सोमवार, 8 मार्च 2021

संयुक्‍त राष्‍ट्र में शांति वार्ता आयोजित करने का आग्रह

वाशिंगटन डीसी/ काबुल। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकेन ने अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रपति अशरफ गनी को एक पत्र लिखकर संयुक्‍त राष्‍ट्र के नेतृत्‍व में शांति वार्ता आयोजित करने का आग्रह किया है। इसमें उन्‍होंने भारत समेत सभी छह देशों को शामिल होने की बात कही है। आपको बता दें कि पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के कार्यकाल में अफगानिस्‍तान शांति वार्ता में भारत को शामिल नहीं किया गया था। लेकिन बाइडन प्रशासन में इस बात पर जोर दिया गया है कि इसमें भारत को भी शामिल किया जाना चाहिए।
राष्‍ट्रपति गनी को लिखे इस पत्र में उन्‍होंने कहा है तुर्की ने इसको लेकर संपर्क किया है कि वो एक सीनियर लेवल पर बैठक आयोजित करे जिसमें शांति समझौते को अंतिम रूप दिया जा सके। इसके लिए तुर्की ने अफगान राष्‍ट्रपति से अपील की है कि उन्‍हें इसबैठक में शामिल होने का सौभाग्‍य मिलना चाहिए। अफगानिस्‍तान के टोलो न्‍यूज ने इस पत्र को प्रकाशित किया है। इसके मुताबिक संयुक्‍त राष्‍ट्र को रूस, चीन, पाकिस्‍तान, ईरान, भारत और अमेरिका के विदेश मंत्रियों की बैठक बुलानी चाहिए। जिसमें अफगानिस्‍तान में शांति के लिए सभी की सहमति से रास्‍ता तलाशा जाना चाहिए।

मोदीनगर: छात्रों के 2 गुटों के बीच हुआ खूनी संघर्ष

मेरठ। दिल्ली-मेरठ हाईवे पर बस अड्डे के पास सोमवार दोपहर को 10वीं, 12वीं में पढ़ने वाले छात्रों के दो गुटों के बीच वर्चस्व को लेकर जमकर खूनी संघर्ष हुआ। छात्र झगड़ा करते हुए बीच सड़क पर आ गए। जिससे हाईवे पर जाम जैसे हालात पैदा हो गए। करीब 10 मिनट तक उनमें थाने के सामने भी मारपीट हुई। इसके बावजूद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छात्रों को काबू करने की जरूरत नहीं समझी। मामले में किसी भी पक्ष ने कोई शिकायत पुलिस को नहीं दी है। हालांकि, जानकारी मिली है कि मारपीट में चार छात्र घायल हुए हैं। बस अड्डे के निकट स्थित एक इंटर कालेज में 10वीं, 12वीं में पढ़ने वाले छात्रों के दो गुटों में पिछले कुछ दिनों से वर्चस्व को लेकर मनमुटाव चला आ रहा है। सोमवार की दोपहर छुट्टी होने के बाद दोनों गुट से जुड़े छात्र पैदल ही घर जा रहे थे। बस अड्डे के निकट उन्होंने एक-दूसरे पर छींटाकशी कर दी। इसी बात पर उनमें गाली-गलौज होने लगी जो देखते ही देखते मारपीट में बदल गई। करीब 20 मिनट तक उनमें जमकर लात-घूंसे चले। दो छात्रों के कपड़े भी फट गए। इसी दौरान उग्र छात्र बीच हाईवे पर आ गए। जिससे गाजियाबाद की तरफ जा रहा ट्रैफिक बाधित हो गया। भीड़ ज्यादा इकट्ठा होती देख वहां से छात्र एक-दूसरे के साथ गाली-गलौज करते और जान से मारने की धमकी देते हुए आगे बढ़ गए। इसके बाद उनमें थाने के सामने भी जमकर मारपीट हुई। करीब दस मिनट तक वहां भी वे आपस में उलझते रहे। कई पुलिसकर्मी उस समय थाने के बाहर खड़े थे। लेकिन किसी ने भी उन्हें शांत कराने की जरूरत नहीं समझी। आसपास के लोगों के दखल पर छात्र एक-दूसरे को भुगत लेने की धमकी देते हुए निकल गए। इस बारे में एसएचओ मोदीनगर मुनेंद्र सिंह का कहना है कि ऐसी किसी घटना की उन्हें जानकारी नहीं है। यदि ऐसा कुछ है तो कालेज प्रबंधन से बात की जाएगी। माहौल खराब करने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी। बता दें, कि इस कालेज के छात्रों के बीच पिछले दिनों भी विवाद हुआ था। उस दौरान भी हाईवे पर जाम की स्थिति बन गई थी। आए दिन हो रहे ऐसे विवादों से स्कूल प्रबंधन और पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं। स्थानीय लोग इसको लेकर पुलिस अधिकारियों से मिलने का मन बना रहे हैं।

कौशाम्बी: प्रभारी मंत्री ने रैली को दिखाई हरी झण्डी

कौशाम्बी। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जनपद के प्रभारी मंत्री चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय ने महिलाओं को जागरूक करने के लिए विद्यालयों की छात्र और छात्राओं द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर से निकाली गयी रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस रैली का मुख्य उद्देश्य जगह-जगह पर जाकर महिलाओं को जागरूक करने के साथ-साथ सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के सम्बन्ध में प्रचार-प्रसार करना है। इस अवसर पर विधायक सिराथू शीतला प्रसाद, उर्फ पप्पू पटेल, जिलाधिकारी अमित कुमाार सिंह, पुलिस अधीक्षक अभिनन्दन, मुख्य विकास अधिकारी शशिकांत त्रिपाठी, समाज कल्याण अधिकारी सुधीर कुमार सहित जिला प्रशिक्षण और शिक्षण संस्थान सहित अन्य विद्यालयों के छात्र छात्रायें उपस्थित रहीं।
उज्ज्वल केशरवानी

अनिंदिता के नामों की सिफारिश गृह मंत्रालय को भेजीं

राणा ओबराय  
चंडीगढ़। प्रशासन ने आज सोमवार को गृह सचिव के लिए हरियाणा के 2000 बैच के अधिकारी नितिन यादव और नगरनिगमयुक्त के लिए 2007 बैच की पंजाब की अधिकारी श्रीमती अनिंदिता मित्रा के नामों की सिफारिश गृह मंत्रालय को भेज दी हे। आज सोमवार को प्रशासक वी. पी सिंह बदनौर और उनके सलाहकार मनोज परिदा की हुई मीटिंग में इन दोनों के नाम पर मुहर लगा कर केंद्र की मंजूरी के लिए भेज दी। दोनों अधिकारी पंजाब हरियाणा से आए पैनल में वरिष्ठ अधिकारी हैं। नितिन यादव इस समय हरियाणा में पर्सनल अटैच मुख्य सचिव जबकि, श्रीमती मित्रा पंजाब लोकसंपर्क निदेशक हैं।
चंडीगढ़ प्रशासन को पिछले दिनों गृह सचिव और नगर निगम के आयुक्त के पद के लिए हरियाणा और पंजाब सरकारों ने पैनल चंडीगढ़ प्रशासन को विजिलेंस और अधिकारियों की रजामंदी के भेजा था। चंडीगढ़ प्रशासन में दोनों पद मई माह में खाली हो रहे हैं। वर्तमान में अरुण कुमार गुप्ता गृह सचिव और के के यादव नगर निगम आयुक्त का कार्यभार देख रहें हैं।
हरियाणा सरकार ने नितिन यादव(2000),पंकज अग्रवाल (2000) और विनय सिंह (2003) बैच है। नितिन यादव, इस समय हरियाणा शिक्षा विभाग के सचिव हैं। पंकज अग्रवाल,लेबर कमिश्नर एवम् सचिव लेबर,विनय सिंह,मुख्य प्रशासक, कृषि मार्केटिंग बोर्ड हैं। विनय सिंह एचसीएस अधिकारी से प्रमोट होकर आईं ए एस अधिकारी बने हैं। वे चंडीगढ़ प्रशासन को पहले भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं वे निदेशक हॉस्पिटैलिटी सहित कई पदों पर रहे। लेकिन विनय सिंह का कार्यकाल डेढ़ वर्ष का था,प्रशासन ने हरियाणा को वापिस भेज कर उनके स्थान पर नया पैनल भेजने को कहा था। इस पर हरियाणा ने तीसरा नाम आईएएस अधिकारी संजय जून का भेजा। संजय जून वर्ष 2003 बेच के आईएएस अधिकारी हैं और आजकल फरीदाबाद में कमिश्नर के पद पर तैनात हैं। पंजाब सरकार ने चंडीगढ़ नगर निगम आयुक्त के लिए अपने तीन अधिकारियों का पैनल भेजा, इसमें अनिंदीता मित्रा(2007),अमित कुमार(2008),राजीव पराशर(2008) बैच। अनिंदीता मित्रा इस समय पंजाब में निदेशक, लोक संपर्क हैं।अमित कुमार,विशेष सचिव,स्वास्थ्य और राजीव पराशर,विशेष सचिव,रेविन्यू हैं। आज मीटिंग में सभी पर विचार विमर्श के बाद पैनल में वरिष्ठ के आधार पर नितिन यादव और अनंदिता मित्रा के नामों को मुहर लगा दी। मई माह तक चंडीगढ़ को नए अधिकारी मिल जायेंगे। यहां उल्लेखनीय है कि श्रीमती आनंदिता मित्रा पंजाब के चुनाव आयुक्त के राजू की धर्मपत्नी हैं।

भू माफियाओं पर कार्रवाई, अधिकारियों को निर्देश

अतुल त्यागी
हापुड़। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी ने अधिकारियों को भू माफियाओं पर ताबड़तोड़ कार्रवाई करने के निर्देश दे रहे हैं। लेकिन वही कुछ छोटे अधिकारी मिलीभगत कर उनका सहयोग कर रहे हैं। सूत्रों द्वारा मिल रही जानकारी के अनुसार कुछ क्षेत्र के कर्मचारी मिलीभगत के अनुसार, धौलाना तहसील के गांव खिचरा में मुस्लिम समाज के कब्रिस्तान में दबंग भूमाफिया जमीन घेरकर चिनाई करवा रहे थे। जब ग्रामीणों ने इसकी शिकायत एसडीएम धौलाना सहित अन्य कई अधिकारियों से फोन पर की तो एसडीएम धौलाना ने तुरंत संज्ञान लेते हुए मौके पर पुलिस और लेखपाल को भेजकर अवैध निर्माण रुकवाया।
अब यह पता लगाना अभी बाकी है। दबंग भूमाफिया किसकी सह पर कर रहे थे। कब्रिस्तान की जमीन पर अवैध निर्माण स्थानीय पुलिस और लेखपाल को जानकारी होते हुए भी क्यों नहीं कर रही थी कार्रवाई ? मामला एसडीएम धौलाना के निर्देश पर रोका गया। निर्माण कार्य अधिकारी मौके पर पहुंचे।

ईश्वर केवल मार्गदर्शक, प्रयास स्वयं करना होगा: अरविद

नावागढ़। जरलाही काली मंदिर प्रांगण में आयोजित शतचंडी महायज्ञ के चौथे दिन कथा वाचक अरविद आचार्य ने कहा कि ईश्वर हमें केवल रास्ता दिखाते हैं। प्रयास हमें स्वयं करना पड़ता है। महाभारत युद्ध समाप्त हो चुका था। युद्धभूमि में यत्र-तत्र योद्धाओं के फटे वस्त्र, मुकुट, टूटे शस्त्र, टूटे रथों के चक्के, छज्जे आदि बिखरे हुए थे और वायुमंडल में पसरी हुई थी घोर उदासी। गिद्ध, कुत्ते, सियारों की उदास और डरावनी आवाजों के बीच उस निर्जन हो चुकी भूमि पर द्वापर का सबसे महान योद्धा देवव्रत (भीष्म पितामह) शैय्या पर पड़े सूर्य के उत्तरायण होने की प्रतीक्षा कर रहे थे। तभी उनके कानों में एक परिचित ध्वनि शहद घोलती हुई पहुंची। प्रणाम पितामह। भीष्म के सूख चुके अधरों पर एक मुस्कुराहट तैर उठी बोले आओ देवकीनंदन स्वागत है तुम्हारा, मैं बहुत देर से तुम्हारा ही स्मरण कर रहा था। कृष्ण बोले, क्या कहूं पितामह अब तो यह भी नहीं पूछ सकता कि कैसे हैं आप। भीष्म चुप रहे, कुछ क्षण बाद बोले, पुत्र युधिष्ठिर का राज्याभिषेक करा चुके केशव। उनका ध्यान रखना। परिवार के बुजुर्गों से रिक्त हो चुके राजप्रासाद में उन्हें अब सबसे अधिक तुम्हारी ही आवश्यकता है। यज्ञ को सफल बनाने में अजीत बनर्जी, धीरेन लाला, रामाशंकर तिवारी, बीरबल रवानी, आनंद मोदक, भीम रजक समेत अन्य दर्जनों श्रद्धालु शामिल हैं।

