यान का निधन 13 मई को हुआ था । भारत की ओर से शोक प्रकट करने के लिये उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू वहां गए थे ।

महाराष्ट्र घटनाक्रम के पीछे बीजेपी का हाथ: राउत

महाराष्ट्र घटनाक्रम के पीछे बीजेपी का हाथ: राउत
विमलेश यादव
मुंबई। महाराष्ट्र में इस समय राजनीतिक उठापटक काफी जोरों पर है। उद्धव ठाकरे सरकार चारों तरफ से घिर चुकी है और कभी भी सत्ता हाथ से जा सकती है। पार्टी के तमाम विधायकों की बगावत के बीच अब शिवसेना नेता संजय राउत फिर सामने आए हैं। राउत ने कहा है कि पार्टी के 12 विधायकों ने बगावत की है, जिनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी शुरू हो चुकी है। उन्होंने एक बार फिर आरोप लगाया कि उनके नेताओं को धमकियां दी जा रही हैं। इसका आरोप उन्होंने एक केंद्रीय मंत्री पर लगाया है। राउत ने कहा कि अगर सरकार बचाने की कोशिश हुई तो शरद पवार घर नहीं जा पाएंगे।
राउत का बयान-पवार को भी मिल रही धमकियां 
संजय राउत ने मीडिया के सामने आते हुए कहा कि, महाराष्ट्र में जो कुछ हो रहा है उसके पीछे बीजेपी का हाथ है। अब ये लड़ाई कानूनी तौर पर लड़ी जाएगी। संख्या बल कागज पर ज्यादा हो सकता है। सरकार कब बनेगी, बनेगी भी या नहीं पता नहीं। आंकड़ा कभी स्थिर नहीं रहता। राउत ने आगे कहा कि, शरद पवार को भी धमकियां दी जा रही हैं। केंद्रीय मंत्री धमकी दे रहा है।
इससे पहले केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता नारायण राणे के बयान पर संजय राउत ने एक ट्वीट भी किया था। जिसमें उन्होंने कहा कि, महा विकास आघाड़ी सरकार बचाने की कोशिश की तो शरद पवार इनको घर नहीं जाने देंगे। रास्ते में रोकेंगे ऐसी धमकी बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री देते हैं। यह भाजपा की अधिकृत भूमिका है, सरकार टिकेगी या जाएगी… लेकिन शरद पवार को लेकर इस तरह की भाषा महाराष्ट्र को स्वीकार्य नहीं।
शिवसेना ने बुलाई बैठक
बता दें कि बागी नेता एकनाथ शिंदे ने दावा किया है कि शिवसेना के 37 से ज्यादा विधायक उनके पाले में हैं। जिससे सरकार के अलावा खुद शिवसेना टूट के कगार पर है। इसी बीच शिवसेना की तरफ से दोपहर 12 बजे मातोश्री में एक बैठक बुलाई गई है। जिसमें पार्टी के तमाम नेताओं और पदाधिकारियों को बुलाया गया है। इस बैठक में खुद सीएम उद्धव ठाकरे भी मौजूद रहेंगे। हालांकि ये देखना बाकी है कि इस बैठक में कितने शिवसेना नेता और पदाधिकारी शामिल होंगे।

राष्ट्रपति के उम्मीदवार सिन्हा को जेड श्रेणी की सुरक्षा

राष्ट्रपति के उम्मीदवार सिन्हा को जेड श्रेणी की सुरक्षा
अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने राष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कमांडो की ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। केन्द्रीय गृह मंत्रालय की ओर से सीआरपीएफ की वीआईपी सुरक्षा शाखा को सिन्हा (84) की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश मिलने के बाद दस्ते ने सिन्हा की सुरक्षा का जिम्मा संभाल लिया है।
अधिकारियों ने कहा कि सिन्हा जब भी देश में कहीं आएंगे-जाएंगे, आठ से दस सशस्त्र जवान उनकी सुरक्षा करेंगे। गौरतलब है कि राजग की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को भी जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। समझा जाता है कि सिन्हा 27 जून को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे जिसके बाद वह अपने लिए वोट मांगने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों का दौरा करेंगे। राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव 18 जुलाई को होगा तथा मतगणना 21 जुलाई को होगी। वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त होने जा रहा है।

