सोमवार, 10 अक्तूबर 2022

मंत्री सरारी को बर्खास्त व गिरफ्तार करने की मांग

मंत्री सरारी को बर्खास्त व गिरफ्तार करने की मांग

अमित शर्मा 

चंडीगढ़। कांग्रेस ने एक ऑडियो क्लिप के सिलसिले में पंजाब के मंत्री फौजा सिंह सरारी को बर्खास्त करने की मांग को लेकर सोमवार को पूरे राज्य में विरोध-प्रदर्शन किया। इस ऑडियो क्लिप में मंत्री को कुछ ठेकेदारों से पैसे ‘उगाहने’ के तरीकों पर कथित रूप से चर्चा करते हुए सुना जा सकता है। सरारी और उनके पूर्व करीबी के बीच कथित बातचीत का कथित ऑडियो क्लिप पिछले महीने सामने आया था। 

उन्हें कुछ अधिकारियों के माध्यम से खाद्यान्न ढुलाई में शामिल कुछ ठेकेदारों को फंसाने के तरीकों पर कथित रूप से चर्चा करते हुए सुना गया था, ताकि उनसे “उगाही” की जा सके। पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता प्रताप सिंह बाजवा ने सरारी को बर्खास्त नहीं करने के लिए आम आदमी पार्टी (‘आप’) सरकार की आलोचना की। कांग्रेस नेता ने कहा कि अब समय आ गया है कि मुख्यमंत्री भगवंत मान अपने मंत्री को बचाना बंद करें।

बाजवा ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और पूर्व मंत्रियों सुखजिंदर सिंह रंधावा और अरुणा चौधरी के साथ गुरदासपुर उपायुक्त के कार्यालय के बाहर धरना दिया और उन्हें एक ज्ञापन सौंपा। बाजवा ने कहा कि कांग्रेस ने हाल के विधानसभा सत्र में सरारी का मुद्दा उठाया था, लेकिन मुख्यमंत्री मान के नेतृत्व वाले सत्ता पक्ष ने मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करने से इनकार कर दिया। बाजवा ने कहा, “ हमने पंजाब विधानसभा अध्यक्ष कुलतार सिंह संधावन को इस मुद्दे पर विपक्ष को बहस करने की अनुमति देने के लिए मनाने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने ने इनकार कर दिया।“ कादियान से विधायक ने मुख्यमंत्री मान को पूर्व स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला की याद दिलाई, जिन्हें बर्खास्त कर दिया गया था और बाद में एक ऑडियो क्लिप के आधार पर गिरफ्तार किया गया था, जिसे ‘आप’ सरकार ने कभी सार्वजनिक नहीं किया था।

बाजवा ने कहा, “ हालांकि यह अलग बात है कि विजय सिंगला को ‘आप’ का पूरा समर्थन मिलता रहा है और उन्हें अभी तक पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त नहीं किया गया है।” राजा वडिंग ने पटियाला में प्रदर्शन का नेतृत्व किया और मंत्री के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के लिए सरकार पर निशाना साधा। वडिंग ने सरारी को गिरफ्तार करने की मांग की। खाद्य प्रसंस्करण और रक्षा सेवा कल्याण मंत्री सरारी इस आरोप से इनकार कर चुके हैं।

साहित्यकार पर्यटकों ने प्रबंध संचालक से मुलाकात की

साहित्यकार पर्यटकों ने प्रबंध संचालक से मुलाकात की

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। दिल्ली और अहमदाबाद के साहित्यकार पर्यटकों ने छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड के प्रबंध संचालक अनिल कुमार साहू से सौजन्य मुलाकात की। सभी साहित्यकारों ने अपने 7 दिवसीय छत्तीसगढ़ प्रवास के पर्यटन अनुभव, प्रबन्ध संचालक से साझा करते हुए यहां के आकर्षक और खूबसूरत पर्यटन स्थलों के साथ ही छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड के रिसोर्ट्स के लोकेशन और खूबसूरती की भी तारीफ की। दिल्ली और अहमदाबाद के साहित्यकार अपने 7 दिवसीय छत्तीसगढ़ भ्रमण के दौरान धनकुल एथनिक रिसोर्ट कोंडागांव पहुंचे। इन साहित्यकारों ने बताया कि छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड द्वारा निर्मित इस रिसोर्ट के लोकेशन,पारंपरिक खुबसूरती और स्टाफ के आत्मीय व्यवहार की बेहतरीन यादें उन्होंने अपने दिलों में हमेशा के लिए संजो ली है।

छत्तीसगढ़ भ्रमण के लिए दिल्ली से आई प्रसिद्ध साहित्यकार श्रीमती आभा चौधरी ने छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड के प्रबंध संचालक अनिल कुमार साहू से सौजन्य मुलाकात करते हुए उन्हें अपनी कविताओं की पुस्तक भेंट की। इस दौरान उन्होंने छत्तीसगढ़ के पर्यटन अनुभव,प्रबन्ध संचालक से साझा करते हुए यहां के अनछुए और आकर्षक पर्यटन स्थलों के साथ ही छत्तीसगढ प्रशंसा की।

मुलायम का पार्थिव शरीर पैतृक गांव 'सैफई' पहुंचा

मुलायम का पार्थिव शरीर पैतृक गांव 'सैफई' पहुंचा

संदीप मिश्र 

सैफई। पूर्व रक्षा मंत्री और यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव के निधन पर उत्तर प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में शोक की लहर है। मुलायम सिंह यादव का पार्थिव शरीर उत्तर प्रदेश में उनके पैतृक गांव सैफई पहुंच गया है‌। उनका अंतिम संस्कार कल 11 अक्टूबर को सैफई में होगा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुष्प चक्र चढ़ाकर मुलायम सिंह को श्रद्धांजलि दी है। इस दौरान मुलायम सिंह का पूरा परिवार एक साथ दिखा।