विधायक ने किया नवनिर्मित सब्जी मंडी का उद्घाटन

राणा ओबराय  
टांडा उड़मुड़। मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार विधायक संगत सिंह गिलजियां ने टांडा में नवनिर्मित सब्जी मंडी का सोमवार को उद्घाटन किया। मार्केट कमेटी के चेयरमैन सिमरन सिंह सैनी व प्रधान सब्जी मंडी यूनियन कमलेश जैन के नेतृत्व में आयोजित समागम के दौरान सरबत के भले की अरदास के बाद विधायक गिलजियां ने कहा, कि मंडी में शेड, सड़कें, फर्श व सीवरेज के निर्माण के साथ साथ गंदे पानी की समस्या का हल हो गया है। लगभग 5.50 करोड़ की लागत के साथ सब मंडी व अनाज मंडी की नुहार बदली गई है। इसके साथ ही उन्होंने अनाज मंडी में भी शुरू हुए विकास कार्य जल्द पूरे करने की हिदायत दी। इस दौरानसमूह आढ़तियों की ओर से मंडी में करवाए गए विकास कार्यों के लिए विधायक गिलजियां का धन्यवाद करते हुए विशेष सम्मान किया गया। वहीं विधायक गिलजियां ने कहा कि पंजाब सरकार विकास कार्य करवाने के लिए वचनबद्ध है। इसके लिए फंड की कमी नहीं आने दी जाएगी। इस मौके राकेश वोहरा, डीएसपी टांडा दलजीत सिंह खख, सुखविदरजीत सिंह झावर, रविदरपाल सिंह गोरा, जगजीवन जग्गी, हरिकृष्ण सैनी, दलजीत सिंह गिलजियां, प्रधान बलदेव सिंह मुल्तानी, दविदरजीत सिंह बुढीपिड, सुखविदरजीत सिंह बीरा, तरलोक सिंह मुल्तानी, दलजीत सिंह, गोल्डी कलियाणपुर, सुरिदरजीत सिंह, गुरमुख सिंह, राजकुमार राजू, बाबा बद्रीनाथ, मनी शहबाजपुर, राजेश लाडी, विनोद खोसला, सुरिदरजीत सिंह बिल्लू, बाबू रूप लाल, पिकी संगर, पवन भेला, सुभाष रेहान, सतीश कुमार, विजय कुमार, सतपाल, राजन आनंद, प्रमोद राठौड़, अशोक कुमार, पवन, इंद्र सैनी, अविनाश कुमार, परजीत जैन, जतिदर टिकू, रतन सिंह, सरपंच कूड़ाराम, हरमेश बसी जलाल मौजूद थे।

शिक्षा सचिव ने जिला संगरूर के स्कूलों का दौरा किया

राणा ओबराय   

संगरूर। शिक्षामंत्री विजयइंदर सिगला की अगुआई में जिले के स्कूलों में शिक्षा के पायदान को ऊंचा उठाने के लिए स्कूलों में प्राथमिक सुविधाओं को मजबूत करने के प्रयास किए जा रहे हैं। स्कूलों में अध्यापकों का हौसला बढ़ाने के लिए शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार ने जिला संगरूर के विभिन्न स्कूलों का दौरा किया। उन्होंने स्कूलों में स्मार्ट टेक्नोलाजी के साथ छात्रों को दी जा रही गुणात्मक शिक्षा व अध्यापकों द्वारा मिशन शत-प्रतिशत के लिए की जा रही मेहनत के लिए स्कूल प्रमुखों की पीठ थपथपाई। सरकारी मिडल स्कूल कालाझाड़ में स्कूल के इंचार्ज हरप्रीत कौर एसएस मिस्ट्रेस की अगुआई में स्कूल की दीवारों पर सुंदर ज्ञानवर्धक सामग्री से सजी हुई हैं। स्कूल के छात्रों ने स्कूल के बारे में अंग्रेजी में जानकारी देकर सभी को हैरान कर दिया। स्कूल के अध्यापकों ने जानकारी दी कि उनके स्कूल में दूसरे गांवों से भी छात्र पढ़ने हेतु आते हैं, जिसके चलते स्कूल शिक्षा के सचिव ने स्कूल को ट्रांसपोर्ट सुविधा प्रदान करने के लिए मुख्य कार्यालय को कार्रवाई हेतु लिख दिया है। सरकारी प्राइमरी स्कूल लाड़बंजारा कलां में सरकारी प्राइमरी स्कूल में स्कूल की हेड टीचर खुद स्कूल के छात्रों को छु्ट्टी के बाद प्रोजेक्टर द्वारा पढ़ाने में जुटी हुई हैं। छात्र बेहद दिलचस्पी से स्कूल प्रमुख से शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। शिक्षा सचिव ने स्कूल की हैड टीचर ने अध्यापिका को उत्साहित करते हुए कहा कि विभाग द्वारा सरकारी स्कूलों के अध्यापकों व प्रिसिपलों को लगातार ट्रेनिग दी जा रही है। स्कूलों को मिली ग्रांटों को पारदर्शक तरीके से खर्च किया जा रहा है, साथ ही गांवों व शहरों के गणमान्यों द्वारा भी पूरा सहयोग दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा चलाए गए मिशन शत प्रतिशत, दाखिला मुहिम, इंग्लिश बुस्टर क्लब, बडी ग्रुप, स्मार्ट स्कूल के लिए विशेष योजना बंदी की जा रही है।

ऊधमपुर: कांग्रेसी नेता ने सुनीं लोगों की समस्याएं

राणा ओबराय  

ऊधमपुर। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुमित मगोत्रा ने रविवार को ऊधमपुर नेशनल हाईवे से सटे सजालता के पास वाले इलाके में लोगों के साथ बैठक कर उनकी समस्याओं को सुना। बैठक में लोगों ने बताया कि पिछले 20 साल से वे यहां पर रह रहे हैं। मगर आज सोमवार तक तक उनके घरों तक रास्ता नहीं बन पाया है। न ही उनके इलाके में पानी की पाइप लाइन ही बिछाई गई है। इससे आज भी उनको पानी भरने के लिए बावली पर जाना पड़ता है। जिसमें समय खराब होने के साथ परेशानी भी होती है। लोगों ने कहा कि इस इलाके में रहने वाले ज्यादातर लोग गरीबी रेखा से नीचे हैं और मजदूरी करके अपना पेट पालते हैं। बढ़ती महंगाई में उनका घर का गुजारा मुश्किल से चलता है।

जालंधर: महिलाओं के अधिकारों पर पेपर प्रस्तुत किए

राणा ओबराय  
जालंधर। सेंट सोल्जर ला कालेज ने महिलाओं के प्रति भेदभाव और कानून विषय पर वेबिनार करवा अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया। मुख्य वक्ता पंजाब यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डा. अमन अमृत चीमा ने महिलाओं के अधिकारों के बारे पेपर प्रस्तुत किए। डा. पंकजदीप कौर ने महिलाओं के खिलाफ तेजी से बढ़ते अपराधों पर अपने विचारों को साझा किया। एडवोकेट गगनदीप कौर ने मनरेगा योजनाओं में कार्यरत महिला श्रमिकों के बड़े पैमाने पर भेदभाव और शोषण को रेखांकित किया। कालेज डायरेक्टर वीणा ने सभी का स्वागत किया।

गुरुग्राम: समस्याओं की अनदेखी ना करें महिलाएं

राणा ओबराय  
गुरुग्राम। आधुनिक जीवनशैली में बीमारी की अनदेखी करना आगे चलकर बीमारी को गंभीर बना देता है। बीमारी को लेकर शर्म महसूस करने में इलाज नहीं लेना बड़ी समस्या है। लड़कियों व महिलाओं को अपनी बीमारी छिपाने के बजाय उसे डाक्टर या माता से साझा करना चाहिए। देखने में आता है कि महिला इलाज के लिए डाक्टर के पास तब पहुंचती है। जब बीमारी गंभीर हो चुकी होती है। ऐसे में पैसे और शरीर दोनों की हानि होती है। महिलाओं को बीमारियों के प्रति जागरूक करने के लिए सोमवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर दैनिक जागरण ने गुरुग्राम कार्यालय में हेलो जागरण कार्यक्रम का आयोजन किया। जिसमें कोलंबिया एशिया अस्पताल की महिला रोग विशेषज्ञ डा. शर्मिला सोलंकी और वरिष्ठ फिजिशियन डा. मंजीता नाथदास को आमंत्रित किया गया। उन्होंने फोन पर लोगों को चिकित्सा सलाह दे।

शिवरात्रि के उपलक्ष्य में प्रीति भोज का आयोजन

राणा ओबराय   
लुधियाना। शिवरात्रि महोत्सव कमेटी की ओर से शिवरात्रि शोभायात्रा के उपलक्ष्य मे प्रीति भोज का आयोजन वीनू कांसल और चीनू कांसल के नेतृत्व में केसर गंज रोड पर किया गया। इस मौके प्रधान सुनील मेहरा ने बताया कि इस 33वीं विशाल शोभायात्रा का शुभारंभ गोशाला रोड स्थित शिव मंदिर से भगवान भोले नाथ का पूजन कर किया जाएगा। शोभायात्रा में तीन रथ एक बाला का रथ, एक गणपति का रथ और भगवान भोलेनाथ का चांदी का रथ होगा। शोभायात्रा गोशाला रोड स्थित शिव मंदिर से घाटी मोहल्ला चौक, बाजवा नगर, दरेसी रोड पहुंचेगी। उसके बाद फिर यह विशाल रथयात्रा का रूप लेकर सब्जी मंडी चौक, माता रानी चौक, घंटाघर चौक, अकाल मार्केट, किताब बाजार, साबुन बाजार, गुड़मंडी, चौड़ा बाजार, घासमंडी चौक, निक्कामल चौक, माता वैष्णो देवी मंदिर डिवीजन नंबर 3, ख्वाजा कोठी चौक, प्राचीन संगला वाला शिवाला मंदिर से होकर गोघाट स्थित शिव मंदिर में महाआरती के साथ संपन्न होगी। उन्होंने कहा कि घंटाघर चौक, माता रानी चौक, संगला वाला शिवाला में तीनों रथों की महाआरती की जाएगी। इस अवसर पर सुनील मेहरा, कमल गुप्ता, गुलशन टंडन, अश्वनी महाजन, अमित गुप्ता, राजन अरोड़ा, हितेश शर्मा, डिप्टी कपूर, कृष्ण लाल, राकेश वोहरा, वेद भंडारी, बृज मोहन महंत, जतिद्र नंदा, पवन मल्होत्रा, काला वशिष्ठ, मनजीत सिंह जग्गी, संजीव सूद, उमेश सोनी, राजीव अरोड़ा उपस्थित थे।

