मंगलवार, 10 मई 2022

श्रीलंका में लागू कर्फ्यू को 12 मई तक बढ़ाया

श्रीलंका में लागू कर्फ्यू को 12 मई तक बढ़ाया  

अखिलेश पांडेय         
कोलंबो। श्रीलंका में लागू कर्फ्यू को 12 मई की सुबह, सात बजे तक के लिए बढ़ा दिया गया है। वहीं, सड़कों पर जारी हिंसक प्रदर्शन को दबाने के लिए रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को शूट ऑन साइट (देखते ही गोली मार देना) का आदेश जारी कर दिया है। सोमवार हो हुई हिंसा में सांसद समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी। मालूम हो कि श्रीलंका में महिंदा राजपक्षे ने सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों पर हमला करने और हिंसा फैलाने के बाद प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के बाद उनके समर्थकों ने हिंसा फैलानी शुरू कर दी है।
राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने ट्विटर पर प्रदर्शनकारियों से अपील कि वे चाहे जिस भी पार्टी हों लेकिन वे शांत रहें और हिंसा रोक दे। नागरिकों के खिलाफ बदले की कार्रवाई न करें।उन्होंने कहा कि संवैधानिक जनादेश और आम सहमति के जरिए राजनीतिक स्थिरता बहाल करने और आर्थिक संकट को दूर करने के लिए सभी प्रयास किए जाएंगे। महिंदा राजपक्षे के बेटे नमल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ऐसी कई अफवाहें हैं कि उनके पिता महिंदा राजपक्षे देश छोड़कर नहीं भागने वाले हैं। उन्होंने हम ऐसा नहीं करेंगे। खेल मंत्री रहे नमल ने कहा, "मेरे पिता सुरक्षित हैं, वह सुरक्षित स्थान पर हैं और परिवार से बात कर रहे हैं।" मालूम हो कि महिंदा राजपक्षे ने सोमवार को बढ़ते दबाव के बीच पीएम पद से इस्तीफा दे दिया है। इतना ही नहीं प्रदर्नशकारियों ने हंबनटोटा में उनके घर को भी जलाकर राख कर दिया है। मालूम हो कि पूरे श्रीलंका में चार दिन पहले ही इमरजेंसी लगा दी गई है।
श्रीलंका में कर्फ्यू लागू होने के बाद भी हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। भीड़ ने मंगलवार को कोलंबो में प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास के पास एक शीर्ष श्रीलंकाई पुलिस अधिकारी के साथ मारपीट की और उनके वाहन में आग लगा दी। वरिष्ठ उप महानिरीक्षक देशबंधु तेनाकून कोलंबो में सर्वोच्च पद के अधिकारी हैं। उन्हें तुरंत इलाज की जरूरत है, उन्हें घर भेज दिया गया है।उन्होंने बताया कि भीड़ को तितर-बितर करने के लिए अधिकारी ने हवाई फायरिंग की थी।

गुजरात: बब्बर शेर की आंखों का ऑपरेशन किया

गुजरात: बब्बर शेर की आंखों का ऑपरेशन किया

इकबाल अंसारी        
जूनागढ़। गुजरात के जूनागढ़ में एक बब्बर शेर की आंखों का ऑपरेशन किया गया। उसे लंबे समय से मोतियाबिंद की शिकायत थी। गिर के जामवाली रेंज में वन विभाग द्वारा एक बब्बर शेर की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही थी। इस दौरान पता चला कि शेर को देखने में दिक्कत आ रही है। वो सिर्फ आवाज सुनकर ही अपनी प्रतिक्रिया दे रहा है। इसके बाद उसे जूनागढ़ के सक्करबाग चिड़ियाघर लाया गया। 
जहां आंखों की जांच की गई तो पता चला कि उसकी दोनों आखों में मोतियाबिंद है। शेर की आंख का ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर संजय जाविया ने बताया कि जांच में पता चला कि शेर को दोनों आखों से साफ नहीं दिखाई दे रहा था‌।इस वजह से वह शिकार भी नहीं कर पा रहा था। डॉक्टर के मुताबिक जुनागढ़ में इस तरह का यह पहला ऑपरेशन है। डॉक्टर संजय जाविया ने बताया शेर की आंखों के आकार का लेंस उपलब्ध कराना बेहद मुश्किल था। इसके लिए शेर की आंख का मेजरमेंट लिया गया और उसके बाद लेंस तैयार कराया गया।
फिर एक-एक कर दोनों आखों में ऑपरेशन के जरिए लेंस को फिट किया गया। इसके कुछ दिन बाद फिर से शेर की आंखों का परीक्षण किया गया। इस बार जांच में पाया गया कि उसे साफ दिखाई दे रहा है। वो अलग तरह से प्रतिक्रिया देने लगा। फिलहाल, शेर की हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। समय-समय पर उसकी आंख की जांच कराई जाएगी।

वेब सीरीज 'आश्रम 3' का मोशन पोस्टर वीडियो रिलीज

वेब सीरीज 'आश्रम 3' का मोशन पोस्टर वीडियो रिलीज  

कविता गर्ग         

मुंबई। एक्टर बॉबी देओल अपने वेब सीरीज आश्रम के लिए काफी ज्यादा चर्चा में थे। इस सीरीज को लेकर कई तरह के विवाद भी हुए हैं। वहीं, अब हाल ही में मचअवेटेड वेब सीरीज 'आश्रम 3' का मोशन पोस्टर वीडियो रिलीज हो गया है। इस मोशन पोस्टर में सीजन 3 के लोगो के पीछे के बैकग्राउंड में आग की लपटे नजर आ रही हैं। इस मोशन वीडियो के रिलीज होते ही फैंस इस वेब सीरीज के तीसरे पार्ट को लेकर काफी एक्साइटेड है। बता दें कि मचअवेटेड वेब सीरीज आश्रम 3 के इस मोशन वीडियो को ईशा गुप्ता और बॉबी देओल ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम पर शेयर किया है। जिसके बाद लगातार फैंस इस मोशन वीडियो पर कमेंट कर रहे हैं। ‘आश्रम’ वेब सीरीज के तीसरे सीजन में बॉलीवुड की सुपरबोल्ड एक्ट्रेस ईशा गुप्ता भी नजर आएंगी। ऐसे में दर्शकों का एक्साइटमेंट इस वेब सीरीज को लेकर और भी बढ़ गया है।

आश्रम 3 वेब सीरीज कब रिलीज होगी, इसकी डेट का ऐलान अभी नहीं किया लगा है। लेकिन इस मोशन वीडियो के रिलीज होते ही इतना तो तय है कि आश्रम वेब सीरीज का तीसरा पार्ट जल्द ही फैंस देख पाएंगे। कुछ दिन पहले एक इंटरव्यू के दौरान इस वेब सीरीज में अहम रोल निभाने वाले एक्टर संदीप ने बताया था कि शूटिंग और डबिंग का काम पूरा हो चुका है और जल्द ही नया सीजन दर्शकों को देखने को मिलेगा। इस वेब सीरीज में बॉबी देओल ने बाबा निराला का ऐसा किरदार निभाया कि वो लोगों के दिमाग में ही बस गए। इस वेब सीरीज की कहानी काल्पनिक शहर काशीपुर पर आधारित है। वेब सीरीज में दिखाया गया है कि कैसे बाबा लोगों को आश्रम से जुड़े रहने के लिए उकसाता है। इस वेब सीरीज की कहानी में ड्रग्स, दुष्कर्म और राजनीति के इर्द गिर्द घूमती है। इस वेब सीरीज का निर्देशन प्रकाश झा ने किया है।

