सोमवार, 29 मई 2023

31 तक तेज आंधी और बारिश का सिलसिला जारी 

31 तक तेज आंधी और बारिश का सिलसिला जारी 


यूपी में फिर बिगड़ेगा मौसम, 31 मई तक लौटेगा आंधी-तूफान, बारिश के भी आसार

संदीप मिश्र 

लखनऊ। यूपी में एक बार फिर मौसम करवट लेगा। महीने के आखिर तक अधिकांश जिलों में मौसम बिगड़ सकता है। आगामी 31 मई तक तेज आंधी और बारिश का सिलसिला जारी रहने के आसार हैं। मौसम विभाग ने सोमवार 29 मई को प्रदेश के पश्चिमी अंचलों में कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चलने की आशंका जताई है।

इसके साथ ही बारिश के भी आसार हैं। जबकि पूर्वी स्थानों पर गरज-चमक के साथ 30 से 40 किमी की रफ्तार से आंधी चलने और बारिश की उम्मीद है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश के ऊपर एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। दक्षिणी-पश्चिमी राजस्थान और सटे हुए पाकिस्तान पर एक चक्रवातीय दबाव भी विकसित हुआ है। इस वजह से उत्तर प्रदेश के मौसम में यह बदलाव आ रहा है। 

29 मई को सुबह 8.30 बजे से 30 मई की सुबह 8.30 बजे के दरम्यान सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, कासगंज, एटा, आगरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, औरैयाऔर जालौन में 50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी-तूफान / धूल भरी आंधी के साथ बारिश की सम्भावना अधिक है।

जबकि बांदा, चित्रकूट, फतेहपुर, कानपुर नगर, सहारनपुर, कानपुर देहात, हमीरपुर, महोबा, झांसी, ललितपुर, रामपुर, बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर, संभल, बदायूं, हरदोई, फर्रुखाबाद, कन्नौज, उन्नाव, लखनऊ और रायबरेली में गरज-चमक के साथ बिजली कड़कने, 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से झोंकेदार तेज सतही हवा चलने के आसार हैं।

सिब्बल ने टिप्पणी को लेकर 'पीएम' पर कटाक्ष किया 

सिब्बल ने टिप्पणी को लेकर 'पीएम' पर कटाक्ष किया 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। राज्यसभा के सदस्य कपिल सिब्बल ने नए संसद भवन के उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की टिप्पणी को लेकर सोमवार को उन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ईंटों और गोलों से नहीं बल्कि 1.4 अरब लोगों की सोच व आकांक्षाओं के साथ स्वतंत्रता का विचार नए भारत का निर्माण कर सकता है।

मोदी ने रविवार को नए संसद भवन के उद्घाटन को देश की विकास यात्रा में एक अमर क्षण बताते हुए दावा किया था कि यह एक आत्मनिर्भर और विकसित भारत की सुबह को चिह्नित करेगा जिससे अन्य देशों में विकास को प्रेरणा मिलेगी। प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा में अपने संबोधन में कहा था कि नया संसद भवन नए भारत की ऊंचाइयां हासिल करने की दिशा में काम करने की आकांक्षाओं तथा संकल्प को दर्शाता है।

सिब्बल ने उद्घाटन समारोह के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा की गई टिप्पणी का हवाला देते हुए कहा, ईंटों और गोलों से नहीं, बल्कि 1.4 अरब लोगों की सोच व आकांक्षाओं के साथ स्वतंत्रता का विचार मेरे नए भारत का निर्माण कर सकता है... जहां नए विचार पनपते हों और हर तरह के रंग बिखरते हों... न कि जो भगवा, खंडित और असहिष्णु हो।

संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की पहली और दूसरी सरकार के दौरान केंद्रीय मंत्री रहे सिब्बल ने पिछले साल मई में कांग्रेस छोड़ दी थी। समाजवादी पार्टी के समर्थन से सिब्बल राज्यसभा के निर्दलीय सदस्य निर्वाचित हुए थे। उन्होंने हाल में इंसाफ नामक एक मंच शुरू किया है। उनके मुताबिक, इस मंच का उद्देश्य अन्याय से लड़ना है।  

पूर्व पीएम की 36वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित  

पूर्व पीएम की 36वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित  

राणा ओबरॉय 

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सोमवार को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की 36वीं पुण्यतिथि पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। खट्टर ने ट्वीट कर कहा, गरीबों, असहायों व श्रमिकों के हितों की रक्षा करने के लिए आजीवन संघर्ष करने वाले, प्रखर नेता, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि।