चंडीगढ़ में भी लगेगा नाइट कर्फ्यू, संक्रमण बढ़ा

राणा ओबराय  

चंडीगढ़। कोरोना संक्रमण का यही विस्फोटक रूप आगे भी जारी रहा तो पंजाब के चंडीगढ़ को पाबंदियों में रहना होगा। पंजाब के कई शहरों में शनिवार से नाइट क‌र्फ्यू लगाया जा चुका है। कोरोना के मामले एकदम से बढ़ने के बाद यह फैसला लिया गया। चंडीगढ़ में भी हालात कुछ ज्यादा ठीक नहीं हैं। एक सप्ताह में 519 नए कोरोना संक्रमित मामले सामने आ चुके हैं। तीन महीने बाद शनिवार को 122 मामले सामने आने से तो संकट और बढ़ गया है। चंडीगढ़ में भी सोमवार को क‌र्फ्यू लगाने की घोषणा हो सकती है। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर कोविड वॉर रूम मीटिग के दौरान अधिकारियों से चर्चा कर इस पर निर्णय ले सकते हैं। शुक्रवार तक कई और पाबंदियां लगाई जा सकती हैं। दरअसल अब कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली है। आए दिन बहुत कम लोग ठीक हो रहे हैं जबकि संक्रमण का फीसद बहुत ज्यादा है। जिससे सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ने से अस्पतालों पर दबाव फिर बढ़ने लगा है।

महिला दिवस, विरोधी महिला किसानों ने संभाला मंच

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर राजधानी दिल्ली के सिंघू, टीकरी एवं गाजीपुर के किसान प्रदर्शन स्थलों पर हजारों महिला किसानों ने मार्च निकाला और भाषण दिए। कृषि क्षेत्र में महिलाओं के योगदान को देखते हुये आयोजकों ने महिला किसानों को मंच का प्रबंधन करने, भोजन और सुरक्षा की व्यवस्था करने तथा इस अवसर पर उनके संघर्ष की कहानियों को साझा करने के लिए विस्तृत योजना बनाई है। किसान नेता कविता कुरूगांती ने सोमवार को पीटीआई-भाषा को बताया कि मंच का प्रबंधन महिलाओं ने किया। सभी वक्ता महिलायें थीं और जिन मसलों पर चर्चा की गयी उनमें विशेष रूप से खेती और महिला किसानों का मुद्दा शामिल था। संयुक्त किसान मोर्चा की सदस्य कविता ने कहा, ”इस दौरान महिला किसानों और इस आंदोलन में महिला किसानों के योगदान पर भी चर्चा हुयी। उन्होंने कहा कि यहां हजारों महिलाओं के आने और इसमें उनके हिस्सा लेने के बाद इसका महत्व बढ़ गया है। केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में हजारों किसान पिछले 100 दिनों से दिल्ली सीमा पर जमे हुये हैं और उनकी मांग इन कानूनों को वापस लेने तथा उनके फसल के लिये न्यूनतम समर्थनम मूल्य की गारंटी देने की है। इन किसानों में अधिकतर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हैं।

मंदिर निर्माण के लिए शिक्षक को नौकरी से निकाला

बलिया। उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा संचालित एक विद्यालय के शिक्षक ने आरोप लगाया है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 1,000 रुपये का चंदा देने से मना करने पर उन्हें नौकरी से निकल दिया गया है। हालांकि संस्थान ने इन आरोपों से इंकार किया है। जिले के सलेमपुर गांव के रहने वाले यशवंत प्रताप सिंह ने सोमवार को बताया कि वह जिला मुख्यालय के जगदीशपुर मोहल्ले में स्थित सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में आचार्य के पद पर कार्यरत थे। उन्होंने दावा किया है कि स्कूल ने उनके आठ महीने का वेतन भी रोक लिया है। सिंह ने कहा कि उन्हें अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए विद्यालय की तरफ से चंदा वसूली के लिए रसीद बुक दी गई थी। उन्होंने बहुत प्रयास कर तकरीबन 80 हजार रुपये चंदा वसूल कर विद्यालय को प्राप्त कराया था।

आगरा:​​​​​​​ सिरफिरे ने चाकू से की मां-बेटी की हत्या

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा से जिले के बाह क्षेत्र के जरार कस्बे में आज तड़के एक सिरफिरे युवक ने मां-बेटी पर चाकू से प्रहार कर उनकी हत्या कर दी और फरार हो गया। पुलिस अधीक्षक (पूर्वी) अशोक के वैंकट ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आगरा देहात के बाह इलाके कस्बा जरार में तड़के करीब तीन बजे पड़ासे में रहने वाले गोविंद नामक युवक ने 50 वर्षीय शारदा देवी और उसकी 19 वर्षीय पुत्री कामिनी की चाकू से प्रहार करके हत्या कर दी। शुरुआती जांच में पता चला कि हत्यारा कामिनी से एकतरफा प्यार करता था। कामिनी कक्षा 11 की छात्रा थी और हत्यारा बीएएसी दूसरे वर्ष का छात्र था। इस घटना में कामिनी की भाभी कमलेश भी घायल हुई हैं। मां-बेटी की हत्या के बाद आरोपी भाग गया। उन्होंने बताया कि कस्बा जरार निवासी श्रीमती शारदा देवी का बेटा राहुल अहमदाबाद में नौकरी करता है। घर पर शारदा देवी, बेटी कामिनी, बहू कमलेश और डेढ़ साल का नातिनी गुड़िया मौजूद थे। दोनों की जातियां अलग हैं।

अतिक्रमण बताकर नगर पालिका ने उखाड़े चैम्बर

महराजगंज। बीते दिनों एआरटीओ कार्यालय के पास अधिवक्ताओं का चेम्बर अतिक्रमण बता कर नगर पालिका द्वारा उखाड़ दिया गया था। जिसको लेकर जिले के अधिवक्ताओं में आक्रोश व्याप्त है। महराजगंज नगर पालिका और जिला प्रशासन के विरोध में अधिवक्ताओं ने सोमवार को न्यायालय से जिलाधिकारी कार्यालय तक मार्च निकालते हुए अपनी मांग पत्र जिला प्रशासन को सौंपा है। विरोध कर रहे अधिवक्ताओं का कहना है कि बीते दिनों एआरटीओ के पास अधिवक्ताओं का चेम्बर उखाड़ दिया गया था। कुछ साल पहले नगर पालिका के साथ मिल कर जिला प्रशासन ने अधिवक्ताओं को वहां जगह दी थी, लेकिन आज सोमवार को अधिवक्ताओं को बेघर कर दिया गया है। हमारी मांग है कि अधिवक्ताओं को सम्मान के साथ वहीं जगह दी जाए और उनको हटाने में अधिवक्ताओं का जो नुकसान हुआ है। उसके लिए उन्हें पांच लाख का मुआवजा दिया जाए।

294 सीटों पर ममता और भाजपा के बीच मुकाबला

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तृणमूल कांग्रेस सरकार के खिलाफ ”झूठ और अफवाह फैलाने के लिए” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोमवार को आलोचना की और कहा कि इस बार मतदाता राज्य में सभी 294 निर्वाचन क्षेत्रों में ‘दीदी बनाम भाजपा’ के मुकाबले का गवाह बनेंगे। कोविड-19 टीकाकरण प्रमाण पत्रों पर प्रधानमंत्री की तस्वीर शामिल किए जाने को लेकर कटाक्ष करते हुए बनर्जी ने कहा कि ‘वह दिन दूर नहीं, जब समूचा देश उन्हीं के नाम पर होगा।’ पश्चिम बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता में आने का भरोसा जताते हुए तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा, ”सभी 294 सीटों पर मेरे और भाजपा के बीच मुकाबला है।” उन्होंने कहा, ”वे (भाजपा नेता) केवल चुनाव के दौरान बंगाल आएंगे और अफवाह तथा झूठ फैलाएंगे। वह हमें महिलाओं की सुरक्षा पर सीख दे रहे हैं। भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की क्या स्थिति है? मोदी के पसंदीदा गुजरात में क्या हालात हैं?”

हिमाचल में कोरोना के कुल 30 मामले सामने आएं

शिमला। हिमाचल में आज सोमवार तक कोरोना को लेकर कुछ राहत और कुछ आफत की बात है। हिमाचल में अब तक कोरोना के 30 मामले आए हैं। वहीं, 73 लोग ठीक होने में कामयाब रहे हैं। आज अब तक कोरोना के चलते तीन की जान गई है। बिलासपुर, कांगड़ा और ऊना में एक-एक कोरोना पॉजिटिव ने दम तोड़ा है। कोरोना का कुल आंकड़ा 59,148 पहुंच गया है। अभी 568 एक्टिव केस हैं। अब तक 57,580 कोरोना पॉजिटिव ठीक हुए हैं। कोरोना डेथ का आंकड़ा 987 पहुंच गया है। हिमाचल में आज अब तक कोरोना के 296 सैंपल जांच को आए हैं। इनमें से 82 नेगेटिव रहे हैं। 211 की रिपोर्ट आनी बाकी है। आज के सैंपल से तीन पॉजिटिव केस हैं। पिछले कल के 40 सैंपल की रिपोर्ट आनी बाकी है।

हिमाचल: 1 दिन में 2 बार आया भूकंप, तीव्रता मापी

चंबा। हिमाचल के जिला चंबा में एक बार फिर धरती कांपी है। आज चंबा में दो बार भूकंप आया है। आज सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर 3.6 तीव्रता का भूकंप आया। भूकंप का केंद्र चंबा में जमीन से 5 किलोमीटर अंदर था। इसके करीब 18 मिनट बाद एक बार फिर धरती कांपी। इस बार 3.5 तीव्रता का भूकंप आया है। इस बार भी भूकंप का केंद्र जमीन से पांच किलोमीटर अंदर था। हालांकि, भूकंप के चलते किसी प्रकार के जानमाल के नुकसान की सूचना नहीं है। वहीं, दिन का समय होने और लोगों के कार्यों में व्यस्त रहने के चलते भूकंप के झटके महसूस भी नहीं जा सकें हैं। बता दें कि इस वर्ष चंबा जिला मेें पहले भी भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं।

जापान में बच्चे पैदा करने का नहीं है दंपतियों को शौक

टोक्यो। क्या आप जानते हैं, कि एक देश ऐसा भी है। जहां पैदा होने वाले बच्चों से ज्यादा पालतू जानवरों की रजिस्ट्रेशन हो रही है। जापान उन देशों में शुमार है। जहां की आबादी का एक बड़ा तबका बूढ़ा है। ऐसे में जन्म दर कम होने के बीच लोग अब कुत्ते-बिल्लियां पाल रहे हैं यानि जापान में बच्चों से ज्यादा पालतू जानवरों  की रजिस्ट्रेशन हो रही है। इसके बारे में जनवरी में गोल्डमैन सैशे ने पता लगाया था। यहां कंपनी ने गौर किया तो पता चला कि जापान में बच्चों की जगह अब पालतू जानवर ले चुके हैं। बिजनेस इनसाइडर में कंपनी की इस रिपोर्ट का हवाला दिया गया है कि कैसे जापान में जानवर बच्चों को रिप्लेस कर रहे हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक 2014 में जापान में 15 साल के लगभग 16.5 मिलियन बच्चे थे, जबकि पालतू पशुओं कुत्ते-बिल्लियों की संख्या 21.3 मिलियन थी। कहा गया कि जापान में अब पालतू जानवर बच्चों की जगह लेते जा रहे हैं और दंपतियों में भी संतान पैदा करने की रुचि भी कम हुई है। रोचक बात यह है कि जापान में अगर कोई किसी जानवर को पालता है तो उस जानवर का मालिक उसे विदेश यात्रा पर ले जाता है। आपको बता दें कि जापान में पालतू जानवर की रजिस्ट्रेशन जरूरी है। बीते कुछ सालों में जापान में बच्चों से ज्यादा पालतू पशुओं के पहचान पत्र बने हैं। दरअसल ऐसा माना जाता है कि जापानी लोग अपने काम के प्रति दीवाने होते हैं। जापान में कर्मचारी इतनी कम छुट्टियां लेते हैं कि कंपनियों ने ऐसा नियम बना दिया कि हर कर्मचारी को सालाना कम से कम 14 दिनों की छुट्टियां लेनी ही होगी ताकि उनकी मेंटल हेल्थ दुरूस्त रहे।