‘आश्रम’ वेब सीरीज के पहले सीजन में दर्शकों ने देखा कि पम्पी और उसके परिवार का बाबा ने भरोसा जीता। दूसरे सीजन में बाबा की करतूतें पम्मी और उसके परिवार के सामने आ गईं। लेकिन बाबा पर अभी तक किसी भी तरह की कोई आंच नहीं आई। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि आश्रम वेब सीरीज का तीसरा पार्ट किस कहानी को ओर मोड़ लेता है।

सीनियर रेजिडेंट व डेमोंस्ट्रेटर के पदों पर भर्ती

सीनियर रेजिडेंट व डेमोंस्ट्रेटर के पदों पर भर्ती  

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने सीनियर रेजिडेंट और डेमोंस्ट्रेटर के पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। उम्मीदवार 16 मई 2022 तक आवेदन जमा कर सकते हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के माध्यम से कुल 410 खाली पदों पर भर्ती की जाएगी। उम्मीदवार 16 मई 2022 तक या उससे पहले ऑनलाइन आवेदन जमा करें। आगे की जरूरत के लिए आवेदन पत्र का प्रिंटआउट लेकर रखें।

पदों की संख्या : 410...

योग्यता...
एनेस्थिसियोलॉजी पेन मेडिसिन एंड क्रिटिकल केयर : एनेस्थिसियोलॉजी में एमडी/डीएनबी।
ओन्को. एनेस्थिसियोलॉजी : एनेस्थिसियोलॉजी में एमडी / डीएनबी या डीएम / डीएनबी (ओन्को. एनेस्थिसियोलॉजी)
उम्मीदवारों की उम्र 45 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। हालांकि अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों को 5 वर्ष, ओबीसी उम्मीदवारों को 3 वर्ष, बेंचमार्क विकलांग व्यक्ति [पीडब्ल्यूबीडी] सामान्य कैटेगरी 10 वर्ष, बेंचमार्क विकलांग व्यक्ति [पीडब्ल्यूबीडी] ओबीसी कैटेगरी 13 वर्ष और बेंचमार्क विकलांग व्यक्ति [पीडब्ल्यूबीडी] अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्ग 15 वर्ष की छूट दी जाएगी।
सैलरी
मेडिकल उम्मीदवारों के लिए वेतन मैट्रिक्स के स्तर 11 का वेतन (पूर्व-संशोधित वेतन बैंड-3, प्रवेश वेतन 67700/- के साथ)
एमएससी पीएच.डी के साथ नॉन-मेडिकल उम्मीदवारों के लिए 7वें सीपीसी के तहत 56100/- स्तर 10 में और अन्य सामान्य भत्ते।
मेडिकल फिजिक्स में सीनियर डेमोंस्ट्रेटर पद के लिए, (एमएससी के साथ) रु.12090 + 4200 (ग्रेड पे) और अन्य सामान्य भत्ता।

सामान्य/ओबीसी कैटेगरी : रु.1500/- + लेन-देन शुल्क जो लागू हो।
एससी/एसटी/ईडब्ल्यूएस कैटेगरी: रु.1200/- + लेन-देन शुल्क जो लागू हो।
बेंचमार्क विकलांग व्यक्ति [पीडब्ल्यूबीडी] उम्मीदवारों को किसी भी शुल्क के भुगतान से छूट दी गई है।

'राष्ट्रपति निशान' पाने वाला 10वां राज्य, असम

'राष्ट्रपति निशान' पाने वाला 10वां राज्य, असम

इकबाल अंसारी
गुवाहाटी। दो दिवसीय दौरे पर असम पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने दूसरे दिन मंगलवार को असम पुलिस के राजधानी के नेहरू स्टेडियम में आयोजित एक विशेष कार्यक्रम में हिस्सा लिया। शाह ने असम पुलिस की विशेष परेड का निरीक्षण करने के पश्चात परेड की सलामी ली। उन्होंने दो पत्रिकाओं का लोकार्पण किया। दोनों पत्रिकाओं में असम पुलिस के वीर जवानों के कार्यों को समाहित किया गया है। राष्ट्रपति की ओर से अमित शाह ने 'राष्ट्रपति निशान' प्रार्थ प्रतिम दुअरा को प्रदान किया। यह सम्मान पुलिस की विशेष सेवा के लिए राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है। असम देश में यह सम्मान पाने वाला 10वां राज्य बन गया है।
देश की आजादी के बाद पहली बार यह सम्मान उत्तर प्रदेश पुलिस को दिया गया था। यह सम्मान राज्य के तीन सत्राधिकारों (मठाधीश) की मौजूदगी में प्रदान किया गया। इस सम्मान के मद्देनजर असम पुलिस द्वारा पिछले कुछ दिनों से राज्य के सभी जिलों में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम, जिसमें दौड़, बाइक रैली, चित्रांकन प्रतियोगिता आदि आयोजित किये जा रहे थे। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के नेतृत्व में पूरे राज्य में बाइक रैली भी निकाली गई थी। इसका समापन आज नेहरू स्टेडियम में हुआ।
उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति निशान की डिजाइन आईआईटी गुवाहाटी ने बनाई है। निशान में 36 स्टार जड़ित हैं। ये सभी स्टार राज्य के सभी जिलों को दर्शाते हैं। निशान में असम पुलिस का प्रतीक चिह्न और राज्य का प्रतीक एक सींग वाले गैंडे की आकृति भी है।
इस मौके पर मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत बिस्व सरमा, राज्य सरकार के कई मंत्री, असम पुलिस महानिदेशक भास्कर ज्योति महंत के साथ ही कई शीर्ष अधिकारी एवं अतिथि मौजूद रहे।
कार्यक्रम में असम पुलिस द्वारा आकर्षक परेड प्रदर्शित किया गया। वहीं पुलिस बैंड ने भी कई मनमोहनक धुन बजाकर उपस्थित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। राष्ट्रपति निशान दिए जाने के मौके पर आसमान में गुब्बारा भी छोड़ा गया।

पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं

पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की नई कीमतें जारी कर दी है। मंगलवार को पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई भी बदलाव नहीं हुआ है। इससे पहले पेट्रोल में 0.09 पैसे प्रति लीटर और डीजल में 0.08 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। राजधानी पटना में पेट्रोल 116.23 पैसे और डीजल 101.06 पैसे में बिक रहा है। बिहार में मंगलवार को पेट्रोल और डीजल का दाम जगह पेट्रोल डीजल मुजफ्फरपुर 116.96 रुपए प्रति लीटर 101.73 रुपए प्रति लीटर पूर्णिया 117.56 रुपए प्रति लीटर 102.28 रुपए प्रति लीटर भागलपुर 117.57 रुपए प्रति लीटर 102.29 रुपए प्रति लीटर गया, 117.08 रुपए प्रति लीटर 102.24 रुपए प्रति लीटर सुबह 6 बजे जारी हो जाते हैं।
नए रेट हर दिन सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की नई कीमतें जारी कर दी जाती हैं।
जिसके बाद सुबह 6 बजे से ही नए रेट लागू हो जाते हैं। बता दें कि पेट्रोल व डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन, वैट और अन्य चीजें जुड़ जाने की वजह से इसका दाम मूल भाव से लगभग दोगुना हो जाता है। इस वजह से पेट्रोल डीजल के दाम इतने अधिक हैं।