समाजवादी पार्टी के संस्थापक उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का निधन होने के बाद शोक संवेदनाओं का तांता लगा है। सोमवार शाम करीब साढ़े पांच बजे मुलायम का पार्थिव शरीर उनके गांव सैफई पहुंचा। शव पहुंचने के कुछ देर बाद ही सीएम योगी भी पहुंचे और पुष्प चक्र चढ़ाकर मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि अर्पित की। सीएम योगी के साथ जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी भी मुलायम सिंह यादव के निधन पर श्रद्धांजलि देने पहुंचे।

गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल से मुलायम सिंह यादव का पार्थिव शरीर यमुना एक्सप्रेस वे होते हुए सैफई के लिए ले जाया गया है। इस दौरान जब शव यात्रा मथुरा के मांट और बाजना से गुजरी तो वहां पहले से मौजूद लोगों की भीड़ ने अपने नेता को अंतिम विदाई दी। इसके बाद ये यात्रा आगरा के खंदौली टोल प्लाजा पर पहुंची। यहां पहले से ही बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ताओं और लोगों की भीड़ जमा हुई थी। शव यात्रा को देख लोगों की आंखें नम हो गईं। सैफई पहुंचते ही उनके अंतिम दर्शन को जन सैलाब उमड़ पड़ा।

शामली: डीएम कार्यालय के सामने किसानों का धरना 

शामली: डीएम कार्यालय के सामने किसानों का धरना 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। भाकियू के बैनर तले किसानों ने अपनी मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट में डीएम कार्यालय के सामने धरना दिया। किसानों ने डीसीओ व ऊन गन्ना समिति सचिव पर एजीएम की बैठक में ग्रामीणों का फर्जी हस्ताक्षर दर्शाकर किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया। धरनारत किसानों ने डीएम को ज्ञापन सौंपकर डीसीओ एवं सचिव के खिलाफ जांच कर कार्यवाही करने की मांग की। साथ ही डीएम को दरगाहपुर के किसानों द्वारा शेरमऊ शुगर मिल सहारनपुर को गन्ना आपूर्ति करने का निर्णय लेने से अवगत कराया। सोमवार को भाकियू जिलाध्यक्ष कपिल खाटियान के नेतृत्व में सैकड़ों किसान कलक्ट्रेट पहुंचे और डीएम कार्यालय के सामने धरना देकर बैठ गए।

किसानों ने कहा कि डेलीगेट सदस्यों द्वारा गांव दरगाहपुर का गन्ना उत्तम शुगर मिल शेरमऊ सहारनपुर को दिए जाने का फैसला लिया गया, लेकिन ऊन गन्ना समिति के सचिव एवं डीसीओ स्तर पर ग्रामीणों के फर्जी हस्ताक्षकर कर चीनी मिल के पक्ष में फर्जी प्रस्ताव बुकलेट गन्ना आयुक्त को भेजा दिया। जिसमें कुछ अन्य गांवों के किसानों के भी हस्ताक्षर करा लिए गए। किसानों ने मांग की कि फर्जी प्रकरण की जांच कराते हुए ऊन गन्ना सचिव अजीत कुमार एवं डीसीओ विजय बहादुर सिंह के खिलाफ जांच कर कार्यवाही की जाये। दरगाहपुर के गन्ना क्रय केन्द्र को उत्तम शुगर मिल शेरमऊ सहारनपुर को दिए जाने की संस्तुति की जाये। धरना देने वालों में महिपाल सरोहा, तेजपाल, रामगोपाल शर्मा, सुरेश चंद, रामेन्द्र शर्मा, सतबीर, दर्शन, विरेन्द्र, रामनिवास, राजेन्द्र सिंह, यशपाल, सतीश, अनुज सरोहा, राजकुमार आदि मौजूद रहे।

मुठभेड़ के दौरान सेना का कुत्ता गंभीर रूप से घायल 

मुठभेड़ के दौरान सेना का कुत्ता गंभीर रूप से घायल 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ के दौरान सेना का एक हमलावर कुत्ता गंभीर रूप से घायल हो गया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिलने पर सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर स्थित इस जिले के तंगपावा इलाके में रविवार देर रात घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया। सोमवार की सुबह सेना ने ‘जूम’ नाम के अपने हमलावर कुत्ते को उस घर के अंदर भेजा, जहां आतंकवादी छिपे हुए थे।

उन्होंने कहा कि जूम इससे पहले भी कई सक्रिय अभियानों का हिस्सा रहा है। अधिकारियों ने कहा कि इस बार के अभियान में आतंकवादियों की दो गोली लगने के कारण जूम घायल हो गया। अधिकारियों ने कहा, ‘‘जूम ने पहचान करने के बाद आतंकियों पर हमला किया जिस दौरान उसे भी दो गोलियां लगीं।’’ उन्होंने कहा कि जूम लड़ता रहा और अपना काम पूरा किया, जिसके परिणामस्वरूप दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया। अधिकारियों ने बताया कि इस बहादुर कुत्ते को सेना के पशु चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है। इस मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को ढेर किया गया, हालांकि दो सैनिक भी घायल हुए हैं।

यूपी: 10 वर्षीय छात्रा का दिनदहाड़े अपहरण, तहरीर 

यूपी: 10 वर्षीय छात्रा का दिनदहाड़े अपहरण, तहरीर 

संदीप मिश्र 

कुशीनगर। घर से निकलकर स्कूल में शिक्षा ग्रहण करने के लिए जा रही 10 वर्षीय छात्रा का दिनदहाड़े अपहरण कर लिया गया है। बाइक पर सवार होकर आए युवक एवं युवती छात्रा को रास्ते से उठाकर फरार हो गए। मामले की जानकारी मिलने के बाद भाग-दौड़ में जुटे परिवार के लोगों ने छात्रा की बुआ और फूफा के ऊपर अपनी बेटी के अपहरण का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी है। मामले की जांच में जुटी पुलिस छात्रा की बरामदगी के प्रयासों में लगी हुई है। 