कोर ग्रुप की 2 दिवसीय बैठकों का हुआ समापन

चंडीगढ़। अखिल भारत और विदेशों के राष्ट्रवादियों द्वारा भारत की सुरक्षा, तिब्बत की आजादी व कैलाश  मानसरोवर की मुक्ति के लिये गठित विशुद्ध बौद्धिक संगठन भारत तिब्बत संवाद मंच के कोर ग्रुप की दो दिवसीय बैठक का पंचकुला हरियाणा में समापन हुआ। इस बैठक के मुख्य अतिथि हरियाणा लेबर वेलफ़ेयर बोर्ड के चेयरमेन अमरेंद्र सिंह थे। भारत तिब्बत संवाद मंच के अंतरराष्ट्रीय कन्वेनर तंज़ानिया से टी सत्यनारायण व अमेरिका से कर्मवीर सिंह विशेष रूप से उपस्थित हुए। इस कार्यक्रम में तिब्बती यूथ कांग्रेस के वाईस प्रेसिडेंट लोमसंग तेरिंग व महामंत्री सोनम सेरिंग धर्मशाला से विशेष रूप से पधारे थे। उन्होंने अपने संबोधन में तिब्बत की आजादी के सपोर्ट के लिए भारत तिब्बत संवाद मंच की भूमिका की सराहना की। हरियाणा लेबर वेलफ़ेयर बोर्ड के चेयरमेन अमरेंद्र सिंह ने कहा कि लक्ष्य प्राप्ति के लिए लक्ष्य के प्रति प्रभु हनुमान से सीख लेनी चाहिये। कार्यक्रम के दौरान तिब्बती यूथ कांग्रेस के  पदाधिकारियों ने तिब्बती संस्कृति के अनुरूप  मंचासीन अतिथियों का भावपूर्ण स्वागत किया। बैठक के आरम्भ में अखिल भारतीय समन्वयक डॉक्टर संजय शुक्ला ने भारत तिब्बत संवाद मंच के गठन की आवश्यकता पर उद्देश्यपूर्ण शब्दों में प्रकाश डालते हुए कहा कि भारत तथा वैश्विक स्थायी शान्ति के लिए तिब्बत का आजाद होना बहुत जरूरी है। इस अवसर पर मंच की राष्ट्रीय महामंत्री मंगला गुप्ता ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि हमें भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए घरेलू उत्पादनों का उपयोग करना होगा। तभी हमारे किसान और छोटे व्यापारी वर्ग को हम अपने ही देश में समृद्ध बना सकते हैं और भारत को फिर से समृद्ध बनाने के लिए देश की जनता को स्वदेशी उत्पादन को अपनाना पड़ेगा। इसके लिए संवाद मंच स्वदेशी जनजागरण अभियान चलाकर लोंगो को जागरूक करने का काम करेंगी उसमें महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। हरियाणा की प्रभारी पूजा पाण्डेय ने भी अपने स्वदेशी आंदोलन के विचारों को रखकर चाईना की आर्थिक कम्मर तोड़ चाईना को सबक सिखाने की बात कही थी। बैठक को  तेलंगाना व हैदराबाद के रीजनल कन्वेनर पी चंद्रशेखर, तंज़ानिया से पधारे पी सत्यनारायण ने भी संबोधित किया। इस बैठक को सम्बोधित करते हुए सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया के अधिवक्ता जयेंद्र एस चंदेल ने कहा कि चीन का विरोध सम्पूर्ण भारत में जन आंदोलन बनना ही चाहिए तभी तिब्बत की आजादी का मार्ग प्रशस्त होगा। भोपाल से पधारे सुनील केहरी ने चीन को वैश्विक अतिक्रमणकारी बताते हुए यू एन ओ तक तिब्बत का मुद्दा नित्य उठाने की बात करते हुए गर्मजोशी से मंच का संचालन कर जोर दिया कि तिब्बत की आजादी के लिए  समय सीमा तय कर विचार विमर्श से प्रयास किया जाना चाहिए।बैठक को वीणा गुप्ता, अरुणाचल प्रदेश की यामक ड्यूपीट दोयम, राजस्थान की भारती वैष्णव, चंडीगढ़ से किशन भारद्वाज ने भी सम्बोधित किया।बैठक में चिंतन किया गया ताकि तिब्बत की आजादी का मुद्दा, चीन की बर्बादी का मुद्दा, हिंदुत्व का मुद्दा, राष्ट्रवाद का मुद्दा ललक्ष्योन्मुख दिशा पाता रहे और भारत तिब्बत संवाद मंच अपने विजन और मिशन के अनुरूप वैश्विक पटल पर अवश्य ही महति भूमिका अदा करे। भारत तिब्बत संवाद मंच पदाधिकारियों ने अपने उद्बोधन में धूर्त व कपटी चीन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय मंचो पर चलाये जा रहे भारत विरोधी अभियान, पाक समर्थित आतंकवादियों को समर्थन और देश की संप्रभुता पर हमले पर चिन्ता व्यक्त करते हुये केन्द्र सरकार द्वारा तिब्बत नीति घोषित करने व तिब्बत को पूर्ण गणराज्य की मान्यता देनें, कैलाश मानसरोवर, आक्साई चीन व पीओके को मुक्त कराने के संबंध संसद में लिये गये संकल्प को पुर्ण करने के लिए निर्णायक कदम उठाने, पूर्व माध्यमिक एवं माध्यमिक कक्षाओं की पाठ्यपुस्तकों में दक्षिण एशिया व चीन गणराज्य के नक्शे में तिब्बत को स्वतंत्र देश दर्शाने के साथ ही उस पर चीन द्वारा कब्जे के वास्तविक इतिहास से छात्रों को अवगत कराने, तिब्बत की आजादी के आन्दोलन को पूर्ण समर्थन देने एवं चीनी उत्पादों पर पूर्णतया प्रतिबन्ध लगाने की मांग उठायी।

चीनी राजनयिक के हिजाब को लेकर मचा बवाल

इस्लामाबाद/बीजिंग। पाकिस्तान में तैनात चीन के एक राजनयिक के हिजाब को लेकर किए गए ट्वीट पर बवाल मचा हुआ है। पाकिस्तान की धार्मिक पार्टियां ही नहीं कई आम लोगों ने भी इसकी शिकायत प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तानी विदेश कार्यालय में की है। लोगों ने इसे इस्लाम और हिजाब पर हमला बताते हुए कार्रवाई की मांग की है। बता दें कि चीन पहले से ही शिनजियांग में मुस्लिमों के ऊपर भारी अत्याचार कर रहा है, लेकिन दुनियाभर में इस्लाम की ठेकेदारी करने वाले इमरान खान के मुंह से कभी एक शब्द भी नहीं निकला है। दरअसल, दो दिन पहले पाकिस्तान में स्थित चीनी दूतावास के काउंसलर और डॉयरेक्टर जेंग हेक्विंग ने चीन के मुस्लिम बहुल शिनजियांग की एक लड़की के डांस का वीडियो ट्वीट किया था। जिसके कैप्शन में उन्होंने इंग्लिश और चाइनीज में लिखा कि अपना हिजाब उठाओ, मुझे तुम्हारी आंखें देखने दो। उन्होंने दूसरे ट्वीट में कहा कि चीन के अधिकतर लोग शिनजियांग के इस गाने को गाना चाहेंगे।

चीन पहले ही उइगर मुसलमानों का जबरन नसबंदी और गर्भपात करवा रहा है। शिनजियांग के सुदूर पश्चिमी क्षेत्र में पिछले चार साल से चलाए जा रहे अभियान को कुछ विशेषज्ञ एक तरह से ‘जनसांख्यिकीय नरसंरहार’ करार दे रहे हैं। इंटरव्यू और आंकड़े दिखाते हैं कि यह प्रांत अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं को नियमित तौर पर गर्भावस्था जांच कराने को कहता है, उन्हें अंतर्गर्भाशयी उपकरण लगवाने के अलावा नसबंदी करवाने और लाखों महिलाओं को गर्भपात कराने के लिए भी मजबूर करता है।

हालांकि चीनी नेता इसका खंडन करते हैं। वे इस डिटेन्शन कैंप्स को व्यवसायिक प्रशिक्षण केंद्र बताते हैं। चीन सरकार की रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिणी शिनजियांग में 2014 से 2019 तक 415,000 उइगर मुस्लिमों को कैद कर रखा गया था। इनमें से कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें एक से ज्यादा बार कैद किया गया है। कुल मिलाकर अभी 80 मिलियन से ज्यादा लोग चीन के डिटेंशन कैंप्स में कैद हैं।

उइगर मुसलमानों पर अत्याचार को लेकर अभी तक किसी भी मुस्लिम देश ने चीन का खुलकर विरोध नहीं किया है। दुनियाभर के मुसलमानों के कथित मसीहा सऊदी अरब, तुर्की और पाकिस्तान के मुंह से उइगरों को लेकर आज तक एक शब्द नहीं निकला है। ये सभी देश इस मामले में पड़कर चीन की दुश्मनी मोल नहीं लेना चाहते। जबकि, धरती के दूसरे किसी भी हिस्से में मुसलमानों को लेकर इनका रवैया एकदम सख्त रहता है।

स्विट्जरलैंड ने भी बुर्का पहनना किया प्रतिबंधित

बर्न। फ्रांस, बेल्जियम और ऑस्ट्रिया के बाद अब स्विट्जरलैंड ने भी सार्वजनिक जगहों पर मुस्लिम महिलाओं के हिजाब और बुर्के से चेहरा ढंकने पर पाबंदी लगा दी है। स्विट्जरलैंड में इसको लेकर जनमतसंग्रह कराया गया था। जिसमें 51 प्रतिशत वोटरों ने बुर्का प्रतिबंधित करने के पक्ष में वोट किया था। इस प्रस्ताव के मंजूर होने के बाद रेस्त्रां, खेल के मैदानों, सार्वजनिक परिवहन साधनों या सड़कों पर चलते समय चेहरा ढंकने पर पाबंदी लग जाएगी। हालांकि, स्विट्जरलैंड की संसद और देश की संघीय सरकार का गठन करने वाली सात सदस्यीय कार्यकारी परिषद ने इस जनमत संग्रह प्रस्ताव का विरोध किया।हालांकि, धार्मिक स्थलों पर जाते समय चेहरा ढंकने और स्वास्थ्य कारणों, जैसे कि कोविड-19 से बचाव के दौरान मास्क पहनने की छूट रहेगी। सार्वजनिक स्थानों पर बुर्का पहनने की छूट होनी चाहिए या नहीं, इस बात का फैसला करने के लिए जनमत संग्रह का सहारा लिया गया। जिसपर स्विट्जरलैंड की जनता ने 7 मार्च को वोट किया था। बता दें कि इससे पहले फ्रांस ने साल 2011 में ही चेहरे को पूरी तरह से ढकने वाले कपड़े पहनने पर बैन लगा दिया था। वहीं डेनमार्क, ऑस्ट्रिया, नीदरलैंड और बुल्गारिया में भी सार्वजनिक जगहों पर बुर्का पहनने पर पाबंदी है।