पुदीने की चाय का सेवन, बेहद फायदेमंद

पुदीने की चाय का सेवन, बेहद फायदेमंद 

सरस्वती उपाध्याय 
गर्मी के मौसम में एक ऐसी चाय है। जिससे आपको ठंडक का एहसास होगा। इतना ही नहीं समर के मौसम में होने वाले सिरदर्द में भी आपके लिए फायदेमंद है, तो आइए जानते हैं कि आखिर ये कौन-सी चाय है ? गर्मी के मौसम में कुछ लोग चाय से बहुत दूर भागते हैं। क्योंकि उन्हें लगता है कि इससे अच्छा कोल्ड ड्रिंक पी ली जाए, लेकिन बता दें कि ऐसे लोगों को अब चाय से दूर भागने की जरूरत नहीं है। क्योंकि, ऐसे लोगों के लिए पुदीने की चाय का सेवन करना, बहुत फायदेमंद है।
जैसा कि सभी जानते हैं कि गर्मियों में पुदीना बॉडी को ठंडक प्रदान करने का काम करता है, तो ऐसे में आप पुदीने की चाय भी पी सकते हैं। इससे न सिर्फ आपको गर्मी कम लगेगी बल्कि थकावट भी दूर होगी। तो आइए जानते हैं कि इस चाय को कैसे बनाएं और इसके क्या-क्या फायदे हैं ?

1. बॉडी को मिलेगी ठंडक...
पुदीने की चाय से आपकी बॉडी को ठंडक मिलेगी। बता दें कि पुदीने की पत्तियों में विटामिन-ए, विटामिन-सी और बी-कॉम्प्लेक्स, फॉस्फोरस, कैल्शियम होता है इसके अलावा इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। इससे हीमोग्लोबिन के स्तर में सुधार होता है। साथ ही मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है।

2. गर्मी से होने वाला सिरदर्द भी होगा छूमंतर
गर्मी के मौसम में ज्यादातर लोगों को सिरदर्द की शिकायत भी होने लगती है। अगर आप ऐसी स्थिति में इस चाय का सेवन करेंगे तो आपको बहुत अधिक फायदे मिलेंगे। यानी इससे आपका सिरदर्द छूमंतर हो जाएगा। साथ ही थकान और कमजोरी भी महसूस नहीं होगी।

3. वजन भी कम होगा...
ऐसे लोग जो वजन कम करने में लगे हुए हैं, वह भी इस चाय का सेवन कर सकते हैं। इसका नियमित सेवन करने आपका वजन कम हो सकता है। दरअसल, पुदीना में कैलोरी की मात्रा बेहद कम होती है इसलिए यह वजन घटाने में सहायक है।
सबसे पहले आप 6-7 पुदीने के पत्ते धो लें। इसके बाद गैस पर थोड़ा पानी गर्म करें। इसे उबालने के बाद इसमें ये पत्ते डाल लें। कुछ देर बाद गैस बंद करके इसे कुछ देर के लिए ढक दें। थोड़ी देर बाद इसे छान कर आप पी सकते हैं।

अपडेट: व्हाट्सएप ने 3 नए फीचर्स जारी किए

अपडेट: व्हाट्सएप ने 3 नए फीचर्स जारी किए

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। दुनिया में सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला इंस्टैंट मैसेंजिंग ऐप व्हाट्सएप अपने यूजर्स के लिए नए-नए फीचर जारी करते रहता है। इस बार व्हाट्सएप अपडेट कई अपग्रेड्स के साथ आया है। व्हाट्सएप ने एक बार फिर तीन नए फीचर्स जारी किए है। इसमें एक ग्रुप में ज्यादा लोगों को जोड़ने और बड़ी साइज की फाइल भेजने का ऑप्शन दिया गया है।
रिपोर्ट्स के मुताबिक व्हाट्सप्प के अपडेटेड वर्शन में ग्रुप को दोगुना बड़ा बनाया जा सकता है।
जिसके बाद अब के एक ग्रुप में 512 लोगों को ऐड किया जा सकेगा। बता दें अभी तक एक ग्रुप में केवल 256 लोगों को ही ऐड किया जा सकता है। एक रिपोर्ट में कहा है कि इस फीचर को धीरे-धीरे जारी किया जा रहा है। इस वजह से अगर आपको ये फीचर अभी तक नहीं मिला है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है।
अब 2GB तक की फाइल को किया जा सकता है शेयर।
दूसरा जिस फीचर की बात हम कर रहे हैं वो शेयर होने वाले फाइल साइज को लेकर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसके साथ ही व्हाट्सएप इस बार बड़ी साइज की फाइल भेजने का फीचर अपग्रेड किया है। Whatsapp ने बताया कि अब App के जरिये 2GB तक के फाइल साइज को शेयर किया जा सकता है। इसके अलावा ये फाइल्स फाइल एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड होंगे। कंपनी ने कहा कि आपको बड़े साइज का फाइल शेयर करने के लिए Wi-Fi का इस्तेमाल करना चाहिए।
इतना ही व्हाट्सएप के नए फीचर्स में यूजर्स को यह पता चलेगा कि किसी बड़ी फाइल को अपलोड और डाउनलोड करने में कितना समय लगेगा। इस फाइल की शेयरिंग में कितना समय लगेगा। इसके साथ ही व्हाट्सएप ने इमोजी रिएक्शन को भी जारी किया है। इस फीचर के जरिये यूजर्स इंस्टाग्राम की तरह किसी मैसेज पर तुरंत इमोजी रिएक्ट कर पाएंगे। कंपनी ने इस फीचर को मार्च में अनाउंस कर दिया था। हालांकि, इन फीचर्स का इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को थोड़ा इंतजार करना होगा। क्योंकि इसे कंपनी धीरे-धीरे रोलआउट कर रही है।

सपा नेता आजम की जमानत याचिका मंजूर

सपा नेता आजम की जमानत याचिका मंजूर  

हरिओम उपाध्याय  
लखनऊ। सपा नेता आजम खान को इलाहाबाद हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिल गई है। उन्हें लंबे समय बाद जमानत दे दी गई है। कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका को मंजूर कर दिया है। पिछले दो साल से सपा नेता सीतापुर जेल में बंद हैं। जिस मामलें में आजम खान की जमानत याचिका मंजूर हुई है। वो वक्फ बोर्ड की संपत्ति गलत तरीके से कब्जा करने को लेकर है। इस मामले में आखिरी बार पांच मई को सुनवाई हुई थी। तब फैसले को सुरक्षित रख लिया गया था। 
लेकिन अब सपा नेता को आखिरकार इस मामले में राहत दे दी गई है। इससे पहले उन्हें 71 मामलों में पहले ही जमानत दी जा चुकी है।