कुशीनगर के रामकोला थाना क्षेत्र के गांव लोहारी में रहने वाली 10 वर्षीय कक्षा तीन की छात्रा प्रीति सोमवार की सवेरे पैदल ही घर से निकलकर स्कूल के लिए जा रही थी। विद्यालय से कुछ दूर पहले ही बाइक पर सवार होकर वहां पर पहुंची महिला और पुरुष छात्रा को जबरन उठाकर अपनी बाइक पर बैठाकर ले गए। आसपास के लोगों ने जब घटना के संबंध में परिजनों को सूचना दी तो परिवार के लोग छात्रा की भाग दौड़ में जुट गए। छात्रा के अपहरण की सूचना तत्काल पुलिस को दी गई।

जानकारी मिलते ही थाना अध्यक्ष नीरज राय पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगालकर अपहरणकर्ताओं की पहचान करते हुए उनकी तलाश में जुट गई है। जांच में सामने आया है कि बच्ची को ले जाने वाली महिला और पुरुष रिश्ते में छात्रा की बुआ और फूफा लगते हैं। पारिवारिक विवाद के अंतर्गत छात्रा का अपहरण किया गया है, क्योंकि गांव में रह रही बच्ची पहले अपनी बुआ और फूफा के पास रहती थी। पुलिस महिला और पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है।

शरीर और स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है 'पोमेलो' फल 

शरीर और स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है 'पोमेलो' फल 

सरस्वती उपाध्याय 

पोमेलो फल में बहुत सारे गुण पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर और स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। पोमेलो में विटामिन सी पाया जाता है। जिसके कारण यह स्वाद में खट्टा होता है‌। यह हमारे शरीर में बुरे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। यह दिखने में संतरे के जैसा दिखता है। इस फल में बहुत सारे विटामिन और मिनरल होते हैं, इस वजह से इसका प्रयोग प्राचीन रूप से बुखार, पाचन समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता था।

यह फल हमारे हार्ट के लिए फायदेमंद है। इसका खटापन हमारी हार्ट की सेल्स को मज़बूत करने का काम करता है। पोमेलो फल में काफ़ी सारे विटामिन और प्रोटीन पाए जाते हैं,जैसे विटामिन सी आदि। जो हमारे हार्ट को स्वस्थ रखने का काम करते हैं। आइए जानते हैं, इसके कुछ स्वास्थ्य लाभों के बारे में...

पोमेलो खाने के स्वास्थ्य लाभ...

स्टाइलक्रेज के मुताबिक पोमेलो के फायदे अनगिनत हैं। ये खट्टे फल विटामिन सी से भरे हुए हैं। वे प्रतिरक्षा को बढ़ा सकते हैं और हड्डियों और बालों के स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं। इसमें विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है, जो हमारे शरीर को रोगों से लडने में मदद करती है। इसमें एंटीऑक्सडेंट गुण भी पाया जाता है। जो हमारी मसल्स को मज़बूत बनाने का काम करता है।

इसके छिलके और बीजों का सेवन करके उल्टी और हिचकी बंद हो सकती है। इस फल का उपयोग शराब का नशा उतराने के लिए भी किया जा सकता है। यह हमारे शरीर में ब्लड फ्लो को नियंत्रित करने का काम करता है, जिससे हमारा हार्ट स्वस्थ रहता है। इस फल का मौसम के अनुसार सेवन किया जाता है। इसलिए जब भी इसका मौसम आए हर रोज इस फल का सेवन करना चाहिए। ताकि हम अपना स्वास्थ बढ़ा सके।

इसके छिलके और बीजों का सेवन करके उल्टी और हिचकी बंद हो सकती है। इस फल का उपयोग शराब का नशा उतराने के लिए भी किया जा सकता है।

नाइजीरिया में नाव पलटने से 76 लोगों की मौंत

नाइजीरिया में नाव पलटने से 76 लोगों की मौंत

अखिलेश पांडेय 

अबूजा। नाइजीरिया के एनाम्ब्रा शहर में नाव पलटने से 76 लोगों की मौंत हो गई है। बताया जा रहा है कि नाव में कुल 85 लोग सवार थे और बाढ़ के चलते यह हादसा हुआ। नाइजीरियाई राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी ने ट्वीट करके इस दुर्घटना पर दुख जताया है। उन्होंने सभी रेस्क्यू और रिलीफ एजेंसियों को घटनास्थल पर पहुंचने का आदेश दिया है।सरकार की ओर से राहत और बचाव का काम जारी है। नाइजीरियाई अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण और राष्ट्रीय आपातकालीन प्रबंधन एजेंसी के कर्मचारियों को रेस्क्यू और रिकवरी मिशन में लगाया गया है। राष्ट्रपति ने सेफ्टी प्रोटोकॉल की जांच करने के भी आदेश दिए हैं, ताकि भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोका जा सके।

‘यात्रियों के लिए हर संभव मदद का प्रयास’...