कुंडली बॉर्डर: प्रदर्शन में शामिल व्यक्ति ने की फायरिंग

राणा ओबराय   

चंडीगढ़। कृषि कानूनों के खिलाफ 102 दिन से आंदोलन कर रहे किसानों ने कई बार पुलिस की सख्ती और स्थानीय लोगों का विरोध झेला है। लेकिन कुंडली बॉर्डर धरनास्थल पर देर रात जो हुआ उससे किसान खासे दहशत में हैं। दरअसल, कुंडली बॉर्डर धरनास्थल पर देर रात किसानों पर फायरिंग की गई। हालांकि फायरिंग में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। जानकारी के अनुसार किसानों पर तीन राउंड फायरिंग की गई। प्रदर्शनकारी किसानों पर चंडीगढ़ नंबर की गाड़ी में पहुंचे कुछ युवकों ने फायरिंग करते हुए कहा कि वह पंजाब के रहने वाले हैं। इस घटना पर आंदोलनरत अन्नदाताओं का कहना है कि ऐसा करके पंजाब और हरियाणा का भाईचारा बिगाड़ने की साजिश रची गई है। किसानों का कहना है कि पंजाब से कुछ युवक कल रात कुंडली बॉर्डर आए थे। जब ये लोग वहां पहुंचे तो लंगर चल रहा था। आरोपी युवकों ने लंगर खाया और फिर पानी को लेकर इनका अन्य लोगों से झगड़ा हो गया। गुस्से में इन लोगों ने वहां मौजूद लोगों पर गोली चला दी। हालांकि गनीमत रही कि यह गोली किसी को नहीं लगी। इसके बाद से ये युवक फरार हैं। वहीं कुंडली एसएचओ रवि ने मौके पर पहुंचकर जांच की और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गाड़ी का नंबर देखकर आरोपियों का पता लगाने में पुलिस जुटी हुई है। जिससे आरोपियों को जल्द पकड़कर घटना के बारे में पता किया जा सके। कुंडली बॉर्डर पर चल रहे धरने के दौरान सोमवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला किसान दिवस मनाया जाएगा। धरने की कमान महिलाओं के हाथों में रहेगी। मंच पर सिर्फ महिलाएं रहेंगी और संचालन करने के साथ संबोधन भी करेंगी। इसके लिए हरियाणा व पंजाब से ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को कुंडली बॉर्डर पर पहुंचने का आह्वान किया गया है।

इधर, किसान आंदोलन की वजह से 27 जनवरी से लगातार बंद चल रहे हरियाणा-दिल्ली के झाड़ोदा बॉर्डर को दिल्ली पुलिस ने खोल दिया। इससे राहगीरों को बहुत राहत मिली है।

भारत से हार, इंग्लैंड के खिलाड़ी लें जिम्मेदारी: हुसैन

नई दिल्ली/ लंदन। इंग्लैंड को चार मैचों की टेस्ट सीरीज हराने वाली भारतीय टीम की इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने जमकर तारीफ की है। उन्होंने हार का ठीकरा इंग्लैंड के खिलाड़ियों पर फोड़ते हुए कहा कि भारत मैदान में हर क्षेत्र में आगे रही। उन्होंने कहा कि इंग्लैंड के खिलाड़ियों को इस हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। भारत ने अहमदाबाद में खेले गए सीरीज के आखिरी और चौथे टेस्ट में शनिवार को मेहमान टीम को एक पारी और 25 रनों से मात दी। स्पिनरों ने एक बार फिर इंग्लैंड के खिलाड़ियों को सस्ते में निपटाया। अश्विन और अक्षर ने दूसरी पारी में 5-5 विकेट लिए। हुसैन ने हार के लिए इंग्लैंड के खिलाड़ियों को दोषी ठहराया और भारतीय स्पिनरों की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा,” हार के लिए इंग्लैंड के पास कोई बहाना नहीं हो सकता है। उन्होंने तीन-चार अलग-अलग जगहों पर खेला। चार में से तीन टॉस जीते। वो परिस्थितियों को नहीं भांप पाए। पहले टेस्ट के बाद वो पहले 300 रन से फिर 10 विकेट से और अब एक पारी से हारे। हुसैन ने स्काई स्पोर्ट्स के लिए लिखे कॉलम में ये बातें कही। भारत ने उन्हें पूरी तरह से गेम से दूर रखा। स्पिनरों ने जिस तरह का प्रदर्शन किया वो बिल्कुल अलग लीग दिखे।

आंदोलन: यूपी गेट पर मनाया गया 'महिला दिवस'

अश्वनी उपाध्याय   

गाजियाबाद। सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ गाजीपुर बॉर्डर समेत राजधानी दिल्ली की अन्य सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है। सर्दी के मौसम में शुरू हुआ किसान आंदोलन अब गर्मी के मौसम में प्रवेश कर चुका है। आंदोलन को अब 100 दिन से अधिक हो चुके हैं। आंदोलन में महिलाएं भी बखूबी अपनी भूमिका निभाती नजर आ रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर गाजीपुर बॉर्डर का मंच महिलाएं संभाल रही हैं। मंच से आज संबोधन भी महिलाएं करेंगी और अनशन पर जो किसान बैठते हैं, उसमें भी महिलाएं ही अपनी भागीदारी निभाएंगी। 17 महिलाएं अनशन पर बैठीं है। महिलाओं ने हाथों पर इंकलाबी मेहंदी रचाई है साथ ही हाथों पर मेहंदी से कृषि यंत्र के चित्र भी बनाए हैं। महिलाओं का कहना है कि घर की किचन से लेकर बच्चों की पढ़ाई और आंदोलन को पूरे तालमेल से संभाला जा रहा है। आधी आबादी आज अपना हक चाहती है। मंच पर मौजूद महिला रवनीत कौर ने कहा मेहंदी सिर्फ सौंदर्य करण का साधन नहीं है। आंदोलन में मौजूद महिलाओं ने आज अपने हाथों पर इंकलाबी मेहंदी लगाकर अपने हक की आवाज उठाने की कोशिश की है। महिलाओं ने हाथों पर मेहंदी से किसानों एकता और आंदोलन के इंकलाब नारे लिखे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर भारी उत्साह

अश्वनी उपाध्याय

 गाजियाबाद। यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी गाजियाबाद में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं में खासा उत्साह एवं आत्मविश्वास देखा गया। हॉस्पिटल की निदेशक उपासना अरोड़ा ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर अपने सभी महिला डॉक्टरों एवं महिला स्टाफ को बधाई दी एवं हॉस्पिटल के विभिन्न विभागों की महिलाओं ने इस दिवस पर कोरोना पर विजय की मुद्रा में फोटो खिंचा। इस अवसर पर उपासना अरोड़ा ने कहा कि पहले हमें कोविड-19 से निपटने की चुनौती थी और हम उस चुनौती को शहर से स्वीकार करते हुए उस से लड़ते रहे और 6000 से ज्यादा कोविड-19 के मरीजों को भर्ती कर उनका इलाज किया। आप जब कि हमें कोविड-19 के टीकाकरण की जिम्मेदारी दी गई है हमारी टीम उसे पूरी जिम्मेदारी से निर्वहन कर रही है और हम तब तक दृढ़ता से डटे रहेंगे जब तक इस देश से कोरोना का एक-एक केस खत्म नहीं हो जाता। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर समस्त महिलाओं से ज्यादा से ज्यादा कोविड-19 का टीका लगवाने के लिए आग्रह किया।

गाजियाबाद में मनाया गया 'सड़क सुरक्षा सप्ताह'

अश्वनी उपाध्याय   

गाजियाबाद। सड़क सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत आज गुलमोहर गार्डन सोसाइटी मे फेडरेशन आफ गाज़ियाबाद के संरक्षक आलोक कुमार की अध्यक्षता में सड़क सुरक्षा के लिए एक कार्यक्रम रखा गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एसपी ट्रैफिक रामानंद कुशवाहा सहित, सीएफओ सुनील कुमार तिवारी, राजनगर एक्सटैन्शन के पार्षद संजीव त्यागी, मोरटा चौकी इंचार्ज महक सिंह बाल्यान आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सभी को सड़क पर चलने के नियम समझाना, सभी को सुरक्षा की नियम बताना था। गुलमोहर के निवासियों ने भी आसपास के क्षेत्र में आए दिन आने वाली समस्याओं से अवगत कराया। महिलाओं के और से रेनू सिंह ने अपनी समस्याओं को रखा। विपरीत दिशा में वाहन चलाने, गलत जगह पार्किंग करने की समस्या को स्वयं एस पी ट्रैफिक ने नोट कर उपयुक्त कार्रवाई का आश्वासन दिया।

रेट के हिसाब से लेगा नगर निगम दुकानों का किराया

अश्वनी उपाध्याय   

गाज़ियाबाद। जिलें के नागरिकों को विश्व स्तरीय सुविधाएं देने के प्रयास बढ़ाने के साथ-साथ नगर निगम ने अपनी आय बढ़ाने के साधनों की खोज शुरू कर दी है। नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर द्वारा कराई गई जांच में पता चला है कि पिछले 20 सालों से नगर निगम ने अपनी दुकानों का किराया नहीं बढ़ाया है। जबकि, मार्केट के हिसाब से किराया कई गुना बढ़ चुका है। ऐसे में निगम ने सर्किल रेट के हिसाब से ही किराया वसूलने का मन बना लिया है। यही नहीं, ऐसी दुकानों से निगम प्रीमियम भी लेगा जो दुकानें अब मूल आवंटियों के पास नहीं हैं। इसके लिए निगम ने सर्वे शुरू कर दिया है और 1279 में से करीब 650 दुकानों पर नंबरिंग भी कर दी है। आपको बता दें कि कविनगर, विजयनगर, वसुंधरा, मोहननगर और सिटी जोन में निगम की 1279 दुकानें हैं। करीब दो दशकों से इन दुकानों का किराया नहीं बढ़ाया गया है। अभी भी इन दुकानों का किराया एक हजार से दो हजार तक है। जबकि, इन्हीं बाजारों में निजी दुकानों का किराया 10 से 20 हजार रुपये तक है। ऐसे में नगर निगम अब इन दुकानों का किराया बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। नगर निगम दुकानों के किराये में पारदर्शिता लाने के लिए सर्किल रेट और जिला प्रशासन की ओर से तय की गई किराया दर को आधार बनाएगा।2014 में शहर में 450 रुपये प्रति वर्ग मीटर की किराया दर थी। नगर निगम अब जिला प्रशासन से 2020 की नई किराया दर लेगा। इसके आधार पर किराया निर्धारण किया जाएगा।

गाजियाबाद: जीडीएम के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज

 अश्वनी उपाध्याय  

गाजियाबाद। वसुंधरा सेक्टर-नौ स्थित एमएस जीएमडी इंफ्राटेक बिल्डर के प्रोजेक्ट में फ्लैट के नाम पर धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। पुलिस द्वारा सुनवाई नहीं किए जाने पर पीड़ित ने न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। न्यायालय के आदेश पर बिल्डर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई है। वसुंधरा निवासी अवनीश कुमार सऊदी अरब में नौकरी करते हैं। उन्होंने बताया है कि अगस्त 2015 में उन्होंने जीएमडी इंफ्राटेक बिल्डर के वसुंधरा सेक्टर-नौ स्थित प्रोजेक्ट में दो फ्लैट बुक कराए थे। इसके एवज में वह बिल्डर को अब तक 99 लाख रुपये दे चुके हैं। बिल्डर ने तय शर्तों पर फ्लैट नहीं दिए हैं। उन्हें पता चला है कि आवास विकास परिषद ने निर्माण को अवैध घोषित कर रखा है। बिल्डर के खिलाफ आवास विकास परिषद ने रिपोर्ट भी दर्ज कराई है। आरोप है कि बिल्डर ने उनके साथ धोखाधड़ी की है। उन्होंने इसकी इंदिरापुरम थाना और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद से शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इस वजह से उन्होंने न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। न्यायालय ने बिल्डर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने का आदेश दिया। उसके बाद शुक्रवार रात में एमएस जीएमडी इंफ्राटेक कंपनी, निदेशक महेश चंद शर्मा और गीता शर्मा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई है।इंदिरापुरम थाना प्रभारी निरीक्षक संजीव शर्मा ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। उधर, जीएमडी के सीएमडी महेश शर्मा ने बताया कि एफआइआर दर्ज होने की जानकारी मिली है। इस विषय में अपनी टीम से बात करके आगे की कार्रवाई की जाएगी।

एमपी में लव जिहाद करने वालों की खैर नहीं: सीएम

भोपाल। मध्यप्रदेश में कथित लवजिहाद के विरोध में लाए गए मप्र धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक, 2021 को विधानसभा में ध्वनिमत के जरिए पारित कर दिया गया। हालांकि मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के सदस्यों ने विधेयक के प्रावधानों पर आपत्ति जतायी। विधेयक पर हुई चर्चा का उत्तर देते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि भ्रम में रखकर धर्म परिवर्तन कराने वालों के खिलाफ इस विधेयक में सख्त प्रावधान किए गए हैं। इस तरह के धर्म परिवर्तन रोकने के लिए भी विधेयक में प्रावधान किए गए हैं।