तटवर्तीय क्षेत्रों में असर दिखाएगा 'चक्रवात' तूफान

तटवर्तीय क्षेत्रों में असर दिखाएगा 'चक्रवात' तूफान    

मिनाक्षी लोढी  

कोलकाता। साल का पहला चक्रवाती तूफान 'असानी' मंगलवार को पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटवर्तीय क्षेत्रों में अपना असर दिखाएगा। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटों में बंगाल और ओडिशा के तटीय इलाकों में 90 से 125 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तूफानी हवाएं चल सकती हैं। इस दौरान कई जगहों पर बारिश भी होगी। तूफान का असर बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ में भी रहेगा। 11 से 13 मई तक यहां बारिश होगी, साथ ही तेज हवाएं भी चलेंगी। इस बीच खराब मौसम की वजह से मंगलवार को आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम एयरपोर्ट से उड़ान भरने और लैंड करने वाली 23 फ्लाइट्स कैंसिल कर दी है। वहीं, चेन्नई एयरपोर्ट ने भी10 फ्लाइट्स कैंसिल कर दी है। इनमें हैदराबाद, विशाखापट्टनम, जयपुर और मुंबई जाने वाली फ्लाइट्स शामिल हैं। मौसम विज्ञान केंद्र भुवनेश्वर ने बताया कि चक्रवाती तूफान असानी पिछले 6 घंटे के दौरान पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में 5 किमी प्रति घंटे की गति से आगे बढ़ा। यह फिलहाल पुरी के करीब 590 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम और गोपालपुर, ओडिशा से लगभग 510 किमी दक्षिण-पश्चिम में है। असानी चक्रवात 10 मई की रात तक उत्तर पश्चिम दिशा में बढ़ना जारी रखेगा। इसके बाद, यह उत्तर-पूर्व दिशा में ओडिशा तट से उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी की ओर मुड़ेगा। अगले 24 घंटे में इसके कमजोर पड़ने की आशंका हैै। इन राज्यों में हल्की से भारी बारिश: अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिम बंगाल के गंगा नदी से लगे क्षेत्र, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, दक्षिण असम, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।

उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बिहार के हिस्से, झारखंड, ओडिशा, केरल, तमिलनाडु, दक्षिण कर्नाटक और रायलसीमा में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। पश्चिमी हिमालय पर हल्की बारिश संभव है। हवाओं के साथ समुद्र में ऊंची लहरें: आंध्र प्रदेश, ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल के उत्तरी तट पर समुद्र की स्थिति बहुत खराब रहेगी, समुद्र में ऊंची लहरें उठ सकती हैं तथा तेज हवाएं जारी रहेगी।राजस्थान, MP, हरियाणा और पंजाब में लू: राजस्थान, उत्तरी मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ, पश्चिमी मध्य प्रदेश में लू की स्थिति संभव है। हरियाणा, दिल्ली और पंजाब के अलग-अलग इलाकों में 10 मई से लू चल सकती है। वहीं, IMD कोलकाता ने पश्चिम बंगाल के हावड़ा, कोलकाता, हुगली और पश्चिम मिदनापुर जिलों में आंधी-तूफान के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है। आंधी-तूफान के दौरान लोगों को सुरक्षित स्थान पर रहने की सलाह दी गई है।

ओडिशा रिलीफ कमिश्नर पीके जेना ने बताया कि राज्य के 4 पोर्ट पारादीप, गोपालपुर, धमरा और पुरी को डेंजर जोन घोषित किया गया है। इन इलाकों में NDRF और ODARF की तैनाती की गई है। हमने समुंद्री इलाकों में सभी मछुआरों के लिए चेतावनी जारी कर दी है।असानी इस साल का पहला चक्रवाती तूफान है। इससे पहले 2021 में 3 चक्रवाती तूफान आए थे। दिसंबर 2021 में साइक्लोन जावद आया था। वहीं, सितंबर 2021 में साइक्लोन गुलाब ने दस्तक दी थी, जबकि मई 2021 में साइक्लोन यास ने बंगाल, बिहार समेत कई राज्यों में कहर बरपाया था। चक्रवात असानी श्रीलंका द्वारा दिया गया एक नाम है जिसका अर्थ सिंहली में ‘क्रोध’ होता है। असानी के बाद बनने वाले चक्रवात को सितारंग कहा जाएगा, जो थाईलैंड द्वारा दिया गया नाम है। भविष्य में जिन नामों का इस्तेमाल किया जाएगा उनमें भारत के घुरनी, प्रोबाहो, झार और मुरासु, बिपरजॉय (बांग्लादेश), आसिफ (सऊदी अरब), दीक्सम (यमन) और तूफान (ईरान) और शक्ति (श्रीलंका) शामिल हैं।

10,025.9 करोड़ यूनिट पर पहुंचा बिजली का उत्पादन

10,025.9 करोड़ यूनिट पर पहुंचा बिजली का उत्पादन  

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। देश में बिजली संकट के बीच कोयला आधारित बिजली का उत्पादन अप्रैल, 2022 में सालाना आधार पर 9.26 प्रतिशत बढ़कर 10,025.9 करोड़ यूनिट पर पहुंच गया। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, ताप बिजलीघरों का बिजली उत्पादन एक साल पहले के इसी महीने में 9,383.8 करोड़ यूनिट था। कोयला आधारित बिजली संयंत्रों में बिजली का उत्पादन अप्रैल, 2022 में इससे पिछले वर्ष के इसी महीने की तुलना में 9.26 प्रतिशत बढ़ा है। यह मार्च, 2022 के मुकाबले 2.25 प्रतिशत अधिक है। इसके अलावा ताप बिजलीघरों का बिजली उत्पादन अप्रैल, 2022 में मार्च के 10,027.6 करोड़ यूनिट के उत्पादन के मुकाबले 2.25 प्रतिशत अधिक रहा है। आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल में बिजली का ‘कुल’ उत्पादन सालाना आधार पर 11.75 प्रतिशत बढ़कर 13,656.5 करोड़ यूनिट पर पंहुच गया, जो इससे पिछले वर्ष के इसी महीने में 12,220.9 करोड़ यूनिट था।

इससे पहले कोयला मंत्रालय ने कहा था कि वर्तमान बिजली संकट का मुख्य कारण घरेलू कोयले की अनुपलब्धता नहीं, बल्कि विभिन्न ईंधन स्रोतों से बिजली उत्पादन में तेज गिरावट है। कोयला सचिव ए के जैन ने कहा था कि कोविड-19 महामारी के बाद अर्थव्यवस्था में तेजी आने के कारण बिजली की मांग बढ़ना, इस साल गर्मियां जल्दी शुरू होना, गैस एवं आयातित कोयलों की कीमतों में बढ़ोतरी और तटीय ताप विद्युत संयंत्रों के बिजली उत्पादन का तेजी से गिरना जैसे कारक इसके लिए जिम्मेदार रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश में कुल बिजली आपूर्ति बढ़ाने के लिए पहले से ही कई उपाय किए जा रहे हैं।