राष्ट्रपति बुहारी ने कहा कि वह इस नाव दुर्घटना से काफी दुखी हैं। उन्होंने सभी यात्रियों के लिए हर संभव मदद का प्रयास करने का निर्देश दिया। राष्ट्रपति ने कहा, ‘मैं मृतकों की आत्मा की शांति की अपील करता हूं। साथ ही इस दुखद दुर्घटना के पीड़ितों के परिवार के सदस्यों के प्रति गहरी संवेदना जाहिर करता हूं।’

गौरतलब है कि पश्चिमोत्तर नाइजीरिया में कुछ दिनों पहले तीन मंजिला इमारत के ढहने से कई लोग फंस गए थे। नाइजीरिया की आपात प्रबंधन एजेंसी के प्रमुख नूरा अब्दुल्लाही ने बताया कि उत्तरी नाइजीरिया के वाणिज्यिक केंद्र कानो राज्य में कारोबारी केंद्र के रूप में इमारत का निर्माण किया जा रहा था, लेकिन इसके भूतल पर कई दुकाने थीं और वे खुल चुकी थीं। ऐसे में इमारत गिरने से कई लोग उसके मलबे में दब गए थे।

मोदी सरकार को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएंगे

मोदी सरकार को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएंगे

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक दलों को एकसाथ आना होगा, जो कोई साथ नहीं आएगा देश उसे माफ नहीं करेगा। बता दें कि लालू राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के लगातार 12वीं बार निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए है।

भाजपा ने बनाया पूरे देश में सांप्रदायिक माहौल...

आरजीडी की बैठक में लालू प्रसाद यादव ने भाजपा पर जमकर हल्ला बोला। उन्होंने कहा कि आगामी चुनाव में भाजपा को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा देंगे। साथ ही मोदी सरकार को मूली की तरह उखाड़ फेकेंगे। भाजपा ने पूरे देश में पूरे समाज को सांप्रदायिक बना दिया है।

हम खड़े हेाते है तो ईडी और सीबीआई का छापा लगवा दिया जाता है’...

लालू ने कहा कि तमाम राजनीतिक दल को एकजूट होना होगा। अगर कोई नहीं आता है तो उसे देश माफ नहीं करेगा। सभी को एक करने की दिशा में कदम बढ़ाया तो सीबीआई का छापा शुरू हो गया। कभी ईडी की छापेमारी करा दी जाती है।

मुलायम सिंह को किया यादव...

समाजवादी पार्टी के संरक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का सोमवार को निधन हो गया। लालू यादव ने मुलायम सिंह को भी याद करते हुए कहा कि नेता जी (मुलायम सिंह यादव) और शरद यादव ने सदन को लड़ाकू बनाया। भाजपा ने इमरजेंसी माहौल बना दिया है। आरएसएस के सिद्धांत को देश में लागू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के सत्ता में आने से महंगाई चरम पर है। आमलोग परेशान है।

मुलायम के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे तेजस्वी...

मुलायम सिंह यादव के निधन पर लालू यादव ने गहरा शोक जताया है। लालू यादव 11 अक्तूबर को इलाज के लिए सिंगापुर जा रहे हैं। लालू यादव ने जानकारी देते हुए कहा कि मुलायम सिंह के अंतिम संस्कार में उनके बेटे तेजस्वी यादव शामिल होंगे।

10.07 करोड़ रूपए के वित्तीय प्रस्ताव को मंजूरी

10.07 करोड़ रूपए के वित्तीय प्रस्ताव को मंजूरी

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इमरजेंसी कोविड रेस्पॉन्स पैकेज (ईसीआरपी) के द्वितीय चरण के तहत राज्य के छह चिकित्सा महाविद्यालयों/अस्पतालों में स्वीकृत 390 आइसीयू बैड्स के संचालन के लिए नर्सिंग स्टाफ एवं वार्ड अटेन्डेन्ट के 619 नवीन पदों के सृजन एवं झुन्झुनूं, सवाईमाधोपुर एवं टोंक जिले के चिकित्सा महाविद्यालयों के लिए सम्पर्क सड़क निर्माण एवं मरम्मत कार्य के लिए 10.07 करोड़ रूपए के वित्तीय प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

इन नवीन पदों में नर्स ग्रेड प्रथम के 17 पद, नर्स ग्रेड द्वितीय के 453 पद एवं वार्ड अटेन्डेन्ट के 149 पद शामिल हैं। नवसृजित पदों के लिए राजस्थान सिविल पदों पर संविदा भर्ती नियम, 2022 के प्रावधानों के अनुसार राजस्थान मेडिकल एजुकेशन सोसायटी (राजमेस) के द्वारा भर्ती की जाएगी। ये नवीन पद एसएमएस मेडिकल कॉलेज जयपुर, जनाना अस्पताल जयपुर, महिला चिकित्सालय जयपुर, रविन्द्र नाथ टैगोर चिकित्सा महाविद्यालय उदयपुर, सरदार पटेल चिकित्सा महाविद्यालय बीकानेर एवं एमडीएम अस्पताल जोधपुर में सृजित किए जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि ईसीआरपी-द्वितीय के अंतर्गत राज्य के विभिन्न चिकित्सा महाविद्यालयों में नवीन वार्डों के निर्माण के साथ-साथ वार्डों को क्रमोन्नत भी कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री की स्वीकृति से इन वार्डों के सुचारू संचालन में सहायता मिलेगी तथा आमजन को राहत मिल सकेगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद में तीन नए पदों के सृजन को भी मंजूरी दी है। नवीन पदों में अधिशाषी अभियन्ता का एक पद तथा सहायक अभियन्ता के दो पदों सहित तीन पद शामिल हैं। क्रीड़ा परिषद में पर्याप्त पद नहीं होने के कारण स्टेडियम कार्य निर्माण से संबंधित कार्य प्रभावित हो रहे थे। इन पदों के सृजन के पश्चात अब स्टेडियम कार्य सुचारू रूप से किए जा सकेंगे।

गहलोत द्वारा वर्ष 2022-23 के बजट भाषण में मेजर ध्यानचंद स्टेडियम योजना की घोषणा की गई थी। इस योजना के अंतर्गत राज्य में चरणबद्ध रूप से ब्लॉक स्तर पर स्टेडियम निर्माण का कार्य किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि विगत वर्षों में राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में व्यापक स्तर पर खेेलों का वातावरण तैयार करने एवं राज्य में खेलों के विकास के लिए खेल संबंधी आधारभूत सुविधाओं के विस्तार के लिए निर्णय लिए गए हैं।