मुठभेड़: इंडियन मुजाहिदीन का आतंकी दोषी करार

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने 2008 में हुए बटला हाउस मुठभेड़ के दौरान पुलिस निरीक्षक मोहन चंद शर्मा की हत्या और अन्य अपराधों के लिये सोमवार को आरिज खान को दोषी ठहराया। आरिज खान कथित तौर पर आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन से जुड़ा था। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संदीप यादव ने कहा कि अभियोजन पक्ष द्वारा प्रस्तुत साक्ष्यों से अपराध बिना किसी संदेह के साबित हुआ है। न्यायाधीश ने कहा कि यह साबित होता है कि आरिज खान और उसके साथियों ने पुलिस अधिकारी की हत्या की और उन पर गोली चलाई। अदालत ने कहा कि सजा की अवधि पर 15 मार्च को बहस होगी। दक्षिणी दिल्ली के जामिया नगर इलाके में 2008 में बटला हाउस मुठभेड़ के दौरान दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ के निरीक्षक शर्मा की हत्या कर दी गई थी।

प्रदीप-अक्षरा की फिल्म ‘विवाह- 2’ की शूटिंग शुरू

मनोज सिंह ठाकुर   

मुंबई। भोजपुरी सिनेमा के चॉकलेटी स्टार प्रदीप पांडे चिंटू और अभिनेत्री अक्षरा सिंह की जोड़ी वाली फिल्म ‘विवाह 2’ की शूटिंग शुरू हो गयी है। रेणु विजय फिल्म्स एंटरटेनमेंट प्रस्तुत फ़िल्म ‘विवाह 2’ की शूटिंग भगवान श्री राम की पावन जन्मभूमि अयोध्या के हनुमान गढ़ी मंदिर से शुरू हो चुकी है। वर्ष 2019 में प्रदर्शित फ़िल्म विवाह की अपार सफलता के बाद विवाह 2 का निर्माण बड़े भव्य पैमाने पर किया जा रहा है। फ़िल्म के निर्माता निशांत उज्ज्वल और निर्देशक प्रेमांशु सिंह हैं। फ़िल्म में प्रदीप पांडेय चिंटू के साथ भोजपुरी सेंसेशन अक्षरा सिंह और साउथ से भोजपुरी इंडस्ट्री में आई बेहतरीन अभिनेत्री सहर आफसा नज़र आने वाली हैं।

विस्फोटकों से लदी कार मिलने के केस की जांच की

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित आवास के पास मिले विस्फोटक से लदे एक वाहन के मामले की जांच को अपने हाथों में ले लिया है। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने सोमवार को बताया कि एनआईए ने गृह मंत्रालय के आदेशों के बाद इस मामले को अपने हाथों में लिया है। प्रवक्ता ने बताया कि एजेंसी फिर से मामला दर्ज करने की प्रक्रिया में है। गौरतलब है कि दक्षिण मुंबई में अंबानी के बहुमंजिला घर ‘एंटीलिया’ के निकट 25 फरवरी को एक ‘स्कॉर्पियो’ कार के अंदर जिलेटिन की छड़ें रखी हुई मिली थीं। पुलिस ने कहा था कि कार 18 फरवरी को एरोली-मुलुंद ब्रिज से चोरी हुई थी। वाहन के मालिक हीरेन मनसुख शुक्रवार को ठाणे में मृत पाये गये थे।

पीएम मोदी ने खरीदे महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पाद

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं को बधाई दी और इस मौके पर देशवासियों से महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने की अपील की। ”आत्मनिर्भर भारत” अभियान में महिलाओं की अग्रणी भूमिका का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर उन्होंने महिला स्वसहायता समूहों और उद्यमियों द्वारा तैयार कुछ उत्पाद भी खरीदें। प्रधानमंत्री ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि भारत को अपनी महिलाओं की तमाम उपलब्धियों पर गर्व है। मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मैं अदम्य नारी शक्ति को सलाम करता हूं। देश की महिलाओं की तमाम उपलब्धियों पर भारत को गर्व होता है। देश के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के सशक्तीकरण की दिशा में काम करना हमारी सरकार के लिए सम्मान की बात है।”

विश्व में मृतकों की संख्या 25.93 लाख के पार हुई

वाशिंगटन डीसी। विश्व भर में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के संक्रमण से अभी तक 25.93 लाख से अधिक लोगों की मौत हो गयी है। जबकि, संक्रमितों की संख्या 11.68 करोड़ के ज्यादा हो गयी है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 11 करोड़ 68 लाख 49 हजार से अधिक हो गयी है। जबकि, 25 लाख 93 हजार 230 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है। वैश्विक महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना का कहर निरतंर जारी है और यहां संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर दो करोड़ 89 लाख 98 हजार से अधिक हो गयी है। जबकि 5.25 लाख से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। भारत में संक्रमितों की संख्या एक करोड़ 12 लाख 29 हजार 398 तक पहुंच गयी है। हालांकि, यहां एक करोड़ आठ लाख 82 हजार 798 लोग कोरोनामुक्त हो चुके हैं। वहीं, मृतकों का आंकड़ा बढ़कर एक लाख 57 हजार 853 हो गया है।

अपनों के साथ भेदभाव का दिखा परिणाम: सीएम

हरिओम उपाध्याय   

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर नहीं चलने के दुष्परिणामों का जिक्र करते हुए सोमवार को कहा, कि समाज जब भी अपनों के साथ भेदभाव करता है तो नेपाल में माओवाद की तरह उसका एक विकृत रूप देखने को मिलता है।मुख्यमंत्री ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में समावेशी विकास का जिक्र किया और कहा कि समाज जब भी अपनों से भेदभाव करता है तो उसका एक विकृत रूप देखने को मिलता है। जो नेपाल में माओवाद के रूप में देखने को मिला। योगी ने थारू समुदाय का जिक्र करते हुए कहा, कि थारू समुदाय आजादी के बाद भी शासन की सुविधाओं से वंचित था। भारत में रह रहे इस समुदाय तक केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाएं पहुंचने लगीं तो वह राष्ट्र की मुख्यधारा से जुड़ कर अपना योगदान करने लगा। लेकिन यही समुदाय नेपाल में जाकर माओवादी बन जाता है और वहां की व्यवस्था को तहस-नहस करता हुआ दिखाई देता है।

8 मार्च को मनाया गया 'अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस'

सुनील श्रीवास्तव   

नई दिल्ली/ वाशिंगटन डीसी। महिलाओं के अदृश्य संघर्ष को सलाम करने के लिए उनके सम्मान में, उन्हें समान अधिकार और सम्मान दिलाने के उद्देश्य के साथ संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वारा 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस घोषित किया हुआ है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने के लिए कई जायज कारण हैं। महिला/स्त्री/नारी/औरत शब्द कुछ भी हो, मां/बहन/बेटी/पत्नी रिश्ता कोई सा भी हो वे हर जगह सम्मान की हकदार है। चाहे वह शिक्षक/वकील/डॉक्टर/पत्रकार/सैनिक/सरकारी कर्मी/इंजीनियर जैसे किसी पेशे में हों या फिर गृहिणी ही क्यों न हों। समानता का अधिकार उन्हें भी उतना ही है, जितना पुरुषों का है।आधी आबादी के तौर पर महिलाएं हमारे समाज -जीवन का एक मजबूत आधार है। महिलाओं के बिना इस दुनिया की कल्पना करना ही असंभव है। कई बार महिलाओं के साथ पेशेवर जिंदगी में भेदभाव होता है। घर-परिवार में भी कई दफा उन्हें समान हक और सम्मान नहीं मिल पाता है। फिर वे जूझती हैं। संघर्ष कर करती हैं और इस दुनिया को खूबसूरत बनाने में उनका ही सर्वाधिक योगदान है। सन् 1908 में एक मजदूर आंदोलन के बाद ही अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत हुई थी। महिलाओं ने न्यूयॉर्क में उनकी नौकरी के घंटे कम करने और साथ ही उनका वेतन बढ़ाने के लिए मांग रखी थी। महिलाओं की हड़ताल इतनी कामयाब रही कि वहां के सम्राट निकोलस को पद छोड़ना पड़ा, और अंतरिम सरकार ने महिलाओं को मतदान का अधिकार दे दिया।


कंपनी ने रैड मैजिक स्मार्टफोन्स को लॉन्च किया

बीजिंग। चीन में सबसे तगड़े गेमिंग स्मार्टफोंस के तौर पर रैड मैजिक 6 सीरीज के स्मार्टफोंस को लॉन्च कर दिया गया है। आपको बता देते है कि इस सीरीज में कंपनी ने दो नए और लेटेस्ट मोबाइल फोंस को लॉन्च किया है। आपको बता देते है कि इस सीरीज के तगड़े फोंस को फ्लैगशिप स्पेसिफिकेशन्स के साथ लॉन्च किया गया है। इसके अलावा आपको बता देते है कि रेडमी मैजिक 6 और रैड मैजिक 6 प्रो. मोबाइल फोंस को क्वालकॉम स्नेपड्रैगन 888 SoC और हाई रिफ्रेश रेट डिस्प्ले से लैस करके लॉन्च किया गया है। इसके अलावा आपको बता देते है कि रैड मै 6 और रैड मैजिक 6 प्रो. मोबाइल फोंस को कई रैम और स्टोरेज मॉडल में पेश किया गया है। हालाँकि इसके अलावा फोंस को दो अलग अलग रंगों में लिया जा सकता है। आपको बता देते है कि चीन के बाजार में रैड मैजिक 6 मोबाइल फोन के शुरूआती कीमत CNY 3,799 यानी लगभग 42,700 है, यह कीमत इस मोबाइल फोन के 8GB रैम और 128GB स्टोरेज मॉडल की है। इसके अलावा अगर आप इसके 12GB रैम और 128GB स्टोरेज मॉडल को लेना चाहते हैं तो आपको बता देते है कि इसे लगभग CNY 4,099 यानी रुपए 46,000 के आसपास की कीमत में लिया जा सकता है। इस मोबाइल फोन के दो मॉडल कार्बन फाइबर ब्लैक रंगों में आते हैं। इसके अलावा एक अन्य मॉडल को साइबर नीयन ऑप्शन में भी लिया जा सकता है। जो 12GB रैम और 128GB मॉडल में आता है। इसके अलावा इस मोबाइल फोन के 12GB रैम और 256GB मॉडल को CNY 4,399 यानी लगभग रुपए 49,500 में लिया जा सकता है। इतना ही नहीं अगर हम रैड मैजिक प्रो. रमैबाइल फोन की चर्चा करें तो आपको बता देते है कि इस मोबाइल फोन के 12GB रैम और 128GB मॉडल को लगभग CNY 4,399 में लिया जा सकता है। इसके अलावा अगर आप इसके 12GB रैम और 256GB वैरिएंट को लेना चाहते हैं तो आपको बता देते है कि आप इसे CNY 4,799 यानी लगभग रुपए 54,000 के प्रा. मोबाइल में ले सकते हैं। इसके अलावा अगर हम 16GB रैम और 256GB स्टोरेज मॉडल की चर्चा करें तो इसे CNY 5,299 यानी लगभग Rs 59,600 में लिया जा सकता है। इस मोबाइल फोन को ब्लैक आयरन और इसे ब्लेड सिल्वर रंगों में लिया जा सकता है। इसके अलावा इस मोबाइल फोन का एक ट्रांसपेरेंट मॉडल भी है। जिसे आप CNY 5,599 यानी लगभग Rs 63,000 में ले सकते है। यह मोबाइल फोन 16GB रैम और 256GB मॉडल में आता है। हालाँकि अगर आप इसका 18GB रैम मॉडल को लेना चाहते हैं तो आपको बता देते है कि आप इसे 512GB स्टोरेज मोडले में मात्र CNY 6,599 यानी लगभग रुपए 74,200 में ले सकते हैं।