'प्रतिष्ठित पुलित्ज़र' पुरस्कार से सम्मानित किया

'प्रतिष्ठित पुलित्ज़र' पुरस्कार से सम्मानित किया 

सुनील श्रीवास्तव 
काबुल। पत्रकार दानिश सिद्दीकी को दूसरा पुलित्ज़र पुरस्कार दिए जाने के बाद उनके पिता ने अपने पुत्र को याद करते हुए उन्हें बहादुर, दुनिया में दुख व दर्द के प्रति सहानुभूति रखने वाले एवं एक गंभीर पेशेवर और इसके साथ ही अपने परिवार की सुरक्षा की चिंता करने वाला बेटा बताया। दानिश के पिता अख्तर सिद्दीकी ने कहा, “हमें उस पर गर्व है, लेकिन हमें उसकी कमी खलती है। उल्लेखनीय है कि दानिश सहित चार भारतीयों को ‘फीचर फोटोग्राफी श्रेणी’ में प्रतिष्ठित पुलित्ज़र पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया गया है। सिद्दीकी (38) की पिछले साल जुलाई में अफगानिस्तान में मौत हो गई थी।
अफगानिस्तान में अफगान सैनिकों और तालिबान के बीच गोलीबारी की तस्वीरें लेते समय उनकी मौत हो गई थी। सिद्दीकी को दूसरी बार पुलित्ज़र पुरस्कार से नवाजा गया है।
2018 में भी रॉयटर्स के साथ काम करते हुए उन्हें रोहिंग्या शरणार्थी संकट संबंधी तस्वीरों के लिए पुलित्ज़र पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उन्होंने अफगानिस्तान तथा ईरान में युद्ध, हांगकांग में प्रदर्शन और नेपाल में भूकंप जैसी महत्वपूर्ण घटनाओं की तस्वीरें ली थीं। उनके पिता ने फोन पर कहा,। इस पुरस्कार के बारे में जानकर उसे जरूर खुशी होती। उसने अपने समर्पण, कड़ी मेहनत, मूल्य-आधारित कार्य से हमें गौरवान्वित किया है, हमारे परिवार को और पत्रकारिता समुदाय को गौरवान्वित किया है।
उन्होंने कहा कि उनका पुत्र अपने काम से अमर हो गया है। उन्होंने कहा, दुनिया उसे सम्मानित कर रही है। उसे इस साल अप्रैल में बोस्टन विश्वविद्यालय द्वारा सम्मानित किया गया। इससे पहले कई अन्य पुरस्कार दिए गए। दुनिया उसके काम और योगदान को मान्यता दे रही है। दुर्भाग्य से वह अपना काम और योगदान जारी रखने के लिए मौजूद नहीं है। हमें सुबह से ढेर सारे संदेश मिल रहे हैं। उसे सम्मानपूर्वक याद किया जा रहा है।
परिवार ने उनकी विरासत का सम्मान करने के लिए दानिश सिद्दीकी फाउंडेशन की स्थापना की है। दानिश के पिता ने कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान अपने बेटे के काम को याद करते हुए कहा कि सभी प्रकार के जोखिमों के बावजूद दानिश ने काम जारी रखा था। उन्होंने कहा, ‘‘वह देश भर में, अस्पतालों में, कोविड वार्डों, मुर्दाघरों, कब्रिस्तानों में गया।
उसने उन दिनों काफी काम किया। उसका विचार यह दिखाना था कि लोग किस प्रकार पीड़ित हैं। उसने अपने व्यक्तिगत स्वास्थ्य और अपने परिवार की कीमत पर जोखिम उठाया। अख्तर सिद्दीकी ने कहा कि उनका बेटा अपने दो छोटे बच्चों और अपने वृद्ध माता-पिता की सुरक्षा सुनिश्चित करने को लेकर भी बहुत सतर्क था। उन्होंने कहा कि वह संक्रमण से बचाव का खासा ध्यान रखता था।

आरक्षण के लिए कृत संकल्पित हैं भाजपा-सीएम

आरक्षण के लिए कृत संकल्पित हैं भाजपा-सीएम

मनोज सिंह ठाकुर

भोपाल। मध्यप्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने आज कहा कि कांग्रेस तो आज खुश होगी। जिसका इतिहास ओबीसी विरोधी मानसिकता का गवाह है। लेकिन भाजपा सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ओबीसी वर्ग को आरक्षण के लिए कृत संकल्पित हैं। भूपेंद्र सिंह ने अपने ट्वीट के माध्यम से कहा कि कांग्रेस तो आज खुश होगी, जिसका इतिहास ओबीसी विरोधी मानसिकता का गवाह है। लेकिन भाजपा सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ओबीसी वर्ग को आरक्षण के लिए कृत संकल्पित हैं।

पंद्रह महीने की कांग्रेस सरकार ने गंभीर प्रयास नहीं किए, बल्कि 27 प्रतिशत आरक्षण पर भ्रम फैलाया और षड्यंत्र किया। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि शर्म आनी चाहिए सदन और सड़क पर संघर्ष की बात कहते हुए। कांग्रेस बताए कि पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग का गठन क्यों नहीं किया। भाजपा सरकार ने पिछड़ा कल्याण वर्ग आयोग गठित कर संवैधानिक दर्जा दिया।

1.42 ट्रिलियन डॉलर रहा क्रिप्टोकरेंसी मार्केट

1.42 ट्रिलियन डॉलर रहा क्रिप्टोकरेंसी मार्केट 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। क्रिप्टोकरेंसी मार्केट वैसे तो पिछले कई दिनों से प्रेशर में है। मगर पिछले 24 घंटों के दौरान पूरे क्रिप्टो बाजार में हाहाकार मचा हुआ है। मंगलवार सुबह 10:18 मिनट तक पिछले 24 घटों के दौरान बाजार 8.58 फीसदी गिर चुका था और ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैप घटकर 1.42 ट्रिलियन डॉलर रह गया है। इसका 1.5 ट्रिलियन डॉलर के नीचे आना बड़ी बात है। के आंकड़ों के हिसाब से बिटकॉइन के प्राइस में मंगलवार को 7.82 फीसदी की बड़ी गिरावट आई है। यह करेंसी आज $31,080.91 पर ट्रेड कर रही है। इथेरियम का प्राइस पिछले 24 घंटों में 5.58% गिरकर $2,330.99 रह गया है। एक सप्ताह में बिटकॉइन 19.26% गिरा है तो इथेरियम 18.17% तक गिर चुका है।
2022 में 33 फीसदी तक गिरा बिटकॉइन
2022 में बिटकॉइन की कीमत काफी गिर चुकी है। फिलहाल आज का स्तर इस साल का सबसे निचला स्तर है। 1 जनवरी 2022 को यह करेंसी 46,726 डॉलर पर थी, मगर आज का भाव $31,080.91 है। इस लिहाज से यह करेंसी इसी साल में अब तक 33 फीसदी गिर चुकी है। इससे पहले 20 अगस्त 2020 को बिटकॉइन ने 30 हजार डॉलर से भी नीचे जाकर 29,807 डॉलर तक ट्रेड किया था। हालांकि उस गिरावट के बाद बिटकॉइन ने जबरदस्त तेजी दिखाई और 8 नवम्बर 2021 को यह 67 हजार डॉलर तक पहुंच गया था।
कौन-से कॉइन में कितना बदलाव...
-एवलॉन्च – प्राइस: $44.24, बदलाव (24 घंटों में): -13.91%, एक सप्ताह में: -28.32%
-सोलाना – प्राइस: $67.13, बदलाव (24 घंटों में): -11.29%, एक सप्ताह में: -24.03%
-कार्डानो – प्राइस: $0.6344, बदलाव (24 घंटों में): -10.97%, एक सप्ताह में: -19.81%
-ट्रोन – प्राइस: $0.07717, बदलाव (24 घंटों में): -9.28%, एक सप्ताह में: -+10.39%
-शिबा इन – प्राइस: $0.00001558, बदलाव (24 घंटों में): -12.97%, एक सप्ताह में: -25.34%
-टेरा लूना – प्राइस: $28.15, बदलाव (24 घंटों में): -55.34%, एक सप्ताह में: -66.79%
-एक्सआरपी – प्राइस: $0.5084, बदलाव (24 घंटों में): -10.42%, एक सप्ताह में: -18.43%
-बीएनबी – प्राइस: $313.47, बदलाव (24 घंटों में): 10.68%, एक सप्ताह में: -19.80%
-डोज़कॉइन – प्राइस: $0.1098, बदलाव (24 घंटों में): -10.56%, एक सप्ताह में: -16.63%
सबसे ज्यादा उछलने वाले कॉइन
पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा उछलने वाले टोकन्स में शामिल रहे। में पिछले 24 घंटों के दौरान जबरदस्त उछाल देखने को मिला है। यह 818.61 फीसदी के उछाल के साथ लगातार आगे बढ़ रही है। जबकि तीसरे नंबर पर BitBall है, जिसमें 311.47 प्रतिशत का जम्प देखा गया है।