वर्ष 2020-21 में 16, 2021-22 में 18 तथा 2022-23 में 69 नवीन स्टेडियम, खेल अकादमी, आवासीय खेल विद्यालयों आदि की घोषणाएं की गई हैं। गहलोत ने प्रदेश के झुन्झुनूं, सवाईमाधोपुर एवं टोंक जिले के चिकित्सा महाविद्यालयों के लिए सम्पर्क सड़क निर्माण एवं मरम्मत कार्य के लिए 10.07 करोड़ रूपए के वित्तीय प्रस्ताव को स्वीकृति दी है, जिससे झुन्झुनूं से चिकित्सा महाविद्यालय समसपुर तक लगभग पांच करोड़ रूपए की लागत से दो लेन सड़क का निर्माण तथा टोंक जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 12 से युसुफपुरा, चराई टोंक तक 3.98 करोड़ रूपए की लागत से सम्पर्क सड़क का निर्माण हो सकेगा। इसके अलावा सवाईमाधोपुर जिले के राज्य राजमार्ग संख्या 122 से चिकित्सा महाविद्यालय, सवाईमाधोपुर तक की सीसी रोड़ को 1.08 करोड़ रूपए की लागत से चौड़ा एवं सुदृढ़ किया जाएगा।

पूर्व सीएम मुलायम का निधन, राजकीय शोक 

पूर्व सीएम मुलायम का निधन, राजकीय शोक 

संदीप मिश्र 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन पर शोक प्रकट किया है। योगी ने मुलायम सिंह यादव के निधन पर राज्य में तीन दिन के राजकीय शोक और पूरे राजकीय सम्मान से उनका अंतिम संस्कार किए जाने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री की ओर से सोमवार को जारी शोक संदेश में योगी ने मुलायम सिंह यादव के पुत्र अखिलेश यादव और उनके भाई रामगोपाल यादव से फोन पर बात कर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। योगी ने कहा, "उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का निधन अत्यंत दुखदाई है। उनके निधन से समाजवाद के प्रमुख स्तंभ एवं संघर्षशील युग का अंत हुआ है।" 

योगी ने कहा, "ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति की कामना एवं शोकाकुल परिजनों एवं समर्थकों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। श्री मुलायम सिंह यादव के निधन पर उत्तर प्रदेश सरकार 03 दिन के राजकीय शोक की घोषणा करती है। उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होगा" गौरतलब है कि 83 वर्षीय मुलायम सिंह यादव का निधन आज सुबह गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल में हो गया। वह पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे।

सीएम योगी ने कैबिनेट की मीटिंग को स्थगित किया 

सीएम योगी ने कैबिनेट की मीटिंग को स्थगित किया 

संदीप मिश्र 

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का आज उपचार के दौरान निधन हो जाने के बाद कैबिनेट की मीटिंग को स्थगित कर दिया है। आज सिर्फ नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। सोमवार को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराए गए समाजवादी पार्टी के संस्थापक एवं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव का उपचार के दौरान निधन हो जाने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज सोमवार को राजधानी लखनऊ में होने वाली कैबिनेट की बैठक को स्थगित करने का ऐलान कर दिया है।

मुख्यमंत्री की ओर से कहा गया है कि आज सिर्फ नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। उधर मुख्यमंत्री और दोनों उपमुख्यमंत्री के नेता जी के अंतिम संस्कार में शामिल होने का फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री के साथ दोनों डिप्टी सीएम जी नेता जी के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए अब सैफई जाएंगे।


विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास

विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास

इकबाल अंसारी 

आमोद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को गुजरात में विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज मुलायम सिंह यादव का निधन हो गया है। पीएम मोदी ने कहा कि मुलायम सिंह यादव का जाना देश के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है। मुलायम जी के साथ मेरा नाता विशेष प्रकार का रहा है। जब हम CM के रूप में मिला करते थे तो हम दोनों एक दूसरे के प्रति एक अपनत्व का भाव प्रकट करते थे। उन्होंने कहा कि नेता जी के शब्द और सलाह मेरे लिए आशीर्वाद हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव का निधन होने के बाद सोमवार को कहा कि 2014 लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित होने के बाद उन्होंने 2013 में मुलायम सिंह को फोन किया था। उन्होंने कहा, उस दिन मुलायम सिंह जी का वह आशीर्वाद और सलाह के दो शब्द आज भी मेरी अमानत हैं।मोदी ने कहा कि मुलायम की विशेषता थी कि उन्होंने 2013 में जो आशीर्वाद दिया उसमें कोई उतार-चढ़ाव नहीं आने दिया।राजनीतिक विरोधी बातों के बीच भी 2019 में संसद का आखिरी सत्र था तब उन्होंने कहा था कि मोदी जी सबको साथ लेकर चलते हैं, इसलिए मुझे विश्वास है कि 2019 में फिर से PM बनेंगे।

मोदी ने कहा कि आज पहला बल्क ड्रग पार्क गुजरात को मिला। केमिकल सेक्टर से जुड़े अनेक प्लांट का भी आज लोकार्पण हुआ है।अब भरूच बड़ौदा या सूरत के एयरपोर्ट पर निर्भर नहीं रह सकता अब भरूच का अपना एयरपोर्ट होना चाहिए, इसलिए अंकलेश्वर में नया एयरपोर्ट बनाने का आज शिलान्यास किया गया। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के भरूच ज़िले के आमोद में ₹8,200 करोड़ की विभिन्न विकास परियोजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया। इन परियोजनाओं में अंकलेश्वर हवाई अड्डे का पहला चरण, बल्क ड्रग पार्क, डीप सी पाइपलाइन, कई औद्योगिक पार्क आदि शामिल हैं। पीएम मोदी ने कहा, देश और गुजरात की प्रगति में भरूच का योगदान बहुत महत्वपूर्ण है।