पंजाब: ₹1,68,015 करोड़ का बजट किया पेश

राणा ओबराय   

चंडीगढ़। पंजाब राज्य विधानसभा में सोमवार को वर्ष 2021-22 के लिये 1,68,015 करोड़ रुपये का बजट पेश किया गया। जिसमें फसल ऋण माफी योजना के तहत 1.13 लाख किसानों के 1,188 करोड़ रुपये के फसली ऋण माफ करने का प्रस्ताव किया गया है। पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने राज्य विधानसभा में 2021- 22 का बजट पेश करते हुये राज्य में बुजुर्गों की पेंशन 750 रुपये से बढ़ाकर 1,500 रुपये महीना करने की भी घोषणा की है। इसके साथ ही उन्होंने शगुन योजना के तहत दी जाने वाली राशि को भी 21 हजार रुपये से बढ़ाकर 51,000 रुपये करने का प्रस्ताव किया। बादल ने कहा, कि फसल रिण माफी योजना के अगले चरण में राज्य सरकार 1.13 लाख किसानों का 1,186 करोड़ रुपये और भूमिहीन किसानों का 526 करोड़ रुपये का फसल कर्ज माफ करेगी। राज्य की अमरिंदर सिंह सरकार के मौजूदा कार्यकाल का यह आखिरी बजट है। राज्य में अगले साल के शुरुआती महीनों में चुनाव होने हैं।

महिला दिवस पर पीएम समेत नेताओं ने दी बधाई

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं को बधाई दी और कहा कि भारत को उनकी तमाम उपलब्धियों पर गर्व है। मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मैं अदम्य नारी शक्ति को सलाम करता हूं। देश की महिलाओं की तमाम उपलब्धियों पर भारत को गर्व होता है। देश के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के सशक्तीकरण की दिशा में काम करना हमारी सरकार के लिए सम्मान की बात है।’’ प्रधानमंत्री मोदी अक्सर अपने संबोधनों में जिक्र करते हैं कि उनकी सरकार की विभिन्न योजनाओं व कार्यक्रमों के केंद्र में महिलाएं हैं। इस संदर्भ में वह रसोई गैस की आपूर्ति, जन धन योजना के तहत बैंक खाते खोलना, हर घर शौचालय बनाये जाने की योजनाओं का उल्लेख करते हैं। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर शुभकामनाएं देते हुए एक संदेश में कहा कि हमें नारियों के खिलाफ किसी भी तरह की भेदभाव का उन्मूलन करने का संकल्प लेना चाहिए, जिससे उनके लिए सुरक्षित वातावरण सुनिश्चित हो सके और वे अपनी क्षमताओं का पूरा इस्तेमाल कर सकें। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला स्वास्थ्यकर्मियों को सलाम करते हुए कहा कि उनके योगदान ने कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की जंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘नो ‘हीरो’ विदआउट ‘हर’ (नारी बिना के बिना कोई नायक नहीं हो सकता)।’’ उन्होंने लिखा, ‘‘कोविड-19 संकट के इस समय में नारी शक्ति की निस्वार्थ और मजबूत भूमिका सामने आयी। इस महिला दिवस पर हम कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई में योगदान देने वाली 60 लाख से अधिक महिला स्वास्थ्यकर्मियों को सलाम करते हैं।’’ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महिला दिवस की बधाई देते हुए कहा कि यह दिन देश और प्रदेश की प्रगति में महिलाओं के योगदान को दर्शाता है। हमारी महिला शक्ति ने अपनी प्रतिभा से सिद्ध कर दिया है कि वे हर प्रकार की चुनौतियों का मजबूती से सामना कर सकती हैं। वे अब हर क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रही हैं और देश-प्रदेश का नाम रोशन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बालिकाओं की शिक्षा, स्वास्थ्य सहित उनके सामाजिक एवं आर्थिक उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है।

देश में संक्रमण के 18,599 नए मामले सामने आएं

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 18,599 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,12,29,398 हो गई। देश में लगातार तीसरे दिन 18 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार सुबह आठ बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में लगातार छठे दिन उपचाराधीन मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अभी 1,88,747 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है। जो कुल मामलों का 1.68 प्रतिशत है। देश में मरीजों के ठीक होने की दर में गिरावट दर्ज की गई है। जो अब 96.91 प्रतिशत है। वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.41 प्रतिशत है। आंकड़ों के अनुसार, वायरस से 97 और लोगों की मौत के बाद देश में मृतक संख्या बढ़कर 1,57,853 हो गई। आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 1,08,82,798 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं।देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में सात मार्च तक 22,19,68,271 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है। इनमें से 5,37,764 नमूनों की जांच रविवार को की गई थी।

पेट्रोल-डीजल के दाम पर सदन में किया हंगामा

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। राज्यसभा में सोमवार को कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी सदस्यों ने विभिन्न पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में वृद्धि को लेकर हंगामा किया। जिसके कारण उच्च सदन की बैठक एक बार के स्थगन के बाद दोपहर एक बजे तक के लिए स्थगित कर दी गयी। सभापति एम वेंकैया नायडू ने शून्यकाल में कहा कि उन्हें नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खडगे की ओर नियम 267 के तहत कार्यस्थगन नोटिस मिला है। जिसमें उन्होंने पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में वृद्धि के मुद्दे पर चर्चा का अनुरोध किया है। नियम 267 के तहत सदन का सामान्य कामकाज स्थगित कर किसी अत्यावश्यक मुद्दे पर चर्चा की जाती है।

क्या खिलाड़ी धोनी के रिकॉर्ड्स तोड़ देंगे ऋषभ ?

अहमदाबाद। अनुभवी भारतीय खिलाड़ी रोहित शर्मा ने कहा कि ऋषभ पंत की आक्रामक बल्लेबाजी शैली से टीम-टीम प्रबंधन को तब तक कोई परेशानी नहीं है। जब तक वह अपना ‘काम’ ठीक तरीके से कर रहे हैं। भारत के दिग्गज विकेटकीपर एमएस धोनी के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे। अनुभव के साथ, ऋषभ पंत एक लंबा रास्ता तय करेंगे। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन के खेल के बाद शुक्रवार को कहा कि इस तरह से बल्लेबाजी करते हुए पंत जब असफल हो तो लोगों को उनकी आलोचना करने में कमी करनी चाहिए। कुछ समय पहले तक गैर जिम्मेदाराना शॉट खेलने के लिये आलोचना का सामना करने वाले पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट के दूसरे दिन 118 गेंद में 101 रन की पारी खेल कर मैच पर भारत का दबदबा कायम कर दिया।
भारत ने 6 मार्च को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ शानदार जीत दर्ज करते हुए टेस्ट सीरीज 3-1 से जीती। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीतना हो या इंग्लैंड के खिलाफ, जो खिलाड़ी हीरो बनकर उभरा उसका नाम है। ऋषभ पंत. अब पूर्व भारतीय विकेटकीपर और चीफ सेलेक्टर किरण मोरे ने कहा है। कि पंत एक दिन धोनी के रिकॉर्ड्स तोड़ देंगे।
पंत ने चौथे टेस्ट मैच में 101 रनों की पारी खेलकर भारत को रफ पैच से खेल में वापस ला दिया और वाशिंगटन सुंदर के साथ एक मजबूत साझेदारी बनाई। वापसी में सुंदर ने 96 रनों की रोमांचक पारी खेलकर भारत को कमांडिंग पोजिशन में धकेल दिया। मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी पंत की तारीफ की और कहा कि उन्होंने पिछले कुछ महीनों में शिविर में किसी और की तुलना में कड़ी मेहनत की है। खेल और फिटनेस से संबंधित उनके निरंतर ट्रेनिंग ने उन्हें ये परिणाम दिए हैं।
इसी संदर्भ में, भारत के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे भी उन लोगों की सूची में शामिल हो गए जो इस समय पंत की प्रशंसा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह अब तक के 20 टेस्ट मैचों में पंत का दूसरा टेस्ट मैच शतक है। उनकी प्रगति को ध्यान में रखते हुए वह दिन दूर नहीं जब वह भारत के दिग्गज विकेटकीपर एमएस धोनी के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे। अनुभव के साथ, ऋषभ पंत एक लंबा रास्ता तय करेंगे।
किरण मोरे ने पंत की तारीफ में कहा, ‘आप हर दिन सीखते हैं। आप अलग-अलग पिचों पर अलग-अलग मिट्टी के प्रकारों को रखकर सीखते हैं। आप दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों और पेसरों को ध्यान में रखकर सीखते हैं। जो इस समय भारत के पास हैं। आपको अवलोकन करके सीखना होगा वह एमएस धोनी के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे अनुभव के साथ पंत एक लंबा रास्ता तय करेंगे।

झारखंड: गांव में अक्सर दिव्यांग पैदा होते है बच्चे

रांची। झारखंड के घाटशिला के डुमरिया प्रखंड के चाईडीहा गांव मे कई ऐसे बच्चे है। जो कुपोषित के शिकार है। आज सोमवार को ये बच्चे दिव्यांग होकर लाचार और बेवश होकर खाट पर पड़े हैं। कई ऐसे कुपोषित बच्चे थे। जिनकी मौत हो चुकी है। चाईडीहा के रहने वाले जगदीश सिंह के दो पुत्र और पुत्री है। दो पुत्री तो ठीक है। लेकिन दो पुत्र दोनों कुपोषित के शिकार होने पर दो में से एक की मौत हो चुकी है और दूसरा घाट पर पड़े पड़े अपनी लाचार अपनी जिन्दगी के दिन गिन रहा है। कुपोषित बच्चा कृष्णा सिंह दिनभर अपने घाट पर ही पड़े रहते है। ना बोल पाते है। और ना ही चल पाते है। उसकी मां बसंती सिंह दिनभर अपने बेटे की देखभाल में लगी रहती है। पहले दो पुत्र कृष्णा सिंह और मेघनात सिंह - जिसमें छोटा मेघनाथ सिंह की मौत हो चुकी है। पहले दोनों भाई एक ही खाट पर पड़ा रहते थे। लेकिन अब मेघनाथ सिंह की मौत के बाद कृष्णा सिंह अकेल ही खाट पर पड़ा रहता है। चाईडीहा गांव में रूद्ध सिंह की पुत्री यशोदा सिंह भी कुपोषण का शिकार है। अभी वह तीन साल की है। लेकिन चल नही पाती है। और ना ही बोल पाती है। अपनी मां की गोद में ही वह खेलती रहती है। रूद्ध सिंह ने अपनी पुत्री को डॉक्टरों को दिखाया जिस पर डॉक्टरों ने कहा कि आने वाले समय में बच्ची चलेगी और बोलेगी भी। लेकिन तीन साल होने को है बच्ची ना ही चल पाती है। और ना ही बोल पाती है। इस गांव में विशेश्वर सिंह जिनका एक हाथ दिव्यांग है। विशेश्वर सिंह भी बताते है। कि उनका एक हाथ बचपन से ही खराब है। एक हाथ खराब होने पर वह कही काम भी नही कर पाता है। दिव्यांग से जो पेंशन 1000 रूपय मिलता है। उसी से वह अपना घर चलाता है। इसी गांव में कुपोषित बच्चा जिनकी मौत हो गई है। वह दशरथ सिंह के 14 वर्षीय पुत्र, मिलू सिंह के 3 वर्षीय पुत्री और कृष्णा पातर के 4 वर्षीय पुत्र की मौत हो चुकी है। ग्रामीण बताते है। कि इस गांव में अक्सर दिव्यांग बच्चा ही पैदा हुआ, किस कारण से उन्हें नहींं पता नहीं है।