फेसबुक के 2 फीचर बंद करने की तैयारी

फेसबुक के 2 फीचर बंद करने की तैयारी 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। अगर आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर एक्टिव हैं तो इस खबर को जरूर पढ़ें। दरअसल, मेटा के स्वामित्व वाली यह कंपनी जल्द ही अपने दो फीचर्स को बंद करने जा रही है। जिन दो फीचर को बंद करने की तैयारी है। उनमें एक है, लोकेशन बेस्ड फीचर। फेसबुक ने इस संबंध में एक सूचना जारी करते हुए कहा है कि ये दोनों फीचर 31 मई 2022 के बाद काम करना बंद कर देंगे।
अगर बात इन दोनों फीचर की करें, तो यह अलग-अलग तरीके से काम करते थे। नियरबाई फ्रेंड्स के जरिए यूजर्स अपने फेसबुक फ्रेंड्स की लोकेशन को ट्रैक करने के साथ ही उसकी लोकेशन को दूसरों के साथ शेयर भी कर सकता है। वहीं, फीचर में फेसबुक यूजर को मौसम की जानकारी दी जाती है।
इस खबर को जानने के बाद कई यूजर्स के मन में ये सवाल उठ रहा होगा कि अगर फीचर बंद हो जाएगा तो हमारी पुरानी लोकेशन हिस्ट्री का क्या होगा। इस संबंध में फेसबुक ने साफ किया है कि बेशक यह फीचर 31 मई तक ही चलेगा, लेकिन यूजर्स को अपनी लोकेशन हिस्ट्री को डाउनलोड करने के लिए पर्याप्त समय दिया जाएगा। यानी अगर आपने भी किसी दोस्त के साथ लोकेशन हिस्ट्री को शेयर कर रखा है तो उसे आप 1 अगस्त 2022 तक डाउनलोड कर सकते हैं। 1 अगस्त के बाद लोकेशन हिस्ट्री से जुड़े सभी डेटा को सर्वर से हटा दिया जाएगा। ऐसे में जरूरी है कि आप 1 अगस्त तक इसे डाउनलोड कर लें।
लेकिन फेसबुक कलेक्ट करेगा, लोकेशन हिस्ट्री
यहां आपको ये समझने की जरूरत है कि फेसबुक यूजर्स के लिए लोकेशन हिस्ट्री फीचर बंद कर रहा है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि वह आपसे लोकेशन हिस्ट्री डेटा नहीं लेगा। वह आपकी लोकेशन हिस्ट्री का डेटा अपने सर्वर पर अपलोड करता रहेगा।

ओपनिंग मिनट में हरे निशान पर आया बाजार

ओपनिंग मिनट में हरे निशान पर आया बाजार  

कविता गर्ग  
मुंबई। शेयर बाजार में मंगलवार को गिरावट पर खुलने के बाद तेजी के साथ कारोबार हो रहा है। शेयर बाजार लाल निशान में खुलने के बाद तुरंत ओपनिंग मिनट में ही हरे निशान पर आ गया है। सेंसेक्स और निफ्टी में ऊपरी दायरे में ट्रेडिंग देखी जा रही है।
एनएसई का निफ्टी 53 अंकों की गिरावट के साथ 16248.90 पर कारोबार कर रहा था और इसमें 0.33 फीसदी की गिरावट देखी जा रही है। वहीं बीएसई का सेंसेक्स 161.36 अंक यानी 0.30 फीसदी की गिरावट के साथ 54309.31 के लेवल पर कारोबार कर रहा था।
इस समय पर सेंसेक्स-निफ्टी हरे निशान में आ चुके हैं और बीएसई का सेंसेक्स 89.85 अंक यानी 0.16 फीसदी की तेजी के साथ 54,560.52 पर कारोबार कर रहा है। वहीं एनएसई का निफ्टी 30.95 अंक यानी 0.19 फीसदी की तेजी के साथ 16,332.80 पर कारोबार कर रहा है।
आज के कारोबार में निफ्टी के 50 में से 31 शेयरों में तेजी के साथ कारोबार हो रहा है और बाकी 19 शेयरों में गिरावट के साथ ट्रेडिंग देखी जा रही है। बैंक निफ्टी की बात करें तो ये भी हरे निशान में आ गया है और 37.20 अंक यानी 0.11 फीसदी ऊपर 34312 के लेवल पर कारोबार कर रहा है।
आज के चढ़ने वाले शेयरों में अल्ट्राटेक सीमेंट 1.88 फीसदी, भारती एयरटेल 1.76 फीसदी और एचयूएल 1.70 फीसदी की तेजी पर कारोबार कर रहे हैं। आयशर मोटर्स 1.61 फीसदी और एशियन पेंट्स 1.42 फीसदी की तेजी पर ट्रेड कर रहे हैं।
ओएनजीसी में 4.64 फीसदी और टाटा स्टील में 2.28 फीसदी गिरावट है। हिंडाल्को 2.22 फीसदी और जेएसडब्ल्यू स्टील 1.96 फीसदी गिरे हैं। कोल इंडिया भी 1.96 फीसदी की गिरावट पर कारोबार कर रहा है।

190 करोड़, 50 लाख, 86 हजार, 706 कोविड टीके

190 करोड़, 50 लाख, 86 हजार, 706 कोविड टीके

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली।  देश भर में राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण अभियान के अंतर्गत 190.50 करोड़ से अधिक कोविड टीके लगाये गये हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने मंगलवार को यहां बताया कि मंगलवार को सुबह सात बजे तक 190 करोड़, 50 लाख, 86 हजार, 706 कोविड टीके दिये जा चुके हैं।

इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा है कि देश में 12 से 14 वर्ष के आयु वर्ग में तीन करोड़ से अधिक कोविड टीके लगाए जा चुके हैं। बच्चे कोविड टीकाकरण अभियान में महत्वपूर्ण योगदान ‌दे रहें हैं। मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटों में कोविड संक्रमण के 2288 नये मरीज सामने आये हैं। इनके साथ ही देश में कोरोना रोगियों की संख्या 19 हजार 637 हो गयी है।