राष्ट्रीय पार्टी का विद्रोह को समर्थन मिला: एकनाथ

राष्ट्रीय पार्टी का विद्रोह को समर्थन मिला: एकनाथ 

अकांशु उपाध्याय 
मुंबई। शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे के अपनी पार्टी के खिलाफ बगावत में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के शामिल होने के आरोपों के बीच भाजपा की महाराष्ट्र इकाई के प्रमुख चंद्रकांत पाटिल ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में चल रहे राजनीतिक संकट में उनकी पार्टी की कोई भी भूमिका नहीं है। हालांकि, उन्होंने बिना कोई ब्योरा दिए स्वीकार किया कि विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस बृहस्पतिवार को ‘‘किसी काम के लिए’’ दिल्ली गए थे।
पाटिल की यह टिप्पणी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार के उस बयान के एक दिन बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा था कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार के मौजूदा संकट के पीछे भाजपा की भूमिका है। शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने गुवाहाटी में अपने साथ मौजूद विधायकों को संबोधन के दौरान भाजपा की ओर परोक्ष रूप से इशारा करते हुए कहा कि एक ‘‘राष्ट्रीय पार्टी’’ ने उनके विद्रोह का समर्थन किया है और बागियों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।
पाटिल ने अपने गृहनगर कोल्हापुर में पत्रकारों से कहा, ‘‘भाजपा का शिवसेना या महा विकास आघाड़ी (शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के गठबंधन एमवीए) में मौजूदा आंतरिक कलह से कोई लेना-देना नहीं है। बृहस्पतिवार को मुंबई में मैंने देवेंद्र फडणवीस के साथ दोपहर का भोजन किया और फिर वह (फडणवीस) किसी काम से नयी दिल्ली के लिए रवाना हुए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बातचीत के दौरान फडणवीस ने मुझसे कहा कि कुछ चीजें हो रही हैं। लेकिन अगर कुछ भी महत्वपूर्ण (कोई भी विकास) होता, तो वह निश्चित रूप से मुझे विश्वास में लेते।
’’ पाटिल ने कहा कि भाजपा फिलहाल 2024 के चुनावों की तैयारियों में लगी हुई है। शिंदे फिलहाल शिवसेना के 37 बागी विधायकों और नौ निर्दलीय विधायकों के साथ गुवाहाटी के एक होटल में डेरा डाले हुए हैं। शिंदे के विद्रोह के पीछे भाजपा की भूमिका के बारे में शरद पवार के बयान पर पाटिल ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि पवार और शिवसेना के संजय राउत अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अपने अधिकार का अत्यधिक उपयोग करते हैं।
मैं तो रोज समाचार भी नहीं देख पाता हूं, इसलिए मुझे पता नहीं है कि वास्तव में शिवसेना में क्या हो रहा है।’’ यह पूछे जाने पर कि मुंबई के भाजपा पदाधिकारी मोहित कम्बोज शिवसेना के बागी नेताओं के साथ गुवाहाटी में हैं, पाटिल ने कहा, ‘‘हर राजनीतिक दल में उनके मित्र हैं। वह किसी की मदद करने गए होंगे। कम्बोज कहां हैं, इस बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है।’’

राष्ट्रपति उम्मीदवार मुर्मू का नामांकन दाखिल हुआ

राष्ट्रपति उम्मीदवार मुर्मू का नामांकन दाखिल हुआ
अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने अपना नामांकन दाखिल कर लिया है। मुर्मू ने संसद भवन में राज्यसभा के सेक्रेटरी जनरल के दफ्तर में नामांकन भरा। प्रस्तावों में खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा शामिल थे। नामांकन के दौरान जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, जगन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस के साथ ही बीजेपी के वरिष्ठ नेता और बीजेपी शासित सभी राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद थे।
लंबी चर्चा के बाद सामने आया मुर्मू का नाम
की मौजदूगी में बीजेपी मुख्यालय में हुई पार्टी संसदीय दल की बैठक के बाद मुर्मू के नाम का ऐलान किया गया था। राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बताया था कि बैठक में 20 नामों पर विचार-विमर्श करने के बाद सबने एकमत से पूर्वी भारत से आने वाली आदिवासी महिला नेता द्रौपदी मुर्मू को एनडीए की तरफ से राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने का फैसला किया है।
इससे पहले विपक्षी दल यशवंत सिन्हा को अपना संयुक्त उम्मीदवार घोषित कर चुके हैं।बताया गया है कि यशवंत सिन्हा 27 जून को अपना नामांकन दाखिल करेंगे। नामांकन की आखिरी तारीख 29 जून है। 18 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए मतदान होगा और नतीजों की घोषणा 21 जुलाई को की जाएगी।
NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू आज दिल्ली में अपना नामांकन दाखिल किया…राष्ट्रपति पद के लिए 18 जुलाई को मतदान होना है। वर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है। जदयू और बीजद के समर्थन की घोषणा के बाद द्रौपदी मुर्मू का राष्ट्रपति चुना जाना तय माना जा रहा है।

जीएसआर अधिसूचना के मसौदे को मंजूरी दे दी

 जीएसआर अधिसूचना के मसौदे को मंजूरी दे दी
अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को कहा कि कारों के मूल्यांकन का नया कार्यक्रम ‘भारत एनसीएपी’ एक ऐसी व्यवस्था देता है जिसके तहत भारत में वाहनों को दुर्घटना परीक्षण में उनके प्रदर्शन के आधार पर ‘स्टार रेटिंग’ दी जाएगी। गडकरी ने इस बारे में कई ट्वीट किए जिनमें कहा कि भारत नया कार मूल्यांकन कार्यक्रम (भारत एनसीएपी) देश में सुरक्षित वाहनों के विनिर्माण के लिए मूल उपकरण निर्माताओं (ओईएम) के बीच एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देने के साथ-साथ ग्राहकों को स्टार-रेटिंग के आधार पर सुरक्षित कारों को चुनने का विकल्प देगा और उपभोक्ता-केंद्रित मंच के रूप में काम करेगा।
उन्होंने कहा, ‘‘मैंने भारत एनसीएपी (नया कार आकलन कार्यक्रम) शुरू करने के लिए जीएसआर अधिसूचना के मसौदे को मंजूरी दे दी है, जिसके तहत भारत में वाहनों को दुर्घटना परीक्षण में उनके प्रदर्शन के आधार पर स्टार रेटिंग दी जाएगी।’’ सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री गडकरी ने जोर देकर कहा कि क्रैश परीक्षणों के आधार पर भारतीय कारों की स्टार रेटिंग कारों में संरचनात्मक और यात्री सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ही नहीं बल्कि भारतीय वाहनों की निर्यात-योग्यता को बढ़ाने के लिहाज से भी अत्यंत महत्वपूर्ण है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन  

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-259, (वर्ष-05)
2. शनिवार, जून 25, 2022
3. शक-1944, आषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि-द्वादशी, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 28 डी.सै., अधिकतम-40+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन  अविनाश श्रीवास्तव  चक्की। प्रखंड की अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन किया गया। जि...