उनका आदर्श जीवन हमें सदा कृषकों के साथ-साथ देश के ग्रामीण क्षेत्र की उन्नति हेतु प्रेरित करता रहेगा। गौरतलब है कि चौधरी चरण सिंह का जन्म उत्तर प्रदेश में 23 दिसम्बर 1902 को हुआ था। वह देश के पांचवें प्रधानमंत्री बने। वह 28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980 तक देश के प्रधानमंत्री रहे। उन्होंने महात्मा गांधी के 1930 में सविनय अवज्ञा आंदोलन के दौरान हिंडन नदी पर नमक बनाने में भाग लिया और उन्हें जेल भी जाना पड़ा। उनका 29 मई 1987 को निधन हो गया।

भारत की पहली यात्रा पर दिल्ली पहुंचे 'राजा'

भारत की पहली यात्रा पर दिल्ली पहुंचे 'राजा'

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/फोनों पेन्ह। कंबोडिया के राजा नोरोडोम सिहामोनी सोमवार को भारत की पहली राजकीय यात्रा पर नई दिल्ली पहुंचे। उनकी यह यात्रा भारत और कंबोडिया के बीच कूटनीतिक संबंध स्थापित होने की 70वीं सालगिरह के उपलक्ष्य में हो रही है। दोनों देशों के बीच वर्ष 1952 में कूटनीतिक संबंध स्थापित हुए थे। केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री राजकुमार रंजन सिंह ने नयी दिल्ली के पालम वायुसेना केंद्र पर कंबोडियाई राजा की अगवानी की।

कंबोडियाई राजा के साथ भारत की यात्रा पर 27 सदस्यीय उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी आया है जिनमें राजमहल के मंत्री, विदेश मंत्री और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया कि कंबोडियाई राजा का भारत दौरा दोनों देशों के बीच सभ्यागत संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने का अवसर प्रदान करेगा। विदेश मंत्रालय ने बताया कि गत 60 साल में किसी कंबोडियाई राजा की यह पहली भारत यात्रा है।

इससे पहले मौजूदा राजा सिहामोनी के पिता वर्ष 1963 में भारत आए थे। बयान के मुताबिक कंबोडियाई राजा के लिए मंगलवार को राष्ट्रपति भवन में स्वागत समारोह आयोजित किया गया है और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू उनके सम्मान में मंगलवार शाम को राजकीय रात्रि भोज का आयोजन करेंगी।कंबोडियाई राजा राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे। उनका उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ और विदेश मंत्री एस जयशंकर से भी मुलाकात करने का कार्यक्रम है।

द्रमुक का 'भाजपा' से गठबंधन की संभावना नहीं

द्रमुक का 'भाजपा' से गठबंधन की संभावना नहीं

इकबाल अंसारी 

चेन्नई। द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) अध्यक्ष एवं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन ने कहा कि उनकी पार्टी का भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से गठबंधन की कोई संभावना नहीं है। स्टालिन ने सिंगापुर की सरकारी यात्रा के दौरान एक समाचार पत्र को दिए साक्षात्कार में भाजपा के साथ किसी तरह के गठबंधन से साफ इंकार किया है।

साक्षात्कार के अंश हाल में राज्य सरकार ने जारी किये हैं। उन्होंने कहा कि अतीत के अप्रिय दिनों में दिवंगत द्रमुक नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री एम करूणानिधि के नेतृत्व में पार्टी का भाजपा के साथ गठबंधन था , तब श्री अटलबिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली भाजपा के बीच काफी कुछ मतभेद थे। उन्होंने जोर दिया कि अब द्रमुक और भाजपा के बीच गठबंधन की कोई संभावना नहीं है। उन्होंने कहा , “हम चिंतित नहीं हैं। हम उनकी कमजोरी पर राजनीति नहीं करते हैं।

हम अपने सिद्धांतों और अपने समर्थकों पर निर्भर हैं और रहेंगे।जहां तक सरकार का संबंध है, तमिलों और तमिलनाडु के कल्याण सर्वोपरि हैं। हम तमिल की अनिवार्यता (सीखना) और तमिलों के लिए रोजगार में प्राथमिकता जैसे उपायों को क्रियान्वित कर रहे हैँ।” एक प्रश्न के उत्तर में स्टालिन ने कहा कि खेल विकास मंत्री एवं उनके पुत्र उदयनिधि स्टालिन की कार्यप्रणाली से वह गौरवान्वित हैं।