ओबीसी आरक्षण की फीसदी को लेकर फैसला

ओबीसी आरक्षण की फीसदी को लेकर फैसला 

मनोज सिंह ठाकुर  
भोपाल। मध्यप्रदेश में बहुचर्चित पंचायत चुनाव में ओबीसी आरक्षण की फीसदी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुना दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में 15 दिन के भीतर बिना अरक्षण पंचायत एवं नगर पालिका के चुनाव की अधिसूचना जारी करने प्रदेश सरकार को निर्देश को दिए हैं।
सुप्रीम कोर्ट ने ओबीसी आरक्षण के मामले में प्रदेश की भाजपा सरकार की रिपोर्ट को अधूरा माना है। कोर्ट ने माना है कि आधी अधूरी रिपोर्ट होने के कारण मध्यप्रदेश के ओबीसी वर्ग को पंचायत एवं नगर पालिका में आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा।
बता दें कि मध्यप्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग ने प्रदेश में ओबीसी की 45 फीसदी जनसंख्या को देखते हुए 35 प्रतिशत आरक्षण देने की अनुशंसा की थी। इसी मुद्दे को लेकर प्रदेश में पंचायत चुनाव का मामला अटक गया था। मामला हाईकोर्ट होते हुए सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था।
सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एमपी के सीएम शिवराज ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद रिव्यू पिटिशन मध्यप्रदेश सरकार लगाएगी। सुप्रीम कोर्ट का फैसला क्या आया है, अभी हम उसका अध्ययन कर रहे हैं। पंचायत, निकाय चुनाव ओबीसी आरक्षण के साथ हों, इसको लेकर रिव्यू पिटिशन लगाई जाएगी।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 2,288 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 2,288 नए मामलें 

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के तीन हजार से कम केस सामने आए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के 10 मई के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार भारत में बीते 24 घंटों में 2,288 नए कोरोना वायरस केस सामने आए हैं। वहीं इस दौरान एक दिन में 3 हजार 44 लोग ठीक हो गए हैं। पिछले 24 घंटों में 10 लोगों की कोरोना वायरस की वजह से मौत हुई है। देश में एक्टिव केसों की कुल संख्या 19 हजार 637 है। देश में एक्टिव केसों की संख्या 19,637 है, जो सक्रिय मामलों में कुल संक्रमण का 0.05 प्रतिशत शामिल है। वहीं नेशनल कोरोना रिकवरी रेट 98.74 प्रतिशत है। 24 घंटे की अवधि में सक्रिय कोरोना केसलोएड में 766 मामलों की कमी दर्ज की गई है। मंत्रालय के अनुसार दैनिक सकारात्मकता दर 0.95 प्रतिशत और साप्ताहिक सकारात्मकता दर 0.82 प्रतिशत दर्ज की गई।

देश में कोरोना वायरस से अब तक 5,24,103 लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटों में 10 लोगों की मौत हुई है, जिसमें से 6 की मौत अकेले केरल से हुई है। वहीं देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 4,31,07,689 हो गई है। देश में कोविड-19 से होने वाली कुल रिकवरी अब तक 4,25,63,949 हो गई है।

पुलिया से गिरा मिनी ट्रक, 3 की मौंत, 20 घायल

पुलिया से गिरा मिनी ट्रक, 3 की मौंत, 20 घायल 

मनोज सिंह ठाकुर  

अलीराजपुर। मध्य प्रदेश के अलीराजपुर जिले में शादी पार्टी के लोगों को ले जा रहे एक मिनी ट्रक के पुलिया से गिर जाने से तीन लोगों की मौंत हो गई और 20 अन्य घायल हो गए। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अलीराजपुर के पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने बताया कि यह दुर्घटना सोमवार रात चंद्रशेखर आजाद थाना क्षेत्र के करेटी गांव में हुई।

पीड़ित लोग चंद्रशेखर आजाद नगर में एक शादी में शामिल होने जा रहे थे। अधिकारी ने बताया कि हादसे में मारे गए लोगों की पहचान प्रकाश सोलंकी (20), लाला खराडी (60) और पंकज सोलंकी (15) के रुप में हुई है। तीनों पड़ोसी झाबुआ जिले के भुतखेड़ी गांव के रहने वाले थे।

'सशस्त्र बल विशेषाधिकार' अधिनियम हटेंगा

'सशस्त्र बल विशेषाधिकार' अधिनियम हटेंगा 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को उम्मीद जताई कि जल्द ही पूरे असम से सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम (आफस्पा) को हटा लिया जाएगा। क्योंकि बेहतर कानून-व्यवस्था और उग्रवादी संगठनों के साथ शांति समझौते के कारण पहले ही राज्य से इसे आंशिक रूप से हटा दिया गया है।
सुरक्षा स्थितियों में सुधार के मद्देनजर केंद्र सरकार ने पूर्वोत्तर राज्यों में आफस्पा के तहत आने वाले अशांत क्षेत्रों को धीरे-धीरे घटाना शुरू किया है। केंद्रीय गृह मंत्री असम के दो दिवसीय दौरे पर हैं। असम पुलिस को मंगलवार को ‘प्रेसीडेंट्स कलर’ (राष्ट्रपति के ध्वज) से सम्मानित करने के बाद उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि केंद्र सरकार और मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के प्रयासों के कारण अधिकतर उग्रवादी संगठनों ने शांति समझौता किया है और ‘‘वह दिन भी अब दूर नहीं जब पूरा राज्य उग्रवाद और हिंसा से पूरी तरह मुक्त हो जाएगा।
’उन्होंने कहा, सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम को 23 जिलों से पूरी तरह और एक जिले से आंशिक रूप से हटा दिया गया है। मुझे विश्वास है कि पूरे राज्य से इसे जल्द ही हटा दिया जाएगा। गृह मंत्री ने कहा कि जो लोग आत्मसमर्पण कर मुख्यधारा में लौट आए हैं, उनके पुनर्वास के लिए केंद्र और राज्य की सरकारें काम कर रही हैं।
अमित शाह ने कहा, असम पुलिस का एक गौरवशाली इतिहास रहा है। इसने उग्रवाद, सीमा संबंधी मुद्दों, हथियारों, मादक पदार्थ और मवेशियों की तस्करी, गैंडों का शिकार और जादू टोना जैसे सामाजिक मुद्दों से निपटने में सफलता प्राप्त की है और अब वह देश के अग्रणी पुलिस बलों में से एक के रूप में उभर रहा है। उन्होंने कहा कि यह ‘प्रेसीडेंट्स कलर’ के सही हकदार हैं। इससे पहले, शाह ने यहां अलंकरण परेड समारोह में मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा और पुलिस महानिदेशक भास्कर ज्योति महंत की उपस्थिति में राज्य पुलिस को यह सम्मान दिया था।
ध्वज पर असम के नक्शे, यहां के जिलों का प्रतिनिधित्व करने वाले 36 सितारे, एक सींग वाले गैंडे और असम पुलिस की आदर्श पंक्ति तथा प्रतीक चिन्ह अंकित है। असम देश का 10वां राज्य है, जिसे ‘प्रेसीडेंट्स कलर’ से सम्मानित किया गया है। शांति और युद्ध के दौरान राष्ट्र की अनुकरणीय सेवा के लिए किसी भी सैन्य या पुलिस इकाई को दिया जाने वाला यह सर्वोच्च सम्मान है।
असम में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुवाई वाली गठबंधन सरकार के एक साल पूरा होने के मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को यहां एक पौधा भी लगाया। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा इस गठबंधन सरकार का नेतृत्व कर रहे हैं। गठबंधन सरकार की पहली वर्षगांठ के अवसर पर शाह ने एक जनसभा को भी संबोधित किया।

मोटरसाइकिल की टक्कर में बुजुर्ग-पोते की मौंत

मोटरसाइकिल की टक्कर में बुजुर्ग-पोते की मौंत 

मनोज सिंह ठाकुर  
दमोह। मध्य प्रदेश के दमोह जिले में एक अज्ञात वाहन और मोटरसाइकिल की टक्कर में 65 वर्षीय बुजुर्ग और उसके 20 वर्षीय पोते की मौंत हो गई। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी।
बटियागढ़ थाना प्रभारी मनीष मिश्रा ने बताया कि हादसा सोमवार रात दूल्हा देव गांव के पास हुआ जब व्यक्ति अपने परिवार के एक सदस्य के विवाह का निमंत्रण परिचितों को देने जा रहे थे। 
उन्होंने बताया कि हादसे के बाद दादा-पोते दोनों को बटियागढ़ के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
अधिकारी ने बताया कि मृतकों की पहचान कादर खान और उनके पोते इरशाद खान के रूप में हुई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