सपा के संरक्षक मुलायम का 82 साल की उम्र में निधन 

सपा के संरक्षक मुलायम का 82 साल की उम्र में निधन 

संदीप मिश्र/राणा ओबरॉय 

लखनऊ/गुरुग्राम। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव का सोमवार को लंबी बीमारी के बाद गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया। 3 बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और केंद्र सरकार में रक्षामंत्री रहे मुलायम सिंह को देश के दिग्गज राजनेताओं में से एक कहा जाता था। मुलायम सिंह को सांस लेने में ज्यादा दिक्कत होने पर मेदांता अस्पताल के आईसीयू में शिफ्ट किया गया था। मुलायम सिंह यादव का 82 साल की उम्र में निधन हो गया।अस्पताल में मुलायम सिंह (82) की निगरानी खुद मेदांता समूह के निदेशक डॉ. नरेश त्रेहन कर रहे थे। हालांकि हालत बिगड़ने के बाद उनका जीवन नहीं बचाया जा सका और मुलायम ने सुबह 8.16 पर आखिरी सांस ली। जब से मुलायम सिंह यादव अस्‍पताल में भर्ती हुए थे तब से लगातार उनके समर्थक और प्रशंसक उनकी बेहतर सेहत के लिए पूजा-प्रार्थना कर रहे थे।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव खुद मेदांता अस्पताल पहुंचे थे। अखिलेश यादव और मुलायम सिंह के बहू अपर्णा यादव को लखनऊ में मुलायम की तबीयत बिगड़ने की सूचना मिली थी, जिसके बाद वह 2 अक्टूबर को ही स्पेशल विमान से दिल्ली के रास्ते गुरुग्राम पहुंचे। अखिलेश से पहले शिवपाल यादव और रामगोपाल यादव दिल्ली में ही मौजूद थे। अखिलेश के साथ उनकी पत्नी डिंपल और बच्चे भी गुरुग्राम पहुंचे हैं। शनिवार को ही अखिलेश दिल्ली से लखनऊ आए थे, लेकिन मुलायम की तबीयत बिगड़ने के बाद वह अचानक फिर गुरुग्राम पहुंचे।

इटावा में जन्म और 6 दशक की सक्रिय राजनीति...

22 नवंबर 1939 को इटावा जिले के सैफई में जन्मे मुलायम ने करीब 6 दशक तक सक्रिय राजनीति में हिस्सा लिया। वो कई बार यूपी विधानसभा और विधान परिषद के सदस्य रहे। इसके अलावा उन्होंने संसद के सदस्य के रूप में ग्यारहवीं, बारहवीं, तेरहवीं और पंद्रहवीं लोकसभा में हिस्सा भी लिया। मुलायम सिंह यादव 1967, 1974, 1977, 1985, 1989, 1991, 1993 और 1996 में कुल 8 बार विधानसभा के सदस्य बने। इसके अलावा वह 1982 से 1985 तक यूपी विधानसभा के सदस्य भी रहे।

यूपी के सीएम और रक्षामंत्री भी रहे...

मुलायम सिंह यादव ने तीन बार यूपी के सीएम के रूप में काम किया। वो पहली बार 5 दिसम्बर 1989 से 24 जनवरी 1991, दूसरी बार 5 दिसम्बर 1993 से 3 जून 1996 तक और तीसरी बार 29 अगस्त 2003 से 11 मई 2007 तक उत्तर प्रदेश के सीएम रहे। इन कार्यकालों के अलावा उन्होंने 1996 में एचडी देवगौड़ा की संयुक्त गठबंधन वाली सरकार में रक्षामंत्री के रूप में भी काम किया। अपने सर्वस्पर्शी रिश्तों के कारण मुलायम सिंह को नेताजी की उपाधि भी दी जाती थी। मुलायम को उन नेताओं में जाना जाता था, जो यूपी और देश की राजनीति की नब्ज समझते थे और सभी दलों के लिए सम्मानित भी थे।

रक्षामंत्री सिंह ने मुलायम के निधन पर शोक जताया

रक्षामंत्री सिंह ने मुलायम के निधन पर शोक जताया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक व वयोवृद्ध नेता मुलायम सिंह यादव के निधन पर शोक जताया और उन्हें एक जमीनी नेता करार देते हुए कहा कि राजनीतिक तौर पर विरोधी होने के बावजूद उनके संबंध सभी से अच्छे थे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे यादव का सोमवार को निधन हो गया। वह 82 वर्ष के थे। उन्होंने गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में आखिरी सांस ली। राजनाथ ने ट्वीट किया, राजनीति में विरोधी होने के बावजूद मुलायम सिंह के संबंध सबसे अच्छे थे। जब भी उनसे भेंट होती तो वे बड़े खुले मन से अनेक विषयों पर बात करते।

अनेक अवसरों पर उनसे हुई बातचीत मेरी स्मृति में सदैव तरोताजा रहेगी। मुलायम सिंह के परिजनों एवं उनके समर्थकों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि वह जमीन से जुड़े एक ऐसे नेता थे, जिन्होंने कई दशकों तक उत्तर प्रदेश की राजनीति में एक प्रमुख भूमिका निभाई। उन्होंने कहा, अपने लम्बे सार्वजनिक जीवन में उन्होंने अनेक पदों पर काम किया और देश, समाज एवं प्रदेश के विकास में योगदान दिया। उनका निधन बेहद पीड़ादायक है।