9 वर्षों में लोगों को 'महंगाई' का सामना करना पड़ा

9 वर्षों में लोगों को 'महंगाई' का सामना करना पड़ा

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के नौ वर्षों में लोगों को जानलेवा महंगाई का सामना करना पड़ा और उनकी कमाई को भी ‘लूट लिया गया।’ प्रधानमंत्री मोदी ने 26 मई, 2014 को पहली बार पद की शपथ ली थी। यह बतौर प्रधानमंत्री उनका दूसरा कार्यकाल है।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने ट्वीट किया, ‘‘9 वर्षों में जानलेवा महंगाई, भाजपा ने लूटी जनता की कमाई ! हर ज़रूरी चीज़ पर जीएसटी की मार, बिगड़ा बजट, जीना दुश्वार ! अहंकारी दावे किए कि ‘महंगाई तो दिखती नहीं’ या “ये महंगी चीज़ हम खाते ही नहीं’।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘अच्छे दिनों से “अमृतकाल” की यात्रा, महंगाई से जनलूट की बढ़ती गई मात्रा !’’ कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा, ‘‘अगले कुछ दिनों और हफ़्तों में हर तरफ़ पिछले 9 वर्षों में प्रधानमंत्री मोदी की तथाकथित "श्रेष्ठ उपलब्धियों" को प्रचारित-प्रसारित किया जाएगा। ख़ुद प्रधानमंत्री मोदी, उनके मंत्री, बीजेपी के अन्य नेता और उनके लिए ढोल पीटने वाले इस काम में लगे रहेंगे।

लेकिन ग़रीबी के कगार पर खड़े लोग, जिन्हें अपनी बुनियादी ज़रूरतों को पूरा करने में भी तरह-तरह की मुश्किलें आ रही हैं, वे एक ही बात पूछेंगे - क्या हमारा जीवन बेहतर हुआ है, या क्या हमारी आजीविका में सकारात्मक बदलाव आया है?’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसका स्पष्ट जवाब है - नहीं।’’

रमेश ने कहा, ‘‘ वर्ष 2014 से वास्तविक मज़दूरी में वृद्धि- कृषि मज़दूरों के लिए 0.8 प्रतिशत, गैर-कृषि मज़दूरों के लिए 0.2 प्रतिशत, निर्माण मज़दूरों के लिए 0.02 प्रतिशत। इसी बीच 2014 से बुनियादी जरूरत की वस्तुओं के मूल्यों में वृद्धि- एलपीजी में 169 प्रतिशत, पेट्रोल में 57 प्रतिशत, डीजल में 78 प्रतिशत, सरसों के तेल में 58 प्रतिशत, आटे में 56 प्रतिशत और दूध में 51 प्रतिशत।’’ उन्होंने दावा किया, ‘‘सच्चाई यह है कि एक विशेष व्यक्ति को छोड़कर, लगभग हर किसी की आय स्थिर हो गई है। 2014 से गौतम अडाणी की संपत्ति में 1,225 प्रतिशत का इज़ाफ़ा हुआ।’’ 

कंपनी 'जीएसके' ने बच्चन के साथ हाथ मिलाया

कंपनी 'जीएसके' ने बच्चन के साथ हाथ मिलाया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दर्दनाक बीमारी शिंगल्स के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए फार्मा कंपनी 'जीएसके' ने अभिनेता अमिताभ बच्चन के साथ हाथ मिलाया है। कंपनी ने आज यहां जारी बयान में कहा कि शिंगल्स एक दर्दनाक बीमारी है, जिससे 50 साल से अधिक उम्र का हर तीसरा वयस्क पीड़ित है। जागरूकता फैलाने के लिए कंपनी ने एक अभियान शुरू किया है, जिसमें शिंगल्स के कारण होने वाले बेतहाशा दर्द और जीवन पर इसके कारण पड़ने वाले दुष्प्रभाव के बारे में बताया गया है।

इसमें यह संदेश दिया गया है कि टीकाकरण के माध्यम से बुजुर्गों को इस दर्दनाक बीमारी से बचाया जा सकता है। इस साझेदारी पर अमिताभ बच्चन ने कहा, “शिंगल्स बहुत दर्दनाक बीमारी है और इसके कारण वरिष्ठ नागरिकों का जीवन ठहर सा जाता है। शिंगल्स से बचाव के लिए वरिष्ठ नागरिकों को समय रहते अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए, जो उन्हें बचाव का संभावित तरीका बता सकते हैं।” शिंगल्स उसी वायरस के कारण होता है, जिससे चिकनपॉक्स होता है।

चिकनपॉक्स ठीक होने के बाद भी यह वायरस शरीर में निष्क्रिय रूप से पड़ा रहता है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ने के साथ शरीर की इम्युनिटी कमजोर होने लगती है, यह वायरस फिर सक्रिय होता है और शिंगल्स का कारण बनता है। 50 साल से ज्यादा उम्र के 90 प्रतिशत से ज्यादा भारतीयों के शरीर में यह वायरस है और उनमें शिंगल्स होने का खतरा है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-228, (वर्ष-06)

2. मंगलवार, मई 30, 2023

3. शक-1944, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दसमीं, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:10। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 24 डी.सै., अधिकतम- 36+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट पंकज कपूर  देहरादून। हेमकुंड साहिब के कपाट आगामी 25 मई को खोले जाएंगे। इसके चलते राज्य सरका...