2 किशोरियों से बलात्कार करने का आरोप

2 किशोरियों से बलात्कार करने का आरोप  

कविता गर्ग  
मुंबई। महाराष्ट्र में फिल्मों में अभिनय का मौका दिलाने के बहाने, दो किशोरियों से बलात्कार करने के आरोप में एक व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।
मीरा भायंदर-वसई विरार पुलिस नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने बताया कि करीब एक साल पहले आरोपी दोनों किशोरियों को वसई इलाके स्थिति एक जंगल में ले गया, जहां उसने कथित रूप से कई बार उनका बलात्कार किया और उनके साथ अप्राकृतिक यौन संबंध भी बनाएं। दोनों किशोरियों की आयु 13 वर्ष है।
उन्होंने बताया कि आरोपी ने पीड़िताओं की आपत्तिजनक तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट करने की कथित धमकी देकर उनसे 70,000 रुपए भी मांगे। अधिकारी ने बताया कि लड़कियों के माता-पिता ने इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई।
जिसके बाद नालासोपारा में व्यक्ति के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 376 (बलात्कार), 377 (अप्राकृतिक यौन संबंध), 384 (जबरन वसूली) और 506 (आपराधिक धमकी) और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम (पोक्सो) के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि इस संबंध में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है।

केंद्रीय मंत्री मिश्रा के भाषण का उल्लेख किया

केंद्रीय मंत्री मिश्रा के भाषण का उल्लेख किया 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ द्वारा केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा के एक भाषण का उल्लेख किए जाने के बाद मंगलवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार ने किसानों के पक्ष में खड़े होने की बजाय, अपने मंत्री का साथ दिया। उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले में न्याय की लड़ाई जारी रहेगी।
कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने ट्वीट किया, लखीमपुर किसान नरसंहार मामले में सबसे अहम पहलू था गृह राज्य मंत्री का किसानों को देख लेने की धमकी वाला भाषण। भाजपा सरकार ने किसानों के पक्ष में खड़े होने की बजाय, अपने मंत्री की लाठी मजबूत की।  प्रियंका गांधी ने जोर देकर कहा, न्याय के लिए संघर्ष जारी है।
पीड़ित किसान परिवार और हम सब मिलकर न्याय की लौ बुझने नहीं देंगे। इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ ने लखीमपुर खीरी हिंसा के चार आरोपियों- लवकुश, अंकित दास, सुमित जायसवाल और शिशुपाल की जमानत याचिका सोमवार को खारिज कर दी। लखीमपुर हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा उर्फ टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा उर्फ मोनू कथित तौर पर संलिप्त हैं।
पीठ ने एसआईटी (विशेष जांच दल) के इस निष्कर्ष को भी ध्यान में रखा कि यदि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ने घटना से कुछ दिन पहले किसानों के खिलाफ जनता के बीच कुछ कटु वक्तव्य न दिये होते तो शायद यह घटना न होती। पिछले साल तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया थानाक्षेत्र में हिंसा के दौरान आठ लोगों की मौत हो गई थी।
यह घटना तब हुई जब केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलित किसान उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इलाके के दौरे का विरोध कर रहे थे। उत्तर प्रदेश पुलिस की प्राथमिकी के अनुसार चार किसानों को एक एसयूवी ने कुचल दिया, जिसमें आशीष मिश्रा बैठे थे।
घटना के बाद गुस्साए किसानों ने चालक और दो भाजपा कार्यकर्ताओं को कथित तौर पर पीट-पीट कर मार डाला। इस हिंसा में एक पत्रकार की भी मौत हो गई थी।

शिव कुमार के निधन से सांस्कृतिक जगत दरिद्र हुआ

शिव कुमार के निधन से सांस्कृतिक जगत दरिद्र हुआ 

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विख्यात संतूर वादक और संगीतकार पंडित शिव कुमार शर्मा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मंगलवार को कहा कि उनके निधन से सांस्कृतिक जगत दरिद्र हो गया। मोदी ने एक ट्वीट में कहा, शिव कुमार शर्मा के निधन से हमारा सांस्कृतिक जगत मंगलवार को दरिद्र हो गया। उन्होंने संतूर को वैश्विक ख्याति दिलाई। उनका संगीत आने वाली पीढ़ियों को मंत्रमुग्ध करता रहेगा।

उनसे हुई मुलाकातें और संवाद मुझे याद आ रहे हैं। उनके परिजनों और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं।’’ शिव कुमार शर्मा का मुंबई में मंगलवार को सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 84 वर्ष के थे। वह भारत के जानेमाने शास्त्रीय संगीतकारों में से एक थे और अगले सप्ताह उन्हें भोपाल में एक कार्यक्रम प्रस्तुत करना था।

संस्थापक की जमानत याचिका पर जवाब मांगा

संस्थापक की जमानत याचिका पर जवाब मांगा 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को ‘यूनाइटेड अगेंस्ट हेट’ संगठन के संस्थापक खालिद सैफी की जमानत याचिका पर दिल्ली पुलिस से जवाब मांगा। खालिद ने साल 2020 में राष्ट्रीय राजधानी में हुए सांप्रदायिक दंगों से जुड़ी कथित साजिश के मामले में खुद को जमानत देने की मांग की है।
न्यायमूर्ति सिद्धार्थ मृदुल और न्यायमूर्ति रजनीश भटनागर की पीठ ने निचली अदालत के आठ अप्रैल के आदेश को चुनौती देने वाली खालिद की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करते हुए पुलिस को नोटिस जारी किया। निचली अदालत ने खालिद की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। दिल्ली पुलिस की ओर से पेश विशेष लोक अभियोजक अमित प्रसाद ने नोटिस को स्वीकार किया। 11 जुलाई को होगी। खालिद की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता रेबेका जॉन ने कहा कि उनका मुवक्किल 800 दिनों से अधिक समय से हिरासत में है और उसका मामला अन्य सह-आरोपियों से काफी अलग है। निचली अदालत ने यह कहते हुए खाालिद की जमानत याचिका खारिज कर दी थी कि उसके खिलाफ लगाए गए आरोप प्रथम दृष्टया सही प्रतीत होते हैं। अधिनियम की विभिन्न धाराओं के साथ-साथ शस्त्र अधिनियम, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान की रोकथाम अधिनियम और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की संबंधित धाराओं के तहत आरोप तय किए गए थे। खालिद पर उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फरवरी 2020 में हुए सांप्रदायिक दंगों का कथित तौर पर मास्टरमाइंड होने का आरोप है। इन दंगों में 53 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 700 से अधिक लोग घायल हुए थे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-214, (वर्ष-05)
2. बुधवार, मई 11, 2022
3. शक-1944, वैशाख, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दसमीं, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:33, सूर्यास्त: 07:01।
5. न्‍यूनतम तापमान- 29 डी.सै., अधिकतम-41+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
              (सर्वाधिकार सुरक्षित)

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न    सुशील केसरवानी         कौशाम्बी। मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी की अध्यक्षता में उद...