मुलायम के पार्थिव शरीर की तस्वीर ट्विटर पर शेयर

मुलायम के पार्थिव शरीर की तस्वीर ट्विटर पर शेयर

संदीप मिश्र/राणा ओबरॉय 

लखनऊ/गुरुग्राम। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी के संस्थापक व अपने पिता मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल से उनके पार्थिव शरीर की तस्वीर ट्विटर पर शेयर की है। उन्होंने लिखा, मेरे आदरणीय पिता जी और सबके नेता जी नहीं रहे। गृह मंत्री अमित शाह ने भी अस्पताल पहुंचकर मुलायम सिंह को श्रद्धांजलि दी। वहीं, अखिलेश यादव की बेटी ने लिखा कि नही रहे दादा जी अब इस दुनियां में।

समाजवादी पार्टी (सपा) संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन से पार्टी पर कोई प्रत्यक्ष राजनीतिक प्रभाव भले ना पड़े लेकिन अब उनके पुत्र पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को उनकी ‘छाया और कवच’ के बगैर काम करना होगा। अपने बेटे अखिलेश और सगे भाई शिवपाल सिंह यादव के बीच वर्चस्व की जंग के चलते कुनबे में हुए बिखराव के बावजूद मुलायम ही एकमात्र ऐसे शख्स थे जो हर मंच और मौके पर कुनबे को जोड़ने की आखिरी उम्मीद थे। उनके जाने के बाद अब हालात शायद पहले जैसे नहीं रह जाएंगे और परिवार की एकजुटता चाहने वाले लोगों को उनकी कमी जरूर खिलेगी।

सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद उनकी बहू व बीजेपी नेता अपर्णा यादव ने ट्वीट किया है, मेरे गुरु व धरती पुत्र नेताजी और मेरे लिए ‘पिताजी’ आज गोलोक वासी हो गए। उन्होंने लिखा, ईश्वर इस सत्य की वेदना सहन करने के लिए मुझे और नेताजी से प्रेम करने वाले सभी लोगों को शक्ति दें। उत्तर प्रदेश के समाजवादी पार्टी अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि हम लोग मुलायम सिंह यादव के निधन की खबर पाकर काफी दुखी हैं और समाजवादी पार्टी उनके निधन पर शोक व्यक्त करती है। समाजवादी पार्टी उनकी आत्मा की शांति की कामना करती है। यह देश के लिए अपूरणीय क्षति है।

मुलायम सिंह यादव पर सपा के वरिष्ठ नेता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि नेता जी भले हमारे बीच नहीं है लेकिन उनका संघर्ष, विचार हमेशा हमारे बीच रहेगा… समाजवादी पार्टी के लखनऊ के मुख्यालय में पार्टी के झंडे को झुकाया है और एक शोक सभा भी की है। हमने उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

कैसा था सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव का सियासी सफर ?

गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में सोमवार को अंतिम सांस लेने वाले समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके थे। 1996-98 के बीच देश के रक्षा मंत्री रह चुके मुलायम आठ-बार उत्तर प्रदेश में विधायक निर्वाचित हुए और सात-बार लोकसभा सांसद चुने गए। उन्होंने 1992 में सपा की स्थापना की थी।

1967, 1974, 1977, 1985, 1989, 1991, 1993 और 1996: सदस्‍य, उत्‍तर प्रदेश विधान सभा (आठ बार)
1974: सदस्‍य, प्रतिनिहित विधायन समिति
1977: सहकारी और पशुपालन मंत्री, उत्‍तर प्रदेश अध्‍यक्ष, लोक दल उत्‍तर प्रदेश अध्‍यक्ष लोक दल, उत्‍तर प्रदेश
1980: अध्‍यक्ष जनता दल, उत्‍तर प्रदेश
1982-85: उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद विपक्ष नेता, उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद
1985-87: विपक्ष नेता, उत्‍तर प्रदेश विधान सभा
1989-91: मुख्‍यमंत्री उत्‍तरप्रदेश
1989: नेता, जनता दल, विधायी दल, उत्‍तरप्रदेश
1992: संस्‍थापक अध्‍यक्ष, समाजवादी पार्टी
1993-95: मुख्‍यमंत्री, उत्‍तर प्रदेश
1996: ग्‍यारहवीं लोक सभा के लिए निर्वाचित
1996-98: केन्‍द्रीय केबिनेट रक्षा मंत्री
1998: बारहवीं लोकसभा के लिए पुन: निर्वाचित (दूसरी बार)
1998-99: सदस्‍य, सामान्‍य प्रयोजन समिति
1999: तेरहवीं लोक सभा के लिए पुन: निर्वाचित (तीसरी बार) नेता, समाजवादी संसदीय दल, लोक सभा
1999-2000: सभापति, पैट्रोलियम और प्राकृतिक गैस संबंधी स्‍थायी समिति सदस्‍य, सामान्य प्रयोजन समिति
अगस्‍त 2003-मई 2007: मुख्‍यमंत्री उत्‍तर प्रदेश
2004: चौदहवीं लोक सभा के लिए पुन: निर्वाचित ( चौथी बार)
14 मई 2007- 15 मई 2009: नेता, विपक्ष, उत्‍तरप्रदेश विधान सभा
मई 2009: पंद्रहवी लोकसभा के लिए पुन:-निर्वाचित (पांचवी बार)
31 अगस्‍त 2009: सभापति, ऊर्जा संबंधी स्‍थायी समिति
मई 2014: सोलहवीं लोकसभा के लिए पुन:-निर्वाचित
1 सितम्‍बर 2014 से सदस्‍य श्रम संबंधी स्‍थायी समिति सदस्‍य, परामर्शदात्री समिति, गृह मंत्रालय
29 जनवरी 2015 से सदस्‍य, सामन्‍य प्रयोजन समिति
मई, 2019: सत्रहवीं लोक सभा के लिए पुन: निर्वाचित।