फ्रांस: डसॉल्ट के मालिक ओलिवियर दसॉ की मौत

पेरिस। फ्रांस के अरबपतियों में से एक और राफेल फाइटर जेट बनाने वाली कंपनी के मालिक ओलिवियर दसॉ की हेलिकॉप्‍टर हादसे में मौत हो गई। दसॉ फ्रांस की संसद के सदस्‍य थे। ओलिवियर दसॉ छुट्टियां मनाने गए थे। इसी दौरान उनका निजी हेलिकॉप्टर नॉर्मंडी दुर्घटनाग्रस्त हो गया और उनकी मौत हो गई। दसॉ की मौत पर फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने शोक जताया है। फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्विटर पर लिखा, ‘ओलिवियर दसॉ फ्रांस से प्यार करते थे। उन्होंने उद्योगपति, स्थानीय निर्वाचित अधिकारी, कानून निर्माता, वायु सेना के कमांडर के तौर पर देश की सेवा की. उनका आकस्मिक निधन एक बहुत बड़ी क्षति है। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति गहरी संवेदना।
गौरतलब है। कि ओलिवियर 2002 से लेस रिपब्लिक पार्टी के विधायक थे। और इनके दो भाई और बहन थे। साथ ही वह परिवार के उत्तराधिकारी थे। उनके दादा मार्सेल, एक विमानिकी इंजीनियर और प्रतिष्ठित आविष्कारक थे। उन्होंने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान फ्रांसीसी विमानों में इस्तेमाल किया जाने वाला एक प्रोपेलर विकसित किया था। जो आज भी विश्वभर में प्रसिद्ध है।
बता दें कि दुर्घटना के दौरान ओलिवयर छुट्टियों पर थे। 2020 फोर्ब्स की अमीरों की सूची के अनुसार डसॉल्ट को अपने दो भाइयों और बहन के साथ दुनिया का 361वां सबसे अमीर शख्स बताया गया था। उन्होंने अपनी राजनीतिक भूमिका के कारण किसी भी तरह के हितों के टकराव से बचने के लिए दसॉ बोर्ड से अपना नाम वापस ले लिया था।
 

दक्षिणपंथी भाजपा के कोबरा बनकर लौटे अभिनेता

मनोज सिंह ठाकुर 
मुंबई। ये तस्वीर है गौरांग चक्रवर्ती की। दूसरा नाम मिथुन चक्रवर्ती। 1982 की डिस्को डांसर का जिम्मी। इस जिम्मी की शोहरत ऐसी थी, कि सोवियत यूनियन में राजकपूर के बाद सबसे ज़्यादा इसी का चेहरा पहचाना गया। वो भारत का पहला डिस्को डांसर था। पुणे का प्रोडक्ट होने से पहले मिथुन नक्सली थे। अपने भाई की एक्सीडेंट में मौत के बाद उन्हें परिवार के पास लौटना पड़ा वरना वो नक्सल आंदोलन की राह पर निकल ही चुके थे।
1976 में मिथुन को मृगया में एक्टिंग का मौका मिला और पहली ही फिल्म के बाद उनकी झोली में बेस्ट एक्टर का नेशनल अवॉर्ड था। 80 का पूरा दशक मिथुनमय था। शोहरत उनकी सोवियत यूनियन तक पहुंची और 1986 में वो देश के सबसे ज्यादा टैक्स देनेवाले शख्स बन गए। 1989 में तो उनकी 19 फिल्म बाज़ार में थीं। और एक-दूसरे के कलेक्शन के लिए ही चुनौती बन गईं। मिथुन हिंदी फिल्मों के अलावा दूसरी भाषाओं में भी फिल्में कर रहे थे। इतना सारा काम करते हुए 90 के दशक में उनको थकान होने लगी। नतीजतन वो ऊटी चले गए और वहां एक शानदार होटल बनवाया।
मुंबई के शोर से बचने के लिए उन्होंने ऐलान कर दिया कि जो फिल्में ऊटी या आसपास शूट होंगी वो उनमें ही काम करेंगे और डिस्काउंट भी देंगे। इस ऐलान ने कम बजट वालों को एक मौका दे दिया और उसके बाद हमारी पीढ़ी ने उनकी वो फिल्में देखीं जो बजट में बेहद कमज़ोर थीं लेकिन मिथुन की वजह से शानदार बिज़नेस कर रही थीं। 1995 की एक फिल्म जल्लाद में उन्हें फिल्मफेयर की ओर से बेस्ट विलेन का अवॉर्ड भी मिल गया। नायक से लेकर खलनायक तक मिथुन ने कोई भी रोल नहीं छोड़ा था।
गरीब से लेकर अमीर, सताये हुए पात्र से लेकर सताने वाले तक, बदला लेनेवाले से लेकर हंसोड़ तक के रोल में वो हिट रहे। उन्होंने अंधाधुंध फिल्में साइन कर डाली। हालत ये थी। कि खुद तो वो 1995 से 1999 तक देश के सबसे बड़े टैक्सपेयर थे लेकिन उनकी एक फिल्म का बिज़नेस दूसरी फिल्म का बिज़नेस काट रहा था। प्रोड्यूसर्स को इस समस्या का समाधान नज़र ही नहीं आ रहा था। मिथुन ही मिथुन के लिए चुनौती बन सकते थे। बाकी सब दूसरे नंबर थे। छोटे बजट वालों के लिए मिथुन तारनहार थे।
दूसरी तरफ कल तक नक्सली रहे मिथुन ने होटल्स की पूरी चेन ही खोल डाली। ऊटी से शुरू हुआ सफर मधुमलाई, दार्जिलिंग, कोलकाता तक चला गया था। इसके अलावा मिथुन्स ड्रीम फैक्ट्री नाम का उनका प्रोडक्शन हाउस फिल्में बना रहा था। जिसके अपने दर्शक थे। 90 के आखिर तक आते-आते उन्होंने बंगाली फिल्मों में ही काम करना शुरू कर दिया मगर जब उनका कम बैक हिंदी में हुआ तो उन्होंने गुरू जैसी फिल्म भी दी। इसके अलावा वो हर साल इक्का-दुक्का हिंदी फिल्में करते ही रहे हैं।
वीर, गोलमाल-3, हाउसफुल-2, ओह माई गॉड, खिलाड़ी 786 के अलावा उन्होंने बेटे मिमोह के साथ भी फिल्म की। मिथुन को खास उनकी खास तरह की फिल्में ही नहीं बनाती बल्कि इसके इतर किए गए काम भी हैं। जिस सिंटा को आज इंडस्ट्री जानती है। वो दिलीप कुमार और सुनील दत्त के साथ मिलकर मिथुन ने ही बनाई थी। टीवी पर भी उनकी उपस्थिति पिछले कई सालों से बनी हुई है। बंगाली दर्शकों के ज़हन पर तो मिथुन 35 सालों से हावी हैं। बिग बॉस का बांग्ला वर्ज़न वही होस्ट करते हैं। तृणमूल कांग्रेस ने मिथुन को 2014 में राज्यसभा भेजा लेकिन 2016 में उन्होंने इस्तीफा दे दिया।
वैसे लोगों को कम ही जानकारी है। कि प्रणव मुखर्जी को राष्ट्रपति पद के लिए ममता का समर्थन उन्होंने ही जुटाया था। सारिका के साथ मिथुन की मुहब्बत हमेशा चर्चा में रही। 1979 में मिथुन ने शादी सारिका से नहीं हेलेना ल्यूक से की। इसके बाद योगिता बाली उनकी पत्नी बनीं। 80 के दशक तक आते -आते श्रीदेवी उनसे प्यार कर बैठीं। अफवाहें उड़ने लगी कि दोनों ने गुपचुप शादी कर ली है। बाद में मिथुन ने इन अफवाहों की पुष्टि कर दी। वो शादी भी अपने अंत तक पहुंच ही गई और मिथुन फिर से योगिता बाली के साथ थे।
आज मिथुन दा 71 साल के हैं। ज़िंदगी के तमाम उतार चढ़ावों के साथ उन्होंने राजनीति का भी एक चक्र पूरा जी लिया। धुर वामपंथी से होते हुए वो 2014 में टीएमसी के सहारे राज्यसभा चले गए थे। संसद में उन्होंने तीन बार से ज़्यादा चेहरा नहीं दिखाया। फिर 2016 में शारदा चिटफंड स्कीम में उनका नाम आया. ईडी ने तलब कर लिया. अचानक मिथुन को अहसास हुआ कि उनकी सेहत ख़राब है। तो एक ही साथ सांसदी, टीएमसी, सियासत सबको छोड़ दिया। 
अब वो दक्षिणपंथी भाजपा के कोबरा बनकर लौटे हैं। चर्चा ये है कि पहले एक अन्य दिग्गज को बल्लेबाज़ी करनी थी मगर उसने सेहत का हवाला दे दिया तो उनकी जगह मिथुन दा उतरे हैं। ये तो पता नहीं कि मिथुन सिर्फ प्रचार करेंगे या चुनाव भी लड़ेंगे लेकिन राजनीति में उनकी गहरी रुचि होने के बावजूद निष्क्रियता बहुत चर्चित रही है। देखें कि ये वाला डिस्को कब तक चलता है।

बलिया में महंत ने किशोरी से किया दुष्कर्म, मुकदमा

संदीप मिश्र 
बलिया। एक किशोरी से बलिया जिले के खैराखास मठ के महंत और उसके दो शिष्यों द्वारा पिछले सात वर्षों से दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने 3 जनवरी 2021 को पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। लेकिन आरोपी पुलिस की गिरफ्त से अभी दूर हैं।
पीड़िता ने शुक्रवार को बलिया में डीआईजी आजमगढ़ मंडल, सुभाष चंद्र दूबे से शिकायत किया कि आरोपी महंत और उसके शिष्य उसे डरा धमका रहे हैं। इसके बाद यह मामला सामने आया। पीड़िता का आरोप है। कि अदालत से आदेश के बाद भी पुलिस आरोपियों के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है।
मूल रूप से सुल्तानपुर निवासी और वर्तमान में उभांव थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली किशोरी ने आरोप लगाया है। कि महंत भूपन तिवारी उर्फ मौना बाबा, निवासी सदर गोड़वा थाना ललिया जनपद बलरामपुर और उसका शिष्य जगत नारायण दुबे निवासी खैराखास थाना उभाव जनपद बलिया और राजेश कुमार गुप्ता उर्फ पप्पू निवासी मालगोदाम रोड, बेल्थरा रोड थाना उभांव जनपद बलिया वर्ष 2015 से उसका शारीरिक शोषण कर रहे थे।
पीड़िता के मुताबिक, मठ का महंत उसका रिश्तेदार है। उसके पिता की मृत्यु के बाद शिक्षा-दीक्षा के लिए वह उसे मठ ले आया था। मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। और शीघ्र ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। मामले का खुलासा करने के लिए प्रभावी जांच का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया गया है।

रैली में भीड़, ₹66 लाख में 3 रेलगाड़ियां बुक की

 अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। नरेन्द्र मोदी की रैली में भीड़ जुटाने के लिए बीजेपी ने 66 लाख रुपए में 3 रेलगाड़ियां बुक कीं। अलीपुरद्वार, मालदा और हरीशचंद्रपुर से गाड़ियां रवाना हुईं। मिलेनियम पोस्ट की ख़बर के मुताबिक़ 22-22 बोगियों वाली दो ट्रेन की बुकिंग 26 और 22 लाख में हुई। जबकि, 16 बोगी वाली एक ट्रेन 18 लाख में बुक हुई।
अब 11 महीने पहले की उन तस्वीरों के बारे में सोचिए जब देश के अलग-अलग कोनों से लाखों-करोड़ों लोग अप्रत्याशित लॉकडाउन के बाद जानवरों की तरह पैदल चल रहे थे। सैकड़ों लोग सड़कों पर चलते-चलते मर गए थे। 
मोदी सरकार और बीजेपी तब तमाशा देख रही थी। अलबत्ता, विपक्षी पार्टियों ने जब मज़दूरों के लिए बसें बुक कीं तो उसमें अड़ंगा डाल रही थी। पूरे देश से झूठ बोल रही थी। कि ट्रेन किराये का 85 फ़ीसदी हिस्सा सब्सिडी के तौर पर केंद्र सरकार दे रही है। मज़दूरों से पैसे लूटे जा रहे थे। 
मज़दूर जब घर जाना चाह रहे थे तो सरकार जाने नहीं दे रही थी। अभी लोग घर में हैं तो उन्हें घर से उठाकर मैदान लाने के लिए ट्रेन चलवा रही है।

हादसा: मृत्य डेड बॉडी को देखकर भयभीत हुए लोग

बृजेश केसरवानी प्रयागराज। ग्राम बख्शी मोड़ा अपने साले प्रकाश की लड़की की शादी में उपस्थित हुए थे। बताया जा रहा है, पिछले एक महीना से इसी ग्र...