विदेश यात्रा...
फ्रांस, जर्मनी, नेपाल, स्विट्जरलैंड, पोलैंड, रूस, सिंगापुर,यू.के, यू.एस.ए.।

अन्य जानकारी...
डा. राममनोहर लोहिया के विचारों और विचारधारा प्रेरित और प्रमाणित; सर्वश्री मधु लिमये, कर्पूरी ठाकुर, राम सेवक यादव, राज नारायण और जनेश्वर मिश्र के सम्‍पर्क में आने के पश्‍चात राजनीति में अाए। बाद में भूतपूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह, श्री वी.पी. सिंह और चन्‍द्रशेखर से प्रभावित; किसानों,श्रमिकों, युवाओं, छात्रों, अल्पसंख्यकों और पिछड़े वर्गों के कल्याण के लिए नौ बार जेल गए; तथ्‍ाा प्रेजिडेन्‍ट,(i)इटावा डिग्री कॉलेज, 1962-63; (Ii) शिकोहाबाद ए.के कॉलेज, 1963-64 और (iii) छात्र संघ, के.के. कॉलेज, इटावा; करहैल (मैनपुरी), उत्तर प्रदेश के लेक्‍चरर के रूप में कार्य किया।

'आप' के नेता गौतम ने पीएम पर हमला बोला 

'आप' के नेता गौतम ने पीएम पर हमला बोला 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। धर्मांतरण संबंधी एक कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति को लेकर उपजे विवाद के बाद दिल्ली सरकार के मंत्री पद से इस्तीफा दे चुके आम आदमी पार्टी (आप) के नेता राजेंद्र पाल गौतम ने देश में दलितों के खिलाफ अपराध रोकने में कथित रूप से नाकाम रहने के लिए सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। गौतम ने नरेंद्र मोदी को ‘कमज़ोर प्रधानमंत्री’ बताया और उनका इस्तीफा मांगा। उन्होंने उत्तर प्रदेश में अगड़ी जाति के व्यक्तियों द्वारा एक दलित शख्स की कथित रूप से पिटाई की घटना को लेकर वहां के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भी इस्तीफा मांगा। गौतम ने ट्विटर पर कहा,  इन जातिवादी घटिया हरकतों को रोकिये नरेंद्र मोदी जी ! अन्यथा आप इस्तीफा दीजिए। …और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री तो कानून व्यवस्था संभालने में पूरी तरह विफल हैं। मैं जनता हूं कि आप इतने कमजोर प्रधानमंत्री हैं कि उनसे इस्तीफा भी नहीं ले सकते ! आप चिन्ता न करें, मेरा बहुजन समाज जवाब देगा।

उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर घटना का एक कथित वीडियो भी साझा किया जिसमें कुछ व्यक्ति एक शख्स को अपशब्द कहते हुए पीट रहे हैं। आरोप है कि हमलावर अगड़ी जाति के हैं जबकि पीड़ित दलित है। दिल्ली के पूर्व समाज कल्याण मंत्री गौतम ने धर्मांतरण कार्यक्रम में उपस्थिति को लेकर हुए विवाद के बीच रविवार को अरविंद केजरीवाल नीत मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था। कार्यक्रम में कथित तौर पर हिंदू देवताओं की निंदा की गई थी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गुजरात में चुनाव प्रचार के दौरान आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल पर हमला करने के लिए इस मुद्दे का इस्तेमाल किया और उन पर “हिंदू विरोधी” होने का आरोप लगाया है। मंत्री के तौर पर गौतम के पास समाज कल्याण, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति विभाग का जिम्मा था। वह सीमापुरी से विधायक हैं।

गौतम ने कहा था कि वह मंत्री पद से इसलिए इस्तीफा दे रहे हैं ताकि उनकी वजह से उनके नेता केजरीवाल व ’आप’ पर कोई आंच नहीं आए। सूत्रों के मुताबिक, केजरीवाल ने अभी उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है। पिछले हफ्ते एक वीडियो वायरल होने के बाद विवाद शुरू हो गया। यह पांच अक्टूबर को हुए एक कार्यक्रम का वीडियो था जिसमें गौतम ने शिरकत की थी। कार्यक्रम में सैकड़ों लोगों ने बौद्ध धर्म अपनाने और हिंदू देवताओं को भगवान नहीं मानने की प्रतिज्ञा ली थी।

आज राजनीति के एक युग का अंत हो गया: सोरेन 

आज राजनीति के एक युग का अंत हो गया: सोरेन 

विमलेश यादव 

रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने समाजवादी पार्टी के संरक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि आज राजनीति के एक युग का अंत हो गया। सोरेन ने आज यहां कहा कि सामाजिक न्याय और वंचितों के उत्थान के लिए हमेशा जीने वाले नेताजी सभी को सेवा और समर्पण की ज्योति देकर चले गए।

परमात्मा दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान कर शोकाकुल परिवार तथा सपा कार्यकर्ता और प्रशंसकों को दु:ख की यह विकट घड़ी सहन करने की शक्ति दे। इस बीच झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रबीन्द्र नाथ महतो ने भी समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

उन्होंने कहा कि स्वर्गीय मुलायम सिंह यादव सत्ता में समाजवादी विचारधारा को मजबूती से स्थापित किए और वे भारतीय राजनीति के मर्मज्ञ थे। उनके देहांत पर आज पूरा देश मर्माहत है। महतो ने शोक संतप्त परिवार जनों एवं उनके सहयोगियों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-366, (वर्ष-05)

2. मंगलवार, अक्टूबर 11, 2022

3. शक-1944, आश्विन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः 06:15, सूर्यास्त: 06:15। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 19 डी.सै., अधिकतम-32+ डी.सै., उत्तर भारत में बरसात की संभावना है।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया महाप्रबन्धक श्री सतीश कुमार ने किया निरंजन पुल का निरीक्षण अधिकारियों के ...